सेक्सी बीएफ मोटा

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर 2000

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी में देसी बीएफ: सेक्सी बीएफ मोटा, यह सोच कर मैं वहीं आकर खड़ा हो गया जहां से उसे मेरा लौड़ा मसलना दिखाई दे.

আমাদের জোয়ানদের একটা ঘাঁটি ছিল

ये बातें दिमाग में चलते-चलते मुझे नींद आ गई और सुबह 8 बजे मां ने मुझे फिर उठा दिया. सेक्सी फिल्म राजस्थानसासू माँ ने जमाई को चूम लिया और बोली- बेटा, ऐसे ही मुझे रोज चोदा करो.

मैं समझा नहीं तुम ठीक से बताओ वरना मैं फिर कोई ग़लती कर दूँगा।मोना- हा हा हा तुम बहुत स्वीट हो यार. बच्चों के खिलौने दिखाओतो देखा कि पूरे रूम में घुप्प अँधेरा था, कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था.

उसकी चूचियों को देख कर तो मेरा लंड तो एक बार पेंट में ही छूट गया था.सेक्सी बीएफ मोटा: मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चूतड़ों को पकड़ रखा था और झूला झूला कर लंड की ठाप मार रहा था.

यह कैसे हुआ?आइए बताता हूं आपको उसके सच की कहानीशुरुआत के दिनों में उससे मेरी काफी बात हुई तो धीरे-धीरे उसने खुलते हुए बताया कि उसकी माँ बहुत ही अय्याश किस्म की औरत है, उसका अफेयर तो नहीं है किसी से लेकिन बहुत से मर्द को वह घुमाती है.मैं और चाची एक ही कमरे में रहती थी और काफ़ी फ्रेंड्ली बातें करती थी.

खेसारी लाल के गण - सेक्सी बीएफ मोटा

मैं बस आ ही गई; इस पल को अच्छे से महसूस करना चाहती हूँ; लंड की धड़कन को, इस सुखद अनुभूति को अपनी यादों में बसा लेना चाहती हूँ हमेशा के लिए!’ वो मेरा माथा चूमती हुई बोली और अपनी चूत ऊपर की ओर उठा दी.मैं कुछ समझी नहीं दीदी?टीना- अच्छा ये बता उसका लंड चूसने में मज़ा आया था ना तुझे?सुमन- हाँ दीदी बहुत मज़ा आया था.

उस रात मैंने आरती की 4 बार चुदाई की, जिसके कारण उसकी चुत फूल गई और वो ठीक से चल नहीं पा रही थी. सेक्सी बीएफ मोटा साथ ही गुलशन जी भी इसी सोच में थे कि कैसे वो सुमन को लंड चुसवाए, उनके दिल में बस यही बात थी कि एक बार सुमन उनका लंड चूस दे और वो उसके निपल्स चूस सकें.

सबसे पहले तो मैं आप सभी पाठकों का धन्यवाद करना चाहूंगी कि आप लोगों ने मेरी पिछली सेक्सी कहानीकॉल बॉय से कामवासना का इलाज़को पढ़ा और मुझे इतने सारे मेल और कमेंट्स किए कि मैं सभी को जबाव ही दे पाई.

सेक्सी बीएफ मोटा?

तभी सविता भाभी को याद आया कि शाम होने को है और उन्होंने डिनर की कोई तैयारी ही नहीं की. शायद उस दिन चाची की नजर मुझ पर आ गई थी कि मैं उनकी प्यास बुझा सकता हूँ. उफ़ अब मैं क्या करूँ?सुमन सोच ही रही थी कि क्या करूँ तभी उसके कान में गुलशन जी की धीमी आवाज़ आई- ओह सुमन.

भाई के लंड पर मेरा वीर्य लगा होने की वजह से लंड को अन्दर जाने पर उसे तो कोई प्रॉब्लम नहीं हुई मगर मेरी गांड फट गई. बस की लाइटें दोबारा बंद हो चुकी थीं और सब लोग सफर के आखिरी पड़ाव में झपकी लेने की मुद्रा में चले गए थे. मैंने रजनी के चूचों को कस कर दबाया और उसके होठों पर एक मस्त किस किया.

काफी डरी और सहमी हुई थी।उसने कहा- विजय, प्लीज़ ये बात किसी को मत बताना और तुम भी इस बात को इग्नोर कर देना प्लीज़।मैंने बोला- ओके ठीक है।वो अगले दिन से रोज़ मेरे आने तक मेरे ही घर पे बैठी रहती थी। जब मैं आता तो मेरे लिए चाय बनाकर लाती और हम दोनों देर तक बात करते हुए बैठते थे।मैं सिगरेट पीता था. मेरे अंदर की हवस उसकी मटकती गांड देखना चाहती थी मैं दो कदम पीछे चलने लगा, और दोस्तो, जो मैंने देखा वही आपको बता रहा हूँ. बी-ग्रेड मूवी में क्या-क्या होगा, उसने मुझे बताया और साथ में यह भी बोला कि तुम्हारा फिजिकल एक्जामिनेशन भी होगा.

