बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ

छवि स्रोत,देहाती खेत वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

फुल सेक्सी पिक्चर भेजो: बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ, उतने में प्रीति रूम से निकली, मैंने उसको स्माइल दी, वो वहां से शर्मा के भाग गई.

बीएफ वीडियो हरियाणवी

मम्मी ने मौसी को फोन किया और दो दिन बाद मेरी मौसी का बेटा मुझे लेने आ गया. बीएफ पार्कमैं अपने हाथ से, उस लार को रोककर, उसकी गोली पर लगा देता, कभी कभी उसके गांड पर भी लगाता था.

दूसरे दिन सुबह दस बजे रवि दूसरे खेत में काम पर गया था और मैं आज छिनाल जैसी नई साड़ी और कट ब्लाउज पहन कर मोहन के खेत की ओर निकल पड़ी. बीएफ भोजपुरी बीएफ सेक्सीहेलो हाय के बाद उसने अर्जेंसी में मेरा दो घंटे का समय माँगा। कहीं दूर जाना नहीं था, हॉस्पिटल के पास ही उसका काम हो जाना था.

क्या नज़ारा था…!!! साक्षात् रति भी इतनी सुन्दर ना होगी जितनी उस वक़्त प्रिया लग रही थी.बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ: इतना सुनते ही वह भी हवस से भर गया और चलते चलते ही उसने अपना एक हाथ मेरे कंधे पर होते हुए मेरी चुची पर रखा और सेक्सी लुक देते हुए झटके से मेरी एक चुची दबा दी, बोला- आह…! चल चुदक्कड़… तेरा भोसड़ा फाड़ता हूँ!कहते हुए उसने अपने दाँतों को आपस में भींच लिया.

5″ का लण्ड बिल्कुल टाइट हो गया था।औऱ मैंने बिना किसी देरी के लण्ड चूत में डाल दिया… मगर चूत बहुत छोटी थी बस थोड़ा ही अंदर गया मैंने तेज धक्का दिया तो आधा लण्ड अंदर चला गया.मैंने दीदी से कहा- जानू, सभी लड़के अपनी गर्लफ्रेंड को छोड़ कर तुम्हारे बदन का मज़ा ले रहे हैं.

सेक्सी बीएफ दिखाना वीडियो - बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ

उसका लोअर बिल्कुल स्किन फिट था, जो उसके फिगर को छिपा नहीं पा रहा था.मुझे देख कर बोला कि आज तो तुम पूरी इंद्र के दरबार से आई अप्सरा लग रही हो.

वो बोले- इसको हाथ में पकड़ो!मैंने छोटे बच्चे की तरह उनकी बात मान कर लंड हाथ में ले लिया. बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ और दोनों शादी से पहले ही एक दूसरे के साथ ढेर सारी चुदाई कर चुके थे.

कहानी तो मैं भी समझ चुका था, लिहाजा अपनी नीना की जुबानी सुनने को बेताब हो रहा था.

बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ?

मेरी चरम सीमा के अंत में मैंने ज़ोर देकर पूरा लंड उनके गले तक घुसा दिया. मैं अपने तने लंड के साथ पलंग पे चढ़ा और रोशनी की पूरी टी-शर्ट और ब्रा को निकाल कर जमीन पर फेंक दिया. वीर्य इतना ज़्यादा था कि अब वह मेरे चेहरे से नीचे टपक रहा था और मैं अपनी जुबान से मुंह के आसपास का ताजा ताजा लंड जूस जुबान से चाट रहा था.

काफी दिनों तक तो मैं उनको टालता रहा, पर फिर वो मुझे जान से मारने की धमकी देने लगे थे. बाद में भाबी मजाक करते हुए मुझसे बोलीं- क्या बात ऋतु, आज तो तू अपने भैया से ही अपने मम्मों को मसलवा रही थी… गेम अच्छा लगा या नहीं. मेरा अन्तर्वासना माध्यम से आप सभी युवाओं को निवेदन है कि मेरी इस पोस्ट को आप सभी जरूर समझने का प्रयास करें कि आप मेरे जैसे धोखा ना खाएं.

दोस्तो, मेरा नाम आशु है और मैं हिसार, हरियाणा का रहने वाला हूँ। अभी पिछले कुछ महीने से ही मैं पंजाब से शिफ्ट हुआ हूँ। मैंने अन्तर्वासना पर लगभग सारी कहानियाँ पढ़ी है। आज मैं आप सब को मेरी आप बीती बताना चाहता हूँ, उम्मीद है कि आपको पसंद आएगी। गोपनीयता के लिए पात्रों और जगह के नाम बदल कर लिख रहा हूँ. एक बार फिर गांड पर थूक लगाया और लंड का सुपारा टिका कर धक्का देकर अन्दर कर दिया. वो तो जल बिन मछली की तरह तड़पने लगी थी, उसके मुँह से बस ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… आअहह ऊओह प्लीज़ मज़ा आ रहा है… और करो…’ किए जा रही थी.

