मिया खलिफा की बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ थाईलैंड

तस्वीर का शीर्षक ,

मारी लड़की की सेक्सी: मिया खलिफा की बीएफ, ब्लाउज खोलते ही मुझे भी थोड़ी राहत मिली क्योंकि ब्लाउज थोड़ा ज्यादा ही कसा हुआ था.

बीएफ सेक्सी अंग्रेजी बीएफ

साड़ी को मेरी कमर से बांध कर उसने आगे का हिस्सा एकदम नाभि के नीचे खौंस दिया. सेक्सी वीडियो पेशाब करने वालीशकूर ने कहा- रमेश, अगर तुम्हें कोई दिक्कत न हो तो तुम अरशी को भी साथ में पढ़ा दिया करो.

कुछ ही देर में इतना लंबा और मोटा खीरा अब उनकी चुत में पूरा घुस गया था. बीएफ फिल्म एक्स एक्समेरी कद काठी बहुत ही मस्त है, जिस कारण बहुत सी लड़कियां मुझ पर मरती भी हैं.

धीरे धीरे करके मैंने आधा लंड उसकी गांड में घुसा दिया और फिर उसको चोदने लगा.मिया खलिफा की बीएफ: कसम से भगवान ने उन्हें क्या फ़ुर्सत से बनाया है, कोई भी एक बार उन्हें देख भर ले, फिर चाहे बुड्डा ही क्यों न हो.

भाभी की चूत पच-पच कर रही थी और दोनों की जुबान आह् … आह … कर रही थी.उम्र का पता तो मुझे बाद में चला था लेकिन मैं आपकी जानकारी के लिए पहले ही यहां पर लिख रहा हूं ताकि आपको उसके बदन के बारे में कुछ आइडिया मिल जाये कि वो देखने में कैसी रही होगी.

पाकिस्तान सेक्सी बीएफ वीडियो - मिया खलिफा की बीएफ

तो मैंने क्या किया?इस सेक्सी कहानी के पहले भागभतीजी और उसकी सहेली की चुदाई-1अब तक आपने पढ़ा कि मेरी भांजी और उसकी सहेली छत पर दारू और सिगरेट का मजा ले रही थीं.मैंने खुद को उसके कंधों को पकड़ कर खुद को सहारा दिया और अपने घुटने मोड़ कर ऐसे धक्के देने लगी कि उसका लिंग ज्यादा भीतर जाए.

उसके धक्के अब मेरे मन को कमजोर करने लगे थे और जैसे जैसे वो मेरे गले को चूमता हुआ धक्कों की गिनती बढ़ाने लगा, मैं भी उसके आनन्द में खोने लगी. मिया खलिफा की बीएफ पर मैंने वापस पल्लू ऊपर किया और बोली- कुछ भी मुफ्त में नहीं मिलता साहब.

बीच बीच में वह मेरे लंड को दबा भी रही थी अपने हाथों की मुट्ठी में भर कर वह मेरे लंड को भींच देती थी। लेकिन लंड से अभी भी थोड़ा थोड़ा खून निकल रहा था.

मिया खलिफा की बीएफ?

मैं मुठ मार कर ही उसकी चूत के बारे में सोच कर अपना पानी निकाल लेता हूँ और अपने लंड को शांत कर लेता हूँ. वंदना भाभी- सच्ची बल्लू, मेरे नॉटी बल्लू… गुन्डाराज … मैं भी तुम्हें और तुम्हारी गर्माहट को मिस जो कर रही हूंबल्लू- ओह भाभी, तुम भी ना… आज रात तुम्हारे घर पर आता हूं मैं. मम्मी मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोल रही थीं- आह … पी जा बेटा … अपनी मम्मी की चूची को पूरा पी जा … खा जा इनको.

उनकी मस्ती भरी आवाजों से मुझे यकीन हो गया था कि आंटी की गांड मजा दे रही है. मौसी ने मुझे देख कर स्माइल की और फिर अपने कपड़े लेकर दूसरे रूम में चली गई. मैंने उसकी पैंटी को जोर से चूस लिया और उसकी चूत को अपने मुंह में भरने की कोशिश करने लगा.

