इंग्लिश बीएफ पोर्न

छवि स्रोत,श्रद्धा कपूर का सेक्सी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

रेप सेक्स बीएफ: इंग्लिश बीएफ पोर्न, भाभी की गांड चुदाई की इस कहानी पर आपके विचार जानने के लिए मुझे आपके मेल का इंतज़ार रहेगा.

तब्बू की नंगी फोटो

पर तीन महीने पहले उससे मेरा ब्रेकअप हो गया है और लगभग तीन महीनों से सेक्स नहीं हुआ है।ऐसे ही सेक्स चैट करते-करते उसने बताया कि उसे सेक्स करना बहुत पसंद है. जापानी सेक्सी हॉटथोड़ी देर तक उसके लंड को उसके शॉर्ट्स की अंदर से मसलने के बाद उसने अपने होंठ अपने बेटे के होंठों से अलग किये और नीचे बैठकर उसके शॉर्ट्स को नीचे सरका दिया.

मैंने अपनी पूरी जीभ चूत के अन्दर घुसेड़ दी थी।भाभी पागल हो रही थी- आआआह हज्ज्ज. चूत में लौड़ा सेक्सी वीडियोमेरी पीठ को चाटते हुए राज अंकल नीचे की तरफ आकर मेरे कूल्हों पर अपनी गर्म जीभ चलाने लगे.

प्रिया मेरे बगल में बैठकर मेरे लंड को चूस रही थी और मैं मजे से लेटा हुआ था.इंग्लिश बीएफ पोर्न: आधे घंटे के इस पूरे खेल के बाद लगभग 11 बजे हम दोनों बाहर निकल गए और नंगे ही खाना खाने बैठ गए.

’ अपने हाथ मुझे दिखाते हुए उन्होंने मुझसे कहा।मैंने उनके हाथ अपने हाथों में पकड़े और उन पर किस किया।‘यह क्या कर रहे हो?’‘आपके इन हाथों ने जो मेहनत की है.अन्दर कमरे में डैड ने मॉम को कपड़ों के ढलान से टिका लिया था और मॉम अपने बालों को दबने के चक्कर में अधलेटी सी उचक उचक कर लंड पर झूल रही थीं.

अजय देवगन का बेटा - इंग्लिश बीएफ पोर्न

इससे अब हम दोनों एकदम आलिंगनबद्ध थे और मैं सिर्फ कमर हिला पा रहा था जिससे लंड अपना काम कर रहा था.राज अंकल ने मेरे कूल्हों को पकड़कर फैलाया और गांड के छेद पर अपनी जीभ डाल कर चाटने लगे.

ताकि वो पेट से ना हो सके।फिर थोड़ी देर बाद हम घर को निकल गए।मित्रो, यह थी मेरी कहानी. इंग्लिश बीएफ पोर्न मैंने बड़ी मुश्किल से हिम्मत जुटा के अपने हाथ को धीरे से उनकी जाँघों पर रख दिया.

तो पिंकी ने मुझसे कहा- मुझे तुमसे कोई बुक लेनी है।मैंने कहा- दोपहर को आकर ले लेना।दोपहर को पिंकी बुक लेने आई, घर पर मैं और मम्मी ही थे, मम्मी अन्दर वाले कमरे में सो रही थीं।मैंने पिंकी के अन्दर आते ही उसे पहले बुक दी.

इंग्लिश बीएफ पोर्न?

भाभी या आंटी की चूत की खाज मिटाने के लिए काफ़ी है।वैसे मैं समझता हूँ कि सेक्स के लिए समय सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण है. बल्कि राजेश के निक्कर की इलास्टिक में हाथ डाला और धीरे से उसकी झाँटों को सहलाया।उस वक्त मेरी उंगलियाँ उसके लौड़े से टच कर गईं और बस उसका लौड़ा सख्त होने लगा।राजेश भी अब मेरे गोल-गोल कूल्हे सहला रहा था। लेकिन हम दोनों में से कोई भी और आगे बढ़ने का साहस जुटा नहीं पाया और बात वहीं पर रुक गई।लेकिन अब राजेश जब झाँसी आया. उसे श्यामा ने ही कहा हुआ था कि सारे कपड़े उतार कर बैठे सिवा चड्डी के.

इसका मतलब अब मेरी जान मुझसे बुर चुदाने के लिए बिल्कुल खाली रहेगी।’‘हटिए आप भी. आज मैं आपके सामने अपनी एक रियल सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ।बात सन 2001 की है. पर आपने तो सारी मर्यादा भुलाकर अपने ससुर के साथ चुदाई का खेल खेला है.

मेरी चूत में गुदगुदी हो रही है और गीला पानी भी निकाल रहा है।मेरी इस कामरस से भरपूर कहानी को लेकर आपके मन में जो भी विचार आ रहे हों. मैंने पूरे जोश में उसकी चूत में धक्के मार रहा था और कोमल बच्चों के डर से ज्यादा चिल्ला भी नहीं पा रही थी।वो अपने हाथों को आगे बढ़ा कर मुझे अपनी चूत से दूर पीछे करना चाह रही थी. यह घटना दो वर्ष पहले की है, जब मैं 22 साल का था और मेरे चाचा की लड़की 19 साल की थी.

