रंडी की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी ब्लू पिक्चर फिल्म हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

चाइनीस में बीएफ: रंडी की सेक्सी बीएफ, मैं भूल गया था कि टीवी में डीवीडी ऑन होने की वजह से पॉर्न चल जाएगी.

सनी लियॉन बफ

ये सब बोलकर उसने मुझे गले लगा लिया और रोने लगी, वो मुझे गर्दन पर चुम्बन करने लगी और फिर मैं भी पिघल गया. সেক্সি ব্লু ফিল্ম চুদাচুদিइस बार वो मेरी चूत में अपनी दो उंगली डाल कर मेरी चूत उंगली से चोदने लगा.

मैंने कहा- यह कैसे हो सकता है? वह तो मुझसे बड़ी हैं और शादीशुदा हैं. बफ चुड़ै वालीअंकल ने उसकी धुआंधार चुंदाई चालू कर दी, उनका पूरा लंड अरुणा की चूत में अन्दर बाहर हो रहा था.

शॉल को फिर से ओढ़ लिया और मेरे लौड़े को पकड़कर अपनी चूत पर सैट किया, आराम से अन्दर डाला और आगे की सीट पे झुकाव किया.रंडी की सेक्सी बीएफ: पहले शायद वो डरती‌ थी, मगर अब प्रिया के बारे में पता लगने‌ के बाद इसमें हिम्मत आ गयी थी.

तीसरी रात को मैं करीब 1 बजे कॉफ़ी पीने नीचे ग्राउंड फ्लोर पर जा रहा था तो मैंने उससे पूछा- तुम भी चलोगी?तो बोली- चलो।9वें फ्लोर से एक लिफ्ट सीधा ग्राउंड फ्लोर पर जाती थी बीच में कहीं नहीं रूकती थी।रोजी बोली- इसी से चलते हैं, बीच में कोई डिस्टर्ब नहीं करेगा.उसके बाद उसने अपना हाथ नीचे ले जाते हुए अपने अंडरवियर को निकाल दिया और फिर उसने मेरा एक हाथ अपने लंड पर रखवा लिया और मैं भी उसका लंड आगे-पीछे करने लगी और वो मेरी चूत में उंगली करने लगा.

xxxx बीपी - रंडी की सेक्सी बीएफ

उसने भी इस बात को माना कि उनके पति से कहीं ज्यादा अच्छे से मैंने उसको चोदा.तभी वो रुक गया और मेरे दोनों घुटनों को उसने दबा कर मेरे कंधों से लगा दिया और अपना लंड मेरी गांड की जड़ तक मेरे अन्दर ठोक दिया.

यह देखकर मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा, लेकिन मैं क्या कर सकता था. रंडी की सेक्सी बीएफ मैंने भी अब सोचा कि जब ये लड़की होकर नहीं डर रही तो मुझे क्या है और वैसे भी घर‌ में नेहा ही है, जिसको पहले से ही सब पता है.

फिर मैंने उसे बिस्तर पर ही लिटा दिया और उसके नाजुक मुलायम होंठों पे अपने होंठ रख दिए और किस करने लगा.

रंडी की सेक्सी बीएफ?

लिहाजा बगल में रखे हुए थर्मस से गरम पानी निकालकर उसने पहले अपनी चूचियों से लेकर पेट से होते हुए चूत तक की सफाई की. वो अजीब अजीब सी आवाजें निकालने लगी- ऊई आआआईई … उम्म्ह … हह …मैं उसकी टांग उठा कर घमासान चुदाई करने लगा. सुखबीर ने उस दिन दुकान नहीं खोली और उसने करीब 11 बजे मुझे स्टेशन के पास मिलने को कहा.

कुछ देर ऐसे ही तूफानी चुदाई करने के बाद वह अचानक से रुक गई, शायद दादाजी का पानी सोनल की चूत में ही गिर गया था और सोनल भी उसी वक्त झड गयी थी. मैंने पूछा- मैं जीजा जी के पास ही सो जाऊं?दीदी ने हां कह दी, तो मैं अपने जीजाजी के साथ जाकर सो गई. मैंने कहा- आप मजाक तो नहीं कर रही हो?तो बोली- व्हाट्सएप्प पर वीडियो कॉल करके देख लो.

