वीडियो में देहाती बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी मसाज बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मस्त बीएफ: वीडियो में देहाती बीएफ, मेरे प्रिय दोस्तो, मेरा नाम रेनिश है, मैं गुजरात के अहमदाबाद सिटी में रहता हूँ.

चोदी चोदा सेक्सी बीएफ वीडियो

भाभी ने मेरे बहुत कहने पर इतना किया कि मेरा लंड हाथ में लेकर उससे खेलने लगीं. रितेश सेक्सी वीडियोछत पर बीच में एक पत्थर की मेज़ और उसके दो तरफ़ बैठने के लिए बेंच बनी थीं.

मैंने बोला ओके … कैसा रहा सारू?वो मुझे चूम कर बोलीं- टॉप ऑफ़ द वर्ल्ड!फिर दस मिनट हम दोनों ऐसे ही लिपट कर सोये रहे. एक्स फिल्म एचडीचूंकि उस बॉस लड़की से सब लड़कियां डर गई थीं, इसलिए किसी ने अपना मुँह नहीं खोला.

मैं जाग रही थी, आते ही वह रजाई में घुस कर मुझसे चिपक गया। रजाई में घुसने पर उसको पता चल गया कि मैं नंगी हूँ, वह अपने हाथ मेरे ऊपर फिराने लगा। वह मेरे मम्मों को टटोल रहा था.वीडियो में देहाती बीएफ: तो मैंने एक्साइटेड होकर उसकी चुचियों को बाहर निकाला और उसके ऊपर दांत काटा और बोला- हिसाब-किताब बराबर!फिर हम दोनों ने अपने कपड़े ठीक किए और घर के लिए चल दिए।तो दोस्तो, यह थी मेरी पहली चुदाई की स्टोरी! उम्मीद करता हूं कि आप सब को पसंद आएगी.

मैं अब ज्यादा शोर भी तो नहीं कर सकता था, नहीं तो सुलेखा भाभी के आ जाने का डर था.यह बात उस वक्त की है जब मैं पढ़ता था और एक बार अपने बड़े भाई के ससुराल में गया हुआ था.

चूत की चटाई - वीडियो में देहाती बीएफ

घर के बाकी सारे लोगों की हालत गंभीर हो रही थी और वो इस स्थिति को समझ नहीं पा रहे थे.हिना भाभी एक ऐसी सुंदर परी थीं, जिनके साथ ज़िन्दगी बिताने की कल्पना हर एक देवर करता है.

मैं उसकी तरफ मुड़ा अपने हाथ से उसका कमीज ऊपर किया, फिर ब्रा के ऊपर से थोड़े उसके चुचे मसले. वीडियो में देहाती बीएफ और खुद पर गर्व महसूस कर रहा था कि आज एकदम मस्त जवान भाभी को चोदने का मौका मिल रहा है.

सविता सूट सलवार पहने हुई थी, नीरू ने सविता के सूट और सलवार दोनों एक मिनट में उतार दिए.

वीडियो में देहाती बीएफ?

” मैंने जोश जोश में उसके लोवर व पेंटी को थोड़ा जोरों से खींचते हुए कहा. मुझे हंसी आ गयी, पर मैंने किसी से कुछ नहीं कहा और फिर चुपचाप आकर सो गयी. मैं अब अपने पीछे गांड में होने वाले दर्द को भूल गई और दर्द कैसे गायब हो गया, मुझे खुद पता नहीं चला.

मैं बस उसके बालों को पकड़ कर आगे पीछे कर रहा था और आहें भरे जा रहा था. मैं समझ रहा था कि उसको चुदने की जल्दी मची है, लेकिन वो भी पूरा मजा लेने के मूड में थी. दिल तो कर रहा था कि मैं अपना लंड बाहर निकाल कर खड़ा लंड पकड़ा दूं कम्मो को; कम से कम यही सुख हासिल हो जाए मेरे लंड को; लेकिन टैक्सी में मैं इतनी हिम्मत नहीं जुटा सका.

दीदी से बात करके मुझे थोड़ा रात की बात से राहत सी मिली और अब मेरा ध्यान उस लड़की पर ठहर गया. मैंने वैसा ही किया, एक जोरदार धक्का लगाया तो मेरा लंड नीरू की चूत को चीरता हुआ आधा अंदर तक जा समाया. उनसे इधर उधर की बातें होने के बाद मैंने आंटी से पूछा कि आपके हसबैंड नहीं आए?तो आंटी ने ‘ना.

