रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,नागालँड सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन सेक्सी नई: रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म, एक दिन दोपहर को मैं क्रिकेट खेल कर घर आया तो देखा भाभी अपने कमरे में सो रही थीं.

हॉलीवुड वालों की सेक्सी फिल्म

बीस मिनट बाद हम दोनों आवाज़ करते हुए झड़ गए और झड़ने के बाद भी वो मेरे ऊपर चढ़ी रही; अपनी सांसों पर काबू करती रही. सेटिंग्स की सेक्सी फिल्मभाभी ने हंस कर कहा- जो आपने मेरे और मेरे परिवार के लिए किया है, उसके लिए मैं आपकी सदा के लिए आभारी रहूंगी.

कुछ समय आराम करने के बाद मैंने किशोर को बोला कि जब तक हम लोग हैं, हमारे खाने का इंतजाम अच्छे से करना. सेक्सी फिल्म हिंदी में वीडियो मूवीरात को 10 बजे मैंने उसे अब्बा के फोन से फोन मिलाकर पूछा कि वो कहां है?वो बोला- तेरे घर के बिल्कुल पास हूं.

फिर किसी वजह से ऐसा नहीं हो पाया उसकी मम्मी ने आने के लिए इसलिए मना किया था क्योंकि उनको अपनी कंपनी संभालनी पड़ती थी.रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म: उसने झुककर मेरे होंठों को चूमा और बोला- अब मजा आ रहा है न?मैंने अपना सर हिला कर आंख बंद किए हुए ही जबाव दिया- हां.

एक तो इस रंडी को कल दो दो बार चोद ही चुके थे और रात में फिर एक एक बार चोद चुके हो.फिर मैं सोचने लगा कि ये मेरे साथ चुदने के लिए किस तरह की तैयारी करने जा रही है.

सेक्सी ऑडियो हिंदी वीडियो - रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म

और वो चिल्ला पड़ी- ये क्या किया? पागल है क्या? अंदर नहीं छोड़ना था, अब पिल खानी पड़ेगी.तभी मॉम बोलीं- विक्रम तुम डॉक्टर किस बात के हो, जब अपनी आंटी के दर्द में हेल्प नहीं कर सकते!विक्रम बोला- क्या हुआ आंटी?मॉम बोलीं- इस लॉकडाउन में घर से लैपटॉप पर काम करते करते कमर, गर्दन और पैरों में दर्द रहने लगा है.

फिर पायल ने मुझसे कहा- यश मुझे तुम अपना नम्बर दे दो, मुझे तुमसे कुछ मार्केट से मंगाना है. रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म सब लोग उसे देखने आते पर मेरी बहन को नापसंद करके चले जाते क्योंकि वो दिखने में जवान नहीं लगती थी.

तभी गुरबचन जी आगे बोले- फिर जब इसको लिटा कर हम इसके बदन से खेल रहे थे, तो तेरा कॉल आ गया.

रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म?

सुनील- असलम तुम इससे पहले क्या करते थे?मैं- जी, मैं फैक्ट्री में काम करता था. आंटी ने मुझसे कहा- बेटा मेरे बैग में देख … बट प्लग रखा होगा, उसको निकाल कर ला. कल इसकी शादी होने वाली है और आज यह पराई लड़कियों को वासना भरी नजरों से देखने से बाज नहीं आ रहा है.

अपनी गांड मैंने ऊपर उठाई और इमरान के लंड पर चूत को रखकर धीरे से बैठ गयी. मैं एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करता हूं और अब मैंने जिम भी ज्वाइन कर लिया है. पति- चुप रह साली रंडी, तुझे ब्याह कर इसलिए नहीं लाया हूँ कि चोदूं न … मैं तुझे मस्ती से चोद सकूं, इसलिए ब्याह कर लाया हूँ.

अब आगे बहन की गांड की भाई से चुदाई:मैं अपनी बहन और कोमल को बारी बारी चोदता था. लंबाई में मैं किशोर से कम ही थी और किशोर मुझसे लंबा होने के साथ साथ काफी हट्टा-कट्टा मर्द था. मैं उसका लंड मुँह में लेकर देख रही थी कि चूत में कितना अन्दर जाएगा क्योंकि मुझे कुछ और भी करना था.

