फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी सुहागरात की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

प्यार सेक्स: फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो, उसी जगह पर जब मैं उससे मिलने के लिए पहुंचा तो वो दोनों पहले से ही एक दूसरे के साथ लेस्बियन सेक्स का मजा ले रही थीं.

बीपी पिक्चर राजस्थानी

मैं बोला- रूबीना ये चूचियां इतनी मोटी कैसे हो गयीं?वो बोली- बच्चे के लिए दूध आता है इसलिए मोटी हो गयीं. देसी लड़की की नंगी चुदाईमैंने पेटीकोट एकदम नाभि से नीचे बांधा था, जिससे सामने से मेरा पूरा पेट और नाभि दिख रही थी.

फिर मैंने अपने दोनों हाथ उसकी गांड के नीचे डालकर उसकी कमर को उठा लिया और अपनी जीभ से उसकी चूत को चोदने लगा. ಬಿಎಫ್ ಸೆಕ್ಸಿ ವಿಡಿಯೋउसमें से एक दिनेश अंकल थे, जो पापा और मॉम के काफ़ी अच्छे दोस्त भी थे.

मैं कुछ सोचने लगी, तभी सपना की मम्मी बोलीं- हां जाओ बेटा चली जाओ … घूम लो.फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो: हालांकि मेरा लंड किसी अफ्रीकन की तरह लम्बा तो नहीं, मगर सात इंच का है.

वो लोग सुबह आए और शाम तक रुके, फिर शाम को वो लोग घर के लिए निकल गए.सर- बस अब थोड़ा सा और बाहर बचा है … वो भी अन्दर चला जाए, फिर दर्द नहीं होगा.

सेक्सी हिंदी एक्स एक्स - फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो

दूसरी तरफ मेरी मौसी मेरे पिता के लिंग को हाथ में लेकर हस्तमैथुन करने लगीं.वह मस्ती से ‘आहाहा … उह उह …’ करते हुए तड़पने लगी और चूत में लंड डालने के लिए मिन्नतें करने लगी.

दुल्हन के घर के पास तो और जोश के साथ नाचा जाता है क्योंकि भाई की सारी कमसिन सालियां तो वहीं मिलेंगी न. फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो शायद उसने यह महसूस कर लिया कि मैं जागी हुई हूँ क्योंकि मेरी सांस तेज हो गयी थी.

तभी मैंने प्रिया भाभी को गोद में उठाया और रूम के अन्दर ले जाकर बेड पर पटक दिया.

फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो?

पर बदले में तुम्हें मुझे भी चोदना पड़ेगा।मैंने उनसे कहा- ठीक है, मुझे आपकी शर्त मंजूर है।और मैं अपने घर चला आया।दोस्तो, आपको मेरे दोस्त और मेरी गर्लफ्रेंड की मम्मी की चुदाई की कहानी कैसी लगी? बताना मत भूलियेगा. मेरे घर में मेरे अलावा मेरी मम्मी है जिनका नाम सुधा सक्सेना है। इनका फिगर 34D-30-46 है।मम्मी की उम्र अभी 40 की है लेकिन अभी भी वो एकदम माल है. उस रात शकील घर पर रुका अम्मी की चुदाई की जमकर!जाते समय अम्मी को कहा- अगली बार कब आऊं?तो अम्मी ने उसे परसों आने को कहा और साथ में यह भी कहा- मैं सुनीता से बात करूंगी और तुझे फोन पर बता दूँगी.

अपनी गांड में लंड लेने का मौका मुझे कैसे मिला? मेरी गांडू कहानी का मजा लें. कहानी से संबंधित कुछ और प्रश्न हैं तो आप मुझे ई-मेल भी कर सकते हैं जिसका पता मैंने नीचे दिया हुआ है. मैंने जैसे ही नीचे जाकर भाभी को बोला कि चाभी नहीं मिल रही और भैया ऑफिस का काम कर रहे हैं.

