बीएफ पुरानी वाली

छवि स्रोत,बकरी और इंसान की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बफ विडियो हिंदी मूवी: बीएफ पुरानी वाली, तुम सबकी तो कॉलेज के टायलेट में देखी हैं, पर ठीक से देख नहीं देख पाई.

नंगी सेक्सी खुली

रोज चार घंटे तक प्रिया को स्टेज पर नंगी ही बिठा दिया जाता और हर रोज उसके सामने चुदाई का मजमा लगा रहता. इंग्लिश फिल्म ब्लू फिल्म सेक्सी वीडियोमेरे मुँह से आज तक कभी सिसकारी नहीं निकली थी, पर आज पता नहीं कितना मज़ा आ रहा था.

घर पहुंच कर मैं फ्रेश हुआ और मुठ मारने का मन हुआ लेकिन मैंने मुठ नहीं मारी क्योंकि मैं अपने लंड के रस को संभाल कर रखना चाहता था. हिंदी सेक्सी गांड मारये ड्रेस मैं सिर्फ दोस्तों की उस पार्टी में पहनती हूँ, जहां चुदने का प्लान होता.

ये देख कर मेरे अन्दर और जोश आ गया और मैंने आंटी का चेहरा पकड़ कर अपना पूरा लंड उसके गले तक उतार दिया.बीएफ पुरानी वाली: ऐसा नाटक कर रही थी कि मानो उसे पता ही न हो कि उसके नाइटी उतारने से मेरे लन्ड की हालत क्या हुई है लेकिन उसकी आँखों में शराब का नशा छाने लगा था.

मैंने थोड़ी और हिम्मत की और मामी की चूत पर अपनी उंगली फिराने लगा और मामी की चूत को धीरे-धीरे सहलाये जा रहा था।चूत से थोड़ा थोड़ा चिपचिपा सा पानी रिस रहा था जिससे मेरी अन्तर्वासना और भड़क उठी और मैं जोश में आकर एक हाथ से अपना लंड और दूसरे हाथ से मामी की चूत को सहलाता रहा.वो लोग कभी मेरी नंगी छाती दबाते थे और कभी मेरी चूत को छूने लगते थे.

सेक्सी पिक सेक्सी वीडियो चोदी चोदा - बीएफ पुरानी वाली

कल रात को कुछ दस्तूर ऐसे ही हो गए … मगर मैं अब जरूरी दस्तूर पूरे कर देता हूँ.जब प्रिया ने जाया की चूत के अंदर ही जोर से अपनी मुट्ठी बंद करने की कोशिश की तो जया की तेज आवाज निकल गई- आह मर गई … साली चुत उखाड़ेगी क्या?इस पर सब लोग हंस पड़े.

उसने एक एक करके मेरे सारे कपड़े उतार कर मुझे एकदम नंगी कर दिया और मुझे उसी सोफे पर लिटा दिया. बीएफ पुरानी वाली मैं उनकी पैंटी निकालने लगा तो वो थोड़ी सी कमर उठा कर मुझे सहयोग करने लगीं.

समीर ने मेरी भी गांड चाट चाटकर ढीली की; फिर मुझे सीधे लिटाकर मेरे दोनों पैरों को उठा कर अपने कंधे पर रखा.

बीएफ पुरानी वाली?

करीब 6 बजे मैं नहाकर अपने कमरे में आई और आज मैंने साड़ी पहनने का फैसला किया क्योंकि शहज़ाद को मैं साड़ी में बहुत अच्छी लगती थी. दोस्तो, मेरी इंडियन कॉलेज गर्ल सेक्स कहानी में अभी बहुत रस आना बाकी है. फिर मैंने 3सम चुदाई की उन दोनों के संग!अब आगे हॉट फॅमिली सेक्स कहानी:शाम को मेरी आँख खुली तो देखा घड़ी में चार बज रहे थे।मैंने एक नजर कमरे में घुमाई तो मुझे रूपाली कहीं भी दिखाई नहीं दी लेकिन नीतू अभी भी मेरे बगल में अलसाई हुई निर्वस्त्र पड़ी थी।उसके चेहरे पर पर शांति और तृप्ति के भाव स्पष्ट दिखाई दे रहे थे।कुछ देर तक तो मैं उसी तरह उसके बगल में लेटा रहा और नीतू के नंगे जिस्म की काया को देखता रहा.

