बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो

छवि स्रोत,सेक्स मूवी सेक्स मूवी सेक्स मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

செக்ஸ் வீடியோ மூவி: बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो, मैं उस वक्त फुल जोश में थी, सो मैंने बोल दिया- हां आ जाना … करवा लूंगी … बहुत मस्त चोदते हो … तुमसे जरूर करवाऊंगी.

मराठी सेक्सी वीडियो दिखाओ

मेरा मन तो किया कि इसको अपने ऊपर ही लिटा लूं और कस के पकड़ लूं, पर मैं ऐसा नहीं कर सकती थी. रशियन गर्लइतना कहते ही मेरी आँखों में हवस उतरने लगी और मैं चुपचाप लेट गयी अब सोनू ने रोटी और सब्जी का पहला निवाला मेरी नाभि पे रखा और चाटने लगा.

फक मी और जोर से चोद!मैंने भी अपने लंड के झटकों की स्पीड तेज़ कर ली. एनिमल सेक्स सेक्सअब कार जैसे ही चली जगत अंकल ने मेरी जांघ पर अपना हाथ रख दिया और दो मिनट बाद मेरी जांघों को सहलाने लगे.

उसने बताया कि जीजू का औजार बहुत बड़ा और ज़बरदस्त है और वो उसको बहुत जबरदस्त तरीके से चोदते हैं.बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो: देन फ़क इट हार्ड! वैरी हार्ड!! आइ वांट टू बी फक्ड इन माय आस बाय बोथ ऑफ़ यू!!! ओओओ.

कुछ पल बाद मैंने नीचे बैठ कर उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को किस किया.वो तो मेरे लंड को ऐसे चाट रही थी, जैसे लंड चाटने में साली ने पीएचडी कर रखी हो.

गुड़िया के बाल कैसे बनाते हैं - बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो

मेरा रंग सांवला व सेक्सी है, लंड पोरा नपा हुआ 7 इंच लम्बा व 4 इंच गोलाई लिए हुए है.एक साल तक चुदाई के बाद भाभी बोली- मुझे तुमसे औलाद का सुख पाने की कामना है.

करीब चार-पांच मिनट तक उसने मुझे इतनी स्पीड से चोदा कि मैं बिल्कुल हांफने लगी. बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो कुछ देर बाद मम्मी ने खाना लगाया और मेरे साथ ही बैठ कर खाने लगी। खाना खाने के बाद मैं अपने कमरे में सोने चला गया.

फिर मैंने उसको अपनी गोद में उठा लिया और उसे लेकर पास पड़े सोफे पर बैठ गया.

बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो?

मैंने भाभी को अपनी गोद में बैठा लिया यानि अपने दोनों हाथ उनकी जांघों के नीचे से निकाल कर उनके कूल्हे पकड़ लिए और अपने हाथों के बल पर भाभी को ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया. वो मुझसे बोला- चल आज कॉम्पिटिशन रखते हैं कि कौन ज्यादा देर तक अपने माल को चोद पाता है. जब उसने अपनी बॉडी लगभग एक फीट मेरे ऊपर किया हुआ था, तभी उसका लौड़ा मेरे पेट में टच कर रहा था.

राज अंकल मेरी तरफ आए और बहुत धीरे से मेरे कान में बोले- सोनू, नीचे स्कर्ट टाइप का कुछ पहन लेना. उसने कान चूसते हुए गर्दन हिला कर हां कहा और नशीली आंखें ले कर अपनी गर्दन आगे कर दी. जिसकी गर्मी मुझे अपने लंड पे महसूस हुई और उसी के साथ मैंने भी अपना पानी भाभी की चूत में छोड़ दिया.

कम्मो ने पूरे मजे ले ले कर गोलगप्पे खाए; उसका मुंह पूरा खुलता और गोलगप्पा गप्प से खा जाती इधर मेरे मन में ये ख़याल आता की काश मेरा वाला गोलगप्पा भी ये मुंह में ले लेती, चूस डालती, चाट देती अच्छे से. अगर तुम्हारे पति को आपत्ति नहीं है तो मैं तुम्हारी हर इच्छा पूरी करने को तैयार हूँ!”मुझे कोई आपत्ति नहीं है… मेरे लिए मेरी पत्नी की इच्छा सबसे महत्वपूर्ण है!” मैंने सहर्ष अनुमति दे दी. रात को श्यामा का फोन आया और बोली- तुम्हारे लिए लंड का पक्का अरेंज्मेंट हो चुका है.