क्यूँ?विक्रम- पा… पा… वो… आपको पता है?शीतल- क्या?शीतल इस बात से अनजान थी और उसके लिए ये बात एकदम नयी थी. कुछ देर ऐसे करने से मैंने महसूस किया कि भाभी भी उधर से अपनी कमर हिला रही थीं.

उसने भी विज्ञान विषय ले रखा था और वो भी मेरी तरह डॉक्टर बनना चाहती थी.

तो मेरे सुझाव को ट्राय जरूर करना दोस्तो!मैंने अपना समय निकाल कर यह लेख लिखा है.

सिम चालू हो चुकी थी तो मैंने कम्मो के पुराने फोन से उसके कॉन्टेक्ट्स भी सेव कर दिए और फोन को डायल करना, कॉल रिसीव करना वगैरह सब सिखा दिया. मैं- चाची अब मैं झड़ने वाला हूँ … जल्दी बोलो, क्या करूँ?चाची- मेरी गांड के अन्दर ही रस झाड़ना. मैंने भी उसके एक दूध को चूसना शुरू कर दिया और दूसरी चूची को दबाने लगा.

इस बार तो वो इतने मजे से लंड चूस रही थी कि मेरी जान निकलने को होने लगी थी. मैं तो उसे देखता ही रह गया और उसने फिर से अपना गिलास पूरा का पूरा केवल दारू से भर लिया. पूजा मुझसे बोली- नहीं अभी नहीं, मुझे अभी और थोड़ी देर तक तुम्हारा लंड चूसना है.

उसने पल्लू मेरे स्तनों से नीचे सरका दिया और मेरे गले को चूम कर बोली- मैं तुम्हारा स्वाद चखना चाहती हूँ.

सबसे पहले सुनील ने मेरी गांड को देखा और बोला- रमीज का बहुत लंड रस निकला. क्या लगता है ऐसा क्यों हुआ?उस पर मैंने कहा- पता नहीं मेरे साथ क्या अच्छा होने वाला है, जो मैं आपसे बार बार मिल रहा हूँ. चाची की नगाड़े जैसे चूतड़ों को मसलते हुए उनकी एक चुची को मुँह भर भर के चूसने लगा.

पर उसने ऐसा झटके में नहीं किया वक्त लिया… और उसने बातचीत जारी रखी- मेरी बेटी… जितनी खूबसूरत है… उतनी ही हसीन भी है और उसका शरीर कमाल का है… इतना कमाल का है कि अगर किसी की नजर इसकी इन भारी-भारी चूचियों पर एक बार पड़ जाए तो वो अपनी नजर हटा नहीं सकता. मैंने कार का शीशा नीचे किया तो उसने मुझे लिफ्ट के लिए रिक्वेस्ट की जिसे मैंने स्वीकार कर लिया. मैं तुरंत ही समाली अंकल का लौड़ा पकड़ कर उसे अपने हाथों से रगड़ने लगी, तो वो और कड़क होने लगा.

ड्राइवर ने गाड़ी को स्टार्ट किया और वहां से हटाकर थोड़ी दूर, लगभग आधे किलोमीटर पर ले जाकर खड़ी कर दिया.

मेरी कजरारी आँखों के कोने में आंसू की बूँद झिलमिला उठी, जो बह कर मेरे गाल को काला करने लगी. फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और जाते वक्त होंठों पर एक लंबा चुम्बन किया।अब तो उससे मेरी सैटिंग बन गई थी.

वीडियो में देहाती बीएफ मैंने ज़रा ज़रा लंड अंदर बाहर करना शुरू किया तो बाद में उसे भी आनन्द आने लगा तो मैं भी पूरी तरह से उसकी चूत की चुदाई करने लगा. उनकी इस हरकत से मैं बहुत डर गया था … मगर मुझे ये ख्याल आया कि कहीं नीता आंटी सोने का नाटक तो नहीं कर रही हैं.

वीडियो में देहाती बीएफ इस बात का अहसास सुलेखा भाभी को भी हो गया था कि मेरा एक हाथ अब उनकी चुत पर पहुंच गया है. एक पल के लिए वह कसमसाई, पर इस नीचे जांघ हो रही हलचल ने उसे रोक लिया.

कहानी का दूसरा भाग:मेरी बीवी पांचाली-2एक बोला- अरे भाभी, अब क्या शर्म करती हो, अब तो हमने आपके मम्मे देख लिए, क्या मस्त गोल मम्मे हैं। अब तो ये साड़ी उतार ही दो.

