हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो

छवि स्रोत,सैकसी चुत

तस्वीर का शीर्षक ,

मराठी सेक्सी फुल सेक्स: हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो, तो हम दोनों कुछ देर तक वहीं बात करते रहे और उसके बाद हमारे बीच में जो हुआ, वो मैं आप लोगों को कभी बाद में बताऊँगी लेकिन कुछ ऐसा हुआ कि वो मुझे एक लड़की की तरह बाहर ले जाने को तैयार हो गया.

সেক্সি চাইয়ে

तभी मेरी गर्दन में चूमते हुए मेरी चूत में जोर से उंगली अंदर बाहर करने लगे. सेक्सी सेक्सी मूवी बीएफइन चंद घंटों की मीठी याद के सहारे मैं जिंदगी की मुश्किल से मुश्किल दुश्वारी हसीं-ख़ुशी सह लूंगी.

असल में मुझे खुद भी चुदाई करवानी थी, तो सोचा क्या बुराई है, वो लड़का भी मुझे अच्छे से शॉपिंग करवाता, गिफ्ट्स देता होटल्स में लेकर जाता… और ये सब मुझे बहुत अच्छा भी लगता था. डॉक्टर के साथ सेक्सी बीएफउसके बाद डॉक्टर के पास जाकर मैंने सफाई करवाई और उसके बाद मैं उससे जब भी चुदवाती, हम कंडोम का इस्तेमाल करते.

जिस बात के लिए मैंने सोचा था कि निशा को खुश करके ही उसके इस दिन को खुशगवार बना दूँगा, वही हुआ.हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो: मैंने आंटी के पीछे आ कर हल्के से अपने लंड को उनकी गांड की घाटी में घिसा, तो आंटी ने कुछ फील नहीं किया, बस अपना काम करती रहीं.

उस अहसास को शब्दों में बयां करना मेरे बस की बात ही नहीं है, बस इतना समझ लो कि ये मेरे मन की बड़ी मुराद के पूरी होना जैसा था.चाची ने कहा- कहाँ लगी है दिखाओ जरा?मैंने कहा- नहीं चाची मैं टॉवल नहीं हटा सकता.

मराठी एक्स एक्स एक्स ओपन - हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो

फिर मैं अपना हाथ मम्मों से नीचे ले जाते हुए लोवर के ऊपर से ही चुत पे फेरने लगा… तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.आज मैंने मॉम के मम्मे सहलाए और जांघें भी टच की और मुठ मार कर सो गया.

उसने चूत फैला दी और मैंने लंड चूत पर सैट करके हल्का सा धक्का मारा, वो तिलमिला उठी, वो बोली- प्लीज़ जानू, बहुत दर्द हो रहा है छोड़ दो मुझे. हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो वो भाव खाएगी। जैसे ही आपने भाव देना बंद किया वो खुद आपके पैरों में गिरेगी।यही हुआ.

” निकल गई।मधु की हिंदी चुत चुदाई का रस कहानी के अगले भाग में मिलेगा।तब तक अपने ईमेल मुझ तक जरूर भेजिएगा।[emailprotected]हिंदी चुत कहानी जारी है।कहानी का अगला भाग :बॉय से कॉलबॉय का सफर-5.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो?

भाभी बोलीं- और बाकी जीएफ’स नहीं हैं क्या?मैं हंसते हुआ बोला- नहीं यार, बाकी सब केवल फ्रेंड्स हैं. फिर हमने बियर पी, फिर मस्त चुदाई की दो बार… दोनों बार चूत औरगांड की चुदाईकी. आआह आआह… स्सस्स…”उसने चूत के पास तक हाथ लगाया- यहाँ से होते हुए… यहाँ से होते हुए… यहाँ तक…चूत से टचिंग क्या हुई, मैंने तो गनगना गई.

एक दिन मैं अपनी ससुराल गया तो मेरी बीच वाली साली अकेले ही घर पर थी. दीदी बोलीं- पर तू तो राहुल है ना?मैंने बोला- आपको मेरा चेहरा दिख रहा है क्या?वो बोलीं- नहीं. उसने सेक्सी डांस शुरू किया और डांस करते हुए अपने एक एक कर कपड़े उतारती गई.

