बीएफ बीएफ नेपाली

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

भाभी के नंगे फोटो सेक्सी: बीएफ बीएफ नेपाली, अगले 15 मिनट तक मैं उनके मम्मों को चूसता रहा और वो दीवार के सहारे खड़ी कामुक आहें भरती रहीं.

ब्लू देखने वाला

अब मैं अपने लंड को उसकी चूत में धीरे से डालने लगा और अचानक एक जोर के झटके के साथ पूरा लंड अन्दर पेल दिया. बीफ व्हिडिओसमैंने कहा- कल हमने सारे शरीर के अंग देख लिए थे, अब किसी को कोई प्रश्न हो तो पूछे.

वो बोली- खाना आर्डर किया था, आ गया है, खा लो!मैंने कहा- नहीं खाना!बोली- क्या हुआ?मैं कुछ नहीं बोला, चुप चाप कमरे में आ गया. इंडियन सेक्सी देसी वीडियोउसके बाद रवि ने मुझे बोला कि इसका ख्याल रखना और कोई प्रॉब्लम मत होने देना.

उस दिन भाभी के पापा की तेरहवीं थी, जिस दिन आस पास के गाँव के लोग खाना खाने को आते हैं और घर के लोगों को बहुत काम करना पड़ता है।सबने मिल कर पूरा काम निपटाया और रात हो गयी.बीएफ बीएफ नेपाली: फिर मैंने उनकी जर्सी उतारनी चाहा तो उन्होंने मेरे हाथ पकड़ लिए और बोलीं- क्या मैं ये सही कर रही हूँ.

मैंने अपना लंड उसके हाथ में पकड़ाया तो उसने तुरंत ही अपना हाथ ज़ोर से हटा लिया.मैंने कहा- मैं क्यों किसी से कहूँगा, मैं तो यहाँ से दो तीन दिन बाद चला जाऊंगा.

सनी लीओन बर्फ - बीएफ बीएफ नेपाली

उसके बाद परीक्षित मेरी चूत को चाटने लगे, जो मेरी चूत से रस निकल रहा था, इन्होंने उसे भी चाट लिया.मैं विनय की बातों से उत्तेजित होने लगी और मैंने देखा विनय का लंड भी वासना से खड़ा हो गया है.

आप ही बताओ कैसे मिलूँ। मुझसे अब बिना चुदे नहीं रहा जा रहा।मैं बोला- ठीक है जान. बीएफ बीएफ नेपाली मैं भी बिना धक्का लगाए लंड ऐसे ही चूत में घुसाए चूत की गर्मी और चूत के गर्म गर्म चिकने जूस का आनंद उठाता रहा.

इसलिए जैसे ही मैंने लंड डाला, उनको दर्द होने लगा और वो चिल्लाने लगीं.

बीएफ बीएफ नेपाली?

अब मैंने उसकी कुर्ती उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया और मैंने उसे अपनी बांहों में भींच लिया. मैं पूरी मस्ती से जोर जोर से उनको चोद रहा था और वो मादक आवाजें कर रही थीं. इसमें तुम्हारी नीचे की शेप भी चौड़ी हो जाएगी और बच्चेदानी को भी नुकसान होगा.

मैंने अपनी बेल्ट खोली और पैन्ट को थोड़ा नीचे किया और अंजलि को थोड़ा नीचे करके लन्ड उसके मुँह में दे दिया; अंजलि मेरा लन्ड जोर जोर से चूसने लगी. फिर आगे पीछे करते हुए आंटी की चूत बजाना शुरू की, तो उनकी चूत ने मेरे लंड से दोस्ती कर ली. वो मेरे लंड का सारा माल पी गई लेकिन तब भी लगातार मेरे लंड लगातार चूसती रही.

अन्तर्वासना पर हिंदी सेक्स कहानी पढ़ने वाले मेरे अजीज दोस्तो, मैं रॉनित एक बार फिर आपकी सेवा में उपस्थित हूँ. पर मुझसे उसकी ब्रा का हुक नहीं खुला तो उसने खुद अपनी ब्रा खोल कर अपने दोनों सफ़ेद कबूतरों को आज़ाद कर दिया. हम एक दूसरे में इतने पागल हो गए थे कि मेरे हाथ से बाजू में रखा एक बर्तन गिर गया, जिससे पापा की नींद खुल गई.

मैंने भाभी के होंठों के एकदम करीब आते हुए सरगोशी से कहा- भाभी जी, अब अपनी वो दिखाओ न. मैंने कहा- आप भी किस घनचक्कर के चक्कर में फंस गए, उसका काम ही है कि शिकायत करके कुछ रकम वसूलना.

मेरी कामुकता से भरपूर हिंदी चुत कहानी के पिछले भागबॉय से कॉलबॉय का सफर-3में अभी तक आपने पढ़ा.

