वीडियो में दिखाइए बीएफ

छवि स्रोत,भाभी देवर की एक्स एक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

गुजराती sex: वीडियो में दिखाइए बीएफ, फिर उसने ऐसे ही पीछे हाथ करके लंड पकड़ा और उसे गांड में घुसवाने की कोशिश करने लगी; हिलने लगी.

सेक्सी बीएफ चुदाई चूत

फिर मैंने उसकी एक टांग उठा दी और तेज़ी से लंड चुत में अन्दर-बाहर करने लगा. हिंदी ब्लू फिल्म सेक्सी सेक्सीमैं भाभी की चूत देखकर एकदम झूम उठा क्योंकि इतनी सुंदर चूत मैंने पहले कभी नहीं देखी थी.

फिर वो बोली- राज, आज मुझे होश में ना आने दो।उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी और मेरे शरीर में हाथ फेरने लगी।अब तक मुझे भी उसका ऐसा करना अच्छा लगने लगा था। जवान लड़की अपनी चूत देने के लिए तैयार बैठी हो तो किसे बुरा लगेगा. बीएफ ऑस्ट्रेलियाउसकी एक टांग को अपने हाथ में पकड़ा और चुत में लंड घुसा कर तेज़ तेज़ चोदने लगा.

मैंने कहा तो निकाल दीजिए न … किसने रोका है!वो मुझे चूमते सटासट चुदाई में लग गए और मेरी चूत में ही अपने लंड के माल को निकाल कर मेरे ऊपर निढाल हो गए.वीडियो में दिखाइए बीएफ: इसके बाद जब भी मैं वहां जाती हूँ … तो हम दोनों मौका मिलते ही चुदाई कर लेते थे.

मां ने कुछ नहीं बोला और पूछा- अमित, तू कब आया दोस्त के घर से!मैंने कहा- बस अभी अभी आया हूं.जैसा कि आप सभी को मालूम है कि तारक मेहता वाले सीरियल में सोढ़ी नामक एक सरदार बड़ा ही नॉटी दिखाया जाता है और उसकी सेक्सी बीवी रोशन भी बड़ी चुलबुली किरदार है.

हिंदी बीएफ आवाज के साथ - वीडियो में दिखाइए बीएफ

मैंने कहा- आंटी ये किस क्या होता है?वो हंस कर बोलीं- तुझे किस नहीं मालूम कैसे किया जाता है?मैंने ना में सर हिला दिया, तो आंटी ने मुझे अपनी तरफ खींचा और मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और मुझे चूमने लगीं.फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिटाया और उसकी पैंटी उतार कर उसकी चुत को चाटना और चूसना शुरू कर दिया.

मैं अंदर डालता तो मेरा लण्ड मानो उसके पेट में अंदर जा रहा हो, बच्चादानी में टकरा रहा हो, ऐसा लगता था. वीडियो में दिखाइए बीएफ मैं उन्हें चूमता हुआ उनके कमरे तक लेकर चला गया और वहां अंदर खड़े-खड़े ही किस करता रहा.

अब वो आह करने लगी तो मैंने एक कदम और आगे बढ़ कर उसकी क्लिट को उंगली से छेड़ना शुरू कर दिया.

वीडियो में दिखाइए बीएफ?

उसके बाद भाभी ने ब्रा उतारा तो उनके बड़े- बड़े दो कबूतरों हवा में लटकने लगे और वहीं पर मेरे लंड में तनाव आना शुरू हो गया. मैंने एक हाथ शीना भाभी के टाप में अन्दर डालकर चूचियों को जोर जोर से दबाना शुरू किया. वो टीवी और फिल्मों में काम करना चाहती थी … क्योंकि वो बहुत सुंदर दिखती थी.

मां ने अपने शरीर पर वैक्सिंग भी की हुई थी इसलिए मां ज्यादा चमकदार लग रही थीं. कोई भी लड़की या भाभी मुझे देखेगी तो मेरे ऊपर पहले से ही फिदा हो जाएगी. मैंने हाथ बढ़ा दिया और उससे कहा- हाथ तो मिला लो यार!उसने धीरे से इधर उधर देखा और हाथ बढ़ा दिया.

