धांसू सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,देहाती एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

पति को धोखा देने की सजा: धांसू सेक्सी बीएफ, वो मेरे खड़े लंड को देख कर खुश हो गई और बोली- हम्म … लग तो मजबूत रहा है.

एचडी बीएफ ब्लू

उसे ऐसा लगा, जैसे दो फूले हुए गुब्बारे उसके और उसकी मॉम की बीच में दब रहे हों. मौसी की सेक्स बीएफमैं उम्मीद करता हूं कि आप कहानी को ध्यान से पढ़ेंगे और अपने सुझाव मुझे बतायेंगे।मैं अब कहानी की शुरूआत करता हूं.

मैं धीरे से गेट के पास गया और उसका ध्यान भटकाते हुए एकदम से गेट खोल दिया. हिंदी बीएफ एचडी फुल सेक्सीउसमें भी वो ज्यादातर सेक्स कहानी भाई बहन की चुदाई की कहानी पढ़ना पसंद करती थी.

मैंने रिप्लाई लिखा- कैसी भी शर्त हो … मुझे सब मंजूर है, तुम मिलो तो सही.धांसू सेक्सी बीएफ: निचले तल के सामने तो बीच वाला घर था, वहां से उसे कुछ दिखा पाना सम्भव नहीं था.

फिर हम दोनों ने कपड़े उतार दिए और मैं उसकी टांगें खोल कर उसकी नमकीन चूत को चाटने लगा.मेरे पास आकर उसने मुझे गले से लगाया और गुड मॉर्निंग कहते हुए मुझसे पूछा- कल रात ठीक से सो गए थे न?मैंने हां में जवाब दिया.

मां बेटे के साथ बीएफ - धांसू सेक्सी बीएफ

जैसे ही मुझे मेरी भतीजी की चुदाई का मौका मिलेगा मैं आप लोगों को जरूर बताऊंगा.वो बोली- आपने मुझे इतनी सेक्सी कपड़े में पहली बार देखा है, शायद इसी लिए आपका लंड तन गया है ना!मैं बोला- हां जान.

उसी दौरान मुझे एक दिन अपनी गांड में उंगली करने का मन हुआ और धीरे धीरे मैं अपनी गांड में भी उंगली चलाने लगी. धांसू सेक्सी बीएफ उन लोगों ने मेरे मोबाइल पर उसकी फोटो देखी और सबने अपने अपने नंबर पर उसकी डिटेल ले ली.

उसने कहा- ठीक है, प्यार मत करो लेकिन प्यार से सेक्स तो कर सकते हो!मैंने कहा- करके तो देखो, फिर बताना कि प्यार से हुआ या बिना प्यार से हुआ.

धांसू सेक्सी बीएफ?

मैंने उसे नंगी किया और अपना लंड बाहर निकाला कर उसके मुँह में डाल दिया. वो एकदम से चिहुंक गई और अपने चेहरे से मेरे लंड से निकले रस को साफ़ करने लगी. वो बोली- राज तुम मेरी तरफ खिसक जाओ।अब मेरी हिम्मत धीरे धीरे बढ़ने लगी थी। मैंने उसकी नाईटी ऊपर करके उसकी जांघों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया।उसे भी मज़ा आने लगा था, उसने अपनी टांगें मेरी कमर पर लपेट दी।मैं समझ गया कि उसकी तरफ से हां है।मैंने उसकी नाईटी में अपना हाथ डाल दिया उसके बूब्स मसलने लगा.

मैंने भी अपने दोनों हाथों से जेठजी का सर पकड़ लिया और अपनी चूत के ऊपर दबाने लगी. मैंने सुनील को कहा कि हम दोनों पहले युविका को चोदेंगे और बाद में उसकी बहन को. मैं उसकी ‘जरूर करना …’ वाली बात से खुश हो गया और मैंने ओके कह दिया.

हैलो फ्रेंड्स, मैं निखिल इस ब्रदर सिस्टर स्वैप पोर्न कहानी के पहले भागमेरे दोस्त ने अपनी बहन को चोद दियामें आपको अपने एक प्रशंसक की बहन सुरीली की चुत में उंगली डालकर मजा ले रहा था. इस समय उसके गाल मेरे लंड पर थे, जिस कारण से मेरे लंड में सनसनी होने लगी और लंड ने फूलना शुरू कर दिया. पापा एकदम से घबरा कर पूछने लगे कि क्या हुआ?मम्मी ने सारी बात बताई, तो पापा मुझसे बोले- बेटा अकेली जाकर करा लेना … मुझे अभी आधे घंटे में निकलना है.

