बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन

छवि स्रोत,सेक्सी ब्लू हिंदी फिल्म ब्लू

तस्वीर का शीर्षक ,

बफ देसी हिंदी: बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन, मैंने झट से पूछा- क्या है?वो बोलीं- मेरी अम्मा जी दो दिन के लिए दिव्या और मुहल्ले की औरतों के साथ हरिद्वार जा रही हैं.

18 साल की लड़की का वीडियो सेक्सी

उसकी चूत में मैंने अभी उंगली अन्दर डाली ही थी कि अञ्जलि ने दूसरे हाथ से मेरे हाथ पर धक्का देरे हुए चूत से उंगली बाहर कर दी और झट से लंड पकड़ कर अपनी चूत पर लगा लिया. कैटरीना एचडी सेक्सी वीडियोमन में तो आया कि कह दूं कि मर्दों के लोड़े से बेहतर नशा कुछ नहीं है.

निधि ने अपने हाथ से लन्ड की लंबाई को नापा और अपनी आंखों से लन्ड को बड़े प्यार से देखने लगी. कॉलेज मराठी सेक्सी वीडियोमैंने भाभी के एक पैर को पकड़ कर उसे उलटा कर दिया और नंगा होकर भाभी की कमर से लग गया.

वो भी चुदाई के लिए पूरी तरह से तैयार थी और अपने पैरों को सही एंगल में फैला कर लंड अन्दर जाने का इंतजार कर रही थी.बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन: उसने एक मुझे जोर का थप्पड़ मारा और बोली- साली भैन की लौड़ी … जो अब तक हो रहा था, क्या वो गलत नहीं था.

उन लड़कियों को, जिन्होंने सेक्स किया है, पता है कि ऐसे लंड चूत में घुसकर कितना मज़ा देते हैं.फिर धीरे-धीरे उसके मम्मों को दबाते हुए उसकी ब्रा और साड़ी उतारनी शुरू कर दी.

वीडियो करने वाला सेक्सी वीडियो - बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन

फिर उंगली और अंगूठे से मेरी गांड का छेद हल्का सा खोल कर उसमें तेल उड़ेल दिया.रेशमा की पीठ पर अपना हाथ रख कर और मैंने पाटिल जी को रूकने का इशारा किया.

मेरे कमरे पर जाने के लिए जो सीढ़ी निकलती थी, वो घर के भीतर से होकर जाती थी. बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन मिहिरा से मैंने कहा- ठीक है, तुम भले ही मेरा लंड मत चूसो … पर मुझे तो तुम्हें जन्नत का मज़ा देने दो.

मैंने झट से सुमैत्री की ब्रा का हुक खोल दिया और उसके मस्त और भरे हुए मम्मों को दबाने लगा.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन?

मैंने उससे कहा- क्या हुआ रूपा, बड़ी खुश दिख रही है?वो मुझे चूमती रही और बताती रही कि इस बीच उसकी चार लोगों ने चोदा था, मगर उसे आपके प्यार से चोदने की अदा बेहद भा गई थी. अब उसकी आदत तो थी ही चुदक्कड़पने की, तो वो मुझमें भी एक चोदू लंड देखने लगी. नमस्कार दोस्तो, मैं रवि किशन, सेक्स कहानी के तीसरे और अंतिम भाग में आप सभी का स्वागत करता हूं.

मैं अपना गुस्सा छोड़ मुस्कुराते हुए अन्दर गया और बोला- मुझे भी खेलना है. ’फिर मैंने उसको सीधा बेड पर लिटाया, उसकी टांगों को फैला दिया और उसकी चूत के मुहाने पर अपना लौड़ा रगड़ने लगा. थोड़ी देर के बाद मैंने सुनीता को गोद में बैठा कर लंड पर बैठा लिया और नीचे से चोदते हुए उसके मम्मों को चूसने लगा.

अञ्जलि ने मेरे गाल पर अपना हाथ रख कर चेहरा घुमाया और मेरे होंठों को चूसने लगी. ‘आ … आ … आह!’उत्तेजना वश सोनी मुझसे कसकर लिपट गयी, मेरी उंगलियां सोनी के योनिरस से पूरी तरह भीग गयी थीं. दस मिनट बाद भाभी मेरे कमरे में आकर बोलीं- उधर कमरे में मैं अकेली हूँ.

