हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए

छवि स्रोत,राजस्थानी सेक्सी चुत

तस्वीर का शीर्षक ,

नेपाली सेक्सी फिल्में: हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए, मैं मेरी हॉट मौसी के ऊपर चढ़ गया और उनके होंठों को अपने होंठों से दबा कर चूसने लगा.

गांड मारने वाली सेक्सी पिक्चर

देखोगी तो लेने का मन करेगा।”दिखाइये पापा?”उन्होंने दुकान के अन्दर डमी में लगी एक ड्रेस की तरफ इशारा किया।वो एक शार्ट स्कर्ट और टॉप थी जिसमें से स्कर्ट तो बिल्कुल ही शार्ट थी जो केवल मेरी गांड को ही छिपा सकती थी. कुत्ता लड़की का सेक्सी फिल्ममैंने एक को मुँह में भर लिया और एक को अपने हाथों से दबाने लगा, निप्पल को दो उंगलियों में लेकर मसलने लगा.

मैं दर्द से दोहरी हुई जा रही थी तो वो अन्दर से बाम और पट्टी लेकर आ गया. सेक्सी मूवीस बताइएमेरी पिछली कहानी थी:पड़ोसी और उसके दोस्तों से चुद गयीआज की हॉट गर्ल देसी सेक्स स्टोरी शुरू करने से पहले मैं कुछ बोलना चाहूँगी.

फिर मैंने सबसे बात की और नाश्ता करने के बाद बोला- मैं नहा कर आता हूँ.हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए: हम दोनों ही नंगे थे तो उठते ही मैंने भाभी की चुत में एक बार फिर से लंड पेल दिया और धकापेल चुदाई शुरू हो गई.

जब बुआ ने अपने जिस्म पर पानी डाला तो उनके दोनों चूचे साफ़ दिखने लगे और मेरे अन्दर की आग भड़क उठी.तब उस लड़के ने उठकर बैल खोल दिए और मुझसे बोला- चल, इन्हें लेकर आगे चल.

महाराष्ट्रीयन मराठी सेक्सी - हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए

उसकी गोरी चिकनी टांगें कहर ढा रही थी, उसके गोर मोटे चूचे जो आधे नंगे थे उसकी ड्रेस फाड़ कर बाहर आने की बेचैन हो रहे थे.साफिया भी जैसे आप कपड़ों को अपने जिस्म पर नहीं रखना चाहती थी, वह भी चाह रही थी ये कपड़े इस वक्त मेरे किसी काम के नहीं!फिरोज उसे किस करते हुए उसकी चूची पर आ गया और उसकी चूची को चूसने लगा.

वहां पर बॉस के भैया हरदीप सिंह, 42 साल और उनकी पत्नी मोना करीब 35 साल ने मेरा स्वागत किया. हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए वो मेरी जीभ कुल्फी की तरह चूस रही थीं और मेरे मुँह में अपनी लार डाल रही थीं.

तभी दूसरे लड़के ने उसके लांचा का नाड़ा खोल कर खींच दिया जिससे वो एकदम नंगी हो गयी.

हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए?

हर धक्के पर मेरे चूचे हल्के से ऊपर नीचे हो रहे थे।भाई के धक्कों से मेरी पूरा शरीर हिल रहा था और जैसे भाई का लंड बाहर निकलता एक खालीपन सा लगने लगता।फिर जैसे ही अगले पल भाई धक्का लगाकर लंड अंदर डालते तो इतना अच्छा लगता।ऐसे ही चोदते चोदते भाई के धक्के धीरे होते गए. उसी बीच लड़के ने उसे अपनी छाती पर ले लिया और उनकी चूत में लंड पेलने लगा. ऋतु ने अपना एक हाथ उसके गले में डाल दिया जिससे सनी अपना एक हाथ नीचे लाकर उसके टपकती हुई चूत पर रख दिया.

उन्होंने अपने दोनों हाथों से मेरे चूतड़ों को पकड़ा और ऊपर नीचे करने लगे. फिर मैंने ही धीरे से मौका देख कर अपने लंड का मुँह थोड़ा सा बाहर को निकाल दिया. कुछ पल बाद जब वो अपने होश में आई तो कराहती हुई बोली- यश, क्या किया यार … न जाने कितनी गर्म और मीठी सी चीज मेरे अन्दर डाल दी है तुमने … आंह मैं तो मर ही गई.

