बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में

छवि स्रोत,र्पोन movie

तस्वीर का शीर्षक ,

एनिमल गर्ल सेक्सी: बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में, चाची- लड़कियां तो मरती होंगी तुम पर?मैंने कहा- लड़कियों की बात तो छोड़ो चाची, आपकी उम्र की भाभियां और आंटियां भी आहें भरती हैं.

दिसावर का चार्ट दिखाएं

इन्हीं कुछ सेकेण्ड्स में वीरू का सारा माल कमोड में गिर गया और उसने फिर से खिड़की से बाहर देखा।शब्बो ने अपना सीना ढक लिया था।ये देख कर वीरू का मन उदास हो गया और वो नहाने चला गया।इस घटना के बाद शबाना ने अब वीरू के मन की बात समझ ली।अब वो जानबूझकर वीरू के सामने अपने चूचे दिखाने का प्रयास करती. अनुष्का शर्माxxxअञ्जलि ने भी अपने बालों को बल देते हुए घुमाया और अपना जूड़ा कस कर बांधने के बाद, वहीं रखे हुए, वॉटर प्रूफ हेड कवर से अपने बालों को ढक लिया.

मौसी चिल्लाकर कह रही थीं- अजय बेटा, अपनी मौसी की चूत जल्दी से मार दे, मुझे इतना परेशान ना कर. सेक्स करता वीडियो दिखाएंअब मुँह में लंड दिए वाला बाबा सीधा होकर लेट गया और उसने मुझे अपने ऊपर चढ़ा लिया.

अञ्जलि मेरी नज़र और भावनाओं को समझ गई थी या शायद उसे भी मेरी जरूरत थी.बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में: जब मैंने जाकर वाशरूम का दरवाजा खोला तो भाभी चड्डी और ब्रा में फर्श पर पड़ी थीं.

मैंने किस करते करते ही उसकी टी-शर्ट में हाथ डाल दिया और उसके दूध दबाने लगा.मैं तो एकदम से टूट पड़ा और बहुत देर उसके चूचों को दबाता रहा, चूसता रहा और उनके साथ खेलता रहा.

xxv xxiv 2020 xxvi वीडियो download - बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में

मैं पानी पीकर रसोई में गया और रेखा से कहा- चाय मत बनाओ मुझे देर हो जाएगी.मैं तुम्हें अपने हाथ से पिलाऊंगी आज!बलदेव मुझे गाली देते हुए बोला- साली छिनाल … पहले नंगी तो हो जा.

फिर उस फकीर ने कहा- क्या तुम मेरे नीचे लेटकर संभोग करने के लिए राजी हो?मेरी बीवी ने सहमते हुए कहा- पहले मैं अपने खाबिंद से पूछूंगी, यदि मेरे शौहर बोलेंगे तो फिर मैं आपके साथ संभोग कर लूंगी. बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में हायल्ला, क्या छोटे साहब मुझे देख के … ?” (मुठ मार रहे हैं)ये मन में सोचते हुए उसने झट से अपनी चुन्नी उठायी और अपने साये को ढक लिया.

इसलिए मैंने पीछे से गांड में धीरे धीरे पूरा लंड जड़ तक पेल दिया और चुदाई करने लगा.

बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में?

नीता मेरे गाल, होंठ, सीने पर, पेट पर, नाभि पर, कमर पर और जांघों पर चूमते हुए नीचे घुटनों के बल बैठ गयी. मैंने कहा- काहे का अंतिम राउंड चाची … अब मुझसे और नहीं रुकना हो पाएगा. मैं जानबूझकर अपना छोटा और अमरचंद का बड़ा पैग बनाने लगा, जिससे कि वो टल्ली हो जाएं.

दोस्तो, मैं ईशान एक बार फिर से आपको अपनी कामवाली जवान लड़की की चुत गांड की चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ. उसने मासूमियत से पूछा- क्यों?मैं- मैं अपने पैरों पर खड़े होने के बाद ही शादी करना चाहता हूँ. तब मुखिया जी बोले- अब मुझसे क्या शर्म चंदा रानी!ये बोल मुखिया जी ने माँ के दोनों हाथों को पकड़ा और हटा दिया.

