ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म

छवि स्रोत,एक्स बीएफ एक्स बीएफ एक्स बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मस्त मस्त वॉलपेपर: ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म, हम दोनों को यह भी ध्यान नहीं रहा कि हम सीढ़ियों में खड़े होकर यह सब कर रहे हैं.

बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी देहाती

उसकी कोई आपत्ति न पाकर मुझे हिम्मत आ गई और मैंने उसे अपनी तरफ घुमा लिया. बीएफ सेक्स बीएफ मूवीअगर आप सेक्स के बाद उस से प्यार से ट्रीट करते हैं, उसे अपनी बांहों में सुलाते हैं, तो अगर उसका डिस्चार्ज नहीं भी हुआ है, तो भी वो संतुष्टि महसूस करती है और अपने पार्टनर के लिए सब कुछ करने के लिए तैयार रहती है.

वे बोले- चल अब मैं तुम्हें पकड़ने आ रहा हूँ, तू जल्दी से भाग कर बचना. ब्लू बीएफ सेक्सी सेक्सीपर मामा धन्यवाद, आप अगर नहीं होते … तो मैं बहुत परेशान हो जाती।फिर हम दोनों होटल में जाकर डिनर किया और घर के लिए वापस निकले। तब तक रात के करीब 12.

अभी तक मैंने कल्पना का चेहरा देखा नहीं था, तो मैं इस समय उनकी उम्र बताने की अवस्था में नहीं था.ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म: उसने मेरे निप्पलों की भी किस करना चालू कर दिया और बारी बारी से वो मेरे दोनों निप्पलों को दांतों से काटने में लग गई.

!‘अरे क्या कह रही है, इसमें भगवान बीच में कैसे आ गए?’‘मेरा मतलब है कि भगवान जी ने मुझे चूत दी होती, तो तुम लोगों को बारी नहीं लगानी पड़ती.तुम भी मजे लो, एक बार कोशिश तो करो, इसकी गांड मारने में बहुत मजा आएगा झा जी.

बीएफ पिक्चर चोदने वाली सेक्सी - ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म

राज अंकल ने सीट पर चढ़कर मेरे कूल्हों को फैलाकर मेरी गांड के छेंद में जीभ डाल दी और चाटने लगे.मैंने बोला- क्या जादू करता है ये … बोलो ना?भैया बोले- सच में जानना है, तो एक काम करो, इसे अपने हाथ में लेकर मसलो और इसका जादू देखो.

मेरी कल्पना से आप ज्यादा सुन्दर और मोटे तगड़े हो, नाइस टू मीट यू सर. ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म ”फिर मैंने कौशल्या को एक जबदस्त गुड बाय चुम्मा दिया और कपड़े पहन कर अपने घर चल गया.

रात को दीदी की बातों के बारे में मैंने शिखा से बात की तो पता चला कि भैया जयपुर की किसी फैक्ट्री में काम करते हैं.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म?

बुआ मेरा लंड चूसने लगी, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था क्योंकि पहली बार किसी औरत के नाज़ुक होंठ मेरे लंड को चूम रहे थे, चूस रहे थे. मैं- फिर खाना मिला कर कितना किराया बैठेगा?भाभी- बड़े चूतिया हो यार तुम भी … जब देखो पैसा पैसा हुहंह. फिर मैंने सोचा कि लेकिन वे दो-तीन लोग निहाल से एक साथ बहस कर रहे थे.

मैं- अरे यार ट्रेनिंग पे थक जाता हूँ, अब उठ गया हूँ तो खाना खाने बाहर जाऊंगा. मुझे उसका लंड इतना प्यारा लगता कि सारी उम्र में उसे ही चाटती रहूँ, चूसती रहूँ. दो मिनट बाद रिशु ने मिशिका की चूत पर लंड को रखा और एक धक्का दे दिया.

एकदम पतली लम्बी … गोरा रंग और कश्मीरी होने के कारण उसके लाल सुर्ख गाल थे. मैंने दरवाजा अंदर से बंद किया और अपने पूरे कपड़े खोलकर उसकी ब्रा और पैंटी से मूठ मारने लगा और थोड़े देर में अपना सारा लंड का माल उसकी पैंटी पर ही निकल दिया. मेरी इस हरकत पर उन्होंने कुछ नहीं कहा, तो मैंने उनको और भी टाईटली पकड़ लिया और उनकी गांड से चिपक गया.

