एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी

छवि स्रोत,मुंबई की नंगी सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो देहाती xxx: एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी, शबाना चोकर भर रही थी तो मैंने कहा- शबाना तुम्हारे हाथ बहुत खूबसूरत हैं, जुम्मन बड़ा किस्मत वाला है जो तुम्हारे जैसी खूबसूरत औरत उसे मिली.

सेक्सी सेक्सी पिक्चर हिंदी में सेक्सी

शरद की ये बात मुझे बहुत अच्छी लगती थी कि चाहे कुछ भी हो जाए, वो मुझे पूरी संतुष्टि देता था. कुत्ता कुटिया सेक्सीवो बार बार अपने पूरे लंड को बाहर निकाल कर एक जोर से धक्का लगा रहे थे.

करीब डेढ़ से दो मिनट तक ही मैंने मैडम की चुत चाटी होगी कि मैडम मेरे सर को अपनी चुत पर दबाते हुए … और अपनी गांड उठाते हुए मेरे मुँह में झड़ गईं. सेक्सी वीडियो बरा बरामेरी बहन मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर बोली- भाई, तेरा तो आयुष भैया से भी मोटा है!मैंने कहा- हां मेरी चुदक्कड़ बहना … भाई भी तो तेरा हूँ.

अब जब मैंने पाया कि मेरा लंड झड़ा हुआ मिलता है, तो मेरी बुद्धि सनक गई.एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी: मैंने अपने लौड़े को और तेज़ तेज़ अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया और ‘ऊईईई ऊईईईई …’ करके वो लंड लेती रही.

इस समय मेरे लौड़े के झटकों से उसकी बड़ी बड़ी चूचियां जोर जोर से हिलने लगी थीं.घर वापस आते वक्त हमें ये एहसास हुआ कि अब बस 2 ही दिन बचे हैं और आज से 2 दिन बाद हम दोनों अलग अलग शहरों में होंगे.

सेक्सी नाटक देखना है - एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी

मुझे यह सुनकर ख़ुशी मिली … मैं समझ चुका था कि अब कोई दिक्कत नहीं है, मैं भाभी को चोद कर खुश कर दूंगा.मैंने भी दोस्त से कहा- भाई कितना मेकअप थोपेगा … अपनी भाबी को भी शादी का मज़ा ले लेने दे.

अपने बाएं हाथ में फोन लेकर उसने शायद मैसेज में कुछ लिखा और मोबाइल को तिरछा करके मेरी तरफ घुमाया. एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी मैंने बोला- आप लेट जाओ, मैं आपके सिर में बाम लगा देता हूँ और पैरों में मालिश कर देता हूँ.

मैं समझ गया कि मां अन्दर ही हैं लेकिन मेरे आने की उन्हें ख़बर नहीं हुई है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी?

रूम तो बन्द था तो मैंने खिड़की से देखा तो मां और पापा एक नंगे होकर एक दूसरे के ऊपर हो रहे थे. जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया. नीचे सपाट मक्खन जैसा सपाट कोमल पेट, जिस पर अंगुलियां ही न टिक सकें.

जैसे कि मैंने बताया था कि सौम्या काफी भोली भाली थी, विजय पूरा दिन काम के सिलसिले से बाहर रहता था. अंत में मैं सुशी जी के मुंह में ही झड़ गया और वो मज़े के साथ रस को पीने लगी थीं. आंटी आह आह करके मेरे सर को अपनी चुत में घुसेड़ लेने की कोशिश कर रही थीं.

ये हम दोनों की दूसरी किस थी … पहली किस एक दिन मैंने भाभी को जबरदस्ती पकड़ कर ले चुका था. फिर मैं उसके करीब गया और बोला- आप लता जी हो न!वो मुस्कुरा कर बोली- हां … और आप सागर जी!मैंने भी मुस्कुरा कर जवाब दिया- जी. मैंने मॉम से कहा- एक नया सॉन्ग आया है, सुनना चाहोगी? मूड फ्रेश हो जाएगा.

