प्रियंका की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर दिखाओ अच्छा वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

वेरी सेक्सी फोटो: प्रियंका की बीएफ, मेरे सामने बेड पर मेरी दीदी एकदम नंगी चुत खोले हुए नेहा से बात कर रही थीं.

फोटो और सेक्सी वीडियो

मैंने दीदी के कमरे के दरवाजे को नॉक किया और दीदी ने मुझे अन्दर आने को कह दिया. एक्स डॉट कॉम सेक्सीकुछ देर बाद जब उसे दर्द में आराम हुआ, तब मैंने फिर से अपने चेतक को उसके अस्तबल में घुसाने की शुरुआत कर दी.

इस पर पंकज ने कहा- मेरी जान… तुझे नंगी करके चोदने में बहुत मज़ा आता है।इसके बाद पंकज ने सरिता दीदी को पूरी तरह नंगी कर दिया और अपने भी सारे कपड़े उतार दिये. सेक्सी वीडियो राजस्थानी कीऐसा लग रहा था जैसे मैं उसके बॉस की बीवी नहीं बल्कि उसकी गर्लफ्रेंड हूं.

उन्होंने मुझसे पूछा- हितेश तुम कहां हो?मैंने कहा- आंटी मैं कुछ दिनों से कुछ काम में बहुत व्यस्त था, लेकिन मैं आज शाम को आपके घर जरूर आता हूँ.प्रियंका की बीएफ: मैंने आंटी से कहा- लगता खुशियां बांटने के लिए हमारे साथ आपकी फ्रेंड भी शामिल हो गई हैं.

उसकी चूचियां तेजी से हिल रही थीं क्योंकि उसकी सांसें बहुत तेजी से चल रही थीं.अक्सर इस उम्र तक महिलाओं की चुत लंड खा खा कर काली और भद्दी हो जाती है.

सेक्सी पिक्चर पूरी नंगी पिक्चर - प्रियंका की बीएफ

दीदी हंसते हुए बोलीं- हां … आज तुम्हारा जोश देख कर मैं समझ गई थी कि तुम्हें चुत से मूत टपकते देख कर कितना मज़ा आया था.तभी मंजू ने अपने सीधे हाथ की उंगलियों को मेरी गांड के छेद पर रखा और अन्दर डाल कर तेज़ी से अन्दर बाहर करने लगी.

मैंने देखा कि जीजा जी मेरे सामने ही खड़े थे और हम दोनों एक दूसरे को देखकर मुस्करा दिए. प्रियंका की बीएफ वो मेरी हालत समझ गया और बोला- तूने कहा था न कि अगर मेरा लंड बड़ा हुआ तो मैं जो कहूंगा तू वही करेगा!मैं- हां, कहा था.

तब उसने मुझे पकड़ कर अपने पास खींच लिया और अपने सीने से लगाकर एकदम टाइटली हग कर लिया.

प्रियंका की बीएफ?

वो बोली- बाबा, अब मैं जाऊं?दम घुटने की वजह से मंजू की आंखों में पानी आ गया था. इसके अलावा मेरी पीठ पर यहाँ वहाँ काटने के मारने के निशान बना दिये।मेरे सर के बाल खींचे, मेरे बदन पर थूका, मेरी माँ बहन बेटियों तक को गालियां दी।करीब आधे घंटे तक राजेश मुझे पोज बदल बदल कर चोदता रहा, मैं तीन बार और स्खलित हो गई।औरत को कितना जलील किया जा सकता है, ये उसको पता था. करिश्मा ने मुझे अन्दर जाते देखते हुए मेरी मम्मी से कहा- मुझे गौऱव की थोड़ी सी मदद चाहिए.

मैं सज-धज कर अब सुमित से मिलने के लिए तैयार थी मैंने एक टाइट सी कुर्ती और चुस्त पजामी पहनी हुई थी. मैं- लेकिन सर आपकी बेटी भी इस सबके लिए राजी थी!पूजा आंटी ने अंजना के बाल पकड़ कर उसे घसीटते हुए बोलीं- बोल रंडी … ये तेरे साथ जबरदस्ती करने आया था!अंजना घबरा गई थी, उसने कह दिया- मॉम, मेरी कोई ग़लती नहीं है … ये मेरे साथ जबरदस्ती कर रहा था … मैं पुलिस को बोल दूंगी. थोड़ी देर भाभी की चूचियां पीने के बाद उनको किस करने के बाद मेरे लंड में फिर से जान आने लगी थी.

