ऑंटी कि सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो मोबाइल

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी प्रश्न: ऑंटी कि सेक्सी बीएफ, सुनीता का गेहुआं रंग था, पर उसके नैन नक्श इतने तीखे थे … जैसे कोई खजुराहो की कामुक देवी हो.

দেশী হট সেক্স ভিডিও

उसकी चुदाई कभी कभी ही होती है तो उसकी चूत कसी ही रहती है और हर बार उसे चुदाई करवाते हुए दर्द होता है. लड़कियों के बॉबेउसने परमीत की ब्रा को ऊपर सरका कर पहाड़ियों को आजाद कर दिया था और बीच-बीच में उसकी घुंडियों को भी ऐंठ रहा था, जिससे परमीत की गुलाबी घुंडियां लाल हो गई थीं.

मुझे इतना मजा आ रहा था कि थोड़ी ही देर में मेरे पैरों में अकड़न महसूस होने लगी. एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स एक्सयह औरत चेहरे से ज्यादा सुंदर तो नहीं थी लेकिन उसके चेहरे पर एक सादगी थी.

चाची की गांड में लंड पेलने से पहले मैंने उंगली पर तेल मला और उनकी गांड में रास्ता बनाने लगा … ताकि चाची को ज्यादा दर्द न हो.ऑंटी कि सेक्सी बीएफ: ऐसा नहीं है कि जॉली जैसा लड़का इस बात से अनजान था, लेकिन उमा से मिले अनुवांशिक खूबसूरती से वो वाकिफ था और ऐसा माल हाथ आने के बाद कौन उसका इतिहास जानन चाहेगा.

बस वहां से 7 बजे चली और 7:45 पर मैं वापिस कॉलेज वाले बस स्टॉप पर उतर गया.पति के जाने के बाद शालिनी ससुराल वालों से तंग आकर यहां पर रहने लगी थी भोपाल में.

एक्स मूवी एक्स मूवी - ऑंटी कि सेक्सी बीएफ

अब कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको भाभी के जिस्म के बारे में कुछ बता देती हूं.फिर धीरे-धीरे वह भाभी से अलग हुआ तो राहुल का वीर्य भाभी की चूत से निकलकर उनकी जांघों पर बह निकला.

मैंने और मनु ने बीयर नहीं पीने के लिए इशारे से परमीत को कहा, पर अब किसी ना नुकुर के लिए बहुत देर हो चुकी थी. ऑंटी कि सेक्सी बीएफ चुत का कुछ रस मेरे पेट में जा रहा था, तो कुछ लार के साथ नीचे बह रहा था.

भाभी की कमर के नीचे एक तकिया लगा दिया, जिससे चूत ऊपर सामने की तरफ दिख रही थी.

ऑंटी कि सेक्सी बीएफ?

जब सब लोग खेलने के लिए चले गये तो उसने रूम का दरवाजा बंद कर दिया और वो मुझे किस करने लगा. कभी वो मेरी चूचियों के निप्पलों को चूसते हुए मुझे तेज तेज धक्कों से चोदने लगता. अपने मन में मैं सोच रहा था कि औरतें कितनी बेवकूफ होती हैं जो मर्दों को नशा करने से मना करती हैं.

उसकी छाती को देख कर तो मेरे चूचे अपने आप ही टाइट होकर निप्पल तन गये. चाची थोड़ी चिल्ला रही थीं … लेकिन कुछ देर बाद चाची की चीखें सिसकारियों में बदल गईं. मैंने अपना सारा मूत मेरी बहन की चुत के ऊपर धार मारते हुए गिराने लगा.

अगर तुम्हें ये सब ठीक नहीं लग रहा है, तो कोई बात नहीं मैं तुम्हारे साथ कुछ नहीं करूंगा. सुनील ने उनसे यह वायदा लिया कि वो दोनों जल्दी ही दुबई आयेंगे और वहां सुनील की वाइफ को भी इसमें जोड़ेंगे और चारों मस्ती करेंगे. फिर धीरे-धीरे वह भाभी से अलग हुआ तो राहुल का वीर्य भाभी की चूत से निकलकर उनकी जांघों पर बह निकला.

