एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन

छवि स्रोत,ब्लू पिक्चर लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

फ्री सेक्सी बीएफ: एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन, इधर मोहन लाल ने मयूरी के होंठों के रस का स्वाद लेते हुए पहले तो उसका दुपट्टा निकाल फेंका.

जीजा साली की चुदाई हिंदी में

इस तरह चुदते हुए थोड़ी देर बाद वो झड़ने लगीं और जोर-जोर से अपने चूतड़ों को मेरे लंड पे हिलाते हुए वो शांत हो गईं. सनी सनी लियोन की सेक्सी वीडियोमैंने भाभी को संभलने का कोई मौका ना देते हुए तुरंत बेड पर खींचकर घोड़ी बनाया और एक तेज झटका मारते हुए पूरा लंड एक बार में पेल दिया.

एक दिन रात को मैं और शहजाद ऊपर संजय के कमरे में कुछ काम से गए और वापस आते वक्त मैं अपना मोबाइल उसके कमरे में ही भूल आई, जिसका पता मुझे देर रात बेडरूम में सोते वक्त चला. क्सक्सक्स चुड़ैअगली सुबह रोशनी जल्दी क्लास में आ गई और उसने मुझे मुस्करा कर देखा, मैंने उसे टालना शुरू कर दिया.

भैया ने ताकत से अपना लंड बाहर निकालने की बहुत कोशिश की, पर अब उन्हें भी बहुत दर्द हो रहा था.एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन: मैं चिल्ला उठी और बोली- प्लीज छोड़ दो, मैं मर जाऊंगी!मेरे आंसू निकल रहे थे पर वो चोदना बंद नहीं किए बल्कि मुझे गाली दे रहे थे, बोले- आरती तुम तो फ्रेश माल हो, आज से छिनाल बनी हो साली रण्डी, अब बिना लंड के तू एक दिन भी नहीं रह पायेगी।और मैं लगातार रोती रही इतना दर्द तो पहली बार जब करवायी थी, मेरी सील टूटी थी तब भी नहीं हुआ था। करीब बीस मिनट तक वो दोनों चोदते रहे और मैं रोती रही.

आपको मेरी हिंदी पोर्न स्टोरी कैसी लग रही है?मुझे सबकी प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा.माया के उछलते हुए मम्मों को देख के अंकित और उत्तेजित हो रहा था और माया के चुत की गर्मी अंकित की हवस को और भड़का रही थी.

गुप्ता सेक्स - एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन

बाथरूम में एक किनारे पे उनकी नाईटी रखी थी, जैसे ही मैंने उसको उठाया, उसमें से उनकी ब्रा और पैन्टी नीचे गिर गई.फिर मयूरी खुद ही दरवाज़े की तरफ बढ़ी और ऐसे झुकी जैसे पीछे से मोहन लाल को अपनी गांड के दर्शन करवाना चाहती हो और दरवाज़े को अन्दर से बंद करने की कोशिश करने लगी.

उनका प्लान शायद पहले से ही सैट था कि मेरे सामने कोई अडल्ट वीडियो लगाया जाए, जिससे मैं उनकी तरफ़ अट्रेक्ट हो जाऊँ. एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन ’ निकल गया और दीदी ने मुझे कमर से पकड़ कर अपनी टाँगें मेरी टाँगों में फंसा दीं.

माधुरी के पास साधारण सा फोन था तो मंजरी उस फोन से पुलकित को मिस काल करके उससे खूब बातें करती थी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन?

गरम कहानी शुरू करने से पहले मैं अपने नए पाठकों को अपने बारे में बता दूँ. हम तीनों भाई बहन इस जोरदार चुदाई से संतुष्ट होकर अपनी सांसों पर नियन्त्रण पाने की कोशिश करने लगे. संजय मेरी गरदन को दोनों तरफ से बेतहाशा चाट रहा था, जिससे संजय की लार से मेरी गरदन पूरी गीली और लाल हो चुकी थी.

फिर उन्होंने मेरी साड़ी उतार दी और मेरे पेटीकोट का नाड़ा खींच कर खोलने लगे. मैं समझ गया कि स्वाति बहन की चूत का पानी निकलने वाला है, मैंने भी अपनी गति बढ़ा दी. तभी मैंने तेज तेज धक्के मार कर मैंने अपना सारा वीर्य छाया भाभी की प्यासी चुत में छोड़ दिया.

माया ने अपने दोनों हाथ अंकित के सीने पे रख रखे थे और अंकित के लंड पे उछल रही थी. मैंने कह- भाभी, आप इसे मुँह में लेकर प्यार करोगी?वो बोलीं- नहीं ये सब मुझे पसंद नहीं है जानू. चचा माँ माल मेरी चूची और पेट पर गिरा जिसे चाचा ने मेरी ही पेंटी से पौंछ दिया.