पूजा आंटी की उम्र तो आपको समझ आ गई होगी … लेकिन मैं खुद बता देता हूँ कि पूजा आंटी कोई 40-41 साल की मजबूत कद काठी की महिला थीं. इसका केवल एक ही मतलब निकल रहा था कि उसने शादी से पहले अपनी चूत की बहुत ठुकाई करवाई है. वे एकदम गोरी थी और कत्थई रंग की साड़ी पहने हुए एक लम्बे कद की मदमस्त महिला थीं.

फिर मैंने उनको वहीं डाइनिंग टेबल पर लिटाया और उनकी कुर्ती निकाल कर उनके मम्मों को ब्रा के ऊपर से दबाने लगा. ओह्ह।फिर उस दूसरे आदमी ने माँ को घोड़ी बनने को बोला तो माँ घोड़ी बन गयी.

अगले दिन फिर उन्होंने बातों ही बातों में कह दिया कि ममता तुम मुझे बहुत सुन्दर लगती हो.

एक दिन मेरे पति ने मेरे साथ एक ऐसा खेल खेला कि …सभी को मेरा नमस्ते। मेरा नाम अवनी है। मैं एक मस्त ग़दराए हुए भरे जिस्म की औरत हूं। मेरी उम्र 30 साल है.

कुछ देर बाद ममता आंटी बोलीं- अब अपना लंड मेरी चूत में जल्दी से अन्दर डाल दो. हाइट 5’9” है और लंड का साइज 6” है। मैं बहुत शर्मीला टाइप का बंदा हूं. लेकिन तू मेरा कहना माने तो!अलीज़ा बोली- क्या काम!मैं बोली- मुकेश जी को जानती है … जो डीएसपी हैं.

उसने मेरी बात पर चुटकी ली- हम्म … मतलब मैं चीज हूँ!मैंने हंस कर कहा- यदि गुलाब के फूल की तारीफ़ करते हुए मैंने उसे चीज कहा है तो तुम उसे अपने लिए क्यों ले रही हो!तो वो बोली- मतलब मैं कोई चीज नहीं हूँ … कुछ और हूँ … बताओ न मैं क्या हूँ?मैंने कहा- तुम सुन्दर सी हुस्न की परी हो. मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से उसके दूधों को छुआ और हल्का सा दबा कर देखा. आपको आंटी की गांड चुदाई की ये अन्तर्वासना सेक्सी हिंदी स्टोरी कैसी लगी, मुझे इसके बारे में जरूर बताना.

दो मिनट बाद वो अमिता से अलग हुआ और बाकी सबकी तरफ देख कर इशारा किया.

मुझे लगा कि अब मैं उसके चुचे देखूंगा वो आगे घूमी तो उसने ब्लैक कलर की ब्रा पहनी हुई थी. उसकी दोनों चूचियों को मैं बारी बारी मुँह में ले कर चूस रहा था और हाथ से निचोड़ रहा था. मगर इतने में ही सुमित ने धक्का लगा दिया और उसका आधा लंड मेरी चूत में फंस गया.

बताइये आंटी?”मुझे अपनी बहन के घर स्वरूप नगर जाना है, ओला ऊबर से एक गाड़ी मंगा दो. आदमी- हैलो, आप कहां जा रहे हो?लड़का- अहमदाबाद।आदमी- गुजराती हो?लड़का- हां. वो अंकिता के टॉप के ऊपर से ही उसकी चूचियों पर हाथ फिराते हुए बोला- दोनों ही मां बेटी बहुत सेक्सी हैं.

मुझे लगता है कि मैं अपने जीवन में सबसे ज्यादा देर तक इसी टाइम झड़ा था.

मौसी के साथ लेस्बियन सेक्स कहानी को अगले भाग में पूरा लिखूंगी … आप मुझे मेल करें. अब मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और मामी की मामी की टांगों को अलग करके अपना मुँह मामी की चुत पर रख दिया.