मेरा सुझाव है कि आप सेक्स कहानी के नीचे कमेंट्स जरूर किया करें और बाकी के लोगों के कमेंट्स भी देख कर सेक्स कहानी को लेकर अपनी बात कहें. उसकी फ्रेंड ऑफिस चली गई थी लेकिन प्रिया को वो कमरे की चाभी की व्यवस्था करके गई थी. अब आगे माउथ सेक्स का मजा:‘आंह आशु … बड़ा अच्छा आआअहहह लग रहा है … आआह … ईईईई …’चूची चूसने के साथ साथ मेरी एक उंगली जो उसकी चूत के रस में भी डूबी थी, वो सटासट अन्दर बाहर हो रही थी.

घर के अन्दर घुसते ही मुनीम की बीवी मेरा स्वागत करने पूजा का थाल लिए खड़ी थी. उनके चेहरे पर एक सुकून वाली स्माइल आ गयी और वो मुझे किस करके बोलीं- आई लव यू हिमांशु … आपने मेरी आत्मा तृप्त कर दी!मैं अभी भी उनको चोदने में लगा हुआ था.

मैंने इसके बारे में अभी यह तक नहीं सोचा था कि आज वो मेरे साथ अपनी हवस शांत करने में लग जाएगी.

देखने मात्र से मेरा 7 इंच का लंबा लंड झट से खड़ा हो गया।पिंकू बोली- ऐसे क्या घूर रहे हो भैया, कभी कोई लड़की नहीं देखे क्या?मैं बोला- पिंकू, तू बहुत खूबसूरत है.

मैंने अगले ही दिन नहाते समय हल्का सा सरिया डालकर दो गुम्मों के बीच में एक गैप बना दिया था. मीना की सिसकारियां अब भी आ रही थीं मगर अब उन आवाजों में कामुकता थी- इस्स्स आहहहह ऊऊऊहह उम्म्म्म … प्लीज थोड़ा आराम से आअहह उउम्म्म्म मां आईईईइ मार दिया तुमने …वो बोलती रही- प्लीज़ और ज़ोर से … तुम आज अपनी सारी हद पार कर जाओ, आज यहां पर हमारे अलावा कोई नहीं है, तुम मुझमें समा जाओ आईईईई आआह. मुझे धीरज के सामने नंगी पड़ी रहने में कोई दिक्कत नहीं हो रही थी क्योंकि मुझे लग रहा था कि धीरज का लंड किसी तरह मेरी चुत की खुजली मिटा दे.

उसके हर झटके पर मेरी सांस रुकने सी हो जाती और गर्म वीर्य सीधा गले में भरता जाता. मेरी चूचियां उसके सीने से रगड़ रही थीं और मुझे बेहद उत्तेजना होने लगी थी तो मैंने अपनी आंखें मूंद लीं और उसके स्पर्श का सुख लेने लगी. मैं सोचने लगा कि इनके मुँह में इतना मजा आ रहा है, तो चूत में कितना मजा आएगा.

जिनमें एक फोटो मेरी खुली गोरी जांघ की, दूसरी फोटो बिना ब्रा-पैन्टी की थी और तीसरी ब्रा-पैन्टी में भी थी, पर भेजी नहीं!मैं चाह रही थी कि एक बार फिर मेरे ससुर जी मुझे फोटो भेजने के लिये मैसेज करें।हुआ भी वही … ससुर जी माँ मेसेज आया- फोटो भेजा नहीं?मैंने अभी भी उस मैसेज को इग्नोर किया.

फिर सनी ने जैसे ही अपने होंठ आगे बढ़ाए तो ऋतु ने उसके होंठों पर एक उंगली रख दी और बेड की तरफ इशारा कर दिया. उसके मामा प्राइवेट में जॉब करते थे तो उस वक्त उनका काम बंद हो गया तो भर दिन दोनों घर में ही रहते थे. मेरी तो जान निकल गई और मैं मरी हुई कुतिया सी बिलबिला उठी- आआह प्लीज़ … नहीं!पर उस मरदूद को तो मजा आ रहा था.

फिर मुझे दीदी की वासना का ख्याल आया कि किस तरह से मेरी दीदी ने एक लड़के को बुला कर अपनी चुत चुदवाई थी. मैंने बोला- कोई प्रॉब्लम तो नहीं होगी न!भाभी ने कहा- मैं पिल्स खा लूंगी, कुछ नहीं होगा. कुछ ही दिनों में भाभी और मेरी बहुत अच्छी बनने लगी थी क्योंकि मैं खुले विचारों वाला बंदा हूं.

फिर भाभी ने मेरी तरफ करवट ली और उन्होंने अपना एक हाथ मेरी जांघों पर रख दिया.