उसने लाल रंग की गहरी लिपस्टिक लगायी हुई थी, मेक-अप की उसको कोई जरूरत नहीं थी क्योंकि वो प्राकृतिक रूप से की बला की खूबसूरत थी, और वो इस वक्त एकदम माल लग रही थी. कहानी का अगला भाग पढ़ना बिल्कुल मत भूलिएगा दोस्तो क्योंकि अगले भाग में मेरे और रेवती के प्यार को अंजाम मिलने वाला है.

प्रिया को देखते ही मैं थोड़ा घबरा सा गया और तुरन्त उठकर बैठ गया, जिससे प्रिया के चेहरे पर हल्की मुस्कान सी आ गयी.

इसके बाद मैंने बिना देर किए अपनी पत्नि को चौपायों पर रख कर उसके पीछे घुटनों के बल खड़े होते हुए उसकी गांड मारना शुरू कर दिया.

लेकिन कहते हैं न कि टूट कर किसी को चाहो तो टूटने से पहले चाहत तुम्हारी होती है. उनसे इधर उधर की बातें होने के बाद मैंने आंटी से पूछा कि आपके हसबैंड नहीं आए?तो आंटी ने ‘ना. नेहा की दोनों चूचियों के निप्पल तन कर अब छोटी सुपारी की तरह बड़े व सख्त हो गए थे और उसके मुँह से भी हल्की हल्की सिसकारियां निकलने लगी थीं.

तभी मेरे दिमाग में आया कि आज घर पर बस प्रिया और सुलेखा भाभी ही हैं, रात को प्रिया कमरे में भी अकेली ही होगी … तो क्यों ना मैं आज रात में प्रिया के कमरे में ही चला जाऊं?यह बात मेरे दिमाग में आते ही मैं तुरंत अपने कमरे से बाहर आ गया. अंधेरा होने की वजह से उन्हें डर लग रहा था तो वो आवाज देते हुए बोलीं कि मैं दरवाजा बंद नहीं कर रही हूँ क्योंकि मुझे डर लगता है. तो सतीश बोला- अरे मैं नहीं देखता … मैडम के लिए तू नौकरी भी दांव पर नहीं लगा सकता क्या? उनको जरूरत है मदद की.

फिर औंधी हो गयी।कंधे की हड्डी, पक्खे, रीढ़ की हड्डी साफ तौर पर नुमाया थी। नितम्ब जो बाहर निकले हुए होने चाहिये और पहले कभी थे भी.

मेरी योनि की मांसपेशियां तेजी के साथ हर धक्के पे सिकुड़ने और ढीली होने लगी. मैं कराहते हुए उठ बैठने जैसी हुई और मैंने फिर से दोनों हाथों और टांगों से पूरी ताकत से उसे पीछे धकेल कर रोकना चाहा. बिल्कुल कोरे कागज सी सफेद उसकी गोरी गोरी व बड़ी बड़ी चूचियां और उन पर किशमिश के दाने के जैसे गुलाबी निप्पल को देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया था.

मैंने उंगली से डिल्डो के ऊपर थोड़ा सा नारियल तेल मलते हुए, थोड़ी ताकत लगा कर लगभग तीन चौथाई डिल्डो रशियन लड़की की गांड में उतार दिया. मैंने पहले तो उसकी दूध सी सफेद गोरी चिकनी जांघों को चूमा और फिर धीरे से उसकी चुत के फूले हुए उभार पर आ गया. वो मुझे बस पागल किये जा रहा था, मैं बिन पानी की मछली की तरह तड़प रही थी.

अब पीछे हिमांशु ने मेरे कूल्हों को फैला कर मेरी गांड में थूक लगाया और गांड में थोड़ी उंगली डाल कर अपना लंड फिट करके अन्दर जैसे ही डाला.

हालांकि वो चुदी हुई थी इसलिए वह दर्द को बर्दाश्त भी कर रही थी, उसे ज्यादा दर्द हो भी नहीं रहा था. तब मैंने उनसे कहा- आप एक हफ्ते की छुट्टी ले लो और हम रूम पर ही प्यार करेंगे.

बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो वो भी मस्त हो गई थी और मेरे सर पर हाथ फेर कर मुझेअपना दूध पिलाने में लग गई. उस दिन के बाद से मैं रवि की बहन को उसके सामने ही नंगा करके रोज़ चोद देता.

बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो थोड़ी देर बात करते करते मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और उसके हाथ को सहलाने लगा. मेरी चूत और गांड दोनों जगह ऐसी आग लगी, ऐसा कुछ हुआ कि बता नहीं सकती.

बैठने के बाद थोड़ा सा अपने चूतड़ों को उठाया और अपने हाथों से मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत से लगा दिया और फिर कुछ शर्मा कर अपनी कमर चलाकर मेरा लंड अपनी चूत में घुसेड़ लिया.