इसलिए अब मैं उनके शरीर के एक एक अंगों को चूमने लगा और अंततः मैंने उनके कानों के पास किस किया. फिर तीनों दोस्तों और अजय ने मिलकर प्रिया की चुत गांड को चोदकर उसकी आग बुझा दी. मैंने अपनी मां को गर्लफ्रेंड बनाने किए प्रपोज कर दिया- क्या तुम मुझसे शादी करोगी रज्जी?मां- चुप बैठो आप … मुझे ये सब नहीं करना, जो हमारे बीच हुआ, वो ऐसे ही हो गया.

मैंने उसे बैठने को बोला तो वो सामने लगे सोफे पर बैठने जाने लगी और मैं पीछे से उसकी मस्त मटकती हुई गांड देखने लगा. हम दोनों उनसे चुदती रहीं और एक बार तो दोनों को बच्चा भी ठहर गया था लेकिन दवाई खाकर हमने वो गिरा दिया. हम दोनों फोन पर अच्छे फ्रेंड हो गए थे जबकि ना ही मैंने उसको देखा था और ना ही उसने मुझको देखा था.

मेरी मां हंस दीं और बोलीं- हां मेरी जान, लेकिन जब घर में कोई नहीं रहेगा तो हम दोनों पति पत्नी बनकर रहेंगे. मुझे धक्का देती हुई वो मुझे एक कोने में ले गई और मुझसे चिपक कर बोली- अब रहा नहीं जाता … जल्दी करो न!वो अपने एक हाथ से मेरे लंड को हिला रही थी.

अब मैं भी मौका देख कर अपनी गांड ले जाकर एकदम से उसके लंड से चिपका देती.

बातों ही बातों में उसने मुझे अपना नाम सुनीता बताया और बताया कि वह कहां जा रही है.

मैं कॉलेज के टाइम अन्तर्वासना पर चुदाई की कहानियां पढ़ता था, उसमें मां बेटे की चुदाई की कहानियां मुझे ज्यादा पसंद आती थीं. हम तीनों की सांसें तेज गति से चल रही थीं और हम तीनों ही हांफ रहे थे. वैसे तो हमेशा वो रुबिका के कॉलेज से घर आ जाने के बाद ही आता था लेकिन आज जब मैं सारा काम करके बिना कपड़ों के नहा कर बाहर वाले कमरे में आयी थी कि तभी मेरे दरवाज़े पर दस्तक हुई.

बैठते ही चाची ने अपनी टाँगें चौड़ी कर के चूत की ओर देखा तो चूत में से सफेद वीर्य बाहर बह रहा था. उसने अपनी बेटी को 3 घंटे में चार बार चोदा और उसने हर बार अपनी बेटी की चुत में ही अपने लंड का पानी छोड़ा. निखिल के लंड का साइज़ देख कर वो खुश हो गयी और आज वो समझी कि वासना की आग दोनों ओर बराबर लगी है.

मेरी जवानी वैसे के वैसे रह गयी, जिसका मैं मज़ा न ले सकी, कहीं वैसा ही इसके साथ भी न हो.

हम दोनों का बिस्तर एक कमरे में ज़मीन में लगा था और एक अकेला बिस्तर मसहरी के परली तरफ भी लगा हुआ था. मैंने भाभी के होंठों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे झटके मारने लगा. मुझे तो, खैर कोई भी माल हो, उसकी बस चुत चूची और गांड ही दिखाई देती हैं.

भाभी बोलीं- हां बहुत … पर मैं घर के डर से किसी से बात नहीं करती थी. नमस्कार दोस्तो, मैं समीर एक बार फिर से अन्तर्वासना के इस पटल पर आप सभी का स्वागत करता हूँ. आप लोग दोस्त की बीवी की चुदाई कहानी पर अपनी राय मुझे कमेंट्स में बताएं.

अब तक मैं समझ चुका था कि फ़लक को सेक्स का बुखार चढ़ने लगा है और वह लण्ड लेने को तैयार है.

उसकी हरकतें मुझे आभास करा रही थीं कि उसे मज़ा आ रहा है।एक पुरुष को क्या चाहिये? यही कि बिस्तर पर वो अपने साथी को मज़ा दे. जैसे कि आपको शीर्षक से ही पता चल गया होगा और आपने अंदाजा भी लगा लिया होगा कि इस फ़ोरसम सेक्स से मेरे लंड की क्या हालत हुई होगी.