जैसे ही मुझे मेरी भतीजी की चुदाई का मौका मिलेगा मैं आप लोगों को जरूर बताऊंगा. उफ्फ वो सीन आज भी याद आ जाता है तो मुठ मारे बिना रह ही नहीं पाता हूँ.

सत्यम जब मम्मी के साथ होता, तो वो उनका पति लगता … और मुझे तो सब सत्यम की पत्नी ही मान रहे थे.

मैंने आकृति आंटी को शांत कराया और उनको भरोसा दिलाया कि मैं अभी जाकर रिट्ज को समझा कर घर वापस ले आता हूँ.

हालांकि मुझे कुछ खास समझ नहीं आया, बस वो किसी स्कूल के बारे में बात कर रही थी. फिर 10-15 मिनट बाद उनका फिर से चुत चोदने का मन करने लगा लेकिन मैं तैयार नहीं थी. मैंने उसके सामने एक ही बार में अपने सारे कपड़े निकाल दिया और उसके सामने एकदम नंगी हो गयी.

आगे एक और सेक्स कहानी मैं आपको सीमा के साथ चुदाई की कहानी में लिखूंगा कि सीमा की मुझसे चुदने की क्या क्या कल्पनाएं थीं और उन सबको मैंने किस तरह से पूरा किया. वो जब भी कोचिंग पढ़ने आती थी, तो पहले मुझसेअपनी चूत चुदाईकराकर ही कोचिंग जाती थी. [emailprotected]देसी मामी सेक्स कहानी का अगला भाग:सबसे छोटी मामी जी को बीहड़ में पेला- 2.

उनका लंड मेरे मुंह में फंस गया और वो धक्के देते हुए बोले- चूस साली … यही है तेरा सपना … चूस ले इसे.

उसने अपने दोनों हाथों में मेरी दोनों चुचियों को ले लिया और मसलने लगा. वो देखने में इतनी सुंदर थीं कि जो भी उन्हें एक नजर देखे, उनका दीवाना हो जाए और उसी समय वो भाभी की चूत और गांड मारने के सपने देखने लगे. तभी पीयूष ने अपना मुँह शीना के बूब्स पर रख कर उसके निप्पल चूसने लगा.

मैंने जीजू का नंबर सेव कर लिया था और उनके साथ व्हाट्सैप व्हाट्सैप पर बातें शुरू हो गईं. इसके बाद विजय ने अपने लंड पर आइसक्रीम लगाई और सरिता भाभी के मुँह के पास अपना लंड रख दिया. दोस्तो, अब तो मैं बिल्कुल भी नहीं रुक सकता था।मैंने उसकी पैंटी में हाथ देना चाहा.

मैं एक सच्ची स्लीपर बस सेक्स स्टोरी आप लोगों के सामने बताने जा रहा हूं.

मैं जोर जोर से उनकी चुत मसल रहा था और वो फुल जोश में मुझे चूम रही थीं. वो बोली- राज तुम मेरी तरफ खिसक जाओ।अब मेरी हिम्मत धीरे धीरे बढ़ने लगी थी। मैंने उसकी नाईटी ऊपर करके उसकी जांघों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया।उसे भी मज़ा आने लगा था, उसने अपनी टांगें मेरी कमर पर लपेट दी।मैं समझ गया कि उसकी तरफ से हां है।मैंने उसकी नाईटी में अपना हाथ डाल दिया उसके बूब्स मसलने लगा.

धांसू सेक्सी बीएफ उस दिन मैं मॉम की इस बात को कई बार सोचा और अंदाजा लगा लिया कि कुछ न कुछ तो मॉम के दिमाग में भी चल रहा है या उनकी चुत में कीड़ा काट रहा है. सभी दोस्तों को सादर अभिवादन।मैं आपका जाना पहचाना हूँ लेकिन कुछ नए पुरुष एवं महिला दोस्तों को अपना परिचय देना आवश्यक हो जाता है.