बीएफ फिल्म ब्लू सेक्सी

अब मैंने एक जोर का झटका लगाया और आंटी की गांड में पूरा लंड दे दिया. चूंकि उक्त जिले में जाने हेतु साधन की अच्छी व्यवस्था थी, जिस कारण बहुत से नौकरी पेशा लोग लखनऊ से सीतापुर रोजाना अप-डाउन करते हैं. आखिर वो भी मर्द था, एक रस भरे यौवन से लदी औरत उससे सट कर चल रही थी.

अब तक वो भी बहुत उत्तेजित हो गई थीं और मेरा सर दबा के अपनी चूत पर रगड़ सुख ले रही थीं. विक्रम की बात सुन लेने के बाद ख़ुशी से अपने दोनों भाइयों का लंड अपने एक-एक हाथ में भरते हुए मयूरी बोली- हाँ मेरे भाइयो… मुझे पता था… तुम दोनों मेरी जवानी की प्यास को ऐसे तड़पने के लिए नहीं छोड़ोगे… मुझे पता था कि तुम मेरी राखी का कर्ज जरूर उतारोगे. मम्मी बोलीं- इतनी देर से? शाम हो रही है … कल दिन में चलेंगे, तो सब खरीददारी आराम से हो जाएगी.

पूजा मुझसे बोली- नहीं अभी नहीं, मुझे अभी और थोड़ी देर तक तुम्हारा लंड चूसना है.

मेम- अरे जय बैठो न इधर ही … टीवी देखो … मैं भी कब से बोर ही हो रही हूँ. बता मैं कैसे अपने पति के बच्चे की माँ बनूँ?तब मैंने कहा- आप मेरे बच्चे की माँ बन सकती हो!मैडम इतना सुन कर वो मुझपर चिल्ला पड़ी और कहने लगी- चले जाओ यहाँ से तुरंत!मैं जानता था कि आज नहीं तो कल … ये जरूर मुझे फ़ोन करेगी और तीन दिन बाद मेरे पास फ़ोन आया- केशव, उस रात के लिए माफ़ कर दो … मैं तुमसे ऑफिस के बाहर बात करना चाहती हूँ. मैं अपने हाथों से पूजा की चूचियों को पकड़ कर दबाने लगा और कभी कभी जोर जोर मसलने लगा.

मगर मैं ऐसा नहीं सोचती क्योंकि मुझसे अधिक बहुत सी खूसूरत लड़कियां हैं. चाची पूरे जोश में आ गयी थीं, वो अपने चूतड़ों को बार बार उछाल रही थीं. तभी मुझे महसूस हुआ कि सोनू ने मेरे लहंगे का नाड़ा भी खोल दिया और मेरा लहंगा एक झटके में नीचे आ गया.

जैसे ही उसने अपनी टाँगें कुछ ढीली की तो मैं उसकी टांगों के बीच में आ गया और अपने होंठ उसकी चूत के मुँह पे रख दिए। वो हम्म करने लगी. अब नीरू ने पायल के पीछे आकर उसकी ब्रा के हुक को खोल दिया, उसके बूब्स बिल्कुल नंगे थे.

उसने मुझे कुतिया बना दिया और मेरे बाल पकड़ कर पीछे से मेरी चूत में अपना लंड जोर से घुसा दिया. मैं शर्माने की एक्टिंग करते हुए बोली- जीजू, आप भी ना आते ही सीधा अटैक मारते हो क्या?वो बोले- हां, तेरी बहन ने जादू ही ऐसा किया है. मैंने पलंग के पैरों के पास शीशे में देखा तो पाया कि पूजा मेरे लंड अपने आंखों के सामने रखकर मंद मंद मुस्कुरा रही है.

वैसे तो मैं एक सॉफ्टवेयर डेवेलपर हूँ पर थोड़ा ज्यादा पैसा और एंजोयमेंट के लिए मैं प्लेबाय का काम भी साइड बाइ साइड करता हूँ.

तो मेरे सुझाव को ट्राय जरूर करना दोस्तो!मैंने अपना समय निकाल कर यह लेख लिखा है. चाची- इतनी सुन्दर है मेरी चूत? तेरे चाचा ने भी आज तक मेरी इस चूत की इतनी तारीफ नहीं की है. मैंने हां में गर्दन हिलाते हुए जवाब दे दिया लेकिन आवाज़ नहीं निकली.

मैंने सोच समझ कर कहा- इसमें दर्द होता है … पीछे वाले में नहीं होगा. उसकी चुत की दीवारें मेरे लंड पर कस गईं और उसने मुँह से ‘उऊऊऊ … अह्हहह … ओहहह …’ की आवाजें निकालते हुए रह रह कर अपनी चुत के अन्दर ही अन्दर मेरे लंड को प्रेमरस से नहलाना शुरू कर दिया.

