सेक्सी बीएफ और सेक्सी

छवि स्रोत,भाभी की बीएफ भाभी की बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स विडिओ नव: सेक्सी बीएफ और सेक्सी, खुद की चूत पर मेरी उंगली का अहसास पाते ही आंटी जोर जोर से सांसें लेने लगीं.

नंगी बीएफ चुदाई वाली पिक्चर

फिर हम नहाने के लिए उठ गए, लेकिन उससे चला नहीं जा रहा था और बेड़ की चादर पर खून और वीर्य पड़ा था. हिंदी बीएफ फुल सेक्सी चुदाईमैंने उसको अन्दर चलने को कहा, तो उसने कहा कि मैं कपड़े चेंज करके आता हूँ, तब तक आप भी कपड़े चेंज कर लो.

सादा सिम्पल सा सलवार कुर्ता पहन रखा था उसने, सीने पर दुपट्टा डाल रखा था. सेक्सी गर्ल बीएफ सेक्सीमैं जीभ को निकाले उसे चाटते हुए नाभि पर आया, नाभि के चारों तरफ जीभ को गोल गोल घुमाने लगा, उसकी सिसकारी भी बढ़ती जा रही थी।उसके चूतड़ के नीचे तकिया रखा तो चूत और खुल कर मेरे मुँह के सामने आ गई, मेरे लिये यह पहला प्रयास था तो हिचक भी रहा था.

इस सुरेश जी उठकर अपने घुटनों पे खड़े हो गए और मेरी कमर को पकड़ के मुझे डॉगी स्टायल में घोड़ी बना दिया.सेक्सी बीएफ और सेक्सी: मैं समझ गया और उनकी चूत को खोल कर चूम ली और जीभ से उनकी चुत से चुदास वाला पानी चाट लिया.

मेरी हिंदी कहानी के पिछले भागबाप की हवस और बेटे का प्यार-3में आपने पढ़ा कि हम दोनों चुदाई के मूड में आ चुके थे.दोस्तो, मैं अपनी अगली कहानी में बताऊंगा कि मेरी बीवी की चूत मुट्ठी में पकड़ कर किस पोज में बीवी की चुदाई की थी.

स्टूडेंट सेक्स बीएफ - सेक्सी बीएफ और सेक्सी

वो मेरी मस्त गांड देख के बहक रहा था और उसका असर उसके लोअर पे दिखाई दे रहा था क्योंकि उसका लंड कड़क हो कर विकराल रूप ले रहा था.वो 69 में मेरे ऊपर मेरे मुँह पे अपनी चूत लगा कर बैठ गईं और उन्होंने अपने मुँह में मेरा लंड पकड़ लिया.

अब मैंने जेम्स को बोला- तुम इसे चोदो और अपना पानी निकालो, मैं फिर बाद में करता हूँ. सेक्सी बीएफ और सेक्सी तब न तो मोबाइल फोन थे न इन्टरनेट और न ही लड़कियां यूं कोचिंग जाती थीं.

इतने मैं सुरेश जी उठ कर बैठ गए और बोले- सुबह हो गई है, अब यहां नहीं.

सेक्सी बीएफ और सेक्सी?

मैंने भी उसके जज्बातों को समझा और मना कर दिया कि नहीं मुझे कुछ भी ऐसा नहीं करना है. भाभी की ये नाइटी इतनी सिल्की थी कि उसमें साफ़ महसूस हो रहा था कि उन्होंने अन्दर कुछ भी नहीं पहना है. उनकी चुचियों का साइज कम से कम 36″ तो होगा ही!मैं जब भी अपनी मामी से मिलने उनके घर जाता तो वे हमेशा मेरे पास आकर बैठ जाती और कुछ ऐसी हरकतें करती थी जिनसे मुझे थोड़ी सी उत्तेजना महसूस होती, कभी-कभी तो मुझे उन पर शक भी होता था कि कहीं ये मुझसे कुछ चाहती तो नहीं हैं।मामी कभी कभी अजीब ढंग से कपड़े पहन लेती, कभी अपना गाउन ऐसे पहनती जिससे उनके क्लीवेज मुझे दिखाई पड़े.

दूसरे दिन शाम को मैं अपने घर आने को निकला, तो उसने मुझे 3000 रूपये दिये. उसका एक हाथ मेरे निप्पलों को मींज रहा था और एक हाथ मेरी गांड पर घूम रहा था. उसने मेरे लिंग का निशाना अपनी योनि के छेद में लगाया और बैठती चली गयी.