उसने वहां उतरने के बाद कॉल किया तो मैंने हाथ हिला कर इशारा किया कि मैं ही हूँ.

तो प्रिया की मम्मी को साथ चलने के लिए फ़ोन लगाया गया और साली साहिबा भी फटाक से सुधा के साथ चलने को तैयार हो गयी. रहने के लिए मेरे डैड के दोस्त का फ्लैट खाली था, जिसे उन्हें रेंट पर देना था, तो उन्होंने बोला कि मैं वहां जाके रहूँ. लगभग 4 महीने बाद उन दोनों के लंड को देखा और छुआ, जिससे मुझे एक अलग ही सुकून मिल रहा था.

जीजा बोले- क्या मस्त माल हो वन्द्या… तुम अभी तक कितने लन्ड ले चुकी हो?मैं बोली- यह क्या बोल रहे हो जीजा, आज तक मुझे किसी ने छुआ भी नहीं है, आप भी मत करो. मुझे तो कोई चिंता थी ही नहीं क्योंकि मेरे घर पर कोई नहीं था, पर मंदिर के कार्यक्रम की वजह से काम्या को भी बाहर जाने का बहाना मिल गया था. माँ की सुबकियों ने मुझे ये समझने पर मजबूर कर दिया कि पापा माँ की आग को नहीं बुझा पाते हैं, वे अपनी वासना शांत करके हट जाते हैं.

मुझे ये सब देख कर थोड़ा गुस्सा आया कि मेरी साली, जिसे मैं एक अच्छी लड़की समझ रहा था, वो ये क्या कर रही है.

दोस्तो, कैसी लगी मेरी भाभी जी कीदेसी चुत की चुदाईकी स्टोरी?[emailprotected]. फिर उसने मेरी पत्नी को किसी बिल्ली के बच्चे की तरह मुंह के बल तकिए पर पलट दिया और इस प्रकार उसकी ऊपर की ओर उठ गई, इस समय तक चुद चुद कर मेरी मुट्ठी जितनी चौड़ी और चुकंदर की तरह लाल हो चुकी गांड को खोल कर एरिक संग हमें दिखाने लगा. मैं बोली- नहीं चाहिए प्लीज, मुझे नहीं चाहिए!पर उन्होंने पैसे मेरे हाथ में रख दिए। अंदर से मेरा मन था, मुझे पैसे लेकर बहुत खुशी हुई, मैंने सोचा कि ये तो बहुत अच्छे हैं.

पहले तो चाची की चुत बहुत टाइट लगी, लेकिन दूसरी चोट में लंड घुसता चला गया. मैंने उससे प्लेन में पूछा कि आज रात में मेरे कपड़े किसने निकाले थे?उसने साफ इंकार कर दिया. मैं उसे अपने बेडरूम में ले गई और ड्रॉवर से कंडोम निकाला, तो वो भी जोश में आ गया.

अगले दिन जब पूरी तरह से चुद कर घर वापिस आई तो थकान की अवस्था में ही मैं ऑफिस चली गई मगर मेरी आँखें लाल और खुमारी से भरी हुई थीं.

उसकी बात सुनकर मेरा लंड फनफना गया कि लौंडिया खुद चुदने के लिए कह रही और मैं उसको न चोदूँ, ये तो सरासर बेइंसाफी है. हां तो दोस्तो, उसके अगले दिन जब कुसुम ऑफिस में आई तो मुझसे उसने कोई बात नहीं कि और ना ही कोई ब्लू फिल्म दिखाने की कोई चाहत दिखलाई बस हैलो बोला और अपनी सीट पर जाकर बैठ गई.

बीएफ बीएफ नेपाली वो भी अपनी माँ की जैसी नाटी यानि 4 फीट 8 इंच की साइज़ पर ही रूक जाएगी. इस वक्त बहुत गर्मी हो रही थी तो वो बोली- चल बाथरूम में फुव्वारे के नीचे नहाते हुए‌ मजा करते हैं.

बीएफ बीएफ नेपाली मैंने बिना रुके दूसरा जोरदार धक्का मारा और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया. और इधर भाभी की चूत ने भी अपना रस छोड़ दिया, मैंने भी भाभी का सारा रस पी लिया.

उसके आने के बाद भी हम दोनों एक दिन चुदाई कर ही रहे थे कि वो कमरे में आ गई.

मां और बेटी के साथ सेक्सी वीडियो

वो मुझे रोज की तरह लेकर रूम में आया और मुझे लिटा कर और खुद भी वहीं मेरे बाजू में लेट गया. आआह… क्या मस्त रसीले होंठ है कोमल आपके… होंठों को चूसने में मजा आ गया. मुझे लगा था कि शायद कुछ गड़बड़ हो गई और मैंने लंड निकालने की कोशिश की, तो नीला ने मुझे रोक दिया और हम दोनों दर्द को सहते हुए चुदाई की क्रिया को करने लगे.