बहुत ही सुंदर लग रही थी। उसने मुझे देखा और खुश होकर गले लगा लिया।कैसी लगी मेरी कहानी. तो चाची मेरे सामने खड़ी थीं।वे एकदम से बोलीं- कितनी देर से आवाज़ दे रही हूँ.

मैं आपकी बहन हूँ।भाई ने लौड़े को गाण्ड पर टिकाया और प्यार से छेद पर लौड़ा रगड़ने लगा।भाई- अरे दीदी डर मत.

सुलेखा भाभी से मैं खुलकर बात कर लेता था क्योंकि उनका व्यवहार ही कुछ ऐसा था.

एक मिनट से भी कम समय में बुआजी ने जोर से मुझे वहीं पर हग करके अपने आप में समेटना चालू कर दिया. मेरी बहन मुझसे छोटी थी और जब तक मैं उसे रंगे हाथ नहीं पकड़ता, तब तक मैं उसको भी कुछ नहीं बोल सकता था. ’ करने लगी।अब लड़का चूत को सहलाने लगा, लड़की नाख़ून से नोंचने लगी, उसने पीठ पर नाख़ून गड़ा दिए।लड़का अपनी वासना में मस्त था और उसने अपने हाथ में लौड़ा पकड़ कर चूत के मुहाने पर रख दिया और अब वो लण्ड से चूत में घुसने का दरवाजा ढूँढ रहा था.

उस दिन उसने काले रंग का सलवार सूट पहन रखा था बहुत ही जबरदस्त माल लग रही थी। वैसे भी मुझे उसको चोदना था. तारा ने लिंग को चूसते हुए अपना सिर ऊपर उठा कर मुनीर को देखा और मुस्कुराते हुए लिंग के सुपारे पर अपनी जीभ फिराने लगी. पूरा घर पानी-पानी हो गया।कीर्ति भाभी और मैं घर साफ करने लगे। हम दोनों भीगे हुए थे। कीर्ति का नाइट ड्रेस उसके शरीर से चिपका हुआ था.

फिर उसका ब्लाउज निकाल दिया। वो दोनों हाथ से अपना शरीर छुपाने लगी।मैं ब्रा के ऊपर से उसके चूचे सहलाने लगा, फिर मैंने उसके होंठों को चुम्बन करने लगा और साथ में उसकी चूचियों को भी दबाने लगा।अब वो मेरा साथ देने लगी।मैंने चुम्बन करते हुए धीरे उसके पेटीकोट का नाड़ा खींच दिया। वो सिर्फ ब्रा में मेरे सामने थी.

वो मुझसे लिपट गई और बोली- आज मुझे पूरी वीडियो देखते हुए वैसे ही करना है. सुनीता भाभी बहुत गर्म हो चुकी थी।तभी उसने कहा- मेरा पति रात 8-9 बजे तक आएगा. तो मुझे उसके टॉप में से उसके मम्मों की झलक मिली। उसने अन्दर ब्लैक ब्रा पहन रखी थी। मेरा लण्ड फिर से खड़ा होने लगा मेरी नज़र बार-बार उसके मम्मों पर जा रही थी।फिर मेरी नज़र जब उसके मम्मों पर थी.

’उसने मुस्कुराते हुए अपने होंठ सिकोड़े और मेरे लंड को पूरा मुँह के अन्दर भर लिया। उसने जो पूरी लम्बाई का मेरा लंड अन्दर लिया. नहीं तो बवाल हो जाएगा।’यह कहते हुए पता नहीं कहाँ से मेरे अन्दर इतनी ताकत आ गई कि मैंने चाचा को दूर ढकेल दिया।जैसे ही चाचा दूर हुए. एक बार तो मैं अब दिल ही दिल‌ में खुश हो गया कि चलो भैया से डांट तो सुननी पड़ी, मगर कम्प्यूटर कोर्स से तो पीछा छूट गया.

’‘अभी तुम रसोई में जाओ और अपने हाथ की पहली चाय पिलाओ।मैंने उसे रसोई में ले जाकर सब सामान दिखा दिया।‘तुम दो कप चाय बना कर ले आओ.

पूरा लिंग ही ‘पक’ करके बाहर आ गया। मैंने और लार बना कर उसके छेद पर उगल दी और फिर दबाव डालते अंदर घुसाना शुरू किया जबकि अब उसने उसे बाहर ठेलने के लिये जोर लगाया। जड़ तक ठूंसने के बाद वापसी में फिर वही प्रक्रिया दोहराई।फिर करीब सात आठ बार ऐसे ही घुसाया निकाला लेकिन बेहद धीरे-धीरे. उसने मुझे समझाया और कहा- देख तू चाहे तो सब कुछ कर सकती है। एक बार कोशिश तो करके देख.

इंग्लिश बीएफ पोर्न मगर दादा जी ने गुस्से से कहा- अभी करता हूँ माफ़, तू चल पहले बाहर का मेन दरवाजा बंद करके आ!दादा जी ने विकास को उंगली से इशारा करते हुए कहा. मैंने उसकी कमर से हाथ फेरते हुए उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबाने लगा.