कुछ देर तक उनके निप्पलों को छेड़ने के बाद ननदोई जी ने ननद के लोअर में हाथ डाल दिया. अगर आपको कहानी पसंद आई हो तो नीचे दी गयी मेल आईडी पर मुझे मेल करके जरूर बतायें. उसके इस रिएक्शन पर मैंने उसके मन के विचारों को थोड़ा भांप लिया था, मैं जान गया था कि वो भी मेरे तने हुए लौड़े को ही ताड़ रही थी.

उनके नहाने की वजह से साबुन पानी में मिल गया था और पानी में साबुन के झाग की वजह से अन्दर का कुछ नहीं दिख रहा था. गोरे और लबावदार पेट पर मैंने हौले से किस किया, तो दी एकदम से सिहर गई.

उसने एक जोरदार चीख मारी- हाय अम्मी बचा लो … भाईजान ने मेरी चुत फाड़ दी.

मैं उसे एक बार दुबारा देखना चाहता था, इसलिए कार से उतर कर अर्चना भाभी से इधर उधर की बातें करने लगा.

उस रात को भी उसके साथ रात भर चुत चुदाई का मजा लिया और अगले दिन सुबह हम दोनों वापिस आ गए. मैं रसोई से तेल ले आया और मैं मां से कहा- मां, आप अपने कपड़े थोड़े ऊंचे कर लो. फिर अमित और मैंने उसके टेबल का सारा सामान ठीक से जमा दिया।अब अमित ने पापा का भी काम कर दिया और मेरे जाने का समय भी होने लगा.

तभी उस लेडी ने पीछे मेरी तरफ देखते हुए कहा- उठो, चलो तैयार हो जाओ, मेरे राजा … आज की रात मैं तुम्हें पूरा नौचकर खाना चाहती हूं. अम्मी उसको कई बार पकड़ कर बोल रही थीं कि मान जाओ यार … हाथ बाहर निकालो. मैंने एक बार मैम की आंखों में झांका, तो मुझे अपने लंड के नीचे एक चुदासी औरत नजर आई जो लंड लेने के लिए मरी जा रही थी.

मैंने बिना जागे हल्के से आंख खोल कर देखा, तो भाई ने मेरे मम्मों को दबाना शुरू कर दिया था.

मैंने लंड बाहर निकाल कर उसके मम्मों पर अपना पानी डाल दिया और उसके बगल में लेट गया. मैंने बगल में पड़ा एक स्केचपेन उठाया और चुत चोदते हुए उनकी गांड पर दिल के आकार की डिज़ाइन बनाने लगा. मगर बात ने तब मोड़ ले लिया जब मेरे पहुंचने की खबर मेरे एक अन्य दोस्त को भी लग गयी.

और मैं वहां से अपने क्लास चली आयी।वैसे तो मैंने अब तक तीन लड़कों से बात की थी. उसने फिर से लंड मुँह में दिया और दीदी के बालों को ज़ोर से पकड़ कर लंड चुसवाने लगा. ऊपर से मैं पिंकी की चूत में जीभ को अंदर तक डाल कर उसकी चूत को जीभ से चोदने लगा था.

उसकी योनि ने मेरी उंगली को अपनी दीवारों में ऐसा टाईट बांध लिया था कि उंगली ज्यादा कुछ नही कर पा रही थी.

वो बोली- मैं गर्ल हूँ न … तो मैं हुई न तेरी गर्लफ्रेंड?ये कह कर वो हंसने लगी, पर मैं नहीं हंसा. मैंने कमर पर नाईटी को पकड़ लिया और वो मेरी जाँघों को सहलाने लगा और मेरी चूत को मसलने लगा.

फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो फिर मैंने अपने लंड का टोपा आइला की चूत पर रखा और उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर उसके मम्मों को पकड़ लिया. तभी रिंकी बाहर आई और बोली- तुम यहां?तो मैंने बोल दिया- हां, अंकल तुम्हारा ध्यान रखने लिए बोल कर गए हैं.

फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो उसका टेबल मेरी चूत के पानी से गीला हो चुका था। अब तक मैं तीन बार स्क्विर्ट कर चुकी थी।मेरी चूत लाल हो चुकी थी तभी के मुंह से उम्म्ह… अहह… हय… याह… की आवाज आने लगी. बैठे बैठे ही हमने कपड़े पहन लिए। मैं अब अपनी रजाई छोड़कर उसकी रजाई में घुस गया.