फिर मैंने उसकी कमर पकड़ कर एक जोर का झटका मारा और लौड़ा पूरा का पूरा एक ही चोट में अंदर… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आआ… भै. विनोद ने खुश होते हुए मुझे बताया कि यहां पे कल मेरी कजिन की शादी है.

जब तक मैं जोर से झटका नहीं मारता मेरा लंड उसके अन्दर पूरा नहीं जाता.

गाड़ी जब स्टेशन पर रुकी तो मेरे भैया जो मुझसे 2 साल बड़े थे, उन्हें मैंने सीट नंबर बताया था.

कुछ देर तक उसकी चूत के दाने को सहलाने के बाद वह फिर से थोड़ी शान्त हुई. अब बारी मेरी थी, मैंने भाभी के और मेरे बाकी के कपड़े निकाल दिए और दोनों नंगे हो गए. आपको यह पोर्न हिंदी कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर बतायें![emailprotected]है।आप hangout से भी बात कर सकते हैं।.

नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम जतिन है, मेरी उम्र 28 साल है, मैं ठाणे महाराष्ट्र का रहने वाला हूँ. आगे वाला मेरे निप्पल को काट खा रहा था तो पीछे वाला मेरी पीठ पे अपने दांत गाड़ रहा था. ”मुझे बहुत दर्द होता है और मेरी ये हाल देखकर पिंकी मुझ पर हंसती है, तो मुझे बहुत गुस्सा भी आता है.

उन्होंने अपने लाल होंठ खोल करके मेरे लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगीं ‘उउंम उउंम उम्म…’इसके बाद वे मेरे लंड के नीचे मेरी दोनों गोलियों को मुँह में लेकर चूसने लगीं और लंड को खींचने लगीं.

फिर ऐसे ही वीडियो देखते वक्त उनके शादी की वीडियो आई, तो मैं उनसे पूछने लगा- आपकी शादी कब हुई और आपके बच्चे किधर हैं?इस सवाल से मधुरा का थोड़ा मूड खराब हुआ और वो बोलने लगीं कि उनके पति मुझसे प्यार नहीं करते, वो बस अपने जॉब और पैसों से प्यार करते हैं. मैं ऐसे रिएक्शन से घबरा गई और अपने आपको देखने लगी कि कहीं मेरी ड्रेस में कोई दिक्कत तो नहीं है. मैंने जैसे अपना चेहरा स्टेरिंग की तरफ किया तो देखा कि भाभी के पापा गाड़ी में आगे वाली सीट पर बैठे एक हाथ से अपना लंड रगड़ रहे थे और एक हाथ में मोबाइल से मेरा वीडियो बना रहे थे.

मैंने भी उन्हें अपनी गोद में उठाया और बिस्तर पर उल्टा लेटा कर उनकी नंगी पीठ पर जीभ फिराते हुए उनकी ब्रा का हुक खोल दिया. राज डोगी पोज में झुका हुआ था और करण उसकी गांड खोल कर मस्ती में चाट रहा था, उसका चेहरा राज की गांड में था. ”ठीक है रवि ले जाओ इसे, तुम कल्याणी का अच्छे से टेस्ट लेना तब तक मैं रेस्ट ले लेती हूँ.

फिर बहूरानी ने मुझ पर बैठ के मेरा सुपारा अपनी चूत के छेद पर सेट किया और लंड को दबाने लगी.

पर मैंने थोड़ी सी खोल रखी थी। मधु को लगा कि मैं सो गया हूँ।मधु ने पूछा- कौन?बाहर से आवाज आई दीदी खाना लग गया है. चूंकि सुधा ने सब कुछ पहले से ही फ़ोन पर तय कर रखा था तो प्रिया पहले से ही तैयार थी.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन मैंने एक शॉप से एक सेक्सी सी ड्रेस ली और सेक्सी सी ब्रा पेंटी का जोड़ा लिया. मैंने जैसे तैसे अपने आपको कंट्रोल किया और चाची को बोला- आप मेरे कंधे पे हाथ रख कर रूम तक चलो.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन उसने मुझे फिर चोदा और मैं फिर झड़ गयी और फिर थोड़ी देर बाद वो भी झड़ गया. तभी वो बाक़ी सभी औरतों से थोड़ा पीछे चलने लगी और मेरे तरफ देख कर हंसने लगी और तभी मैं उसके पास गया, उसका नाम पूछा.

जैसे ही उसने लंड चुत के अन्दर लिया, उसकी आँखों से दर्द के आंसू निकल गए.

भाई बहन का सेक्सी वीडियो जंगल में

मैंने देखा मेरी बहन सो गई और फिर मैंने रज़ाई को अपने सर तक खींच लिया और भाभी को किस करने लगा. अब मुझे शर्म आ रही थी क्योंकि वो मुझे घूर रहा था।फिर उसने मेरी पेट की मसाज की. अब भाभी की चुदाई का वक्त आ गया था, मैं उनको उठा कर बेड पे ले गया और उनको बोला कि आप मेरे ऊपर आ जाओ.