एक बार क्रिकेट खेलते वक़्त उसके हाथ को चोट लग गई, इसके कारण उसके हाथ को प्लास्टर तक करवाना पड़ा. इस तरह से कुछ देर तक चुदाई के बाद उसका रस फिर से निकल गया और वो झड़ गया. पर मैंने जब ज़ोर दिया तो बोली कि आज मेरी शादी की सालगिरह है और मेरा पति साथ नहीं है, इसलिए मूड खराब है.

”रोशनी ने उसका इंग्लिश में नाम पढ़ा, पर वहां चूत की फ़ोटो पर दो नाम थे, पहले तीर के निशान पे क्लिट्स लिखा था और दूसरे तीर पर वेजिना लिखा था.

मैंने स्पीड बढ़ा दी, करीब 20-25 धक्कों के बाद वो चीख कर झड़ने लगीं और कुछ मुझे भी लगा कि मैं भी जाने वाला हूँ, तो मैंने उनको पलट कर बैठा दिया और उनके मुँह में लंड पेल दिया कर जोर जोर से सजा भाभी का मुँह चोदने लगा. वो कुर्सी पर बैठी रही और मैं नीचे बैठ कर उसकी चूत को करीब से देखने लगा और अपनी एक उंगली को उसकी चूत के अन्दर डाल दिया. जब मुझे कुछ करने का मन होता था, तब मैं कभी कभार हस्त-मैथुन कर लेता था.

उतरने के बाद हमारे बीच कुछ थोड़ी सी बात हुई तो पता चला कि उसका नाम नैना है और वो भी डेली उसी टाइम पर ऑटो लेती है. भाभी भी एकदम गरम थी, पर कुछ शर्मा रही थीं, वे बोलीं- मैं मनन के सामने नंगी नहीं हो सकती. एकदम मुलायम और उनमें से आने वाली खुशबू तो जैसे मोगरे के फूल की सुगंध थी… शायद उसने इत्र लगाया हुआ था.

भाई साहब को छुट्टी नहीं मिली, जिस कारण भाभी कह कर गईं कि थोड़ा भाई साहब को देखती रहिएगा, अगर हो सके तो खाना बना कर बाई के हाथ भिजवा दीजियेगा. मेरा वीर्य कंडोम में निकल रहा था और इतना ज़्यादा माल आज पहली बार निकला था.

मैंने बियर का ढक्कन खोला तो आंटी ने कहा- विकी मेरे बचे हुए कपड़े भी उतार दो. और इधर मुझे मेरी आपबीती आपके साथ शेयर करने का मौका मिला है, इसलिए मैं इस साईट का बहुत शुक्रगुजार हूँ. लेकिन मैंने उसकी एक ना सुनी और जल्दी से एक शॉट मार कर पूरा लंड अन्दर कर दिया.

मैंने उसकी कमर को पकड़ कर ज़ोर से शॉट लगाया मेरा 70 % लंड उसकी गांड में अन्दर घुस गया.

कमरे में वासना की आग भड़की हुई थी और चाटने की चप चप और चुदाई के धक्कों की मधुर आवाजों का संगीत गूंज रहा था!मेरे प्यारे पति… और जोर-जोर से चोदो मेरे मुंह को… आआआआ… गज़ब… सुपर! चप चप चप चप चप… आआआआ… और आप जुड़वा… मस्त होकर चोदिये अपनी साझी एक दिन की बीवी को! खूब मस्त करके चोदिये… आआआह… मस्त! मस्त! मस्त!… पच पच पच पच पच… ख्लोप-ख्लोप-ख्लोप-ख्लोप-ख्लोप…” मेरी पत्नी मस्ती में बोल रही थी. ”मेम- कोई बात नहीं, इस एज में होता है लेकिन मैं तुम्हारी टीचर हूँ, कोई गर्लफ्रेंड नहीं हूँ. मेरी चुदाई करते हुए उसने पूछा- जिससे फोन पर तुमने बात की थी, उसे कैसे जानती हो.

सोनी ने हैलो बोला तो दूसरे तरफ से भी हैलो की आवाज आयी, चूंकि मैं सोनी से चिपका हुआ था तो उसके मोबाईल से आने वाली आवाज को मैं साफ साफ सुन सकता था।दूसरी तरफ से भी एक लड़की की आवाज आई, बोल रही थी- सोनी, कहां पर हो तुम, इतनी देर हो गयी है और तुम अभी तक कॉलेज नहीं आयी।नहीं पूजा, आज मैं कॉलेज नहीं आ सकती!” सोनी ने अपनी आवाज को नार्मल करते हुए कहा. मैंने उससे कहा- चल पागल, ऐसा कहीं होता है क्या?उसने मुझे अपने रूम में ले जाकर लैपटॉप खोलकर ब्लू फिल्म दिखाई, जहां एक लड़की ने पूरा वीर्य पिया था.