भाभी बोलीं- हाँ मेरे देवर राजा … आ जाओ … मुझे जल्दी से चोद दो! अपनी भाभी को मजा दे दो आज पूरी चुदाई का!मैंने भाभी को बिस्तर पर चित लिटा दिया और लंड उनकी चुत पर लगा कर झटका दे मारा. गाड़ी अपनी स्पीड से चल रही थी, तभी चार पांच मिनट बाद धीरे-धीरे से मेरा दर्द कम होने लगा और मैं अब बिल्कुल अपने आप से बाहर होने लगी. भाभी- क्या यह ठीक होगा?ये बात सुनके मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया कि ये खुद मुझे चाहती हैं, तो मैंने जिद सी करते हुए बोला- भाभी मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ.

मैं और मेरी पत्नी बहुत खुले विचारों के हैं, हमको अगर कोई लड़की या शादीशुदा औरत इस तरह की मिलती है तो हम दोनों ही साथ में उसकी चुदाई करते हैं. वो- तू रुक … अभी बताती हूँ कण्ट्रोल कैसे होता है … तेरी मम्मी को जब पता लगेगा तो अपने आप ही सीख जाएगा.

वो मेरी आंखों में आंखें डाल कर मुझसे बोला- बोल न … सबके लंड एक साथ लेगी?मैं उसकी तरफ आंखें करके एकटक उसे देखने लगी.

मेरी पिछली कहानी पढ़ने के बाद मुझे एक लड़की का मेल भी आया है कि वह हमारे साथ सेक्स करना चाहती है.

हमारे इस वासना के खेल के बाद हमने एक दूसरे को किस किया और जरूरत होने पे एक दूसरे की प्यास बुझाने का वादा किया. प्रियंका ने इतना बड़ा लंड आज तक देखा ही नहीं था तो उसका डरना और घबराना ज़ाहिर सी बात थी क्योंकि मेरा लंड भी 5. मैंने उससे पूछा- तुम क्या चाहती हो?वो बोली- रात की बात को देखकर तो मैं तुम्हारी और दीवानी हो गई हूँ.

मुझे भी तो पता चल जाए कि वो है कौन और देखने में कैसी है?वह बोली- पक्का तुम किसी को नहीं बताओगे?मैंने कहा- मैं चुतिया हूँ क्या जो किसी को बताऊंगा?वह तपाक से बोली- तो फिर अपनी इस बहन की जरूरत पूरी कर दे. मैं जैसे ही राजा जी बोली, वो ठाकुर अंकल बोले- वाह तेरी आवाज भी बहुत सेक्सी है वन्द्या. इसी के साथ मैंने उसकी स्कर्ट का बटन भी खोल दिया, जिससे स्कर्ट नीचे गिर गयी.

मैंने चौंक कर उसकी तरफ देखा और उससे विनती भरे शब्दों में कहा- क्या हुआ?उसने इशारे से मुझे दरवाज़े की तरफ दिखाया, तो मुझे होश आया कि मैं भी कितना बेवक़ूफ़ हूँ, दरवाज़ा पूरा खुला हुआ था.

आह … क्या गर्म चूत थी उसकी, मानो किसी आग की भट्टी पर ही मैंने अपना हाथ रख दिया हो … मैं अच्छे से उसकी चुत को सहला कर देखने लगा. मेरी खुली गांड में उसका लंड पूरा एक ही झटके में घुस गया, क्योंकि दो लंड के रस के कारण बहुत चिकनी गांड हो चुकी थी. इससे मेरी चुत में खलबली मची हुई थी, मैं अपनी जांघों को एक दूसरे पर रगड़ रही थी.

ऐसा सच में होता है क्या?मैंने कहा- बिल्कुल होता है, तुम्हें करवाना है क्या?इस पर वो बोली- मैंने वो मजाक में कह दिया था, मैं ऐसा सोच भी नहीं सकती. मैंने कहा- अगर दोनों मर्जी से कर रहे हैं तो किसी को क्या पता चलेगा. दस मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैंने उसकी गांड से लंड निकाला और चूत के छेद में लगा दिया.

पहले तो वह हटाने लगी- भाभी, आप क्या कर रही हो?तो मैंने उससे कहा- मैं भी तुम्हारी तरह भूखी हूँ सुमन!फिर वह कुछ नहीं बोली और मुझे किस करने लगी और हम दोनों एक-दूसरी को मदमस्त होकर चूमने चाटने लगे।तब मैंने कहा- सुमन, आज रात को हम लेस्बीयन सेक्स करें?तो वह कहने लगी- ठीक है भाभी!मैं रात को 12 बजे के बाद आऊँगी!”ठीक है भाभी, मैं आपका इन्तजार करूँगी!”फिर मैं चली आई और रात का इन्तजार करने लगी.

रात में खाना ख़ाकर हम बैठे थे पर पियू के पति (रमेश, काल्पनिक नाम) खाना खाने के बाद भी ड्रिंक कर रहे थे. उसने यही सवाल मुझसे पूछा तो मैंने भी उसे अपने ब्वॉयफ्रेंड से चुदने की बात बता दी.

