भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी फिल्म कुंवारी लड़कियों की

तस्वीर का शीर्षक ,

रानी मुखर्जी क्सक्सक्स: भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ, वो रात मेरी पहली रात थी, जब मैंने पूरी रात किसी की फुद्दी चोदी थी और वो भी इतना खुल कर मजा लिया था.

नवीन सेक्सी व्हिडिओ पिक्चर

साथ में भाभी की चुत पर मस्त क्लिट को भी अपने दांतों से हल्के हल्के से काट कर रहा था. मां की सेक्सी स्टोरीबिना देर किये मैं अपने घुटनों पर आ गयी और उनके लौड़ों को बाहर निकाल लिया.

मैंने भी उसकी चूचियों का मजा लिया और रास्ते में खिलवाड़ करने से अच्छा उसको नंगी करके चूचियां चूसना समझा. चोदने सेक्सी वीडियोउसके बाद उसके हाथ मेरी पैंटी में अंदर घुसने की कोशिश करने लगे और वो मेरे चूतड़ों को सहलाने लगी.

मैंने फिर भी उससे कहा- ठीक है तुम बताओ, कौन सी दवा लेनी है?दोस्त की सिस्टर ने मुझसे बहुत रिक्वेस्ट करके बोला- मुझे बच्चा गिराने वाली मेडीसिन चाहिए.भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ: इसलिए मैंने उसकी 10-15 जोर जोर से धक्के मारे और लंड के एडजस्ट होने के बाद रुक गया.

अनन्या- भाबी, जब आप समझती हैं तो क्यों मेरे मुँह से ही बुलवाना चाहती हैं?मैंने कहा- इससे मेरी सोच पर तुम्हारी मोहर लग जाएगी.मैंने उनका हाथ छोड़ कर अपने हाथ को उनकी कमर पर रख दिया और हल्के हल्के सहलाने लगा.

माधुरी की सेक्सी फिल्में - भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ

मैं अक्सर मुठ मारा करता था, परंतु आज जितना माल निकला, उतना कभी नहीं निकला था.मुझे नहीं पता था कि ऐसा भी हो सकता है कि कोई लड़की अपने मम्मों को भींचते हुए मालिश करे.

अब वो भी अपनी इच्छाएँ बताने लगी थी कि उसको सेक्स में क्या क्या करना अच्छा लगता है. भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ मुझे उसके चूतड़ों की दरार में अपने लंड को रगड़ने में बहुत मजा आ रहा था.

जैसे ही मैंने उसके नितम्बों और जाँघों के संधि स्थल पर हाथ फिराने की कोशिश की.

भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ?

तभी थोड़ी देर बाद ही मिष्टि आंटी घर पर आईं और मॉम और आंटी तैयार होकर पार्टी में जाने लगीं. मुझे आशा है कि आपको ये फैमिली पोर्न स्टोरी पढ़ कर बहुत मजा आएगा और आप बिना मुट्ठी मारे नहीं रह पाओगे. वो दर्द से छटपटा रही थी क्योंकि मेरा लंड छोटा जरूर है लेकिन मोटा काफी है.

मेरे दिमाग में काफी कुछ चल रहा था मन कर रहा था कि उसी रात सुधा को चोद डालूं मगर मैंने अपने ऊपर संयम रखा क्योंकि सुधा मुझसे 20 साल छोटी एक कमसिन लड़की थी. संगीता अपनी इसी सोच से बाहर आते हुए आवाज लगाने लगी- स्नेहा, स्नेहा उठ इतनी बड़ी हो गई … शर्म नहीं आती तुझे भाई के साथ सोते हुए. अपनी चुत पर एक गैर मर्द की जीभ का अहसास पाते ही संजू के मुँह से ‘ओहअ … आह … इस्स.

एक दिन दोपहर का खाना खाकर मैं लेटा ही था कि मीरा का फोन आ गया- जल्दी आओ, बहुत तड़प रही है. विक्रम फिर से झटके देने लगा और वो संजू की चूत में बेतहाशा वीर्य रस छोड़ने लगा. कुछ ही पलों में उस लड़की ने अपने शरीर से कपड़े हटा दिए और अपने पूरे शरीर पर तेल लगा कर मालिश करने लगी.

मैं उसके पास जा बैठा- ज़ारा!वो कुछ ना बोली तो मैंने उसके कंधे पर हाथ रखा लेकिन उसने मेरा हाथ हटा दिया. जब मेरे मुंह से तेरी दीदी ने तेरा नाम सुना तो वो मुझे गाली देते हुए बोली कि तुमने मेरी फूल जैसी बहन को भी नहीं छोड़ा.

