xxx देसी बीएफ

छवि स्रोत,छोटा भीम फुल मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

व्हिडिओ सेक्सी क्लिपा: xxx देसी बीएफ, उसे दर्द हो रहा था पर मैंने भी उसके मुँह को अपने होंठों से दबोच रखा था ताकि आवाज ना हो.

छोटे बच्चों के लिए गिफ्ट

मैंने पूछा- सब कुछ ऐसा ही मिलेगा न?वो कुछ चौक कर बोलीं- क्या मतलब!मैंने लम्बी सांस भरते हुए कहा- अरे आजकल का जमाना बड़ा खराब है मैडम. सास दामाद की चुदाईमैं कमरे में झाड़ू मारकर अपनी किताबें आदि रैक पर जमा ही रहा था कि किसी की आवाज आई- अर्पित, किसी भी चीज की जरूरत हो तो मांग लेना.

वो दिखने में बिल्कुल बॉलीवुड एक्ट्रेस रक्षंदा खान जैसी है, गोरा रंग, बड़ी बड़ी काली आंखें जिनमें वो हमेशा काजल लगाती है, लम्बे काले बाल, उसके बूब्स का साइज 36 है, और गोरी मोटी बाहर को निकली गांड उसकी खूबसूरती पर चार चांद लगाती है।दोस्तो, मैं राकेश एक बार फिर अपनी एक सेक्सी गर्ल हिंदी स्टोरी लेकर आप के समक्ष हाज़िर हूं. जूही चावला की सेक्सी फिल्मटी-शर्ट फाड़ कर बाहर आने को आतुर उसके बड़े और नुकीले उभार एकदम मस्ती बिखेर देते थे.

और उसने नीतू से भी उसका नाम पूछा और उसकी उम्र भी पूछी।तो नीतू ने धीमी सी मीठी आवाज़ में उसे अपना नाम नीतू और उम्र 19 बतायी।नीतू की मन्द सी मीठी आवाज़ सुन कर गगन का लौड़ा खड़ा हो गया और उसने नीतू को गले लगा लिया.xxx देसी बीएफ: हम दोनों स्कूल पहुंचे, तो मैंने कहा- दीदी आप जाइए, मैं बाहर ही आपका इन्तजार करता हूं.

क्या मैं जब चाहूं आपको चोद सकता हूं?तो आंटी ने कहा- तन्मय तुम जब चाहो मुझे चोद सकते हो.अब मैं नफीसा आंटी की उठी हुई चूत में लंड सटासट सटासट अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा और मेरा लंड आंटी की बच्चेदानी को टक्कर मारने लगा.

गूगल पर सेक्सी - xxx देसी बीएफ

मैं- क्या पिताजी आपका दूध पीते थे?मां- हां हर पति अपनी पत्नी का दूध पी ही लेता है.ये लंड सिर्फ मेरा है बहनचोदियो … अगर इस लंड पर हक जमाया, तो मैं सबकी माँ चोद दूंगी … और तू भी सुन ले भोसड़ी के भैया … अगर तू मुझे छोड़ कर दूसरे को चोदने गया, तो तेरी भी गांड मार दूंगी.

अब लाज शर्म को मैं अपने पैंट की जेब में रखते हुए भाभी को चुदाई की पोजीशन में लिटाने लगा. xxx देसी बीएफ मैं अपने आवेश से बाहर होने लगा था और भाभी के हाथ लंड से टच होते ही मेरा एक हाथ उनकी कमर पर चलने लगा था.

एक बार मैं किसी काम से मेरठ गया मुझे वहां के बाजार में मोबाइल के सर्विस सेन्टर जाना था.

xxx देसी बीएफ?

कुछ ही देर में भाभी उत्तेजना से चिल्लाने लगी- आह मर गई … आंह और जोर से चाट मादरचोद … और जोर से भोसड़ी वाले … उम्मम … हं हं … बाबू … आज मुझे तुम जन्नत का सुख दे रहे हो … आंह मेरी चूत तुम्हारी दीवानी हो गई है बाबू … और जोर से … और तेज़ चाटो. जुवैरिया आंटी देखने में एकदम मुनमुन सेन जैसी लगती हैं, वो बस कद से थोड़ा कम हैं. लेकिन माधवी के इस पोजीशन में झुके होने के कारण भिड़े की नज़रें उसके कुर्ते के बटन खुले होने के कारण अन्दर तक झांक चुकी थीं.

