इंडियन फुल एचडी बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी वाली ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडेन सेक्स वीडियो: इंडियन फुल एचडी बीएफ, जैसा कि आपने पिछली कहानी में पढ़ा था कि मेरी बुआ की सहेलियां घर आई थीं और अपनी सहेलियों से फुर्सत होते ही मैंने उस रात अपनी बुआ को छत पर ले जाकर सारी रात चोदा था.

क्सक्सक्स २०२०

मैंने अपने एक हाथ चाची के मुँह को पकड़ कर पूरा लंड मुँह में डाल दिया. एक्स एक्स एक्स एचडी फिल्मदोस्तो, मैं सभी पढ़ने वालों को नमस्कार करता हूँ।मेरे भी मन में बहुत दिनों से एक कहानी लिखने की इच्छा थी लेकिन मुझे कोई मज़ेदार कहानी लिखने का मन था।वैसे तो मैं अपने गर्लफ्रैंड के साथ सेक्स कर चुका था लेकिन उसमें वो मज़ा नहीं था कि मैं उस पर मजेदार कहानी लिख सकूँ।लेकिन इस कोरोना काल में मुझे अपने दोस्त की गर्लफ्रैंड के साथ सेक्स का मौका भी मिला.

अब मैं नीलिमा पर नीचे आ गया और उसकी गोरी जांघों में फंसी उसकी गीली चूत को देखने लगा. ক্সক্সক্স ভিডিও ইন্দিঅयह चीटिंग वाइफ पोर्न स्टोरी आपको कैसी लग रही है? आप मुझे मेल करना न भूलें.

अभी तो मैं लखनऊ में रह रही हूं मगर शादी के पहले मैं एक छोटे से गांव में रहा करती थी.इंडियन फुल एचडी बीएफ: यह हॉट भाभी फक़ स्टोरी उन दिनों की है, जब मैं अपनी दादी के यहां घूमने गया हुआ था.

मेरा लंड कैसा लगा?वो मेरे लंड को सहलाती हुई बोलीं- इसने तो मेरी फाड़ कर रख दी देवर जी.अब तरबूज चाकू पे था।मैंने देखा कि आंटी की चूचियां डगमग डोल रहीं थीं।10 मिनट बाद मैंने बोला- मैं झड़ने वाला हूं.

హిందీ సెక్స్ వీడియోస్.కం - इंडियन फुल एचडी बीएफ

मेरे सामने भाभी की भरी हुई एकदम दूध सी सफ़ेद जांघें थीं और उन संगमरमर सी चिकनी जांघों में लाल पैंटी फंसी देख कर मेरे मुँह में पानी भी आने लगा था.कुछ और ट्राई कर!मैंने आंटी को गला पकड़ कर उठाया और उनकी चूत में लंड डाल कर उनको गोद में उठा लिया.

कुछ समय बाद मेरा पानी निकलने वाला ही था तो मैंने लंड निकाल कर चूत में पेल दिया और दीदी की चूत चोदने लगा. इंडियन फुल एचडी बीएफ कुछ देर बाद भाभी भी पूरी तरह साथ देने लगी थीं; उनकी दोनों टांगें हवा में उठ गई थीं.

आंटी बोलीं- चूत चूसते जाओ बस … मरी तरफ मत देखो … और जो भी परसाद मिले, उसे खा जाना.

इंडियन फुल एचडी बीएफ?

जैसे ही मेरी लंड मेरी बहन की बुर के अंदर घुसने लगा, वो दर्द से एकदम काम्पने लगी. विश्वेश्वर जी ने उसके गुलाबी होंठों को अपने मोटे मोटे होंठों से जीभर कर चूमा, चूसा और धीरे धीरे साथ में उसकी चूत मारते रहे. वो मुझसे अपनी गांड घिसने लगी, तो मैं भी साली के साथ रोमांस करने लगा.

जब पहली बार उनकी चूची देखी मैंने … बड़ी बड़ी पेट तक लटक रही थी, डगमग हो रही थी. लेकिन मुझे कोई ऐसा लड़का नहीं मिल रहा था, जो मेरी उम्मीद पर खड़ा उतरे. मैडम बोली- शिट … कितना पुराना नाम है तुम्हारा … आज मैं तुम्हारा नाम दूसरा रख देती हूँ.