बीएफ पुरानी वाली कुछ ही देर में उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया लेकिन मैं झटके पर झटके लगाए जा रहा था. मेरी चूचियों को ब्रा से बाहर निकाल कर उसने चूचों को अच्छे से मसला और पी पीकर मेरी चूचियों लाल कर दिया था.

बीएफ पुरानी वाली इस आसन में उसके उछलते हुए स्तनों को देखने का आनन्द मैं आज भी कई बार याद करता हूँ. मेरे अन्दर आते ही उन्होंने दरवाजा बंद किया और कंडोम का पैकेट दिखा कर कहा- ये क्या है मादरचोद? क्या समझ रखा है मुझे?मैंने सरू भाभी के मुँह से कभी गाली नहीं सुनी थी … तो सकपका गया.

स्मृति कभी अपनी जीभ को लंड के अगले हिस्से पर घुमाती तो कभी नीचे गोलियों पर।फिर स्मृति ने मेरे लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगी।स्मृति बड़े मज़े से मेरे लंड को चूस रही थी.

शादीशुदा वाला सेक्सी बीएफ

वो मुझे एक किनारे ले गया और जब मैंने उसके सामने अपना बुरका उतारा, तो वो तो मुझे देखता ही रह गया. समीर- आओ आओ इतनी देर कहां लगा दी थी?ज्योति- हम दोनों फ्रेश हो रही थीं. मगर ऐसे आपका नाम लेना क्या सबको अजीब सा नहीं लगेगा!वो बोली- ठीक है, पर अकेले में तुम मुझे मेरे नाम से ही बुलाया करो.

उस वक़्त रिश्ते के हिसाब से मुझे वो सब रोकना था, लेकिन मैंने अपनी बेटी की खुशी के लिए वो सब देख कर भी अपना मुँह फेर लिया. चाची बोली- तुम तो किसी नए नए जवान हुए साँड की तरह बे-सब्रे होकर मेरे पीछे पीछे चल रहे हो. जींस के मोटे कपड़े की वजह से लंड को पूरी तरह से मुट्ठी में भर पाना आसान नहीं था.

फिर हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे और लम्बी लम्बी सांसें लेते हुए अपनी आंखें मूंद लीं.

मैं इससे और भी ज़्यादा तड़प उठी और मैंने उसका कड़क लंड उसकी पैंट के ऊपर से ही पकड़ लिया. ऐसा लग रहा था कि मेरी पूरी उंगली किसी गर्म सब्जी की तरी में चल रही हो. मैं उसे बोलना चाहती थी कि ‘मुझे चोदा जोर से’ लेकिन मैंने उसको बोला- ठीक है.

मोहन नीरू के बगल में लेटकर जोर जोर से सांस लेने लगा और नीरू को सॉरी बोल कर सो गया. पेशाब के साथ उसका सफेद माल भी बाहर आ रहा था।मैंने भी पेशाब कर के लंड को धो लिया।प्राची और मैंने नीचे कुछ नहीं पहन रखा था, हम दोनों ने वैसे ही खाना खाया।हम लोग आराम से खाना खाते हुए बात कर रहे थे. भाभी भैया के साथ फोन सेक्स कर रही थीं और अपनी चूचियों को सहला रही थीं.

पर मैं ये नहीं समझ पाया था कि सैम को मेरी मां पसंद आ गयी थी या मेरी मां को सैम पसंद आ गया था. तभी बाजू वाले कमरे से उसकी सहेली की आवाज आई- शोर कम करो … बाजू में और लोग भी रहते हैं.

मैंने उससे कहा- तुम अन्दर जाओ और रूम नम्बर 112 की चाभी लेकर कमरे में जाओ, मैं आता हूं. मसाज करते करते मैंने देखा कि उसकी चूत के बिल्कुल पास में एक छोटा सा काला तिल है. ’सोनम के मुँह से निकलता थूक अब मानस के गोटे और उसकी जांघों को भिगो रहा था, पर उन दोनों को किसी बात की फ़िक्र जैसे थी ही नहीं.

लेकिन क्या बताऊं दोस्तो, मैं जब भी उनके पास रहता … मेरा ध्यान उनके मस्त मम्मों और गांड पर ही लगा रहता था.

जिससे मैं तुम्हें जी भर कर किस कर सकूं और उन सुनहरे पलों को अपनी यादों में समेट कर अगली मुलाकात तक हिफाजत से रख सकूं. चिराग- आआआह जान … ऐसा जुल्म मत करो … इस बेचारे पर अंडरवियर के साथ पैंट भी गीली हो जाएगी. अब इतनी खूबसूरत भाभी को मना करने का तो चांस ही नहीं था और भाभी ने मुझे यार कह कर मेरा लंड खड़ा कर दिया था.

