डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म दिखाओ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी करने वाला वीडियो: डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो, दोस्तो, मैं विवेक जोशी एक बार फिर से आपको अपनी देवर भाबी सेक्स स्टोरी सुनाने आ गया हूँ.

रात सुहाग

अब मैं अपना हाथ धीरे धीरे नीचे ले जाने लगा और उसकी लेग्गिंग में मैंने अपना हाथ घुसा दिया. ট্রিপল এক্স ইংলিশहमारे बाजू वाले कपल किस करते हुए आवाज निकाल रहे थे, जिसके कारण भाभी भी गर्म होने लगीं और मुझे कस कर पकड़ने लगीं.

कुछ ही देर में मेरा लौड़ा पूरी तरह से तन कर उसके मुंह में अकड़ चुका था. राजस्थानी नंगा सेक्स वीडियोमेरी पैंटी बार बार बीच में आ के हस्तमैथुन में विघ्न उत्पन्न कर रही थी तो मैंने अपने पैर हवा में उठाये और पैंटी को उतार के अपने सिरहाने रख लिया.

उसने डार्क ग्रीन कलर की पंजाबी कुर्ती और येलो रंग की चूड़ीदार पजामी और यलो रंग का ही दुपट्टा पहन रखा था। तेज़ दूधिया लाइट में उसका चांद सा मुखड़ा जैसे लाइट मार रहा था। वो मेरे आगे आगे सीढ़ी चढ़ने लगी.डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो: रिया- थैंक यू भैया।मैं- वैसे सेक्स में बहुत स्ट्रॉन्ग होगा ये?रिया- हां भैया, अरूण तुम्हारे जीजा से बहुत स्मार्ट है.

अब मीता ने लंड की चुसाई बंद कर दी क्योंकि वो रघु की बातों को गौर से सुनने लगी थी.एकदम दूध सा गोरा रंग, फिगर का आकार 32-28-34 का वो भी 19 साल की थी और एक बहुत ही मस्त माल थी.

तमिल क्सक्सक्स - डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो

फिर अगले दिन मैं उसको मिलने शाम के समय में गया। वो कुछ अजीब तरीके से चलते हुए आ रही थी.मुझे उसके इस तरह से बीच चुदाई में लंड निकाल लेने से गुस्सा आने लगा था.

वो हाँफता हुआ पीछे हुआ और बोला- कहां निकालना है?मैं- अंदर निकाल दो. डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो कविता की चूत पर जीभ लगी तो उसने जोर से आह्ह भरी और मेरे मुंह को अपनी चूत पर सटा दिया.

अब घुसा दो मेरी चूत में।पापा बोले- नहीं पहले गांड में डालूंगा फिर उसके बाद चूत को मिलेगा.

डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो?

दिशा मेरी फर्स्ट ईयर की गर्लफ्रेंड थी, जिसको मैंने ऐसे ही दोस्तों में चैलेन्ज के चलते पटा लिया था. अंत में जब बारिश तेज हो गई, तो मैंने चाची से कहा- आप नीचे चलिए … मैं बाकी के कपड़े लेकर आता हूं. हालांकि उनके बूब्स में दूध नहीं था मगर फिर भी मीठा सा फील हो रहा था.

इसकी ड्यूटी एक गांव में लगी है, सो अपनी पत्नी के साथ ये वहां जा रहा है. सभी पाठकगण अपने अपने लंड को हाथ में लेकर … और पाठिकाएं अपनी चुत के सागर में उंगली से डुबकी लगाते लगाते इस टीनएज रोमांस लव स्टोरी का आनन्द लीजिए. मैं झट से गाड़ी के अंदर बैठ गयी। गाडी अंदर से बहुत शानदार और बहुत बड़ी थी। काफी पैसे वाला आदमी लग रहा था वो।अंदर बैठने के बाद वो बोला- तुम्हें मेरे फार्म हाउस तक चलना होगा.

उसी समय सुनयना भाभी ने मुझे अपनी पैंट उतारने का इशारा किया, तो मैंने उसे भी उतार दिया. वो एकदम से लंड घुसाने से चिल्लाने को हुई, तभी मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से बंद कर दिया. इस बात पर मेरे पति ने मेरी गांड में लंड डाला और पीछे से मेरी चुदाई का मजा लिया.