” यह कह कर मैंने एक सिगरेट सुलगाई और लम्बा कश खींच कर सासू के दूध पर छोड़ दिया. तीन दिन बाद घर के सभी लोग शादी में जा रहे हैं, सिर्फ मैं और सास रहेंगे.

क्यों ज्यादातर मर्द मुझे इस तरह के कपड़े उपहार में देते हैं और क्यों इन परिधानों में मुझे देखना चाहते हैं.

पापा ने भइया को जोर से थप्पड़ मारा और कहा- तेरी बहन घर में चुद रही थी और तू बाहर बिस्किट खा रहा है, पागल बेशरम कहीं के.

दूसरे दिन शाम को सुजाता और अजय गेस्ट हाउस में रमेश से मिलने चले गए. एक दिन उसने बताया कि अब उसके पति मुझे बहुत प्यार करने लगे हैं, बिस्तर पे भी अब वो बहुत रोमांटिक होते हैं और मेरे साथ प्यार से ही सेक्स करते हैं. वह बोला- जैसे कि?मैंने कहा- आपकी चौड़ी और मजबूत छाती है जो आपकी शर्ट और कोट के अंदर से ही पता चल रही है.

उसने मेरे लंड को लगभग खींचते हुए अपनी चूत में घुसेड़ लिया और लगी धक्के लगाने. मैं आंटी के घर में अन्दर आ गया और उससे जोर से कहने लगा- तू आज मेरा पैसा वापस कर दे. इतने में जगत ने पूरा लंड मुँह में अन्दर डाल दिया और जल्दी जल्दी अन्दर बाहर रगड़ने लगे.

मैं ऑफ़िस गया, शाम को लौटकर आते वक्त कॉन्डोम के दो पैकेट साथ लाया, रूम पर आकर नहाया.

भाभी ने भी मुझसे पूछा कि काम कैसा चल रहा है और इधर-उधर की बातें हुई. धीरे धीरे मेरा हाथ उसकी 32 साइज़ की चूचियों की तरफ बढ़ने लगा और फिर से मैं उसके मम्मे दबाने में लग गया. मेरी जान, थोड़ा दर्द सह लो … फिर तो तुम्हारे मज़े ही मज़े होने हैं.

वो क्या है ना कि हम मिर्ज़ापुरयों को अपने टेलेंट पर पूरा भरोसा होता है. वो बोली- पगली, चल तुझे मैं यहीं इंज्वाय करवा दूंगी, पर आज नहीं शादी के बाद. वो खुद दूध पिलाने को मरी जा रही थी, उसने खुद अपने हाथ से अपनी दो उंगलियों के बीच निप्पल को पकड़ा और मेरे होंठों में फंसा दिया, ये सीन ठीक वैसा ही लग रहा था, जैसे कोई माँ अपने बच्चे को दूध पिलाते वक्त करती है.

मैं और मेरा बॉयफ्रेंड हम दोनों सेक्स करने के बाद एक दूसरे को देख कर मुस्कुरा रहे थे.

आसमान ने शोर करना बंद कर दिया और बारिश की तेज़ मधुर आवाज़ आने लगी थी. उसकी बुर से पानी निकलने लगा था और चेहरे पर पसीना आने लगा था, गले से घुटी-घुटी आह निकलने लगी थी.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म उसके बोबे बहुत ही प्यारे थे और उसके गुलाबी निप्पल पर जैसे मैं टूट पड़ा और चूस-चूस कर उसे चरम सीमा पर ले आया. जैसे लड़की मूवी में अपने बॉयफ्रेंड का लंड चूस रही थी, वैसे मैं भी उस जवान लड़के का लंड चूस रही थी.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म ऋतु ने फिर से अपनी मॉडलिंग पे ध्यान देना शुरू कर दिया था और जिम भी जाने लगी थी. एक दिन वह मुझसे बोला- एक लिप किस कर लूं?मैंने कहा- तुम्हें पूछने की कोई जरूरत नहीं है.

उसके मुँह से यह बात सुनते में शर्मा कर मुँह नीचे करके बैठ गया और वह मुस्कुरा रहा था.