मैं तुम्हें बहुत प्यार से पूरा मजा देकर चोदूंगा और अभी आरव के भी आने का डर है.

उसके जाते समय देखा कि उसकी चाल थोड़ी बदल गयी थी, जिसे वो छिपाने की कोशिश कर रही थी.

तब मैंने धीरे से लंड बाहर निकाला और पूरा जोर से धक्का देकर उसकी चूत में डाल दिया. हॉट इंडियन भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक शौहर बीवी सेक्स में कुछ नया करने मेरे साथ होटल में आये. फिर अभिषेक ने मुझे सीधा खड़ा किया और मुझे चूमने के बाद दुबारा से सीधे लिटा दिया.

लेकिन लड़की का दिल्लीपना जाग गया था और मैं भी रुकने के मूड में कतई नहीं था।ना जाने कब मैंने उसका टॉप उतार दिया और उसने मेरा … आंख खुली तो कुछ देर के लिए उसे देखता रह गया. वो उम्र में मुझसे थोड़ी बड़ी थी तो मेरा उस पर कभी ध्यान नहीं गया था. मैं बोला- तो फिर आप क्या सोच रही हो?मैंने वो मेरे करीब आयी और मेरे सीने से लगकर नीचे हाथ ले गयी.

मैं तैयार हो गया फिर घर वालों को बोला- आज मेरी नाईट शिफ्ट है … सुबह घर आऊंगा.

फिर मूतने के बाद जब मैं उठने लगी और मैंने बटन लगाना शुरू किया तो भाई ने अपनी जीन्स से लंड को निकाला और झट से मेरी जीन्स को नीचे करते हुए मेरी चूत में लंड को पेल दिया. वो मेरे होंठों को चूसने लगा और फिर मुझे बैठने वाली टेबल पर सीधा बिठा कर मेरी दोनों टांगों को फैला कर उसपर बहुत सारा थूक लगा दिया. दोस्तो, मैं महेश एक बार फिर से आपकी सेवा में शायरा से प्रेम और सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँ.

करीब दस मिनट बाद अंकल ने मॉम को बेड पर लिटा दिया और एक हाथ उनकी चूत पर … और एक चूचे पर रख दिया. उसकी मस्ती भरी आवाजें बता रही थीं कि उसकी चुत में मस्ती आने लगी थी. आज तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा कमीनी रांड … साली बहुत प्यासी थी तेरी चुत … आह इसकी सारी प्यास मिटा दूंगा … ले चुदक्कड़ आज तेरी मॉम ना चोद दी तो कहना.

मेरे पास बहाना हो गया था … इसलिए मैंने भी थोड़ा सा आगे होकर उसे अपने‌ पर्स से पैसे निकालकर दे दिए.

हम दोनों ने ही अब पूरी जी-जान लगा कर चुदाई करना शुरू कर दी थी, जिससे मेरी और शायरा की सांसें अब फूल गयी थीं. वाह बेटा वाह … अगर ये बात किसी को पता चलेगी, तो मेरी और तुम्हारी कितनी बदनामी होगी.

भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ जब वो मेरे पास आया, तो मैं अपनी बर्थ पर लेटा था और यूट्यूब पर एक वीडियो देख रहा था. उसके इस तरह से लंड चूसे जाने से मैं भी आश्चर्य में था कि इसने पूरा लंड मुँह के अन्दर कैसे ले लिया.

भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ उनकी नजर मेरी जांघों से होकर मेरी चूत को जैसे ढूंढने के मकसद से एक जगह जाकर टिक गयी. मेरी इच्छा थी कि मैं लड़की की चूत पर चॉकलेट लगा कर उसकी चूत को चाटूं.

वह भी समझ गया था कि मैं जाग गई हूँ, उसने मुझसे कहा- माँ, मैं आपकी गांड मारना चाहता हूं.

अमीषा पटेल की सेक्सी

यही मौका था, मैंने दादी से कहा- दादी सच बताना, चुदवाने में औरत को क्या मजा मिलता है?मजे की बात नहीं है, विजय. उसकी सिसकारियां निकलनी स्टार्ट हो गई थीं- उम्ह्ह्ह उम्ह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह. तो उसने भी मेरा हाथ दबा दिया और हम दोनों कार में बैठ गए और उसने कार अपने घर की तरफ बढ़ा दी।मेरी कहानी पर अपने विचार मुझे अवश्य भेजें.

