बीएफ चूत मारी

छवि स्रोत,मोदी की बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

लिखने का सेक्सी वीडियो: बीएफ चूत मारी, मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था और मैंने उसकी चूत के पास अपने लंड को सटा दिया.

बंजारों की बीएफ

यह तो हम दोनों की किस्मत अच्छी थी कि इतनी चुदाई के बावजूद उसको गर्भ नहीं ठहरा. हिंदी बीएफ सेक्सी मूवी हिंदी मेंमैंने उसे एडमिन बना लिया था ताकि वो सभी लड़कियों को भी ग्रुप में जोड़ ले.

मां की चूचियों को रवीन्द्रनाथ ने रोज दबा दबा कर बड़ा कर दिया था वो अब मां की चूचियों को बड़े मजे से पीने लगे थे. मराठी सेक्स बीएफ मराठीमैं- हां … आह … ले रंडी कुतिया साली … मादरचोद चुद साली अपनी औलाद से और उसके दोस्त से!फिर मैंने छेद बदलने की बात कही, तो अमित ने अपनी मॉम की गांड से लंड खींच लिया और मैंने शिखा आंटी की चूत से लंड निकाल लिया.

मेरी मां ने बताया कि जब वो कमसिन थीं, तभी उनके सीने में बड़े उभार आ गए थे.बीएफ चूत मारी: अब वो उठे और मेरी दोनों जांघों के बीच जा कर बैठ गए। उनका बड़ा लंड पूरी तरह खड़ा था और फुंफकार रहा था। मैं समझ गई कि अब वो समय आ गया जिसका मुझे बेसब्री से इंतज़ार था। अब मेरे जेठजी मुझे चोदने वाले थे।मैंने चुदाई का पूरा आनंद लेने के लिए अपनी आंखें बंद कर लीं और सिसकारी लेकर अपनी दोनों टांगों को हवा में उठा दिया.

मैंने कहा- हां क्यों नहीं मेरी रानी … अब तो मेरा लंड तुम्हारा ही है.हम दोनों बियर और सिगरेट का मजा लेते हुए आपस में सनी के साथ होने वाली चुदाई की बात करने लगे.

एचडी हिंदी मूवी बीएफ - बीएफ चूत मारी

मेरे ससुर का लंड इस उम्र में भी इतना दमदार होगा मैंने इसका अंदाजा भी नहीं लगाया था.भाभी बोबे दबाते हुए ही मैंने उनके ब्लाउज के हुक खोल दिए और ब्रा के ऊपर से उनके दूध से सफेद मम्मों को दबाए जा रहा था.

वो आदमी उठा और मेरी कलाई खींचते हुए बोला- आप तो फालतू में तकल्लुफ कर रही हैं. बीएफ चूत मारी मेरा भाई भी लंड चुसवाने में इतना अधिक मस्त हो गया था कि उसे भी व्हिस्की पीने में मजा आने लगा था.

मैंने मन में सोचा कि इस साले का मूसल मेरी बीवी की चूत के अन्दर कैसे जाएगा.

बीएफ चूत मारी?

मेरी पिछली स्वीट Xxx गर्ल स्टोरीपड़ोस की कमसिन लड़की की जवानीमें आपने पढ़ा कि मेरी ये तीन पड़ोसनें दरअसल जुबैदा और उसकी दो बेटियां सलमा और नजमी थीं. दूसरे भागमेरी बीवी ने जेठ से चूत चुदवा ली- 2में आपने पढ़ा था कि मेरी बीवी सज संवर कर मेरे बड़े भाई के पास उसके रूम में पहुंच गयी और पूरी नंगी होकर उसके लंड से चुदने के लिए उसके सामने बेड पर लेट गयी. यह सुनकर मैं तुरन्त बंगलौर पहुंचा और वहां उसके तमाम दोस्तों को पार्टी दी.

मैंने उसके मोबाइल को देखने के बहाने उसके अब्बू का और उसकी अम्मी का whatsapp नम्बर अपने मोबाइल में ट्रान्सफर कर लिया. तो ध्यान रहे कि तुम्हें सावधानी के साथ ही टाइम का ख्याल भी रखना है जो तुम्हारे पास केवल 9 मिनट के रूप में है. अब आगे की गर्म चूत चुदाई कहानी:एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि दीदी जॉब पर गयी हुई थी.