मूवी सेक्सी चाहिए

4-5 धक्कों के बाद जब मेरा माल गिरने वाला था तो मैंने अपना लौड़ा उसके मुंह के पास ले जाकर उसके मुंह में झाड़ दिया। वो सारा माल पी गई।फिर हम थक कर वहीं लेट गए।कुछ देर बाद ही मैं उसके बूब्स को पी रहा था, वो मेरा लंड हाथ में लेकर सहला रही थी. मैंने इसी बीच एक ज़ोर का झटका मारा और पूरा लंड चूत में अंदर तक उतार दिया. आशीष अपने हाथ से मेरे पैंटी के ऊपर अपनी उंगली से जहां चुत का छेद था, उस जगह पर अपनी उंगली घुसाने लगा.

मैं बोली- मैं समझी नहीं?तो उनमें से एक जो करीब 40 साल का रहा होगा, वह बहुत हट्टा कट्टा भी दिख रहा था, वह बोला कि मैडम देखिए आप जहां बैठी थीं, वहां आपके नीचे से कुछ चिपचिपा सा निकला है, यहां नीचे फर्श में भी गिर रहा है. जब मैं बाथरूम में बैठ कर अपनी चूत के दाने को मसल कर सिसकारियां ले रही थी. मैंने उसे समझाया कई मर्द अपनी बीवी से प्यार तो करते हैं, पर वो एक्सप्रेस नहीं कर पाते.

सलोनी की तो दर्द भरी चीख निकल गई जिसके साथ मैं भी चीख पड़ा क्योंकी सलोनी ने मेरे लण्ड को दर्द में ज़ोर से दबा दिया था.

यह देख कर उन सबकी आंखों में चमक आ गई और सब ने अपने लंड बाहर निकाल लिए. आपके मेल मिल रहे हैं बड़ा अच्छा लग रहा है कि मेरी भावनाओं को आपने समझा. जैसे ही लंड अन्दर गया, उसने उम्म्ह… अहह… हय… याह… करते हुए एक लम्बी सांस ली और बोली- यस यस चोदो मुझे… आह दोनों मिल कर चोदो.

उसकी जीभ जब मेरी चूत को चाट रही थी तो मेरे पूरे बदन में सिरहन हो रही थी. मेरा हाल उल्टा है, मेरी भुआ(पंजाबी में बुआ को भुआ कहते हैं) ने लड़का तो बहुत अमीर ढूंढ कर दिया, पर वो तो मेरी जिस्म की आग ठंडी करने के बजाए मेरी क़ातिल जवानी की आग से पिघल जाता है. बहुत मोटे-मोटे होते होंगे न 34 इन्च के तो?वो बोली- हां, बड़े तो होते हैं।मैं देखना चाहता हूँ 34 इन्च के बूब्स को …” मैंने कहा।फ़िर पूनम मेरी ओर देखने लगी और मुस्कराने लगी और बोली- देख लो जो देखना चाहते हो।मामी ने नाइट सूट के उपर के तीन बटन खोल दिये और बूब्स के बीच की रेखा मुझे साफ़ साफ़ दिखाई देने लग गयी थी। मामी के बूब्स देखकर मेरे लंड में उछाल आना शुरू हो गया था.

मैं उसके बगल में आकर लेट गया और उसे तिरछा करके उसके एक निप्पल को अपने मुँह में ले कर चूसने लगा. मैंने उसके गीले लंड को पोंछा और खुद उठ कर बाथरूम चली आई, जहां फिर से मैंने अपनी सफाई की।वापस आई तो हर्ष मुझे यूँ ताक रहा था जैसे अपनी प्रेमिका को देख रहा हो। मैं उसके पास चिपक कर लेट गयी और उसके ठंडे पड़े लंड को सहलाने लगी.

ऐसे लोगों की बांहों में उनकी टांगों के नीचे होगी, तुझे ऐसे मस्त लोगों से मिलवाऊंगा कि तू कायल हो जाएगी उन मर्दों के लंड की … अभी सब मैं बहुत जल्दी में कर रहा हूं, नहीं तो तुझे चोदने से पहले एक बोतल दारू पीता, फिर तुझे हाथ लगाता. अन्तर्वासना पर ये मेरी पहली रियल सेक्स स्टोरी है, जो कि मेरे और मेरी भाभीजान के बीच की है. मैं तो था ही नशे की हालत में, थोड़ा उटपटांग बोल गया- पत्नी क्या … मैं तो अपनी सहकर्मी (देवी) को भी बहुत खुश रखता हूँ भाभी जी, कभी आप भी मौका दीजिये सेवा का.

अब तक आपने पढ़ा कि सारा की चुदाई के बाद मेरी छोटी बीवी जरीना गरमा गई थी और मैं उसको चोदने की तैयारी में था.