नीतू- क्या भैया मुझे चोदने को तैयार हैं?कोमल- हां, उनको मैंने रात में ही मना लिया था. मैं अपने भाई की बीवी की धकापेल चुदाई कर रहा था और उधर भाई, मेरे कमरे में मेरी बीवी को रगड़ रहा होगा. इस पर उसने इठला कर पूछा- कैसे हैं?मैं समझ गया कि लड़की कुछ ज्यादा ही बोल्ड है और हरी झंडी दे रही है.

जैसे ही सुपारा छेद में घुसा, मेरा दर्द बढ़ने लगा और मेरे पैर कांपने लगे. चुदाई के बाद मैंने उनसे पूछा- आपके यहां तो आपके मर्द दोस्त आते रहते हैं, उनसे आपका काम नहीं बनता है क्या?भाभी ने कहा- वो सब मेरे पति के दोस्त हैं और उनसे मेरी प्राइवेसी के लिए खतरा है.

वो अपने हाथ से अपने दोनों मम्मों को बारी बारी से मेरे मुँह में देने लगी.

फिर उन लोगों ने अपनी पसंद के पंजाबी गाने लगाए, जिस पर बीयर व शराब पीते पीते हम पांचों ने खूब डांस किया.

नीरज बोला- अरे अंजलि डार्लिंग, लंड भी कभी तो पहली बार लिया था ना, अब देख न … लंड लेते लेते तो पोर्न स्टार हो गयी है. मैंने दरवाजा खटखटाया तो थोड़ी देर में मिसेज वर्मा ने आकर पूछा- कौन है?तो मैंने अपना नाम लिया तो वह पहचान नहीं पाईं. चूंकि इस बात का पता दीदी को चल गया था कि मैंने उसकी ननद को चोदा है.

उन्होंने मुझसे कहा- आज तो दिन भर काम है तुझे, तो मैंने सोचा कि अरुणिमा बोर हो जाएगी इसलिए मैं उसका दिल बहलाने आ गया. पर क्या नीतू मानेगी?कोमल बोली- इसकी टेंशन आप मत लीजिए, मैं नीतू को मना लूंगी. एक दिन की बात है, मैं सलोनी भाभी के घर गया था, मम्मी ने मुझे उनके घर सब्ज़ी देने भेजा था.

मैं- अब क्या हुआ?दीदी बोलीं- मुझे तेरे रहने से कोई परेशानी नहीं है.

सोनल मेरे रुकने से बहुत खुश थी लेकिन मुझे दो टेंशन हो गई थीं कि एक तो लॉकडाउन में सब घर में होते हैं तो सोनल की कैसे लूंगा और दूसरी टेंशन ये कि कहीं नैना को पता न लग जाए. एक हाथ से उसके एक कंधे को पकड़ा और दूसरे हाथ से लंड को स्थिर रखने के लिए सहारा दिया. फिर उसने कहा- पहले तुम फ्रेश हो जाओ, मैं तुम्हारे लिए जूस लेकर आती हूँ.

मॉम ने कुछ नहीं कहा, बस अपनी टांगें खोल दीं और गर्म सिसकारियां लेने लगीं. लंड अन्दर घुसते ही उसने अपनी बांहों से मेरी पीठ और अपनी टांगों से मेरी कमर को जकड़ लिया और अपनी चूत चुदाई का मज़ा लेने लगी. कोमल- ये बात अंकित को पता चल गई तो जानते हो क्या होगा?मैंने कहा- मैं सब संभाल लूंगा.

कोई भी मर्द या लड़का मुझे देखेगा तो उसी पल मुझे चोदने का मन बना लेगा.

मैं आंटी को गोद में उठाकर खड़ा हो गया और आंटी को झूला झुलाते हुए उठा उठाकर चोदने लगा. उनके हाथ इशारे से विक्रम को मना करने लगे तो विक्रम ने उन्हें छोड़ दिया.