तभी कमलेश सर ने मैगजीन खोली और मेरे सामने एक पेज किया, जिसमें लड़का लड़की एक दूसरे के साथ चुदाई कर रहे थे. रितु ने उसके लंड को मुंह में लेना शुरू किया और धीरे धीरे पूरा लंड मुंह में ले लिया. मैंने उससे पूछा- क्या आपके यहां बॉडी मसाज हो जाता है?उसने कहा- जी हां, हमारे यहां बॉडी मसाज सेक्शन भी है.

मैंने इस बार कसकर धक्का मारा और उनके मुँह से एक दर्द भरी आवाज निकली. दोस्तो, आपको मेरी मम्मी की चूत चुदाई की सेक्सी स्टोरी कैसी लगी? मुझे ईमेल करके जरूर बतायें! आपको अगर अच्छी लगी तो आगे की कहानी भी जरूर लिखूंगा!मेरी ईमेल है –[emailprotected].

दस मिनट किस करने के बाद मैं नीचे मौसी की झांटों से भरी चूत को मुंह में लेकर चाटने लगा। फिर मैंने अपना 6.

मैं खुश हुआ और बोला- जी मैडम में आपके साथ हूँ, आप जो बोलेंगी, मैं कर दूँगा.

मैंने विवेक को यह सब नहीं करने को बोला, तब विवेक ने मुझे फिर समझाया कि पहली बार में दर्द और खून आना आम बात है, आगे से ऐसा कभी नहीं होगा, सिर्फ मजा आएगा. ”जितनी देर पद्मिनी बापू को टीचर के बारे में बोल रही थी, बापू तब तक पद्मिनी को कभी चूतड़ों पर मसल रहा था, तो कभी उसको सुनते हुए उसकी चूचियों दबा रहा था, तो कभी किस किए जा रहा था. मैंने ओके बोला और कहा कि मेरे लायक कोई काम हुआ करे तो बता दिया कीजिएगा.

चूत चुसवाई में ही कई बार झड़ चुकी थी अब तो शायद चुत में रस ही नहीं बचा था. जिन्हें मैं अपना शरीर सौंप कर उनके लंड की और मेरी गांड की शान्ति पा सकूँ. मैंने मन बना लिया कि आज इसे चोदकर ही रहूंगा और मेरा पूरा दिन बड़ी मुश्किल से गुजरा।रात हुई, सब खाना खाकर सोने चल दिये लेकिन मेरे और पूनम के दिमाग में बस कल वाली रात घूम रही थी.

इसी बीच मेरा एक हाथ काजल, जो कि बाजू में सोई हुई थी, उसके चूतड़ों पे चला गया.

रितु की चूत में फिर से पानी आने लगा और मैंने नीचे से धक्के मारने शुरू किये. उसके बिस्तर लगवा देने पर मैंने उसे एक बियर की बोतल दी, वो खुश होकर चला गया. यह बात 2008 की है, जब मैंने पहली बार घर से दूर भोपाल में एडमिशन लिया था और कॉलेज की दहलीज पर कदम रखा था.

वो बोला- आपके घर पर इतने दिन रहा हूँ क्या आपने यही मुझे समझ पाया है. जब परेड खत्म हुई लगभग 7:00 बजे तो हम भाई बहन उसी गाड़ी से वापस आने लगे तो उस गाड़ी वाले ने उस गाड़ी में कुछ ज्यादा ही पैसेंजर बैठा लिए, उस गाड़ी में बहुत भीड़ हो गई थी. फिर मैंने उसकी दोनों टाँगों को अपने कंधों पर लेकर उसे दबा कर चोदता रहा.

तो सर बोले- वन्द्या, तुम बहुत मस्त माल हो, तुम उम्र में भले 18 की हो पर अभी से बहुत चुदासी और बहुत सेक्सी हो.

वह बोली- उसने अन्दर किया और मुझे जोर का दर्द हुआ, मेरे अन्दर से खून आने लगा और उसने जबरदस्ती तीन चार बार आगे पीछे करके अपना पानी छोड़ दिया था. तो मैं बोला- बोलिए ना अंकल, क्या काम है?वे बोले- देख विकी, मैं घर पर पूरा दिन रहता नहीं हूँ, और मेरे पास कार है.

सेक्सी बीएफ और सेक्सी पर मुझे अपनी गांड में उनके इस हरकत से गुदगुदी बहुत हो रही थी और मैं उछल उछल जा रही थी. जैसे ही उसने मुझको पूरी नंगी देखा तो बोल उठा- चाचा सच में तुमने क्या माल पटाया है, यह उम्र में छोटी लग सकती है, पर यह बहुत बड़ी माल आइटम है.