जब मेरे डिस्चार्ज का समय आया तो मेरे लण्ड का सुपारा फूल कर संतरे के साइज का हो गया और मलाई की ऐसी पिचकारी छूटी कि शब्बो की बुर लबालब हो गई. नाज को बकरी बना कर मैं उसके पीछे आया और उसकी गांड के चुन्नटों पर व्हिस्की टपकाकर पीने लगा.

वो कुछ बोलती, इससे पहले मैंने लंड मुँह में डाल दिया और झटके मारने लगा.

[emailprotected]स्लीपिंग सिस्टर सेक्स कहानी का अगला भाग:मौसेरी बहन की चुदी हुई चुत की चुदाई- 2.

लेकिन अपनी किस्मत तो गांडू थी ही … क्योंकि मुझे कभी भी उस हुस्न की परी को पास से ताकने का मौका ही नहीं मिला. फिर मैंने नाज को लिटा दिया और उसकी चूत पर व्हिस्की टपका कर चाटने लगा. रोज तो वो मेरे होंठों को चूसते थे … परंतु आज उन्होंने ऐसा नहीं किया.

मेरा लंड उसकी गुफा में अन्दर घुसता चला गया और मुझे मानो गर्म भट्टी का अहसास होने लगा. अब तो मैं कई बार छत पर जाकर भी उसके बाथरूम में उसके साथ ही घुस जाता था और उसकी चूचियां पीकर औरचूत चाटकर मजाकरके आ जाता था. काफी देर तक उन्होंने मेरी गांड में उंगली की, फिर वो रुके और मुझे सीधा कर दिया.

उसने कहा- मैं तुम्हारे बेटे को बोल देता हूं कि तुम्हारा x-ray निकलवना पड़ेगा.

नाज की बुर के लबों को फैलाकर अपने लण्ड का सुपारा सेट करके मैंने नाज की कमर पकड़कर लण्ड को ठोक दिया. मैं उसकी दोनों चूचियों को दोनों हाथों से भींचते हुए बारी बारी से एक एक निप्पल पर मुंह लगा रहा था। निप्पलों पर जीभ से सहला रहा था. उसने एक बार मुझे नजर भरके देखा और अपना नंबर देकर वो वहां से चला गया.

उसने जो भी मुझे बताया था, वो एक बार में ही मैं लिख कर बता देता हूँ. अब मैं वहाँ वापस क्या करने जाऊं?अब मैं बोला- कहानी तो तुम्हारी दर्द भरी है. मेरा लंड तो खुशी से फूलकर अपनी औकात में आ गया और उसकी चूत की गर्मी को महसूस करने लगा था.

तभी उन्होंने मुँह ऊपर उठा कर अपने होंठ मेरे होंठों से चिपका दिए और मुझे चूमने लगीं.

’मैं उसकी चूत चाटने में लगा रहा और वो मेरा सर अपनी चुत में घुसाए अपनी गांड से मेरे मुँह पर धक्का देने में लगी रही. जब मेरा हाथ उसकी गर्म नाजुक जांघ पर छुआ, तो उसके चेहरे के भाव विस्मय बोधक हो गए.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी बस अगले ही पल बुआ की चुत ने एकदम से पानी छोड़ दिया और उन्होंने मेरा सर पकड़कर एकदम बहुत तेज ‘आह आह्ह. उसने मुझे थका सा देखा तो वो बोला- क्या हुआ बे … कोई बात हो गई है क्या?मैंने आंख मारी और अरुणिमा को खींच कर अपनी गोद में बिठा लिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी मैंने भी दोस्त से कहा- भाई कितना मेकअप थोपेगा … अपनी भाबी को भी शादी का मज़ा ले लेने दे. उन्होंने अपने हाथ से एक स्तन मेरे मुँह में देने की कोशिश की तो मैंने उनकी एक चूची को अपने मुँह में भर लिया और निप्पल खींचते हुए चूची को अपने होंठों से मींज दिया.

मुझे मेल जरूर करना कि आपको यह सेक्सी स्टूडेंट की कहानी कैसी लगी?फिर मैं अगले भाग में अपनी चुत की सील टूटने की सेक्स कहानी भी लिखूंगी.