मैंने कहा- ऐसा क्या!वो बोलीं- हां, आज तुमको अपने प्यार की गहराई दिखाऊंगी. इस कारण से उनके दूधिया मम्मों की बनावट साफ़ दिख रही थी और निप्पल एकदम ऐसे कड़े हो रहे थे जैसे नाइटी को फाड़कर बाहर आ जाएंगे.

इसलिए मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड से बात तो करती हूं, लेकिन उससे आगे कुछ भी नहीं कर पाती हूँ.

सरकते सरकते मेरे होंठ चूत के ऊपरी हिस्से तक पहुंच गए और उसको चूसने लगे.

मैंने बुआ से बताने के लिए जिद की, पर वो बस इतना ही बोलीं कि समय आने पर तुम समझ जाओगे. फ़िर हम दोनों 69 की पोजीशन में आ गए; एक दूसरे के लंड चूत की चुसाई करने लगे. अभी भाभी ने सलवार सूट पहन रखा था इस पोजीशन में चुदाई करने में थोड़ी मुश्किल आ सकती थी.

मैं भाभी को ताबड़तोड़ चोदे जा रहा था और भाभी की चूत भी पूरी तरह गीली हो चुकी थी जिससे उन्हें चोदने में और ज्यादा मज़ा आ रहा था. कोमल अपनी गांड मरवाना भी बहुत पसंद करती है और मेरा लंड तो लॉलीपॉप की तरह ऐसे चूसती है, जैसे कोई लॉलीपॉप चूसता है. मैं भी अकेला माहौल पाकर चाची को खूब परेशान करता … और उनके साथ खूब मस्ती करता.

मैं अपनी बीवी से धीमे से बोला- अरे यार, अपनी बहन को कपड़ा ठीक करने को बोलो.

मैं भी भाभी की बात मानते हुए लंड को उनकी चूत पर घिसने लगा; फिर एक ही झटके में पूरा लौड़ा चूत में डाल दिया. बहुत लम्बा चिकना और मजबूत लंड था उसका … जिसके ऊपर लाल लाल हल्की नसें दिख रही थी. पूरे 19 साल से इसके दर्शन किसी ने नहीं किए, तू ये मौका हाथ से मत जाने दे.

वो सीन अभी भी मेरी आंखों के सामने चल रहा था कि आज जिन्दगी में पहली बार मुझे सेक्स में इतना मजा आया था. अब ऐसे ही मैं रोज चुदने लगी और आपने बुलाया तो मैं कुछ दिन के बाद आपके पास आ गई भैया. हम दोनों उठकर रसोई में चले गए और वो खाना बनाने लगी।मैं वही रसोई प्लेटफार्म पर बैठ गया और बीच बीच में मै उसकी चूचियां दबा देता, कभी चूम लेता।उसने मेरे लिए बटर चिकन बनाया जो मेरा फेवरेट हुआ करता था.

मेरा लंड पहले से मोटा और लंबा हो गया था जिससे मैं पहली बार चाची की गांड मार रहा हूं … ऐसा लग रहा था.

मैंने भी बैठे बैठे अपनी चूत देखी, उसमें भी बहुत सारा झाग और उसमे हल्का खून लगा हुआ था. पर पसीने से फिसल रही थी तो मैंने अपने हाथ से पकड़ ली।उन्होंने मेरा लन्ड पकड़कर चूत पर सेट किया.

रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म मैंने कहा- हां क्यों नहीं दीदी … अभी रुको जब मैं तुम्हारी गांड मारूंगा. और मैं उनको चोदने के तरकीब सोचने लगा।आंटी करीब दो बजे आईं और फिर अपना सामान समेटने में लग गई.

रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म कुछ देर तक हम एक दूसरे के साथ चिपके रहे, फिर मैं भाभी को चूमने लगा और उनके मम्मों को मसलने लगा. वो दोनों पसीने से भर गए थे और तब विक्रम बोला- ओए बहन की लौड़ी अंजलि … उठ कर एसी चला मादरचोद.