मैंने दो-चार और धक्के मार कर पूजा से पूछा- पूजा रानी, अब कैसा लग रहा है? अब तुम्हारी गांड में मेरा लंड घुसा हुआ है, तेरी चुत में मेरी उंगली घुसी हुई है और तेरी एक चूची मेरे हाथों से मसली जा रही है. चाची अपना चेहरा बिगाड़ बिगाड़ कर फांक में रगड़ मारते हुए लंड को देखने लगीं- क्या लंड है तेरा रे … कितना तगड़ा और गर्म लंड है तेरा. तभी सुशीला ने एक जोर की सिसकारी छोड़ी जिसकी आवाज पास के दो तीन कमरों तक सुनाई दी होगी.

देहाती एक्स एक्स एक्स सेक्सी

फिर मैक अपना लौड़ा मेरे बाल पकड़कर मेरे मुँह में रगड़ने लगा और मुझे अपनी भाषा में बोला- सक बेबी.

मैंने पूछा- क्या हुआ??तो वो कुछ बोल ही नहीं पाई क्योंकि मीना ने उसकी आंखें पर तेल लगाया था और तभी मोनिका उसकी जांघों को जोर जोर से सहलाने लगी थी. दो पल बाद तो मैं चाह रही थी कि अंकल का लंड पूरा घुस जाए, पर शर्म के मारे बोल भी नहीं पा रही थी. उन्होंने मेरी बात अपने पति से करवाई और मुझे कमरा देने के लिए वो राज़ी हो गए.

मैंने अपनी निक्कर धीरे से पैरों से निकाली और उसकी चड्डी की इलास्टिक में हाथ डाल कर उसे भी उसके चूतड़ों से नीचे को सरकाया। अब मेरे मामा की बेटी यानि मेरी ममेरी बहन के कूल्हे नंगे हो गए और मेरे हाथ उसकी भरी हुई टाँगों पर आ गए. इतने में मैंने देखा कि एकता भाभी ने अपनी गांड उठा कर मुझे आंख मारी और मैं मुस्कुरा दिया. हरियाणवी बीएफ फिल्मइसके बाद नताशा ने चहकते हुए दीमा के बारे में बताना शुरू कर दिया कि वो बहुत अच्छी पियानो बजाता है, गाता भी बहुत मीठा था.

चाची जोर जोर से चूतड़ों को उछालने लगीं और ऊपर चढ़े चाचा भी जोर जोर से ठाप मारने लगे. उसने अपनी उत्तेजना और प्रक्रिया दोनों को ही बहुत ही नियंत्रण में रखा, न उसने कोई जल्दबाज़ी दिखाई, न ही कोई घबराहट.

मैं- आप नाराज भी हो सकते हैं!धर्मेन्द्र- प्रोमिस बाबा नहीं होऊंगा नाराज, बोलो?मैंने संक्षेप में धर्मेन्द्र को अपनी ख्वाहिश बताई. शायद मुझे शगुन के साथ सोने का मौक़ा मिल जाए इसीलिए मुझे लगा कि शायद आज कुछ बात बन जाएगी!और किस्मत को भी यही मंजूर था!रात को मेरी माँ ने मुझे और शगुन को एक साथ सोने के लिए छत पर भेज दिया और साथ में मामा और मामी को भी भेज दिया! ऊपर एक कमरा था छोटा सा और उसके सामने खुली छत थी. अब तक मेरे मन में मीतू दी के लिए कुछ गलत नहीं था, पर मैंने देखा कि उनके फोन में तो गजब का पोर्न कलेक्शन था.

मैं अंकल के हाथ को बड़ी ताक़त से बुर के अन्दर ठेलवा रही थी, लेकिन केवल बीच वाली उंगली ही बुर में पूरा घुस नहीं रही थी. ये लोग इतना क्यों हंस रहे हैं?तो उसने भी हंस कर कहा- आज आपके बायोलॉजी का टर्न है ना!मैंने कहा- तो इसमें हंसने की क्या बात है. दोस्तो इस दौरान उनकी चूत की चुदाई चल ही रही थी … थोड़ी देर बाद उनका शरीर ऐंठने लगा और वो झड़ गईं.

कुछ 15 मिनट में वो खाना ले आईं तो मैंने कहा- खाना बहुत जल्दी तैयार कर लिया?उन्होंने कहा- तैयार तो पहले ही कर लिया था, अभी तो जरा गर्म किया है.