सेक्सी बीएफ चुदाई बुर

उंगलियों के बाद मैंने फिर से बुआ की चुत में अपनी जीभ डाल दी और चुत की गर्म दीवारों को कुरेदने लगा. जांघों के अंदरूनी भाग को सहलाने और चूमने लगा … लेकिन इतना ख्याल रखा कि उसकी चुत पर मुँह न लगाऊं ताकि वो तड़फ कर खुद चुत चाटने को बोले. मैंने घर पर बात कर ली है कि मेरे साथ मेरा ऑफिस से जूनियर आ रहा है, उसे ग्वालियर में काम है, तो वो यहीं घर पर दो दिन तक रहेगा.

और डॉक्टर होने के नाते आपको ही मेरी मदद करनी चाहिए।डॉक्टर ने कहा- देखिए मैडम, मैं जो बोलूंगा, वो आपको अजीब लगेगा। लेकिन दवा लगाने का यही एक रास्ता है।मैंने कहा- प्लीज़, जो भी और जैसा भी रास्ता है मैं उसके लिए तैयार हूं।डॉक्टर ने कहा- अंजलि जी, मैं एक डॉक्टर के नाते आपकी मदद करूंगा. अब मैंने मेरी कैपरी थोड़ी नीचे कर ली और चड्डी समेत अर्शिया की गांड से चिपक गया. कुछ देर बाद लंड ने बुर में अपनी जगह बना ली और उसके जिस्म की अकड़न खत्म सी होती महसूस हुई.

बस फिर मैं अपने आप पर कंट्रोल नहीं कर सकी और इस तरीके की हरकत कर दी.

मैंने अब उसके दोनों पैरों को उसी से सिर के बगल में रख कर हाथों से दबा लिया. उसने मेरे लौड़े को अपने हाथों में लेकर हिलाना शुरू कर दिया और बोली- मैं 5 मिनट से देख रही थी. इस समय मेरा लंड फूल कर उसकी पूरी चुत पर उसकी फांकों से भी मोटा हो रहा था … तो चुत में घुसना तो दूर, फांकों को अलग भी करना मुश्किल दिख रहा था.

सोने से पहले मैंने उनसे पूछा- मैंने आपको खुश तो कर दिया ना?वो हंस दिए और मुझे भींच कर चूमने लगे. तो मैंने पूछ लिया- शीना, क्या तुम मेरी गर्ल फ्रेंड बनोगी?उसने झट से हां में रिप्लाई कर दिया. रितिका की इस कमसिन मादक फिगर में देखते ही उसे चोद देने का मन करने लगता था.

”शबाना, आपकी शादी को बीस साल हो गये, आज आप पहली बार बाजार में दिखी हैं. बस मुंतिजर की जवानी को ही अपने दिमाग से चोद चोद कर खुद को गर्म करता रहा.

मैं रुक तो गया … पर मैंने लंड बाहर नहीं निकाला और बिना धक्के मारे लंड को अन्दर ही रखा. कुल मिला कर मेरी बहन पूरी कयामत है, जिसे देख बुड्ढे में जवानी के जोश भरने लगते हैं और उनके लंड खड़े हो जाते होंगे. कभी मेरे आंडों को सहलाती कभी चूसती और कभी लंड के सुपारे पर अपनी जीभ से लिकलिक करके मुझे सनसनी देने लगती.

मैंने कहा- ब्रा नहीं पहनी है?वो बोली- नहीं, इस समय नाइटी में मुझे अपने बूब्स खुले रखना ही पसंद हैं.

मैंने पूछा- क्या हुआ?तो वो बोला- यार मेकअप वाला नहीं आ पाया, उसका एक्सीडेंट हो गया है. उसकी मक्खन जैसी मुलायम चूचियों को मैंने बहुत प्यार से दबाना शुरू किया. फिर मैंने और दबाव नहीं डाला, बस रुक गया और अर्शिया के बोबों से खेलता रहा.