चूसते चूसते वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरे हाथ अपने आप उसके गोल गोल सुडौल गांड को सहलाने लगे. मैं एक हाथ से अपने मम्मों को ढके थी और एक हाथ से नीचे अपनी चूत को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी. उनके होंठों से मेरे मम्मों की घाटी को छूने से मेरे बदन में एकदम से वासना भर गयी.

आपको इस सेक्स कहानी में क्या अच्छा लगा, जरूर बताइए, मैं सभी के मेल पढ़ती हूँ. मैंने कभी नहीं सोचा था कि यह चूत चोदने मिलेगी इतनी जल्दी!अब मैंने उसकी ब्रा के हुक को खोलकर उसके गोल गोल गेंदों जैसे बूब्स को आजाद किया और हाथों से मसलना चालू किया.

मौसी ने पहले रूम में जाकर अपनी साड़ी बदल ली और लैगिंग्स और कुर्ता पहन लिया.

मैंने उसके कान में कहा कि ये मेरा औज़ार है और इससे हम मर्द, चुत चोदते हैं.

लेकिन दूसरी ओर मेरे अन्दर की औरत ये कह रही थी कि इतने समय के बाद किसी मर्द के स्पर्श से जो उत्तेजना हुई थी, उसका भी अहसास कुछ और ही था. उन्होंने धीरे-धीरे वैसलीन से सनी उंगली मेरी गांड की तरफ से छेद में फेरना शुरू कर दी. अब मैं जानबूझ कर उसके सामने नाचने लगा और वो भी मेरे साथ नाचने लग गयी.

ये सुनकर वो बोली- राज, तू क़िस्मत वाला है कि बिहारी होकर हरियाणा की जाटनी चोद रहा है. कुछ पल बाद विजय ने सरिता भाभी को नीचे उतारा और उसके होंठों को चूसने लगा. कभी मैं उसके मुलायम गुलाब जैसे होंठों को चूमता, तो कभी गर्दन पर किस करता, तो कभी उसके कान की लौ काट लेता.

राजीव भी अपने दोनों हाथों से मेरी नंगी पीठ सहला रहे थे और कुछ ही पल में उन्होंने मेरे ब्लाउज का हुक खोल दिया.

बहुत ही मदहोशी वाले अंदाज में हम दोनों एक दूसरे के होंठों को खा रहे थे. मैंने एक और धक्का मारा तो मेरा पूरा लंड मौसी की चुत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. तेरा क्या भरोसा पहले तू मुझसे फंस जाए और फिर किसी दिन तेरी इच्छा भर जाए … तो किसी और को फंसा ले.

अभी ज़ीनिया की सेक्स कहानी का ही मजा लेते हैं, बाद में उसकी मम्मी की चुदाई की चर्चा करेंगे. पहले तो उसने मुझे रोका, लेकिन जब मैं नहीं रुका तो थोड़ी देर बाद उसने मुझे रोकना बंद कर दिया. इस कहानी में मैं अपने उन्हीं दोस्त अरविन्द से दोबारा मिली थी और उन्होंने मेरी जिस्मानी भूख की जरूरत को बड़ी अच्छी तरह से पूरी की थी.

जब वो घर आते तो मैं उनको देख कर स्माइल करती और उनके साथ बाहर घूमने को कहती.

कुछ देर बाद जब हमारी सांसें कंट्रोल हुई तो मैं खड़ा हुआ और अपना लंड उनकी चूत से निकाल कर अपने कपड़े पहन लिए और एक लंबा किस देकर मैंने उनसे विदा ली. फिर मैं अगले दिन से अपने काम में व्यस्त हो गया पर रश्मि अचानक से मोबाइल में बिज़ी रहने लगी.

वीडियो में दिखाइए बीएफ झटके से रंगोली के दूध ऊपर नीचे होने लगे, उसकी आंखें बंद थीं और मुँह खुला था. मैं धीरे धीरे उसके पैरों की सहलाने लगा और वो भी कोशिश करके धीरे धीरे मेरे पास को खिसक रही थी.

वीडियो में दिखाइए बीएफ थोड़ी देर चिल्लाने के बाद नाज शांत हो गई और मेरे लण्ड के धक्कों के जवाब में गांड धकेलने लगी. मैं एक कठपुतली की तरह बैठ गई और उसके अगले एक्शन का इंतजार करने लगी.