इंडियन फुल एचडी बीएफ दूसरे ने मेरे पैरों को पकड़ लिया और एक ने मेरे हाथों को पकड़कर मुझे कुर्सी से उठा दिया. अब दीदी के साथ मेरी चुदाई वही सड़कों के किनारे, पेड़ के नीचे, कभी कुतिया बना कर हो रही है.

इंडियन फुल एचडी बीएफ फिर सुकेश ने विडियो कॉल कर के दिखाया और पूछा- अब बोलो … छोटा हूँ क्या मैं?मैंने बोला- बिल्कुल नहीं … इसका आधा ही है गुन्नु के पापा का तो!गुन्नु मेरी बडी़ बेटी है. अब तक कितने लंड ले चुकी है?वो मेरी छाती पर मुक्का मारती हुई बोली- क्या भैया आप भी बड़े वो हो!मैंने कहा- मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता बहना.

मेरे शरीर का दर्द जैसे गायब हो गया था और मैं चाची का पीछे से हाथ पकड़कर लगातार अपनी गांड को आगे पीछे करके धक्के लगाए जा रहा था.

सेक्सी बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ सेक्सी बीएफ

मैंने अपने दोनों हाथों से उसके चेहरे को पकड़ा और उसकी आंखों में देख कर कहा- जान, मेरे लिए ये दर्द बर्दाश्त कर लो. उसने अपनी चड्डी निकाल दी और पहली बार मैंने किसी मर्द के लंड के दर्शन किए. एक मिनट बाद मैंने अपने होंठ हटाए और बोली- मॉम चुप हो जाओ, मुझे आपका उस कुत्ते से कुतिया की तरह चुदाई करना बिल्कुल बुरा नहीं लगा और आपको कभी शरीर में कहीं भी दर्द हो तो मुझे बता दिया करो.

इतने में थोड़ी देर में मेरे लंड पर अजीब सी गुदगुदी हुई और लंड का पानी निकल गया. अनुराग- अरे तबीयत तो ठीक है आपकी! आप कहो तो कोई दवाई ले आऊं!मैं- नहीं, अनुराग … अभी ठीक हो जाएगा. फिर जब आंटी ने मेरे कपड़े उतारने शुरू किए, तब ख्याल आया कि लंड के लिए चूत तो सामने ही है, मुठ क्या मारना.

कुछ ही देर में भाभी कॉफ़ी बना लाईं और हम दोनों ने कॉफी पी और बातें करते रहे.

आज वह मुझसे दो बार चुद कर बहुत संतुष्ट लग रही थीं और कह रही थीं- मेरे राजा, मुझे ऐसीरंडी बनाकर चोदना, मैं तुम्हारे लिए हमेशा तैयार रहूंगी. वो लगातार चिल्ला रही थी- आआ ह्ह्ह और ज़ोर से चूसो ना निखिल … आईई … मुझे बड़ा मजा आ रहा है. कुछ देर बाद मैंने कोमल को हटाया और उसको बेड के नीचे घुटनों के बल बिठा दिया.

अगले ही दिन से लड़के वालों के फोन आना शुरू हो गए कि क्या हम आपके घर लड़की को देखने आ सकते हैं?मैं भी उनके लड़के के बारे पूछता कि लड़का क्या करता है और आपकी स्थितियां कैसी हैं. नीचे से आंटी लगातार मॉम की चूत में अपनी गाढ़ी लार वाली जीभ अन्दर डाल कर चूसने में लग गई. भाभी को चोदते चोदते मैं उनसे गंदी बातें कर रहा था- साली कितनी मजा दे रही है भोसड़ी वाली.

वो बोला- मुँह से चढ़ाओ न यार!मैं अपना मुँह टाइट करके होंठों की सहायता से लंड पर कंडोम चढ़ाने लगी. उसने अपनी आंखें खोलीं, अपना चेहरा मेरे चेहरे से थोड़ा दूर करके मेरी ओर देखा.

मैंने भाबी को सीधा किया और उनके ऊपर चढ़ गया, अपना लंड उनकी चूत के ऊपर रगड़ने लगा. ऐसा कहकर उसने एक ही झटके में अपना पूरा लंड मॉम की गांड में घुसा दिया. मैंने कहा- भैया भी चूतिया हैं … यही तो असली मज़ा है भाभी … चुदाई से चूत नहीं चाटी तो क्या चूत चोदी.