उसके गोल तने हुए मम्मे और खड़े चूचुक मुझे उसकी ब्रा के ऊपर भी महसूस हो रहे थे. वो 28 साल की एक गदराये जिस्म की महिला था जिसकी मस्तानी चाल देख कर अच्छे अच्छे चोदू मर्दों का लंड गीला हो जाये.

मुझे समझ नहीं आया कि अभी अभी रूम का फर्श धोया है, इसका क्या मतलब हुआ.

देहाती चूत की कहानी में पढ़ें कि गाँव के डॉक्टर के पास माँ अपनी जवान बेटी को छाती के दर्द के इलाज के लिए लेकर आयी तो डॉक्टर ने क्या देखा और उसने क्या किया?मैं आपकी पिंकी सेन फिर से आपके सामने अपनी देहाती चूत की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ.

तभी मेरे दिमाग में घंटी बजी और सोचा क्यों ना मैं अपने बीज से दीदी को मां बना दूँ. मैं फराह के होंठों को चूसने लगा और दोनों एक दूसरे की लार को एक दूसरे के मुंह से खींचने लगे. ये बात मैंने मेरे फ्रेंड से कही तभी वो बोला- उससे अडल्ट वाला प्यार कर! वो सीरियस हो न हो तुझे उससे क्या, इतने दिनों से उसके साथ बात कर रहा है, थोड़ा सा मजा तो ले ले.

मैंने उनसे पूछा- आपको मेरे साथ मजा तो आया ना!उन्होंने मेरे लंड की तारीफ करते हुए कहा- तुम्हारा लंड बहुत अच्छा है. मैंने उनकी चूत को चाट चाट कर साफ कर दिया और वापिस उनके ऊपर आकर उनके होंठ चूसने लगा. मैं रिक्वेस्ट करते हुए बोला- रोज़ी प्लीज़ … बस एक बार थोड़ा सा करने दो प्लीज़!मेरे बार बार आग्रह का उस पर असर हुआ तो वो बोली- ठीक है, बस थोड़ा सा डालिएगा.

जैसे कभी हमारे कान में खुजली मचती है तो हम बिना खुजलाये रह ही नहीं सकते ठीक वैसा ही हाल मेरी योनि का होता था उन दिनों.

मैं उसे पीछे से खा जाने वाली नज़रों से देखता हुआ सीढ़ियाँ चढ़ रहा था।अचानक वो रुकी और मेरी तरफ मुड़ी. अन्तर्वासना की साइट पर मैं पिछले 4-5 सालों से हिंदी सेक्सी सटोरिया पढ़ रहा हूँ. हम दोनों एक दूसरे से चिपक गए और ऐसे ही गले लगाए हमें काफी देर हो गई.

चुदाई के वक्त उनका गुलाम बनकर उनके तलवे चाटना, चुत चाटना और उनकी नाक में जीभ डालकर नाक चूसना और उनकी मसाज करना आदि बड़ा भाता है. मीता ने लंड मुँह से बाहर निकाला और धीरे से कहा कि आप उसको यहीं बैठे हुए देख लेना. उसने अपना सारा वजन मेरे ऊपर डाल दिया और मैं बेड पर जैसे पसरती चली गयी.

तुम्हारा विजयथोड़ी देर बाद जवाब आया:आपको देखकर कुछ कुछ हुआ तो मुझे भी था लेकिन समन्दर में पत्थर आपने अब मारा है.

फर्स्ट नाईट सेक्स स्टोरी इन हिंदी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी होने वाली भाभी की बहन को चोदा. फिर उसने अपनी मांग को सही किया और बोली- भैया, इस बार आप अपने लंड की मलाई वाले वीर्य से मेरी मांग भरो.

डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो करीब 8 महीने पहले उसके पति का एक एक्सीडेंट में एक पोता (गोलियाँ) डैमेज हो गई थी और अंदर ही अंदर सेप्टिक फैलने की वजह से एक पोते को निकालने की नौबत आ गयी. अमित अपनी जीभ मेरे मुंह में घुमाता। अमित ने मेरे चूचियों को दबोच लिया और हल्के हाथों से उन्हें मसलने लगा।अब मैं नशे में डूबी अधखुली आंखों से मजा लेने लगी।अमित ने टॉप के ऊपर से ही मेरे निप्पल को अपने नाखून से रगड़ा। मैं तिलमिला उठी और अपनी जांघों से उसे कमर से दबोच लिया.

डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो बहुत दिनों से शादी के कामों में बिजी होने के चलते मैंने क्रिकेट नहीं खेला था. उसकी आहें और तेज़ हो गईं और वो मेरी छाती पर अपने नाख़ूनों से नोंचने लगी।इस तरह से चुदते हुए कुछ देर में वो झड़ गई और मैं उसको अपनी गोद में बिठा कर चोदता रहा। थोड़ी देर की चुदाई से वो फिर गर्म हो गई और फिर से मेरा साथ देने लगी। इस बार मैं नीचे लेट गया और वो मेरे ऊपर चढ़ कर लंड पर कूदने लगी.

तो चाची बोलीं- तुम्हें जो करना है … कर लो … आज मेरी तरफ से कोई रोक टोक नहीं है.

शाम को उल्लू देखना

फिर दोपहर के समय उसके गेट खुलने की आवाज सुनाई दी, मगर मैं ये सोच कर नहीं उठा कि उसकी मम्मी है, जाने का कोई फायदा नहीं होगा। तभी रोज़ी की आवाज सुनाई दी- मम्मी अब कब आओगी?मम्मी का जवाब मिला- रात में, तुम अंदर से ताला लगा कर आराम कर लो, देर रात तक काम कर रही थी. फिर मैं ख्यालों में ही भाभी को किस करने लगा और उनको प्यार करने लगा. सुनयना भाभी ने बाल खुले छोड़े थे और रसीले होंठों पर लाल लिपस्टिक लगायी हुई थी.

तुम मेरी बात समझ रही हो ना!सुमन- हां में अच्छी तरह समझ रही हूँ मगर …मुखिया- अब ये अगर मगर जाने दो, मैं डॉक्टर बाबू का बंदोबस्त करके अभी आता हूँ. उसने मुझसे कहा कि मैं उसके कपड़े वगैरह पैक करवाकर सीधा ऑफिस में पहुंचा दूं. मेरी फिगर साईज की बात करें, तो मेरे बूब्स 33 इंच के हैं यानि आप उन्हें पूरा का पूरा मुँह में लेकर गपगप कर सकते हैं.

उसके बाद फिर वो वापस लौट गयी हफ्ते भर के बाद।मगर जब भी वो आती थी तो हम दोनों में नॉर्मल बातें ही होती थी.

उनको लगा कि मैं शायद उनके गाल पर किस करूंगा, पर मैंने उनके होंठों पर किस कर दिया. मुंह के अंदर पैंटी लेकर चाटने से ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मैं लंड को हिलाने लगता था. वो अंदर आई और चाबी ले जाकर दरवाजा खोल दिया। मैं झट से वहां से बाहर निकला और एक सौ रुपया जेब से निकाल कर उसे देने लगा.

जब उनकी जकड़ थोड़ी ढीली हुई, तो मैंने उनके होंठों पर होंठ रख दिए और उनको चूमने के लिए आमंत्रित करने लगा. अब आगे की सेक्सी सिस्टर की चुदाई कहानी:हैलो मैं विजय, सच बताऊं दोस्तो मेरी इतनी गांड फट रही थी … मगर मेरी बहन की चुत को चोदने के सिवाए फिलहाल मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था. जैसे जैसे वो उछल रही थी, वैसे वैसे उसके मोटे मोटे चूचे ऊपर नीचे ऊपर नीचे उछल रहे थे.

कई बार फोन पर बात करते हुए मुझे ये अहसास भी होता था कि कविता भी सेक्स के लिए तैयार है. उसकी गांड का संकुचन ढीला होने लगा और धीरे धीरे मैंने पूरा अंगूठा उसकी गांड में डाल दिया.

मैंने उसे खुद बोला था डालने के लिए।मगर वो कहने लगा- रिया, मैं तेरी रूह से प्यार करता हूं, सिर्फ जिस्म से नहीं. राज- नहीं अभी मुझे हाथ से नहीं करना … कल उसी की चूत में रस निकालूंगा. उसकी बात सुन कर मैं थोड़ा सकते में आ गया कि कहीं ये सचमुच कुछ उल्टा सीधा प्लान तो करके नहीं आई है?फिर मेरा हाथ पकड़ कर वो बोली- भले ही आप यहां पर सर्विस देने के लिये आये हैं.

वो सांवली सी लड़की, एकदम मस्त फिगर वाली मेरी आंखों में मानो जादू कर गई.