शिराज ने मेरे गुस्से को देख कर चुपचाप फर्श को अपनी जुबान से चाटने लगा. तभी श्वेता मुड़ी और बोली- जल्दी से चोद दो मुझे!मैं- इतनी जल्दी?श्वेता- हां, डाल दें अपना लन्ड, फाड़ डालो मेरी चूत को।मैंने श्वेता की कमर के नीचे 2 तकिये रखे, मैं उसकी दोनों टांगों के बीच आ गया, फिर लंड को चूत के ऊपर घिसता तो कभी लंड को चूत पे पटकता.

बॉस ने उसे अपने ऊपर लेटा लिया था और उसके चूतड़ों को दोनों हाथों से फैला फैला कर दबाने लगा था.

फिर मैंने अपने एक हाथ में लंड पकड़कर लंड का चिकना सुपारा गीता की गीली चूत पर टिका दिया और ऊपर से नीचे रगड़ने लगा.

उन्होंने एक रात मुझे अपने घर में रात को रूकने को बोला, फिर वो फोन में पोर्न मूवी चलाने लगीं और मेरे सामने बिल्कुल नंगी हो गईं. उसमें मेरी विग, ब्रा, कपड़े, मेकअप का सामान, माहवारी के समय लगाने वाले विस्पर पैड, हिप्स पैड ताकि मेरे कूल्हे चौड़े दिखें, गांड भी और अधिक उभरी हुई दिखे, वो सब ले आई. कजिन सिस्टर सेक्स कहानी मेरी बुआ की लड़की की चूत मारने की है। वो हमारे घर आई। रात में सोते हुए उसने मेरी छाती पर हाथ रख दिया और मेरा लंड खड़ा हो गया।दोस्तो, मेरा नाम दयानन्द है। मैं मध्य प्रदेश का रहने वाला हूं।मैं आपको बताऊंगा कि मैंने किस तरह अपनी बुआ की छोटी बेटी हीरल (बदला हुआ नाम) को रात के अंधेरे में छत पर चोदा।मेरा लंड 7.

फिर मैंने देर करना उचित नहीं समझा, उसे बिस्तर में बीच में लाकर उसकी गांड के नीचे तकिया लगाकर चुदाई की पोजीशन बना ली. बर्थडे पार्टी में मेरे साथ संजीव भैया ने क्या क्या किया, वो सब बड़ा ही हॉट था. अजय के बताए दिन और समय पर मैं उस होटल में आ गया जहां अजय रुका हुआ था.

पिछली सेक्स कहानी में ललिता भाभी की गांड चुदाई के बाद सा कुछ पहले जैसा नार्मल चलने लगा था.

मैंने नीता से कहा- क्या करें मौसम ही ऐसा बन गया था कि हम दोनों भी मजबूर हो गए थे. उसने मुझे अपने ऊपर समेट कर अपनी बांहों में मुझे कस लिया और अपने दोनों पैरों को मेरी गांड पर डालकर कस लिया … ताकि लंड का पूरा दबाव चूत पर रहे. छोटी होने के बावजूद उसको ये पता था कि ऐसी बातें किसी को बताते नहीं हैं.

पेंटी उनकी डोरी वाली थी जिससे पैंटी की डोरी उनकी गांड के छेद में होकर निकल रही थी. मैं पूरी ताकत से धक्के लगाने लगा और उसे गालियां देने लगा- हां मेरी रंडी, तुझे तो मैं बीच चौक पे चोदूंगा मां की लौड़ी साली कुतिया. लंड चूसने और चूत, गांड चाटने का कार्यक्रम करने के बाद, डैड आफिस चले गए.

आपने मेरी पहली Xxx चुदाई की कहानीलॉकडाउन में दूकान वाली आंटी की चूत चुदाईको पढ़ा.

