ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी फिल्म दिखाइए वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

चेहरा गोरा कैसे करें: ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में, !वो बड़बड़ाने लगी और मैंने धीरे-धीरे धक्के मारना जारी रखा।मैं कुछ 5 मिनट धक्के मारते रहा और वो दर्द भूल कर मेरे धक्कों का साथ देने लगी। अब वो ज़ोर-ज़ोर से आहें भरने लगी।दोस्तो, सच में बहुत ही ज़्यादा कसी हुई चूत थी उसकी.

हिंदी बीएफ चुदाई वाली

’ बोले जा रही थी।उसकी नाभि चूमते हुए मैंने चूत के दाने को मसलना शुरू किया।सुनयना ‘अहह. सेक्सी फोटो खुला खुलातारा भी अब उत्तेजित लगने लगी और मुनीर के मुँह में स्वयं ही अपनी योनि को घुमाने लगी.

फिर ऊपर किया और बोले- वन्द्या की चूत की सुगंध जाने कैसी है बहुत मस्त टेस्टी और साफ-सुथरी माल है ये, आज हम दोनों के लौड़े से यह पागल हो जाएगी. सेक्स बीयफइसलिए उसने अपना हाथ हटा लिया।मैंने अपने आपको कंट्रोल किया और वो मेरे सीने पर सिर रख के लेट गई क्योंकि हमें अचानक से अहसास हुआ कि अगर हम ज़्यादा बढ़े तो उसके घर वालों को पता चल सकता है।फिर मैं बाथरूम गया.

इस वक्त ऐसा लग रहा था जैसे वो स्वयं अपनी योनि का रस उसे पिला रही हो.ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में: सिम्मी के मुँह से कुछ ऐसा निकला- दीप नो ओ ओ ओ … आह … आह … ओह गॉड …तभी मैंने उसकी टी-शर्ट को भी ऊपर तक उठा दिया.

जानकर बड़ा आश्चर्य हुआ कि वो मुझे जानती थी। मैं मोहल्ले में एक अच्छे आदमी की हैसियत से जाना जाता था।धीरे-धीरे उससे मुलाकातें बढ़ती गईं। उसने अपने पर्सनल प्रॉब्लम मुझसे शेयर करने शुरू कर दिए।मुझे उसके कहने-बोलने की तरह से एक बात समझ में आई.मेरी तो जैसे मुराद पूरी हो गई थी। मेरा लण्ड तो पहले से ही सख़्त था.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो पंजाबी में - ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में

अब मैंने उसको सीधा लेटाया और उस कच्ची कली को फूल बनाने के लिए अपना लण्ड उसकी चूत में सैट किया.शायद अब सुमा मान जाएगी।फिर मैंने सुमा के मम्मों को दबाना स्टार्ट कर दिया, सुमा सिसकारियाँ भरने लगी, सुमा बोली- जानू.

उसने देखा कि लड़के की पैन्ट से उसका 6 इंच का लण्ड बाहर लटक रहा है।अब मैं लड़की के बारे में पहले बताना चाहता हूँ। लड़की का रंग गोरा. ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में रुक मैं आती हूँ।उसकी चुदने की ख्वाइश देखकर मैं मन ही मन मुस्कुराई।‘ये तो साली आज बिन बारात बजेगी.

तब मेरी लड़कियों से बात होने लगी तो मेरी लड़कियों से झिझक खुल सी गई।उसी बीच मैंने फिर से जाहनवी से बात करना शुरू किया.

ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में?

कीर्ति फिर हँस पड़ी और बोली- वो हरामी हमारी राह देख रहा होगा कि ये दोनों अभी आएंगे. उसका फिगर 32-30-32 का फिगर का था, इतना कांटा माल था कि जो भी उसको देखता होगा, वो पक्के में उसको चोदना चाहता होगा. अपना फोन चैक किया, तो व्हाट्सैप पर सारंगी के काफ़ी मैसेज आए हुए थे.

उसके ऐसे उछलने की वजह से उसके बड़ी-बड़ी चूचियां जोर जोर से हिलने लगी. सो वैसे भी मेरा लंड ज़्यादा ही उफान पर था। एक दिन मैंने निलय को बहुत फटकार लगाई. ।मैं उन्हें किस करते-करते उनके चूतड़ दबाने लगा, साड़ी का पल्लू पीछे गिरा दिया।कसम से क्या मम्मे थे.

दो दिन की मैंने ऑफिस से छुट्टी ले ली थी। लेट जवाब देने के लिए माफ़ी चाहूँगी. उसका नाम सिमरन था।गीत ने हमें बताया कि सिमरन और वो दोनों बहुत पुरानी पक्की सहेलियाँ हैं और दोनों की बहुत दोस्ती है।फिर सिमरन ने हमें देख कर थोड़ी स्माइल दी और हमें बैठने को कहा।गीत ने कहा- आप सभी बातें करो. यह कहानी मेरे एक ईमेल दोस्त सिकंदर जी की है जो अन्तर्वासना के नियमित पाठक हैं। सिकंदर जी चाहते हैं कि यह कहानी मैं अन्तर्वासना पर प्रकाशित कराऊँ।लीजिए उन्हों के शब्दों में कहानी का मजा लीजिए।मैं अलीगढ़ का रहने वाला हूँ। मुझे जिम जाने तथा बॉडी बिल्डिंग का बहुत शौक है। मेरी लम्बाई 5’8″ है.

