बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई

छवि स्रोत,मां बेटे की सेक्सी अंग्रेजी

तस्वीर का शीर्षक ,

बाबा रामदेव की सेक्सी: बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई, मुझे पता नहीं था कि मौसी कैसे प्रतिक्रिया देगी लेकिन फिर उसने मेरे चेहरे की हवस को देखा और अपना मुंह खोलकर मेरे लंड को अंदर ले लिया.

सेक्सी वीडियो मारवाड़ी लड़कियों

मुझसे रुका न जा रहा था और फिर हड़बड़ी में मैंने उसके ब्लाउज को फाड़ दिया. स्कूल मैडम सेक्सीमैं बोला- ठीक है … आगे से मुँह से बोलना, जो भी हो … और हां जाओ आज रेस्ट करो … कल एग्जाम नहीं है.

भाभी तेज आवाज में चिल्लाई- उउउ उई मां … उउउउई … मार डाला … मेरी चूत को फाड़ दिया।दोस्तो, मैं डर गया कि कहीं मेरी छोटी बहन जाग न जाए. सेक्सी फिल्म हॉलीवुड में सेक्सीभाभी ने बोला- क्या भूल गए?मैंने जवाब में बोला- स्वीटडिश खाना भूल गया था.

तभी नजमा बाजी बोली- अम्मी … वो रुबीना की चुदाई भी इसी हरामखोर ने की है और ये बच्चा भी इसका है।फिर अम्मी को और गुस्सा आ गया और उसने मुझे अब और भी ज्यादा बुरा भला कहा.बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई: आपको मेरी गांड मरवाने की चुदाई की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल करें.

इससे मेरी नींद खुल गयी और मुझे अपने भाई की इस गन्दी हरकत का पता चला तो मुझे बहुत बुरा लगा, मुझे बहुत गुस्सा आया.मैंने अपना लंड बाहर निकाला तो लंड के ऊपर की चमड़ी धधक रही थी … जैसे आग में जल रही थी.

पुराने जमाने की सेक्सी मूवी - बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई

मैंने उनसे वीडियो चैट करने की ख्वाहिश की, तो भाभी ने कहा कि ठीक है मैं आपको रात में फोन करूंगी.उन दोनों ने आस पास एक अच्छी सी कुर्सी देखी, अच्छी सी चेयर देख कर मुझे डॉगी स्टाइल में बिठा दिया। अज़ीम जिसका लंड काफी बड़ा था, वो मेरे पीछे आ गया.

तो पापा ने कहा- उसके लिए तेरा बेटा है न … मैं तो मेरी परी जैसी बेटी की चूत चूसूंगा।पूर्वी ने कहा- हाँ … और मैं सिर्फ पापा की परी हूँ।तो मैं भी बोल पड़ा- और मेरी माँ परियों की रानी है. बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई मेरी मौसी बोलीं- दीदी अगर मैं प्रेगनेंट हो गई, तो क्या होगा?तभी मेरे पिता जी ने कहा- तू भी मेरी आधी घरवाली है … पर आज से तू पूरी है.

मैं अपनी बहन के ऊपर चढ़ गया और अपना कटा हुआ लौड़ा उसके मुँह में दे दिया.

बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई?

लेकिन उसके अलावा मुझे किस किस के सामने अपना सेक्सी बदन पेश किया?आपने अब तक की सेक्स कहानीबेटे के भविष्य के लिए कई मर्दों से चुदी-1में पढ़ा कि मैं अपने बेटे की ख़ुशी के लिए एक पुलिस इंस्पेक्टर से चुदवाने के लिए राजी हो गई थी. प्रिन्सिपल ने मुझसे बोला- देखिए आप शाम को मेरे रूम पर आइए, फिर बात करते हैं. तुम थोड़ा धीरे बात करो!इस पर शकील ने कहा- वह मेरी प्यारी मामी है, वह मुझे कुछ नहीं कहेगी.

कुछ देर बाद उसने अपनी टांगें पूरी हवा में उठा दीं और मैंने भी उसकी चूत की जड़ तक लंड की ठोकर देना शुरू कर दिया. फिर एक समय आया कि उसने दो तीन धक्के पूरे जोश के साथ लगाते हुए मेरी चूत के अंदर ही अपना पानी छोड़ दिया. अभी तू अपनी गर्ल फ्रेंड की बात कर रहा था … वो बता!मैंने उसके मम्मे ताड़ना बंद नहीं किए और कहा- कोई बनती ही नहीं है यार, पर मन करता है कि काश मेरी गर्लफ्रेंड होती, तो मैं उसके साथ खूब मजे करता.