मैंने सोचा बाकी सारी चीजें तो पूछ ली लेकिन पता पूछना तो भूल ही गया. थोड़ी देर बाद ही उसके बॉस की गाड़ी ड्राइवर लेकर आया और उसने मेरी बीवी को चलने को कहा. दो मिनट के बाद ही वो अपनी स्कूटी लेकर आ गई, स्कूटी को रोक कर कहा- चलो, मेरे साथ!मैं उसके उसके पीछे-पीछे चलने लगा.

वो एक आज्ञाकारी मनुष्य की तरह सटाक से उठा कर घुटनों के बल खड़ा हो गया. थोड़ी देर बाद भाभी की वासना फिर भड़क गई और मुझे बोली- राज! ज़रा ज़ोर-ज़ोर से तेज़-तेज़ करो, बहुत ही मज़ा आ रहा है.

जब मैं मस्ती से अपने बॉयफ्रेंड के लंड पर कूद रही थी, तो मेरी चूचियां हवा में हिल रही थीं. मैं अब ज्यादा गर्म होने लगी और न जाने क्यों अपनी गांड पीछे उसकी तरफ अपने आप ही सटाने लगी. जब मैं उसके घर पहुँचा तो घर का दरवाज़ा खुला था, लेकिन फिर भी मैंने घन्टी बजायी.

मराठी सेक्सी मराठी बीपी

वो मेरे बराबर में लेट गयी और बोली- आमिर … मुझे ज़िंदगी में इतना मज़ा कभी नहीं आया … जितना आज आया है.

अंतर्वासना के सभी पाठकों के लिये मैं मेरे जीवन की सच्ची सेक्स कहानी यहां पर लिख रहा हूँ. ठरकी तो मैं भी शुरू से ही रहा हूँ इसलिए बस चूत के मिलने के इंतज़ार में रहता हूँ. दोस्तो, आपने तो मेरी पिछली हॉट चुदाई स्टोरीप्लेबॉय बनने के लिए चुत चुदाई का टेस्टपढ़ी थी, जिसमें प्लेबॉय बनने के लिए टेस्ट दिया.

मेरा स्टेमिना तो बहुत ज्यादा था लेकिन उसकी गंदी चुदाई करते-करते मैं भी काफी थकान महसूस करने लगा था. ”उसने हंसते हुए यह कह कर मेरा लंड पकड़ लिया और लंड सहलाते हुए कहा- तुम अपने हथियार को बाहर निकालो, मैं कब से इस लम्बू को छूने के लिए तरस रही हूँ. सेक्सी बीएफ औरत के साथदोस्तो, यह मेरी कहानी का पहला भाग है आगे मैं मेरी भाभी को विभिन्न आसनों में चोदने की पूरी कहानी बताऊंगा.

मैं भी खड़ा हुआ और दोनों को अपने लंड ले सामने घुटनों पर बिठाकर दोनों के मुँह पास में चिपका लिए. बस 5-6 मिनट बाद मैं भी उसकी चूत में झड़ गया और उठ कर अपने लंड को पानी डाल कर साफ़ किया.

मैंने मना कर दिया तो उन्होंने जबरदस्ती मुझे वो पैसे दे दिए और मुझे किस किया. अब मेरा उसके प्रति देखने का नज़रिया बदल गया और मैं उसको ठरकी वासनात्मक निगाहों से देखने लगा. मैं बोली- आह मर गई … बचाओ … मैं मर गई … आह मम्मी आ जाओ … मुझे इस राक्षस से बचा लो … आह बहुत दर्द हो रहा है … आह मम्मी … मम्मी हेल्प मी … बचा लो मम्मी, मैं मर जाऊंगी … बहुत दर्द हो रहा है.

तो मैं वहाँ पता लगाने गया और मैंने घण्टी बजाई तो अन्दर से एक 35-36 साल की शादीशुदा महिला ने दरवाजा खोला. बाद में राहुल ने पैंटी भी उतारी, अब संध्या पूरी की पूरी नंगी हो चुकी थी. मैंने अमित के अंडरवियर को खींचना चाहा किंतु इस बार भी कामयाबी नहीं मिली.

उसके मुँह से यह बात सुनते में शर्मा कर मुँह नीचे करके बैठ गया और वह मुस्कुरा रहा था.

मैंने भाभी को लेटाकर अपना लंड भाभी की चुत पर रखा और एक ज़ोर का धक्का लगा दिया. मैंने प्रीति को बोला- यह क्या कर रही हो? यह गलत है … इतनी हैवानियत मत करो, मेरे हाथ खोलो.