मुझे होंठों को चूसने में बहुत ज्यादा मज़ा आता है इसलिए मैं होंठों पर खास ध्यान देता हूं. लेकिन आज मैं अकेली थी मानव मेरे साथ नहीं था।आज भी दुकानदार अकेला ही था और शायद दुकान बंद करने ही वाला था।मुझे देख कर उसके चेहरे पर चमक आ गई और वह दुकान के बाहर आया और मेरे करीब आया. मैंने बोला- हां आंटी मैं अपने काम के सिलसिले में गुजरात से बाहर गया था.

अब हम तीनों हमेशा साथ में छुप जाते और वो दोनों मुझे पागलों की तरह मसलते दबाते रहते. मेरी इंडियन गांडू सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे अंकल ने मुझे गांड मरवाने की आदत लगा दी थी.

मेरी कोशिश यही रहती थी कि जब तक वो मेरे साथ रहे, खुश रहे। कई बार अपनी परेशानियों और समस्याओं का जिक्र वो मुझसे किया करती थी.

वहां पर न तो घूमने के लिहाज से कोई अच्छी जगह है और न ही कोई मार्केट या मॉल। जब मैं गांव पहुंचा तो मैंने मां और पापा को भी नहीं बताया था कि मैं आ रहा हूं.

वो बीच बीच में रूक कर मेरे स्तनों को मसल देते, या मेरे निप्पल चूस लेते या मेरे होंठों को चूसने लगते. वो गांड मटकाते हुए किचन में गयी और प्लेट में कवाब, सोडा और ठंडा पानी ले कर आ गयी और जाम बनाने लगी. मुझे उसका यह अंदाज बहुत पसंद आया और उसे थैंक यू बोला।अजय मेरे लिए कई घंटे का ट्रेन से सफ़र करके आ रहा था.

सनी मुझसे मिलने की मिन्नतें कर रहा है … और कुछ मैसेज में वो तेरी ही तारीफ कर रहा था. वो बोले- हां मेरी रंडी बहू, रुक तेरी चूत की प्यास आज मैं अच्छे से बुझा दूंगा. तभी फ़रज़ाना को शरारत सूझी और उसने अपनी दो उंगलियां रवि की गांड के ऊपर रखकर धीरे से दबा दीं.

मन सोच कर रोमांचित हो रहा था कि हरी भैया कैसे मुझे अपनी बांहों में कस लेंगे, कैसे मेरे होंठों को चूम लेंगे, कैसे मुझे बांहों में भींचे हुए मेरे स्तनों को दबा देंगे, फिर कैसे मुझे नंगी करेंगे और मुझे बेड पर गिरा कर चोद देंगे।ये सब सोच कर ही मेरी चूत गीली हो रही थी.

मामी जी अब तक पूरी तरह गर्म हो चुकी थी। वो भी मेरे लन्ड को अपनी प्यासी चूत में लेने के लिए तरस रही थी।मगर जितने नखरे उसने किये थे मैं भी सबका बदला लेना चाहता था. अंकल ने मुझसे कहा- मेरा ऑफिस का टाईम दस से चार होता है … दस बीस मिनट का फर्क पड़ेगा, उसे तुम मैनेज कर लेना. अब मैं दूसरा पैर ज़मीन पर और हाथ सोफे के ऊपर रख कर झुक गई। वो मेरे पीछे ही खड़ा था.

फिर दूसरी बार मैंने कल रात को भी आपको याद करके हस्तमैथुन किया था क्योंकि मेरा यह सपना अब पूरा होने जा रहा था. मामी जी अब तक पूरी तरह गर्म हो चुकी थी। वो भी मेरे लन्ड को अपनी प्यासी चूत में लेने के लिए तरस रही थी।मगर जितने नखरे उसने किये थे मैं भी सबका बदला लेना चाहता था. मैंने पूछा- पहले किया नहीं है क्या?वो बोली- नहीं, पहली बार ले रही हूं.

मैंने कहा- तुम्हें नहीं खाना है क्या? कुछ देर पहले तो भूख से मरी जा रही थी!वो बोली- बेशर्म इन्सान, ये तो बताना चाहिए कि कैसी बनी है? बस खाये जा रहे हो!मैं बोला- बहुत टेस्टी बनी है.

मैं तो प्यार का प्यासा था ही, उसकी हर बात पर यकीन करता गया और उसके आगोश में और गहरा समाता गया. मैं बोला- साली रंडी, अभी भी तुझे चाचा की पड़ी है? इधर आ, मैं तेरी गांड की प्यास मिटाता हूं.