सेक्सी बीएफ और सेक्सी मैंने पम्मी को छेड़ना शुरू किया- दो दिन बाद तो तुमको बिना कपड़ों के देखूँगा, पर अभी मुँह तो मीठा करवा दो. मामी जी- सच राहुल तुम्हारे मामा जी ने तो आज तक इसको छुआ तक नहीं, एक बार गांड मारने का प्रयास किया था, लेकिन उस दिन क्या हुआ कि जब वह पीछे से अन्दर डालने का प्रयास करते, तो उनका लंड मेरे बड़े बड़े चूतड़ की गोलाई में ही फंस कर रह जाता था, क्योंकि उनका लंड छोटा है.

कुछ पल बाद वो तैयार हो चुकी थीं, इसलिए मैं जल्दी से दरवाजे से दूर हो गया.

सेक्सी बीएफ का

मैं अब उनकी नाक से अपनी नाक घिसने लगा, हमारा यह पहला किस 20 मिनट तक चला. कहानी का पहला भाग:दोनों ने बड़ी आत्मीयता से हम लोगों के पाँव छूकर आर्शीवाद लिया. मैंने घर जा कर उसको व्हाट्सएप पर सॉरी बोला, उसका कोई जवाब ही नहीं आया.

तुम अंडरवियर में टीवी देखने आ गए?वो बोला कि हां क्यों क्या हुआ? मैं रात को ऐसे ही टीवी देखता हूँ. थोड़ी देर इसी पोजीशन में रहने के बाद मैंने उन्हें अपनी गोदी में बैठा लिया और अपनी बांहों में जकड़ कर उनकी योनि में जोर से झटके देने लगा. मैंने उनकी चुम्मी लेते हुए ओके बोला और भाभी को गोद में उठा कर बेडरूम में ले आया.

( मुझे मेरी बुरी हरकत की सजा दो!)मेरी बहन मेरे बाल ज़ोर से पकड़ के मुझे ज़ोर ज़ोर से चूमने लगी.

हम दोनों भाई बहन की इतनी उत्तेजना भरी बातों से हमें किसी फोरप्ले की आवश्यकता नहीं थी. मैं ख़ुद से कंट्रोल खो चुकी थी, मैंने उससे बात करनी शुरू की, तो पता चल कि वो हरियाणा का ही देसी जाट है और सिंगल है. लुंगी के नीचे कितने ज़ोरों से बापू हाथ चला रहा था और अचानक उसकी लुंगी भीग गयी थी.

हम एक बार तो जरूर ही ये सब करेंगे, इसके लिए मुझे कितना भी दर्द क्यों न हो. मैंने एक बार और जीभ सेभाभी की चूत को चाट कर थोड़ा गीला कियाऔर अपना लंड धीरे धीरे उसके घुसा दिया. उसने कहा- अभी मुझे कुछ नहीं चाहिए, पर हां जल्दी ही मैं तुमसे जो कुछ मांगूगी.

मैं तो सोने जा रही हूँ… तूने बहुत ही ज़्यादा तंग किया था रात भर… सारा बदन दुःख रहा है. तभी सर मेरी चूत में पूरी जीभ डाल दी और अपने दांतों से मेरे दाने को काटने से लगे.

अंदर सोनू के कमरे का दरवाज़ा आधा खुला था और वो बिस्तर पे सिर्फ अंडरवियर पहन के लेटा था और अंडरवियर के ऊपर से ही उसका लौड़ा लम्बा मोटा और सख्त है, यह मुझे महसूस हो गया था. उसकी चूत बिल्कुल आग की भट्टी की तरह जल रही थी और गर्म चूत बिल्कुल गीली हो रही थी. दरअसल मैंने जब कॉलेज में एडमिशन लिया था, तो वहां कुछ दिनों के बाद मैं एक दोस्त के रूम पर गया था.

आधा लंड घुसने के बाद एक जोर के झटके के साथ मैंने पूरा लंड उनकी चुत में उतार दिया.

फिर मैंने उसके पेट पर क़िस किया, चुत में उंगली की और चुत की खुशबू को सूंघा. जब वो छोटी थी, तब से ही वो घर के सभी काम भी अच्छी तरह से करना सीख गई थी. फाइनल इयर में थी। उसकी उम्र 21 वर्ष थी।उसने अपने बारे में जो बताया वो इस प्रकार है.

अबकी बार उस ने फिर से एक जोरदार धक्का मारा और उसका लंड सीधा मेरी चुत को चीरता हुआ अन्दर जाने लगा. उसके इसी भय के चलते उसको एक फर्जी डॉक्टर के पास ले जाया गया जो उसकी चुत के साथ खिलवाड़ करते हुए उसकी वीडियो बनाने लगा.