इतना सुनते ही मैं खड़ी हुई और अपनी कैप्री पर हाथ सा फेरकर बुर को दिलासा दी कि लंड आ गया है, अब तू फटने के लिए रेडी हो जा.

ત્રીપલ સેકસ

मेरा लन्ड उनकी गांड की दरार में फंसा … उफ्फ … मैं तो पागल ही हो गया।उनको भी अच्छा लग रहा था, आंटी मज़े लेने लगीं. उन्होंने भी हां कहा और अब हम एक दूसरे को अपने निजी अनुभव और बातें भी कहने लगे थे. तो ज्योति ने भी अपने मुख से एक आह भरी और साथ ही रोहित ने भी ज्योति के दोनों मम्मों को पकड़ कर उसके एक मम्मे को अपने मुंह में ले लिया।मैंने अपने लंड को पकड़े हुए ही एक बार ज्योति की आँखों में देखा, ज्योति खुद वासना में लिप्त थी तो मैंने लंड का दूसरा झटका दिया.

मैंने मैडम को सीधा किया और उसकी चूट पर ऐसे टूट पड़ा मानो कितने दिनों से प्यासा था. उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैं हल्के हल्के हाथ चलाने लगा. मैं उसे अब और नहीं तड़पाना चाहता था इसलिए मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया.

मुझे देखते ही किशोर मेरे पास आ गया और बोला- बताओ क्या सोचा तुमने?मैं- सोचना क्या है, तुम भी मुझे पसंद हो … मगर ये बात कभी किसी को पता नहीं चलनी चाहिए.

इस पर वो हंसती हुई मेरे गले में हाथ डाल कर पूछने लगी- रात को मजा आया या नहीं!मैं बोली- सच बोलूं कि झूठ?वो बोली- मुझसे सच बोलने में क्या प्रॉब्लम है … सच ही बोलो. अभी कोरोना की वजह से जल्दी ड्राइवर मिलते नहीं हैं, तो क्या तुम ये जॉब कर लोगे?मैं- जी, मुझे ड्राइविंग करना आता है और मैं कर लूंगा. मुझे भाभी की चूत कैसे मिली?दोस्तो, मैं कई दिनों से अन्तर्वासना फ्री सेक्स कहानी पढ़ रहा हूँ.

अभी पति के लंड का सुपारा ही मेरी चूत में गया था कि मेरी चीख निकल गई और वो हंसने लगे. ट्रेनर बोला- लड़कों को, परीक्षा लेने आई लड़कियों को अपना ग्राहक समझकर उनको खुश करना है … और लड़कियों को, परीक्षा लेने आए लड़कों को अपना ग्राहक समझकर उनको खुश करना है. कहीं ना कहीं मुझे आज ही अपना गैंग बैंक कराने की कल्पना भी साकार होती दिख रही थी.

G में रहता था लेकिन मुझे एकांत रहना पसंद है इसलिए मैं अपने लिए रूम की तलाश में निकल गया।आखिरकार मुझे एक कमरा किराए पर मिला. अपनी बहन की सहेली की कुंवारी चूत फाड़ने की कहानी मैं आपको अगली बार सुनाऊंगा.

अब मैं भी निकलने वाला था, तो मैंने अपना लंड वंदना की चूत से बाहर निकाल लिया और उसकी चूत के पास ही अपना सारा माल निकाल दिया. चुदाई के बाद मैंने प्यार से उनके होंठों को चूसा, उन्होंने भी मुझे किस किया. एक मिनट बाद उसे कुछ राहत मिल गई और वो बोली- साले, मैंने तुझसे बोला था ना कि धीरे करना.

मैं गाल सहलाते हुए बोला- वो अन्दर अरुणिमा के साथ …इतना बोल कर मैं रुक गया और आगे नहीं बोला.

वो आह आह करके मेरे सर को अपनी चूत में घुसेड़ लेने की कोशिश कर रही थी. न्यूड यंग गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे बेटे की साली मेरे साथ सेक्स करने के लिए मेरे फार्म हाउस में आ गयी थी. लेकिन जब भी मैं उन्हें देखता हूँ, तो लगता है कि काश ममता भाभी जैसी कोई माल मेरी गर्लफ्रेंड होती.