हम दोनों वासना के आनन्द में डूबकर एक दूसरे के अन्दर गड्ड-मड्ड से हो गए थे. कभी मुझे लंड पेलते देखते, कभी उसे गांड का बार बार चूतड़ उचकाते ढीले करते देखते. वो शायद झेम्प गई थीं क्योंकि तीन साल पहले मामी के घर पर उनकी सबसे छोटी बहन की मुलाक़ात हुई थी जिनको मैंने होली में भांग पिलाकर एक बार चोदा था.

अब मैंने उसके दोनों पैर अपने हाथों से पकड़कर ऊपर उठा दिए और दोनों तरफ फैलाकर पकड़ कर रखे. वहाँ कहीं नीचे लेटने की जगह तो थी नहीं … और मेरे लन्ड से अब इंतेजार नहीं हो रहा था.

कुछ दिन तो ठीक बीते मगर एक हफ्ते बाद मेरी बुआ की बेटी स्नेहा वापस अपने घर आ गई.

वीरेन्द्र सर भी कुछ ज्यादा सीनियर नहीं थे, महज तीस बत्तीस के होंगे.

वो एकदम से चिल्ला उठी- आंह मर गई … ये क्या कर रहे हो जान, मेरी गांड में नहीं चूत में लंड डालो … उधर से बाहर निकालो. दोस्तो, मैं आपका आजाद गांडू एक बार फिर से आपके मनोरंजन के लिए अपनी सच्ची गे सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैंने उससे पूछा कि क्या तुम पढ़ाई कर रही हो?उसने कहा कि नहीं, अब मैंने पढ़ना छोड़ दिया है.

एक दिन मैं मार्किट में सामान खरीद रहा था, अचानक आनन्द जी और उनकी बीवी नेहा जी से मुलाकात हुई. मैंने कहा- अच्छा अब खुल कर बताओ कि तुम्हारी क्या क्या पसंद हैं?वो बोला- सेक्स स्टोरीस पढ़ना, पॉर्न मूवीस देखना और लड़कियों के साथ घूमना. फिर कुछ देर बाद विलास आ गया था और हम दोनों सरिता भाभी के बुलाने पर खाना खाने आ गए थे.

वो भी पूरी मस्ती में आ गई थीं और कहने लगी थीं- आह राज और तेज चोदो मुझे … और तेज चोदो.

मैंने पूछा- यार ये सब क्या है?उसने कहा कि ये मेरी कल्पना थी, पर आज तक पूरी नहीं हो पा रही थी. इस तरह से हमारी बातें भी चलती थीं और मेरे हाथ उसकी चूत और गांड पर भी चलने लगे थे. दोनों नंगे ही बाहर आए तो मैंने अदिति से कहा- आज हम दोनों दिन भर ऐसे ही बिना कपड़ों के ही रहेंगे.

मैंने देर न करते हुए चाची की गांड पर तेल लगाया और एक उंगली चाची के गांड में डाल दी. मैंने भाभी से पूछा- अब आपको दर्द नहीं हो रहा है?भाभी- हां अब दर्द खत्म हो गया है और मजा आ रहा है. इसलिए मैं भी कॉलेज खत्म होने के बाद पुस्तकालय में बैठ कर पढ़ाई करता था.

जिससे अञ्जलि ने हुंचक कर घुटी सी आह भरी और अपने दाएं हाथ से मेरा कंधा पकड़ लिया.

क्यों रंडी अब आई है न तू मेरे नीचे … साली आज तेरी चूत का वो हाल करूंगा कि तू बाहर के लंड खाना बंद कर देगी. बर्तन धोकर वो किचन में खाना बनाने लगी और मुझसे बात करने लगी कि क्या बनाना है.

बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में इतने में पापा ने उसकी नाईटी की कमर के ऊपर वाली रिबन खोल दी, जिससे उसकी सैट वाली डोरी वाली पैंटी और रिबन की ब्रा दिखने लगी. डांस जब खत्म होने ही वाला था तो मैंने देखा कि 2 -3 लड़कियां वहीं बैठ कर लड़कों के लंड चाटने लगी हैं.

बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में बातें करते वो कब मेरे करीब आ गयी और मेरी जांघ पर अपना हाथ रख बात करने लगी, मुझे पता ही नहीं चला. [emailprotected]लेखक की पिछली कहानी थी:पड़ोसन चाची की चूत चुदाई का मजा.