भाभी- तो इसमें क्या है?अब मेरे पास कोई चारा था नहीं, तो मैंने उनको बता दिया कि उसमें ब्लू फिल्म है. आशा करता हूँ आपको यह कहानी पसंद आई होगी मुझे अपने ईमेल जरूर भेजिएगा. लेकिन देखोगी तो यह कहने का कोई मतलब नहीं कि छी, ऐसा कैसे हो सकता है।”मैं समझी नहीं।”कहने का मतलब यह है कि दुनिया में बहुत कुछ ऐसा होता है जो तुम्हें मालूम नहीं, लेकिन चूँकि तुम्हें मालूम नहीं तो उसका यह मतलब नहीं कि ऐसा होता ही नहीं।”मैं अब भी नहीं समझी।”मैं एक फिल्म दिखाऊंगा तुम्हें.

हिंदी भारतीय बीएफ

मैंने लंड निकाल लिया तो वो घोड़ी बन गईं और बोलीं- अब जल्दी से लंड डाल कर फिर से चोदो.

थोड़ी देर बाद हम थक कर बिस्तर में लेट गए और मैंने उनको मेरी बांहों में ले लिया था और बातें करने लगा. राज ने धक्के लगाने चालू कर दिए! मंजू के हिलते हुए चूतड़ राज को और उत्तेजित कर रहे थे, कुछ ताबड़तोड़ झटकों के साथ राज का भी स्खलन हो गया, राज मंजू के ऊपर गिर पड़ा. सुरेश जी का मुँह मेरे तरफ और मेरा मुँह उनकी तरफ होने से मैं उनसे सटकर चिपक गया.

यह सेक्स कहानी मेरी माँ के बारे में हैं जो इस उम्र में भी अच्छी अच्छी जवान लड़कियों को फेल कर दे! एकदम कसा हुआ गदराया बदन, बड़े बड़े बूब्स और बाहर निकली हुई चौड़ी और गोल गोल गांड!बात करीब 6 महीने पुरानी है, जब मुझे अपनी माँ की चरित्रहीनता के बारे में पता चला. तुझे तो बिल्कुल रंडी की तरह 5-10 लंड एक साथ चोदें, तब तेरी प्यास बुझेगी. सेक्सी बीएफ भाई बहन की चुदाईउस लड़की की आवाज़ बहुत प्यारी थी जो मुझे बहुत पसंद आई थी तो मैंने उससे कहा- अगर आपको कोई प्रॉब्लम ना हो तो हम नॉर्मली बात कर सकते है फ्रेंड बनकर?तो उसने कहा- सिर्फ फ्रेंड बनकर ही बात कर सकते हैं, इससे ज्यादा कुछ सोचना मत!मैंने कहा- ठीक है, हम फ्रेंड बनकर ही बातें करेंगे.

आँटी मेरे कपड़े उतारने लगी, उन्होंने बड़े प्यार से मुझे नंगा किया और ललचाई नजर से मेरे जिस्म को निहारने लगी. हेलो… अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार! मैं आज जालंधर जिला पंजाब से हूं, मेरा नाम रमनजीत सिंह (बदला हुआ) है, मैं सिख फैमिली से सम्बन्ध रखता हूं.

मेरी सेक्स कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि कैसे प्रमोद ने सफलतापूर्वक अपनी देसी बीवी को पेरिस के एक बीच पर पूरी नंगी कर लिया और समुद्र के पानी में छिप पर खुलेआम चुदाई भी कर डाली. और तभी…पम्मी- हाँ सालों, इतना रहा नहीं जाता तो बुला ले ऑफिस में, पीछे कोई नहीं है, चिपक लेना. वो अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बताने लगा कि आज उसको अपनी गर्लफ्रेंड की याद आ रही है.

यह बात सुनकर मैं हंसने लगा और सुरेश जी से कहा- कल रात से सुबह तक जो काम हम कर रहे थे, वही जिंदगी में असली काम है. अब मैं अपने लंड को उसके मुँह के पास लाया और बोला कि मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसो. मैंने मौका देख कर जब उनकी चुची को छुआ तो वो एकदम से मुझे देखने लगीं.

ओह अम्मी…” खाला के मुख से निकला, खाला के स्तन ऊपर की ओर उठ गए और शरीर एंठन में आ गया.