ड्यूटी रूम में कोई फर्नीचर नहीं था अतः मैं खुद खड़ा हो गया। एक पलंग था व मात्र एक चेयर भाई साहब को बैठने को पलंग पर कहा। पर वे खड़े ही रहे. संजय- प्लीज़ एक मिनट सूसू रोक ले और सुन, पहली बार लंड जब चुत में जाता है तो अन्दर से लाल रस निकलता है.

उन्होंने अपनी एक ऊँगली से मेरी गुदा के सूराख को सहलाया, मुझे गुदगुदी से हंसी आ गयी.

तो अचानक उसके हाथ से उसका मोबाइल स्लिप कर गया। वो साड़ी में थी, तो नीचे झुकी और उसी समय मुझे उसकी साड़ी के ऊपर से मम्मों के बीच वाली लाइन दिख गई। मैं भी कमीना कुत्ता वैसे ही उसकी चूचियों की घाटी को देखता रहा।वो जब उठी तो उसकी नज़रें मुझसे मिलीं और उसने भी मुझे एक नशीले अंदाज में देखा, साथ ही साथ गुस्से में मुँह भी बनाया।उसके बाद वो भाभी मेरे सामने आईं और मैं जहाँ खड़ा था.

रमेश ने सरिता की पैंटी को उतार कर उसे नंगी कर दिया और अपना लुंगी खोल कर उसके हाथ को लंड पर रख दिया. फूल जैसे मुलायम चूत… होंठ चूसते चूसते मैंने अपनी जीभ उसके मुँह के अंदर डाल दी, जिसे उसने चूस लिया, बल्कि अपने मुँह के अंदर ही खींच लिया और ज़ोर से अपनी सांस छोड़ी, आग जैसे गरम सांस मेरे चेहरे पे लगी तो मेरे अंदर भी उसने कामवासना भड़का दी. मैं उसको नीचे से धक्के लगा रहा था और वो ऊपर से… अब उसकी सिसकारियाँ बढ़ती जा रही थी.

मजबूर होकर मैंने अनिता की माँ से शादी की, जब वो बीमार पड़ गई तो अनिता को मैंने अपनी बना लिया. कितना दर्द होता है तुम्हें इसका अंदाज़ा भी है?टीना ने फ्लॉरा की बात को फ़ौरन पकड़ लिया- अच्छा मैडम जी तो ये बात है. कुछ ही देर में सोनू का भाई गहरी नींद में सो गया और सोनू मेरे पास आ गई.

उनकी पैंटी भी ऊपर से पूरी तरह भीगी हुई थी उनकी चूत के स्वादिष्ट रस से.

सुन, तू मौका देखना कि पापा तेरे कमरे में आ रहे हों, बस उसी वक़्त कपड़े बदलने की एक्टिंग करना. जैसे ही उसने मेरी चड्डी उतारी, उसे मेरा खड़ा 6″ का लंड देखा, वह घबरा गई और मुझे आगे कुछ करने से मना करने लगी. नीलम मुझे अपने हाथों से अपना दूध पिलाती थी, मेरा घी खाती थी, अपने हाथों से छाती पर भी मलती थी.

जैसे ही मैंने उसकी टांगों के बीच पोजीशन लेकर लंड को चूत पर टिकाया तो वैशाली एकदम बोली- धीरे से डालना. रिया ने मेरी तरफ देखा और कातिल मुस्कान के साथ अपने होटों पर से जीभ घुमा कर मुझे शामिल होने का इशारा किया. उस रात मैंने उसको तीन बार चोदा।दो दिन बाद उसके चेहरे की खुशियों ने हर राज खोल दिये और उसने मीना को बता दिया- मैंने चन्दन को पा लिया है।इस बात को सुनकर मीना थोड़ा गुस्सा हुई परन्तु सोनू ने अपनी कसम देकर मीना को मना लिया.

चाची की चुत तक का सुहाना सफ़र-1अब तक मेरी इस चाची सेक्स स्टोरी आपने पढ़ा था कि मैं अपने दोस्तों के संग मुठ मारना सीख कर किस तरह जवान हुआ.

मुझे थोड़ा सा दर्द हुआ पर उसके उंगली आगे पीछे करने से मैं सहज हो गई. तेरी बहन की चूत, मादरचोद ले ले चुद बहन की लौड़ी साली आह आह ले ले मेरा लौड़ा तेरी गांड चोद रहा है, रवि इस मादरचोद का अंग अंग चोद डाल आज… उई आह आह ये ले ये ले!हम तीनों ही झड़ने के करीब थे, सुलेखा ने मुझे कस कर पकड़ लिया और अपने मम्मों को मेरी छातियों पे दबाते हुए अपने होंठों को मेरे होंठों में दबा लिया, शायद वो झड़ रही थी, तभी नीचे से उसकी गांड में मनोज के लंड का फव्वारा फूट पड़ा.

