हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में

छवि स्रोत,बीएफ एचडी भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

मैनपुरी सेक्सी वीडियो: हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में, इसलिए उसका भाई ने मेरे हाथ को पकड़ लिया और अपने हाथों से उसे सहलाने लगा.

बांग्ला भाषा बीएफ वीडियो

उसकी चूत का पानी निकल कर बाहर आ रहा था, जो मैं चप चप करते हुए पी रहा था. बीएफ नंगी पिक्चर वीडियोअब मेरा फ्रेंड अपना लंड मेरी वाइफ के मुँह में दे कर चुसवाने लगा और रंजीत मेरी वाइफ की चुत चाटने लगा.

चूत पर उंगलियां लगाईं तो पाया कि चूत रस से भरी हुई है, दोनों उंगलियां पूरी तरह से रस में तर हो गयीं. बीएफ फिल्म वीडियो एचडी हिंदीमैं चिल्लाया- आ… आ… ई… ई…उसने एक हाथ से मेरा मुंह बंद किया और पूरा पेल दिया, मुझे धक्का देकर औंधा किया और मेरे ऊपर चढ़ बैठा और शुरू हो गया धक्कम पेल… धक्कम पेल…वह पूरे जोर से लंड पेल रहा था, लगता था जैसे गांड फाड़ ही डालेगा.

तभी अचानक उसने कहा कि उसने कभी गांड नहीं मरवाई तो मैंने उसे कहा- जान, फुद्दी मरवा कर भी मज़ा आया ना? तो बस गांड मरवा के भी बहुत मज़ा आएगा.हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में: उसके जिस्म की गर्मी मेरा लन्ड भी नहीं झेल पा रहा था! मानो भट्टी में तप रहा हो.

दोस्तो, कैसे हो आप सब… मेरा नाम भूपेन्द्र है और मैं राजस्थान के भीम का रहने वाला हूँ.बाहर जाते वक्त चाची ने मुझे देख लिया और घबरा कर वहां से तेज कदमों के साथ चली गईं.

बीएफ दिखाइए सेक्सी हिंदी में - हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में

उसने मुझे जब पूरी तरह से पेल लिया तो बोला- सुनो मैं अपना माल तुम्हारी चुत में गिरा दूं.जब वो दारू पी रहा था तो उसने सुना कि कुछ लोग पद्मिनी की बातें कर रहे थे.

एक लड़की के साथ किस तरह से लोग उसकी दुर्दशा करते हैं… इस बात को समझा जाए, यहाँ तक कि उसके अपने सगे भी उसे मुसीबत के समय डूबने के लिए छोड़ जाते हैं. हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में वो बोलीं- नहीं मानूंगी… बोलो क्या चाहिए?मैंने चुम्मी वाली स्माइली सेंड कर दी और चुप हो गया.

धीरे धीरे सहलाने से शायद उन पर भी वासना की हवस चढ़ गई और कुछ समय बाद मैंने धीरे से अपनी एक उंगली उनके मम्मों पर लगाई.

हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में?

मगर मैं अब उसको ज़्यादा घास नहीं डालता क्योंकि उसकी चुत पूरा भोसड़ा बन गई है. और वह थकी थी तो नितिन को फिर नीचे ही आना पड़ा, लेकिन उसका पीछे का छेद फिर भी बरक़रार रहा क्योंकि अब रज़िया ने मेरी तरफ मुंह कर लिया था और लेटे हुए नितिन की तरफ उसकी पीठ थी।सामने से मैंने उसकी योनि में लिंग ठूंस दिया और थोड़ा उसकी तरफ झुकते हुए अपना वज़न एक हाथ पर रखते हुए दुसरे हाथ से उसके एक दूध दबाते हुए धक्के लगाने लगा।जबकि अपने सीने से लगभग सटी हुई रज़िया के दोनों ही दूध नितिन नीचे से मसल रहा था. फिर वो कमरे में जाकर अपने बच्चे को पानी पिलाकर अच्छे से सुलाकर आ गई.

उसने मुझे किस करते अपने हाथों से मेरे हाथ नीचे कर दिए और अपने बूब्स टॉप्स से फिर छिपा लिया. कुछ ही पलों के बाद उसके होंठों पर दर्द के साथ मुस्कुराहट भी झलक उठी थी. अगले ही पल उसकी चूत ने एक जोरदार पिचकारी छोड़ दी, जिससे मेरा मुँह पूरी तरह भीग गया लेकिन मैंने उसकी चूत के दाने को जीभ से चाटना नहीं छोड़ा.

मैं तो देखते ही घबरा गया कि इतना मोटा ओर बड़ा लंड दीदी कैसे अपनी चूत में लेती होंगी. कुछ देर बाद उस डॉक्टर ने कोई चीज़ डाल कर उसकी चुत को चौड़ा कर दिया, फिर उसमें इस तरह से झाँकने लगा बिल्कुल करीब आकर जैसे लगे कि वो ना सिर्फ मुँह मार रहा है बल्कि उसमें घुसने की भी चाह रखता है. अब आर्थर ने पोज़ बदलने का निश्चय किया, उसने हम पति-पत्नी को नीचे की ओर खिसकने को कहा और स्वयं बेड से नीचे उतर गया.