उनकी सिसकारें सुनकर मुझे भी जोश चढ़ने लगा।मैं चूचियों से होते हुए अब हाथ को पेट और नीचे मौसी की चूत के ऊपर तक सहलाने लगा. मैंने चूत खोल दी थी तो उन्होंने मेरी बुर की फांकों पर अपना लौड़ा टिका दिया. कोई 5 मिनट किस करने के बाद मैंने अपना हाथ उनके मम्मों के ऊपर रखा और चुचियां दबाने लगा.

मगर मैंने उसको आंखों से चोदते हुए होंठ गोल किये और बिना सीटी बजाए एक ठंडी हवा का झोंका उसके गालों पर मारा. एक रात मेरी बीवी ने चुदाई का प्रोग्राम बनाया लेकिन उस रात भी आपा हमारे बिस्तर पर सो गयी तो हमने सोफे पर चुदाई करने का तय किया.

मीनाक्षी के आने के बाद ही मेरी मम्मी नहाने के लिए बाथरूम में जाती थी।एक दिन मीनाक्षी मेरे कमरे की सफाई कर रही थी कि मैं जाग गया और मीनाक्षी को अपने कमरे में देख कर मैं एक झटके से बिस्तर के नीचे उतरकर खड़ा हो गया।मेरे इस तरह अचानक उठ खड़े होने से मीनाक्षी भाभी भी चौंक गई और मेरी ओर घूम कर मुझे देखने लगी.

उसने एक बार लंड हिला कर मुझे दिखाया और बोला- पसंद आया?मैंने हंस कर दिखा दिया.

लेकिन मेरा फिर से मन भी करता है कि कोई ऐसा मेरी लाइफ में फिर से आए जो अच्छा हो, सच्चा हो और मेरे लिए हमेशा खड़ा रहे!तो दोस्तो, यदि मेरी चूत चुदाई की कहानी थी, आपको कैसी लगी? प्लीज मुझे ईमेल कर कर जरूर बताएं. फिर मेरा भी पानी निकलने वाला था और मैंने धक्कों की स्पीड तेज कर दी. वो लड़का एक मँझा हुआ खिलाड़ी था जो मुझे जन्नत के दर्शन कराता हुआ मुझे तड़पा रहा था।वो जब अपनी जीभ को नुकीला करके मेरी चूत के दाने पर घिसता तो मेरी सिसकारी निकल जाती। इसी तरह से वो मुझे बहुत देर तक तक तड़पाता रहा.

अम्मी ने यह बात मानी थी, उन्होंने अलमारी से तेल की बोतल निकाली और सुनीता की चूत पर लगा दी. अब तो जैसे में दर्द से पागल होने लगा और उमेश सर से बहुत छुड़ाने की कोशिश करने लगा था. वैशाली भाभी ने तुरंत नीचे जाकर लंड को अपने मुँह में ले लिया और अपनी जीभ से उसको चाटने लगी.

वो काफी देर तक चूत सहलाती रही और मैं बीच बीच में उसकी चूतड़ों पर बेल्ट मारता रहा.

मम्मी दर्द से चीखने लगीं और कहने लगीं- आह आह … मुझे मीठा मीठा दर्द हो रहा है. फिर मैं तैयार होकर जैसे ही नीचे पहुंची, तो सपना ने मुझे अपने पास बुला लिया. उन्होंने मेरी शर्ट के सारे बटन खोल दिए और मेरी शर्ट को उतार कर साइड में रख दिया.

मैंने उनके मुंह को एकदम से दबाया और उनके बदन के अंगों को बेतहाशा चूमने चाटने लगा. मैं हंस दिया और उसे अपने साथ लेकर उसके रूम तक छोड़ने के लिए चल दिया. मगर मैं जब तक लंड लगाता, तब तक वो मेरा सर अपनी बुर में दबाकर पानी छोड़ने लगी.

इतना बोल कर मम्मी सागर के गले लग गयी और सागर ने भी उनके अपने से चिपका लिया.

अब उसके मुंह से मजे की सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … उफ्फ … अम्म … आह्ह … और करो … आह्ह … और जोर से … चोदते रहो. मेरी एक उंगली उसकी योनि के अंदर की गहराई नापने में व्यस्त थी और अंदर ही अंदर सरगम बजा रही थी.

बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई यूं ही कंधों पर खुले पड़े हुए थे। बालों में हेअरकण्डीशनर किया हुआ था शायद जो जबरदस्त मादकता फैला रहे थे।मैं पैंट पहन रहा था और भाभी बार बार मेरे लंड की ओर झांक रही थी. और सपना के बाद सब से ज़्यादा कुंवारी चूत मामी की ही थी।कुछ देर सागर ने उनके गांड के छेद को चाटा.

बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई इधर मेरे प्यारे से नुन्नू ने भी अपना माल समीर के मुँह में छोड़ दिया और अज़ीम ने मेरी गांड से सारा वीर्य चाट कर साफ़ कर दिया।कुछ देर हम ऐसे ही लेटे रहे और फिर सब ने अपने अपने कपड़े पहन लिए. मैं- आज मजा आया कि नहीं मेरी जान को?निशा भाभी- मजा तो आया पर अगर ज्यादा टाइम मिलता.

हम दोनों बस इसी तरह की बातें कर रहे थे कि तभी कुछ समय बाद पिताजी भी आ गए.

केदार सेक्सी वीडियो

लेकिन मुझे उसकी सिसकारियां सुन रही थी जिनको सुनकर मैं जोर जोर से उसकी चूत सहलाने लगा. ये बोलकर वो चले गए और मैं नीचे ही उनके हॉल में बैठ कर टीवी देखने लगा. आखिर में वो अपने कामवासना और उत्तेजना के सामने हार गयी और मेरा साथ देने लगी.

मैंने अपनी मॉम की चुदाई लाइव देखी; वो भी मेरे ही बॉयफ्रेंड के लंड से. उससे मैंने पूछा- पहली बार कर रही हो?तो वो बोली- हां, आज मेरा पहली बार है. इस समय मेरी पीठ दीवार से टिकी थी और मेरी दोनों टांगें उसकी मजबूत भुजाओं में फंसी थीं.

कभी कभी किस्मत रहती है तो बहुत ही कच्ची कली भी चोदने के लिए मिल जाती है जो नई नई स्कूल से निकली होती है.

अंकल एक हाथ से मॉम के मम्मों को दबा रहे थे, तो दूसरी हाथ से उनकी चूत सहला रहे थे. इस पर अम्मी हंसती हुई बोली- उसे क्या पता तुम्हारी चुदाई का जलवा … तुम घोड़े जैसे चोदते हो! वो अभी नई-नई है, धीरे-धीरे उसे भी आदत पड़ जाएगी तुम्हारी चुदाई की! पर शकील तुम बहुत बहन के लोड़े हो. वो खुश हो गये और बोले- मेरे एक गुरूजी हैं, उनका लंड मेरे लंड से भी ज्यादा बड़ा है.

मैंने चार पांच झटके जोर से मारे और मैंने उसकी कमर को कसकर पूरा चूतड़ों पर प्रेशर बना दिया. लेकिन कुछ दिनों बाद उनके फिर से जिक्र करने पर मैंने कँगना को कॉल किया।फोन पर कँगना की आवाज़ में एक मुझे एक मस्ती सुनाई दी।मैंने उसे बताया कि आपके रिलेटिव पुलिस अधिकारी ने मुझे आपका नंबर दिया है।वो बहुत फ्रैंकली मुझसे बात कर रही थी। उस समय हम दोनों में थोड़ी बात हुई और बाद में बात करना तय हुआ।दो दिन बाद उसका फोन आया और उसने काफी देर तक मुझसे बात की. रिश्तों में चुदाई की मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी में आपको मजा आ रहा है? कमेंट करके बताएं कि आपको यह चुदाई कहानी कैसी लग रही है.

उस समय वो मस्त माल लग रही थी जैसी कि इंडियन सेक्स वेब सीरीज में रसीली भाभियां दिखाई जाती हैं. शनाज़ ने अब मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर चुसाई शुरु कर दी.

भैया ने फोन पर पूछा- क्या हुआ?भाभी ने मेरी तरफ देख कर कहा कि कुछ नहीं नीचे से एक चींटी घुस गई थी. वह मस्ती से ‘आहाहा … उह उह …’ करते हुए तड़पने लगी और चूत में लंड डालने के लिए मिन्नतें करने लगी. उस दिन तो बस इतना ही हुआ और उसके बाद दो हफ्ते तक मैंने प्रिया को नहीं देखा.

मेरे लेटते ही उसने खुद ही रजाई ढक ली और धीरे से कान में बोली- जल्दी से करो, मुझे फिर सोना है.