उसके बाद उन्होंने भाभी चूत में लंड सैट किया और भाभी को अपने ऊपर बैठने को बोला. अगली सुबह मैं लेट उठा।मैं बालकनी में गया तो देखा कि भाभी और मेरी मम्मी बातें कर रहे थे. मैं उसके ऊपर चढ़ा था और उसकी बुर में लंड डाले हुए उसके चूचे चूस रहा था.

”आंटी ने हल्की मुस्कान के साथ कहा … तो मैं उनके साथ चलने को राजी हो गया. जब मम्मी अपनी धोकर निकल रही थीं, तभी लाइट आ गई और वो आदमी दिखने लगा. न्यूड गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी सेक्सी साली मेरे साथ अकेली थी और कामवासना से तप रही थी.

वो मेरी पीठ से अपनी चूचियां सटा सटा कर खुद भी उत्तेजित होती थीं और मुझे भी करती थीं. उसने काफी दिनों बाद चुत में लंड लिया था तो उसके चेहरे पर दर्द की लकीरें साफ़ दिख रही थीं.

रंडी भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि पड़ोस की सेक्सी भाभी को मैंने गर्म करके उसे चुदाई के लिए तैयार कर लिया। चुदाई शुरू होते ही भाभी रंडी की तरह गालियाँ देने लगी.

गर्लफ्रेंड से बातें कर रहे हो क्या?मैं- नहीं तो ऐसी कोई बात नहीं है.

करीब 15 मिनट तक मेरी मॉम की गांड मारने के बाद उसने मॉम से कहा- मेरे अन्दर से कुछ निकलने वाला है!मॉम बोलीं- तो निकलने दो, पर तुम मत रुको … जोर जोर से अन्दर बाहर करते रहो. मैं शुरू में उससे छूटने की कोशिश कर रहा था लेकिन मुझे उसने मुझे बहुत अच्छे से पकड़ा हुआ था तो मेरी सारी कोशिशें बेकार हो गईं. मैं उसके ऊपर चढ़ सा गया था और उसकी एक निप्पल को अपने मुँह में लेकर पीने लगा.

क्योंकि तब आप बहुत सारी आंटी और बड़ी लड़कियों को देखते थे और उन्हीं पर लाइन मारना पसंद करते थे. उस लड़की का हाथ अपने हाथ में देखकर मुझे भी हैरानी हुई कि आखिर हो क्या रहा है. जैसे ही मुझे उसकी गांड का अहसास हुआ … मैं थोड़ा पीछे हुआ और एक जोरदार झटका लगा दिया और अपना पूरा लंड उसकी बुर में पेल दिया.

मैंने बैग में बुक्स के साथ कंडोम और डेरी मिल्क रख ली और मम्मी को बोल कर निकल गया.

लेकिन जब से उसने दारू पीना स्टार्ट किया, तब से वो मेरे साथ बदतमीज़ी करने लगा था. मेरी बुआ के घर में नीचे के रूम में बुआ-फूफा सोते है और ऊपर के कमरे में विकी और उसकी बहन सोती है. मैंने मैडम की ब्रा का हुक खोलकर मम्मों को आजाद कर दिया और उनको पलंग पर धक्का दे दिया.

मैंने जैसे ही धक्का देने को अपनी कमर को ऊपर किया, दीदी कामुकता से भरी आवाज में बोलीं- आंह थोड़ी देर रुक जा … ऐसे ही अच्छा लग रहा है. अब मैं उन्हें अपने सीने से चिपकाए हुए किसी बच्चे की तरह दुलार रहा था. दोस्तो, इस सरकारी महिला अधिकारी की सेक्स कहानी को अगले भाग में पूरा लिखूँगा.

अब मैम अपनी चूत मेरे लंड पर रगड़ रही थीं और मैं उनकी चुचियां चूस रहा था.

एक दिन फरीना ने मुझे कॉल किया और बोली- हम दोनों को साथ टाइम बिताये बहुत टाइम हो गया है, चलो कहीं घूमने चलते हैं. लेकिन माधवी के इस पोजीशन में झुके होने के कारण भिड़े की नज़रें उसके कुर्ते के बटन खुले होने के कारण अन्दर तक झांक चुकी थीं.

xxx देसी बीएफ मैंने मनोज से कहा कि चल रहने दे, तुम मुझे ये सब क्यों बता रहा है?मैंने मनोज के सामने यह बात टाल दी तो वो भी चुप हो गया और चला गया. बिलाल ने कहा- घर तक जाने से तो अच्छा है कि यहीं किसी होटल में रूम बुक कर लेते हैं.

xxx देसी बीएफ पापा ने उनको घोड़ी बना दिया और उनकी गांड में तेल लगाकर उंगली करने लगे. धीरज ने फरमाइश की थी कि जींस टॉप, स्कर्ट मिडी वगैरह वो सब खरीदना था.