कमल ने जो पाइप से घूंट खिंचवाया था, उसका नशा मुझ पर हावी होने लगा था. मैंने उसके मम्मों को दबा कर कहा- कुछ देर रुक जाओ … एक बार फ्रेश नींद लेकर दोपहर बाद आऊंगा, तब लंड सहला कर मजा ले लेना. मैं- अभी आपका मन है या नहीं?सुगंधा भाभी- मुझे डर लग रहा है किसी को पता चल जाएगा इसलिए!मुझे पता था कि सुगंधा भाभी बातों से अब मानेंगी नहीं, इसलिए मैं बिना कुछ बोले उनके होंठों को चूमने लगा.

दोस्तो, इस सेक्स कहानी में और भी बहुत से किरदार आएंगे, जिनका परिचय उनके आगमन पर ही होगा.

उसके बाद मैंने उसके जन्मदिन के लिए केक का ऑर्डर दे दिया और एक बढ़िया सा गिफ्ट भी पैक करवा लिया. मैंने शॉवर चला दिया, उसने अपनी ब्रा पैंटी नहीं निकाली थी, वो उन्हें अब भी पहने हुए ही भीग रही थी. मैंने और नवीन ने बहुत बार जोरदार सेक्स का मजा लिया था लेकिन आज मुझे अलग ही मजा आ रहा था.

मैंने कहा- कौन सा सपना?उसने कहा- मसाज करवाते हुए गुलाबी टोपे वाला लंड चूसने का सपना. इससे मेरी बीवी शिल्पा ने कामुक आह भरी और राहुल से जल्दी से लंड चुत में पेलने का इशारा किया. वो बोली- जब तुम नये थे तो ये भी तो बोल सकते थे कि तुमने काफी सारी मसाज की हैं!मैंने कहा- नहीं मैडम, अगर मैं ऐसा बोल भी देता और आप मुझे मसाज के लिए बुला लेतीं तो आपको तुरंत पता लग जाता कि मैंने कभी मसाज नहीं की है.

पता नहीं उसको इतनी ज्यादा उत्तेजना कैसे हो रही थी जो बिल्कुल पागलों की तरह मेरे लोड़े पर उछल कूद कर रही थी. हालांकि कुछ भी हो सकता था तो मैंने भाभी से दोस्ती करने से शुरुआत करने का तय कर लिया था.

उसके वो मुम्मे, जिनका नाप मेरे हाथों ने पूरी मस्ती से लिया था, वो भुलाया ही नहीं जा रहा था. मैंने अपने टॉप को भी उतार दिया और अपने चूचे आगे करके उसके मुंह पर रख दिये. सर ने थोड़ी देर तक अपना लंड अन्दर पेलने से रोके रखा … ताकि मुझे दर्द कम हो.

अब आगे की देसी Xxx स्टोरी:हम दोनों एक दूसरे में पूरे खो चुके थे।20 मिनट तक एक दूसरे को चूमने के बाद हम अलग हुए और मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए.

दोस्तो, आगे की कहानी में आपको ये बताऊँगी कि कैसे रीमा और उसका ब्वॉयफ्रेंड चुत चुदाई का खेल खेल रहे थे. उसकी पोजीशन अब ऐसी हो गई थी कि उसका एक पिछवाड़ा सीट पर था और एक पिछवाड़ा ड्राइवर साइड में हवा में था. मैंने उस पर पूरा झुकते हुए उसके होंठों को अपने होंठों की गिरफ्त में लिया और लंड को हल्का सा दाब दिया.

मेरी बाइसेक्सुअल कहानी के पहले भागरंडी क्लासमेट ने मुझे कॉलबाय बनाया-1में अभी तक आप लोगों ने पढ़ा कि कैसे सोनाली और मैं, रंडी और जिगोलो बने हुए थे। हम दोनों मालविका और सौरभ को खुश करने में लगे हुए थे. मैं दो घंटे पहले ही वहां पहुंच गयी और मैंने पूरी सोसायटी का जायजा लिया.

उसके बाद अभिषेक ने पूरे एक घंटे तक उसी बारिश में भीग कर मेरी गांड और चुत बजाई. उसके बाद मुकेश भी फ्रेश हुआ और दोनों एक दूसरे की बांहों में नंगे ही सो गए. वैसे ये नौकरी वो पैसे के लिए नहीं कर रही थी … बस टाइम पास के‌ लिए करती थी‌.