प्रियंका की बीएफ जब मां रघु के लंड पर बैठ कर चुद रही थी तो मैंने रूम की लाइट जला दी. फिर पापा ने मुझे बुलाया और कहने लगे- तुम्हारी मां की शिकायत है कि तुम उनकी चूचियों को घूरते रहते हो.

प्रियंका की बीएफ हम ने एक दूसरे को कुछ नहीं कहा किन्तु बलविंदर ने टेढ़ा होते हुए अपने मूत्र की धार से मेरे लिंग को भिगोना शुरू कर दिया और बोला- नंदन … पेंचे लगाएगा? जिसकी धार का पहले अंत होगा समझो उसकी पतंग कट गई. जब मैं पेशाब करने टॉयलेट में गया तो मैंने अपने लंड की स्किन को खोल कर देखा तो वो आज पहले से ज्यादा खुल रही थी.

कोमल दीदी हंसते हुए बोलीं- आराम से करो … तुम्हें कोई रोकने नहीं आएगा.

फिल्म बीएफ देहाती

अगर उनको हाथ में भर लूं तो सोचो कि क्या होता होगा!मेरी गर्लफ्रेंड के स्तन उतने ही बड़े हैं जितने कि उसके शरीर के हिसाब से होने चाहिएं. कुछ ही मिनट तक दीदी ने मेरा लंड चूसा होगा कि मुझसे ज्यादा बर्दाश्त नहीं हो रहा था. ये कह कर मैंने हाथ में लिया लट्ठ उसे डराने के लिए बिस्तर पर दे कर मारा तो वो कहने लगी- नहीं राहुल, नहीं, मैं तेरी माँ हूँ.

आंटी ने भी मेरा लंड अभी ही देखा था तो आंटी के मुँह में भी पानी आ गया. भाभी- छीः छीः … कितनी गन्दी बातें करते हो तुम!मैं- अच्छा, बोल तो ऐसे रही हो भाभी जैसे कभी आपने चुदवाई ही नहीं? शादी करके भी कुंवारी चूत लेकर घूम रही हो क्या?भाभी- हां कुछ ऐसा ही समझो, मेरे पति का छोटा सा तो है, पता भी नहीं चलता कि कब डाला और कब निकाला!मैंने कहा- अच्छा तो हमको बुलाओ कभी. अभी मेरे सामने जीजा जी दीदी को चोद रहे थे और जीजा जी के धक्के मारने की स्पीड भी कम थी.

मेरी उंगलियां इतनी धीरे से चूत को सहला रही थी कि जरा सा भी दबाव न पड़े.

उसकी झांटें मेरी नाक में चुभने लगी थीं … ऊपर से पेशाब की महक भी आ रही थी. वीर्य छूटने के बाद बहुत अच्छा लग रहा था और साथ में खुशी भी थी कि मौसी की चूत चुदाई के लिए मिलेगी. मैंने गाड़ी में नजर घुमा कर देखा तो सब लोग अपने अपने में व्यस्त थे.

मैं कपड़े व गद्दी घर से लेकर आयी थी क्योंकि आज चूत का उद्घाटन होना था. क्या कहूँ यार … उसका फिगर देखकर मेरा मन नहीं भर रहा था लेकिन खुद पर काबू करके मैं वहां से चला गया. और मैं सीधा अंदर आंगन में गया तो मुझे मोसी नंगी नहाती दिख गई।अब जैसे ही मोसी ने मेरे को देखा- अरे रुक! मैं नहा रही हूं, इधर मत देखना।तू वहीं खड़ा रह! मैं पांच मिनट में नहा लूंगी।वैसे मैंने मोसी को देख लिया था.

फिर मेरे जैसे अधेड़ उम्र के मर्द के साथ प्यार करने का क्या मतलब है?तब उसने बताया कि वो यहाँ किराए पर रहती है और पढ़ाई कर रही है. वे शहर में आर्युवेद में सेक्स की बीमारी के बारे में स्पेशलिस्ट हैं.

अमन देखने में अच्छा था और मेरी चूत भी उसका लंड लेने का सपना देखने लगी थी. मैंने कागज उठाए और आंटी से कहा- ठीक है आंटी, मैं कल से काम शुरू कर देता हूँ. कहानी पर कमेंट्स में भी बतायें कि आपको कहानी में कैसा मजा आ रहा है.