फिर नेता गिलास बगल में रखते हुए बोला- चल अब चोदने दे, मस्त माल है तू … तो मजा देगी न अच्छे से?मैं भी बोली- हां साहब, आपके लिए ही तो आयी हूँ, ऐसा मजा दूंगी कि दोबारा किसी औरत को नहीं देखोगे. उसकी चुसाई इतनी तेज थी कि अगर मैं उसको दो मिनट और न हटाता तो मेरा माल उसके मुंह में ही निकल जाना था. मैंने देखा कविता और राजेश्वरी ने मैचिंग की ब्रा पैंटी पहनी थी और वो दोनों तो उसी में ज्यादा आकर्षक और कामुक दिख रही थीं.

कुछ क्लाइंट्स मुझे सेक्स के लिए उकसाती हैं लेकिन मैं उनको मना कर देता हूँ. ब्लाउज के नीचे दबे हुए उनके बड़े बड़े बूब्स और पतली सी साड़ी के नीचे छुपी हुई उनकी बड़ी सी गांड मुझे उनके लिए सोचने पर हमेशा ही मजबूर कर दिया करती थी.

उसने अंदर झांक कर देखा तो मैं उसको पहले तो दिखाई नहीं दिया लेकिन फिर जब उसने ध्यान से अंधेरे में देखा तो मैं उसको दिख गया और वो एकदम से डर गई.

मेरे लंड के सुपारे पर जब भाभी के हाथ घिस रहे थे तो मैं भाभी की चूत चूत को चोदने के लिए जैसे मरा जा रहा था.

वो बोलीं- बेटा अब मुझे मत तड़पाओ … जल्दी से अपना मोटा मूसल लंड अन्दर डाल दो और मेरी चूत को चोद दो. अब मैं उसकी चुदाई के लिये तड़प गया था और भगवान से प्रार्थना कर रहा था कि घर वाले कहीं चले जायें. तभी मामी जग गई और मुझे देख कर एकदम सकपका गई और धीमी आवाज में चिल्लाते हुए गुस्से से बोली- यह क्या कर रहे हो रोहित? तुम्हें समझ नहीं आता? मैं तुम्हारी मामी हूं.

तुझे और कोई लड़की नहीं मिल रही है क्या?मैंने कहा- जब घर में इतनी सुन्दर लड़की है तो फिर बाहर ढूंढने की क्या जरूरत है?दीदी बोली- कुत्ते, मैं तेरी बहन हूं. मैं भी बदले में अपने लंड को उनकी गांड की दरार में पूरा का पूरा घुसाने की कोशिश करने लगा. उनकी वक्षरेखा देख कर मेरा लंड एकदम से अंदर ही अंदर तनना शुरू हो गया.

साथ में एक जवान लड़की अपनी चूत में उंगली कर रही हो तो भला किसे चैन आने वाला था.

बल्लू ने अपने तने हुए लंड को भाभी की गांड की दरार के बीच में घुसा दिया. मैं खुश होता या दुखी कुछ समझ में नहीं आ रहा था क्योंकि मम्मी ने मुझे उसका भाई बना दिया था।अब पूजा ही खाना बनाती, हम साथ में बैठ कर खाना खाते लेकिन मैं उससे नज़र नहीं मिलाता. आपको बुर्कानशीं भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी अपने मेल जरूर कीजिएगा.

मुझे पता था कि मेरे पापा मेरी मां को सेक्स में संतुष्ट नहीं कर पाते हैं. फिर उन्होंने कहा- कुछ दवाइयां आपको आज ही मिल जाएंगी और बाक़ी दवाइयां आपको दो दिन बाद उपलब्ध हो पायेंगी।मैंने उनसे कहा- लेकिन आप जरूर यह दवाई मंगवा दीजिए।मैं अपने घर आ गया और घर पर मैंने वह दवाई अपनी मम्मी को दे दी। मैंने अपनी मम्मी को सारा कुछ समझा दिया था. तभी उसने मुझसे कहा- मामा जी, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है … जल्दी से कुछ करो ना!कुछ टाइम उसकी चूत चाटने के बाद मैंने कहा- मेरी प्यारी भांजी, मेरे लंड को भी तो चाट कर मजा दो ना?मेरे इतना कहते ही उसने तुरंत मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

अब तक हम लोगों ने एक दूसरे को देखा तो नहीं था, मगर मोबाईल की वजह से एक दूसरे को पहचानने में कोई परेशानी नहीं हुई.