धांसू सेक्सी बीएफ नवाब मुझे चूमते हुए बोला- क्या मस्त माल है रे तू … मन कर रहा है कि तुझे कच्चा ही खा जाऊं!मैं हंस दी और कहा कि खा जा साले … मैं भी कौन सा तुझे भून कर खाऊंगी, आज मैं भी तुझे सालम ही खा लूंगी. मतलब अंकल तो पूरे गर्म हो चुके थे और अपना लंड रगड़ कर मुझे गर्मी देने के बाद संभोग की उत्तेजना भी देने लगे थे.

अब इस मुद्रा में उनका चेहरा उनकी टांगों के पीछे ढ़क गया क्योंकि उसने सलवार पूरी तरह से बाहर नहीं निकाली थी इसलिए उसको टांगें उठानी पड़ रही थीं.

तनु नाम का अर्थ

इस बार मेरे लंड ने उसकी गांड के छल्ले को भी कुछ ढीला महसूस किया था. मैंने पूछा- आपको कोई प्रॉब्लम न हो तो मैं भी आ जाऊं!इस पर वो हंस दीं और बोलीं कि कोई प्रॉब्लम नहीं है … चलो. रमेश का लंबा लंड होने के कारण अंजलि सिर्फ़ आधा लौड़ा ही मुँह में ले पा रही थी.

उसके घुटनों के नीचे तकिया लगाने से उसकी गांड थोड़ी ऊपर की साइड में हो चुकी थी, जो मुझे मजेदार लग रही थी,मैं रुक नहीं पा रहा था तो मैंने फिर से अपना मुँह उसकी चूत में डाल दिया और उसको पूरा चूस लिया. मैंने पानी पिला कर उससे आराम करने का बोला पर वो मेरी बांहों में आ गई. ट्रेन रुकने के बाद वो तुरंत ही रोहन के डिब्बे के पास पहुंचे, तो दरवाजे पर उन्हें रोहन खड़ा मिल गया.

मैंने आपा की सलवार खोल दी और उसकी सफाचट चूत देखकर मेरा दिमाग ख़राब हो गया.

जिसके कारण मेरे लौड़े में तनाव आना शुरू हो गया।अलग होने के बाद उसने मुझे आंख भी मारी और धीरे से बोली- ऐसे केवल थैंक्यू से काम नहीं चलेगा, पार्टी देनी होगी।दोस्तो, मैं रिसेप्शनिस्ट का परिचय देना तो भूल ही गया।वो लगभग 28 से 30 साल की भरे बदन की औरत थी। उसकी चूचियां लगभग 36 के आसपास थीं. आंटी एक पैग पीने के बाद मुझे अपने मायके और अपने बचपन के बारे में बताने लगीं. मैंने कहा- अब जब भी तेरा मन हो तो मेरा लंड तेरी चुत के लिए हाजिर रहेगा.

यह सोनी आपके जैसे मर्दों के लिए बनी है … आज आप मेरी सारी प्यास बुझा दो. और हर बार मैंने अपना लंड चुत में खाली किया और मामी की चुत को दो बूंद की जगह चार चम्मच वीर्य पिला दिया. फिर मैंने लंड का दबाव बनाना शुरू किया और उसके चूचों को पीते हुए हल्के हल्के धक्के लगाने लगा.

असल में सारा ने उससे ऐसा करने को कहा था क्योंकि कमल के मुख से पिछली रात ये निकला था कि जब लकी की बीवी आएगी तो वो चारों मस्ती करेंगे. कोमल के होंठों को अपने मुँह में लिए हुए मैं उसको ताबड़तोड़ चोद रहा था.

पहले दस मिनट तक मैं धक्का ज्यादा जोर से नहीं मार रहा था, लेकिन चुत में चिकनाई आते ही मैंने पलना शुरू कर दिया. आप जानते होंगे कि सर्दी में या तो प्यास लगती नहीं और लगती है तो फिर प्यास कितनी जोर से लगती है. उसने भी मेरे लंड को अपनी गांड हिला कर इशारा दे दिया कि ये छेद तेरे लिए रेडी है.

कुछ देर बाद बारात के वापस जाने का समय होने लगा था; उन्होंने मुझे कार के पास आने का इशारा किया.

मेरी वाइफ के फ़ोन से बिना बताए मैंने माधवी भाभी का नम्बर निकाल लिया. आज मैंने पहली बार किसी का लंड अपने मुँह में लिया था, तो मुझे भी कुछ देर बाद लंड चूसने में मजा आने लगा. उसने मेरी टांगें फैला कर घुटनों को मोड़ा और अपने मोटे लंड को मेरी चुत की फांकों में फंसा दिया.