सेक्सी ब्लू पिक्चर वीडियो इंग्लिश

मुनीर की जीभ के पानी से मेरी योनि गीली हो गयी थी, पर अब मेरी योनि में भी नमी सी आने लगी थी. उनके जाने के बाद अगले दिन नीरू का फोन मुझे पास आया, उसने कहा- जीजू, मेरी बात पायल से हो गई है, वह तैयार है लेकिन शर्मा बहुत रही है, बोल रही है कि मैं उनकी पत्नी के सामने कैसे करवा पाऊंगी. क्योंकि सुलेखा भाभी की साड़ी व पेटीकोट उनके नीचे दबे होने के कारण अब और ऊपर नहीं हो रहे थे.

तभी मैंने नीरू के कपड़े उतारने शुरू कर दिए, पहले उसका कमीज उतारा, वह कमीज के नीचे नई ब्रा पहन कर आई थी. मैं जब पहुंची, तो मम्मी मुझसे बोलीं कि ये राज अंकल हैं, इनको तो तू जानती है … तुम्हारी मौसी के, मतलब मेरे भी नंदोई हैं. वो चिल्ला उठी उन थप्पड़ों के प्रहार से- हाँ, मैं रंडी हूँ! मुझे चोदो!मैं- किससे।सुशीला हाथ उठाकर- इससे।मैं- नाम बताओ।सुशीला- लंड से!मैं- हाँ … थोड़ा आकर मेरे लंड को चूस साली रंडी … प्यार कर अपने यार को!मानसी सारा खेल देख रही थी.

तभी उसने ऐसे ही अंगड़ाई लेते हुए अपना हाथ पीछे किया और वो सीधा मेरे खड़े हुए लौड़े से टकरा गया.

फोन और कम्मो के सूट बहूरानी को पसंद आये और उसने मेरी इस बात की तारीफ़ भी की कि मैंने कम्मो को कपड़े दिलवा दिए थे और अपना रिवाज निभा दिया था; अब वो बेचारी क्या जाने कि कम्मो की मचलती उफनती जवानी ने भी अपनी रीति निभा दी थी मेरे संग. 30 पे उसका कॉल आया पूछने के लिए मैं कब तक निकलूंगा फैक्ट्री से!मैंने ‘पांच मिनट’ बोल कर फ़ोन काट दिया. मैं- मुझे नहीं पता था चाची कि आपकी चूत से ज्यादा मजा आपकी गांड मारने में आएगा.

मुझे देखते ही उसने अपनी ऊपर पेंटी चढ़ा ली। लेकिन तब तक मैंने उन 2 सेकण्ड में उसकी नाजुक, गुलाबी, पावरोटी के जैसी फूली हुई चूत के दर्शन कर लिए।उसने मुझे देखा तो वो वहाँ से जाने लगी। जैसे ही वो जाने को हुई, मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी ओर खींचा। खींचते ही वो मेरी बांहों में समा गई। लेकिन मेरी बांहों में आते ही उसने मुझे जोर का धक्का दिया और मुझसे दूर जाने को हुई. फिर उन्होंने उसी बात पर जोर दिया कि गर्लफ्रेंड के बारे में बताओ न … क्या उसने इस तरह की कोई बात मॉम को बता दी है?मैंने कहा- कहा तो भाभी, कोई नहीं है. लेकिन उसके होंठ मैंने अपने होंठों से बंद करके रखा था, इसलिये उसके चिल्लाने की आवाज मुँह में ही दब गई.

आपको तो पता ही है कि शेर के मुँह में ख़ून लग जाए तो वो अपने शिकार को ऐसे कैसे छोड़ दे. अब क्या करूँ? क्या ना करूँ?” ये सोच सोचकर मेरा दिमाग खराब हो रहा था कि तभी मेरे दिमाग आया.

श्यामा ने मुझसे कहा कि वो आज जगेश (उस ऑफिसर का नाम) को अपने घर पे ले जा रही है, अगर तुमको भी साथ चलना हो तो चलो. फिर वो बेड पे से उठी अपने कपड़े ठीक किए और दरवाजा खुला था, वो बंद करने जाने लगी. इतने में मयूरी भाभी पास आ कर बोलीं- कमीनी, तेरी गांड है भी तो इतनी मस्त.

मैं अब हाथ से अपने लंड को जोर से दबाने लगता और एक हाथ से उसकी चूत को! इधर मेरी धोती प्रिकम से भीगने लगी थी, उधर उसकी सलवार … वो बीच बीच में सेक्सी नजरों से मुझे देखने लगती.