दोस्तो, मेरी साली सलहज की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताना … प्लीज़ मेल करना. हो सकता है कि मेरे कुछ साथियों को मेरी ये बात कुछ फेंकालॉजी लगे, मगर ये सही बात है.

मिया खलिफा की बीएफ वो बोली- अरे यार तू समझता क्यों नहीं है … कोई आ जाएगा तो!मैंने कहा- इसी लिए तो गेट पर ताला बंद करवाया है … और सलमा नजमी 5 बजे आएंगी. जब भी किसी की इच्छा होती थी तो वो मुझे बुला कर अपना काम पूरा करवा लेती थी.

मिया खलिफा की बीएफ इस लिए सभी पति पत्नी के लिए यह सही राय है कि वे प्रसव के तीन महीने तक संयम बरतें, उसके बाद सब कुछ सामान्य रहने पर ही सेक्स शुरू करें … वो भी सीमित मात्रा में जैसे सप्ताह में एक बार …डिलीवरी के कुछ माह बाद स्त्री का मासिक धर्म शुरू हो जाता है लेकिन यह अनियमित रहता है इसलिए दोबारा गर्भ धारण से बचने के लिए गर्भ निरोध के साधन इस्तेमाल करने चाहिए. दोनों पूरी तरह सुस्ताने के बाद अलग हुए, तो एक दूसरे को देख ये लगा कि हमने काफी मेहनत की है.

उसके मुँह से लंड चूत चुदाई जैसे खुले शब्द सुनकर मेरे लंड को ताकत मिल गई थी.

सेक्सी चूत चाटने वाली वीडियो

कभी मेरी गोलियों को छेड़ रही थी तो कभी मेरे लंड के सुपारे को मसल रही थी. मम्मी की चूत पर बहुत बड़े बड़े और घने बाल थे और धीमी रोशनी में उनकी चूत बिल्कुल नजर नहीं आ रही थी. कविता ने कांतिलाल का लिंग चूस कर एकदम कठोर बना दिया था और अब कांतिलाल अपने लिंग को योनि से मिलाप कराने को व्याकुल होने लगा.

कविता और जोर से चीख पड़ी उम्म्ह … अहह … हय … ओह … और उसकी चीख सुन हम सबके मन में भी उत्तेजना सी आने लगी. हर रोज की तरह ही सोनाली नहाने के बाद अंदर रूम में आई और उसने दरवाजा बंद कर लिया. क्या हुआ देर कैसे लग गई?वो बोली- पानी की मशीन खराब हो गई थी … तो कल फिर से जाऊंगी.

मैंने जोर से उसके निप्पलों को मसलना शुरू किया तो भाभी बोली- आज मेरे साथ मायके ही चलो.

लेकिन दो मिनट बाद ही मुझे लगा कि प्रिया खुद ही बड़े मजे रोहण का लंड चूस रही थी. वो कहने लगी कि तुम्हें इतने बड़े घर में छिपने के लिए और कोई जगह नहीं मिली?उसको शायद शक हो गया था कि मैं झूठ बोल रहा हूं. एक कमरे में मेरे मां और पापा सोते हैं और दूसरे में मैं और भाई सोते हैं.

मैं बीच में बैठा था, मेरे दाहिनी तरफ सलमा और बायीं तरफ नजमी बैठी थी. ये दोनों इतने अधिक झीने थे कि उनमें से उसकी ब्रा और पेंटी का रंग भी दिख रहा था, उसने काले रंग की ब्रा और काले रंग की पेंटी पहनी हुई थी. वो कुछ भी नहीं कर रही थी, बस शान्ति से मेरे लंड के हमलों को झेल रही थी.

उसको मैंने अपनी बातों में फंसाने की कोशिश करते हुए कहा कि अगर तुम मेरी शिकायत करोगी तो मैं भी मकान मालिक से तुम्हारी शिकायत कर दूंगा कि तुम घर में क्या क्या करती हो. ज़ाहिर सी बात है कि गुडलुकिंग इंसान को कौन पसंद नहीं करता, खास तौर पर उसे, जिसकी अच्छी बॉडी हो.