मैं जीभ को निकाले उसे चाटते हुए नाभि पर आया, नाभि के चारों तरफ जीभ को गोल गोल घुमाने लगा, उसकी सिसकारी भी बढ़ती जा रही थी।उसके चूतड़ के नीचे तकिया रखा तो चूत और खुल कर मेरे मुँह के सामने आ गई, मेरे लिये यह पहला प्रयास था तो हिचक भी रहा था. उसने मुझे वहीं दीवार के सहारे झुका दिया और बोला- भाभी जी आप कहें, तो बिछाने को कुछ ले आऊं.

मुझे बहुत गुस्सा आ रहा था, क्योंकि दोपहर से ही मेरा लौड़ा चूत के लिए तरस रहा था. लेकिन आज तक मैंने कभी किसी लड़की को प्रपोज़ नहीं किया था तो मैं उसको कुछ भी नहीं बोल पा रहा था. जब बैरा खाना लेकर आया तो जूली को मैंने बाथरूम में भेज दिया था, उसकी यूनिफार्म को भी अलमारी में छिपा दिया था.

साधारणतया लड़कियों की चूत से इतना ज्यादा और इतना गर्म चूतरस नहीं निकलता है. मैंने सोचा इसका घर देखा जाए तो मैं अपनी बाइक स्टार्ट करके पीछे पीछे चल दिया, पर ये क्या. कल से लेकर आज तक उसकी बड़ी बेहेन ने उसका लंड कई बार चूसा था और आज देखो, उसका अपना बड़ा भाई उसका लंड कितने मजे से चूस रहा है.

सेक्सी बीएफ और सेक्सी इसके बाद मैंने हल्के से उनके एक पैर की जाँघ को उठा कर लंड को छेद पर लगा दिया. उसने अपनी हथेली को मेरी जांघों से रगड़ते हुए ले जाकर चूत में रख दिया और अपना हाथ चूत में रगड़ने लगा.

भाई बहन सेक्स वीडियो बीएफ

फिर उसने उन मैडम से उनका टिकट पूछा तो उसने कहा कि मेरा टिकट विकास नगर का है. जूली से चला नहीं जा रहा था, वह टांगें चौड़ी करके मुश्किल से चल रही थी. उसी वक्त मुझे उसका फूलता हुआ लंड अपनी चूत से टच करता हुआ महसूस हो रहा था, लेकिन मुझे डर भी था कि कहीं मेरा भाई ना आ जाए.

भाभी मेरी चुदाई से बड़ी खुश थीं, सो बोलीं- अब आते रहना, मेरे दोनों छेद तेरे लिए खुले हैं. मैंने उसकी तरफ देखा तो उसने कहा- अब तो आपको मैं मिल सकता हूँ ना?मैंने कहा- मिल तो रहे हो. भाभी देवर की बीएफ फिल्मदीपक ने कहा- आपने मुझ पर बड़ी मेहरबानी की है, जिसके लिए मैं सारी जिंदगी आपका गुलाम बना रहूँगा.

मैंने वैसा ही किया, अपने होंठ उसके होंठ से लगा कर एक तेज़ झटका दिया औरपूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया.

उनकी आवाज़ों से मेरे रोंगटे भी खड़े हो रहे थे और मेरे बदन में खूब में गर्मी आती जा रही थी. उधर से एक लड़की की आवाज़ आई- हाय! आई एम रूबी, कौन बोल रहे हो?कीकु काँपते बोला- कीकु हियर!!रूबी- मैं आपकी ही काल की प्रतीक्षा कर रही थी, रूम नम्बर 305 में आ जाओ!जोश में आकर हम पहुँच तो गये, लेकिन हमारे पसीने छुट रहे थे.

मैंने हल्के से अपना हाथ आगे करके उसके एक चूचे को दबाने लगा और अगले ही पल उसके होंठों को अपने होंठों में दबा कर जोर जोर से चूसने लगा. अबकी बार मैंने उसका कुर्ता उठा दिया और उसकी तरफ देखा तो उसने मुस्कुरा कर हां कर दी. ऐसी हसीन औरत उस दिन मेरे साथ उस हालत में थी, ये तो बस मेरा नसीब ही था.

मैं शर्म के मारे उससे नजर भी नहीं मिला पा रही थी, लेकिन इन सबमें मजा भी बहुत आ रहा था.

उनके होंठों पर हल्की सी मुस्कान भी थी, मुझे तो यह शक हो रहा था कि उन्होंने मुझे खीरे को मेरी मुनिया में घुसाते हुए देख लिया है. उन्हें कुछ दिनों से खांसी हो गई थी, बुखार भी था, इलाज कराते रहे, फायदा नहीं हो रहा था।मैं अस्पताल में अकेला बैठा था, जब वे आए तो अस्पताल बंद होने को था. मैं बहुत खुश था, उस रात को मुझे नींद नहीं आई थी और बस उसी के ख्याल आते रहे थे.