मुझे उसने संभलने का एक मौका भी नहीं दिया और पूरा लिंग मेरी योनि की गहराई में घुसा दिया. मैंने सोचा कि चलो जा कर देखते है शायद कोई दवाई की दुकान खुली मिल जाए तो उसी से पूछ कर कोई दवा ले लूँगा. वहीं पास ही एक कोल्ड क्रीम पड़ी थी, उसने वो उठा कर मुझे दी तो मैंने थोड़ी क्रीम उसकी चूत पर और थोड़ी अपने लंड पर लगाई.

सर की बात सही निकली, मैं खुद उनकी पीठ पर नाखून गाड़ कर, गांड उठा उठा चुदवाने लगी. जैसे ही मेरे हाथ उनकी मांसल जांघों पर से होते हुए थोड़ा सा नीचे की तरफ बढ़े, मेरे हाथ में उनकी साड़ी का छोर आ गया और मेरे हाथ उनकी नंगी चिकनी पिंडलियों पर घूमने लगे.

मुझसे सब्र नहीं हो रहा था, मैंने नीरू से कहा- यार इसकी ब्रा पेंटी भी निकालो ना ताकि मैं इसकी छोटी सी बंद बुर का दीदार कर सकूं और उसको जीभ से चाट सकूं!नीरू ने कहा- जीजू सब्र रखो, सब्र का फल मीठा होता है. इस सेक्स कहानी के पहले भागमन्जू की चूतबीती-1में आपने मेरी चुदाई की शुरुआत, मेरी सुहागरात और मेरे ननदोई से मेरी चुदाई के बारे में पढ़ा. लेकिन अब मैं पछता रहा हूँ कि उस दिन अगर उससे कुछ बात हो जाती तो मुझे उसकी चूत फिर से मारने के लिए मिल जाती.

सेक्स सेक्सी ब्लू पिक्चर

फ़िर मैंने बोला- मीतू दी मुँह में लो ना?तो वो बोलीं- मीतू दी मत बोल … रंडी बोल मुझे रंडी.

वो भी कुँवारी लड़कियों की तरह एक चीरा ही दिख रहा था, एकदम फूली हुई कचौरी की तरह से थी. दोस्तो, सच बताऊं तो सबसे ज्यादा एन्जॉय हम लोगों ने उसी चैप्टर को पढ़ने में किया. अब क्या हो गया है? देखो मैं अपनी चूत खोलकर लेटी हुई हूँ, अब आओ और मुझे रगड़कर एक रंडी के तरह चोदो.

ओह … अब मैं समझी … तुम‌ पहचान ना जाओ, इसीलिये ही दीदी ने वो चेन मुझसे वापस ले ली. माइक ने इशारा समझा और अपनी कमर को मेरी और धीरे धीरे धकेलना शुरू किया. हॉस्टल गर्ल सेक्सी वीडियोदोस्तो, पिछली मस्तराम कहानीगांव की रिश्ते की साली को चोदामें मैंने आपको अपनी 100% सच्ची कहानी सुनाई कि किस तरह से मैंने अपनी गांव के रिश्ते की साली नीरू की पहली बार चुदाई की और अपनी पत्नी के सहयोग से किस तरह उसकी सील को तोड़ने में कामयाब रहा.

कुछ देर बाद जब मौसी का दर्द कम हुआ तो मैं मस्ती से धक्के लगाने लगा. उस ढलके हुए पल्लू की वजह से उनके बूब्स को और उनकी दूध घाटी दिख रही थी.

शीतल- अब अगर मुझे इजाजत हो तो मैं अपना स्नान पूरा कर लूँ?रजत- हाँ बिल्कुल… पर उसके पहले तुम्हें मेरा लंड चूसना पड़ेगा. इतना कह कर अपने हाथों को बढ़ाकर पूजा की चूचियों को अपने हाथों में लेकर कसकर मसल दिया और अपनी कमर नीचे से उचकाकर पूजा की चूत में तीन-चार धक्के मार दिए. उसे भी रंडी के साथ चुदाई का कम्पटीशन करने में कोई उज्र नहीं था, बल्कि वो तो खुद ही मेरे लंड की ताकत को परखना चाहती थी.

इस बार नेहा शर्मायी नहीं बल्कि मेरी तरफ देखती रही, जैसे कि वो पूछना चाह रही हो कि मैं रुक क्यों‌ गया? उसकी आंखों में उत्तेजना की तड़प अब साफ दिखाई दे रही थी. वो बोली- नहीं … पहले जल्दी से अपना लंड डाल कर मेरी चुदाई करो … मुझे अभी बर्दाश्त नहीं हो रहा है. कभी वो मेरे होंठों को चूमती, तो कभी मैं उसके होंठों को! कभी कभी तो वो मेरी जीभ को अपने अन्दर लेकर चूसने लगती, इससे मुझे भी बड़ा मजा आ रहा था.