सेक्स में उसने अभी तो सिर्फ मुँह में लंड ही लिया था और चूचियां दबवाई थीं. बाप रे क्या माल लग रही थीं भाभी … क्या मस्त तने हुए दूध और क्या उभरी हुई गांड थी.

हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए उसकी एक तेज दर्द भरी आवाज गूंज गई- आह सनी, फाड़ दी मेरी चूत फिर से … ज़ालिम बता कर तो घुसाते!मगर सनी ने बिना देर किए उसकी चूत में धक्के मारने शुरू कर दिया. मैं उन सभी से बोलना चाहती हूँ कि देखिए, अन्तर्वासना पर लेखक और लेखिका अपनी रियल घटना को ही लिखते हैं.

हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए तीन दिन मैं उसके साथ उसके घर में रही और तीन दिन तक हम दोनों ने एक कपड़ा भी नहीं पहना. इस समय वो सभी किसी रिश्तेदार की शादी में आउट ऑफ स्टेट गई हुई हैं और उनकी बेटियां एक डेढ़ माह बाद वापस आएंगी.

तभी भाभी मेरी ओर देख कर बोलीं- जाओ जल्दी … साफ करके आओ यहां क्यों खड़े हो.

सेक्सी कहानी कहानी कहानी

तुमने मेरी मम्मी चोद दी!मैं हंस दिया और कहा- मौसी ने देख लिया था कि मैंने तुम्हें चोद दिया है. मैंने उनसे पूछा- आपने मुझे क्यों बुलाया है दीदी?उन्होंने कहा कि तुम मुझे पसंद करते हो ना!मैं घबरा गया, तो उन्होंने कहा- घबराओ मत … मैंने तुम्हें मेरी ब्रा उठाते हुए देख लिया है. दीदी ने कहा- अच्छा, दीदी को मस्का लगा रहे हो! बताओ क्या चाहिए, पापा से दिलवा दूंगी! पर ऐसी झूठी तारीफ ना करो.

ऋतु ने सनी की आंखों में देखते हुए उसे इशारे से अपने ऊपर से उतर कर अपने पास लेटने का इशारा किया. मीना के कंठ से मादक आवाजें कमरे के माहौल को गर्माती जा रही थीं- आआह … उईईइ मम्मम्मा आंह आंह मैं मर गईईई इस्सस्स!मेरा लंड चूत के भीतर अन्दर तक जाकर उसकी बच्चेदानी तक ठोकर मार रहा था. मैंने दीदी को बांहों में भर लिया, उन्होंने अपने दोनों हाथ मेरी गर्दन में डाल दिए.

उसने नीता को अपने कमरे में ले जाकर सब पूछा, तो नीता ने सब सच्चाई बता दी.

उस दिन के बाद अब जब हम दोनों का मन होता है, तब हम दोनों एक दूसरे से सेक्स कर लेते हैं. मुझे लगा कि रचना को कुछ ज्यादा हो गई क्योंकि एक तो वो रेगुलर ड्रिंकर नहीं थी … दूसरा 60 एमएल का पैग अपने आप में ज्यादा होता है. उनके गहरे गले वाले ब्लाउज से उनके मम्मे बाहर निकलने के लिए बेताब हो रहे थे.

मैं आपको आज चीटिंग मॉम सेक्स कहानी बताने जा रहा हूं, जो मेरी आंखों की देखी है. जरा तू देख न!इतना कहते हुए चाची ने अपने गाउन का गला लगभग खोल दिया था और मुझे उनकी रसभरी चूचियां साफ़ नजर आने लगी थीं. फिर मैंने देखा कि हम जिस रूम में गाड़ी रखते थे, उस रूम से कुछ आवाज़ आ रही हैं.

इसके बाद भी उसकी जीभ चलती रही, मेरी चूत का सारा रस चाटने में लगी रही. मैंने उससे कहा- ऐसा नहीं हो सकता, मैं तुझसे बड़ी हूँ और मैं तुझे अपना भाई मानती हूँ.

गांड ने ढीली होकर मुँह खोला ही था कि अब्बू ने लंड का सुपारा खाला की गांड के छेद में जोर से दबा दिया. मैंने कहा कि नहीं वो ठीक हो जाएगा क्योंकि रात को दुख गया था, इसलिए दर्द हो रहा है. थोड़ी देर के बाद जब वो उठने लगी, तो उस समय लंड उसकी चुत के अन्दर ही था.

