भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर

छवि स्रोत,అమ్మ కొడుకుల సెక్స్ వీడియోస్

तस्वीर का शीर्षक ,

कंडोम वीडियो: भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर, उधर मेरी जीभ को अपनी बुर के चारों तरफ पम्मी एकदम से तड़फ उठी और उसने मेरे सर को उसने अपनी चुत पर दबा लिया.

उदयपुर की सेक्सी मूवी

तभी मैंने ना चाहते हुए भी उन दोनों को अपने से अलग किया और बोली- सब कुछ यहीं करोगे क्या?दोनों अलग होते ही मुझे खा जाने वाले नज़रों से देख रहे थे. सेक्सी+विडीयोयह जब भी किसी को चोदता है तब उसकी ब्रा और पैंटी को अपने पास रख लेता है.

मैं- मेरी कोई गर्ल फ्रेंड नहीं है भाभी, कॉलेज में एक थी, उसकी शादी हो गयी. सरसों की खेती का तरीकाहम दोनों ने साथ में पिक्चर देखने का प्लान बनाया। पिक्चर किसे देखना था, हमें तो चुदाई का मज़ा लेना था। इसलिए मैंने पहले ही रिसर्च कर रखा था कि किस सिनेमा में भीड़ नहीं के बराबर होगी।उन दिनों आफताब शिवदासानी की मूवी ‘सुनो ससुरजी’ आई थी। मैं दोपहर 2.

मैंने प्यासी निगाहों से नेहा को देखकर अपनी ओर आने के लिए आमंत्रित किया.भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर: पर ‘आपका ही इंतजार’ मुझे इस शब्द में रहस्य नजर आया।लेकिन मेरी दुविधा उस अपसरा जैसी महिला ने स्वंय दूर कर दी.

इस पर वो जोर सा हंस पड़ीं और बोलीं- अरे ये तो मैं समझ ही गई थी कि कोई बाबा नहीं होगा.रेशमा- और?मैं- और दूसरे नम्बर पर रूपा आई थी, क्योंकि रूपा की हाइट अच्छी थी, उसने कान में चूड़ी के आकार की बाली पहन रखी थीं, जो किस करते वक्त मेरे गालों से टकरा रही थीं और मसाज वालों का स्टाइल भी डीसेंट होता है.

বাংলায় বিএফ - भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर

मुझे विश्वास था कि जब कामदेव का वो फूलों वाला तीर कमान से निकल कर साली जी को लगेगा तो जो होना है वो स्वयं ही होने लगेगा.रति के मुंह से सिसकारियां निकलने लगीं- आआ आआ … जानू जोर से चोदो मुझे … बहुत दिनों के बाद चुद रही हूं तुम्हारे लंड से मेरे राजा, मेरी चूत का बाजा बजा दो … फाड़ दो मेरी चूत को … आह्ह।रमेश धक्के पर धक्के लगाये जा रहा था.

वास्तव में मुझे आपसे इसका पानी निकालने के लिए कहना ही नहीं चाहिए था. भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर आंटी जब ड्रेस चेंज करने गई थीं … तो अपने बदन पर सेक्सी परफ्यूम लगाकर आई थीं.

ये घटना होने का बाद उस दिन मेरी बेटी अपने रूम से बाहर ही नहीं आई जब तक कि शाम को मेरी पत्नी ऑफिस से घर नहीं आ गयी.

भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर?

मैं नहीं चोदता फिर!और कंबल पे घुटने मोड के बैठ गया जैसे हड़ताल पे बैठा हो कि नहीं चोदूँगा।मैंने उसे बोला- प्लीज यार, चोदो ना। ऐसे बीच में मत छोड़ो।पर वो माना नहीं रहा था।मैंने ही आखिर हार मानते हुए उसे तेल की बोतल दे दी और घोड़ी बन गयी. उस दिन के बाद से मैं अक्सर दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट को विजिट करता रहता हूं. मां मेरे कान पर मुँह रखकर बोलीं- आंह हर्षद … मैं बस झड़ने वाली हूँ … मुझसे अब नहीं रहा जाता.

मां धीमी आवाज में मेरे कान में बोलीं- हर्षद मेरी चुत पूरी गीली हो गयी है. हम भरी जवानी में रात भर तड़पते हैं लेकिन इधर उधर कहीं मुंह मारने की नहीं सोची. हम कोई ऐसे वैसे लौंडे तो हैं नहीं।तभी गीत बोली- ओह यार … आप तो माइंड ही कर गये, सॉरी। हमने तो मज़ाक में कहा था।नेहा भी बोली- आप नहीं उतारोगे तो हम खुद उतार कर आपके सामने आ जाएँगी। क्यों, है न गीत? सही रहेगा न?गीत बोली- हाँ हाँ, तुम मत उतारना हमारे कपड़े, हम खुद ही अपने कपड़े उतार कर तुम्हारे सामने आ जाएँगी.

मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर अच्छे से रखा और एक ही झटके में तोप के गोले की तरह उसकी चूत की सुरंग में पेल दिया. मैंने मुँह हटाने का भरसक प्रयास किया, मगर सर ने ऐसा होने ही न दिया. मैं भी उठकर बाथरूम में घुस गया और पूरा नंगा होकर गर्म पानी का फव्वारा चालू करके आराम से नहाने लगा.

मगर मैंने तो कितनी बार इससे शादी के लिए बोला है, लेकिन ये मानती ही नहीं है. साली जी का भोला सा गोल चेहरा और संतरे की फांक जैसा रसीला और भरा भरा सा निचला होंठ.

प्रत्येक सेक्स चैट सेशन में हर बार मैं अपनी कल्पना को एक नये आयाम पर ले जाता हूं.

कमरे में आकर हम दोनों ने एक पैग का मजा फिर से लिया और नमकीन खाकर कुछ भूख मिटाई.

एक बार हमें भी पिला दो अपनी जवानी का जूस।ये कहकर उसने तुरंत फिर से मेरे लंड के टोपे पर उसके सुराख के बिल्कुल ऊपर जीभ रख कर ऐसे अंदाज़ में घुमाई कि मैं बर्दाश्त न कर पाया. हरामज़ादी मैंने कहा था क्या चूत में लंड न ले … साली तेरी खुद की गांड फटती थी … अब अहसान झाड़ रही कमीनी. ऐसे ही एक दिन दोपहर में मैं बेड पर लेटा हुआ इसी बारे में सोच रहा था कि किसी भी महिला या लड़की को मैं आकर्षित क्यों नहीं कर पाता हूं?दरअसल मेरे साथ कुछ गलत नहीं था बल्कि समस्या महिलाओं को लेकर थी.

वैसे तो यह परिवार किसी से ज्यादा घुलमिल कर नहीं रहता था और जबसे मैं उस घर में रहने लगा था तो उन्होंने बिल्कुल ही पड़ोसियों से मिलना बंद कर दिया था. खाली समय में हॉट भाभी और सेक्सी लड़कियों के साथ वीडियो सेक्स चैट का मजा ही अलग होता है. मैं कुछ देर बाद झड़ने को आ गया, तो मामी बोलीं- अतुल मेरी गांड में ही अपना पानी निकाल दे.

मेरी आंटी बिहार में अपने पति के साथ एक साधारण से मकान में ही रहती थी.

मेरी जिन्दगी में हुई ऐसी बहुत सी कामुक घटनाएं जो मैं अपनी इन कहानियों के माध्यम से बताऊंगी. वो मेरे बिस्तर पर बैठ गयी।उसने कहा- बोलो कपिल क्या कहना है कालेज के बारे में?मैंने कहा- अरे मुझे तो तुमसे अकेले में बात करनी थी इसलिए मम्मी से बहाना बना कर तुम्हें यहाँ बुलाया है।वो बोली- ऐसी भी क्या बात करनी थी जो वहाँ नहीं कर सकते थे। चलो फिर अब बोलो।मैं- देखो रितु जो बात मैं तुम्हें बोलने वाला हूँ अगर वो तुम्हें बुरी लगे तो सीधा मुझे बोल देना. इससे हुआ ये कि मेरे लंड के धक्के उसे अपनी जाँघों के बीच महसूस होने लगे और मेरा लंड बार बार उसकी चूत के ऊपर टकरा टकरा कर घर्षण करने लगा, चूत पर रगड़ने लगा.

गाड़ी रुकते ही पायल ने उस आदमी से कहा- ये हमारे स्पेशल गेस्ट हैं, इन्हें दूल्हे जी से मिलवा दीजिए और इनका ख्याल रखिएगा. नेहा भी तुरंत बोली- कोई बात नहीं, उससे ज्यादा हम इन्हें तड़पा देंगी. कभी वो दोनों मुझे किस करते, तो कभी मेरे मम्मों से खेलते, तो कभी गांड पर चपत लगा देते.

नीरजा- हां अब तक इसमें कोई लंड नहीं गया न … चल अब पूरा अन्दर कर दे.

” कहकर मैं हंसने लगा।उसके चहरे पर कई भाव आ-जा रहे थे। वह कुछ बोलना चाह रही थी पर उसके होंठ काँप से रहे थे और शायद उसकी जबान उसका साथ नहीं दे रही थी।एक बात तो हो सकती है. फिर अचानक से ही मैंने एकबार ही आधे से ज्यादा लंड भाभी की चूत की गहराई में उतार दिया.

भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर उस वक्त मैं अपनी बेटी की चूत की झांटों में छिपी उसकी सांवली फांकों को आंखें फाड़ कर देख रहा था. पर राजेश उसके आदमी को 200/- रोज दे दिया करेगा खाने और दारु पीने के लिए.

भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर रमेश अब खड़ा हो गया और उसने अपने सारे कपड़े उतार दिये और बिल्कुल नंगा हो गया. फिर मैंने फोन की नोटिफिकेशन चेक की तो देखा कि गर्लफ्रेंड के नम्बर से 23 मिस्ड कॉल आ चुकी थी.

दोस्त के मोबाइल पर ही मैंने देसी सेक्स चैट साइट में लॉग इन किया और फिर अपनी प्रोफाइल बनायी.

नए सेक्सी वीडियो दिखाइए

बीच में कोई उतरने वाला भी नहीं था, तो ड्राईवर ने बस के अन्दर की लाइट नहीं जलाई थी. उसने भी मुझे अपनी बांहों में लिया और धीरे-धीरे मेरी टी-शर्ट और निक्कर को अपने हाथों से उतारने लगी. यह भाभी सेक्स कहानी तब की है, जब मैं इंजीनियरिंग करने के बाद गुरुग्राम में रहकर प्राइवेट नौकरी कर रहा था.

तो मैंने पूछा- भाभी मेरा होने वाला है … कहां निकलूं?तो उन्होंने बोला कि अन्दर ही निकाल दे. फिर मैंने लंड को निकाला और सीधा अपने होंठों का हमला उसकी चूत पर कर दिया. अब वो पूरी तरह से चुदने के लिए तैयार थी और मैं भी इससे ज्यादा वेट नहीं कर सकता था.

पर मैं तोंदूमल कहीं से नहीं बना हूं।अपनी उम्र से कम ही लगता हूँ और किसी भी प्रकार के कपड़े मुझ पर फबते हैं, वैसे तो चश्मा पहनकर मेरे फोटोग्राफस बहुत अच्छे आते हैं, पर लड़कियाँ सबसे ज्यादा मेरी भूरी आँखों पर ही मरती हैं.

ब्रेकफास्ट हॉटेल में ही करने के बाद हम नैनीताल घूमने निकले। हमने एक कैब हायर की और फिर पूरे दिन हम सभी टूरिस्ट प्लेसेस पर घूमे. उसे राजेश ने अपने पास बुलाया और कहा- अगर तुम्हें बुरा लगा हो तो सब कुछ भूल जाओ. वो भी मेरा बेसब्री से इंतजार कर रही थी इसलिए वो बहुत खुश हुई और मुझे जल्दी घर आने के लिए बोला। मेरा भी जाने का बिल्कुल मन नहीं कर रहा था.

उसका लंड तनकर इतना मोटा हो गया था कि मेरे मुंह में नहीं समा रहा था. वो बोलीं- मुझे बबीता कहने में तुम्हें शर्म आती है क्या?मैं- नहीं भाभी, ऐसी बात नहीं है!वो बोलीं- फिर भाभी!मैंने कहा- सॉरी बबीता. मैं शर्म से उठकर जाने लगी तो भाभी ने मेरा हाथ पकड़कर वापिस बैठा लिया और बोली- देखती रहो … अभी फिर चढ़ेगा!उस वक्त मेरे मम्मों का साइज 36 था और मेरे पट और चूतड़ पूरे जवान हो चुके थे और मैं मन ही मन भैंस और भैंसा की चुदाई का आनंद ले रही थी.

वो सिर झुका कर नीचे फर्श पर देख रहा था और उसका लंड सामने अकड़ा हुआ था. गुड्डी रानी ने बेबी रानी को बड़े ज़ोर से जकड़ रखा था और वो हाय हाय करके कराह रही थी.

प्लीज साली जी, मान जा न ये आखिरी बात, जब तूने इतना सब किया है तो ये अंतिम बात भी मान ले न. एक बार हमें भी पिला दो अपनी जवानी का जूस।ये कहकर उसने तुरंत फिर से मेरे लंड के टोपे पर उसके सुराख के बिल्कुल ऊपर जीभ रख कर ऐसे अंदाज़ में घुमाई कि मैं बर्दाश्त न कर पाया. अपना लंड चूत से बाहर निकाले बिना ही प्रीति के बूब्स और निप्पल को चूसने लगा.

मैंने कहा- रुक कर देख तो ले … लंड कहां है?उसने बैठ कर देखा, तो शर्मिंदा हो गया.