सोनिया- कर रही हूँ जानू … मैं अपनी चूत के दाने को रगड़ कर रही हूँ और अपनी चुचियों को मसल रही हूं. आप सभी को मेरी और मेरी माँ की चुत चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज मुझे मेल करना न भूलें.

”हाय पापा, इतना तंग करते हैं मेरे नितम्ब आपको? ठीक है मैं कुतिया बन जाती हूँ.

हर चुम्बन के दौरान मैं उसके बोबों को मसल रहा था और वो जाते हुए मुझे चिढ़ा कर मेरे लंड को मसल कर जा रही थी.

कोई 8-10 मिनट तक धक्के मारने के बाद मैं बहुत ज्यादा थक गया था, तो मैंने उसकी गांड में पानी छोड़ दिया. वो उम्र में तो 30-35 की थी लेकिन उसके चूचे एकदम 22-25 साल की लड़की की तरह तने हुए थे. मगर कई बार जब मैं लैट्रिन करने के लिए बाहर जाती थी तो कई दारूबाज लोगों ने मेरे साथ छेड़खानी की थी मगर किसी ने भी अपना लंड मेरी चूत में घुसाने की कोशिश नहीं की थी.

तो चाची बोलीं- क्या बात है लाड़ले … अभी भी दिल नहीं भरा क्या? इतनी जबरदस्त चुदाई करने के बाद भी तू जोर लगा रहा है … मेरा तो एक एक अंग डोल गया है. हमारे चेहरे एक दूसरे के करीब आए और अगले ही पल मेरे होंठ उसके होंठों पर थे. जैसे ही उनका दर्द कम हुआ, तो मैंने उनसे पूछा कि आगे की कार्रवाही शुरू की जाए.

सोनिया- रियली? तो ठीक है … नो प्रॉब्लम … डायरेक्टर आपको अपनी काबिलियत दिखाने का बहुत जल्दी मौका देंगे.

पहले एक बार खेत में राउंड लगा कर आते हैं और उसके बाद दोनों साथ में ही सो जायेंगे. तभी दीदी ने श्वेता दीदी का हाथ पकड़ लिया और बोली- तुम कहां जा रही हो … बैठी रहो ना. सीमा ने पिंकी से कहा- जरा दिखा तो कौन सा नया वाइब्रेटर लाया है तेरा कन्हैया?पिंकी हंसती हुई उठी और अलमारी से एक 10 इंच लम्बा और मोटा गुलाबी रंग का वाइब्रेटर निकाल लायी.

मैं भी उसके चूचे देखने के लिए एक्साइटेड हो रहा था लेकिन उसके लिए मुझे उसको पहले गर्म करना था. जब भी घर में पायल की आवाज होती थी तो मैं समझ जाता था कि सरिता भाभी आ चुकी है. मैंने सोचा कि क्यों ना मयूर से शादी करके उसे भी यहां बुला लूं और सब कुछ मेरे पति (प्रतीक) को बता दूं.

हराम की ज़नी रांड बड़े मज़े से मेरे लण्ड से प्यार भरी अठखेलियां कर रही थी … बहन चोद चुदक्कड़ !!! उसके नाज़ुक हाथों के खिलवाड़ से लौड़ा दुबारा अकड़ गया था.

मेरे पति तो आते हैं, मेरी चूत में अपना पांच इंच का छोटा पतला सा लंड डालकर पानी निकाल लेते हैं और मैं प्यासी रह जाती हूँ. मैं उसके होंठों को एक बार फिर से चूसने लगा और हाथ से उसकी चूचियों को सहलाने लगा.

ऑंटी कि सेक्सी बीएफ उसको इस बारे में भनक तक नहीं लगेगी कि आपके और हमारे बीच में कुछ हुआ भी था या नहीं. फिर भी उनकी धीमी और सेक्सी आवाजों से मैं शिखा मामी के यौवन में डूबता चला जाऊंगा और उनके मालदार मम्मों को कपड़े के ऊपर से ही, खासतौर पर अपने हाथ से दबा दबा कर खूब मज़े लूंगा.

ऑंटी कि सेक्सी बीएफ फिर मैंने अपने लंड पर वोड्का गिराई और उसके टोपे को उसकी गांड के उस भूरे छेद पे टिका दिया. मैंने उसको उल्टा लेटाया और उसके दोनों चूतड़ खोल कर हल्का सा थूक लगाया और अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया.