जीन्स और टॉप पहने हुए इतनी मस्त लग रही थी मानो अभी हां बोले, तो साली को अभी लेटा कर चोद दूं. हालाँकि सेक्स में रोमांच शेखर को बहुत उत्तेजित करता था लेकिन जब से उसने ललित और धारा की करतूतों के बारे में सुना था तब से उसकी उत्तेजना कहीं ज़्यादा बढ़ गयी थी.

मैंने उससे झट से बोल दिया- यार, यही सब बार बार करने में मज़ा नहीं आ रहा है. अब वो रोज जब सेंटर आती तो अपने और मेरे लिए कुछ न कुछ खाने पीने के लिए ले आती।मेरे मन में आशारा के लिए आकर्षण बढ़ता ही जा रहा था. धीरे धीरे निखिल के लंड की चाहत को भी मीरा समझ गयी थी क्योंकि जब भी वो ऐसी कोई हरकत करती तो निखिल का लंड फूल कर उसकी इस क्रिया का अभिवादन करने लगता था.

बिहार के बीएफ सेक्स वीडियो

कहीं शहजाद उसको बहला फुसला कर उसके साथ कुछ उल्टा सीधा न कर दे, जिससे मेरी बेटी की जिंदगी और हमारे घर की इज्जत मिट्टी में मिल जाए.

तब तक ज्योति ने शॉवर लेकर बाथरोब वापस पहन लिया और दोनों रूम की तरफ चल दीं. शाम को हम जब अलग हुए तो वो चार बार चुद कर न जाने कितनी बार झड़ चुकी थीं. मूतने के बाद मैंने राहत की सांस ली और उठ कर अपनी सलवार बांधकर बाहर आ गई.

अगर मुझसे आपको मज़ा आया तो क्या हम दोनों फिर मिल सकते हैं?आंटी ने कहा- पहले मुझे खुश कर, ये तेरे पास एक ही मौका है. आपका प्रकाश[emailprotected]X गर्लफ्रेंड सेक्स स्टोरी का अगला भाग:दो गर्लफ्रेंडज़ के साथ उनकी सहेली भी चुदी- 2. हॉट बीपी सेक्सी फिल्मअब धारा के शरीर के ऊपरी भाग पर बस वो बिना बाजू का ब्लाउज़ ही था।अब शेखर ने अपनी दोनों हथेलियों को आगे ले जा कर धारा की दोनों चूचियों को क़ैद कर लिया.

ये शर्ट वाकयी इतनी चुस्त थी कि उसके बटन के बीच में से मेरे सीने के पास से खुल सा गया था. मैं अपना बुल्ला हाथ में लेकर मां की चूत का छेद खोजने लगा लेकिन मुझे चुत का छेद नहीं मिल रहा था.

अब मेरी चूत को लंड की जरूरत थी तो मैंने विशाल को कहा- जल्दी से मेरी चूत की चुदाई शुरू करो!उसने मुझे घोड़ी बनाकर पीछे से मेरी चूत में लंड डाल दिया और धीरे धीरे मेरी चुदाई शुरू कर दी. तो मैंने क्या किया?नमस्कार मित्रो, मेरा नाम चन्दर है और मैं जयपुर की एक बड़ी कंपनी में हेड मार्केटिंग मैनेजर हूँ. उसकी रेशमी झांटों से मुझे कोई दिक्कत नहीं थी तो मैंने उसकी जांघों से किस करते हुए चुत के चारों तरफ किस करना शुरू कर दिया.

कुछ देर की चूमा-चाटी के बाद मुझे उठाया और मेरी शर्ट निकालकर फेंक दी! अब नीचे हुयी और मेरी पेंट के उभार को चूमकर फिर छिटक गयी और मेरी स्टडी टेबल पर जा बैठी. अदिति किले के अन्दर घूमते हुए बोली- यार दी … राजे महाराजे के जलवे ही अलग हुआ करते थे. मैंने स्मृति से खाने का पूछा कि क्या खाओगी तो उसने बोला कि कुछ भी खा लेगी।बाई सुबह ही आलू के पराँठें बना कर गई हुई थी और दही मैं रात को लेकर ही आ गया था।मैं अंदर रसोई में गया और 2 प्लेट में नाश्ता लगाकर आया। साथ में 10-12 स्ट्राबेरी भी एक प्लेट में लेकर आया.