मगर वह मुस्करा रही थी; उन्होंने मेरे इरादे भी भांप लिए थे; भाभी ने कहा- आने दो तुम्हारे भाई को, तुम्हारी सारी हरकतें बताऊंगी उनको. मैंने अपना लंड उसकी गांड पर सैट किया, एक पल के लिए तो वो हिचकी और मुझे मना करने लगी. साड़ी के बाद ब्लाउज, फिर ब्रा और आखिर में पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया.

थोड़ी देर बाद मैं उठा और बाथरूम में अपने मुरझाए हुए लोले को साफ़ करने लगा. चुपचाप खाना खाकर मैंने आंटी को थैंक यू बोला और गुड नाइट कहकर बाहर निकल कर आ गया. मैं अभी 25 साल का हूँ और मेरी कद काठी बहुत मजबूत, बिल्कुल एक जिमनास्ट की बॉडी जैसी है.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म हम दोनों लोगों के जिस्म की गर्मी निकल चुकी थी और इस वक्त हम दोनों को एक दूसरे से चिपक कर चुम्मियां लेने में बड़ा मजा आ रहा था. उतने में उसने कहा- अभी जल्दी से कर लो, उसके बाद फिर कभी आराम से कर लेना.

सेक्सी पिक्चर 3g

जब हेमा भाभी चली गई तो लता भाभी बोली- राज! आज तो इसे पक्का शक हो गया है. जब से मैं अपने पति के दोस्त से चुदी थी, तब से मेरा बहुत ज्यादा मन किसी दूसरे आदमी से चुदवाने का करने लगा था. वाणी ने ऐसा ही किया और 2 मिनट में गीता फ़िर झड़ने को आ गयी और उसकी टांगें हिलने लगीं तो मैंने एकदम से लंड बाहर निकाल लिया और वाणी को बोला- चलो अब तुम्हारी बारी.

एक बार तो मेरा भी मन किया कि उसके होंठों पर अपने होंठ रख दूं मगर मैंने खुद पर काबू बनाए रखा और सोचा कि कहीं मैं कुछ गलत सोच कर कुछ गलत न कर बैठूं. एक एक करके मैंने भाभी के सारे कपड़े उतार कर भाभी को नंगी कर लिया और उन्होंने भी मुझे पूरा नंगा कर दिया. west indies vs हिंदी में बीएफ africaअपनी कुंवारी बीवी ज़रीना को इसी तरफ़ देखता देख, मैंने अपनी सारा की बुर में उंगली करना शुरू कर दिया और सारा जो अब काफ़ी हद तक गरम हो चुकी थी, वह चुदवाने को बेक़रार थी.

एक दिन उन्होंने मुझे सुबह कॉल किया कि आज बच्चे अपने डॅडी के साथ दादी के घर जा रहे हैं और वे रात में लौटेंगे.

मैंने नहीं में सिर हिलाया तो बोला कि अब मुझसे रहा नहीं जा रहा सोनू. मामी ने पूछा- माफी किसलिए माँग रहे हो?मैंने बताया- जब लाइट बन्द थी तो मैंने सोचा कि जल्दी से कपड़े बदल लूँ और मैंने दरवाज़ा बंद नहीं किया और अचानक से लाइट आ गयी.

दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी के इस सोलहवें भाग में देरी के लिए माफी दोस्तो. तेरी गांड मुझसे निराश होके गई, ये मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ और खुद को रोक ना सका. मैंने उसके होंठ अपने होंठ में भींच कर एक ज़ोर का धक्का मारा और नीरू बहन की चूत से एक बार फिर से खून आने लगा.

मैंने उसकी कमर को अपने दोनों हाथों से पकड़ रखा था और ‘दे दनादन …’ अपना लंड उसकी चूत में दिए जा रहा था.

मैं लखनऊ से हूँ लेकिन नोएडा में रहता हूँ। मेरी कहानीआंख मार कर की चुदाईऔरइस्मत की किस्मत से चुदाईको पसंद करने के लिए तथा मुझे मेल करने के लिए सभी दोस्तों का बहुत-बहुत धन्यवाद. आरती ने कहा सच सच बोलो तुम्हें कोई ऐतराज़ तो नहीं होगा ना की अगर में इस का लंड ले लूँ तो. जब पापा मेरी मम्मी की चूत चाट रहे थे तो मम्मी के मुंह से अजीब सी आवाजें आ रही थी और मम्मी अपना सिर इधर उधर मार रही थी.