वो अपनी आंखें बंद करके अपने लंड से निकलते गाढ़े सफ़ेद रस को रिया के गले में झड़ाने लगा.

नई सेक्सी लड़कियों की

जेठजी के कमरे का दरवाजा हल्का सा खुला होने की वजह से मेरी आवाज जेठजी तक तक पहुंच ही रही होगी पर फिर भी जेठजी कोई जवाब नहीं दे रहे थे. जब मेरे घर आने वालों ने उसके बारे में मुझसे पूछा, तो मैंने बता दिया कि वो मेरे साथ ऑफिस में काम करता है. मैं- अरे ये कैसे होगा … मैं किसी को ये नहीं बता सकती कि मेरे भाई को लड़के पसंद हैं … ख़बरदार जो तुमने भी किसी को बताया या किसी के साथ सेक्स किया तो ठीक नहीं होगा.

जब मैंने उसे छेड़ना नहीं छोड़ा, तो वो भी मेरा तगड़ा लंड हाथ में लेकर मसलने लगी. इतना कह कर वो हमारे क्लास की तरफ आगे बढ़ी, वो सारे लोग कुछ ना कह सके. फिर अमन बोला- यार एक काम कर … वीडियो फिर से लगा दे … जैसे वो लोग करते जाएंगे, वैसे ही हम भी करेंगे.

अब मैंने उसकी व्यस्तता का फायदा उठाते हुए उसकी गांड पर भी जीभ को चलाना शुरू कर दिया.

उसने तो एक बार हंस कर कह भी दिया- मैं तो रात भर तुम्हारा इंतज़ार करती रही. रात को सोते वक्त उसके टॉप से ज़ायरा के मम्मे साफ़ तने हुए दिख रहे थे, जो मुझे उत्तेजित कर रहे थे. वो कराह कर आगे को खिसकी, मगर बिस्तर के सिरहाने के आ जाने से वो आगे नहीं जा पाई.

श्वेता दीदी- अरे मेरे सामने कपड़े बदली करने में क्या दिक्कत है?दीदी- नहीं … मुझे शर्म आ रही है. उसने इस बार गांड के छेद पर थूक टपकाया, जो कि लंड के लिए एक चिकनाई का काम कर गया. फिर एकदम ट्रेंड कॉलब्वॉय की तरह मैंने उसकी साड़ी को उतारा, वो अब पेटीकोट और ब्लाउज में मेरे सामने थी.

उसे मालूम था कि मनोज को चुसवाना बहुत पसंद है और दूसरे मर्द के वीर्य के ऊपर उसका पति नहीं निकालना चाहता. वहां आने के बाद मेरे मन में उसके लिए सेक्स जैसा कोई विचार नहीं आ रहा था.

आदी- तो क्या हुआ आज?मैं- आज मैंने चुदवा लिया … मुझे कुमार से चुद कर बहुत मज़ा आया … यार इतने दिन बाद चुद कर मेरी तो खुजली एकदम से मिट गई. चारों की आज बेशर्मी से मस्ती तो हो ही चुकी थीं और अब कुछ बियर का सुरूर भी था, तभी अब उबकी सैटरडे क्लब पर सोच दो घंटे में बदल गयी थी. वो भी मेरी सारी बात सुनता था और मुझे समझाता था और कहता था कि वो आशीष और मेरे बीच में जो गलत फहमी हो गई है वो भी दूर कर देगा.

वो अपनी चूत से मेरे लंड को ज़ोर से दबोच कर लंड के चारों ओर घूमने लगी.

कुछ देर पहले ही पापा ने मेरे बूब्स को मसला था और अब मेरे हाथ भी मेरी चूचियों को जोर से दबा रहे थे. तो जाहिर है कि परमीत के लो कट काले टॉप से उसके चमकते गोल कटीले नोकदार उरोज के स्पष्ट दीदार संजय को होने लगे थे. फिर मैंने बोला- अब जरा झाड़ू भी ऐसे ही लगा लो और बर्तन भी ऐसे ही साफ कर लो.