तभी मैं उन दोनों के पास पहुंच गया और मैंने उन दोनों को गुड मॉर्निंग विश किया.

दो-चार धक्कों के बाद मेरे लंड से वीर्य छूट पड़ा और मैंने उसकी चूत को भर दिया. मामी ने झटके से लंड को अपने मुँह से बाहर निकाला और बोलीं- बहुत कमीने हो. मैं चुपचाप जीप में बैठ गया और लगभग एक घण्टे के बाद हम अपने गांव पहुंच गए.

उसके बाद उसने मेरे कपड़े उतार कर मेरी बेटी के सामने ही मुझे नंगी कर दिया और मेरी चूचियों को दबाते हुए मेरी चूत को सहलाने लगा. उनके मम्मों के चूचकों को मैंने दोनों हाथों से मसलते हुए एक निप्पल को अपने मुँह में ले लिया.

मंजू अब मेरा लंड लंड चूसने लगी और करती रही … और जब तक मेरे लंड ने पानी नहीं छोड़ दिया और जिसे वो पी नहीं गई, तब तक उसने मुझे चैन नहीं लेने दिया. मेरे मां और पापा मेरी बड़ी बहन के साथ उसकी शादी के लिए लड़का देखने गांव चले गये. पापा- ओके।वो बोले- एक बार मुझे हग कर ले यार।मैंने कहा- नहीं, आपके बदन पर बाल बहुत हैं.

प्रियंका चोपड़ा के बीएफ फोटो

बहुत इंतजार करने के बाद कोई लड़की नहीं आई और उसकी जगह पर कोई अधेड़ उम्र का आदमी आ गया.

उसके बाद सुमित मेरी पैंटी को अपने दांतों से पकड़ने लगा और खींचने लगा. मनोहर मेरी चूचियों को दबाने लगा और धीरे धीरे मेरी गांड में लंड चलाने लगा. तब मैंने मोसी को बोला- अपने बूब्स को लन्ड से सटा दे।उसने वहीं किया.

उसके बाद बड़ा लंड वाला आगे चुत में लग गया और छोटा वाला पीछे से पिल पड़ा. मैं खेल-कूद, नाट्य, सामान्य ज्ञान, कुश्ती, साइकल से भ्रमण करने को भी उसी संजीदगी से लेता था जैसे अपनी शिक्षा को. भेज सेक्सी वीडियोपारुल बोली- मैं तो खाना खाने से पहले लंड का जूस पियूंगी क्योंकि चुदाई के बाद तो हमारी चूत से खून निकल कर इनके लंड पर लग जायेगा.

मैंने कहा- ठीक है भाभी जान … आप जितना चाहोगी, मैं आपको उससे भी ज्यादा चोदूंगा. फिर अमन ने अपना लंड पकड़ कर मेरी चूत पर रख दिया और धीरे धीरे अपना लंड मेरी चूत के छेद के अंदर घुसाने लगा.

मैंने जैसे ही अपनी उंगलियां मौसी की चूत पर रखीं, वो तो जैसे सिहर सी गईं. प्लीज मुझे बस स्टॉप पर छोड़ दीजिये, मैं चली जाऊंगी।मैं- देखिये आप भीग गयी हो और आपके कपड़े भी ख़राब हो गए हैं। आप एक काम कीजिए मेरे साथ चलिये, ऊपर से ये मौसम भी खराब हो गया है. फिर उसने मुझे काउंटर की तरफ मुंह करवा कर खड़ी कर दिया और मेरी नाइटी में मुंह घुसा कर उसने मेरी पूरी पीठ चाटी और फिर मुझे सीधा कर दिया.

कुछ देर बाद मैंने आंटी से कहा- दूसरी बार फिर से हो जाए?आंटी ने हंसकर हामी भर दी. उसे हमने ही पाला पोसा है क्योंकि आरज़ू के असली अम्मी अब्बू एक सड़क हादसे में चल बसे थे. रोशन लाल ने हम्म की आवाज निकाली और अलीज़ा से फिर से लंड खड़ा करने को कहा.

बिना किसी लिहाज के और मैं भी तुमसे कुछ ऐसे प्रश्न पूछूंगा, जो हो सकता है, तुम्हें अजीब लगें.

