हिंदी बीएफ हिंदी वाली

छवि स्रोत,सेकसी गुड नाईट शायरी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ का ऐप: हिंदी बीएफ हिंदी वाली, सच पूछो तो जिस रौब और अधिकार के साथ वो बात करती थी, ऐसा लगता था कि वो मेरी बीवी है.

धूम्रपान पर निबंध

फिर मैंने उसको खड़ा किया और उसके चूतड़ों पर मेरी जीभ फेरी, जीभ फिराते टाइम ही मैंने उसके चूतड़ों की कोमल खाल को हल्के से काट दिया. पंजाबी हॉट सेक्स वीडियोकुणाल ने रवि को बेड पर लेटने का इशारा किया और फिर चुदाई रोक कर मीना से कहा कि वो रवि का लंड अपने चूत में बैठ कर ले.

अगले दिन हम फिर से घूमने के लिए निकलने वाले थे तो होटल से निकलते टाइम रिसेप्शन पर वो दोनों लड़कियां मुझे दिखी तो मैं अक्षय को दिखाने लगा. बस सेक्सी मूवीऔर मैं भी उस दूसरी महिला का … जिसके लिए मैं आया था।अरे यार … यह तो छोटा है.

जब मुझे लगा कि पोजीशन परफेक्ट है तो मैंने अपने दोनों हाथों को पीछे अपनी गांड पर बांध लिया.हिंदी बीएफ हिंदी वाली: मीना ने कुणाल के होंठ छोड़े और गर्दन घुमाकर रवि के होंठों पर किस किया.

शाम को जब हम फिर से खाना खाने के लिए एक साथ बैठे, तो मेरी मम्मी ने पूछा- मनोज भी साथ क्यों नहीं आए?आंटी ने बताया कि उनका जरूरी काम था, इसलिए वह नहीं आ सके.यह शायद कश्मीरी थी जैसा उसके अंग्रेज़ों जैसे गोरे रंग से प्रतीत होता था.

गांव के सेक्स - हिंदी बीएफ हिंदी वाली

!!!”कामविकल वसुंधरा आपे से बाहर होने को थी पर अब मैं कहाँ सुनने या रुकने वाला था? एक उंगली योनि की दरार के अंदर सितार बजा रही थी, बाकी तीनों, अंगूठे की मदद से बाहर तानपुरा छेड़ रही थी … रति और कामदेव की सरगम अपनी पूरी फिज़ा में गुंजन कर रही थी.नीरज ने गांड की तरफ इशारा करके बोला- इसमें?इस पर संजू बोली- धत्त भैया … आप भी ना … मैं इसमें नहीं करवा पाऊंगी.

कुछ ही पलों बाद शालू मेरे लंड के हर वार का जबाब गांड उठाते हुए ऐसे दे रही थी. हिंदी बीएफ हिंदी वाली धीरे धीरे मैंने अपनी साड़ी को कमर तक उठा लिया और मेरी टाँगें मेरी जांघों तक नंगी हो गयी.

हालांकि अपनी सहेली के यार पर डोरे डालने के बारे में मैंने कभी नहीं सोचा था.

हिंदी बीएफ हिंदी वाली?

जो होता है अच्छे के लिए होता है!राजन की यह समझदारी उन दोनों को बचा गयी. मैं- वैसे तुम मुझे छिप कर नहाते हुए देखते थे न … लो आज सामने देख लो. कुछ देर में ही वो गर्म हो गयी और मेरे लंड को पैंट के ऊपर से ही ज़ोर ज़ोर से मसलने लगी.

फिर मैंने उसकी टांगें चौड़ी कर दीं और न जाने क्या सोच कर पहले चुत पर लंड सैट करने लगा. तब तक आलिया ने एक सिगरेट सुलगाई और हम दोनों की गांड चुदाई देखने लगी. मैंने उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर लंड चुत पर सैट किया और जोर की थाप उसकी चुत पर लगा दी.

कुछ समय बाद बेबी रानी का व्हाट्सएप्प मैसेज आ गया जिसमें उसका रूम नंबर था. हम चारों ही अप्सरायें इस मिलन से बहुत खुश थे, हम ऐसे पल फिर गुजारने का वादा करके घर लौट आए. मेरे मुंह से सिसकारियां निकलने लगी और मैं खुलकर उसका साथ देने लगी।मेरे पैरों में पड़ी पाजेब उसके धक्कों के साथ बज रही थी। मैं तो उसकी कमर को पकड़ कर एक बार झड़ गई.