मेरी योनि की मांसपेशियां तेजी के साथ हर धक्के पे सिकुड़ने और ढीली होने लगी. माइक ने अपना वजन घुटनों और कोहनियों पर डाला, मेरे हाथ से हाथ मिलाकर मेरी हामी को स्वीकारते हुए हौले हौले अपने लिंग को मेरी योनि में धकेलने लगा.

विक्रम- हाँ मेरे भाई… सपना ने अपनी चूत मारने नहीं दी, पर इसकी तो मैं छोडूंगा नहीं… चल!दोनों भाई कमरे से बाहर आये और मयूरी के पास पहुंचे. इतना कहकर सतीश ऊपर की, अपने शर्ट बनियान को उतार दिया और हिमांशु ने खड़े होकर जल्दी-जल्दी ने अपने पूरे कपड़े उतार दिए. जगत अंकल करीब 5 से 7 मिनट से चूत को चोद रहे थे और राज अंकल दूसरे मर्द हैं, जो राजीव अंकल के झड़ने के बाद गांड को चोद रहे थे.

जब मैं बाहर आई तो मम्मी ने बोला- आ गई … चल सोनू तू भी कपड़े पसंद कर ले. मैडम के भरे-पूरे स्तन और उस पर अंगूर जैसे लाल लाल चुचूक, उनकी शोभा बढ़ा रहे थे. मैंने जल्दी स्कर्ट टॉप पहने और दोनों अंकल ने भी अपने कपड़े पहने, राज अंकल तुरंत मेरा हाथ पकड़े और बोले- चुपचाप चले चलो सोनू जल्दी करो.

वीडियो में देहाती बीएफ फिर मैंने उसे घुमाया और हाथ आगे करके उसके 36″ के चुचे धीरे से दबा दिए और हाथ उसके मम्मों पर ही रखे रहा. मेरी नींद खुली छह बजे, तो देखा मनीष के छह मिस्ड कॉल थे, मैंने तुरंत कॉल किया मनीष ने ऑन कर दिया.

बीएफ फुल चुदाई

जब वो यह सब कर ले, तो अपना लंड मेरी चूत में डाले और मुझे अच्छी तरह से चोदे ताकि मुझे जिंदगी के पूरे मज़े मिलें. कुछ देर तो रुको इतना तो मैं कभी पूरे सेक्स के बाद नहीं झड़ी, जितना तुमने बिना हाथ लगाये झाड़ दिया. उसने मुझे हिलाते हुए कहा- क्या हुआ ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने खुद को संभाला और कहा- नहीं कुछ भी तो नहीं.

शर्म आती है?”एकदम से ऐसी स्थिति बन जाना कि जिसकी पहले कभी उम्मीद न की गयी हो, थोड़ी झिझक तो पैदा करता ही है। पहले इसे ही रहने दीजिये. थोड़ी देर बाद वो अब अपने पैरों से मेरे घुटने तक की टाँग को अपने पैरों से सहला रहा था. फिल्म दिखाओ ब्लू फिल्ममनीष ने दोनों हाथों से भाभी की गांड फैला रखी थी, जिससे उनकी चूत पूरी फ़ैल गई थी और भाभी को पूरा मजा आ रहा था.

फिर कुछ ही देर में मैं भी चरम पर पहुंच गया, मैंने प्रिया को अपनी बांहों में जोरों से भींच लिया और चार पांच किस्तों में उसकी चुत को अपने वीर्य से पूरा भरकर उसके ऊपर ही निढाल होकर गिर गया.

यह मेरा खुद का आविष्कार है, मैंने इसके बारे में कहीं नहीं पढ़ा, न ही किसी ने मुझे बताया. मैंने उनका लंड पकड़ लिया और लंड पकड़ कर जोर जोर से मुँह में अपने घुसाने लगी.

दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि पायल भी हमारे गांव की लड़की है और उसकी उम्र उस वक्त 18 साल की थी. मैंने यूं ही जीभ से चाटते हुए चाची की चूत को एक बार जोर से काटा, तो चाची तिलमिला गईं- कितना जोर से काटते हो. मैंने कमलेश के बालों को सहलाना शुरू कर दिया तो वह समझ गया कि मैं उसको प्यार करना चाहती हूँ।कमरे की लाइट जल रही थी.

मैं एक दिन अपने ब्वॉयफ्रेंड को कॉलेज में देखा कि वो एक लड़की से हंस कर बात कर रहा था.