बीएफ चूत मारी मैं जब उनकी बातों को पास जाकर सुनने की कोशिश करता तो सोनी मना कर देती थी. तभी रिया दी चिल्लाईं- देखो तो बहनचोद को … तुम दोनों के लंड का टेस्ट इतना अच्छा लगा कि लंड ने पानी छोड़ दिया.

बीएफ चूत मारी बातों ही बातों में पता चला कि वो अधेड़ उम्र का आदमी छत्तीसगढी़ फिल्मों का डायरेक्टर है और अपनी नई फिल्म के लिए हिरोईन की तलाश कर रहा है. मैंने अपनी जींस और शर्ट को निकाला और उसके मम्मों को चूसना शुरू कर दिया.

ये तो अच्छा हुआ कि मैं आकाश से बहुत बार चुद चुकी हूं वरना आज मेरी हालत बहुत बुरी होने वाली थी.

चूत चूत वीडियो

आज मैं आपके सामने एक कहानी प्रस्तुत कर रहा हूं जो पूरी तरह से काल्पनिक सोच पर आधारित है. कुछ पल बाद उसने रूम सर्विस को फोन करके दो बियर मंगा लीं और कुछ स्नेक्स भी बोल दिया. इंडियन सेक्स आंटीज़ स्टोरी में पढ़ें कि मैं मामी को पटाकर सरसों के खेत में अंदर ले गया.

खैर अब मैं वर्तमान में आती हूं। मजा लेते रहें देवर भाभी रोमांस सेक्स स्टोरी का:कुछ रोज मायके में रहकर अपनी ससुराल आ गयी। पतिदेव कई दिनों बाद मुझसे मिले। मिलने में तो उनके उत्साह बहुत था लेकिन जल्दबाजी नहीं थी।रात आयी, सब सो गये, मेरे पतिदेव मुझे पुचकारते और चूमते रहे।मुझे लगा कि काफ़ी दिनों बाद मिले हैं तो आज की रात कुछ अलग होगी. जो सपना मैं बरसों से देख रहा था, शायद अब वो मुझे पूरा होता दिख रहा था. वो मेरे लंड को देख कर चौंक गयी- अरे बाप रे! इतना बड़ा!उसके चेहरे पर डर और खुशी दोनों साथ साथ दिख रहे थे.

मेरी सास भी रंडियों की तरह उसके लंड को चूस चूस कर उस जवान लड़के के जोश को बढ़ा रही थी.

मैंने उसके एक निप्पल को अपनी उंगली से पकड़कर कसके दबा दिया, तो वो हल्का सा चिहुंक उठी. उजमा ने इस समय एक गुलाबी कलर की बेबीडॉल नाइटी पहनी हुई, जो स्लीवलैस थी और उसकी आधी जांघों तक बमुश्किल आ रही थी. मैं उसे मनाने की कोशिश करती हूं … कहीं मान जाएगी … तो तुम्हारे नीचे जरूर आ जाएगी.

उसके बाद ऐश्वर्या बेड पर लेट गईं और ससुर ने दराज से कंडोम निकालकर अपने लंड पर लगा लिया. दोस्तो, नमस्कार जैसा कि आप सभी को पता है कि पिछली सेक्स कहानीकमसिन लड़की की अनचुदी बुर ठोकीमें मैंने बताया था कि किस तरह मैंने नजमी को रात भर चोदा था. एक दिन की बात है कि मैं दोपहर में अकेला था और घर पर आराम करते हुए कोल्ड ड्रिंक पी रहा था.

उसने एक रूम ब्वॉय को आवाज दी और उससे कहा- मैडम को रूम नं 101 में पहुंचा दो. मेरी बेटी की गांड में कुछ समय पहले ही शमशेर का मोटा लंड घुस चुका था इसलिए उसकी गांड का मुँह खुला हुआ था.

फिर मैं नीचे बैठ गया और उसकी टांगों को फैला कर उसकी चूत में जीभ से चाटने लगा. मैं अपने हाथ से भाभी की चुत को मसल रहा था, जिससे उनकी चूत की पंखुड़ियां खुल बंद हो रही थीं. उसकी गांड पर चमाट मारते हुए मैं बोला- साली तेरी गांड मारूंगा आज, तब पता चलेगा कि क्या सही है और क्या गलत?इतना बोल कर मैंने फिर उसकी गांड में थूक दिया और अपनी उँगली उसकी गांड के छेद में दे दी.