एक मीठा सा दर्द और इसके साथ जो आनन्द मिल रहा था, शायद दुनिया में वो आनन्द मुझे कहीं और नहीं मिल सकता था. वो लोग 10-15 दिन के लिए जायेंगे और इसी दौरान मैं तुमसे जी भर कर चुदना चाहती हूं.

मैं प्यार से बोला- बोलिए मैडम क्या काम था … कहीं चलना है क्या?वो बोली- अभी नहीं … बैठो मैं चाय लेकर आती हूं.

इससे पहले जिन लड़कियों को मैंने चोदा था उन सभी को मैंने अपनी तरफ से पटा कर चोदा था.

2 मिनट बाद उसने लेटे लेटे मेरी चूत सहलानी शुरू कर दी जिससे मेरी वासना फिर बढ़ गयी. एकदम नमकीन और खट्टी सी मलाई ने मेरी आंखों में वासना का नशा भर दिया था. फिर जब उसने शराब पी, तो मैंने उसके होंठों पर होंठों रखके उसके होंठों से जाम खींच लिया.

जबरदस्त दर्द का एहसास हुआ, पर मैं होंठों को दाबे हुए, आंखों में आंसू ला कर तड़फ गई. मिताली के मुँह से जोर से आवाज़ आई- ऊ … माँ मार डाला कमीन ने … आआअह्ह्ह … अब रुकना मत … तार तार कर दो आज मेरी चूत को फाड़ कर … क्या जबरदस्त लौड़ा है … आह कर अन्दर बाहर … चोदता रहा … और मेरी चूचियों को भी खूब दबा और चूस. वो तीसरे छेद यानि गांड मराने की बात सुन कर चटक गई और बोली- सुन बे भोसड़ी के बाबा … गांड की तरफ देखा भी, तो लंड काट लूंगी.

मैंने आंटी के पैर छुए और कहा- आंटी आशीर्वाद दीजिये कि मेरी कोशिश कामयाब हो.

मैंने कहा- आंटी, आज ही झांटें साफ़ की हैं क्या?वो बोलीं- और नहीं तो क्या … तुझे ऐसे ही झाड़ियों ने थोड़ी धकेल देती. जब वो लोअर में होता था तो उसके लौड़े का उभार अलग से मालूम पड़ जाता था. दीदी बोली- बड़े बहनचोद हो तुम!भैया हंसने लगे और बोले- हां वो तो हूँ ही … तू भी तो कम नहीं है साली … स्कूल से ही चुद रही है … इतनों से चुदी, मैंने भी चोद दिया, तो क्या ग़लत किया.

वो बोली- पता है … परंतु क्या आप भी ना … आपकी इतनी सुंदर बीवी है, फिर भी आप मेरा कभी फोटो नहीं लेते हैं. अंशी और मेरा, हम दोनों का चुदाई करने का बहुत मन हो रहा था, पर कहीं मौका नहीं मिल रहा था. वसुंधरा ने चौंक कर अपनी आँखें खोली और मुझे अपनी टांगों के मध्य बैठे पा कर थोड़ा शरमाई, थोड़ा मुस्कुरायी और उसने अपनी टांगों को ज़रा सा और खोल दिया.

वो पीछे की तरफ था तो उसे दरवाजे के बाहर नहीं दिख रहा था पर मैं मेज पर झुकी थी तो मुझे वो दिख गयी थी.

मैंने बंध्या को पकड़ कर उसको किस करना शुरू कर दिया मगर वह साली फिर भी फोन पर अपने यार से सेक्सी बातें करती रही. मैंने सुमन को बेड पर झुकाया और उसका गाउन ऊपर कर के उसकी जालीदार पैंटी को उसकी चिकनी चूत से दूर कर दिया। और प्यार से मैंने अपना आधा लौड़ा एक झटके में अंदर डाल दिया।आ… आह.

हिंदी बीएफ हिंदी वाली डिनर के बाद रवि ने जाने की बात कही तो मीना बोली- कॉफ़ी पीकर जाना, कल तो सन्डे है. संजू को इससे गुदगुदी हुई और वो बोली- छोड़ो मुझे … बेहूदे लड़के … मुझे गुदगुदी हो रही है.