न्यूड भाभी सेक्स कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली शादीशुदा लड़की की है.

सानिया बीएफ वीडियो

मैंने दोनों लड़कियों को एक एक करके उठाया और उधर पड़े एक बड़े बेड पर सुला दिया. उसने पहले दरवाजे की ओर देखा, फिर मुझसे अपना हाथ छुड़वा कर बोली- दो तीन बार अपने बीएफ के साथ किया है. मैंने ऐसा ही किया, पैंट खोल कर सूखने डाल दी और टॉवल से अपने शरीर को पौंछ कर कम्बल ओढ़ कर बैठ गया.

अम्मी हंसने लगीं और बोलीं- हां, अभी तक खड़ा है क्या … चल बता आज कैसे याद किया … आना है क्या?धीरज- हां आंटी … लेकिन मेरा साथ एक बन्दा और भी है. मेरी दीदी ने मेरी तरफ देखा, तो मैंने अपनी आंख बंद करके उन्हें हां कर दी. उस लड़की ने देर ना करते हुए फिर से मेरे हाथ को अपनी चूत पर रखा और कस कसके मेरे हाथ को चूत पर रगड़ने लगी.

एक दिन मैं कॉलेज से जा रहा था तो देखा कि मैम ऑटो का इंतज़ार कर रही हैं.

फिर थोड़ी देर बाद दरवाजे की घंटी बजी, तो अम्मी ने आवाज दी ‘आ रही हूँ. मगर इस बार डिल्डो की जगह कार्लोस जैसे अफ्रीकन सांड का भीमकाय लंड था. स्वीट गर्ल सेक्स कहानी मेरे पापा के ख़ास दोस्त बेटी की गर्म चूत की चुदाई की है.

मैंने अमित के सामने भाभी से बात करके कह दिया- सर, मैं आपसे थोड़ी देर में बात करता हूँ, अभी मैं अपने दोस्त अमित के साथ बाजार में हूँ. हम दोनों सेक्स का पूरा मजा ले रहे थे।लगभग 15 मिनट इसी पोजीशन में चुदने के बाद आंटी ने मुझे रोक दिया और कहा- अब पोजीशन चेंज कर लेते हैं. मेरे दोनों हाथों में मेरी सासू मां के दोनों नारियल थे और मैं हचक कर अपनी सासू मां की चुत में लंड पेल रहा था.

फिर आंटी ने अपने पैर फैला दिए और रंडी कि तरह चुत खोलती हुई बोलीं- आजा मेरे राजा, आज तुमको चोदना सिखा देती हूँ. वो कई सालों से हमारे घर पर काम करती थीं और साथ में मेरी देखभाल भी किया करती थीं.

मुझसे और रहा नहीं गया … क्योंकि वो मुझे किसी रंडी की तरह जानबूझ कर गर्म कर रही थीं. मैं उनके मम्मों की तरफ देखते हुए बोला- मुझे दूध चाहिए था भाबी!मैंने भी सेक्सी अंदाज से बोला था. उस लड़की ने जल्दी से अपनी पैंट को टांगों से बाहर अलग कर दिया और अपनी चड्डी को भी अपने टांगों से निकाल कर दूर फैंक दिया.

उसने मुझे अपने घर का एड्रेस समझा दिया और मैं उसे आंख दबा कर घर वापिस आ गया.

थोड़ी देर तक चाची के होंठ चूसने के बाद उन्होंने मुझे अलग किया और अपने सलवार कमीज को उतारने लगीं. मुझे भाभी के सांस लेने में दिक्कत समझ आने पर अपने विध्वंसकारी लौड़े को बाहर निकाला तो भाभी ने लंड पकड़ लिया और फिर से चूसना शुरू कर दिया. मगर कभी कभार जब उमैय्या मेरे दोस्त के साथ ही घर पर आ जाती थी तो हम लोग ठीक ठाक तरीके से रहने लगते थे.

