हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी

छवि स्रोत,बीएफ के सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी सेक्सी बाप: हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी, जब उसने अपनी बांहों की पकड़ को ढीला किया तो मैंने उसके गालों पर किस किए और हल्के हल्के से चूचियां दबाते हुए उसके बगल में उतर कर बाजू में सो गया.

सेक्सी बीएफ हिंदी फुल एचडी वीडियो

मैंने पापा का लंड चूसने के बाद मैंने मम्मी की चूत से पापा की उंगली निकाल दी और चूत चाटने लगा. शिल्पा राज बीएफतभी गगन आ गया और उसने अपने सामने सोई हुई नंगी जया को देखा तो उसने जया के मुँह में मूतना शुरू कर दिया.

वो हंस दीं और बोलीं- हां कई बार … तू आज मुझे सारी रात चोद दे … मेरी आग बुझा दे. बीएफ जबरदस्त चुदाई वीडियोथोड़ी देर में नीचे जाकर मेरे बूब्स चूसने लगे फिर उन्होंने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया.

दूसरे दिन मैंने अपनी बहन रीना से बोला कि आज मैं अपने दोस्त के रूम पर जा रहा हूँ और आज रात मैं वहीं रुकूंगा.हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी: उन्होंने अपना लंड मम्मी के मुँह में दे दिया और मम्मी की चूत चाटने लगे.

मेरा घर कोचिंग से कुछ ही दूर है, तो मैं जल्दी से अपनी बाइक पर उसके पास पहुंच गया.मैं कुछ समय उनके साथ बैठ कर उन दोनों को जगह के बारे में समझाती रही और फिर वापस आ गई।करीब डेढ़ घंटे बाद मैं उन दोनों का खाना लेकर उनके कमरे में गई।दोनों तब भी एक ही कमरे में ही थे.

देसी घरेलू बीएफ - हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी

इसी से एक घटना घटी, जो मैं इस पोर्न भाभी सेक्स कहानी के जरिये आप तक पहुंचा रहा हूँ.करीब 15 मिनट बाद हम दोनों अलग हुए और मैंने भाभी के मम्मों को दबाना शुरू कर दिया.

उसके इस तरह से झूठ बोलने के कारण मैं भी मन ही मन खुश हुआ और मैंने सोचा कि शायद इसके मन में भी कुछ है मेरे लिये. हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी मुझे संगीता के मुँह की गर्मी और जीभ की लार अपने कड़क लंड पर महसूस हो रही थी.

मयंक ने कहा- आप हमें ज्वाइन नहीं करेंगी?संगीता हंसते हुए वहीं हमारे पास सोफे पर बैठ गई और बोली- हां चलो साथ में ही लेते हैं.

हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी?

मैंने अपने हाथ आगे ले जाकर उनके लंड को पकड़ लिया और उसको हिलाने लगी. कमरे के अन्दर आते ही मयंक संगीता को नंगी देख कर बोला- संगीता मैडम, आप बहुत खूबसूरत लग रही हो. वो इतने गुस्से में थी कि बस अपने पति को गालियां देकर ही उसकी बातें करती जा रही थी.

कमरे के अन्दर नेहा एक फिर मनीष के धक्कों से गर्म होकर मनीष के ऊपर आ गई और उसका लंड पकड़ कर अपनी गीली चूत के मुँह पर लगा कर एक झटके में बैठ गई. वह एकदम से मचल उठी और तड़फ कर मुझे अपनी बांहों में भरने का कोशिश करने लगी. जब खाने का समय हुआ तो मेरे ना आने के कारण भाभी मुझे आवाज लगाती हुई मेरे कमरे में आ गईं.

फिर उन्होंने धीरे धीरे पूरा बट प्लग अपनी गांड में ले लिया और पलट गईं. कुछ दिनों बाद उसका फोन आया- मैडम जिस काम की परमीशन ली थी, वो पूरा हो गया है और मुझे उसकी शुरुआत आपसे ही करवानी है, इसलिए आप अपनी रज़ामंदी दें और जो भी समय आपके लिए उचित हो दे दीजिए. मैंने एक नजर वेंटिलेशन पर डाली और वहां पड़ी एक टेबल उसके नीचे लगा कर ऊपर चढ़ कर देखा, तो मैं वहां तक पहुंच ही नहीं पाई थी.