हिंदी बीएफ हिंदी वाली धीरे धीरे मैंने उसके सारे कपड़े उतार दिए और उसको पूरी नंगी कर दिया. उसके शरीर की बनावट को देखकर ऐसा लग रहा था, जैसे किसी ने अपने हाथों से तराशा हो.

नीचे आते ही आरती बोली- बहुत टाइम लग गया हेलमेट लाने में?मैंने कहा- क्या करता, हेलमेट मिल ही नहीं रहा था.

हिंदी चुदाई वाला वीडियो

उसने मेरा लन्ड पकड़ कर धोया।उसके बाद वापस बेड पर आकर हम दोनों लेट गए. वो चारों एक दूसरे तरफ फिर वो एक साथ मिलकर बोलने लगीं, जिसे सुनकर हमें मजा आने लगा. जब स्वीटी आंटी लखनऊ आईं, तो मम्मी ने मुझे स्टेशन जाकर उन्हें लाने को कहा.

भैया से मैंने कहा- थोड़ा अंदर की तरफ जाने दो उसके बाद जो करना है कर लेना, क्योंकि यहां पर कोई देख लेगा. मगर मुझे ये जान कर हैरानी हुई कि मेरा लंड बिना किसी बाधा के चाची की गांड में सरकता चला गया था. हम दोनों अपनेआप से बेसुध, तेज़ी से एक-दूसरे में समा जाने का उपक्रम कर रहे थे.

मेरे द्वारा पूर्व में लिखी सत्य घटना पर आधारित सेक्स कहानीपतिव्रता बीवी की चुदाई गैर मर्द से करवाने की तमन्नाको सभी लोगों ने सराहा.

बड़ी मस्त बुर थी उसकी … आखिर अभी अभी मेरे सामने तो उसकी सील टूटी थी. मैं समझ चुका था कि ये दोनों मिल कर इस लड़की की चूत चोदने के चक्कर में हैं. इधर मैंने भी चार-पांच जोरदार धक्के मारे और संजू की चूत में आह की आवाज के साथ झड़ने लगा.

मेरी दूसरी सहेली परमीत जिसे देखकर हम सबको ही कभी-कभी जलन होने लगती थी, उसकी ऊंचाई मेरे जैसी ही थी, पर उसके सीने पर उभार हम लोगों से ज्यादा थे. उसे वहां से उठाया, गाड़ी सही करी उसके कपड़ों की धूल साफ करी।मैं- क्रिया तुम ठीक तो हो? ज्यादा चोट तो नहीं लगी?क्रिया- हाँ मैं ठीक हूं, कुछ नहीं हुआ।मैंने उसके हाथ में चोट देख ली, उसके हाथ से खून निकल रहा था. अलका जब मेरे दफ्तर में नौकरी के लिए आयी, मैंने तभी मन बना लिया था कि कैसे भी करके, इसकी चुत जरूर लेनी है.

ईं … मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है … आप दोनों और तेज से कीजिए आह … अअअअ. कोई उन्हें साक्षात अपने सामने ऐसे कातिल रूप में देख ले, तो कसम से यार उसके लंड का पानी उसी समय बाहर आ जाएगा, जैसा कि मेरा आ गया.

मेरे तो सारे कपड़े उतार दिए और खुद कपड़े पहने हुए हो?मैंने कहा- मेरे कपड़े तुम उतार दो, हिसाब बराबर हो जाएगा।वो उठकर मेरे कपड़े निकालने लगी. मैं उसकी कच्छी उतारने लगा, तो उसने मुझे रोक दिया और उठ कर मेरे होंठ चूसने लगी. वसुंधरा की आखों में असीम काम-मद उतर आया था, साँस धौंकनी की तरह चल रही थी.

बेबी रानी, गुड्डी रानी और इनकी तीसरी सहेली पिंकी नॉएडा में एक फ्लैट में साथ रहती हैं.

उसका मुंह मेरी छाती में घुस गया और उसके मस्त मम्मे मेरे पेट को दबाने लगे. तो दोस्तो, यह थी मेरी अन्तर्वासना की एकदम सच्ची कहानी। आपको सेक्स एडिक्ट भाभी की स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल कर कर जरूर बताएं।[emailprotected]. उधर लंड चुसवा कर उग्र हो चुका हसन परमीत को चोदने के लिए पोजीशन बनाने लगा.