जो उसके चलने से मटक से रहे थे। मेरा दिल कर रहा था कि पकड़कर मसल दूँ। ये सोचते सोचते मेरा लण्ड फिर खड़ा हो गया।वो पहली मन्जिल पर एक कमरे के सामने रुकी और बोली- ये है आपका रूम. वह अकेला बैठा था, मैं उसके नज़दीक जाकर फ़ोन पर बात करने का नाटक करने लगा और चुपके चुपके उसे देखने लगा. तुम चिंता न करो मैं तुम्हें पूरा मालामाल कर दूँगा और आज की रात में तुम्हें पूरे 70000 दूँगा जो मैंने तुम्हारी पहली कीमत आधी की थी.

मेरी काफी नानुकर के बाद भी जब वो नहीं माना और उसने अपनी मजबूत बांहों में मुझे जकड़ लिया. अब तुम सोच लो किसी को पता भी नहीं चलेगा और तुम फ्री भी हो जाओगी और ऐसे इलाज में ज़्यादा खरचा भी नहीं होगा.

फिर मैंने और एक बार थूक लगाया और लंड को सैट करके जोर से धक्का दिया.

इस पर वो उछल कर बोली- क्यों कल देखा नहीं था उसने क्या दिया है?मैंने चुप रहना ही ठीक समझा और बोली- ठीक है.

आपका मैं क्या इलाज करूँगा?तो वो कहती हैं- मुझे तो तुम्हारी दवाई पीनी है. उसने मुझे ज़मीन पर कुतिया की तरह बना दिया और अपने लंड का सुपारा मेरी गांड पे रख कर पूरी ताक़त से धक्का लगा दिया. वैसे तो आज तक अमित ने, गांव में उस लड़के ने या सैम ने भी नहीं दबाई थीं, लेकिन मुझे अच्छा लग रहा था.

दो मिनट ऐसे ही रहने के बाद मैंने धीरे धीरे धक्के लगाने शुरू किए तो उसे कुछ आराम मिला. मैं दोबारा मुठ्ठ नहीं मार सकता।मैंने उसे दीवार से लगा कर खड़ा कर दिया। शायद उसे भी मजा आ रहा था इसलिए ज्यादा विरोध नहीं कर रही थी। मैंने उसके दोनों हाथों को दीवार से लगा कर ऊपर करके पकड़ लिए. भाई का लन्ड अब्बू के लन्ड से छोटा था तो मुझे अब्बू के लन्ड से चुदने की इच्छा ज्यादा थी, पर अब्बू के लन्ड पर आज अम्मी मुँह मार के बैठी थी।भाई लगातार मेरे बूब्स दबा रहा था.

शुरुआत में तो आर्थर धीरे-धीरे ही मेरी श्रीमती की चूत को अपनी तोप पर बैठाता रहा लेकिन कुछ ही धक्कों के बाद उसने अपनी जानी पहचानी लय पा ली और किसी वेट लिफ्टर की तरह लड़की को अपनी कलाइयों पर उठा कर उसकी चूत को अपने तीर जैसे लंड पर पटकना शुरू हो गया.

कुछ देर बाद मैंने उसके दूसरे आम को चूसना चालू किया और उसके दोनों मम्मों को चूस चूस कर लाल कर दिया. मैं अपने जीवन में पहली बार किसी का कामरस चाट रहा था, उसके कामरस से एक मीठी सी खुशबू आ रही थी, जो मुझे और पागल कर रही थी. पर मैंने सोचा ये ठीक नहीं होगा, इससे तो ऐसा होगा जैसे मैंने साली के साथ जोर आजमाइश की और मैं फंस जाऊँगा.

”जैसे ही पिंकी बाथरूम गई, रोशनी ने मुझे गुस्से से देखा और कहा- बड़ा प्यार आ रहा है न पिंकी पर आपको. उनका शर्ट मम्मों तक ऊपर लाने के बाद मैंने दीदी के हाथ पकड़ को अपने बरमूडे में डाल दिया और दीदी के पजामे को धीरे से नीचे करना शुरू किया. विनय ने मेरी गांड के छेद को उंगली से सहलाते हुए कहा- नेहा, तुम्हारी गांड बहुत खूबसूरत है.

वो- वेट…मैं- वेट क्यों?उसने मुझे फोन पर भी एक चुम्मा दिया और फोन कट कर दिया.