बीएफ चुदाई नंगीरितु को दर्द होने लगा पर जेम्स ने जोर लगा कर पूरा लंड पेल दिया और उसकी पीठ पर किस करने लगा. जब मैं उसके निप्पलों को दांतों के बीच दबाकर खींचता, तो वो जोर से मेरा लंड अपने हाथों से दबा देती.

स्थान का बीएफ

एक तो ब्लू फिल्म की खुमारी, ऊपर से आज भाभी की साड़ी वाला दृश्य, मुझसे कंट्रोल करना मुश्किल था तो मैंने बाथरूम में ही मोबाइल में ब्लू फिल्म चालू कर दी और सेक्स टॉय को भाभी की चूत समझ कर उसमें अपना लंड डाला और झटके पे झटके लगाने लगा. तो उसका पूरा जिस्म काँप उठा और पद्मिनी ने खुद अपने बदन को बापू के जिस्म से चिपका लिया. उसका दुपट्टा काफी उभरा उभरा सा दिखता था जिससे अंदाज होता था दुपट्टे के नीचे कुर्ती और ब्रा में कैद उसके मम्में जरूर एक एक किलो के तो होंगे ही.

पद्मिनी की माँ का उस समय ही देहांत हो गया था, जब पद्मिनी कच्ची उम्र की थी. मैंने मोबाइल ले लिया, उसने मुझसे मोबाईल का वीडियो कैमरा चालू करने के लिए कहा तो मैंने वीडियो कैमरा चालू कर दिया. मेरी पिछली कहानी में मैंने बताया था कि मैं और बहूरानी अदिति उसके चचेरे भाई की शादी में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंच चुके थे; निजामुद्दीन स्टेशन पर ही अदिति के मायके वाले हमें रिसीव करने आ पहुंचे थे.

मैंने कहा- यह क्या बात हुई? अगर कोई आ गया तो क्या दरवाजा नहीं खोलोगे?बड़ी मुश्किल से मैंने उसे मनाया कि कम से कम एक गाउन तो डालने दो, जो जल्दी से उतर भी सकता है. वो उस दिन पीले रंग के सूट में ऑफिस आई थीं और अप्सरा से कम नहीं लग रही थीं. वहां पर दो अफ्रीकन लड़कों ने किराये पर फ्लैट लिया था और उनमें से एक तो पूरा बॉडी बिल्डर था और उसका कद करीब साढ़े छह फुट के आस पास था.

मेरी फ्लोर पर सीढ़ी के पास छत से नीचे आने के लिए एक ग्रिल का दरवाजा लगा है, वो लॉक करने से कोई ऊपर नहीं आ सकता था. थोड़ी देर बाद हम दोनों ने एक दूसरे को छेड़ते हुए फिर से चुदाई शुरू की.

कोमल भी अपनी पूरी गांड चला रही थी और मेरा लंड पूरा कोमल की चूत में अन्दर तक जा रहा था.

क़रीब 20 मिनट में मेरा 2 बार पानी निकल चुका था लेकिन उसका पानी निकलने का नाम ही नहीं ले रहा था. एक्स एक्स बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियोमेरी बहन मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाती रही, मैं अपनी बहन की चूत में उंगली से सहलाता रहा. इंग्लिश के बीएफ वीडियोजब तुमसे बात नहीं होती तो एक अजीब सी घबराहट होती है, दिल बैचैन रहता है, हमेशा तुम्हारे ही ख्याल दिल में आते हैं, यह सोचती हूं कि काश तुम पहले मिल गए होते! तुमसे बात करके मैं अपना खाना पीना सब भूल गयी हूँ, बस ऐसा लगता है कि कोई मुझे खाना पीना ना दे और सिर्फ तुमसे बातें करने के लिए बोल दे. तो जैसा कि मैंने लिखा कि मेरी कहानी पर ढेर सारे ईमेल आए थे, उन्हीं ईमेल में से एक ईमेल एक महिला का भी था, वो भी पुणे से ही थीं.

मैंने कहा- आज तक तुमसे मैंने कुछ नहीं छुपाया और तुमको अपनी छोटी बहन मान कर ही सब कुछ बात की है.

मैंने उन्हें मसल मसल कर लाल कर दिया, जिससे उसके मम्मे तन गए और निप्पल लाल हो गए. लेकिन वो करने देगी नहीं न!नीलम- तू चिंता ना कर, मैं तेरी हेल्प करुँगी इसमें, अगर ठीक से मान गयी तो ठीक … वरना तेरी माँ का सम्बन्ध और मर्दों के साथ भी है तो उसकी एक वीडियो बना लेंगे. मैं जब भी उसके कमरे में सफाई करने जाती, तो वो जान बूझ कर मेरे सामने ही अपने सारे कपड़े उतार देता था और सिर्फ एक चड्डी में आ जाता था.