राजस्थानी सेक्सी व्हिडिओ बीएफसाथ ही बॉस मेरी बीवी की चूत लगातार चोद रहा था और हर शॉट के साथ मेरी बीवी की दोनों मदमस्त चूचियां हिल रही थीं. किसी हद तक गुस्से में वह मेरे मम्मे मसलने लगा, निप्पल्स जोर-जोर से चूसने लगा और इस बार बिना किसी खास कोशिश के उसका लंड भी खुद से ही टाईट हो गया।इस बार वह मर्द बना और खुद पहल की.

जापानी सेक्सी वीडियो हिंदी में

वो बोली- कहां खो गए?मैं- आप में …ये मैंने कह तो दिया, लेकिन एक ही पल मुझे झटका लगा कि ये मैंने क्या किया. ”तुम्हारे जैसी खूबसूरत लड़की को ऐसे ही सड़क पर कैसे छोड़ कर जा सकता हूँ … या तो तुम बताओ कहाँ जाओगी या फिर मेरे साथ चलो … मुझे कोई परेशानी नहीं होगी. करीब 10 मिनट की चुदाई के बाद अब्दुल तो अपने लंड को पूरा एक साथ बाहर निकाल के अन्दर करता हुआ मजा ले रहा था.

थोड़ा बहुत उनके यहां जाना और मिलना जुलना भी था, पर वैसा और लड़कियों के साथ भी था. इंदु ने भी अपनी चुत और गांड को उसी कपड़े से साफ किया और अपना पेटीकोट साड़ी भी ठीक करके मुझे जोरदार चुम्बन दिया और बोली- अभी कितने दिन रहना है. शाम को करीब छह बजे मेरी आँख खुली, मैंने थोड़ा हाँथ-मुँह धोया और बाहर चाय पीने के लिए निकला.

एकता ने झट से डॉगी बन कर अपने अड़तीस साइज़ के गोल गोल हिप्स ऊपर उठा लिए और मुझे अपनी रस भरी चुत दिखा के आमंत्रण देने लगी. शंकर जी- सर आपने बोला था, किसी से मिलवाऊंगा … कहां है वो?मैं- आता ही होगा, लो वो आ गया. मैं अभी उसे बोल ही रही थी कि नामित यहां नहीं है लेकिन वो अपने लंड पर हाथ फेरता हुआ सोफे पर बैठ गया और मुझे घूरने लगा.

कुछ ही देर में मैं भी गर्म हो गयी थी और अपने पड़ोसी को किस करने लगी. मैं उसे देखकर सहम गई क्योंकि वह बहुत ही दिखने में हृष्ट पुष्ट था, जैसे पहलवान होते हैं.

मैंने भाभी से पूछा- क्या ये बात भैया को पता है?तो उन्होंने बताया कि भैया को अभी इस बारे में कुछ पता नहीं है.

ऐसे ही थोड़ी देर सहलाते हुए मैंने उसकी तरफ देखा तो वो मुस्कुरा रही थी. हिंदी बीएफ भेजो हिंदीउसने कोई विरोध नहीं किया।अब वो भी गर्म हो चुकी थी और मेरा साथ दे रही थी। मैं लगातार किस किये जा रहा था और एक हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था। फिर मैंने उसके बूब्स को छोड़ कर नीचे उसकी चूत में हाथ डालना चाहा हो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और फिर बोली- आज नहीं किसी और दिन. साड़ी वाली की बीएफलेकिन मैं आपको यह भी कहना चाहूँगी कि पिछली स्टोरी की तरह आप आपने अमूल्य ईमेल भेजें लेकिन किसी भी प्रकार से सैक्स की मांग न करें क्योंकि मैं अपने शादीशुदा जीवन में आग नहीं लगाना चाहती, ना ही रंडी बनना चाहती हूँ।तो अब पिछली कहानी के आगे की कहानी का मजा लें!मैं अपनी ननद प्रीति जैन के साथ रोज लेस्बियन सेक्स का मजा लेती थी. पटेल बोला- सच में यार … बहुत गर्म माल है … इसीलिए तो साली को जबरदस्ती उठाकर पकड़ा है कि एक बार इसकी चुत में हाथ लगेगा, तो खुद तैयार हो जाएगी.