थैंक्यू परिमल … आज का मेरा दिन मेरी लाईफ का बहुत स्पेशल दिन बनाने के लिए मैनी मैनी थैंक्स. फिर भाभी मेरे लिए एक तौलिया लाईं और बोलीं- तुम भीग गए हो, इससे पौंछ लो.

वो शीना के साथ और भी बहुत कुछ करने की कोशिश करता लेकिन वो अभी उससे सीधा सेक्स के लिए बोलने की हिम्मत नहीं कर पा रहा था. इस गजब की वनीला आइस-क्रीम चुदाई के बाद हम दोनों ने अपने अपने कपड़े पहने और जाने को रेडी हो गए. आंटी मेरे बगल बैठते हुए बोलीं- तुम पी नहीं सकते … लेकिन मेरा साथ बैठ सकते हो.

डिजाइन mangalsutra

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों की गिरफ्त में ले लिया।अब मैंने धीरे से दबाव डाला और मेरा लण्ड उसकी चूत में घुसता चला गया।वो गर्माहट मुझे आज भी याद है बिल्कुल किसी ज्वालामुखी की तरह धधक रही थी उसकी चूत।झटका जोरदार था इसलिए वो पहले झटके को सह न पायी.

मैं सामने वाली भाभी से बात कर रहा था कि तभी मेरे पास बैठी भाभी धीरे धीरे मेरे पास को आने लगी और उसने अपने हाथ को मेरी जांघ के टच करना शुरू कर दिया. मुझसे उसकी पिंक चुत देख कर रहा नहीं गया और मैंने झट से उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया. सबसे पहले उसने अपने कुर्ती ऊपर की और उसे अपने बदन से अलग कर दी अन्दर से काले रंग की ब्रा उसे मादक बना रही थी.

पर थी कौन?क्योंकि मुझे पता था कि उस घर में कोई भी लड़का या लड़की अच्छी शक्ल का नहीं था, पता नहीं ये लड़की कौन थी. मैंने गाड़ी की चाबी वहीं पास में छुपा दी और नंगी ही सड़क पर चलने लगी. हिजड़ा सेक्स बीएफइसके बाद जब भी मुझे अपनी मॉम को चोदने का मौका मिलता, तो हम मॉम बेटे चुदायी कर लिया करते.

मैंने सोचा चलो कम से कम और कुछ ना सही पास में सोने का ही सुख मिलेगा।उसके बाद वह ऊपर चढ़कर आ गई और मेरे बगल में लेट गई।अब स्लीपर तो इतनी चौड़ी होती नहीं है कि बीच में गैप रहता. इस बार आंटी ने मुझे सोफे पर बैठे रहने को कहा और वो खुद मेरे ऊपर अपने पैरों को फैला कर चढ़ गईं.

मैंने उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ा और जो अंगूठी मैं लेकर आया था, उसकी उंगली में पहना दी. रिट्ज के ससुराल जाने के बाद तो जब भी मेरा मन होता या आकृति आंटी का मन होता, तो हम दोनों पूरे घर में चुदाई का मज़ा लेते. कभी मैं उसके ऊपर चढ़ कर चुदाई करने लगता, तो कभी वो मेरे लंड के ऊपर बैठ कर चुत चुदवाने लगती.

यही सोच सोच कर मैं बाथरूम में जाकर अपनी बहन रिया की पैंटी उठा कर लंड पर लपेट लेता था और मुठ मारकर उसकी पैंटी पर ही अपना वीर्य झाड़ देता था. फिर उसने अपनी गांड आगे धकेलते हुए मेरे लंड को अपनी चूत में धीरे धीरे अंदर लेना शुरू कर दिया. उन्होंने अपने कमरे के बिस्तर पर ढेर सारे प्रेमरस को अपनी उंगलियों से समेट कर दिखाते हुए मुझसे पूछा कि यह क्या है?इस सबके अलावा बिस्तर की स्थिति भी साफ़ बता रही थी कि अभी थोड़ी देर पहले ही यहां वासना का नंगा खेल बहुत उत्साह से खेला गया था.

मैंने कमरे में रखी टेबल की दराज को खोल कर देखा तो उधर तेल क्रीम आदि सब सामान मौजूद था.