” करके नवीन की ओर देख कर चिल्ला रही थीं- जल्दी जल्दी चोद न कमीने… दम नहीं बची है क्या भोसड़ी के तेरे अन्दर हरामी मादरचोद. रुक जाओ।लेकिन वो तो मज़े से मेरी सवारी कर रहा था, उसने अपनी थोड़ी स्पीड बढ़ा दी, मैंने बेडशीट कस कर पकड़ ली.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो मैं- तो मैं पूछ रहा था कि तुमको मर्द के शरीर का कौन सा हिस्सा पसंद है?स्वाति- अरे… इसमें पूछने वाली क्या बात है… मेरे जैसे जवान और सेक्सी लड़की को आप जैसे जवान मर्द में सबसे ज्यादा क्या पसंद आयेगा? बेशक आपक लिंग। मुझे लगता है कि यह काफी बड़ा और मजबूत है. मैंने कहा- तो फिर चूसो ना!वो बोली- आपका इतना बड़ा लंड मेरे मुँह में नहीं आएगा.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो इसलिए मेरी चूत अब लंडों को वो मज़ा नहीं दे पाती थी, जो वो चाहते थे. लेकिन तुम ऐसा क्यों कह रहे हो?मैं- जो जिस हालात से गुजरा हो, उसे ही उन हालातों की जानकारी होती है.

एक तो मेरी पूरी टांगें उनको दिख रही थीं, उस पर से मैं जिस लड़के के साथ आई थी, वो भी वहां नहीं था.

यानी की सेक्सी वीडियो

उसके बाद रवि ने मुझे बोला कि इसका ख्याल रखना और कोई प्रॉब्लम मत होने देना. अब तो मुझे हरी झंडी मिल गयी, मैंने तुरंत उसके आठ खोले, उसकी शर्ट उतारी और उसे गले से लगाया. मैंने धीरे से गांड पे हाथ फेरा और चूतड़ को हल्के से दबाया तो मुझे उसकी मुलायम गांड पर हाथ फेरने में मजा आ गया.

मेरे दोस्त ने मुझे सब कुछ समझा दिया और बोला- रात 12 बजे तक शायद वो लोग आ जायेंगे तो तू देख लेना!मैं बोला- कोई प्रॉब्लम नहीं, तू मस्त काम निपटा, मैं हूँ इधर!वो भी रुकना चाह रहा था लेकिन रात में कोई पूजा होनी थी तो घर चला गया. मैंने मम्मी ने पापा ने सभी ने बातें की, मैंने ज्यादा देर बातें की अपने कमरे में मोबाइल एक जगह रख कर अपना काम भी करती रही और बात भी होती रही. फिर वे मेरी तरफ गांड करके झुकी और बड़ी सी गांड हिलाने कर बोलीं- पहले तू मेरी छूट और गांड चूस.

उसने मुझको लंड निकालने के लिए बोला कि हट जाओ उसको उल्टी आ रही है, पर मैं कहां मानने वाला था.

प्रिया के दोनों हाथ मेरी पीठ पर कस कर जमे थे; प्रिया की योनि के अंदर का उत्ताप मेरे लिंग को जलाने पर उतारू था जैसे. कंडोम डॉटेड था तो कुछ रगड़ते हुए अन्दर गया, पर दर्द इतना होने लगा कि मैं कुछ और ना समझ पाई. अभी तो हम सब मिल कर तेरी गांड का भुर्ता बनाएंगे, आज तेरी गांड सुजा देंगे साली रंडी.

लगभग दस मिनट के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा और वो तेज आवाजें करते हुए झड़ गई. उसकी सूजी हुई चूत में जोकि बुरी तरह से चुदने के लिए फुदक रही होती है, अपने लंड के पानी से ठंडी कर देता हूँ. मैंने फटाफट अपने सारे कपड़े निकाल दिए अब तो मेरे मुँह से गालियां निकल रही थीं- साली कुतिया कब से तुझे चोदने की सोच रहा था.

विनय ने मेरे एक निप्पल को मुँह में ले लिया और दूसरी चुची को जोर से दबाने लगा. मैं पानी ट्रे में लेकर आई, पानी देने के लिए भाभी के पापा के पास गयी तो आर्मी वाले अंकल को वो बोले- ये आरती है, ऐसी हुस्न की मल्लिका है कि अगर छू ले कोई मर्द तो उसका जीवन धन्य हो जाये।मैं शरमा गई और आगे बढ़ी तो राजेंद्र अंकल के पास पानी देने को झुकी तो बोले- आरती याद है ना सब?मैं उस दिन व्हाइट वी-नेक का टाप और ब्लू लैगी पहने थी अंदर ब्लैक कलर की ब्रा और पैंटी, उस वक्त मम्मी अंदर थी.