मेरी जान … मैं आपकी मस्त अंजलि एक बार फिर से अपनी चुदाई की कहानी में आप सभी का स्वागत करती हूँ. मैं उसकी तारीफ़ से खुश हो गई और बोली- मस्का बाद में … पहले ये बता कि रूपया कितना दोगे?नीरज बोला- अब सब कॉल पर ही बात नहीं कर सकते यार, तू विम होटल आ जा, वहीं बात करते हैं.

चाची के ऊपर से ही चूत में लंड दाखिल कर दिया और धक्के लगाना शुरू कर दिया. प्रिया के मुँह से निकला- आह आह!मैं अपने लंड को एक हाथ में लेकर उसकी चूत में ऊपर नीचे रगड़ने लगा और अपने दोनों पैरों से उसके दोनों पैरों को फैलाकर दबा लिया. मैंने किशन से कहा कि ये तेल उंगली में लेकर मेरी गांड में अन्दर तक लगा दो.

कैटरीना कैफ की नंगी सेक्सी फोटो

मैंने उनके होंठों अपने होंठ रखे और भींच कर जोर जोर के दो झटके दे मारे.

आपको देखता था तो लन्ड खड़ा हो जाता था, आपको छुप छुप देखता था।आंटी बोलीं- मुझे पता है। तुम्हारी आंखों में मैंने वो देखा था. चाची मेरी तरफ पीठ करके लेट गईं और मैंने लंड पर फिर से तेल लगा लिया. ‘आंह विवु काश मैं तुम्हारी बीवी होती अअह तो कितना मज़ा आता … दिन रात चुदाई चुदाई बस और कुछ नहीं आआआह विवेक प्लीज़ मेरी चूत में अपना लंड जल्दी से डाल दो … अब नहीं रहा जाता प्लीज़.

फिर मैंने किचन से बाथरूम की तरफ देखा तो बाथरूम का दरवाजा लगा हुआ था. अयाना ने मेरा चेहरा ऊपर करते हुए कहा- शरमाओ मत चाचा!और मेरा लन्ड को टच करते हुए कहा- इसी से आप मुझे मजा दोगे ना!मैंने कहा- हाँ बेटा!तब वो बोली- ये तो मुझसे बात ही नहीं कर रहा!क्योंकि मेरा लन्ड खड़ा नहीं हुआ था।अयाना ने मुझे घुमाकर मुझे पीछे से हग किया और लन्ड को पकड़ लिया. मारवाड़ी देसी राजस्थानी सेक्सी वीडियोउसकी पैंटी पूरी गीली हो गयी थी और चूत की फांकों में फंस कर चूत का आकार दिखा रही थी.

उन्होंने मेरी जींस का बटन खोल कर जिप खोल दी और जींस नीचे खिसका कर ब्रीफ को भी नीचे कर दिया. चाची बोलीं- क्या सच में!मैंने चाची को छोड़कर अपने पैंट की जिप खोली और अपना मूसल सा लंड बाहर निकाला.

पर मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया और कुछ देर बाद खाना आदि हुआ तो मैं खाना खाकर अन्दर के कमरे में लेट गया. [emailprotected]यंग भाबी सेक्स कहानी का अगला भाग:प्यासी भाभी की चुदासी चूत चोदकर प्रेग्नेंट किया- 2. कोमल ने मुझे अपनी तरफ बुलाया, फिर हम ऊपर कमरे वाले कमरे में चले गए.

मेरे भैया भाभी ने मेरी दास्तान सुनकर ख़ुशी जाहिर की और मुझे चोदने के लिए बिस्तर पर खींच लिया. उसकी जकड़न इतनी कसी हुई थी मानो वंदना मुझे अपने आगोश से कभी नहीं छोड़ेगी ही नहीं. फिर नीरज ने डॉगी बनने का इशारा किया तो मैं डॉगी बन गई और रीना ने मेरी गांड मारना शुरू कर दी.

फिर हालात ऐसे बन गए कि मेरी बीवी को अपनी प्यास बुझाने के लिए मर्द मिल गए और मुझे जिल्लत के साथ ही सही … मगर काम मिलने लगा.