रंडी की सेक्सी बीएफ फिर रात को फेसबुक में उसका मैसेज आया- आपने तो मेरे से बहुत गुस्से बात की. वो मेक्सी इतनी जालीदार थी कि उसमें से उनकी छोटी सी ब्रा से उनके 38 साइज़ बूब्स बड़े मस्त कमाल के लग रहे थे!चाची सोने के लिए अपने रूम में चली गई और मैं वहीं उसी हॉल में सो गया.

रंडी की सेक्सी बीएफ फिर उसको अचानक खांसी आने लगी तो मैंने लण्ड को बाहर निकाल लिया।मैंने देखा कि मेरा पूरा लण्ड ऊपर से नीचे तक उसकी लार में सन गया था।मैंने अब दोबारा से उसके चूचों को चूसना शुरू कर दिया. जगत अंकल एक हाथ मेरे पीछे तरफ से कमर में डालकर मेरे कान में बोले- आई लव यू मेरी प्यारी बीवी … मेरी वन्द्या.

शाम को जब मैं घर आया तो मैंने एक अनजान खूबसूरत भाभी को अपने घर में देखा.

जानवी कपूर सेक्सी

तभी कुछ देर बाद चाची ने मुझसे कहा- अगर तुम्हें नींद आ रही है और अगर तुम सोना चाहो तो पास वाले कमरे में जाकर सो जाओ!मैंने उनसे कहा- नहीं चाची, मुझे अभी नींद नहीं आ रही है, मैं अभी यहीं पर बैठ जाता हूँ. वो दीवानी हो गई और मेरी कमर पकड़कर खींचने लगी और कहने लगी- प्लीज मुझे मत तड़पाओ और जल्दी से मुझे चोद दो … प्लीज मैं और बर्दाश्त नहीं कर सकती … प्लीज. मैंने वंदना की कमर में हाथ डालकर वंदना की ब्रा को खोल दिया और उसके बाद वंदना की एक चूची को चूसने लगा.

”अपना लंड डालो मेरी चूत में मास्टर जी, लंड पेल दो मेरी प्यासी चूत में. अब मुझे कुछ सुनाई नहीं पड़ रहा था सिवाए इसके कि इस डिल्डो को अन्दर बाहर किया जाए. मैं देख कर हैरान रह गया, उसने मेरा झूठा पानी पी लिया और बोली- झूठा खाने पीने से प्यार बढ़ता है.

फिर मैंने मालिनी का ब्लाउज उसके बदन से अलग किया और उसने लाल ही कलर की ब्रा पहन रखी थी, मैं समझ गया कि मालिनी ने पहले से ही सब प्लान कर रखा है.

चाची की चुदाई के बाद मुझे चुदाई का ऐसा चस्का मुझे लग गया था कि अब चूत के बिना रहना मेरे लिए मुश्किल था. चूत में तो मुझे बहुत मजा आया लेकिन गांड में कई दिन तक मुझे दर्द होता रहा. मेरे अंदर सेक्स की आग जल उठी और मैंने रूम का दरवाजा बंद किया और अपने सारे कपड़े उतार दिए और मैं अपनी चूत में उंगली करने लग गयी.

उसकी चूत को देखकर लग भी नहीं रहा था कि इसमें से तीन बच्चे निकाले हुए हैं साली ने. जब आखिर में मेरा देवर मेरी चूत को अपने लंड से चोद रहा था, तो मैं उसको जकड़े हुए थी क्योंकि वो बार बार लंड बाहर निकाल कर चूत चूसने लगता था. नेहा ने अपनी चूत के होंठों को एक हाथ से पूरा खोल लिया और धीरे से खड़े लंड पर बैठ गई.

मैंने अपनी बांहों में रवि को जकड़ लिया और उनकी पीठ में नाखून से नोंचने लगी. यार क्या बच्चों की सी बात करती है? पहली बार में थोड़ी स्वेलिंग हो गई.

नेहा जोर से मेरे मम्मे को दबाते हुए बोली- पागल हो क्या … हम दोनों बस में हैं. सब कुछ सही जा रहा था, सारी तैयारी पूरी हो गयी थी कि जाने के कुछ दिन पहले पता चला कि मेरे दोस्त के कजिन की बैंक की परीक्षा उसी वक़्त है और उसे अटेंड करना ज़रूरी है तो उसका जाने का प्रोग्राम रद्द हो गया. रमीज झड़ते हुए बोला- मुझे लग रहा था कि तेरे मुँह में ही आज मेरा काम हो जाएगा.