फिर एक पल बाद उनकी प्यारी सी आवाज में एक बार फिर मेरे कानों में मिठास बन कर घुल गई- आप हमारा एसी कल जरूर ठीक कर देना … गर्मी के दिन है … बहुत परेशानी है. अमित में मेरी मांग में सिंदूर भर दिया और मैंने अमित को एक गिलास में दूध पिला कर सुहागरात का कार्यक्रम शुरू कर दिया.

उनके बड़े बड़े मम्मों को उछलते देखकर मैं और उत्तेजित होकर पूरी ताकत से अपनी गांड को उठा उठा कर लंड को चूत में जितना अन्दर हो सकता था, उतनी अन्दर तक पेलकर चोदने लगा था. अब अंकल मां के ऊपर चढ़ गए और मां के दोनों पैरों को चौड़ा करके अपना लंड मां की चूत पर सैट कर दिया. जब हम दोनों मैम के घर पहुंचे, उस वक़्त भी हल्की हल्की बारिश हो रही थी.

भाभी बीएफ फिल्म

ये सोचा कि बहन के कंप्यूटर में दोस्तों के नाम के बाकी के फोल्डर शाम को खोलूंगा.

अब लंड सटासट सटासट अंदर बाहर अंदर बाहर हो रहा था।कमरे में चुदाई ही चुदाई का नशा हो गया था।अब समारा तेज़ तेज़ चिल्लाने लगी और उसकी चूत ने एकबार फिर पानी छोड़ दिया अब मेरा लन्ड आसानी से अंदर बाहर होने लगा।मेरा लंड फिसलता हुआ बच्चादानी तक जाने लगा और उसकी चूचियों को मसलने लगा. वो बेचारा समझ रहा था कि वो मुझे चुपके से देख रहा था।उसको तड़पाते हुए मैंने बहुत ही इत्मीनान से अपने कपड़े पहनने शुरू किया।उसके बाद मैंने सबके लिये नाश्ता लगा दिया।उसके बाद मामा-मामी घूमने जाने के लिये तैयार होने लगे।मैं भी अपने कमरे में आ गयी. उनकी चूत बहुत गीली थी, इसीलिए आधे से ज्यादा लंड चुत के अन्दर घुसता चला गया था.

उस दिन के बाद जब भी हम दोनों अकेले में मिलते हैं, तो मिनटों तक किस करते हैं और कभी कभी मैं उसके मम्मों को भी चूस लेता हूँ. मैंने कहा- ठीक हैं मौसी आपकी परेशानी मैं दूर नहीं करूंगा, तो कौन करेगा. इंडिया का सेक्सी ब्लू पिक्चरमैंने कहा- क्यों भूख क्यों नहीं लगी?वो बोली- तुमको भूख लगी होगी, चलो मैं पहले तुम्हारे लिए कुछ खाने के लिए लेकर आती हूँ, फिर बात करेंगे.

मेरी बहन स्वाति, मम्मी का हाथ बंटा रही थी और मेरा छोटा वाला भाई बाहर अपने दोस्तो के साथ कुछ गेम खेल रहा था. ये बात कुछ महीनों पहले की है, जब रितिका के मम्मी पापा को शादी में जाना था.

वो बोली- ये कहां का रॉकेट है अरमान!मैंने बोला- ख़ास तुम्हारे लिए ये रॉकेट आया है, जो तुम्हें एक नई दुनिया की सैर कराएगा. नवीन मुझे किस करने लगा ‘मुँआहहह मुँआहहह …’उसने मुझे अपनी बांहों में एकदम से जकड़ लिया. मैंने भाभी की चूचियों को मसलते हुए उनसे लंड चुसवाने का मजा लेना शुरू कर दिया.

अब आगे बॉय बॉय सेक्स कहानी:मैं बोला कि तू भी पिएगा क्या?उसने ना में सर हिला दिया. उनके ऐसा करने से अब मैं उनकी सांसों को बहुत आराम से महसूस कर सकता था जो कि अब बहुत गर्म हो चुकी थीं. भाभी की फैंटेसी सुनकर एक पल के लिए तो मेरी गांड फट गई और डर सा लगा कि ये भाभी तो मरवाने की प्लानिंग कर रही हैं.