इंग्लिश बीएफ पोर्न मेरा लैपटॉप रखे हुए ही चाची ने टाँगें सीधी से एकदम मोड़ लीं और मेरा हाथ पकड़ लिया. वो मेरी ओर मुड़ी और बोलने लगी- भैया, ये गंदा नहीं लगता है?अब मेरी हिम्मत बढ़ गई, मैंने कहा- इसमें बहुत मजा आता है.

दोस्तो, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ। मैंने लगभग सभी कहानियां पढ़ी हैं.

देवर भौजाई की चुदाई हिंदी में

पर किरण पर मेरा असर हो रहा था।पर मुझे दोनों में से कोई भी घास नहीं डाल रही थी।तो मैंने सोचा कि क्यों ना दोनों को रंगे हाथ पकड़ कर चोदा जाए और अब मैं दोनों का फिर से लेस्बियन सेक्स करने का इंतजार करने लगा।एक दिन पूजा रात को 8 बजे पढ़ने आई. बिना समय बर्बाद किये, मैं उसे अन्दर कमरे में ले गया, जहां संदूक रखा था. वे दोनों बेड के दोनों सिरों पर लेटी थीं और बीच में मेरे लिए जगह छोड़ दी थी.

अब उसने मुझे फिर से बिस्तर पर लिटा दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया।उसने मेरे पैर फैलाए और लौड़ा हाथ से पकड़ कर मेरी चूत में अन्दर पेल दिया. शायद पायल की आग भड़क चुकी थी इसलिए उसने टांगें और अधिक खोलते हुए अपनी चूत मेरे लिए खोल दी थी. कई बार मैंने अपना हाथ आगे की तरफ खिसका कर उनके मम्मों के ऊपर वाले हिस्से में भी मालिश की.

प्रिया मेरे बगल में बैठकर मेरे लंड को चूस रही थी और मैं मजे से लेटा हुआ था.

तो कोई मेरी जाँघों को सहला रहा था।पूरे रास्ते इन्होंने मेरी सांस भारी कर रखी थी। जैसे ही घर पहुँचे. पण माझी खरी कसौटी लागली ती त्याच्या दोन मित्रांकडून चोदुन घेताना तीन लवडे आणि एक पुद्दी यांच्यात जे धमासान झाले ते सांगण्यालायक आहे. इसकी वजह से मैं गाण्ड बाद में मारूँगा। अब देख इसका क्या हाल करता हूँ.

मुझे ये पूछना है कि क्या कंडोम से भी सेक्स करने में मजा आता है?’ ये बात उसने शरमाते हुए पूछी।मैंने कहा- सोनी. मैं जब थोड़ा नींद में उठी तो देखा कि मेरा देवर मेरी पेंटी को बहुत ध्यान से देख रहा है. मैं फिर भाभी को बाईट करने लगा और कमीज के ऊपर से उनके मम्मों को मसकता रहा।वाह.

पर सुबह सुबह उसका लंड खड़ा था क्योंकि थोड़ी देर पहले ही वो रात वाली घटना के बारे में सोच रहा था. थोड़ी देर बाद मयूरी ऐसे नाटक करती है जैसे उसको अभी-अभी पता चला हो कि विक्रम उसकी चूचियों को ताड़ रहा है.

हम दोनों को और भी पांच मिनट हुए होंगे कि तभी पायल एकदम से ऐंठ गई और उसी चुत ने पानी छोड़ दिया. उसने कहा- मैं 5 बजे तक ही फ्री हूँ क्योंकि उसके किड्स 5 बजे के बाद घर आ जाते हैं. उसने प्यार से मुझको बाँहों में भर कर मेरे लिप्स पर हल्का सा चुम्बन कर दिया.

देखते ही देखते जीजू ने मेरी जीन्स भी उतार डाली तो रवि मेरा गदराया हुस्न देख पागल हो गया और वह उठकर सोफे पर मेरी दायीं तरफ आकर बैठ गया.

मैंने इसका फायदा उठाया और कहा कि चल मैं बताता हूं कि ये लंड क्या है?मैंने फिर से उसका हाथ पकड़ कर अपनी चड्डी के अन्दर ले गया. चूंकि आज मुझे भी मजा आ रहा था, सो मैंने भी उससे कुछ नहीं कहा क्योंकि इस वक्त मैं भी फिल्म देखते हुए बहुत गर्म हो गई थी. मेरी हया और हालत इस बात की चीख-चीख कर गवाही दे रही थी कि मैं चुदने आई हूँ।तभी उसने मुझसे कहा- तुम इस हाल में उस कमरे में क्या करने जा रही थीं?मैं हकलाते हुए बोली- कुछ नहीं.

उस वक्त भाई भी जॉब पर गया हुआ था। जब मैं स्कूल से घर आया तो पता चला कि भाभी घर में अकेली है।भाभी ने मुझे खाना दिया और नहाने चली गई. ताकि गाण्ड में लंड डालने में आसानी हो।अनु बोली- भैया प्लीज़ गाण्ड केवल चाट लो.