अभी आगे कुछ बात करने की जरूरत ही नहीं पड़ी और मैं उनके मुंह को चूमने लगा. भाभी ने भी कहा कि हां यार मैं भी यही चाहती हूँ पर मौका ही नहीं मिल रहा है. इसीलिए मैंने इस घटना को आप लोगों के साथ शब्दों के माध्यम से बांटने की कोशिश की है.

जिस समय मेरी बहन मेरे सामने मुँह घुमा कर कपड़े उतारते हुए सीन बनाती … मेरे लंड में आग लग जाती थी. Meri Girlfriend ki Suhagratजब उसकी बहन की शादी की डेट आ गई, तो घर में शादी को लेकर तैयारियां शुरू हो गईं.

इस बीच मैंने लगभग रोज ननदोई जी से चुदाई करवायी क्योंकि ननद रोज टहलने जाया करतीं थीं. मेरा ये कुर्ता छोटा था लेकिन उसमें गला काफी खुला हुआ था, जिस वजह से सामने से मेरे मम्मों की क्लीवेज काफी खुली दिख रही थी. भाभी की चुदाई कैसे हुई और फिर उनकी सहेली को मैंने कैसे चोदा?नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम विकास कुमार है, मैं अहमदाबाद से हूँ.

सेक्सी फिल्म चूत में लंड

कभी अपने मम्मे कुरते के ऊपर से दिखा देती।अब तो वो भी समझ गये थे कि मैं उनसे चुदने को बेताब हूँ।अगले ही दिन मेरी ननद बाथरूम में नहा रही थी और मेरे ननदोई सो रहे थे.

जैसे भी मैंने गुडबाइ बोला और नीचे तक आया, तभी भाभी का मैसेज आया- मैं एक बात कहूँ?मैंने बोला- हां जी बोलिए ना. मैंने भाभी को जोर से मम्मे के ऊपर चांटा मारा और जोर से दूध दबाने लगा. मैंने बोला- ऐसा करो, तुम अपनी सहेलियों को बुला लो और उनसे बात कर लो.

”इतना कहकर मैंने अवनीत की कमर कसकर पकड़ ली और शताब्दी एक्सप्रेस की रफ्तार से अपनी दुल्हन बनी भानजी की चूत को चोदने लगा. फिर भी ज़ोहरा की तरफ से कोई प्रतिक्रिया ना पाकर मैं अपनी ज़ोहरा आपा के बूब्ज़ को दबाने लगा. बम सेक्सी वीडियोबहन चोद सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मामा के घर गया तो उनकी बेटी जवान हो चुकी थी, गजब माल लग रही थी.

मैंने पूछा- तुमने जो पैसे लिये थे, उनसे क्या किया तुमने?तो उसने कहा- मैं ब्रा पैंटी और चूत को शेव करने का सामान लेकर आई थी. कुछ देर इसी पोजीशन में अपनी बहन को चोदने के बाद मैं उसके ऊपर से हट कर सीधा लेट गया.

मैंने पहले भाभी की चूत पर हल्का सा किस किया, जिससे वो पागल हो गयी और मेरे बाल खींचने लगी. बहुत बार तो उन्होंने छुट्टी के बाद मेरे क्लास रूम में भी मेरी गांड मारी और मुझसे लंड चुसवाया. इनको भी चोद कर अगर सेट कर लिया तो पीहू को चोदने में और भी आसानी होगी।मैंने बात बनाते हुए कहा- मम्मी जी, आपकी सेवा में तो मैं हमेशा ही तैयार ही हूँ.

अब तक शायद राजीव भी समझ गया था कि इसका दिल तो है, मगर ये डर रही है. फिर उन दोनों ने मेरा ब्लाउज उतार दिया और दोनों मेरी चुचियों को मसलने, दबाने, चूसने, चाटने लगे. मैंने बेल बजाई और जैसे ही उसने दरवाज़ा खोला, मेरा तो दिमाग़ घूम गया.

आंटी की बालकनी मेरे घर के ठीक सामने थी तो अक्सर आंटी से मेरी हाय-हैलो वगैरह हो जाती थी.

तभी किसी ने गेट पर आवाज़ दी- मे आई कम इन सर?मैंने उधर देखा तो दरवाज़े पर आकांक्षा खड़ी थी. अगर मेरी इस कहानी को पढ़कर किसी हसीना की, किसी कमसिन लड़की की और मेरी प्यारी भाभियों की चूत गीली हो जाये तो अपने इस आशिक़ को सलाम अवश्य करना।मेरी शादी के लगभग 1 साल बाद ही संदीप की शादी भी होने वाली थी.