उनका गाढ़ा गर्मागर्म वीर्य अपने अन्दर महसूस करके सच में मैं तो सातवें आसमान पर ही थी.

हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ सेक्स

”मैं थोड़ा सा और करीब होते हुए बोला- पिछले तीस सालों में मैंने हर मौके पर आपके परिवार की मदद की है और इज्ज़त पर आँच नहीं आने दी. सेक्स कहानी व्यक्त करने के लिए ऐसे शब्दों का चयन करना ही पड़ता है, जिन्हें चयन किए बिना दृष्य और भावनाओं को व्यक्त नहीं किया जा सकता है. मैं उनके सामने ब्रा में आ गयी थी और उसके बाद जेठजी ने मेरा पेटीकोट भी निकाल दिया.

’बाहर से अनन्या की कोई आवाज नहीं आयी मगर मैं बस उसे छेद को फाड़ देना चाहता था. उन्होंने मेरी पीठ को चूमने के बाद मुझे सीधा लिटाया और मेरी बड़ी बड़ी चूची को अपने मुंह में लेकर चूसने लगे. मैंने भी बिना कुछ बोले आंटी के एक चूचे को मुँह में दबाया और चुत में लंड की फ्रंटियर मेल दौड़ा दी.

खुश होते हुए मैंने कहा- हां हां, तू जब भी मुझे बुलायेगी मैं किसी काम के लिए मना नहीं करूंगा.

सिस्टर की गांड की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी चचेरी बहन मुझसे सेक्स के लिए उतावली थी. हालांकि मैं उम्र में तुमसे बड़ी हूँ, लेकिन मेरा ये वादा है कि तुमको किसी भी जवान औरत से ज़्यादा सुख दूंगी. ” मैं मुस्कुराते हुए बोला और उसकी बांहों को पकड़कर अपने ऊपर लेटा लिया.

फिर उसने अपना फोन साइलेंट पर किया और मुझसे बोला- तू भी अपना फोन बंद कर दे. जब तक मेरे लंड की आखिरी बूंद नहीं निकल गयी, तब तक मौसी मेरे लंड को हिलाती रहीं और मैं उनके मम्मों को दबाता रहा. तब अमिता ने कहा कि उसके पति विवेक को 3 दिन के लिए दिल्ली जाना है इसलिए आज नहीं आई.

बकरी बनने से औरत की बुर टाइट हो जाती है और लण्ड बहुत फँसकर अन्दर बाहर होता है. लंड अन्दर लेते ही वह बहुत तेज से चिल्ला पड़ी- आई मम्मी, मर गई आह निकालो रंजीत … मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा है … आई आह बाहर निकालो प्लीज.

बोलो तुमको बकरी बना दूँ?कुछ भी बना दो, बस प्यार करते रहो, आज बहुत दिनों बाद आरजू पूरी हुई है. वो हमारे घर से केवल 3 घण्टे की दूरी पर ही था और अक्सर किसी वीकेंड पर हम वहां निकल जाते थे. वो मुझे अंदर रूम में ले गए और बोले- लेट जाओ!मैंने साड़ी पहन रखी थी.

अंकल लंड को मां के मुँह से बाहर निकाला और देखने में ऐसा लग रहा था कि आज इस लंड से सच में मां की चुत फट ही जाएगी और जिस तरह से कुंवारी चुत सुहागरात में फट जाती है उसी तरह का खेल होने वाला है.

फिर मैंने उसके सिर को कस कर पकड़ लिया और जोर से उसके मुंह को अपने लंड पर धकेलते हुए लंड को उसके गले में फंसाकर वहीं पर रोक लिया. अगले दिन मामा मामी, रितिका को छोड़ने आ गए और कुछ समय मेरे घर रुकने के बाद वो दोनों दिल्ली के लिए निकल गए. मैंने जोर डाला तो सुशी जी गुस्सा हो गईं और साइड में होकर मुझसे दूर हट गईं.

उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी लोवर में डाल दिया और अपनी चूत पर रख दिया. फिर मैं अपने कमरे में आकर सो गया और दस बजे रंगोली ने मुझे उठाया- भाई उठ … लेट हो गया.