तो पिंकी ने मुझसे कहा- मुझे तुमसे कोई बुक लेनी है।मैंने कहा- दोपहर को आकर ले लेना।दोपहर को पिंकी बुक लेने आई, घर पर मैं और मम्मी ही थे, मम्मी अन्दर वाले कमरे में सो रही थीं।मैंने पिंकी के अन्दर आते ही उसे पहले बुक दी. उसके हाथ से खिलाया गया एक एक निवाला मुझे बीमारी से दूर और उसके करीब लाता जा रहा था. फिर चाची बिस्तर पर बैठ कर मेरी तरफ देख कर बोलीं- इतने सालों से तड़प रही हूँ.

ट्रिपल सेक्स सेक्सी वीडियो

मेरे लंड को मुँह में लेने‌ के लिया प्रिया अब उस पर झुकी ही थी कि तभी‌ उसे मेरे लंड पर लगे‌ हुए सफेद सफेद धब्बे दिखाई दे गए और वो कहने लगी- छीईईई … पहले इसे साफ तो करके आओ.

आज आपके भाई मूड में हैं और मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहती। अब सब कुछ दोपहर में होगा. मैंने जीजू से कहा- कोई बात नहीं!और उसके बाद शाम को हम दोनों लोग घर में अकेले थे. फिर मैं जाने लगा तो मुझे फिर गले लगी और बोली- आज सही मायने में मैं एक शादीशुदा हो पाई हूँ.

मैंने दोनों से आधा आधा गुलाब जामुन ख़ाकर आधा उन दोनों को भी खिलाया. और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा। उसका जिस्म एकदम से इठ गया और शायद वो झड़ने की कगार पर आ चुकी थी।फिर मेरा भी काम होने को था. हिंदी सेक्सी ओपन मराठीब्रा भी आधी खुल चुकी थी।गीत ने अपने हाथ को आगे बढ़ाते हुए संजय की पैंट की जिप खोल कर उसका लंड बाहर निकाल लिया।संजय के नंगे लंड को गीत सहलाने लगी थी.

जो भाभी देख रही थीं।मैंने कहा- भाभी क्या देख रही हो?कहने लगीं- गौरव, तुम्हारा ये तो बहुत मोटा और लंबा लग रहा है।कह कर वे उसको टच करने लगीं. जो पहले से खुद भी वहाँ पर ये सब करती है। साक्षी को उस चकला घर की औरत के पास ले जाया गया.

भाभी रसोई में रात के खाने की तैयारी कर रही थीं और वहीं से बोले जा रही थी- अजीत आज खाना यहीं से खाकर जाना पड़ेगा, खाना तो मैंने बना भी लिया है।भाभी सब कुछ समेट कर खाना लेकर आईं. फिर मैंने अपना माल मामी की चूत में ही छोड़ दिया। मामी चुदाई के दौरान 2 बार झड़ी थीं। फिर मैं 10 मिनट तक ऐसे ही मामी के ऊपर पड़ा रहा और फिर मैंने मामी से कहा- अब मैं गाण्ड मारूंगा।मामी ने मना कर दिया. पर तुम मेरे सामने ही पूरी नंगी होकर कपड़े बदलोगी।वो मान गई और अपने कपड़े खोलने लगी।मैं उसे देखने लगा और अपना लण्ड निकाल कर मुठ मारने लगा।मेरा लम्बा और मोटा लण्ड देखकर उसकी आंखों में चमक आ गई।वो भी मेरे लण्ड को गौर से देखने लगी।मैंने उसको मेरा लण्ड चूसने को बोला.

क्योंकि मैंने अन्दर कुछ नहीं पहना था और अंजलि के भी निप्पल दिख रहे थे. श्यामा की चूत उस लड़के के लंड पर सवार हो गई और मालती की चूत उसके मुँह पर आ गई. संतोष पूरी तरह नंगा था और अपने हाथ से अपने लण्ड को हिलाते हुए मेरे नाम की मुठ्ठ मारते मेरी चूत और चूचियों का नाम ले कर लण्ड सौंट रहा था। संतोष का लण्ड भी काफी फूला और मोटा लग रहा था।सुपारा तो देखने में ऐसा लग रहा था जैसे लवड़े के मुहाने पर कुछ मोटा सा टोपा रखा हो। लेकिन ज्यादा चौंकने की वजह यह थी कि एक 19 साल का लड़के का इतना फौलादी लण्ड.

किया तो था लेकिन लगता है तुम्हें अच्छा नहीं लगा इसलिए मैंने तुमसे दुबारा नहीं पूछा।उसने बोला- ओके.

उसकी सिसकारियां मुझे पागल करती जा रही थी। मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया जिससे उसकी चुत बिल्कुल मेरे सामने थी।मैंने अपने लंड को उसकी चुत के छेद पर रखा और एक हल्का सा झटका दिया जिससे करीब 2 इंच लंड उसकी चुत में घुस गया. उसकी इस हरकत से उसे चूमते हुए भी मेरी चीख निकल गयी- अम्म …सिम्मी ने मादक आवाज़ में कहा- इट्स सो हार्ड … बहुत सख़्त है.