रेशमा- आहहह अम्मीई ईईई जानन्न उफ्फ धीरे करो मालिक्क फाड़ दी मेरी चूत. ’‘क्या अन्दर तक चला जाता है?’वो हंसी और बोली- आपका वो!मैंने कहा- मेरे वो का कुछ नाम भी रख दे.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन और मेरे गाल में जैसे रसगुल्ला भरा हो और मेरे लंबे घने बाल मतलब मैं बला की खूबसूरत हूँ. मैंने भी अपनी गांड थोड़ी ऊपर उठाते हुए उसको कच्छा नीचे करने में मदद कर दी.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन अपनी जीभ कुतिया की तरह बाहर निकालते हुए उसने मेरे टट्टों को चाटना चालू किया और धीरे धीरे अब उसकी जीभ मेरे गेंदों से लेकर मेरे सुपारे तक घूमने लगी. लंड अन्दर बाहर करने से रूम में पचा पच पचाक पचा पच की कामुक आवाजें गूंजने लगी थीं.

मैं भी उसकी शॉर्ट्स में उसका खड़ा लौड़ा जो करीब 7 इंच का था, उसको पकड़ कर मसलने लगी.

काला लंड गोरी चूत

मुझे तो समझ में ही नहीं आया कि सोनी ने ये जानबूझ कर किया या गलती से हो गया. क्लास में हम दोनों के अलावा कोई नहीं था तो हमने ऑफिस की बातें एक दूसरे से साझा करना शुरू कर दीं. साथ में अपने होंठों पर मेरे लंड का तना हुआ, मुलायम, गुलाबी सुपाड़ा फिराने लगी थी.

मैं दबे पांव बाथरूम पहुंचकर गेट से ही उसकी चूत को निहारकर सीसी की मधुर आवाज को सुनने लगा. क्योंकि मैंने किसी औरत को पहली बार इतनी नजदीक से छुआ था तो मैं उसके ऊपर भूखे भेड़िए की तरह टूट पड़ा।इतने ज्यादा जोश में था मैं कि मेरा पूरा चेहरा और कान लाल हो गये थे. [emailprotected]टाइट चूत की चुदाई कहानी का अगला भाग:मौसी की चूत में घुसा मेरा लंड- 3.

साथियो, मैं विराज, एक बार फिर से रेशमा की गांड चुदाई की कहानी में आप सभी का स्वागत करता हूँ.

फिर हम लोग खाना खाने एक होटल में गए जहां मैं और आरती आमने सामने बैठ गए और एक दूसरे को पैरों से छेड़ने लगे. मैं जोर जोर से धक्का लगाने लगा और लंड तेज़ी से आंटी की गांड में अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा. मैंने उसके दोनों चूतड़ों को एक साथ कई बार चटाक, चटाक, की आवाज करते हुए पीटे और हर चांटे के बाद दोनों चूतड़ों को अपनी मुट्ठियों में कसने लगा.

कुछ देर बाद मैंने आंटी को बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और ऊपर आकर चूत में लंड रगड़ने लगा. हालांकि उन्होंने कंधे पर चादर डाल रखी थी लेकिन तब भी उनका लंड साफ उठा हुआ दिख रहा था. वो और मैं एक डेट पर गए, एक आम डेट एक रेस्तरां में।जहां हमने खाना खाया, एक दूसरे का हाथ पकड़ के आंखों मे आंखें डालकर बातें की।खुद को लोड़े के लिए इस्तेमाल कर करके मैं भूल चुकी थी कि मैं एक लड़की भी हूं।रात के खाने के बाद वो मुझे अपने फ्लैट पर ले गया, जहां उसने मुझे बड़े प्यार से चोदा.

आगे राजीव की जुबानी ही पढ़िए क्या हुआ, कैसे हुआ और जो हुआ, क्या वो सही हुआ?दोस्तो मैं राजीव कुमार, ये सेक्स कहानी मेरी और सोनी (काल्पनिक नाम) की है. सुनसान जगह और सेक्सी भाभी मेरे पहलू में लेटी थीं, ऊपर से उनके उरोज मुझे कामुक कर रहे थे.

कुछ देर बाद अजय मेरे मुँह में ही झड़ गया, उसकी मलाई जैसा वीर्य अब मेरे मुँह में था. 15 मिनट चुसवान के बाद मुझे लगा कि मैं झड़ जाऊंगा।मैंने उससे कहा कि मैं झड़ने वाला हूं तो वो रुक गई और बोली- मैं तुम्हारा रस पीना नहीं चाहती बल्कि अपनी बंजर जमीन की सिंचाई करवाना चाहती हूं। जल्दी से इसे मेरी चूत में डालो।मैं- ठीक है. पहले तो उसने सिर्फ फातिमा पर अपना जोर चलाया और हमारी बातें कम हो गईं.