उसके बाद देखेंगे कि क्या होता है?ये सोचकर मैं उस कमरे के दूसरे गेट से बाहर आ गया और बाहर आते ही मैंने तुरन्त ही भाभी के मोबाइल पर रिंग की.

मैंने दीदी को हिला कर जगाया और उनसे कहा- अम्मी बुला रही हैं, उठ जाओ. इसलिए मेरे लंड ने एक बार फिर से मामी जी की चूत को अच्छी तरह से रगड़ दिया और पूरा का पूरा रस मामी जी की मखमली चूत में भर दिया।दूसरे राउंड के बाद भी हम कुछ देर पड़े रहे. उसके हाथों ने जब मेरी चूत की फांकें पकड़ कर झांटों को साफ़ किया तो मेरी हालत काफी खराब हो गई थी.

फिर उसने बीयर के बड़े घूँट को अपने मुँह में भर कर मेरे मुँह पर अपना मुँह लगा दिया. लेकिन रोहित बिना सुने हौले-हौले से मेरी पेन्टी को चाट रहा था- आह भाभी, बहुत मजा है इस रस में!मेरे जीवन के इस आनन्द के क्षण को अब मैं जीवन भर नहीं भूल पाऊँगी।फिर वो मेरे पैरों के बीच से हट गया.

मेरे पैरों की उँगलियों को अपने मुँह में भरने लगे और पूरे पंजों को चाटने लगे. मैंने अब आनंद के मारे उनके होंठों को जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया. मैंने पूछा- तो आप अपनी आग कैसे बुझाती थीं?आंटी ने बताया कि वो काफी समय से अपनी अनतरवासना के लिए चूत में गाजर मूली का यूज कर रही थीं.

ब्लू बीपी हिंदी

लेकिन जैसे ही मैं तुम्हें तुम्हारे जिस्म को स्पर्श करता हूं, तुम गायब हो जाती हो और फिर मैं तुम्हारे नाम लेकर अपने लंड को मसल कर रह जाता हूं।बस एक दिन तुम वो हकीकत में कर दो.

कुछ ही पलों में उसके लंड का सुपारा मेरी चूत की फांकों में फंस गया था. मगर भाभी की नजर बार बार पारुल की चूचियों पर जा रही थी जो मैक्सी में साफ नंगी प्रतीत हो रही थी. उसके बाद क्या था … दीदी भी सोच मैं पड़ गईं कि मैं उनके बारे में क्या सोचता हूं.

पारुल को मैं बहुत अच्छी तरह से जानता था कि वो लड़की नई और कुँवारी थी. हम दोनों लडकियां बाहर निकलीं और पीछे के दरवाजे से घर के बाहर निकल गईं।आसमान में चांद की रोशनी आज कुछ ज्यादा ही तेज थी। जल्दी जल्दी चलते हुए कुछ ही समय में हम दोनों उस खण्डहर तक पहुँच गए। उस समय मैंने सलवार कमीज पहना हुआ था और दुपट्टे से अपने सर और मुँह को ढक रखा था. सूट सलवार में सेक्सी बीएफकमरे का दरवाजा बंद करके मुझसे बोला- अब घरेलू औरत की तरह व्यवहार मत कर, जल्दी से कपड़े उतार दे.

फिर …मेरी पिछली कहानी थीरॉन्ग नंबर की काल से मिली लड़की की चूतमैं जयकुमार आप सभी के समक्ष एक नई फर्स्ट लव सेक्स स्टोरी लेकर आया हूं. जब वो राजी हो जाएंगी, तो मैं अपनी चाची की चुत चुदाई की कहानी आपके लिए लिखूंगा.

उन्होंने एक ही झटके में पूरा लंड मां की चूत में उतार दिया और उसकी कमर को पकड़ कर जोर जोर से मेरी मां की चुदाई करने लगे. उसको पढ़ कर मुझे उम्मीद है कि सब भाई लोग हाथ से लंड हिलाना शुरू कर देंगे. मैं- थोड़ा डिटेल में बता सकती हो?ऐश्वर्या- शादी के बाद हम दोनों हनीमून के लिए मालदीव घूमने गए थे, जहां पहले दिन हम पूरा दिन घूमे और फिर रात को हमारा रोमांस शुरू हुआ.

उसके बाद उसने मेरे होंठों पर अपने होंठों को जड़ दिया और मेरी टांगें उठा कर मेरी योनि में लिंग को पेलने लगा. 15 पर वो दोनों गुरूद्वारा के लिए निकल गयीं। मैं तुरंत उठी और हल्का सा मेकअप किया. 2 साल बाद मिले थे इसलिए बातों का दौर खत्म होने का नाम नहीं ले रहा था.