साथियो, मेरा नाम अरिजीत सिंह है और मैं चंडीगढ़ से थोड़ी दूर के एक छोटे कस्बे में रहता हूँ. मैडम बहुत खुश हुईं और बोलीं- हां तुम्हारा गुलनिहाल कहना मुझे बड़ा अच्छा लगा और सुनो अब से तुम मुझे सिर्फ गुल ही कहा करो यार … निहाल जी लगा देने से मैं खुद को तुमसे बहुत बड़ी महसूस करने लगती हूँ. मैंने कई बार नोटिस किया था कि अंकल मेरी मां को मन ही मन प्यार करते हैं.

सेसी मराठी

उनकी आंखों में देख कर में उसे अपने मुँह में अन्दर बाहर किए जा रही थी.

मुझसे वो चिल्लाते हुए बोली- मादरचोद यही तेरा कॉलेज है … यही तेरी पढ़ाई है! साले कमीने पूरे एक हफ्ते से ज्यादा हो गया, तुमने मुझसे बात तक नहीं की, मुझे छुआ तक नहीं और इधर मेरी मौसी को ही चोद रहा है. अगले दिन जब मैं स्कूल से घर आया तो रास्ते मैं उन्हीं ने मेरा पीछा किया. मुझे महसूस हुआ कि कहीं मेरा निकल ना जाए तो मैंने अपने लंड को ऊपर तक ले जाकर फिर से ठांसा, तो नील के मुंह से ‘आहह आआआह …’ करके एक गहरी और लंबी सिसकी निकली.

कुछ ही देर में आंटी का पेटीकोट जांघों तक उठ गया और उनके ब्लाउज से उनकी चूचियां मुझे गर्म करने लगीं. मैं उनकी चुत को और तेज तेज चाटने लगा और अपने हाथों से मम्मों से हटा कर उनकी गांड को भींचते हुए नौंचने लगा था. बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी इंग्लिशमैंने पूछा- सब खैरियत तो है? एसी में कोई दिक्कत आ गई है क्या, जो सुबह से ही बंदे को याद कर लिया.

नील ने कहा- आप जैसे गबरू इंसान से चुदना हर किसी की किसमत में नहीं होता. मेरे तने हुए लंड को देख कर बोलीं- बस अब मत तड़पाओ अपनी भाभी को … अपने इस बिग कॉक को मेरी चूत में डाल दो.

मैंने दीदी की चूचियां मसलते हुए कहा- हां दीदी, मुझे भी आपकी चुत की बड़ी याद आ रही थी. उसकी साफ़ चमकती चिकनी टांगों को देख कर मैं उत्तेजित हो गया और मेरे दिमाग में रितिका को चोदने के ख्याल आने लगे थे. मैं ये सुनकर दंग रह गया कि जो लड़की इतनी देर से सेक्स की बात ही नहीं कर पा रही थी, वो मेरे साथ नहाने की बात कह रही है.

उनकी उम्र 40 साल की थी, पर उनके 34 के दूध इतने मस्त उठे हुए थे कि लंड की क्या औकात जो उनको खड़े होकर सलामी न दे. 10 मिनट उसी पोजीशन में चोदने के बाद मैंने उनको घोड़ी बनने के लिए बोला. होटल में टीवी देख कर थोड़ा टाइम पास किया मगर मेरे दिमाग से उस लड़की का ख्याल जा ही नहीं रहा था.

फिर सरोज ने मुझे खड़ा किया और वो अपने मुँह में लंड अन्दर तक घुसा कर गपागप गपागप चूसने लगी और मेरी पीठ को सहलाने लगी.

मॉम के चूतड़ पूरे हिल रहे थे चलने में … और उस पेंटी ने उनकी सिर्फ बीच की दरार को ही ढक पाया था जिससे उनके पूरे चूतड़ दिख रहे थे. जेठजी को मस्ती सूझने लगी और उन्होंने मेरे पैरों के ऊपर अपने पैर रख दिए और मुझे छेड़ने लगे.

उसकी गांड उठ रही थी और वो जल्द से जल्द लंड चुत में लेने की आतुरता दिखा रही थी. ’ नहीं चाहिए था बल्कि एक पूरा छेद चाहिए था जहां मैं अपना लिंग पेल कर घुड़सवारी कर सकूँ. ऐसा मन कर रहा था कि उसके मुंह को चोद चोद कर उसके गले को लंड से फाड़ दूं.