मेरी नींद रात में खुली, तो मैंने पाया कि मौसी दूसरी तरफ मुँह करके सो रही थीं.

मैंने वंदना को चार पैग पिलाए और उसे टुन्न करके उसकी गांड मारना शुरू कर दी. शेखर का लंड पहले ही धारा के चूसे जाने से पने चरम पे था और लोहे की तरह सख़्त हो चुका था. फिर मैंने व्हिस्की की बॉटल खोली और उसके गर्दन के पीछे डाल कर मैं उसकी गर्दन चाटने लगा.

अब मुझे पता था कि मौसी भी मुझसे चुदवाना चाहती थीं इसलिए मैंने बेफिक्र होकर उनकी चूची पर अपना हाथ रख दिया और कुछ पल बाद एक चूची को दबाने लगा. ‘किरण तुम … !’‘हां मैं, तुम आजकल हमारे घर नहीं आते, क्या कुछ बात है?’मैं बोला- नहीं कोई बात नहीं है.

बड़े देर तक मैंने ऐसे ही साबिरा का मुँह मेरे लौड़े से चोद चोद कर अपने लौड़े को गीला करवाया. दोस्तो, मैं अपनी नंगी जवानी की चुदाई की कहानी का आगे का हाल आपको अगले भाग में लिखूंगी. पहले तो रूपा हाथ मलती रही, फिर धीरे धीरे उसने अपनी कुर्ती निकाल दी.

सेक्सी एक्स एक्स एक्स बीपी

कुछ देर तक मेघना को अपनी गोद में उचकाने के बाद बॉस ने उसे नीचे उतारा और अब मेघना बिस्तर पर घोड़ी बन गई थी.

इतना सोच ही रहा था कि अचानक सामने एक महिला लगभग 30 साल की अपनी बच्ची के साथ आई और पूछा- एस-3 यही है क्या?मैंने कहा- जी हाँ!इसके बाद उसने टिकट पर सीट नंबर देखा जो कि मेरे सामने वाली ही सीट थी. मैंने भाभी की साड़ी खोल दी और वो हंसती हुई ब्लाउज पेटीकोट में चली गईं. ललिता अक्सर रात को मेरे रूम में आ जाती है और फिर हम दोनों रात भर जमकर चुदाई करते हैं.

गाड़ी वहां से निकली, जिसके बाद उस आदमी ने मेरे कंधे से ले जाकर सीट के पीछे अपना हाथ रख लिया. जल्द ही बॉस ने अपनी कमर हिलाना शुरू कर दिया और मेघना के मुँह को ही चोदने लगा. इंजॉय सेक्सी वीडियोकुछ देर बाद मुझे ऐसा लगा कि मेरा पानी निकलने वाला है तो मैंने जल्दी से लंड को बाहर निकाला और अपनी बहन के मुँह पर सारा पानी निकाल दिया.

ये देसी गर्ल पोर्न स्टोरी हिंदी मेरे और मेरी गर्लफ्रेंड के बीच हुए सेक्स की है. वैसे तो मैंने एक होटल बुक कर लिया था मगर गांव के दौरे पर जाने के लिए मुझे गांव के नजदीक कहीं किसी कमरे की जरूरत थी, जहां से मैं कंपनी का काम संभाल सकूं.

कभी हाथों से, तो कभी अपने मुँह से … जी भरके मैंने सोनी के चूचों से कपड़ों के ऊपर से ही खेला. मैंने पूनम से पूछा कि तुम तो शादीशुदा हो … ये तुमने कभी बताया क्यों नहीं?पूनम ने कहा- मुझे लगा कि अगर मैं ये बात तुमको पहले बता देती, तो शायद तुम मुझसे बात नहीं करते. करीब एक घंटे बाद मेरा भाई कोचिंग से वापस आया तो उसके साथ उसका दोस्त भी मेरे घर आ गया था.

