व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ वीडियो पेज

तस्वीर का शीर्षक ,

युद्ध सेक्सी: व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ, तो मैंने उन्हें गोद में उठाया, बेडरूम में ले जाकर पलंग पर पटक दिया और उनके ऊपर चढ़ गया.

घोड़ा और लड़की का सेक्सी बीएफ

अभी 5 मिनट ही हुए होंगे कि उसकी बुर से सफेद सफेद सा पानी निकालने लगा, मुझे कुछ सूझ ही नहीं रहा था, मैं तो वो रस पूरा चाट गया. सेक्सी बीएफ 2019 की”मतलब 4 बारिश पहले के करीब; मैंने मन ही मन कैलकुलेशन किया और बहुत खुश हुआ क्योंकि अब मुझे कुंवारी जैसी चूत का मज़ा जो मिलने वाला था.

कल्याणी दो बार झड़ गई और मैंने लंड निकाल कर फिर से उसके मुँह में डाल दिया. इंग्लैंड सेक्सी बीएफसच में वो बॉय हॉट था और हैंडसम भी!हमने रूम का गेट बंद कर लिया और फिर वो हमारे पास आकर बैठ गया। हम उससे बात करने लगी.

कुछ ही देर में दीदी की सिसकारियाँ फिर शुरू हो गई और जो हाथ मेरे बालों को कस के खींच रहा था, उसने मेरे सर को सहलाना शुरू कर दिया था और दूसरे हाथ ने मेरे हाथ को पकड़ कर तेज़ी से चूत में आगे पीछे करना शुरू कर दिया था, दीदी फिर से मस्ती में आ चुकी थी.व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ: मैं यह देख के परेशान हो गई कि आखिरकार अवी क्या देखना चाहता है, जो उसने मुझे ये ड्रेस दी है.

आपने अब तक की इस हिंदी सेक्स कहानी में पढ़ा था कि अमित ने मुझे नंगा देखने की ख्वाहिश की थी जो मैंने अपनी रजामंदी से उसके सामने खुद को नंगी करवा कर पूरी कर दी थी.मैंने पूछा कि दीदी पानी अन्दर गिरा है, अगर बेबी हो गया तो?वो बोलीं- कोई बात नहीं अब हम तुम दो नहीं हैं.

करिश्मा कपूर सेक्सी वीडियो बीएफ - व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ

मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा, जिससे मेरा लंड आधा उसकी चुत में घुस गया और उसकी चीख निकल गई ‘हयी मम्मी… मैं मर गई… आह.सुरेश ने काजल के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और अपनी जुबान उसके मुँह में डाल कर चलाने लगा.

उसने मेरे से ये गिफ्ट माँगा कि उस रात मैं उसके साथ रुकूं और हम एक हो जाएं. व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ मैं बोली- वर्षा तेरा काम तो हो गया अब मेरी चूत कब से पानी पानी हो रही है.

तब भाभी ने पैर गोद में ही लिए हुए पहले डेटोल से साफ किया और जैसे ही दवाई लगाने झुकीं, मेरा पैर उनके चुचे से छूने लगा.

व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ?

कभी कभार वो उसके पेट पर भी हाथ रख देता था और मोना चुपके से मुस्कान दे देती थी इस तरह कि आनन्द को पता न चले. मैं ज़ायरा भाभी को अपने साथ वापस एसएमएस हॉस्पिटल के सामने वाली धर्मशाला में ले गया और वहां कमरा लेकर कमरे में चला गया. ढेरों मेल आये जिन में मेरी रचना की, मेरी कल्पनाशक्ति की ढेरों तारीफ़ की गयी.

मम्मी ने कहा- अंकित जल्दी से उठ कर नहा धो ले… आज राखी का त्यौहार है, देख तेरी बुआ और बहन तुझे राखी बाँधने के लिए तैयार हो रही हैं, तू भी हो जा…मैंने मन ही मन सोचा कि बहन के साथ तो अभी चार घंटे पहले मैंने पूरा त्यौहार मना लिया है. तो फिर देखना चाहोगे?”मैं- क्या?वही जो तुम देखने की कोशिश कर रहे थे. दीपक ऊपर से करारा धक्का लगाते हुए गांड को गुडगांव बना रहा था और मैं भी नीचे से हर धक्के के जवाब में एक करारा ठाप चुत में लगाते रहा.

अब किशोर धक्के मारने लगा, वर्षा आँखें बंद किए किशोर की पीठ पर प्यार से हाथ फेर रही थी, जैसे कि वो उसे धन्यवाद दे रही हो. तभी आनन्द ने उसे कमरे में रखे सोफे पर बिठाया और वो घुटनों के बल नीचे बैठ गया. उसने जो हाथ पैंटी में डाला था, उसी से मेरी पैंटी नीचे कर दी और मेरी गांड की तरफ अपना लंड मेरी पैंटी में डाल कर मेरी गांड में पेलने लगा.