हमने कपड़े पहने और हम कमरे के बाहर खुली जगह में बैठे। तब तक पांच साढ़े पांच बजे होंगे, जीजाजी बोले- अभी टाइम है, आपको नाश्ता मंगाते हैं, अब तो कई गाड़ियां हैं. मैं- यार काजल को कोई प्रॉब्लम तो नहीं होगी?वो बोली- अगर उसको पता चलेगा तो होगी.

तो उसने बोला- कैसे मिलें यार?मैंने कहा- तुमको कॉलेज के बहाने से ही मिलना पड़ेगा.

दूध खुलते ही वो शर्मा गईं और हाथ से अपने मम्मों के निपल्स छुपाने लगीं.

आज कम से कम आधा घंटा अपने मम्मों की मालिश करना और हाथों को नीचे से ऊपर ले जाना और कभी भूल कर बिना ऊपर से नीचे ना लाना. मैंने कहा- क्या?सोनिया ने कहा- तुम्हारे फ़ोन में वो पोर्न मूवी मुझे अच्छी लगी, मुझे वो तुम मेरे मोबाइल में सेंड कर दो. मेरी आँखों में आंसू आ गए लेकिन थोड़ी देर में सब नार्मल हो गया, मुझे भी मजा आने लगा, मैं भी गांड उठा उठा कर उसका साथ देने लगी।पूरा कमरा थप थप की आवाज से गूंज गया, मुझे बहुत मजा आ रहा था, ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं जन्नत की सैर कर रही हूँ, थोड़ी देर में मेरी प्यास बुझ गई और फिर थोड़ी देर में मैं झड़ गयी और उसने अपने झटके तेज कर दिए, उसका पूरा लण्ड मेरी चुत को फाड़ता हुआ अंदर जा रहा था.

उसी तरह उंगलियां कमर पर फिराते हुए मैंने हाथ उसके पाजामे में डाल कर उसके नितम्ब हौले से दबाये. अभी मेरा पानी निकलना बाकी था… मैंने उनको घोड़ी बनने के लिए कहा… और पीछे से चोदने लगा… और 20 मिनट बाद मेरा होने आया था. दीदी ने अपनी जीभ को जीजा के लंड के सुपारे पर फेरी और तभी जीजा ने अपने मुँह में भरी दारू अपने लंड पर गिरा दी, जिससे दीदी को लंड के साथ दारू का मजा भी मिलने लगा.

आंटी के कमरे में उनके शानदार पलंग पर मोटी स्पंज वाली मैट्रेस लगी हुई थी.

कुछ देर बाद चाची ने मुझे एक लिफाफा दिया और बोलीं- पता नहीं कोई दो मोटी पतली औरतें थीं, तुझे ढूंढते हुए मुझे ये दे गईं. जो तुफैल चाचा की बीवी थीं, यानि सना और समर की अम्मी, उनका कैरेक्टर भी अजीब था, वो अक्सर मायके चली जाती थीं और घर में अक्सर होते झगड़े से मुझे पता चलता था कि वे अपने किसी यार से मिलने जाती थीं।कई बार उन्हें इधर-उधर पकड़ा भी गया था और काफी उधम चौकड़ी भी मचती थी लेकिन उन पर कोई असर पड़ता मैंने नहीं देखा था. इसे मैंने उसके बदन पर, उसके गले पर, होंठों पर, चूचियों पर और चूत पर लगा दिया.

वह उसको रोकना चाहता था, उसका दिल कर रहा था कि आज वो उसको स्कूल नहीं जाने दे और पूरा दिन उसके साथ कमरे में बिस्तर पर बिताए. मैं दस्तक से उठ गया था, तभी भाभी जी ने अन्दर आ कर हम दोनों को नंगी हालत में देख लिया था. एक दिन वह दरवाजे पर खड़ा था, मैं कमरे से बाहर निकली तो उसने स्माइल की, मैंने भी स्माइल की, इस तरह दोनों में धीरे धीरे बात का सिलसिला प्रारंभ हो गया.

मैं प्रॉमिस करता हूँ कि आज तुम्हारी सारी प्यास बुझा दूंगा, मैं कोशिश करूँगा कि तुम 100% संतुष्ट हो जाओ.

बिल्कुल कर सकती हूँ… लेकिन वहां स्टूडियो में सब कुछ रियल नहीं होता, एक-एक शॉट के दस दस रीटेक होते हैं, फैसिलिटी ही अलग होती हैं… और मैं तो आज बिल्कुल ही तैयार नहीं थी एनल सेक्स के लिए… और वो भी ऐसे मोटे ढपाल लंड के साथ!”प्रत्युत्तर में आर्थर सिर्फ हंसने लगा और उसने अपने कंधे उचका दिए. उस नाइट में मेरा फ्रेंड अपने फ्रेंड को मेरे घर ले कर आ गया और मेरी वाइफ को बोला- देख लो भाभी… ये मेरा फ्रेंड है.

हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में मुझे अपने द्वारा लगे जा रहे धक्कों से ज्यादा आर्थर द्वारा उसकी गांड में मारे जा रहे धक्कों का अनुभव हो रहा था, मुझे उसके नताशा की गांड में मारे जा रहे धक्के चूत में स्थित अपने लंड पर भी महसूस हो रहे थे. जब मैं वापिस आई तो उसने दरवाजा बंद किया हुआ था और उसे दरवाजा खोलने में कुछ देर लग गई.

हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में लेकिन कोई बात नहीं, मैंने भाभी के मोबाइल से आपका नंबर निकाल लिया है. तेरी माँ क़ो मैंने सुहागरात में छह बार चोदा था, आज तेरे साथ मेरी दूसरी सुहागरात है तो तुझे भी छह बार चोदूँगा.

एक तो मैं उनकी भूख शांत करता हूँ और पूरी गोपनीयता भी बनाए रखता हूँ.

इंडियन सेक्सी वीडियो भोजपुरी में

फ़िर बड़ी चाची ने हंस कर छोटी चाची के दोनों चूचे अपने मुँह में भर लिए और चूसने लगीं. मैं कभी उसके पैरों की उंगलियों को मुँह में लेता, तो कभी उसकी पैंटी के साइड में खुली हुई चिकनी जाँघों को किस करता. बड़ी चाची ने भी बगल की दराज से सिगरेट की डिब्बी निकाल कर एक सिगरेट सुलगाई और चूत खोल दी.

मेरे जीजा ने मेरी दीदी को घुटनों के बल बिठा कर उसके मुँह में अपना लौड़ा दे दिया. तब मेरे दोस्त ने कहा- ले जाओ दोस्त उसको!तब उसने कहा- कहाँ?मैंने कहा- तुम्हारी सहेली ने नहीं बताया है क्या?तब उसने कहा- नहीं!मैं अपने दोस्त की गर्लफ्रेंड को बोला- क्या यार… तुमने इसे नहीं बताया है?उसने कहा- नहीं बताया है, तुम ही इसे मनाओ ना!तब मैंने उसके पास जाकर कहा- मैं तुम्हें चोदना चाहता हूँ. हे भगवान कहां फंसा दिया…” मैंने मन ही मन सोचा और किचन से निकल कर हॉल की तरफ चल दिया.

मैंने उनकी दोनों टांगों को फैला कर एक पैर को अपने कंधे पर डाला और अपना साढ़े छह इंच का लंड उनकी चूत पे लगा कर एक ज़ोर का धक्का दे दिया.

अब तक की सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि पद्मिनी के बापू ने रात को उसकी चूत में उंगली डाल कर चैक कर लिया था कि उसकी बेटी अभी कुंवारी है. वो पीछे की सीट पर बैठ गई, मैंने ट्रिप स्टार्ट की और उसकी बताई जगह पर चल दिया. मैं उनको किस करने लगा, तो आपा मुस्कुराती हुई बोलीं- तू बहुत ज़िद्दी है.

मैंने उनकी तरफ देखा और एक प्यारा सा क्यूट सा चेहरा बना कर सॉरी कहा. मैं दीदी की चुत में अपनी जीभ को बहुत अंदर तक घुसेड़ कर चूस रहा था, बीच बीच में मैं उनकी चुत के दाने को भी अपने होंठों से दबाते हुए खींच रहा था, जिससे दीदी की गरम आहें निकल रही थीं. यह फ़ोरप्ले बहुत जरूरी होता है, जिसे हो सके तो ज्यादा से ज्यादा एन्जॉय करना चाहिए.

बारह बजे के बाद ऑफिस बॉय ने मरीजों को कहना शुरू कर दिया कि आज डॉक्टर साब बिजी हैं, अब कल मिलेंगे. एक दिन मैं बस से अपने गांव जा रहा था तो मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ और मैंने बगल में बैठे करीब 30 साल के लड़के की जांघ पर हाथ फिरा दिया तो उसका खड़ा हो गया। लड़का देसी था, पैंट में लंड भी मोटा दिखाई दे रहा था.

क्योंकि मेरी दादी बूढ़ी थीं उनकी देखभाल के दो लोगों का होना जरूरी था. और 5-6 मिनट तक धक्के मारने के बाद मैंने कहा- मम्मी, मेरा लंड पानी छोड़ने वाला है तो पानी का क्या करूँ? क्या पानी आपकी गांड की मोरी में डाल दूं?तो मम्मी जी कहती- आरव जी, तुम्हें जो करना है, करो… मैं अब तुम्हारे वश में हूँ, अपने नहीं!तो मैंने वैसे ही किया और अपना सारा पानी उनकी चूतड़ की मोरी में डाल दिया. मैंने उसे गले से लगाया और अगले दिन वापिस आने से पहले अभिलाषा के साथ एक और शानदार चुदाई का सेशन लगाया.