चाची बोलीं- क्यों निकाला, अभी तो माल निकला भी नहीं है?मैंने कहा- रुको मेरी जानू. अब मेरे ब्वॉयफ्रेंड विक्रम ने मेरी मॉम के दोनों पैर उठा कर उनके मुँह की तरफ कर दिए.

जैसे ही मैं उनकी कुर्ती को उतारने जा रहा था कि उनका बेटा उठ गया और चाची को आवाज देने लगा. अभी तक उसने मेरी पीठ को जोर से पकड़ी हुई थी अब उसकी पकड़ ढीली होने लगी. उसकी पैंटी पूरी गीली हो गयी थी और चूत की फांकों में फंस कर चूत का आकार दिखा रही थी.

दिन में 11 बजे तक उधर पहुंचकर मुझे अपने दोस्त से टिकट्स भी अरेंज करानी थी. मेरी जगह रोहित ने संभाल ली और उसने हमारी घोड़ी की चूत में लंड डाल दिया और पीछे से ज्योति को चोदने लगा. उसने भी पूछा- तुम्हारा ब्वॉयफ्रेंड है, नहीं है?मैंने उसे साफ साफ कह दिया- मेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड नहीं है.

रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म अब मेरी प्रिया से सैटिंग हो गई थी और जब भी दीदी घर में नहीं होती तो प्रिया मुझे बुला लेती और मैं प्रिया को चोद दिया करता था. अब आगे पोर्न चाची Xxx कहानी:करीब 15 मिनट तक मैं ऐसे ही चाची के साथ चूमाचाटी करता रहा.

कंगना रनौत सेक्सी वीडियो

तो मैंने पूछा- फिर आप कहां सोओगी?वो बोलीं- मैं भी बेड पर ही सोऊंगी. करीब साढ़े छह बजे हमारी आंख खुली तो हमने एक दूसरे को किस किया और होंठों को भी चूसने लगे. भाभी ने फटाफट प्याज, मिर्च, अदरक, लहसुन, टमाटर वगैरह काट दिया और बनाने के लिए बर्तन गैस पर चढ़ा दिया.

मैंने उसकी चूत के ठीक नीचे नजर डाली, तो उसकी गांड का छोटा सा गुलाबी छेद नजर आया. फिर उसने भी मेरे बारे में और मरी फैमिली के बारे में बहुत कुछ पूछा और हमारी अच्छी जान पहचान हो गई. सेक्सी 12 साल की लड़कियों कीशुरू-शुरू शादी के समय चार पांच बार होता था, लेकिन अब जिंदगी झंड जैसी लगती है.

हमारे इंडियन पुरुष कुछ ज्यादा ही लेस्बियन मूवी की मांग करते हैं इसलिए.

अरुणिमा लंड चूस ही रही थी कि शमशुद्दीन जी ने अपना लंड पूरा अन्दर डाला और उसकी चूत या शायद गांड में पूरा झड़ गए. ऐसी सुनसान जगह में बैचलर पार्टी की व्यवस्था शायद इसीलिए की गई होगी, जिससे कोई उन्हें डिस्टर्ब ना कर सके.

फिर एक दिन वो समय आ ही गया जब मुझे मौक़ा मिल गया कि मैं भाभी को इन सभी बातों के बारे में पूछ लूं. उनकी चूत का छेद छोटा होने के कारण मेरा लंड अन्दर जा नहीं पा रहा था. फिर पानी का शॉवर चालू करके एक दूसरे के ऊपर पानी उड़ा उड़ा कर एक दूसरे को नहलाने लगे.

चाची खुशी के मारे ‘आहह ह … उहहह … ईहह …’ जैसी आवाजें लगातार निकाल रही थीं.

मैं सोच में पड़ते हुए आंटी से बोला- तू इतने दिनों तक बिना लंड के रही हो क्या … मुझे लगता है कि साली तू न जाने कितनों से चुदवाती होगी. दोस्तो, मैं अन्नू आपको अपनी प्रिय पाठिका दिशा की कलम से उसकी चुत गांड की गैंग-बैंग चुदाई की कहानी सुना रहा था. मित्रो, मेरी निम्फ़ो यंग वाइफ हार्डकोर सेक्स कहानी पर आप किसी भी प्रकार की राय देने के लिए स्वतंत्र हैं और मेल पर मुझसे संपर्क कर सकते हैं.