मैंने चिकनी चूत में अपनी जीभ लगा दी और वो मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसने लगी।अब दोनों एक-दूसरे के अंगों को चूसने लगे।वो लंड को बड़े मजे से चूस रही थी और मैं उसकी चूत को चाटने लगा।मैंने उसकी चूत में जीभ घुसा दी वो लंड को दांतों से दबाने लगी।अब मैंने उसकी गीली गर्म चूत को अपनी जीभ से चोदना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ झटके लगाने लगा. उसकी चूत पर बहुत सारा साबुन लगा कर एक उंगली सटाक से आधी उसकी चूत में सरका दी. अब तो मुझे अपने आपको रोकना बहुत ही मुश्किल हो गया था … क्योंकि किसी भी आदमी का लंड जब कोई औरत अपने नर्म और मुलायम होंठों से चूसती है, तो बहुत मजा आता है.

वीडियो में दिखाइए बीएफ दर्द से मुक्ति पाने के लिए भाभी मेरे होंठों पर अपने होंठों को ऐसे घिसने लगीं, जैसे हम ब्रश करते हैं. ये रात हमारी आखिरी रात है और फिर ना जाने कितने दिनों या महीनों तक हम फिर मिल नहीं पाएंगे.

इंडियन गर्ल एक्स एक्स एक्स वीडियो

अब आगे देसी अंकल सेक्स कहानी:कुछ पल बाद ओमी अंकल मुझसे बोले- रुको, मैं कोई जगह देखता हूं. मैं अन्दर से पानी का गिलास लेकर आई और उसके सामने झुकते हुए उसे अपने मम्मों की झलक दिखाती हुई बोली- लीजिए शायद पहले आपको पानी की जरूरत है. फिर जैसे ही मैं कुछ शांत हुई, तो आशीष ने अपने लंड से मेरी पूरी सील तोड़ते हुए अपना लंड अन्दर घुसा लिया.

ये सब कैसे हुआ?दोस्तो, मैं अंकित एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. हालांकि मेरा उसके लिए कोई गलत विचार नहीं था और न ही मैं उसके साथ कुछ भी ऐसा वैसा करने का मन रखता था. वीडियो सेक्सी बीएफमैंने देखा कि मॉम एक खीरे पर कॉन्डम चढ़ाकर अपनी चूत पर अंदर बाहर कर रही थी.

ये सुनकर वो फिर से चौंक गयी और बोली- तभी मैं सोचूँ … मां इस कमीने की तारीफ क्यों करती रहती थी.

जब मैंने उसके माथे पर चुम्बन दिया तो उसकी आंखों में खुशी के आंसू साफ नजर आ रहे थे. मैंने सुशी जी से कहा- जाओ जाकर देखो, कौन है?जब सुशी जी रूम से बाहर निकलीं, तो अपने मां पापा के रूम में झांक कर देखने लगीं.

गांड मारते मारते मैंने तीन इंच लंड बाहर निकाला और ऊपर से लंड पर तेल की धर टपकाते हुए गांड लंड दोनों को तेल में भिगो लिया. आप लोग की सलाह से और फीडबैक से मुझे कहानी लिखने में सहायता मिलती है इसलिए मेल करके जरूर बतायें. मैंने दनादन स्पीड से उसके भोसड़े में धक्के लगाए और उसकी कमर को इतनी जोर से कस लिया था कि शायद वहां से थोड़ा खून भी चमकने लगा था.

वो जब भी हमारे घर आते, तो हमेशा अपनी हॉट बहू की जवानी पर अपनी नज़र बनाए रखते और मुझे ताड़ते रहते.

फिर मैं हर दिन कोशिश करने लगी कि अंकल जी के सामने कामुक बन कर रहूँ. मेरे मुँह में अंगूर का दाना गया तो ऐसा कि कोई एकदम गर्म फल मेरे मुँह में आ गया हो. इसी प्रकार हम दोनों ने इस नई परिस्थितियों को स्वीकार किया और अपने आने वाले कल के बारे में सोचने लगे.