तभी मेरा लौड़ा सख्त हो गया और लंड से एक तेज़ पिचकारी बच्चेदानी में छोड़ दी. मैंने दीदी को अपने लंड के थोड़ा ऊपर अपनी कमर में बिठा लिया और दीदी मेरे सर को दोनों हाथों से जकड़ कर जोरों से किस कर रही थीं.

मैंने भी फिर अपना हाथ उठा कर उनकी जांघ पर रख दिया और धीरे-धीरे हाथ घुमाने लगा. मैंने धीरे धीरे उसका लंड अपने मुँह में ले लिया और उसके पोते सहलाते हुए लंड चूसना चालू कर दिया. उन्होंने मुझे धक्का देकर अपने नीचे कर लिया और 69 में होकर मेरा लंड चूसने लगीं.

बीएफ कटिंग

मेरा 3 इंच मोटा लवड़ा फूल कर कुप्पा हो रहा था जिससे वो कोमल के मुँह में आ नहीं रहा था.

मेरी गोद में मेरी सगी बहन बैठी थीं, पर इस मादरचोद लंड को कौन समझाए कि ये दीदी की गांड है. भाभी गांड हिलाती हुई बोलने लगीं- आह धीरे धीरे करो … दर्द हो रहा है. प्रीति भी इसमें मेरा पूरा साथ देने लगी, हम दोनों की जीभ आपस में लड़ने लगी.

कभी वो मुझे कसके पकड़ कर खुद ही नीचे से धक्के लगाने लगती तो कभी अपनी चूची को पकड़ कर मेरे मुँह में भर देती … तो कभी अपने पैरों को मेरे पैरों में फंसा कर खुद मेरे ऊपर आ जाती. मेरे तेज धक्कों से हो रही चुदाई से कोमल को भी दर्द होने लगा और वो बार बार लंड निकालने के लिए बोलने लगी. अंतर्वासना डॉट कॉममैंने वहीं पड़े कपड़ों में से उसका एक दुपट्टा उठा लिया और उसका एक हाथ बांध दिया.

मैंने बोला- फिर छोड़ा क्यों उसको?वो बोली- एक दिन उसने कुछ ज्यादा ही बदतमीज़ी कर दी थी. मैं उस वक्त गुलाब की माला में से गुलाब की पत्तियां निकाल कर खा रहा था.

मैं प्रीति के पास गया और उसके हाथ उसकी आंखों से हटा कर उसके एक हाथ में अपना लन्ड पकड़ा दिया. बहुत देर तक ऐसे ही सब कुछ चलता रहा और मैंने भी बीच बीच में देखकर भैया भाभी की चुदाई का मज़ा लिया. उन्होंने अपनी एक चूची मेरी कोहनी में सटा दी और मुझसे बात करने लगीं.

फरीना वापस अन्दर आ गई और उसने अपने पहनने के लिए कपड़ों में से एक डीप नैक लाल रंग का टॉप, एक भूरे रंग की कैपरी, एक लाल रंग की ब्रा और एक नीले रंग की पैंटी निकाली और चेयर के ऊपर रख दी. मैं इस वक्त नफीसा आंटी को बिंदास होकर चोदने लगा था और वो भी बिल्कुल मस्त होकर मुझसे चुदवा रही थीं. झड़ने के साथ ही मैंने उसे बेड पर ले लिया था और हम दोनों एक साथ निढाल पड़ गए.

बाद में जब अपना चिकना बदन छुओगे, तब दर्द भूल जाओगे।वैक्सिंग के बाद मैंने अपनी छाती छूकर देखी और आईने में देखा.

लेकिन जब वो अन्दर आई और उसने मुझे इस हालत में देखा तो वो वहां से भाग गई. मनीषा ने तकिया के नीचे से कंडोम निकाल कर मुझे दिखाया और बोली- रूको यार … ये कंडोम तो लगा लो, भूलो मत इसी कंडोम की वजह से आज तुम मेरे पास आए हो.

मेरी बात सुनकर भाभी ज़ोर से हंसने लगीं और एकदम से मेरे बिल्कुल पास आकर बैठ गईं. मैं लेने में शर्मा रहा था मगर भाभी नहीं मानी और उन्होंने मुझसे चिपक कर मेरे गले में चैन पहना दी. शीला दीदी दर्द से चिल्ला उठीं … तो मैंने उनका गला पकड़ लिया और धक्के मारता रहा.

