इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,घरवाली की सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

जौनपुर की सेक्सी: इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ, यह बात उन दिनों की है, जब मैं इंजिनियरिंग के फाइनल इयर में था और सेमेस्टर लीव के लिए चेन्नई से वापस अपने घर आ रहा था.

रोमांटिक सेक्सी इंडियन

ये मेरा अंतिम फैसला है… तुम चाहो तो अपने कमरे में जाकर आपस में बातचीत कर के सुलह कर सकते हो… मैं यही तुम्हारा इंतज़ार करुँगी. jio की कहानीसाले बहुत बड़े रोड ठेकेदार हैं करोड़पति हैं, उनसे जरूर अपनी गांड चुदाई करवा लेना वन्द्या.

उसने मुँह में 2 मिनट ही चोदा कि मैंने निकाल दिया।फिर वो कभी मेरी चूत फाड़ता तो कभी गान्ड… दोनों की बैंड बजा बजाकर चोदता रहा और तो मैं तो दर्द से सुन्न सी हो गयी थी।वो ऐसे ही 15-20 मिनट चोदता रहा। फिर उसने और स्पीड बढ़ा दी और बोला- रानी, मेरा अब निकलने वाला है।यह सुनकर मेरी दिल को सुकून आया और मैं भी उसके झटके का जवाब देने लगी. भोजपुरी सेक्स फुलअध्याय – 0 – मन का बीजतो बात आज से करीब 6 साल पहले की है यानि की मयूरी की शादी के लगभग 5 साल पहले.

और कान खोलकर सुन लो, अगर मैं चाहूँ तो मेरे लिए लंड की लाइन लग जाएगी… ऐसा हुस्न है मेरे पास… पर क्या तुम्हें कभी ऐसा हुस्न मिलेगा, वो भी अपने घर में? ये तुम सोचो? तुम जब चाहो तब मुझे चोद सकते हो और अपना लंड मेर शरीर के हर छेद में डाल सकते हो… पर ये तुम्हें साथ में ही करना होगा.इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ: उसने सबसे पहले अपने पापा के बारे में सोचा पर वो बहुत ही मुश्किल काम लगा.

मैंने अपने ऊपर से रज़ाई हटाई और दोनों तकियों के साथ सेक्स शुरू कर दिया.कम्मो ऐसे नहीं रुक सकते यहां, गोलगप्पे भी खा लेंगे अभी बाद में!” मैंने कहा.

मारवाड़ी घाघरा सेक्स - इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ

ऐसे ही कुछ दिन बीत गए और फिर एक दिन मेरे मामा के घर से फ़ोन आया कि उनके लड़के की शादी तय हो गयी है और दो दिन बाद सगाई का कार्यक्रम है, तो सबको आना है.तभी भाभी ने कहा- अक्षय, आज सच में तूने गुरु पूर्णिमा के दिन मुझे ऐसे सेक्स से वाकिफ करवाया, जो मैंने कभी नहीं किया था.

मैं उसकी चुत को पागलों की तरह से चूस और चाट रहा था और वो भी मेरे लंड और पोतों को पूरे मज़े से अपने मुँह में लेकर चूस रही थी. इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ हम दोनों कमरे के अन्दर पहुंचे और मैंने जल्दी से दरवाजा लगाकर उसको अपनी बांहों में कस के भर लिया.

उसने भी मेरे सर को अपनी चूचियों में दबा लिया और मेरे बालों में अपनी उंगलियों को डाल कर सहलाते हुए मेरा साथ देने लगी.

इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ?

उसी समय जाने किस तरह से हुआ कि जो मेरी चूत में अंकित का बहुत मोटा लंड जाने से दर्द हो रहा था, वह दर्द एक दम से गायब होने लगा और 2 मिनट बाद बचा हुआ दर्द भी जाने कहाँ चला गया. मस्त मुलायम बूब्स थे उसके एकदम गोरे।मैं आंटी के बूब्स दबाते हुए उसके पेट पर किस करने लगा. मैं नहीं चाहता कि जब मौका मिला है तो उसको अच्छे से इस्तेमाल न करूँ … और हां मैं प्रिया के लिए लाल रंग की ब्रा और पैंटी भी खरीद लाया था.

वाह क्या धक्के मार रहे हो, तुम्हारा लंड बिल्कुल मेरी चूत की जड़ तक पहुँच रहा है और मुझे दीवानी बना रहा है. जगत देव अंकल ने अपना लंड जरा सा निकाल कर पूरी ताकत से मेरी चूत में फिर से घुसा दिया था. मैंने रूमाल खोला तो उसमें तरह तरह के नोट बेतरतीब ढंग से उल्टे सीधे मुड़ेतुड़े हुए रखे थे; दस, बीस, पचास, सौ … सब तरह के नोट थे.