तो उसकी आवाज और जोर-जोर से आने लग जाती।अब मैंने सोनी की चूत में एक उंगली डाली. पर उसने कुछ नहीं कहा।मैंने फिर से सुपारा उसकी चूत के छेद पर रखा और इस बार थोड़ा ज़ोर से धक्का लगाया मेरे लण्ड का सुपारा अन्दर चला गया. यह बात 2 साल पहले की है, मैं अपने घर के आगे चौकी पे बैठा फ़ोन में एडल्ट साइट देख रहा था.

और फिर मैं झुका और कमर को हाथों से थामकर मीता की गहरी नाभि पर एक गहरा चुम्बन अंकित कर दिया. मुझसे रुका नहीं गया और मैं तुरंत उसके ही बाथरूम गया और उसके नाम पर एक मुठ्ठ मार ली।मुठ्ठ मारते समय अंकल की बेटी ने मुझे देख लिया और मुझसे बोली- मुझे छुप-छुप कर देखते हो और मुठ्ठ मारते हो।मैं उससे रिक्वेस्ट करने लगा- प्लीज़ ये बात किसी को मत बताना. आते समय मैंने देखा था कि चादर पर हम दोनों का वीर्य लगा था पर कहीं भी खून की एक बूँद तक नहीं थी। तो क्या मिलन पहले भी चुद चुकी थी?3.

इंग्लिश बीएफ पोर्न तो मैं आपके योनि छिद्र अर्थात चूत का समग्र दर्शन कर उसका चूषण कर सकता हूँ. क्योंकि एशियाई लोग अमरीकियों के मुकाबले शारीरिक रूप से छोटे होते हैं.

देसी रंडी वीडियो

हम तो कब से ऐसा मौका ढूँढ रहे हैं।उनके ये सुनते ही मेरे तो होश उड़ गए. तभी अचानक किसी ने मेरे कमरे का दरवाजा खटखटकाया तो हम सही हुये और मैंने दरवाजा खोला. अगर वो नहीं आए तो तुम भी स्कूल मत आना।पिताजी का नाम सुनते ही मेरे पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई, मैं गिड़गिड़ाते हुए टीचर के पास गया, कहा- प्लीज टीचर.

मैंने कहा- मेरी प्यारी भाभी को कैसे मुझ पर रहम आ गया।भाभी ने कहा- रहम नहीं. जो रह-रह कर मेरे लण्ड के सुपारे को फुला रही थीं।अब मैं बेकाबू सा हो रहा था. सेक्सी विएफतो उसने मेरे ऊपर चढ़ कर लंड अपनी चुत में ले लिया और मुझको चोदने लगी.

इतने में राज अंकल मेरी कमर में हाथ डाला और मुझे खिसका कर थोड़ा अपनी तरफ करके सीधे मेरे होठों को चूम लिया और अंकित को बोले- तू चाहे तो अपना लन्ड डाल दे अंकित, मेरी वजह से तेरा काम अधूरा रह गया था.

बातों बातों में उसने पूछा- कोई गर्लफ्रेंड है?तो मैंने झूठ बोल दिया कि अब कोई नहीं है. आज मेरा भाई परेजू मुझसे मिलने आया और मुझे चोद गया तो मैंने सोचा कि अपने दोस्तों को बताऊँ कि मेरी चूत चुदाई शुरू कैसे हुई.

चूत ने कामरस छोड़ दिया।मैंने पूरा रस चाट कर साफ़ कर दिया।गीतिका- तुम तो बड़े एक्सपर्ट लगते हो. फिर उन्होंने मेरी कैपरी में उंगली डाल दी और बोले- देखो ना तुम्हारी चूत तो अभी भी एकदम गीली है. इधर मेरे पति ने दुष्यंत से कहा- साले गुड़ की भेली देखते ही मक्खी की तरह भिनभिनाने लगा.

मेरे होंठो को चूसने लगीं।मैं भी उनसे कसकर चिपक गया। अब मैंने भाभी की दोनों टाँगों को फैला दिया और उनकी चूत पर हाथ फेरने लगा।फिर पैन्टी के ऊपर से ही लंड घिसने लगा। मेरा मन तो कर रहा था कि अभी घुसा दूँ पूरा का पूरा.

ना कि कोई जिगोलो या प्रोफेशनल सेक्स वर्कर हूँ।तो उसने सुबकते हुए कहा- मैं यह जानती हूँ. उसके बाद तू चुदाई के लिए एकदम पक्की हो जाएगी… फिर चाहे आगे डालो या पीछे. यह बोल कर दीप्ति ने मुझे जोरदार किस किया और मेरे खड़े हो चुके लौड़े को बाहर निकाल कर किस किया। उसके बाद हमने एक बार चुदाई की.

वीय पीने के लाभवो तड़फ उठी।मैंने उसके पैर खोल दिए और अपनी जीभ को उसकी बुर के मुहाने पर टिका दिया। अपनी जीभ से उसकी बुर की फांकों को चाटते हुए जीभ को ऊपर-नीचे फिराने लगा।वो मेरा सर अपनी चूत पर दबाने लगी, मैं जोर-जोर से चाटने लगा. दोस्तो पहली बार की चुदाई में बहुत उत्सुकता होती है और काफ़ी चीजें अजीब लगती हैं.