संजय की आँख के एक इशारे पर मैं दौड़ती हुई जाकर उसकी बांहों में समा गई. उस टाइम मैंने भी नहीं देखा कि मेरा तौलिया खुल गया है और मैंने नीचे कुछ नहीं पहना है.

मेरा लंड पिस्टन की तरह उसकी चूत में अन्दर बाहर हो रहा था और वो उचक उचक कर मज़े से मेरा लड़ खा रही थी.

क्योंकि वो कामुक सिसकारियाँ लेने लगी थी।मैंने अपनी उंगली गोल गोल घुमानी शुरू कर दी और अब तो वो मचलने लगी और जोर जोर से आवाजें निकाल कर कह रही थी- और जोर से करो.

थोड़ी देर बाद बेबी फिर से सो गया तो मैंने कहा- चलो फिर से शुरू करते हैं. कुणाल नॉटी तो था ही उसने कौमुदी के कंधे के ऊपर से हाथ डाल कर उसकी चूची को दबाने लगा और एक पैर कौमुदी के पैर से लिपटाने लगा. उसके होंठों को चूसते हुए मैंने अपने हाथ उसके शरीर पर फिराना शुरू किया.

मैं बता नहीं सकता कि मुझे कैसा लग रहा था, मैं मानो सपना देख रहा था. अब भी उनकी और मेरी ईमेल पे या फ़ोन पर बात होती रहती है, हम काफी अच्छे दोस्त हैं. ”ट्राय करोगी क्या?”ट्राय कर सकती हूँ, पर अच्छा ना लगे तो कंटिन्यू नहीं करूँगी.

इतनी देर में केबिन का गेट खुला और एक ऑफ़िस का लड़का विनय ने अन्दर देखा.

पर नेहा ने, उसके साथ ऐसा किसने किया, ये बात छुपा ली, उसके लिए उसे बहुत मार भी पड़ी।और बाद में जल्दी शादी भी कर दी गई।उसकी शादी के बाद हम फिर मिले वो आज भी मेरा अहसान मानती है, अब वो दो बच्चों की माँ है और अपने पति के साथ अपनी ससुराल में बहुत खुश है।समाप्तकहानी कैसी लगी इस पते पर बताएं…संपादक संदीप –[emailprotected]लेखक रोनित-[emailprotected]. कभी मेरा लंड चूसती कभी अपने स्तन मेरी छाती से रगड़ती, मेरे लंड पर अपनी चूत घिसती या लंड चूसने लग जाती. अब पायल ने आँखें बंद कर लीं, क्योंकि उन्हें पता था कि मैं अब आगे क्या करने वाला हूँ.

मैंने भी उनका दिल रखने के लिए हाँ बोल दी और हम दोनों खाना खाने लगे. मैंने काफी सोच कर कहा- मुझे चाहिए कुछ नहीं है, लेकिन किस थोड़ा मुश्किल काम है और ये मैं कैसे करवा सकती हूँ, वो भी कमर पर?अमित- सोच लो यार. एक प्रशंसक, जिनका नाम विनोद है, उन्होंने मुझे मेल किया और कहा कि उन्हें मेरी कहानी काफी पसंद आई और वो उसी विषय में मुझसे फ़ोन पर बात करना चाहते हैं.

अब मुझे लगने लगा था कि शायद मैं जो अपनी बहन से चाहता हूँ, वो मुझे जल्दी ही मिलने वाला है.

मैंने जोर से मेरे रबर जैसे लंड को बाहर खींचा, एक पच्च की आवाज के साथ वो अब आजाद हो गया. फिर उसने पास ही पड़ा एक दुपट्टा उठाया जो 90% तक पारदर्शी था, उस दुपट्टे को उसने अपनी चूचियों पर डाला, जैसे उसको छुपाना चाहती हो.

व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ वो बोली- माया दीदी, मेरा बहुत खून निकला ना, मुझे दर्द हुआ, बुखार भी हुआ. मेरा हाथ कब मेरे लंड पर चला गया और मैं मुठ मार कर सो गया और मुझे नीद आ गयी.

व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ अमित ने तुरंत मुझे उसी अवस्था में अपने गले से लगा लिया और कहा- आई लव यू मिनी…उसने मुझे अपनी बांहों में उठा लिया. मैं फिर किसिंग करने वाला था कि उसने कहा- इसके लिए भी कुछ नया तरीका निकालो ना!मैं उठा कुछ सोचते सोचते बाहर गया.

फिर जब वो शांत हो गईं, तब धीरे धीरे धक्के देने शुरू किया, मैं अपना लंड भाभी की चूत में अन्दर बाहर करने लगा और हम दोनों की सिसकारियां निकलने लगीं.