शर्त के मुताबिक जो भी हमारे घर के दरवाजे से पहले अंदर आएगा उसे शिल्पी को पीछे से गले लगाना था।तो जब तुम्हारे आने पर शिल्पी ने गेट खोला तो तुम सामने से पहले अंदर आए थे इसलिए तुम फंस गए और शिल्पी को तुम्हें गले लगाना पड़ा. लंड का सुपारा घुसवाते ही मॉम चिल्ला उठीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… मां मररर … गयययी … रे … आंह बाहरररर निकाल इसको!मैं जानता था कि मॉम की गांड पहली बार चोदी जा रही है, तो दर्द तो होगा ही. चारू की योनि की संकीर्ण दीवारों ने मेरे लंड को चारों तरफ से बांध लिया था.

आंटी ने मुझसे कहा- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैं- नहीं, मैंने तो अभी तक किसी लड़की को हाथ भी नहीं लगाया. मैंने उसकी चूत को उंगली से छेड़ा तो उसकी चूत एकदम से गीली लग रही थी. वो पागल हो उठी, पर बंधी होने के कारण कुछ कर नहीं पा रही थी, सिर्फ छटपटा रही थी.

बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई आठ दस झटकों के बाद मेरा पानी छूटने लगा, तो मैंने उसको कस कर पकड़ लिया और उसकी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया. मैंने चाची के बड़े बड़े फुटबाल जैसे बोबे थाम लिये मगर एक हाथ में एक बोबा आ ही नहीं रहा था.

africa सेक्सी वीडियो

चुदाई के पहले ही मेरी बुर काफी गर्म हो गयी थी और उनका लंड मेरी चूत में अन्दर बाहर हो रहा था, जिससे मेरी चूत में अजीब सा अच्छा मजा आ रहा था. धीरे धीरे इस तरह की काम वासना से भरपूर बातें करने के बाद अब दोनों ही धीरे धीरे एक दूसरे के साथ खुलना चाहते थे क्योंकि मुझे आभास हो रहा था कि भाभी कभी अपने पति की तारीफ नहीं करती थी. भाभी भी अपने घर का काम खत्म करके दुकान पर चली जाती थी।कुछ दिनों तक तो सब नॉर्मल चल रहा था.

मैंने पूछा- और वो शादी वाली बात?उसने कहा- कुछ नहीं, तेरी मां शादी में आई थी. मेरे किस करते-करते ही हूर फिर से गर्म हो गई और मेरे लंड को सहलाने लगी. सेक्सी वीडियो आदावासी हिंदीमेरी यह तमन्ना कैसे पूरी हुई?सभी पाठकों को मेरा नमस्कार।यह मेरी पहली कहानी है.

अवनीत का लहंगा ऊपर उठाकर मैंने उसे पकड़ा दिया और उसकी पैन्टी उतार दी.

लेकिन आने से पहले मैंने चाची के होंठों को खूब चूसा, चाची को प्यार किया और वादा लिया चाची से कि वे भाद में भी मुझे अपनी चूत की चुदाई का मौक़ा देती रहेंगी और मुझे अच्छी तरह से चोदन करना सिखाएंगी. मैंने उसकी नहीं सुनी और पूरा लंड चुत में अन्दर ही डाल दिया और रुक गया.

कभी कभी किस्मत रहती है तो बहुत ही कच्ची कली भी चोदने के लिए मिल जाती है जो नई नई स्कूल से निकली होती है. शायद होनी को भी को यह सब ही मंजूर था।हम लोगों ने मोबाइल फ़ोन नंबर एक्सचेंज किए और अज़ीम प्यारी सी स्माइल के साथ बोला- अगर कभी भी गांड में खुजली हो तो हमको ज़रूर याद करना. उल्फ़त के बेड पर बैठते ही मैंने उसे अपनी तरफ खींचा और उसके होंठों पर लिप किस कर दिया.

मैंने उनका लंड जब लोवर से बाहर निकाला, तो में देख कर एकदम से चकित रह गया.

फिर उन्होंने मेरी कुर्ती को उतरवा दिया और मेरी ब्रा को भी निकलवा दिया. फिर अचानक से उसने मुझसे खुद ही पानी माँग लिया तो मैंने उसे पानी की बोतल दे दी और वो पूरी बोतल का पानी पी गयी, जो काफी ठंडा था. मैंने- अभी इतनी रात को?संजय अंकल- तो क्या हुआ … गाड़ी में हेडलाइट तो है.