अब तक मैं अपने घर से बहुत आगे निकल आया था और सर का घर पास ही में था.

कंडोम के बारे में बताइए

लेकिन फिर मैंने उस सेक्सी लेडी को अच्छे से देखा, उसकी उम्र लगभग तीस बत्तीस साल के आसपास रही होगी. फिर श्रुति ने अपने घर वैशाली को बुला कर मेरी बात उनसे फोन पर करवायी. वो भी गर्म होने लगी और बोली- राज आज तुम मुझे जमकर चोदना।मैंने भाभी की ब्रा पैन्टी उतार कर नंगी कर दिया.

उसकी बुर इतना टाइट थी कि दर्द से मेरी भी हालत खराब हो गयी थी लेकिन बुर के नशे के कारण सब बर्दाश्त कर लिया. महिलाओं का चूत चटवाना उन्हें बहुत उत्तेजित करता है और वो पूरी तरह से संतुष्टि का अनुभव करती हैं।मैंने मामी को भरपूर आनंद दिया और उनको झड़ने पर मजबूर कर दिया. निशा भाभी- क्यों क्या करना है!मैं- मैं आपका हाथ पकड़ कर गियर डालना सिखाता हूँ.

उसे शायद कुछ दर्द का अहसास हुआ, उसके मुख से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह…व सिसकारियां भर रही थी.

मैंने उसे हिलते हुए चूचे देख कर सोचा अगर ये पेलने को मिल जाए, तो मज़ा आ जाए. उसका उतावलापन देख कर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और अपने लंड को उसकी बुर के मुँह पर रखकर घिसने लगा. उन्होंने मुझे धक्का देकर पीछे कर दिया और बोलीं- इतनी जल्दी क्या है अभी तो हमारे पास तीन दिन हैं.

उसके निप्पल एकदम किसी बड़ी दाख के मानिंद कड़े होकर गर्वित अवस्था में मेरे होंठों का इन्तजार कर रहे थे. इस आवाज से रमेश के लंड से चुदने का अहसास और भी ज्यादा तेज हो जाता था. मैं भी उसकी जीभ चूसने लगा।उसकी जीभ चूसने के बाद मैंने मैंने उसकी आँखों में देखते हुए कहा- ज्योति मेरी जान … आई लव यू!तो उसने कहा- भइया जी, मेरी जान … आई लव यू!मैंने कहा- ज्योति जान … तुम सच में बहुत खूबसूरत हो.

अचानक ही मेरा लिंगमुण्ड उसकी गुफा के अन्दर किसी गढ्डे में अटक गया था. आज मैंने अपनी बेटी को बिल्कुल दुल्हन की तरह तैयार किया था, जैसे आज इसकी सुहागरात हो.

कुछ देर बाद उसकी मम्मी चाय बना कर लायी और मैं चाय पीते हुए उनसे बातें करने लगा।उनसे मैंने पूछा- मम्मी जी, कैसी लगी आपको मेरी चुदाई?तो वो बोली- बहुत अच्छा लगा. ननदोई जी का मोटा लंड उनकी चूत में फंसा था।उसके बाद तेजी के साथ धक्के लगाने शुरू कर दिये. मैं भाभी की चूची एक हाथ से दबा रहा था और दूसरी को मुंह में लेकर चूस रहा था.

दोस्तो, आपको वैशाली भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, अपने मेल जरूर कीजिएगा.

माँ ने दरवाजा खोला, माँ खुश थी।मैंने माँ से पूछा- आज क्या खास है जो आप खुश दिख रही हैं?माँ ने कहा- इस तरह का तो कुछ भी नहीं है. कुछ ही देर मैंने उनकी चुनरी को हटा दिया और लहंगे का नाड़ा ढीला कर दिया. उसने अपने दोनों पैरों से मेरी कमर को जोर से पकड़ लिया और अपने होटों को जीभ से चाटने लगी और मुख से सेक्सी आवाज़ में आहें भरने लगी.