आते ही भाभी उनको अन्दर ले गईं और मैं निकल कर अपने कमरे में चला गया.

मेरे तीनों छेद भर गए थे, हर तरफ मुझे लंड ही लंड लेने का अहसास हो रहा था. लगभग तीस मिनट के इस समय में उन सबने मसल मसल कर अरुणिमा की जांघों और मम्मों को लाल कर दिया था. सेक्सी मामी को भी गांड मराने में मजा आने लगा और वो मुझसे चूत मसलने की कहने लगीं.

सारी बातें सुन लेने और सोच लेने के बाद मैं भी फ्रेश होकर बाथरूम से बाहर निकल आई और एक कुर्सी पर जाकर बिंदास बैठ गई. दूसरे दिन की गिफ़्ट में मुझे क्या मिला और उसे दिन की पूरी कहानी फ्री होकर आप लोगो को बताऊंगा.

मैंने पूछा- भाभी भाई का कितना बड़ा है?उन्होंने कहा- उनका तो तुम्हारे से सिर्फ आधा है. पिछली कहानी में मैंने बताया था कि कैसे प्रियंका भाभी को चोद चोद कर मैंने मां बना दिया था … और उन्हें मेरे बीज से एक लड़की पैदा हुई थी. सभी को सोने की जल्दी थी, बहुत सारी नर्स गांड मरवाने को बेकरार थीं और उन सबने अपना अपना लंड को सिलेक्ट कर लिया था.

साल की लड़की के साथ बीएफ

जब वो मायके आयी तो मुझे उसकी चूत चुदाई का मौक़ा कैसे मिला?दोस्तो, आप सभी आंटी, दीदी, भाभी और लड़कियों के लिए मैं अभी यहां पर नया आया हूँ, तो प्लीज आप सभी मेरा थोड़ा सहयोग करना.

भाभी बोलने लगीं- आंह जानू … मुझे और मत तड़पाओ … प्लीज़ अब जल्दी से चोद दो मुझे. जैसे ही पैंट उतरी, मैं पीछे से हाथ फेर कर उनकी गांड की गोलाई को सहलाने लगा. अरुणिमा के पूरे बाल अस्त व्यस्त थे और चूचे मसले जाने की वजह से लाल हो गए थे.

कुछ मिनट के किस के बाद मैंने उसके एक मम्मे को पकड़ा और उसे दबाने लगा. करीब आधा घंटा कीदमदार चुदाईमें वो दो बार झड़ चुकी थी, पर मेरा अभी भी झड़ना बाकी था. एक्स एक्स एक्स एक्स वीडियोबाहर से आने की वजह से मुझे पसीना आने लग गया था तो उसने मुझे अपने बेडरूम में बिठाया और एयरकॉन चालू कर दिया.

चौथे ने फिर से मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और मुझे कुर्सी पर बैठा कर मुझे जोर जोर से चोदने लगा. मैं 5 साल से हर माह 2-3 दिन के लिए अपने बिजनेस के सिलसिले में भटिंडा जाता रहता था.

मुझे पता है कि तलाक के बाद वो अपने बॉस से चुदाई करती रहती हैं, लेकिन पिछले 4 महीने से वो घर पर ही हैं, तो वो प्यासी हैं. मामी ने में गोद से नीचे उतर कर मेरे लोवर को उतार दिया और अंडरवियर में मेरे फूले हुए लौड़े को देख कर उनसे रुका नहीं गया. मेरी बहन अब जोर जोर से रोने लगी और बोलने लगी- आंह भैया मैं मर जाऊंगी … आंह बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज़ भैया निकाल लो अपना लंड.

मैंने उसकी तरफ को और खून को अनदेखा कर दिया और दनादन धक्का मारने लगा. उनकी चूत में मैंने तीन चार बार लंड डाला और कहा- भाभी, तुम्हारी गांड बहुत मस्त दिख रही है, इसमें लंड टिका कर देख लूं?उन्होंने कहा- हां … लेकिन डालना मत. फिर जैसे ही मैंने अपने होंठ और आगे बढ़ाए, उसने अपना चेहरा घुमा लिया.