अब दस मिनट के आराम के बाद रवीना फिर से मेरे लंड को चूसने लगी और मैं नगमा के बूब्स को पीने लगा. मेरी बस ये फिल्म पूरी करवा दो, उसके बाद तुम भले ही काम छोड़ देना या आगे करना वो तुम्हारी मर्जी. रेशमा बोली- तो किसके साथ करोगे सबसे पहले?मैंने मिकी की तरफ इशारा कर दिया.

सुमन की सीट के पीछे बैठे एक बूढ़े की तो उसकी चिकनी कमर को देख कर हालत खराब हो रही थी. वो भी अपने दोनों हाथों से मेरे सर को अपने मम्मों की तरफ़ दबा रही थी और हल्की हल्की आवाज़ कर थी.

मनीषा के होंठ अपने होंठों में दबाकर मैंने अपना और मनीषा का लोअर उतार दिया. मैं समझ गयी थी कि वो चुदाई की बात कर रहा है लेकिन मैंने अन्जान बनकर कहा- मैं समझी नहीं?उसने मेरी कमर को सहलाते हुए कहा- जो मुझे चाहिए वो आप मुझे दे दो और जो आपको चाहिए वो मैं आपको दे दूंगा. फिर उसको बिना बताए ही एक ही बार में पूरा लंड घुसेड़ते हुए गांड में पेल दिया.

ब्लूटूथ का सेक्स वीडियो

गीता के चेहरे पर डर और घबराहट के भाव साफ साफ नज़र आ रहे थे और सुरेश को भी समझने में देर नहीं लगी कि कोई गड़बड़ जरूर है.

मैंने दीदी को कहा- दीदी आप मां बन सकती हो लेकिन आपको कुर्बानी देनी पड़ेगी. मैडम मेरी बॉडी को देख कर बोलने लगीं कि तुमने अपनी बॉडी को काफी अच्छा बना रखा है. मैं- हां बताएं ना!अंकल के स्वभाव में हिचहिचाट को देखकर मुझे समझ आ गया कि अंकल क्या बोलना चाहते हैं.

तभी मैडम ने बैठ कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगीं. रिया का बॉयफ्रेंड इत्तेफाक से उसी कंपनी में जॉब करने लगा जिसमें रिया कर रही थी. हॉट देसी फिल्मइसलिए सीधे सेक्स पर टूट पड़ने की बजाय मैंने पहले एक दूसरे के बारे में जानना सही समझा.

तो दोस्तो, ये मेरी पहली सेक्स कहानी आप सबके सामने है, मुझे उम्मीद है कि आपको पसंद आई होगी. सुपारे की गर्मी से चाची की मस्त आह निकल गई और उसी समय मैंने लंड को हल्का सा धक्का दे दिया.

जितना मन हो उतना मेरी चुची दबाओ, जब मन करे, तब मुझे पेलो … मैं कहां मना कर रही हूं. कहते हुए पापा ने स्पीड और तेज कर दी और दो मिनट के बाद वो बोले- आ रहा है डार्लिंग!तभी मां आगे हो गयी और पापा का लंड बाहर आ गया. पर वो मेरी इस बात पर गुस्सा नहीं करती थीं … बल्कि नजरों से पकड़ लेने के बाद वो मुझे एक प्यारी सी स्माइल दे देती थीं … और मैं झेंप जाता था.

मैंने पूछा- क्या हुआ डार्लिंग … फट गई क्या!तब चाची बोलीं- अरे फटी को क्या फाड़ेगा … मुझे कुछ नहीं हुआ है. मैं उसके नाजुक होंठों का स्पर्श पाकर एकदम से सिसक गया और मेरी आंखें बंद हो गयी. जब उसकी चूत में मेरे वीर्य की पहली धार लगी तो उसी वक्त उसकी चूत ने भी पानी फेंक दिया और हम दोनों साथ में झड़ने लगे.

अब मैंने उसके शरीर पर से कम्बल पूरा हटा दिया और अपने भी सारे कपड़े निकाल दिए.

मुनिया ने पीले रंग का चनिया चोली पहनी हुई थी, इस ड्रेस में वो बड़ी ही कामुक लग रही थी. क्योंकि कितने सालों के बाद अंकल सेक्स करने जा रहे थे और वैसे भी अंकल अपनी बेटी की चूत चोदने जा रहे थे इसलिए वे थोड़ा हिचकिचा रहे थे.