मेरे जीजू मुझे देखकर बहुत पहले से मुझे चोदना चाहते थे और उन्होंने यह बात मुझे चोदते समय बताई थी कि उन्होंने जब मुझे पहली बार देखा था तो मुझे पसंद करने लगे थे. वो मुझसे पढ़ाई के बारे में पूछ रहे थे।‘तुम पढ़ाई में बहुत ही कमजोर हो.

प्रीति बेटी, तुमने तो सचमुच मुझे वो आनन्द दिया है, जो मेरी पत्नी भी नहीं दे सकी.

जिसमें बेकार का सामान रखते थे।मैं कोमल को कमरे में ले गया और एक चटाई बिछा कर उस पर कोमल को लिटा दिया और साथ में मैं भी लेट गया।कोमल ने अपने शर्ट के नीचे अंडरशर्ट पहनी थी.

इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गई और मैंने उसके करीब जाकर उसकी गांड को अपने लंड के साथ टच कर दिया व एक हाथ उसके मम्मों पर रख दिया. पर मैं चुपचाप बैठा रहा और उसके आने का इंतज़ार करने लगा।कोई 5 मिनट के बाद वो आई. उसने बताया कि उसके पति को लंड चुसवाना और फुद्दी चूसना बिल्कुल भी पसंद नहीं है.

मेरी चूत में गुदगुदी हो रही है और गीला पानी भी निकाल रहा है।अब आगे. वो अन्दर ही अन्दर कसमसा रही थी।दस मिनट के बाद मैंने अपना लंड निकाला और मुठ्ठ मारने लगा और अपने लंड का पानी उसकी चूचियों पर गिरा दिया. उनकी हाइट 5’5″ है और वो एक बहुत ही सेक्सी लेडी हैं, उनका फिगर 38-30-36 का है, उनकी उम्र 38 साल की है.

अब इन्टरवल के बाद नीचे का होगा।हम सब चुप बैठे थे और कीर्ति मुँह साफ़ करने चली गई।मैं उठ कर वाशरूम जाने लगा, बाहर देखा तो कीर्ति मेरा ही इंतजार कर रही थी।तब उसने बोला- चलो अब हम निकल चलते हैं।और आधी मूवी छोड़ कर हम निकल गए।घर आकर हम चुप थे.

तो मैंने उसका टॉप ऊपर कर दिया और उसके मम्मों पर चुम्बन किया।कुछ देर बाद मैं उसकी जीन्स की ज़िप खोल कर अन्दर उंगली करने लगा।वो सिसकारियाँ भरने लेने लगी थी. 1’ लंबी है। वो बहुत गोरी होने के कारण सेक्सी भी लगती है।काम पर जब मैं दोपहर की चाय-नाश्ते के लिए जिस कैंटीन में जाता था. पूजा मेरी बातों को सुनकर बेहद खुश हो गयी और मुझको अपने बांहों में भरकर मुझे तीन-चार चुम्बन मेरे होंठों में दे दिए.

एक दिन मेरे ऑफिस में अपनी पत्नी आरती के साथ आए।उनकी पत्नी क्या माल औरत है. मेरी कम्प्यूटर कक्षा सुबह आठ बजे से एक बजे तक ही होती थी, उसके बाद मैं घर आ जाता था. ’फिर मैंने आहिस्ते-आहिस्ते अपनी जीभ भी चूत के अन्दर डाल कर हिलाने लगा और एक हाथ से चूत के ऊपर वाले दाने को सहला रहा था।भाभी के मुँह से बस यही निकल रहा था- आअहह… ऑह उम्म्म्म.

ठीक 8 बजे मैं खेत में इंतजार कर रहा था।दस मिनट बाद एक कयामत सी गाण्ड मटकाते हुई भाभी खेत में अन्दर आ गई, मैंने उसको धीमी आवाज़ में अपनी तरफ़ बुलाया.

राजीव अंकल का लंड रस मेरी गांड में लगा था, सब कुछ राज अंकल ने चाट कर साफ़ कर दिया और बोले- राजीव का लंड रस तेरी गांड से निकल रहा है वो भी बहुत टेस्टी हो गया है सोनू. वो सब करना मुझे अच्छा नहीं लगता।मैंने सुमा को सीधे चित्त लिटा दिया.

ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में तुम कब आईं?उसने जो जवाब दिया वो सुनकर मैं दंग ही रह गया।वो बोली- जब तुम खुद को गरम कर रहे थे तब. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:अपने चोदू को माँ का पति बनवाया-2.

ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में दोस्तो, मैं आपको अपने बारे में बताता हूँ, मैं बहुत स्मार्ट और सुंदर हूँ और लड़कियाँ मुझे देखकर ‘आहें’ भरती हैं।मेरी आँखों में एक कशिश है।मैंने अन्तर्वासना अभी कुछ दिनों पहले से ही पढ़नी शुरू की है।बात लगभग उन दिनों की है. हवस फिर से जाग उठी और मैं एक हाथ से उसका चूचा दबा रहा था और दूसरा चूचा चूस रहा था।उसके हाथ मेरी कमर पर कभी मेरे बालों में थे। दस मिनट तक यह सब चलता रहा.