उसने महसूस किया कि सोचने मात्र से ही उसकी चुत में बहुत सारा पानी आ गया है. मेरे मन में सेक्स की तो इच्छा थी ही, रात में सेक्स के बारे में सोचते सोचते मेरी चूत से दो बार पानी निकल गया, पूरी पेंटी गीली हो गई. मुन्ना अंकल बोले- अरे किसी को कुछ नहीं पता चलने वाला है, तुम इतना क्यों डर रहे हो, कौन सी तुम्हारी सगी है? आजकल तो अपनी बहन बेटी से तक से संबंध बना लेते हैं.

स्नेहा- अकेले में? तो फिर फोन से भी तो हो सकती थी ना?मैं- जो मजा मिलके बात करने में आता है … वो मजा फोन में कहां?स्नेहा- बातें बनाना तो कोई तुमसे सीखे … चलो अब आ ही गए हैं तो बताइए जनाब अकेले में क्या गुफ्तगूं करनी है आपको?मैं उससे पीछे से जाकर चिपक गया. सबसे खास बात ये है कि मेरे पति मेरी चुत की चुदाई बहुत अच्छे से करते हैं.

मैं समझ गयी कि माइक किसी रसूखदार पद पर होगा, तभी ये मिला … क्योंकि बहुत से विदेशी पर्यटक यहां आते तो हैं, पर इतनी सुविधा सबको नहीं मिलती.

जिन चुचियों को ब्लाउज के ऊपर से देखा करता था, आज वो दोनों कठोर मम्मे मेरी आंखों के सामने चमचमा रहे थे.

वह सीढियाँ ऊपर से ही बंद कर लेती थी अतः उस कमरे में अचानक कोई नहीं आ सकता था. आज बहुत बातें कर रहा है?मैं- कुछ नहीं, आप जैसी जानदार और शानदार आंटी से तो बातें करना मेरा सौभाग्य है. नमस्ते भाइयो, लड़कियो, भाभियो दीदी सेक्स चाहने वाली सभी चुत वाली माल.

चाची एक बार फिर से एक लम्बी सिसकारी भरते हुए दाँतों पर दाँत बैठा कर अपनी गांड को जोर जोर से उछालते हुए बोलने लगीं- आह. उसने नोटिस किया कि उसका लंड उसके शॉर्ट्स में तम्बू बनाये हुए है और वो अब इतना टाइट हो चुका है कि फटने को तैयार है. उसके बाद मैं पूर्वी मैडम को अन्तर्वासना साइट परलड़कियों की गांड मारने की कहानीपढ़ने को बोलता या वो सब कहानियाँ पढ़ कर सुनाता था ताकि उन्हें भी ये मालूम चले कि गांड मराने में भी मज़ा आता है.

अंकिता बोली- ओहो 3 के साथ मज़ा लिया?मैंने कहा कि लाइफ मज़े के लिए ही तो है और आँख मार दी.

उसने भी पलट कर मुझे दुबारा किस किया और हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करने लगे. तब तक मैंने भी बिना झड़ा लंड पैंट के अन्दर कर लिया और अपने घर वापस आ गया. उसने फोन पर जो कहा वो लिख सकती हूँ, पर उस तरफ से क्या कहा गया वो तो मुझे सुनाई ही पड़ा.

काफ़ी देर मेरे चेहरे को प्यार करने के बाद में वो मेरी गर्दन पर किस करने लगे. प्रिया के ऐसा करने से मेरी उंगली उसके प्रवेशद्वार में थोड़ा और घुस गयी, जिससे प्रिया के मुँह से इइईईई … श्श्शशश … आआआह्ह्हह …” की जोरों से आवाज निकल गयी. मैं अपनी चूत को बहुत साफ़ रखती हूँ इसलिए उसको मेरी चूत चाटने में बहुत मजा आ रहा था.

थोड़ी देर बाद मैंने उनका घाघरा गांड तक ऊपर उठा लिया और मौसी की गांड के छेद में जुबान डाल कर गांड के छेद को चाटने लगा.

प्लीज जीजू मेरी हालत बुरी मत करना, मुझे चलने फिरने के काबिल तो छोड़ो … और प्लीज पहले आप करो, जो भी करना है. थोड़ी देर बाद मैं उनके चेहरे तथा होंठों को चूमने लगा, साथ ही प्यार से में उनके गाल को चूमने लग गया.

इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ उसने तुरंत हां कर दिया, लेकिन मैं तो उसे चोदने के सपने पहले से ही देखता था. हालांकि मैं बहुत शर्मीला इंसान हूँ, जो लड़कियों से बातें करने मैं बहुत शरमाता है.

इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ मैं उठा, मैंने पूछा कि आप इतनी रात को यहां क्या कर रही हो?तो उन्होंने बोला कि प्लीज़ रोहन वो वीडियो डिलीट कर दो प्लीज़. मेरे प्राइवेट पार्ट को देखने और छूने का मौका मिल रहा है, वह कम है क्या?वहां रिस्क भी ज्यादा होगी।”जाहिर है.

मेरे तो मन की कामना यही है कि जितना जल्दी हो सके एक साथ दो दो लिंग मुझे चोदें।रीना ने कहा- जी, सीमा सही कह रही है!श्लोक- जीजाजी, आज का दिन तो सामूहिक चुदाई का दिन ही रखा जाएगा। सब इसी के लिए लालायित हैं।तब मैंने कहा- तुम में से एक औरत को थोड़ी देर के लिए हमारे लिंग से वंचित रहना पड़ेगा.

सेक्सी आंटी वीडियो हिंदी

मैं अभी आती हूँ क्योंकि यहां पर तो कोई ना कोई आता ही रहेगा, वरना यह फोन तंग करेगा. वो भी चुदाई कर रहे है इसीलिए किसी को कोई फर्क नहीं पड़ता…अशोक- अभी?मयूरी- हाँ. मेरी गांड फट के हाथ में आ गयी, लगा कि आज तो सारी दीवानगी एक झटके में खत्म हो जाएगी.

रास्ते में किसी से मैंने पूछा तो उन्होंने मुझे साउथ इंडियन फ़ूड के एक अच्छे रेस्तरां का रास्ता समझा दिया. जैसे ही मैंने अपनी उंगली को प्रिया की चुत के प्रवेशद्वार पर रखा, प्रिया ने सुबकते हुए कामुक आवाज में कहा- अआह्ह्ह … महेश्श्श्शश …उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ को जोर से पकड़कर अपनी कमर को ऊपर उठा लिया. कुछ देर बाद वो कपड़े धोकर बाहर आईं तो मुझे देख कर मुस्कुरा रही थीं.

मैं बस चाहता था कि जैसे पॉर्न में थ्रीसम के वक्त तीसरा पार्टनर बिना सेक्स किए सपोर्ट करता है, वैसे आप भी सपोर्ट कीजिये न.

मेरी एक गर्लफ्रेंड थी, जो बरेली में ही मेरे साथ रहती थी और वहीं पर जॉब करती थी. इसे हटाऊं फिर?”वहां के भी बनाओगे क्या?” उसने मेरी आँखों में झांकते हुए पूछा और मेरा दिल धड़क के रह गया।मैं अटपटाया सा उसे देखने लगा जैसे फैसला न कर पा रहा होऊं कि हां कहूँ या न और मेरे असमंजस को देख वह एकदम हंस पड़ी- इतना सोच क्या रहे हो. मैं हॉल में बैठ कर टीवी देख रहा था कि रात के करीब 2 बजे मामी के रूम का दरवाजा खुला.

दरवाजा खोलने में इतनी देर? दीदी नहीं तो दोस्तों की महफिल? बताऊं क्या दीदी को कि जीजू को सामान उठाने का भी होश नहीं था. दोनों ने तनिक भी समय नहीं गंवाया और फुर्ती के साथ अलग होकर तारा ने कुतिया की भांति आसन ले लिया. पूरे 6 दिन हमारी चुदाई नहीं हुई थी, तो मेरी चुत में खुजली हो रही थी.

लालकिले से बाहर आये तो एक बज चुका था और हमें हल्की हल्की भूख भी लग आई थी. मेरी सेक्सी स्टोरी पर आप अपने विचार मुझे मेरी मेल पर भेजें![emailprotected].

शाम को मैंने मामी से मज़ाक में ही बोला- मामी आज आपने कुछ देख लिया था क्या?तो मामी बोलीं- हां मैंने तो बहुत कुछ देखा है. ज्योति बहुत ज्यादा कामुक होने लगी और जोर जोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी. उसने शीतल को कहा- आज रात पैकिंग कर लो, कल सुबह की ट्रेन से हम निकलेंगे.

मैं काफी टाइम से अन्तर्वासना में आप सभी की सेक्स स्टोरी पढ़ रहा हूँ और आज मुझे लगा कि मैं भी आपके साथ अपनी स्टोरी शेयर करूँ.