सेक्सी बीएफ मोटा खाते हुए जब सविता भाभी की सहेली ने उनसे मजाक करते हुए कहा कि मॉल का सेल्समैन आपको कैसी कामुक नजरों से घूर रहा था जैसे वो आपके कपड़े उतार रहा हो. मान जाओ ना!मोना- अरे आप इतने बेसब्र क्यों हो? यदि चाहो तो आपकालंड चूस कर पानी निकाल देती हूँमगर चुदाई कल ही करेंगे.

सेक्सी बीएफ मोटा मैंने अपने बैग में से सभी ब्रा, पैंटी, नाइटी, बेबी डॉल नाइटी और बिकनी निकाल कर टेबल पर रख दी. मैं अब भी भाभी का हाथ पकड़े हुए खड़ा था और मुझे लगा कि उनको खड़े रहने में बहुत दिक्कत हो रही थी.

राहुल ने इसी पोजीशन में मुझे काफी देर तक चोदा और फिर पोजीशन बदलने लगा.

बीएफ वीडियो अंग्रेजी सेक्सी वीडियो

मैंने भी अपनी टाँग को ऊपर उठा कर मामा को लॉक कर लिया, जिससे मेरी चूत और कस सी गई. वह मेरी चूचियों को तेजी से मसल रहा था और मेरी गांड में लंड पेले जा रहा था जिससे मैं मचलने लगा था और वह भी मदहोश हुए जा रहा था. प्रिय अन्तर्वासना पाठको, मेरा नाम मनोज है, मैं आगरा का रहने वाला हूँ.

कहाँ जा रहे हो?मैं शरमाते हुए उनके पास गया तो वो बोलीं- आओ तुम भी यहीं लेट जाओ न. तो मेरे प्यारे देवर जी, तुम रोज ही आ जाना और अपनी भाभी को चोद लेना।दोनों काफ़ी देर तक सेक्सी बातें करते रहे। फिर सुधीर मोना के ऊपर आ गया और एक बार फिर चुसाई का खेल शुरू हो गया।मोना- आह अब मत तड़पाओ. ऐसे ही शादी का दिन आ गया, हम सब नाचते हुए मंडप में पहुँचे तो दूल्हे के स्वागत के लिए दुल्हन की पूरी फॅमिली बाहर खड़ी थी जिसमें दुल्हन की सिस्टर भी थी जो बहुत प्यारी लग रही थी.

‘वो कहते हैं न संगत का असर तो किसी पर भी होता है, धीरे धीरे मुझ पर भी प्रिया की सांगत का असर होने लगा और मैं भी अब रात को न्यूड सोने लगी थी.

काश मेरा ब्वॉयफ्रेंड भी ऐसा ही मस्त होता।टीना- अरे तो इसमें क्या है. मैंने कहा- अरे यार, एक तो मुझे अपनी सारी सेक्सी बातें बताती है, ऊपर से भाई बहन की बेकार की बातें चोद रही है. मैं भी अब कगार पर था, मेरे लंड ने भी विराट रूप ले लिया और ऋतु ने जैसे ही मेरे टट्टों को अपने हाथ में लेकर मसलना शुरू किया… मैं झड़ गया और वो मेरा पूरा माल पी गई.

घर की काम वाली बाई, पड़ोस की शर्मा आंटी, वर्मा आंटी की बेटी, कोयल आंटी की बहन, गुप्ता जी की काम वाली, आस पड़ोस में ही मैंने अपनी 10 से ज़्यादा औरतों को चोद दिया था. मैं बहुत दिन से तड़प रही हूँ तेरे लण्ड के लिए! इसे मेरी चूत में ही सेट कर दे… आंह. मैं सोने जाने लगा तो वो बोलीं- चलो अन्दर वाले बेड पर वहीं सो जाना, कुछ देर बातें करते हुए सो जाएंगे.

आज एक नहीं दो महिलाएं भी दवा खाकर आ जातीं, तो मैं उन्हें संतुष्ट कर सकता था. इस बार जब चाची ने कुछ नहीं कहा तो मुझे लगा कि शायद चाची सो गई हैं, मैंने धीरे से अपनी एक आंख खोली तो देखा चाची जाग रही थीं.

सीधे कहूँ तो दोनों तरफ आग बराबर लगी थी या शायद उसमें मेरी सोच से भी बहुत ज्यादा लगी थी. यदि जाना होता तो कब के जा चुके होते और यार कांड वाली क्या बात है ये तो बता. सविता, कहीं ये लोग भी तो हमारी आवाज और हमें देख तो नहीं पाएंगे न?”अरे समीर नहीं, बस हम ही देख और सुन सकते हैं.

वैशाली कहने लगी- मैं आपका अंदर नहीं लूँगी, मैं चौड़ी कर लूँगी, आप ऊपर डिस्चार्ज कर देना.