शिखा आंटी अमित से बोल रही थीं- आह … अच्छे से चोद दे बेटा … अपनी मॉम को … आह मैंने बहुत दिनों से कोई लंड नहीं लिया.

आज बिस्तर पर मम्मी की चुत में मेरा पूरा लंड चला गया था, इसलिए वो दर्द से चिल्लाने लगीं कि निकाल ले … मुझे बहुत दर्द हो रहा है. जब वो जा रही थी तो मैंने मौका सही जाना और उसको रोकते हुए कहा- एक मिनट रुको, मुझे तुमसे कुछ बात करनी है.

फिर स्नेहा ने उस लड़के को हटाया, तो रिया दी बोलीं- समीर, अपनी बहन के पास जाओ. इसके बाद भाभी ने आइसक्रीम खाने की बात कह कर उधर से वापस चलने का कह दिया. उसको मैंने अपनी बांहों के घेरे में कैद कर लिया और उसकी गर्दन को चूमने लगा.

फिर मौसी के बेटे यानि मेरे भाई की छुट्टियां हो रही थीं … इसलिए वो आने वाला था. मुझसे छूटते ही पूजा आंटी उठ कर बैठ गईं और बोलीं- मादरचोद तूने मुझे लंड का पानी पिला दिया है, अब तेरी गांड और जोर से मारूंगी हरामी … साले हरामी तेरा रस भी बहुत ज्यादा निकला है … इतना तो 4-5 लड़के मिल कर भी नहीं निकाल पाते हैं. अब आगे की थ्रीसम सेक्स हॉट स्टोरीज:आपको मालूम है कि शुरू में मैं भी सनी से प्यार करती थी, मगर सोना ने सनी से प्रेम कर लिया.

बीएफ चूत मारी गांड में लंड घुसते ही मीना चिल्लाने लगी- आह हितेश मर गई … लंड को निकाल लो … आह बहुत दर्द हो रहा है. मैं पहले से ही गर्म थी और तेरे चाचू के होंठों को किस करने से और ज्यादा गर्म हो गयी और बस… उसके बाद से ये सब शुरू हो गया.

चूत चूत की चुदाई

उसकी गर्दन को चूमा और चूची दबाते हुए उसकी चूत को एक हाथ से सहलाने लगा. इस काल्पनिक कहानी के पहले भागहाई प्रोफाइल लेडी की सेक्स कहानी- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि ससुर जी अपनी बहू ऐश्वर्या को चोदने की तैयारी कर रहे थे. यह तभी की बात है।फिर आपने पूछा था कि यह इसमें दिल के आकार का लॉकेट कहां से आया तो मैंने कहा था कि यह मेरे पास बहुत पहले से था.

नेहा सिसकारियां ले रही थी- आह … आह … आह … आह … करते हुए मेरे बालों को सहला रही थी. मैं और आकाश सर आपस में एक दूसरे के साथ बातें कर रहे थे कि इतने में ही जिया मेम भी बाहर आ गयीं. हिंदी सेक्सी कार्टून बीएफफिर रोहन ने मेरे बदन पर बची हुई मेरी स्कर्ट भी उतार दी और अपनी पैंट उतार कर नंगा हो कर मेरे आगे खड़ा हो गया। उसका लंड मैंने देखा तो अंदर ही अंदर खुश होने लगी.

मैं- आआहह … ऊऊऊ यस अजय … उम्म्ह … अहह … हय … याह … सक माय पुसी … और ज़ोर से चाटो … आआअहह … और जोर से चूसो मेरे राजा! खा जाओ मेरी निगोड़ी चूत को!मेरे ऐसा कहने पर अजय अपनी जीभ को और जोर जोर से चूत के अन्दर-बाहर करने लगा और साथ ही अपनी 2 उंगलियों को भी मेरी चूत में घुसेड़ दिया.

उसके पापा सब्जी बेचा करते थे और उसका भाई अपने पैसों से उसकी पढ़ाई का खर्च उठाता था. अगली सुबह मैंने सोचा कि इस बारे में दिव्या से बात करूं लेकिन मेरी हिम्मत नहीं हुई उससे बात करने की.