चुदाई की बातें तो नहीं होती थी पर एडल्ट जोक्स आपस में बहुत किया करते थे. तारा मेरी तरफ देखती हुई बोली- यहां मोबाइल काम नहीं करता, इसलिये किसी भी मुसीबत में संपर्क करने का यही तरीका है. इसके बाद थोड़ी देर तक हमने बातें की, लेकिन बातें करते समय वो बोल रही थी और सांसें ले रही थी, तो उसके मम्मे ऊपर नीचे हो रहे थे.

उनसे कोई बातचीत नहीं हुई, बस मेरे ससुर उनको मेरे बारे में बताते रहे. तारा ने मुझे बताया कि कुछ मर्द ऐसे भी होते हैं, जिनको अपनी गुदा में लिंग लेना पसंद होता है.

तभी उसकी गांड ने मेरे लंड को एक झटका सा मारा, मैं समझ गया कि इसको लंड की चोट चाहिए. अचानक मुझे इस बात का ख्याल हुआ और मैंने जल्दी से उसको चूमना छोड़ कर आगे बढ़ने से मना किया. उनके ऊपर चढ़कर उनकी चूत पर अपना लंड सैट किया और उनको कसके अपनी बांहों में जकड़ कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर उन्हें किस करने लगा.

स्वाति नायडू की सेक्सी वीडियो

वो कुछ समझ नहीं पा रही थी, तभी रशीद ने उसके बालों को सहलाते हुए उसके बालों की तारीफ करना शुरू किया और सुनील बदन की खुशबू लेने लगा.

स्टॉप का बटन जो एना ने दबाया था, वो अपने आप बाहर आ गया और लिफ्ट चल दी. अब मैंने अपना हाथ उनकी मैक्सी के अन्दर से ही मम्मों पर से हाथ हटाकर उनकी चूत को सहलाने लगा. मैं कुछ कुछ समझ तो गया था, सो मैं जल्दी से उनके बगल में ही लेट गया.

करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद, वह धीरे-धीरे सिसकारियां लेते हुए कहने लगी- आअह्ह … आअह्ह … जानू बहुत मजा आ रहा है … उम्म्ह… अहह… हय… याह… और जोर से पेलो … ऊऊऊह ओहोहह … और चोदो मेरे राजा … आआह्ह्ह … ऊऊइईई … मरर्रर गयी मेरे बलमा … मुझे अपनी रानी बना लो … मेरी जान … चोदो आह … बहुत मजा आ रहा है … ऑऊईईई ऊईईई माँ … मेरी चूत को फाड़ दो मेरे साजन … बहुत मजा आ रहा है … आआह्ह्ह उऊंहह और तेज़ करो. उसने बोला- पंकज मुझे ज़रा भी अहसास नहीं था कि तू यूं ही अचानक डाल देगा. नेपाली सेक्सी मूवी एचडीपहली चुदाई की कोशिश चादर ओढ़ कर की, जिससे होटल के अन्दर छिपे कैमरे से बच सकें.

बहूरानी ने देखा तो उसने खुश होकर मुझे अपने होंठों से चूमने का इशारा किया. लड़की वालों के यहां तक बारात पहुँचते पहुँचते कम से कम दो घंटे तो लगेंगे ही.

आज उनकी बातें कुछ ज्यादा ही वासना भरी हुई थी और कल की चुदाई से वो दोनों कुछ ज्यादा ही खुल गयी थीं।यह खुलापन, ये बिगड़ी बातें … यही तो याराना था और यही तो हमें चाहिए था।सायंकाल को सामूहिक चुदाई का आयोजन होना था।कहानी जारी रहेगी. रेग्युलेटर का थोड़ा सा प्रोब्लम है… तेल डाला है, अभी शायद सिलेंडर में भी तेल लगाना पड़ेगा क्योंकि वो रेग्यूलेटर में नहीं जा रहा है. फिर एक दिन चाचा चाची को कोलकाता घुमाने के लिए अपने साथ लेकर गए और बच्चों को भी साथ में ले लिया.

मैं दाएं मुड़ा और एक गेट खोलकर खुले वातावरण में आ गया, लेकिन ये तो पार्किंग थी, जिसका बाहर निकलने का रास्ता बाहर से बंद था. संपत जी मेरी मम्मी के पास कुछ बात कर रहे थे, पर उनकी नजर मम्मी की चुचियों पर थी. वो चुदाई के आसनों से अभी अंजान थी, इसलिये मैंने उसे अपने ऊपर किया और उसकी चूत पर लंड सैट करके उसे ऊपर नीचे होने के लिये कहा.