বিদেশি সেক্স ভিডিও

मैं भी कामुक हो उठा था तो मैंने भी मज़ा लेते हुए भाबी के मम्मों को चूसना और दबाना शुरू कर दिया.

मैंने उसके मम्मों को दबा कर कहा- कुछ देर रुक जाओ … एक बार फ्रेश नींद लेकर दोपहर बाद आऊंगा, तब लंड सहला कर मजा ले लेना. मैं पूरी तरह से भाई से चिपकी हुई थी और मेरी चूचियां और दिव्या के हाथ दोनों ही भाई की पीठ से सटे हुए थे. फिर तो मैंने उसके मम्मों को ऐसे चूसा, जैसे गर्मी में कोई पहली बार गूदे वाला आम खा रहा हो.

चल उठ देर हो रही … कॉलेज नहीं जाना क्या?स्नेहा एक मॉर्डन जमाने की वो लड़की है, जिसे इस सबसे कोई परहेज नहीं था. मैंने पूछा- आपको क्या लगता है?रेखा बोली- लगती तो रियल है लेकिन आजकल पता नहीं चलता कि क्या रियल है और क्या फेक है. सेक्सी वीडियो फुल एचडी में दिखाएंउनके घर से अगला घर करीब ढाई सौ मीटर पहले था और घर के बाद दूर तक सिर्फ खेत ही खेत थे.

और ये गन्दा भी तो है!मैंने कहा- बिल्कुल नहीं … और आप जीजा के नहीं मेरे साथ हैं. उसके बाद हम दो मिनट शांत रहे और फिर तूफान थमते ही वहां से भागने की जल्दी मच गयी.

स्कूल की 11वीं कक्षा तक मेरे साथ ऐसी कोई बात नहीं हुई थी, जिससे मुझे ऐसे ख्याल आए. लेकिन अब जयपुर वापस आना था तो दिक्कत हो गई … जगह जगह पुलिस लगी हुई थी और मेरा परिवार गांव में फंस कर रह गया और मैं अकेली जयपुर में बच्चों के साथ रह गई. वहां पर दोनों ने पार्टी का जश्न किया और उसने रिया को बहुत शराब पिला दी.

एक दिन और जब आप छत पर उनकी चुदाई कर रहे थे, तब भी भाईसाब गांड हिला हिला कर आपके लंड का मजा ले रहे थे. उसके होंठों से बाहर आता हुआ उसकी लार मुझे और भी उत्तेजित किए जा रही थी. उसने सबसे पीछे की कतार में कोने की टिकेट्स ले लिए और मुझे पिक्चर हॉल में ले गया.

दस मिनट बाद मैंने अपने लंड का माल मामी के मुँह में निकाल दिया और जब तक वो पी नहीं गईं, तब तक लंड को बाहर नहीं निकाला.

और प्यारी भाभियाँ और आप सब लोग मुझे फ्रेड रिक्वेस्ट भी सेंड कर सकते हैं. धीरे-धीरे उसकी चूत के छेद को टटोल कर पहले मैंने उसकी चूत के छेद पर अपने लंड के सुपारे को सेट कर दिया.

मैंने देखा कि विक्रम का लंड पैंट के बाहर से काफी बड़ा और पूरा फूला हुआ लग रहा था. जब उसने मेरे चेहरे के भाव देखे तो उसने आगे बढ़कर मेरा हाथ पकड़ लिया और अपने हाथ में लेकर बोला- भाभी, मैं आपसे प्यार करने लगा हूं. कभी होंठों पर, कभी गाल पर, कभी कान पर, कभी गरदन पर … मैंने उसे बहुत चूमा … सच में बड़ा मज़ा आ रहा था.

बच्चे सभी एक रूम में सो जाएंगे और मैं हर रात तुम्हारे लौड़े के नीचे सो सकूँगी. मैं- इस समय हम दोनों को एक-दूसरे की जरूरत है भाभी … और अब मुझसे कन्ट्रोल नहीं हो रहा. वो इस समय घुटने के बल बैठकर मेरी बीवी की नाभि और कमर को चाट और चूस रहा था.

भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ उनका ब्लाउज थोड़ा डीप कट था तो जितना भी हिस्सा दिख रहा था मैं उसको लगातार चूम रहा था और अपनी जीभ से गीला कर रहा था. वो बोली- हां बताओ, क्या शर्त है आपकी?मैंने कहा- मुझे तुम्हारी सहेलियों में से किसी एक के साथ एक रात चाहिए होगी.