मैंने उनसे पूछा- और तुमने उसे मेरे और अपने बारे में सब कुछ बता दिया?तो देवर जी ने मुझसे कहा- हां मैंने बता दिया. उस दिन मैं नहीं गया क्योंकि मेरी नींद नहीं खुल सकी थी, मैं सोता रह गया था.

उसने मेरे लंड को पकड़ लिया और जैसे ही उसके हाथ ने मेरे लंड का अहसास किया वो हैरानी से बोली- तेरा तो बहुत बड़ा है.

मैंने उनकी सवालिया नजरों से देखा, तो विधि भाभी ने मुझे आंख मारी और गांड हिलाते हुए आवाज दे दी- रुक जा रांड … अभी दरवाजा खोल कर तुझे भी लौड़े दिलवा देती हूँ.

लेकिन उसके गांव जाने के एक दिन बाद ही पूरे देशभर में लॉकडाउन लगा दिया गया. बस ऊपरी मन से बोले जा रही थीं- यश, छोड़ो ना … किसी ने देख लिया तो दिक्कत हो जाएगी. दोस्तो, इससे पहले मैं मेरी अन्तर्वासना की कहानी आगे कहूँ, मैं खुद के बारे में पहले कुछ बता दूं.

अपनी हार क़ुबूल करते हुए उसने अपना बदन उस चपरासी मानस के हवाले कर दिया और वो बेजान उस वाशबेसिन पर पड़ी रही. उसने एक और जोरदार धक्का मारा तो इस बार उसका पूरा लौड़ा मेरी गांड में घुस चुका था. उन्होंने मेरे बाल पकड़ लिए जो सीधा ऑर्डर था लंड को चूसने का।मुझे भी हवस चढ़ी हुई थी तो मैंने भी बिना देरी किये उनका लंड चूसना शुरू कर दिया.

कैसे?हैलो हैंडसम बॉयज और सेक्सी गर्ल्स!मैं आपके साथ अपना एक ताज़ा सेक्स एक्सपीरियंस शेयर करना चाहता हूं जिससे मेरी सेक्स इच्छाओं को पूरा करने में मदद मिली जबकि मेरी कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं है.

मैं उसकी क्लीवेज को चूमने लगा और चूमते-चूमते नाभि पर आ रुका; नाभि में जीभ डाली और होंठों में भर लिया. उन्होंने मुझे दोबारा लिटाया और मेरे बूब्स मुंह में लेकर जोर जोर से चूसने लगे. पूनम बुआ ने मेरे को वो सुख दिया था, जो कोई और आज तक नहीं दे सकी थी.

मोना भाभी बोलीं- अच्छा जी, पहले भी तो काम होता था … तब तो तुम्हारे पास मेरे लिए टाइम होता था. बहुत देर तक ऐसे ही चुदाई होने के बाद मेरा पानी निकलने लगा तो वे मेरी चूत में और तेज तेज धक्के लगाने लगे. मैंने उन तीनों से पूछा- कि पहले कौन चुदेगी!भाभी बोलीं- अभी मेरे पति का कॉल आने वाला होगा, तो पहले तुम मेरी चुदाई कर दो, जिससे मैं उनसे बात करने चली जाऊं.

काश … ये पैदा होते ही क्यों नहीं मर गई?पापा मुझे काफी गंदी गंदी गालियां दे रहे थे.

कभी कान पर, तो कभी गाल पर, तो कभी गर्दन पर … बस जोर जोर से चूमने लगा था. इसलिए मेरी सोसायटी की भाभियों और लड़कियों में मेरी चर्चा बनी रहती है.

हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी जब ये बताया तो ये भी बता देता कि लंच में तेरी बीवी की ही चूत खाई है. अब मेरे अंदर चूत से चूत रगड़ने की प्यास और गहरी हो गयी थी।तो दोस्तो, आशा करती हूं कि मेरा ये नया अनुभव, हॉट लेस्बियन्ज़ कहानी आप सभी पाठकों को पसंद आई होगी। किसी भी प्रकार का सुझाव देना चाहते हैं तो मुझे जरूर लिखें।मैं अपनी अगली कहानी में आपके सुझावों को प्रस्तुत करूंगी।धन्यवाद।आप सबकी प्रिया सारिका कंवल[emailprotected].

हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी क्योंकि मेरी बहुत सारी सेक्स कहानी अन्तर्वासना पर पहले ही प्रकाशित हो चुकी हैं. उन्होंने हाथ से लंड पकड़ कर दो तीन बार आगे पीछे किया, तो लौड़ा खड़ा हो गया.