शुरू में भाभी मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही सहला रही थीं, फिर उन्होंने मेरे कपड़े उतार कर फेंक दिए. 10 मिनट तक चूत चाटा तो उसने बहुत जोर से मेरा सर दबाया चूत में और कहने लगी- मेरे रा आ…जा आ आ… मैं तो गयी बस।और उसका पानी निकल गया।मैंने पूरी चूत चाट के साफ कर दी। फिर उसे चूमने लगा और धीरे धीरे उस के बूब्ज दबाने लगा, वो फिर गर्म होने लगी तो मैंने अपना औजार उसके मुंह में डाल दिया, वो लॉलीपॉप की तरह लंड को चूसने लगी। फिर से मैंने उसकी चूत को चाटना स्टार्ट किया तो वो गर्म हो गयी. मेरा नाम स्वयं है। मैं ऑफिस के काम से डलास शहर जो कि टेक्सास(अमेरिका) में है.

मैं- बोलो दीदी, क्या बोलती हो, मेरा लंड भी अपने नर्म और पिंक लिप्स में ले के चूसोगी या मैं ये वीडियो करण को दे दूं?दीदी- सन्नी, मैं तेरी बहन जैसी हूँ; तू मेरे साथ ऐसी हरकत करना चाहता है?मैंने सोचा कि अब इसको क्या बताऊँ कि मैं तो अपनी बहन को भी चोदना चाहता हूँ- दीदी फालतू की बात मत कर बोलो, यस और नो?वो चुप रही कुछ देर!मैं- दीदी जल्दी बोलो, वर्ना मैं चलता हूँ, कॉलेज और सबको ये वीडियो दिखाता हूँ.

इस हिंदी सेक्स स्टोरी के पहले भागबॉय से कॉलबॉय का सफर-1में अब तक आपने पढ़ा कि अन्तर्वासना पर मेरी सेक्स कहानी पढ़ कर एक भाभी मधु ने मुझे मेल की, वो अपनी मजबूरी से भरी कहानी को मुझे सुना रही थी। वो अपने पति के छोटे से लिंग के बारे में बता रही थी।अब आगे. इधर घर में जब अकेली होती तो पेटीकोट और ब्लाउज में ही बनी रहती या फिर कभी कभी गाउन के अन्दर कुछ भी नहीं पहनती थी. मेरे बैग में पानी की बोतल थी, मैंने सीमा को कहा- बैग में से पानी की बोतल निकाल कर इसे धो ले!लेकिन उसने बोतल निकाल कर तौलिया गीला करके उससे मेरा लंड पौंछ कर ही मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

उसको बिस्तर में इस्तेमाल करने की बड़ी आस मन में हमेशा से थी, है, और रहेगी. कुछ मिनट के बाद साफ सफाई करके मैंने अपने कपड़े पहने और घर जाने के लिये तैयार हो गया. बहन और माँ की चुदाई देख कर मेरे दिल में तुम से चुदवाने की इच्छा जागृत हो गई है.

सच में क्या सेक्स की मादक खुशबू आ रही थी, क्योंकि भाभी की चूत एक बार पानी छोड़ चुकी थी. कुणाल जैसे अजनबी से चुदवाने की बात कर रही हैं, उन्हें इज़्ज़त का डर नहीं है?कल्याणी- उनकी जुबान से मोहल्ले के सब लोग डरते हैं.

और दूसरी मेल में उसने अपने बारे में बताया था कि मेरा नाम आरती (बदला हुआ नाम) है, मैं ग़ाज़ियाबाद से हूँ और मैं शादीशुदा महिला हूँ. भाभी एकदम माल हैं, उनकी नशीली आँखें, गुलाबी पंखुड़ी जैसे होंठ, मस्त नरम चूचे, पतली कमर, गहरी और गोल नाभि, मस्त उठी हुई गांड. उन दिनों हमारे घर का मरम्मत का काम चल रहा था, इसलिए हम सभी एक फ्लैट में रहने आ गए थे.

इतने दिनों का सब्र का बांध टूट पड़ा, मैं भलभला कर झड़ गई और पूरी तरह से उनके मुँह को चूतरस से भर दिया.

जब उनको लगा गांड ढीली हो गई तो उन्होंने अपने लंड पर थूक लपेटा और मेरी गांड पर टिका कर अपनी एक टांग मेरी कमर पर रखी और जोर का धक्का दे दिया. तो रसोई में आ जाओ।मुझे भी टीवी थोड़ी न देखना था। मैं भी अपना खड़ा हुआ लण्ड ठीक करने बाथरूम में चला गया। थोड़ी देर बार जब मैंने ड्रावर में देखा. अन्तर्वासना के पाठको, आपको मेरी चाची की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे बताएं, आपके मेल का इन्तजार रहेगा.