शायद मेरे लंड से अब भी नेहा की चुत के रस की महक आ रही थी, जो कि प्रिया को पसंद नहीं आई.

सेक्सी बीपी सेक्सी ऑंटी

मेरे साथ बने रहिए।आप अपने ईमेल जरूर लिखिएगा।कहानी जारी है।[emailprotected]पोर्न स्टोरी का अगला भाग :लेस्बो मकान-मालकिन की चूत की प्यास -2. फिर एकदम से मेरे वीर्य की पिचकारी ने चाची की चूत भर दी और उनके शरीर में भी मुझे अकड़न सी महसूस हुई. और आज उसकी छाती पर और पीछे चिपके कपड़े देख मेरा मन मचल रहा था।संजय की बात सुनकर मुझे लगा कि इसके बाद संजय खुद ही कीर्ति को चोदने के लिए आगे बढ़ा होगा.

पूछने पर उसने बताया था कि वो कम उम्र में ही चुदाई कर चुकी थी, अब तक जब मौका मिलता है तब कर लेती है. मैं उस औरत की खूबसूरती से बहुत ही प्रभावित हो गया था और आंखें फाड़ फाड़ कर उसको देख रहा था. मैं कहीं भागी तो जा नहीं रही हूँ।तो मैं लेट गया और उसको किस करने गया। मैं उसके होंठों को चूसने लगा अब वो भी मेरा साथ दे रही थी। मुझे तो जन्नत का मज़ा आ रहा था। फिर मैं उसके ऊपर आ गया और उसके होंठों को ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगा।वो मेरा साथ दे रही थी.

उसने मुझे चिढ़ाते हुए कहा- अबे झल्लाती क्यों है? हम दोनों मिलकर कचूमर निकालेंगे न उसका.

और कान में मीठी आवाज पड़ने से पहले लण्ड को भनक हो जाती है कि कोई मस्त माल बाहर तेरा इन्तजार कर रहा है।वैसा ही मेरे लण्ड के साथ भी हुआ. मैं उसके नीचे थी वो मेरे ऊपर था और अपना लंड मेरी चूत में डाल कर अपना लंड अन्दर बाहर कर रहा था. तो उन्होंने कहा- तुम अपना मुँह उधर को करो।मैंने कहा- क्यों भाभी, शर्म आ रही है क्या?वो बोली- हाँ, तुमसे थोड़ी शर्म आ रही है।मैंने पूछा- फिर कैसे होगा?तो कहने लगी- सब्र करो.

सामने एक नाटे कद का काला सा लड़का खड़ा था। मैं चुदाई के कारण कुछ हांफ सी रही थी और मेरी जाँघ से वीर्य गिर रहा था।कहानी कैसी लग रही है. तो वो भी अपने लौड़े की आग मिटाने पायल के पास चला गया।पायल को पता लगा कि पुनीत आ गया तो उसने सोने का नाटक शुरू कर दिया पुनीत उसके पास आकर बैठ गया।पुनीत- पायल. तो अपने यार का लौड़ा भूल जाएगी। लड़कियाँ देख कर डर जाती हैं समझी?निधि- अच्छा ऐसी बात है.

जो नए पाठक हैं, उनको बता दूँ मेरा नाम कविता है और मैं गुड़गाँव से हूँ. तो मज़ा आता है।मैंने अन्तर्वासना पर प्रकाशित अभी तक की सारी कहानियाँ पढ़ ली हैं.

मैंने उससे छेड़खानी करते हुए कहा- बड़ी जानकारी है … क्या पहले भी इधर आ चुके हो?रवि मुझ पर झपटने को हुआ तो मैं दूर भाग गई और मैंने उससे कहा- प्लीज़ दरवाजे को अन्दर से कुण्डी भी लगा दो. जो अब टपकना शुरू हो गई थी, उस में से चूतरस बाहर आने लगा था।पायल- आह्ह. वो वैसे ही लेटी रही ओर मैंने उसकी गर्दन ओर कान को चूमना चूसना शुरू कर दिया.

बस 5 मिनट हुए ही होंगे कि उसकी गांड आगे-पीछे होने लगी, मैं समझ गया कि अब मामला ठीक हो गया है।फिर मैं चूचों को चूसता ही रहा.

मगर मगर भीड़ के कारण हम तीनों एक-दूसरे से चिपके हुए थे।ट्रेन को चलते-चलते 4 घंटे हो चुके थे और ट्रेन कुछ खाली भी हो चुकी थी. तुम्हें भी वैसा ही सब मेरे पति के साथ करना होगा?’तो वे दोनों जैसे पहले से ही इस मौके की तलाश कर रहे थे. सो मैंने वैसलीन ली और फिर उसकी गाण्ड में और अपने लण्ड पर लगा ली। अब उसकी गाण्ड पर लण्ड को रख कर जोर से एक झटका मारा।‘ऊऊऊहीईईई ईईईईई म्म्मम्मा आर्रर्रर्रर्र.