मैं जल्दी से उठ कर बाथरूम चली गयी, बाथरूम में चूत की सफाई की और सारा सू सू निलाल दी, उसके बाद में बहुत आराम पर थकी हुई महसूस कर रही थी, गांड में उंगली डाली तो छेद पूरी तरह से ढीला हो चुका था, मैं बाथरूम से बाहर आई तो मामा जी बाथरूम चले गये फ्रेश होने. मुझे उस बेचारी पर बहुत तरस आ रहा था कि उसे गर्म करके ऐसे ही जा रहा हूँ. दर्द के मारे मैं चिल्ला रही थी मगर उसने मुझे बिल्कुल नहीं बख्शा।कुछ देर बाद उसने मेरी एक टांग उठाई और अपने कमर पे लिपटा ली और थोड़ा झुक कर उसने फिर से अपना लंड खड़े खड़े ही मेरी चुत में डाल दिया। मैंने अपने हाथ उसके गले में डाल दिए और दूसरी टांग भी उसके कमर पर लपेट दी.

सुमन कुछ कहती, उससे पहले ही गुलशन जी ने हाथ टी-शर्ट में डाल दिया और सीधे सुमन के नंगे मम्मों पे लगा दिया. जब भी मुझे घर से बाहर जाना होता है मैं ज्यादातर मिनी, मिडी, स्कर्ट, जीन्स, टॉप ही पहनती हूँ.

मेरे लिए खुद पर काबू करना मुश्किल हो रहा था और मेरा लंड भी धीरे-धीरे कड़क होने लगा था. नहा कर जब मैं बाहर आया तो खाना बन रहा था, तो मैं भी दीदी की कुछ हेल्प करने लगा. !पूजा ने बिना कुछ सोचे अपनी टी-शर्ट वहीं संजय के सामने निकाल कर रख दी।पूजा ने अन्दर बच्चों वाली ब्रा जो एक बेल्ट टाइप की होती है, वो पहनी हुई थी जिसमें उसके संतरे जैसे गोल-गोल चूचे साफ दिख रहे थे।पूजा के जाने के बाद संजय ने उसकी पेंटी को सूँघा.

बीएफ सेक्सी डब्लू डब्लू

मैं अभी पाँच लंड का इस्तेमाल कर रही थी…या यूं कहना चाहिए कि मैं पाँच लंडों की रानी थी.

इसके बाद उसका भी विवाह हो गया लेकिन विवाह के बाद अब भी वह मुझ से चुदती है, उसका एक बेटा है जो वो कहती है कि मेरे लंड की चुदाई से हुआ है. अब बातें बंद करो, यहाँ मेरे पास आओ मुझे इस संगमरमरी जिस्म को चूमने दो. जब कुछ देर बाद सुमन भाभी नार्मल हुईं तो मैं धीरे-धीरे अपने लंड को चुत में अन्दर-बाहर करने लगा.

मैंने लंड को बाहर पूरा खींचा और एक ही बार में घुसा दिया, इस तरह चार बार किया. आप सेक्स स्टोरी का आनन्द लें और मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें।[emailprotected]कहानी जारी है।. कामसुञकथाजब तुम पूरे जवान हो जाओगे, तो देखना कितना बड़ा हो जाना है इसने!कुछ देर चूसने के बाद मौसी बोली- चल अब आगे का काम करते हैं.

ऐसा करने से लंड जैसे सरिता की बुर के अंदर घुसा तो और वो अब उतावली हो के रमेश को बुर फाड़ने के लिए कहने लगी- और जोर से चाचा जी. उसने जब दोबारा पूछा तो मैंने हंसकर उसे बोला- शहज़ाद, तुम्हें अक्ल नहीं है, लड़की का चुप रहना भी उसकी हाँ कहने का एक अंदाज़ होता है.

वो तो ज़बरदस्ती तेरी चुत में लंड घुसा देगा और तब ज़्यादा दर्द होगा. सुमन- नहीं दीदी मुझे डर लग रहा है कहीं संजय को पता चल गया तो?टीना- पागल मत बन. मोना- नीतू सच में तूने कमाल कर दिया मगर ये कमाल तुझे कल दिखाना होगा.

अब मैं उसे देखता हुआ सीढ़ियाँ चढ़ रहा था और उसे देखकर मेरा लंड तन चुका था. मनोज ने अपना लंड मेघा की चूत में से निकाल कर उस के बूब्स पे अपना पानी छोड़ दिया और उसे लिप किस करने लगा. एक बार कोशिश की थी तब बहुत दर्द हुआ था इसलिए और भी जान घबरा रही थी.

शहज़ाद ने धीरे धीरे मेरे बूब्स को छेड़ना शुरू कर दिया तो मैंने भी उसके लंड को हिलाना शुरू कर दिया जिससे वो फिर से खड़ा होने लगा.

रिया ने टू पीस बिकिनी के ऊपर एक बेहद सेक्सी छोटा टॉप और हॉट पैंट पहनी और मैंने स्पेगेटी टॉप के नीचे मिनी स्कर्ट पहन लिया. थोड़ी देर बाद दीदी बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… अब कुछ कर भी दो… मुझसे रहा नहीं जाता.