इसलिए मैं घर के माल को घर में ही खुश रखूं, यही सोच कर पहली बार उनकी सील पैक चुत चोद कर दीदी को मैंने मज़ा दे दिया.

साधु की बीएफ

हम दोनों के घर वालों की सोच सही थी क्योंकि हम दोनों भाइयों ने साथ में मिलकर बहुत सारी लड़कियां और भाभियों की चुदाई की थी. हमारे कमरे में एक खिड़की थी, जिसे खोल कर सिगरेट का धुंआ बाहर निकल जाता था. आज भी मैं अपने जीवन की उसी सच्ची घटना की एक और कड़ी से आपको रूबरू करवाना चाहता हूँ.

एक हाथ से मैं उस परी के मम्मों को मसलते हुए उसके होंठों का रसपान कर रहा था. लम्बाई लगभग 5 फुट 3 इंच, रंग तो दूध जैसा गोरा था ही!शरीर भरने से चाची की चूचियों का साइज भी 34 से ऊपर और गांड तथा चूतड़ों का साइज 36 हो गया था. उसने बेडरूम में जाकर अभी निकाले हुए दूध की बोतल लाकर मुझे दे दी और इठला कर बोली- लो चख लो स्वाद.

मेरे साथ इतनी देरी क्यों कर रहे हो? मुझे क्यों तड़पा रहे हो?मैंने उसकी आंखों में देखते हुए कहा- इसे तड़पाना नहीं, इसे आनंद देना कहते हैं.

फिर मेरे दोनों हाथों को फैला दिया और ऊपर कर दिया और बोली– हाथ जरा से भी हिलाये तो फुद्दी के सारे बाल नोंच लूंगी।मैं उसके कहे अनुसार हाथ ऊपर किये हुए खड़ी रही।उसने अपना मजा लूटना शुरू कर दिया। मेरे गले व गालों को चूमती हुई वो मेरे स्तनों तक गयी और उन्हें बारी-बारी से मसल मसल कर कर चूसा. शादी के बाद हनीमून से लौट कर दोनों अपने घर में एक दूसरे के साथ एडजस्ट हो चुके थे और एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे. मैंने जैसे ही उनकी पैंट नीचे की तो उनका 7 इंच का लन्ड मेरे मुंह पर आकर लगा.

मैं ऐसे ही दस मिनट तक लगातार धक्के लगाता रहा, क्योंकि ऐसे धक्के मारने में मुझे कुछ ज़्यादा ही मज़ा आ रहा था. मैं बोली- क्या डाक साब?उसने मुस्कुराते हुए पूछा- आप इतनी हॉट हो … अभी तो आपके खेलने खाने के दिन हैं, एन्जॉय करने का टाइम है. जब मैं दरवाजा बंद कर रहा था … तब मेरी नजर सामने वाले घर में चली गयी.

निधि, जो मोहित के लंड की सवारी कर रही थी, अचानक से लंड से खड़ी हुई और मेरे पास आकर नाइटी उठा कर मेरे मुँह के सामने अपनी चूत कर दी. तो मैंने बुआ की चुत से अपना लंड बाहर निकाल कर उनको डॉगी स्टाइल में होने को कहा.

इस बार तेल से भीगे लंड को उसके अन्दर पूरे जोर से डाला, तो एक ही झटके में लंड अन्दर घुस गया. कुछ देर बाद लंच आ गया, तो हम दोनों ने खुद को ठीक किया और खाना खाकर बाहर निकल आए. मगर पापा नहीं माने और उन्होंने मम्मी की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया.

मैंने जैसे तैसे खुद को संभाला और उन दोनों के लिए बिस्तर में जगह बना दी.

ख़ैर दूसरे दिन यानि रविवार की रात क़रीब 10 बजे दोनों फिर से चैट रूम में मिले और इस बार शेखर ने अपनी असमंजसता को दूर करने के लिए उससे फ़ोन पर या फिर वीडियो चैट पर आने को कहा. लेकिन उसके हाथ मेरे लंड को सहलाने लगे जिससे मेरा दर्द कम हो गया।तब उसने थोड़ा सा झटका मारकर थोड़ा लंड और अंदर कर दिया।वह अनुभवी लग रहा था इसलिए धीरे-धीरे मेरी गांड खोल रहा था. मैंने उनकी पैंटी को भी टांगों से नीचे खींचा तो भाभी ने अपनी गांड उठा कर झट से पैंटी को उतर जाने दिया.