बीएफ सेक्स वीडियो देसी सेक्स वीडियो

हम लेडीज को पुरुष की चौड़ी छाती ही सबसे ज्यादा अटरेक्ट करती है, आदमी की चौड़ी छाती हमें एक सिक्योर फीलिंग देती है फिर आपके इस चौड़े चकले सीने के तले पिसते हुए आपके लम्बे मोटे लंड की ठोकरें चूत को वो मजा देती हैं कि आत्मा तक तृप्त हो जाती है. तभी भाभी के पापा बोले- यार, बहुत गजब माल हो तुम आरती, जब तुम्हारे घर अपनी बेटी का रिश्ता लेकर गया था, तभी तुम पसंद आ रही थी और सोच लिया था कि अगर बेटी की शादी हो गई तो एक बार तुम्हें चोदूंगा जरूर!और मुंह को लंड से चोदने लगे और बोले- आरती, शर्ट उतारो, तुम्हारे बूब्स चूसने हैं. मैंने पूछा तो भाभी ने बताया कि तेरे भैया आज रात के लिए बाहर गए हैं, वो अब कल सुबह ही आएंगे.

वो बोलीं- अमित मुझे डर लग रहा है, किसी को पता चल गया तो?मैं बोला- दीदी कुछ नहीं होगा, किसी को पता नहीं चलेगा. तो वो मुझे बहुत अच्छी लगती थीं, पर उनको मैंने कभी गलत नजरिए से नहीं देखा था. पुलकित के आने से आज नानी अपने आप ही ड्राइंग रूम में बिछे दीवान पर सो गई.

वो ज़ोर से आहें भरने लगीं- आह… उफ़… आह…इसके बाद मैंने अपने लंड पर भी क्रीम लगा ली और उन्हें उठाते हुए दीवार के पास ले गया.

पुलकित ने पहले मंजरी को बेड पे बिठाया, उसके पाँव नीचे ही लटक रहे थे, फिर उसने मंजरी को लेटा दिया. डिनर करते वक्त आंटी की निगाहें मुझ पर ही टिकी थी, मैं समझ रहा था कि आंटी भी प्यासी हैं. अब भाभी की चुदाई का वक्त आ गया था, मैं उनको उठा कर बेड पे ले गया और उनको बोला कि आप मेरे ऊपर आ जाओ.

उन दोनों में से एक तो रीना की छोटी बहन कविता थी और एक उसकी मामी की लड़की जिसका नाम रेनू था. आंटी- बेटा, ये तेरी ही है, मार ले जितनी मारनी है, तेरे अंकल पे तो कुछ बनता नहीं. वो अब जोर जोर से सिसकारियां लेने लगीं- उम्म्म… नहीं जान… आह… रुक जाओ प्लीज़… आह… मैं मर जाऊंगी… उम्म्म्म… आह…उनका पेट बहुत तेज़ी से अन्दर बाहर होने लगा… लेकिन मैं नहीं रुका और जीभ फिराता ही रहा.

शुरू में भाभी मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही सहला रही थीं, फिर उन्होंने मेरे कपड़े उतार कर फेंक दिए. बात आज से 6 महीने पहले की है, एक दिन रात को खाना खाते वक़्त शहजाद ने मुझसे कहा कि नसीम क्यों ना हम अपना ऊपर वाला कमरा किराये पर दे दें?मैं- क्यों.

तो उनके हिलते हुए चूचे मुझे बड़ा ही आकर्षित कर रहे थे।मैंने देखा कि उन फिरंगी लड़कियों के बीच कुछ इंडियन लड़की भाभी आंटी भी बिकनी पहने मस्ती कर रही थीं। उन भारतीय लड़कियों में एक देसी लड़की मुझे शर्माते हुए आती दिखी जो थोड़ी स्थूल थी. मैं- क्या शर्त है?बॉस- ये लेने के लिए तुमको मेरे लंड को अन्दर से खुशी देनी होगी. एक हाथ से मैं भाभी की चूत मसल रहा था और दूसरे हाथ से उनके मम्मे भींच रहा था.

उसने मुझे गले लगा लिया और मेरे गालों पर किस करके बोला- सरिता आई लव यू, तुम आज कितनी हॉट लग रही हो.

वह भी देखने में मोना से कहीं से भी कम नहीं थी, वैसे भी उनकी बिरादरी में लड़कियां होती ही ज्यादा सुन्दर हैं. कहानी का पहला भाग :बीवी की चुत चुदाई मेरे दोस्त से-1मेरी कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैं अपनी बीवी को अपने दोस्त से चुदवाने के लिए एक निर्जन सड़क पर कार में ले गया. कहानी का पहला भाग :मुझे किस किस ने चोदा-1मेरी सेक्स स्टोरी हिंदी के पिछले भागमुझे किस किस ने चोदा-4में अब तक आपने पढ़ा किउसी समय भाभी के पापा बोले- समधी साहब, आप दोनों के बीच में हम लोगों की भी कोई जगह है कि हम लोगों को भूल गए?पापा बोले- आप नहीं होते तो मैं आरती को कैसे मिलता.