धीरज थे- मिल गया कमरा! हम्म्म … काफी अच्छा है ये वाला भी … चलो ठीक है। पता है न एक घंटे में कॉन्फ्रेंस हॉल में मिलना है.

फिर मैंने मेडिकल स्टोर पर से वियाग्रा यानि लंबे समय तक चुदाई करने वाली गोलियां ले लीं. अब वो जोर जोर से आहें भरने लगी ‘हम्म्म्म … और जोर से करो … आंह जोर जोर से …’कुछ ही देर में एकदम से उसकी चूत से पानी निकल गया, तो थोड़ी शांत हो गई.

मैंने नम कपड़े से उसकी चूत और गांड को हल्के से पौंछा और अरुणिमा को चादर ओढ़ा दिया. मैं एक कोचिंग सेंटर में पढ़ाई कर रही हूँ और सरकारी जॉब के लिए परीक्षा की तैयारी कर रही हूँ. आंटी बोलीं- तुम आज अपने अंकल का काम कर रहे हो, इतनी मस्ती से तो तेरे अंकल भी नहीं चूसते हैं.

और उसका दुल्हा भी!कहानी के पहले भागरिश्ता तय होने के बाद चुदाई की बेचैनीमें आपने पढ़ा कि पिंकी और विजय की शादी तय हो गयी थी. दरअसल बुआ और नीलिमा कॉलेज से अच्छी सहेली थीं और उन दोनों ने मिलकर बहुत बार लेस्बियन सेक्स किया था. वह तेल लगवाने के लिए औंधी लेट गई और अपनी मेक्सी को घुटनों तक ऊपर कर लिया.

इंडियन फुल एचडी बीएफ हम्म्म!” उन्होंने सिगरेट का कश लगाते हुए आह भरी।एक काम करो, इसे मेरे कमरे में ले जाओ, धीरज से चाबी ले लो. एक बार बस में मैंने एक आदमी का लंड पकड़ लिया और उसे मेरी गांड मारने के लिए तैयार कर लिया.

देसी लड़की का बीएफ हिंदी में

अब मैंने चूत की फांकों में लंड का सुपारा सैट किया और एक जोर का झटका दिया तो लंड चूत में फंस गया. दस मिनट बाद अरुणिमा ड्राइंग रूम में आई तो विश्वेश्वर जी उससे बोले- आ जा, मेरी गोद में आकर बैठ जा. मैं- बोलिए … आप ये सब क्यों करना चाहते हैं?जोगी सर- क्योंकि मैं तुमको पसंद करता हूँ टीना … और तुम्हें हमेशा खुश देखना चाहता हूँ.

दीदी बोलीं- साले जब तुम लोगों से लड़कियों के कोई छेद नहीं बचे रहते हैं, तो अपने छेद का मजा भी तो लो. करीब तीन घंटा बाद चाची ने मुझे जगाया और हम दोनों एक बार फिर से लग गए. सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर ब्लूमैंने व्हिस्की की बोतल उठाई और दो बड़े घूँट खींच कर एक सिगरेट जला ली.

थोड़ी देर उसके मस्त बदन की खुशबू और उसके गोरे हाथों के स्पर्श से लौड़ा अकड़ने लगा और कड़क हो गया.

कहानी के पहले भागइंस्टाग्राम पर मिली भाभी की कामवासनामें अब तक आपने पढ़ा था कि भाभी मेरे लौड़े को पकड़ कर उससे खेलने लगी थीं. हम दोनों ने आंटी के छेदों में लंड डाले रखे और आंटी को जकूजी में लेकर आ गए.

भाभी की फिगर की बात कहूँ तो उनका 38-32-40 का मदमस्त बदन देख कर किसी का भी सोता हुआ लंड तुरंत खड़ा हो जाएगा. वो होली की छुट्टियों में घर आया था और बाद में लॉकडाउन के कारण ये सब हुआ था. मेरी कसे से खुले गले के ब्लाउज में से मेरे आधे दूध बाहर निकल रहे थे.

बॉय बॉय सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैंने पड़ोसन को फांसने के चक्कर में उसके बेटे से यारी गांठी.