इस तरह से भाभी मुझे अपनी चुदाई का साफ साफ निमंत्रण दे रही थीं, लेकिन वो खुलकर कह नहीं पा रही थीं. उसने हामी भरी और दो दिन बाद उसने मुझे उसी हॉल में बुलाया, वहां आसिफा भी थी.

उनको मीनू की ये हालत देखने में शायद बहुत मजा आ रहा था और वो तेजी से उसकी चूत को अपनी उंगली से चोदे जा रहे थे।अब मीनू से रुका नहीं जा रहा था; वो मामा को अपनी ओर खींचने लगी. फिर उसकी आंखों में आंखें डालकर मैंने एक जोरदार झटके के साथ अपना पूरा लंड उसकी चूत की जड़ में पेल दिया. आकृति आंटी ने मेरा लौड़ा जो अभी सोया था, उसको अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं.

फिर वो बोला- मैं प्रोड्यूसर से बात करता हूँ और डेट फ़िक्स करता हूँ. शेखर- बेटा तुम्हें कब निकलना है?रोहन ने जवाब दिया- जी कल सुबह छह बजे. सब लोग छत पर सोते थे तो एक रात …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम मोहन है, मैं एक शादीशुदा युवक हूँ.

धांसू सेक्सी बीएफ वो 23 साल की मासूम सी दिखने वाली लड़की, तीखे नैन, गुलाबी होंठ, चौतीस की चूचियां. नीचे रोहन और कुसुम दोनों डाइनिंग टेबल पर बैठे ब्रेकफास्ट कर रहे थे.

वेलेंटीना नप्पी

मेरे लंड को चूसते हुए ही प्रिया ने मेरी जीन्स को मेरी टांगों से बिल्कुल ही खींचकर अलग कर दिया था. अभी मुझे जाने दो मेरे राजा … मैं जल्द ही अपनी चूत तुमको देने आऊंगी. मुझे मस्ती सूझी, तो मैंने उससे कहा श्रुति बोरोलीन अन्दर तक जाए इसके लिए मुझे फिर से लंड डालना चाहिए.

फिर मेरी बहन ने अपने ब्वॉयफ्रेंड से कहा- पंकज, अगर तुम बुरा ना मानो तो मैं तुम्हारा लंड मुँह में लेकर चूसना चाहती हूँ. लेकिन उसके जिस्म को देखकर नजर तो चली ही जाती थी जो एक स्वाभाविक सी बात थी।मैं मेडीकल की पढ़ाई कर रहा था और रोज सुबह उठकर मुझे कॉलेज जाना होता था. हिंदी में एक्स एक्स एक्स ब्लूमुझे पीछे से उसकी नंगी पीठ ने बेचैन कर रखा था, शायद मेरी कुंवारी दुल्हन को अंदाजा नहीं था कि मैं अब उसकी पीठ पर हमला बोलूंगा.

रमेश मेरे बगल में आ बैठा और बोला- मैं रमेश गूजर हूँ … मेरी उम्र तो तुझे नासिर ने बता ही दी है.

अब कुसुम ने बोलना शुरू किया- देखो रोहन … जो हम लोग आज करने वाले थे, वो एक तरह का पाप है. दो दिन के बाद वह अपने कॉलेज से जल्दी निकल आया और मेरी छुट्टी होने के बाद हम दोनों साथ में ऑटो से बैठ कर आए.

इन दोनों के पापा का अपना बिजनेस होने के कारण पैसे की कोई कमी नहीं है. मैंने उसके होंठों को अपने होंठों की गिरफ्त में ले लिया।अब मैंने धीरे से दबाव डाला और मेरा लण्ड उसकी चूत में घुसता चला गया।वो गर्माहट मुझे आज भी याद है बिल्कुल किसी ज्वालामुखी की तरह धधक रही थी उसकी चूत।झटका जोरदार था इसलिए वो पहले झटके को सह न पायी. एक बार अगर सोने का मौका मिल जाएगा तो आगे फिर कुछ बात बन सकती है।मैंने पहले ही बोल दिया था कि मैं स्लीपर में सोऊंगा एक लड़की तुम तीनों में से जो भी चाहे वह स्लीपर में आकर सो सकती है या बैठ सकती है।यह सुनकर पहले तो तीनों ने मना कर दिया कि हम तीनों ही नहीं आएंगी हम 2 सीट पर 3 लोग एडजस्ट करके बैठ जाएंगी।और उन लोगों ने ऐसा ही किया.