देखने वाले का लंड एकदम से खड़ा होकर उनकी चुत में घुसने को मचल उठेगा. उसके बाद मेरी सौतेली मां का सगा बेटा किसी लड़की के साथ शादी करके कनाडा चला गया अपनी माँ को छोड़ कर!अब आगे. एक दिन जब वो थक के अपने कमरे में सोया हुआ था, तब उसकी पैन्ट में उसका लंड खड़ा हुआ था.

बंगाली सेक्सी न्यू

मैंने उनको उल्टा किया और टांगों को बिस्तर से नीचे करके खुद नीचे आ गया.

मैं किसी ऑटो के इन्तजार में था, तभी मेरा ध्यान बाजू की गली से निकली एक खूबसूरत सी लड़की जो कि ऑटो की तरफ जा रही थी, पर पड़ी. मैंने कहा- साली अगर तेरा मुझसे चुदने का इतना मन करता था तो पहले क्यों नहीं कहा, मैं भी कब से यही चाहता था. जब ये सब आंटी बता रही थीं, तब वो थोड़ी सी झुकी हुई थीं, तो मैं पीछे से उनकी गांड देख रहा था.

मैं बोला- यार अंजलि, कुछ नहीं… बस अंदर अकेले बैठे हुये बोर हो रहा था तो तेरे पास आ गया. मैंने भी खुलते हुए कहा- मुझे चूत में मज़ा नहीं आता, मैं गांड के मज़े लेता हूँ. लड़की सेक्स करते हुएदोस्तो, कैसी लगी मेरी इंडियन सेक्स स्टोरी, मुझे आपके कमेंट्स का इन्तजार रहेगा.

बात करते करते मैंने उससे कहा कि मुझे तुमको जोर से किस करने को मन कर रहा है. मैंने उसको किस किया और उसके हाथ पकड़ कर अपना लंड उसकी चूत पर सैट किया.

वहां मुझे हॉस्टल के कमरे में एक दूसरे लड़के के साथ रहना पड़ा तो मेरी वासना एक बार फिर जाग गई. मैं काफी देर तक उसकी चूत पैंटी के ऊपर से सहला रहा था, इतने में उसने मेरा हाथ पकड़ के सीधा अपनी पैंटी में डाल दिया. मैं अभी सोच ही रहा था कुछ करने की, तब तक वो मेरे पास आई और होंठ पर होंठ रख दिए.

फिर वह जल्दी से बाथरूम में गई और मैंने न्यूज़ पेपर और उसकी झांटों को कचरे के डिब्बे में डाल दिया. चलती गाड़ी में कोई आपका लंड चूस रही हो तो उस फीलिंग को शब्दों में बयाँ नहीं कर सकते।और ऊपर से कोई लड़की पहली बार लंड का स्वाद चख रही हो तो कहना ही क्या!मेरे लंड की चुसाई और गाड़ी की स्पीड दोनों लगातार बढ़ रहे थे। आखिरकर मेरे लंड ने कुछ मिनट बाद हार मान ली और एक गरम धार अर्पिता के मुख में डाल दी. लेकिन मैं आज उसे अपने घर ले कर आऊंगा और तुम नाइट में मिनी स्कर्ट और चैन वाली टी-शर्ट में रहना और अन्दर ब्रा पेंटी भी मत पहनना.

अब मुझे सबसे पहले खुद को लोगों की नज़र भी बचा कर रखना था, जिसके लिए मैं प्रयत्न किया करती थी.

मेरा नाम हेमन्त है, उम्र 23 साल, कद 5’8″ और लंड की लंबाई 5 इंच (नपा हुआ 13 सेंटीमीटर लम्बा और 8 सेंटीमीटर गोलाई में मोटा) है. मैं और मेरी सहेली मन्दिर के तालाब में पूरी नंगी होकर नहा रही थी कि राघव जी अपने एक दोस्त के साथ आ गए.

मैंने समधी जी को नाश्ता दिया और उनके बगल में बैठ गयी, उनसे बातें करने लगी।वो मुझसे बोले- समधन जी, आप तो आज भी जवान हो!मैंने खुश होकर उनसे कहा- क्यों आप जवान नहीं हो अब क्या?वो हँसने लगे. मैं कबसे पागलों की तरह आपको देखने का वेट कर रहा था और आप मुझे तरसा रही हैं. बुआ भी गरम हो गई थीं, बुआ झट से बोलीं- पहले दरवाजा बंद कर दो, आते जाते किसकी नज़र पड़ गई तो गलत लगेगा.