फिर उससे कहा- आपकी उम्र आपने 45 साल लिखी है, यह सही है?वो बोली- जी. मैंने उसके सुस्त पड़े लंड को मुँह में लिया ही था कि मुझे लगा उसके लंड से पानी निकला हो, मुझे पता चल गया, वो पेशाब था.

दारू पीते समय ही मेरे को पता चल गया था कि भाभी वास्तव में बहुत बड़ी छिनाल है.

उस दिन मेरी सहेली का मकान मालिक ने भी बोला कि उसको भी शॉपिंग करनी है, तो वो भी अपनी वाइफ के साथ हम दोनों लोगों को भी अपने साथ लेकर शॉपिंग करने के लिए ले गया.

चूंकि मैं उनके घर बहुत कम जाता था इसलिए भाभी जी ने कहा- देवर जी, तुम बहुत दिनों बाद आए हो, कभी आते ही नहीं हो. उहह… स्सस्स…”फिर मैं नीचे लेट गई और मेरी टांगें पीछे करके उसने मेरी फिर से चुदाई शुरू कर दी. हर इंसान की जिंदगी में कोई ना कोई शख्स ऐसा होता है, जिससे वो बेइंतेहा मोहब्बत करता है, परन्तु हर रास्ते की मंजिल हो, ये जरूरी नहीं.

मैंने उसकी मुसम्मियों को सहला कर उसे मूक दिलासा दी और अपना लंड उसकी कमसिन बुर के मुहाने पर लगा दिया. एक दिन मेरी मेकनिक्स की क्लास थी तो सब अपना अपना जॉब वर्क कर रहे थे. फिर एक दिन उस से फेसबुक पे बात हुई तो वो बोल रही थी- अगर मुझे रात में आपकी याद आये तो मैं क्या करुँगी?मैंने उसको अपना मोबाइल नंबर भेज दिया और कहा- अगर रात में मेरी याद आये तो मुझे कॉल कर लेना!इतना बोल कर मैं सो गया.

वैसे मैं अपनी सहेली के साथ ड्रिंक करती हूँ और मैं ये बात मकान मालिक को नहीं बताई क्योंकि हम दोनों को बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड बने कुछ दिन ही हुए थे, इसलिए मैंने ये बात उसको नहीं बताई कि मैं शराब पीना पसंद करती हूँ.

उसे देखते ही मैं अपने लंड को छुपाने की कोशिश करने मगर वो साला हाथ से भी निकल निकल जा रहा था. कामिनी बोली- बहन का टका चोदने के लायक तो है नहीं… लंड तो चूसना सीख ले… पहले गोलियों पर जीभ मार हरामी!मैंने गोलियों पर जीभ मारनी शुरू की. ” उसको पता चल गया था कि हमें नशा चढ़ गया था।मैंने कहा ना… मुझे और चाहिए.

मैंने कहा- कैसे?उन्होंने कहा कि इतने हैंडसम हो और कोई जीएफ नहीं है!मैंने मुस्कुरा कर कहा- अभी तक आपके जैसी कोई मिली नहीं है. जो मैंने 32 इंच के छोड़े थे, आज वो 36 इंच के हो गए थे और काली ब्रा में क़यामत ढा रहे थे. जब दी की आँखों में आंसू आ गए और उन्होंने मुझे बड़े प्यार से हग देते हुए मेरे लंड को जोर से आगे पीछे किया.

भाभी ने पचास का नोट निकाला और कहा- रूको… हम दोनों को वापस भी छोड़ देना.

उनके चेहरे पे एक शैतानी मुस्कुराहट फैल गई और उन्होंने बोला- अपने सब कपड़े निकालो, एक भी कपड़ा तुम्हारी बॉडी पर नहीं होना चाहिये. पहले उसने मना किया कि मैंने सुना है कि गांड में ज्यादा दर्द होता है.

बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ फिर बोली- अच्छा एक कहानी मुझे भी भेज दीजिये… मैं भी तो देखूं थोड़ी थोड़ी नॉन वेज कहानी कैसी होती है… आपकी बातों से एक कौतूहल जग उठा है मन में कि नॉन वेज कहानी क्या और कैसी होती है… मैंने कभी पढ़ी नहीं… न थोड़ी थोड़ी नॉन वेज, न ज़्यादा ज़्यादा नॉन वेज. घड़ी पर नजर डाली तो नौ बजने को थे, मैं बोला- प्रियंका, तुम्हारा होस्टल का गेट बंद होने का समय हो गया है, चलो चलते हैं!तो वो बोली- आज की रात मैं तुम्हारे साथ ही रहूँगी, कल शाम को ही होस्टल जाना है.

बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ उन्होंने चुटकी बजाई और बोलीं- क्या देख रहे हो?मैं बोला- कुछ नहीं भाभी… आज आप काफ़ी सेक्सी लग रही हो. मेरे होने वाले पति मेरी छाती पर बैठ कर मेरी चूचियां चोद रहे थे कि मेरी चूत में कुछ लंबा मोटा सा घुस गया.

परंतु दोस्तो, मुझे जो मजा औरत की सुन्दर चूत मारने में आता है वह किसी और छेद में नहीं आता.

सॉन्ग सेक्सी पिक्चर

लगभग 5 दिन बाद भाभी का फिर से फोन आया, उसने कहा कि एक बार घर पर आना. अब मोहन ने बेधड़क मेरी चुत से अंगूठा निकाल कर मेरी नाभि पर लगा दिया और नाभि के छेद को रगड़ने लगा. मैंने- नहीं बाबा… मां देखती तो गाली देती, इसीलिए तुरंत देने वापस आ गई.

मैंने उसकी ब्लाउज निकाल दी, उसके बड़े बड़े चूचे ब्रा फाड़ के आज़ाद होने के लिये फड़फड़ा रहे थे. मैंने सोचा था कि कुछ देर चैन से बात हो पाएगी, पर उसकी माँ को क्या बोलता. मेरे इशारा मिलते ही दो तीन लड़कियाँ उसके साथ हमेशा ही खुल कर नंगी बातें करती थीं और उसको बताया करती थीं कि चुदाई में कितना मज़ा आता है.

अब तक माँ जान चुकी थीं कि आशीष के ऊपर चुत चुदाई का भूत सवार है और वो बिना चोदे नहीं मानेगा.

मुझे लगा अब मुझे उसे सबूत देना ही पड़ेगा तो मैंने उसे बोला- अभी तुम्हें सब दिखाता हूँ. मेरे मन में दो बातें थी, या तो सोनू का आना सिर्फ़ एक इत्तेफ़ाक हैं या सोनू ही हो सकता है कि मेरे मज़े ले रही हो. फिर मैंने धीरे धीरे धक्के मारना चालू किए और थोड़ी देर बाद उनको भी मज़ा आने लगा.

मुझे ऐसा लगा जैसे उनके हाथ के नीचे मेरा हाथ है और मेरा हाथ उनके गांड और बुर में चल रहा है. माँ भी उन पर उल्टी होकर लेट गईं, जिससे माँ के चूचे पापा की छाती से दब रहे थे. बीच बीच में मैं अपने मुंह में पानी भर कर उसकी चूत में तेज़ धार छोड़ देता.

होंठों पर होंठ रखे होने से उनकी गर्म सांसें मेरे नाक की बहुत गर्म सांसों से टकराने लगी. मैंने अंश से गांड बजाने के लिए कहा- चलो अब तुम मेरी गांड की ओपनिंग कर दो.

ये कहते हुए वो लेट गया और मुझे अपनी ओर खींचते हुए अपना लंड मेरे मुँह में दे दिया. मैंने उसके पेटीकोट को साड़ी समेत ऊपर चढ़ा दिया और उसकी चिकनी जाँघों तक पहुंच गया. उसके मोटे लंड को झेलते ही मेरी तो सांस ही रुक गई और मुझको चक्कर आने लगा.

इसके भाई ने ही मुझे आज यहाँ तक पहुँचा दिया है, जो मैं हर रोज़ नये नये लंडों से चुदती हूँ.

फिर मैंने उसे नीचे लिटा कर उसकी दोनों टागें अपने कंघे पर रखी और उसकी जोरदार चुदाई शुरू कर दी. अलका- अच्छा मिस्टर निवास जी अब चुप रहिये… आप ना बहुत वो हैं… शरारती फितरत वाले वो!मैं समझ गया कि कल या हद से हद परसों तक ये अलका से अलका रानी बन जाएगी- ओके अलका जी… मैं भी नहीं सोऊंगा… आप कहानी पढ़िए आराम से… अगर नींद ना आए तो फोन पर बंदा हाज़िर है… मैं तब तक एक और थोड़ी थोड़ी नॉन वेज कहानी लिखता हूँ… ठीक है ना!जी निवास जी ठीक है… वैसे भी कल सन्डे है, कौन सा आपको ऑफिस जाना है. मैंने रुक कर लंड निकाला और उनके मुँह में दे दिया, वो मेरे लंड को चूसने लगीं.

उसने रगड़ रगड़ करअन्दर तक मेरी चुत में उंगलीडाल कर धोया और फिर पता नहीं कौन सा सेंट लगा दिया, जिसकी खुश्बू से सारा रूम महक गया. मैं उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरी पहली रियल सेक्स स्टोरी पसंद आई होगी.