धीरे धीरे निशा की चूत के करीब पहुंचता जा रहा था मेरा हाथ और इसी फीलिंग के कारण मेरे लंड का बुरा हाल हो चुका था. वैसे तो मेरा मुँह पूरा बंद हो गया था … लेकिन फिलहाल ये स्थिति मोहित अंकल के लंड से काफी ठीक थी.

आंटी के चेहरे को देख कर लग रहा था कि अब वो एक पल के लिए भी मेरे मुंह से अपनी चूत को अलग नहीं करना चाहती है. कुछ मिनट चुत चाटने के बाद मैं ऊपर आ गया और उसके बड़े बड़े मम्मों पर आक्रमण कर दिया. उसके जाने के बाद एक दिन उसका फोन मेरे पाया और कहने लगा कि भाभी आप मेरी बीवी के पास रुक जाना.

अब उसने मेरे दस इंची लंड को ऊपर किया और लगातार मेरे लंड की गोटियों को गांड के छेद को चूसने और चाटने लगी. फिर दीदी मेरे होंठों को चूमने लगीं और जीजा जी दीदी के बदन को चूमने लगे. मैंने उसका पूरा वीर्य निगल लिया और उसके लंड को और भी अच्छे से चूस कर साफ कर दिया।इधर नीरव ने भी मेरी चूत में अपना माल छोड़ने के बाद भी लंड को फंसाए रखा.

प्रियंका की बीएफ अलीज़ा मस्ती में ‘सीई … अहह … सीई … ऊ उह्ह … रोशन लाल जी … आज आप खूब एंजॉय कर लो … मगर मुझे पोस्टिंग हर हाल में चाहिए. मैं जब तक कुछ समझती, मीतेश ने मेरी चूत पर अपना लण्ड रखकर ठोकर मारी.

सेक्सी बीएफ जिम वाली

इतनी सुन्दर पंजाबन को देख लंड जोश खा गया और मैं उसे पकड़ कर चूमने लगा. मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी और मैं उसे शताब्दी एक्सप्रेस की स्पीड से पेलने लगा. क्या बताऊं दोस्तो, दीदी ऐसा लंड चूसती थी कि मैं शब्दों में उस आनंद का वर्णन नहीं कर सकता.

मैं तो सोच कर ही परेशान हो जाता हूं कि मुझे ऐसी चालू और चुदक्कड़ लड़कियां क्यों नहीं मिल पाती हैं? काश मेरे साथ भी ऐसी ही कोई घटना हो जाये और मुझे भी नयी चूत चोदने का मौका मिल जाये. लेकिन उसे अपने घर जाना था, देर हो रही थी तो उसने कहा- अब फिर कभी!मैंने उसे देखा, तो वो मुस्कुरा दी. भाई बहन का सेक्सी नंगा वीडियोमैं भी उसकी इन बातों से और ज्यादा उत्तेजित हो रहा था और तेजी से उसकी चूत को पेल रहा था.

मैं उनकी चूत को फैलाकर चाटने लगा वो मेरे सर को अपनी चूत में दबा कर बोलीं- आंह आह मैं गई … आ … ले पी ले मेरी चूत …उन्होंने अपने जिस्म को अकड़ाते हुए गांड उठा दी और अपनी चुत का सारा पानी मेरे मुँह में निकाल दिया.

बहुत मजा आ रहा था दोस्तो, जितना मजा चूत मारने में आता है उसके सामने मुठ मारने का मजा तो कुछ भी नहीं है. जानना चाहता था कि चूत में लंड देकर चोदने में कितना मजा आता है? मगर मुझे कोई चूत नहीं मिल रही थी.

हैरानी की बात थी कि मामी मेरे लंड के धक्कों को बर्दाश्त कर जा रही थी. अब वो कहने लगी- अब्बू, आपके लंड का वीर्य इतने टेस्टी है कि मैं सारा पी गयी … बहुत ही मस्त स्वाद था. मेरे मुंह में पेशाब भरने के बाद उन्होंने मेरे मुंह को बंद कर दिया और मुझे अंदर पीने को कहा.

मुझे शादी तो करनी ही है, मगर मुझे अब तक आपके जैसी कोई परी मिली ही नहीं.