थोड़ी देर बाद ही संजय हमें भी डांस करने के लिए कहने लगा, पर मैंने पहले केक काटने की बात कही. दूधवाला मेरे मम्मों को दबाने लगा और बोला- साली मस्त पटाखा हो … आज तक ऐसा माल नहीं देखा है.

भैया ने भी दो गर्म चूतों को संतुष्ट किया था इसलिए उनकी हालत भी बाइक चलाने की नहीं रह गई थी. वो बोली- हम दोनों यहां अकेले हैं और इतनी खूबसूरत लड़की तुम्हारे साथ बैठी है. चाची ने पहले तो हल्का सा विरोध किया … लेकिन मेरी मजबूत पकड़ से उन्होंने छूटने की कोशिश करना बंद कर दी.

सेक्स xxxx

अब क्या होगा?दोस्तो, आगे अगले भाग में, कृपया अपना फीडबैक जरूर भेजे.

जीजा जी ने दीदी के मुँह में लंड घुसा दिया और दीदी लंड को बड़े मजे से चूसने लगी थीं. मुझे समझ नहीं आया कि भाभी का क्या मन है, वो बातें करते वक्त तो बड़ी कामुक बातें करने लगती थीं, लेकिन जब चुदाई की बात करने की कोशिश की … तो भाभी ने डांट दिया. उसने सीट फ्लैट कर दी और सीट के बैग से कार का शीशा साफ़ करने वाला शैम्पू का पैक निकाला और मेरे मम्मों पर मल दिया.

व्हिस्की, सोडा, गिलास, आइस क्यूब सब उसने सलीके से लगा दिए और किचन से स्नैक्स ले आई. उसके मोटे सुपारे से मेरी चुत में थोड़ा दर्द हुआ, जिससे मेरी चीख निकल गयी. कॉलेज की लड़कियों कालेकिन कुछ महीनों में जिस कम्पनी में काम करता था वो कम्पनी बंद हो गई तो मुझे दूसरी जगह नौकरी मिल गई.

वहां जाकर उसने झुक कर मेरा लंड सूंघा और बोली- इसमें से आशा की चूत की स्मेल आ रही है. मैंने उसकी चूत पर लंड को एक दो बार रगड़ा और झटके से उसकी चूत में लंड को पेल दिया.

इतनी थोड़ी सी जग़ह पर! … दायीं तरफ आकर आराम से क्यों नहीं बैठती?”गन्धर्व-विवाह की ही सही … वामांगी हूँ आपकी. तो उन्होंने मुझे खड़ा करके मेरे हाथ टेबल पर रखकर मुझे घोड़ी बना दिया और मेरे पीछे आकर मेरी चूत पर हाथ फेरने लगे. मैंने उसकी मम्मी को चुदते तो नहीं देखा लेकिन उसकी लड़की अभी बिल्कुल कच्ची कली है और एकदम से कयामत है.

कुछ ही देर में हम लोगों ने खाना खत्म किया और मैं हाथ धोने अन्दर की ओर चली गई. यह सुनते ही मैंने प्रीति को अपनी बांहों में कसकर पकड़ लिया और थोड़ी देर में एक हॉट गाना चालू कर दिया. नेहा की शादी में अब बस दो दिन बचे थे और आज रात हम दोनों उसके ही रूम में मिलने वाले थे.

मैंने बेबीरानी के पैरों के तलवे चाट चाट के तर कर दिए और फिर मैंने एक एक करके उसके पैरों की सुन्दर सुडौल उंगलियां अंगूठे मुंह में लेकर खूब चूसे.

मैंने कहा- ओके, मगर ये तो बताओ कि कॉन्डम से करूं या बिना कॉन्डम के?उसने कहा- बिना कॉन्डम के ही डालो. कुछ देर पहले ही एक मोटे लंड को हाथ से छूकर आया था मैं इसलिए किसी और के हाथ से अपने लंड की मुठ मरवाते हुए मजा आ रहा था.

मैंने उसकी चूत पर लंड को एक दो बार रगड़ा और झटके से उसकी चूत में लंड को पेल दिया. मैंने सीमा को उल्टा किया और सतीश ने सीमा के मुंह में अपना लौड़ा डाल दिया. मुम्बई में हमारा एक छोटा सा परिवार है, जिसमें मैं, मेरी मां और पिताजी रहते हैं.