उन्हें बहुत मजा आ रहा था और वो हल्के स्वर में कामुक आवाजें निकाल रही थीं- आ … उह … आं … इस्स. अब दीपा को ध्यान आया कि मनोज कहता है सुनील का लंड बड़ा और मोटा है तो क्यों न चूसा जाए.

चूत साफ किए मुझे कुछ ही दिन हुए थे, इसलिए छोटे-छोटे रोंए चूत की खूबसूरती बढ़ा रहे थे. मुझे उसके नियम कानून भी नहीं पता थे, तो हम लोगों ने ज्यादा ध्यान भी नहीं दिया. मैं कोई पहली दफा चूत में उंगली नहीं कर रही थी, पर आज पता नहीं क्यों, एक अलग अहसास से मेरा मन रोमांचित हो रहा था.

सेक्सी सील पैक सेक्सी वीडियो

सोनिया- तुम्हारे साथ बात करना बहुत अच्छा लग रहा है रोहन … मेरे साथ होने के लिए शुक्रिया.

मैंने वो सब रस बड़े मजे से पी लिया और उनकी पूरी चुत चाट कर साफ कर दी. ठंडा पानी मेरे जिस्म पर ऐसे लग रहा था, मानो तवे पर पानी छिड़क दिया हो. मैं बोला- यार, मैंने भी कई भाभियों के साथ सेक्स किया है, लेकिन उन सबमें से तुम्हारे साथ सेक्स करने में बड़ा मजा आया.

कहानी को आगे लिखूँ, इससे पहले मैं खुद के बारे में बता दूं, मेरा नाम शरद (बदला हुआ नाम) है. हां जी रंगीन दुनिया से मेरा मतलब ब्लू फिल्म के साथ साथ सोशल मीडिया आदि से है. क्सक्सक्स हिंदी ममुझे बहुत डर लग रहा था, लेकिन तुमने सिचुएशन को कितने अच्छे से हैंडल किया.

मगर तुम दोनों पहले मुझे ये बताओ कि क्या मैं तुम लोगों को सच में ही अच्छी लगती हूं या नहीं?अभय बोला- बंध्या रानी, तू हमें इतनी अच्छी लगी है कि मन करता है कि हम तुझको अपने साथ ही उठा कर ले जायें. मेरी चाची का यौवन इतना लाजवाब था कि बूढ़े का भी लंड खड़ा हो जाए, फिर मैं तो अभी अभी जवान हुआ था.

मैंने उसकी गांड के छेद पर लंड को लगा दिया और उसकी गांड के छेद को अपने लंड से रगड़ने लगा. चारों ने यह तय किया है कि अभी कम से कम दो साल तक तो कोई बच्चों के झंझट में नहीं पड़ेगी. मेरी चीख निकलने ही वाली थी कि उसने एक जोर का धक्का मारा और मेरे मुंह पर हाथ रखते हुए मेरे ऊपर लेट गया.

कुछ देर बाद उनके ससुर ने भी अपना लंड का मूत दीदी की चुत के ऊपर डाल दिया. राहुल भाभी के जिस्म को चूमते हुए उनके हाथों में अपने हाथों को फंसाने लगा और दोनों ने ही एक दूसरे के हाथों को थाम लिया. तुम्ही तो मेरे दिलबर हो …पर मैं ऐसा कुछ कहने के बजाए, उन्हें दिखावे में गुस्सा करके चली आती थी.

सब उठी, कपड़े बदले और अपने अपने घर … इस वादे से कि इस बार सैटरडे पार्टी में धमाल होगा.

जैसा मैंने बताया कि ये बस मेरी प्लानिंग है कि मैं ऐसा करूंगा, वैसा करूंगा. ऐसे ही कुछ देर तक धीमी चुदाई करने के बाद एकदम से उन्होंने दोबारा से अपने लंड की स्पीड को बढ़ा दिया.

मैंने मुस्कुरा कर कहा- हां तुम बाजारू तो नहीं हो, लेकिन कुंवारी भी नहीं हो, भोसड़ा बन गया है तुम्हारा छेद … मुझे सब पता है कि तुम गांव के कई लौंडों के लंड ले चुकी हो. वो आह आह करने लगी और ‘अंदर तक अपनी जीभ डालो … जानू खा जाओ मेरी चूत के दाने को!’ ऐसा बोलने लगी. उनका सिल्क वाला चूड़ीदार सूट का कुरता घुटनों तक किया और उनके नीचे से घुस गया.