उस दिन वह मुझसे अपने दोस्त के फ्लैट में मिलना चाहता था तो मैने भी हाँ कह दी.

फिर मैं भी नई दिल्ली स्टेशन पर उतर कर होटल गया और अपने काम कर वापस लौट गया. घर के काम करते वक्त कभी कभी पल्लू अपनी जगह पर नहीं रहता था, कभी पेट खुला पड़ जाता, तो कभी ब्लाउज में से स्तन दिखने लगते थे. फिर मैंने पानी पीने का बहाना करके उनसे पानी लिया और वहीं खड़े रह कर भाभी से बातें करने लगा.

और मज़ाक में यह भी कह दिया कि वो अब हमारी बेबी को लेकर ही वापस आएगी. फिर मैंने उसके लोवर के अन्दर हाथ डाल कर उसकी गांड को दबाना चालू कर दिया, क्या मस्त मखमली गांड थी.

मगर बाद में उसने अपनी चादर मेरे पैर पर भी डाल दी और अपना हाथ मेरी पैंट पर रख दिया और धीरे-धीरे अपना हाथ चलाने लगी. उस रात मैंने वंदना की 5 बार चुदाई की, जिसमें से 2 बार गांड मारी, तीन बार चुत को चोदा. रास्ते में मैंने कार एक पेट्रोल पंप पर रोकी और अपने मकान मालिक की बीवी, राखी आंटी को फ़ोन करके कहा कि मेरी पत्नी आ रही है.

స్వాతినాయుడు బిఎఫ్ సెక్స్

आते ही मैंने सोनू से फिर हाथ मिलाया और कहा- तो फ्रेंडशिप पक्की!सोनू ने अपना सिर हाँ में हिलाया.

शायद भाभी की ये प्यास ही थी, जिसने इतनी जल्दी उन्हें अब फिर से उत्तेजित कर दिया था. और फिर शाम को मैं एक बोतल व्हिस्की लेकर आया और हमने साथ साथ पी, रात भर मज़े किए. वे गुर्रा कर बोले- एक बार बोल दिया, यहां कुछ भी मेरी मर्जी के खिलाफ नहीं होता.

वो भी एक चाची और भतीजे के बीच सब हो रहा था, जो शायद जल्दी से कहीं नहीं होता होगा. उंगली करते-करते कुछ देर बाद मेरा पानी निकल गया और मैं निढाल होकर बेड पर लेट गयी. देसी सेक्सी वीडियो जंगलअब मैंने उसकी आदत ऐसी बना दी है कि वह अपनी चूत में 2 लंड लेकर एक गांड में भी ले लेती है, मतलब मेरी बीवी अब एक साथ 3 लंड भी ले सकती है.

सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार! मैं अन्तर्वासना की कहानियाँ काफी लम्बे समय से पढ़ रहा हूं। आशा है कि आप भी इन कहानियों को पढ़कर मज़ा ले रहे होंगे. मैंने पता किया कि वो अपने फोन पर गन्दे फोटो और चुदाई की फिल्म देखती थी.

मैंने पूछा- तो समस्या क्या है, अगर बेबी के लिए दूध नहीं है तो मैं कुछ करता हूँ. वो मेरी बहन को अपनी गोद में लेकर चोद रहा था और बोल रहा था कि आज पचास हजार वसूल ही कर लूंगा. कुछ पल के दर्द के बाद भाभी भी अब अपनी गांड उठा उठा कर लंड के मज़े लेने लगीं.

अब तक उसका लंड पूरा खड़ा हो चुका था और उसने तुरंत उसे मेरे मुँह में पेल दिया. मैंने कहा- यहाँ अँधेरे में कौन देखेगा?मैंने धीरे-धीरे लता के ब्लाऊज़ के ऊपर हाथ फिरना शुरू किया, लता ने थोड़ी देर बाद ब्लाऊज़ के ऊपर के दो-तीन हुक खोल दिए. उसको सर के हाथ मजबूरी में भी अपनी छातियों पर गंवारा नहीं हुए और वह घबराकर अपना पूरा ज़ोर लगा कर उठ बैठी और अगले ही पल खड़ी हो गयी,छोड़ो मुझे … मुझसे नहीं होगा ये सब …”तो चूतिया क्यूँ बना रही है साली … अभी तो पूछ रही थी कि क्या करना है … अब तुझसे होगा नहीं … तुझे तो मैं कल देख लूँगा …” सर ने कहा और अपनी खीज मुझ पर उतार दी.