मैंने उसके दर्द को अनदेखा करते हुए अपने लिंग को योनि की जड़ तक पूर्ण प्रवेश करवा दिया.

मैंने कहा- भाभी अभी तो मैं जब आपकी चूत चाटूँगा, तब आपको असली मज़ा आएगा. जिस घर में हम रहते थे, वो हमारे दादा का था … मतलब उसमें चाचा लोगों का भी हिस्सा था.

तो उर्वशी बोली- यार थोड़ा आराम से करो ना … मैंने कभी इतने बड़े लंड से सेक्स नहीं किया है. भाभी मुझसे दूर हटने की कोशिश कर रही थीं और साथ ही कामुक सिसकारियां भी ले रही थीं. रास्ते में मुझे एक सेक्सी भाभी जाती हुई दिखीं तो मैंने उनके पास बाइक रोक ली और ऐसे ही किसी कॉलेज का एड्रेस पूछने लगा.

मैंने भी मौका देख कर अपने गीले बालों को इस तरह झटका देते हुए घुमाया कि उसके चेहरे पर मेरे गीले बाल लग गए. मेरे बाद शहज़ाद भी नहा कर तैयार हो गया और हम दोनों वहां से निकल कर बस से अपने घर चले आए. साथ ही वो बार बार मेरा नाम ले रही थीं- आह भानु भानु … आह आह चोद दे अपनी मां को … आह बना दे मेरी चूत का भोसड़ा … आह और तेज और तेज चोद … आह आह!मां इस तरह की आवाजें कर रही थीं, तो मेरा भेजा सनक गया था.

बीएफ पुरानी वाली उसको देख कर वो बोला- हाय अब लग रहा न कि नई नवेली दुल्हन सुहागरात में पति से गांड मरवा कर बाथरूम जा रही हैं. तुम्हारे पापा तुम्हारी माँ के साथ आज तक ठीक तरह से सेक्स नहीं कर पाए.

सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ

सुनसान रास्ते में उसने मुझसे बात शुरू की; कुछ अपने बारे में बताया और मेरे बारे में भी पूछा. अब मैंने फिर से एक बार उनके होंठों में होंठ लगाकर किस करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने इसमें मेरा साथ नहीं दिया. हम दोनों का बिस्तर एक कमरे में ज़मीन में लगा था और एक अकेला बिस्तर मसहरी के परली तरफ भी लगा हुआ था.

मैं उसके पीछे गयी तो वो एक तबेले से होते हुए एक छोटी सी झोपड़ी के बाहर रुक गया. थोड़ी देर बाद शीना सामने रखे चिकन को लेने झुकी तो मेरी नज़र उसके क्लीवज पर पड़ी. हिंदी सेक्सी ब्लू सेक्सी वीडियोजब बुढ़िया सेक्स का भूत खत्म हुआ तो मैंने देखा खिड़की पर लकी खड़ा है.

कुछ देर यूँ ही बातें करने के बाद गगन उससे बाद में आने की कह कर चला गया.

थोड़ी ही देर में वो तड़प गयी और मेरे सिर को जांघों में दबाकर झड़ गयी. उस दिन मैं वहां से आने के बाद सीधे अपने उसी चोदूमल टेलर के यहां कपड़ा लेकर गयी.

चाय पीते पीते मेरे दिमाग में एक आइडिया आया और मैंने थोड़ी सी चाय अपनी पैन्ट पर गिरा दी और ऐसे एक्टिंग की, जैसे मेरी जांघ के पास से जल गया हो. धारा बस ठंडी-ठंडी आहें भरे जा रही थी और शेखर के मर्दन का मज़ा ले रही थी. फिर वो वासना से बोली- यार, तुम मुझे पहले क्यों नहीं मिले, मैं कब से इस तरह के लंड से सेक्स करना चाह रही थी.

दूसरे दिन कुछ रस्में होना शेष थीं और हम दोनों अकेले में मिलने को तरस रहे थे.

वो अपनी बहन की चुदाई में इतना खो गया था कि हमारी तरफ मुड़कर भी नहीं देख रहा था. किचन में जाने के लिए उनके बेडरूम के सामने से जाना पड़ता है, जो उनके बेडरूम के बाद बगल में है. रुचि चुत खोल कर लेट गयी और साथ ही चंचल और ऋतु अपने में मगन हो गयी अर्थात वो दोनों एक दूसरे के मम्मों को दबा रही थी, तो कभी चुत में उंगली डाल रही थी … तो कभी एक दूसरे को चाट रही थी.