फिर उसकी चुत को दो उंगलियों से थोड़ा फैलाकर अपना लंड उसकी मखमली चूत के मुहाने में टिका दिया.

इसी के चलते मैंने सोचा कि अचानक से जाकर मैं अपने दोस्त को सरप्राइज दे दूँगा. लंड की गर्मी से वो देसी हॉट गर्ल सेक्स के लिए तड़प उठी और बोली- अब इन्तजार नहीं होता … संजू पहले एक बार मुझे जल्दी से चोद दो बाकी खेल दूसरे राउंड में कर लेना.

इसी का उत्तर था कि उसका हाथ हर सेकंड पहले से ज्यादा दबाव से मेरी मांसल जांघ को मसल रहा था. फिर भाभी अपने हाथ को मेरे लंड पर लोअर के ऊपर से ही फिराने लगीं और महसूस करने लगीं. मैंने उन्हें बिना कुछ कहे उनके सीने पर अपना हाथ रखा और दूसरे हाथ से उनका चेहरा अपनी ओर लेकर उन्हें वैसे ही चूमने लगी.

जब मैं कम उम्र का था, तब से इसकी सेक्स कहानी पढ़ रहा हूं और काफ़ी लड़कियों और औरतों के साथऑनलाइन सेक्स चैटभी किया है. उसने मेरी पीठ पर हाथ फेरते हुए मेरे कान में कहा- चलो कपड़े उतारते हैं. मैंने भाभी की गांड के नीचे एक तकिया रखा और लंड को चूत के मुहाने पर रख दिया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी उन्होंने कहा- ऋषि तेरा तो हो ही नहीं रहा … आह कब होगा रे … मैं तो थक गयी हूँ. नील के मुंह से धीमी धीमी सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह आह्ह म्ममह आह हह म्मम महह!उसकी इन कामुक आवाजों ने मुझे और उत्तेजित कर दिया था.

हिंदी में बीएफ फिल्म देसी

उन तीन लड़कियों में से एक लड़की आजकल उसी शहर में पढ़ रही थी जहां मैं पढ़ाई कर रहा था. मगर जिस तरह से टीवी पर आने वाले सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में एक पंजाबी सोढ़ी को अपनी पारसी बीवी रोशन के साथ मस्ती करते हुए दिखाया जाता है. शीना भाभी एक 26 साल की हसीन लड़की है … वो एक शानदार 34-30-36 के फिगर के साथ गोरे मखमली बदन की मालकिन है.

उसकी चूत का चीरा बहुत छोटा सा था और पहले जब मैंने उसकी चूत में उंगली घुसाई थी, तभी यह अहसास भी हो गया था. उस घर में केवल सुनीता रहती थी तो मेरी जीएफ इस तरह से आवाज सुनकर चौंक गई और दरवाजा खुला देखकर अन्दर आ गयी. नई मॉडल की सेक्सीइसी तरह की सेक्स चैट के बाद हम दोनों अपनी मुठ मारकर खुद को शांत करने लगे थे.

मेरे हाथ बहक कर उसके मम्मों के करीब पहुंचे तो उसने मेरा हाथ रोक दिया.

कुछ देर बाद हम दोनों छत से नीचे आ गए और साली साहिबा के रूम में घुस गए. दूसरी लड़की जिसका नाम अंजुमन था, वो मुझे कातिल निगाहों से देखने लगी और थोड़ा सा मुस्कुराते हुए बोली- पहले तो ये बताओ कि इन भाईसाब का नाम क्या है और अभी तो इसने तुम्हारे साथ सेक्स किया है.

दो मिनट बाद मैं उनके पास गया, तो वो अपने पति से बात भी करती जा रही थीं और लंड को सहलाती भी जा रही थीं. Xxx भाभी हिंदी कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की चुदक्कड़ माल भाभी को पटाया. साली साहिबा को मैंने एक मेज पर लिटाया और उसके मम्मों पर किस करके निप्पल को चूसने लगा.

मैंने कहा- ये तुम्हारी नशीले आंखें, इनको देखते ही मैं इनमें डूब जाता हूँ.

