सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी देसी सेक्स बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

भोजपुरी वीडियो xxx: सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ, तुम सही कह रहे हो, पर इनकी बात ये है कि इन्होंने बताया कि अभी हथियार बाहर घूम रहा है … फिर खुद मेरा पकड़ कर अपनी में डाला.

सनी लियोन की चोदने वाली बीएफ

भाभी बोली- राज कुछ बात करो न!मैंने पूछा- भाभी, आपको मेरे साथ अच्छा लग रहा है न?भाभी बोली- इतना मजा तो मुझे अपनी सुहागरात को भी नहीं आया था. बीएफ चुदाई देसीपर चूंकि रवीना पढ़ने में बहुत मेहनती थी, तो सभी को उसकी आवश्यकता पड़ती.

मेरी कहानियों के फैन कुछ ख़ास कपल और पाठिकाएं मेरे साथ व्हाट्सएप पर जुड़े हुए हैं और मुझे बता देते हैं कि उनको कहानी कैसी लगी. सेक्सी बीएफ औरत कीउसने मेरी आंखों में देखकर कहा- दिन-रात चुदाई करोगे तो गगरी भी खाली हो ही जाएगी.

मैं अपनी गांड उठा उठा कर सर के लंड पर उचक उचक कर अपनी चुदाई करवाने लगी.सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ: तभी पायल पास आई और उसने मेरा हाथ पकड़ कर खींचते हुए एक ओर ले जाते हुए बोली- चलिए, वैभव जीजू कबसे आपका इंतजार कर रहे हैं.

खैर नाश्ता तो नहीं भी करने से चल जाता है, पर फ्रेश होना और नहाना तो जरूरी ही था, क्योंकि शरीर की थकावट भी दूर करनी थी और गर्मी भी चढ़ने लगी थी.वो एक बेड पर बैठी हुई थी और उसने अपने सीने को एक सफेद मलमल के कपड़े से कवर किया हुआ था.

बीएफ सेक्सी वीडियो बिहार के - सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ

कोमल- वैसे तो तुम दोनों अब एक दूसरे को जान गए हो … लेकिन फिर भी मैं तुम दोनों का परिचय करवा देती हूँ.सारे नीचे के बाल साफ करके तैयार हो गया।वो दिन आ ही गया जब उसके घर वाले चले गए और मैं उसकी चूत फाड़ने उसके घर पहुँच गया। वो भी पूरी तैयारी के साथ मेरा ही इंतजार कर रही थी। मैंने उसे गले से लगाया और फिर हम थोड़ी देर एक दूसरे को चूमते रहे।फिर जब मैं आगे बढ़ने लगा तो वो बोली- अब बाकी सब बाद में, पहले खाना खाते हैं.

पहले भी जब पिताजी काम से बाहर रहते हैं, तो मैं मां के साथ ही सोता था. सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ मेरे मुंह से गालियां सुनकर वो जोर से हँसी और मेरा साथ देते हुए बोली- और बुलाओ … मुझे ऐसे ही और बुलाओ … बहुत मजा आ रहा है.

नैना कॉफ़ी का कप रखते हुई बोली- रमित, निशा ने मुझे बहुत अच्छे से समझाया है कि प्यार को पाना ही प्यार नहीं है.

सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ?

मैं बोली- अब मेरी पैंटी को उतार कर अपनी मालकिन की गांड को भी चाट।उसने मेरी काली पैंटी को अपने दांतों से पकड़ कर एक ही बार में नीचे कर दिया. दो दो मर्दों की जीभ का स्पर्श अपने निप्पलों पर पाकर मैं तो मदहोश होने लगी. मेरी पिछली कहानी थी:सेक्सी कॉलेज गर्ल ने जूनियर को बनाया सेक्स गुलामजो लोग मुझे नहीं जानते हैं उनके लिए बता दूं कि मैं बाहर से देखने में बहुत शरीफ और सीधी दिखती हूं लेकिन अंदर से बहुत ही अलग हूं.

तब तक नैंसी भी अपना ड्रिंक निबटा कर आ जाती हैं और थोड़ा बहुत डिनर सबके साथ कर के बाहर का मेन गेट और जीनों के गेट लॉक करके वे अपने कमरे में घुस जाती हैं और फिर सुबह तक दिखाई नहीं देते. इस बार मेरी गांड मारते समय जब मैंने उन्हें गांड के छेद की जानकारी दी, तो वे झेंपे झेंपे से थे, साथ ही मेरे बहुत शुक्रगुजार थे. मां धीमी आवाज में मेरे कान में बोलीं- हर्षद मेरी चुत पूरी गीली हो गयी है.