झड़ने के बाद अंकल खड़े हुए, तो मैंने देखा कि उनका लंड मेरे आधे हाथ के बारबार दिख रहा था. मुझे लगा मानो पूरे शरीर का खून सिर्फ लंड में ही दौड़ रहा हो और मेरा लंड अभी फट जाएगा.

हम लोगों ने साथ में खाना खाया और फिर वो मुझे घर जाने के लिए कहने लगी. ऐसी पैंटी में कई बार पोर्न फिल्मों की हिरोइनों को मैंने देखा था।पास जाकर मैंने धीरे धीरे अपना हाथ आगे बढ़ाया और उनकी चूचियों को छूने की कोशिश की. कुछ देर बाद भाभी की चूत में से कुछ नमकीन पानी छुटा और वो भाभी एकदम निढाल हो गई.

वीडियो में

उन्होंने मुझे फिर से कुर्सी पर आगे की तरफ बिठा दिया और वो नीचे बैठ गईं.

इनको भी चोद कर अगर सेट कर लिया तो पीहू को चोदने में और भी आसानी होगी।मैंने बात बनाते हुए कहा- मम्मी जी, आपकी सेवा में तो मैं हमेशा ही तैयार ही हूँ. मैंने गुर्राते हुए कहा- ओ हैलो, वो इंस्पेक्टर गया, अब तो मैं तेरे जैसे को हाथ भी नहीं लगाने दूंगी, चल निकल. मैं आपको कैसे भूल सकती हूं।मैं उसकी बातों को अनसुना कर और तेज़ी से धक्के लगाकर उसे चोदने लगा.

मैं भी सुन रहा था कि क्या बात हो रही है।फोन बगल वाले घर से अभय का था. मैंने उससे कहा कि आप परेशान न हो, मैं आपको खुश रखूंगा और ये बोलकर मैंने उसे शांत करवाया. কলকাতার এক্স এক্স ভিডিওफिर वो दो मिनट तक सोचती रही और बोली- ठीक है, आप जैसा कहेंगे मैं वैसा ही करूंगी.

वो मेरी चूत में उंगली करने के बाद मुझे अपना लंड चूसने के लिए बोलने लगे. वो मेरे अंकल आंटी यानि अपने चाचा के घर पर रहकर अपनी पढ़ाई कर रही थी.

दस मिनट तक लंड को चूसने के बाद ऐसा लगने लगा कि मैं अब ज्यादा देर नहीं टिक पाऊंगा. उसके बाद उन्होंने मेरी पैंट को खोल दिया और अंडरवियर भी नीचे कर दिया. और ये बात सिर मुझे पता है कि सागर ने मेरे घर की सभी औरतों को चोदा है.

धीरे धीरे करके मैंने अपने हाथ उसके चूतड़ों पर जमा दिए और उन्हें भी अपनी हथेलियों में भरकर मसलना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद मैं फिर से उठा और दुबारा से भाभी की चुत में लंड डालकर चुदाई शुरू कर दी. ननदोई जी ने मुझे अपने सीने से लगाकर चुप कराया और कहा- मैं आपका दर्द समझता हूँ.

मेरी इस हॉट फॅमिली सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने दो बुआ की चुदाई कैसे की.

ये बात तो खुलकर कर रही हैं, पर आज तक किसी और से नहीं चुदीं, तो मेरे लंड से कैसे चुदेंगी. मेरा हाथ कोमल सा था तो पिंकी को मजा आ रहा था और मुझे इतनी चिकनी चूत को सहलाने में मजा आ रहा था.

कुछ देर बाद मां झूमती हुई आईं और मेरे सामने उन्होंने ब्रा पेंटी छोड़ कर अपने सारे कपड़े उतार दिए. फिर मैंने पूछा- क्या आपने नाश्ता किया माँ?तो उन्होंने- नहीं बेटा, अभी नहीं।मैंने अपने लण्ड की तरफ इशारा करते हुए कहा- क्या आप ये टेस्टी नाश्ता करना चाहेंगी?तो माँ मुस्कुरा दी और और नीचे बैठ कर मेरा लण्ड चूसने लगी और चूसने के बाद मेरा रस पी गयी।फिर माँ ने कहा- चल बेटा, अब जल्दी जा और कपड़े पहन ले।मैं रात होने का इंतज़ार करने लगा. अवनीत के बताने और मेरे सवाल जवाब के बाद कहानी का निचोड़ यह निकला कि इन दोनों का चार साल से अफेयर चल रहा था और पिछले तीन साल से इनमें शारीरिक सम्बन्ध भी थे.