आज तक किसी ने भी मेरा लंड ऐसा नहीं चूसा था, आज तो भाभी ने मेरी तो जान ही निकाल दी थी. मैंने उसकी चुत के दाने के ऊपर उंगली रगड़ने लगा … इससे वो एकदम से पिघल गई और हम दोनों झड़ने लगे. मैं एक शादीशुदा औरत हूँ और आपकी मेरे लिए ये सोच है!मैंने कहा- प्यार में ये सब नहीं देखा जाता है मेरी जान!भाभी ‘मेरी जान …’ शब्द सुनकर हंसने लगीं.

xxx देसी बीएफ कुछ देर बाद मां ने मुझसे कहा- तुम्हें मालूम है कि तुम्हारी भाभी परेशानी में है. फिर ख्याल आया कि मेरी बहन फ़ेसबुक चलाती है, तो क्यों न फर्जी आइडी बनाकर इससे कुछ पता करूं जिससे मुझे पता भी चल जाएगा और बहन को शक भी नहीं होगा.

चुदाई बीएफ चुदाई वाली

इस पर लक्की मेरे फूले हुए लंड को देखती हुई बोली- तुम पूरा भीग गए हो, अन्दर आ जाओ, जब बारिश बंद हो जाए … तब चले जाना. कभी कभी वो खुद अपनी छाती ऊपर कर देतीं ताकि पूरा चूचा मेरे मुंह में घुस सके. मैंने नीचे झुक कर उसकी चूत की फांकों को अलग किया और उंगली डालने के साथ साथ चुत चाटने भी लगा.

किज़ारा काफी माडर्न सोच की लड़की है और जिम जाने की वजह से उसका फिगर भी एकदम कातिलाना है. उसके बाद से मुझे अपनी गांड की खुजली मिटवाने के लिए खुद से आए दिन लंड की जरूरत पड़ने लगी. जंगली सेक्सी बीपीउन्होंने अपनी एक चूची मेरी कोहनी में सटा दी और मुझसे बात करने लगीं.

उधर मॉम को बहुत दर्द हो रहा था, वो विकी से रिक्वेस्ट कर रही थीं कि अपना लंड बाहर निकाल ले.

वो मेरे लंड को हाथ से मुठियाती हुई देख कर बोली- वाओ सच अ बिग पेनिस … मुझे लगता है आज मैं शर्त हार जाऊंगी. मेरी बहन इस बार हल्की आवाज में ‘आह … आह …’ करके चिल्लाई और लंड के मजे लेने लगी.

मुझे शिवानी के मस्त चूचियों को दबाने और मसलने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था. तो मैंने लंड चुत से बाहर निकाला और पास पड़ी एक हैंड टॉवल से पौंछ कर साफ किया. और वहां चक्कर लगाने के बाद मेरी चूत को बस हल्का सा स्पर्श करते ही वापिस मेरे मम्मे पर पहुंच जाती।करन और ससुर जी के प्यार करने में शायद यही अन्तर है.

तभी मेरी बीवी बोली- आपने कब जाना है स्टूडियो?तो मैंने कहा- मैं तो रेडी हूँ, बस प्रीति के ही तैयार होने की देर है.

मैं आग में घी डालते हुए कहा- आप समझ रही हैं ना मेरे कहने का मतलब! अगर मेरी जरूरत घर में ही पूरी हो जाए, तब कहीं जाकर मैं अपने घरवालों को दूसरी शादी नहीं करने के लिए कह सकता हूँ. फिर मैं उसके पीछे खड़ा हो गया और उसकी गर्दन को चूमते हुए उसकी कमीज के अंदर हाथ डाल कर उसके चिकने पेट पर हाथ फेरने लगा और बीच बीच में उसकी नाभि में उंगली डाल कर कुरेदने लगा. मैंने उनको सोफे पर लिटा कर पलट दिया और उनकी गर्दन पर चूमने लगा; फिर धीरे धीरे नीचे आते हुए पीठ को चूमने लगा.