सुंदर सा फर्श रंगीन, दीवारें, फैंसी लाइटें, महंगे स्टाइलिस नल शावर और गैजेटस के साथ साफ स्वच्छ बॉथटब. मैंने इस बात का भी हमेशा ख्याल रखा कि अब मेरी भतीजी नौजवान है और एक बच्चे की माँ भी है. जवान सौतेली मां की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी … आप मेरे मेल आईडी पर लिख सकते हैं.

यह सुनकर मैं मन ही मन बहुत खुश हुआ कि चलो निष्ठा के साथ तीन चार दिन और अकेले रहने को मिलेगा. 10-12 मिनट तक उसकी चूत को फाड़ने के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

बेबी रानी थोड़ी निराश तो थी मगर यह शर्त सबने मानी थी इसलिए कुछ बोली नहीं.

मगर काफी देर से मुझे समझ ही नहीं आ रहा है कि आप दोनों में किससे परेशानी को हल करवाया जाए.

झील के किनारे घूमने के बाद शाम को हम होटल वापस पहुँचे और जल्दी से खाना खाकर उसने अपनी बेटी को सुला दिया. शमा बड़े पशोपेश में थी कि क्या करे, क्या न करे!मगर शाही सर ने 200 का एक नोट अपने मुँह में पकड़ा और शमा की कमर पर बंधा उसका दुपट्टा खोलने लगे. वो हमेशा स्लीवलेस टॉप पहना करती थी जिसमें से उसकी सांवली कांख दिखाई दे जाती थी.

दो मिनट धीमी स्पीड से चोदने के बाद मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी और साथ में जिया की कामुक आवाजें भी बढ़ गईं. नैना कॉफ़ी का कप रखते हुई बोली- रमित, निशा ने मुझे बहुत अच्छे से समझाया है कि प्यार को पाना ही प्यार नहीं है. साथ ही भाभी जहाँ उल्टी लेटी थी वहां से बेड की चादर बड़ी जगह से गीली हो गई थी.

”किस बात का?”वो घर वालों को पता चल गया तो बापू तो मुझे जान से ही मार डालेगा.

भले ही तुम मुझे रंडी समझना या अपनी रखैल बनाकर रखना लेकिन बस मुझसे दूर मत जाना. जब मैं उसके रूम में दाखिल हुआ तो वो सामने झुक कर अपनी सफेद पैंटी उतार रही थी. उसी पल पायल की नजर बाहर देख कर प्रतिभा ने मौका अच्छा जानकर मेरी जंघा पर हाथ फेरना शुरू कर दिया.

प्रीति अपनी तारीफ सुन कर शर्मा गयी और उसने प्यार से मुझे किस कर दिया. जाते जाते जावेद एकदम से मुझसे बोला- तुम्हें मेरी लेने में देर बहुत लगी थी. वो एकदम से सिसकारी- आह्ह … नहीं पंकज … इतनी अंदर नहीं … आह्ह … नहीं, बाहर खींचो इसे … आह्ह बाहर खींचो.

मैं तो अभी भी बुरी तरह वासना के आग में जल रही थी … लेकिन इतनी मदहोश हो चुकी थी कि मेरे मुँह से कामुक सिसकारियों के अलावा कुछ और निकल ही नहीं रहा था.

फ्रेंड वाइफ सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपने दोस्त के कहने पर उसकी बीवी की चुदाई करता था. और बहुत तेज़ तेज़, बहुत जल्दी जल्दी एक बार फिर सेक्स किया लगातार झड़ने तक।फिर बस खुद को साफ किया और कपड़े पहने।सुनील ने सुनिश्चित किया कि रास्ता साफ है.

सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ कुछ देर लंड चुसवा कर कमल ने मुझे रमेश के ऊपर झुका कर उसकी छाती पर लिटा दिया. मेरी ब्रा मेरी चुचियों से एक झटके से सरक कर नीचे आ गयी और मेरे 32 इंच के बड़े बड़े मोटे चुचे उनके सामने उछल पड़े.

सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ थोड़ी देर बाद उसने खुद को अलग किया और अपना चूत देखने लगी। जहाँ अभी मेरा वीर्य लगा गया था उसके साथ खून भी था।वो चूत देखने के बाद मेरी ओर देखकर मुस्कुराने लगी और बाथरूम चली गयी. वो मेरे बूब्स चूसने लगा और दूसरे हाथ से निक्कर के ऊपर से मेरे चूतड़ मसलने लगा.

अब तक इस टीचर सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि मेरी चुदाई की इच्छा बलवती हो गई थी.