मैं आपको आज मेरे जीवन की सच्ची घटना को एक गंदी कहानी के माध्यम से बताने जा रहा हूँ. कई मिनट तक पापा मेरी चूत को रगड़ते रहे और इस बीच में मैं कई बार झड़ गई थी. कि तभी लास्ट और फाइनल धार निकली और साथ ही साथ उनकी सिसकारी।मैं अब वैसे ही लेट गया.

ऑंटी कि सेक्सी बीएफ मैंने आहिस्ते से हाथ अपने मम्मों पर फेरा और रंडियों की तरह मुस्कुराते हुए शर्ट के बटनों को खोलने लगी. इससे मयूर उदास हो गया था और उसी के प्यार में पूरी जिंदगी कुंवारा बैठने वाला था.

सेक्सी वीडियो जबर्दस्त 2020

मैं भी उसके खुले बालों में हाथ फिराने लगा और लंड चुसवाने के मजे लेने लगा. तुम जब नहा कर टाइट पेटिकोट में घूमती हो तो ऐसा लगता है जैसे पेटिकोट फाड़ कर बाहर निकल आएँगे. एक दिन की बात है जब मेरे घर वाले और उसके घरवाले यानि कि मेरे चाचा और चाची भी साथ में कहीं पर फंक्शन में गये हुए थे.

उसने मुझे टाइटली पकड़ लिया और अपने लंड को मेरी गांड पर रख कर धक्का मार दिया. पिछले 8 सालों से दोनों एक दूसरे के दोस्त थे और लगभग रोज एक दूसरे के घर आते जाते थे. एक्स वीडियो हिंदी देहाती” नीलम ने अपने ससुर के गाल पर एक किस देते हुए कहा।बेटी यह क्या … अब तुम्हें किस करना भी सिखाना पड़ेगा क्या?” महेश ने अपनी बहू की तरफ देखा.

पांच मिनट के बाद वो उठ गया और मुझे सीधा लेटा कर मेरी दोनों टांगों अपने हाथ में पकड़ कर मेरी गांड में लंड को पेलने लगा.

वो मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगी और एक हाथ में मेरा लंड लेकर मसलने लगी. जब इसके बदन का सारा हुस्न अपनी आंखों से पी लेंगे उसके बाद हम इसको बेड पर पटकेंगे.

वो कुछ कहने से पहले ही मैंने उससे कहा- यार माँ अभी अभी अपनी सहेली के घर गई हैं. चुदाई के बाद हम दोनों ने कपड़े पहने और मैं उसके साथ ही उसकी सहेलियों की तरफ आ गया. आमतौर पर औसत लम्बाई का लंड भी औरत को पूर्ण रूप से संतुष्ट कर सकता है.

मैंने अपनी जीभ उसकी चुत में घुसा दी और मैं चॉकलेट से सनी चूत चाटने लगा.

मेरी दीदी की सेक्स कहानी आपको कैसी लग रही है? मेरी इस सेक्स कहानी के लिए आपके मेल की प्रतीक्षा रहेगी. मैंने उसको बोल दिया- अगर उसको मेरा लंड लेना है तो उसको मेरे पास आना पड़ेगा. उसके मुंह से गूं … गूं … की आवाज बाहर निकलने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैंने उसकी योनि में अपने लंड को घुसाये रखा.

एचडी हिंदी ब्लूजिस दिन से उसकी बहन ने मुझे बताया था कि उसकी बहन की शादी उसी गांव में हो रही है उसी दिन से मेरी खुशी का ठिकाना नहीं था. तुम्हारे जीजा ने तो तुम्हारी इतनी तारीफ की है कि हम दोनों तुम्हारे मजे लेने के लिए तड़प उठे थे लेकिन तुम्हें शायद कुछ करना ही नहीं है.

संगम सेक्सी वीडियो

मैंने अपनी कोहनी से उनकी चूची को जरा जोर से दबा दिया और उनकी तरफ नजरें कर दीं. अभी मेरे लंड का सुपारा ही गांड में गया था कि मेम ‘उह आह मर गई …’ करते हुए चिल्लाने लगीं. मगर उस बेवकूफ औरत को यह पता नहीं था कि ऐसे उत्तेजना भरे माहौल में तो मर्द खुद ही नंगा होने के लिए बेचैन हो उठता है.