इस बार रेशमा के चेहरे पर सिर्फ दर्द की हल्की सी झलक दिखाई दी, पर उसकी चीख नहीं निकली. लेकिन जब धारा ने उसके लंड को अपने मुँह में नहीं भरा तो शेखर ने अपनी आँखें खोलकर ये देखने का प्रयास किया कि आख़िर वो कर क्या रही है!आँखें खुलते ही शेखर ने देखा कि धारा एकटक उसके लंड को निहार रही थी और अपने होठों पर बड़े ही मादक अन्दाज़ में अपनी जीभ फिरा रही थी. धीरे से धारा ने अपनी गर्दन पीछे की तरफ़ घुमायी और शेखर की ओर देखकर एक कातिल मुस्कान दी.

मैंने जैसे ही झटका मारा, मेरा लंड भाभी की गांड में आधे से अधिक अन्दर घुस गया.

पहले तो उन्होंने मेरे होंठों को चूसा, जिसमें मैंने भी उनका बराबरी से साथ दिया. वो भी जल्दी से तैयार हुए और हम लोग 8 बजे के करीब घर से बाहर रोड पर ऑटो पकड़ने के लिए आ गए.

अपनी जीभ को पूरे लंड पर चलाते हुए सुपारे को किसी कुल्फी की तरह आगे पीछे करते हुए चूसने लगी. मैं उसके ऊपर से हटा, अञ्जलि को सीधा लिटा दिया, उसकी टांगों को खोल कर चूत चौड़ी की और आधा लंड उसकी चूत में डाल दिया. तभी मेरे दमदार धक्कों को झेलती हुई भाभी ने अपनी चूत का पानी बाहर निकाल दिया.

भाभी भी काफी मजाकिया थी, उन्हें मैं रोजाना बाजार से लाकर कुछ न कुछ खाने की चीज देता रहता था. रवीना मौसी बोलीं- साली अकेली चुदवा रही है, मुझे क्यों नहीं बुलाया?तो मॉम बोलीं- तू रंडी कब से चुदवा रही है, मुझे तो कभी नहीं बुलाया. मैंने अपने दोनों हाथ नीता की पीठ के नीचे डालकर उसे कस लिया और जोर जोर से धक्के मारने लगा.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन आपने मेरी पिछली सेक्स कहानीविधवा टीचर के तन की प्यासको बहुत सराहा था. अगर मैं घर पर सीसीटीवी कैमरा लगवाता हूँ, तब भी ये बात मेघना को पता चल जाएगी और उसके अलावा मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था.

ट्रिपल एक्स डॉट कॉम सेक्सी

वो बार बार लंड के बाहर चूसतीं और फिर से पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगतीं. बस इसी तीव्रता में मैंने आठ दस जोर जोर के धक्के मारे और गीता झड़ने लगी. सुमैत्री तो मेरे से भी ज्यादा तेज निकली, उसने मेरा लंड पकड़ा और झट से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

तब तक मैं अपने कालेज की पढ़ाई पूरी करके घर में कुछ दिन के लिए रहने आ गया. ये जो घटना है, कुछ चार साल पहले की मेरे और मेरी बड़ी साली मीता के बीच की चुदाई कहानी है. लड़कियों की सेक्सी बफमेरे मायाजाल में फंसकर आज एक जवान लड़की अपने भाई के सामने नंगी होकर चुद रही थी और उसका भाई उसके बोबे मसल रहा था.

मैंने इशारे में भाभी से पूछा- घर में कोई है?भाभी ने ना में सिर हिलाते हुए कहा- नहीं.

मेरा हाथ अब साबिरा जैसे कमसिन और जवान बदन को छू रहा था, उसकी ब्रा की पट्टियां खींचते हुए मैंने उसका कुरता भी नीचे की तरफ खींच दिया. मेरी उंगलियों को और हाथ को भिगोते हुए रेशमा का चूतरस पूरे बिस्तर को गीला करने लगा.

आसिफ बोला- तूने मेरी बहन पर क्या जादू किया है साले, उसका पीछा छोड़ दे. फिर सुबह जैसे ही उसका पति जॉब पर गया, उसने मुझे खिड़की से इशारा किया कि आ जाओ, मेरा पति चला गया है. मैंने भी बेशर्मों की तरफ अपना हाथ बढ़ा दिया और सर के हाथ से सिगरेट ले ली.