जोश चढ़ाने का तरीका

मैं भी शांत भाव से उसे देखता रहा, जैसे मैं उसे मौन स्वीकृति प्रदान कर रहा होऊं. वो बोला- कोई अगर कुछ दिखाना चाह रहा हो और सामने वाला उसको न देखे तो यह असभ्यता ही कहलायेगी. पर इस कमसिन बाला को इस प्रकार बेरहमी से नहीं चोदना मेरे जैसे शरीफ आदमी के लिए वाजिब नहीं था। मैं चुपचाप बिना कोई हरकत किए उसके ऊपर ऐसे ही बना रहा।पिछले 3-4 दिनों में मेरे मन में यह ख्याल भी जरूर आया था कि मैं कमसिन लड़की के साथ नाइंसाफी सी कर रहा हूँ। मेरे जैसे सभ्य परिवार में रहने वाले सामाजिक व्यक्ति के लिए यह सब उचित नहीं है.

तो कुल मिलकर एक सेक्स की मूरत।आप भी अब कल्पना कर के मुठ मार सकते हैं।उसके बाद मैंने केक को टेबल पर सजा दिया और मोमबत्ती लगा दी।उसने फूंक मारकर मोमबत्ती बुझाई. अभी इससे पहले जो चुदाई उन्होंने मेरी की थी वो बहुत ही दर्द देने वाली थी जिसको मैं बर्दाश्त नहीं कर पायी थी. और ग्लास में पानी लेकर उनके पास गई।पानी देते हुए मैंने देखा कि विक्रम की नजर मेरी साड़ी से दिख रहे मेरी गोरी कमर पर थी।मैंने ब्लाउज के अंदर टाइट ब्रा पहनी थी जिससे मेरे दूध तनकर उभरे हुए थे।मैं पानी देने के बाद रसोई में आ गई.

मैंने जानकारी की, तो मालूम पड़ा कि यह पूरी गाड़ी पैसेंजर (धीमी रफ्तार से चलने वाली) ट्रेन है.

उसके मेहंदी रचे गोरे गोरे हाथों की नाजुक हथेली में मेरा गहरा काला लंड बड़ा ही मनमोहक लग रहा था मुझे!लंड और उसकी हथेलियों का परफेक्ट कलर कॉम्बिनेशन था. साली जी के पांव जब नीचे की तरफ आते तो मेरे लंड का सुपारा भी फोरस्किन से बाहर निकल झांकने लगता. जितनी बार मेरा भाई अपने लंड को आगे पीछे करता, उतनी बार मेरे बदन में आग सी लग रही थी.

एक ने मेरे मुंह में अपना लंड दे रखा था व दूसरे ने मेरी चूत में अपना लंड घुसा रखा था‌।चुदते हुए अब मेरे मुंह से चीखें निकलने लगी थीं क्योंकि मैं बहुत थक गई थी. और मैं जानती हूँ कि हम जिस सोसायटी में रहते हैं वो भी ज्यादा मुश्किल नहीं है। पर मैंने वैभव को कहा कि मेरी सहेली संदीप की बहुत बड़ी फैन है, वो हमारी शादी में शामिल रहेगी उसे हमारी शादी का उपहार समझकर संदीप का लिंग दे देते हैं. कदलीतने जैसी दो जांघों के बीच फूली हुई चिकनी चूत हर मर्द की एक सेक्सुअल फैंटेसी होती है.

सरोज कभी मेरे लंड को चूमती, कभी होठों के ऊपर रगड़ती और कभी उसको मुंह में भर लेती. उसका सर अपने हाथ पर रख कर उसे लिटा लिया … और उसके उलझे हुए बालों को सुलझाते हुए मैंने उसे एक किस किया.

उसने टिकट भेज दिया था, टिकट रेलवे की फस्ट क्लास एसी सुपरफास्ट का था. उसके माथे और गालों को चूमते हुए अपना लण्ड धीरे धीरे उसकी गीली गीली चूत पर रगड़ते हुए एक झटके में उसकी चूत में डाल दिया।मेरा लण्ड अंदर जाते ही वो बुरी तरह से उछल गयी और उसके मुंह से जोर की चीख निकल गई. तभी उन्होंने एक झटके से मेरा लंड चड्डी से आजाद कर दिया और लगीं चूसने.

टॉप को फाड़कर, बाहर झांकते दोनों बड़े बड़े मम्मे, गोल सुडौल गोरे बाजू, सुंदर हाथ और उनकी सुंदर पतली, मुलायम, नेल पॉलिश लगी हाथ पांव की गुदाज़ उँगलियाँ गज़ब ढाह रहे थे.