फिर उस दिन के बाद से मैं रोज जल्दी उठ कर टहलने के बहाने से आकर कई बार अपनी बहन को नंगी नहाती हुई देख चुका हूँ. और साथ ही कल वाली बातों के कारण वो मेरे साथ बातें करने में भी एकदम खुल गई थी. तीन-चार मिनट के भीतर उसको गांड चुदाई करवाने में मजा आने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी.

भाभी ने दर्द के मारे सोनू के लंड पर दांत गड़ा दिये लेकिन सोनू ने लंड नहीं निकाला मैंने पूरा जोर लगा कर भाभी की गांड में लंड को उतार दिया.

मगर मैंने उनकी चिल्लपौं को अनसुना कर दिया और उनके ऊपर छाते हुए पूरा लंड चुत में पेल दिया. तो मैंने उसकी गांड में एक मोटी पेंसिल को डाल दिया और पेंसिल जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा. मैंने लंड बाहर निकालते हुए कहा- अब जल्दी से मेरी चुदाई कर दो, मुझसे रहा नहीं जा रहा है.

चाची को अब गांड मरवाने में मजा आने लगा था और वो अब मेरे लंड पे अपनी गांड के धक्के मार रही थीं. भाभी की माँ चुद गई … उनके मुँह से दर्द भरी आह निकल गई ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’ भाभी की आंखें फ़ैल गईं और उनकी मुट्ठियों ने बिस्तर की चादर को भींच लिया.

पहला दिन का एग्जाम हो गया और उसी शाम तक उन चारों लड़कों से मेरी दोस्ती हो गई. इसके बाद ब्लाउज के हुक भी खोल दिए, ब्लाउज भी निकाल कर फेंक दिया, ब्रा के हुक खोले बिना ही उसे ऊपर उठा कर मेरे मम्मों को चूसने लगे. साले तुम्हें कितना भी चोदने दो … लेकिन तुमसे आराम से होता ही नहीं साले.

लड़कों का सेक्सी फोटो

उसने राजेश्वरी को बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी टांगें फैला कर बोला- ये जो तुम्हारी चुत है, ऐसा ही छेद तुम्हारी दीदी का भी है … और जैसा मेरा लंड है, वैसा ही मेरे भइया का है.

भाभी को भी डर हो गया था कि अगर लाइट जली तो सारा मजा खराब हो जायेगा. इंशा को लंड चूसते देख कर शिफा भी पास आ गई, तो मैंने उसे भी अपनी ओर खींच लिया. मैंने उसकी गर्दन को अपनी तरफ घुमाया और उसके होंठों को जोर से चूसने लगा.

उसकी ब्रा को निकाल कर मैंने अपनी जेब में ठूंस लिया और फिर उसके टी-शर्ट को ऊपर करके उसके चूचों को पीने लगा. फिर मैंने आंटी की गाउन को उतार दिया और उनके 34″ के मम्मों को ब्रा के ऊपर से ही दबाने और चाटने लग गया. ब्लू वीडियो बीपीफिर मैंने उनको दीवार से लगाया और उनके होंठों पर एक जोरदार से किस कर दिया.

हालांकि उसके बदन को आज पहली बार छूते हुए ही मेरा लंड पूरा खड़ा हो चुका था. इतना कह कर मैंने उसको पीठ के बल लिटाया और अपने लंड का सुपारा साली की चूत के मुहाने पर लगाया.

मैं वहां से चल पड़ी तभी मुझे अपनी सहेलियों की बातें याद आने लगीं कि बदनामी और प्रेग्नेंसी के डर से वो पुरुषों से दूर रहती हैं और खीरा, ककड़ी आदि से मजा लेती हैं. मैंने एक जोर का धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी चूत में घुसा दिया तो वो चीख पड़ी ‘उम्म्ह … अहह … हय … ओह …’मैंने तुरंत उसके ऊपर लेटते हुए उसके होंठों पर होंठ रख दिये और उसके चूचों को हाथों से मसलने लगा. अगर आंटी ने मेरी यह हरकत इमरान को बता दी तो शायद मैं इमरान के घर पर भी नहीं आ पाऊँगा उसके बाद। इसलिए मैं आंटी को सॉरी बोलने के लिए चला गया.