ये महीना नवम्बर का था, उस सर्द रात में मेरे पप्पू महाराज ने अंगड़ाई ली तो मैंने मन ही मन अपने पप्पू को कहा महाराज जी थोड़ा रुक जाओ, बस आपके लिए छेद का इंतज़ाम होने वाला है. दीदी मेरे पिंक टोपे को बार बार अपने मुँह में लेकर उसको अपनी लार से गीला कर रही थी.

मैं मानता हूँ, कोई भी लड़का या लड़की खुद को कितना भी शरीफ और सभ्य दिखाता होगा लेकिन वासना सभी के मन जन्म लेती है. बहूरानी के कोमल पैरों का स्पर्श मेरे लंड को और कठोर बनाता जा रहा था और अब वह पूरा अकड़ चुका था. मैंने चाची को हटाने की कोशिश की ताकि चाची को लगे कि मैं ऐसा नहीं हूँ.

बीएफ सेक्सी फुल एचडी वाली

ईईई…”ममता जी बुदबाते हुए मुझे पकड़ने की कोशिश करने लगी मगर मैं थोड़ी सी जबरदस्ती करके उनकी रजाई में घुस गया और उनके मखमली नंगे बदन से चिपक गया…मेरे नंगे बदन का अपने नंगे बदन से स्पर्श होते ही ममता जी सिहर सी गयी… न.

फिर मैंने पूछा- अगर आप बुरा ना मानो तो कुछ पूछूँ?छाया- जी हां पूछो न!आपके बच्चे नहीं हैं, आप लोग भी कहीं फैशन के चलते कहीं ये तो नहीं सोच रहे हैं कि आपका फिगर खराब हो जाएगा?”छाया हंस दी, पर उसकी हंसी में वो अपना गम छुपा ले गई. मगर जैसे ही मैं उसके फ़्लैट में गई अपनी खुजली दूर करवाने तो मैं दंग रह गई… वहां मेरा एक्स बॉयफ्रेंड भी था उसके साथ और करण उसकी गांड चाट रहा था. मुझे हर बार इतना आश्चर्य होता है यह देख कर कि रोजमर्या के जीवन में इतनी कोमल, नाजुक लड़की, जिसके लिए पानी का भगोना उठाना, या सोफा चेयर खिसकाना भी बहुत मुश्किल का काम है, कितनी पारंगता के साथ विकराल लंडों को अपने शरीर में घुसवा लेती है!इस समय वो अपनी कलाई जितनी मोटाई वाले दो दो लंडों से अपने सारे छेद फोड़वाए जा रही थी! मैं उसे इस समय ओमार के मोटे-खूब लम्बे लंड पर कूदता देखते हुए गर्व से भर उठा!आआआआह.

कुछ देर बाद मैं वासना से लिप्त मदान्ध की स्थिति में पहुँच गया और धीरे से उठकर, सहमे सहमे कदमों से उस ललचाती गांड की तरफ चल दिया. दीदी- देखो सन्नी, मैं करण की बेहन हूँ तो तुम्हारी भी बहन हुई ना! क्या तुम अपनी बहन को ऐसे बदनाम करते कभी?मैं जानबूझ कर नाटक करते हुए बोला- मेरी बहन ऐसा कोई काम नहीं करती कभी, और अगर करती तो मैं उसकी जान ले लेता. प्रियंका चोपड़ा के बीएफ एचडी वीडियोमैंने उससे हाथ मिलाया और कहा- इतने लम्बे हो, झुकने में प्रॉब्लम होगी.

मेरी नजर उसके चुचों पर पड़ी, उसके टॉप का गला बड़ा होने की वजह से मुझे उसकी चुचों की लकीर दिख रही थी. विवेक ने उसकी टांगें फैला कर अपने लंड को उसकी खुली चुत में घुसा दिया और झटके पे झटका देने लगा.

मैं ऊपर से गुस्सा होते हुए कहने लगी कि ये क्या कर रहे हैं, पर शरीर दिमाग का साथ नहीं दे रहा था. कुछ देर बाद वो भी मेरा साथ देने लगी तो मैंने उसका हाथ छोड़ दिया और अपनी उंगली को ममता के बालों में फंसा कर उसके बालों को सहलाने लगा. इतने में मुझे लगा कि शायद दीदी जाग गई हैं और सोने का नाटक कर रही हैं.

मैं भाग कर गया तो देखा वहां पर एक छिपकली थी और चाची उसी को देख कर डर गई थीं. अब तो मम्मी सातवें आसमान पर थीं, खूब जोर जोर से ऊपर से झटके मार रही थीं. अब जवानी के बादल रीना पर मंडराने लगे और अबकी बार इतना अधिक बरसे कि जैसे रीना की चुत से बरसाती नाला निकल रहा हो.