पता चला उसने अपनी पुत्री की चड्डी दे दी है जो कि लगभग नाप की थी किन्तु वो मेरे कूल्हों को ढकने की जगह मध्य में धंसी हुई थी व अग्रभाग ने मेरे लिंग को समेट कर ऊपर की दिशा में मोड़ दिया था. मैंने अपना हाथ आगे ले जाकर मामी की चूचियों पर रख दिया, तो मामी ने हाथ को हटा दिया. पर जब भी मेरे को मौका मिलता तो मैं उस फ्लर्ट जरूर करता।एक दिन मेरे घर में सब बाहर जा रहे थे और मैं घर में अकेला था.

भोजपुरी साड़ी वाली सेक्सी फिल्मउस समय मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरे लंड में उस चुदाई से सूजन आ गयी हो. चुत पर मेरी जुबान का स्पर्श पाते ही आंटी तो आऊट ऑफ कंट्रोल हो गई थीं.

बीएफ बीएफ फिल्म दिखाएं

कुछ देर बाद ममता आंटी बोलीं- अब अपना लंड मेरी चूत में जल्दी से अन्दर डाल दो. मुझे उनके मुँह से ऐसे शब्द निकलना अजीब से लगे, लेकिन सुनकर बड़ा मज़ा आया. जिस आएगी, उस दिन बस अंदर घुसते ही सबसे पहले यही काम निपटाऊँगा। कमाल है तुम इतने दिन कैसे बिता लेती हो पति के प्यार के बिना?मैंने उदास हो कर कहा- क्या बताऊँ, आपको?वो बोले- दोस्त बनी हो तो दोस्त से कैसी शर्म?मैंने कहा- नहीं जाने दीजिये।वो बोले- मैं तुम्हें अपनी एक राज़ की बात बताऊँ.

अपनी यात्रा के लिए मैंने एक प्राइवेट बस में स्लीपर की नीचे वाली सीट बुक करवाई थी. मैं और तेरी दीदी, हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं लेकिन मैं तुम्हारी दीदी को सेक्स के मामले में अपनी कुछ खामियों की वजह से खुशी नहीं दे पा रहा हूं. कुछ पल बाद मैंने फोन बंद कर दिया और मैंने आंटी को बोलकर अपने घर चला गया.

उसके बाद हम दोनों ने चाय पी और फिर फ्रेश होकर अपना सामान पैक कर लिया. मैं- तो क्या हुआ … मेरी गर्लफ्रेंड होने पर भी अभी एक लड़की मुझे लाइन मारती है. निगार आंटी आए दिन नजमा आंटी के घर मुझे मिलने के लिए बुलातीं और मेरे लिए हमेशा कुछ न कुछ गिफ्ट लेकर आतीं.

एक जवान की लड़की कुंवारी चूत आज पहली बार अंदर से भी गीली हो रही थी. गांव के विपरीत सब कुछ बंद बंद सा रहस्यमयी लग रहा था किन्तु एक पूर्ण स्वतंत्रता भी थी कि कहीं भी बाहर जाने की आवश्यक नहीं.

बार बार मुझे इसी बात का अफसोस हो रहा था कि काश मुझे जिया मेम की चुदाई करने का एक और मौका मिल जाता.

कुछ पल बाद मैंने फोन बंद कर दिया और मैंने आंटी को बोलकर अपने घर चला गया. सेक्सी नंगी चुड़ै वीडियोमैं- लेकिन यार घर पर तेरा भाई भी तो है?अंजना- तुम उसकी टेंशन मत लो, उसको में 8 बजे ही दूध में स्लीपिंग पिल्स का हैवी डोज दे दूंगी. अमेजिंग सेक्सीआकाश सर खड़े हुए और डांस के लिए तैयार होते हुए जिया मेम की तरफ अपना हाथ लंबाने लगे. लेकिन कसम से मस्त वो जबरदस्त फिल्मी माल है, चाहे जितना चोदो हमेशा तैयार चुदने के लिए!मैं उन दिनों को नहीं भूल पाऊंगा।वो अभी भी टच में है और इस साल तो उसकी मूवी भी आई थी।दोस्तो, और भी ऐसी कई लड़कियां मेरी जिन्दगी में आयी.