अमित पूजा को चुदते हुए देख उत्तेजित हो रहा था और पूजा अपने पति के सामने किसी पराये मर्द से चुदते हुए शर्म भी महसूस कर रही थी. दीपा के हलक तक जा रहा था और दीपा को सांस लेने में भी दिक्कत हो रही थी. इसलिए मैं उनको फर्श पर लेटाकर उनके ऊपर छा गया और होंठों को चूसने लगा.

आज जो मैं कहानी आप लोगों को बताने जा रही हूं यह कहानी अंतर्वासना पर मेरी पहली कहानी है. उसकी चूत बहुत गीली हो गयी थी उसमें से फ़च-फ़च-फ़च का मादक संगीत निकल रहा था. फिर ये बोले- चलो बाजार चलना है।अब हम दोनों रेडी होकर बाजार के लिए निकल लिए।जब हम दोनों बाजार पहुँच गए तब मैंने इनसे कहा- तुम्हारा सीनियर मुझे किस ड्रेस में मेरी गांड मारेगा?ये बोले- वो तुम्हारे साथ रंडी जैसा सलूक करेगा, वो तुम्हारी गांड साड़ी में मारेगा।फिर हम एक साड़ी वाली दुकान पर गए, मैंने वहां से एक लाल रंग की साड़ी गोल्डन बॉर्डर के साथ पसन्द की.

पर मनोज ने अपना हाथ उसके टॉप के अंदर कर दिया और अब वो उसके निप्पल तक पहुँच गया था. मैंने कहा- आशीष जब तुमने पहली बार मुझे सोनम दीदी की शादी में देखा था तब तक मैंने किसी के साथ सेक्स नहीं किया था.

उन्होंने मेरी चूत में लंड डाला हुआ है और मैं उनसे भी अपनी चूत को चुदवाने में लगी हुई हूं.

एक बार घर के बाहर खड़े हुए उसने मेरे ऊपर कमेंट किया और मैं शरमा कर अंदर आ गई. भाभी नंगी चुदाईअगर आपको सिर्फ सेक्स ही पढ़ना है तो ये मेरी यौन जीवनी आपके लिए नहीं है. फकिंग वीडियोमैंने नीचे से अपनी उंगली उसकी चूत में चलानी शुरू की और ऊपर से उसकी गांड की ठुकाई जारी रखी. फ़ोन सेक्स अब वीडियो सेक्स में बदल चुका था और हमारी एक दूसरे से मिलने की कामुकता और जोर काटने लगी थी। बहुत कोशिशों के बाद भी हर मौका नाकामयाब साबित हो रहा था।एक दिन उनके घर में गेस्ट आये थे तो उसकी मौसी और अमृता दोनों साथ सो रहे थे। इतने में मेरा वीडियो कॉल आया तो अमृता ने कॉल काट कर मेसेज में अपनी मौसी के पास होने की बात कही। वो अन्जान कहाँ जानती थी कि उसी की मौसी का खेल है जो हम साथ में हैं.

हम दोनों का जब भी मन करता, लंड उसके मुँह में डाल देता, या चूत में घुसेड़ देता.

सरसससश्हह अअह अअआ … और कितनी देर करेंगे? आप थकते नहीं क्या?”उम्मम्मम थोड़ा ऊपर हो जाओ … मुझे बूब्स के नीचे हाथ डालने हैं. मेरे बोलने पर उसने आंख खोली और बोली- हम्म क्या है … अब सोने भी दो यार. उसकी छटपटाहट को देखते हुए मैंने वहीं पर लंड को रोक दिया और उसको किस करने लगा.

उसकी चूत की चुदाई होने के बाद उसको भी अहसास हो गया था कि उस दिन अगर वो मेरी बात मान लेती तो आज मेरे मोटे लंड से चुदकर अपनी चूत को खुश कर रही होती. अब मुझे समझ में आ गया था कि इसको आगे से चुदाई करवाने की बजाय पीछे से गांड को चुदवाना पसंद है. मेरी बात सुन कर पहले वो मना करने लगा और बोला कि पापा के सामने वो चुदाई नहीं कर पायेगा.