जब बिजली चमकती तो क्षणभर के लिए चकाचौंध रोशनी हो जाती फिर एकदम से अन्धकार छा जाता. उसका एक मस्त शरीर था, अच्छी शेप वाली बॉडी थी और वो सामान्यतया नीचे दबने वाले किस्म का लड़का था. मैं बोली- क्या हुआ … फट गई क्या?इतने में राजीव बोला- नहीं अभी फटी नहीं … फाड़ना है.

वो मेरे सीने पर अपने दोंनों हाथ टिका कर झटके लगाने लगी और नशीली आवाज में बोली- आज खुश कर दिया… तुमने एक सीधी सादी लड़की को बिगाड़ दिया. फिर जैसे आम को दबा दबा कर चूसते हैं, वैसे ही मैं दोनों मम्मों को चूसने लगा.

उस समय मेरी धर्मपत्नी का स्वास्थ्य ठीक नहीं होने के कारण मुझे अकेले ही जाना पड़ा. मैंने शॉवर चला दिया और सलहज को बांहों में लेकर ठंडे पानी की फुहार का मजा लेने लगा. मैंने कहा- भाभी जी, आप कब तैयार होंगी?तो भाभी ने कहा- मुझे नहाना है.

न्यू लड़की सेक्सी

सारी रात तो हो गयी जागते जागते!” मैंने उससे प्यार से समझाते हुए कहा.

फिर उसके एक बोबे को मुँह में लेकर चूसने लगा और हाथ से दूसरे बोबे को मसलने लगा. उन्होंने टॉप के नीचे ब्रा नहीं पहनी थी जिससे उनके बड़े बड़े चूचों से उनका टॉप उनके पेट पर से उठा हुआ था. मैं निढाल हो गया मगर पम्मी मेरे झड़े हुए लंड को चूसती ही रही, जिससे मेरा लंड कुछ ही पलों में फिर से कड़क हो गया.

उसने लंड चूसते हुए मेरी गोलियों को दबाया और लंड को चुंबन देकर वहां से उठ गई. कोई दो मिनट तक नीरजा की तरफ से कोई हरकत नहीं होने से मेरी हिम्मत बढ़ गई. ಫುಲ್ ಸೆಕ್ಸ್ ಇಂಗ್ಲಿಷ್यूं ही उसके साथ बात करते करते मैंने पूरा लंड जावेद की गांड में डाल दिया.

मैंने रुमित से पूछा- अरे क्या हुआ … क्यों तुम लोग भागते भागते कार में बैठ गए?रुमित बोला- अरे यार मैं बाद में बताता हूँ … अभी हमें जल्दी निकलना होगा. सच बताऊं दोस्तो … मामी की चुत मारने से ज़्यादा मजा तो उनकी गांड मारने में आ रहा था.

तब किसी ने मेरे सर पर शराब का एक गिलास धीरे धीरे से उड़ेला और जैसे ही शराब मेरे सर से होकर नीचे को बही, किसी ने मेरी गर्दन पर किसी ने मम्मों पर, किसी ने कमर पर किसी ने चूत पर और किसी ने मेरी जांघों पर मुँह लगा लिया … और जिसको जहां से पीने को मिली, वहां से मेरे बदन को चूस चूस कर शराब पी. जवान खूबसूरत कुंवारी साली के तेल सने हाथ की चिकनाहट में मेरा खड़ा लंड खेल रहा था. मैं नाश्ता लगाती हूँ।रमेश- अरे नहीं, तुम लोग नाश्ता करो, मैंने तो कर लिया है.

वैभव ने हालचाल पूछने के बाद मुझे ज्यादा गौर से देखते हुए कहा- वैसे प्रतिभा तुम पर फिदा है, तो कोई गलत नहीं है. उसने जोर से धक्का मारा और मेरी टांगों को भींच कर लंड को ऊपर की तरफ कर दिया. चुदास की गर्मी थी और पहला मिलन था, तो कुछ ही पलों में उनकी चूत ने पानी छोड़ दिया.

मेरा अभी प्रोमोशन हुआ है और मुझे इस शहर में पिछले हफ्ते ही ट्रांस्फर किया गया है.

जितनी बार मेरा भाई अपने लंड को आगे पीछे करता, उतनी बार मेरे बदन में आग सी लग रही थी. रुमित ने मुझसे पूछा- क्या सोच रही हो?मैंने कहा- यार एक लोचा हो गया.

और कुंवारी चूत! इसके तो क्या कहने!!!जब देखा कि रानी शांत होने लगी है, तो मैंने उसको घुमाकर सीधा किया ताकि उसका मुंह मेरी तरफ हो जाए. वो मेरे नंगे चुचे देख कर बोल उठा- सॉरी … सॉरी … आशना … तुम दोनों ने देर कर दी थी, तो मैं ऐसे ही घूम गया था. मुझे बताओ कि तुम्हें क्या पसंद है जो तुम्हें उत्तेजित करता है? या फिर मैं ही अपना कौशल दिखाती हूं!मैं- मुझे पूरा यकीन है कि मेरी फेंटेसी की तरह तुम्हारा सरप्राइज़ भी बहुत मजेदार होगा.