” वह बोला।अच्छा…” मैं सुनते हुए बोली- तो मेरा एक काम करोगे?मैंने पूछा।का मेमसाब?” उसने मुझे पूछा।मुझे सीमा के घर छोड़ दो, और वहीं से तुम चले जाओ.

इस मिशनरी आसन में मैं मस्ती से उसे चोद रहा था और साथ में चुदाई देख भी रहा था. सुबह को यूँ तो हर रोज़ बापू पहले उठता है और चाय बना कर खेत जाने से पहले पद्मिनी को जगा कर जाता था और हर रोज़ उसको चाय देकर, जब वह जग जाए तब ही घर से निकलता था. एक बार उनकी एक और सहेली उनके घर आई कुछ दिन के लिए तो उन तीनों ने मेरी जवानी का भोग लगाना शुरू किया.

उस वक़्त मुझे भी इस बात का पता नहीं था कि यही मेरा पढ़ाई का आखरी साल है. उसके लंड में इतना दम न हो या उसका साइज़ इसके जैसा न हो तो फिर तुझे मजा नहीं आएगा.

हम तीनों ही इतने गर्म ही हो गए थे कि पता ही नहीं लगा, कब थ्री-सम शुरू हो गया. भाबी मदमस्त सिसकारियां लेने लगीं और मेरी गांड पकड़ कर अपनी चूत पर दबाने लगीं. मैंने अपनी वाइफ से बोला- साली… कितने लंड लेगी अपनी चुत में… एक लंड ने तो तेरी चुत फाड़ दी.

इंडियन देसी सेक्सी एचडी वीडियो

मैंने भी ज्यादा ध्यान नहीं दिया और गेट बंद करने के बाद हम दोनों एक दूसरे की बांहों में लिपट कर सो गए.

उससे कुछ बात हुई औऱ बातों बातों में उसने बताया कि वो पीजी कर रही है. रंजीत के लंड का टोपा बहुत मोटा था, वो मेरी वाइफ के मुँह में पूरा नहीं आया, तो वो ऊपर से ही जीभ से चाटने लगी. सबसे पहले बेटे यानि सुनील को फोन किया, किस्मत से वो कोलकाता में ही रहता था तो उसने दोपहर तक आ जाने को कहा! वो लगभग मेरी ही उम्र का था!बाकी दो बहनें शिवानी और अंजलि दोनों को फोन कर के जब मेरी बहन शीतल ने बताया तो वो मानने को तैयार नहीं हुई.

मैंने भी देर ना करते हुए उसे सीधे लेटा दिया और उसकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया. पूजा के वस्त्र, उस की साड़ी, ब्लाउज पेटीकोट, बरा पेंटी सब बिस्तर पर उसके सिराहने ही रखे हुए थे, पूजा पूरी नंगी थी तो उसकी चूत भी एकदम नंगी थी, मेरी आँखों के सामने थी. देहाती बीएफ इंग्लिशमैंने उसको बोला कि तुमको मैं सबसे पहले किस करूँगा, फिर नीचे आ कर तुम्हारे दूध पियूंगा, चूसूंगा और कमर सहलाऊंगा, चूत चाटूंगा और चूत को भी चूसूंगा.

उन्हें शायद मुंह में लेना पसंद नहीं था लेकिन मुझे उनकी चाटने से किसने रोका था तो मैंने रेफ्रिजरेटर से एक आइस क्यूब निकाल कर इनकी गुलाबी योनि में डाला, जिससे ये फड़फड़ा गईं और मैं उनकी फुदकती हुई फुद्दी को बड़े प्यार से चाटने चूसने लगा. वो लंड मुँह में लेने से मना कर रही थी, लेकिन मैंने उसे किसी तरह से मनाया तो वो मान गई और मेरा लंड चूसने लगी.

भाभी बेडरूम के अंदर आकर कहने लगी- तुम पीछे से मुझे बांहों में भर कर जोर से भींच कर ऊपर उठा दो. अब नताशा अपने घुटनों के बल मेरे पेट के ऊपर लेटी मेरे लंड को अपनी चूत में चला रही थी. दोस्तो, आप सबको मेरा नमस्कार!मैं आप सबके लिए आज एक और नई कहानी लेकर आई हूँ.

तब हम तक वहां छह लोग हो चुके थे, तेरी मम्मी सभी छह लोगों से एक साथ जमके चुदवाई और पांच हजार रुपए लिए और आ गई. बोलो ना अब मैं झड़ने वाला हूँ, तुम लंड रस पियोगी ना?पद्मिनी ने बापू का लंड चूसते हुए, उसकी तरफ़ देखकर हाँ में सर हिला दिया. जब पीछे खड़े आर्थर ने मेरे लंड से भरपूर उसकी चूत के ऊपर स्थित गांड में अपना हैम जैसा मोटा लंड अन्दर घुसेड़ना शुरू कर दिया.