रियल फॅमिली Xxx कहानी में पढ़ें कि मैं अपने ताऊ की शादीशुदा बेटी को उसी के बेड पर चोद कर मजा ले रहा था.

सेक्सी वीडियो बीएफ पिक्चर पंजाबी

इसलिए सब क्लाइंट्स, फ्रेंड्स और जो भी मेरे दोस्त उस नम्बर से जुड़े थे, उन सबको अपना पर्सनल नम्बर अपडेट करने के लिए व्हाट्सैप मैसेज किए. ‘आअहह हह हम्म्म्म अम्म्मीईई …’उसकी करहाने की आवाजें सुनकर मैं रेशमा से बोला- साली रंडी, इतना क्यों चिल्ला रही है कुतिया, कहीं बाहरवालों ने सुन लिया तो पूरी ट्रेन छोड़कर यहीं तेरा चुदाई का सिनेमा देखने आ जाएंगे. रुचि अचानक से मेरे पैंट की जिप खोलने लगी, जिप खोल कर ऊपर से भी खोलने लगी.

मैंने आंखें बंद करके चार पांच करारे घस्से मारे और फिर एकदम से लंड बाहर खींच लिया. जबकि उसने सब मैसेज देखे, व्हाट्सैप की नीली लाइनें मुझे उसकी खामोशी बता रही थीं. स्कूल स्टूडेंट सेक्स करने में पूरी गांड छिल गई थी, बहुत दर्द कर रही थी.

नमस्कार दोस्तो, मैं कोमल अपनी नई सेक्स कहानी के साथ आप लोगों के सामने हाजिर हूँ.

मैंने धीरे से अपने गाउन का फीता ढीला कर दिया, तो मेरे बूब्स बाहर झांकने लगे. मैं जितनी बार लंड रगड़ता, वो कमर उछाल कर लंड गटकने की असफल कोशिश कर रही थी. उस रात एक बजे करीब मैं किचन में कुछ खाने के लिए ढूंढ रहा था, तभी उसकी पीछे से आवाज़ आयी.

लंड को चूसते चूसते वो अपना मुँह ऊपर करके मुझे देखती और आंख दबा कर मुझे गर्म करने लगती. मेरा एक हाथ उसकी बूब्स पर था और दूसरा उसकी चूत पे!जब मुझे लगा कि वो गर्म हो रही है तो मैंने उसे कसकर बांहों में दबा लिया।उसने कहा- अजीब सा फील हो रहा है. मेरी मकान मालकिन देसी भाभी की चूत की कहानी कैसी लगी, प्लीज मेल से बताइएगा.

तीनों चूत वालियों को नंगी देखने के बाद हम सब अपनी अपनी लड़की को लेकर अलग अलग कमरे में चले गए. अपनी मेरी एक सेक्स कहानीमौसेरे, फुफेरे भाई बहनों की खुली चुदाईमें आपने पढ़ा था कि एक कमरे में दो फुफेरे भाइयों ने अपनी तीन मौसेरी और सगी बहनों के साथ मिल कर सेक्स का धमाल किया था.

लंड के सुपारे का थोड़ा बार बार बंद होना और फिर पूरा खुलना देख कर मैं मज़ा लेने लगी थी. फिर उसे लिटाते हुए उसकी गुलाबी चूत को चूसने लगा,तभी वो बोली- जीजू आज कितना तड़पाओगे आह,!अंगिका मेरे सर को दबा भी रही थी।कुछ देर बाद मैं उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा. वो पूछने लगा- इस सोसाइटी में क्या तुम्हारे दो मकान हैं?मैंने कहा- अबे यार तू दिमाग खाता बहुत है.

मैं बोला- साली रंडी, इधर नीचे फ्लाईओवर बना कर रखा है क्या? एनएच बना रखा है साली ने … न जाने कितने डम्पर निकल गए इस पर से.

उसने भी मेरे होंठों पर अपनी मुलायम जीभ फिराई और बोली- हर्षद, आज मैं बहुत खुश हूँ. पापा जोरदार धक्के दिए जा रहे थे और मम्मी को उठा उठा कर चोदे जा रहे थे. उनके पति भी बोले- हां दीपक, इनको बताओ कि इतना ही सबका खड़ा होता है.