ट्विंकल वैष्णव की सेक्सी वीडियोऋतु के कमरे पर आया तो देखा वहां उसका एक बेड ही बिछा था, जिस पर चंचल और रुचि एक दूसरे के मम्मों को दबा रही थीं और एक दूसरे के मुँह में उंगली डाल रही थीं. मेरी भाभी ने भी उन्हें मुस्कुरा कर देखा और आंख दबा कर उनका शुक्रिया अदा किया.

बीएफ सेक्सी एचडी सनी लियोन

वे मुझे अपने सेक्स के बारे बताती हैं तो मेरी पेंटी गीली हो जाती है. अपनी बात खत्म करके वो फिर से मेरे होंठ चूसते हुए नीचे की तरफ आने लगीं और मेरे गले को चूमते काटते हुए मेरे निप्पल पर जीभ घुमाने लगीं. उन मर्दों की चौड़ी छाती, फड़कते बाजु और पैंट के पास का फूला हुआ हिस्सा मुझे बेहद गर्म कर देते थे.

चपरासी ने बिना कुछ बोले सोनम के गुलाबी होंठों पर अपने होंठ चिपका दिए और दूसरे ही पल दोनों किसी हवस भरे इंसानों की तरह एक दूसरे के होंठ पीने लगे. वो जैसे ही अन्दर आई मैंने अपनी गोद में प्रभा को उठा लिया और उसे अपने कमरे में ले गया. इससे भाभी की रोने और चीखने आवाज़ इतनी तेज आने लगी कि मेरे तो कान भी फटने वाले हो गए थे.

अब आगे हसबेंड वाइफ़ सेक्स कहानी:रात को 10 बजे के करीब रोहन का मैसेज आया कि मैं आपको चुपके से वीडियो कॉल पर ले लूंगा लेकिन आप कुछ आवाज मत करना. वो एक निप्पल को चूस रहा था और दूसरे निप्पल को जोर से दबा देता, जिससे मुझे मीठे दर्द का अहसास हो रहा था. शायद आज ये हरामी काफी दिनों बाद किसी को चोद रहा था इसलिए उसका जोश देखते ही बन रहा था.

छेद इतना तंग और छोटा था कि टाँगें फैलाने के बाद भी रास्ता दिखाई नहीं दे रहा था. लंड चूत में घुसा तो उसकी एक मीठी सी आह निकली और अगले ही पल पर जोर जोर से धक्के देने लगी.

रात भर चली शादी में हम तीनों ने खूब मजा किया और फिर उसके एक दिन बाद अनामिका आखिरी बार समीर से अकेले में चुदी और चली गयी.

पिछली कहानीमौसी की जेठानी की प्यास बुझाईमें आपने पढ़ा कि मैं मौसी और उनकी जेठानी के साथ सेक्स के इस खेल में कुछ नया करने की सोचता रहा जिससे दोनों एक दूसरी के सामने हमेशा के लिए सहज हो जायें. टाइट चूत की सेक्सी वीडियोउनके अन्दर आते ही मैंने भाभी से चाय लेकर साइड में रखी और उन्हें चूमने लगा. सेक्सी वीडियो सांचौरफिर मेरी बेटी ने किसी अश्लील फ़िल्म की रंडी की तरह शहज़ाद का पूरा का पूरा लंड अपने मुँह में घुसा लिया. मुझे चुदाई का इतना अनुभव कैसे हुआ, यह जानने के लिए हम लोग सेक्स कहानी की तरफ चलते हैं.

उसके घर में केवल उसकी मां ही थीं … तो मैंने उनको बता दिया कि इसकी तबियत थोड़ी खराब हो गई है, आराम करेगी, तो ठीक हो जाएगी.

मैं और तेज़ी से अन्दर-बाहर करने लगा उसकी चूचियां को जोर जोर से दबाने लगा. जब चोदने की ताकत नहीं हैं तो क्यों रूपाली को परेशान करता है उसे तेरे लंड से पूर्ण संतुष्टि नहीं मिलेगी!नीतू ने मुझसे फिर से चुदाई चालू करने को कहा तो मैंने उसे फर्श पर लिटा दिया और उसकी चूत में मशीन जैसे लंड अंदर बाहर करने करने लगा।थोड़ी देर में नीतू की चूत में दर्द होने लगा और नीतू ने दर्द से बिलखते हुए कहा- थोड़ी धीरे करो राहुल … दर्द हो रहा है. दरअसल मैंने उसे कामोत्तेजक क्रीम दी थी जिसे चूत के अन्दर लगाने से औरत चुदासी हो जाती है.