अब ममता भी धीरे धीरे उत्तेजित होने लगी और मेरे बालों को सहलाने लगी. ” डायरेक्टर के इशारा करते हुए कहने पर, फिर ब्रायन ने राधिका को रोका और मम्मी को बेड पर गिराकर उनकी साड़ी खोलने लगा.

वक़्त बीता और जब हमारे ऑफिस के पुराने अफसर का रिटायरमेंट आया तो उन्होंने सबको अपने घर पे बुलाया. ”अंकल की बात से मैं रोमांचित हो उठी, मेरे जिस्म में स्टीव के सहलाये जाने के कारण सिरहन सी हो रही थी. इस वजह से उसकी चूत में चिकनाई बढ़ गई और सुरेश का बड़ा लंड आराम से अन्दर बाहर आने-जाने लगा.

मूवी हिंदी सेक्सी वीडियो

जीन्स का मुझे कोई शौक नहीं है।यह कहानी उस वक्त से शुरू होती है जब मैं अपनी पढ़ाई कर रही थी। मेरी गाण्ड पीछे को निकलने लगी थी और मम्मे एकदम फूल गए थे.

ठीक है सब कुछ उतार के इस बिस्तर पर सीधे लेट जाओ, मैं तुम्हारी झांटों की मस्त वी शेप बनाता हूँ. तीन दिन का राशन घर में ही था इसलिए हमने तीन दिन तक कपड़े ही नहीं पहने और घर के अन्दर चुदाई का खेल चलता रहा. मेरे फ्रेंड्स इतने ज्यादा हैं कि कोई ना कोई फोन या मैसेज करता ही रहता है.

मुझे डर भी लग रहा था लेकिन भाभी ने कुछ नहीं कहा बल्कि अपना हाथ ऊपर कर अपने बाल संवारने लगीं. फिर उसने तेल लेकर लंड और मेरी गांड पर लगाया और धीरे धीरे लंड अन्दर पेलने लगा. सेक्सी वीडियो बीपी ब्लूउसके मोटे लंड से मुझे बहुत ही दर्द हो रहा था लेकिन मजा भी आ रहा था.

मैंने अंकल के बारे में जानने की कोशिश की तो मालूम हुआ कि अंकल, उनके एक दूसरे मकान में रहने चले जाते हैं. उसने अपने पत्थर जैसे हाथों से मेरे बोबे ऐसे दबाये कि लाल हो गये और सुजा डाले.

मेरे लंड का मुख उसकी बुर के अंदर था और मैंने हल्का सा झटका दिया तो वो रोने लगी. मेरे बुर चूसने पर उसके मुँह से बहुत ही मादक आवाज़ निकल रही थी, वो अपने मम्मों को दबा रही ही और साथ में मेरे सर को अपनी बुर में ऐसे घुसाए जा रही थी, मानो आज वो मेरा पूरा सर अपनी बुर में घुसा लेना चाहती हो. बहू रानी आगे बोली- यह आपकी चहेती हो गई है, बिगड़ गई है, पूरी की पूरी ढीठ हो गई है, हद कर दी इसने तो बेशर्मी की!तो फिर आ जा मेरी रानी… कुछ नया करते हैं अब इसके साथ!” मैंने कहा- बोलो बहूरानी… क्या ख्याल है?अब और क्या नया होना बाकी रह गया पापा जी… सब कुछ हर तरीके से तो कर चुके आप मेरे साथ.

जिस पटरे के पीछे मैं था, मुझसे दो कदम की दूरी पर मम्मी और फूफा जी थे. भाभी के पापा अपना लंड मेरे मुंह से निकाले और पीछे जाकर मेरी गांड में अपना लंड फिट कर दिया और मेरे कूल्हों का चुम्मा लेते हुए बोले- क्या मस्त उठी हुई तेरी गांड है आरती, आज तेरी गांड मारता हूं!और अपना पूरा लंड मेरी गांड में जोर से डाला एक ही झटके में पूरा भाभी के पापा का लंड मेरी गांड में घुस गया, तो भाभी के पापा बोले- कितनी मस्त चिकनी गांड है, आज तक मैंने नहीं देखी, एक ही झटके में पूरा लंड घुस गया. दीदी- तेरे पर गुस्सा क्यूँ नहीं करूँ, तू भी तो अमित जितना ही कसूरवार है, उसने मेरी वीडियो बनाई लेकिन ब्लॅकमेल तो तूने भी किया ना मुझे, तो क्या फ़र्क है तेरे में और अमित में?मैं- सॉरी दीदी… मैं आपको ब्लॅकमेल नहीं करना चाहता था लेकिन आपके इस खूबसूरत जिस्म ने मुझे पागल कर दिया था, मैं अपने होश खो बैठा था.