यह देहाती चुदाई की कहानी तब की है जब मैं अपनी फुफेरी बहन रीना के रिश्ते की बात लेकर अपने एक दूर के रिश्तेदार के यहां गया था. मैंने मानसी से पूछा- फिर?मानसी- मैंने शनाया से एक दिन मज़ाक़ में कहा कि मुझे भी यार तेरे बॉयफ्रेंड से चुदाई करना मिल जाए, तो मजा आ जाए.

उसने मना करते हुए कहा- पहले किस करोगे … फिर कहोगे कि चिपका कर सोने का मन हो रहा है. फिर चाहे कैसा भी लंड हो, जब दोनों छेद में एक साथ जाएंगे, तो दर्द होता ही है. सोनम की चूत पर पापा की उगलियों की रगड़ उसे और अधिक मदहोश कर रही थीं.

चुदाई वाला बीएफ चुदाई

वो कुछ नहीं बोली और फिर से अपना सिर मेरे कंधे पर रख कर रगड़ने लगीफिर अचानक से उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ को पकड़ लिया.

मैं रेखा के पीछे खड़ा होकर उसके स्तन सहलाने लगा और रेखा अपनी गांड की दरार में मेरा लंड रगड़ने लगी. राजस्थानी सेक्स कहानी के पहले भागगोरी भाभी को नंगी देखने की लालसामें अभी तक मैंने आप लोगों को बताया था पहली बार किसी ने मुझे एक दो दिन के लिए नहीं, बल्कि पूरे एक सप्ताह के लिए बुलाया था. रूना ने दोनों पैरों को सिकोड़ लिया था, जिससे चूत का छेद नजर नहीं आ रहा था.

मेरे घर में मेरे अलावा मेरी विधवा माँ चंदा रहती है जो 47 साल की है. हाथ दबाने और सहलाने की वजह से उसकी और मेरी सांसें धीरे धीरे गर्म हो रही थीं. चुत का दानाशिराज ने दरवाजा खोल कर मुझे हंसते हंसते अन्दर बुला लिया और हम पढ़ाई के बारे में बातें करने लगे.

मैंने लंड चूत से खींचा, तो सुनीता झट से उठ कर बैठ गई और मुझे बगल में लिटा लिया. उनके पति की नजर जैसे ही मेरे लंड पर पड़ी, वो देखते रह गए और भाभी मस्त हो गईं.

इतने खुले शब्दों को सुनकर मेरे तो तोते उड़ गए कि भाभी तो सब जानती हैं. वीरू के बदन से आती पसीने की खुशबू ने शब्बो की जवानी की आग फिर से भड़का दी। वीरू ने भी दर्द का बहाना करके शब्बो के भरे हुए बदन पर अपना हाथ साफ़ किया. आज तुमने मेरी मार कर तबियत मस्त कर दी, सच में क्या रगड़ी है, लाल कर दी.

मैं उसे चोदते हुए बोल रहा था- उस बेबी साली रंडी और ले मेरा लंड ले … अन्दर तक ले कुतिया साली. मुझे भाभी की चुत चोदने में ऐसा लग रहा था जैसे मैं किसी कुंवारी लौंडिया को चोद रहा हूँ. वो दर्द के साथ कराहती रही और 5 मिनट में उसने पूरा लंड अन्दर ले लिया.

पर अभी दोस्त से चुदाई का क्रम जारी था कि अचानक एक दिन बैंक से आते समय मेरे पापा का एक्सीडेन्ट हो गया.

पहले तो माँ नहीं गयी, पर कमला आंटी उन्हें बोली- अब शर्मा मत … आ भी जा!और माँ जाकर मुखिया जी की जाँघों पर बैठ गयीफिर कमला आंटी बोली- तो मुखिया जी, मैं चलती हूँ, आप मजे कीजिये।मुखिया जी- ठीक है जा … पर तुझे पता है ना कि तुझे यहाँ से जाकर क्या करना है?कमला आंटी- जी पता है।यह बोल कमला आंटी माँ से बोली- तो मैं चलती हूँ. मैं उसे सहारा देकर बाथरूम में ले गया और उसे सलाह दी- एक बार नहा लो.