मैंने को किस करते करते ही अपनी तरफ घुमा लिया और ऐसे ही दरवाज़ा एक हाथ से बंद करके उनको दरवाज़े पर लगा कर चूमने लगा. मैं आकर कैब में बैठ गया और ड्राइवर को बोलने ही वाला था कि चलिए …वो मैनेजर उसी लड़की के साथ मेरी कैब के पास आया और मुझसे बोला- सर, ये मैडम भी आपके कंपनी में जाएंगी … तो क्या आप थोड़ा एडजस्ट करेंगे?मैंने मन में सोचा कि अंधा क्या चाहे दो आंखें. वो बाहर में चौखट पर नंगी होकर हमारी चुदाई का मजा ले रही थीं, अपनी चूत सहला रही थीं.

भोजपुरी में सेक्सी चाहिए वीडियोहम दोनों अभी बच्चे नहीं चाहते थे, इसीलिए हम बहुत कम बार बिना कंडोम के सेक्स करते थे … और जब भी करते तो अगले दिन में गर्भनिरोधक गोली का सेवन कर लेती. मेरी मौसेरी बहन अर्शिया की चूचियों को देख कर उसकी ब्रा का साइज 30 इंच का तो पक्का होगा.

बीएफ सेक्सी ओपन बीएफ सेक्सी ओपन

उसकी मखमली गांड का टच मिलते ही तुरन्त मेरा दिमाग़ घूम गया क्योंकि मुझे गांड मारने का बड़ा शौक है. उस दिन के बाद से मैडम की चुत गांड मेरे लिए हर वक्त खुली रहने लगी थी. रात को मैं उन दोनों के बारे में सोचने लगी, तो मैंने सोचा कि एक तरह से ये ठीक ही हुआ.

वो मुझे अचानक से रूम में आया देख कर चौंक गईं और बोलीं- अरे योगी तू कब आया … बैठ. बस ये बोल कर दीदी झुक गईं और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं. मैंने कहा कि किसी ने तुम्हें देख लिया तो फिर!वो बोली कि मुझे किसी ने नहीं देखा और मैं सुमन को बता कर आई हूँ.

कुछ मिनट तक ब्लोजॉब देने के बाद मैंने मुंतज़िर को लंड से हटाया और उनके कपड़े निकालने लगा. मैंने कहा- आप मेरे लिए इतना भी नहीं कर सकती हो, बस यही प्यार है आपका?इस बात पर मौसी ठंडी पड़ गई थीं. मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसना दबाना शुरू कर दिया.

मैं उन्हें देख कर रुका और उनसे पूछा- आपको क्या चाहिए … आप मुझको पिछले कुछ दिनों से देख रहे हो. वहां एक किनारे वाली टेबल पर बैठकर खाने का ऑर्डर किया और बातें करने लगे.

फिर लेक्चर ख़त्म हुआ तो मैम ने मुझे बुलाया और कहने लगीं- आज साथ में चलना.

उसके बाद मैं धीरे धीरे उसके चिकने, गोरे और सपाट पेट को अपनी जीभ से चूसते हुए गीला करने लगा. मां और बेटे की इंग्लिश सेक्सी वीडियोमैंने लंड फंसाए हुए कहा- मौसी अभी थोड़ा सहन कर लो … फिर आपको बहुत मजा आएगा. सेक्सी वीडियो 10 मिनट केमैं ये सुनकर अपना हाथ उनके ब्लाउज़ के बटन पर ले गया और जैसे ही खोलने लगा. सौम्या घर में अकेले बोर हो जाती थी, इसलिए वो सरिता भाभी के घर चली जाती थी.

सुनील ने उस औरत पर नजर डाली तो परेश ने उसका परिचय देते हुए बताया- ये अरुणिमा है … मेरी बीवी.

उसकी चूत पर बहुत सारा साबुन लगा कर एक उंगली सटाक से आधी उसकी चूत में सरका दी. फिर डायरेक्टर रश्मि के ऊपर चढ़ कर उसके बोबों में लंड रगड़ने लगा और उसके सिर की तरफ़ से कैमरा लिए राजू ने मेरी बीवी के मुँह में लंड दे दिया. इन सब हरकतों को भीड़ की नजर से देखें, तो ये स्थिति बहुत आम और विवशतापूर्ण थी.