वो अपना लंड मेरे मुंह के सामने लाया और मुझे आ … करने को बोला।मैंने आ… किया और उसने हल्के से मेरे मुंह में मूत दिया. अन्दर अमिता बैड के नीचे खड़ी थी और अपने दोनों हाथ बैड पर रख कर झुकी हुई थी. सनी- कौन कर रहा था … किसने देख लिया मेरा लंड!मैं- कौन कर सकता है … उधर हम तीन लोग ही थे.

वो सबसे बातें कर रही थी कि क्या आज कोई नहीं आया है?तभी उधर में एक मर्द आया और बोला- क्या रेट है?वो बारी बारी से सबसे पूछ रहा था.

मैंने बाइक का स्टैंड लगा लिया और दूसरी तरफ मुंह करके बाइक पर बैठ गया. जब तक जारा कुछ समझ पाती, तब तक शमशेर ने जारा की कसी हुई गांड में लंड पेल दिया और उसकी गांड मारने लगा. ये कहते हुए माया दीदी मेरे भाई के लंड पर चुत फंसा कर बैठ गईं लंड की सवारी करते हुए ‘आह … आह.

एयरटेल बीएफ बीएफअल्पना और सनी के साथ जब मेरी चुदाई का मजा आएगा … तो मैं उस रसीली बॉयफ्रेंड एंड गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी से आप सभी लंड चुत से पानी निकालने की कोशिश करूंगी. कुछ देर बाद अल्पना का फोन आया और उसने बताया कि सनी कहीं रास्ते में है.

हिंदी वाली ब्लू फिल्म

मैंने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं किया क्योंकि मुझे जरा कम भरोसा हुआ. लेकिन अपनी बीवी को चोदने का मजा ही कुछ और है … और वो भी तब, जब घर में सब लोग मौजूद हों. फिर कुछ देर बाद मेरी बीवी की आंखों में दर्द कम होता दिखा, तो मैंने उसे इशारा किया कि चुदाई चालू कर दो.

उसने कहा- देखिए, काम शुरू करने से पहले हमें आपकी वाईफ का कुछ ग्लैमरस सा फोटो सेशन करना होगा और पोर्टफोलियो बनाना होगा. ”दो दिन बाद शैली ने बताया कि मैंने दीदी को सब कुछ सच सच बताकर राजी कर लिया है, उनका कहना है कि मम्मी पापा दस साढ़े दस बजे तक सो जाते हैं, तुम ग्यारह बजे चली जाना, सुबह मैं सम्भाल लूंगी. तो भाभी ने जैसे ही मेरी पैंट उतारी वैसे ही मेरा लंड उछल कर बाहर आ गया.

उन्होंने मुझसे मेरा फिगर, मेरी ब्रा का साईज, पैन्टी का साईज जैसे सवाल पूछे. रिया की टी-शर्ट उतरते ही उसके गोल और मोटे चुचे काली ब्रा में से झांकने लगे. मैंने उस समय तो फोन नहीं उठाया क्योंकि मैं शालिनी की चुदाई कर रहा था.

अब आप मेरी चूत को अपने लंबे और मोटे लंड का पानी पिलाओ क्योंकि मेरी चूत आपके लंड की प्यासी है. तभी मुझे महसूस हुआ कि कोई मेरी गांड के छेद में अपना लण्ड घुसाने की कोशिश कर रहा है.

बिना मेरे विरोध की परवाह किये उन्होंने मेरे स्तनों पर अपनी पकड़ और तेज कर दी.

उसका हाथ पकड़ कर मैं बोला- मैं तो डर ही गया था यार!वो बोली- पागल, मैं कहीं नहीं जा रही. बीएफ सेक्सी कुंवारी लड़कियांये आवाज बगल के कमरे में सो रही उसकी परिवार और चाची तक ना पहुंच पाए, इसलिए मैंने उसके मुँह को जोर से दबा दिया और लंड हिलाने लगा. चुदाई बीएफ सेक्सी मूवीकल रात से ही मेरा माल नहीं निकला था, तो पूजा आंटी भी पक्का थीं कि मेरा लंडरस निकलने से पहले वो भी मेरा लंड मुँह से बाहर कर देंगी. मैं सोचने लगी और मैं काफी देर तक सोचती रही और आखिर में मैंने हां बोल दी.

खुल्लम खुल्ला ब्लू फिल्मों में काम करके मैं अपनी शादीशुदा जिन्दगी बर्बाद नहीं कर सकती.