लंच के बाद मैं अपने काम में लग गई मगर दिमाग में हर पल किसी लड़के का पूरा खड़ा लंड मेरी चुत में जाता हुआ दिखाई देता रहा. उसका 34-28-36 का फिगर, जो मुझे बाद में पता चला, इतना दिलकश था जो अच्छे अच्छों का मन विचलित कर दे. मैंने उसे देखा तो मैं देखता ही रह गया… काले रंग की चड्डी में उसका गोरा रसीला बदन और फूली हुई चुत साफ़ दिख रही थी.

उसने मेरा पजामा व टी-शर्ट उतार दिया और अन्डरवियर के अन्दर हाथ घुसाकर लंड को सहलाने लगी.

अब दीदी चेयर पर बैठी हुई फोन को स्पीकर पे डाल कर प्रीति की चुदाई की स्टोरी को सुन रही थी और अपनी चुत को सहलाए जा रही थीं. खैर मैंने अपने आपको सामान्य करते हुए पूछा- मॉम कहाँ हैं ?वो लड़खड़ाती आवाज़ में बोला- बड़ी मालकिन अभी ही तो कॉलेज के लिए निकल गई हैं. सुबह 12 बजे मुझे नेहा ने ज़बरदस्ती उठाया और बोली- उठो यार बिंदु कब तक सोती रहोगी.

इसके घटना के बाद पानी के अन्दर ही नीला और मेरे बीच वो सब कुछ हो गया, जिसे चुदाई कहते हैं. दो-एक महीने बाद मैंने गौर किया कि प्रिया भी सुधा के साथ हर शनिवार शाम को ब्यूटी-पॉर्लर-कम-स्पा जाने लगी थी.

अब मैंने अपना बरमूडा भी उतार दिया और दीदी के हाथों में अपना लिंग पकड़ा दिया. फिर मैं उसके दूध पीने लगा और उसके लोअर में हाथ डाल के चुत को मसलने लगा. मैंने आंटी का मुँह पकड़ा और लंड अंडरवियर से निकाल कर उसके मुँह में दे दिया.

नंगी सेक्सी पिक्चर राजस्थान

उस दिन के बाद जब भी मौका मिलता था, तब हम दोनों सेक्स कर लिया करते थे.

मैंने अर्जुन के बाजू पर अपना सिर रखा और एक हाथ अर्जुन के कमर पर! अब मुझसे और बर्दाश्त नहीं हो रहा था तो मैंने धीरे धीरे अर्जुन की टी शर्ट में अपना हाथ डालना शुरू किया और सेक्सी बॉडी को छूकर मेरे अंदर करेंट दौड़ गया जिससे मेरे लंड ने फुंकारें मारना शुरू कर दिया. अलका रानी लंड चूसने के साथ साथ मेरे अंडे भी बड़े हल्के हल्के हाथ से सहला रही थी. पर उसके दोनों हाथ बंधे हुए थे इसलिये शर्ट पूरी नहीं उतार पाया लेकिन उसकी शर्ट उसके बदन से निकाल के उसकी बांहों में कर दी मैंने.

तो बोली- जरा डिटेल में बताओ?और बोली- चेयर में ठण्ड लग रही होगी, रजाई में आ जाओ. वो उसके मम्मों को पीने लगा तो मेरी बीवी बोली- अपने भी कपड़े खोल दो ना. हिंदी सेक्सी वीडियो एचडी बीएफझुकने के कारण मेरा स्कर्ट थोड़ा ऊपर चढ़ गया और पीछे से भाईसाहब को मेरा खजाना दृष्टिगोचर होने लगा था.

आज उसको देखा तो मुझे अपने ऊपर गुस्सा सा आया कि मैं मामा के घर क्यों नहीं गया. उसकी बातें सुन कर मैं रोने लगी और रो रो कर सब कुछ बता दिया कि मेरे साथ क्या क्या हुआ.

दोनों एक दूसरे की जीभ चूसते तो कभी होंठों के अमृत को चूसने में लग जाते. उसने कमरे की लाइट जलाई और बोली- राहुल राहुल!मैं कुछ नहीं बोला, वो वापस कमरे में चली गई. मैंने अपनी हथेली को टोपों से थोड़ा नीचे को खिसका लिया और टोपे नीचे को उतरती हुई चूत में फंस गए!नताशा थोड़ी सी कुनमुनाई, लेकिन उसने टोपों को बाहर नहीं निकलने दिया.