विवेक ने कामिनी को अपनी जाँघों पर बिठा रखा था और वो दोनों एक ही गिलास से सिप कर रहे थे.

यह घटना आज से 2 महीने पहले की है, जब मैं जयपुर में कम्पीटीशन के एग्जाम की तैयारी कर रहा था. मैंने उनके चूतड़ के ऊपर के हिस्से से लेकर कमर तक अपनी उंगलियाँ धीरे धीरे फेरीं.

मेरा लंड पिस्टन की तरह उसकी चूत में अन्दर बाहर हो रहा था और वो उचक उचक कर मज़े से मेरा लड़ खा रही थी. कुछ देर के बाद वो शांत हुई और फिर अपनी गांड उठा कर हिलाने लगी, जिससे मैं समझ गया कि प्रिया की चुत का दर्द अब कम हो गया है, अब धक्के लगाना शुरू कर देना चाहिए. मैं अब अपने मोबाइल में हिन्दी पोर्न मूवीज देखती थी और अपनी चूत को अपने हाथ से सहला कर शांत करती थी.

वो भी किसी तरह लंड लील गई और अब हम दोनों की दमादम मस्त चुदाई होने लगी. मैं घबरा कर बोली- ये क्या कर रहे हो?संजय ने मुझे अपनी बांहों में कस के भरते हुए और गरदन को चूमते हुए कहा- नसीम मेरी जान. पहले उसने थोड़ा मना जरूर किया था लेकिन बाद में उसने भी हाथ को नहीं हटाया.

व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ इरशाद ठंडा पड़ा बोला- भाई तू चाहे तो मेरी मार ले, पर इस लौंडे से वायदा कर के लाया था कि मरवाएगा. सुबह जब आँख खुली तो बाहर गया और देखा कि चाची और बुआ दोनों तैयार थीं.

सी बीएफ हिंदी में वीडियो

अवी- और बताओ मेरी जान मेरा रूम कैसा लगा?वो ये कह रहा था और मुझे देख रहा था. वो के निचले हिस्से से अपनी जीभ को रगड़ता हुआ मेरी चूत के दाने तक जीभ को फेर रहा था. कहां हो?मैंने हडबड़ा कर एकदम संजय को अपने से दूर कर दिया और कपड़े पहनते हुए कहा- आई… बेटा.

खैर ये तो रही पुरानी बातें, पर ये बात आज की है अब मैं 21 साल का हो गया हूँ और अब अपने लंड की आग को संभालना मेरे लिए और भी मुश्किल हो गया है. लेकिन मैं अपनी जवानी की आग से मजबूर हो गई थी।फिर मैं राजी हो गई।उसने मुझे घोड़ी बनने को कहा. ट्रिपल बीएफ पिक्चरमेरे पापा यह देख कर बोले- समधी साहब, आप अपना लंड आरती के गांड में डाल दो, उसकी गांड खाली हो गयी.

किस लिए?शहजाद- अरे कुछ नहीं, बस ऐसे ही… मेरे ऑफिस में एक नया लड़का आया है.

तो उसने मुझे इशारा किया कि मुझे भी सुनने हैं गाने!मैंने कहा- कैसे?तो उसने कहा- आप भी इधर आ जाओ!और मैं उसके बर्थ पर चला गया और हम दोनों एक एक इयर फोन से गाने सुनने लग गए. मेनका- क्या मैं तुझे अच्छी लगती हूँ? बस ये बताओ?मैं- हाँ दीदी, लेकिन पापा?मेरे कुछ कहने से पहले ही दीदी खुशी से झूमने लगी जैसे उनकी कोई बरसों पुरानी दुआ भगवान ने आज सुन ली हो.

प्रिया के शरीर में रह रह कर उत्तेज़ना की तरंग उठ रहीं थी जिन के फलस्वरूप प्रिया का हाथ मेरे हाथ पर कस कस जाता था जिन्हें मैं स्पष्ट महसूस कर रहा था. वो भी अब इसे उत्तेजित होने लगी और कहने लगी- अच्छा लग रहा है और मस्ती करो न मेरे राजा. ” कहते हुए वो उठने का प्रयास कर रही थी और मैं उसे जकड़ कर जबरदस्ती बिठा रहा था.

जब चूत चटवाने का सीन आया तो वो बोली- क्या ये भी देखना अच्छा लगता है?हाँ.