अब भाभी ने अपनी टांगें चौड़ी की और मुझसे बोली- अपनी चूत को मेरी चूत के ऊपर जोर जोर से रगड़ो और मेरे मम्मों को चूसो. आह्ह … इतना मजा … आ रहा है … चोदते रहो बस।मैं भी दोगुने जोश के साथ चूत में अपना लंड आगे-पीछे करने लगा. वो रोने जैसी सूरत बना कर बोली- तो तुम अपनी पसंद बताओ न … मैं वही बना दूंगी.

मैं बोली- इसकी ब्रा पेंटी कहां है?मेरा भाई कुटिल मुस्कान देते हुए बोला- मैं तो तुझे नंगी ही ले जाने को सोच रहा था. मैंने उसे अपने नीचे लिया और उसकी चुत की फांकों पर लंड का सुपारा घिसने लगा.

हमने बहुत देर तक गरबा खेला … पर गरबा खेलते खेलते रुमित मुझे बार बार देख रहा था … और चांस देखकर मुझे टच कर रहा था. मगर आज यात्रा की थकावट या पैग ज्यादा पीने के कारण मैं स्खलित नहीं हो रहा था. वो बोलीं- तो ठीक है, तो फिर आज रात को यहीं क्यों नहीं रुक जाते मेरे पास? मैं घर में अकेली होती हूं तो बहुत डर लगता है.

लोकल सेक्स ओपन

कुछ देर बाद मेरे लण्ड से पिचकारी छूटी और मनजीत की गांड मेरे वीर्य से सराबोर हो गई.

उसका ये कामुक अंदाज देख कर मैंने भी अपने तने हुए लंड को हाथ में ले लिया और मुठ मारने लगा. असल में राजेश की उंगली ने उसकी चूत को घायल कर दिया था और राजेश के दांत भी उसके मम्मों में कई जगह गड़ गए थे. फिर मैंने अपनी दूसरी हील भी निकाल दी और वो दोनों पैरों को चाटने लगा.

भाभी मुझसे हाथ जोड़ कर बोलीं- मुझे छोड़ दो राजा … और अब तुम इस रांड को चोद लो. उनकी मस्त गांड और गुदाज पटों को देखते ही मेरा लण्ड लोअर में तन चुका था. लड़कियों की चुदाई वाली बीएफयह सुनकर मैं मन ही मन बहुत खुश हुआ कि चलो निष्ठा के साथ तीन चार दिन और अकेले रहने को मिलेगा.

फिर घर वाले आ गये।इसके दो दिन के बाद ड्राइवर तो मुझे नियमित चोदता या कभी अपना लंड चुसवाता. थोड़ी दूर जाते ही रुमित बोला- अब तुम दोनों चनिया चोली कैसे पहनोगी … यहां तो कहीं पर भी मुझे जगह ही नहीं दिख रही है.

ड्राइवर को बुला कर उसे चाय दी और मैं उसके साथ बैठ कर चाय पीने लगी।ड्राइवर- यार आज तो मज़ा आ गया तुम्हारी चूत मार के! तुमको कैसा लगा?मैं- मुझे भी बहुत मज़ा आया. तभी मुझे ध्यान आया और मैंने पम्मी से पूछा- क्या तुम्हारी बहन शादी से पहले चुद चुकी थी?पम्मी ने कहा- हां वो बहुत बड़ी लंडखोर है. मेरा लंड उनके चूतड़ों की दरार पर लगा हुआ था, जिसे भाभी अच्छे से फील कर पा रही थीं.

” सानिया ने फिर मेरा हाथ पकड़ते हुए थोड़ा प्रतिरोध किया।मेरी जान … मेरी सानू … तुम बहुत खूबसूरत हो … प्लीज बस एक बार मुझे अपने इस अनमोल खजाने को देख लेने दो … प्लीज …”आह …” सानिया के हाथों की पकड़ ढीली पड़ने लगी अलबत्ता उसने अपनी जांघें कसे हुए ही रखी थी।अब मैंने धड़कते हुए दिल से अपने दोनों हाथों से उसके पायजामे को धीरे-धीरे नीचे करना शुरू किया. उसके बाद मैंने फिर से उसके नितम्बों को अपने दोनों हाथों से भींच दिया. कुछ ही पल में उसने अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर डालनी शुरू कर दी थी.

नेहा भी तुरंत बोली- कोई बात नहीं, उससे ज्यादा हम इन्हें तड़पा देंगी.