रात को मैंने उसे मैसेज करके पूछा- तुमको कैसा लगा?वो बोली- सच में इतना मज़ा मुझे बहुत दिन बाद आया. उस समय सुरेखा के एग्जाम चल रहे थे, इस कारण सुरेखा शादी में नहीं जा सकी थी. चाटने के बाद उसने मेरी योनि में लिंग प्रवेश करा दिया और मेरी चुद चुकी योनि को फिर से चोदना शुरू कर दिया.

मैंने उसके कान में बोला- ये रेड टॉप और मिनी स्कर्ट में एक सेक्स बॉम्ब लग रही हो, जी कर रहा है यहीं पर तुम्हें खा लूं. हालांकि मेरी दूसरी बार इस बात को कहने से दीदी कुछ ज्यादा नाराज हो गई थी और कुछ दिनों तक उन्होंने मुझसे बात भी नहीं की. कोलकाता से हर दो तीन दिन में वो मुझे फोन कर लिया करती और मैसेज भी करती रहती.

डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो मैं गया तो बंगाली भाईसाहब से बात करने के लिए था लेकिन मेरा मकसद भाभी की चूत का जुगाड़ करने का था. फिर मैंने उससे पूछा कि सैड स्टेटस क्यों लगाये रहती हो तो वो बोली कि ऐसे ही अच्छा लगता है उसको।वो बोली- आज कैसे मैसेज कर दिया? ऑफिस में मैंने तुम्हें कितनी बार देखा है.

फुल एचडी में हिंदी सेक्सी

मैं हिलडुल कर उसको जगाने की कोशिश करती रही और जब मुझे लगा कि उसकी नींद अब टूटने वाली है तो मैं आंख बंद करके लेट गयी. उसकी सिसकारियां निकल रही थीं- उफ़ यार … उफ़ डाल दे भी प्लीज़ उफ्फ्फ डाल दे न क्यों तड़फा रहा है. फिर मैंने थोड़ा ऊपर हाथ किया तो उसकी शर्ट के अंदर उंगली से सहलाने लगा। मेरे हाथ उसकी चूचियों तक पहुंच चुके थे और मैं जैसे हवस में पागल हुआ जा रहा था.

उसकी आंखों की चितवन से ही मुझे उसकी आंखें इतनी नशीली दिख रही थीं कि मैं बस मदहोश सा हो गया. नहाने के बाद चाची और मैंने कपड़े पहने और कमरे में आकर चिपक कर सो गए. बीएफ पिक्चर चोदा चोदी वालीलेखक ने डैड मॉम सेक्स स्टोरी के साथ ईमेल प्रकाशित नहीं करने का आग्रह किया है।.

मैंने श्वेता से कहा- मेरी जान अब दुखों का मौसम गया, अब तो सिर्फ प्यार प्यार और बस प्यार वाला मौसम होगा.

मैंने बिना लंड निकाले भाभी को पलट कर सीधा किया और एकदम से उनकी दोनों टांगें खोलकर उनके ऊपर चढ़ गया. मैंने मोनिषा से पूछा कि रात को नीचे सोने से नींद कैसी आयी?मेरी बहन ने कहा- भैया नींद तो बहुत ही बढ़िया आयी मगर वो …इतना कह कर वो चुप हो गई.

मेरा मस्तिष्क वो सब स्वीकार नहीं कर रहा था पर मेरे जिस्म पर मेरा वश नहीं था वो तो मौसा जी की छेड़छाड़ से और भी आनंदित होने लगा था. मैं बोला- पहले नहीं चुदी हो क्या?उसने कहा- अपने एक्स बॉयफ्रेंड से चुदी थी दो-तीन बार. अमित अपनी जीभ मेरे मुंह में घुमाता। अमित ने मेरे चूचियों को दबोच लिया और हल्के हाथों से उन्हें मसलने लगा।अब मैं नशे में डूबी अधखुली आंखों से मजा लेने लगी।अमित ने टॉप के ऊपर से ही मेरे निप्पल को अपने नाखून से रगड़ा। मैं तिलमिला उठी और अपनी जांघों से उसे कमर से दबोच लिया.

धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करता रहा और जब लंड ने जगह बना ली तो मैंने तेज़ धक्के लगाने शुरू कर दिये.