ये किसी अनाड़ी के बस की बात नहीं है। सभी चूतों के चाहने वाले अनुभवी. मैंने उसकी चुत के दाने को होंठों में दबा लिया, जिससे प्रिया और भी ज्यादा गर्म हो गई.

वहाँ अनीता दीदी भी बैठी थीं। असल में आज खाना अनीता दीदी ने ही बनाया था। मैंने खाना खाना शुरू किया और साथ ही साथ टीवी चला दिया। हम इधर-उधर की बातें करने लगे और खाना खा कर टीवी देखने लगे।हम तीनों एक ही सोफे पर बैठे थे. मैंने रिया भाभी से कहा- मेरा लंड तुमको अच्छा नहीं लगा क्या?रिया भाभी ने कहा- अच्छा है यार … बहुत बड़ा भी है. उसकी चूत मेरे मुँह के पास थी, मैंने सलवार का नाड़ा खोल दिया और मेरी आँखों के सामने मेरी भाभी की चूत नंगी दिख रही थी.

कर्नाटक सेक्सी सेक्सी

चूत को चौड़ी करके चूत के छल्लों को गोल-गोल घुमा कर जीभ से चाटने लगा।जैसे-जैसे मेरी जीभ उसकी चूत के अन्दर गुलाबी वाले हिस्से में गई.

मैं अभी नवी मुंबई में रहता हूँ। मैं 32 साल का हूँ और सेक्स में बहुत रूचि रखता हूँ। मेरा मानना है कि सेक्स अगर स्त्री और पुरुष की मरजी से हो. मुझसे ऐसे तगड़े झटके बर्दाश्त नहीं हुए और मैं झड़ने के करीब आ गई।मैं- आह्ह. मेरे लब उसके कान की लौ को चूस रहे थे। मेरा दूसरा हाथ उसकी चूची को धीरे-धीरे ब्रा के ऊपर से सहला रहा था। मेरी गर्म सांस उसके कानों में जा रही थी।आप सबको पता होगा कि सांसों की गर्मी से कोई लड़की या महिला खुद को कितनी जल्दी गर्म महसूस करती है.

प्रीति धीरे से मुस्कुराईं और मेरे सीने से लगते हुए कहने लगीं- तेरे लंड का रस बड़ा मस्त है. तो वो मेरे पति के साथ ही सोती। कई बार तो हमने थ्री-सम किया था। पक्की चुदक्कड़ है और साली निम्फ़ो भी थी वो. मां बेटी के बीएफऔर मुँह से भी चूसा जाता है। ये सब मुझे ब्लू फिल्म देखकर पता चला है और मैंने चुदाई सीखी है। ऐसे भी तुम्हारी क्या मस्त चूत और चूचियां हैं, मैं तो इन्हें देखकर ही पागल हो जाता हूँ।यह कहकर मैं अनु के ऊपर लोटने लगा.

मैंने‌ भी अब उसकी एक गोलाई को छोड़ दिया और एक‌ हाथ से उसके चेहरे को अपनी तरफ करके उसके नर्म‌ नाजुक होंठों को मुँह में भर कर जोरों से चूसने लगा. मी माझ्या ड्रेसवरूनच माझी पुच्ची चोळू लागले होते भाउजींचा लंड माझ्या ये पुच्ची चोळण्याने ताठायला सुरवात झाली होती.

उसकी चीख निकल पड़ी।मेरा लंड आधा उसकी चूत में उतर चुका था। उसने आँखें बंद कर लीं. निकिता मेरे लंड से जोरदार ढंग से चुद रही थी और ऊपर से सोनिया मुझे किस कर रही थी, मैंने अपनी एक उंगली सोनिया की चूत में डाल दी और सोनिया की चूत को अपनी उंगली से चोदने लगा।सोनिया भी सिसकारियाँ ले रही थी, मैं कह रहा था- लो… सा…ली… चु…दो… अ…ब… अ. अब मेरे पास कोई और रास्ता नहीं था। मैं सुनील के पास गई और एक बार उसके नंगे लंड को निहारा और मुझे इस हालत में देखकर सुनील मुस्कुराने लगा।मैंने उसके लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगी, फिर अपना मुँह उसके लंड के बिल्कुल करीब ले गई और अपनी जीभ उसके लंड पर चलाने लगी।अब सुनील का लंड मेरे मुँह में था.

बाद में जब मैं 20 साल का हुआ, तब एक रात को मैंने देखा कि मेरे पापा मम्मी की गांड मार रहे थे और मम्मी ‘आह्ह … ओह … उचए … उम्मम … ओहह …’ कर रही थीं. और यही वजह थी कि हमने अपने सम्बन्धों में प्यार के आनन्द को चरमोत्कर्ष के उस शिखर को हमेशा प्राप्त किया था जिसकी लोग मात्र कल्पना ही कर सकते हैं लेकिन सम्बन्धों में प्यार की गहराई की कमी की और आतुरता की वजह से प्राप्त नहीं कर सकते. मुझे यह सुनकर बहुत अजीब हुआ कि मेरे जीजू मेरी दीदी से ज्यादा अपनी भाभी को चोदते हैं.

जब मैंने उनको पहली बार देखा था, तो उस टाइम रिया भाभी ने ब्लू जीन्स और लाल रंग का टॉप पहना हुआ था.