मैंने जब उनसे पूछा कि यहां कौन रहने आ रहा है?मकान मलिक ने कहा- एक मैडम जी हैं, वे बहुत पढ़ी लिखी हैं. फिर उसने कहा कि शीनू तुझे ऐसे क्यों देख रही है, जैसे तुझे अभी खा जाएगी. उस वक्त वो महक मुझे पागल कर रही थी और अब मेरा सब्र का बांध ढहने की कगार पर था.

मारवाड़ी सेक्सी विडियो हिंदी

अलका रानी के पैर कितने सुन्दर हैं ये फिर से बताने की आवश्यकता नहीं है.

जब तक पूजा मामी ने मुझे सच नहीं बताया था, आपको यह बात कहानी में पता चलेगी. एक तकिया मैंने उसकी गांड के नीचे टिका दिया और पहले उसकी प्रदेश पे हाथ फेरा. कितने लोगों का लंड लिया है?मैंने कहा- अंकल 4 का लंड लिया है और लंड तो 10-12 का लंड चूस चुका हूं.

वो अपना काम करने लगे तो मैंने भी अपनी आँखें बंद कर लीं और मजा लेने लगीं. उसको पैसे चुदाई से पहले ही दिलवा देना ताकि चुदाई से पहले वो बहुत खुश हो जाए. हिंदी में बीएफ नई नईबिंदु ने मेरे कमरे में आते ही डेविड के लंड को हाथ में लिया और चूसने में लग गई.

अब तक आपने पढ़ा था कि मैं भाभी को बेहद जंगली तरीके से चोदने की बात मान कर अपने दोस्त नीरज के पास आया था. मैं डर रही थी, घबरा रही थी, मैं कुछ नहीं बोली, वो मेरे पास ग्लास लेकर आए, बोले- वन्द्या तू भी पिएगी, आज पी ले तुझे बहुत मजा आएगा!मैं बोली- नहीं, मैं नहीं पीती, ना कभी पियूंगी!तो उसने तुरंत जल्दी जल्दी दो ग्लास दारु पी और सीधे आकर मुझे अपनी बाहों में भर लिया, मेरे सामने खड़े होकर मेरे होठों पर अपने होंठ रख दिए.

जी स्पॉट अपने आप में सेक्स का एक अनदेखा पहलू है, जो कई मर्दों को नहीं पता, यहाँ तक कि बहुत सारी लड़कियों को भी अपना जी स्पॉट नहीं मिलता. मुझे लगा कि ये इतना थकने बाद वो सो जाएगा, लेकिन वो तो मेरे ऊपर इतना फिदा था कि एक मिनट के लिए भी मुझे अपने दूर नहीं करना चाहता था. यह खेल शुरू हुआ था 3 साल पहले… मुझे जुए की बहुत खराब लत पड़ गई थी और इसकी वजह से मुझ पर पचास हजार की उधारी हो गई थी.

वे अपनी जुबान से लंड के सुपारे को सहलातीं और थूक डाल कर मुँह में अन्दर तक लेकर लंड चूसतीं. कभी अपनी जीभ उनकी चूत में डाल देता, कभी पूरी चूत को मुँह में भर लेता. मैं किचन में गया, कोल्ड ड्रिंक की बोतल लेकर आया तो देखा कि भाभी ने टेबल के ऊपर दो गिलास और एक वाइन की बोतल रखी हुई है.

अब पूनम पूरे जोश में थी… इतने जोश में कि पूनम मेरी चूत दांतों से खाये जा रही थी जिससे मैं अपनी चूत उसके मुँह में पेले जा रही थी और पूनम भी मेरी चूत को बहुत मजे से चाटे जा रही थी, ऐसा लग रहा था कि पूनम बहुत पहले से लेस्बीयन सेक्स करती रही हो!और उसे मजा भी बहुत आ रहा था मेरी चूत चाटने में!फिर मैं उठी और बैठ गई.

आप सब पाठकों को मेरी यह प्रेम भरी सेक्स कहानी कैसे लगी, मुझे जरूर बताएं!मैंने अपनी इस कहानी में नंगे शब्दों का प्रयोग कम से कम करके का यत्न किया है. काफी देर तक मैं टकटकी लगाए उसकी सुन्दर गांड के छोटे से छेद को देखता रहा.

एकता ने पूछा- ये लड़का कौन है?डॉली ने कहा- ये हमारा सेवक है, जो हमारी रात दिन सेवा करता है. उसकी शादी में मैंने बहुत मस्ती की और दूसरे दिन सुहानी की विदाई के बाद मैं भी विदा होकर घर आ गया. इस वक्त वो वही पजामी पहने हुए थी, जो वो रात को सोते वक़्त पहनती थी.