दोनों लोग दोनों तरफ से अरुणिमा को तीस मिनट तक चोदते रहे और फिर लगभग एक साथ उसके मुँह और चूत में झड़ गए. विक्रम मॉम की छाती पर बैठ गया और बोला- चल साली मां की लौड़ी, अपनी दोनों मोटी चूचियों के बीच में मेरा लंड दबा. ‘आंह विवु काश मैं तुम्हारी बीवी होती अअह तो कितना मज़ा आता … दिन रात चुदाई चुदाई बस और कुछ नहीं आआआह विवेक प्लीज़ मेरी चूत में अपना लंड जल्दी से डाल दो … अब नहीं रहा जाता प्लीज़.

एक्सएक्सएक्सएक सफल कॉल बॉय या कॉल गर्ल बनने के लिए ग्राहक क्या चाहता है या चाहती है, उसकी बातों से समझकर वैसा नाटक करना पड़ता है. हम दोनों 69 की पोजीशन में काफी देर तक एक दूसरे के लंड चूत चूसने का मजा लेते रहे.

वीडियो बीएफ दे बीएफ

चड्डी को खुद ही साबुन से रगड़ रगड़ कर धोने के बाद उन्हीं कपड़ों में डाल दिया. मुझे रात भर दीदी को चोदना था तो मैंने देर तक चोदने वाली गोली खा लीं और एक ताकत की भी ले ली. हालांकि वैशाली को एक बार उसकी मम्मी ने भी बात करते हुए पकड़ लिया था.

वो मेरी छाती चूम कर मेरे सीने की दोनों घुंडियों को चुभलाती हुई मजा दे रही थीं. चुदाई के बाद थकान बहुत ज्यादा हो गई थी तो हम दोनों नंगे ही चिपक कर सो गए थे. लगभग एक घंटे तक एक दूसरे के साथ आपस में चुदाई करने के बाद मैं अब बदहवास हो गयी थी.

मैंने अपने लौड़े को चूत से निकाला और सुपारे को उसकी गांड के छेद पर रखकर बेरहमी से धक्का लगा दिया. अंकल- ललिता तुझे मजा आ रहा है कि नहीं, मैं तेरा पहला यार हूं और मुझे पता है कि तुझमें कितनी हवस है. जब वो मुझे देखने आए तो मैं सोच रही थी कि ये पहलवान जब मेरे ऊपर चढ़ेगा, तो मेरी तो चटनी बंट जाएगी.

मैं बोला- हां ठीक है बाबा, तुम अब सो जाओ, सुप्रिया की चिंता मत करो. मैंने सोचा आंटी कल चली जाएंगी, तो एक बार और आखिरी बार चूत मार लेता हूँ.

जब ग्राहक गांड चूत फाड़ने की बात कहता है, तुम लोगों को डरने का अभिनय करना है.

तभी एकदम से आंटी की आवाज़ आई- बच्चो, डिनर का वक्त हो गया है जल्दी टेबल पर आ जाओ. सेक्स वीडियो चुदाई हिंदी मेंउन्होंने मुझसे कहा- तुम्हारे चाचा की दो दिन बाद नाइट शिफ्ट आएगी, तो उस वक्त तुम आ जाना. एक्स एक्स एक्स कनाडामैंने उनकी टांग पर हाथ फेर कर फिर से पूछा- बताओ … कहां दर्द हो रहा है?दीदी ने कहा- इधर नहीं … थोड़ा ऊपर की तरफ हो रहा है. मेरे टट्टे चाची की गांड से टकरा रहे थे और पूरे रूम में थप थप की आवाजें गूंज रही थीं.

उन्होंने फिर मुझे मेरे कपड़े दिए, तो मैं देखकर बहुत खुश हुआ और उनका धन्यवाद कहा.

मैंने कहा- साली जिम में भी चुदाती है क्या?उसने कहा- हां मैंने कोई जिम ट्रेनर ऐसा नहीं छोड़ा, जिसने मुझे चोदा ना हो. मैंने पूछा- आपको क्यों जरूरत है भाभी जी, आपके पास तो गन है न!भाभी समझ गई और बोलीं- हुंह … वो टॉयगन है. हम दोनों बेड से नीचे उतर आए और फिर से लंड के ऊपर थोड़ा वह ऑयल लगाया.