ये बात आज से 2 साल पहले उस वक्त की है जब मैं अपनी ग्रेजुएशन की दूसरे साल की परीक्षा देने वाला था.

ये कहते हुए मैंने अपने दोनों हाथ उसके दोनों मम्मों पर रख दिए और उनको दबा दिया. जैसे ही मेरी जीभ उसकी गांड में लगी, वो सिहर उठी और मेरी तरफ देख कर एक स्माइल दे दी. दोनों ने अपने अपने बारे में बताया और एक दूसरे को समझा जिससे हमारे बीच दोस्ती और भी गहरी हो गई.

वीडियो पिक्चर सेक्सी ब्लू पिक्चर सेक्सीसारे कपड़े खोलते समय वो मेरी लुल्ली को टटोलने लगे थे तो मैंने उन्हें लुल्ली पर चढ़ी मेरी स्पेशल चड्डी को हटाने के लिए रोका. सेक्सी हॉट गर्ल फक़ स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने दोस्त की चचेरी बहन को उसी के घर में चोदा.

सेक्सी ट्रिपल एक्स सेक्सी

भाभी की बहन ने उनको समझाया कि थोड़ी देर दर्द होगा लेकिन बाद में बहुत मज़ा आएगा. इस वक्त अगर शेखर के हाथ खुले होते तो शायद वो झपट कर धारा के नितम्बों को अपने बाहुपाश में जकड़ लेता और उसके गोरे चिकने चूतड़ों पे अपने दांत गड़ा कर नीले निशान बना देता. पहली बार मुझे उसके बूब्स का कोमल अहसास हुआ, लेकिन सुमन को गिरने के कारण दर्द हुआ.

मॉम ने जब तक मुझे दबाए रखा जब तक पूरा माल उनकी चूत में नहीं गिर गया. उनके साथ ही कुछ दिन बाद हीरा बाबू भी आगे की पढ़ाई के लिए पटना चला गया, जिस वजह से अब मैं अकेली हो गयी. मैं उसकी चूत जोर जोर से चूस रहा था तो गीता एकदम से कसमसाती हुई झड़ने लगी.

थोड़ा अंधेरा था इसलिए साफ नहीं दिख रहा था, बस इतना दिख रहा था कि कोई औरत है और वो बहुत ध्यान से मुझे और मेरे लंड को देख रही थी. मैंने उस दिन एक ट्रांसपेरेंट साड़ी पहनी और ब्लाउज एकदम टाइट वाला पहना था. जैसे ही हम कमरे में अन्दर घुसे मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया और घुमा कर किस करना शुरू कर दिया.

अब मैंने रूपा को रुकने के लिए कहा और वो दूध मसलना बंद करके सीधी खड़ी हो गई. शेखर की प्यास बुझाने के लिए धारा ने अपने दोनों हाथों की उँगलियों से अपनी चूत को जहां तक सम्भव था खोल दिया और शेखर को अछी तरह चूत चाटने और चूसने का मौक़ा दिया.

मैं आंटी के ऊपर आ गया और लंड को चूत में रखकर जोर का धक्का लगा दिया.

भाभी मेरे ऊपर आकर लेट गईं और एक लम्बी किस करने के बाद कहने लगीं कि जिन्दगी में आज पहली बार मेरी चूत ठंडी हुई है. अच्छी चुदाई वाली सेक्सीरूम में जाते ही मैं भाभी को पकड़ कर किस करने लगा और वो भी साथ देने लगीं. सेक्सी सेक्सी लंड चुदाईअब मॉम लंड को चूसने लगीं और मेरे हाथ अपनी चूचियों पर रखकर बोलने लगीं- तनु, आज की रात तू जो चाहे कर ले, मैं तुझे रोकूंगी नहीं. फिर मेरी नींद खुली सुबह आठ बजे, मैंने मोबाइल में देखा तो दोनों ही सो रहे थे.

मैं चूत के आजू बाजू अपने होंठों से चूमने लगा तो गीता सिहरकर आहें भरने लगी.

अब चूत का मुँह खोलने के लिए मैंने अपनी बहन की गांड के नीचे एक तकिया लगाया और चूत को एक बार चाटा. इसी बीच उसने कहा- भैया, तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?मैंने कहा- थीं, बहुत सारी … अब एक भी नहीं है. Xxx जीजा सेक्स कहानी में मैं एक बार अपनी छोटी बहन के पति से चुद कर मजा ले चुकी थी.