सेक्सी फिल्म वीडियो देहाती सेक्स

वहां से हमारा सिलेक्शन हुआ और हम तहसील के लिए गए, जिसमें हम चार लड़के और चार लड़कियां थीं. मैंने एक और प्लान बनाया, जब चाची आने वाली थीं, तो मैंने एक सेक्स किताब टेबल पर रख दी. प्रिन्स का नहीं हुआ था पर उसको लंड बाहर निकलना पड़ा और नीता ने अपने हाथ से मुठ मार के उसका माल निकाल दिया.

पर मैं कैसे बोलूं कि बहुत अच्छा लग रहा है मुझे।पर अचानक मेरा शरीर अकड़ने लगा और उन्होंने मुँह हटा कर कस के चूत का मुँह अपने हाथ से दबाकर बन्द कर दिया और अपने होंठों से मेरे होंठ बन्द कर दिए।अपनी ही चूत की खुशबू मुझे मदहोश कर रही थी। होंठ से होंठ लगे हुए थे, हमारी सांसें लड़ रही थी।और अचानक उनका लन्ड मेरी चूत के होंठ चूमने लगा। वो मेरे होंठ छोड़ ही नहीं रहे थे.

मैंने भी उससे कहा कि तू चिंता मत कर रंडी … आज तेरा काम उठा कर ही दम लूंगा.

मुझे कल रात इशिता द्वारा मेरे मम्मों को चूसे जाने का एहसास मुझे रोमांचित कर गया. उसने मेरी चड्डी को उतार लिया और मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर उसको नापने लगी. बियफवीडियोकुछ देर तक पैसेंजर ट्रेन चलाने के बाद सुहास ने मुझे राजधानी एक्प्रेस की चोदना चालू कर दिया था.

अब तैयार रहना तुम!” ऐसा बोल के अपने मुँह से मेरे मुँह को बंद कर लिया. मैंने अपने मुंह से पैंट को नीचे खींचना चाहा तो मेरे मुंह पर कुछ गद्दा सा महसूस हुआ. कुछ देर चुचे पीकर मैंने चाची को बेड पर लेटा दिया और पैंटी के ऊपर से ही चूत को चाटना शुरू कर दिया.

ये बात तब की है, जब मेरी इंजीनियरिंग के दूसरे वर्ष की परीक्षा ख़त्म हुई थी. मैंने कैसे हिना आंटी को अपने लंड का गुलाम बनाया, ये सब आप अगले भाग में पढ़ना भूलिए.

खुद की भावनाओं को कंट्रोल करते हुए मैंने शॉवर लिया और इस बार अपनी नाइट ड्रेस टॉप पजामा पहना.

मैंने वहां पर उसकी चूत को साफ किया और साफ करते हुए उसकी चूत को चाट भी लिया. उसकी चूत से पानी निकलने के कारण उस आंटी की चूत बिल्कुल गर्म और चिकनी लग रही थी. कुछ ही देर में बेबी रानी के स्वर्णामृत की पहले चंद बूंदें और फिर तेज़ धार मेरे मुंह में आने लगी.

क्सक्सक्स हिंदी सुहागरात जैसे जैसे वो मेरे पास आ रहा था, वैसे वैसे मेरी दिल की धड़कनें तेज़ हो रही थीं. मैं थोड़ा रुका रहा, फिर भाभी ने इशारा किया … तो मैं अब धीरे-धीरे उसकी बुर में अपना लंड अन्दर-बाहर करने लगा.

खैर कोमल से हमारी जान पहचान है, इस बात को सभी समझ गए और कॉलेज में लोग हमें परेशान करने के बजाए हमसे दोस्ती करने लगे. मैंने कहा- आशीष जब तुमने पहली बार मुझे सोनम दीदी की शादी में देखा था तब तक मैंने किसी के साथ सेक्स नहीं किया था. जैसे ही मैं दरवाजे के सामने पहुंचा, वो सामने आ गयी और मुझे अपने पीछे बुलाया.