दादा जी भी मेरी पतली कमर में से अपने हाथ डाले हुए मेरे बदन को मसलने लगे और अपने चेहरे को मेरे चुचों के ऊपर रगड़ने लगे. आइडिया बुरा नहीं।” आरजू ने लहराते हुए कहा और दोनों हाथों से दोनों के लिंग पकड़ कर मुंह के पास कर लिये और बिना किसी शर्म या झिझक के उन्हें चूसना शुरू कर दिया। कभी रोहित का लिंग चूसने लगती तो कभी शिवम का.

पर मैं चूत की काम-ज्वाला के नशे में सब कुछ भूल चुकी थी।मेरी प्यासी चूत को लण्ड चाहिए था. मैंने उसको इशारा किया कि टाइम देखा है?उसने इशारा किया- बस दो मिनट और. फिर वे मेरी चूत में लंड डाले हुए ही मेरे ऊपर लेट गए मगर अभी भी उनके हाथ मेरे बालों और मेरे बदन पर ऐसे घूम रहे थे जैसे अभी उनकी प्यास पूरी नहीं हुई हो और वो दूसरे राउंड के लिए खुद को तैयार कर रहे हों.

5 घंटे मेरे ऑफिस में रुके और मैं बातें करते-करते पूरे समय यही सोचता रहा कि काश यह औरत एक बार मेरे साथ सेक्स के लिए राज़ी हो जाए. सुमेर भैया से तो मैं इतना नहीं मिल पाता था मगर उनकी पत्नी सुलेखा भाभी, उनके बच्चे नेहा, प्रिया व कुशल बहुत मिलनसार थे. जो मौसी की इकलौती बेटी है।अनु के बारे में आपको बता दूँ कि उसकी हाईट 5’5″ है.

ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में तो कोचिंग की एक लड़की मुझसे प्यार करने लगी, उसने कहीं से मेरा नंबर पा लिया और मुझे कॉल किया।मैंने पहली बार किसी अनजान लड़की से बात की थी. तब उसने खाने की बहुत तारीफ की। वो कीर्ति की भी बहुत इज्जत करता था।एक दिन हम दोनों दोस्त कैंटीन में बैठे थे.

सेक्सी महिला सेक्सी महिला

तो प्रिया भी अपनी कमर को हिला हिला कर मेरे लंड को अपनी चूत से चूसने लगी. उसने पेंटी उतार दी और बोली- चल अब मेरे पैर के बीच में आकर मेरी चूत को चाट. बहुत दर्द हो रहा था।मैंने उसकी बात को हवा में उड़ाते हुए चुदाई की बात कही.

फिर मैंने उस रात को उसकी 2 बार और लम्बी लम्बी चुदाई करी और सुबह 5 बजे ही उसके घर से निकल गया … क्योंकि उसके भाई का कोई पता नहीं था, कब आ जाए. मैंने उससे छेड़खानी करते हुए कहा- बड़ी जानकारी है … क्या पहले भी इधर आ चुके हो?रवि मुझ पर झपटने को हुआ तो मैं दूर भाग गई और मैंने उससे कहा- प्लीज़ दरवाजे को अन्दर से कुण्डी भी लगा दो. सेक्सी वीडियो फिल्म सेक्सी ब्लू फिल्ममुझे इस तरह से प्रतीत हो रहा था कि जो दर्द पीछे हुआ था, उसमें मानो दवा मिल गई हो.

मैं समझ गया कि पिंकी पूरी तरह चुदने को तैयार है, मैंने अपना लण्ड उसकी चूत के ऊपर रखा और अन्दर डालने की कोशिश की.

अपना लौड़ा प्रीति की चूत पर सैट किया और एक ही झटके में पूरा का पूरा लौड़ा प्रीति की चूत में घुसा दिया. तो मैंने अपने बैग से खाना निकाला और प्राची से पूछा- क्या तुम खाना नहीं खाओगी?तो उसने कहा- नहीं, मैं जल्दीबाजी मैं खाना लाना भूल गई.

तब तक वो भी अन्दर आ चुकी थी।वो अन्दर आकर मुझसे कहने लगी- मैं तुम्हारे गेट खोलने का ही इंतज़ार कर रही थी क्योंकि मुझे क्या पता था कि तुम दोनों में से किस टॉयलेट में हो।बस दोस्तो, बाकी की देसी कहानी आप अगले पार्ट में पढ़िएगा. जानकर बड़ा आश्चर्य हुआ कि वो मुझे जानती थी। मैं मोहल्ले में एक अच्छे आदमी की हैसियत से जाना जाता था।धीरे-धीरे उससे मुलाकातें बढ़ती गईं। उसने अपने पर्सनल प्रॉब्लम मुझसे शेयर करने शुरू कर दिए।मुझे उसके कहने-बोलने की तरह से एक बात समझ में आई. वो सीन देखते हुए रवि ने मौके पर चौका मार दिया और उसने आज पहली बार मेरी कमर मे हाथ डाल दिया.

तो मैंने थोड़ा आगे होकर उसकी गर्दन पर किस किया और उसकी गर्दन को चूमता हुआ उसकी पीठ की तरफ अपनी जीभ घिसने लगा।उसकी कमीज़ बीच में फंस रही थी.