फिर मैंने एक जोरदार झटका मारकर अपना सात इंच का लंड बीवी की चुत में पुरा घुसा दिया.

रेखा भाभी से सम्बन्ध बनाये मुझे काफी दिन हो गए थे, मगर फिर भी उनकी चुत उस महक और स्वाद को मैं अभी तक भुला नहीं पाया था. साड़ी पहन कर जब वो चलती थी, तो पीछे से उनकी एकदम गोल गांड देखकर मेरा लंड मुझे बदतमीज बना देता था.

अरे … मम्मी ठीक‌ क्यों नहीं होगा? कल से ही मैं और नेहा दीदी इसे दवाई दे रहे हैं. उसके मम्मों पर मेरे दांतों के काटे जाने के निशान काफी गहरे झलक रहे थे. धीरे धीरे मेरा पूरा लिंग अन्दर चला गया और मेरे पेड़ू के नीचे वाली हड्डी उनकी क्लिट से टच होने लगी.

फिर हिमिका ने खुशी को किस करना शुरू कर दिया, दोनों एक दूसरे का भरपूर साथ दे रही थीं. तो रीना ने एक जोर से मेरी गांड पर तमाचा मारा और बोली कि एक बार ट्राय करने में क्या हर्ज है?मैंने रीना को बोला कि सोच कर बताती हूँ … अभी मैं कुछ नहीं बोल सकती हूं. लेकिन लंड को चूत की जो गर्मी मिली, उस अहसास को मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता कि कितना मज़ा आया.

बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो शायद सुलेखा भाभी किशोर भैया के ही आने का इन्तजार कर रही हैं, इसलिए ही वो मुझे ज्यादा कुछ कह नहीं रही थीं. फिर उन्होंने खुद ही रिया भाभी को कहा- रंडी साली … लगता है आज मेरी गांड फट ही जाएगी, इस चूतिये का लंड मेरे पति से कहीं ज्यादा मोटा है.

योनि से खून बहना

मैं जैसे ही खिड़की के पास से गुज़रा तो अन्दर का नज़ारा देख कर मेरी आँखें फटी की फटी रह गयी।मैंने देखा कि मम्मी किचन में पूरी नंगी खड़ी थीं। उनके 36 इंच के तने हुए चूचे तनाव में बाहर की तरफ निकले हुए थे. तभी मैडम की साड़ी से एक स्टैंड अटक कर मैडम के ऊपर गिरने को हो रहा था. पर माइक की गति में तब तक बदलाव नहीं आया, जब तक तारा पूरी तरह झड़ कर ढीली नहीं हुई और माइक के ऊपर निढाल होकर न गिर पड़ी.

तभी मेरे दिल में प्रिया का ख्याल आ गया, रंग के मामले में तो दोनों बहनें समान ही थीं मगर नेहा की चूचियां प्रिया से काफी बड़ी, भरी हुई और मस्त थीं‌. उसके मम्मों पर मेरे दांतों के काटे जाने के निशान काफी गहरे झलक रहे थे. न्यू गोल्डन सागर सटका मटकाउन लड़कों से उन बगावत करने वाली लड़कियों को चुदवा दूँगी और उनकी चुदाई की फिल्म बना कर नेट पर अपलोड भी कर दूँगी.

तब मनीष ने पूछा- यहीं सो जाऊं भाभी?भाभी बोलीं- हां सो जाओ और लाइट बंद कर दो.

तुम तो स्मार्ट भी हो?मैं बोला- कभी फुर्सत ही नहीं मिली सिवाए दीदी को चाहने से. मैंने भी उस पर जोर नहीं डाला, क्योंकि मेरा भी उसके साथ आज पहली बार था.

ये सब लोग नीचे के कमरों में ही सोते थे और मेरे अकेले का कमरा ऊपर के चार कमरों में से एक था. वो उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी, कुछ देर बाद मैंने उसे उठाया और उसका गाऊन निकाल दिया. इस पोजीशन में मुझे और रोहित को धक्के लगाने की तो आसानी थी लेकिन शिवम के लिये धक्के लगाना थोड़ा मुश्किल जरूर था.

उन लोगों ने अंकित और उस स्टोर वाले को बोला- आप दोनों यहीं पर आपस में बातचीत करो, हम थोड़ी देर अन्दर वन्द्या से पर्सनल मीटिंग कर लेते हैं.