मैंने वापस आ कर देखा कि ड्राइंग रूम में भाभी की दो सहेलियां अपने 4 बच्चों के साथ आई हुई थीं. कुछ देर के लिए दीदी चुप हो गयी और फिर कहने लगी कि मुझ पर लाइन मारने का कोई फायदा नहीं है. मुझे आधा रास्ता तय करने के बाद याद आया कि घर की चाभी तो श्रुति के पास ही रह गयी.

वो तो झड़ गई थी, पर मेरा लंड तो अभी खड़ा ही था और लोहे की तरह सख्त था.

मैंने आंटी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए और थोड़ी देर तक किस करने लग गया. उसे बहुत ज्यादा आनन्द आ रहा था और मुझे भी और मैं भूल ही गई थी कि कोई और भी हमें देख रहा है.

फिर तेज़ी से अपनी कमर आगे पीछे करते हुए उसके मुँह में लिंग अन्दर बाहर करने लगा. उसके बाद मैंने उसको सीधा लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ कर अपने लंड को उसकी चूत में डालने लगा. कुछ देर तक ऊपर से ही उसकी चूत को चाटने के बाद मैंने उसकी पैंटी को निकाल दिया.

एक तो पार्लर जाकर जो हुआ, उसी से मैं गोरी और कम उम्र की दिख रही थी. फिर भाभी बोलीं- अच्छा जी … पर मुझे पहले ये तो बताओ कि आपको मुझमें ऐसा क्या ख़ास दिखा है … ये बताओगे जरा?मैं बोला- छोड़ो भाभी. उसने हटने की कोशिश की तो मैं बोला- आज मत रोको, मैं प्यार का बहुत भूखा हूँ.

मिया खलिफा की बीएफ इसका कारण यह था कि उत्तेजना के मारे मेरे लंड से बहुत मात्रा में कामरस निकल रहा था और लंड पूरा चिकना हो गया था. उस समय वैसी सी फीलिंग आ रही थी कि मेरे अन्दर न जाने ताकत एकदम से डबल कैसे हो गई थी.

सपना चौधरी के वीडियो सेक्सी

एक तो रेजर से करते हैं और दूसरा एक बाल हटाने के लिए क्रीम भी आती है. मेरे चूतड़ गठीले और काफी बड़े दिख रहे थे और टॉप ऐसा था, जिसकी गर्दन बहुत अधिक खुली थी और उसमें से मेरे एक तिहाई स्तन साफ़ दिख रहे थे. मेरी मम्मी भी गांड उठा उठा कर मेरा साथ दे रही थीं और बोल रही थीं कि आह चोद बेटा और जोर से चोद पेल दे अपना पूरा लंड … फाड़ दे मेरी चूत फाड़ दे बेटा … अपनी मम्मी की चूत.

जब दाईं वाली चूसता, तो बाईं वाली को मसलता और जब बाईं वाली को चूसता, तो दाईं वाली को मसलता. इसके बाद उसने अपने तनतनाए हुए लंड पर चॉकलेट लगा ली और न चाहते हुए भी मैंने उसका लंड मुँह में ले लिया. एक्स एक्स वीडियो हिंदी बीएफमेरे चूतड़ गठीले और काफी बड़े दिख रहे थे और टॉप ऐसा था, जिसकी गर्दन बहुत अधिक खुली थी और उसमें से मेरे एक तिहाई स्तन साफ़ दिख रहे थे.

फिर वो मेरे ऊपर आ गया और दोबारा से मेरे चूचों को अपने मुंह में भरने लगा.

उस दिन जब मैंने लंड की मुट्ठ मार कर वीर्य निकाला तो मैं बता नहीं सकता कि मुझे कितना मजा आया. मैंने भी बिना संकोच के अपने होंठ उसके होंठों से लगा कर चुम्बन करना शुरू कर दिया.

मैंने बिना ज्यादा सवाल किए अपनी साड़ी उठा दी, पैंटी उतार दी और पल्लू सीने से हटा कर टांगें फैला कर चित लेट गई. वहां बड़ा सा आइना लगा था, सो मैं उसमें ऊपर से नीचे तक अपने आपको देख सकती थी. दोस्तो, मैं आपको यहां बताता चलूँ कि मुझे यहां रहते हुए दो साल का समय हो चला था और सोनाली से मेरी बात भी बहुत बार हुई थी.