सजा मुकर्रर। उतारो कपड़े और नंगे हो कर अपना लोला मेरे मुंह में दो।”अंदर ही अंदर तो इस स्थिति के लिये मैं तैयार ही था, चुपचाप ऐसे कपड़े उतारने लगा जैसे उसका आदेश मान रहा होऊं।लेकिन मैम यह तो गड़बड़ है. मैंने ब्लाउज के ऊपर से ही दबाना चालू कर दिया… इधर मेरा लंड टाइट हो गया था. हमार दोस्त का दिल तोहार ननदिया पर आ गया है। अब ऊ उसको चुदाई का खेल सिखाएगा।भाभी- ये क्या बोल रहे हो आप.

કામસૂત્ર સેક્સतो उन्होंने कहा- मेरी सासू माँ की तबियत खराब है और तुम्हारे भैया दो दिन के लिए बाहर गए हैं. जिसकी वजह से अंजलि को दिल्ली अकेले आना पड़ा। हालांकि जाते टाइम उसे मेरे साथ जाना था.

घोड़ा और लड़की की नंगी सेक्सी

डेस्क की तलाशी लेतीं।एक दिन मैंने गुस्से से उनसे पूछ लिया- आप सिर्फ मेरी तलाशी क्यों लेती हो? क्लास में और भी तो स्टूडेंट्स हैं. उसे बाकी की चीजें कहाँ दिखाई देती हैं।सर्दियों की छुटियाँ होने वाली थीं. उसने दरवाजे को कुंडी लगाई और मैंने भी देर ना करते हुए पीछे से ही चूचों को दोनों हाथों से पकड़ लिया.

फिर आज पता नहीं कैसे वो एक बार बोलते ही मेरे लंड को अपने मुँह में लेने के लिए तैयार हो गयी थी. सच में काले रंग की ब्रा के कप भाभी के गोरे मम्मों पर कसे हुए गजब कहर बरपा रहे थे. पहले तो भाभी ने आना कानी की, लेकिन वो भी बहुत दिनों से लंड की भूखी थीं … इसलिए उन्होंने मेरा साथ देना उचित समझा.

बस में भीड़ का फ़ायदा उठाकर वो मेरे बदन पर हाथ फेरने में भी कामयाब हो गया और मुझे पटाने में भी सफल हो गया. जब मैंने दोबारा पूछा, तो उसने बताया कि उसका पति उसे ज्यादा टाईम नहीं देता. कोई बात नहीं।फिर मैंने दुबारा उसके मुँह में लण्ड डाल दिया और जोर-जोर से उसका मुँह चोदने लगा। उसका सर को पकड़ कर जो जोर-जोर से झटके मारे तो मस्ती में आ गई।करीब 5 मिनट बाद पिंकी ने मुँह से लण्ड को निकाला, बोलने लगी- चलो अब मेरी चूत भी आपका लण्ड मांग रही है.

मुझे तैयार होते देख कर ही मेरे वो लवर केयर टेकर का तो लंड एकदम से खड़ा हो जाता था. और आज तो भाभी के कारण इससे बात कर सकता हूँ।इसलिए यह मेरे लिए एक सुनहरा अवसर है और इस अवसर को मुझे खोना नहीं चाहिए।थोड़ी देर में भाभी ने मुझसे बोला- तुम मेरे बच्चों को देखना.

पर उसको कोई असर नहीं हुआ।फिर उसने मेरी चूत में धक्के मारने शुरू किए.

जिससे उसका सारा बदन मेरे बदन से चिपक सा गया।शायद अब वो भी मेरी नीयत को समझ गई थी।वो झट से उठी और बिना कुछ बोले नीचे जाने लगी. સેક્સ ફોટા સેક્સ ફોટાउन्होंने इसी तरह की बातें करते हुए मुझसे मिलने का आग्रह किया, पर मैंने उन्हें अपनी स्थिति साफ़ बता दी और कह दिया कि मैं नहीं मिल सकती. इंग्लिश फिल्म ब्लू फिल्म वीडियोमैंने नीतू रानी की चूत इतनी बजाई है कि साली जब देखो लौड़ा मांगती रहती है. आप सभी के एंजाय्मेंट के लिए सिर्फ़ थोड़ा मसाला और नाम बदलाव आदि किए हैं।बात 6 साल पहले की है, मुझे अपने बिजनेस के सिलसिले में हमेशा यात्रा करनी पड़ती है, मैं नियमित रूप से पुणे जाता रहता हूँ।मैं अधिकतर बॉटम का रोल करता हूँ.

वैसे ही लड़कियों को जैसे ही माहवारी शुरू हो जाती है तो चूत और लंड का ज्ञान मिल जाता है। मगर जोआज के जमाने में बड़े घरों या परिवारों के बच्चे होते हैं, उन्‍हें ज़रूरत से ज़्यादा ही ज्ञान मिल जाता है।ऐसे ही एक परिवार की कहानी मैं आज बताने जा रही हूँ।यह कहानी काल्पनिक ही समझ कर पढ़ी जाए.