जब वो बैठी थी तो पीछे से उसकी साड़ी नीचे खिसक गई थी, जिससे उसकी गांड की लकीर मुझे साफ साफ दिखाई दे रही थी, उसके पिछवाड़े का मस्त नजारा साफ दिखाई दे रहा था. उसे डर था कि कहीं मैंने अबकी बार फिर से 40 मिनट लिए तो उसकी हालत खराब हो जाएगी. एक पल के लिए तो मैं काफी डर गया था लेकिन फिर मैं उनकी चूचियों के साथ खेलने लगा.

उसकी पकड़ लंड पर थोड़ी और टाइट हो गयी और उसने लंड की मुठ मारने की स्पीड थोड़ी तेज़ कर दी. हमारे होंठ जुड़ गए थे और हम दोनों एक दूसरे को चूमने का मजा लेने लगे थे. एकदम गोल चुचों को देखकर मेरा पैंट में लंड इतना टाइट हो चुका था कि मानो अभी पैंट फाड़ कर उसकी चूत में घुस जाएगा.

बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में मैं जैसे किस करने में डिग्री कर चुका हूँ, उतने अनुभवी खिलाड़ी की तरह उसके होंठों को चूस रहा था. उसने दोबारा कहा- या फिर संतरा चलेगा?मैं बोला- जो आपको अच्छा लगे, वो दे दीजिए.

बीएफ सेक्सी वीडियो जानवरों की

झींगुरों की आवाज के अलावा सामने के कमरे से एक तेज़ चलती सांसों की आवाज सुनाई दी. मैंने उससे बहुत कोशिश की और कारण जानना चाहा, लेकिन उसने कुछ नहीं बताया. मेरी सौतेली मॉम मुझे चुदना चाहती थी और मैं भी उसे उतने ही दिल ओ जान से चोदना चाहता था.

बाथरूम में पहुंचते ही रेखा ने बाथटब का पानी का नल चालू कर दिया … तो तेजी से पानी टब में गिरने लगा. मेरे धक्कों के साथ उसके चूतड़ों में गजब की लहर बन रही थी, जो मुझे और तेज चोदने के लिए जोश दिला रही थी. सुहागरात पति पत्नीरंडियों को चोदना मुझे पसंद नहीं है और दूसरी चूत का इंतजाम करना मेरे वश के बाहर का काम है.

मेरी इस हरकत से नीता चौंककर बोली- हर्षद, ये क्या कर रहे हो, अभी तक तुम्हारा दिल नहीं भरा क्या?मैंने उसके कंधे पर अपना सर रखते हुए उसके गाल को चूमकर कहा- नहीं भरा नीता.

दिल धक धक करने लगा था मगर साथ ही उत्तेजना से मुँह में और चूत में पानी आने लगा. उसने मेरे पूरे शरीर को चूमते हुए मुझे अपना लंड चुसाया और मुझे घोड़ी बना कर सुबह की शुरूआत चुदाई से कर दी.

लंड में दिमाग तो होता नहीं है … उसे तो घुसने वाली जगह मिली और वो अपना फन उठाना शुरू कर देता है. मैं अन्दर ही अन्दर ख़ुशी दबाती हुई बोली- बाबा मैं ये काम करने को भी तैयार हूँ लेकिन मुझे वो दो मर्द मिलेंगे कहां … और वो कैसे होने चाहिए?इस पर दूसरे वाले बाबा ने कहा- हम यहां ऐसे ही तुम्हारे घर नहीं आ गए. मैं डर गया और उससे माफी मांगने के लिए मैंने 5 मैसेज कर दिए, पर उसका कोई जवाब नहीं आया.

अब मैं उसकी दोनों टांगों को चौड़ा करके बीच में बैठ गया और पूरी संजीदगी से बुर में जीभ घुसेड़ कर चूसने लगा.

मैंने श्रेया से पूछा- श्रेया तुम्हारी चूत पर एक भी बाल नहीं है … क्या तुमने इसे शेव की है?वो बोली- मुझे शेव करने की जरूरत पड़ती ही नहीं … क्योंकि मेरी चूत पर अभी बाल आने ही शुरू नहीं हुए. मैं उसे कई दिनों से देख रहा था कि वो इंसान ब्रांच के चक्कर काट रहा था. सुबह वो चला गया और सब घर वाले चले गए और मेरा भाई भी दोस्त के मम्मी पापा को देखने के लिए सुबह घर से निकल गया.