जॉन- बेबी अपना फ्रॉक निकाल दो, मैं तेरी मालिश कर देता हूँ, फिर तुझे आराम मिलेगा. तुम्हारी तो पसंदीदा चीज है न इतनी बड़ी चूचियां… है ना?मैंने सिर्फ हम्म्म्म कहा और दोबारा वहीं देखने लगा। मेरा लंड अब फिर से खड़ा हो रहा था और ऋतु, मेरी बहन की की गांड से टकरा रहा था. उसके बाद उसकी 30 इंच की पतली कमर और उसके नीचे ऊपर को उठी हुई 32 इंच की मदमस्त गांड.

अभी तक आपने मेरी इंडियन गे सेक्स स्टोरीज में पढ़ा कि मैं मां के साथ सोनीपत वाली बस में अपने घर बहादुरगढ़ जा रहा था और उसी में साथ वाली सीट पर एक लड़का-लड़की जिनको देखकर लग रहा था कि नई-नई शादी हुई है, रंगरेलियाँ मनाते हुए आ रहे थे, लड़का चलती बस में अपना लंड लड़की को चुसा चुका था और बस खरखौदा बस स्टैंड पर कुछ देर के लिए रूकी थी. तभी फ्लॉरा आगे झुकी और अतुल के कान में बोली- जीजू, आपका गन्ना बहुत गर्म हो गया है. एक खास बात और थी कि जो भी लड़कियाँ अपने टाईम से लेट आ रही थी, उनको तो एन्ट्री मिल जा रही थी, जबकि लड़कों की लेट एन्ट्री बंद थी.

सेक्सी बीएफ मोटा मैं खुद को और कंट्रोल कर नहीं पाया और मैंने उनके मम्मों को दबाने लगा. और एक काम कर, तू अभी कुंवारी है तो तू आज चुत में गाजर या मूली डालकर अपनी चुत की झिल्ली तोड़ देना.

ब्लू पिक्चर बीएफ सेक्सी इंग्लिश

हम एक कार्नर में बैठ गए और मैंने दो डोसे आर्डर किये और उससे पहले कुछ स्टार्टर का आर्डर किया. उनकी इस कामुक आवाज से मैं और जोश में आ गया और उन्हें जम कर चोदने लगा. राहुल बोला- साली रंडी, बातों से लग रहा था कि तू बहुत चोदा हुआ माल है पर तेरी गांड तो बड़ी टाइट दिख रही है.

पहले तो उतना कुछ नहीं था लेकिन उसमें इतने बदलाव की वजह से मैं हैरान था. फ्लॉरा कमरे में जाकर बेड पे बैठ गई और जॉन तेल को हल्का गर्म करके ले आया. सासु मां की सेक्सी वीडियोअब तक की इस सेक्स की कहानी में आपने पढ़ा था कि गुलशन जी ने अपनी दूसरी बीवी की बेटी अनिता की सील तोड़ चुदाई की.

सविता भाभी को प्रेम की याद आते ही वे उस समय की यादों में डूब गईं जब उनका विवाह हो रहा था.

मेरी क्लास की बाकी लड़कियां पार्टियों, डिस्को में जाया करती थीं, पर मुझे कभी भी मन नहीं किया. फिर दोनों सहेलियों ने थक जाने के बाद कुछ खाने की सोची और एक रेस्तरां में खाने चली गईं.

उंगली अन्दर-बाहर करने लगा। मेरी उंगली उसकी चुत में इतनी तेज़ स्पीड से जा रही थी कि रूम में सटासट सटासट की आवाज़ गूँज रही थी। फिंगर फकिंग का मज़ा उसकी आँखों में भी दिख रहा था. पूरे लिंग का एक ही झटके में योनि के घुसते ही माला तडप उठी और पैर पटकती ही बहुत ऊँची एवम् लम्बी चीत्कार मारती हुई बोली- आह्ह… ओह्ह. इसके बाद मैंने भाभी के मम्मों से चुसाई शुरू की और धीरे-धीरे भाभी के दूध पर हर तरफ चूसता चला गया, जिधर डेरीमिल्क लगाई हुई थी.

उसके होंठ चूसते चूसते मैं उसको लेकर पीछे को लेट गया और हम एक दूसरे से कुछ ऐसे लिपटे हुए थे जैसे साँपों का कोई जोड़ा.

बस में एक ही सीट खाली थी जहाँ पर पुलिस की वर्दी में एक 28-30 साल का नौजवान बैठा हुआ था. फिर घर वालों ने उन दोनों को समझाया और उसने भी सोचा कि डाइवोर्स लेकर क्या होगा, इससे उसके घर वालों की ही परेशानी बढ़ेगी. वैसे वो बात तो सामान्य ही कर रहा था लेकिन नशे में सेक्स का इतना ज्यादा ध्यान नहीं रहता है.