इंडिया सेक्सी कॉलेजमेरे अंदर भी कुलबुलाहट थी जिससे मेरा लण्ड थोड़ा तन गया और गमछी में उभार आ गया. वो पहले तो काफी देर तक लिप किस करते रहे और फिर वो मॉम को पूरी बॉडी पर किस करने लगे.

गुजराती सेक्सी वीडियो सेक्सी

उसने कहा- कभी कुछ काम हो तो आ जाया करो!मैंने कहा- अगर अब काम ना भी होगा तो भी आ जाऊंगी. मैं सोने का नाटक करते हुए सब कुछ देख रहा था।धीरे धीरे नीता का हाथ उसकी चूत पर सहला रहा था और शिल्पी कुछ नहीं बोल रही थी. भाभी के बड़े बड़े मम्मे भी उछल कूद कर रहे थे और जैसे-जैसे भाभी ऊपर नीचे होती थीं, वैसे वैसे नीचे मेरा लंड के नीचे दोनों टट्टे भाभी की गांड से टकरा रहे थे.

यह GF BF Xxx कहानी भी मेरी पिछली कहानी की तरह बिल्कुल सच्ची है; बस कुछ किरदारों के नाम और जगह बदल दी गयी है. बहुत देर तक चोदने के बाद मैंने भाभी के एक पैर सीधा करके उनको दीवार के सहारे सीधा लगा दिया और फिर से चोदने लगा. अपनी हसीन पत्नी के अलावा किसी दूसरी स्त्री के साथ ये मेरा पहला समागम था।क्या हसीन नज़ारा था।साक्षात रम्भा मेरी बाँहों में थी.

मैंने पापा को कह दिया कि मैं भी आ रही हूँ बैंक में, मैं आपके साथ चलूंगी. मगर अब मैंने उनकी कुर्ती में हाथ डाला और ब्रा के ऊपर से ही मम्मों दबाने लगा, जो कि थोड़ा अजीब लग रहा था. मेरी बड़ी मामी ने मेरी दीदी और मम्मी को उनके कमरे में बुला लिया। उस कमरे में मेरी बड़ी मामी, मम्मी, दीदी और मामी की बेटी सो रहे थे।अब बचे मैं और मेरे भैया तो मेरे दादा ने हम दोनों को उनके पास सोने के लिए बुलाया.

और एक दिन उसने मुझे बताया कि मैं बाप बनने बाला हूं और वो बहुत खुश है. वो अब नंगा था ऊपर से!सागर बाहर किचन के तरफ बढ़ा अब मैं भी चुपके से उसके पीछे हो ली।जब सागर किचन के बाहर पहुँचा तो मामी सिर्फ पेटीकोट और ब्लाउज में थी.

अभी मैं ये सब सोच ही रहा था कि मैडम के चीखने की आवाज़ आयी- उईईई ईईईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… मां मर गयी …सर- आहहहह अब लगा है निशाना … कितनी गर्म चूत है मैडम तुम्हारी आहह … लंड जल सा गया.

मेरे पिंक निप्पल्स और गोल गोल गांड को देख कर उन दोनों के ही लौड़ों में हरकत सी आनी शुरू हो गयी थी. सेक्सी क्सक्सक्सक्स वीडियोदो तीन मिनट में मुझे कुछ आराम मिला तो वो उठे और बोले- अब कैसा लग रहा है?मैं बोला- अब दर्द कम है. जानवर की सेक्सी बीपीउसकी सिसकारियां निकलने लगी- आहह आहह ऊईई ऊईई … राज चोदो मुझे … फ़ाड़ दे मेरी … आहह आहह … चोदो चोदो मुझे … फ़ाड़ दे आहह ऊईई ऊईई आहह ऊईई ऊईई!मैंने देर न करते हुए अपना लन्ड झटके में पूरा घुसा दिया उसकी चूचियों को मसलने लगा और उसके मुंह को बंद करके चोदने लगा।वो छटपटा रही थी, रो रही थी. चाची थोड़ी ही देर में लेफ्ट हो गईं, तो प्रियंका भाभी ने मुझसे इस बारे में पूछा.

फिर जब उसने हल्के से अपनी कमर हिलाई, तो मैं भी आधे लंड से ही उसको धीरे धीरे चोदने लगा.

उनकी बेटी शिल्पी 12वीं पास करने के बाद पढ़ने के लिए दूसरे शहर में रहती थी।उनके घर में अब उन दोनों पति पत्नी के अलावा उनके बड़े भाई की बेटी नीता ही थी. फ़िर मैंने माही की गांड भी मारी,गांड मारने की कहानीमैं अगली बार लिखूँगा. मैं जोर जोर के धक्कों के साथ उसकी चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा था.