मैंने कहा- ठीक है, कल का प्लान रखते हैं … परंतु कहां?ये एक समस्या थी. जब मैडम ने फ़ोन काटा, तो मैंने मैडम की गांड और मम्मों को याद करके मैडम के नाम की मुठ मारी. भाभी के बड़े बड़े चूचे इस कसी हुई ब्रा में बंद थे … मैं बस देखता ही रह गया.

मोटी सेक्सी वीडियोउसने मेरे सामने घुटनों पर बैठ कर मेरे लंड को अपने मुंह में ले लिया. फिर अगले ही पल उसका हाथ मेरे पजामे के अंदर था और मेरे अंडरवियर के ऊपर से वो लंड को सहला रही थी.

ट्रिपल सेक्सी पिक्चर

मुझे भी उनकी चूचियों के दूध को चूसने में मजा आता था … क्योंकि चाची अभी भी दुधारू माल हैं. तभी क्लासरूम में एक लेडी आईं और मुझसे पूछने लगीं- पर्सनैलिटी डेवलपमेंट की यही क्लास है?तो मैंने कहा- हां जी, पर्सनैलिटी डेवलपमेंट की क्लास यही है. हालत पतली हो गई। मैंने फोन नहीं उठाया।फुल रिंग होने के बाद मैंने तुरंत मोबाइल ऑफ कर दिया। डर के मारे मेरा लंड भी मुरझा गया.

पति के साथ किस और हग किये हुए फोटो थी मगर कोई नंगी फोटो नहीं मिली मुझे. मैं समझ गया था कि चाची में आग लगी है और ये भी भांप गया था कि बारिश तो पहले हो गई, पर अब बिजली भी जरूर गिरेगी. फिर मेरे हाथ को पकड़ कर अपनी साड़ी के ऊपर से अपनी हिंदी चूत पर फिराते हुए बोली- और हमसे भी ज्यादा इसको ‘आपके उसका’ इंतजार है.

गीता- अरे वाह रे मेरी छुटकी तो बड़ी तेज़ निकली, पहले ही दिन काम पर लग गई. मैंने अपने हाथ से उसका मुँह बंद कर दिया और उसके अन्दर सारा माल निकाल दिया. उसके जिस्म से सटे होने का अत्यंत कामुक अहसास मुझे अपनी सीमाओं से बाहर धकेल रहा था.

बड़ा ही नमकीन स्वाद था अंगिका की चूत के पानी का।मेरे लगातार चाटने से अंगिका अपना आपा खोये जा रही थी और मैं अब चाटता हुआ उसकी चूत पर पहुंच गया. वो बहुत ही बेशर्म लड़की निकली मुझे ऐसे गर्म करके वो खुद पूरी नंगी हो गई और मुझे भी उसने पूरा निर्वस्त्र कर दिया और फिर वो मुझसे लिपट गयी और मेरे होंठ चूसने लगी.

मैंने कहा- रवीना मेरी जान … अब कुछ काम किया जाए?वह कुछ नहीं बोली तो मैंने सोचा कि मौका है इमरान, आज चोद ले, फिर पता नहीं चोद पायेगा या नहीं!इसके बाद मैंने रवीना को नीचे लिटाया और अपने लंड का टोपा उसकी चूत पर रखा लेकिन मेरा लंड धक्का मारते ही बार-बार फिसल रहा था.

कास्टिंग काउच सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि हिरोइन बनने के लिए नंगा फोटो सेशन मैंने किसी तरह करा लिया. जरीन खान के नंगे फोटो… क्या हुआ … पसन्द नहीं आई क्या!मैं- तुमने न तो किस की … न बूब्स को छुआ … डायरेक्ट चुत में लंड अन्दर कर दिया … तुम इस खेल के नए खिलाड़ी लगे. अंग्रेजी बीएफ हिंदीकरीब आधा घंटे तक मुझे दोनों छेदों में चोदने के बाद वे दोनों शांत हुए. आज मैं आपको मेरी जिंदगी की जिस सेक्स स्टोरी को साझा कर रहा हूँ, वो मेरी जिंदगी के पहले सेक्स अनुभव की नंगी गर्ल सेक्स कहानी है.

ये मैं सुनते ही सीट के ऊपर से उठ गया और उसके सामने आकर नीचे बैठ गया.