जैसे ही हम दोनों बिस्तर में आए, तो उसने मेरी भी अंडरवियर को उतार दिया. कल्पना मामी तड़पती हुई बोलीं- आह राहुउउल्ल छोड़ दे ना मुझे … क्यों तड़पा रहा जल्दी से चोद दे.

स्टूडेंट टीचर सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने युगांडा की एक लड़की को चोदा. सुलतान ने मुझसे अपनी बेगम का परिचय करवाया- ये मेरी वाइफ रोशना है (नाम बदला है). उन सभी में से एक किस्म का स्पर्म तो तुम्हारे पति से भी ज्यादा पाया गया है.

पंजाबी बीएफ फिल्म दिखाएं

उसके साथ मेरा खून का रिश्ता तो पहले से ही था मगर आज हमारे बीच एक जिस्मानी रिश्ता भी बन चुका था.

मेरी 12वीं तक की पढ़ाई होने के बाद पापा ने मेरा दाखिला एक बड़े कॉलेज में करवा दिया था. सुबह 5:00 बजे मम्मी की नींद खुली तो मुझे पास में नंगा लेटा देखकर घबरा गईं. चाची जब हमारे घर रहने आई तो मैं चाची के उफ़नते हुस्न और गदराए जिस्म को देखता ही रह गया.

बोतल आधी से थोड़ी कम भरी हुई थी … भाभी ने उसे होंठों से लगाया और नीट ही पी गईं. मैं बोली- जी डॉक्टर, मैं समझी नहीं कि आप कुआ कहना चाह रहे हैं!तो डॉक्टर बड़े बेशर्मी के साथ बोला- मैं जानना चाहता हूँ कि आपके पति आपकी चूत की आग बुझा भी पाते हैं? मतलब वे आपको पूरा मजा दे पाते हैं सेक्स का या नहीं?डॉक्टर की यह बात सुनकर मैं चौंक गयी और बोली- डॉक्टर साब, ये आप कैसी बातें कर रहे हैं?वो बोला- मधु यार … मैं सीधे मुद्दे पर आता हूं. सेक्सी बीएफ हॉट देसीसोनम के पैर पहले से ही मानस के कंधे पर थे, जो आसानी से छूटने नहीं दे रहे थे.

मैंने एक बर्फी ली और खिलाने लगा तो वो बोली- पहले आधी आप खाईये!तो मैंने आधी बर्फी खायी और बचा टुकड़ा उसे खिलाकर दूध का गिलास उसे दिया तो उसने गिलास मेरे होंठों से लगा दिया दिया. तो रोशना ने धीरे से अपने होंठ खोलकर लंड पर जीभ फिराना शुरू कर दिया.

उस दिन मैंने एक ढीला सा ब्लैक टॉप पहना और लेकिन मैंने उसके अंदर ब्रा नहीं पहनी थी और फिर मैंने एक छोटी सी ग्रे स्कर्ट पहनी लेकिन मैंने उसके अंदर पेंटी पहन ली थी क्योंकि मैं नहीं चाहती थी कि सड़क पर मेरी स्कर्ट उड़े और लोगों को मेरी चूत के दर्शन फ्री में हो जायें. इसमें मौजूद विटामिन्स और मिनरल्स हमारी त्वचा के रोम छिद्रों के जरिए अन्दर जाकर हमारी मसल्स और वेन्स को मजबूत करते हैं. अचानक मैंने आँटी की चूत के क्लीटोरियस को अपने होंठों में दबाया और चूसने लगा.

अब आगे:जब लंड चुत में नहीं घुसा, तो अशोक ने अपने मुँह से मेरी चुत की चुदाई शुरू कर दी. उसके बाद अमन ने रात में तीन बारमेरी बहन को चोदाऔर एक बार उनकी गांड भी मारी. वो झड़ने के बाद भी किसी बाजारू रंडी की तरह गांड उठा उठा कर चुद रही थी.

मैंने भी ज्यादा फ़ोर्स नहीं किया और दूसरा कंडोम चढ़ाकर भाभी की एक टांग उठाकर चूत में लंड पेल दिया.

इसी प्रकार की मस्ती करती हुई दोनों फ्रेश हुईं और तैयार होकर हॉल में आ गईं, जहां पहले से सभी बैठे थे. मैं- क्या वो आज आ रही है?निखिल- नहीं, आज ही उसका पीरियड चालू हुआ है.