हर एक नाते-रिश्तेदारी की कोई ना कोई लड़की और महिला मेरे लच्छेदार बातों के जाल में फंस ही जाती.

सुकुमारी भौजी ने मुझे धक्का दिया, मगर मुझे अहसास तक नहीं हुआ और मैं बेहिचक उनके दोनों संतरों को दबाने लगा. वैसे एक बात बताऊँ आज तुम बहुत अच्छी लग रही हो, इतनी अच्छी कि मैं शब्दों में बयान नहीं कर सकता हूँ.

करीबन पन्द्रह मिनट तक भाभी को हचक कर चोदने के बाद मैंने कहा- भाभी मेरा होने वाला है. जैसे ही मेरे बूब्स देखे, दोनों अंकल ने एक एक बूब जोर से पकड़ लिया और बोले- आरती, तुम्हारे ये मस्त दूध हैं यार कितनों से दबवा चुकी हो?और मेरे दोनों बूब्स को पूरी ताकत से दबा दिये. सख्त और मुलायम चूचियां, हाथों से सहलाने के कारण चूचियों पर लाल लाल धारियां के निशान पड़ गए थे, जिसे देखकर लग रहा था कि ये कश्मीरी सेब हैं.

यह कहानी मेरी और मेरी सेक्सी चाची की है, जो दिखने में बहुत मस्त हैं. तो बात करीब दो साल पहले की है, तब मेरी उम्र 19 साल थी और मई का महीना था, मेरे पेपर को टाइम था तो मैंने सोचा घर जाना चाहिये तो कपड़े पैक किये चल पड़ा रेलवे स्टेशन और वहां बैठा ट्रेन की राह देख रहा था. अब मैं भाभी की जाँघों पर बैठकर उनकी गांड को दोनों हाथों से चौड़ी करने लगा.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन वो अपने होंठों पर जीभ फेरते हुए बोलीं- इतने दिनों बाद एक जवान देसी लंड का माल पीकर मजा आ गया. आप आ गए?फिर वो उठी और उसने अपनी ब्लैक कलर की पैंटी को उठा कर पहन लिया.

देसी सेक्सी देसी सेक्सी देसी

कभी कभी वो मुझे किस भी कर रहे थे और हमारी चुदाई की कामुक आवाजें कमरे में गूंज रही थी. यही सोच कर मैंने कहा- ठीक है ये भी कर दूंगी और कुछ?अवी- नहीं मेरी जान यही मेरा सबसे बड़ा गिफ्ट है. इतना लंबा लंड देखकर ही मैं डर गई, मेरी धड़कन रुक सी गई, अचानक से उसने खींच कर मेरी लेगी पेन्टी सहित उतार कर मुझे झुका के उसका लंड मेरी चूत में बिना थूक लगाये घुसेड़ दिया.

कुछ देर बाद मम्मी ने अपनी नाइटी पहनी और फूफा जी ने भी अपने कपड़े पहने. कुछ रास्ता बता। तो उसने लैपटॉप चलाने के लिए बोला। मैं बोली कि मुझे चलाना नहीं आता। वो बोली कि मैं सिखा दूँगी. ट्रिपल एक्स हिंदीमैंने पूछा कि चूत में मूली क्यों नहीं की?तो बोलीं- मैं चूत की सील लंड से ही खुलवाना चाहती थी.

अब वो आराम से मेरे लंड को मुँह के अन्दर-बाहर करने लगी थी, जैसे बच्चे लॉलीपॉप खाते हैं, उसी तरह वो मेरा लंड चूस रही थी.

कुछ दिनों बाद प्रिया के कॉलेज खुल गए और प्रिया को हॉस्टल भी मिल गया, तो प्रिया हमारे घर से चली गयी. फिर ऐसे ही बात करते करते मैं उससे सेक्सी बात करने लगा कि कब मिलोगी? मुझे किस चाहिए.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग :दुल्हन बन कर भाभी ने सुहागरात मनाई-1. मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ानी शुरू कर दी तो उनके मुँह से आवाज़ निकलने लगी- आह… आआअह… ज़ोर से… चोद दो… उम्म्मक… आआह…करीब 10-15 धक्कों के बाद में रुक गया और अब मैंने बेड पर चित्त लेटते हुए भाभी को अपने लंड पर बिठा लिया. एक दिन मेरे मोबाईल में एक xxx क्लिप गलती से पड़ी रह गई, जिस पर मेरी दोस्त निशा की नजर पड़ी.

उसने कहा- आज काफी सिंपल लग रही हो?मैंने उसकी बात पर कुछ नहीं कहा और कहा- जिस काम के लिए बुलाया है वो करो.