उसकी चूत चाटते हुए जो कामरस बाहर निकल रहा था उसका स्वाद मेरे मुंह में आना शुरू हो गया था.

वो मेरी जीभ को पकड़ लेते तो काफी देर तक तो मेरी तो साँसें ही अटक जाती थीं। अब राहुल मेरे बोबों को मसलते हुए नीचे मेरे पेट को चूसने लगे और मेरी नाभि में अपनी जीभ डालने लगे. करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना वीर्य उनकी चूत के अन्दर छोड़ दिया और उनके ऊपर ही लेट गया. मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया था, इसलिए कमरे में बड़ी तेज आवाज ‘फच्च फच्च फक फक घप घप घचघच …’ गूँज रही थी.

फिर मैंने उसे घोड़ी बनाया और खुद घोड़ा बनकर पीछे से उसकी चुत में लंड घुसा दिया और जमकर चोदने लगा. लेकिन पिछली किस के कारण होठों में दर्द हो रहा था, पर मैं साहिल के लिए कुछ भी कर सकता था. हाय … मार दिया … मार दिया … इतना बड़ा लंड … इतना मोटा … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैंने पहली बार लिया है.

हिंदी में सेक्सी जानवरों की

धीरे से मैंने उसकी चूत के चिपके हुए लबों को एक उंगली और अन्गूठे की सहायता से खोला और दूसरे हाथ की एक उंगली मीशा की चूत में डाली. उसने मेरी कामोत्तजना इस प्रकार और अधिक बढ़ा दी क्योंकि अब उसका लिंग हर धक्के पर मेरी बच्चेदानी को चूम रही थी. लंड टच हुआ तो न जाने क्यों मेरे मुँह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज निकल गई.

थोड़ी देर बाद वो भी मजे लेने लगीं और बोलने लगीं- और जोर से चोद दो … ज़ोर से चोदो मेरे राजा.

वो आकर पलंग पर बैठ गई और पूछा- कैसा लगा सरप्राइज?मैंने सुषी का हाथ पकड़ कर कहा- इससे अच्छा सरप्राइज मुझे आज तक नहीं मिला.

मैंने अपना हाथ बढ़ाते हुए अपना परिचय दिया, उन्होंने भी हैलो बोला और फिर नार्मल बातें होने लगीं. सच में आज ये पटेल का दोस्त मेरी जिंदगी का पहला लड़का था, जिसने आज मेरे सीने को छुआ और उसे दबाया भी … वो भी बहुत जोर से. फुल एचडी बीएफ वीडियो मेंउसकी चुत टाइट होने से केवल थोड़ा ही लंड अन्दर गया और वो एकदम से चिल्ला उठी और बोली- उई माँ मर गई … बाहर निकालो इसे.

अब आगे:मैंने पूछा- क्यों तुम्हारा हस्बैंड तुम्हारे साथ सेक्स नहीं करता?वो बोली- करता है पर मुझे मज़ा नहीं आता. थोड़ी ही देर बाद उनकी चूत अच्छे से पनियां गयी और लंड सटासट अन्दर बाहर होने लगा. उसका उत्तर- अच्छा आवाज़ भी गांड फाड़ होती है क्या?मैं- अब अगर भाभी जवान माल हो तो क्या उसकी आवाज़ गांड फाड़ नहीं हो सकती … भला बताओ?वो- हा हा हा … हां क्यों नहीं हो सकती खैर तुम इस समय क्या कर रहे थे?मैं- सोया था मेरी जान … तूने कॉल करके उठा दिया.

दिन में कभी कभार हमारी थोड़ी बहुत बात हो जाती, पर ज्यादातर समय वो मुझसे दूर ही भागते. मेरा पति मेरा मुँह देख रहा था और जब उसको पता लगा कि आज किस चूत को उसने चोदना है तो वो उछल पड़ा.

जब नीचे जाते हुए उसके कूल्हे (पिछवाड़ा) मटक रहे थे, तो मेरा लंड एकदम कड़क हो गया था.

उसने अपना सारा वीर्य मेरी योनि के भीतर छोड़ दिया था, वो खलास हो गया था. कुतिया ने भी शायद कुत्ते की रजामंदी भांपनी चाही और पलट कर कुत्ते के लिंग को जुबान से चाटा. इसके साथ ही उसके शरीर ने झटके लेने शुरू किए, उसके पेट के नीचे और बुर के ऊपर का हिस्सा फूलने पिचकने लगा और फिर वो लम्बी- लम्बी सांसें लेते हुए पूरी तरह शांत हो गई.