भाभी की चुदाई दिखाइएतब मैंने उससे पूछा- सुनीता आज तुम्हारे अन्दर इतना सेक्स कैसे जाग गया?उसने कहा- ऐसा नहीं है यार कि मुझे अच्छा नहीं लगता, लेकिन आपके आने का कारण मैं समझ रही थी इसलिए मैंने सोचा कि आज आपको खुश करके ही भेजूंगी. अब वो मेरे सामने ब्लू कलर की डिजाइनर ब्रा और ब्लैक कलर की पैन्टी में थीं.

सेल्फी राज का सेक्सी वीडियो बीएफ

मैं मुकेश से उम्र में 2 साल बड़ा हूँ तो उसकी बीवी ने भी मेरे साथ जेठ वाला रिश्ता रखा. मुझे पाकर सविता ने अपने सारे दोस्तों से रिश्ता तोड़ लिया है और अब वो केवल मुझसे चुदती है. उसके आधा घंटा बाद हम दोनों फिर से तैयार हुए और फिर से चुदाई का खेल शुरू हुआ.

भाभी हम दोनों की तरफ देख रही थी तो मैंने सोहम को मौसी के पास से लेने के लिए हाथ बढ़ाया. फ़लक की मादक सिसकारियां निकलने लगीं- ओह बेबी … ये क्या कर रहे हो … आह मुझे बेहद मजा आ रहा है आह चाट लो आंह …कुछ देर बाद मैंने केक को लेकर पूरे मम्मों पर अच्छे से फैला दिया और उन्हें बारी बारी से चाट चाट कर फ़लक को मस्ती देने लगा. मैंने उसकी इच्छा पूरी की उन्हीं के घर में! कैसे हुआ ये सब?नमस्कार अंतर्वासना के प्रिय पाठकगण, मैं भगवानदास फिर से चटकती चुतों को लंडवत नमस्कार करते हुए अपने सेक्सजीवन की एक और देसी घटना लेकर हाज़िर हूं.

वह सिसियाता रहा और बोला- यार लंड बाहर निकालो, नहीं तो मैं तेरे मुँह में ही झड़ जाऊंगा. वो मेरे ऊपर आ गए और मेरे पैरों को फैलाकर लंड को चूत में लगाया और तुरंत एक धक्का लगा दिया. अब वो हमेशा मेरे लिए कुछ न कुछ खाने के लिए लाने लगे, मेरे लिए साड़ी खरीद कर लाने लगे और यहां तक कि मेरे लिए गाउन भी खरीद लाते थे.

मेरा सुपारा पूरी तरह फूल चुका था और मुझे असीम आनन्द की अनुभूति हो रही थी. मेरे थोड़ी देर चूत चाटने के बाद ही सीमा ने मेरा मुँह अपनी चूत पर ऐसे दबा लिया जैसे उससे ज्यादा ताकतवर इस दुनिया में कोई और है ही नहीं.

अर्चना दीदी दोतरफा मार को देर तक नहीं झेल सकीं और दूसरी बार चिहुंक चिहुंक कर झड़ चुकी थीं.

तो उर्वशी ने बोला- फ्लैट की चाबी ऊपर वाले फ्लोर पर रहने वाले मकान मालिक को दे कर आई हूँ, बाकी मैं वापस आकर बताऊंगी. सुहागरात कैसे मनाया जाता हैरेशमा की नूरानी फुद्दी का रस पीने के बाद मैंने अपना मुँह उसकी चूत से बाजू किया और आंखें बंद करके लेटी रेशमा को देखने लगा. ओपन सेक्सी व्हिडिओ इंग्लिशवो ऑफिस से बाहर निकलती हुई बोलने लगी- सर मैंने तो सोचा था कि कोई 45-50 वर्ष के आस पास का कोई अफसर होगा, लेकिन आप तो अभी 30 के भी नहीं लगते. मैंने फिर से पूछा- ओके, वहां क्या करते हो?वो- मैं उधर एक कंपनी में काम करता हूँ.

मामी एकदम से ठिठक गईं और उन्होंने कहा- शादी के बाद मैंने पत्नी धर्म निभाया है.