वो इतनी खूबसूरत थीं कि मुझसे रहा नहीं गया और मैंने उनका हाथ पकड़ते उनसे बगल के नक्षत्र वन चलने को कहा. फिर ब्रा को बिना खोले उनके बूब्स से ऊपर खिसका दिया और उनके सेक्सी मम्मे मेरे सामने एकदम बाहर आ गए. मैंने अंश से गांड बजाने के लिए कहा- चलो अब तुम मेरी गांड की ओपनिंग कर दो.

बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ मुझे बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि आज कुछ सालों बाद ही यह मज़ा मुझे नसीब हुआ था. मैं ड्राइंग रूम में आया, कामिनी के हाथ में गिलास था और वो स्लीवलेस घुटनों तक की नाईटी पहने थी.

सेक्सी वीडियो में mp4

क्योंकि दोस्तो, मेरा लंड अब पूरे उफान पर था, मैंने कहा- लंड की साइज़ का अच्छा अनुभव लगता है तुम्हें. पूजा उठ कर बाथरूम में जाने लगी तो सुहानी बोली- यहाँ कोई और है जिसने तुझे देखा नहीं है क्या?यहीं खड़ी हो कर पूजा ने भी सूट पहन लिया और मैं भी अपना ट्राउजर पहनने को हुआ तो सुहानी ने मुझे पकड़ लिया- जीजू, तुम यूं ही अच्छे लग रहे हो. जैसा कि मैंने बताया कि मैं जब भी अपने सहेली के रूम पर जाती थी तो उसका मकान मालिक मुझसे खूब बातें करता था.

अब आर्थर ने अपने लंड को गांड में सीधा घुसाना आरंभ कर दिया और हथौड़े से किसी कील को ठोकने के अंदाज में मेरी बीवी की गांड मारनी शुरू कर दी. एक दिन मैं दफ्तर से जल्दी घर आया तो मैंने अपनी पुत्रवधू को पूर्ण नग्न बिस्तर में सोती पाया. नेपाल की बीएफ हिंदी मेंतो फिर कैसे?दोस्तों इस बातचीत के वक्त वो ऐसे ही अपनी टांगें चौड़ी करके बैठी हुई थी और मैं उसकी टांगों के बीच में बैठे हुए उसकी मस्त चुत का लुफ्त उठा रहा था.

वैसे तो मैं एकदम सील पैक माल हूँ, पर चुदने की ललक सील तोड़ने में लगी हुई है.

मैंने भाभी से पूछा- आपकी गांड तो चुदी हुई लग रही है भाभी?तो उन्होंने बताया कि मैं बैंगन पे कंडोम लगा कर गांड में आगे पीछे करती रहती हूँ… क्योंकि मेरे पति का लंड बहुत ही सॉफ्ट है… तुम्हारे जैसा कड़क नहीं है… इसीलिए चूत के साथ गांड भी रमा हो गई है… अब तुम फ़ालतू की बातें छोड़ो और काम पर लग जाओ. दो महीने बाद एक दिन सुबह भाभी का फोन आया- हैलो समीर, आज से एक्सर्साइज खत्म, आज रात का खाना साथ खाएंगे, रात को 8 बजे रेडी हो कर घर आ जाना.

तभी नगमा ने दरवाजा खोला, उसकी माँ चिल्लाते हुए बोली- क्या कर रही थी अन्दर?कुछ नहीं पेट सही नहीं लग रहा था. मैं गुस्से में बोल पड़ा- भेनचोद गांड मरवा रहा था क्या??नीरज- अरे समीर तू यहां. फिर उसने अपनी दूसरी सहेली के साथ भी चुदाई कराई, वो फिर कभी लिखूंगा.

वन्द्या की नाक बहुत सेक्सी है, उसको भी मुंह में भर लेना चूसना, बहुत परफेक्ट है इसका एक एक अंग, अंकल आप वन्द्या को आज सटिस्फाई कर दो, अंकल ऐसे ही आप दोनों को देखकर मुझे बहुत मजा आ रहा है.

जब मैं कोल्ड ड्रिंक देने उसके घर गया तो वहाँ सहर के अलावा कोई नहीं था. जब भाबी तैयार होकर मेरे पास आईं तो बोलीं- क्या बात ननद रानी… किसपे बिजली गिरानी है… तू तो एकदम पटाखा माल लग रही हो. थोड़ी देर उनकी चूत चूसने के बाद में ऊपर की ओर बढ़ने लगा… और उनकी ड्रेस नाभि के ऊपर तक काट दी.

व्हिडीओ हिंदी बीएफचूंकि बस की स्पीड काफी तेज़ थी और रात का सफर था तो उसकी माँ ने एक चादर ओढ़ी हुई थी. थोड़ी देर बाद हम सब बाहर घूमने चले गए लेकिन मेरा तो कहीं भी मन नहीं लग रहा था.