फिर उसने धीरे धीरे मेरे बदन को चूमते हुए अपना मुंह मेरी चूत में लगा दिया और वो मेरी चूत को चाटने लगा. एक ऐसी कमसिन और कुंवारी लौंडिया, जिसके मदमाते हुस्न पर सब दिल आ जाए. उन्होंने कहा- ठीक है … मगर ज़रा आहिस्ता से करो और तुम सिर्फ मेरे कपड़े ही उतारोगे और कुछ नहीं करोगे.

देवरिया के बीएफ

प्रभा- अच्छा … पहले दोस्त बनाया … अब प्रेमिका बनाना चाहते हो!मैं- हां प्रभा, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ. दोस्त की बीवी की चूत मिली फ्री सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने दोस्त की बहन को चोद चुका था और उसकी बीवी को चोदना चाहता था. और जब भी मैं उनका लंड चाटती हूं तो वे जल्दी झड़ जाते हैं।जेठ जी बोले- तू चिंता मत कर मादरचोद कुतिया, मैं जल्दी नहीं झडूंगा, तू तो जी भरकर लंड चाटती रह!मैंने लंड को चाटना शुरू कर दिया। फिर मैं लंड को मुँह में लेने लगी।लंड काफी मोटा था.

पूरे रास्ते हर दस मिनट पर फरियाल के कॉल पर कॉल आने लगे कि कहां तक पहुंचे.

लेकिन इस बार मेरे लंड ने धोखा दे दिया और मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

मैं हंसते हुए बोला- चलो ठीक है, नहीं डालूंगा … लेकिन चुत तो चोदने दो. पहले पहल तो मुझे गुदगुदी हुई … फिर मजा आने लगा तो मैंने अपनी गांड के छेद को ढीला छोड़ दिया. सेक्सी वीडियो हिंदी एचडी 2021उसने मेरा नाप लेने के लिए मेरे ऊपरी शरीर को छुआ, तो पता नहीं कैसे … मैं उसके छूने भर से गीली हो गयी.

उसका मोटा लंड जैसे ही ही मेरी गांड के छेद में घुसा तो मेरी एक कराह निकल गई. उसने भी अपने दोनों हाथों को मेरी कमर पर रख लिए और हम दोनों किसी प्रेमी की तरह लेट गए थे. शन्नो बिल्कुल रंडी बन चुकी थी और उसी भाषा में बोल रही थी- आह चोद साले चोद अपने दोस्त की अम्मी की चूत गांड को जमकर चोद!एक औरत लंड की इतनी दीवानी है, ये देखकर मेरा जोश और बढ़ गया और मैंने तेज़ तेज़ झटके लगाने शुरू कर दिए.

जब मैंने धक्का दिया तो एक झटके में ही मेरा पूरा का पूरा लंड भाभी की चूत में चला गया. मुझसे चाची बोली- राज, तुमने खाना कम खाना है और खजूर वाला उबला हुआ दूध ज्यादा पीना है.

एक दिन जब मामा मेरे होंठ चूसते हुए मेरी चूचियां मसल रहे थे, तब मां ने देख लिया था.

फिर मैंने जीभ को नुकीला करके चूत के अन्दर जहां तक जीभ जा सकी, चोदना शुरू कर दिया. तुम्हें अपना न समझती तो क्या तुम्हारे सामने अपना दुखड़ा रोती!ये कह कर भाभी मेरे सीने से लग कर हिचकी भरने लगीं. नेहा ने मेरे लिंग को पकड़ कर अपनी चूत के द्वार पर रख अपनी कामुकता का परिचय दे दिया था.

सेक्सी वीडियो w.com अब चूंकि उनकी उम्र मुझसे ज़्यादा है, तो उनका लंड ज्यादा लम्बी देर तक नहीं टिकता है. तभी भाभी ने अपना बदन अकड़ाना शुरू कर दिया और वो मुझे जकड़ती हुई झड़ गईं.