मेरी दोनों भाभियों के चेहरे से वासना की भूख साफ़ ज़ाहिर हो रही थी लेकिन वो रिश्ते के सम्मान में खुद पर काबू कर रही थीं. मदद के बदले मुझे क्या मिला?नमस्कार दोस्तो, मैं प्रवीण कुमार एक बार फिर से अपनी पड़ोस की विधवा भाभी नम्रता के साथ मस्ती भरी फ्री भाभी सेक्स कहानी को लेकर हाजिर हूँहमारे पड़ोस में एक भाभी रहती हैं, जो कि बहुत ही खूबसूरत महिला हैं. वो अपनी गांड को मेरे लंड पर रगड़ने लगी, मुझे किस करने लगी और मेरी छाती पर हाथ फेरने लगी.

रात वाली सेक्सी बीएफ

वो मेरे खड़े लंड को देख कर एक पल के लिए घबरा सी गई; उसके मुँह से कुछ निकल ही नहीं रहा था. अब मैंने मोबाइल में अन्तर्वासना का पेज खोला और लंड की साइज बढ़ाने का तरीका खोजने लगा. एक दो प्रेमिका तो होंगी ही!मैंने कहा- नहीं वंदना जी, मेरे पास कोई प्रेमिका नहीं है.

इससे उसका सेक्स की मस्ती करने का उत्तर फिर से मिल जाता … अगर वो ना करती तो बात कुछ अलग होती.

मैंने अपने लंड पर उसके हाथ का कोमल स्पर्श महसूस किया तो मुझे बड़ा मजा आया और मेरा लंड भी हिनहिनाने लगा.

मुझे हटा कर खुद अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगी. मेरी हाइट 5 फुट 10 इंच है और मैं अपने मोटे लन्ड के लिए खुद पर गर्व करता हूं. સેકસીભાભીकिसी भी लड़की या भाबी के लिए उसकी प्राइवेसी और गोपनीयता बनाए रखना बहुत ज़रूरी होता है.

यादगार इसलिए क्योंकि उस जैसी खूबसूरत और जवान लड़की को चोदने के बारे में मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था. उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरी टांगें फैला कर मेरी चूत में लंड पेल दिया. मैंने पीछे से भाभी की साड़ी को ऊपर करके जांघों तक खिसका दिया और उनकी जांघों को मसलने लगा.

उसके दोनों चूतड़ भी लाल दिख रहे थे, शायद वाइफ हार्डकोर सेक्स के टाइम उन पर उन सब ने थप्पड़ लगाए होंगे. ट्रेनर- बी डी एस एम … इसमें तुमको ग्राहक का गुलाम बनने का अभिनय करना है.

अब तो जब भी मुझे मौका मिलता, मैं भाभी को पकड़कर किस करने लगता और उनके मम्मों को मसल देता था.

एक तो मैं अच्छे घर की लड़की हूं और ऊपर से घर की सख्ती की वजह से सेक्स वगैरह मेरे लिए संभव नहीं है और ये मेरे संस्कार में भी नहीं था. आंटी बोलीं- अब आज तू मेरी गांड मारेगा, तो इसको तो चाट चाट कर चिकनी कर दे. उसने मेरे हाथ के नीचे से अपने हाथ आगे लाकर मेरे सीने को ऐसे भर लिया जैसे वो स्तन हों.

ब्लू मूवी हिंदी मैं समझ गया कि दीदी की गांड को मारने में कोई समस्या नहीं होगी क्योंकि दीदी अपनी गांड की सेवा करवाती हुई लग रही थीं. उसे दारू पीते हुए जब नशा होने लगा तो वो मुझसे बोला- डार्लिंग मेरा लंड तुम्हारी गांड में मस्त फंसा है … तुम भी देखो न!मैं बोला- यार मैं उल्टा लेटा हुआ हूँ, मेरी गांड मुझे नहीं दिखती.