मेरे अंदर ऐसी फीलिंग आ रही थी जैसे मेरा दम घुटने वाला हो, एक गंदी सी बेचैनी होने लगी।मैंने गगन से कहा- मैं जा रहा हूं, फिर किसी दिन आऊंगा!कहकर मैं रूम से बाहर आ गया.

उसने मुझे अपने घर का पता दिया और कहा कि आने से पहले एक बार फोन जरूर कर लेना. पर मेरी किस्मत में भी वो दिन आया जिसका मुझे इंतजार था और जब मैंने पहली बार सेक्स किया.

कौन तुम्हें कुछ कह रहा है?मैं चुप हो गया और कुछ सोचते हुए बोला- ये साड़ी का थान कैसे खुलेगा?मुझे क्या पता, ये तुम्हारा काम है तुम जानो. अपनी योजना को लेकर एक दिन मैं क्लास में नहीं गया और छुप कर उनके नहाने का वेट करने लगा. मैं उनके बाथरूम की किसी दरार से उनको देखने की सोच ही रहा था, तभी पीछे से छोटी चाची ने मुझे देख लिया और बोलीं कि यहां क्या कर रहे हो? तुम्हारी माँ तुम्हें बुला रही है.

”यार तू एक बात तो बता?”क्या?”यही कि तू आज पहली बार यह सब करवा रही है, फिर तुझे सब कुछ मालूम कैसे है?”भाईजान मेरी सहेलियाँ मुझे अपनी लव स्टोरी सुनाती रहती हैं. वो झट से मान गई और जब वो मुड़ी तो उसकी ब्रा उसके शरीर से अलग हो गई और उसके बड़े बड़े मम्मों की उन्नत चोटियां मेरी आंखों के सामने थीं. प्रेरणा- आप वहीं 5 मिनट रुकिए, मेरा ड्राइवर कार लेकर आता ही होगा, आप उसमें बैठ जाना, वो आपको ले आएगा.

हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में मेरे इस निडर व्यवहार को देख कर अब उन्होंने मुझे कातिलाना निगाहों से देखा और कहा- जो तुम पिलाने चाहो पिला दो, वो ही पी लूँगी. दीदी बोली- मेरा तो सिर्फ आइडिया है तू किसी देसी कपल को भी सैट कर सकता है, पर वो हमारे लिए अजनबी होना चाहिए.

दिवाली की राई

तो मेरे पति बोले- तुम दोनों पागल हो क्या?दोनों हंसने लगे और बोले- हम दोनों तुम्हारी बीवी को चोदेंगे, तभी ये वीडियो डिलीट करेंगे. हाय फ्रेंडज़, यह मेरी पहली कहानी है, कोई ग़लती हो जाए तो माफ़ कर देना. यह कोई कहानी नहीं मेरी सच्ची कहानी है जो कि मुझे अपना पहला सेक्स अनुभव 18 साल की उम्र में मिला था!मेरी कहानी कैसी लगी बताना जरूर![emailprotected].

एक दिन मेरी वाइफ मेरे फ्रेंड से चुदवा रही थी तो वो मेरे फ्रेंड से बोली- मुझे 2 लंड एक साथ अपनी चुत में लेने हैं. कभी मैं उसके घर तो कभी वो मेरे घर… बाजार जाती शौपिंग करने तो साथ साथ. सनी लियोनी हिंदी बीएफउसको अच्छी तरह से समझा दिया था कि इसकी 4 लड़कों से अच्छी तरह से चुदाई करवा दो.

मैं भी अब धीरे धीरे अपनी गति बढ़ने लगा मगर इतनी जोर से भी नहीं कि धक्का लगाने से किसी प्रकार की कोई आवाज निकले.

एक दिन अपने पुराने फ्रेंड को कॉल किया, जो अहमदाबाद में पिछले 4 साल से था और उसको अपनी चूत चोदने वाली इच्छा को बताया. मैंने उनकी आँखें अपने हाथों से बंद कर दीं क्योंकि अब मेरे लिए ही आँखें खोले रखना मुमकिन नहीं था.

दोस्तो, आपको यकीन नहीं होगा कि वो मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी, जैसे मानो किसी अच्छे को कोई लॉलीपॉप मिल गई हो. आंटी ने मेरा सर पकड़ लिया और प्यार से मेरे बालों को सहलाते हुए बोली- ओह ह प्रशांत! यह सब करना जरूरी है क्या बस जल्दी से जो करना है कर के चोद दे. ऐसा लगता है कि इन पके आमों को दबा दबा कर मुलायम करके इनका पूरा रस पी जाऊंयूँ तो मेरी शिक्षा केवल लड़कों के स्कूल में हुई है.

आज तुम उसे मेरे कमरे में ले कर आओगी और मुझे उसी तरह से उससे चुदवाओगी, जिस तरह से तुमने मुझको आशीष से चुदवाया था.