हल्के हल्के अन्दर बाहर करते हुए मैं उसकी गांड चोद रहा था और उसके एक मम्मे को दबाता जा रहा था. मैं इन्हीं ख्यालों में खोया हुआ था, तभी कोमल ने कहा- चलें!मैं- हां ठीक है चलो. नंदा मुझे और मैं नंदा के बारे में अच्छी तरह समझ गए थे कि कब रुकना है, कब चालू होना है.

गुजराती ओपन सेक्सी पिक्चर

उसके टॉप के निचले हिस्से से अपना हाथ घुसा कर उसके पेट को सहलाने लगा. कुछ समय तो मैंने बिना सेक्स के बिता लिया पर उसके बाद मुझे सेक्स की जरूरत महसूस होने लगी थी. कुछ देर यूं ही चोदने के बाद मैंने सुमैत्री से कहा- अब तुम डॉगी स्टाइल में झुक जाओ.

सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि किस तरह से हम दोनों देवर भाभी के बीच सेक्स हुआ.

मैंने उसे चिढ़ाने के लिए यूं ही बोल दिया- मेरा एक ब्वॉयफ्रेंड है और मैंने उसके साथ सब कुछ किया है.

हम दोनों ने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और थप थप की आवाज़ से लंड अन्दर बाहर अन्दर बाहर करने लगा. मैं कभी लंड बाहर निकलता, कभी पूरा अन्दर ठोक देता, कभी उसे किस करता तो कभी निप्पल चूसने लगता. नंगी सेक्सी मजेदारभाभी विलेज़ सेक्स का मजा लेती हुई बोल रही थी- आह … आज जी भर कर मुझे प्यार कर लो मेरे देवर जी.

सरिता मेरी पीठ और गांड को सहलाकर बोली- हां हर्ष,द मैं तुम्हारी मजबूरी समझती हूँ … लेकिन तुम्हारा मूसल इतना बड़ा है तो तकलीफ तो मेरी चूत को ही होगी ना जान. ये देखकर मॉम बड़ी खुश हुईं कि मैंने आज दीपाली को पूरे जोश से चोदा है. मेरे चिल्लाने पर साबिरा ने भी आंखें खोल कर देखा, तो उसका गांडू भाई उसकी चड्डी हाथ में लेकर उसकी चूत को साफ कर रहा था.

अचानक एक दिन मेरा मेरी गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप हो गया और अब मैं सिंगल हो चुका था. अब तो भाभी जैसे पागल सी हो गई, उन्होंने मुझे 69 पोजीशन में आने को कहा.

उसके मुँह से जैसे ही मैंने सुना कि वो अभी दुधारू माल है … मेरा लंड टनटन करने लगा.

थोड़ी देर बाद मैंने खुद ही पूछ लिया कि आपकी पत्नी कहां है?उन्होंने बोला कि वो बाथरूम में है, थोड़ा इंतजार करना पड़ेगा. वो जिद पकड़ कर बोलीं- बता न यार … क्या शुरू हो गया था?मैंने लिख दिया- हिलाना शुरू कर दिया था. खाना खत्म करके हम जल्दी ही वापिस होटल पर आ गए क्यूंकि अब तक हमारे बदन की थकान कम नहीं हुई थी.

सेक्सी पिक्चर दिसणारे व्हिडिओ तभी उस दूसरे आदमी ने मुझे सहारा देते हुए पकड़ा और मेरी एक चूची को अपने हाथ में ले लिया. पाठको, मैं राज शर्मामेरी पिछली कहानीपड़ोसन आंटी ने मुझे फंसाकर चूत चुदवा लीमें आपको अपनी पड़ोसन आंटी की चूत गांड चुदाई की कहानी बता रहा था.

मैंने उससे पूछा- ये बता तूने अब तक कितने लंड लिए हैं?वो बोली- मैं चार लंड ले चुकी हूँ भाई. मैं भी उसके बगल में लेट गया और कब हम दोनों की आंख लग गई, पता ही नहीं चला. अब आगे पढ़ें लंड गांड की कहानी:मेरी ललिता भाभी से अच्छी दोस्ती हो चुकी थी.