आप सब का यह सेक्सी चाची की चूत कहानी पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद. मॉम चिल्लाती रहीं मगर अंकल ने एक नहीं सुनी और वो मॉम की गांड मारते रहे. वो बाथरूम में आकर थोड़ी न देखेगी कि अंदर कौन है?ये कहकर वो मेरी तरफ आंख मारकर चली गयी.

छोटी लडकी की सेक्सी

और तभी मेरे लौड़े ने वीर्य की धार राखी की चूत में छोड़ दी।दोनों चिपक कर लेट गए और पता नहीं चला कब नींद आ गई।सुबह गेट बजने की आवाज आई तो दोनों नंगे पड़े थे. इस स्थिति में किस होना तो लाज़मी था मगर उससे ज़रूरी था कि हमारे जिस्म ऐसे चिपके हुए थे कि सीने बिल्कुल मिले हुए थे. कुछ देर बाद उसकी चीखें आना बंद हो गईं और वो अब लंड के मजे लेने लगी थी.

क्लास में हुई इस घटना के बाद मैं जरा सहम गया था कि लौंडिया भड़क न जाए.

उसके कपड़े उतर रहे थे और मेरे कच्छे के अंदर मेरी लुल्ली कड़क होने लगी थी.

लेकिन मैंने ऐसा अभिनय किया, जैसे मुझे समझ नहीं आया कि वह क्या कह रही हैं. लेकिन मुझे उसकी सिसकारियां सुन रही थी जिनको सुनकर मैं जोर जोर से उसकी चूत सहलाने लगा. भारतीय सेक्सी वीडियो देखने वालीफिर भाभी ने मुझे बताया कि उनके पति को कुछ दिन के लिए बाहर जाने का प्लान बन गया है … आप आ जाओ.

शादी भी हो गयी और सब लोग लौट भी गये मगर उस भाभी का पता नहीं लग पाया. मेरे नागराज जो कब से खड़े थे, उसे देख कर दीपा ने एक नॉटी सी मुस्कान दे दी. संदीप ने मोबाइल उठाया और अपने फोन पर बात करने के लिये दूसरे कमरे में चला गया.

वह बहुत ही ज्यादा कमीने और गंदे इंसान थे यह मुझे बाद में अच्छे से समझ में आ गया. उसमें अम्मी बोल रही थीं- शकील क्या कर रहे हो … छोड़ दो, कोई देख लेगा.

अब आगे की कहानी :संदीप जाते समय चारू को मेरे लिए चाय बनाकर देने के लिए कह गया था.

मैंने उसे वापस अपने लौड़े पर बिठाया और किस करने लगा।दोनों बहनों की टाइट चूत इस बात की गवाह थी कि इनकी खातिरदारी किसी ने काफी वक्त से नहीं की है।मैंने मेघा की नंगी पीठ पकड़ी और फिर हल्के हल्के लण्ड अंदर करने लगा. मेरी बड़ी बहन की चूत चुदाई की कहानी के पिछले भागमेरी आपा की औलाद की ख्वाहिश-2में अपने पढ़ा कि कैसे गलती से मैंने अपनी आपा की चुदाई कर डाली थी और मैं समझ रहा था कि मैंने अपनी बीवी की चुदाई की है. वो अपने दोनों हाथों को इस प्रकार छटपटाने लगी जैसे कोई मछली बिन पानी छटपटाती हो।दोस्तो, क्या मजेदार अनुभव होता है जब लंड किसी योनि के अंदर होता है.

सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर पाठवा [emailprotected]सेक्सी भाभी स्टोरी हिंदी का अगला भाग:मेरी पड़ोसन भाभी के साथ सेक्स का जुगाड़- 2. हॉट भाभी स्टोरी हिन्दी के अगले भाग में भाभी की चुदाई का पूरा सीन आने वाला है.

अब मैंने एक झटका लगाया और अपना पूरा लन्ड उसकी गांड में डाल दिया और धीरे धीरे उसकी गांड में धक्के लगाने लगा।करीब बीस मिनट तक ज्योति की गांड मारने के बाद मैंने अपना लन्ड उसकी गांड से निकाल लिया. उसके बाद मम्मी जी नहाने चली गयी और मीनाक्षी सीधा मेरे कमरे में आ गयी झाडू लेकर. दोस्तो, मैं अन्तर्वासना सेक्स कहानी की इस विश्वविख्यात साईट पर आपका स्वागत करता हूँ.