किस्मत से जिस बोगी में हम लोगों को जाना था, वो बोगी ठीक सामने आकर रुकी. कुछ देर तो ऐसे ही रुक कर बस चूत में लंड अन्दर जाने का मज़ा लेता रहा, उसके बाद मैंने धीरे धीरे धक्के मारना शुरू किए. मैं बेड के ऊपर लेट गया, सुशीला आकर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी।मैंने मानसी से कहा- जरा अपनी रंडी माँ की चूत चाट!उसने ऐसा ही किया और अपनी माँ की चूत में जीभ अंदर तक घुसाने लगी.

सेक्सी पिक्चर गाने वाली सेक्सीथोड़ा आगे चलकर बाजार से निकल उसके आशिक ने गाड़ी रोक दी और पिंकी उतर कर आगे की सीट पर चली गई और देवेंद्र पीछे की सीट पर मेरे साथ आ गया. बस 1,2,3 बोलते ही मैंने एक ही धक्के में अपना पूरा का पूरा लंड उसकी चुत में घुसा दिया.

सेक्सी खबर

मुझे पता नहीं होने के कारण मैंने ये कहते हुए मना कर दिया कि मैडम मैं दिल्ली का नहीं हूँ. सोनाली को अब दर्द हो रहा था, वो मेरे पीठ पे नाखून गड़ा रही थी, नोंच रही थी. मैं उसकी फुद्दी को मुँह से लगा कर किस करने लगा तो वो नशीले स्वर में बोली- जीभ से चाट साले.

इस अचानक से हुई हरकत के लिए मैं तैयार नहीं था, तो पहले तो मैं थोड़ा सहम गया. फिर दिमाग में आया कि इसको बताया और कहीं पहले की तरह इसने मॉम को बोल दिया तो उस समय तो बच गया था, अब की बारी नहीं बच पाऊंगा. मैं बारी बारी से उसके दोनों मम्मों को चूसता और निप्पल काट लेता था, जिससे वो चिहुँक जाती थी और मुझे किस करने लगती थी.

इसी बीच मेरी पत्नी ने भी अपने सारे कपड़े उतार दिए और वह भी बिल्कुल नंगी हो गई और वह मुझ पर टूट पड़ी. कुछ देर बाद जब उनका दर्द कुछ कर कम हुआ तो मैंने एक जोरदार झटका मारते हुए अपना पूरा लंड मौसी की बुर में उतार दिया. मेरे पास आ साले अपनी मर्दानगी दिखानी है, तो मेरे साथ दिखा माँ के लौड़े.

वो बोली- नहीं … पहले जल्दी से अपना लंड डाल कर मेरी चुदाई करो … मुझे अभी बर्दाश्त नहीं हो रहा है. ’मुझे समझ आ गया कि आज दी की चुत कुलबुला रही है सो मैंने खुल कर कहा- मुझे तो लंड चुसवाने वाला सीन मस्त लगता है.

जब मैं बाहर आई तो मम्मी ने बोला- आ गई … चल सोनू तू भी कपड़े पसंद कर ले.

मेरे लंड को पकड़कर सहलाने लगी एवं कहने लगी- बहुत दिनों से केवल ऊपर से महसूस किया… आज देखने का मौका मिला है. रिश्तों की कड़वी सच्चाईमैं कुछ देर रुका रहा और उसकी चीखों को अनसुना करके अपने लंड पर चूत की गर्मी का मजा लेता रहा. सफेद मिर्च का उपयोग कैसे करेंतभी मयूरी भाभी, जो गर्म तो थीं ही, उन्होंने कहा- यह सिर्फ एक बार होगा और इसका ज़िक्र कभी किसी और से नहीं होगा. लगातार एक करंट सी मेरी योनि से होता हुआ बच्चेदानी के रास्ते मेरी नाभि तक जा रहा था.

वो हल्का सा मुस्कराईं और बाद में कभी भी हमारे बीच ये ट्रिप की कोई बात ही नहीं हुई.

तेरे भतीजे राज के जिस्म में मैं घुस गया हूँ। उसी के जरिये मैं तुझे पूरी रात चोदूंगा। पर अगर तूने ये बात किसी से कही तो मैं फिर से वापिस आ जाऊँगा और तुझे छत से धक्का देकर मार दूंगा. मेरे झड़ने के क्रम में चीखे नाक से निकल रही थी और मैं जैसे जैसे झड़ती गयी, माइक के जुबान को काटने चूसने लगी थी. मुझे नहीं पता था कि कल जो मुझे खिड़की से किसी के देखने का वहम सा हुआ था, वो सुलेखा भाभी ही थीं.