मैंने एकदम से लंड को बाहर खींच लिया और उसकी चूचियों की ओर लंड को करके एक दो बार हिलाया और मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी निकल कर उसकी चूचियों पर गिरने लगी. उसके सामने वाले सोफे पर मैं बैठ गयी और बगल वाले पर क्लास टीचर बैठ गया. उन्होंने पूछा- तुम फोन में ऐसा क्या देखते रहते हो?मैंने कहा- मैम आपको तो मालूम ही है कि आजकल हर चीज फोन में ही उपलब्ध है.

फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो अभी 21 साल की जवान लड़की और मेरी गर्लफ्रैंड हो आप तो?सुधा- कितनी देर के लिए माना है?सागर- अभी तो पूरी रात पड़ी है. उसके दूध अंजलि की तुलना में छोटे थे। मेरे सामने मेघा ऐसी थी मानो चाइना की कोई सेक्स टॉय डॉल पड़ी हो।अब मैंने मेघा को गोद में बिठाया और किस करने लगा.

गैलरी सेक्सी

नीचे दिए मेल पर बतायें अगर कोई गलती हो तो माफ करना।[emailprotected]. यह मेरी लिखी हुई पहली चोदन कहानी है और यह मेरे जिन्दगी की सत्य घटना है. तभी लड़की ने नीचे बैठ कर उस आदमी के लंड को अपने मुंह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी.

काश तुम मुझे पहले मिले होते! आह चोदो और जोर से चोदो! फाड़ दो मेरी गांड!और मैं अपनी स्पीड बढ़ाता गया. मुझे तब समझ आया कि मौसी अब मेरी सौतेली मां बन चुकी हैं और उन्हें एक बच्ची को जन्म दिया है. चूत में लंड हिंदीपूरा लंड डालने के बाद अमित ने मेरी चूत आगे हाथ करके सहलाने लगा और सहलाते हुए अपने स्पीड बढ़ा दी.

वो लोग सुबह आए और शाम तक रुके, फिर शाम को वो लोग घर के लिए निकल गए.

मैं 3 से 4 जोर के धक्के मारूँगा … प्लीज हिलना मत।शांता डरकर बोली- क्या गांड चोदना जरूरी है?मैंने कहा- तू चुपचाप खड़ी रह. क़रीब 2 साल बाद फूफा जी बीमार रहने लगे इस वजह से फूफा कम आते थे लेकिन उनका बेटा शकील आता रहता था और मैं उनकी सारी बात रिकॉर्ड से सुनता था.

यह सोच कर ज़ोहरा खुशी से झूम रही थी कि उसकी जो औलाद होगी वो सबसे निराली होगी क्योंकि वो फ़रिश्ते की औलाद होगी. मैंने ना में सर हिलाया और उनकी दोनों चुचियों पकड़ कर उनके मंगलसूत्र के अन्दर डाल दिया. नहाने के बाद मैं कमरे में गया और टी-शर्ट पहन ही रहा था कि वो कमरे में आई और मेरी चूची पर जोरदार दाँत काट कर भाग गई.

जहां मेरे घर वाले मेरे लिए लड़का देखेंगे, मैं वहीं शादी करूंगी।अब हम दोनों की बहुत बातें हुआ करती थी। मैं उनसे फोन में भी बात कर लेती थी और मुझे जब भी बैंक से संबंधित कोई काम होता तो मैं बैंक में चली जाती और उस वक्त मुझे अमित जी मिल जाया करते थे। वे मेरा काम करवा देते थे.

हुआ कुछ यूं था कि आकांक्षा को ड्राइंग बनानी नहीं आती थी, तो मैंने उसके ड्राइंग में मोर बनाया था. मीनाक्षी भी काम पर आने लगी थी।अब जब भी कभी मेरी पत्नी सुषमा अपने मायके रहने जाती है तो मीनाक्षी भाभी खूब अच्छे से मेरा ख्याल रखती है।. सुनीता की चूत काफी छोटी थी क्योंकि उसके पति का लंड कितना बड़ा नहीं था और ना ही अच्छे से चोदता था.