मैंने एक गहरी सांस ली और रानी की कमर नीचे को धकेलते हुए से तेज़ी से लंड को गुड्डी रानी की कुंवारी बुर में सूत दिया. वो पागलों की तरह मेरी चुचियों को मसल रहा था, दांतों से काट रहा था … और लगातार धक्के पर धक्के दिए जा रहा था.

जब मैंने शशि भाभी के चुचे पकड़े, तो उन्होंने रोटी बेलना रोक देना, गैस की लौ कम कर दी और आंखें बंद कर लीं. प्रीति अपनी तारीफ सुन कर शर्मा गयी और उसने प्यार से मुझे किस कर दिया. ‘आअह उफ्फ याह … यस यस … उह एई ईईईई एई एईई ईई उफ फ्फ्फ़ जान लोगी क्या?’मीता तो अपनी ही धुन में थी.

भैया ऑफिस जा चुके थे और भाभी रसोई में चाय बना रही थी।भाभी ने मुझे तिरछी नजर से देखा और कहा- उठ गए देवर जी … चाय नाश्ता तैयार है, दे दूँ?मैंने कहा- भाभी मैंने अभी ब्रश नहीं किया है. भैया जनरली टूर पर रहते थे, तो भाभी मुझसे बात करके अपने दिल का हाल भी बता देती थीं. इसके बाद मैंने एक रिक्शा लिया और एक थ्री-स्टार होटल में पहुंच कर उसी रिक्शे से स्टाफ को वापिस भेज दिया.

सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ चूंकि अब जब कहीं से भी चूत नहीं मिल रही थी तो मैंने इसे ही पटाने की सोची।वो दिखने में बहुत सुंदर थी. नारी के पास पुरुष की आंखें और बॉडी लैंग्वेज समझने का विशेष गुण होता है.

আই মিলন কি রাত

मैं जानबूझ कर उनके दांव में हमेशा फंस जाती और फिर वो मुझे बताते कि इस दांव से कैसे निकलना होता है. माथे तक घूंघट डाल रखा था … आंखों में गहरा काजल, होंठों पर हल्की सी लाली और मधुर मुस्कान और लाज से झुकीं नज़रें; ये सब देख कर मैंने बरबस ही उसे अपने सीने से लगा लिया और उसे चूमने किस करने लगा. तो मैंने धीरे-धीरे से पैंटी के कपड़े को तान तान कर एक जोर के झटके के साथ उसे भी फाड़ दिया.

हमारी जांघों के आपस में टकराने से जोर जोर से पट-पट की आवाजें आ रहीं थी. अब नेहा मेरे लौड़े पर अपनी जीभ से लार टपका टपका कर उसकी चुसाई कर रही थी जिससे मेरा लंड स्खलित होने के करीब पहुंच चुका था. सेक्सी बीएफ होली कामैंने संजय से पूछा- कहाँ से शुरू करें आज?संजय बोला- दोनों को उठा लो गोद में!फिर संजय ने नेहा को अपने ऊपर के कपड़े उतारने को बोल दिया और नेहा अपने ऊपर के कपड़े उतारने लगी.

शाम को जब अंजू किताब को वापस लौटाने आई तो वो मंद मंद मुस्करा रही थी.

मेरे प्यारे दोस्तो, कहानी तो बहुत हैं सुनाने के लिए मगर आज मैं अपनी नहीं अपने एक दोस्त की कहानी सुनाना चाहता हूँ. ये सुनते ही मैंने कहा- अरे यहां कहां चेंज करेंगे?ईशिता बोली- अरे यार हम लोग वैसे ही लेट हो चुके हैं … और लेट कर देंगे तो उधर क्लब में एंट्री भी नहीं मिलेगी.

हम दोनों ही एक दूसरे का पूरा साथ दे रहे थे।मेरे दोनों दूध उनके सीने पर दबे जा रहे थे।उनका हर एक धक्का मेरी आह निकाल रहा था।मुझे तो लग रहा था कि आज मेरी चूत का भर्ता ही बन जायेगा।लगभग 20 मिनट तक लगातार मेरी चुदाई होती रही मैं 2 बार झड़ चुकी थी मगर पता नहीं वो कब झड़ते!और फिर उनकी रफ्तार एकाएक बहुत तेज़ हो गई. तो मैंने धीरे-धीरे से पैंटी के कपड़े को तान तान कर एक जोर के झटके के साथ उसे भी फाड़ दिया. थोड़ी ही देर में मां कमरे में अन्दर आ गईं और दरवाजा बंद करके मेरे पास आकर लेट गईं.

हाँ, एक बात जो सभी मेल में लिखी थी कि मेरी सभीपुरानी कहानियांसभी ने दो-दो, तीन-तीन बार पढ़ी और मूड रिफ्रेश किया.