मनीषा कोइराला के नंगे फोटो

ऐप इंस्टाल कैसे करेंअब तक आपने मेरी इस सेक्स कहानी में पढ़ा कि मेरी ऑफिस में मेरे सतह काम करने वाली एक लड़की शिवानी ने मुझे एक पैकेट दिया. मैंने उसके एक स्तन को चूसने की कोशिश की, तो उसने मुझे धक्का दे दिया और मुझे नीचे लिटा दिया. मामी ने अपनी गांड में जोर लगाया और सारा पानी गांड से मेरे मुँह में निकाल दिया.

तो मैंने कहा- सब कुछ अभी करोगे या कुछ रात के लिए भी छोड़ोगे?वो बोले- मेरी जान अब बर्दाश्त नहीं हो रहा. राकेश- मैं गांड मराने के पैसे लेता हूं, आपने तो मरवाई भी … हिसाब बराबर. पाकिस्तानी सेक्सी वीडियो खुल्लम खुल्लावैसे असली वजह तो मैं अभी नहीं जानता था, लेकिन जल्द ही पता चल जाएगा कि आखिर मेरे दोस्त ने मेरी बीवी को कैसे पटा लिया था और उसकी क्या वजह थी.

उसके बाद मामी ने अपनी पेटीकोट का नाड़ा जैसे ही खोला, उनकी एकदम गोरी गांड देखकर मैं पागल हो गया.

कुछ ही देर में हम दोनों की नजरें एकदम से ऐसे जम सी गई थीं जैसे भाभी को मुझमें कोई शिकार दिख गया हो. मैं- वैसे एक‌ बात कहूँ, बुरा मत मानना, तुम्हारा फिगर सच में ही कयामत है.

सास जैसे ही घोड़ी बनी तो मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और पीछे से उंगली करके सास की गांड में भी थूक लगा दिया. डॉक्टर उसी तरह अपने जिस्म को हवा में लटकाए हुए था और मैं बार-बार अपनी कमर को उचकाकर लंड को छूने की कोशिश कर रही थी. उसके कोमल से बदन का स्पर्श मेरे अंदर वासना की चिंगारी पैदा कर रहा था.

चूंकि इस समय ठंड का मौसम था, तो मैं छत पर धूप सेंकने के लिए गया था.

इस घर में तो तीन मस्त-मस्त चूत हैं और तू झांटू आदमी लंड की मुठ मार रहा है. मेरे दोस्त की सिस्टर चुपचाप मम्मे चुसवाने के मज़े ले रही थी और अपने हाथों से मेरे बालों को सहला रही थी. वो बोला कि तू होटल रेडिसन में क्या कर रहा है?पहले तो अनिल घबरा गया.

नंगी राजस्थानी सेक्सी वीडियोमैंने एक टांग पर दूसरी टांग चढ़ा कर उसको छिपाने की कोशिश भी लेकिन ऐसा हो नहीं सका. ”बढ़िया!”शाम हुई, दोनों आये। उपिन्दर पैंट शर्ट में और मम्मी नई जीन्स और टॉप में!दोनों कपड़े एकदम टाइट … और टॉप तो बस ब्रा से थोड़ा ही बड़ा था। कमर, नाभि और पीठ का नीचे का हिस्सा नंगा और सारे उभार चमकते हुए।आते ही मम्मी बोली- सच मज़ा आ गया कल रात और आज दिन भर और फिर ये शॉपिंग। मुझे लग रहा है मैं एकदम जवान हो गयी हूँ.

गुड नाईट वीडियो डाउनलोड

आब आगे की प्यार सेक्स की कहानी:मैं- अब भी कुछ कह रही हैं तुम्हारी गांड और चूत?ज़ारा- हां कह रही हैं!मैं- अब क्या कह रही हैं?मैं हंसते हुए बोला!ज़ारा- कह रही हैं कि मजा आ गया!और वो भी हंसने लगी!ऐसे ही एक दूसरे को छेड़ते-छेड़ते, हंसते-मुस्कुराते खाना बन चुका था. अच्छाआआ … सीनियर्स से पानी पीने के‌ लिए पूछा भी नहीं … चल इस गिलास की‌ पहले तो अच्छे से धुलाई‌ कर, फिर हम सब को पानी पिला. थोड़ी देर में प्रियंका ने दीवान पर ही खाना लगा दिया … और यूं ही बातें करते हुए हम दोनों सलाद खाने लगे.