बिहारी भाभी सेक्स वीडियोउनका लंड एकदम कड़क और 7 इंच लम्बा और किसी दो इंच के पाइप की तरह मोटा लग रहा था. मुमताज के होंठ अपने होंठों में फँसाकर, उसकी चूचियां अपनी हथेलियों में दबोचकर मैंने अपने लण्ड की रफ्तार बढ़ा दी.

सेक्सी चोदा चोदी मूवी

भाभी बोलीं- तो बस देखते ही रहोगे या कभी छुओगे भी!मैंने पूछा- हाथ रख दूं?भाभी बोलीं- हां रख दो. मैंने रघु से पूछा- उस लड़के की क्या कहानी है … जिसने केवल एक बार चोदा था!रघु ने कहा- श्रेया का बॉयफ्रेंड एक नंबर का हरामी था. उसकी नमकीन जवानी को देखते ही 60 साल के बूढ़ा भी उसे चोदने को आतुर हो जाए.

तभी मुझे फोन आया- कैसा लगा?मैं बोली- मैं नहीं जानती थी कि आप इतने रोमांटिक हो … चलिये अब जल्दी आ जाइए. उन तीन लड़कियों में से एक लड़की आजकल उसी शहर में पढ़ रही थी जहां मैं पढ़ाई कर रहा था. फिर जेठ जी ने मेरी कमर पर सर रखकर कुछ देर आराम किया और एक-दो किस भी की.

मैंने फिर से उसकी चूत सहलाना शुरू कर दिया, जिससे शायद वो फिर से गर्म होने लगी और साथ में मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था. उस स्वाद से मैं समझ चुका था कि निशा ने अपनी चूत का पानी भी छोड़ा था और इतनी बार छोड़ा कि उसकी जांघों तक पहुंच चुका था. उसके बावजूद अपनी परेशानी दूर रख कर वो मुझसे मेरे बारे में पूछ रहे थे.

एक दिन की बात है, मैं मैडम के कमरे में उनसे पढ़ रहा था और हमारी बातें भी चल रही थीं. रात को पार्टी शुरू हुई तो शबाना ने कहा- हम तीनों में कोई भी शराब नहीं पीती है.

फिर अचानक आयुष ने उठकर रंगोली को बिस्तर में पटक दिया और उसके ऊपर चढ़कर उसे चोदने लगा.

उन तीन लड़कियों में से एक लड़की आजकल उसी शहर में पढ़ रही थी जहां मैं पढ़ाई कर रहा था. मोटी गण्ड वालीउसके बावजूद अपनी परेशानी दूर रख कर वो मुझसे मेरे बारे में पूछ रहे थे. अंग्रेजी बीएफ दिखाओमुझे इस हरकत की प्रतिक्रिया यह मिली कि उसका हाथ मेरी साड़ी और पेटीकोट के ऊपर से दोनों जांघों के बीच गरमायी और भभकती योनि पर आ गया. बदले में उसने कृत्रिम छेद में इतना जोर का झटका मारा कि वो मेरे योनि छिद्र में झटके से आगे सरक गया और मैं दर्द से कराह गई.

चाकलेट का रैपर निकाल कर मैंने चाकलेट मुमताज के मुँह में डाली और दोनों हाथों में मुमताज की चूचियां पकड़कर बोला- तुम वास्तव में बड़ी हो गई हो.

बहुत दिन हो गए थे, तो मैंने सोचा कि एक सेक्स स्टोरी लिख कर आप लोगों से जुड़ा रहूँ. इसलिए मैंने इन भाईसाब से मदद मांगी थीअंजुमन- ये तुम्हारे भाईसाब हैं?सुमोना- नहीं रे सुन तो … तुम तो कार में घुसते ही सो गई थीं. तभी मैंने सामने देखा कि डायरेक्टर सामने खड़ा था, उसके पीछे सोफ़े पर रश्मि थी.

अब उसने मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और अपने हाथों से मेरी टांगें चौड़ी कर फैला दीं. दोस्तो, अगली कहानी में मैं आपको अपनी मां और पापा के दोस्त अंकल के बीच हुई धुआंधार चुदाई लिखूंगा, जिसमें मैंने अपनी मां को एक पोर्न ऐक्ट्रेस की तरह चुदते हुए देखा था. मैंने पल भर के लिए हाथ पलटा और इस पल में मेरी उंगलियों के टपोरियां उसके लिंग की जड़ पर आ गई थीं.