मिया खलीफा सेकसी विडियोमैंने धीरे से बुर के अन्दर लंड डालने की कोशिश की, लेकिन सलईका की बुर एकदम टाइट थी. आंटी मेरे लंड के सामने घुटने के बल बैठ गईं और लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

बीएफ फिल्म इंग्लिश बीएफ फिल्म इंग्लिश

कार्लोस झट से बिस्तर के ऊपर आया और उसने मेरी बीवी मेघना की चुत में अपना सुपारा फंसा दिया. मैंने भी मैम को अपने ऊपर खींच कर उनके होंठों को अपने होंठ के बीच दबा लिया. मैंने सोचा कि इससे पूछना चाहिए कि इन सबसे कबसे चुदाई करा रही है?मगर सामने से मैंने पूछा- सेक्स की शुरुआत किसने की … और पहली बार कितनी उम्र में तेरी पहली चुदाई हुई!वो चुप रही तो मैंने फिर से कहा कि मैं तो जब कॉलेज में आया था … तब सेक्स किया था, तुम्हारी शुरुआत कब हुई थी!वह बोली- ये लंबी कहानी है, बाद में बात करेंगे.

हम दोनों बातें करेंगे और कुछ मज़ा भी!मैं भाभी की मजा वाली बात से कुछ समझा नहीं कि ये मुझे किस मजे देने की बात कर रही हैं. मैंने भी मैम को अपने ऊपर खींच कर उनके होंठों को अपने होंठ के बीच दबा लिया. मैं वैसे ही धीरे धीरे सब कुछ करने लगा और अब मैंने भाभी के होंठों पर किस भी शुरू कर दिया.

इसलिए अब मैं सीधा नीचे आया और फटाफट से शिवानी की टांगों को पकड़कर चौड़ी कर दीं. मैं ये सीन देखकर बिल्कुल दंग हो गया और उनसे पूछ बैठा कि यह सब क्या है भाभी और ऐसा क्यों?भाभी ने कहा- अच्छा बच्चू, पहले तो तुमने मेरी बहुत ज़ोर ज़ोर से चुदाई की और मज़ा भी बहुत लिया. मुझे ऐसे देखते हुए देखकर वह थोड़ी शर्मा गई, मैंने दरवाजा बंद कर दिया, उसने मुझे थोड़ी स्माइल दे दी और मेरे बैठते ही उसने केसर वाला दूध का गिलास मेरे होंठों से लगा दिया.

मैंने जैसे ही भाभी का दूध अपने होंठों में लेकर चूसा, उसमें से दूध निकल कर मेरे मुँह में आ गया. फिर मैं भाभी के पेट को चूमने लगा और उनकी नाभि के पास आकर जीभ से खेलने लगा.

इंडियन BF GF सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई की प्यास बुझती नहीं थी.

विकी एक जवान लड़का था, जैसे ही वो मेरी मॉम के गले लगा तो मॉम के पूरे बदन में गर्मी सी फैल गयी. सविता भाभी की फोटोअभी दीदी ने पूरा लंड मुँह में नहीं लिया था, वो अपनी जीभ लंड के टोपे पर चारों ओर फेरने लगी थीं. ராஜஸ்தான் செஸ் வீடியோमैंने शादी से पहले अच्छी से अच्छी चूत वालियों की आग को शांत किया है. मैं थोड़ा दूर बैठा था, पर थोड़ी देर में मौसी एकदम मेरे पास को खिसक आईं.

वो बोला- मेरा रूम खुला है, तुम अंदर आ जाओ।अब मैं जल्दी से तैयार हो गई; मैंने सिल्क की गुलाबी मखमली नाइटी पहन ली; अंदर मैंने कुछ नहीं पहना।मैं जैसे ही रोहित के रूम में पहुंची वो मेरा ही इन्तजार कर रहा था।उसने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और चूमने लगा वो अंडरवियर में था। उसने मेरे बूब्स दबाने शुरू कर दिया और किस करने लगा.

वो इठला कर बोली- तुम डाल कर देखो … हो सकता है कि दर्द न हो!मैंने कहा- अच्छा मतलब इससे पहले भी किसी का अंग अपने अन्दर ले चुकी हो?वो हंस दी और बोली- हां यार … मगर मजा नहीं आया था. लंड अभी थोड़ा मुरझाया हुआ था तो कोमल उसको पूरा जड़ तक लेकर चूस रही थी. मैम जब कैंटीन से जाने लगीं तो बोलीं- ठीक सुबह 10 बजे क्लास में आ जाना … वरना फेल समझना.

मेघना ने अपनी बिकिनी पहनी हुई थी पर पहली बार खुले में इस तरह की बिकिनी पहनने से उसे शर्म आ रही थी और इसी वजह से शर्म के मारे उसने नीचे स्कार्फ़ लपेट लिया था. मोहिनी ने रतन को कई बार कहा कि मैं तो अपनी सहेली के साथ यौन आनंद लेती हूं, तुमको अब तक अपनी पसंद का पुरुष नहीं मिला, इसलिए बुरा लगता है।अब रतन की जुबानी :मैं बोला- मेरी कोशिश जारी है. शिवानी की चूत बहुत ज्यादा कसी हुई होने के कारण मेरा लंड अन्दर पूरा घुस ही नहीं पा रहा था.