ये सुनते ही मुखिया जी को सुमन की चुदाई की याद आने लगी और वो खुश हो गया. जिसे मैं इतने दिनों से पागल होकर ढूंढ रहा था, आज वो मेरे बगल में बैठी थी. अपना लंड उसकी चुत पर रख कर मैंने रगड़ना चालू किया, पर अन्दर नहीं डाला.

मैं उनको बिस्तर पर ले आया उन्हें चित लिटाते हुए मैं नीचे रह गया और उनकी चूत को चाटने लगा. मॉम भी अपनी चूचियों पर हाथ फिराने लगी और हम दोनों उत्तेजित होकर एक दूसरे को होंठों पर डीप किस करने लगे. इस बार जब मैंने स्टूल पर चढ़कर देखा तो वो थोड़ी सी तिरछी होकर बैठी हुई थी.

घर्षण क्या है

फिर मैंने उसके कपड़े उतारने शुरू कर दिये और उसने मेरे कपड़े खोलने शुरू कर दिये. ये गांव है, यहां तो कभी कुत्ता, कभी भैंस, कभी गधा इन सबका चलता ही रहता है. मैं- अरे ऐसा क्या हो गया था?सविता- कल मेरे पति अंकित कहीं से बहुत मोटा सा कंडोम लाए थे, मतलब उस कंडोम की लेयर पर बहुत मोटे मोटे उभार थे.

ये जानकर भाभी ने मुझे फिर प्रेरणा भाभी की पूरी स्टोरी बताई और बोली- मैं समझ गयी कि ये सब क्यों हुआ। दरअसल प्रेरणा का पति एक नपुंसक इंसान है और उसका लंड खड़ा नहीं होता है.

मैंने कहा- बिना कॉन्डम भी करवा लेती हो?वो बोली- बिल्कुल नहीं, मैं ये सब केवल पैसे के लिए करती हूं.

मैं और दानिश अच्छे दोस्त तो थे ही, साथ ही साथ उसकी अम्मी और मेरी अम्मी भी आपस में अच्छी सहेलियां थीं. पायल भाभी ने अपने ब्लाउज का बटन लगाया और अपनी साड़ी ठीक करते पल्लू ऊपर ले लिया. लक्ष्मी की सेक्सीइस बात पर मैंने उसको दिलासा दिया और कहा कि मैं उससे इस बारे में बात करूंगा.

उसके बाद मैं दोपहर के 1 बजे के करीब उठा और मैंने अपने रूम की साफ सफाई की. इस सेक्स कहानी में सेक्स का भरपूर मजा है, जो आपके लंड चुत को पानी पानी कर देगा. लगता है मैंने कुछ ज्यादा ही दारु पी ली आज; ठहर अभी देखता हूं तेरी चूत को!” वो बोले.

पापा बोले- अनीता इतना डर कर क्यों कर रही हो? मेरे लॉलीपॉप का टेस्ट तो ले लो. तुम एक बार चढ़ के फिर उतर के बता दो।अमित के चेहरे पर थोड़ी झुंझलाने जैसे भाव आए फिर न जाने क्यूं वह मुस्कुरा कर सीढ़ी चढ़ गया।जैसे ही वह ऊपर आया और फिर नीचे उतरने को हुआ मैं बोली- तुम उतरो और तुम्हारे बाद मैं उतरती हूं।उसने बोला- एक वक्त पर दो लोग?तो मैंने कहा- देखते नहीं, लोहे की सीढ़ी है.

मनीषा की चूत को अपनी मुठ्ठी में दबोचकर मैंने उसकी चूत का द्वार बंद कर दिया.

लेकिन अगले भाग में आपको कमसिन गीता की कुंवारी देहाती चूत की सील तोड़ने की सेक्स कहानी में आगे मजा दूंगी. फिर एक दिन मैं अपनी क्लास में बैठा हुआ था, तो मुझे कोई भी पढ़ाने नहीं आया. अभी मेरी शादी नहीं हुई है तो आप समझ सकते हैं कि अभी मैं लण्ड का इस्तेमाल हाथ से ज्यादा करता हूं.

हिंदी में बीएफ फिल्म मैंने अपनी गोद में उठा कर भाभी को कार से उतारा और उनको अंदर ले जाकर लेटा दिया. फिर मुझे ध्यान आया कि मैं बाइक की चाबी नीचे बाइक में टंगी हुई ही भूल आया हूं.