मैं बार-बार दीदी के निप्पलों टच कर रहा था और अचानक मैंने दीदी से पूछ लिया- आपको बुरा तो नहीं लग रहा?दीदी ने कहा- नहीं मेरे भाई, मुझे बुरा नहीं बल्कि अच्छा लग रहा है जो तुम कर रहे हो!तब दीदी ने कहा- मुझे देखकर तुम्हें क्या होने लगता है, बताओ मुझे जानू आखिर मुझे देखकर मेरे भाई को कैसा लगता है? क्या होता है?मैंने कहा- दीदी, वो बात मैं आपको बता नहीं सकता.

फिर उन्होंने नीचे गाड़ी पार्क की और हम लोग लिफ़्ट से तीसरी मंज़िल पर आ पहुंचे. मामी ने अपनी लैगिंग्स और पैंटी घुटनों तक कर दी, जिस वजह से उनकी चिकनी जांघें नंगी हो गईं. जैसे ही मेरी उंगली ने चूत को टच किया, मंजू उछल सी गई, उसकी पीठ और चूतड़ उठ गए.

आज मैं आप लोगों के सामने अपनी एक सच्ची सेक्स की कहानी पेश कर रहा हूँ. उन्होंने मुझसे बोला- तुम जो यह कर रहे थे, यह तुम्हारे लिए बिल्कुल सही नहीं है.

बीच बीच में मैं निप्पल पर दांत गड़ा देता … तो आंटी आह हहह करने लगती. विकास अपनी कार में समता को बिठा कर खुद भी उसके साथ पीछे बैठ गया था. भयंकर उत्तेजना में नीचे वाले लड़के का सर मैंने दोनों हाथ से कसकर पकड़ लिया था और कमर मेरी कमर ऊपर नीचे होने लगी थी.

देहाती सेक्सी फिल्म पिक्चर

मामी के मुँह से लगातार सीत्कार निकल रही थी- ऊम्म्म ऊउम्म आह!मैं कभी उनके मम्मों को कभी जीभ से चाटता, तो कभी उनके निप्पल को खींच का चूसने लगता.

मीना ने कहा- मैं उसी से मेरी चुदवाऊंगी, जिसका लंड इस कमरे में सबसे बड़ा होगा. ‘आआह … आआह जान … क्या मस्त चूसती हो जानेमन … मेरे रहते तुम उस धीरज से क्यों चुदवाती हो. कॉलेज में संजय मिला- अब दर्द कैसा है सीमा!अचानक से पता नहीं कब वो मेरे बराबर चलने लगा था, मुझे पता ही नहीं चला.

यह सुनकर दीदी ने कहा- मेरे भाई, मेरी बुर भी तुम्हारे लंड को प्यार करना चाहती है पर वे डर रही है कि उसे बहुत दर्द होगा. साफिया की आंखों में चमक आ गई और बोली- मेरे परिवार में इतना कम्बा मोटा लंड था और मुझे पता ही नहीं? यह मेरी चूत में कैसे जाएगा?फिरोज बोला- साफिया, तुम पहले चुदी हो क्या?तो साफिया बिना कुछ छुपाते हुए बोली- अगर चुदी नहीं होती तो आपको इतना सब कैसे करने देती!फिर वह भी समझ गया कि चलो इस माल को चोदने में और जयादा मजा आएगा. हॉट भाभी की सेक्सी चुदाईमैंने दीदी से कहा- दीदी आपकी टीशर्ट और पजामे में तेल लग जाएगा इसको थोड़ा सा और ऊपर कर दूं अगर आप बुरा ना मानो?तो दीदी कुछ बोली नहीं.

जबकि वास्तव में उसने वहां मौजूद सभी का लंड खड़ा करवा दिया था, उन सभी को मजा आया होगा. फिर तुम अपने घर वालों से फोन पर बात कर लेना और तभी हम दोनों साथ में खाना खा लेंगे.

वो मेरे घर पर अक्सर आया करते हैं और उनको लेकर मुझे शक तो पहले से ही था. कुछ देर बाद बुआ बोलीं- देख तू मुझे खुश कर दे वरना मैं भैया को सब बता दूंगी. चूत में उंगली जाने से शिल्पा दीदी सिसक उठीं और वो लड़का उनके और मजे लेने लगा.

मैंने प्रकाश और दीपक को एक तरफ बैठने का इशारा किया और वो दोनों बेड के एक कोने पर बैठ गए. मेरा पूरा बदन अकड़ने लगा, मैंने रेणु को कसके पकड़ लिया और उसके अन्दर ही अपना पानी छोड़ दिया. अभी मेरी चुत की फांकों ने लंड को महसूस किया ही था कि जीजू ने एक तेज धक्का दे दिया.