तेरी दलाल है क्या?मैं बोली- नहीं, ऐसा मत बोल यार … वह मेरी मम्मी है. थोड़ी देर बाद उसने कमर हिलाकर साथ देना शुरू किया और अब मैं भी शुरू हो गया. शायद मेरे साथ ये सब करते हुए वो शर्मा रही थी इसलिए मैंने अब खुद ही अपनी कमर को खिसका कर अपने लंड को उसके होंठों से लगा दिया.

सेक्सी एक्स वीडियो हिंदी मेंमैंने उठाया तो सामने से आवाज आई कि आपके बाजू में जागृति मेम रहती हैं उन्हें बुला दीजिए।तो मैंने कहा- आप फोन पर रहें, मैं बुलाता हूँ।मैं उसे बुलाने गया तो घर का दरवाजा खाली उड़का हुआ था. करीब 45 मिनट की लेस्बियन मस्ती और मुझे तड़पाने के बाद हिमिका मेरे पास आई और मेरा लंड मुँह में ले कर चूसने लगी.

पंजाबी सेक्सी बीएफ फिल्म

मैंने आगे हाथ बढ़ा कर दूध दबाने को सोचा तो दी ने पीछे हट कर रुकने का इशारा किया. उसने आखिरी धक्का मारा और अपने वीर्य की आखिरी बून्द गिरा कर मेरे ऊपर सुस्त पड़ गया. हम दोनों ने ये सब बहुत देर तक किया और उसके बाद हम दोनों अलग होकर सोने चले गए.

हूहूहूह मम्मम मम्मी ईई!मैं रुकने वाला नहीं था और 15 मिनट के बाद मैं झड़ गया।और फिर भी मैं रुका नहीं … मैं चाची को प्यार करता रहा, चूमता रहा. आप तो आज पूरी रात के लिए बुक हो, इसलिए अभी थोड़ा 15-20 मिनट का टाइम है. बेडरूम में पहुंचते ही मयूरी भाभी ने मेरी टी-शर्ट उतार फेंकी और मेरा लंड चूसने लगीं.

इसलिए उनकी चुत गहरे काले घने और घुंघराले बालों से भरी हुई थी जो उनकी योनि को छुपाने की नाकामयाब कोशिश कर रहे थे. अरे नीरू, तू इसे कैसे बर्दाश्त कर रही है, बता तो सही? तेरे जीजू का इतना मोटा लंड है कि मुझसे भी बर्दाश्त नहीं होता, बच्चेदानी में टकराता है और मुझे भी दर्द देता है. मनीष ने दोनों हाथों से भाभी की गांड फैला रखी थी, जिससे उनकी चूत पूरी फ़ैल गई थी और भाभी को पूरा मजा आ रहा था.

अभी तो मैंने सुलेखा भाभी की चुत का रस बस चखा ही था … अभी‌ तो‌ उसे चाट चाट कर पीना बाकी था. तो हिमांशु ने हाथ बढ़ाया, दोनों ने साथ मिलाकर आपस में में ताली ठोकी और कहा- यार हम दोनों बहुत लकी लड़के हैं, जो हीरोइन से भी सुंदर एक लड़की हमसे वो चुदवाने आई है.

लेकिन आखिर इस खेल का भी अंत होना था, और हुआ भी!हम्म्म आआआ आआह …!” एक गहरी और जोर से मादक सीत्कार हम दोनों के होंठों से निकली और एक साथ हम दोनों झड़ने लगे.

सुबह 8 से 9 के बीच में जितने भी यात्री सीतापुर जाते हैं, वे सभी रोजाना अप-डाउन करते हैं. సన్నీలియోన్ ఎక్స్ ఎక్స్मैं अपना लंड चुत में डालने की कोशिश करता तो उसको चुत में दर्द होता था. इंडियन बीएफ वीडियो दिखाइएब्रा हटते ही मैडम के अड़तीस इन्च के दूध मेरी आँखों के सामने फुदकने लगे थे. मैंने जब उसे गुस्से में देखा तो उसने कहा- ठीक इसी तरह का दर्द मुझे भी होता है जब आप मुझे दांत से काटते हो.

फिर धीरे से मैंने उसकी आंखों में देखते हुए उसके निप्पल को चूसने लगा.

फिर राज अंकल मेरी चूत में अपनी जीभ डाल दी और पागलों की तरह चाटने लगे. आप लोगों ने मेरी पिछली कहानीहसीन चाची की चुत की चुदाई कर दीको बहुत सराहा, उसके लिए आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद. भाभी क्या गजब लग रही थीं, उनके तने हुए चूचे, पिंक पैंटी, गोरा बदन सच मनीष की लॉटरी लग गई थी.