मैंने उससे पूछा- क्या बाकी के लैटर्स नहीं लेना है?वो हंस दी और बोली- अब मुझे कोई डर नहीं है.

मैं सर का लंड देख कर हैरान रह गया था इतना बड़ा लंड देखा, तो एक बार के लिए तो गांड फट गई. हम दोनों को चुदाई करते करते बहुत पसीना आ गया था तो मैंने अपने बेडरूम का कूलर चालू कर दिया और हम दोनों आराम से ठंडी हवा का मजा लेते हुए सेक्स करने लगे.

कुछ देर हम दोनों ने बात की उसे मेरा व्यवहार अच्छा लगा और मुझे भी उसका स्वभाव पसंद आया. वो अपने पापा से बोली- पापा?अशोक- हाँ मेरी जान?मयूरी- क्या मैं आपका लंड चूस सकती हूँ?अशोक- बिल्कुल मेरी जान… मुझे बहुत ख़ुशी होगी… तुम्हें शायद नहीं मालूम पर मैंने कई बार अपने सपने में तुम्हें अपना लंड चुसाया है… आज वो सारे सपने पूरे कर दो मेरी सेक्सी बेटी. गाँव की बाला जिसने अभी तक अपने खेत खलिहान ही देखे थे या आसपास कहीं किसी कस्बे में कभी कभार जाना हुआ होगा.

मैं तो पागलों की तरह उनको देख रहा था, वो जानती थीं कि मैं उनसे क्या चाहता हूँ. मैं पल्लवी के ऊपर से उतरकर उसके बगल में आ गया।एक बार इस अमृत को पीकर देखो, अच्छा लगेगा।” मैंने पल्लवी को आग्रह किया. उसने जब कहा कि रात को वहीं रहना पड़ेगा और वो अकेली लड़की है, तो मेरी खुशी का ठिकाना ना रहा.

इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ कम्मो ने मेरे सीने को कुछ देर तक निहारा और फिर उठ कर मेरी छाती से लग गयी और अपना मुंह वहीं छुपा कर गहरी गहरी सांस लेने लगी, फिर वहीं पर दो तीन बार चूम लिया. बस, अब तो हो गया, यह आखिरी दर्द था … बस थोड़ा सा और सह लो … फिर सब ठीक हो जाएगा.

सेक्सी वीडियो डॉट कॉम गाने वाली

मैंने उसके होंठों को अपने होंठों की गिरफ़्त में लेकर चूसना शुरू किया और अपना हाथ उसके शरीर पर फिराना शुरू किया. अब उन्होंने मेरा ब्लाउज खोला और ब्रा के ऊपर से मेरे मम्मों को दबाने लगे. अंकित मेरे पैरों तरफ से आया और सबसे पहले मेरे मेरे पैर के अंगूठे को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा और फिर उसने मेरी टांगों को चूमना शुरू किया.

जब मुझे पता लगा, तो मैंने कहा कि उसे कल घर पर बुलाओ, मैं उससे मिल कर सोचती हूँ कि क्या करना है. उधर से उन्होंने बोला- ठीक है तो 3 बजे तुम दोनों बाहर आजो, मैं तुम्हें शॉपिंग के लिए ले जाऊंगा. एड़ी दर्द के लिए योगउसके बाद मैं अपने हाथ बैगों के नीचे से ले जाकर उसकी जांघों पर फिराने लगता.

माइक ने भी पूछा- क्या तुम्हें मजा आया?उसने उत्तर दिया कि ये मेरे जीवन का मेरा सबसे अच्छा पल था.

वो समझ नहीं पा रहा था कि यह क्या हो रहा है? अभी सुबह ही तो उसने अपनी इस क़यामत जैसी दिखने वाली दीदी को अपना लंड चुसाया था. मीना बाज़ार तो एक तरह से इन छोरियों के मतलब का ही है, इन्हीं के साज सिंगार का सामान बिकता है वहां.

भाभी हांफ़ने लगीं तो मैंने उन्हें सीधा करके एक पल के लिए चूत को हल्के से सहलाया और फिर भाभी की चिकनी चौड़ी जांघों को होंठों से काट काट कर चूमने लगा. चुत में से पानी और मेरे माल का मिक्स धार छोड़ता हुआ नीचे गिरने लगा, जिसे स्नेहा ने उंगलियां डाल के ऊपर अपने पेट पर रगड़ लिया. मामी ने हंस कर पूछा कि तुमने मेरा मुँह अपने रुमाल से क्यों पौंछा था?मैंने कह दिया कि तो किससे पौंछता?मामी ने आँख दबा दी और बात बदलते हुए कहा- तुमने अब तक अपनी गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाई?मैंने कहा- कोई ढंग की मिली नहीं.