सबने मेरे बारे में पूछा कि ये हैंडसम जवान लौंडा कौन है? क्या बॉडी है साले की …और वे सब इसी तरह की बातें करते हुए मेरी शर्ट के अन्दर हाथ डाल कर मेरे सीने पर हाथ फिराने लगीं.

अब अरुणा से इस तरह की बात होने के बाद मैंने जल्दबाजी में फेसबुक पे एक लड़के से कहा कि मेरी एक दोस्त से नंगे होकर बात करोगे?तो उसने हां कर दी. उसकी शादी को 9 साल हो गये हैं लेकिन फिर भी अभी तक वो इतनी हॉट लगती है कि उनको देखकर मैं हमेशा उनकी तरफ आकर्षित होता रहता हूँ.

जैसा सोनू बताया करती थी उससे तो कहीं ज्यादा सुंदर थी उसकी मां देखने में. और मैं उंगली जोर जोर से उसकी चूत में घुसाने लगा उसके कपड़ों के ऊपर से. अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी चूत को अनवर जोर जोर से चोद रहा था, धक्के मार रहा था.

जिस चरम को पाने के लिये उसने आँखें बन्द की हुई थी, मेरे हाथ लगाने भर से वो उसकी आँखें खुल गयी. देखने में भी अच्छे नहीं थे और रोमांस नाम की चीज़ का तो उनको पता भी नहीं था. प्रमिला ने भी अपनी दोनों जांघों को मेरे सर के आजू आजू रख लिया और मैंने प्रमिला को उसकी कमर से पकड़ के अपनी तरफ चिपका लिया.

रंडी की सेक्सी बीएफ उन्होंने मेरी एक टांग उठाकर अपने हाथ से साधी और अपने लंड को धीरे से मेरी चूत में पेल दिया. मगर मालती भी पूरी खेली खाई हुई थी उसने अपना मुँह उठा कर जो डिल्डो उस ने अपनी कमर पर बँधा था, उसको मेरी चूत में डाल दिया.

ஷகீலா ஆண்ட்டி செஸ் வீடியோ

पर वो कहाँ सुनते? उन्होंने वापस अपना लंड मेरी योनि पर टिकाया ही था कि अचानक पिंकी की आवाज सुनकर पलट गये. मेरी पत्नी खुशबू के आने तक मैंने कविता भाभी को बहुत चोदा, करीब करीब रोज ही!फिर मेरा ट्रान्सफर दूसरे शहर में हो गया और हम यहाँ आ गये. अब धीरे-धीरे मेरी बातों का असर सरिता पर होने लगा था और मुझे पता लगने लगा था कि वह भी अब खुलने लगी है- पॉर्न देखकर उंगली कर लेती हूँ.

सुलेखा भाभी ने अब कुछ देर‌ तो धक्के तो‌ लगाये और फिर मुझे‌ बांहों‌ में भरकर वो‌ फिर से‌ पलट गईं,‌ जिससे एक‌ बार फिर अब भाभी मेरे नीचे आ गईं और मैं उनके‌ ऊपर चढ़ गया. मुझे चोदने के इरादे से आये हुए मेरे जेठ जी ने अन्दर अंडरगारमेंट्स भी नहीं पहने हुए थे. भोजपुरी सेक्स ओपन वीडियोहोंठ पर काटने से मैं दर्द से कराह उठा और जल्दी से अपने होंठों को नेहा के मुँह से छुड़वाकर उसके चेहरे की तरफ देखने लगा.

नेहा के होंठों और गालों पर अब भी मेरा वीर्य लगा हुआ था और उसके मुँह से भी मेरे वीर्य की महक आ रही थी.

और 9 इंच का मूसल जैसा लंड मेरी चूत में सेट किया और ज़ोर से धक्का मारा. मैंने उनसे प्यार भरी आवाज में विनती करते हुए कहा- नहीं आंटी, मैं आपको सिर्फ़ बस एक बार गले लगाना चाहता हूँ!उन्होंने गुस्से में आकर मुझसे कहा- नहीं! क्या तुम्हें एक बार कहने पर समझ में नहीं आता?मैं अब उनका जवाब सुनकर एकदम उदास हो गया और अपने पलंग पर जाकर सो गया.

आंटी बोलीं- गुड … मुझे ऐसे लड़के बहुत पसंद हैं … तुम बुरा न मानो तो तुम्हारे लिए एक काम है, तुम करना चाहो तो कहूँ?मैंने तुरंत हां कर दिया- काम तो बताओ आप?तो आंटी बोलीं- क्या तुम मेरे बच्चों को ट्यूशन दे दोगे?मैं बोला- हां क्यों नहीं. दोस्तो, मैं मोहिनी हूँ, एमए की छात्रा हूँ … और हरियाणा के कैथल की रहने वाली हूँ. कमरे की लाईट आफ थी नाईट लैंप की थोड़ी रोशनी में हम मम्मी पापा की चुदाई का खेल देख रही थी.