रिया भाभी मुझे एकटक देख रही थीं, तो मैंने कहा- आप तीनों हसीनाओं के साथ बैठ कर मेरे पप्पू का ये हाल हुआ है और वोडका का नशा अलग से मुझे हॉट किए दे रहा था. चाची- मजा आ रहा है न गांड मारने में?मैं- सच में चाची आपकी गांड आपकी चूत से ज्यादा मजा देती है. भाभी हंस कर बोलीं- आजकल की लड़कियों को तुम्हारे सरीखे लड़के ही पसंद आते हैं.

हिंदी बीएफ ओपन दिखाइए

फिर बातों ही बातों में पता चला कि वे लोग भी घूमने के लिए ही आए हुए थे. उसने मुझे सीधे कह डाला- मैं आज औरत बनना चाहती हूँ, क्या तुम मुझे औरत बना सकते हो. उन्हें चोदने के मेरे बहुत से क़िस्से हैं … वो मैं आपको अगली कहानी में बताऊंगा.

मेरे मन में ऐसा महसूस होने लगा, जैसे मैं उसके लिंग को योनि से दबोच लूँ और बाहर न जाने दूँ.

तू आज सुबह स्कूल में क्या घूर रहा था और तेरे लंड पर भी सुबह में जानबूझ कर ही अपना हाथ मारा था.

उसकी आँखों में वासना देख कर मेरे अन्दर भी अब चिंगारी आग बनने लगी थी. उसने ये कहते हुए मुझे किताब दे दी कि आज तू रख ले, मैं तुझसे कल ले लूँगा. बीएफ सेक्सी एचडी वीडियो हिंदीइस बार मैं बोली कि बतोलेबाजी नहीं चलेगी जीजा, रिटायर हो गए हो … तुमको बहुत पैसा मिला है, थोड़ा खर्च कर लो.

उसके हिप्स इतने शानदार उठाव लिए हुए थे कि मोनिका और मीना बस उसे काटने को आतुर हो रही थीं. अब वो मस्ती में बोलने लगी- ऊऊहह … उम्म … उह्ह्ह् … और तेज रेनिश … आह्ह्ह्ह्ह … और तेज … आज मेरी बुर का भोसड़ा बना दो … मैं हमेशा तुझसे ही चुदवाऊँगी … प्लीज़ और तेज़ ऊऊह्ह … आआह …घमासान चुदाई चलने लगी थी. मेरी बीवी कोशिश कर रही थी कि स्टीव का पूरा का पूरा लंड उसके मुँह में समा जाए.

अब भाभी पूरी नंगी मेरे सामने थीं, क्योंकि उन्होंने पेंटी भी नहीं पहनी थी. रेवती के आगोश में उसके सुकून भरे साथ में ना जाने कब मुझे नींद आ गई, पता ही नहीं चला.

नीरू ने अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाया और पायल को दिखाते हुए बोली- देख पायल, मस्त है ना! अभी तुझे इसके दर्शन करवाती हूं.

वो देखने में थोड़ी मोटी थी, उसके चुचे और गांड मस्त थे, लेकिन माल थी. लगभग बीस मिनट की चुदाई के बाद जब मैं झड़ने को हुआ तो मैंने अपना लिंग बाहर निकाल लिया क्योंकि मैं अन्दर नहीं झड़ना चाहता था। जब मैंने अपना लिंग बाहर निकाला तो वह उसकेखून से लाल हो गया था जो उसकी सील टूटने का सबूत दे रहा था।फिर मैं अपना लिंग और उसकी चूत साफ करके उसको बांहों में लेकर लेट गया और बातें करने लगा. तो दोस्तो, आपको कहानी का ये भाग कैसा लगा, कृपया मुझे मेल कर के बतायें![emailprotected]आपकी अपनी प्रभा रांड.

अफ्रीका बीएफ मैं तो पूरी गर्म होने ही वाली थी लेकिन उसने बीच में ही सारा मज़ा खराब कर दिया. मेरे होंठों को जोरों से चूसते हुए प्रिया अब खुद भी अपनी कमर को अपनी पूरी तेजी से हिलाने लगी थी.

मेरे घर वालों ने उनकी समस्या समझी और उनको किराये पर एक कमरा दे दिया. मैंने उसके चेहरे की ओर देखा, उसकी आँखों में चरम सुख की तीव्र लालसा दिखी. मैं उसकी तरफ मुड़ा अपने हाथ से उसका कमीज ऊपर किया, फिर ब्रा के ऊपर से थोड़े उसके चुचे मसले.