मैंने मानसी से कहा कि अब से तुम्हें जब भी चुदना हो, मेरा लंड तुझे चोदने के लिए तैयार है. अब मैंने खुल कर बोलना सही समझा- आपके कहने का मतलब है कि बहुत दिनों से आप चुदी नहीं हो, सही है ना!भाभी कुछ नहीं बोली और अपना सर नीचे कर लिया. हर धक्के के साथ महंत अपना लंड अपनी ही बहन की बुर में अन्दर धकेलता जा रहा था.

पर वो कहते हैं ना कि जुआ किसी का नहीं होता!कुछ दिनों तक तो मैंने बहुत पैसे जीते जुए में … और सारे पैसे अपने पास जमा करके रखे ताकि एक साथ मैं माँ को बहुत पैसे दे सकूं. मैं सुधीर … मेरी पहली दो कहानीबीवी की मेरे दोस्त से चुदने की चाहतआप लोगों ने पढ़ी जिसमें मैंने अपने दोस्त से अपनी चुदासी पत्नी सोनम को चुदवाया था. मैंने कहा- इस तरह के लिंग से तुम्हारा क्या आशय है?वो बोली- तुम्हारे लिंग का सुपारा जिस तरह से खुला है न … उसका मतलब है कि तुमने बचपन में अपने लंड का खतना करवाया है.

बीएफ बीएफ यूट्यूब

जब मेरी नींद रात को करीब एक बजे खुली, तो मुझे लगा मानो मेरे ऊपर कोई चीज से दबाव डाला जा रहा हो. भाभी जल्दी से बोलीं- क्या हो जाएगा?उनके पति मरी सी आवाज में बोले- क. अभी तक मैंने और आपने भी अन्तर्वासना पर बहू और ससुर के बीच चुदाई की बहुत सी कहानियां पढ़ी होंगी.

वो मोटी महिला जब मेरे घर पर आ गई तो मैंने उसके बच्चों के लिए दूध वगैरह का इन्तजाम किया.

उन्होंने अपने पैरों को पूरा खोल दिया और मुझसे बोलीं- अच्छे से मालिश कर दो.

छोटी छोटी जगह लगाया जाता है क्योंकि जननांग के बाल कड़े होते हैं और उनको निकालने में थोड़ी तकलीफ भी होती है. मैं समझ गया और उनकी चूत देख कर अपनी जीभ को अपने होंठों पर फिराने लगा. सोनाक्षी के सेक्सीवो बोली- तो मुँह दिखाई नहीं दोगे?मैंने अपनी जेब से एक अंगूठी निकाल कर उसकी उंगली में पहना दी.

मैं कई बार देखता था कि मेरी बहन के लोअर में उसके चूतड़ बिना पैंटी के बड़े ही मादक लगते थे. मैंने उसको उठा कर उसकी साड़ी ऊपर कर दी और उसे झुका कर उसकी चूत में लंड डाल दिया. भाभी ने मजे में अपनी आंख बंद कर ली थी और चूत की रगड़ाई चुसाई का मजा लेने लगी थीं.

मैं आपको मेरी हॉट बहन पोर्न स्टोरी में ये बताने जा रहा हूँ कि मैंने अपनी बड़ी बहन को उसकी मर्जी से ही कैसे चोदा. वो थरथराती हुई आवाज में बोली- तुम्हें बोला ना … मुझे आज पूरा मजा दे दो.

मैं भी उनको चोदने की सोचने लगा लेकिन बीवी के होते हुए मौका नहीं मिल रहा था.

उन दस दिनों में मैंने चाची की चूत और गांड दोनों किस तरह से मारी, वो सब कैसे हुआ, मैं उस सेक्स कहानी को अपने अगले भाग बताऊंगा. उसने पट्टी खोली, एंटीसेप्टिक से उंगली को अच्छी तरह से साफ किया और एक छोटी से शीशी सी इंजेक्शन में दवा भरी, फिर उस इंजेक्शन से सुई हटाई और वो सारी दवाई बूंद बूंद करके उंगली पर लगे घाव पर टपकाई. जब मैंने उससे कहा- तुम मुँह बंद रखो और मजा लो बस!मैं उसकी चूत पर चुम्बन देते देते चूत में जीभ डाल कर घुमाने लगा.