मैं बोली- मुझे डर लग रहा है सुमित, कुछ गड़बड़ हो गयी तो?वो बोला- कुछ नहीं होगा मेरी जान, मुझ पर भरोसा रखो.

हम दो लोग लास्ट में थे सबसे।मैं समझ गया कि ये तीनों की तीनों एक ही बस की सवारी हैं. रसगुल्ले जैसी मुलायम और मीठी सी उनकी चूत … आह गुड़िया बुआ का कहना ही क्या था. उसका लौड़ा सख्त हो गया और उसने मेरी चूत में लंड ठूंस कर मुझे चोदना शुरू कर दिया.

बस इतना बोलते बोलते भाभी ने अपनी आंखें बंद कर लीं और शरीर को अकड़ा कर कांप सी गईं. मां ने मुझे अपने ऊपर खींच लिया और बोली- मैं तुमसे प्यार करने लगी हूं. हमने एक दूसरे की हाथ की उंगलियों को आपस में फंसा लिया था।ऐसे ही चोदते चोदते वह मेरे होंठों पर किस करने लगा। उसने मेरे होंठों को अपने होंठों के अंदर ले लिया। कभी वह मेरे बूब्स को चूसता और दबाता, फिर कभी मेरे सारे जिस्म पर अपना हाथ फिराता.

आने वाले बीएफ

अपनी कहानी के अगले अंक में मैं बताऊंगा कि कैसे मुझे इसी के चलते कई और भी मस्त मस्त चूत चोदने के लिए मिली. फिर शाम का खाना खाने के बाद मैं उस लड़के का इंतजार करने लगी जिसने मुझे रिसेप्शन में चोदा था. मैंने कहा- दीदी आप भी पेशाब करके दिखाओ न प्लीज!दीदी बोलीं- अभी नहीं आ रही शिव.

फिर मैंने धीरे से उसके होंठों को अपने अपने होंठों से पकड़ा और चूत चोदना शुरू कर दिया.

मैंने उसको हाथ मारा, तो उसने मेरा सर छोड़ दिया और मैंने तुरंत ही उसका लंड मुँह से निकाल दिया.

हरि- कुतिया … कैसा लगा तुझे इतना बड़ा लंड लेकर … आज तक तो तू तेरे शिबू का ही 6 इंच का लंड लेती थी. मैंने जैसे जैसे उसकी चूत चाट रहा था उसके मुँह से कामुक आवाज़ें उतनी ही तेज़ निकलना शुरू होती जा रही थीं. देसी हिंदी सेक्सी मूवीसमैं- क्या बात है जीजा जी?जीजा जी- मेरी कमी की वजह से मेरी और तुम्हारी दीदी सेक्स लाइफ अच्छी नहीं चल रही है.

विशाल ने अपनी उंगली से क्रीम मेरी गांड में अन्दर तक लगा दी और अपने लंड पर भी लगा ली. लेकिन उसने मेरे होंठों को क़ैद कर लिया और अपना पूरा लंड मेरी चुत में डाल कर ही माना. ये सुनकर मैंने लंड निकाल लिया और उसी पल दीदी मेरे सामने घुटने के बल बैठ गईं.

उसके मुँह से एक मस्त तेज आह निकली और उसने अपनी टांगों को हवा में उठाते हुए पूरा खोल दिया. आने के बाद मैंने लवली को सारी बातें बताईं और उससे कहा कि हमारा काम अबकी बार नहीं होता दिख रहा है मुझे.

मौसा जी ने मैडम को नीचे जाकर बताया कि किस तरह जरूरत के कारण उन्हीं के किचन से दूध लेकर हमने चाय बनाई.

आपको आंटी की गांड चुदाई की ये अन्तर्वासना सेक्सी हिंदी स्टोरी कैसी लगी, मुझे इसके बारे में जरूर बताना. कुछ लड़कों ने स्मृति को लाइन मारने की कोशिश की लेकिन बड़ी बहन ललिता की निगहबानी के कारण कामयाब नहीं हो सके. मैं उसे देखने लगा तो वो हंसते हुए बोली- आज तो इतनी ज्यादा रबड़ी पिला दी कि मेरा तो पेट भर गया.

police वाली मैडम की सेक्सी वीडियो बुआ मेरे सामने एकदम नंगी हुईं, तो मुझे उनके गोरी चूत देखकर बड़ी हैरानी हुई. मैं कोई लेखिका नहीं हूं लेकिन अपनी भाई बहन की चुदाई की कहानी बताने के लिए लिखना पड़ा.