खैर, निखिल रीमा से बोला कि पहले मैं तुम्हें बिना कपड़ों के देखना चाहता हूँ. ”मैं विशाल के लिए नहीं … अपने लिए बात कर रहा हूँ, दरअसल मेरी हिन्दी बहुत कमजोर है. मैंने उनको अपना एड्रेस बता दिया और उनसे बोला कि कुछ खाने के लिए भी लेकर आना.

जबरदस्ती चूत मारने वाली बीएफ

एक दिन तो वो अपनी क़ातिलाना नजरों से आंख मारती हुई बोली- यार, कभी मेरी भी वैक्सिंग कर दो न … हमने कौन सा तुम्हारा कुछ बिगाड़ा है. वो सिसकारियां भरने लगी और अपनी गांड आगे पीछे करने लगी।तभी रोमिल आ गया और हंसने लगा, बोला- तुम दोनों नहीं सुधरोगे. भाभी की बात पर मैंने भी अपनी धुन में जवाब दे दिया कि हां मैं भी भूखा हूँ और मुझे भी दूध पीना है.

तभी मेरी नज़र दरवाजे की तरफ गयी क्योंकि दरवाजा हिलता हुआ सा प्रतीत हुआ. उनके चेहरे पर एक सुकून था जो उनकी खूबसूरती में चार चांद लगा रहा था.

उसके लन्ड पर सीधा मेरा हाथ पड़ा तो वो एकदम पीछे हो गया और अपना एक पैर दूसरे पैर पर रख कर किसी तरह उसने मुझे ऑटो में घुसाया.

दरवाजे पर दस्तक करते हुए मैंने कहा- ये सब क्या चल रहा है?इस पर चंचल मेरे पास आई और मेरे लंड को पैंट के ऊपर से दबाते हुए मेरे होंठ से अपने होंठ को मिला कर किस करने लगी. अपना घर, दो दो गाड़ियां, घर में हर सुख सुविधा का सामान! और मैंने तो हमेशा यही महसूस किया कि पापा मम्मी को बहुत प्यार करते हैं. क्यों न भरतीं, उनकी मस्त चुदाई जो हो रही थी … वो भी अपने सगे बेटे के मजबूत लंड से.

वो सेक्सी मूवी देखने से गर्म तो पहले से थी … मेरे गले लगाने से और गर्म हो गई. कविता की चूत के लब खोलकर मैं उस पर अपने लण्ड का सुपारा रगड़ने लगा जिससे चूत पानी छोड़ने और लण्ड टनटना गया. कभी वो अपनी उंगलियों से आगे की तरफ़ टटोलता तो कभी पीछे ले जाकर पीठ की तरफ़ बटन ढूँढता.

मैंने झट से उसे सीधा किया और उसकी चूत की फांकों पर अपना लंड रगड़ने लगा.

बीएफ पुरानी वाली: गगन के सामने प्रिया ने इस नियम की याद दिलाई और उससे कहा कि मुझे भी यही सजा चाहिए थी कि मैं नगर के हर आदमी के सामने अपनी चुत खोलूं और उससे चुदवाऊं. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे ललित ने आप दोनों की सेक्स लाइफ़ के बारे में जो भी बातें बतायी हैं वो सिर्फ़ और सिर्फ़ ललित की ख़्वाहिशों का नतीजा हैं और शायद आपकी उसमें कोई सहमति नहीं होती होगी। मुझे लगा कि आप केवल ललित की वजह से ऐसा करती होंगी.

मैं ऋतु के मम्मों को दबा रहा था, वो नीचे से रुचि की चुत में उंगली डाल रही थी और चंचल तो चुद ही रही थी. मैं मां को देखते हुए बोला कि करूं!मां ने जोरों से सांस लेते हुए हां का इशारा कर दिया. फिर रात को खाना खाने के बाद मां ने मेरा और खुद का बिस्तर हॉल में ही लगा लिया.

रिज़वाना चुदास भरी आवाज में कह रही थी कि आह सुनील … इन्हें खा जाओ … आह जोर से खा लो.

मुझे अहसास हुआ कि मैं जितना ज्यादा चूत चूस कर सुख पहुंचाता हूँ, आशारा भी लंड को उसी तेजी से चूस कर मेरा जवाब देती है. मैंने ये सुनते ही उसकी आंखों में देखा, तो उसकी आंखों में उदासी और वासना एक साथ थी. शाम को मेरे व्हाट्सएप पर शीना का मैसेज आया जिसमें उसने कॉल करने को लिखा था.