इतना स्पष्ट होने के बाद मुझे ये समझ आ गया कि महिलाएं अपनी चुत की खाज मिटवाने के लिए बिंदास लंड की तलाश करने लगी हैं. मुझे उनकी ये सेक्सी वाइफ की कहानी बहुत पसंद आई और उम्मीद है कि आप लोगों को भी पसंद आएगी. देसी Xxx स्टोरी के पिछले हिस्सेमेरी मौसेरी बहन की अन्तर्वासनामें मैंने बताया था कि कैसे मैं मौसी के घर गया और मैंने हॉलीवुड सेक्स मूवी दिखाकर मौसेरी बहन को गर्म किया.

अनामिका ने झट से प्रियंका का हाथ से पकड़ लिया और बोली- यार रुक ना … यार प्लीज ना कर!प्रियंका बोली- कमीनी छोड़ … वरना मैं तेरा ढक्कन फाड़ दूंगी. लेकिन नाइटी उतरने से मुझे मालूम हो गया कि उन्होंने नीचे से कुछ नहीं पहना था. ” कह के वो उल्टी लेट गयी और मैं प्यार करने लगी।मैंने उसके चूतड़ों पे चुम्बनों की झड़ी लगा दी। फिर उन्हें चौड़ा किया और चूसने चाटने लगी भूरे छेद को। बहुत देर तक चाटा मैंने … दोनों मस्त हो चुके थे।कामिनी अब सोएं?”मैं बस मुस्कुरा दी।समझ गयी मैं, यहीं पे?”नहीं बाथरूम में चलते हैं.

फिर मैंने सारे कपड़े उतार कर जैसे ही उसकी दी हुई नाइटी डालने लगी, तो उसने कहा कि रुक ज़रा, तुमने चूत पर पूरा जंगल उगा रखा है. एक दिन मेरी जिंदगी में एक लड़का आया और देखते ही देखते हम करीब होते गए.

उसने बताया कि उसके हस्बैंड नहीं हैं, यही कोई आठ साल पहले उनकी डेथ हो गयी थी.

मुझे कुछ ही देर हुई थी कि एकदम से उसकी चूत से पानी निकला और मेरे मुंह में जाने लगा. माधुरी दिक्षित की सेक्सी वीडियो दिखाओमेरी बीवी के घोड़ी बनते ही राहुल ने पीछे से आकर उसके कूल्हे को चूमा और पीछे से ही लंड सैट करके अपनी चुदाई की पोजिशन ले ली. बिहारी मूवी सेक्सीमेरे पर तुझे रहम भी नहीं आई साले … भड़वे … मादरचोद … तेरी माँ को चोदूं हरामी … विदेशियों के साथ रह कर ये सब सीख कर आया भैनचोद … तेरी पत्नी तो तेरे को हाथ मारेगी … आआह ऊऊह. मनोज ने कहा- मैं बेवकूफ़ नहीं हूँ जो इस तरह की बातों को अपनी होने वाली बीवी से कह कर बनता हुआ काम भी बिगाड़ लूं.

शायद वो इस तरह से लंड को चूस नहीं पा रही थी … या लंड पूरा हलक के अन्दर तक जा रहा था.

सन्नी ने पीछे से न्यासा की गांड में लंड डाल दिया और ज़ोर ज़ोर से उसकी गांड मारने लगा. तो पिंकी ने हैंड टॉवल से चूत को साफ़ किया और रवि से कहा- आओ जान, अब तुम इसे फाड़ो. शायरा के मम्मों पर मैंने पहले कुछ ज्यादा ही प्यार किया था … और उसके लाल लाल निशान अभी भी उसके दोनों मम्मों पर साफ नजर आ रहे थे.

उधर इमरान हाशमी अब मल्लिका शेरावत के ऊपर लेट गया था और उसके होंठों को चूमने की कोशिश कर रहा था मगर मल्लिका शेरावत अब भी उसे ‘नहीं … ये ठीक‌ नहीं है … नहीं. क्योंकि शायरा का अंडरगार्मेन्टस पसन्द करना और वो भी मेरे सामने? अब मैं कहां पीछे रहने वाला था इसलिए लग गया. सच में उसकी हर ठोकर से क्या मस्त मजा आ रहा था … मैं उस मजे को जितना भी चाहूँ, लिख ही नहीं सकती.