मैंने हिमानी को बेड पर लिटाया और स्कर्ट को ऊपर करके उसकी टाँगे फैलाई. उसने अन्दर गुलाबी रंग की ब्रा पहन रखी थी, जिसमें से उसके दूध के जैसे गोरे मम्मे फंसे से दिखाई दे रहे थे. जाते जाते वो अपने घर पद्मिनी को यह बताने गया भेजा कि वह देर से घर वापस आएगा.

हार्डकोर बीएफउसने उसी दिन मुझे अपने घर बुला लिया, मैं भी घर से रेडी होकर, लंड चिकना करके गया था कि शायद दोनों चुत आज मिलेंगी. वो लड़का मेरे घर के बाहर आ गया अपनी बाइक पर और मैं मैं उसको अपने घर के अन्दर लेकर आई और एक गिलास पानी लेकर आई.

হোটেল সেক্স

भाभी ने कहा- अगर तुम्हारे भईया को पता चला तो?मैंने कहा- कौन बताएगा? ना मैं बताऊंगा ना आप. उसने तो सब संकेत दे दिए थे तो अब यह जिम्मेदारी मेरी थी कि पहला क़दम उठाऊँ और चुदाई के लिए कोई जगह का इंतज़ाम भी करूं. एक बार उनकी एक और सहेली उनके घर आई कुछ दिन के लिए तो उन तीनों ने मेरी जवानी का भोग लगाना शुरू किया.

इसलिए मुझे एक साल पहले ही अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़ कर कानपुर आना पड़ा ताकि मैं पापा का बिजनेस सीख सकूँ. वह करीब आई और बोली- अब क्या करूँ?मैंने कहा- यहां छाती के बल लेट जाइए. मैंने उसका हाथ पकड़ा और जैसे ही मैंने खुद अपना हाथ रखा, वह पैन्ट के ऊपर से ही बहुत बड़ा सा लगा.

फिर भैया ने भाभी की साड़ी को निकालना शुरू किया और पूरी साड़ी निकाल दी. फिर यह बात उस समय की है, जब मेरा घर बन रहा था, जिसकी वजह से मुझे उन्हीं के घर में रहना पड़ रहा था. उस दिन पूजा क्या कयामत लग रही थी स्लीवलेस टॉप में… और पीछे पीठ का भाग पूरा खुला ही था, सिर्फ एक डोरी बंधी हुई थी, उसे देख कर मैं पागल होने लगा था, मैंने सोच लिया था कि कुछ भी करके इसे चुदाई के लिए पटाना पड़ेगा।मैंने केक काटा और प्रदीप को खिलाया, फिर पूजा को भी अपने हाथ से खिलाया.

आर्थर के मजबूत लंड की रगड़ से मेरी कोमल पत्नी की चूत लाल हो चुकी थी, वो उसे निर्दयता के साथ किसी कुतिया की भांति चोदे जा रहा था. मैंने तुरंत उनके मुँह पर हाथ रखा और उसके ऊपर चिल्लाया- साली मेरे को मरावाएगी तू…तो बोलीं- कमीने धीरे नहीं डाल सकता क्या लंड चुत में… मैं कोई रंडी नहीं हूँ.

यही जानने का बहाना करते हुए मैंने उसके लंड को पैंट की ज़िप खोल कर बाहर निकाल लिया और उसके मूसल लंड को लंड को जोर से दबा दिया.

तभी भाईजान ने भी अपने लंड को बाहर निकाला और फिर एक तेज़ शॉट के साथ लंड की मलाई को मेरी चूचियों पर गिराने लगे. बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी साड़ी वालीएक में एक दर्शक ने हमें सौ रूपए बतौर इनाम दिए और ओम प्रकाश से मुखातिब होकर कहा- तुम दोनों तो बिल्कुल टी वी सिनेमा के कलाकार सा नाचते हो! ओम प्रकाश, इन्हें तैयार कर इनका शहर में प्रोग्राम करवा।हमारा शो चार पांच दिन इसी तरह शाम को चला, हम मस्ती करते, टाइम पास होता. बीएफ फिल्म बीएफ बीएफ हिंदीमुझे चुत चोदने का मन तो बहुत कर रहा था, लेकिन कोई चुत नहीं मिल रही थी. अब तक उसकी लंड चुसाई से मैं बुरी तरह से गनगना गया था और अब मेरे लंड का झड़ना तय हो चुका था.

मेरी वाइफ की चुत से बहुत पानी निकले रहा था, जो कि नीचे तक टपक रहा था.

इसके बाद उसने अपनी सलवार समीज को निकाल दिया और वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी. जब तक वो यह सेटिंग जमा रहा था, मैंने एक हाथ जूसी रानी के नितम्बों पर फेरना शुरू किया और दूसरे हाथ से रेखा के नितम्ब सहलाने लगा. हाँ आपके लिए कुछ लाना हो तो बता दो?मैंने कहा- बेटी, मेरे लिए कुछ नहीं लाना, तुम अपने लिए सेक्सी सेक्सी नाइटी ब्रा चड्डी जरूर ले आना.