उसने धीरे से पूरा लंड मेरी चूत में उतार दिया और मेरी चूत को पीछे खींचते हुए अपने लंड पर पटकने लगा. वैसे तो यह परिवार किसी से ज्यादा घुलमिल कर नहीं रहता था और जबसे मैं उस घर में रहने लगा था तो उन्होंने बिल्कुल ही पड़ोसियों से मिलना बंद कर दिया था. ऐसे ही उसका दूसरा स्तन भी अपने मुंह में ले लेता और कभी कभी अपनी जीभ को गीत के दोनों मम्मों के बीच में घुमाता.

भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर उसकी इस हरकत ने मुझे और दीवाना कर दिया और मैं भी उसके साथ पागलों सा लग गया. मगर मैंने तो कितनी बार इससे शादी के लिए बोला है, लेकिन ये मानती ही नहीं है.

सेक्सी वीडियो एक्स एन

और अपनी कोई पिक भेज देना यार मेरे व्हाटसप पर।मैं बहुत खुश था, कि आज खुशी ने खुद से मेरी पिक मांगी है. फिर वो शरमा कर कमरे में चली गयी और मैं अपने ऑफिस चला गया।शाम को जब लौट कर आया तो उस टाइम भी मेरे साढू साहब घर पर ही थे क्योंकि उनका ऑफ था. दोनों चप्पलें सूंघ के मैंने उनको चूमा और फिर पिंकी के पैरों को थाम से सहला सहला कर दबाने लगा.

इसलिए रमेश को वहां से निकालने के लिए रिया ने कहा- जाने दो सेठ इनको, वैसे भी उनकी उम्र हो गयी है. मैंने मजाक से कहा- सिर्फ दिल जीत सकता है? और चूत नहीं जीत सकता क्या?तो नेहा ने मेरे सीने को चूम कर कहा- हां सिर्फ दिल जीत सकता है. షకీలా సెక్స్ మూవీउसके ऊपर आज तुमने ये पानी वाला एक्सपेरिमेंट करके तो सचमुच बिल्कुल आग लगा दी.

मैं उसका सारा नमकीन पानी चाट चाट कर पी गया और एक उंगली चूत में डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने आंटी से बोला, तो वो बोलीं- अन्दर ही आ जाओ … मैं तुम्हारे पानी को फील करना चाहती हूँ. अपने होंठों से स्वरा के होंठ चूसते हुए मैंने लण्ड को स्वरा की बुर में धकेला.

रुमित मेरे सामने देखकर बोला- बस अब तुम सिर्फ़ आगे देखकर कार चलाओ … और हां कहीं पर भी कार खड़ी मत रखना … जब तक मैं ना कहूँ … ठीक है!तुषार बोला- ठीक है … भाई हम समझ गए. ऐसा लग रहा था कि आंटी ने अभी ये नया नया तरीका खोजा था चूत को शांत करने के लिए इसलिए वो इतनी कामुक हो रही थी. अन्तर्वासना एक सबसे बढ़िया मंच है आपके साथ अपने सेक्स के तजुर्बे साझा करने के लिये। मेरी कुछ ख़ास पाठिकाएं और पाठक जो मेरे साथ व्हाट्सएप पर जुड़े हुए हैं, उनका भी मैं धन्यवाद करता हूं।आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद कि आप लोग समय समय पर मुझे और अधिक कहानियाँ लिखने के लिए कहते हैं और मेरी कहानियाँ पढ़ कर अपनी चूतों और लौड़ों को शांत करते हैं या चुदाई करते हैं.

मैं बोली- नहीं … वहां कोई आ गया तो!मेरा भाई हंसते हुए बोला- तो क्या हुआ … मेरा एक जीजा और बढ़ जाएगा.

मेरा मन नहीं है, ले जाओ आप!जब मैंने देखा कि वो थोड़ा उदास है तो उससे उसकी उदासी की वजह पूछा. मैं उनके सामने आकर अपने पैरों को फैला कर झुक झुक कर उनको अपनी मखमली गांड दिखाने लगी. मैंने कहा- ऐसा गिफ्ट दूंगा जो ज़िन्दगी भर याद रहेगा।फिर उसने मुझे होटल का नाम और रूम नम्बर बताया।मैं तैयार होकर उसके लिए केक लेने गया क्योंकि जन्मदिन के दिन खाली हाथ जाना मुझे सही नहीं लगा.