सो अपना हाथ जगन्नाथ करके ही काम चलाना पड़ता था। मैंने पता नहीं कालेज में कितनी ही लड़कियों के बारे में सोचकर मुठ्ठ मारी होगी. और मुझे महसूस हुआ कि मेरी बुर पर अब कोई हरकत नहीं हो रही है। मैं कल्पना में जिस सर को पकड़ कर बुर पर दाब कर चटा रही थी. मुझे नहीं पता।दोस्तो, आपके ईमेल का हमेशा की तरह इंतजार करूँगा।अमित शर्मा[emailprotected].

क्या मारू लग रही थी।उसकी चूचियाँ ब्लाउज में से ऐसे लग रही थीं कि मेरे लंड में करंट सा दौड़ गया. उसकी आंखें उत्तेजना के ज्वार के कारण जल सी रही थीं और अब भी अपनी कमर को जोरों से उचका रही‌ थी. अब उसके मुँह से जोर-जोर से सिसकारियाँ निकलने लगी थीं।मैंने उसे नीचे लिटाया और उसकी चूत पर अपना लन्ड रख के धीरे-धीरे दबाने लगा। वो ‘उह्ह.

सेक्सी सन 2021

सिड्नी आने से पहले मैं सोच रहा था कि ऑस्ट्रेलिया जाकर ऐश करेंगे और खूब कमाएँगे और मजें करेंगे. मैंने उसकी जांघों पर किस करना शुरू किया तो वह आहें भरने लगी और मुंह से सिसकारियां निकाल रही थी, बोल रही थी- जीजू, क्या आज मार ही डालोगे?इस बीच मैंने उसकी पैंटी को नीचे खींच कर निकाल दिया, वह बिल्कुल नंगी हो चुकी थी. तिथे तिला बेडवर टाकून त्याने तिच्या फोद्यावर असा काही हल्ला चढवला कि तिथे हजर असणार्या सार्यांचा उत्तेजना एकदम वाढल्या.

वो भी मेरा लन्ड सहला रही थी।मैंने उसकी जीन्स का बटन खोला और उसकी चूत में उंगली डाल कर सहलाने लगा।सरिता अब जोर-जोर से सिसकारियाँ ले रही थी और उसने भी मेरा लन्ड बाहर निकाल लिया था।मेरा लवड़ा देख कर उसने कहा- अरे ये तो बहुत मोटा है.

मैंने उसी टाइम टैब बदल दिया और सामने ट्रिपल एक्स वीडियो प्ले हो गया.

अब मैं उसी की सिफारिश पर एक अच्छी कंपनी में नौकरी करने लगा हूँ और जब भी समय मिलता है, तो उनसे कांटेक्ट करके किसी ना किसी औरत की मालिश करता हूँ और उसे शांत करता हूँ. तो बस मन करता है कि अभी इनकी गाण्ड में अपना लण्ड डाल के चोद डालूँ।मामी के दो बच्चे हैं जो अभी छोटे हैं और उनके पति यानि मेरे मामा की मृत्यु दो साल पहले हो चुकी है क्योंकि वो ड्रिंक बहुत करते थे।मामा की मृत्यु के बाद मामी थोड़ा सा उदास रहने लगीं. संभोग दिवसइतना सुनते ही मैं भी जोश में आ गया और मैंने अपने कपड़े उतारे और अपने लंड को उनकी चूत में घुसा दिया.

और मैंने भी देर ना करते हुए उसकी कमर पकड़ कर लण्ड उसकी गीली चूत में पेल दिया।अभी मेरे लण्ड का सुपारा ही अन्दर गया था कि वो चिल्लाने लगी और कहने लगी- उई माँ. तभी जोर से मेरे दूध को दबाते हुए राज अंकल बोले- बाप रे … तेरी नशीली आंखों में तो हवश और चुदाई भरी है वन्द्या! इतनी सेक्सी आंखें … ओह माई गॉड … तेरी आंखों का कोई जवाब नहीं, तू तो ऐसे किसी मर्द को देख ले तो वह बेमौत मर जाये! या तुझे वहीं का वहीं चोद देगा. मैंने भी कुछ नहीं बोला क्योंकि मुझे पता था कि वो मेरे साथ है और जब प्यार हो.

जब मैं ग्राउंड पहुंचा तो गेट पे सारंगी और उसकी फ्रेंड मेरा इंतजार कर रहे थे. जिसकी वहज से मैं भी थोड़ा मजा चाहती थी।फिर अंकल मुझे पकड़ लिया और चूमने लगे.

अन्दर हाथ डालकर लौड़ा हिलाना शुरू कर दिया। जैसे ही उसने राहत की सांस ली.

या जमीन पर लेटे-लेटे अपने दोनों छेदों को चुदवाना चाहती हो?‘आप जैसा कहें. हाँ इसमें शब्दावली को कुछ बदला गया है ताकि इसको कुछ अन्तर्वासना को जगाने के लिए मसाला आ सके. अब नहीं संभल पाया और अचानक से लंड का सारा पानी पूजा के मुँह पर छोड़ दिया। सारा पानी उसके चेहरे से होते हुए उसके मम्मों पर गिरने लगा। फिर पूजा ने मेरे लंड को चूस कर साफ़ किया और उस पर एक चुम्मी ले ली।अब आगे.