बहूरानी एकदम से घूम के मेरे सामने हुई और उसने हाथ में पकड़ी कंघी फेंक कर अपनी बाहें मेरे गले में पहना दीं, मैंने भी उसको अपने सीने से लगा लिया. दीदी- वैसे ये अचानक प्रमोशन कैसे… विजिटिंग स्टाफ से परमानेंट स्टाफ… कुछ तो बात है!दीदी- कुछ तो बात है… जो तू बता नहीं रही है… अगर नहीं बताना तो आज के बाद मुझे फ़ोन मत करना. देखो क्लिट्स चूत के ऊपर की तरफ एक छोटे से मटर के दाने जैसा होता है.

वहां पर एक ग्राउंड फ्लोर पर बड़ी सी कैंटीन है… जहां सब लोग खाना खाने आते हैं.

धीरे धीरे मैं उसकी नाभि और पेट पर किस करता हुआ, कमर पर पहुँचा और उसकी पेंटी को निकाल फेंका. मैं सोचता था कि मेरी मॉम तो पट नहीं रही हैं, इसी को पटा कर चोद लूँ.

शाम हो चुकी थी मैंने रूम की लाइट ऑन कर ली और चुपचाप रूम में लेट कर आंटी का इन्तजार करने लगा. हमने थोड़ी देर रेस्ट किया, फिर टाइम देखा तो उसने कहा- चलें क्या?मैंने कहा- यस. हस्पताल में जाते ही उन्होंने हमसे 40,000 रूपए डिपोज़िट करने को कहा.

अगर मुझे कोई तकलीफ होती तो उनको तुरंत पता चल जाता था और उन्हें कुछ हो तो मुझे खबर मिल जाती थी. रात होते ही मैं अपनी वाइफ से बोला कि मेरा एक दोस्त आ रहा है, उसका लंड बहुत लम्बा और मोटा है, मैंने उससे बात की है. यूं तो मैं हमेशा ही ऐ सी में सफ़र करने का प्रयास करता हूं, कभी मजबूरी में स्लीपर कोच में जाना पड़ा हो तो वो अलग बात है.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो कि मैंने उससे कहा- रूको रवि।उसकी आँखें चमकी- जी चाची जी बताओ?मैं- आज मैं तुम्हारे साथ सोऊँगी।वो- हाँ चाची. आंटी की कामुक सिसकारियां मुझे और मजे दे रही थीं और मैं भी पूरा होश खोकर उसका बन चुका था.

बीपी वीडियो सेक्सी वीडियो बीपी

लड़की अभी और खेलने के मूड में थी…ठीक है! मुझे भी कोई जल्दी नहीं थी, सारी रात अपनी थी. आपका मैं क्या इलाज करूँगा?तो वो कहती हैं- मुझे तो तुम्हारी दवाई पीनी है. मैंने ऐसे ही पूछा- इसका वहां क्या काम है?सैम ने कहा- आई हो तो यहाँ का मज़ा भी ले लो.

तो उसकी जान में जान आई।वो बोली- आज मेरी जान लेने का इरादा था क्या?जवाब में मैं सिर्फ मुस्कुरा दिया।वो फिर बोली- बहुत जालिम हो तुम. मैंने बिना रुके दूसरा जोरदार धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. सनी की बीएफवो- उफ़…!मैं- मुझे कितना कुछ कहने का मन कर रहा है लेकिन डर भी लग रहा है कि कहीं तुम्हें किसी बात का बुरा ना लगे, इसलिए नहीं कह रहा हूँ.

मैंने अपने दोनों हाथों से एक एक चुची को पकड़ कर दबाया और मुझे बहुत मजा आया.

दो तीन दिनों के बाद मुझे सुबह सुबह फ़ोन आया तो पता चला कि उसी पुलिस अधिकारी का फ़ोन है. फिर वो धीरे से अपने हाथ को चूत में डाल कर मेरे दूध को जोर जोर से चूसने और काटने लगा, जिससे मुझे दर्द भी हो रहा था और मज़ा भी आ रहा था.

मैं सीधा ऊपर क्लास में चला गया, जब मैंने ऊपर खिड़की से देखा तो वो जंगल जन्नत लग रहा था क्योंकि उस जंगल में मुझे असली सुख मिलने वाला था, मेरे सारे अरमान पूरे होने वाले थे. मेरी यह कहानी कोई खास पुरानी नहीं है बल्कि यही कोई दो महीने पहले की है. उसके बाद मैं धीरे धीरे होंठों से होकर कानों तक गया और उसके कानों को धीरे धीरे काटने लगा, जिससे उसकी मादक सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ने लगीं.