” डॉक्टर का इशारा मुझसे था लेकिन मुझे डॉक्टर की यह बात अच्छी नहीं लगी।मैं इन पर भरोसा कर सकती हूं, आप जो पूछना चाहते हैं पूछ सकते हैं. घर पे आने का बाद अगर मेरी बीवी सामने ना हो तो नीचे झुक कर भाभी अपने चुचों का दीदार करा देती थीं. कुछ देर कंधे को चूमने के बाद, मैं उनकी पीठ की तरफ आ गया और उनकी पीठ को चूमने लगा.

सेक्सी आंटी की कहानियां

मेरे लगातार उनको चूमने और बूब्स को दबाने और चूसने से भाभी एकदम गर्म हो गई थीं. मैंने उसकी दोनों बाजू पकड़ी और उसे अपनी ओर खींचा, धीरे से उसे किस करते बोला- आई एम फॉलिंग इन लव विद यू!उसने बोला- डोंट… इट विल ओन्ली हर्ट अस बोथ. हम दोनों उस जगह पर पहुँच गए, जैसे ही वहाँ पहुँच कर देखा, वहाँ का नजारा कुछ और ही था.

भाबी जी ने आज अपनी साड़ी का पल्लू हटा कर मेरे सामने अपना सीना कर दिया था और कहने लगी थीं कि आज मैं नाप का ब्लाउज इसलिए नहीं लाई हूँ ताकि आप सही फिटिंग का ब्लाउज बना सको.

मैं किसी से भी चैट नहीं करूँगी, ना ही अपनी फोटो पेस्ट करूँगी और ना ही किसी को मेरा नंबर मिल सकता है.

मैं आपको बताना तो भूल ही गया कि भाबी के पति महीने में 15 दिन बाहर रहते हैं और घर पर उनके बूढ़े ससुर और वो ही रहते हैं. मेरी वाइफ ने फोन काट दिया फिर अगले दिन मेरे फ्रेंड ने फोन किया और बोला- भाभी, उसने आज नाइट में आने को बोला है. भोजपुरी एचडी बीएफ सेक्सी” मैं डांटते हुए बोली।क्यों… सीमा को बुरा लगा?” रंजू मुझे चिकोटी काटते हुए बोली।वैसे कुछ नहीं… क्यों बेचारे को…” मैं बोल ही रही थी.

आंटी ने कहा- प्रशांत… आह्ह्ह्ह चोद… और जोर से चोद! मैं झड़ने वाली हूं… तू भी मेरे साथ झड़ जाना! उम्म्म पूरा दम लगा कर चोद… चोद दे मेरी चूत को तू! आह्ह्ह् ऊईईईई… प्रशांत बस मैं झड़ने वाली हूं. मैं आपको एक बात बता दूँ कि वो दिखने में बहुत स्मार्ट था इसलिए मैं भी उसको अन्दर ही अन्दर पसंद कर रही थी. यह सब प्यार करने का एक तरीका होता है और इससे दोनों जनों को बहुत मज़ा और आराम मिलता है.

मैंने लंड को बाहर निकाल कर डॉली के चुत के रस में सराबोर कर लिया और दोनों को उठा कर उनका मुँह लंड के सामने कर दिया. और तब वह नताशा को उसकी बगल पर लिटा कर उसकी कमर के पीछे चिपक कर लेट गया और अपने लंड से उसकी गांड के छेद को कुरेदने लगा.

मैं थोड़ा सा आगे होकर और उनका हाथ अपने हाथ में ले लिया और उनको बेड पर ले गया.

मैंने उससे कहा कि आज कल पापा बहुत टेन्शन में रहते हैं, क्या कोई ऑफिस की प्राब्लम है या कुछ और बात है?पहले तो झिझक कर कुछ भी बोलने से ना करने लगा. तुम ऐसे क्यों कर रहे हो और क्या चाहिए तुम्हें?मैं- मुझे वही सब चाहिए, जो आपने उस आदमी को दिया है. मैंने उनके सामने अपना लंड हिलाया तो भाभी मेरे लंड को अपने मुँह के पास लेकर आईं और लंड चूसने लगीं.

16 साल की लौंडिया की बीएफ मेरे छोटे ससुर की बेटी ममता सैनी (बदला हुआ नाम) उस समय 18 साल की थी और कॉलेज में बीएससी सेकण्ड इयर में पढ़ रही थी. मेरा फ्रेंड ये सब देख रहा था तो वो बोला- भाभी, आपको पहले लंड देखना है तो बताओ.

एक दिन मैं, मम्मी और आंटी बाजार गए हुए थे, तो आंटी को अपने लिए कुछ अंडरगारमेंट्स खरीदने थे. चुदाई के बाद हम लोग फिर से नहाए और माँ बेटी ने मिलकर मुझे फिर पूरा चूमा और मुझे काफी रुपए देकर कहा- जब बुलाएं आ जाना. डॉली गांड उचका उचका के मजे ले रही थी और एकता लंड की सवारी का मजा ले रही थी.