पूनम बड़ी तेज़ी से हांफ रही थीं और उनकी चुत लगातार कामरस छोड़े जा रही थी. मैंने सही सी जगह देखकर गाड़ी साइड में लगा ली और हम अपनी चिप्स खाने लगे. मैंने उसके ऊपर से उठ कर झट से अपने कपड़े उतारे और उसका लोअर खींच कर उतार दिया.

अभी मैं अपने ख्यालों में डूबी हुई थी और इससे पहले कि मैं कुछ और सोच पाती, अशोक ने मेरे पास आकर कार का हॉर्न बजा दिया. उसकी हाइट 5 फीट 2 इंच की थी और बॉडी शेप थी- 34-30-34 की।सांवला रंग लिये और नशीली आंखों के साथ वो मदमस्त जवानी की मालकिन थी जिसे देख कर न जाने कितनों के पजामे के नाड़े खुल जाएं।अब मैं आपको बताता हूं कि हमारी मुलाकात कैसे और कहां पर हुई।हम एक ट्रेनिंग के दौरान में मिले थे जहां मैं ट्रेनिंग टीम के साथ था और वो ट्रेनिंग लेने आयी थी. मैंने उन तीनों से पूछा- कि पहले कौन चुदेगी!भाभी बोलीं- अभी मेरे पति का कॉल आने वाला होगा, तो पहले तुम मेरी चुदाई कर दो, जिससे मैं उनसे बात करने चली जाऊं.

हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी साड़ी के ऊपर चाची ने डीप गले का ब्लॉउज पहन रखा था जिसमें से उनकी दोनों सुड़ौल चूचियों के बीच की घाटी साफ दिखाई दे रही थी. मैंने आँटी का गाल बहुत जोर से चूसा और उनके नीचे वाले होंठ को बहुत देर तक चूस कर पूरा मोटा कर दिया.

बीएफ बीएफ व्हिडिओ बीएफ

इन सबसे मेरा लंड फिर से सख्त हो गया और मैंने अचानक से उसे अपने नीचे लेकर उसके ऊपर सवार हो गया. तभी गगन आ गया और उसने अपने सामने सोई हुई नंगी जया को देखा तो उसने जया के मुँह में मूतना शुरू कर दिया. उसकी आंखें बंद थीं वो अपने कानों में हेडफोन्स लगाए हुए थी और उसने अपने दूध भरे उभारों पर मिल्क सकिंग पंप लगाया हुआ था, जिससे बोतल लगभग भरने ही वाली थी.

मैंने पीछे होकर उनका लोअर और कच्छी उतार कर टांगों से बाहर निकालीं और दूर फेंक दी. मैंने एकदम नीचे खिसक कर उसके पैंट की चैन खोल कर उसका लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगा. बीएफ बीएफ देखने बीएफजब उसके पति ने बाथरूम में जाकर दरवाजा बंद कर लिया तो साक्षी अपनी चूत को सहलाने लगी.

उसकी गांड का टाइट घेरा उस डिल्डो पर चिकने पदार्थ को अच्छी तरह रगड़ रहा था.

फिर भाभी ने उस रुमाल की पोटली को एक पॉलीथिन में डाल कर उसे खोल दिया और उस पॉलीथिन के अन्दर जड़ तक मेरे लंड को डाल कर गांठ लगा दी ताकि कोई भी लीकेज पॉलीथिन से बाहर ना निकल पाए. मुझे जावेद भाई का मस्त लंड याद आ गया, जो मेरी गांड में खलबली मचा देता था … पर मैं चुप रहा.

मेरे अंडरवियर में मेरी बड़ी सी गांड को देखकर निश्चित उसको उत्तेजना हो रही होगी. मैं अब किसी की कोई बात सुनने के लिए तैयार नहीं थी, इसलिए हम दोनों ने कोर्ट मैरिज कर ली. मैंने मम्मी की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया और चड्डी के ऊपर से ही पापा का लंड पकड़ लिया और दबाने लगा.

आपको जवान कुंवारी बुर की चुदाई की ये होटल रूम सेक्स स्टोरी पसंद आ रही हो तो मुझे अपने मैसेज भेजते रहें.