लड़की का बूबा तब मैंने सीमा को अपना लंड चूसने को कहा, जिसके लिए वो ख़ुशी ख़ुशी राज़ी हो गई. मैं- तुम्हारी पसंद क्या क्या हैं?इस बार वो थोड़ा रुका, फिर बोला- लिखना पढ़ना और म्यूज़िक.

अदिति सीधे घुटनों के बल बैठ गयी और आहिस्ता से मेरा लंड अपनी चूत से बाहर निकाला. तो हमारे ऊपर की मंजिल में एक फैमिली रहती थी, जिनके साथ हमारा घर जैसा रिश्ता था. मैंने सोनाली को अपने नीचे लेते हुए कहा- अच्छा तो भाभी भी तुम्हारे साथ है क्या?मैं अपने घुटने के बल बैठकर उसकी दोनों चुचियां मसलते हुए बोला.

सेक्सी ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी ब्लू

तब मैंने अपना विज़िटिंग कार्ड निकाला और उसे देते हुए कहा- लो तुम इसे रख लो … और कल संडे है, कल मेरे घर सुबह 11 बजे आ जाना. उसने अपने तौर पर कमरा तलाशा तो कोई ढंग का रूम नहीं मिला इसलिए वो परेशान था. कुछ देर बाद दोनों बाहर आए और दोनों मेरे करीब आकर मुझसे फ़ोटो लेने के लिए बोले.

आज फिर से कहानी लिखने का मन हुआ तो उसी सेक्स कहानी को आगे लिखना शुरू कर रहा हूँ. मेरी नींद रात के तीन बजे खुली, तब तक मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था.

मेरी बहन की चूत एकदम सफाचट थी और उसकी चूत से चमकीला पानी बाहर आने लगा था.

उसको अपनी चुत की झांटें साफ़ किए हुए 20-25 दिन हो चुके थे, इसलिए चूत पर झांटें आई हुई थीं. मौसी ने हंसते हुए कहा- अच्छा अब तेरा लंड तेरे बस में नहीं है, ये क्यों नहीं कहता कि मौसी की गांड फाड़ना चाहता है. जब उसकी आंखें मेरी आंखों से मिलीं तो पता ही नहीं चला कि मुझे क्या हो गया.

न जाने क्या हुआ कि मैं जल्दी झड़ गया जबकि मैं किसी भी चूत को कम से कम आधा घंटा से पहले नहीं छोड़ता हूँ. कुछ ही पलों में वो इतनी ज्यादा उत्तेजित ही गई थीं कि उनके पैर कांपने लगे और उनकी चूत झड़ने लगी थी. मम्मी हंस कर बोलीं- क्या अभी मन नहीं भरा … फिर से मूड है क्या?पापा बोले- हां यार तुमको ऐसे देख कर फिर से खड़ा होने लगा है … देखो.

मेरे ससुर इस मामले में होशियार थे और वो मेरी इन हरकतों को अच्छे से भांप गए.

बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ वीडियो हिंदी में: उसकी माँ ने पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- रात को सीढ़ी से गिर गयी थी, तो पैर में चोट लग गई थी. यह सुनते ही, उसने भी पीछे से मुझे कसके पकड़ा और बोली- क्यों, क्या इरादा है … बहुत जल्दी में हो क्या!उसने जिस तरह से मुझे पकड़ा था, मुझे बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी.

तो किसी मोटे हाथी जैसे दोस्त के खड़े नौ इंची के मस्त लंड पर मुझे ही गांड खोल कर बैठना पड़ा और उचकना पड़ा. मुझसे उसकी हालत देखी नहीं जा रही थी और मुझसे भी नहीं रहा जा रहा था. इसके साथ मैंने कुछ और धक्के मारकर मेरा लंड सोनाली की चूत की गहराई में पेल दिया.

मैंने उठकर देविका की गोरी गोरी मांसल जांघों को सहलाया और उन्हें दोनों तरफ फैला दिया.

मैं सपना राठौड़ एक बार फिर आपसे मेरे सपने की एक सेक्स कहानी लिखकर साझा कर रही हूँ. कुछ लड़कियां मेरी दुकान पर मोबाईल ठीक करवाने या रिचार्ज करवाने आ जाती थीं. उसने थोड़ा तेल मेरे लंड पर लगाया और थोड़ा सा अपनी सहेली की चूत पर लगाया.