बीपी सेक्सी नंगे व्हिडिओ

मैं ठंडाई लेकर बाहर आ गया और चाची कुछ खाने के लिए बनाने में जुट गईं. इतनी मस्त चुदाई देख कर मेरा लंड मेरी शॉर्ट्स फाड़ बाहर निकलने को तैयार था और मैंने उसे अपनी पैन्ट से बाहर निकाल कर हाथ से मसलना शुरू कर दिया था. वो बोला- बिंदु जी चुदवाने के बाद इस तरह से चलना सीखो… बहुत मस्त लगोगी.

दो दिन बाद मैं शाम को कॉलेज से वापस आया तो मैंने देखा कि एक बेहद ही खूबसूरत और स्टाइलिश लेडीज सैंडल का जोड़ा मकान मालिक के दरवाजे के पास रखा था. मैं उंगली अन्दर बाहर करने लगा, वो सिसकारियां लेते हुए एकदम छटपटा रही थीं. वो मेरे पास आया और उसने एक बार फिर से अपना लंड मेरे मुँह में लगा दिया और बोला- जरा लंड चिकना कर दे.

चूस साले मेरी चुत… आह कितना मजा आ रहा है, साले तू इस वक्त मेरा चोदू है… भोसड़ी के… तू कुछ भी बोल पर मेरी चुत को जरा जोर से चाट… आह… मजा आ रहा है…मैंने कहा- साली मादरचोदी… ले अब तू मेरा कमाल देख भैन की लौड़ी…वो बोली- हां दिखा मादरचोद क्या दिखाएगा…उसकी चूत की खुशबू किसी कुँवारी लड़की की चूत की तरह थी. बहुत तेज तेज शॉट मार रही थी यार!मैंने कहा- पूनम, और तेज चोद साली… और तेज फाड़ दे मेरी चूत को… भोंसडा बना दे… चोदो और तेज चोदो!मेरे मुँह से आहह हहहह हह उउउउहहह निकले जा रही थी. मैंने लंड को चूत में घिसते घिसते उसकी चूत में हल्का से अन्दर किया, मेरा सुपाड़े के बहुत थोड़ा ही हिस्सा अन्दर गया होगा कि सोनी के मुंह से उफ्फ निकला।फिर बोली- सर आपका लंड तो बहुत गर्म है।हाँ… साथ ही तुम्हारी चूत भी काफी गर्म है।” कहते हुए मैंने हल्के से एक और झटका दिया, सुपारा जाकर उसकी चूत में फंस गया.

चाचा के जाने के बाद अब चाची ने कहा- बच्चू… अगर ये बातें मैं आपके चाचा जी को बता दूँ तो जानते हो क्या होगा?मैंने चाची से कहा- प्लीज़ आप ये बात किसी से नहीं कहना… मैंने आप पर भरोसा करके आपको ये सारी बातें बताई हैं. अभी तक मेरी गन्दी कहानी में आपने पढ़ा कि मैं अपने दोस्त के खाली घर में दो लड़कियों के साथ था और एक कुंवारी लड़की रेशमा कीबुर में लंडअभी घुसाया ही था.

मैंने देखा कि उनके रूम में एक फोटो का एल्बम था, जिसमें पापा और माँ की चुदाई की फोटो लगी हुई थीं.

हम तीनों हँसते हुए किचन में चल दिए, फिर हमने अपने लिए जाम बना कर पीने शुरू कर दिए. एचडी फुल वीडियो बीएफमुझे उसकी बाँहों में अच्छा लग रहा था क्योंकि उसके जिस्म से मर्दानी जर्दे वाली खुशबू आ रही थी और मैं उसके गले पर हल्की हल्की किस कर रहा था जिसका उसे अनुभव नहीं था. सेक्सी बीएफ गर्लचाची शर्म से मेरी तरफ देख कर बोलीं- क्या मतलब है तेरा?मैंने पहले ही उत्तर सोच लिया था. मैंने तत्काल इशारा समझा और फ़ौरन अपने हाथों को फ़ारिग कर के चंद ही पलों में अपने नाईट-सूट के अप्पर के सारे बटन खोल दिए और उसे उतार कर परे फ़ेंक दिया.

वो बोली- तो फिर कैसे दिखाऊं?मैंने कहा- ऐसा करो तुम अपनी टांगें चौड़ी करके इस सोफे पर बैठ जाओ, मैं नीचे बैठ कर देख लेता हूँ.