कहानी का पहला भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-1आपने अब तक पहा कि मेरा बॉयफ्रेंड मुझे अपने रूम में ले आया, उसके दोस्तों को भी इस बारे में पता था, वे भी हामरी जासूसी कर रहे थे और रूम के बाहर खिड़की से हम पर नजर रख रहे थे. की आवाजें निकाल कर कहने लगीं- हाँ ब्रायन चोद ऐसे ही, आज तक मुझे इस पोजीशन में किसी ने नहीं चोदा. इसलिए घर में उसके अन्दर आने पर मैं उसको देख कर ज्यादा हैरान नहीं हुआ.

बीएफ नंगी वीडियो दिखाओमैंने अपने कपड़े उतारे और पिंकी के बगल में लेट कर उसे अपने ऊपर लेटा दिया. अब जब हमने भी इसी शहर में रहना चालू कर दिया तो मेरा चाची के घर उठना बैठना शुरू हो गया.

बीएफ सेक्सी बिहार के बीएफ

कुछ देर यूं ही कुतिया बना कर चोदने के बाद मैंने अपना लंड निकाला और बेड पर लेट गया. हम कार में बैठ कर रुबीना के घर की और चल दिए, पूरे रास्ते रुबीना मुझे प्यार से देखती रही. वैसे वो चरित्रहीन नहीं थी, क्योंकि अपने पिता के एक दुर्घटना में गुजर जाने के बाद उसने किसी और मर्द की तरफ नज़र भी नहीं उठाया.

पुलकित ने भी बिना कोई और बात किए, मंजरी के लिपस्टिक लगे सुर्ख होंठों पर अपने होंठ धर दिये. फिर चाची बोलीं- बेशरम अंडरवियर कहां है?ये कहते हुए चाची मुस्कुरा दीं. सरकारी अफसरों से उसकी जान पहचान का दायरा भी बढ़ गया है, कभी कभी वो सरकारी टूर में भी चली जाती है.

मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि जिस चाची को मैं इतना सीधी सादी समझता था, वो इतनी चुदक्कड़ हैं. क्या देख रहे थे?मैंने कहा- भाभी, मुझे कहने में थोड़ी झिझक लग रही है. फिर मैं दीदी को उठा कर दूसरे रूम में ले गया क्योंकि वहाँ उनकी बेटी सो रही थी.

हम स्टेशन पहुँचने वाले थे तो अवी ने मेरा हाथ पकड़ा और किस करके कहा कि कितने दिन के लिए जा रही हो, फिर कब मिलोगी?मैंने बताया कि 20 दिन बाद कॉलेज खुलेगा, तब आ जाऊँगी. तो भाभी फिर आज क्या करें?”भाभी ने कहा- दवाई लेकर सेंटर पार्क में चलते हैं.

अब वो 69 की स्थति में मेरा लंड पकड़ कर चूसने लगी और मैं चुत और गांड बारी बारी से उंगली पेलने लगा.

मैंने उसे कहा- क्यों इन्कार करती हो? तुम जानती हो कि मैं जो चाहता हूँ वो करता हूँ… तो चूसो… चलो!वो कुछ भी नहीं बोली. बीएफ वीडियो जापानीमैंने कल्याणी की दमदार गोल गोल कसी हुई चूचियों को मुँह में ले के चूसना शुरू कर दिया. ब्लैक बीएफ एचडीअब और क्या बताऊं दोस्तों! लिखना कोई ऐसी मशीनी प्रक्रिया तो है नहीं कि जब भी बटन दबाओ और उत्पादन शुरू. मैंने फिर से दम लगा कर चूसा तो लंड तन कर एकदम लोहा हो गया, मैं अपनी कमर झुका के चूत उंगलियों से फाड़ के बोली- जल्दी डाल दो ना!उसने लंड सेट किया और धक्का मारा फच्च करता लंड मेरी चूत में घुस गया.

अच्छा ये बताओ तुम इसके लिए क्या जुगाड़ करने वाले थे?”तुम करने वाली होगी तो जुगाड़ सोचने का कोई मतलब है.

कुछ देर बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने लंड को थोड़ा सा बाहर निकाल कर फिर से एक जोरदार धक्का दे मारा, इस बार आधा लंड अन्दर घुस गया था. पूरा कमरा सज़ा हुआ था और फूलों से भरी बेडशीट पर पायल भाभी लाल कलर की साड़ी पहने घूँघट निकाले बैठी थीं. मैंने डिसाइड किया कि गाण्ड ही मरवा लेती हूँ। मुझे पता था कि गाण्ड की गली चूत से भी टाइट होती है.

अब मैं भाभी के होंठों को बुरी तरह से चूमने लगा और उनकी साड़ी का पल्लू गिराते हुए उनके चूचे दबाने लगा. मैं इसी इन्तजार में था, मैंने चाची को बोला कि ये तौलिया तेल लगने से खराब हो जाएगी, क्या इसे मैं हटा दूँ?चाची बोलीं- जरूर. मैं उनकी फैमिली के साथ हिल मिल गया था, इस कारण मुझे भी अब अकेला महसूस नहीं होता था.