उसने कहा- बात तो तुम्हारी सही है, ऐसा ही होना चाहिए, अबकी बार ऐसा ही करूँगी. वल्लिका को अपनी पहली चुदाई का दर्द याद आ गया, उसकी चीख निकल गई और उसने कहा- बाबा आपका काफ़ी मोटा है. उसके बाद हम कई बार कॉलेज में इवेंट्स में साथ काम करते रहे और इस तरह से धीरे धीरे हमारी दोस्ती बढ़ने लगी थी.

देवर भाभी की चुदाई सेक्सी बीएफ

इसलिए मैं गांड उठाए हुए उसके लंड को अपनी चुत में अन्दर तक महसूस करती रही. मैंने देखा कि फुंफकारता हुआ लौड़ा उसकी ब्रीफ से निकल निकल जा रहा था और पूरा खम्बा बना हुआ था. उन्हें कुछ दिनों से खांसी हो गई थी, बुखार भी था, इलाज कराते रहे, फायदा नहीं हो रहा था।मैं अस्पताल में अकेला बैठा था, जब वे आए तो अस्पताल बंद होने को था.

बहुत, हम महीने में दो बार तो मिलते थे, उसने मुझे दस बारह बार चोदा हुआ है, लेकिन अब मैं किसी से बात नहीं करूँगी, बस तुम साथ रहना.

ऐसा लग रहा था कि जैसे भाभी की चूचियां ब्रा को फाड़ कर बाहर ही आ जाएंगी.

मैंने ओके बोला और कहा कि मेरे लायक कोई काम हुआ करे तो बता दिया कीजिएगा. वो काफ़ी समय के बाद सेक्स कर रही थी, इसलिए बाबा की जीभ की हरकत उसे काफ़ी मस्त लग रही थी. अलवर सेक्सी बीएफमैंने ऑफिस से छुट्टी ली और अपने दोस्त को बोल दिया कि मैं उसके रूम पर आ रहा हूँ.

गरम लोहे पर पानी डाल दिया हो वैसे दोनों भी ठंडे होकर एक साथ बेड पर लेट गए. लेकिन वो पुरुष कहाँ से लाऊं, जो मंत्रों का उच्चारण कर सके?बाबा मौन रहे. अपनी उंगलियों से उसके चूत के फांकों को फैलाते उसकी गुलाबी गीली चूत की गहराइयों में रस पीने लगा, उसकी चूत की गरमी अपनी ज़ुबान पे महसूस कर रहा था.

मैंने अनीता दीदी को जल्दी से कपड़े पहनने को बोल दिया दीदी फटाफट कपड़े पहनने लगीं. लेकिन आज तक मैंने कभी किसी लड़की को प्रपोज़ नहीं किया था तो मैं उसको कुछ भी नहीं बोल पा रहा था.

तुम्हें भी पता है कि कुछ समय पहले हम दोनों एक दूसरे को किन नज़रों से देखा करते थे.

सीमा आज अपनी चूत शेव करके आई थी तो उसकी चूत एकदम चमचमा रही थी। सुजाता की चुत पर कुछ बाल थे। मेरे लंड के आसपास भी बहुत झांटें थी और राहुल ने भी कुछ दिन पहले ही शेव किया होगा, ऐसा लग रहा था।हम सब खड़े खड़े एक दूसरे की चुत और लण्ड को देख रहे थे। अजीब लग रहा था. तो लाल जी बोला- हां वन्द्या, मेरा एक दोस्त है, वह लंड बड़ा करने कैप्सूल लाया था. इतने में चाचा ने उन दोनों में से एक को मनोहर नाम से बुलाया, वह मुड़हा जाति का था.

प्रियंका चोपड़ा के बीएफ एचडी दिनेश का लंड एक मिनट के अन्दर पूरा अन्दर मेरी खुली हुई गांड में चला गया. मैं ऐसे ही आधे लंड को अन्दर बाहर कर के मामी जी की गांड मारने लगा और थोड़ा थोड़ा अन्दर घुसेड़ता भी जा रहा था, जिससे लंड का काफी हिस्सा गांड के अन्दर घुस गया था.