उसने अपनी हथेली मेरे कंधे पर रखी हुई थी और बीच बीच में मेरे होंठों को चूम भी रहा था. ताकि मैं अजय के साथ मेरी अगली चुदाई की कहानी जल्द ही लिख कर आपके सामने पेश कर सकूँ।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]. वहां की फीमेल लेबर की चुदाई होती है, व्हिस्की और मटन सब कुछ खुला चलता है.

उसकी चूत को नंगी करके मैंने उसकी चूत में जीभ से चाटना शुरू कर दिया. वह पढ़ाई के लिए अपने गाँव से यहां आई थी।निशा दिखने में गोरी लड़की थी. थोड़ी देर बाद जब मैंने उनसे पूछा- भाबी, कैसा लगा मेरे लंड का मज़ा?तब उन्होंने कहा- आज से मैं तुम्हारी हुई.

भाभी के बीपी

उसने मुझे बांहें ऊपर करने को कहा और मेरी बगल में शेविंग क्रीम लगाने लगा. जब मेरी बीव मायके गयी तो मैंने उस कामवाली को कैसे पटा कर चोदा?नमस्कार दोस्तो, मैं रॉकी गोवा से हूँ. मैंने उससे दोस्ती कर ली और मैं उसके जिस्म का मजा लेने के चक्कर में उसकी बस में साथ जाने लगा.

सेक्सी देसी आंटी स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी मामी को अपना लंड चुसवाया.

उसके स्तन को चूसते हुए मैं इतनी उत्तेजना में आ गया कि मैंने उसकी दूसरी चूची को भी ब्रा के ऊपर से ही खींचकर बाहर निकाल लिया और दोनों स्तनों के साथ चूस चूस कर खेलने लगा.

वीर्य छूटने के बाद भी मैं सहज सहज से मामी की चूत में लंड को अंदर बाहर करता रहा. फिर मैंने धीरे से आंटी का ब्लाउज उतार दिया और उनकी चूचियों को हाथ से दबाने लगा. मधु शर्मा के बीएफ वीडियोजब मेरे होंठ उसके होंठों से से लगे, तो एक पल के लिए तो वो भी सिहर गई, पर धीरे धीरे वो मेरा साथ देने लगी.

वो बोली- देखो रोहित, अपने बीच में जो कुछ भी हुआ है उसे भूल जाओ। तुमने एक बार के लिए कहा था और मैंने तुम्हारी इच्छा को पूरा कर दिया था। अब दोबारा मेरे साथ ऐसा करने की कोशिश मत करो।मामी जी के मुंह से ऐसी निराश कर देने वाली बात सुनकर मेरे होश ठंडे पड़ गए. कोई दस मिनट तक तेज धक्कों वाली ताबड़तोड़ चुदाई के साथ मेरा पानी निकालने वाला हो गया था. माना कि अनीता भाभी की चूत खूब खुली हुई थी, लेकिन जो मेरी इच्छा थी बड़ी उम्र की औरत को चोदने की, वो भाभी की चुदाई से पूरी हो गयी.

कोई एक मिनट बाद मैंने लंड चूत से बाहर निकाला, तो अमित ने अपनी मॉम की चूत में लंड पेल दिया और उन्हें चोदने लगा. तुम्हें दिक्कत क्या है?मैं प्यार का मारा, मैंने उस नाजायज रिश्ते को भी कबूल कर लिया.

तो पक्का उनका सेक्स ज्ञान कमजोर है। तुम्हारा सेक्सी फिगर, जो भी जब भी देख ले, उसका लंड तने बिना नहीं रह सकता.

इस पर वह बोली- क्या तू सनी की बात कर रही है … मगर वो कैसे मानेगा? कहीं सोना या विवेक को पता चल गया तो?उसने एक साथ इतने सवाल कर दिए कि मैं समझ गई कि ये भी मेरे जाल में फंस गई और सनी का लंड खाने को तैयार है. वो बोला- ठीक है, मैं उठाऊंगा लेकिन तुझे वही करना होगा जो मैं कहूंगा. पता नहीं कब अनीता जी वहां आ गईं और उन्होंने मेरी सारी बातें सुन लीं.

बीएफ की चुदाई दिखाएं दरअसल उस दिन के बाद से मैं सर से ज्यादा बात नहीं करता था क्योंकि मेरी हिम्मत नहीं होती थी. फिर हम दोनों दूसरे रूम में आ गए और ऐश्वर्या मेरे इस आलिशान रूम को देखते ही रह गईं … क्योंकि यह रूम सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ एकदम स्टाइलिश लुक में बनाया गया था.