मैं राज के मुँह से ऐसे शब्द सुनकर गर्म होने लगी थी- ओह्ह … मतलब कल तो पक्के में किसी को बुलाना पड़ेगा. मगर इस बात से अन्जान थे कि इस बिल्डिंग में चार लोग सिक्योरिटी का काम भी करते हैं. मेरे दोस्त को तीन बेटियां थीं … और चौथा बेटा होने की वजह से सबसे बड़ी बेटी पूरी जवान हो चुकी थी.

செக்ஸ்படம் மலையாளம்

दूसरे हाथ से उसका ट्रॉउजर नीछे खींच दिया और उसकी उभरी हुई गांड चमक उठी. मालिनी अब कभी तो उसके मम्मे को मुंह में दबाती और कभी दूसरे मम्मे को मुंह में डाल कर उसकी काली सुर्ख घुंडियों को काट लेती. शाम को खाना बनाते समय उसको पेट में बहुत तेज़ दर्द हुआ और पीरियड आ गया.

काफी देर तक बहन की गांड में जीभ करने के बाद आखिरकार मेरी जीभ उसकी गांड में आराम से जाने लगी. पापा बोले- वो तो हमेशा ही तैयार रहता है तुम्हारी चूत के लिए जानेमन। बस तुम ही तैयार नहीं होती उसके लिये.

वो भी मेरी मेरे हाथ को खुद ही पकड़ कर अपने गालों पर प्यार से छुआने लगी.

सविता- मैं सौतन बन कर ही रहूंगी … अभी मयंक बोल रहे थे कि सोनम को जब से चोदना स्टार्ट किया है … उनको तो जन्नत मिल गई है. अब मैंने उसकी गांड को प्यार से घपाघप प्यार से चोदता रहा और उसकी गर्दन, पीठ को चाटता रहा. मैं थोड़ी देर उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा और उसकी चूचियों को सहलाने लगा.

जैसे ही टोपा उसकी चूत में घुसा तो उसके मुंह से चीख के रूप में एक जोर की ऊंह्ह … निकली जो कि मेरे होंठ लगे होने की वजह से पैदा हुई आवाज थी. लंड को पूरा गले में फंसा लेती थी और पूरा बाहर निकाल कर जीभ से टोपे को चाट कर फिर से अण्डकोषों तक लंड को गलप जाती थी. बहुत मजा आ रहा था।उसने पूरी तरह से मुझे अपनी बांहों में ले रखा था। मुझे ऐसे चूम और चाट रहा था जैसे आज मुझे खा जाएगा। उसका ऐसा पागलपन वाला सेक्स देखकर मुझे भी मज़ा आ रहा था।रोहित मेरी चूत में बहुत तेज-तेज धक्के लगा रहा था और मेरा पानी निकलने वाला था.

मेरी कोमल देह से कभी पत्तियां टकराती, तो कभी कुछ छोटी टहनियों मेरी मांसल जांघों को छेड़ देती.

डब्ल्यू डब्ल्यू डब्ल्यू बीएफ वीडियो: मुझे उनकी मन:स्थिति समझ में आ गई कि इनको लंड भी लेना है और झिझक भी उन्हें हां कहने से रोक रही है. वो मुझे बार बार थैंक्स बोल रही थीं- अगर तुम न होते … तो मैं कैसे ये सब कुछ संभाल पाती.

कॉलेज से आते टाइम वो मुझे रास्ते में से उठा ले जाते थे और खेत में ले जाकर चोद देते थे. मैंने भी रोहन की टी-शर्ट को उतार दिया और उसकी जींस के ऊपर से ही लंड दबाने लगी. मुझे लग रहा था कि ये लंड लेने की अभ्यस्त है, तो शायद चिल्लाएगी नहीं … मगर अगले ही पल मुझे अहसास हो गया था कि इसने काफी दिनों से लंड नहीं लिया था इसलिए इसकी चुत कुछ कस सी गई थी.

यहां पर कोई क्लब नहीं है कि तुम जितना मर्जी टाइम लो और दुनियादारी से बेखबर रहो.

मैं समझ गया कि भले ही इसकी शादी हो गई हो, मगर इसकी अभी एक अच्छी सुहागरात नहीं हुई है. मोनिषा सोने का नाटक करने लगी और मैंने कम्बल हटाकर मोनिषा की लोवर को खींचकर निकाल दिया. बीच-बीच में मैं अपना लंड चुत से बाहर निकाल कर उनको चुसवा देता था ताकि उनको और ज्यादा मजा आए.