अंजलि ने साड़ी भी अपनी नाभि से काफ़ी नीचे बांधी हुई थी जिससे अंजलि भी एक मादक माल लग रही थी.

उसने बताया कि उसकी उम्र 30 साल है, उसके पति भी पुलिस में हैं।अब मैं डर गया और सोचा इसके साथ रिस्क लेने में दिक्कत आ सकती है।मैं चुपचाप करवट लेकर सो गया. उसने ध्यान से सुना तो भाबी की ही आवाज थी और ऐसी आवाज आ रही थी, जैसे कोई भाबी को चोद रहा हो और वो मीठे दर्द से बिलबिला रही हो. मैंने उसको तुरन्त ही एक फ्लाइंग किस उछाल दिया और उसने अपने चेहरे को वापस दीवार में घुसा दिया.

सेक्सी वीडियो बीपी दिखाएंवो मेरी बहन को प्यार करने लगा और बहन से रिक्वेस्ट करने लगा- जानू मान जाओ ना प्लीज … मैं एक बार तुम्हारी गांड की रस मलाई चखना चाहता हूं प्लीज … मान जाओ ना!मगर मेरी बहन नहीं मानी और अपने कपड़े पहनने लगी. चरम पर आकर मैंने उसकी आंखों में आखें डालीं तो उसने भी मूक भाषा में चुत में रस टपकाने की बात कह दी.

कुंवारी लड़की की सील कैसे तोड़ी जाती है

भाभी बोली- हां, तो कैसी रही आपकी हनीमून ट्रिप?मैं- मज़ेदार … बहुत ही शानदार. जिस दिन रोहन घर आने वाला था, उस दिन शेखर और कुसुम दोनों ने मिलकर रोहन के लिए सरप्राईज प्लान किया था. मैं- आपकी जान तो बच जाएगी, अगर लंड मिल गया तो … मगर मुझे क्या मिलेगा?निशा भाभी- जो चाहिए ले लेना.

कुछ देर बाद बारात के वापस जाने का समय होने लगा था; उन्होंने मुझे कार के पास आने का इशारा किया. आप लोग मुझे नहीं जानते होंगे क्योंकि ये मेरी पहली गर्लफ्रेंड Xxx स्टोरी है. इससे वो उछल गई क्योंकि मेरी बहन रिया की गांड और चुत दोनों अभी तक सीलपैक थीं.

अब मैं उसकी चुत में जोर ज़ोर से धक्का लगा रहा था और उसकी चुत ने फिर से गर्म होना शुरू कर दिया था. कुछ देर बाद मेरा दर्द काफी कम हो गया और मैंने भी अमित को अपने आगोश में भर लिया. वो कुछ देर बाद बोली- सिर्फ़ निप्पल ही चूसोगे या और कुछ भी करोगे!मैं बोला- करूंगा ना … अभी तो पूरी रात बाकी है.

वो बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- अब सिर्फ बातें ही करते रहनी हैं या सही से मिलना भी होना है?वो हंस कर बोली- मिल तो गए और कैसे मिलते हैं. अब मैं भी किसी दूसरे से कर लेती हूँ, तुम्हें बुरा तो नहीं लगेगा?कमल अब क्या कहता; बोला- नहीं, मुझे क्यों बुरा लगेगा.

तभी मैंने वर्षा भाभी के ब्लाउज में हाथ डाल दिया और उनके दूधों पर रंग लगाते हुए दूध मसलने लगा,भाभी ने गुलाबी रंग की ब्रा पहनी थी.

फिर मेरी पैन्ट की ज़िप खोल कर मेरा लंड बाहर निकाला और बोली- इस मादरचोद को क्यों छुपा रखा है? मेरी जान है ये … इसे तो जितना भी चूसूँ, दिल नहीं भरता. सील तोड़ते हुए बीएफये हम दोनों का दूसरा राउंड था, इसलिए हम दोनों में से कोई भी जल्दी झड़ने वाला नहीं था. रंडी खाने की बीएफदोनों किस में खोए हुए थे और रोहन का लंड कुसुम की जांघों पर टक्कर मार रहा था. थोड़ी देर बाद मैं उनकी चूत में अपनी उंगली को घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा.

उसके पास अपना खुद का घर भी था और कार भी।फिर उसने मुझे अपना घर दिखाया.