गंदी शायरियांजब मैंने उनसे उनकी फोटो के बारे में पूछा, तो नेहा भाभी जी ने मुझे अपनी तीन फोटो भेज दीं. इंडियन लड़के अपनी मां को असल जिन्दगी में बहुत कम ही चोद पाते हैं इसलिए कल्पना का सहारा लेना पड़ता है.

नटखट परी की सेक्सी

… एकदम गाढ़ा, रसीला, नमकीन, गजब की खुशबू के साथ सीधा मेरे मुँह में आ गिरा. मेरी एक पाठिका ने तो यहाँ तक कहा कि उन्हें और उनके पति को अंडरगारमेंट्स पहने ही दो महीने हो गए. मुकेश की मां अंकिता भाभी को लेकर मुकेश के यहां आ गईं और बोलीं- मुकेश, अंकिता भाभी को भी परासिया वाले बाबा का आशीर्वाद दिला दो, जिससे उसकी भी गोद हरी हो जाए.

उसने अपनी गांड को कैमरे के सामने कर लिया और उसको ऊपर नीचे करते हुए हिलाने लगी. उसने अपना चेहरा कविता की ओर घुमाया और अपने दोनों हाथों से उसके गाल पकड़े और अहिस्ता से उसे होंठों पर किस किया. भाभी मेरी तरफ चकित होकर देखने लगीं और मैं मुस्कुराता हुआ वापस अपनी जगह पर आकर बैठ गया.

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड की बिना धुली हुई पैंटी उठा ली और उसकी चूत की खुशबू लेते हुए लंड को मसलने लगा. चाचा का लण्ड चूसते हुए हम उसकी खाल आगे पीछे कर रहे थे और चाचा हमारी चूत पर हाथ फेर रहे थे. ”ओ मेरे प्यारे जीजू …” साली जी के मुंह से भी निकला और वो मुझसे अचानक जोर से, पूरी ताकत से लिपट गयी और उसने अपनी कमर को चार पांच बार जोर जोर से उछाला और अपनी चूत मुझसे रगड़ने लगी फिर उसने अपनी टांगें मेरी कमर में लपेट दीं.

उन्हीं के बदन को देखकर मैंने सीखा था कि खुद को खुद से मजा कैसे देते हैं. उसके साथ रेस्टोरेंट में खाना खाते खाते उसको प्लान समझाया- रात को फीमेल अटेंडेंट लगा कर घर आ जाना.

मैंने मुकेश को कृत्रिम गर्भाधान के लिए आईयूआइ और आईवीएफ की सलाह दी.

मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी स्टोरी पढ़ने में उतना ही मजा आया होगा जितना मुझे करवाने में आया. सेक्सी मोटी भाभी की चुदाईपहले जो आम जामुन के चलते बातचीत हो जाती थी, अब वो भी नीरजा करने में सकुचा रही थी. करवा चौथ की सेक्सी वीडियो फिल्मकुछ ही देर में उससे बर्दाश्त नहीं हुआ तो नैना उछलते हुए गालियां देने लगी- मादरचोद आह … साले लंड क्यों पलता … भैन के लौड़े … आह और जोर से … आह आह … चोद न भोसड़ी के … आह मैं आज से तेरी रंडी, रखैल … सब कुछ हूं. फिर उससे अलग होकर किनारे बैठ गया और रमेश से बोला- गुड मॉर्निंग यार, तू कब से उठा हुआ है?रमेश- बस तभी से जब तू इस रंडी के जिस्म से लिपट कर सोया हुआ था।रवि रिया की गांड को सहलाते हुए बोला- लिपटूं क्यों ना … साली चीज़ ही ऐसी है … क्या माल है ये! मगर देखने से यह किसी ख़ानदानी परिवार की लगती है।रवि की बात पर रमेश मुस्करा दिया.

एक बार तो शीला ने उसकी चिकनी छातियों को नजर भरकर देखा, फिर अपने काम में लग गयी.

अब आगे की सेक्सी नंगी चुदाई कहानी:उसकी चूत के होंठ थोड़े बाहर की ओर खुले हुए से थे, जिसे देखकर लगा कि वो मुझे चुंबन का आमन्त्रण दे रहे हैं. बीस ग्राम की शीशी आती है।भाभी जी रोज रात को मुझे और भैया को एक गिलास दूध में दो बूँद शिलाजीत की, शहद और मुनक्का मिला कर देती हैं. उसने सोफे के सामने रखी टेबल पर एक गुलाबी रंग का डॉटेड डिल्डो रख लिया.