राजस्थानी चुदाई हिंदी मेंआंटी मेरे सर को पकड़ कर अपने चूचों पर दबाए जा रही थीं और मैं उन दोनों रसीले आमों को जी भरके पी रहा था. करीब 20 मिनट तक हम लोग किस करते रहे और साथ साथ मैं उसकी दोनों चुचियों को भी दबा रहा था.

पुरुषों की सेक्सी

उसके गले पर किस करते हुए मैं धीरे से काट भी देता था और मेरा लंड उसकी गांड को टच कर रहा था; जिससे वह पूरी तरह से गर्म हो चुकी थी।उसने मुझे लिटाया और खुद मेरे ऊपर आकर मुझे पागलों के जैसे किस करने लगी. थोड़ी देर बाद जब मेरा मन इससे भर गया, तो मैंने अपना लंड निकाला और उनके मम्मों पर चलाने लगा, जिससे थोड़ी देर बाद मैं झड़ गया. जैसे उसने वजन मेरे लंड पर डाला तो मेरा सुपारा उसकी बुर को चीरता हुआ अंदर घुस गया और वो एकदम से चीखने लगी.

उस रात को भी उसके साथ रात भर चुत चुदाई का मजा लिया और अगले दिन सुबह हम दोनों वापिस आ गए. तो चलिए आते हैं सीधा मेरी कहानी ‘ट्रक ड्राईवर की बीवी की चुदाई’ पर. छोटी बुआ बोलीं- लेकिन हमारे पास तो ब्रा और पेंटी भी नहीं है ना … हम कहां ब्रा पहनते हैं … और पेंटी तो केवल उन दिनों में पहनते हैं.

मेरी कमर को भैया ने एक हाथ से पकड़ा और मेरी पैंट को एक झटके में खोल दिया. वो भी पूरे जोश से जीभ को ऊपर से नीचे तक चलाते हुए मेरी चूत और गांड के छेद को चाट रहे थे. भाभी ने बोला- कॉलबॉय ऐसे नहीं करता … वो तो सामने वाले की फरमाइश पूरी करता है.

वह ज़ोर ज़ोर से आहें भरने लगी- आह छोड़ दो भाईजान … इतना मत काटो … आह आह मेरी तो जान ही निकली जा रही है. ये बोलकर मैंने रमेश को बांहों में भर लिया और उसके लंड को सहलाते हुए उसके गालों पर चूमने लगी.

बिटिया से बात करने के बाद मैंने सत्यम और अपनी सारी सहेलियों को बोला कि अभी कुछ दिनों के लिए मेरे घर में ये चुदाई का खेल नहीं हो पाएगा.

मामी के मखमली बदन पर चलते हुए मेरे हाथ उनके मस्त बदन का माप लेने लगे. एक्स एक्स एक्स सेक्सी फिल्म वीडियोयह सब विचार कर मैंने निर्णय किया कि क्यों न अपने ननदोई से अपनी चूत चुदा ली जाये और एक बच्चा कर लिया जाए।जब मेरे पति विदेश से आ गए तो 2-3 हफ्ते उनके साथ बिताने के बाद मैंने अपने पति से कहा- मैं कुछ दिन के लिए दीदी के यहाँ जा रही हूँ. ब्लू फिल्म दे ब्लूभाभी ऐसी लग रही थीं, जैसे कोई रंडी चुदवाने के लिए तैयार होकर आई हो. मैं उसके लंड को आगे पीछे कर रहा था। कहीं से हल्की सी रौशनी आई तो समीर ने हमको यह सब करते हुए देख लिया।समीर उठा और उसने अपनी अंडरवियर निकाल दी.

मैम ने इस बार अपनी दोनों टांगें हवा में उठा दी थी और वो मेरे लंड का मजा लेते हुए अपनी आंखें बंद किये हुए सीत्कार कर रही थीं.