सविता भाभी के वीडियो सेक्सी

कोमल अब एकदम ज्यादा जोरदार तरीके से नीचे से धक्के लगाने लगी थी जिससे मुझे समझ में आ गया था कि अब उसका कामरस निकलने का समय आ गया है. उस दिन रविवार था और मैं मस्त होकर सो रहा था, क्योंकि आज ऑफिस की छुट्टी थी. वैसे मैं आपको बता दूं कि मैं मस्त मस्त डबल मीनिंग बातें करने में काफ़ी एक्सपर्ट हूँ.

जवानी ऐसी कि जो भी उस गर्म माल को देख ले तो उसके सोए हुए लंड में जान आ जाए.

उसने उठ कर खुद को साफ किया और मेरा लंड भी बॉक्सर से साफ करके मेरे होंठों पर किस करके मेरी बांहों में लेट गयी.

निशा ने भी धीरे धीरे अपने होंठों को मेरे होंठों से रगड़ना चालू कर दिया था. अंकल लंड को मां के मुँह से बाहर निकाला और देखने में ऐसा लग रहा था कि आज इस लंड से सच में मां की चुत फट ही जाएगी और जिस तरह से कुंवारी चुत सुहागरात में फट जाती है उसी तरह का खेल होने वाला है. बीएफ पाकिस्तानी सेक्सी वीडियोपोर्न बैन होने के बाद मैं हताश हो गया था और अपने पुराने कलेक्शन से बोर हो गया था.

लेकिन उस समय उसने मेरा प्रस्ताव यह कहकर ठुकरा दिया कि वो लव मैरिज नहीं करना चाहती है. उससे रहा नहीं गया और उसने रोशन के लंड पर बैठे बैठे ही अपनी ड्रेस ऊपर की ओर उठाते हुए निकाल फेंकी. हईई … मैम की दिलकश जवानी मेरे सिर से पांव तक 440 वोल्ट का करंट दौड़ा रही थी.

कपड़े के नाम पर उसने महज़ एक छोटी सी चड्डी पहन रखी थी, जिसमें से उसका खड़ा लंड साफ दिखाई दे रहा था. मां से मैंने नाश्ता बनाने को कहा … तो कुछ देर बाद मां किचन से नाश्ता लेकर आ गई.

तब मैंने उसके दोनों पैर के बीच मैं अपना पर डाल दिया तो वो एकदम से मेरी तरफ देखने लगी.

थोड़ी देर के बाद मैंने अपना लंड उसकी गांड के नन्हे से छेद पर रख दिया और ऊपर नीचे होकर अन्दर धीरे धीरे घुसेड़ने लगा. क्या बताऊं दोस्तो, उसका कोमल शरीर मेरे बदन से सट गया था और उसके बड़े बड़े स्तन मेरी छाती को छू रहे थे. ओ तेरी, सोढ़ी तुझसेचुदने के चक्कर मेंमैं तो भूल ही गयी कि मैंने गोगी डिकरा के लिए पकोड़े तलने रखे थे.

ब्लू सेक्सी हिंदी में चुदाई उन्होंने लंगड़ाते हुए दरवाजे का सहारा लिया और मुझे अन्दर आने को कहा. रंगोली जोश में अपने होंठ चबाने लगी औऱ उसने चादर को हथेली से भींच लिया.

क्योंकि मैं वहीं रह कर अपनी आगे की पढ़ाई करना चाहती हूं और मेरी पापा के सामने बोलने की हिम्मत नहीं हो रही. मैंने अन्वेषी भाभी को बेड पर चित लिटा दिया और चूत पर थोड़ी देर तक लंड फिराया. तौलिया गिरते ही लता का हाथ उसके मुँह पर चला गया और उसके मुंह से निकल गया- हाय राम इतना बड़ा लंड!चूंकि मैं गर्म हो चुका था इसलिए मैंने देर न करते हुए लता को अपने करीब खींचा और उसे चूमना शुरू कर दिया.