उलटे वो अपमानित सा महसूस करेगी, उसे आपसे आगे कोई लगाव भी नहीं होगा.

सलीम आहह आहहह आहह करने लगा।उसने नफीसा की चूचियों को पकड़ लिया और दबाने लगा. लंड चुत बाद में हिला लेना दोस्तो, पहले मुझे बताइये कि माउथ सेक्स का मजा आपको भी मिला या नहीं.

मेरा बहुत मन था कि मैं चुदाई करूं!हम दोनों बातों में इतने डूब गए कि ध्यान ही नहीं दिया कि दरवाजा खुला है. साफिया को अपने मामा के लंड को अहसास हो रहा था जो उसकी चूत में घुसने को बेताब था. चुदाई का दूसरा दौर पंद्रह मिनट तक चला और हम एक दूसरे की बांहों में लेट गए.

अंजू कसमसा कर दूर होने लगी पर पीछे अलमारी और मेरी मजबूत पकड़ से वो हिल भी नहीं पाई. इसी बीच फिर से एक तेज़ झटका लगा और इस बार उनका पूरा लंड मेरे अन्दर घुस गया था. उसने कहा कि सिर्फ उसने ही नहीं, उसके साथ दो और लड़कों ने एक साथ मेरी शिल्पा दीदी को चोदा है.

हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए हर बार मीना सिसकारी भरने लगती और दर्द से कराहने लगती- आह्ह्ह … आशु … ये क्या कर रहे हो … आह्ह … मैं मर जाऊंगी … आंह मत करो … उम्म्म बहुत मज़ा आ रहा है … ओह्ह … उफ़ आशु लगती है दर्द हो रहा है … प्लीज रुको … धीरे से ह्म्म्म … ओह्ह … उफ्फ कुछ हो रहा है कोई देख लेगा!उधर ये सब चलता रहा और इसी बीच मेरे हाथ उसकी बुर तक पहुंच गया. उसने आधे से ज्यादा लंड मुँह में भर लिया था, जिससे उसका मुँह फट सा गया था.

सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर चलाना

मैंने अब उसे घोड़ी के स्टाइल खड़ी किया और पीछे से चुत में लंड पेल कर उसे चोदना शुरू कर दिया. उसने पहले कमरे में देखा कि उसके पापा सो गए हैं और भाई टीवी देख रहा है. वो चुदाई की उत्तेजना में ये सब बोले जा रही थीं- आहहह … और ज़ोर से … ओहह … हम्हह … आहहह … चूस डाल मेरे दूध … आहहह … अम्हह … आहहह … खा जा इन्हें आएए … आहहह!मामी बारी बारी से अपने दोनों मम्मे मेरे मुँह में डाल रही थीं जिन्हें मैं बच्चों के तरह चूस रहा था.

अब उनकी आंखें अब बन्द होने लगी थीं, मैं समझ गया कि वो झड़ने वाले हैं. मेरे लंड का हाल बुरा होने लगा था, वो पैंट फाड़ कर बाहर आने को बेताब था. ఆంటీ ఎక్స్పోజింగ్मासी चिल्ला रही थी बाथरूम में से … मैंने बाथरूम के दरवाजे पर खड़ा रह कर मासी को आवाज दी- क्या हुआ मासी? आप ठीक तो हैं?नहीं मैं गिर गई हूँ.

थप-थप की आवाज़ से कमरा गूँज रहा था, मैं आनंद के मारे आह … आह … कर रहा था.

मैंने भी अपना एक हाथ उसके हाथ पर रख दिया और उसका हाथ पकड़ कर तेज़ी से लौड़ा हिलवाने लगा. तभी मेरा देवर अली आ गया।वह सीधे मेरे पास आया और बोला- भाभीजान, आपने मुझसे चुदने को मना कर दिया?मैंने बड़ी हैरानी से उसे देखा और कहा- क्या मतलब? तुम तो अभी इतने छोटे हो और ऐसी बातें कर रहे हो?वह बोला- मैं छोटा नहीं हूँ भाभी जान … मैं जवान हो चुका हूँ।मैं बोली- यार चूतिया न बनाओ मुझे … तुम्हें देख कर तो लगता है कि तेरा अभी खड़ा भी नहीं होता होगा.

मैंने ध्यान से देखा, तो समझ गया कि शायद ही कोई मेरा स्कूटर देखेगामीना को डरा हुआ असमंजस में देख कर मैं समझ गया कि इसने अभी तक कुछ भी नहीं किया है. देसी गर्लफ्रेंड Xxx कहानी मेरी कोचिंग में पढ़ने वाली एक रसीली लड़की की है. नेहा ने पेंटहाउस की बेल बजाई और एक लंबा गोरा आदमी बरमूडा पहने आया उसने दरवाज़ा खोला और नेहा ‘हाई जॉन …’ कह कर उससे चिपक गई.