”क … क्या?” सानिया ने नशीली आँखें फड़फड़ाते हुए मेरी ओर देखा उसकी आँखें एक अनोखे रोमांच में डूब सी गई थी उनमें लाल डोरे से तैरने लगे थे।तुम्हें बुरा तो नहीं लगेगा?”किच्च?”सच कहता हूँ अब तो मेरा मन भी तुम्हारा बॉयफ्रेंड बन जाने को करने लगा है. रिंकी- ओह्ह बेबी! ये तुमने क्या कर लिया?मैं- मैं खुद को रोक नहीं पाया. मैंने उसको किस किया और उसके कंधे और गर्दन में सर घुसा कर तेजी से चोदने लगा.

न्यू इंडियन सेक्सी वीडियो 2020

फिर उसने उस डिल्डो को अपने सामने रखा और घोड़ी की पोजीशन में बैठ गयी. वो मेरे सामने आकर बैठ गया और उसने अपनी चड्डी टेबल के नीचे से मेरे हाथ में दे दी. उसे बेड पर गिरा दिया मैंने और खुद पूरा नंगा होकर उसे बांहों में लेकर लेट गया और मस्ती करने लगा.

मैं बोली- कुछ नहीं होगा … अगर किसी ने देख लिया, तो तेरा एक जीजू और बढ़ जाएगा.

”बस थोड़ी देर चुनमुनाहट सी होगी उसके बाद तुम्हें बहुत अच्छा लगने लगेगा.

चूंकि मेरे चूतड़ नंगे हो गये थे और मैं एक पत्थर पर बैठा था जिससे मुझे नीचे से ठंडा लग रहा था इसलिए मेरा लंड जल्दी तनाव में आने लगा. फिर सर ऐसा करते हुए मेरे नीचे आने लगे और मेरे पूरे पेट को चूमते हुए मेरी नाभि को चाटने लगे. செக்ஸ் மூவி தெலுங்குदरसअल मेरी फुद्दी मैं अभी तक माल भरा हुआ था और खड़ी होनेके कारण अब वो फुद्दी के होंठों तक आ गया था लेकिन उनके लौड़े इतने लंबे थे कि बाहर नहीं निकल रहा था।उंगलियाँ बाहर निकाल कर उसने काले को एक मोटी गाली दी और कहा- साले, इसे साफ किसने करना था, हर बार मुझे ही करना पड़ता है।यह कहकर उसने आस पास देखा.

गीत मेरी तरफ देखती हुई बोली- कैसे लगा हमारा अंदाज़?मैंने भी गीत को हाथ से इशारा करते हुए कहा- सुपर डार्लिंग. आप सबको ये जान लेना चाहिए कि चूत जब पानी में हो, तो उसकी चिकनाई धुल जाती है और इस वजह से चूत बहुत टाईट हो जाती है. प्रिंसीपल कभी मुझे अपने ऑफिस में चोद देते, तो कभी स्कूल में ही बने अपने कमरे में चोद देते थे.

दोस्तो, मैं आपको कैसे लिख कर बताऊं … बस उस आनन्द को सिर्फ महसूस ही किया जा सकता था. फिर मैंने अपना एक हाथ उसकी कच्छी के ऊपर रखा, तो महसूस किया कि पम्मी की चुत पूरी गीली हो गई थी.

जिसको सर ने पूरी तरह से चाट चाट कर साफ कर दिया और मुझे नशीली आंखों से देखने लगे.

बहाने क्या कर रहे हो।सुनील हंस के कहने लगा- सुहानी चौधरी, मेरा लंड चूसो ना प्लीज।वो मेरे सामने खड़ा था. वो मुझे इतना चूस रहे थे कि मैं उनके बीच में मछली की तरह तड़प रही थी. अब मुझे शर्म लग रही थी।मैंने कहा- भाभी, आपने मेरा अंडरवियर क्यों धोया?तो भाभी बोली- मैंने इतने सारे कपड़े धोये थे, वो भी धो दिया.

सेक्सी हिंदी ब्लू फिल्म एचडी आपको भी इस मामुनी की चुत पूजा का पूरा विवरण उस इंडियन सेक्सी भाभी चुदाई की कहानी के अगले भाग में विस्तार से लिखूंगा. अरे मैं तुझसे कुछ करने के लिए थोड़े ही कह रहा हूं, पूरी बात तो सुन पहले!”अच्छा जल्दी बताओ क्या है अब?” वो आशंकित स्वर में बोली.

और मैं लेटे लेटे ही घूम के उसके मुंह की तरफ आ गयी।मेरे खुले बाल सुनील के चेहरे के साइड में झूल रहे थे और हम दोनों एक दूसरे की आंखों में देख के मुस्कुरा रहे थे।मैंने हल्की सी आवाज में कहा- डालो ना यार प्लीज!उसने बोला- ठीक है. मुझसे भी रहा नहीं गया, तो मैंने उन्हें अपनी बांहों में कसकर पकड़ा और उनके गाल, होंठ और गर्दन पर चूमने लगा. जिजा साली चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी विधवा सलहज को यात्रा पर ले गया.