मैं बोली- ओके!अब बालू ने मेरे बूब्स ब्रा को ऊपर से ही दबा दिया, मुझे मस्त लगा, मैं बोली- ये मेरे छोटे हैं अभी मेरी सहेलियों से!बालू बोले- मस्त हैं सेक्सी… इन्हें मैं दबा दबा के बड़ा कर दूंगा। अभी भी बहुत मस्त हैं. गर्मियों के दिन थे… एक दिन मैंने मेरी एक फ्रेंड थी, जिसका नाम हरकेशी था, उसको बताया कि मैं अभिलाषा को बहुत प्यार करता हूँ… प्लीज़ तुम मेरे प्यार को रूप देने में मेरी हेल्प करो और अभिलाषा को बताओ कि मैं उसको कितना प्यार करता हूँ. भैया बातें कर ही रहे थे, तभी भाभी उनको किस करके बोलीं- जानू, क्यों न मनन से मदद ली जाए और आप मेरी गांड के मज़े ले सको, जो इतने सालों से न हो पाया.

बीएफ बीएफ नेपाली लाइट बंद होने की वजह से मैं उसका लंड देख नहीं पाया था इसीलिए मैंने अपना मोबाइल लिया और रज़ाई के अंदर से ही नीचे जा कर उसके लंड की तरफ अपना मुँह कर लिया. फिर वो उठे, मेरे सीने के अगल बगल दोनों टांगें करके मेरे बूब्स को दोनों हाथों से जम के पकड़ लिया और फिर अपना लन्ड मेरे बूब्स के बीच में घुसा दिया और थूक लगा के लंड से बूब्स को चोदने लगे.

सेक्सी ब्लू फिल्म का वीडियो भेजो

मैंने उसको किस किया और कहा- थैंक यू… आज तुम्हारी वजह से मैं इतना आनन्द ले पाया. अब हम दोनों 69 में हो कर लंड और चूत की चुसाई का मजा लेने में लग गए. अब प्रीति की आवाज़ साफ़ सुनाई दे रही थी… वो फोन पे अपनी चुदाई की कहानी सुनाए जा रही थी.

मैंने अब अपनी जीभ उनकी चूत के अन्दर डाल दी और उनके दाने को मसलने लगा, जो वो बर्दाश्त न कर पाईं और मेरे मुँह में झड़ गईं. मेरी इस तरह की चुदाई से वो दो बार और झड़ी मैं भी चोदते चोदते थक चुका था तो मैं भी अपना पानी निकलना चाहता था, मैंने पूछा- कहाँ निकालूं?तो वो बोली- अंदर ही करो, मेरा ऑपरेशन हो चुका है, कोई प्रॉब्लम नहीं है. इंडियन बीपी व्हिडिओ सेक्समैंने कहा- क्या पंकज तुम्हें खुश नहीं रखता?स्मिता ने बताया- पंकज का नीचे वाली किरायदार रेखा के साथ चक्कर चल रहा है.

तभी मैंने उसे पीछे से जाकर पकड़ लिया और उसकी गांड पर दो तीन थप्पड़ लगा दिए.

और चाय का एक सिप लेकर मैंने उसको कहा- चाय में चीनी कम है!और मैंने उसको मेरे कप में से चाय को चखकर देखने को कहा. फिर तभी उसने जोर से एक झटका दे मारा और लंड को मेरी बुर में पेल दिया.

कामिनी बोली- तुम सुधरोगे नहीं? पानी की पिचकारी अंदर छोड़ना जरूरी है क्या? प्रेग्नेंट हो गई तो?विवेक बोला- कोई बात नहीं मेरी जान… प्यार की निशानी भी होनी चाहिये!और लंड मेरी बीवी की चुत के अंदर डाले डाले उसकी छाती पर गिर गया. वो भाव खाएगी। जैसे ही आपने भाव देना बंद किया वो खुद आपके पैरों में गिरेगी।यही हुआ. मैंने पेंटी के ऊपर से थी उसकी चूत को बहुत चूसा और उसकी पेंटी गीली कर दी.

इससे मेरी भी हालत खराब होने लगी और मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर पूरा माल जूही की चूत और पेट के ऊपर गिरा दिया और नाज़ को उसको चाटने के लिए बोला तो वो न नुकुर करने लगी, फिर थोड़ा मनाने के बाद पूरा वीर्य चाट गयी.

मेरी कामवासना भी कह रही थी कि लुटा दे अपनी जवानी अपने बॉस पर… मजा भी आयेगा और फ़ायदा भी होगा. मैं बेड पर एकदम नंगा था, जब भाभी मेरे पास आकर लेट गयी तो हम दोनों की जीभ फिर आपस में टकरा गयी। भाभी अपने हाथ से मेरे लंड को मसल रही थी और मैं उनकी गांड पर हाथ फिरा रहा था, कुछ देर बाद मेरा लंड दोबारा खड़ा हो गया, जब मैंने भाभी की चुत को अपनी उंगलियों से छुआ तो भाभी को चुत एकदम गीली थी. हमारा परिवार सयुंक्त परिवार था लेकिन कुछ समय हम लोगों का बंटवारा हो गया था और हम सब अलग रहने लगे थे.