मैं- दिव्या रहती है, मैं कैसे लगा पाऊँगी?अमित- तुमको जब समय मिले तो मेरे कमरे पर 20 मिनट मालिश करवाने आ जाया करना बस फिर देखना क्या कमाल हो जाएगा. इतना कह कर मैंने अपने होंठ भाभी के गुलाबी होंठों पर रख दिए और उन्हें पागलों की तरह चूमने लगा. विवेक ने कामिनी को ऊपर खींच लिया और उसको पूरे बदन में किस करने लगा, मम्मे बुरी तरह से मसलने लगा.

দেশি বৌদি সেক্স ভিডিওपांच मिनट बाद मैं होटल पहुँच गई और रूम की जानकारी ली कि किस फ्लोर पर है. मेरे ऐसा करते ही ममता अपनी आँखें खोलकर मुझे धक्का देने लगी, किन्तु मैंने उसे जोर से अपने से चिपका लिया और लंड को भाभी की चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

हाई-फाई सेक्सी

बेचारी वर्षा फिर भी कह रही थी- माया दीदी आपका तो मैं दिल से शुक्रिया करती हूँ. मैं फिर से उसके होंठों को चूसने लगा और एक हाथ उसके मम्मों पर रख दिया. उसने भी मस्ती में अपनी बुर मेरे मुँह से लगा रखी थी और गांड उचका कर बुर का मजा ले रही थी.

फिर हम दोनों कूपे से बाहर निकले और कम्पार्टमेंट के तीन चार चक्कर लगा डाले ताकि टहलना हो जाय और हाथ पैर खुल जायें. अचानक प्रिया मेरी गोदी से उठी और बिस्तर पर लेट कर याचना भरी नज़रों से मुझे देखने लगी. वो बोली- अब फिर करोगे? इतनी सुबह सुबह?मैंने उसे अपने लंड की ओर इशारा करके दिखाया- इसे देखो, ये जिद कर रहा है!तो वो हंसती हुई बोली- बच्चों की सारी जिदें पूरी नहीं करते… नहीं तो बच्चे जिद्दी हो जाते हैं.

फिर रोहण ने मेरी दो बार चूत मारी और दो बार गांड!मेरे बेटे ने अपनी माँ की पूरी वासना शांत कर दी और मेरी चूत और गांड बंदर की तरह लाल कर दी थी. अब मुझे अपनी बेबकूफी और उसकी चालाकी पर हँसी आने लगी, यानि उसने इशारे में ही मुझसे चुदवाने की बात बोल दी थी. मेरा पति तो चूत भी नहीं चाटता, बस थोड़ा सा लंड पेल कर चुदाई की और सो जाता है भोसड़ी का.

समधी जी अपने दोनों हाठों से मेरी दोनों चूचियां तेजी से दबाने लगे।‌‌मैं बोलने लगी- आआह… धीरे दबाओ ना…वो बोले- बड़ी मुश्किल से तुम आज ही तो मेरे हाथ लगी हो, आज तो मैं तुम्हें नहीं छोडूंगा. अभी इन सब चीज़ों में बहुत टाइम पड़ा है।मैंने उसे समझाते हुए कहा।वो- लेकिन चाची जी आज मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है।फिर उसने अपनी पैन्ट भी उतार दी.

आशीर्वाद है अदिति बेटा, खुश रहो!” मैंने भी उसके सिर पर स्नेह से हाथ रख कर उसे आशीष दी और मेरा हाथ अनचाहे ही फिसल कर उसकी पीठ पर जा पहुंचा और उसकी गर्दन के पिछले भाग को सहलाता हुआ नीचे उतर कर उसकी ब्रा के हुक पर ठहर गया.

फिर कामिनी ने विवेक को लिटा कर उसके गले पर डीप किस करना शुरू कर दिया. क्सक्सक्स मुंबईउसकी चुचियां और गांड का शेप देख कर तो मन कर रहा था कि बस उस पर अपना हाथ फिराता ही रहूँ. एक्स एक्स एक्स मराठी हिंदीऐसा लग रहा था मानो मैं उसकी नाजुक फूल की कली की एक एक पंखुड़ी खोलता जा रहा हूँ. उनके दोनों चूचे आधे से ज़्यादा तौलिया के बाहर दिख रहे थे, जिसे वे हाथ से छुपाने का प्रयास कर रही थीं.

ओके बेटा जी… चल डॉगी बन जा जल्दी से!” मैं बोला और उसके ऊपर से हट गया.

साथ ही वो अपने हाथ से मोना की योनि को मसलने लगा जिससे मोना मचलने लगी. मुठ मारने के बाद लोगों की वासना वैसे ही कम हो जाती है मगर मेरे भीतर की आग उस मोटी गांड को देखकर चार गुने उत्साह से धधक रही थी. फिर ऐसे ही बात करते करते मैं उससे सेक्सी बात करने लगा कि कब मिलोगी? मुझे किस चाहिए.