मेरी जान अब चलो मैं तुम्हें होटल में ले जाकर जन्नत की सैर करवाती हूं. नीलिमा- हां समीर, तेरी इस चुदक्कड़ Xxx बुआ सारिका ने मुझे बाद में फ़ोन पर सब बताया था. राजेंद्र, प्रकाश और इमरान तीनों मुझे छोड़कर हौद के साइड में खड़े हो गए.

बीएफ फुल फॉर्म इन हिं

वो उधर दर्द की वजह से मेरी पीठ मसलने लगी।फिर मैं एक हाथ उसकी नाभि से ले जाते हुए उसकी पेंटी के ऊपर फेरने लगा. मैंने भी उसे अपनी बांहों में भींच कर चूमा और हम दोनों नंगे ही चिपक कर बात करने लगे. उन्होंने बिस्तर पर मेरे करीब बैठ कर मेरे घुटनों पर हाथ रखा और हंस कर बोले- घूंघट हटा दो … मुझसे कैसा पर्दा?मैंने कुछ नहीं बोली, बस चुपचाप बैठी रही.

तेरी प्यास अब केवल मेरे लौड़े से नहीं बुझ पाएगी, तेरी चूत के लिए तो अब और भी लंडों का इंतजाम करना पड़ेगा. उसने पहले मेरी साड़ी का पल्लू नीचे किया और मेरे ब्लाउज को निकाल दिया.

मेरी पहली मूवी की शूटिंग के बाद मुझे नीरज नाम के प्रोड्यूसर की कॉल आयी.

मैंने अपना लंड उनकी गांड की दरार में लगा दिया और उनके बूब को पकड़ कर मसलने लगा. मेरी चाची जो एक दो महीने के लिए मेरे साथ भाग जाने का प्लान बना रही थीं. इतना सुन कर जोगी सर ने अपनी जींस और अंडरवियर निकाल दिया और मुझे उठा कर अपना मोटा लंबा लंड मेरे मुँह में डाल दिया.

यह एक ही कहानी में संभव नहीं है, इसीलिए मैंने इन कहानियों के अलग-अलग भाग बनाए हैं. थोड़ी देर बाद चाची ने मुझे अपने ऊपर से साइड में किया और अपने कपड़े सीधे करके चलने लगीं. इन पैसों से मेरी पढ़ाई तो जारी रहेगी लेकिन क्या मैं अपनी वासना की आग बुझाने के लिए यह सब करके ठीक कर रही हूँ?आप Xxx कॉलेज स्टूडेंट सेक्स कहानी पर अपनी राय जरूर मेल करें.

मेरे परिवार में ना पैसे की कमी है और ना ही पारिवारिक खुशियों की!मेरी चार बेटियां हैं जिसमें से दो कॉलेज में और दो अभी स्कूल में हैं.

इंडियन फुल एचडी बीएफ: आग अब दोनों तरफ बराबर लगी थी मगर सही मौका ना होने की वजह से और शायद हुसैना भाभी के डर से हम लोग आगे कुछ नहीं कर सके. हैलो फ्रेड्स, मैं असलम एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूँ.

किशोर ने अपने एक हाथ से लंड को चूत पर सैट किया और दोनों हाथों को मेरी पीठ के नीचे ले जाकर मुझे कसकर जकड़ लिया. जरा टाइम तो देखो कितना हुआ!मैंने मोबाइल में देखा तो दोपहर के 1:00 बज चुके थे. मैं एक बच्चा ही दिखता हूँ, जिससे कम उम्र की लड़कियां मुझसे बहुत जल्दी आकर्षित हो जाती हैं.

मैं आंटी को गोद में उठाकर खड़ा हो गया और आंटी को झूला झुलाते हुए उठा उठाकर चोदने लगा.

चाची बोलीं- और हां, यहां भरुच में होटल बुक मत करना बल्कि सूरत में एक अच्छे वाले होटल में एक रूम बुक कर लेना. ये सब मैंने इसके पहले दो कहानियांचाची के साथ चुदाई की तमन्नापड़ोस की भाभी ने ब्लैकमेल कियालिखी थीं, उनमें सब बताया था. कुछ समय बाद जब मेरी चूत ज्यादा गीली हो गई, तब उसने मेरे कान में कहा- थोड़ा दर्द सहना मेरी जान … उसके बाद मजा ही मजा आएगा.