मराठी पोर्न व्हिडिओतो मैं उस जगह को देखता हूँ जहाँ चूत होती है। अब वो सिर्फ पैन्टी में बची थी।मैंने उसके पैटी को उतार कर कहा- शकुंतला एक और बड़ा मजा पाने के लिए तैयार हो जा।उसने जो बोला उस बात पर मुझे आज भी गर्व है।बोली- बिना चोदे तुमने मुझे जन्नत के मज़े दिला दिए। हर आशिक को तुम्हारे जैसा ही होना चाहिए। इतना होने के बाद अभी और क्या बचा है. घर पर दीदी की सैंडिल वगैरह तो होती ही थीं, जो मुझे बिल्कुल फिट आ जाती थीं, तो मैं वही पहन लेता था और एकदम लड़की बन कर घर में घूमने लगता.

ब्लू पिक्चर सेक्सी चाहिए ब्लू पिक्चर

इतना सुन कर मैंने आंटी को बांहों में भर लिया और बेड पर लिटा कर उनके बालों में हाथ फेरने लगा. करीब दस मिनट तक उसकी दोनों चूचियों को चूस चूस कर मैंने उसके मम्मे लाल कर दिए. तब आंटी का पूरा संयम खत्म हो गया और बोलीं- मेरे राजा, आज इस प्यार की प्यासी अपनी आंटी को खूब प्यार करो.

उसने वो पेपर बनवाने के बाद मुझे दोबारा कांटेक्ट किया और फिर मैंने अपने पति को तलाक के लिए बोल दिया. वो अपना मुँह तकिए में दबा कर सर इधर उधर करने लगीं, लेकिन मैं नहीं रुका और लगातार धक्के लगाता रहा. प्रिया! आने वाले चंद घंटे तो क्या तू हमेशा मेरे दिल में मेरी अपनी बन कर रहेगी। हो सकता है कि हम बरसों ना मिले लेकिन याद रखना कि मुझ पर तेरा इख़्तियार और अधिकार सुधा से कम नहीं.

5 इंच मोटा काला लंड बाहर आ गया, जिसे वो मेरी साली की चूत पे सैट करने लगा. फिर मैंने उनके पैर छोड़े और उनके मस्त रसीले मम्मों को दबाना शुरू कर दिया. ये सुनकर रोशनी ने गुस्से से अपनी टी-शर्ट और ब्रा उतार कर अपने चूचे बाहर निकाल दिए.

फिर मैं धीरे धीरे उसके पेट को चाटे गये नीचे की ओर सरका और उसकी लेगी को उसकी जांघों पर से सरका कर पूरा उतार दिया. दूर क्यों खड़ी हो?उसने जबरदस्ती मुझे एक गिलास दे दिया और मुँह में लगा कर पिला दिया.

मैंने उसको अपना लंड मुँह में लेने को कहा तो उसने कहा- इतना काला है.

करीब पांच मिनट की लंड चुसाई के बाद ही मेरे लंड ने तेज धार के साथ अपना लावा उगलना शुरू कर दिया, जिसे भाभी पूरा पी गईं. चुत का पानी पियाउनका शर्ट मम्मों तक ऊपर लाने के बाद मैंने दीदी के हाथ पकड़ को अपने बरमूडे में डाल दिया और दीदी के पजामे को धीरे से नीचे करना शुरू किया. देसी लड़की की चूत की चुदाईअब मैं धीरे धीरे धक्के मारने लगा उसकी चूत बहुत गरम होने की वजह से और कंडोम की वजह से मुझे ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी और मेरा लंड उसकी चूत में समां गया. जब मेरा लंड छोटा होकर उसकी चूत से बाहर निकला आया तो मैं उठा, देखा तो उसकी चूत में से मेरा वीर्य बह रहा था.

भाभी जी पैर खोल कर लंड लीलने की तड़फ दिखाई, इससे मुझे उनकी चुत का छेद लपलप करता दिख गया.

जो तुम साउंड बंद करके देख रही थी?उसकी हालत पतली हो गई कि मुझे कैसे पता चला. अब हम दोनों ही बड़ी बेताबी से एक दूसरे को चूमने चूसने और मसलने लगे… हमारी सारी शर्म खत्म हो गई थी. अब मैं उसकी बुर से अपना लंड निकालने लगा तो देखा कि उसकी बुर और मेरे लंड में सफेद सफेद उसका ढेर सारा पानी ने जम कर किसी सफेद सर्फ के झाग की तरह पूरे बालों को ढक लिया था.