हालांकि मुझे उनके किसी के साथ सम्बन्ध बन जाने से कोई आपत्ति नहीं थी क्योंकि मैं मानता हूँ कि हर एक को अपनी जिन्दगी अपने हिसाब और मर्जी से जीने का अधिकार है लेकिन तब भी मुझे न जाने क्यों ऐसा लग रहा था कि मुझे माँ के विचार जानना ही चाहिए कि इस तरह के किसी गैर मर्द से शारीरिक सेक्स सम्बन्ध बनाने के पीछे उनका क्या सोच है और कहीं वो किसी गफलत में आकर अपना नुकसान न कर लें.

तभी आधी रात को एक पुलिस वाला आया और बोला- चलो बड़े साहब ने बुलाया है. जब मेरे पति आएंगे, उस महीने में हम दोनों सेक्स करके बच्चा पैदा कर ही सकते हैं. इस बीच मेरे दोस्त का फोन आया तो मैंने बहाना बना दिया कि मुझे कुछ काम आ गया है और मैं अपने अंकल के घर जा रहा हूँ.

बहु ससुर xxxलंच में वो बोली- यार देख मैं तुमसे इतनी जल्दी पैसे तो माँगना नहीं चाहती थी मगर मेरी भी मजबूरी है, उसको जरा समझ. अब मुझे भी शक हुआ क्योंकि मुझे मालूम था कि पंकज एक सेक्स एडिक्ट था.

బ్లూ ఫిల్మ్ సెక్స్

मैंने पूछा- क्या हुआ, मूड खराब है?वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है. ये लड़की नहीं, देवी है देवी…!उनको मेरे हाथ का खाना बहुत पसंद आता है. मेरे घर के थोड़ी दूरी पर मेरी एक फ्रेंड रहती थी, जिसका नाम अदिति (बदला हुआ नाम) था.

उसका लोअर भी एकदम चिपका हुआ था जिससे उसकी मरमरी जांघें भी उसकी साफ़ साफ़ नुमाया हो रही थीं. मैंने स्पीड बढ़ाने की कोशिश की तो बुआ चिल्ला दीं और बोलीं- धीरे कर पागल. ”तुम बिल्कुल मत डरो, तुम्हें बहुत अच्छा लगेगा, बस तुम अपनी टांगें फैलाये रखना, कुछ लगे तो मुझे बेझिझक बता देना, पर टांगें मत हिलाना.

एक बार की बात है गर्मी की छुट्टियों में मेरी कजिन बहन सुनन्दा का युवा बेटा पीयूष मेरे साथ खेल रहा था. बदले में मैंने जवाबी कार्रवाई करते हुए उनको खींचकर दीवार के बाहर खड़ा कर दिया. मेरे चाचा बहुत शराब पीते हैं, उस कारण से उनकी और चाची की ज्यादा नहीं बनती है.

देखने में तो वो सामान्य महिला जैसी है लेकिन उनकी आवाज़ बहुत ही मादक है जिसे सुन कर ही लंड खड़ा हो जाता है। उनके घर में भाभी के अलावा उनके बूढ़े पापा जी ही थे. अब हम कभी कभी फ़ोन सेक्स भी करने लगे थे और वो मुझे अपने बूब्स की पिक्स भी भेजने लगी थी.

एक तो वो वैसे ही बिल्कुल कातिल लग रही थी और ऊपर से मेरा पहली बार था तो मैं तो सेक्स के लिए मरा जा रहा था.

वहीं चिंटू ने अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर लगाते ही दो करारे धक्कों में मेरी गांड में पूरा उतार दिया. सेक्सी व्हिडिओ बीएफ सेक्सीवो खुद ही रात में बोली- वो एम डी सर का बेटा है, उसके साथ जाना पड़ता है क्लाइंट के पास! तुम तो जबरदस्ती शक करते हो!और मुझको पुचकारने लग गई. తమిళం సెక్స్ వీడియోలుमेरा वेट अराउंड 58 किलो है और मेरी कमर 27 के आस पास है… इसलिए वो ड्रेस जो कि मेरी स्किन से चिपक गई थी, उसकी वजह से मेरी कमर का ऊपर का हिस्सा भी बहुत मस्त लग रहा था. मैंने लंड को उसके बुर पर रख कर थोड़ा सा ज़ोर लगाया, तो वो दर्द से कराहते हुए बोली- आह नहीं भैया.

कुछ देर बाद मैंने अपनी शोर्ट को नीचे खिसका कर अपना लंड बाहर निकाला और अपनी फुफेरी बहन के हाथ में थमा दिया.