न्यू सेक्सी वीडियो न्यू सेक्सी वीडियोजैसा कि स्नेहा ने उसके हुस्न के बारे में बताया था वो उससे बढ़ कर निकली. जैसे तैसे हम अलग हुए, मैंने उसका हाथ पकड़कर उसे अपनी कार में बिठाया और तेजी से गाड़ी चलकर हम मेरे घर पे पहुँच गए.

चड्डी वाली बीएफ

सुबह चारों एक साथ नहाये और सबीना जमीला और रफीक मुझे रेलवे स्टेशन छोड़ने आये. साथियो, आप मेरी इस चोदन कहानी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. समझ गई ना?नीतू- ठीक है दीदी दबा दूँगी… मगर मेरी माँ कहती है आदमी की लुल्ली की बात नहीं करना चाहिए.

रूबी ने वैशाली से कहा- पहले दिन मेरा भी यही हाल हुआ था, परंतु अब तो राज से चुदे बिना मुझे नींद ही नहीं आती है. जीजाजी ने बच्चे की मालिश के लिए रखी तेल की कटोरी से दीदी की गांड के छेद पर तेल डाला और फिर अपना लंड गांड की मुहाने पर रखकर ज़ोर लगाने लगे. 2 मिनट तक उसने चूसा, फिर मुझसे रहा नहीं गया तो मैं उसके सर को पकड़कर अपने लंड को धीरे धीरे उसके मुँह में धकेलने लगा और कुछ देर के बाद मेरा माल उसके मुँह के अंदर निकलने लगा और उसने भी बड़े मज़े से सारा माल पी लिया.

उन्होंने मुझसे पूछा- मेरी चुत का स्वाद कैसा लग रहा है?मैं बोला- नमकीन. उसके रंग-ढंग को देख कर कोई भी बता सकता था कि वो बहुत ही चुदने वाली लड़की है. मैंने उससे उसकी शादी के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसका पति गवर्नमेंट सर्विस में है, घर वालों को रिश्ता पसंद था तो वो भी राज़ी हो गई.

वहां देखा तो जमींन पर एक कमरे के फर्श पर एक गद्दा बिछा था, जिस पर शायद दिन में मकान मालिक आराम करता था. सुबह वो उठी तो पापा जी का लंड अकड़ा हुआ था, जिसे देख कर सुमन के मुँह में पानी आ गया.

पण्डित जी ने चाय नाश्ता बना कर मेरे कमरे में अपने नौकर के हाथ भिजवा दिया.

हूँ…” जीजाजी ने रास्ता रोकते हुए कहा- लगता है गर्मी कुछ ज़्यादा ही लग रही थी. bhutnath चार्टनीलम की माँ ने भी अपनी बेटी के इस भाई बहन के रिश्ते का जोर शोर से एलान किया था. फिल्म आई मिलन की रातअनुराधा- उम्म्ह… अहह… हय… याह…और फिर वैसा करते ही मैंने उसकी स्कर्ट को खींच कर उसके जिस्म से अलग कर दिया. यहाँ पे मुझे समझ में आया कि आपकी तकदीर वापिस मौका देती है, आपको उसे समझना है.

मैं मामा के लंड में धीरे-धीरे दाँत चुभाने लगी, इससे मामा को भी मज़ा आ रहा था.

वैसे आपको बता दूँ वो उठी हुई थी और लंड चुसाई भी उसने देखी थी मगर गोपाल जब उठा तो वो भाग कर सोने का नाटक करने लगी. तब मैंने उसके पैन्ट में बना तंबू देखा तो मैं और जोश में आ गई और धीरे-धीरे अपनी कमर को हिलाने लगी. उसकी 20 मिनट की लंड चुसाई की मेहनत के बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

वो तो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थीं, जैसे उन्हें कभी ऐसा लंड चूसने को मिला ही ना हो. जब कई दिन ऐसा करते हुए हो गए तो एक दिन मैंने भाभी से बात करने की ठान ली और पार्क में जिधर भाभी जॉगिंग कर रही थीं, मैं उधर उनके करीब को चला गया. साथ ही वो लंड की गोटियां भी चूस रही थी और गुलसन जी मजे की अलग ही दुनिया में खो गए थे.

इंडियन सेक्स बीएफ व्हिडिओ

अब मैंने चांस मारा, दीदी की साड़ी को उनके सीने से हल्का सा हटाया तो उनके मम्मों की लाइन दिखने लगी. उसके ऊपर चढ़े चंगेज़ ने उसकी चूत को निशाना बनाते हुए अपना भरकम लंड अन्दर घुसेड़ दिया और सामनी खड़े रुस्लान ने अपने लंड की सीध में आई गांड में! मेरी नताशा इस शानदार चुदाई से निहाल-निहाल हो उठी!पोज़ हालाँकि मुश्किल था, लेकिन लड़के भी तो जवान थे! मेहनत करके ही सही, दोनों ने अपनी कमर सिकोड़ कर, पेट भींच कर आखिर असंभव को संभव बना दिखाया और उलटे पोज़ में ही चूत, और गांड की चुदाई आरंभ कर दी. मैंने देखा आज मेरी चुत पापा के लंड का पानी पीकर बहुत सुन्दर लग रही थी.