उसे और ज्यादा मजा आने लगा और कमर उठा उठा कर चुत में उंगली लेने लग गई.

फिर उसके लाल होंठों को जिन्हें मैं रोज चूमने और काट खाने के सपने देख रहा था, उन्हें धीरे धीरे चूमने लगा. वे दोनों मर्द और स्त्री पूर्ण निर्वस्त्र थे और एक दूसरे के साथ आलिंगन कर रहे थे, जबकी मुनीर अपने कैमरे के सामने मुझसे बातें कर रही थी. वे अपने एक हाथ से अपनी एक चूची को मसल रही थीं और दूसरे हाथ से चूत में लम्बा वाला बैंगन डाल रही थीं.

देहाती लडकीमैंने कैब का दरवाजा खोल कर पहले कम्मो को बैठने दिया फिर खुद जा बैठा और हम चल दिए लाल किले की ओर. ये बात मेरे मुँह पर थप्पड़ के जैसा लगा मैंने गुस्से में कह दिया- अगर मैं चाहूँ तो अभी बच्चा तक पैदा कर सकता हूँ.

सेक्सी पिक्चर ब्लू पिक्चर चलने वाली

बाप बेटी सेक्स की इस कहानी के दूसरे भागमम्मी से बदला लिया सौतेले बाप से चुदकर-2में आपने पढ़ा कि मैं कामवासना से जल रही थी, अपने कमरे में ब्ल्यू फिल्म देख कर अपनी चूत में उंगली कर रही थी. फिर मैं झड़ने वाला था, मैंने स्पीड बढ़ाई और जैसे ही निकलने को आया, मैंने लंड बाहर निकाला और गांड के ऊपर छोड़ दिया. दीदी के मम्मों को देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता था और पैंट में तंबू बना देता था.

फिर 15 मिनट बाद कुछ लाइट जली और रोशनी हमारी तरफ आने लगी तो हम समझ गए कि कार आ रही है. वो ऊपर नीचे होकर झटके मारने लगी और मैंने उसके एक निप्पल को मुँह में ले लिया और दूसरे चूचे को हाथ से दबाने लगा. तब तक मैंने भी बिना झड़ा लंड पैंट के अन्दर कर लिया और अपने घर वापस आ गया.

ऐसे ही मौका देखकर एक दिन मैंने उसे प्रपोज कर दिया, तो उसने मुँह बना दिया. फिर वो भैया जब भी मेरे घर आते, मैं उन्हें प्यारी सी स्माइल दे देती, वो भी हँस देते. सुन्दर गोल सा चेहरा, उमड़ते यौवन से भरपूर मजबूत सुगठित बदन जो कि सिर्फ मेहनत करने वाली कामिनियों का ही होता है.

वो साड़ी में गजब ढा रही थीं, चूतड़ मस्त दिख रहे थे, ब्लाउज में चुचे उभर के आए हुए थे. अब मैंने मुस्कान से कहा- जान, मैंने तो तुम्हारी चूत को गीला कर दिया है, अब मेरे लंड को भी थोड़ा प्यार दे दो.

मैंने उसकी टांगों को फैला कर उनके बीच में खुद को सैट किया और लंड को अपने हाथ से पकड़ कर उसकी चुत की फांकों में लगा दिया.

फिर रजत ने मयूरी को उठाया और उसके गुलाबी रसीले होंठों पर अपने होंठ रख दिए. उसकी वासना भरी आवाज मुझे लुभा रहा थीहां यस गई ऊंउउउ हाहहह… यस्सस…ये कहते हुए जोर से भींचते हुए चूतड़ उछाल उछाल कर झड़ने लगीं. सेक्सी पिक्चर वीडियो हिंदी मेंशीतल को भी यह बात स्पष्ट हो चुकी थी कि उसके दोनों बेटे अपनी मॉम को एक साथ ही चोदने वाले हैं. मेरे 80 किलो के शरीर के भार से बिस्तर पर मेरे नीचे दबी मेरी मामी हिल भी नहीं पा रही थीं.

मुझे बस मम्मी और पापा तब डांटते हैं जब मैं कभी कभी कभी गलती से ड्रिंक कर लेती हूँ.

थोड़ी देर बाद मैंने उनका घाघरा गांड तक ऊपर उठा लिया और मौसी की गांड के छेद में जुबान डाल कर गांड के छेद को चाटने लगा. हजबैंड तो साला गांडू निकला मादरचोद को मेरी परवाह ही नहीं है भैन का लौड़ा पैसे कमाने में ही लगा रहता है. मैं और मेरे पति बहुत दिनों से इस साईट पर चुदाई की कहानी पढ़ रहे हैं.