मेरी साली को भी इस हरकत का मजा आया और उसने उसका सर पकड़ कर अपनी ब्रा पर दबा दिया. रुक जाओ।लेकिन वो तो मज़े से मेरी सवारी कर रहा था, उसने अपनी थोड़ी स्पीड बढ़ा दी, मैंने बेडशीट कस कर पकड़ ली. अब मैंने ललिता को इतना गर्म कर दिया कि वो कहने लगी कि सोनू अब रहा नहीं जाता.

सफाई सेक्सी

अब पारुल को नशा होने लगा और पारुल अगली सीट पर बैठ गयी और मैं गाड़ी ड्राइव करने लगा. अब हम 69 पोजीशन में थे, भाभी चूत से पानी बराबर निकल रहा था, मैं मजे से चूत चाट रहा था और भाभी मेरा लंड चूस रही थी. भले ही मैं कुछ न जानता होऊं, पर मैंने जो पढ़ा था, मैंने ठीक वैसे ही किया.

मैंने उसके चूचों को दबाते हुए मज़े लेने लगा तो वो कसमसा सी गई और सिसकारियां भरने लगी.

मैं इतना सुन्दर और आकर्षक नहीं हूँ फिर भी देवी माँ की कृपा से मुझे लड़कियां बहुत पसन्द करती हैं.

उसकी कोमल मम्मे देखकर मैंने मेरे होंठ उसके मम्मों पर रख दिए और मैं उसके निप्पल को मुंह में लेकर चूसने लगा और दूसरा मम्मा हाथ में लेकर मसलने लगा. मुझे बहुत जोश चढ़ा हुआ था, अपने आप मेरे मुंह से निकल गया- अंकल तू बोला था कि बहुत बड़ा लड़कियों का चोदू है, तेरे लंड के बाद मुझे किसी की जरूरत नहीं पड़ेगी. लड़की की नंगी तस्वीरेंअंजलि लन्ड को अच्छे से चूसने लगी और मेरा लन्ड थूक से बिल्कुल गीला हो गया तो मैंने अंजलि का सिर पकड़ कर अपने हाथों से आगे पीछे करने लगा.

हमारा सफ़र धीरे धीरे अपने मुकाम की तरफ पहुँच रहा था कि तभी मुझे सोनी ने रोक दिया और बोली- बस नवीन, अब इससे ज़्यादा नहीं हो सकता. ये मेरे साथ फर्स्ट टाइम था, तब भी मेरे मुंह से अपने आप गन्दी बातें निकलने लगी, मैं बोली- ओहह हहह कुत्ते और चाट… बहुत मस्त चाटता है चूत… कितनों की चाटी है?तभी बालू उठा और मेरी ब्रा को जोर से खींचा ब्रा फट गई, मैं अब पूरी नंगी हो गई. मैंने उनसे पूछा- मैं कुछ हेल्प करूँ?पहले उन्होंने मुझे देखा, फिर बोलीं- नहीं आप परेशान मत हो.

हेल्प करते हुए मैं आंटी को टच कर देता, कभी उनकी गांड पे हाथ फेर देता, इससे लंड और अधिक अकड़ कर गरम हो रहा था साथ ही मेरा हौसला भी बढ़ता जा रहा था. उनके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और गले को भी दांतों से काटने लगा.

अलका रानी ने कामुकता भरी आवाज़ में कहा- हाय… हाय… अम्मा री… कितना लंबा और मोटा है… राजे ये लौड़ा… भीतर जाता है तो फंसा हुआ सा लगता है… मुझे नीचे अंदर में भरा भरा सा महसूस होता है!मैं बोला- हरामज़ादी रंडी, बस तू आनंद लिए जा… इधर उधर की बातें न सोच… फंसा हुआ इसलिए लगता है कि तेरी चूत अभी काफी टाइट है.

फिर पता नहीं दीदी को क्या हुआ वो दोबारा फ्रिज की तरफ गईं और फ्रिज खोल कर कुछ और ढूंढ कर निकाला और दोबारा आकर चेयर पर वैसे ही बैठ गईं. करीब बीस मिनट के बाद जब मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाला हूँ तो मैंने उसको बताया. मैंने उनके जबाव का इन्तजार नहीं किया और उनको फिर से झुका कर उनकी गांड के छेद पर लंड का सुपारा टिकाने का प्रयास किया.

मद्रासी सेक्सी चुदाई फिर वे मेरी तरफ गांड करके झुकी और बड़ी सी गांड हिलाने कर बोलीं- पहले तू मेरी छूट और गांड चूस. फिर मैं अपनी जीभ उसके कान से गले तक फेर रहा था और हल्के से किस भी कर रहा था.