मैंने पीछे से संजना आंटी के ज़ुल्फें पकड़ लीं और उन्हें धकापेल चोदने लगा. आपको मेरी देसी इंडियन सेक्स स्टोरी पसंद आ रही है ना? तो मुझे मैसेज के द्वारा बतायें. शादी भी हो गयी और सब लोग लौट भी गये मगर उस भाभी का पता नहीं लग पाया.

मेरा जोश बढ़ गया, मैं पूरी चूची मुँह में लेने का कोशिश कर रहा था लेकिन चूची बड़ी थी और मेरे मुँह में नहीं आ रही थी. जब भी मेरे सामने आती है तो हम दोनों की पहली चुदाई की वो याद फिर से ताजा हो जाती है. यह जवानी मैंने आपके लिए ही संभाल रखी है, आज मुझे इतना चोदो कि मेरा जी भर जाए.

ब्लू पिक्चर सेक्सी खपाखप

फिर शाम को तेज़ बारिश हुई जिससे सब अपने घरों में अंदर दुबक गए थे।उसका मैसेज आया कि राज क्या कर रहे हो?मैंने मजाक में कहा- तुम्हारे घर आ रहा हूं।वो बोली- आ जाओ, घर में कोई नहीं है और मुझे तुमसे प्यार करना है।मैं मन में खुश हो गया और बोला- तुम्हारा पति आ गया तो?वो बोली- वो तो बाहर गया है और दो दिन बाद आएगा. वो बस थोड़ा नाखून लग गया था कंधे पर साबुन लगाते हुए।शिल्पी- ठीक है, तू नहा ले. मैंने उससे कहा- अब यहां शॉप के शीशे के गेट से मुँह करके चिपक कर खड़ी हो जाओ और अपना एक पैर स्टूल पर रख लो.

आप लोगों की इस बारे में क्या राय है मुझे अपने विचार और सुझाव कमेंट्स जरिये जरूर बतायें.

फिर धीरे धीरे मैंने उनकी ब्रा पैंटी भी निकाल खोल दी और मैम पूरी नंगी हो गईं.

मुझे होश ही नहीं रहा कि कब सर ने परमिशन दी और कब आकांक्षा मेरे ही पास आकर बैठ गयी. इस पर मेरे मामू ने कहा- ठीक है इनके साथ साथ मेरे बच्चों की भी पढ़ाई हो जाएगी. बाप बेटी की सेक्सी मूवीउसकी एक हल्की सी आह के बाद मैंने जोर-जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए.

भाभी करीब 2 मिनट बाद जब वॉशरूम से आई … तो मैंने गौर किया कि भाभी का अंदाज़ कुछ बदला हुआ सा था. भाभी भी अपने घर का काम खत्म करके दुकान पर चली जाती थी।कुछ दिनों तक तो सब नॉर्मल चल रहा था. इतना कहने के बाद मैंने मॉम को 69 पोजीशन में किया और उनकी चूत चाटने लगा, जिससे कि वो गीली हो जाए.

अचानक से मॉम की चूत से कुछ पानी की तरह सफेद सा निकाला, जिसे अंकल जीभ से पूरा चाट गए. मैं- तब तो और मजा आएगा रे छिनाल … और अब तो तेरी गांड बिना तेल के ही मारूँगा … और अब ज्यादा बोल मत, जो बोला है.

फिर मैंने मोनिका भाभी की पैंटी उतार कर फेंक दी तो उन्होंने अपनी टांगें भींच लीं.

उसने मेरी पीठ पर अपनी चूचियों को लगा दिया और मेरी गर्दन पर चूमने लगी. आंटी- आह्ह … ओह माई गॉड … किशु और चोद मुझे … उम्म्ह… अहह… हय… याह… फ़क मी … यस यस फ़क बेबी आह्ह…हम दोनों चुत लंड के खूब मजे लेने लगे थे. शकील ने अपना हाथ आगे करके अम्मी की सलवार का नाड़ा खोला दिया तो अम्मी की सलवार निचे गिर गई.

सनी लियॉन हॉट सेक्सी मेरे नागराज जो कब से खड़े थे, उसे देख कर दीपा ने एक नॉटी सी मुस्कान दे दी. मैंने उसकी जालीदार पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया.