नंगी सेक्सी चोदने वाली

कब वो जाग गई और अपना मुँह घुमा कर मेरे को देखने लगी, मुझे पता ही चला. तब राज अंकल अपने लंड को हाथ से पकड़ कर गांड की छेद पर सैट किया और जैसे ही उन्होंने पूरी ताकत से अन्दर घुसाया, मुझे बहुत दर्द होने लगा. आज जो करोगे सब ऊपर ऊपर से ही … अंदर कुछ नहीं!”ठीक है मीत, जब तक तुम खुद न बोलोगी, हम खूंटा नहीं गाड़ेंगे!”इतना कहकर मैंने मीता की कमर के कटावों को हाथों में थामकर उसके होंठों को चूम लिया और उसे गोदी में उठाकर पलंग पर ले आया.

प्रिया फिर एक बार चीख उठी ‘आह्ह … ओओह … म्मम्मीईई …’ मगर मैं पूरी मस्ती में था और प्रिया की कमर पकड़ कर उसकी जोरदार चुदाई करने में लगा था. तब मैंने भी हल्का-हल्का आगे-पीछे करना शुरू किया।उसकी चूत बहुत कसी हुई थी. मैंने कुछ नहीं कहा लेकिन अब फिल्म देखने में मेरा मन नहीं लग रहा था.

मैं भाभी की जवानी पर इस कदर से फ़िदा था कि मुझे उनकी जवानी का हमेशा रस चूसने वाला भंवरा बनने का मन था. कभी भी मेरी चूत से रस निकल सकता था। कभी भी मेरी चूत पानी छोड़ सकती है।तभी एकाएक मुझे महसूस हुआ कि कोई ने मेरी जाँघों पर अपना हाथ रख कर कसके दबोच लिया हो. मैंने कहा- थोड़ी देर में तुम्हें बहुत मज़ा आएगा।मैंने फिर से अपना लण्ड उसकी चूत में डालना शुरू किया, मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में घुस गया था।तभी मुझे अपने लण्ड पर गर्म पानी सा लगा.

उसने कुछ न कहा और मेरा साथ देने लगी।फिर उसने कहा- मैं तेरा लंड देखना चाहती हूँ।मैंने कहा- जानेमन सब तुम्हारा ही है।फिर उसने मेरी पैंट खोल दी औऱ मेरे लंड को देखने लगी। लण्ड बड़ा होकर 6 इंच का हो गया था औऱ शायद इसी पल का इंतजार कर रहा था।मैंने उससे कहा- इसे मुँह में लेकर देखो।पहले तो उसने मना किया. मेरी पिछली कहानीचुदाई का असली मज़ा आंटी को दियाके दो भाग आपने पढ़े होंगे.

तो सुमा चुदाई करने को मना करने लगी।मैंने सुमा को उसके कान के नीचे के भाग में किस किया.

और तुम क्या देख रहे। तुम्हें देखने की सजा मिलेगी। चलो इनके जैसे शरीफ हो जाओ. रोमांटिक सेक्सी वीडियो भेजोमेरा माल निकल रहा था।हर बूँद पर सुनयना भी झटके लेने लगी और मैं भी उसके ऊपर निढाल हो गया।फिर हम दोनों लेट गए. खेसारी लाल का सेक्सी फिल्मथोड़ी देर में जब उसके लंड से वीर्य का भंडार छूटा तो माँ ने उसके सारे वीर्य को पी लिया. तभी राज अंकल बोले- वन्द्या, है तो तू मेरी बेटी जैसी … पर कोई औरत तेरे बराबर सेक्सी नहीं और सुंदर तो तुझसे ज्यादा कोई हो ही नहीं सकती.

क्योंकि उसे पिक्चर में बहुत मज़ा आ रहा था। मैंने 2 ड्रिंक्स ख़त्म किए और फिर उससे पूछा- तू पिएगा क्या?तो वो शरमाने लगा.

मेरा मन जब नहीं लगता है तो कभी कभी अन्तर्वासना सेक्स कहानियां पढ़ती हूँ जिससे मुझे बहुत अच्छा लगता है. मेरे घर में मैं और मेरी मां हैं, पिता जी मौत कुछ वर्ष पहले हो गई थी. हम साथ बैठ कर चाय पीने लगे और सभी बिस्तर के ऊपर बैठ कर बातें कर रहे थे।तभी संजय ने गीत को एक चुम्मा कर दिया.

मार्केट से सब्जी ले आ।मैंने कहा- ठीक है।मैं मार्केट गया और सब्जी लाकर भाभी को दे दी।मैं वापिस आने लगा. आज दो बेटों की माँ शीतल ने अपने दोनों बेटों का लंड चूस लिया था।कहानी जारी रहेगी. अमृताचा तो झरा जणू, त्याच्याकरता एक संजीवनी होता, त्याने त्याचा लंड आता माझ्या मांड्यांमध्ये घासायला सुरवात केली, त्या लवड्याचा तो स्पर्श माझ्या गान्डीच्या भोकावर झाला, मी आसुसून माझे पुठ्ठे मागे केले.