मैं- अच्छा, फिर तुम क्या करती हो?सरिता- जाने दो, मुझे नहीं बोलना, तुम खुद ही समझ लो.

मैंने उत्तेजना में उनका ब्लाउज फाड़ दिया और ब्रा के ऊपर से उनके रसीले मम्मों को चूसने लगा. प्रिया की बहन नेहा की चुत को उस रात मैंने देखा तो नहीं था मगर हाथों से महसूस जरूर किया था. फिर हम दोनों ने शाम को डिनर किया और सोने का टाइम हो गया तो भाभी बोलीं- आशिक आप मेरे कमरे में ही सो जाना.

क्सक्सक्स हॉट सेक्सीअगले दिन जब मैं ऑफिस से घर आया तो मैंने देखा कि अनु और करण पाल एक कमरे में पास पास बैठे थे और बातें कर रहे थे. कुछ देर निढाल रहने के बाद भाभी बोलीं- अब और कितना तड़पाओगे … डाल दो अपना लंड मेरी चुत में राजा!मैंने अपना लंड चुत पर सैट किया और धक्का लगा दिया.

देहाती सेक्सी वीडियो बिहार के

उसने बोला- जान, सही से चुदवा लो वरना वियाग्रा खा कर चोदा, तो सुबह तक चोदूँगा. वो बोलीं- कोई बात नहीं कुमार मैं भी झड़ गयी हूँ, मुझे भी बहुत मज़ा आया और तूने पहली बार किया है ना. उसने नीचे बैठकर मेरे लंड को बाहर निकाला और उसे मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

उम्म्ह… अहह… हय… याह…तब महेश बोला- कुछ नहीं होगा, दो मिनट सब्र रख ले. अबकी बार मैंने राहुल के लंड को अपने मुंह में लेने में बिल्कुल भी देर नहीं की. फिर हम लोगों ने सुबह खिड़की के ऊपर का वेन्टीलेटर खोल दिया जिससे कि रात को मम्मी पापा को हम सेक्स करते हुये देख सकें.

मेरे अंदर सेक्स की आग जल उठी और मैंने रूम का दरवाजा बंद किया और अपने सारे कपड़े उतार दिए और मैं अपनी चूत में उंगली करने लग गयी. मैं घर से निकल गया और जहां शादी थी, वहां से कुछ ही दूरी पर मेरे दो चाचाओं के घर आस पास थे. मैंने फिर से उसके चूचे दबाने शुरू किए, पर उसकी चूत में उंगली करने का कोई जुगाड़ नहीं हो रहा था.

अपने बांए हाथ से मेरी गांड को थोड़ा फैलाया, दांए हाथ में अपना लंड पकड़कर मेरी गांड के छेद पर सैट किया और लंड को मेरे गांड में घुसाने लगे. मैंने उसे रिक्वेस्ट सेंड की तो 2 दिन बाद उसने उसे एक्सेप्ट कर लिया.

दोस्तो, यह थी मेरी और बुआ की बेटी , मेरी फुफेरी बहन वंदना की बुर गांड चुदाई की कहानी.

अंकल ने उसकी धुआंधार चुंदाई चालू कर दी, उनका पूरा लंड अरुणा की चूत में अन्दर बाहर हो रहा था. बुआ भतीजाधीरे धीरे सोनल ने लुंगी उनके जांघों के भी ऊपर सरका दी और उनकी जांघों पर अपनी उंगलियां घुमाने लगी. ब्लू फिल्म के चित्रसुबह 11:00 बजे मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि वंदना मेरे लिए चाय बना कर लेकर आयी थी और उसी ने मुझे जगाया था. लिहाजा कुछ ज्यादा ही नाटक करते हुए भड़क उठी और बोली- साले कुत्ते, समझता क्या है अपने आप को? शादी के पहले तीन-तीन लंड खाई हूं और तुझसे तगड़े लंड का मजा भी ले चुकी हूं.

हां उसकी चुत इन सबसे ज्यादा कयामत थी, जो मैं आपको आगे कहानी में भाभी की चुदाई के वक्त आपको बताऊंगा.