खैर हिचकिचाहट तो पुरुष के साथ भी होती है पहली बार संभोग करने में।कुछ स्त्रियों में ये पहले से चाहत होती है लेकिन कुछ में इसे कुरेद कर निकालना पड़ता है।अब बात आगे की करती हूं. शाम को कमोवेश यही होता है बस उस समय मॉम भी दीदी के साथ काम करती हैं. मैंने पापा का लंड चूसने के बाद मैंने मम्मी की चूत से पापा की उंगली निकाल दी और चूत चाटने लगा.

ब्ल्यू फिल्म बीएफ इंग्लिशवो लगातार कामुक सिसकारियां ले रही थी … शायद उसको चुम्बनों से अंतरिम सुख मिल रहा था. मैंने अपने लण्ड का टोपा उनकी बुर के मुखद्वार पर रखा और पूरा लण्ड उनकी गुफा में पेल दिया.

बीएफ हिंदी ऑडियो में

उसने कहा- कोई बात नहीं, अच्छे घर की लगती हो … पहली बार है!मैंने कहा- जी अंकल … सॉरी सॉरी. गगन हंसने लगा और बोला- चाचा, आपका नसीब तो गधे के लंड से बंधा लगता है. वो मादक स्वर में सिस्कारते हुए उसी प्रकार खड़ी रही और मैं उसकी चुत के खड़े होंठों पर अपनी जुबान फिराने लगा.

उसकी चुत में जब भी लंड अन्दर रुकता था, तो मुझे लगता था कि मेरा लंड उसकी चुत के अंत में जाकर टकरा रहा है. महकशां ने मुझे इधर उधर ताड़ते हुए देखा तो पूछा- क्या देख रहे हो?तो मैंने भी कह दिया- किसी सही जगह की तलाश कर रहा हूं जहां हम सुकून से बैठकर ये चिप्स और कोल्ड ड्रिंक का मजा ले सकें. मैंने हंसने का कारण पूछा, तो बोली- मेरे उभारों को देख लिया हो … तो अपने चूहे को काबू में कर लो वरना चूहा शॉर्टस से बाहर आ जाएगा.

चूंकि शिर्डी से वापस आने के बाद हम लोग थोड़ा बिजी हो गए थे, तो मिलना हो ही नहीं पा रहा था. मैं मिशैल के कामुकता भरे डांस के कारण लंड में उठ रही लहरों का विरोध नहीं कर पा रहा था और खुद को मुठ मारने से रोक नहीं सकता था. अब पहले वाले ने मुंह से लंड निकाला और दूसरी तरफ जाकर मेरी बीवी की चूत में डाल दिया.

आपकी जया[emailprotected]काल गर्ल सेक्स स्टोरी का अगला भाग:कॉलेजगर्ल पैसे के लालच में चुद गई- 2. मानस की आंखों में आंखें डाल कर सोनम अब उसका लौड़ा साफ़ कर रही थी और मानस उसको देख मुस्कुरा रहा था.

फूफाजी ने पुराने मकान के साथ पड़ी खाली जमीन पर और कमरे बनवा कर अपने मकान को बहुत सुंदर और बड़ा बना लिया था.

चिराग- विराज तुझे मेरे साथ कोई प्रॉब्लम तो नहीं है ना?विराज- नो प्रॉब्लम ब्रो. जरीन खान बीएफमयंक और मैंने अच्छे से सोच कर वहां रात को जाने का फैसला कर लिया कि शायद हमारी किस्मत जाग जाए. फौजी सेक्सी बीएफतुम इतने नमकीन हो और तुमने ऐसे दिल से कराई, बिल्कुल ढीली छोड़ दी … लंड के हवाले कर दी. ’‘ओके … देखिए आप बुरा ना मानिए, अभी मुझसे रूपा नहीं, रूपा जी ही बोला जाएगा.

‘आअह अह्ह्ह्ह ह्म्म्म धीरे करर्रर भोसड़ी के … आह्ह्ह्ह फाड़ ही देगा क्या मेरी चुत साले मादरचोद … और जोर से मार मेरी गांड कुत्ते … आह फाड़ दे मेरी गांड, रंडी बना दे मुझे अपनी साले हिजड़े.