मीना लालटेन की पीली रोशनी में इतनी खूबसूरत लग रही थी कि मैं खुद बेकाबू सा हो गया.

जिसमें दो आदमी दो गोरी लड़कियों को अपनी गोदी में बिठा कर स्मूच कर रहे थे. जब दीदी ने ध्यान दिया कि मेरे सामने उनके बूब्स नंगे हो गए हैं तो तुरंत उन्होंने मेरा हाथ छोड़कर अपने बूब्स को अपने हाथों से ढक लिया. उन्होंने मेरी पीठ पर अपने नाखून के निशान बना दिए थे और मेरा मुँह पकड़कर अपने मम्मों में लगा दिया था.

2000 के सेक्सी वीडियोऋतु का बदन तड़प उठा और चूत लंड के मिलन से रोती हुई आंसू बहाकर और गीली हो गई. जब इतने पर भी मामी की तरफ से कोई विरोध होता न दिखा तो मेरी हिम्मत काफी बढ़ गई.

सेक्सी वीडियो चुदाई पिक्चर चुदाई

उसके पापा के सामने हम अच्छी बातें करते लेकिन जब वो थोड़ा घूमने बाहर निकल जाते थे, तब हम दोनों अपनी अश्लील बातों का बाज़ार बनाने लगते थे. दादी ने मुझसे कहा- भात अभी खाएगा या जब सब आ जाएंगे तब खाएगा?मैं- सबके साथ खा लूंगा. गर्म पानी से मम्मी ने हाथ मुँह धुलाए, फिर मैंने कपड़े बदली किए और बैठ गया.

मेरा लंबा, चिकना, लंबा, मर्दाना लंड देखकर वो अचंभित ही रह गया और धीरे धीरे बोलने लगा- नहीं, नहीं, ये नहीं हो सकता … ये नहीं हो सकता. वैसे भी मैं खुद शादी करना चाहता था … मगर मेरे पास फिलहाल कोई ऐसी स्त्री है ही नहीं, जिससे मैं शादी कर सकूँ. इस समय भाभी मेरे सामने बैठी थीं, वो मुझे झुक झुक कर खाना परोस रही थीं.

उस दिन के बाद अब जब हम दोनों का मन होता है, तब हम दोनों एक दूसरे से सेक्स कर लेते हैं. रंडी … हां रंडी तो बन चुकी थी मैं … कहां कहां चुदाई नहीं की हमने? एक कोना भी नहीं छोड़ा था. मैंने बुआ की दोनों टांगें फैला दीं और लंड का सुपारा चुत की फांकों में सैट कर दिया.

भोसड़ी वालो, चलो खोलो अपना अपना लण्ड और शुरू हो जाओ।अंकित बोला- अरे यार, पहले थोड़ा नशा तो चढ़ने दो, सरूर तो आने दो। थोड़ी मस्ती तो बढ़ने दो. लेकिन जब मैं उस ख्वाब से बाहर आई तो सुबह के चार बज रहे थे और मेरी बायां हाथ मेरी पैंटी में था.

उस वक्त मैं जो कर रहा था, वो सब मुझे अभी भी याद आता है तो एकदम से मेरा लंड खड़ा हो जाता है.

एक हाथ से मैं उसकी गुलाबी चूत सहलाने लगा।अब पिंकू भी उत्तेजित हो गई, पिंकू ने भी मेरे सारे कपड़े उतार दिए और नीचे बैठकर जोर-जोर से मेरा लन्ड अपने मुंह में लेने लगी. गुजराती नंगी सेक्सी फिल्मदस बारह धक्कों के बाद मंजू फिर से गर्मा गई और मस्ती से चुदवाने लगी. सेक्सी रिकॉर्ड वीडियोतब उस लड़के ने उठकर बैल खोल दिए और मुझसे बोला- चल, इन्हें लेकर आगे चल. आज भी तो साला लंड मान नहीं रहा है।”हाँ, जब से करन की शादी हुयी है न … तुम्हें भी बहुत जवानी और चूत का चस्का चढ़ा हुआ है.

उधर का माहौल बता रहा था कि अब शायद शिल्पा दीदी की चुदाई की बारी आ गई थी.