अब इस तरह से आंटी से मेरी धीरे धीरे बहुत अच्छी बनने लगी और रिट्ज से भी. इस समय उसके गाल मेरे लंड पर थे, जिस कारण से मेरे लंड में सनसनी होने लगी और लंड ने फूलना शुरू कर दिया. फिर मैंने उसका टॉप ऊपर कर दिया और प्रिया की ब्रा के ऊपर से उसके चूचे चूसने लगा।फिर मैंने ब्रा भी ऊपर कर दी और उसके निप्पलों पर टूट पड़ा.

श्रुति की उभरी हुई गांड और तनी हुई चुचियों को देख कर कोई भी उसको खेली खाई लौंडिया समझने में भूल कर सकता था, जबकि वो अभी एकदम सीलपैक आइटम थी. मैंने चुपके से दीदी की चूत पर होंठ रख दिये और दीदी की चूत को चाटने लगा. मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके ऊपर चढ़कर उसकी ब्रा को खोलकर उसके गोल गोल रूई से भी अधिक नर्म चुचों को पीना शुरू कर दिया.

चोदने से क्या होता है

फिर उसने फैसला कर लिया कि उसे मॉम के पास जाकर माफी मांग लेनी चाहिए और इन बातों को यहीं खत्म कर देना चाहिए. वो मुझसे नाराज हो गया कि बिना बताए दोनों साथ में कैसे घूम रहे हो वगैरह वगैरह. उसके होंठ और चूचों को किस करते हुए मैंने उसके दर्द को कम करने व भुलाने का प्रयास किया.

दुकान पर उसके पिता बैठे हुए थे और आकाश का कोई पता नहीं था।मैं अपने घर की तरफ चल दी.

मैं समझ गया कि मेरी चालू साली ने मुझे अपने बाथरूम में नहाने को क्यों कहा था.

मैं ये मानता हूं कि जो रिश्ता हम दोनों के बीच बनने जा रहा था, वो समाज के लिए गलत है. मुझे ये मौका कैसे मिला?प्रिय पाठको, मैं अन्तर्वासना पर अपनी सच्ची चुदायी की घटना बताने जा रही हूं जो एकदम सत्य घटना पर आधारित है. इंडियन मराठी एक्स वीडियोमैंने उसको ये खिड़की वाला तरीका बताया और बोली- तुम मेरा नंबर ले लो, जब आ जाना … तो मुझे फ़ोन कर देना.

जब उसे अहसास हुआ कि मेरा हाथ कहां पर है, तो उसने मुझे और मालिश करने से मना कर दिया. यह बात उसने अपने दोस्त सोनू को भी बताई और सोनू भी उसका साथ देने को तैयार हो गया. वो मेरी गांड में धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगे मगर मैं दर्द में तड़प रही थी.

हमें सही वक्त भी नहीं मिल रहा था क्योंकि उस टाइम हम दोनों के एग्जाम थे तो हमने एग्जाम खत्म होने पर सेक्स करने का फैसला किया. उनको इस हालत में देखकर मेरा लंड कड़क हो गया और अन्दर ही अन्दर लंड झटके मारने लगाफिर मैं भाभी के चेहरे पर रंग लगाने लगा और पीछे से पकड़ कर भी रंग लगाने लगा.

और फिर पूरा कोन खत्म हो जाने के बाद उसके अन्दर की सारी आइस क्रीम मेरे लंड पर लपेट दी.

अब मैं जेठजी के लंड को अपने हाथों में आगे पीछे करने लगी और मुँह से सुपारे को चूसने लगी. मुझे ऐसा लगा कि शायद आनन्द और नैना के सेक्स संबंधों में कुछ गड़बड़ है. मेरी गर्म सांसों को अपनी चूत पर महसूस करके मायरा का तन भट्टी की तरह तपने लगा.

बीएफ एचडी बीएफ एचडी बीएफ मैंने उसकी पूरी बात को ध्यान से सुना, तो समझ गया कि एक छेद लंड के लिए उपलब्ध हो सकता है. उन्होंने तकरीबन 50 धक्के मारे तो मैंने महसूस किया कि जेठजी की छाती पर पसीना आ गया था.

अब जब तब मैं भाभी की चुदाई करता रहता हूँ और भाभी को भी लंड की खुराक मिलने लगी थी. चूंकि समय लम्बा था तो मेरे पास यहां दिल्ली शहर में रूम लेने के सिवाय कोई चारा भी नहीं था तो मैंने अपने लिए एक कमरा यहीं पर किराये पर ले लिया. मैंने सोच लिया कि दीदी को इस सामूहिक चुदाई के लिए मैं कैसे भी मना लूंगा, पर पहले सुनील को ये बात याद दिलानी पड़ेगी.