और जैसे ही चाय ख़त्म हुई, हम भी सभी थोड़ा थोड़ा दुबारा चुदाई के मूड में आ रहे थे. आज आपको अपनी पिछली कहानीकच्ची कली की कुंवारी बुर का चोदनसे आगे की कहानी सुनाने आया हूँ जो बहुत ही मजेदार है. जैसे मेरे अंदर परम-रचियता खुद बोल उठा- अपने होश कायम रखते हुए मज़बूती से थाम ले इस क्षण को, लीन हो जा इस पल में … यही है जीवन का वर्तमान एंवम इकलौता जीवंत क्षण.

हिंदी बीएफ हिंदी वाली मैं- वो तो आप दोनों लक्की हो … अगर जिया ने वेलेंटाइन डे से पहले ब्रेकअप नहीं किया होता, तो उसके साथ सबसे पहले मैं सेक्स करता. कुछ देर वे दोनों ऐसे ही पड़े रहे, इसके बाद भैया, दीदी की बुर से अपना लंड निकाल कर साइड में लेट गए.

चाची की सेक्स

दोस्तो, मैं अपने इस रंगीन अनुभव को शब्दों में पिरो कर आपको रोमांचित करने का प्रयास करूंगा. कभी लंड के चमड़ी को ऊपर नीचे करती और पूछती भी कि अंकल दर्द तो नहीं हो रहा है न?फिर कभी लंड चूमती, कभी चूसती, कभी ब्रा के ऊपर से ही अपनी चूची पर लंड रगड़ रही थी. परमीत के संजय के साथ लंबे चुंबन की वजह से लिपस्टिक साफ हो चुकी थी और थोड़ी बिखर भी गई थी, जिससे परमीत वासना में उग्र लग रही थी.

मैं ऐसे ही कभी कभी उनसे मजाक कर दिया करता था और वो भी मुझे बिना कुछ कहे ही मुस्करा देती थीं. मेरी रसीली चूची और मोटी गांड को देख कर किसी बूढ़े का मन भी मुझे चोदने के लिए कर जायेगा. सेक्सि कहाणीफिर एक दिन मैंने और मनु ने परमीत से कहा- परमीत, तीन दिन बाद तेरा बर्थडे है, क्या प्लानिंग कर रखी है?परमीत ने कहा- मेरी प्लानिंग तो तुम लोगों के साथ ही मस्ती करने की थी, पर उस दिन संजय बुला रहा है.

टाँगें एकदम चिकनी और सुडौल और पांव तो माशाल्लाह … क्या बात है … बेहद सुन्दर!नज़ारा देख कर लौड़ा उछल कूद मचाने लगा.

दो मिनट बाद चाची चित होकर लेट गईं और टांगें फैला कर मुझको अपने ऊपर खींचने लगीं. मैं जोर जोर से चिल्ला रही थी ‘आह आह आह सुहास बेबी धीरे बेबी बाबू धीरे आह!’सुहास मेरी कराहें सुनकर और जोर जोर से धक्के लगा रहा था.

पिछली सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने कैसे अपनी बीवी को एक दूध वाले कमसिन लड़के रोहित से चुदवाया था. यहां तक कि मैं एक बार 2 महीने की प्रेग्नेंट भी हो गई थी, फिर मैंने अबॉर्शन करा लिया था।जब मेरा कॉलेज टाइम खत्म हुआ तो मम्मी पापा ने फिर मेरी शादी कर दी. 8 दिन तक मैं रूपाली भाभी के घर पर रहा और पूरे 8 दिन तक ही मैंने उसकी चूत को जमकर चोदा.

नाक में सानिया मिर्जा जैसी सोने की नथुनी और होंठों पर लाल लिपस्टिक लगाए थी.

लगभग 20 मिनट तक चुत चूसने के बाद मैं झड़ गयी और उसने मेरा सारा पानी पी लिया. अब मैं अंजू को गीत के नाम से पुकारने लगा, अब मेरी दीवानगी बढ़ने लगी थी, तो मैंने एक दिन गीत को मैसेज किया कि क्या कर रही हो जान … थोड़ा पास आओ ना, आपकी बहुत याद आ रही है. जब लड़की दूसरा सेट लगा कर खड़ी हुई तो इतने में ही नवीन ने अपनी लोअर में हाथ डाल कर अपने तन चुके लंड को ऊपर की तरफ पेट पर लोअर के नीचे दबा लिया.