सेक्सी वीडियो सॉन्ग वीडियो

ठंडी के मौसम के बीच के दिनों में एक दिन मैं सोफे पर बैठा हुआ था और कम्बल ओढ़ कर टेलीविज़न देख रहा था. उधर मेरी मॉम शर्म से लाल हो गयी थीं और शरारती मुस्कान देती हुई बोलीं- पागल, ऐसे कौन करता है. रुचिका बोली- अगर आज इधर न बैठ कर मेरे बेड पर बैठ कर पिएं तो कैसा रहेगा.

कुछ देर के बाद पूनम अलग हो गई और मुझसे बोली- अरुण मैं तुम्हारे साथ सेक्स करने के लिए गर्म हो गई हूँ, लेकिन हम यहाँ अच्छे से कुछ नहीं कर पाएंगे. पर शायद नीरज के साथ एक दिल के रिश्ते की उम्मीद थी तो मैंने ब्रीजर कह दिया।तीनों मेरा जवाब सुनके ठहाके मारके हंसने लगे, बोले- ब्रीजर दारू नहीं, कोल्ड ड्रिंक होती है.

मैंने ब्लाउज और ब्रा को उतार दिया और भाभी की कमर पकड़ कर अपनी जीभ को दोनों चुचियों के बीच फेरता हुआ भाभी के पेट पर फेरने लगा.

तभी मेरे सर भी उठ कर आ गए और मुझे देख कर बोले- अरे पूनम तुम … इतनी बारिश में कैसे आ गयी?मैं बोली- सर ऑटो से. शिराज को गुस्से से गालियां देते हुए मैं बोला- अब देख क्या रहा है भोसड़ी के? चल जुबान बाहर निकाल … और चाट अपनी मालकिन की गांड कुत्ते, अच्छी साफ कर अपनी बहन की गांड मादरचोद. ललिता की गांड का छेद अब खुल चुका था और दर्द की जगह अब मजा ने ले ली थी.

कुछ मिनट हम दोनों ऐसे ही लेटे रहे इसके बाद मैंने अपना सर उठाकर देविका के गुलाबी होंठों से लगा दिया और उसको चूमने लगा. और भाभी के दोनों भाई चाचा के घर में काम काज करवा रहे थे।पानी पीकर हम और भाभी चाचा चाची के घर गए और उनसे मिले. सुनीता भी मेरा साथ देने लगी और बेड से उठ कर खुद ही अपनी साड़ी अलग करने लगी.

मैंने उससे कहा- चुदाई के वक्त गालियां देने में बड़ा मजा आता है, इसलिए अगर मैं तुम्हें गालियां दूं तो तुम्हें कोई दिक्कत है?उसने कहा- मैं तो चुदने पड़ी हूं … मुझे कोई दिक्कत नहीं है.

बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म इंडियन: मैंने पूछा- अम्मा कितने बजे जाएंगी?भाभी ने बताया कि बस वो दोनों दस मिनट बाद चली जाएंगी. अब दोनों की सिसकारियां तेज़ होने लगीं और दोनों ने अपने होंठों को एक दूसरे के होंठों से चिपका लिया.

मैं और जोश में आकर तेजी से झटके लगाने लगा और आंटी की दोनों चूचियों को मसलने लगा. थोड़ी देर में मॉम बोलीं- तनु आज नहीं चुसाएगा क्या?मैंने कहा- नहीं मॉम … आज मेरा मूड नहीं है. भाभी बोली- कहां पैर में दर्द हो रहा है?और पैर पकड़ कर दबाने लगीं।फिर भाभी ने कहा- पैन्ट उतार दो.

मैंने उन्हें घोड़ी बनाया और गांड में तेल लगाकर धीरे धीरे मालिश करने लगा.

कुछ पल के बाद एक 40 साल के आस पास का नाटे कद का भरे बदन का आदमी बाहर आया. फिर भी कन्फर्म करने के लिए मैंने पूछ लिया- फिर क्या हुआ … अच्छा लगा ना?इस बार उसने शर्माते हुए हां में सर हिलाया. उन्होंने मुझे घुटनों के बल बिठाया और अन्दर गले तक अपना लंड ठूंस दिया.