मैंने 8-10 बार उंगली अन्दर बाहर की ही थी कि वो लेटे लेटे ही जोर से अकड़ गईं और हल्का सा ऊपर कमर उठा कर फिर लेट गईं. अब उनको पूरा भरोसा हो गया था कि पूजा मेरे रूम में मेरे साथ क्यों सोती है. मैंने जब से लवली और सासू मां सुधा के साथ चुदाई की है तब से ही मैं बहुत सेक्सी वीडियो देखने लगा था.

बीएफ हिंदी मराठी बीएफ

मुझे भी ये चूत फाड़ चुदाई करवा कर बहुत मजा आया और फिर हम दोनों साथ में झड़ गये. मुझे लग रहा था कि मेरी बॉडी की सारी पॉवर मंजू के मुँह में जा रही है. उनके जिस्म के थोड़े से भी दर्शन हो जाते थे तो मैं लंड को रगड़ रगड़ कर लाल कर लेता था.

उसके बाद मैंने अपने दोनों हाथ मामी के मम्मों पर रख कर उन्हें मसलना शुरू कर दिया. वो शायद आपस में एक दूसरे को होंठों को चूस रहे थे या फिर जिस्मों को चूम रहे थे.

फिर अमन ने अपना लंड पकड़ कर मेरी चूत पर रख दिया और धीरे धीरे अपना लंड मेरी चूत के छेद के अंदर घुसाने लगा.

पांच मिनट के बाद उनके सब्र ने जवाब दे दिया और उन्होंने मेरी टांगों को खोल कर अपने लंड के टोपे पर थोड़ा सा थूक मल कर मेरी चूत पर सटा दिया. वो बोला- क्या बेगम को अपनी छोटी सी चुत के लिए ये लम्बा और मोटा लौड़ा वाकयी माफिक लगा है?मैं एकदम से चौंकी और हंसते हुए कहने लगी- अब प्लीज़ मुझे सताओ मत. अब आगे की कहानी:अगले दिन दोपहर को मौसा उठे और दूध लेने के लिए नीचे गये.

मेरे ज्यादा पूछने पर भाभी ने अपनी ड्रिंक खत्म करते हुए बस इतना ही कहा कि आप चलो तो. शाहिद मेरे सिर के पीछे था और अपने लंड को मेरे मुंह में ठूंस रहा था. फिर मेरा बदन अकड़ गया और लंड से निकलने वाले वीर्य की पिचकारी भाभी के मुंह पर गिरने लगी.

वे दोनों प्रीति को उठा उठा कर चोद रहे थे, चुचे दबाते हुए उसकी चुदाई कर रहे थे और प्रीति मस्ती से चीख रही थी.

प्रियंका की बीएफ: उनके गालों को चूमता हुआ मैं उनकी आंखें, नाक और माथे को भी चूमने लगा. मैंने वो कैमरे मौसा के घर में मौसा के लड़के के रूम में, मेरे मां-बाप के रूम में भी लगवाये.

पिंकी के बाल साफ करते करते मैंने अपना लंड पिंकी की गांड से रगड़ना चालू कर दिया. मंजू ने मुझे सीधा कर दिया और घुटनों के बल होते हुए बोली- जल्दी से मेरे मुँह में लंड दो बाबा. मैं सोच ही रही थी कि वो बोल पड़ा- क्या हम यहां पर थोड़ी देर बैठ सकते हैं?उसने छत पर एक तरफ बने स्टोर रूम की ओर इशारा करते हुए कहा.

फिर वो एक तरफ हो गयी और मौसा ने मुझे पकड़ कर अपने ऊपर कर लिया और खुद नीचे लेट गये.

अमिता एक एक करके सबके सामने ट्रे ले जाने लगी और सब एक एक करके गिलास उठाने लगे. वो मेरी लोअर के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ कर अपने हाथ में भरने की कोशिश कर रही थी. कुछ देर बाद साले साब किसी काम से चले गए और मैंने भाभी से बातों का सिलसिला जारी रखा.