स्कर्ट ब्लाउजउनके जाते ही परमीत ने मुँह बनाते हुए कहा- तुम ऐसे लोगों से दोस्ती करते हो?तब संजय ने कहा- नहीं यार वो तो जिगोलो ही हैं, बड़ी मुश्किल से जुगाड़ हुआ है. मैंने मुंह बनाते हुए कहा- नॉट इंटरेस्टेड!वो बोला- ओह्ह… रुक जा तू कैटरीना कैफ!फिर हंसते हुए वो बाइक मोड़ कर चला गया.

पोर्न देहाती

मैं धीरे धीरे से उनकी पैंटी नीचे लाने लगा और मेरे सामने उनकी शेव की हुई चूत आने लगी. मैं जानती थी कि मुझे भी घर से परमीशन नहीं मिलेगी, पर परमीत ने हां कहने के लिए इशारा किया, तो मुझे हां कहना पड़ा. मैंने अपनी एक उंगली को मिताली भाभी की चूत के अन्दर डाल कर उनके ‘जी स्पॉट’ को सहलाना शुरू कर दिया.

अगर उसका बस चलता तो वो वहीं पर नीचे लिटा कर उस लड़की की चूत चुदाई कर देता. इसके बाद मैंने फिर हल्के से अपने लंड को आगे की ओर ठेला और मेरा लिंग थोड़ा और उसकी चूत में फिट हो गया. कंधे सहलाते हुए वो अपना हाथ मेरे बूब्स पर ले आया और बूब्स दबाने लगा और बोला- वाह मेरी जान, क्या बूब्स हैं तेरे!फिर उसने अचानक बूब्स दबाने बंद कर दिया और बोला- खड़ी हो जाओ!जैसे ही मैं खड़ी हुई तो बोला- आगे मेज पर कोहनी रखकर झुक जाओ.

वो बोला- साली बड़ी मस्त चुदाई करती है … चल अब कुतिया बन जा और पीछे से ले. ”क्या मतलब?”अजीत ने वाट्सएप्प देखा।वीडियो शुरू किया और उसके चेहरे पे हवाइयां उड़ने लगी। पसीने आने लगे।कुत्ते तू मुझे हरामखोर कह रहा है और खुद तूने मेरी मम्मी की इज़्ज़त लूटी, बलiत्कार किया. अपितु अब तो वसुंधरा की जांघों से मेरी जाँघें टकराती और एक तेज़ ‘ठप्प’ की आवाज़ आती.

ख़ैर! मैंने वाशरूम जाकर दांतों को ब्रश किया और लिस्टरीन से कुल्ले किये. दोबारा नहीं होगा, दूसरा प्रैक्टिकल होगा, अगर तुम तैयार हो तो?”मैं कुछ कुछ समझ रही थी फिर भी नादान बनते हुए कहा- ठीक है सर, दूसरा ही करा लीजिये.

खैर दिन में दीदी के साथ गप्पें मार कर टाइम निकल गया और जीजा जी दीदी की रोजाना अच्छे से बजा रहे थे, इसलिए बाकी किसी चीज का मूड नहीं बना.

प्रीति ने अपनी बांहों में मुझे जकड़ लिया फिर उछल उछल कर चूत चुसाई करवाने लगी. बंगला सेक्सइसी दौरान मेरे हाथ उसके मम्मों तक पहुंच गए और मैं उन्हें दोनों हाथों से दबाने, सहलाने लगा. सेक्सी हिंदी पिक्चर फिल्म दिखाओमैंने अपनी सलहज प्रियंका को बड़े प्यार से अपनी गोद में उठाया और सोफा पर ले आया. कुछ देर तो मैं असमंजस में रहा कि इसको तो कोई भी हट्टा कट्टा मर्द चुदाई के लिए मिल जायेगा.

परमीत ने कहा- सरप्राइज कहां है?संजय ने उन दोनों की ओर दिखाते हुए कहा- ये क्या हैं … यही तो सरप्राइज़ हैं.

कमी थी अंकल में … जिन्होंने कभी भी आंटी को संतुष्ट ही नहीं किया था. उसके इस अंदाज को देख कर कहीं से नहीं लग रहा था कि वो कमसिन चुत वाली है. रवि ने मीना को बता दिया कि रवीना के पास कुछ उसके फोटो हैं और वो फंस गया है.