प्रिया ने चूस-चूस कर मेरा निचला होंठ सूज़ा दिया था, आवेश में आ कर अपने तीखे नाखूनों से मेरी पीठ पर अनगिनत खूनी लकीरें उकेर दी थी. अब मैंने उसको कान के पीछे किस करने लगा तो वो थोड़ी देर में ही मचलने लगी और उसने कहा- मुझे कुछ हो रहा है प्लीज़ ऐसे मत करो. अब अंकल अपना लन्ड जोर से मेरी चूत में घुसाने लगे, मुझे बहुत दर्द होने लगा, मैं बहुत तेजी से चिल्लाने लगी- छोड़ दो मुझे!और रोने भी लगी.

तभी उन्होंने मज़ाक में कहा- दोस्त कभी हमें भी गांड मारने का सुख दिलाओ, कैसे मारी जाती है, कभी हमें भी सिखाओ. मैंने आज पहली बार काव्या को अपने सामने जीती जागती देखा तो मैं मस्त हो गया. मगर आप 8 बजे मेरे ऑफिस में आ पाओगी?मैंने कहा- ज़रूरत मेरी है… अगर आप ऑफिस में तो क्या जहाँ भी बुलायेंगे, मैं पक्का आऊंगी.

ബ്ലൂ വീഡിയോ

कुछ पीएंगी?मैंने कहा- मैं पीती तो नहीं मगर आपको नाराज़ भी नहीं कर सकती इसलिए आप जो कहेंगे मैं करूँगी. फिर जब मैंने उनसे जोर देकर और अपनापन दिखाते हुए कुछ बताने पर जोर दिया. फिर लगभग 2 बजे पर मैंने उसे फोन किया तो वो पूछने लगी- ऑफिस में आपके पास कौन है?उस वक्त मेरे पास कोई नहीं था.

जब मैं शादी करके आई थी तो वो 15 साल का था, मेरी सास ना होने के कारण उसकी सारी देखभाल मैंने ही की थी और उसने भी मेरा ख्याल बहुत कायदे से रखा था.

फिर मैं बाथरूम में जाकर अपना चेहरा साफ करके आई और मिरर के सामने बाल ठीक करने लगी.

खैर मैं ज्यादा देर रुक भी नहीं सकती थी, तो मैंने अपना दिल थाम कर बाहर निकल गई. रास्ते में मैंने सोचा कि क्यों ना निशा का मूड ठीक करने के लिए शाम को कुछ सरप्राइज़ दूँ. बीएफ सेक्सी वीडियो जंगल कीमैंने उससे कहा- गांड मार लेने दे,वो नहीं माना, मैंने उसको पैसे का लालच दिया तो वो मान गया.

आशीष मेरे बूब्स को इतना जोर से चूसने लगा कि मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था, मैं अपने होने वाले पति बालू को देख नहीं पा रही थी क्योंकि मेरे मुंह में आशीष का लन्ड था. सेजल भाभी ने अपना सर दीवार के सहारे सटा रखा था और छत की तरफ़ आंखें बंद करके अपने होंठ दांतों से चबा रही थीं. मैंने अपनी बीवी से पूछा- क्या हुआ यार, मज़ा नहीं आ रहा क्या?वो बोली- हां यार, मजा नहीं आ रहा है चुत चुदाई का…मैंने पूछा- क्यों क्या हुआ?मेरी बीवी बोली- मैं नहीं जानती.

भाभी की ओर मेरी नज़र गई, वो मेरे लिए खुश तो थीं, पर उनकी प्यास दिख रही थी. आप अपनी राय मेरे इन ई मेल पते पर भेजें![emailprotected][emailprotected].

इस धक्के में मेरा आधे से ज्यादा लंड दीदी की गांड की गहराइयों में उतर गया.

ये बात मुझे पता नहीं थी कि मेरे भैया साल में दो बार घर आते थे और आंटी को उस रूम में चोद कर उनकी खुजली मिटाते थे. थोड़ी देर मम्मों को दबाने और चूसने के बाद हमने लगभग 5 मिनट तक किसिंग की. भाभी आधी लेटी हुई थी, सूट पहन रखा था और मैं उनके पैरों के पास बैठ गया और हम बीयर पीने लगे.

सेक्स करने का स्टाइल मैं- थैंक्स मेरी तरफ से भी मुझे तुमसे अपनी चुत चुदाई करवा कर बहुत अच्छा लगा. मैंने देखा कि जैसे ही उसने मुझे धक्का दिया, मैं पलंग पर गिर गया और उसने जल्दी से दरवाजा बंद करके मेरी ऊपर आकर चढ़ गई.