अब घबराया हुआ दीमा बड़े शांत और जेंटल तरीके से बहुत ही धीमे धक्के लगाता हुआ नताशा की मुंह चुदाई करने लगा था जबकि पीछे से मैं अपनी बिल्लो की फटी हुई गांड में बड़े करारे धक्के लगाता जा रहा था. और उस वक्त तो मैं खुशी से पागल हो गयी जब केक काटने के दौरान हेप्पी बर्थ डे का गायन समाप्त होते ही मेरे सामने गिफ्ट के रूप में बीस हजार रूपये मूल्य का स्मार्ट फोन था, सब फीचर थे उसमें और जियो की सिम. मैं सोचने लगा कि अब मैं क्या करूँ? पूर्वी को जगाऊँ या ऐसे ही निकल जाऊं?यही सब सोचते सोचते पता नहीं कब मुझे भी नींद आ गयी और मैं भी सो गया.

नंगी नंगी लड़की

अब अपने आप ही नेहा के‌ मुँह पर मेरे लंड का दबाव बढ़ गया और मेरा सुपारा थोड़ा सा और उसके मुँह में घुस गया. मैंने एक उंगली बुर में घुसा दी, तभी वो हल्के स्वर में चीख़ मारते हुए उठकर बैठ गयी. कुछ देर बाद वो भी फिर से मुझे किस करने लगी और चुदाई के मज़े ले लेने लगी ‘आहह हह आसीई ईईइ प्लीज और ज़ोर से चोदो मेरी चूत को … आअहह फाड़ दो …’मैं लगातार ज़ोर ज़ोर से धक्के देने लगा, जिसकी वजह से उसके चूचे ज़ोर ज़ोर से हिलने लगे.

मुझे नहीं पता था कि कल जो मुझे खिड़की से किसी के देखने का वहम सा हुआ था, वो सुलेखा भाभी ही थीं.

अशोक- फिर कार्यक्रम आगे बढ़ाएं?विक्रम- जरूर पापा… देर किस बात की!अशोक- ठीक है फिर… केक का काम तो हो चुका, अब जन्मदिन का असली तोहफा देने की बारी है.

यही कोई 26-27 साल की एकदम गोरी औरत थी वो … फिगर करीब 34-30-34 होगा उनका. मेरी बीवी के मस्त मम्मों को नंगा देख कर वो अंग्रेज लड़का एकदम पगला गया. राजस्थानी सेक्स ऑडियो वीडियोमैंने अपनी चूत में जीजू का लंड सटकते हुए फ़ोन उठा कर कहा- हां दीदी क्या कह रही हो … अच्छा आधे घंटे में आओगी … ठीक है … हां जीजू आ गए हैं.

इधर मेरा लन्ड मीता की चूत के छल्लों में फंसकर और कठोर हो गया था और बस पेंटी फाड़कर अंदर समा जाने को आतुर हो रहा था. लेकिन वह काफी भारी था इसलिए पैंट को नीचे करने में बहुत दिक्कत हो रही थी. मैंने उस दिन अपने घर में बहुत डांट खाई थी और मुझे तो मम्मी ने पीटा भी था.

दोस्तो, नीरू आज भी मेरी दोस्त है और जब भी मायके आती है मुझसे अपनी चूत जरूर चुदवाती है, मेरी पत्नी भी हमारे साथ होती है, हम मिलकर मजा लेते हैं. ऐसा बोला तो मुझे कुछ भरोसा हुआ, मैं बोली- ठीक है अंकल, मैं आपके भरोसे चल रही हूं.

नहीं मेरा दिल नहीं लगता गांव में, इसलिये मैं नहीं गयी, मम्मी तुम्हें डॉक्टर से दवा ले आने के लिये कह रही हैं.

मैं अपनी उंगलियों से‌ नेहा की चुत की फांकों को सहलाते हुए नीचे उसके खजाने के‌ द्वार की तरफ बढ़ रहा था. फ्लाइट में उन्होंने मुझसे कहा कि बंगलोर में जो हुआ … उसको बंगलोर में ही छोड़ देना. ”चाची कांपते हाथों को जोड़कर बोली- आप मुझे चोदना चाहते हो तो चोद लो पर प्लीज मुझे जान से मत मारना!!चाची हांफती हुई बोली.

पिक्चर सेक्सी इंडियन मैंने भी उसके अन्दर ही माल छोड़ दिया और मैं निढाल उसके ऊपर गिर गया. तभी जगत अंकल बोले- ओ मेरी जान वन्द्या, अब मुझे अंकल कहना छोड़ दे तू.