फिर दीदी लॉलीपॉप की तरह बड़े मजे से लंड चूसने लगीं और मैं दीदी के बालों को पकड़कर धीमे से सीत्कार कर रहा था. मैंने उनकी गालियों को नज़रअंदाज़ करते हुए लंड थोड़ा बाहर निकाला और फिर से एक जोरदार धक्के के साथ पूरा लंड उनकी चूत में पेल दिया. जिससे मेरा लंड उसकी गांड से छूने लगा और थोड़ी ही देर में रगड़ खाने से मेरा लंड खड़ा हो गया.

ओपन एक्स एक्स एक्स

दीदी- आह राज, बहुत मोटा लंड है ये … आज तो तू मेरी चुत फाड़ ही दे भोसड़ी के … अपनी बहन की चुत का भुर्ता बना दे. मैंने अन्दर जाकर देखा, तो अपने उसी फेसबुक फ्रेंड से सेक्स चैट कर रहा था. मेरा पानी आने वाला था, लेकिन मैंने उसे बताया नहीं और उसके मुँह में ही निकल गया.

कॉलेज गर्ल की पोर्न सेक्स स्टोरी में अभी तक आपने पढ़ा कि संदीप मेरे ने चुत और गांड की चुदाई कर ली थी.

वसुंधरा मेरे सामने से हो कर बिस्तर पर चढ़ कर घुटनों के बल चार पग भर कर मेरे बाएं पहलू में ज़रा सी जग़ह में फंस कर बैठ गयी.

मैंने कहानी को अच्छी तरह से लिखने के लिए कुछ और चीजें अंजू जी से पूछीं, जैसे … कहानी में आपका नाम क्या होगा, आपने अपनी सील कब तुड़वाई थी, आपके पति कैसा सेक्स करते हैं, आपको सेक्स में क्या-क्या करना पसंद है, शादी के पहले किससे चुदी हो … और चुदी भी हो या नहीं, वगैरह वगैरह. शाम को होटल वापस आते हुए हमने दारू (रम) की बोतल साथ ले ली क्योंकि ठंड बहुत थी तो रात को उसकी जरूरत पड़नी ही थी. हिंदी सेक्स इंडियनऐईईईइ ई ई ईई जानवर …”ऐसे अचानक प्रहार से सिल्क संभल भी न पाई और पूरा लण्ड उसकी चूत में समा गया.

मेरी जगह सतीश ने सम्भाल ली, अब मेरा लंड सीमा के मुंह में था और सतीश का लौड़ा उसकी चूत फाड़ रहा था. मैंने घंटी बजायी तो एक लेडी ने दरवाजा खोला और बोली- जी कहिये आपको क्या काम है?मैंने उसे बोला- मुझे आपकी मैडम से मिलना है. भैया- क्या?दीदी- हां सरर्प्राइज़!भैया दीदी से बोले- और तुम मुझे आज बता रही हो.

जैसे मैंने अपने अंडरवियर को निकाला तो उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया. अब मैं समझ गई कि आज तो हमारी भयंकर चुदाई निश्चित है, क्योंकि सेब पर चाकू गिरे या चाकू पर सेब मतलब तो एक ही है … और मैं ठहरी लंड की प्यासी चुदैल … मुझे तो जैसे जन्नत का सुख नसीब होने वाला था.

अब तक हम लोगों का एक दूसरे को छूने सहलाने का सिससिला शुरू हो गया था.

किसी गरम चुत को छिले हुए लंड की सवारी मिल रही हो, तो वो कैसी मस्त हो जाती है, मुझे किसी को बताने की जरूरत नहीं. संदीप ने मुझे पहले बता रखा था और संभलने में पूरा सहयोग किया, तो मैं संभल गई. मैं कमरे में जाने के लिए हुआ ही था कि उसने मुझे आवाज दी और बोली- क्या आप मेरे साथ अस्पताल तक चल सकोगे.

नहाती हुई सेक्सी खूब कस के एक दूसरे को चूस रहे थे, उसके हाथ मेरे पीठ पर जम गए थे और टाँगें मेरी टांगों पर लिपट गयी थीं. फिर उसने शर्त रखी थी कि अगर ये हमसे अपनी चूत चुदवाने के लिए राजी हो जाये तो हम लोग कुछ नहीं कहेंगे.