सेक्सी पिक्चर खुला मेंअब कॉलेज का समय खत्म होने को था तो हम दोनों ने कपड़े पहने और अपने घर की ओर चल दिए. मैं बस उनको ही याद करके ब्वॉयफ्रेंड के छोटे छोटे लंड से चुदवा कर मजा ले लेती हूँ.

सेक्सी सपना की

सेक्स में बचपन से ही मेरी रुचि थी और इसी रुचि के चलते हुए आज 38 साल की उम्र तक मैंने अब तक 64 लंडों का स्वाद चख लिया है. मैंने कहा- क्या लाना था?मैडम चटक गई और बोली- साले हाथ भर का हथियार लिए घूम रहा है और तुझे मालूम नहीं है कि क्या लाना पड़ता है. पूरा अन्दर तक पेल कर चोदो और अन्दर डाल कुत्ते हरामी आनंह चोद मुझे … फ़ाड़ दे अपनी कामिनी की चूत आंह मुझे अपना बना ले बस.

मैं आपको बता नहीं सकती यह पहला अहसास मेरी जिंदगी का कितना मीठा अहसास था. सिमरन भी थोड़ा सा रुककर धक्के लगाने लगी और वो अपनी स्पीड बढ़ाती जा रही थी. अब मैं भाभी की चूचियां पीने लगा और मैंने उनकी दोनों चूचियों को रगड़ रगड़ कर लाल कर दिया.

तो मैंने कहा- भाभी, इस तंबू को क्या तंबू ही कहते हैं?वह मुस्कुराई और बोली- इसको कुछ और भी कहते हैं. अरुणिमा चार दिन तक घर में नंगी ही घूमती रही पर मैंने उसकी हालत को समझते हुए उसे परेशान नहीं किया. उनकी तो लुल्ली है, पता नहीं कैसे उसकी लुल्ली से मैं दो बच्चों की मां बन गई.

धीरे-धीरे अनुभव हुआ कि लड़कियों को देख कर मुठ मारने में आनन्द कई गुणा बढ़ जाता है. चाची ने ऊपर नीचे बिना ब्रा और पैंटी के सिर्फ टी-शर्ट पहनी थी और नीचे लोअर पहना था.

जैसे ही मेरी उंगली उनकी चूत के पास पहुंची, मैंने महसूस किया कि उनकी चूत पूरी तरह से गीली हो गई है.

मैंने कहा- हां अब वो भारत में फिल्मों में काम करने लगी है न, तो कपड़े पहनने लगी है. चीन का सेक्सी वीडियो हिंदी मेंकुछ मिनट बाद उसने मॉम से पूछा- आंटी कैसा लगा?मॉम बोलीं- बड़ा सुकून मिल रहा है और ऐसे सुकून की तो तू कोई भी फीस मांगेगा, तो मैं दे दूँगी. जानवर लेडीस का सेक्सी पिक्चरजैसे ही ड्राइंग रूम में पहुंचा तो देखा कि गुरबचन जी नहीं थे, अरुणिमा पूरी नंगी सोफा टेबल पर घोड़ी बनी हुई थी. मैं चाची के होंठों पर किस करने लगा और अपने होंठों से चाची के होंठ बंद कर दिए.

हमारे इंडियन पुरुष कुछ ज्यादा ही लेस्बियन मूवी की मांग करते हैं इसलिए.

वरूण की मम्मी ने हम दोनों से पूछा कि कहां घूमने चलना सही रहेगा?वरूण ने कहा- म्यूजियम चलते हैं. स्त्री या बॉटम पुरुष को उत्तेजना, सेक्स का उत्साह आता है, जब उसकी सुंदरता की तारीफ होती है, तब उसके कपाल, गाल, होंठ, आंख, गर्दन, चुचे, निप्पल, कान के पीछे, चूतड़, कांख, गांड, जांघें, चूत या लंड को चूमा जाता है. शुरू शुरू में वो नाक भौं सिकोड़ती थी, मुँह बनाती थी … लेकिन ब्लू-फिल्म देख कर धीरे धीरे लंड चूसने की अभ्यस्त हो गई और उसने बहुत अच्छे से लंड चूसना शुरू कर दिया.