खैर 2-3 मिनट तक रेस्ट करने के बाद वो अन्दर बाहर अपने लंड को करने लगा. ही ही ही हीमाइक- हाँ सही कहा, वरना मैं हमेशा मुनीर के साथ उसको झाड़ने के प्रयास में थक के चूर हो जाता हूं. मगर सर, वो साधारण तरह से रहने वाले हैं, उन्‍हें आपके घर पर आने में कुछ झिझक हो सकती है.

सेक्सी पिक्चर 16 साल की लड़की की

मुझे मेरे लंड पे गर्म खून का अहसास हुआ और साथ उसके पानी से लंड पे बहुत गर्म अहसास होने लगा. मेरे पूछने पर उसने बताया कि वो काफी दिनों से किसी से नहीं चुदी है तो चूत टाइट हो गयी है. इतनी देर में शीतल रसोई से एक कटोरी में सरसों का तेल लेकर कमरे में दाखिल हुई.

राज अंकल अंकित के सगे फूफा हैं, अंकित राज अंकल से बोला- फूफा जी, किसी को मत बताना, मैं वन्द्या की चुदाई आप लोगों से अच्छे से करवा दूंगा, कोई दिक्कत नहीं है, यह बहुत सेक्सी लड़की है, बहुत चुदाती है और इसका कोई जवाब भी नहीं.

उनका पति सुबह जाता था और रात को ही आता था, जिस कारण वो अपनी सारी बातें मुझे बता देती थीं.

मेरी चूत पीछे से खुल गई और उस पीछे वाले ने अपना कड़क लंड मेरी चुत में फंसा दिया. शायद आज से भाभी ही सब काम कर देंगी, पर डर के मारे मेरा पूरा बदन काँप रहा था. सेक्सी ओपन सेक्सीबाकी ये आगे की कहानी है, इसमें प्रिया की चूत से लेकर उसकी गांड की चुदाई तक सब होगा.

जब मैंने लड़की दिखाने की बात की तो एक नेपाली और एक इंडियन जिसकी उम्र करीब 28 से 30 साल की रही होगी, बेहद गोरी और बहुत कामुक दिख रही थी, उसके उभार बड़ी बड़ी चूचियां साफ दिख रही थी. अब मैं उठ गया, फ्रेश हुआ और उसके बाद जब बाहर चाय पीने आया तो वहां पर मुझे सीमा के घर में कोई नहीं दिखा. तो वह हँस कर बोली- जब तुम साथ हो तो कैसे कंट्रोल में होगा।और फिर मैंने उसको धक्का देकर बेड पर पटक दिया तो वह बोली- कितने जालिम हो!मैंने कहा- आज मैं तुमको अपना जालिमपना दिखाता हूँ.

उसके बाद हम दोनों ने खाना खाया और फिर जब मैं सोने वाला था, तो वो मेरे पास आई और बोली- कपिल कुछ कहना है. एक दिन रात को वो मुझसे से मैसेज के थ्रू बात कर रहे थे, तभी उन्होंने मुझसे पूछा कि क्या मैंने कभी सेक्स किया है?तो मैंने भी कह दिया- हां.

मेरे घर में से सब लोग बाहर गए हुए थे तो मैं भी जोर जोर से चिल्लाकर उससे चुदवा रही थी.

आज मौसी मेरे साइड में आकर सोफा पे बैठ गईं और मुझसे इधर उधर की बातें करने लगीं. जीभ को गोल कर के उसके नमकीन पानी से भरे छेद में घुसाया और जहां तक संभव था, अंदर ले गया. फिर 2 हफ़्तों के लंबे इंतज़ार के बाद 12वीं का लड़का आकाश मुझे प्रपोज़ करने आया, वो मुझे काफी दिनों से देखता रहता था पर कुछ नहीं बोलता था.

गेम स्पेस उसने बताया कि उसके पति एक बड़ी कंपनी में बड़े ओहदे पर हैं, जिसके चलते वे उसको ज्यादा टाइम नहीं दे पाते हैं. मैं- चोदूँ?चाची- हां चोद!मैं- ये लो … ये लो … ये लो!बस यही बोलते हुए मैं फिर से चाची को चोदने लगा.

थोड़ी देर पहले जो लड़की उसे अपनी बेटी नजर आ रही थी अब उसमें उनको कुछ और नजर आता है. मुझे मालूम हो चुका था कि मनीषा जाग रही है, फिर भी मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा और हल्का सा ज़ोर लगाया. फिर मैंने भी देर ना करते हुए भाभी के सारे कपड़ों को उतार दिया और अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थीं.