इतने में उन्होंने कहा- मुझे ये भी पता है तुम्हें मुझमें क्या पसन्द है.

मैंने उसकी ब्रा को निकलवा दिया और उसके मीडियम साइज के गोरे चूचे जिनके बीच में भूरे रंग के निप्पल थे उनको अपने दोनों हाथों में ले लिया. मुझे अंतरा को और चोदने का मन था, पर इस वक्त हमारी बहन की चुदाई बीच में ही छूट गयी पर यह भी ज्यादा देर तक नहीं छूटा. उस पर से कंडोम हटाया और उसको सोफे पर लिटा कर उसके मुँह में अपना पूरा लंड डाल दिया.

सेक्सी बीएफ हिंदी एचडी बीएफमैंने अपने आपको रोकते हुए अपना लंड चूत से बाहर खींचा और देखा कि मेरे लंड पर हल्का हल्का खून लगा हुआ था. सोने से पहले मौसी ने मुझे याद दिलाया कि पापा ने मालिश करने के लिए कहा था.

आम्ही सेक्सी व्हिडिओ

उसने मुझसे पूछा- क्या पहली बार कर रहे हो?मैंने कहा- हां … मैंने कभी सेक्स नहीं किया है. मैं अब तक इतनी अधिक गर्म हो चुकी थी कि उसके सुपारे के दबाव से हो रही पीड़ा भी मुझे आनन्दमय लग रहा था. वो दिखने में बहुत ही हैंडसम था, उसे कोई भी लड़की देख लेती, तो उस पर मर मिटती.

तभी रवि ने रमा के बाल एक हाथ से समेट कर मुट्ठी में पकड़े और दूसरे हाथ से उसके कंधे को थामा. उसके बड़े-बड़े पहाड़ों के बीच से मेरी जीभ जैसे नाग की तरह सरक रही थी. मुझे अब अपनी उत्तेजना सहन नहीं हो रही थी, तो मैं झट से बेड से उतर कर जमीन में बिछायी हुई गद्दी पर आ गया.

मैंने उसकी गांड को अपने हाथ में पकड़ लिया ताकि वो आगे की तरफ छूट कर न भागे. हमारा बिंदास ग्रुप आपके लिये बहुत ही सेक्सी कहानियां लेकर आ रहा है जिनको पढ़ कर आपके लौड़े और चूत गीले होने पर मजबूर हो जायेंगे. इसके बाद वो मुझसे रुकने का बोल कर मुझसे अपनी चूचियों को चूसने की कहने लगी.

उस दिन जब मैंने अपनी मां के दूध से श्वेत बदन को देखा तो मुझे पता चला कि क्यों सारे मर्द मेरी मां को इस तरह से हवस भरी नजरों के साथ घूरते रहते हैं. लगभग नंगे हो जाने पर उससे रहा ही नहीं गया और उसने मेरी ब्रा पकड़ कर खींच दी.

मैंने पूछा- तुम कैसे जानती हो उसकी गर्लफ्रेंड को?वो बोली- एक बार वो हमारे रूम पर आई थी.

तभी डॉक्टर साहब ने क्लीनिक का दरवाजा अन्दर से लॉक कर दिया और मेरे करीब आकर मेरा कुर्ता व ब्रा ऊपर उठाकर मेरी चूची चूसने लगे. कैमरा बीएफहां दोस्तो … मैं बात कर रहा हूँ एक ऐसे वाकिये की, जो मेरे साथ मेरी इंजीनियरिंग की पढ़ाई के दूसरे साल में घटा था. बीएफ 18 सालमुझे जगा देख कर भाभी बोली- राज, मेरे पति का वीर्य कमजोर है और वो बच्चा पैदा नहीं कर सकते हैं. रमा और रवि लड़की के चाचा और चाची बन गए और मैं अकेली बची, तो मैं लड़की की माँ बन गई.

मगर मैं अब कहां छोड़ने वाला था, हां अगर एक झन्नाटेदार झापड़ मेरे गाल पर पड़ता, तो शायद मैं उसे छोड़ भी देता.