वो मेरी मम्मी से बोले- आप अपने लड़के को बोल दीजिए कि इसके साथ आया जाया करे. ऐसा कहती हुई वो सर से खुद के बारे में पूछने लगी और कुछ देर बाद चली गई. ऐसी जोशीली और कामवासना से भरी हुई लड़की के साथ अपना पहला सेक्स सुख पाकर मैं बहुत ही खुश था और मेरे आनन्द की कोई सीमा नहीं थी.

ससुर पतोह की सेक्सी

जिस दिन हमें जाना था, उस दिन अचानक से हुसैना भाभी ने जाने से मना कर दिया क्योंकि उनको एमसी आई थी. इस बार दो प्रयासों में पूरा 7 इंच लंड पेल दिया जिससे वो फिर से तड़पने लगी थी लेकिन इस बार मैंने कोई रहम नहीं किया. आयशा भाभी मुझसे कुछ ज्यादा ही हंसी मज़ाक करने लगी, मेरे साथ छेड़छाड़ करने लगी.

भाभी को हर वक्त सिर्फ मुझको देखने और मेरे साथ हंसी मजाक करने की पड़ी रहने लगी थी.

मैं नहीं चाहता था कि आंटी मुझे चोदें, इसलिए मैंने उनको धक्का दे दिया और उनके ऊपर आ गया.

पायल सिर्फ सीत्कार कर रही थी- आआह निखिल … और ज़ोर से चूसो ना … आह पी लो मेरे जोबन को. भाभी अब जोर जोर से चिल्लाने लगीं- आंह ओम जोर जोर से करो … मैं झड़ने वाली हूं. एक्स एक्स एक्स वीडियो सेक्सी चूत चुदाईअब मैं जल्द ही आने वाले समय में फेमस पोर्न स्टार्स में शामिल हो जाऊंगी.

फिर वह दूसरी तरफ से झाड़ू लगाने लगी तो मुझे उनका पिछवाड़ा दिखने लगा. मैं अपनी कल्पना से किसी की चूची पीता, किसी का पति बन जाता, किसी को चोदता।अपने लंड से मैं बड़ी बड़ी आंटी और भाभियों को पस्त कर देता था. मैंने भाभी की चिल्लपौं पर ध्यान ही नही दिया और पूरा लवड़ा पेल कर उन्हें ताबड़तोड़ चोदने लगा.

वो कराहती हुई बोली- आह मर गई … थोड़ा बाहर निकालो … मुझे दर्द हो रहा है. इस वक्त मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया था और जब नीलिमा मेरी गोद में बैठी, तो उसकी गांड में चुभने लगा.

एक दिन मैंने उनसे पूछा तो उन्होंने बताया कि आजकल हसबैंड घर आए हैं, तो मैं ज्यादा समय नहीं दे पाती हूँ.

फिर उन लोगों ने अपनी पसंद के पंजाबी गाने लगाए, जिस पर बीयर व शराब पीते पीते हम पांचों ने खूब डांस किया. हॉट लेडी मैरिड सेक्स कहानी शुरू करने से पहले मैं एक बार फिर से अपने बारे में बता देना चाहता हूँ. वैसे भी विश्वेश्वर जी को ये डर सता रहा है कि तुम तमाशा कर सकते हो और उनके सामाजिक छवि को नुकसान हो सकता है.

सेक्सी वीडियो में हरियाणवी जब भाभी आ रही थीं तो लग रहा था मानो कोई मॉडल लड़की बिना कपड़ों के आ रही हो. वह मुझसे कह रही थी- यह जो चार-पांच दिन से हो रहा है मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगता.

तब भी मेरे अन्दर इतनी हिम्मत नहीं थी कि मैं अपनी बहन के साथ सेक्स जैसी कुछ बात कर सकूँ. पीछे खड़े तीनों दोस्त चिल्ला चिल्ला कर वाटर सेक्स के मजे ले रहे थे- याहू … वाओ … आहह!मैंने बहुत जोरों से राजेश का लंड और दोनों आंड को चूसना शुरू किया कि राजेश के मुँह से आह आह की आवाज निकलने लगी. तभी भाभी ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी.