देसी बीपी ब्लू पिक्चर

लेकिन मौसी सेक्स करने को अभी राज़ी नहीं थीं … शायद उन्हें कुछ डर था. मेरी योनि का छेद खुल गया था, मुनीर ने अपनी जुबान को मेरी योनि के एकदम निचले वाले हिस्से पे रखा और चाटते हुए ऊपर दाने तक आयी. हम खाना खाके सो गये।आधी रात को मेरी नीन्द खुली, मानसी पास में सो रही थी, उसके साइड में सुशीला!सुशीला नींद में थी, उसकी चूचियाँ सांस के साथ ऊपर नीचे हो रही थी.

वो चुदासी सी बोल थी- अहह … हय … आह … चोद दो मुझे … और तेज पेल दो … आह आह आह जानू … और तेज हां … ऐसे ही आह और चोदो. उसने मेरी जाँघों को सहलाया, फिर नाक लगा कर सूंघते हुए मेरी जाँघों को चूमने लगी.

इतना कह कर मैंने अपने एक हाथ से पूजा की चुत में अपनी एक उंगली पेल दी और धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा.

मेरे पास अब लम्बा मोटा और ताक़तवर लंड था जो किसी भी औरत की चीख निकाल दे. मैं तुरंत ही समाली अंकल का लौड़ा पकड़ कर उसे अपने हाथों से रगड़ने लगी, तो वो और कड़क होने लगा. ऐसे ही सिगरेट पीते हुए हम सभी लेटे लेटे गन्दी बातें करते रहे और इसी बीच मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया.

एक पल को मेरा चेहरा निहारा जिस पर शायद उसे मन माफिक भाव न ही दिखे हों. आपको कोई भी प्राब्लम हो तो आप श्यामा से कह कर मुझे बतला दिया कीजिए. अब वो दुबारा तेज गति के साथ नाता की गुलाबी जीभ को अपने लंड से धकेलता हुआ उसके गर्म मुंह को चोदने में लगा हुआ था.

मैं निकलने ही वाला था कि उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोली- प्रकाश, तुम सच्ची में बहुत अच्छे हो, मैंने आपको कितनी बार आपको बहकाने की कोशिश की, लेकिन आप शांत रहे, आजकल की दुनिया में कोई अकेली औरत दिखती है तो लोग कैसे झपट पड़ते हैं.

वीडियो में देहाती बीएफ: अच्छा तो दवाई चाहिये तुम्हें? देती हूँ … अभी देती हूँ दवाई …” कहते हुए पहले तो सुलेखा भाभी ने अपने ब्लाउज के सारे हुकों को खोल दिया और फिर दोनों हाथों से अपनी ब्रा को पकड़कर एक ही झटके में ऊपर तक खींच कर अपनी चूचियों को बाहर निकाल लिया. दस साल का एक बेटा है वो बाहर हॉस्टल में रहता है, मैं दिन भर घर पे बोर होती रहती हूँ.

क्योंकि मुझे सिर्फ तारा मुनीर की टांगें योनि और माइक घुटनों के पल धक्के लगाता दिख रहा था. इस मस्त छोरी की अल्हड़ जवानी और जिस्म का मालिक बन मैं भी ख़ुशी से फूला नहीं समा रहा था. रात को खाना होने के बाद हम दोनों उसके कमरे में सोने चले गए और गप्पें लगाने लगे.

कविता से रुका नहीं गया और उसने खुद मेरा लंड पकड़ा और चुत पर लगा कर मुझको कहा- अब नीचे होकर पेल दे.

इस पर वो बोलीं- क्या तुमने कभी अपनी उम्र की लड़की के साथ सेक्स किया?तो मैंने जबाब दिया- नहीं, चांदनी जी मेरी साथ सेक्स करने वाली पहली हैं और मुझे अपने से बड़ी या शादीशुदा ही पसंद आती हैं क्योंकि वो मुझसे ज्यादा अनुभवी या समझदार होती हैं, जो किसी गलती को संभाल सकें. भाभी की जैसे गांड फट गयी, वो चीख पड़ी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…उसकी आंखों से पानी निकल रहा था, वो बहुत गालियां बक रही थीं और मुझसे लंड निकालने को बोल रही थीं, पर मैं धीरे धीरे भाभी की गांड मारता रहा. और हम लोगों ने 6 दिन तक दारु और चोदने के अलावा और कोई काम नहीं किया.