बीएफ सेक्स दिखाव

बीस मिनट बाद हम दोनों ने एक राउंड फिर चुदाई का मजा लिया और इसके बाद मैं घर आने के लिए कपड़े पहनने लगा. मेरी मॉम ने उसके लंड को देख कर कहा- विकी तुम्हारा लंड तो बहुत बड़ा है … आज तो मुझे मजा ही आ जाएगा. फिर मैंने अपने हाथों को से उनकी ब्रा का हुक खोल दिया और उनके मम्मे ब्रा की कैद से आजाद हो गए.

तभी अचानक दीदी और मैं काम निद्रा से जागृत हुए और दीदी अचानक कार से नीचे उतर गईं.

मैंने लंड को बाहर निकाल लिया और झटके से घुसा दिया और तेज़ तेज़ चोदने लगा.

मेघना की रात को चुदाई करने के बाद हम दोनों सो गए थे और सुबह उठ कर मुझे कार्लोस के आने का इन्तजार था. मैं इस वक्त नफीसा आंटी को बिंदास होकर चोदने लगा था और वो भी बिल्कुल मस्त होकर मुझसे चुदवा रही थीं. प्लीज सेक्सी वीडियोबाद में जब अपना चिकना बदन छुओगे, तब दर्द भूल जाओगे।वैक्सिंग के बाद मैंने अपनी छाती छूकर देखी और आईने में देखा.

मैंने भी होश में आते हुए उनके होंठों पर किस किया और उन्हें हां में जवाब दिया. कमरे की लाइट बंद की, नाइट लैंप चालू किया और सारे पर्दों को अच्छे से चैक किया. ‘मम्मम … अहहह … आंह बाबू चाटो … आंह आज मेरी चूत का सारा रस निचोड़ लो उम्म मर गई आंह उन्ह … और जोर से … और जोर से चाटो मेरी चूत को.

सासू मां ने अपने कंधे पर रखे मेरे हाथ को अपने हाथ से दबाया और मन समझाने के लिए बोलने लगीं. नफीसा की गांड ऊपर आ गई तो मैंने टांगें फैला कर झटके से लंड गांड में घुसा दिया और तेज़ तेज़ चोदने लगा.

इस बात मैंने उनकी तरफ देखा, तो उन्होंने आंख दबा कर फिर से मुस्कान बिखेर दी.

अम्मी की उम्र 41 साल लेकिन उन्होंने अपने फिगर को काफी मेंटेन कर रखा है जिस वजह से वो 32 साल की मादक माल लगती हैं. मैंने उसकी कुर्ती को थोड़ा सा ऊपर करके अपना अन्दर डाल दिया और उसके कुछ करने या कहने से पहले ही मैं उसके चूचों से खेलने लगा; उन्हें दबाने लगा. कुछ देर बाद मैंने प्रीति को मेज के कोने में बिठा दिया और खुद नीचे बैठ कर उसकी टांगें खोली और फिर से उसकी चूत चाटने लगा.

जीजा साली की थोड़ी देर बाद भैया भी आ गए और उन्होंने भाभी से पूछा- राहुल का क्या हाल है … वो ठीक से सो तो गया है ना?मैं ये सुनकर सोचने लगा कि यह क्या हो रहा है … और आज मेरी इन्हें इतनी चिंता क्यों हो रही है. उसने इधर उधर देख कर कहा- देखिए कल संडे है और मेरे पति को कल भी पूरे दिन के लिए बाहर जाना है.

वो रोते हुए बोल रहा था कि मुँह में लो … मुझे अच्छा लगेगा, मुँह में लो!मॉम बोलीं- रो मत … चुप हो जाओ, अभी ले लेती हूँ. मेरी निगाहें जगप्रीत की मूछों पर गईं, तो अम्मी ने उसे इशारा कर दिया. उंगली अन्दर लेते ही भाभी के मुँह से लम्बी आह निकल गई मगर मैंने उनकी आंह ऊंह की परवाह किए बिना अपनी उंगली को चुत की गहराई में उनकी बच्चेदानी के मुँह को स्पर्श कर लिया.