देवर भाभी की सेक्सी ब्लू मूवी

रवि ने कविता को अपने मुंह के ऊपर बिठाया और कविता की अनछुई जवानी में अपनी जीभ घुसा दी. दूसरे मुझे लगता है कि तुम्हारे साथ मैं सेफ रहूंगी, कभी भी मेरी फैमिली लाइफ डिस्टर्ब नहीं होगी. मेरे दोनों दूधिया बूब्स मेरे हाथ में थे और उनके गुलाबी निप्पल नुकीले होकर बाहर निकल आये थे.

तो मैंने अपने वीर्य की कुछ बूंदें शुकराने के तौर पर लवी के मम्मे पर भी गिरा दी कि ले, तेरे एक बूंद दूध के बदले मेरे वीर्य की चार बूंदें तेरे लिए।उसके बाद मैं आकर अपने बिस्तर पर सो गया।अब तो ये जैसे रोज़ की ही बात हो रही थी. मेरा भाई बोला- मेरी बहना रानी नाराज न हो … आज तो तेरी चूत, गांड फाड़ कर ही तुझे जाने देंगे.

उसने जोर से धक्का मारा और मेरी टांगों को भींच कर लंड को ऊपर की तरफ कर दिया.

जब मेरी नींद अच्छी तरह से खुली तो मैंने देखा कि भाभी बिल्कुल नंगी मेरे साथ करवट लेकर लेटी हुई है. मुझे आज भी याद है वो कितना शानदार नजारा था कि मेरा लंड निष्ठा की गांड में अन्दर बाहर हो रहा था और वो खुद अपनी चूत में उंगलियां घुसा के अपनी चूत चोद रही थी और अपना दाना मसल रही थी. तो स्वरा को बाथरूम में खड़ा करके मैंने अपना रेजर उठाया और उससे कहा- खोलो अपनी सलवार, पांच मिनट का काम है और तुम टाल रही हो.

इसी के साथ साथ मैं सरकारी नौकरी के लिए कम्प्टीशन की तैयारी भी कर रहा था. आज ऑफिस नहीं जाना क्या?रमेश अब सीधे अपने मतलब पर आते हुए बोला- हाँ जाऊँगा, मगर थोड़ी देर से जाऊँगा. उत्तेजना में मैंने अपने पजामे को निकाल दिया और अंडरवियर को भी खींच दिया.

उसने मुझे ज़ोर से धकेला, थोड़ा खुद भी पीछे हुई … तो मेरा लंड उसकी चुत से निकल गया.

भोजपुरी बीएफ ब्लू पिक्चर: वो दोनों उसी समय मुझे चोदना चाह रहे थे, लेकिन मैं बुरी तरह थक चुकी थी … इसलिए मैं मना करके सो गयी. मैंने आह भरते हुए सिसकारी निकाली, तो वो मेरी चूत में उंगली करने लगा.

वहाँ कोई नहीं होता।फिर उसने बोला- सुहानी, एक आखरी बार और चुदवा लो प्लीज।मैंने कहा- दिमाग खराब है? टाइम देख रहे हो?उसने कहा- आज संडे है, कोई जल्दी नहीं उठेगा. पर जवाब के बदले कुछ देर बाद उसका कॉल आ गया, मैंने उसका नम्बर सेव कर रखा था. एकदम से बोली- आह … आज तो तुमने मुझे कुतिया बना दिया … आह … हाय दैया … कुतिया हूँ मैं तुम्हारी … मुझे अपनी कुतिया बना कर चोदो … चोद डालो मुझे। चोद चोद कर मेरा रस निचोड़ दो.

धीरे धीरे मैं नीचे को सरकता हुआ गुड्डी रानी की जांघों तक जा पहुंचा था और तेज़ तेज़ अपनी गीली गर्म ज़ुबान ऊपर से नीचे और दाएं से बाएं फिर रहा था.

रजनी फिर उसी स्थिति में पलट गयी। अब उसने धीरे से अपनी चूत को मेरे लंड के ऊपर रखा और उसकी सवारी करने के लिए तैयार हो गयी. करीब 6 महीने पहले मैंने अपनी पहली सेक्स कहानीनयी नवेली कुंवारी दुल्हन भाभी को चोदाअन्तर्वासना पर लिखी थी जिसमें मैंने अपने दोस्त मुकेश जो कि बालाघाट में एमआर (दवा प्रतिनिधि) है. उस दिन के बाद हम दोनों जीजा साली सेक्स की गाड़ी चल निकली। हमें उस दिन जैसा खुला मौका तो दोबारा काफी टाइम तक नहीं मिला लेकिन हफ्ते में चार दिन तो किसी तरह मैं उसे चोद ही देता था.