वो चिल्लाई उम्म्ह … अहह … हय … ओह … मैं उसके मुख पर हाथ रखकर तेजी से अंदर बाहर करने लगा. कुछ देर में लंड की पिचकारी पर पिचकारी निकलीं और मैंने भाभी के चूचों को ज़ोर से मुँह में भर कर कस कर माल निकाल दिया. तो वह मुस्कुरा कर बोली- क्या तुम्हारे जैसे मर्द को भी कभी दर्द होता है?मैं बोला- भाबी यह बहुत नाजुक जगह है … और काफी देर से मुझे बहुत दर्द हो रहा है.

उसने मुझसे कहा- बाकी लोगों के बगैर कोई मजा नहीं किया जा सकता क्या? जब सब लोग आएंगे, जब उन्हें समय मिलेगा … तब तक हम साथ में थोड़ा समय बिताते हैं. ज़ाहिर सी बात है कि गुडलुकिंग इंसान को कौन पसंद नहीं करता, खास तौर पर उसे, जिसकी अच्छी बॉडी हो. मैं उसके पूरे बदन को ताड़ रहा था कि तभी उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने अपने फोन की स्क्रीन में देखना शुरू कर दिया.

ಸೆಕ್ಸ್ ಮೂವಿ ಸೆಕ್ಸ್

कुछ ही देर बाद हम दोनों सेक्स करते करते झड़ गए और कुछ देर के लिए शांत हो गए. करीब दस मिनट लंड चूसने के बाद मैंने परी को उठाया और उसे लिटा कर हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए. सोनू अभी बोल ही रही थी कि मेरे लंड ने पिचकारी मार दी और मैंने मेरा सारा माल सोनू की चूत में ही खाली कर दिया।उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को अपनी बांहों में लेकर सो गए।अब एक बार जब सोनू मैडम की चूत मार ली तो फिर तो चुदाई का खेल शुरू ही हो गया था.

मैं उसके कंधों पर दोनों हाथ रखते हुए अपनी टांगें उसके अगल बगल फैला कर उसके लिंग के ऊपर बैठ गई.

मेरे अम्मी अब्बू अपने कमरे में ही रहते हैं तो मुझे पकड़े जाने का कोई डर नहीं। उधर चचाजान के घर में भी कोई बाहर नहीं होता.

तभी उस तेज़ रफ़्तार के धक्के में गर्म गर्म लावा सा मेरी बच्चेदानी पर लगा. मैं दोबारा से उठ कर रसोई में गई और बिस्किट खोल कर प्लेट में रखने लगी. एक्स एक्स एक्स सेक्सी राजस्थानी वीडियोतो वो हंस कर बोली- लेकर आ यहां पर, एक महीने में उसका सब कुछ बढ़ जाएगा … यहां पर उसकी चुदाई की चुदाई … पैसे की भी कमाई होगी, दोनों फायदे हैं.

पहला आदमी रवि था, जो दिल्ली से था, दूसरा राजशेखर, जो गुजरात से और तीसरा कमलनाथ, जो मुम्बई से आया था. सबकी कामुक अवस्था देख मेरी उत्तेजना जरा भी कम नहीं हो रही थी, जबकि मैं फिलहाल अकेली थी. मैंने पूछा- हां, तो कौन सा टॉपिक क्लीयर करना है आज तुम्हें?वो बेबाकी से बोली- अरे वही सेक्स वाला टॉपिक सर!उसने इतनी फ्रेंकली बोला कि मैं उसके चेहरे को देखता ही रह गया.

मेरा लंड पूरा का पूरा उसकी चूत के रस से भीगा हुआ था और काफी चिकना भी हो गया था. मैंने राजेश की तरफ देखा तो उसने भी अपनी बीवी की हां में हां मिलाते हुए गर्दन हिला दी.

मैंने गुवाहाटी जाने से पहले राजस्थान में रहते हुए भी चुदाई का मजा लिया था लेकिन वो सब कहानियां मैं आपको बाद में बताऊंगा.

इसी बीच कविता ने उसी केक में से थोड़ा क्रीम लेकर रवि के लिंग पर लगाया और उसे चाटकर खा गई. उसने अपने लंड का ढेर सारा गाड़ा वीर्य एक पिचकारी के रूप में अंतरा की चुत में छोड़ दिया. सुहागरात का दृश्य खत्म हो चुका था और कविता कांतिलाल एक दूसरे से अलग होकर सुस्त अवस्था में बिस्तर से उठ सोफे पर आ गए थे.