वो ब्रा-पैंटी में थी।संजना शर्मा रही थी।मैंने मना भी किया तो विजय ने अपना लंड बाहर निकाल दिया और संजना से कहा कि चूसो इसे।संजना ने उसके लंड को चूसना शुरू किया तो विजय ने उसकी ब्रा निकाल दी और मुझसे कहा कि वो उसकी पैंटी निकाल कर उसकी चूत चूसे।होते होते सभी के कपड़े उतर गए. अब मैं बस मौके की तलाश में था कि कब उसके पति के घर में उसकी चुदाई के लिए वो मुझे बुलायेगी. हॉट सेक्सी आंटी चुदाई कहानी के पिछले भागमकानमालिक की जवान बीवीमें आपने पढ़ा कि कि वो आधी रात को मेरे साथ मेरे फ्लैट में मेरे ही बेडरूम में थीं और मेरे कमरे की टेबल पर रखे हुए कंडोम के पैकेट को हाथ में लेकर देख रही थीं.

लिली- नहीं, सर आपने तो मुझे कुछ कहा ही नहीं, आप तो इतने अच्छे निकले कि मेरे उल्टा बोलने पर आपने मुझे डाँटा भी नहीं, आप तो इतने अच्छे हो, मैं ही गन्दी हूँ जो सबसे झगड़ा करती रहती हूँ. नमस्कार दोस्तो!मेरा नाम पूजा है और मैं हिमाचल प्रदेश में रहती हूं। मैं अपनी पहचान को जाहिर नहीं कर सकती इसलिए शहर का नाम नहीं बता सकती।मेरी उम्र है 32 वर्ष; मेरी लंबाई 5 फीट 7 इंच, रंग गोरा शरीर की बनावट 34 – 30 – 36वैसे भी आप सभी जानते होंगे कि भारत में ठंडे प्रदेश की लड़कियां कितनी सुंदर होती हैं. अब मैं भी अपनी गांड को उठा उठा कर उसका साथ दे रहा था।तभी उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला और मुझे घोड़ी बनने को कहा.

राजस्थान की बीएफ सेक्सी

नंगी होने के बाद रंजू, अनु दीदी के गाउन के नीचे मुँह डाल उनकी चुत को नंगी करने की असफल कोशिश कर रही थी. ज्योति- तू मेरे साथ क्यों आई बीसी? मैं चिराग के साथ उसके रूम में जाने वाली थी, पर तूने तेरी बहन चुदवा ली. मैंने उन्हें चूम लिया और पूछा कि कभी मधुसूदन आंटी के फ्लैट में आपने रात भी गुजारी है.

फिर मैंने धीरे धीरे करके पूरा टीशर्ट ऊपर तक कर लिया और उसकी चूचियां मेरी नजरों के सामने नंगी उसके सीने पर पसरी हुई थीं.

जाते जाते मैंने उनको देखकर आंख मारी और उनकी तरफ स्माइल करके उतर गई.

मैंने उनसे कहा- पूरा एकदम अन्दर डालने की क्या जरूरत थी … धीरे-धीरे करके डालते. ज्योति भी मुस्कुराते हुए बोली- जा जा … अपनी चुत ठंडी कर ले उंगली डाल के … कमीनी. बीएफ पिक्चर इंग्लिश कीसुबह जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा पापा का लंड मम्मी की चूत में सो रहा था.

हालांकि मैं कल्पना मामी की चुत चुदाई का मजा ले चुका था … मगर आज मैं वो लंड सेक्स कहानी लिख रहा हूँ जब मैंने कल्पना मामी से पहली बार अपना लंड चुसवाया था और उनकी गांड की ओपनिंग की थी. उन्होंने थोड़ी क्रीम लेकर मेरी बीवी की गांड के छेद पर लगाई और अपना मोटा सुपारा उसकी गांड के छेद पर लगाकर एक धक्का मारा. आपके ध्यान में कोई हो तो बताओ?भाभी ने मजाक करते हुए कहा- हां हां ज़रूर.

इससे भाभी और भी तेज आवाज में सिसकारियां भरने लगीं- आह … आह!मैंने पूछा- मजा आ रहा है?भाभी ने कहा- हां. लंड को जोर-जोर से उनके मुँह में आगे पीछे करने लगा, मेरा लंड उनके गले तक जा रहा था.

फिर मैंने डिल्डो को अपनी कमर पर बांध लिया और अंकल को घोड़ी बनने के लिए बोला.

”मगर उसकी सुनने वाला कोई नहीं था और बारिश में उसकी आवाज बाहर नहीं जा रही थी. एक बार तो मुझे लगा था कि वो शौहर के फोन के बाद अब चोदने से मना कर देगी लेकिन वो भी आज चुदकर ही जाना चाह रही थी. मैंने देखा भाभी बेड पर करवटें बदल रही थीं, उन्हें शायद कोई दिक्कत थी.