तभी भाभी ने अपने चूतड़ों को उठा उठा कर जबरदस्त तरीके से मेरी जाँघों पर मारना शुरू किया. ‘आह … आह राज पी जाओ सारा दूध … मेरा सब कुछ तुम्हारा है … मैं तुम्हारी रंडी हूं आह … चूसो और चूसो इस रंडी का दूध पी जाओ … आह सारा दूध निचोड़ दो आ…ह…’वो कामुक आवाजें करते हुए उछलने लगी और अपनी चूत को रगड़ने लगी. अब रुमित ने मुझे अपने सीने से लगा लिया और मैंने जो चनिया चोली का ब्लाउज पहना था, उसकी गांठ छोड़ दी.

देवर भाभी के बीएफ दिखाओजो दोस्त मेरी कहानियाँ रेगुलर पढ़ते हैं, वो मेरी दोस्त गीत, नेहा और संजय के बारे में तो जानते ही होंगे. मैं उसको अंग्रेजी के दो चार शब्द रोज सिखाता और लगातार प्रैक्टिस कराता.

देसी सेक्स सेक्स

उसके बाद से तो जब चाहे आंटी की चूत में लंड लगा आकर चुदाई हो जाती रही थी. जाते हुए मेरी नज़र अचानक पास की झाड़ियों के नजदीक खड़ी साइकिल पर पड़ी. मैंने उसको किस किया और उसके कंधे और गर्दन में सर घुसा कर तेजी से चोदने लगा.

उनके उत्तेजक डांस को हम दोनों नजरें घुमाते हुए देख रहे थे और इधर उधर की बातें कर रहे थे. उन्होंने मरवाई तो इनका बड़ा अहसान … मेरी इनसे ज्यादा रगड़ी, तो कोई जिक्र नहीं. ”सानिया ने अब अपनी आँखें खोल कर मेरी ओर देखा। उसकी साँसें बहुत तेज हो चली थी और होंठ कांपने से लगे थे। शब्द तो जैसे उसके गले में अटक से गए थे।अच्छा … अगर तुम्हें शर्म आये तो कोई बात नहीं मैं अपनी आँखें बंद कर लूंगा फिर देख लेना.

मैंने अपना एक हाथ उसकी गर्दन के नीचे और दूसरा उसकी पीठ के नीचे लगा कर उसे बांहों में फंसा लिया. इसी तरह करीब एक महीना और बीत गया, लेकिन मैंने फील किया कि भाभी अब कुछ ज्यादा ही बिंदास रहने लगी थीं. मगर इस तरह किसी सो रही लड़की के कपड़े हटाने के लिए बड़ी हिम्मत भी चाहिए।मैंने काफी सोचा और फिर सोचते सोचते अपने आप हिम्मत भी आने लगी.

आखिर में पुरुस्कार दिए गए, जिसमें मेरी रीना रानी को भी अवार्ड मिला. मेरी साली ने कैसे मेरी देखभाल की?इधर मेरी तबियत अब और ख़राब होती जा रही थी.

मनजीत के चूतड़ उछालने और मेरे धकापेल ठोकने के बावजूद मेरा लण्ड डिस्चार्ज करने के मूड में नहीं था जबकि मनजीत दो बार पानी छोड़ चुकी थी.

नेहा की बॉडी फिगर मॉडलों जैसा था, मैंने उसके बॉडी शेप को देखकर 36-24-36 साइज का अनुमान लगाया. बीएफ पिक्चर 16 सालभाभी मेरे पास खिसक कर बैठ गई और कभी मेरी ओर देखती तो कभी भैंसा की तरफ देखती. बीएफ लंड वालाशायद आज मेरा सपना सच होने जा रहा था जो मैंने 2 साल पहले प्रीति को बताया था. मैं उनकी कमर पर हाथ फिराने लगा, फिर बिना कुछ बोले उनके कान के नीचे किस कर दिया.

निष्ठा, तेरी दीदी यहां होती तो मैं उसके साथ सेक्स करके इसे बैठा लेता या वो मुझे बी.

शायद प्रेम करते समय मर्द और औरत के मुँह जुड़ना लंड चूत की चुदाई से कहीं ज्यादा मजा देता है. वो घुटनों पर मेरे पीछे आया और अंदर आते ही मैंने अंदर से सिटकनी और कुंडी मार दी. मैंने उसे देख कर कहा- हाय, मैं आदित्य।जवाब में वो बोली- हाय, मैं दिया।उसके बाद वहीं खड़े खड़े हम दोनों में कुछ नॉर्मल बातें हुईं जैसे कि कहां पढ़ते हो, कहां कोचिंग लेते हो वगैरह वगैरह.