जैसे ही उन्हें कोई लंड मिलता है, तो बिल्ली की तरह उस पर चूहे की तरह झपटती हैं. मनन- अब तो बोलो चुदाई वाली दोस्ती करोगी?रीमा- हम्म्म… ठीक है, पर सिर्फ तुमसे ही नहीं करूंगी और भी मेरी चुत के दीवाने हुए तो उनके साथ भी दोस्ती करूंगी. कुछ देर बाद मैंने उसको कुतिया बनाया और पीछे से उसकी चूत में लंड पेल दिया.

स्कूल की छोरी की सेक्सी वीडियो

उनकी चुत फिर से गरम हो गई थी और अब वे भी पूरी मस्ती से चुदाई का मजा ले रही थीं. चूंकि मैंने कंडोम नहीं लगाया था तो किसी भी प्रकार की गर्भ आदि की परेशानी से बचने के लिए मैंने अपना लंड एकदम से उसकी चुत से बाहर निकाल लिया और उसकी गांड पर अपना सारा माल निकाल दिया. मुझे देखते ही बोला- कपड़े उतार कर पूरी नंगी हो जाओ, जैसे आशीष के साथ थीं.

जब भी कोई पूछे कि वन्द्या क्या हुआ तो मैं उसे बोलती कि बस से पांव फिसल गया और गिर गई तो थोड़ा चोट लग गई थी।और फिर 10 दिन बाद मेरा फिर अपने आप फिर से बहुत मन करने लगा और वही अंकल और जीजा ने जिस तरह से किया था बार-बार वही सब दिमाग में और ख्यालों में चलने लगा. मैं रोज उनके घर जाता और उनकी हिम्मत बढ़ाने की कोशिश करता और इस वजह से मेरे और भाभी के बीच बहुत ही गहरी दोस्ती हो गयी थी और हम दोनों बहुत अच्छे दोस्त बन गए थे.

उसने मुझसे कहा- क्या तुम मुझे सेक्स के बारे में और बताओगी?तो मैंने भी मना नहीं किया.

इतने नजदीक शहर में रहने के बावजूद इससे पहले मैं अपनी चाची से सिर्फ एक बार मिला था, लेकिन तब मैं बहुत छोटा था और मुझे तब कुछ भी सही से मालूम नहीं था. इस आसन में उसको काफ़ी मज़ा आ रहा था और वो बार बार मुझे बोल रही थी कि राज और जोर से और जोर से मुझे बहुत अच्छा लग रहा है. मानेसर पार करने के बाद मैंने राव होटल पर गाड़ी रोक दी और हमने चाय नाश्ता लिया.

और मैं अंजलि की तलाशी लेने का नाटक करने लगा और उसके पूरे बदन के कपड़ों के ऊपर से दबा दबा कर देखने लगा. एक के बाद एक धीरे धीरे मैंने उसकी टांगों को चूमा और धीरे धीरे फिर से मैं उसकी चुत की तरफ आ गया, जिससे उसकी सेक्स की इच्छा फिर से जाग गई. ”अच्छा तो ये इधर से नाभि अच्छी लगी, अब तुम बताओ अजय?”मुझे तो आपकी ये जांघें बहुत अच्छी लगीं.

वो रोज़ मुझे नई नई ब्लू फ़िल्में दिखाती थी, जिसका असर ये हुआ कि मुझ पर जवानी की चुदास उम्र से पहले ही चढ़ गई.

बीएफ बीएफ नेपाली: मैंने कहा- भाभी किचन में ही जाकर प्रपोज कर दूँ क्या?भाभी ने कहा- और क्या. फिर वो एक ऑटो में जा बैठी, मैं भी उसी ऑटो में उसके बगल में बैठ गया.

मैंने महसूस किया कि चूमने में भी दीदी मेरा साथ दे रही थीं और देखते ही देखते हम एक दूसरे में डूब गए. मुझे नहीं पता था कि आशीष और उसके दोस्त, जिसका नाम चंदर था, में आपस में कौन सी खिचड़ी पक रही थी. मेरे घर में प्याज लहसुन किचन में रखना वर्जित है, पर जिसे खाना होता है वो बरामदे में रखे प्याज के अलग से रखे हंसिया से काट कर खा सकता है.

वे मेरे ऊपर आकर अपनी चुत में लंड लेने लगी और मुझे अपने चूचे चुसाने लगी.

मेरी साँसें तेज़ी से चलने लगीं, मुझे कुछ पता नहीं चल रहा था कि मैं क्या करूँ. मैंने अपने लंड को हाथ में पकड़ा और उसकी चुत के निचले हिस्से में लगा दिया. अब पारुल को नशा होने लगा और पारुल अगली सीट पर बैठ गयी और मैं गाड़ी ड्राइव करने लगा.