लड़की की चुदाई की सेक्सी वीडियो

मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करूँ?फिर मैं शबाना से लिपट गया और उसको किस करने लगा. उन्होंने मुझे बांहों में जब उठाया तो मुझे अलग सा महसूस हुआ, मेरे दूध को चूम कर अंकल बोले- बड़ी मस्त है लग रही है तू मेरी गोद में, मेरी बाहों में तू वन्द्या!और ले जाकर बगल से जो बिस्तर था, उसमें मुझे पटक दिया. उन्होंने मुझे बेहिचक बाँहों में ले लिया और बोलीं- बहुत मिस किया तुमको.

यह कह के रानी ने गप्प से लण्ड को फिर से होंठों में दबा लिया और लगी पहले की तरह टुकटुकारने. अब जीजाजी ने मेरी गांड में लंड पेला, दिनेश लम्बा मोटा लंड जाता आश्चर्य भरी निगाहों से देख रहा था.

”मैंने पूछा कि मैडम जी क्या क्या नहीं समझ में आया आप बोलिये तो मैं समझा दूंगा.

मैं बोला- आपने सॉरी क्यों कहा?तो वो कुछ देर कुछ नहीं बोली और फिर मुस्कुरा कर बोली- आपको कहाँ जाना है?मैंने बता दिया कि घर जा रहा हूँ. मेरी गे स्टोरी के पहले भाग में अभी तक आपने पढ़ा कि मैं रेलवे स्टेशन पर गश्त लगा रहे पुलिस वाले पर लट्टू होकर पीछे-पीछे चल पड़ा। टॉयलेट के सामने से गुज़रते हुए वो अचानक टॉयलेट की तरफ बढ़ने लगा, मैं भी तेज़ी से कदम बढ़ाते हुए यूरीनल में घुस गया. लेकिन पहली नजर में देखने से वो लगती ही नहीं हैं कि वे एक बच्चे की माँ हैं.

तभी मैंने दूसरा झटका लगाया और इस बार मेरा पूरा लंड भाबी की चूत में घुस गया. राज ने मुझसे पूछा- मंजू जी नहीं आयी?तो मैंने उसे बताया कि वो रूम पर आराम कर रही है. फूफा जी भी इतनी ताबड़तोड़ चुदाई कर के थक चुके थे इस लिए वो भी मेरी बात मानते हुए रुक गये, मैंने उनका लंड अपने हाथ से पकड़ के चूत में से बाहर निकाल दिया और चैन की सांस लेने लगी.

तो मैंने कहा- क्या मैं इनसे मिल सकता हूँ?तो वो बोलीं- जरूर, कल 4 बजे जहाँ वो मिली थी, वहीं पहुँच जाओ, मैं बाकियों को भेज दूंगी।शाम को मैं वहां पहुंचा तो वहां मोटी, पतली के अलावा बाकी चार औरतें मौजूद थीं.

हिंदी बीएफ दिखाएं वीडियो में: फिर जैसे मेरा दोस्त आ जाएगा, हम दोनों मिलकर तुम्हें बहुत चोदेंगे, तुम बहुत सेक्सी माल लगती हो. मैंने बोला- कहां निकालूँ?तो वो बोली- मैं तुम्हारे वीर्य को महसूस करना चाहती हूँ.

मनोरमा ने उससे कहा- जब भी दिन के टाइम का रखूंगी तो तुमको बोल दूँगी. यहाँ होटल में ही किसी को पटा लो, और कोई ना पटे तो यहाँ के स्टाफ के किसी लड़के के साथ अपनी प्यास बुझा लो!तब अंकुश के एक मित्र ने मुझे कहा कि भाभी आप खीरा, गाजर, मूली या केला लेकर उससे अपनी कामुकता को शांत कर लो।तब मैं पूरी नग्न थी लेकिन जैसे उन तीनों दोस्तों के लिये तो मेरा कोई वजूद ही नहीं था वहां… इससे अधिक मेरा अपमान और क्या हो सकता था. हिंदी सेक्स कहानियों के चाहवान मेरे प्यारे दोस्तो, आप सबने मेरी पिछली चुदाई कहानीआंटी का प्यार और आंटी की चुदाईपढ़ी और उसे बेहद पसंद भी किया.

एक बार भाभी और मैं चुदाई करने में मस्त थे तो तभी अचानक दरवाजे की घंटी बजी.

मेरा पूरा परिवार शादी से पहले मेरी भाभी जी से और उनके घर वालों से मिल चुका था. फिर मैंने धीरे से उन्हें अपनी बांहों में लिया और उनके ओंठों पर चूमना जारी रखा. फिर चुत को खोला और अपनी उंगली की, मगर ध्यान उसका मेरी चूत के मटर पर था.