मुझे उसकी चुत का बस फूला हुआ ऊपरी भाग और उसके छोटे छोटे बाल ही दिखाई दे रहे थे. मेरी पत्नी डिल्डो को अपनी गांड में लेने को तैयार होती हुई नर्म सोफे पर अपने पैर फैलाती हुई लेट गई. कभी लंड के गुलाबी टॉप पर अपनी जीभ घुमाती तो कभी पूरा लंड अपने गले तक उतार लेती तो कभी ढेर सारा थूक मेरे लंड पर लगाकर उसे अपनी जबान से चाट जाती.

रायपुर का सेक्स

पर मैंने इस तरह से मम्मी को कभी देखा नहीं था, उनके बारे में सुना जरूर था. इतने में सतीश बोला- यार अब थोड़ा पोजीशन बदल लें … तू हिमांशु पीछे आजा और गांड में डाल ले … वन्द्या की गांड बहुत मस्त है. अब नीरू की शादी हो चुकी है लेकिन वह जब भी मायके आती है हम तीनों साथ में ही चुदाई का मजा लेते हैं.

माइक समझ गया, उसने मुझसे कहा- तुम्हें न तो शरमाने की जरूरत है … ना ही घबराने की, मैं ऐसा कोई काम नहीं करूँगा, जिससे तुम्हें तकलीफ हो. अब नीरू ने पायल के पीछे आकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया, उसके बूब्स बिल्कुल नंगे थे.

फिर हमने नंगे ही रात का खाना खाया और ढेर सारी गन्दी बातें करते हुए लेटे रहे.

मैं तुरंत ही समाली अंकल का लौड़ा पकड़ कर उसे अपने हाथों से रगड़ने लगी, तो वो और कड़क होने लगा. तुम्हारा मन है तो कुछ देर खुल कर इंजॉय करो, जीवन मस्ती और इंजाय के लिए है, दो दिन की जवानी है, बस इसे खूब फन और फाड़ू मस्ती में गुजारो! कल का क्या भरोसा. इस पर वो बोली कि कई लोग तो खुल्लम खुल्ला अपने पार्टनर को किस करके सेक्स करते हैं?अब मैंने सोचा बेटा पूरा बात बता दे.

मैं निकलने ही वाला था कि उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- प्रकाश, तुम सच्ची में बहुत अच्छे हो, मैंने आपको कितनी बार आपको बहकाने की कोशिश की, लेकिन आप शांत रहे, आजकल की दुनिया में कोई अकेली औरत दिखती है तो लोग कैसे झपट पड़ते हैं. उन्होंने अपने हाथों का घेरा बना कर मुझे कस कर पकड़ लिया और मेरा साथ देने लगी. ये सुनते ही मेरे चेहरे का रंग फीका सा पड़ गया और मैंने हकलाते हुए कहा- क्क्क … क्योंओ?मेरी घबराहट देखकर प्रिया हंसने लगी और उसने हंसते हुए कहा- घबराओ मत ऐसी कोई बात नहीं है, कोई और काम है उनको.

अब मैं नंगा हो चुका था और मेरा 7 इंच का लंड पूरा तन तना कर खड़ा हुआ था.

बीएफ सेक्सी 4जी वीडियो: मैं अब उठा और बिस्तर के किनारे पर बैठ कर उनसे अपना लंड चूसने के लिए कहा. मेरी उंगलियां उसकी छोटी सी मुनिया तक पहुंच गयी थी, जो कि कामरस से भीगी हुई थी.

मैं समझ रहा था कि उसको चुदने की जल्दी मची है, लेकिन वो भी पूरा मजा लेने के मूड में थी. वो मॉम से बात करने में बिज़ी रहने का नाटक किया करती थीं और मेरे लंड को छुपछुप के देखती रहती थीं. मुझे अचानक ही याद आया कि मैंने जो अपना माल उसकी पेंटी में निकाला था, वो मैंने धोया नहीं था.

एकदम चिकनी चमेली चूत थी और इस वक्त तो उसकी चुत पूरी की पूरी पानी हो रखी थी.

मनीष बगल में लेट गया, झड़ने के बाद भी उसका लंड अभी पूरा लूज़ नहीं हुआ था. उसके घर में वो और उसकी बड़ी बहन, जो उससे 5 साल बड़ी है और एक भाई भी रहता है, जो उससे 4 साल छोटा है दरअसल, मैं उससे नहीं, उसकी बड़ी बहन को प्यार करता था क्योंकि हम पड़ोसी थे जिसके कारण हमारा (मेरा और उसकी बड़ी बहन) का बचपन साथ में ही बीता. मैंने कहा- तुम क्या पागल हो?उसने कहा- हां तुम्हारे लिए … तुम्हारी ख़ुशी के लिए.