मराठी झवाझवी पाठवा

एक दिन वो मेरी दुकान पर आई और मंदिर में भगवान के लिए कपड़े लेने लगी. चलो नीचे कमरे में चलते हैं।फिर चाची नीचे जाने के लिए उठीं और अपने ब्लाउज का बटन बंद करने लगीं।मैंने उनका हाथ पकड़ा- रहने दो ना. ओके।”दोनों ने सर हिलाया, उसने सिक्का उछाला और इत्तेफाक से टेल आया।चलो तुम चढ़ो पहले मेरी चूत पे.

वो मछली के जैसा तड़प उठी और मुझे उल्टा करके मेरे जीन्स की ज़िप खोल कर मेरा लंड निकालने लगी। लण्ड निकालने के बाद जब उसने मेरा खड़ा हथियार देखा.

फिर उन सभी ने साथ में ड्रिंक की, उनका फोन मेरे पास भी आया, पर ठंड बहुत होने के कारण मेरा मन जाने का नहीं था.

शाम को लंच के बाद करीब 2 बजे बॉस ने मुझे अपने केबिन में बुलाया और कहा- वो लोग आज शाम को आ रहे हैं और होटेल क्रिस्टल पैलेस में रुकेंगे. कमर 30 और पुठ्ठे छत्तीस के थे।मैं और मेरे पति जब बाहर बाजार में जाते थे. मौसी की चूत सेक्सी वीडियोन मैंने उनकी बात मानी क्यूँकि मैं पढ़ने के लिए दिल्ली चला गया।उनकी आखों में आज भी प्यार देखता हूँ लेकिन मैं ऐसी कोई गलती नहीं करना चाहता.

इतना तो दिमाग लगा सकता हूँ, वहीं पर हमारी आँखें टकराने लगीं, वो भी हर थोड़ी देर में आईने पर नज़र डालती और हमारी नज़र टकरा जाती।वो घबरा गई थी और थोड़ी सी मुस्कुरा भी रही थी।खाना हो गया और हम अपने रूम में चले गए।सब सो गए. ऐसा क्यों?मैंने कहा- तू अभी कुंवारी है।वो बोली- मेरी फ्रेंड्स की भी अभी कुंवारी हैं उनकी शादी नहीं हुई है।मैंने कहा- उनके बॉयफ्रेंड हैं. पर यहां पर आने के बाद पता चला कि स्टूडेंट लाइफ कितनी स्ट्रगल वाली होती है.

सलोनी ने दरवाजा खोला। सबने अन्दर आते ही उसे हग किया।सबसे पहले अमर ने उसे गले लगाते ही उसके चूतड़ के ऊपर से हाथ फेरा और दबाने लगा, उसके बाद विजय राहुल मधुर ने भी वही किया, उसके बाद पप्पू और संतोष उसके स्तनों को दबाने लगे।तो बाकी के लोगों ने कहा- रुक अभी. स्विमिंग पूल के आसपास कोई सर छुपाने की जगह नहीं थी और इसलिए हम दोनों कमरे की तरफ भागे.

उसकी चूत फूल चुकी थी।मैंने अपने लण्ड का सुपारा उसकी चूत पर रखा और हल्का सा धक्का लगाया.

मैंने कहा- हाँ, ठीक है।और उसी दिन हम लोगों को वापस लखनऊ आना था तो मैंने उससे कहा- अब हम लोग लखनऊ में अपने घर में सेक्स करेंगी।सच में लखनऊ आकर हमने दो बार लेस्बीयन सेक्स किया. साले का हथियार तो खड़ा हो गया था, पर मेरे हाथ लगते ही उसका सारा माल मेरे मुँह पर आ गया … मैं तो प्यासी ही रह गई. फिर क्या था, मैंने बिना उसे बताये उसके शहर पहुँच के डेली रूटीन में मेल किया और पूछा- कहाँ हो?तो वो बोली- मैं अपनी किराना दुकान में हूँ.

मोर वाली मेहंदी बातों बातों में उसने मुझे भी नंगा कर दिया और मेरे को बेड पे लिटा कर मेरा लौड़ा चूसने लगी. तो उसने सोनू को बताया कि जमील अपनी हर चुदाई की वीडियो बनाता है और फिर उसको देख-देख कर रात में सबको बजाता है।सोनू ने तस्लीमा से कहा- मुझे भी देखनी है तुम्हारे चुदाई की वो क्लिप्स.

फिर भी मन नहीं भरा?वो बोले- तुम हो ही ऐसी चीज़ कि लंड खड़ा हो जाता है. उसकी झाँटों ने चूत के आगे एक ढक्कन सा बना रखा था। मैंने अपनी उंगलियों से झाँटों को साइड में किया. मैं आज अपनी पहली कहानी लिखने जा रहा हूँ जो मेरी सच्ची आपबीती है। यह बात आज मैं पहली बार किसी को बताने जा रहा हूँ। मैं जब स्कूल में था तो मैंने पहली बार हस्तमैथुन किया था.