नर और नारी के जिस्मों का अनैतिक सम्बन्ध बन रहा था जो मेरे वश में कतई नहीं था. आह्ह्ह आह्ह्ह ओह्ह ओह्म्म…” मुझे, मैं स्वर्ग में हूँ” ऐसा आनन्द आ रहा था. वह भी देखने में मोना से कहीं से भी कम नहीं थी, वैसे भी उनकी बिरादरी में लड़कियां होती ही ज्यादा सुन्दर हैं.

इंडियन सेक्सी लड़की चुदाई

मैं ऐसे ही लैपटॉप लेकर xxx वीडियोज देखने लगी और मेरी चुत चटवाने की इच्छा और जाग उठी. मैंने भी हंसकर कोई बात नहीं कह दिया, चाहता तो मैं उस समय बता सकता था कि मैं कविता(तनु) का पति नहीं हूं, पर मुझे भी उनकी नोंकझोंक अच्छी लग रही थी।और प्रेरणा पहले कैसी थी, मुझे नहीं पता. पर जब अपना बॉक्सर उतारने गया तो मीना जी ने मेरा हाथ पकड़ कर, अपनी नशीली आंखें नचाते हुए अपनी मुंडी ‘ना’ में हिलाई.

एक रात वर्षा मुझे बोली- दीदी, अब कब उस मजदूर से चुदवायेंगे? आठ दिन कब के हो गये हैं?मैं बोली- वर्षा, क्या तेरी चूत पहले की तरह अंदर से जल रही है?वो बोली- दीदी वैसे तो नहीं जल रही, पर जलने से पहले चुदवा लें तो ठीक रहेगा ना?मैं बोली- नहीं वर्षा, ऐसे बार बार नहीं चुदाते, और मेरा और किशोर का भी अब झगड़ा हो गया है.

तब मैंने उसको बोला- मेरा एक दोस्त है और उसको एक लड़की चाहिए, उस काम के लिए.

मैंने कहा- अच्छा तो आज आपके दिमाग में वो ख्याल तो नहीं आ रहा है, जो मेरे दिमाग में तीन महीने से है?भाभी सीना उठाते हुए बोलीं- अगर तुम ‘वो. !मैंने उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ के बोला- तुम टेंशन मत लो, मैं किसी से कुछ नहीं कहूँगा प्रॉमिस. বুর কি চুদাইमेरी भाभी का रंग गोरा है और वो बहुत ही सेक्सी भी हैं, लेकिन उस दिन के पहले मैंने अपनी भाभी के बारे मैंने कभी गलत नहीं सोचा था.

यहाँ मेरे अलावा और कौन है और उसने ये कहते हुए खोलने के लिए हाथ आगे बढ़ाए. प्रिया के घर वापिस लौट जाने के कोई तीन महीने बाद सुधा से उसकी बहन यानि प्रिया की मां ने फ़ोन पर सुधा को उनके यहाँ आने को कहा, कोई प्रिया की शादी-ब्याह का मसला था. जब मेरे ताऊजी के लड़के की शादी होने वाली थी, तब हमारा पूरा परिवार उसकी शादी के लिए उसके शहर में गए थे.

हमारी फ्रेंडशिप सी हो गई थी, इसलिए उसे भी मेरा आना जाना अच्छा लगने लगा. ”मैंने रोशनी की पतली कमर को पकड़ के उसे पिंकी के बाजू में लेटा दिया- विक्की, अब तुम दोनों टांगों को उलटे भी शेप में फैला दो.

मैंने बहुत कोशिश की कि उसके लिए ऐसा न सोचूँ, पर वो थी कि मेरे दिमाग़ से उतरती ही नहीं थी.

जब वो बहुत गरम हो गई तो फिर मैंने उसकी टी शर्ट निकाल दी, हालांकि वो बार बार मना कर रही थी लेकिन मैं रुका नहीं!उसने अन्दर काले रंग की ब्रा पहन रखी थी. जैसे ही भाभी की नजर मुझ पर गई, उन्होंने सोफा छोड़ दिया, जिसकी वजह से मेरा संतुलन बिगड़ गया और सोफा मेरे पैरों पर गिर गया, जिसकी वजह से मुझे चोट लग गई. थोड़ी देर बाद कमल मुझसे दूर हट गया, पर मेरा मन तो आज कुछ और करने को था.

लुगाई चुदाई मैंने सोचा इस बार बोल देता हूँ और हिम्मत करके कुछ करने की सोच ही रहा था कि फ़रवरी महीना स्टार्ट हो गया. नमस्कार दोस्तो, मैं बैड मैन फिर से एक बार हाजिर हूँ आप लोगो के सामने, मेरी पिछली देसी हिंदी सेक्स कहानीगर्लफ्रेंड की कुंवारी सहेली की हॉट चुत की चुदाईमें आप लोगों ने पढ़ा कि कैसे मैंने और जूही ने योजना बना कर नाज़ की चुदाई की.