वेश्याओं का धंधा

मेरे मन में कब से खलबली मच रही थी कि कब शाम हो।तभी मेरे बेटे का फोन आया, उसने बताया कि वो निकल गया है।मैंने बाथरूम में जाकर सूरज को फोन किया और उसे आज रात आने को कह दिया।उसके बाद मैं वहाँ से निकली और रेस्टोरेंट में जाकर खाना खाया।फिर शॉपिंग करने लगी. अब मैंने नीता को बताया कि पास के ही शहर में एक बहुत अच्छा मसाजर है, वो मेरा बहुत अच्छा दोस्त है, वो हमारी मदद कर सकता है. डॉक्टर भी इस समय कैप्री और बनियान में था और उनके हाथ में कुछ शीशियां थीं.

आपको मेरी पड़ोसन कोमल भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

मैंने अपने हाथों से प्रीति का मुँह खोला और अपना लंड प्रीति के मुँह में दे दिया.

छत पर बढ़िया धूप थी तो मैंने धूप में बैठे रह कर उसे देखने का फैसला कर लिया. और ऐसा करते वक़्त हवा में उठे मेरे पैर मेरे ही चेहरे की ओर दबा दिए, जिससे चुत और भी उभर कर लंड लेने के लिए सामने आ गई. बबीता जी की सेक्सी पिक्चरवो मेरा मुँह देखती हुई बोली- मैडम सच बोला आपने … ये सारा मेरा है?मैंने कहा- हां.

”हाय हाय तू बड़ी प्यारी है कामिनी … आज पहले पीछे!”और उसने अपना लहंगा कमर तक उठा दिया।उसके नीचे शायद वो कभी कुछ नहीं पहनती थी। मैंने जी भर कर उसके चूतड़ों को प्यार किया, गांड को चूसा चाटा।फिर उसने मुझे आगे आने को कहा और बोली- छोरी अच्छे से मुंह लगा ले … मैं धीरे धीरे करूँगी, बाहर नहीं गिरना चाहिए. उसके अगले ही दिन हम बाजार गए और मेरे लिए ब्रा-पैंटी, साड़ी, ब्लाउज और सारे मेकअप का सामान ले आए. देविका- क्यों … ऐसे क्यों बोल रहे हो?मैं- जाने दो … घर से निकलवा देने के बाद भी तुम मुझे कॉल कर रही हो.

लंड घुसाइए आप अपने हाथों से जल्दी अब!ओह्ह … मेरे पूरे शरीर ने एक झटका खाया और मैं अपनी रण्डी बीवी की बुर में अपने हाथ से ग़ैर मर्द का लंड पकड़ कर घुसाने के लिए आगे बढ़ा. मैडम के कहने पर मैंने दो दिन इंटरव्यू के लिए तैयारी की और फिर इंटरव्यू देने के लिए चला गया.

मैंने अपना पर्स निकालकर झूठमूठ में एक‌ बार तो पर्स की तरफ देखा, फिर जल्दी से शायरा के पर्स को खोलकर देखने लगा.

इसका मतलब ये था कि वो ज्यादा चुदी नहीं थी।आखिर मैंने पूछा- अंतिम बार सेक्स कब किया था?तो पहले तो कुछ बोली नहीं … लेकिन मेरे बार बार पूछने पर बोली- 2 साल हो गए।अब मैंने उसके पैर ऊपर किया और उसकी गांड को दोनों हाथों से नीचे से पकड़ लिया और उसकी फुदी को चूमा।मैं अपनी जीभ को उसकी फुदी पर घुमाने लगा. मैंने कहा- चलो देखता हूँ … होटल चलोगी?वो बोली- न बाबा … उधर मुझे डर लगता है. उधर इमरान हाशमी अब मल्लिका शेरावत के ऊपर लेट गया था और उसके होंठों को चूमने की कोशिश कर रहा था मगर मल्लिका शेरावत अब भी उसे ‘नहीं … ये ठीक‌ नहीं है … नहीं.

सेक्सी वीडियो फिल्म ब्लू हिंदी आज मैं आपके सामने एक सेक्स कहानी प्रस्तुत कर रहा हूं, यह चीटिंग वाइफ सेक्स स्टोरी पूरी तरह से काल्पनिक है, मेरी सोच पर आधारित है. अब सब अलग हो चुके थे और लड़कियां तो लाईट खुलते ही वाशरूम की ओर भागीं.

इसके लिए मैं शायरा के रसीले होंठों का रस पी रहा था ताकि अपने लंड को एक्सट्रा एनर्जी दे सकूँ. मैं अपने आपे में नहीं थी, मेरे मुँह से निकल गया- अब तो चोद दो मुझे प्लीज़ …यह सुन कर सब हंसने लगे और बोले- अभी तुझे बहुत तड़पना है. मुझे उसकी उम्र चालीस के आस पास की मालूम थी, लेकिन अभी वो दिखने में तीस की लग रही थी.