ब्लू पिक्चर हिंदी वीडियो में

तुम मुझे यह बताओ कि तुम्हारा घर कब खाली होता है?मैंने जवाब में लिखा- सुबह नौ बजे से शाम के पाँच बजे तक. चाचा मेरी बुर की फांकों को फैलाकर मेरी चूत चाटने लगे। वे अपनी जीभ और होंठों से मेरी चूत के अंदरूनी हिस्से को चूसते हुए चाचा मुझे थोड़ी ही देर में जन्नत दिखाने लगे। मैं भी कमर उठाकर सब कुछ भूल कर अपनी चूत फैलाकर चटवाने लगी।तभी चाचा मेरी चूत पीना छोड़कर खड़े होकर अपना हलब्बी लण्ड निकाल कर मुझसे बोले- बहू अब तुम इसकी सेवा कर दो. जवळपास सात इंच लांब आणि दीड इंच रुंद अशा लवड्याचे दर्शन झाल्यावर माझ्या चित्तवृत्ती बहरून आल्या, आज पुद्दीचा भोसडा होणार हे नक्की होते.

उसने झटके से मेरी तरफ देखा और लैपटॉप में देखा तो उसकी आँखें बड़ी हो गईं।मैंने पूछा- देखना है क्या?तो वो ‘हाँ’ बोला।मैंने उससे पूछा- पहले कभी ब्लू फिल्म देखी है?तो वो बोला- हाँ. अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था, इसलिए मैंने बहन की सलवार का नाड़ा खोलने के लिए हाथ बढ़ाया और नाड़ा मिलते ही खोल दिया.

’ कर रही थी।मैं अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में डालने लगा लेकिन वो मुँह नहीं खोलना चाहती थी.

धीरे-धीरे मैं उसे चूमते और चाटते हुए नीचे आने लगा और मैंने उसके टी-शर्ट और शॉर्ट्स अपने हाथ से निकाल दिए, अब वो सिर्फ़ पैन्टी में थी. फिर उस बात को छोड़िए खैर उस बात को छोड़िये … सबीना ने मुझे देखा तो मुस्कुरा कर बोली- मैडम को परेशान कर लिया?मैं भी मुस्कुरा कर बोला- हां सबीना, तुम्हारी मैडम तो सो गई!और मैं अपने लंड की तरफ इशारा करते हुए बोला- तुम्हारी मैडम का यह बाबू अभी तक जाग ही रहा है और मैडम आप कुछ करने को राजी नहीं है. उनके हाथ में लकड़ी की स्केल थी।‘किताब साइड में रख दो और अपनी पैंट खोलो।’ उन्होंने मेरी तरफ देखते हुए गुस्से से कहा।‘जी.

मुझे इतना गुस्सा नहीं होना चाहिए था।’ उनको अपनी गलती का अहसास हो गया था।‘मुझे मेरी गलती की सजा मिल गई।’ कहते हुए मैं फिर से पैंट पहनने की कोशिश करने लगा।‘रुको. जिसमें मैंने अपना लण्ड सैट किया था।‘यह क्या है?’ उभरी हुई जेब देखकर उन्होंने पूछा।‘हॉट डॉग है. तो शादी के बचे हुए कार्ड्स देने की बजाए अपने घर पर चला आया और सो गया।शाम को मेरा फोन बजा.

उसने एक धक्का मारा और उसका सुपारा मेरी गाण्ड में उतर गया। मुझे एक बार दर्द सा हुआ और मैंने गाण्ड हिला कर एड्जस्ट किया।अब उसे बहुत मज़ा आया और उसने कस के एक और धक्का मार दिया। अब उसका आधा लण्ड मेरी कोरी गाण्ड में उतर गया और मुझे बहुत दर्द हुआ। मैं एकदम से बोला- अयाया.

इंग्लिश बीएफ पोर्न: तीसरी निगार और चौथी थी तस्लीमा।जमील मियाँ चूत चोदने के मामले में काफी तंदुरुस्त थे, एक बार में उसे चोदने के लिए दो-दो औरतें लगती थीं। कभी-कभी निगार और रोशन नंगी सोतीं और सलमा लंड चूसती. मेरे हाथ में लंड की जड़ और झांटें ही थीं मेरी नाक तो मानो अंकल की झांटों के जंगल में दब कर रह गयी थी.

मधु की चूत फिर से पनियाने लगी और वो जोर जोर से मेरा लन्ड पकड़ के मसलने लगी और बड़ी ही कामुक आवाजें निकालने लगी. मैंने उसको होठों पर चूमते हुए कहा- बस एक बार करवा ले यार!वो बोली- नहीं, नीचे नहीं…मैं प्रेग्नेंट हो गई तो?मैंने कहा- कुछ नहीं होगा एक बार से…वो नहीं मानी. मैंने दरवाजा बंद किया और मेरी बहन की गांड के ऊपर एक हाथ रख कर सहलाने लगा.

एक तो वे बड़ी-बड़ी थी और ऊपर से मयूरी उछल-उछल कर उनको हिला-हिला कर विक्रम का ध्यान आकर्षित कर रही थी.

दोनों का प्रेमालाप करीब बीस मिनट तक ऐसे ही चलता रहा और इतनी देर में दोनों ही माँ-बेटी कई बार झड़ गयी. उन्होंने जैसे ही दबाव बनाया, मुझे बेहद दर्द होने लगा और राज अंकल का लौड़ा गांड से फिसलकर बाहर हो गया. मैंने भी शर्म छोड़ दी और उनकी मैक्सी के अन्दर हाथ दे दिया।उन्होंने मेरा पूरा साथ दिया.