देसी सेक्सी वीडियो xxx

अब अगली सेक्स कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी मामी के साथ सेक्स किया. कहीं ना कहीं मुझे आज ही अपना गैंग बैंक कराने की कल्पना भी साकार होती दिख रही थी. उसका लंड मेरी गांड के अन्दर टाइट फंसा था जिसके कारण मुझे मज़ा आने लगा था.

शर्मा अंकल- खैर मेरे दोस्तो, मैं तो ये बताने आया था कि तुम लोगों के लिए एक खुशखबरी है कि मैंने ललिता की मां को समझा दिया है कि ललिता दूसरी लड़कियों के साथ पार्टी मना रही है और लेट हो जाएगी इसलिए अब सुबह ही आएगी. मैं चिल्लाना चाहती थी मगर उन्होंने अपने होंठों से मेरे होंठों को बंद कर रखा था.

फिर धीरे से धक्का मारा तो मैडम की मां चुद गई और उसकी चीख निकलने लगी.

अब मैंने उससे कहा- चूत में घुसाने से पहले अपने लंड पर कंडोम लगा लो. कुछ देर बाद मैंने दीदी को बेड पर लिटा दिया और उसकी टांगों को फैलाकर अपना लंड चूत में एक जोरदार धक्का दे मारा. वो अक्सर बातों बातों में ये कह देती थीं कि मेरे पति में अब दम नहीं बची है.

लॉकडाउन में जब मैं फ्री हुई, तो मुझे लगा मुझे भी अपने जीवन की रसीली कहानियां अन्तर्वासना पर लिखनी चाहिए क्योंकि मेरा जीवन सेक्सी कहानियों से भरा हुआ है. उसकी सिसकारी थोड़े दर्द में बदलने लगी क्योंकि शायद मेरी कठोर हथेलियों के कारण उसके मुलायम दूध छिल रहे थे. मैडम की निगाहें मेरे उभरे हुए पैंट पर थीं, जो कि मेरे पैंट के अन्दर से झांकते हुए लंड को देख रही थीं.

मैं उधर लंड की प्यास में अपनी चूत और गांड में मोमबत्ती करती रहती थी और अपना पानी अपने हाथ से निकालती रहती थी.

रानी मुखर्जी की बीएफ फिल्म: मैंने शेयर बाजार में नया नया काम शुरू किया था मगर नासमझी के कारण मुझे उसमें नुकसान होने लगा, मेरी जमापूँजी खत्म होने लगी, जिससे मैं बहुत ही ज्यादा अवसाद में आ गयाइसके बाद मैं एक मनोवैज्ञानिक सर के यहां अपने आपको इस अवसाद की स्थिति से बाहर निकलने के लिए जाने लगा. मैंने उसकी टांगें सीधी कर दीं और खुद उनके ऊपर बैठ कर उसके हाथों को साइड में करके पकड़ लिया ताकि वो ज्यादा छटपटा ना सके.

नदी में नहाने के बाद मेरी बाकी सहेलियां तो अपने घर चली गईं मगर मैं और मेरी एक अन्य सहेली ने कुछ और देर तक नदी में रुकने का मन बनाया. उसके पापा थोड़े अय्याश किस्म के थे, इस वजह से कोमल के पापा उसके पास न रहकर दूसरे शहर में किसी और औरत के साथ रहने लगे थे. अब तक हम दोनों ने एक दूसरे को देखा भी नहीं था लेकिन तब भी हमारे बीच एक अच्छी दोस्ती सी हो गई थी.

तभी बुआ ने कहा- ये तेरा देवर है, ऐसे क्यों शर्मा रही है, जा पानी ले आ.

एक महीने के बाद मुझे अपना लंड देखकर घोड़े के लंड जैसी फीलिंग आने लगी थी. इसके बाद मैंने जल्दी से आंटी की चूत में लंड घुसा दिया और ज़ोर ज़ोर से झटके मारने लगा. मैंने कहा- इधर केबिन में ही लेगी या कमरे में लेगी?वो बोली- नहीं यार, कमरे में चल कर मस्ती से लूंगी.