फिर हमने दूसरी बार कोशिश कि इस बार लंड का अगला हिस्सा उसकी बुर में घुस गया. और डॉक्टर ने फोन करके नेहा की माँ को अपनी क्लिनिक बुला कर नेहा के प्रेग्नेंट होने की बात बता दी क्योंकि उसके बिना कुछ संभव नहीं था. उसके बाद मेरे दोस्त ने उसे घोड़ी बना दिया और पीछे से लंड उसकी चूत पर रख दिया और लंड अंदर बाहर आगे पीछे करने लगा, वो प्रियंका बस आह आह की आवाज ही निकाल रही थी.

मां बेटा की चुदाई सेक्सी

अब आगे पढ़ें:इसके बाद किड जमैका ने मशहूर छेद को अपना निशाना बनाया और कमरे में प्रसिद्ध हो चुकी चप-चप की ध्वनि के साथ उसका मुंह चोदना शुरू कर दिया. क्योंकि उनके घर में सब जॉब करते हैं और ताई भी एक एनजीओ चलाती हैं इसलिए मैंने कहा- ओके भाभी मैं कल भी आ जाऊंगा. बॉस ने मेरी गांड को और जोर से मारना चालू कर दिया और मेरी गांड मारते हुए जोर जोर से गाली देते हुए अपने लंड का पानी निकालना शुरू किया.

फिर पता नहीं उसका कोई दोस्त था, उसने अवी से कहा कि क्या मैं भी कर लूँ, तो अवी मुझे छोड़ दिया और कहा कि बिल्कुल. मेरी खुशी उसे मेरे चेहरे पर साफ दिखाई दे रही थी, जिसे देख कर वो भी बहुत खुश थी.

मैं बोली मजाक में- समधी जी, अब मुझे चोदोगे भी क्या?वो हंसते हुए बोले- हां… क्यों कोई शक?मैं फिर मजाक में बोली- ऐसे अच्छा लगता है क्या? रिश्तेदारी में ये सब ठीक नहीं!वो बोले- तो अब तक क्या मां चुदा रही थी?‌मैं जोर जोर से हंसने लगी.

उसने अपना एक हाथ पैन्ट पर रखा था।मैंने झट से अपने ऊपर तौलिया ले लिया. उनके चेहरे पर ब्रायन के लंड जड़ तक घुस जाने के कारण दर्द साफ झलक रहा था. तब तक के लिए तुम रुक जाओगे?तो मैंने भी ‘हाँ’ कह दिया और उसने मुझे चूम लिया।क्या गुलाब की पंखुड़ियों जैसे होंठ थे उसके।उसके बाद उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी और मैंने भी ऐसे ही अपनी जीभ उसके मुँह में डाली और वो चूसने लगी। मैंने उसकी कमर में हाथ डाल कर उसे खींचा.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग :दुल्हन बन कर भाभी ने सुहागरात मनाई-1. मैं ज़ायरा भाभी को अपने साथ वापस एसएमएस हॉस्पिटल के सामने वाली धर्मशाला में ले गया और वहां कमरा लेकर कमरे में चला गया. मम्मी तो जैसे अब सातवें आसमान पर पहुंच गई थीं और फिर अचानक से उनकी अहम.

मैं फिर पूरे जोश के साथ शुरू हो गया और दस मिनट के बाद दीदी और मैं एक साथ झड़ गए.

एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ इंडियन: मुझे लगा कि मेरा भी होने वाला है तो मैंने उससे पूछा कि कहां निकालना है?उसने कहा कि अन्दर नहीं निकलना. उधर सुकुमारी भौजी फसल काट रही थीं इधर मैं लंड हिलाते हुए समय काट रहा था.

उस दिन के बाद दोपहर को जब भाभी सोतीं, तब मैं उनकी गांड को देखने की कोशिश करता और कभी कभी उनकी गांड की वीडियो भी निकाल लेता था. कह रहा है पेट में कुछ दर्द सा है और बुखार जैसा लग रहा है, तो मैंने भी उसे छुट्टी के लिए कह दी और कहा है कि दवाई ले लेना. वो तो मोना को किस करे जा रहा था और मोना के जिस्म को सहला भी रहा था.

शालू का पहचान पत्र सैम ने मुझे दे दिया और फिर हम गोवा के लिए निकल पड़े.

दो मिनट पश्चात् वो सोफे से नीचे उतर आया और चुदाई में मशगूल जोड़े के दायीं ओर से चक्कर लगा कर मेरी अर्धांगिनी के सामने आ गया और उसकी खुली चूत के क्लीटर को छूने लगा. आंटी के चूतड़ों पर जोर से चमाट मारते हुए उन्हें एक तरह से भंभोड़ने लगा. दीदी ने अपने हाथ को मेरे सर पर रख दिया और दूसरे हाथ से अपने बूब को मसलने लगी.