सेक्सी बीएफ वाला पिक्चर

मैंने भी थोड़ा संभलते हुए रुकना ठीक समझा और उसके होंठों पर आराम से किस करने लगा. यहां तक कि उन्होंने अपने बखिया (फसल काटने वाले औज़ार) से प्रहार तक कर दिया मगर मैं सावधान था सो बाल-बाल बच गया. जब अपने ऑफिस पहुंचा तो ज्यादा काम भी नहीं होने से और कुछ तबियत भी ख़राब होने से, मैं कुछ घंटे ही रुका और जल्दी घर आ गया.

जैसे-तैसे खुद को संभाला मैंने… दुनियावी तौर पर प्रिया पर मेरा किसी किस्म का कोई हक़ ही नहीं बनता था और सब से बड़ी बात यह थी कि मुझे अपना परिवार, अपनी बीवी जान से ज्यादा प्यारे थे.

सुरेश अंकल बोले- राजेंद्र, अब दोनों तरफ से रगड़ना शुरू करते हैं! जम कर चोद, दस मिनट में सारा दर्द गायब हो जायेगा आरती का!और दोनों ने बिना परवाह किए लंड को मेरी चूत और गांड में अंदर बाहर करना शुरू कर दिया.

अब ब्रा निकाली और वो मैं पहन ना सकी क्योंकि वो रबड़ की तरह थी जैसे बालों में लगाने वाली रबड़ होती है. जब ज्वाइनिंग लेटर लेने पहुँचा तो वहाँ पे बैठी ख़ूबसूरत महिला के दर्शन हुए. बीएफ देखना है सेक्सी बीएफमुझे उसकी ये अदा बहुत भा गई और मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लोवर के ऊपर से ही रख दिया.

फिर मैंने एक प्लान बनाया कि कैसे उसकी बुर फाड़ दूँ, क्योंकि मुझे पता था कि वो अभी तक कुँवारी है. कभी कभी मेरी और प्रिया की नज़र मिल भी जाती तो क्षण भर के लिए… प्रिया की कजरारी आँखों में एक बिल्लौरी चमक और होंठों पर एक गुप्त सी ‘मोनालिसा मुस्कान’ आ कर गुम हो जाती जिसे सिर्फ मैं ही भांप पाता. तीव्र काम-उत्तेज़ना के कारण मेरे नलों में हल्का-हल्का सा दर्द भी हो रहा था लेकिन प्रिया को सम्पूर्ण रूप से पाने की लगन कुछ और सूझने ही नहीं दे रही थी.

हाँ…”मेरे मन में तो लड्डू फूटे… आहिस्ता आहिस्ता मैंने उसकी गर्दन को चूमना चालू कर दिया. गेट कीपर ने दरवाजा खोला पर ब्लैक शीशा होने से अन्दर नहीं देख पाया और अवी ने कार ले जाकर अपने रूम के पास रोका और मुझसे कहा कि अभी मैं आऊंगा और कहूँगा, तब बाहर निकलना.

उसके छोटे चाचा दिलजीत सिंह 42 साल के हैं और उनके छोटी चाची अमनदीप 40 साल की हैं.

‘ओह, मेरी प्यारी मंजरी, आज मौका मिला है मुझे तुम्हें अपनी पत्नी बनाने का!’ कह कर पुलकित ने मंजरी को बांहों में जकड़ कर ऊपर को उठा लिया तो मंजरी ने अपनी आँखें बंद कर लीं. मेरा लंड थोड़ी देर वैसे ही भाभी की गांड में घुसा रहा और मैं उन्हें सहलाते हुए चुप कराने लगा. चाची तड़फ कर लंड बाहर निकालने की क़ोशिश करने लगीं, लेकिन मैंने उनको जकड़ किया और उनके होंठों से होंठ चिपका कर उनकी चूचियों को मसलने लगा.

महिलाओं के बीएफ मुझे कई लड़कों ने दबी जुबान में ये भी कहा कि आज रात को एक घंटे के लिए गांव के बाहर आ जाना पूरे 500 रूपये दूंगा. सपना ने कहा- मैं आपको फ़ोन करने वाली थी, पर जब सर ने कहा कि आप सबको लाने के लिए गाड़ी भेजी गई है तो सोचा कि यहीं पर मिल लूंगी.

रवि क्या करना चाहते हो?मैं बोला- आधा खाना खिलाना ठीक है क्या?चल निकाल. फिर लंड को उसके चूत के छेद पे रखा, मेरा लंड एकदम डण्डे की तरह टाईट था. इसी दौरान मैं उसके टीशर्ट के अंदर अपना हाथ डाल कर उसका पेट सहलाने लगा जिससे उसके चेहरे के भाव थोड़े बदले, वो कुछ कामुक सी होने लगी.