मैं बोला- तुम्हारा पति इतनी शराब पीता है और तुम्हारे साथ लड़ाई करता है. विक्की ने मेरे मुंह में जीभ डालकर मेरी लार को खींचना शुरू कर दिया और मैं भी उसके प्रीकम वाली लार को अपने मुंह में खींचने लगी. अब हमारे केवल होंठ ही नहीं, पूरे बदन एक दूसरे से रगड़ सुख पा रहे थे.

जीली वीडियो

यहां तक की चूत के ऊपर भी वह एक लेप लगाकर इसको भी साफ- सुथरी और सुंदर बना देती है. उसका पूरा बदन, उसकी चूचियां, पेट, पीठ, गांड, जांघ सब जगह लाल निशान थे. मैंने उसकी बहन का जिक्र सुना, तो उससे पूछा- क्या वो इस अल्कोहल मिक्स वाली लिक्विड जैली को खाती है?पम्मी ने मेरे सर पर हाथ फेरा और चुत पर दबाते हुए बोली- नहीं यार, वो खुद इस अल्कोहल मिक्स वाली लिक्विड जैली को अपनी फुद्दी पर लगाती है.

रात को मैं टिफिन लेकर मुकेश की मां के पास गया, तब तक मुकेश ने मां के लिए फीमेल अटेंडेंट रख ली थी.

मैं सोफे पर बैठकर उन्हें पीछे से देख रहा था, उनके चूतड़ मस्त हिल रहे थे और वो काम किए जा रही थीं.

घुटनों तक कि स्कर्ट में उनकी गोरी और गुदाज पिंडलियाँ और घुटने के पीछे का चौड़ा भाग बहुत ही सेक्सी लग रहा था. फिर अदिति बोलीं- अब बस भी करो हर्षद … अब मुझसे नहीं रहा जाता … तू जल्दी से अपना मोटा लंड मेरी चुत में डाल दो और बुझा दो मेरी चुत की प्यास. पहले बीएफथोड़ी देर बाद मैंने मनजीत से पूछा- अब दर्द तो नहीं हो रहा?नहीं, दर्द नहीं हो रहा लेकिन मेरी टांगें दुखने लगी हैं, थोड़ी देर सीधा लेट जाने दो.

मगर अभी तक मैंने सिर्फ अपनी मां को केवल बाथरूम में नंगी नहाते हुए ही देखा था. राजेश ने हंस कर कहा- इतना राशन … कोई दावत है क्या?तो शीला बोली- मुझे जितना भी आता है आपको सब बना कर खिलाउंगी. शुरू के कुछ दिनों में तो कुछ नहीं हुआ क्योंकि मैं रूम को सेट करने में लगा हुआ था.

मैं उस पर घुटनों केबल थूक लगाया और थोड़ा सा थूक उसकी गांड पर लगाकर लंड टिका दिया. और तू बेअक्ल, दिमाग से बिल्कुल खाली है क्या? तेरे को समझ नहीं आता कि तेरी ये जवान साली इस मौके का फायदा उठा कर तुझसे चुदवाना चाहती है.

कहानी में यह भी बताया गया था कि बेबी रानी की एक सहेली और लेस्बो पार्टनर गुड्डी भी उसके साथ आयी थी.

तुम्हारे साहब बाहर मुल्क में जाते हैं, तुम्हारी मेमसाहब हमसे चुदवाती हैं. पहले तो उसने ना में गर्दन हिलायी लेकिन मैंने उसके होंठों पर प्यार से किस करके कहा- प्लीज जान … एक बार कर दे ना!दोस्तो, हसीनाओं को छेड़ने के नियम में मैंने ये पढ़ा था कि लड़कियों को कैसे अपनी बात के लिए मनाया जाता है. अगर आपने वह कहानी पढ़ी है तो आप जानते होंगे कि कैसे मैंने रजनी की चुदाई की थी.

हिंदी सेक्सी बीएफ छोटी लड़की तभी चाचा ने हमारा कुर्ता निकाल दिया और हमारी चूचियां चूसते हुए हमारी नंगी पीठ पर हाथ फेरने लगे. रिया ने रवि के लंड पर चूत को सेट किया और बैठते हुए उसका लंड अपनी चूत में उतार लिया.