कॉलेज की एक्स एक्स वीडियो क्या देखा था मैंने?दोस्तो, मेरा नाम अभि है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. मुझे कांतिलाल के ऊपर चढ़ कर उसका लिंग अपनी योनि में लेने में ज्यादा देर नहीं लगी थी.

मैंने झट से कहा- अगर आप बुरा न मानें तो मैं आपको लिफ्ट दे देता हूं. फिर मेरे पति ने अपनी जांच कराई तो डॉक्टर ने उन्हें बताया कि वे कभी मुझे माँ नहीं बना पायेंगे. नज़मा तड़फ कर बोली- चाटो न भाईजान … क्यों रोक दिया?मैं- साली रंडी, भाई मत बोल … और कुछ बोल ले … नाम ले ले या जान बोल ले.

मजेदार सेक्सी फिल्म

मैंने उसको हटाने की कोशिश की लेकिन वो नहीं रुका और मेरे मुंह में धक्के देता रहा. खाना खाने टाइम अचानक इत्तफाकन मुझे मेरी बहन के मम्मों के दर्शन हो गए. उन्होंने मेरा लंड झट से अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगीं.

हम सब तैयार होकर हॉल में चले आए, तो देखा चारों मर्द पहले से तैयार होकर बैठे थे. मैंने देखा और समझ गया कि उन्होंने नीचे चड्डी या निक्कर नहीं पहनी थी.

हाथ डाला तो पता चला कि कुतिया की पूरी ही चड्डी चूत के पानी से गीली हो चुकी थी.

इसमें मैच क्या करना होता है? मगर मुझे एक बात सच बताओ कि क्या तुम मुझको पसंद करती हो?वो बोली- हां …इतना कहकर वो फिर से शरमाने लगी. अब मैंने हिम्मत करके उसकी छाती पर हाथ लगाया, तो उसके मुँह से ‘ऊंह … आह. इसलिए आप इंडियन सेक्स रोमांस स्टोरी को ध्यान से पढ़ें और कोई सवाल या शंका हो तो मुझे ईमेल पर बतायें.

ये हम दोनों औरतों के लिए शर्म की बात थी कि हम दोनों एक मर्द को तृप्त नहीं कर सकी थीं. मैंने मुस्कुराते हुए उसके पजामे का नाड़ा खोल कर उसके जांघिये को नीचे सरका दिया. वो हंसने लगी- हां कमीने … मैंने देखा है ब्लू फिल्म में!फिर मैंने उसके बालों को पकड़ा और अपनी तरफ खींचा.

हम दोनों ने हमारी चारपाइयों के बीच की जगह में हाथ चारपाई से नीचे लटका रखे थे.

मिया खलिफा की बीएफ: मैंने संगीता मेम को उठा कर अपने ऊपर लिटाया और उनकी चूत में मेरी जीभ दुबारा घुस गयी. मैंने कहा- मैं आपकी निजी जिंदगी के बारे में क्या बोल सकता हूँ?वो बोली- छोड़ो, मैं भी क्या बात लेकर बैठ गई.

लंड को चूत में लगा कर मैंने एक झटका मारा और मेरा लंड मामी की चूत में घुस गया. मैंने दोबारा से कोशिश की और फिर से उसकी बुर पर हाथ फेरा तो मेरे हाथ पर उसकी बुर का स्पर्श हुआ. जैसे जैसे संभोग बढ़ता जा रहा था, वैसे वैसे हम दोनों में जोश भी बढ़ता जा रहा था.

हालांकि मैंने कई लड़कियों के साथ सेक्स किया लेकिन उस जैसी आज तक नहीं मिली।मेरी लंबाई 6 फुट है और रंग सांवला है।उस समय मेरी उम्र 24 की थी गर्मियां चल रही थी जब मैंने उसे पहली बार मम्मी के स्कूल में देखा था.

डॉली की चूत की दोनों फांकों को मैं बारी बारी से दबा दबा कर खींचते हुए पी सा रहा था. मुझे बताइए कि मैं क्या करूं?गोपनीयता को बनाए रखने के लिए मैं अपनी इमेल आईडी नहीं दे पा रही हूँ. मेरा मन कर रहा था कि मैं ऐसे ही उसके लंड को अपनी गांड में लेती रहूं.