गांव की लड़की की बीएफ हिंदी में उनके चूतड़ों को फैला कर गांड का छेद चौड़ा किया और चाची की गांड में लंड पेल दिया. मैंने भी उसकी स्कूटर को स्टार्ट करने की बहुत कोशिश की, पर गाड़ी चालू ही नहीं हुई.

स्नेहा ने आज टाईट फिटिंग वाली ब्लू जींस और ढीला ढाला ब्लैक कलर का टॉप पहना था. मैंने जब उसका लौड़ा आगे पीछे किया, तो उसके सुपारे की चमड़ी से साफ़ महसूस कर लिया. मेरी देखादेखी राबर्ट ने भी अपना जॉकी उतारा और पहले से ही बेड पर लाकर रखी हुई कोल्ड क्रीम से अपने लण्ड की मसाज करने लगा.

एचडी बीएफ ब्लू फिल्म

परिवार की गांव में खेती थी … शादी नहीं हुई थी, कहता था कि शादी होने तक पढ़ेगा. उन्होंने हाथ से लंड पकड़ कर दो तीन बार आगे पीछे किया, तो लौड़ा खड़ा हो गया. दी अपने भाई का लंड भी चूसती होगी … और उससे अपनी चूत भी चटवाती होगी?स्नेहा- हां यार … बोल तो तू सच रही है.

इसके बाद बिजनेस की मीटिंग शुरू हो गई और मीटिंग में डील को लेकर बातें हो रही थीं. फिर उसने मुझे उल्टा कर दिया और मेरी पीठ में किस करने लगी और अपने निप्पलों को मेरे पीठ में रगड़ने लगी.

इतने में प्रशांत बोला- आप जैसी भाभी के लिए हम लोग बीवी तो क्या, अपनी बहन भी शेयर कर सकते हैं.

स्नेहा- साली मुझे तो बोल रही थी, पर तेरी ये चूचियां इतनी बड़ी कैसे हो गईं. [emailprotected]देवर भाभी Xxx कहानी का अगला भाग:देवर और उसके दोस्त ने मेरी चूत गांड मार ली- 2. उंगली करते हुए भी यही सोच रही थी कि कविता मेरी चूत को चाट रही है और मैं उसकी चूत को चाट रही हूं.

शायरा को अपना‌ लंड दिखाने के लिए मैंने वहीं खड़े खड़े ही अपने लंड को पहले तो दो चार झटके से खिलाए. प्रीति भी लंड को मस्त चूसती थी, लेकिन जो मजा संगीता से मिला, वह एक अलग ही था. कुछ देर बात करने के बाद भाभी ने बताया कि मम्मी पापा कुछ दिन के लिए गांव जा रहे हैं.

भाभी ने तुरंत कहा- छुप छुप कर मेरे बूब्स देखते हो, मेरे साथ हमेशा गंदी बात करना चाहते हो.

हिंदी में बीएफ फुल सेक्सी: अन्दर जाते ही पापा मुझे बोले- जया कॉलेज जाकर तुम ये काम कर रही हो? तुमने तो मेरी पूरी इज्जत मिट्टी में मिला दी है. औरत और मर्द बिना चुदाई के इस सर्दी से किसी भी तरह से निजात नहीं पा सकते थे.

कुछ देर बाद मैंने कहा- क्या देख रहे हो?वो शर्मा कर बोला- कुछ भी नहीं मैडम. जब भी हम दोनों को मौका मिलता, हम एक दूसरे को किस कर लेते और जहां तक संभव होता देवर भाभी एक दूसरे के जिस्म के साथ खूब Xxx खेल लेते. मैं भाभी को अपने ऊपर लेकर उनको किस करने लगा और उनके चुचे मसलने लगा.

सारी कागजी औपचारिकता पूरी होने के बाद हमें कंपनी दिखाने के लिए एक सर हमारे साथ गए.

बीस मिनट की ठुकाई के बाद चुत में कुछ गर्म गर्म फुआरा सा छूटा, जिससे चुत की खुशी का ठिकाना ना था. मैं तो चढ़ती जवानी से निकल गयी थी … मगर 39 साल की उम्र में मैं जवानी की अंतिम अवस्था में पहुंच चुकी थी. रोशना की चीख निकल गई- आमां ऽहहहह मर गई!मैं थोड़ा रुक गया, फिर धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए पूरा लंड चुत में घुसा दिया.