चिनी सेक्सी बीएफ

धीरज ने फरमाइश की थी कि जींस टॉप, स्कर्ट मिडी वगैरह वो सब खरीदना था. उन्होंने पूछा- तुमने रात को फेसबुक पर रिक्वेस्ट क्यों भेजी?मैंने सोच समझ कर जवाब दिया- आप दिख गईं, इसलिए आपको रिक्वेस्ट भेज दी. वैसे तो ये सफ़र पिछले महीने शुरू हुआ था मगर इस सफ़र की शुरूआत एक साल पहले ही हो चुकी थी, जिसका अंदाज़ा मुझे भी नहीं था.

मेरी अम्मी पीयूष के लंड पर अभी भी लगे काफी सारे माल को ऐसे चाट रही थीं जैसे उन्हें वो रस चॉकलेट क्रीम का सा स्वाद दे रहा ही. कुछ ही देर में भाभी ने अपनी टांगों को अकड़ाना शुरू कर दिया और अब वो भी खाली हो गई थीं.

मैं हंसने लगा तो भाभी भी हंसने लगी और बोली- बाबू तुम भी कपड़े उतार दो न!भाभी ने मुझे अपने सामने ही कपड़े बदलने को बोल उठी.

जब भी वो अपनी गांड मटका कर चलती है तो उसके मटकते हुए चूतड़ों को देखकर किसी भी मर्द के लंड का पानी छूट जाए. मैं बोला- अरे तो आपने मां को वो सब बता दिया था?भाभी- हां रोहित पहले तो मैंने कुछ दिन उन्हें कुछ नहीं बताया था, मगर फिर एक दिन मैंने मां से कह ही दिया था कि मेरे पति मुझे संतुष्ट नहीं कर पाते हैं. उसने मेरा चेहरा दोनों हाथों से पकड़कर माथे और आँखों को चूमा।मोहन ने मुझे प्यार से लिटा दिया। वह मेरे बाजू मे लेट गया, मुझे बांहों में भरकर मेरे होंठ चूमने और चूसने लगा.

दीदी एकदम सहज हो गई थीं मगर उनकी आंखों में चुदाई का नशा मुझे साफ़ समझ आ रहा था. तब तक चाचा जी ने एक एक पैग और बनाया और हम दोनों ने उसे भी खत्म कर दिया. मैंने उससे पूछा- तुम कौन हो और यहां कैसे आए?तो उसने बताया कि मेरा नाम नील है और मैं इसी अपार्टमेंट के एक फ्लैट में रहता हूँ.

सुबह 5:30 में मैंने कपड़े पहने तो उसने मेरी पैंटी ले ली और मैं बिना पैंटी के पजामी पहनकर बाहर आ गई।एक सीट खाली थी, मैं उसमें बैठ गई.

xxx देसी बीएफ: मैंने उसके मुँह से चोदो शब्द सुना तो अब स्वाति की बुर में अपनी एक एक करके दो उंगलियां भी डाल दीं और फिंगर फक करने लगा. मेरा 7 इंच का लौड़ा एकदम सख्त हो गया था और मेरी पैंट फाड़ कर बाहर आने के लिए बेताब था.

मैंने पूछा- आपके रिश्तेदार इधर, किधर रहते हैं?उसने बताया कि जगह का सही सही पता तो नहीं मालूम … मगर वो नई आबादी है और बाजार से हटकर कुछ दूर है. उसी समय मेरा पिस्टन उसकी चूत में राजधानी की स्पीड से अन्दर बाहर होने लगा. फिर जैसे ही मेघा पूरी नंगी हो गयी तो मुझे बस मेघा की पीठ और नंगी गोरी गांड दिख रही थी.

मैं बोला- नहीं आंटी …आंटी मुझे बीच में रोक कर बोलीं- आज से मैं तेरी आंटी नहीं, तुम्हारी रूपाली हूँ.

हथियार से खेलते खेलते वो कभी भिड़े के गोटे भी दबा देती थी, जिसके कारण कभी-कभार भिड़े के मुँह से एक मीठी दर्द की आह निकल जाती. उसका लंड एकदम खड़ा था, जो कि अंडरवियर के अन्दर से ही साफ़ फूला हुआ दिख रहा था. ‘अहो … क्या देख रहे हो? अब देखते ही रहोगे कि चोदोगे भी?’ माधवी ने अपनी नंगी कमर पर अपने दोनों हाथ टिकाते हुए भिड़े से पूछा.