हिंदुस्तानी लड़कियों की बीएफ मुझे मेरी योनि में उसका लिंग फिसलता हुआ बहुत मजा दे रहा था और मैं उत्तेजना की शिखर पर बढ़ती हुई आगे चली जा रही थी. इंदु बोलने लगी- जल्दी जल्दी कर लीजिये, अब कोई आ गया तो दिक्कत हो जाएगी.

मैंने देखा कि मिशिका के फोन में रिशु नाम के एक लड़के का मैसेज आया हुआ था. मैं सरक कर प्रीति के पास चला गया और उसने मेरे होंठों पर होंठ रख दिए. उसकी चूचियां मेरी छाती पर दब गईं, फिर मैंने भी सारिका को बांहों में लेते हुए पकड़ कर उसके चिकने गाल पर किस कर दिया.

सेक्सी वीडियो बिहारी वीडियो

”फिर मैंने कौशल्या को एक जबदस्त गुड बाय चुम्मा दिया और कपड़े पहन कर अपने घर चल गया. वह सोनम के दादा के उसी घर में जहां शादी चल रही थी, उसी घर के जस्ट बगल से उन्हीं की सार थी. अब आगे:वे दोनों अपने अनुभव का फायदा उठा कर मुझे तृप्त करने में लगी हुई थीं.

मैंने पंकज को अपनी तरफ खींच लिया जिससे उसका लंड मेरी चूत पर फिसलने लगा. कुछ पल बाद मैं उसे नीचे लिटा कर उसकी ब्रा उतार कर उसके चूचों को चूसने लगा.

जब हम दोनों की नजरें एक दूसरे से मिलीं, तो वो मुझे हवस भरी नजरों से देख रहा था.

इतने में गीता ने शैम्पू की बोतल खोली और हम दोनों के ऊपर बहुत सारा शैम्पू डाल दिया. मुझे लग रहा था कि भाभी जी आज स्पेशल तैयार हो कर मेरे कमरे में आई थीं. वो मेरी गांड में अपना लंड पेलते हुए मैक से कह रहा था कि इसकी चूत में जम के लंड पेलो.

कुछ देर बाद भाभी मेरे ऊपर से उतर कर मेरी साइड में लेट गई, मैंने भाभी की टांगों के ऊपर अपनी एक टांग रखी और उनकी गर्दन के नीचे से हाथ डालकर उनको अपनी साइड में लेकर सीने से चिपका लिया. उंगली करने के वजह से चुत पहले ही गीली हो चुकी थी, जिसका स्वाद अब मेरी जीभ पर लग रहा था. क्योंकि उस समय मैं बिल्कुल अकेली थी और मैं उस दिन को किसी भी हालात में खोना नहीं चाहती थी.

पापा ने पलंग के नीचे देखा, फिर पलंग को हाथों से उठा कर उल्टा कर दिया.

ब्लू फिल्म ब्लू बीएफ फिल्म: मैंने जोर लगाया, तो वो और जोर से सिसकने लगी ‘ओहहह हहह आआआ आहहहह आमिर जजज. यही बात राज भी बोल देगा, वह समझ तो जाएगी, पर तुम बोलने को तो उसे बोल ही सकती हो.

मैं मामी के काफी पास खड़ा था और मामी के बड़े-बड़े बूब्स को देखकर मेरा लण्ड खड़ा होने लगा था. अब मुझे ऐसा लगने लगा कि मैं थोड़ी ही देर में अपना सारा पानी उड़ेल दूंगी. कॉलेज में आते आते महीने में एक दो प्रपोजल तो मिल ही जाते रहे, पर मैंने कभी भी किसी का प्रपोजल एक्सेप्ट नहीं किया.

आह गुलगुली गांड दबा कर मज़ा आ रहा था और उसके एकदम रसीले होंठ चूस कर मुझे मस्ती छाने लगी थी.

मैं अपने कमरे में ऊपर की तरफ सीढ़ियों पर जा ही रहा था कि कोमल दीदी मुझसे इंटरव्यू के बारे में पूछने लगी. हम दोनों एक दूसरे से लिपट कर लुढ़क गए और कब नींद लगी कुछ होश ही नहीं था. मैंने कुछ गे सेक्स की वीडियो झा जी को भेज दिए और उनसे कहा- अभी बाथरूम में जाकर इन्हें देखो.