मैंने भी उसका समर्थन करते हुए कहा- हाँ यार! सही है, क्या करो अब, यहाँ टाइम पास नहीं होता… आप अपने किसी रिश्तेदार के साथ आये हैं क्या?उसने कहा- हाँ यार.

वो लड़का पेशाब करने बाहर निकल गया और उसके साथ मैंने भी जाकर पेशाब करने के बहाने उसके 9 इंच के लंड को खूब चूसा, उसने अपना वीर्य मेरे मुंह पर झाड़ दिया और झाड़ियों के पीछे से बाहर आ गया.

मामा ने मुझसे पूछा- क्या सरप्राइज़ है?तो मैं बोली- आपको अपने आप पता चल जाएगा. मैंने महसूस किया कि पूजा के होंठ मेरा लंड मुंह में लेते ही बंद हो गए और उसकी जीभ मेरे लंड के सिरे को कुरेदने लगी. डॉक्टर सेक्स वीडियोसमैं बहुत तेज़ी के साथ उसको चोद रहा था और माँ अपने चूतड़ों को नचा-नचा कर आगे-पीछे की तरफ धकेलते हुए मेरे लंड को अपनी चूत में लेते हुए सिसिया रही थी- ओह चोद मेरे राजा… मेरे लाल उईई क्यों योऊ ऊउउऊ अपने लंड… और ज़ोर से चोद… ओह… मेरे चुदक्कड़ बालम, सीईईई… हरामजादे बेटा… और ज़ोर से पेल मेरी चूत को… ओह ओह… सीईई… बहनचोद… मेरा अब निकल रहा… हाईई…ईईई ओह सीईई.

ऐसी मदमाती मस्त जवानी को चोदने के ख्याल से ही मेरे लंड में तनाव भरने लगा. स्थिति काबू से बाहर हो चुकी थी, एंड्रयू मेरी वाइफ के पीछे एकदम चिपटा हुआ था, मेरी पैन्ट की ज़िप नताशा के मुंह के सामने थी और स्वान नताशा के नीचे लेट सा गया था, उसका मुंह मेरी वाइफ की टांगों के बीच स्थित था!नताशा के चूतड़ों से चिपके हुए एंड्रयू का लंड शायद पूरी तरह तन चुका था क्योंकि वो मेरी बीवी के नितम्बों से चिपटा जा रहा था और कपड़ों के अन्दर से ही नताशा के छेद को निशाना बना कर धक्के लगाने लगा था. ला दूसरा भी दे।थोड़ी देर बाद दोनों 69 के पोज़ में हो गए और सुधीर जीभ से मोना की चुत को चाटने लगा। इधर मोना भी उसके लंड को मज़े से चूस रही थी। दस मिनट तक ये चुसाई चलती रही और फिर मोना की चुत बहने लगी.

मैंने सबीना को बीयर की बोतल दी और उसको अपनी चुचियों पर बीयर डालने को कहा. अब अगले भाग में प्राची भाभी के मदमस्त हुस्न और मेरे लंड के लिए किलकिलाती चुत की चुदाई की कहानी का रस पढ़ने को मिलेगा.

अगले दिन मैं मेरे साथ एक वीडियोग्राफर पंकज, दूसरा वीडियोग्राफर रोहित और एक हेल्पर नितिन को साथ लेकर अपनी गाड़ी में सामान रखकर जालंधर में उस शादी वाले घर पर पहुँच गया.

थी एक चल अब देर हो रही है, मुझे घर भी जाना है।संजय- अच्छा मत बता, जाने दे मगर ये तो बता अब इस पूजा का क्या करूँ?टीना- हा हा हा साला पक्का रंडीबाज है तू. उसने अपने दोनों हाथ मेरी गर्दन से लपेट लिए और वह मेरे ऊपर पूरी तरह से लटक गई. लंड की चोट से वो भी मस्ती से चिल्ला उठी और बोलने लगी- आह… और जल्दी करो… फाड़ दो अपनी बहन की चूत को… बहुत मोटा लंड है तेरा… आह… मजा आ गया.

सलवार सूट इमेजेज उसने इशारा किया तो मैंने दूसरे धक्के में पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया और उसे फिर से दर्द होने लगा. सो गए।फिर सुबह उठ कर अपने रुटीन के कामों में लग गए। शाम को सुकांत और मैं फिर दस बजे रात तक मिले, वह मेरे बेड पर आकर लेट गया।सुकांत बोला- सर आपने कल मजा बांध दिया.