मैं समझी कि मेरे पति आ गए क्योंकि वो हमेशा 3 बार ही घंटी बजाया करते हैं. मेरा लंड काफी बड़ा है तो वो पूरा लंड अपने मुँह में नहीं ले पा रही थी. वो लगातार सांसें भर रही थी और मेरे सिर के बालों में हाथ फिरा रही थी.

सेक्सी पिक्चर ब्लू नंगी

मेरे मुंह में तत्काल एक तीखा सा, नमकीन सा, चरपरा और नशीला सा स्वाद घुल गया साथ ही मेरे नथुनों से वसुंधरा के कामोद्दीपक जिस्म की वही जानी-पहचानी मादक गंध टकराई. मुझे दीवार से लगा कर मेरे होंठों को उसने अपने होंठों से चूसना शुरू कर दिया. मैंने रानी की निप्पल्स उमेठ कर पूछा- हाँ ऐश तो लग ही गयी कुतिया … तेरी जैसी हसीना को चोद लिया तो ऐश तो हुई ही.

ओह … मेरी … जान, मेरी सेक्सी सासु माँ … क्या मस्त बदन है तेरा, भरी हुई गोल गांड, मोटे मोटे मम्मे, सेक्स की देवी हो तुम तो!” कहते कहते मैंने उसके सारे बदन पर अपने हाथ फिरा दिये।वो नीचे लेटी मुझे मना करती रही- नहीं दामाद जी, आप मेरे बेटे जैसे हो, आप ये पाप मत करो, आप मुझे मम्मी जी कह कर मेरे पाँव छूते हो, मेरी इकलौती बेटी के पति हो. उनके बड़े बड़े चूचे और कसी हुई गांड किसी के भी लंड को खड़ा कर देने में पूरी तरह सक्षम थी.

नीरज सोफा पर बैठा हुआ था और अपनी पीठ को सोफा की पुश्त से टिकाये हुआ था.

कुछ देर उसकी मक्खन पीठ पर हाथ फेरने के बाद मैंने मैम से कहा कि आपकी ब्रा थोड़ी दिक्कत कर रही है. कुछ समय बाद प्रिया ने मेरी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली और उससे बातें होने लगी. ये हाल हो गया कि चूत से बहते ढेर सारे रस की वजह से बेबी रानी की जांघें तक भीग गईं.

सुमित स्ट्रेट था, वो हर वक्त लड़कियों की गांड और चूचियों को ताड़ता रहता था. उसके बाद धीरे-धीरे मैंने उसे स्पर्श करना शुरू किया और उसे गले से लगा लिया. हम चारों टीवी देखते हुए शराब का आनन्द ले रहे थे, क्योंकि हम चारों को पता था कि आगे क्या होने वाला है.

भैया ने अब ब्रा के ऊपर से ही दीदी के मम्मों को दबाने चालू कर दिए थे.

हिंदी बीएफ हिंदी वाली: मेरे साथ पर ये क्या करेगी?खैर जैसे तैसे छात्रों को पढ़ने के लिए कुछ बता कर मैं बाहर आ गयी. वो बोला- क्या हुआ? इतनी जल्दी झड़ गयी? अभी तो पूरा गया भी नहीं, निकाल लूँ क्या?मैंने कहा- हम्म्म.

लंड की रफ्तार से मैं समझ रही थी कि टीचर आज अपनी वाइफ का गुस्सा मेरी गांड पर उतार रहे हैं. लड़की- ये क्या होता है?लड़का- अरे … तुम ये भी नहीं जानती?लड़की- नहीं यार. मेरे ऐसा करने से आशा की सांस रुकने लगी और उसकी आंखों से आंसू निकलने लगे.

मैंने इस बार कोई बीस मिनट तक चाची की चुत को ठोका और जल्दी से अपना माल उनकी चूत से लंड खींच कर उनके पेट पर टपका दिया.

थोड़ी देर एक दूसरे के नंगे जिस्मों को सहलाने के बाद दोनों फिर से गर्म हो गये. वो अभी वीर्य को गटकने वाली थी कि प्रियंका को देख कर इशारे में बोली- चाहिए?प्रियंका ने हां में सर हिलाया. ये कहकर नीरज अपनी बहन के पीछे आ गया और अपने दोनों हाथों से उसके मम्मों को नाईटी के ऊपर से ही मसलने लगा.