हिंदी बीएफ लेडीस

मैंने कहा- तुम्हें काफी गर्मी लगती है क्या … जो इतने कम तापमान पर AC चला रखा है. वो अन्दर चली गईं … मगर उनकी बातों में मुझे वो भाभी वाली बात कहीं नहीं दिखी. किसी बंगालन के जैसे सेक्स के मज़े वो ही आपके लंड को दे सकती है … और कोई रांड भी आपको वैसा मजा नहीं दे पाएगी.

मैंने एक बार फिर से भाभी के मुँह में लंड को डाल कर चिकना किया और उन्होंने भी मेरे कहने पर लंड पर बहुत सारा थूक लगा दिया था. दोस्तो, मैं निर्वाण शाह एक बार फिर से अपने और कोमल के बीच की चुदाई की कहानी लेकर हाजिर हूं.

मेरी यह चाची चुदाई स्टोरी आज से 6 साल पहले की है जब मैं पहली बार फौज में भर्ती होने के बाद अपने गांव में पहली छुट्टी काटने गया था.

वो सिसकारियां भरने लगी- ऊईई ईईई हाह ईईई ऊईईई ईश्श!मैंने कहा- तुम तो शादीशुदा हो, फिर भी दर्द?वो बोली- मेरे इनका लौड़ा छोटा है और ये बहुत कम चुदाई करते हैं।मैंने पास में रखी तेल की शीशी उठाई और उसकी चूत में लन्ड पर लगाकर जोर से धक्का लगाया. और एक दिन उसे प्रवेश परीक्षा में सफलता मिल गई और इसके बाद चंडीगढ़ के एक कॉलेज में रिसर्च में सिलेक्शन हो गयी. मेरे मामा ने जाने से पहले एक दिन मेरी मम्मी के पास फ़ोन किया और कहा- हम दोनों को शादी में दिल्ली जाना हैं, लेकिन रितिका साथ नहीं जाना चाहती है.

मैंने पूछा- मैडम, क्या आप नहीं जानती हैं कि मैं भी यहीं हूं … फिर भी आप ऐसा कर रही हैं. धीरे धीरे हमारी बातें सेक्स तक पहुंची और मैं फोन पर ही रानी को खूब मजा देने लगा. सुबह 6 बजे करीब मेरी आंख खुली, तो मैंने देखा कि शीना भाभी ने अपनी चुन्नी को शॉल की तरह घुमाकर ओढ़ रखा था.

मेरे ही अचानक से किए इस हमले से मैम हड़बड़ा गयीं … लेकिन खुद पर कंट्रोल करती हुई मुझे अलग करने की नाकाम कोशिश करने लगीं.

वीडियो में दिखाइए बीएफ: हम दोनों इस पूरे हफ्ते में कितनी बार चुदाई कर सकते हैं और कैसे करेंगे. दोस्तो … अब अगली सेक्स कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने ज़ीनिया की मां सविता आंटी को चोदा … तब तक गुडबाय, अपना ख्याल रखें और मेरी कॉलेज गर्ल की चुदाई कहानी कैसी लगी, ये मेल और कमेंट्स में जरूर बताएंमेरी ईमेल आईडी है[emailprotected].

थोड़े दिन बाद उसने मुझे मिलने को बुलाया तो मैंने कैफे में मिलने की बात की. बहुत मजे दिये उसने मुझे।आपको मेरी गरम चुत की देसी चुदाई की ये कहानी कैसे लगी मुझे आप जरूर बताना. दोस्तो, इसके बाद मैंने कई बार चंडीगढ़ जाकर अशी को चोदा और अब भी उससे ही प्यार करता हूँ.

थोड़ी देर के बाद वह अपने होंठों को सीधे मेरे लौड़े पर ले आई और अपना पूरा मुँह खोल कर उसने लौड़े को जड़ तक अपने मुँह में घुसा लिया.

अब्बू का लण्ड तुम्हारे लण्ड से छोटा था लेकिन मुझे तो उस समय छोटे बड़े की कोई जानकारी थी नहीं. जब मेरा हाथ उसकी गर्म नाजुक जांघ पर छुआ, तो उसके चेहरे के भाव विस्मय बोधक हो गए. मैं रानी की इस बात पर शॉक हो गया कि इसको सब पता है कि मैं इसको घूरता था.