इस वक्त मुझे डर भी लग रहा था कि अगर मैंने पहल न की तो कहीं मैं भाभी को चोदने का मौका ही न गंवा बैठूँ. मैंने अपनी बहन की ब्रा में से एक चुचे को बाहर निकाला और उसे मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरे को हाथ से दबा रहा था. मैं बोली- यह ठीक नहीं है चाचा, आप मुझसे बहुत बड़े हैं, मुझे छोड़ दीजिए, भगवान के लिए मेरे साथ ऐसा मत करिए.

पंजाब में बीएफ

मैं मुँह से उसका लौड़ा चूसते चूसते उसकी गांड के छेद पर उंगली घुमा रही थी. कुछ देर बाद उसने मुझे ठीक से सीधा लेटाया और अपनी दोनों टांगें मेरी कमर के दोनों ओर करके मेरे लिंग पर बैठने लगी. अब मैं आपसे तभी बात करूँगी जब मुझे मेरे भाई और भाभी से उनकी रज़ामंदी मिलेगी.

आगे क्या क्या हुआ? क्या विकी ने मुझे वहीं चोद दिया या कुछ और घटित हुआ? बाद में हमने क्या क्या जंगलीपन किया, ये सब आगे के भाग में आप पढ़ सकेंगे. आज मेरी मुराद पूरी हो गई थी, जो मैंने सोचा था किसी आंटी के साथ सेक्स करने की.

ये कोई कहानी नहीं, मेरी जिंदगी की सबसे हसीन याद है, जिसको मैं आप सभी को बताना चाहता हूँ.

थोड़ी देर बाद जब वो शांत हुई तो मैंने जोर जोर से उसकी चुत में लंड पेलना चालू किया. मैं सब छोड़ दूंगा, पर तुझे नहीं छोड़ूंगा, क्या गजब चुदवाती है तू, तेरी चूत में लंड लगाते ही ऐसा लगता है, जैसे पागल हो जाऊंगा. ऐसा कहते हुए एकदम से सर अकड़ गए और उनके लंड से गर्म-गर्म सफेद रस निकलने लगा.

हट पगली… तू फिर शुरू हो गई… अब मेरी उम्र थोड़े ही है लंड लेने की…” साधना ने शर्माते हुए कहा।माँ जी… लंड लेने के लिए उम्र कोई मायने नहीं रखती… मैंने तो 80-80 साल की बुढ़िया का भी सुना है कि वो लंड लेती हैं। अगर आपको झूठ लग रहा हो तो नेट पर देख लो… जब तक चुत में आग है तब तक लंड लेने की लालसा औरत में रहती ही है. अब आगे का हाल संजू की जुबानी:राज जा चुका था, मैं वापस रूम में आया तो मंजू नाइटी पहन रही थी. तो वो भी बता दो?उसकी बातों से मैं समझ गया था कि ये भी चुदना चाहती है, मैं बोला- ख्याल तो बहुत हैं.

लेकिन थोड़ी देर बाद जब मैंने हाथ नीचे करना चाहा तो उसने मेरा हाथ हटा दिया। मैं फिर थोड़ा झूठा गुस्सा दिखाकर उससे अलग हो गया.

सेक्सी बीएफ और सेक्सी: फिर उसने जोरदार धक्कों से लंड को अन्दर बाहर करते हुये मेरी चुदाई करना शुरू कर दिया. मैंने हां बोला, तो भाभी मेरे लंड को चूसने लगीं और 7-8 मिनट में ही मेरे लंड से पानी निकल कर भाभी के मम्मों पर गिर गया.

उसने पूछा- कहां पे?मैंने उसे अपनी शॉप का एड्रेस बताया, फिर उसने कहा कि मेरे मोबाइल में कुछ एरर आ रही है. तो मेरे दोस्त, जिसका नाम अशोक है, बोला- यार, ये तुम पर इतनी मरती है और तुम हो कि कोई रिस्पांस ही नहीं देते?मैं बोला- यार ये सब मुझे नहीं करना, मुझे पढ़ाई करनी है. मैंने उसके कान में बोला- मज़ा आ रहा है?वो भी पलट कर बोली- हां बहुत… बस अपना काम चालू रखो.

कीकु बहुत गर्म हो चुका था, वो रूबी की निप्पल को अपने दाँत से दबाने लगा.

मैंने अभिलाषा से कहा- इतनी दूर से मैं आपके होटल में इसलिए आया हूं कि दूसरे होटल में भी इसी तरह की मसाज वाली लड़कियां हैं. फिर समय बीतने के साथ विदेशी पत्रिकाएं आने लगीं जिनमें चिकने कागज़ पर चुदाई की रंगीन तस्वीरें हुआ करती थीं. उसकी आंखों से आंसू आने लगे, लेकिन वो चिल्लाई नहीं, हालांकि उसको बहुत तेज दर्द हो रहा था.