सिक्स सिक्स व्हिडीओ

मैंने उसके इस काम का कोई विरोध नहीं किया बल्कि मैंने भी अपना एक हाथ उसके पैंट के ऊपर उसकी जांघों पर रख दिया, जो उसके लंड के बहुत ही करीब था. दोस्तो, आपको मेरी यह पहली चुदाई की कहानी कैसी लगी मुझे मेरे ईमेल पर बतायें. फिर मैं भाभी की जांघ को सहलाते हुए उनकी साड़ी और पेटीकोट को ऊपर करके पेट पर कर दिया.

उन दुकान वालों ने शायरा को मेरे साथ आते हुए देखा तो था ही … इसलिए वो मुझे व शायरा को गर्लफ्रेंड ब्वायफ्रेंड समझ रहे थे. दोस्तो, इसके बाद की ग्रुप सेक्स कहानी और आफ़िया भाभी की गांड चुदाई की कहानी मैं आपको अगली बार लिखूंगा.

उसका लंड अब तक अपने पूरे शवाब पर था, जिसको उसने मेरे सामने बाहर निकाल कर पूरी तरह से आज़ाद कर दिया था.

” महेश ने अपने लंड को बाहर खींच कर फिर से अंदर ड़ालते हुए कहा।उम्म्ह… अहह… हय… याह… पिता जी, ऐसे ही करते रहो … मजा आ रहा है. विक्रम ने मेरी बीवी के मम्मों के क्लीवेज में अपना मुँह घुसा दिया और दोनों चुचियों के बीच में किस करने लगा. यह कहते हुए मैंने उसके एक कान की लौ को दांत से हौले से काट लिया और तुरंत उसकी गर्दन को चूमने लगा.

लगभग एक महीने बाद उसका जन्मदिन आया और उसने मुझे बताया कि वो मेरे हॉस्टल वाले ही रूम में अपना जन्मदिन मनाना चाहती है. मेरा नंगा सेक्स कहानी के पिछले भागगैरमर्द से चुदाई की लालसामें अब तक आपने पढ़ा था कि एक गैरमर्द का मस्त लंड मेरी चुत में लार टपका रहा था. तब तक वो मार्केट भी आ गया था इसलिए मैंने पहली ही दुकान‌ पर स्कूटी को रोक दिया और जल्दी से स्कूटी को खड़ा करके दुकान में घुस गया.

लंड का सुपारा अन्दर किया तो ऐसा लगा कि उन पुराने दिनों की याद आ गई हो.

भाभी की सेक्सी हिंदी बीएफ: मैंने उसके लंड को हिलाते हुए फिर से खड़ा किया और उससे कहने लगी- चोद दे बेटा … आज अपनी इस चुदासी माँ की चूत चोद दे … मुझे अपनी रखैल बना ले. अब आगे:घर आने से पहले दीदी मुझसे बोली- अर्णव, मम्मी को मत बताना कि हम लोग साकेत भैया के साथ होटल गए थे.

वो मुझे अपनी गोद में उठा कर बाहर गैलरी में ले आया और मेरी चुत में लंड घुसा कर मुझे चोदते हुए पूरे स्कूल में घुमाने लगा. फिर मैं उन्हें धीरे धीरे चोदने लगा और आसन में थोड़ा सा चेंज लाते हुए भाभी की टांगों को पकड़ कर अपने कंधों पर रख कर धीरे धीरे चुत चोदने लगा. ऐसे ही हम कई बार मिले मगर हर बार बस किस करना और मम्में दबाना ही हुआ.

लेकिन कहने से क्या होता है? होता तो वही है जो किस्मत में लिखा होता है।फिर एक दिन रोहित ने मुझे ‘आई लव यू’ बोल दिया.

मेरे इस रंग रूप को कोई भी मुझे पहली नजर में देखकर चोदने के लिए बेचैन हो उठे. मैं और दिव्या जीन्स खोल कर बैठ गई और भाई ने भी अपनी पैंट की जिप खोल ली और हमारे साथ ही नीचे बैठ कर मूतने लगे. लेकिन जब मैं उससे दूसरे मर्द के साथ मज़ा लेने के बारे में बोलता तो वो नाराज़ हो जाती और उसका मूड बिगड़ जाता.