तो उन्होंने नामित से पूछा- ये दोनों कहां हैं?नामित बोला- विराट तो रेडी होकर निकल गया, उसे कोई काम था, वो कह गया है कि रात में लेट आएगा और मेरी मॉम एक सहेली के यहां गयी हैं. इससे वो फिर से कसमसा उठी- इइईईई … श्श्श्श्शश … मम्मीईईई … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओय्य्यय … ह्हह्ह्हह!नेहा फिर से चीख पड़ी और उसने अपने दोनों हाथों से मेरी कमर पर कस कर चिकोटी भर ली. मैंने देखा देविका मैडम छाते के साथ हाथ में टिफिन लिए मेरे गेट पे खड़ी थी.

दो मिनट में उस आदमी का लंड कड़क हो गया तो वो आदमी मेरी बहन से बोला- चल अब तू उल्टी हो कर लेट जा. मेरे मन को बहुत बुरा लगा कि मर्द होकर खुद सीट पर बैठ गए और बूढ़ी और जवान औरतों को नीचे बिठा दिया. नेहा की जांघों के बीच बैठकर मैंने एक हाथ से अपने लंड को पकड़कर सीधा उसकी मुनिया की फांकों के बीच लगा दिया.

सूपर डांसर

मैं आपको आज बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी बुआ की लड़की वंदना की सील तोड़ी और गांड मारी. फिर वो अचानक से चिल्ला भी नहीं सकीं, क्योंकि उनका मुँह मेरे मुँह से दबा था और मैं उनको ज़ोर-ज़ोर से किस करता गया और धक्के लगाते गया. इसके बाद अगले भाग में अपनी आपा सारा के हलाला का जबरदस्त चुदाई का किस्सा सुनाने वाला हूँ.

मन में तो आया कि कह दूं कि आप जाइये तो बस … फिर ऊषा का और घर का मैं बराबर ध्यान रखूंगा.

मेरे गांड में लंड न लेने की बात को वह मान तो गए लेकिन बिल्कुल गांड ही ही तरह मुख की चुदाई का आग्रह करने लगे, जिसे मैंने सहर्ष स्वीकार किया.

फ़िर हाथ फ़ेरते फ़ेरते उसने मेरे आंड को मसलना शुरू कर दिया और लंड के आस पास चाटती रही और साथ में दूसरे हाथ से मेरे निप्पल को मसलने लगी. किसी पराये मर्द की बीवी को चोदना … उसकी शारीरक बनावट से तृप्त होना. एक्स ब्लू सेक्सफाइनली वो अपनी सहेली से मिलने जाने का बहाना बना कर मेरे साथ फ्लैट पर आ गयी.

तब मम्मी ने बोला कि मैं भी उसी में चली जाऊं?तो राज अंकल बोले- दोनों गाड़ियां साथ ही चलेंगी, कोई दिक्कत नहीं है. और फिर शाम को मैं एक बोतल व्हिस्की लेकर आया और हमने साथ साथ पी, रात भर मज़े किए. मैं पहली बार किसी लड़की को बिना कपड़ों के देख रहा था … बड़े बड़े उसके बूब्स और चूत पर एक भी बाल नहीं … जैसे उसने आज ही झाँट साफ़ की हों!मुझे मनीषा के शरीर में सबसे अच्छी उसकी गांड लगी.

इसके बाद उन्होंने अपना तौलिया या गमछा जो वे कंधे में डाले थे, उसे इस तरह से मेरी जांघ में स्कर्ट के ऊपर डाल दिया कि नीचे कुछ भी हो, किसी को दिखे ही नहीं और किसी को कुछ समझ ना आए. मस्त फिगर है और वह बोलचाल में बहुत अच्छी है।मेरी उम्र 36 वर्ष है और मेरा फिगर 36सी 34 38 है।जैसा कि पहले आप मेरी स्टोरी पढ़ चुके हैं कि मुझे लेस्बीयन सेक्स बहुत ही पसन्द है.

मैंने जैसे ही चाची को अपनी तरफ घुमाया, वाउ उनके दो मोटे रसीले आम मेरे सामने थे.

बहरहाल मनीषा की सलाह पर नीना ने अपनी चूत में अन्दर-बाहर चारों ओर दिन में चार-पांच बार बोराप्लस क्रीम को रब किया और साथ ही ब्ल्यू इंक भी लगाई. मैंधीरे-धीरेउसकीकमरकोसहलानेलगा,सलोनीकेजिस्मकाकम्पनमुझेमहसूसहोरहाथाऔरहोभीक्यों न …पहलीबार वोकिसीलड़केकेसम्पर्क में आई थी. और हम दोनों कामवासना की मारी पीछे वाले दरवाजे से बाथरूम में घुस गयी और फिर पर्दे को हटा कर देखा तो मम्मी उस पर्दे पर ही नजर रखे थी कि हम दोनों आयी या नहीं! और जब हमारी नजर आपस में टकराई और मम्मी ने मुस्कुरा कर हम दोनों का स्वागत किया और पापा के साथ सेक्स करने में जुट गईं.