कई देर तक वो भी मेरे होंठों को चूसने का मजा लेती रही और फिर मेरे सिर को नीचे की ओर धकेलने लगी. चूंकि मैं एक प्रतिष्ठित परिवार से हूँ, मैं नहीं चाहता था कि मेरी वजह से मेरे परिवार कि प्रतिष्ठा पर कोई आंच आए. मैं सोच रही थी कि मैंने इतने टाइम से कॉलेज में किसी को नहीं चुत दी और आज इस गार्ड से चुदवा रही हूँ.

जंगली बीपी सेक्सी

नाज़नीन मेरे लंड का पागलों की तरह चूसने और चाटने में ऐसे लगी थी … जैसे कोई बहुत भूखी औरत को कोई मिठाई मिल गई हो. वरना वो इन जवान लड़कों के सामने ऐसे बेशर्म होकर उनका लंड नहीं चूस रही होती. इस बीच पापा बोले- आह बड़ा मजा दे रही है मेरी रंडी … साली तेरे जैसी औरत का काम ही चुदना होता है.

मैं- फिर!ऐश्वर्या- कुछ मिनट रोमांस के बाद हम दोनों एकदम नग्न हो गए और फिर अविनाश ने मुझे बेड पर पटक दिया. फिर धीरे धीरे मैंने इतने ही लंड को अन्दर बाहर करना स्टार्ट के दिया.

एक दिन शाम को वो दोनों लड़के मां की जवानी से खेलने के लिए घर आए, लेकिन मम्मी ने मना कर दिया.

मैं इतनी गर्म हो गयी कि ध्यान ही नहीं रहा कि पास में दिया का भाई विजय भी सो रहा है. इस काल्पनिक कहानी के पहले भागहाई प्रोफाइल लेडी की सेक्स कहानी- 1में अब तक आपने पढ़ा था कि ससुर जी अपनी बहू ऐश्वर्या को चोदने की तैयारी कर रहे थे. अब भाई मेरी चुत पर लंड रगड़ रहे थे, मेरे होंठों को मस्ती से चूस रहे थे और अपने हाथों से मेरे मम्मों को मसल रहे थे.

सोच सोच कर मेरा जी जला जा रहा था कि मेरे ससुराल में मेरी सास उन दोनों जवान लड़कों के साथ चुदाई का पूरा मजा ले रही होगी. वो दोनों चूंकि हमेशा ही घर पर आते रहते थे तो किसी को कोई शक नहीं हुआ. मैंने पहले कभी किसी लड़की या महिला के साथ सेक्स नहीं किया था इसलिए समझ नहीं आ रहा था कि अपने बारे में क्या बताऊं.

फिर मैंने बिस्तर के नीचे से एक थर्मस में रखे हुए बर्फ क्यूब निकाले और उनकी नाभि में पर सैट कर अपनी जीभ से चाटने लगा.

बीएफ चूत मारी: इसके बाद हम दोनों जमीन पर खड़े हो गए और मेरा हाथ मेरी बीवी की कमर में चला गया. उसके बाद मैंने फिर से प्रीति को घोड़ी बना कर पीछे से डाला डाला और धड़ाधड़ उसकी चूत को चोदने लग गया.

और एक औरत करे तो समाज उसे रंडी कहकर बुलाता है?ऐसा क्यों???यह समाज का दोगलापन कब तक सहन करेगी हम औरतें?क्या कभी किसी सेक्सी औरत के पति ने उसकी पत्नी के दिल की बात जानने की कोशिश की है कि उसकी क्या ख्वाहिश है?खैर मैं अपनी भाभी की जवानी की कहानी पर आती हूँ. जब उसका मन करता है तो कर लेता है लेकिन मेरा मन करे तो मन मारना ही पड़ता है. फिर चूत से उंगली निकाल कर उन्होंने उसे चूसा और अपनी चुत की मलाई का स्वाद लिया.

उन दो दिनों तक वो सुबह उठ कर वॉशरूम नहीं गया और सुबह सुबह वो बेड पर ही मुझे अपना मूत पिला देता था.

थोड़ी देर में जब जेठानी जी आ गईं तो उनके हाथ में एक बड़ा सा बैग था. करीब 10 मिनट के बाद मैंने उसको छोड़ा और फिर उसकी चूत में से लंड को निकाल लिया. जेठानी जी बोलीं- अब देखना … मैं इन दोनों बहनों का क्या हाल करती हूँ.