सरदार सेक्सी फिल्म

कुछ ही देर में भाभी मेरे सर को अपनी चुत के ऊपर दबाने लगी और उन्होंने अपने दोनों टांगें मेरी पीठ के पीछे बांध दीं. वो कहने लगी- आशु, तू ये क्या कर रहा है मेरे भाई … तुझे सेक्स करना है तो कर ले …ये सब क्या कर रहा है?मैंने कहा- मेरी बहना, आज हम दोनों वाइल्ड सेक्स करने वाले हैं. जिसको वो पहले तो पूरा पी गया और फिर उनकी चूत पूरी चाट चाट कर साफ कर दिया।अब मामी उठी और सागर की गोद में बैठ कर उसको बहुत प्यार करने लगी और साथ ही साथ बोली- आज पहली बार किसी ने मेरी चूत चाट कर मेरा पानी पिया है.

टीना- अच्छा जी!ऐसा कहने के बाद वो मेरे होंठों से अपने गर्म गर्म होंठों मिला कर मुझे किस करने लगी. ये बोलकर वो अपने घर की तरफ गांड मटकाती हुई चल दी।मैं उसकी मस्त बॉडी और गांड को देखकर हमेशा आहें भरता रहता थी लेकिन मेरी किस्मत देखो … कभी जिस भाभी को चोदने के सपने भी नहीं देख सका वो आज सामने से कितना गजब का ऑफर दे रही थी.

फिर नक्की की हुई जगह पर पहुंच कर मैं प्रियंका भाभी का इंतजार करने लगा.

एकाएक मेरे लंड से वीर्य निकलने लगा और चाची की चूत में मैंने सारा वीर्य भर दिया. मेरे सामने उनकी गोरी चिकनी चूत आ गई।मामी की गोरी चिकनी चूत को देखकर मेरे होश खोने लगे. वो भी अपने दूध मेरे मुँह में ठेलते हुए सिस्याने लगी- आह पी लो … चूस लो … बहुत दिनों से तुम्हारे लिए तड़फ रही थी.

क्लास में हुई इस घटना के बाद मैं जरा सहम गया था कि लौंडिया भड़क न जाए. मेरा ये कुर्ता छोटा था लेकिन उसमें गला काफी खुला हुआ था, जिस वजह से सामने से मेरे मम्मों की क्लीवेज काफी खुली दिख रही थी. मैंने उन्हें बोला- बुआ ठीक है, पर मैं आप दोनों की गांड मारना चाहता हूँ.

बहन चोद सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं मामा के घर गया तो उनकी बेटी जवान हो चुकी थी, गजब माल लग रही थी.

बीएफ 18 साल की लड़की की चुदाई: उसने अम्मी को बताया कि उसको कोई बच्चा नहीं है जिसकी वजह उसका पति है. पहले उसने बड़ी ही वासना भरी नजरों से ब्लाउज में कसी हुई मेरी चुचियों को देखा और अचानक से वो मेरे मम्मों पर टूट पड़ा, उनको मसलने लगा दबाने लगा.

मैं बोला- क्या वाकयी मैं तुम मुझसे फ्रेंडशिप करना चाहती हो?वह बोली- जी हां भाईजान, मैं तुम्हें जान से ज्यादा प्यार करती हूं … और मैं चाहती हूं कि तुम हमेशा मेरे ही रहो. पता करने पर पता कि वो साइंस वाले सर के साथ ऊपर लैब में गयी हैंइस पर मॉनिटर ने मुझसे कहा कि तुम वहां जाकर मैडम को बुला लाओ. कुछ ही देर में वह भी मेरा साथ देने लगी और अपनी गांड उठाकर मेरा पूरा लंड अपनी गांड में लेने लगी.

हम पांच मिनट तक होंठों के रस को खींचते रहे और मेरा हाथ मौसी की चूत पर खेलता रहा।अब मौसी एकदम से चुदासी हो चुकी थी.

चूमते चूमते मैंने उसकी साड़ी खोल दी और उसके बाद मैंने उसका ब्लाउज खोला और उसके चूचे दबाने लगा. उनकी गोरी नाजुक उंगलियों ने मेरी छाती को जकड़ लिया था, इससे उनकी चूचियां मेरी पीठ पर कहर बरपा रही थीं. जब अम्मी फूफा जी को दूध देने गईं, तो उनको हल्की आवाज में बोला कि शकील आया हुआ है, आज लेन देन नहीं हो पाएगा.