अर्शिया ने मेरी मम्मी से कहा- मौसी मैं सोते समय क्या पहनूं? जींस में तो नींद ही नहीं आएगी. वो मेरे पास आई और मेरे गले में हाथ डाल कर बोली- अब उठाओ मुझे गोदी में. चूंकि मेरे कमरे का बाथरूम बाहर की तरफ है और उसकी वेंटीलेटशन की विंडो कंपाउंड में खुलती थी.

देहाती भाभी की बीएफ

उस रात मैंने चुपके से दीदी का मोबाइल उठा लिया और देखा तो मेरी आंख फटी की फटी रह गईं. उसने- तुम साड़ी ही पहनती हो या कभी जींस टॉप या मिडी स्कर्ट भी पहना है!मैं- जी, सिर्फ साड़ी ही पहनती हूँ. इस तरफ कोई नहीं आता था और आशीष कॉलेज टाइम में मुझे यहीं लाकर चोदता था.

चोद दो आह्ह आह्ह … चुद गयी मेरी गांड अअह ईईई …’ की सिसकारियां लेते हुए नील चुदवाने के पूरे मूड में आ गया था.

मैंने अपना हाथ, जो उसकी गर्दन पर था … उसको नीचे लाते हुए उसकी पीठ पर ले आया और उसकी पीठ को अपने हाथों से सहलाने लगा.

बेटा मैं चाहती तो अपने ऑफिस में किसी मर्द को पटा लेती या कोईकिराये का मर्दबुला सकती थी. मैंने शबाना की चोली की डोरी खींच कर उसकी चूचियां खोल दीं, उसे बेड पर लिटा दिया. सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो देवी सेक्सीमैंने उससे लंड चूसने का इशारा किया तो वो तो जैसे लंड चूसने के लिए मरी जा रही थी.

मेरा लंड तो खुशी से फूलकर अपनी औकात में आ गया और उसकी चूत की गर्मी को महसूस करने लगा था. ’ करके सरोज चिल्लाने लगी- आह मादरचोद बिहारी … आह इस जाटनी की गांड फ़ाड़ दे. धीरे धीरे दबाव बनाते हुए मैंने अपना लिंग उनकी चूत में डालना शुरू कर दिया.

न्यू भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे भैया की शादी बेहद खूबसूरत और सेक्सी लड़की से हुई। मेरा दिल भाभी पर अटक गया। मैंने कैसे उसकी चूत का मजा लिया?दोस्तो, मेरा नाम जय है। मैं एम. हम दोनों चुदाई के नशे में डूब गए थे और लंड ने चुत की ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी थी.

उसने तुरन्त ही पीछे से हाथ आगे किये और दीदी की चूचियां पकड़ कर दबाने लगा.

वो भी मुझे कभी एक चूसने को दे देतीं, तो कभी दूसरी चूची चुसवाने लगतीं. अपने लण्ड के सुपारे पर ढेर सी क्रीम लगाकर मैंने सुपारे को सलमा की बुर पर रगड़ना शुरू किया. लण्ड की ठोकर खाते समय मुमताज की आहें और सिसकारियां नया जोश भर रही थीं.

सेक्सी ब्लू नाटक फिर कुछ पल बाद उसने मेरे होंठों को आजादी दे दी और मुझे हाथ का सहारा देकर बिठा लिया. अब मैंने उसके एक पैर को अपने कंधे पर रखा और लण्ड को पहले 3-4 मिनट तक चूत के ऊपर रगड़ता रहा.

सरोज कड़क आवाज में बोली- तो ये सब चल रहा था!हम दोनों उसके पैर पकड़कर गिड़गिड़ाने लगे. अब सक्सेना मुझे किसी भी समय मुझसे सेक्स कर लेता है और मैं भी मजे करती हूँ. तब मैंने उसके दोनों पैर के बीच मैं अपना पर डाल दिया तो वो एकदम से मेरी तरफ देखने लगी.