बीएफ एचडी चुदाई वीडियो मैं जानता था कि मेरा लंड छोटा है, लेकिन मुझे यह नहीं मालूम था कि मेरे अंदर लड़की वाले गुण हैं. ताकि मोनू आराम से चटाई कर सके।मोनू समझ गया और लपलप चाटने लगा।मुझे लगा कि मैं झड़ने वाली हूँ, मैंने कस कर मोनू का सर पकड़ लिया और ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने लगी- ओह्ह.

ट्रेन में मिली महिला की सेक्स की प्यास-2से आगे की कहानीमैं विक्की एक बार फिर से अपनी कहानियों को लेकर आपके सामने हाजिर हूं. यह मेरा वादा है तुमसे।तो सपना ने शिखा से मेरा लंड देखने की चाहत की. मैंने की-होल में से झाँक कर देखा तो मेरी मम्मी, पापा के ऊपर चढ़ी हुई थीं और पापा नीचे से लंड पेल रहे थे.

लड़की सेक्सी गुजराती

वोव्व्व्व्वो हह्हस्बेण्ड आ जाएंगे।’तभी मुझे लगा कि पति सीढ़ी चढ़ रहे हैं ‘वो आ रहे हैं प्लीज छोड़ो. उसी पर बैठ कर संतोष की प्रतीक्षा करने लगी।कुछ देर बाद संतोष ने बाथरूम का जैसे ही दरवाजा खोला. मेरा नाम राहुल है, मैं काफ़ी समय से अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़ रहा हूँ।कई बार मैंने सोचा कि अपनी कहानी भी सबको बता सकूँ.

मैं जल्दी से अपनी साड़ी पहनने लगी क्योंकि अब मेरे सास ससुर का आने का समय हो गया था. दोनों अंकल मेरे आजू-बाजू हो लिए, राज अंकल मुझ से सामने से लिपट गए और मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया बोले- सोनू तुझे पाकर आज बहुत अच्छा लग रहा है.

उसने मुझे पकड़ा और कहा- छोटी सी जिंदगी में सब कुछ हासिल नहीं होता … और जो हासिल करने का मौका हो तो उसे छोड़ना नहीं चाहिए, उसे पा लेना चाहिए.

हम लोग खिड़की के पास आ गए तो देखा कि भाभी अपने कपड़े चेंज करने जा रही थीं. अब तक मेरा लंड पूजा की आंखों के सामने धीरे धीरे और खड़ा होकर काफ़ी सख़्त हो गया था. मुझे लगी तो नहीं थी मगर मैंने भी अपने सीधे हाथ से चेन खोली और कोशिश करने लगा.

सब बहुत ख़ुश थे, भाई की शादी करनी थी, तो रिश्तेदारों ने घरवालों को एक लड़की दिखायी. मेरा नाम सुखविंदर सिंह है, मैं उत्तर भारत पंजाब में लुधियाना जिले के एक गांव से हूँ. तब मैंने उससे पूछा- तुमने कभी लेस्बीयन सेक्स किया है?वह बोली- नहीं दीदी, वैसे मैंने स्टोरी बहुत पढ़ी हैं लेस्बीयन सेक्स की!मैंने पूछा- रीतिका, तुमने कहाँ से पढ़ी ये सेक्स स्टोरी?तब उसने बताया कि अन्तर्वासना पर बहुत सारी लेस्बीयन सेक्स स्टोरी आती हैं। उसमें पढ़ी हैं.

मैं कब से भूखी बैठी हूँ।पुनीत ने ‘सॉरी’ कहा और बिना कपड़े चेंज किए.

ब्लू बीएफ फिल्म वीडियो में: अब अंकल का पूरा का पूरा लंड और सुपारा मेरे मुँह के अन्दर आ जा रहा था. और अगले ही पल उसने बड़े से लंड को अपने मुँह में गपक लिया और उसको धीरे-धीरे चूसने लगी.

इसलिए आपको इस सच्ची घटना के कामरस की धार से सराबोर करके पूरा मजा देने की कोशिश करूँगा।कहानी जारी है।हिंदी सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कमसिन लड़की और चूत की भूख -2. लेकिन जाना नहीं, जब मैं फोन करूँ तो आ जाना और खिड़की से देखना, कैसे मैं भाभी को चोदता हूँ. परन्तु इतनी देर तक लगातार प्रेमलाप के बाद दोनों पसीने-पसीने हो गयी थी और बहुत ही जोर जोर से हांफ रही थी.

अपने पार्ट्नर को कैसे अधिकाधिक सेक्स संतुष्टि दी जाए ये वो प्रश्न हैं जिसके ऊपर बहुत सी जगह पर टॉपिक स्टार्ट किए गए.

पूरा दिन कार वॉश करने के बाद कोई होश नहीं रहता है, सिर्फ़ थके हारे घर आके, जो खाना होता है. विक्रम अपने एक हाथ से अपनी माँ की चूत चोद रहा था और दूसरे हाथ से उसकी चूचियाँ मसल रहा था. मुझे ईमेल जरूर कीजिएगा।कहानी जारी है।[emailprotected]सेक्सी कहानी का अगला भाग :मेरी हॉट सेक्सी मॉम -2.