फैमिली सेक्सी कहानी

फिर मैं उसके बूब्स दबाने लगा और कुछ देर बाद मेरा हाथ उसकी पावरोटी जैसी फूली हुई चूत तक पहुंच गया. बस ऐसे ही पड़े रहो और मुझे इस मजे को महसूस करने दो।”मैं खामोशी से उसी अंदाज में पड़ गया और वह मुझे जकड़े जैसे किसी और दुनिया में पंहुच गयी थी. दीदी की मस्‍त सिसकारी के साथ मैं अपनी दीदी की प्यारी चुत को चाट रहा था।तभी दीदी ने मेरे सर को अपनी चुत पर दबोच के अपना पानी छोड़ दिया।मैं भी दीदी का पानी पी गया पूरा का पूरा और दीदी को अपने ऊपर लाकर कर अपने लंड को दीदी के चुत पर सेट किया और अंदर घुसाने लगा तो मुझे हल्का हल्का सा दर्द होने लगा.

मैंने उससे कहा- जानेमन मेरा भी पानी निकलने वाला है … कहाँ निकालूं?तो उसने कहा- आज मैं सभी प्रकार से सभी सुख लेना चाहती हूँ … इसलिए अन्दर ही निकाल दो मेरी जान. मैंने भी जल्दबाजी नहीं की और धीरे धीरे उसकी छाती को चूमना सहलाना शुरू कर दिया.

फिर वो अचानक से बोली सिसकारी लेती हुई- इ… इ… इ…रजत- क्या हुआ दीदी?मयूरी- अरे नीचे तुम्हारी जेब में कुछ है शायद… वो मुझे नीचे वहां चुभ रहा है.

नाम रिश्ते का चाहे कुछ भी हो,तलाश सिर्फ सुकून की होती है…”अगले किस्से तक के आज्ञा दीजिए दोस्तो!खुश रहिए, खुश रखिये. अन्दर का नजारा देख के वो हंसने लगी और मेरे कमीने दोस्त उसे हवस भरी नजरों से देखने लगे. और चाचा चाची को मत बताना!तो वो मेरे गले लगकर रोने लगी और बोली- ऐसी बात नहीं है, मैं भी वही चाहती हूँ जो तुम चाहते हो, मेरा पति मुझे संतुष्ट नहीं कर पाता है.

उसने तुरंत हां कर दिया, लेकिन मैं तो उसे चोदने के सपने पहले से ही देखता था. उसके बाद मैं थोड़ा फ्रेश हुआ और फिर खाना ख़ाकर मैंने मौसी से कहा- मैं बहुत थक गया हूँ, सोने जा रहा हूँ. सर मेरी लुल्ली को हिलाने लगे, थोड़ा सा हिलाते ही मेरी लुल्ली लंड बन कर बड़ी हो गई.

कुछ तो पहली बार चूत मिलने का नशा, कुछ दारू और ऊपर से वियाग्रा का असर.

इंडियन बीएफ हिंदी बीएफ: जब थोड़ा लिंग अन्दर घुसा, तो उसने दोनों हाथों से तारा की कमर को पकड़ कर धक्के लगाने का प्रयास किया, पर लिंग फिसल कर योनि से अलग हो गया. पांच मिनट यूं ही चोदने के बाद मैंने मौसी की चूचियां मसलते हुए उनके कान में कहा- मेरी घोड़ी.

कुछ ही पलों में मेरा पानी निकला, तो मैंने अपना लंड सीधा उसके मुँह में दे दिया. तभी वह खुद को ऐंठते हुए बोली- मेरा कुछ निकल रहा है … मेरा शरीर अकड़ रहा है. रजत थोड़ी देर मयूरी को गहरा चुम्बन देने के बाद उससे अलग हुआ और नीचे बैठ गया.

भाभी मेरे सामने सलवार और ब्रा में पड़ी हुयी कामुक नजरों से मुझे देख रही थीं.

दोस्तो, मैं आज आपके साथ अपनी पहली सच्ची स्टोरी शेयर करना चाहता हूँ. अब वो मयूरी की दो विशाल चूचियों का बिकुल सामने से दर्शन कर पा रही थी, साथ ही साथ वो उसकी चूत और उसके आस-पास के क्षेत्र जैसे गोरी-गोरी जांघों को बिल्कुल सामने से देख पा रही थी. घर आकर मैंने खाना खाया, मम्मी पापा से थोड़ी बात की और आराम करने के लिए लेटा ही था कि भाभी हमारी बाल्टी लेकर आ गईं.