खाने के बाद हम दोनों फिर से बिस्तर में आ गए और रात भर मैंने भाभी को खूब चोदा. अब मैंने भाभी को बेड पर लेटा कर पेट पर आइसक्यूब फेरते हुए नाभि से खेलने लगा. मैं उसे मुठ मारते देख ही रहा था कि तभी उसने मुझे देख लिया और एकदम से घबरा गई.

फलों के नाम दिखाओ

तभी अचानक से मेरी मम्मी का फोन आ गया और मैं भाभी को बाय बोल कर घर चला आया. उनके मुँह से ज़ोर से एक चीख निकल गई- उम्म्ह… अहह… हय… याह…मैंने अपने होंठ उनके होंठों पर लगा दिए, तो वो चुप हो गईं. जिसकी वजह से भाभी को और जोश आ जाता और वह फुल स्पीड में ऊपर नीचे होने लगतीं.

जब मुझे लगा कि मामी गहरी नींद में है तो मैंने उनके पास जाने का सोचा. तब तक मामी पीछे पलटी तो आगे से उनके चूचों की गहराई और उनके काले निप्पल उस पीले ब्लाउज में साफ दिख रहे थे.

मैंने पूछा तो उसने बताया कि वो अपने फ्रेंड के साथ पहले भी चुद चुकी है.

इस दृश्य को देखने से पहले मुझे तनिक भी आभास नहीं था कि मेरी सीधी सादी दिखने वाली मम्मी के जिस्म की आग उनको किसी गैर मर्द के सामने नंगी होने पर मजबूर कर देगी. इतने में मैं छत से नीचे आकर घर में अंदर छुप गया। घर में करीब करीब सभी लाइट बंद थी, थोड़ी रोशनी थी. मैंने उनकी गांड पर अपना लंड लगाया और हल्का सा धक्का देकर अपना सुपारा अन्दर घुसा दिया.

मैंने अवनीत की टांगें फैला दीं और जमीन पर बैठकर अवनीत की चूत और जांघें चाटने लगा. मैंने भाभी के मदमस्त रूप को देखा और पूछा- प्रिया कहां है?भाभी बोलीं- आज वो अपनी नानी के घर गई है. सपाट गोरा पेट और उस पर गहरी नाभि थी, जिसको छूने को मेरे होंठ तरस रहे थे.

कुछ मिनट के बाद उसने अपनी बुर से पानी छोड़ दिया और मैंने सारा पानी पी लिया.

फुल एचडी हिंदी बीएफ वीडियो: फिर मैंने उसके अन्दर से अपना लंड निकाला और कंडोम हटा कर नीचे डाल दिया. अब वो मेरी जींस फाड़कर बाहर आने को हो रहा था। मैंने नीता को और अधिक कसकर पकड़ लिया और उसे और जोर से किस करने लगा।मेरा लन्ड अब नीता की चूत में लगने लगा था। नीता ने मुझे थोड़ा दूर किया और नीचे बैठ कर मेरी जीन्स को खोलकर मेरे अंडरवियर में से लंड को बाहर निकाल कर हाथ से मुठ मारने लगी.

धीरे धीरे करके अंकल ने तीन बार में अपना पूरा मूसल सा लंड मेरी गांड में पेल दिया. मैंने उनके बालों को पकड़ा और मुँह को ही चुत समझ कर चोदना शुरू कर दिया. क्योंकि कोमलप्रीत जी उस लड़के के टच में थी तो उन्होंने उसे वो बात उसे बोल दी.

उसने जोर से मुझे ऊपर खींचते हुए अपने आपसे चिपका लिया और जोर से पकड़ कर भींचने लगी.

शकील ने कहा- इसमें परेशान होने की क्या बात है?अम्मी ने कहा- उसका पति उसे अच्छे से खुश नहीं कर पाता. मैंने सत्यम से एक दिन चुदने के बाद अपनी फ्रेंड के बारे में बताया और उससे पूछा, तो उसने मना कर दिया. ये मेरा पहला सेक्स था, इसमें ना उसका कुछ एक्सपीरियंस था और ना ही मेरा.