फुल सेक्स बीएफ सेक्स बीएफ

तो वो मेरा हाथ पकड़कर बोलीं- बैठो तो अभी तो रिटर्न गिफ्ट भी देना बाकी है. मैं मम्मों को चूसने के बाद कुछ ऊपर को आया और उसकी गर्दन को अपनी जीभ से चाटने लगा. अब कामवाली बाई किसी डॉगी की तरह अनन्या की गुफा में अपना मुँह दिए थी और मैं उसे चुदाई का मजा दे रहा था.

’ नहीं चाहिए था बल्कि एक पूरा छेद चाहिए था जहां मैं अपना लिंग पेल कर घुड़सवारी कर सकूँ. लेकिन उस दिन सुबह से ही मैंने अपनी तबीयत खराब होने का नाटक कर लिया और मम्मी मान गईं.

सुबह के 10 बजे अपने घर से निकल कर मैं अपनी एक परिचित की दुकान पर गया और उधर से सामान लेकर मैं मुंतज़िर के घर पर आ पहुंचा.

मौसी को किस करते हुए ही मैंने अपने दोनों हाथों को उनके मम्मों के ऊपर रख दिए और उनके कुर्ते के ऊपर से ही उनके बूब्स को दबाने लगा. इस बात का अहसास होते ही मेरा लंड अब और सख्त हो गया और पैंट से बाहर निकलने की नाकाम कोशिश करने लगा. मैंने हम दोनों के लिए एक और पैग बनाया और वो भी मेरे काफी करीब मुझसे लिपट कर बैठ गए.

इसी के साथ स्वाति धीमे धीमे स्वर में सीत्कार कर रही थी- आह … फॅक … उम्म्म … ओह … आह!ये सब देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और मैंने सोचा कि इसे सैट करने का इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा. निशा भी अब वापस अपने रूप में आ गयी थी और उसने भी जोर जोर से मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. वो आहहह आहहह करके घोड़ी के जैसे अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े लेने लगी।मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और मसलने लगा और चोदने लगा.

और मैंने उनको और अपने आप को कंट्रोल करते हुए अपना लिंग उनकी चूत के द्वार पर रखा और वहीं पर अपने लिंग को ऊपर नीचे करने लग गया.

एक्स एक्स एक्स बीएफ एचडी देसी: यह मेरी बेटी है निशा … इसकी इंग्लिश बहुत वीक है, तो मैं चाहती हूँ कि आप थोड़ा बहुत इसको पढ़ा दिया करें. जैसा कि आपने पिछली कहानीकोमल सी हसीना की पहली चुदाईमें पढ़ा था कि कैसे मैं और कोमल कम्पनी की मीटिंग के कारण से मिले और दोस्त बने.

मैंने उसके साथ बातचीत जारी करते हुए उसकी चाहत के बारे में पूछा- आप मेरे साथ क्या क्या करना चाहती हैं!वो बोली- बस आप यूं समझिए कि उस लड़की की जगह मैं अपने आपको देखना चाहती हूँ. फिर मैं जल्दी से गौतम के घर गया और ज़ीनिया से बोला- तुम किस किससे चैट करती हो … और ये राज कौन है!यह सुनकर वो घबरा गई और बोलने लगी कि मैं किसी राज को नहीं जानती. यह बात बुआ ने भी नोटिस कर ली थी कि मैं पूरा दिन उन्हें ही देखता रहता हूँ … पर उन्होंने कुछ कहा नहीं.

कुछ देर सुनने पर मालूम चला कि वो जीजू नहीं, किसी और लड़के से बात कर रही थीं.

आखिर मेरी जिन्दगी में भी वह दिन आ गया, जिसके लिए मेरा 7 इंच का लंड रोज सपने में उसकी गीली चूत को देखकर चोदने की ख्वाहिश कर रहा था. दीदी बोलीं- तेरा कबसे इंतजार कर रही थी … आज कितने दिन बाद मुझे अपने भाई के लंड का स्वाद मिलेगा. दोस्तो, आपको मेरी सैक्सी टीचर Xxx चुदाई कहानी कितनी पसंद आई, ये मुझे मेल पर लिखना न भूलें.