सीमा ने पूछा- ये सब क्या है?उसने बताया कि हमारे बीच गलत कुछ नहीं है, बस हम दोस्त हैं. जब भी मैं उसको अपने सामने देखता था तो मैं चोरी चोरी नज़रों से उसको देखता था और नज़र हटा लेता था. लंड को अन्दर लिए लिए मैंने उसे अपने ऊपर कर लिया, वह मेरे ऊपर चढ़ कर जोर जोर से लंड को अन्दर बाहर करने लगी.

वो अपनी बहन से बहुत प्यार करता है, इसलिए वो घर जाने के लिए तैयार हो गया और न चाहते हुए भी उसने मुझे हटा दिया. मैंने घूम कर बोलते टाइम एक बार उसकी पैंट नोटिस की और मेरा रोम रोम खड़ा हो गया. वॉव, उसका 7 इंच का लंबा लंड मेरे सामने ऐसे आया जैसे कोई साँप वर्षों से पिजरे में कैद रहा हो और अभी आज़ादी मिली हो.

हिंदी फिल्म सेक्सी हिंदी वीडियो

मैंने मस्त होकर उछलते हुए कहा- रेखा रानी… यार तेरी चूत का जूस नहीं है, मलाई है… क्रीम है… रुक ज़रा चख के देखता हूँ. मैं कभी मौसी की चूची को चूसने लगता तो कभी मौसी के होंठों को…बीच बीच में मैं मौसी के गले पर अपने डांट गड़ाने की कोशिश करता तो मौसी मुझे यह कहा कर हटा देती- बेटा दर्द होता है. उसने पीछे से मेरी गांड में अपना लंड डाल दिया और फिर से पूरी ताकत से मुझे चोदने लगा.

अब मैं सिर्फ बनियान और पज़ामे में था और प्रिया के तन पर अभी भी टी-शर्ट और कैपरी थे.

उसने पूरा लंड अपनी चूत के अन्दर ले लिया और मेरे लंड पर जोर जोर से उछल कर मजे लेने लगी.

फिर उसका उल्टा लिटा कर उसकी पैंटी से लेकर बिल्कुल नीचे तक दोनों पैरों पर किस किया. हेलो दोस्तो, हम हैं आपकी बबीता भाभी… यह अभी तक की सबसे पहली भोजपुरी सेक्स कहानी है अन्तर्वासना पर…यह उस समय की बात है जब हमारे पारी काफी बीमार हो गए थे. बीएफ सील तोड़ने वालायह सुनकर मेरे आंखों में स्माइल आ गई और मैंने पूछा- सच्ची?वो बोलीं- मुच्ची!उन्होंने अपने बेबी को एक तरफ लिटाते हुए एक फ्लाइंग किस मेरी तरफ़ उड़ा दी.

उन्होंने एक संडे को हमको खाने पे इन्वाइट किया, तो वहां उनके पति के साथ भी मुलाक़ात हुई. मेरी रस छोड़ती पावरोटी सी फूली चुत को भाईजान कुछ देर प्यार से देखते रहे और अपनी जीभ को अपने होंठों पर यूं फेरते रहे जैसे किसी कुत्ते को मलाई की कटोरी दिख रही हो. मैंने कहा- ये बात आप मुझे पहले बता देतीं, मैं कबसे आपको चोदना चाहता था.

उसने अपनी आंखें बंद कर ली थीं, तभी मैंने एक जोर का झटका उसकी चुत पर मारा. इन प्यार के पलों में उसका मुझे यूँ छोड़ना मुझे पसन्द नहीं आया और मैं नाराज होकर पीछे वाली सीट पे चली गई.

मैंने बहुत सोचा कि अब मैं क्या करूँ? उसका इरादा क्या है, ये मैं समझ चुकी थी.

उसके भाई ने यह सब किया और मुझे बहुत आदर सम्मान से अपने साथ अपने घर की लक्ष्मी बना कर ले गया. मैंने ब्लू कलर की लॉन्ग स्कर्ट पहनी और ब्राउन टॉप पहना, मेरा ये वाला टॉप एकदम फिटिंग का था, इसमें मेरे मम्मे बड़े फूले हुए दिखते हैं. वो रह रह के आगे चढ़ आता और उसका लंड मेरे गांड की दरार में घुस जाता था.

भाभी देवर की सेक्सी बीएफ फिल्म अब मैं उसकी चूत में उंगली कर रहा था और वो मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से आगे पीछे कर रही थी, हम लोग एक दूसरे में खो गये थे. मैंने जब ये सेक्स वाली बात ऋतु को बोली तो वो भी घबरा गई, लेकिन बाद में मजबूरी में वो मान गई.

मैं वार्डन से बाद में जाकर उसके कमरे में उससे बोला- सर बच्चा है, अभी नासमझ है. सुबह जब मैं उठा, तो मेरे दिमाग में वही सब बातें चल रही थीं, जिस कारण मेरा लंड काफ़ी टाइट पोज़िशन में सीधा खड़ा हो रहा था और मेरे निक्कर के ऊपर से ही उभर कर दिख रहा था. ऋतु की चीख निकल गई क्योंकि उसने ब्रा के ऊपर से दोनों निप्पलों को बहुत ज़ोर से मसला था.