‘मम्मी, आज इनको पालक छोले की सब्जी खानी है जैसी आप बनाती हो, आप मुझे गाइड करो कैसे बनाना है’; ‘मम्मी आम का अचार डालना है आज, आप बता दो कैसे क्या क्या करते हैं’ इत्यादि इत्यादि. मेरी पिछली स्टोरीमेरी और मेरी सहेली की चुत की कामुकतामें आपने पढ़ा कि मैं अपनी सहेली के साथ गोवा गयी मस्ती करने, वहां पांच लड़कों से पूरी रात चुदाई के बदले एक लाख रुपये तय किये. उसका लंड गले तक जाता, फिर बाहर लाता और फिर जोर से लंड गले तक पेल देता.

बीएफ सेक्सी मोटी की

अब जाकर मैंने अपने हाथ से उसके लंड के उभर पर रखा और उसे अनुभव किया. थोड़ी देर बाद रिया आई, उसने जोर से कहा- लव यू निकी डार्लिंग! तुम्हारी वजह से मैं तो जन्नत में आ गयी यार!मैंने भी उसे ख़ुशी ख़ुशी गले लगा लिया. मेरे को बहुत मज़ा आ रहा था, पर साथ मैं गांड भी फट रही थी कि चाची उठ जाएंगी तो क्या होगा.

अब तक की बहन की चुदाई की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि रात को जॉन ने फ्लॉरा को नशे की गोली देकर सुला दिया और उसके नंगे शरीर खूब मसला पर चोद नहीं पाया. मैंने रूक कर उसे पूछा- तुम खाना क्यों नहीं खाओगी?वो बोली- तू मेरी वजह से भूखा रहे तो मैं कैसे खाना खा लूँ?मैं कुछ बोलता उस से पूर्व वो मुझे अपने हाथ से खाना खिलाने लगी.

मैंने पूछा- जबरदस्ती?तो वो बोली- नहीं… बस चाचा ने मुझे पटा लिया था.

लेकिन मैं थोड़ा शर्मीले स्वभाव का लड़का था, मुझमें ऐसा करने की कोई हिम्मत नहीं थी. जॉन किसी काम से बाहर चला गया और फ्लॉरा उन वीडियोज को देख कर बहुत ज़्यादा उत्तेजित हो गई. मेरा नाम माधव शर्मा है, मैं इंदौर में पढ़ाई करता हूँ और यहाँ किराये के एक रूम में रहता हूँ।मेरी हिन्दी पोर्न स्टोरी की घटना आज से चार माह पहले की है जब मैं अपने नए रूम में रहने के लिए आया था, अभी दो दिन हुए थे यहाँ पर, एक दिन शाम के टाइम में सो कर उठा था, मेरा लंड लोअर में तम्बू बनाये हुए था और मैं उसे पकड़ कर मसलते हुए फोन पर बात करने लगा.

क्या मस्त लंड चूस रही थी, क्या मज़ा आ रहा था!थोड़ी देर बाद उसने अपनी ब्रा खोली और मेरे लंड को बूब्स के बीच लेकर के रगड़ने लग गई. मैंने उसकी ओर मुग्ध भाव से देखा, वो मेरी ही तरफ देख रही थी, मेरी आँखों में प्रशंसा का भाव पढ़ कर वो धीमे से मुस्कुराई. हमने थ्री सम चुदाई का तय किया, दिन फिक्स किया और मिलने का प्रोग्राम बना लिया.

मैं शाम को ऑफिस से आया तो देखा कि वो सिर्फ़ एक मैक्सी में मेरी बीवी के साथ किचन में हैं.

सेक्सी बीएफ मोटा: फ्लॉरा ने जब अपने पेरेंट्स का नाम बताया तो गुलशन जी की हवा टाइट हो गई. मैंने रिया से पूछा- कहां की है यार ये फिल्म?अपनी चुत को अपनी उंगली से घिसते हुए उसने कहा- थाईलैंड में लीला आयलैंड है जो एक न्यूड पार्टी आइलैंड है.

तभी एनाउन्सर ने हमें बताया कि आप अपना नम्बर सामने डिस्पले में देखते रहे और अपने नम्बर के विषय में बार-बार पूछ कर फालतू का परेशान न करें!इतना कहने के साथ ही पहला नम्बर डिस्पले हुआ. बस इसे ही देखते-देखते मजा ले रहा था।तभी वहां सामने से एक औरत गुजर रही थी. मैं धीरे-धीरे करके उनके कंधे और मम्मों को छू रहा था, वो बड़े आराम से इस सब का मजा ले रही थीं.

मामा का लंड थोड़ा खट्टा और नमकीन लग रहा था, पर मुझे लंड चूसने में मज़ा आ रहा था.

मैंने उसके मम्मों को चूसना शुरू कर दिया और वो सिसकारी लेने लगी ‘आहह. उसने अपना एक हाथ टेबल पर रखा हुआ था जिससे उसकी आधी आस्तीन की शर्ट में से उसके डोलों की नसें उभर रही थी जो मुझे और भी दीवाना बना रही थी. मैंने देखा कि अगल बगल कोई नहीं है तो भाभी को मैंने अचानक से पीछे से पकड़ लिया.