सनी लियॉन बफ और मैं उसे जोश के साथ झटके मार रहा था और वो भी नीचे से उछल उछल कर मजा ले रही थी. शर्त के मुताबिक, आज पहले राउंड में प्रशांत की जीभ को मेरी नीना की चूत का ग्रैंड मसाज करना था.

करीब एक घंटे तक उसने उस दिन बात की और मुझे सुबह दुकान पर दूध लेने आने का पूछा. अब जब मैंने उनको चोदने का सोचा तो मन बोला कि क्यों न सरोज चाची की गांड में ही लंड डाला जाए. लंड पर साबुन लगाकर मैं स्टूल पर खड़ा होकर सुनीता को देखकर मुठ मारने लगा.

सपना चौधरी मर गई क्या

मुझे ऐसा महसूस हो रहा था, जैसे मेरी योनि की पूरी मांसपेशियां सिकुड़ कर उसके लिंग को भींच रही थी. अब नामित ने अपने लंड को हिलाते हुए मुठ मारी और फुल जोश में माल निकाल दिया. आधे लोग नींद की डुलकियाँ लेने लगे और मैं अपनी जगह पर बैठ कर रास्तों का मज़ा ले रहा था.

मुझे उसकी तड़प और मज़ा देने लगी और मैं अपने फौलादी लंड को उसकी चूत में डालने लगा. पर इस बार मैं अड़ गयी- नहीं सर … ये नहीं!मैंने एकदम से सीधी खड़ी होकर कहा.

हम दोनों लोग बिस्तर पर नंगे लेटे हुए थे और वो मेरी दोनों जांघों के बीच में मेरी चूत को चाट रहा था.

उसने अन्दर आने से पहले मुझसे पूछा- सर, क्या मैं अन्दर आ सकती हूँ?मैंने कहा- यस कम इन. मैंने अपनी टी-शर्ट और जीन्स उतारी और उसके गाउन के ऊपर से ही उसकी चूचियों को सहलाने लगा. मैं जैसे ही थोड़ा हाथ ढीला करता, वो अपने हाथ से जोर से दबा देती और जैसे ही मैं थोड़ा धीरे से चूसता, वो मेरे बाल खींच कर चुची पर मेरा मुँह दबा देती, जैसे पूरी चुची को मेरे मुँह में ही डाल देगी.

सोये नहीं?तभी नानाजी ने हमारी तरफ अपनी टॉर्च चमकाई और बोले- लव भी आ गया तेरे साथ. मैं- अच्छा और क्या क्या तैयारी की है तुमने?नूपुर- सब कुछ तैयारी कर ली मैंने. नेहा उससे चुदने में हिचक रही थी लेकिन रिक्शा वाला बहुत हट्टा कट्टा था.

इस वक्त मैं नामित को और वो मुझे वासना भरी निगाहों से घूरे जा रहे थे.

रंडी की सेक्सी बीएफ: पांच मिनट बाद अनु ने पोजीशन बदलने को कहा, तो करण चित लेट गया और अनु उसके खड़े लंड पर चुत फंसा कर बैठ गई. मुझे लगा था कि यदि उन्हें गलत लगेगा तो वे मुझे दूर कर देंगी, लेकिन उस सूरत में मुझे ये जताने का बहाना रहेगा कि मैंने तो उनको चुप कराने का प्रयास किया था.

मैंने देखा कि गुड़िया तो चुदने की तैयारी के साथ अपनी बुर को क्लीन शेव करके आई थी. मुझे सुराख नहीं दिखा, पर एक रोशनदान था, जिसमें से सुनीता अच्छे से दिख सकती थी. मैंने इस साइट पर अभी कुछ दिनों से ही सेक्स स्टोरी पढ़ना शुरू किया है.

वो बोली- यह मत करो यार …मैंने बोला- करने दो न …वो बोली- नहीं जानू …मैंने हाथ हटा लिया और उसको अपनी तरफ खींच कर उससे चिपक कर बैठ गया.

मैं उसके अहसास को महसूस करने लगा था और मेरा लण्ड पैंट में तनाव में आना शुरू हो चुका था. उसने देखा कि गाड़ी में हमारे अलावा कोई नहीं है तो उसने मुझे एक ज़ोर का हग किया और बोली- तुम्हें सबकी कितनी फिकर है. फिर मैंने उसके लोवर के अन्दर हाथ डाल कर उसकी गांड को दबाना चालू कर दिया, क्या मस्त मखमली गांड थी.