अगर आप जैसे कोई मुझे मिल जाए तो मैं तो सारी रात उसके साथ मस्ती करूँगा. ”मुझे तो आप जानते ही हो, मैं कोमल… आप लोग क्या लेंगे?”हम सब बियर लेंगे. कॉल गर्ल बनने के बाद मैं उसके साथ कई बार एक ही बिस्तर पर अलग अलग लंडों से चुद भी चुकी थी.

हॉट बिहारी सेक्सी वीडियो

तो दोस्तो, मेरी भाभी का नाम सोनी है, जो दिखने में एकदम मस्त है। भाभी की शादी 18 की वर्ष में ही हो गयी थी, तब मेरे मन में उस भाभी को लेकर कोई सेक्स प्रतिक्रिया नहीं थी।पर दिन गुज़रते गये, मेरे मन में सेक्स के लिए बहुत उत्सुकता बढ़ने लगी. मैं पानी लेकर आई, तब वो पानी पी कर बोला- मेम एक बोतल और हो, तो दे दो प्लीज़. मेरा सर उस दूध की वजह बहुत जोर से दर्द कर रहा था और मैं थोड़ा थोड़ा होश खोने लगा था.

मैं बिल्कुल सेजल भाभी की टाँगों के बीच बैठा और चुत के छेद के ऊपर से पैंटी को पकड़ कर खींचा और कैंची को खोल के एक तरफ की नोक को पैंटी में घुसाने लगा. अब एक बार फिर से मेरी चूत और गांड एक साथ चुदने के लिए तैयार थी और दोनों ने ही धक्के लगाने शुरू कर दिए.

निप्पल चुसवाते ही मीशा की मस्ती बढ़ गई और वो मेरे मुँह में अपनी चूचियां ठेलने लगी.

अब मेरा दोस्त मेरी बीवी से बोला- भाबी, आज आपकी पूरी खुजली मिटा दूँगा. पर मैं जानता था कि इस पोज़ में डायरेक्ट जी-स्पॉट पर लंड टकराता है, जिस वजह से महिला को असीम आनन्द की प्राप्ति होती है. मैं धीरे धीरे उसी को निहार रहा था, बीच बीच में इधर उधर देख लेता था.

इसके बाद मैं उसकी कमर से किस करते हुए उसकी चुत पर आया… उसकी चुत पूरी गीली हो गई थी. मुझे चाची की लंड चुसाई में बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मेरा बरसों का सपना आज पूरा हो रहा था. मुझे ये सोच सोच कर नवीन से बात करते हुए बड़ा अजीब लग रहा था कि अभी कुछ मिनट पहले यही आदमी मेरी मॉम को कुतिया की तरह चोद रहा था.

https://thumb-v2.xhcdn.com/a/NHxNZq4pbTHR5BzKPR3_LQ/010/582/202/526x298.t.webm.

हिंदी बीएफ सेक्सी पिक्चर वीडियो: घर के आस पास खाली जगह थी, मैंने घर के पीछे अपनी बाइक खड़ी कर दी और पीछे चला गया. उसे शुरू में थोड़ा दर्द हो रहा था क्योंकि उसकी पहली चुदाई हो रही थी.

फिर धीरे धीरे आगे पीछे करते हुए एक और झटका लगाया, मेरा पूरा लंड अन्दर हो गया. फिर उसने बोतल के इंजेक्टर को अपनी चूत में घुसेड़ कर अपने दोनों हाथों से दबा- दबा कर गर्म पानी अपनी ओवरी में घुसाना शुरू कर दिया. दोस्तो आज मैं अपनी जिंदगी का पूरा मजा ले रहा था।अब अंजलि को मैंने उल्टा यानि अंजलि के हाथ टायलेट शीट पर रखवा दिए, अंजलि की चूत पूरी बाहर हो गयी, अब मैंने अपने लन्ड को अंजलि की चूत और गांड पर हाथ से रगड़ने लगा.

दरअसल ये मेरे लिए एक गाली न होकर मेरी योग्यता को दर्शाने के लिए लिखा है.

उसका दूध किसी अमृत से कम नहीं लग रहा था, जिसे मैं सारा का सारा पिए जा रहा था. ”रोशनी ने उसका इंग्लिश में नाम पढ़ा, पर वहां चूत की फ़ोटो पर दो नाम थे, पहले तीर के निशान पे क्लिट्स लिखा था और दूसरे तीर पर वेजिना लिखा था. यह सुन कर कुछ संतोष हो गया कि अगर वो एक बार हमारे चक्कर में फंस गया तो कोई उसे रोकने वाला नहीं होगा.