किसी न किसी बहाने मैं लवी के बिस्तर के पास जा खड़ा होता, उसके कभी आधे, कभी पूरे नंगे स्तनों को देखता और मुट्ठ मारता।मगर हर दिन के साथ मेरी हिम्मत बढ़ती जा रही थी. पर उसमें भी हमारा यानि कि ईशिता, रुमित, भार्गव, तुषार और मैं … हम पांच लोगों का अलग ही ग्रुप है. फाड़ दो मेरी चूत को… आह्ह … बहुत दिनों के बाद मेरी चूत को लंड का सुख मिला है.

हाई स्पीड सेक्स वीडियो

स्वरा को घुमाकर उसका चेहरा अपनी ओर करते हुए मैंने कहा- 32 लिखा तो है लेकिन तुम्हारी चूचियां देखकर ऐसा लगता नहीं है. मेरे लंड का तो हाल पूछो ही मत … गुस्साये सर्प की तरह फुनकार रहा था. थोडा सा टाईट छेद था उसकी चूत का, मगर एक जोर का धक्का लगाया तो आधा लंड उसकी चीख के साथ चूत में चला गया.

रुमित ने कहा- तुम ऐसा करो, मैं एक जगह पर कार रोकता हूँ … तुम चनिया चोली तो चेंज कर लो. लेखक की पिछली कहानी:पंजाबन भी चुद गयी60 साल की उम्र में बैंक से रिटायर होने के बाद मैं सारा दिन घर पर ही रहता था जबकि मेरी पत्नी अभी कार्यरत थीं.

घुटनों तक कि स्कर्ट में उनकी गोरी और गुदाज पिंडलियाँ और घुटने के पीछे का चौड़ा भाग बहुत ही सेक्सी लग रहा था.

जब उसने उग्र कामेच्छा से व्याकुल होकर बेबी रानी के कान में कहा कि उसको भी चुदने की इच्छा हो रही है तब मैंने मामला आगे बढ़ाया. मैंने मां से पूछा- किसका फोन था अदिति?मां ने कहा- तेरे पिताजी का था. पायल ने कहा- चिंता ना करिए … वो मौका भी आपको दिया जाएगा किन्तु अभी वैभव जीजू आपका इंतजार कर रहे हैं … और मुझे भी बहुत काम हैं.

मां ने मुझे पानी लाकर दिया और बोलीं- हर्षद मैं नहाने जा रही हूँ, मुझे बहुत गंदा लग रहा है. आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीट्रेन में मिली गर्लफ्रेंडको आप लोगों ने काफी प्यार दिया. जब भी दोपहर को वो कॉलेज से आता तो अपना खाना अपने कमरे में मंगवा लेता और मुझे कभी अपना लंड चुसवता तो कभी घर खाली होने पर मेरी चूत भी बजा देता।अब मेरे जीवन में रोज़ चुदना लिखा है।मेरी चूत की चुदाई स्टोरी पढ़ने के लिए धन्यवाद.

फिर भार्गव और तुषार दोनों नीचे उतरे … और रुमित नीचे उतरकर बस मुझे देख रहा था.

सेक्स बीएफ बीएफ बीएफ: मैंने नेहा से फ्रेश होने की इच्छा जाहिर की, तो उसने कहा- ठीक है तो मैं चलती हूँ. उसका सर अपने हाथ पर रख कर उसे लिटा लिया … और उसके उलझे हुए बालों को सुलझाते हुए मैंने उसे एक किस किया.

इस पर बहुत ही सेक्सी मॉडल्स हैं और सबसे अच्छी बात यह कि एक बार टाइप करने पर ही मनचाहे रिजल्ट्स मिल जाते हैं. अब वानी ने एक मेल सेक्स डॉल चेयर पर रख दी जिस पर एक पट्टी के सहारे एक लंड लगा हुआ था. बोलिए मेरे लिए क्या हुक्म है?मैं उसे अपनी बांहों में खींच कर किस करने लगा और जोर जोर से उसके बोबे दबाने लगा.

तभी मेरे भाई ने मेरी गांड पर लंड टिकाया और मैं जब तक कुछ बोलती, इससे पहले उसने जोरदार झटका दे मारा.

रमेश- चलो ना डार्लिंग, आज बहुत मूड हो रहा है।रति फिर भी कुछ नहीं बोली।रमेश- तुम ऐसे नहीं मानोगी, लगता है तुम्हें मनाने का मेरा पुराना आईडिया ही लगाना पडे़गा।रमेश ने उठ कर झट से रति को अपनी गोद में उठा लिया. ये मसाज का काम करती हैं, पर ग्राहक को सभी तरह से संतुष्ट करने में माहिर हैं. अब वानी ने एक मेल सेक्स डॉल चेयर पर रख दी जिस पर एक पट्टी के सहारे एक लंड लगा हुआ था.