बीएफ चाहिए एचडी में वीडियो

मुझे ये तब पता चला जब वो मेरे ऊपर लेट कर मेरे चुचे चूस रहा था और उसका डंडा मेरी जाँघों में घुस रहा था. मैंने उसे लिटा दिया और उसकी ओढ़नी से उसके हाथों को बेड से बाँध दिया और उसकी बुर में उंगली करनी चालू कर दिया. उस सफ़र में कोई बात तो खास नहीं हुई लेकिन वो मेरा हाथ रास्ते भर पकड़े रहा.

भाभी के पापा अपना लंड मेरे मुंह से निकाले और पीछे जाकर मेरी गांड में अपना लंड फिट कर दिया और मेरे कूल्हों का चुम्मा लेते हुए बोले- क्या मस्त उठी हुई तेरी गांड है आरती, आज तेरी गांड मारता हूं!और अपना पूरा लंड मेरी गांड में जोर से डाला एक ही झटके में पूरा भाभी के पापा का लंड मेरी गांड में घुस गया, तो भाभी के पापा बोले- कितनी मस्त चिकनी गांड है, आज तक मैंने नहीं देखी, एक ही झटके में पूरा लंड घुस गया. अब अंकित माया के दाने को जीभ से चाट रहा था और साथ ही साथ चूस भी रहा था.

लेकिन मेरे साहबजादे शादी में आये मेहमानों के साथ शाम से ही मेरे पड़ोसी मिश्रा जी के घर बियर व्हिस्की वगैरह पीने पिलाने की पार्टी करने लगे और रात भर घर से बाहर रहे, इधर बहूरानीमुझे अपना पति समझ के ये सब कर रही थी)मेरे मन में तो आया कि बहूरानी को डांट दूं और कमरे से बाहर निकाल दूं.

दीदी ने आगे बढ़ कर कूलर को तेज़ कर दिया और बेड पर आकर लेट गई और मुझसे बोलीं- ऊपर बिस्तर पर आ जा. बचपन में वो काफी शर्मीला था और लड़कियों से बात करते हुए काफी डरता था. मेरे दिल में हलचल सी मची थी कि अब बरसों की प्यास कब बुझेगी और कब तन मन का मिलन पूरा होगा.

मैं उसके बेड पर लेट गई, लेटते समय मैंने जानबूझ कर अपना टॉप थोड़ा ऊपर को कर लिया ताकि कमल को मेरी कमर और चूचियां अच्छे से दिखाई दे जाएं. लड़की के बारे में बता दूँ… वो दिखने में तो कुछ खास नहीं थी, बस ठीक ठाक थी. फिर काफी देर तक मैं उसकी चूत को ऐसे ही चाटता रहा कभी धीरे से तो कभी तेज तेज!जब उसको बहुत ज्यादा मजा आने लगा तो वो मेरा मुँह अपनी चूत में दबाने लगी मुझे सांस आनी बंद सी ही गयी थी।मैं उसकी चूत चाटने के साथ साथ उसके दूध को भी दबाये जा रहा था.

तभी सिराज के धक्के तेज हो गए और एक ही मिनट में उसने अपना सारा पानी मेरी गांड में भर दिया।सिराज की कम से काम दस पिचकारी मैंने अपने अंदर महंसूस की.

व्हिडिओ बीएफ व्हिडिओ बीएफ: हम दोनों लगातार किस करते रहे और धीरे धीरे मैं उसके मम्मों को एक हाथ से दबाने लगा. अगले दिन शाम को जब मैं ऑफिस से घर आया तो देखा कि प्रिया की माँ और प्रिया के पिता यानि मेरी साली और साढू भाई घर आये बैठे थे.

तभी ममता ने अपने होंठों को मेरे होंठों से अलग करते हुए कहा- लंड अन्दर नहीं डालना है. उन्होंने अपनी पहचान में एक लड़की रुबीना थी, उससे भैया की शादी तय कर दी. फिर 10 मिनट के बाद मैंने उसे अपने नीचे लिटाया और उसके कान में कहा- अब हम दोनों एक होने वाले हैं, थोड़ा सा दर्द होगा, बर्दाश्त कर लेना.

लेकिन मेरे ख्यालों में बार बार मम्मी की नंगी चूचियाँ ही नज़र आ रही थी तो फिर मैंने मुठ मारी और सो गया.

मैंने ऊपर जा कर छत का दरवाजा लॉक कर दिया और अब उस रात मैं और ललिता अकेले मैरिज हॉल की छत पर थे. दस मिनट बाद मैं अपनी चरम सीमा पर आने वाला था और मेरे मुँह से आवाजें आने लगीं- ऑश चाची और जोर से आह. उन दोनों में से एक तो रीना की छोटी बहन कविता थी और एक उसकी मामी की लड़की जिसका नाम रेनू था.