सेक्सी फिल्म चोदा चोदी ब्लू फिल्म

नए पाठक जो कि अभी ये कहानी पढ़ रहे हैं, उससे मेरा निवेदन है कि वे मेरी पहली उक्त को कहानी को पढ़ लें, ताकि उनको इस कहानी का शुरुआत से ही आनन्द मिल सके. मनोज ने खुद ड्राइविंग न करके कैब बुक करी क्योंकि पार्किंग की बहुत समस्या होती है. अब मैंने मासी की मैक्सी को निकाल दिया और अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में रह गई थीं और मुझसे चुदने के लिए बेताब हो गई थीं.

उन्होंने दीपा से भी कहा तो दीपा बोली- नहीं मेड आती होगी, मैं नाश्ता बनाती हूँ, तुम दोनों घूम आओ. थोड़े दिन की परेशानी हुई, मगर फिर धीरे धीरे मेरी बीवी भी नॉर्मल हो गई.

लंच लेकर बाहर आते समय पिंकी ने चार बियर की केन ले लीं क्योंकि इस बृहस्पतिवार चंडाल चौकड़ी उसी कि घर इकट्ठी होनी थी और यह शबनम की फरमाइश थी कि चिल्ड बियर होनी चाहिए उस दिन.

मैंने सोचा कि शायद इससे बात बनने वाली है तो मैं उसके पास जाकर बैठ गया. मैंने पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई- मैं हूँ अभिजीत।सुखविन्दर ने कहा- हाँ वहीं है!और मैंने दरवाजा खोला। सामने एक हट्टा कट्टा 45 से 50 साल का आदमी था। मैंने उसे अन्दर आने के लिए कहा और फिर दरवाजा बंद कर दिया।उसके हाथ में एक थैला था जिसमें कुछ खाने पाने का सामान था। उसने मुस्कुराते हुए वो थैला मुझे दिया और मैं उसे लेकर किचन में चली गई. अअअ हअअ आअअ स्स्सशह उम्मम्म! धीरे सर … अअअ अअअअ सर धीरे!”सर मुझे बेड के कोने पे लिटा के अंदर करने लगे.

अपनी सांसों पर नियंत्रण रखते हुए पहले मैंने भाभी की गर्दन को चूमना शुरू किया. पर मैंने उनको बड़ी जोर से पकड़ा हुआ थाचाची फिर से बोलीं- बेटा, मैं तेरी चाची हूं, ये सब गलत है. जबकि दारू पीने वाले ये जानते हैं कि खाना खाने के बाद दारू नहीं पी जाती.

फिर मैंने एकदम से डॉक्टर के सिर को पकड़ कर उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

ऑंटी कि सेक्सी बीएफ: दूध वाला आने दो, फिर दे दूंगी दूध वाली चाय!अमित- जी दूध तो मेरे सामने है; आप की इजाजत हो तो मैं खुद ले लूं?इतना कहते ही मैंने पूजा के स्तनों को दबाना शुरु कर दिया. मैंने उससे सहमते हुए पूछा- अमन क्या हम दोनों ट्राई कर सकते हैं?मेरी इस बात पर अमन फट से बोला- हां हां ठीक है … क्यों नहीं.

मैं बुआ की तरफ देखने लगा तो बुआ बोली कि मेरे बदन के दो अंगों को तो उस दिन तूने छुआ भी नहीं था. ” (अपनी रंडी को चोदिए मेरे मालिक)उम्मम हम्मम्म यसस … आहहहह फ़क मी लाइक होर. सोनिया- हां आता तो है, लेकिन मैंने सोचा इस टाइम का फायदा उठाया जाए.

उसने भाभी की साड़ी के पल्लू को अलग कर दिया और भाभी का ब्लाउज दिखने लगा.

मैं जीजा से मिन्नत करने लगी और बोली- जीजा मान जाओ, अभी मां को सोने दो. परमीत बहुत गोरी थी, ऐसे में उसकी नंगी सुडौल जांघों का दीदार, गोरी पिंडलियों में लचक और कमर की अनोखी हलचल भी लड़कों के अलावा लड़कियों के लिए भी उकसाने वाली थी. कुछ पल का विराम देकर मैंने उसके चूचों को जोर से दबाया और उसके साथ ही एक झटका देकर उसकी गांड में लंड को आधी लम्बाई तक फंसा दिया.