तुझे ज्यादा दर्द न हो इसलिए पहले यहां चोद कर चूत को रवां कर देता हूँ. तभी वो बोला- अब तो बगल में भी सब सो गए होंगे?मम्मी ने चुपके से दरवाजा खोला और बाहर निकल गईं. मैंने अपना पैर ऊपर करके पैर की उंगली दिखाई और कहा- अबे यार तुम भी न जाने क्या गलत-सलत सोचने लगती हो.

इस बीच मैंने एक चीज़ का अनुभव और किया कि जो पहले मेरी बहन पैंटी पहनकर नहाती थी, अब वो पैंटी निकाल कर नहाने लगी और मुझे उसकी चुत के रोज दीदार होने लगे. तब दीदी ने पूछा- कैसा लगा तुम्हें अपने लंड के रस का टेस्ट?मैंने कहा- दीदी, मेरे लंड का रस आपके होठों के रस के साथ मिलकर अमृत जैसा हो गया है. अब मैं उसकी चूत नीचे से चाटे जा रहा था और वो मेरे लन्ड की लॉलीपाप की तरह चूसे जा रही थी.

सेक्सी व्हिडिओ एक्स एन एक्स

विकास समता के और करीब हो गया और अपना हाथ समता के कमर में डालकर उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर धीरे धीरे होंठ चूसने लगा. मैं इतना बोल सकता हूँ कि चुत की चुदाई और खुदाई के लिए मेरा लौड़ा एकदम मस्त है. मैंने आगे हाथ बढ़ा कर उसकी दोनों चुचियां पड़क लीं और उसकी पीठ को किस करते हुए चोदने लगा.

अपना वजन उसने सामने वाले हाथों पर रखा और दोनों स्तन सामने लटकते हुए स्पष्ट दिख रहे थे.

जैसे ही मम्मी जी वाशरूम में घुसी, झट से मैं उसी नाईट गाउन में उनके कमरे में घुस गयी, अन्दर से में बिल्कुल ही नंगी थी.

मैं एक महीने में उन दोनों की तीन तीन बार तो चूत चोद ही लेता था और अंजू से भी ऊपर ऊपर का मज़ा ले लेता था. तभी अचानक से न जाने क्या हुआ कि उसका तौलिया गेट के हैंडल से फंस कर खुल गया और वो एकदम नंगी हो गई. न्यू सेक्सी सीनमेरे हाथ खाली थे … लेकिन अब मैं खुद ही चाह रही थी कि ये लड़के पूरा काम करें.

हम दोनों एक दूसरे के घर में कभी भी आते जाते थे।राहुल के पास कंप्यूटर है। उसके कंप्यूटर में हम सेक्स वीडियो देखते थे और साथ में बैठकर मुट्ठ मारा करते थे. अब मेरे अन्दर दर्द नाम की चीज नहीं थी, मैं लंड चुत में लेकर उछलने लगी. उस दिन भाभी ने ब्लू कलर की कुर्ती पहनी थी और सफेद रंग की स्लैक्स पहनी थी.

और मस्ती में उसकी अम्मी को उसी के सामने चोदने लगा।अब मैंने नफीसा से कहा- आंटी, आप कभी लंड पर बैठी हो?वो बोली- हां, सलीम के अब्बा बैठाते थे।मैंने कहा- आज मैं बैठाऊंगा. सर- आंह जानू लो माल आ रहा है … उउ उउह … ले खा ले रांड साली … माल पी ले चुत में … आह … हो गया रानी.

भाभी मेरा पूरा रस पी गईं और जीभ से अपने होंठों को चाटती हुई बोलीं- क्या मस्त पानी था यार तुम्हारा, मजा आ गया!अब मैं भाभी को अपनी बांहों में लेकर उनके पूरे शरीर को चाट रहा था.

ऋतु मन ही मन में बुदबुदा रही थी कि इसका लंड तो पहले से और भी ज्यादा बड़ा हो गया है … सुपारा ही मेरे मुँह को फाड़ रहा है … पूरा लंड कैसे अन्दर जाएगा. चाची ने किचन से आवाज देकर मुझसे पूछा- तुम दूधे पियोगे या चाय?मैंने मन में मुस्कुरा कर सोचा कि चाची मुझे आपका दूध ही पीना है. मैं बोला- डार्लिंग जब तुम्हारे पास दो दो लंड हैं फिर भी चुत में फिंगर डाल रही हो … क्या हुआ?उसने बोला- क्या करूं … समीर का तो खड़ा ही नहीं होता.

ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी चुदाई ” मैंने चुटकी ली।हाँ, मालिक आपके पालतू जानवर को बहुत मज़ा आया। आप वास्तव में जानते हैं कि मुझे क्या पसंद है. मैंने मन ही मन सोचा कि अगर आज इनको चोदने का मजा मिल जाए, तो गंगा नहा लूँ.

इससे बहेन की सांसें तेज हो गईं और उसने मेरे लंड को तेज़ी से मसलना शुरू कर दिया. मेरा गर्म गर्म लंड अपने हाथ में पाकर दीदी ने तुरंत अपना अपना हाथ लंड से हटा दिया. ‘ऊम्म्म मम्म ऊउम्म ऊउम्म ऊउम्म ऊउम्म ऊमह उमह …’मामी को किस करते करते मैंने उनके मम्मों पर हाथ रख दिए और दबाने लगा.

सपना चौधरी सेक्सी सीन

मेरा मोटा लंड चाची की चुत में खलबली मचाने लगा और चाची ने अपने दांतों को भींच कर धीरे धीरे लंड चुत में लेना शुरू कर दिया. उस फौजी ने मेरी बहन को उठा कर अपने कन्धों पर बिठा लिया और उसकी चूत चाटने लगा. अब मैं सोचा करता था कि किताब की फोटो में तो लंड चूत में जाकर गायब हो जाता है.

अब आगे हॉट कॉलेज सेक्स कहानी:शैंकी ने मेरी चूत पर हथेली फेरते हुए हल्के से एक हाथ मार दिया. मेरी कमर अब 27 की हो गई थी, मेरे सारे कपड़े, अब मुझे जांघों, स्तनों और नितम्बों से बहुत ही टाईट होने लगे थे.

‘आह … ओह्ह आऊच … आशु तू बहुत अच्छा है … आह्ह्ह मैं मर गयी ईईई … आह्ह्ह उफ्फ … तू तो बहुत ही मस्त है रे … ओह्ह आह्ह …’हम दोनों आज कुछ ज्यादा ही उत्तेजित थे.

फिर मैं एक हाथ नीचे ले जाकर उनकी चूत सहलाते हुए उसमें एक साथ दो उंगलियां डाल दीं. कुछ देर बाद मैंने भाभी को फिर से चित किया और उनकी चूची के एक निप्पल को अपने मुँह से काट लिया. फिर एक दिन मैंने गूगल से एस्कॉर्ट सर्विस का नंबर निकाला और उसको फोन किया.

वो थोड़ा हिल-डुल रही थी … उसने मेरी तरफ करवट ली और अपना एक पैर मेरे पैर पर रख दिया. आज मैं तर गई मेरे राजा … आह धन्य हो गई … आह आह मेरी गांड में भी उंगली घुसाओ न … आह और चूत में लंड पेलते रहो … मेरी चूचियों को पी लो … आह आह देखो दूध निकल रहा है. मैं अक्सर दीदी के अन्दर से रोने और चिल्लाने की आवाजों को सुनती रहती थी.

वो कुछ मिनट में बाहर आई तो उसने मुझसे कहा- मज़ा आ गया तुम सचमुच बहुत कड़क हो.

हिंदुस्तानी बीएफ दिखाइए: मगर चाचा का लंड मुरझा गया था तो वो चाची के ऊपर से हट कर बगल में लेट गए. वो अपने दूसरे हाथ से मम्मी की चूत को उनके साया और पैंटी के ऊपर से सहलाने लगे.

मैंने जीजू के बाल पकड़ कर उन्हें रोक दिया और कहा- क्या अब जान ही ले लोगे … छोड़ दो जीजू, काटने से खून निकल आएगा … मत करो यार!वो प्यार से दूध चूसने लगे. उसके बाद चुत में सटासट किया और उसके बेखबर होते ही मैंने झटके से गांड में लंड डाल दिया. मैंने आगे हाथ बढ़ा कर उसकी दोनों चुचियां पड़क लीं और उसकी पीठ को किस करते हुए चोदने लगा.

चूत से पानी रिस कर गांड तक आ रहा था, जो मेरे हाथों को गीला कर रहा था.

ऋतु ने तिरछी नजरों से सनी के लंड को देखते हुए उसे इशारा किया तो सनी ने आगे बढ़कर अपना लंड उसकी चूत पर टिका दिया और ऊपर से ही रगड़ने लगा. उस समय लैंडलाइन फ़ोन का जमाना था, पर वो भी कुछ ही घरों में होता था और जिनके घर में होता था, वो अपने एरिया के राजा होते थे. मुझे और चुदवाने का हिम्मत नहीं थी तो मैंने उसका लंड पकड़ लिया और मुठियाने लगा.