सेक्सी एक्स वीडियो मूवी

मैंने प्रिया की बगल में मुंह दे कर एक जोर से सांस ली; एक नशीली सी सुगंध मुझे बेसुध करने लगी; इस सुगंध में प्रिया के जिस्म की ख़ुश्बू, प्रिया के डिओ की ख़ुश्बू, काम-तरंग में डूबे नारी-शरीर में उठती वो अलग एक ख़ास मादक सी खुशबू… सब मिली-जुली थीं. मोहन को अपने लंड पर मेरे मुँह के अहसास ने गरम कर दिया और उसने जोर से मेरा सर दबा कर अपना पूरा लंड मेरे मुँह में पेल दिया. आंटी की चुदाई के साथ-साथ मैं किस करते हुए उनके मम्मों को भी दबा रहा था.

मैं देर न करते हुए उसकी जांघें फैला दीं और अपना लंड को उसकी चूत पे रगड़ने लगा. दीदी ने मुझे कंडोम ला कर रखने को कहा, क्योंकि रात में दुकानें बंद हो सकती थीं.

मैंने कहा- भाभी, मैं आपको उस हालत में देख कर वो चीज़ नहीं भूला पाऊंगा और ना मैं वो भूलना चाहता हूँ.

बीच बीच में मैं अपने मुंह में पानी भर कर उसकी चूत में तेज़ धार छोड़ देता. मैंने उसके सुस्त पड़े लंड को मुँह में लिया ही था कि मुझे लगा उसके लंड से पानी निकला हो, मुझे पता चल गया, वो पेशाब था. अंकल ने अब दुबारा से दबाया और उनका पूरा लंड मेरी गांड में घुस चुका था.

वहां जाते ही चाचा चाची ने मुझे खूब प्यार किया, साथ ही उनके बेटे श्याम और राम भैया और राम भैया की वाइफ यानि नताशा भाबी भी मुझसे बड़े स्नेह से मिले. दोस्तों क्या बताऊं उनकी गांड इतनी गोरी और गोल गोल थी कि मन करने लगा कि अभी खा जाऊं, पर नहीं खा सकता था. लाइट नहीं आ रही थी, अँधेरा था, मौसी आगे आगे चल रही थी और मैं पीछे पीछे… थोड़ी दूर चलने पर उनका घर गांव के किनारे था, आ गया.

अब जब वो पानी लेने मेरे रूम के सामने आतीं तो थोड़ा हंसतीं और अक्सर बिना दुप्पटे के आ जातीं, जिससे जब वो झुककर बाल्टी भरतीं, तो उनके सोने के रंग के चुचे मुझे अपनी और बुलाते.

बीएफ पिक्चर बीएफ सेक्स बीएफ: डॉली ने लंड को जड़ से पकड़ रखा था और वो मेरी बॉडी को भी चूमे जा रही थी. मैं डर रही थी, घबरा रही थी, मैं कुछ नहीं बोली, वो मेरे पास ग्लास लेकर आए, बोले- वन्द्या तू भी पिएगी, आज पी ले तुझे बहुत मजा आएगा!मैं बोली- नहीं, मैं नहीं पीती, ना कभी पियूंगी!तो उसने तुरंत जल्दी जल्दी दो ग्लास दारु पी और सीधे आकर मुझे अपनी बाहों में भर लिया, मेरे सामने खड़े होकर मेरे होठों पर अपने होंठ रख दिए.

दूसरी बात वहां सिर्फ प्रेमी-प्रेमिका और पति-पत्नी को जाने की अनुमति होती है, भाई-बहन को नहीं. कामिनी की मादक सिसकारियां निकलना शुरू हो गई थीं ‘आउह्ह्ह आउह्ह्ह आउह्ह्ह. मैं बाजार में घूम रहा था तो मेरे सामने दीदी की चूची और गुलाब के फूलों जैसी चुत घूम रही थी.

मेरी अपनी फंतासियां भी बहुत सारी हैं, मैं उन्हें भी पूरा करने में लगा हुआ हूँ.

पहली बार में आधा लंड ही चाची की चूत में गया, दूसरा जोर से धक्का देकर पूरा लंड चूत में घुसेड़ दिया. अब उसने मेरे हाथों की उंगलियों में अपनी उंगली फंसा लीं और बिना हाथ लगाए लंड को अपनी चूत में घुसाने लगी. चूंकि मैं हर लड़की की इज्जत करता हूँ… सो उस लड़की की खूबसूरत दिखती फोटो की तारीफ़ करने लगा.