गूगल सेक्सी वीडियो दिखाओ

लंड के सुपारे को उसकी गांड के छेद पर रखा और चूतड़ों पर एक थाप देते हुए उससे कहा- ढीली कर जान. इस बात से मुझे शक हुआ कि साला ऐसा क्या हुआ कि ये इतना सेक्स कर रही है. इससे मुझे और जोश चढ़ने लगा उसकी टांगों को मैंने और ज्यादा चौड़ा कर दिया और मैं और ज्यादा गहराई तक अपनी जुबान चूत के अन्दर डाल रहा था.

उसके जाने के बाद मैं भी एक सिगरेट पीकर छत के रास्ते से अपने घर आ गया. रिट्ज की सफेद फ्रॉक एकदम घुटने से ऊपर बस जांघ तक की थी और ऊपर से बिना बांह के एक डोरी से कंधे से आकर रुकी थी.

और हर बार मैंने अपना लंड चुत में खाली किया और मामी की चुत को दो बूंद की जगह चार चम्मच वीर्य पिला दिया.

कुसुम- आआहह ओह ईईईर … आई एम लविंग इट … यसस्स्स … फक माय होल … ओ माय गॉड … ऐसा मज़ा तो मुझे कभी नहीं मिला … अहह … ओह रोहन … यू आर फकिंग मी रियली गुड … फक मी विद युअर हार्ड कॉक … अह चोदो मुझे … मारो मेरी चूत … अहह. जैसे ही बिल्लो ने अपने होंठों से मेरा लंड थोड़ा सा लगाया, मैंने अपना पूरा लंड उसके मुँह में घुसेड़ दिया. तभी शायद उसे अपनी चीख का अहसास हो गया था इसलिए उसने खुद अपना मुँह अपने हाथ से दबा लिया था.

मैं खुद चाहता था कि ऐसा मौका कब मिले और मैं उसको अपने अन्तरंग भाव से मिला सकूँ. इस बार मेरा आधा लंड चुत के अन्दर चला गया और उसकी जोर से चीख निकल गयी. उस पर चढ़ने से पहले मैंने डाइनिंग टेबल से आइसक्रीम की कोन उठा ली और उसकी चुत पर लगा दी.

मैं तो सोच रहा था कि आखिर इस चूत से मूत्र भी कैसे बाहर निकलता होगा.

धांसू सेक्सी बीएफ: प्रिया ने मेरे हाथ को पकड़ा और अपनी चूत पर रखवा कर अपने ही हाथ से अपनी चूत को रगड़वाती रही. वो आह आह करके आवाज निकालने लगी और कहने लगी- जीजू, थोड़ा धीरे दबाओ यार … दर्द होता है.

वो ये भी कोशिश कर रहे थे कि मुझे उनकी नजर के बारे में पता न चले इसलिए बार बार नीचे नजर कर लेते थे. ”तो तुम्हें ही देखूंगी ना!”हां … पर तुम मुझे ही क्यों देखती हो?”क्योंकि तुम मुझे पसंद हो. नासिर जी की बात सुनकर मुझे मेरी चूत में खुजली होने लगी क्योंकि मैं एक बेवा हूँ और पति के जाने के बाद मैंने दुबारा शादी नहीं की.

मैंने महसूस किया कि कोई मेरे लंड से खेल रहा है और अपने पूरे हाथ को मेरे कपड़ों के अन्दर डालकर फेर रहा है.

उसने कहा- बाप रे … इतना बड़ा!अब आगे गाँव की चूत की चुदाई कहानी:मैंने भी मजाक में बोला- बाप रे क्या होता है … क्या तुम्हारे बाप का इतना मोटा है?इस पर वो गुस्सा हो गयी लेकिन मैं तुरंत बात को संभालते हुए बोला- यार मजाक कर रहा था. मुझे ये सब सेक्स वीडियो में देख कर बहुत मन करता था कि कोई मेरी चुत चाटे. ऐसा लग रहा था जैसे मैं हसीनाओं के शहर में आ गया हूं और एक के बाद एक चूत मुझसे चुदवाने के लिए आ रही है.