टाटा का बीएफ

छवि स्रोत,हिंगोली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी औरत की वीडियो: टाटा का बीएफ, रीना के बाल छोड़ते हुए मैंने अपने दोनों हाथों से रीना की कमर दबोच ली और जोर जोर से रीना की चूत फाड़ने लगा.

सेक्सी बीएफ इंग्लिश जबरदस्त

दोस्तो, आपको मेरे मम्मी पापा और अंकल आंटी की ग्रुप सेक्स वाली चुदाई की कहानी पसंद आई होगी. एक्स एक्स एक्स एक्स बीएफ पिक्चरफिर मैंने सोचा कि अभी इसकी मां घर में हैं, कहीं हम दोनों को पकड़ लिया, तो लफड़ा हो जाएगा.

उसके अनुसार अगर मुझे उसकी चूत की चुदाई की चाहत है, तो पहले हम दोनों को मिलना होगा. बीएफ पुरानी फिल्मइस जोरदार चुदाई के बाद हम दोनों ही थक गए थे और उसी पोजिशन में नंगे ही सो गए.

पहले तो मुझे अपने लिए खुद कुछ करना था और दूसरी बात मेरे पापा के रिश्तेदारों से एक पुणे में रहते थे और उनका एक फ्लैट भी था, जो खाली था.टाटा का बीएफ: जैसे उसने मेरी चूत मसली थी, मैं वैसे ही मैं भी उन तीनों के लौड़ों को मसलने वाली थी.

वैसे तू बुरा मत मानना, एक दिन चिंटू के लंड पर मेरी नज़र पड़ गयी थी, बाप रे बाप कितना लंबा मोटा और टाइट है.जैसे ही मेरी मादक सिसकारियां निकलने लगीं, वैसे ही उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

बीएफ पिक्चर फिल्म ब्लू - टाटा का बीएफ

तब मैंने उसकी चूत में ऊपर अपने लंड को रख कर एक मिनट तक चूत के ऊपर रगड़ा.मां फिर से बहुत तेज चिल्लाने लगी थीं- आंह आराम से … नहीं कर बेटा … आंह दर्द हो रहा अहह अहह ओ मम्मी मर गयी … बहुत दर्द हो रहा है.

आज पहली बार अपने जीवन में मेरे हाथ में और सात इंच लम्बा और तीन इंच मोटा लौड़ा था. टाटा का बीएफ जैसे ही मैंने लंड को उसकी चूत से बाहर निकाला, उसकी चूत से खून निकलने लगा.

अब शायद उसका दर्द भी कम हो चुका था और वो भी इस चुदाई का आनन्द लेने लगी थी.

टाटा का बीएफ?

मैंने बाथरूम में जाकर दरवाजा लॉक कर लिया और अपने आप को आईने में देखते हुए सोचने लगी कि साली तू कितनी बड़ी छिनाल हो गयी है, जो किसी से भी … और कहीं भी चुद लेती है. नंदा ने अपने दोनों हाथ मेरी कमर के ऊपर कंधे पर कर दिए और दोनों पैरों को मेरे पैरों से लिपटा दिया. फिर वो मेरे पैरों पर, मेरी जांघों पर किस करने लगा और मुझे तड़पाने लगा.

उसकी चूत एक अद्भुत खज़ाना थी जिसे उसने अपने पति के बाद किसी को नहीं दिखाया था. मैं भी राकेश को चलने के लिए बोलकर उठी, तभी मैंने यूं ही पूछ लिया- वैसे तुम्हारा नाम क्या है?वो मुझे घूरकर देखते हुए बोला- तुम जानती तो हो!मैं हकला गई और बोली- मैं कैसे जानूंगी तुम्हारा नाम?वो बोला- मेरा नाम राकेश है और ये तुम जानती हो … और ये ‘यहीं पर शुरू नहीं हो जाना’ वाला क्या लफड़ा है, जो तेरी दीदी ने बोला था. बाहर आकर मैंने उससे कहा- आज तो मजा गया … एकाध दिन फिर से इसकी लेने आऊंगा.

वो सब देखकर मैं चौंक गयी और बोली- ये क्या है?मंयक- मेरी तरफ से एक छोटी सी गिफ्ट है. मैंने उससे कहा कि तुम अपने पहले बॉयफ्रेंड से इस मामले में कोई मदद क्यों नहीं ले लेती हो?उसने बोला- जब मेरी शादी हुई थी तो हम दोनों में बहुत लड़ाई हुई थी और उसने मुझे उस समय समझा ही नहीं. मुझे लग रहा था कि वो मेरी चुदाई की बात सुनकर मुझसे गुस्सा हो जाएगी.

धीरे धीरे मेरा हाथ उसके टांगों के बीच जाने लगा तो उसने रोक दिया और बोली- यार, आज चुदाई का दिन नहीं है, थोड़ा कंट्रोल करो और मुझे भी कंट्रोल में रहने दो. लेकिन यह बात बहुत कम लोगों को पता थी कि वह अश्लील पुस्तकें भी बेचा करते थे जिनमें चुदाई की रंगीन तस्वीरें हुआ करती थीं.

मैंने उसको और तड़फाने के लिए कहा- किसे डाल दूँ और कहां डाल दूँ!तो उसने हाथ से अपनी चूत की ओर इशारा किया.

राकेश का लंड इस समय सीधा खड़ा था और वो इस समय अपने घुटनों पर खड़ा हुआ था.

वैसे तो मैं पेपर में विज्ञापन आदि देकर किसी अच्छी पेशेवर लड़की को मेरे ऑफिस में रखना चाहता था. नीता मेरे लंड का चिकना सुपारा अपने मुँह में लेकर चूसने लगी तो मेरे पूरे बदन में बिजली सी दौड़ने लगी थी. मैंने मरी सी आवाज में अपनी भाई से कहा- भाई, प्लीज़ एक बार अपना बाहर निकालो, मुझे काफ़ी दर्द हो रहा है.

अली पीजी में रहता था तो ऑफिस के बाद अली कई बार मेरे साथ मेरे फ्लैट पर आने लगा था. उसके उठने के कारण मेरा स्तन दब गया और फिर से मेरे मुँह से चीख निकल गई. उसने आनन-फानन में झट से अपने लंड को चूत से बाहर निकाल दिया और एक तेज पिचकारी के साथ उसका सामान झटकों के साथ अपने माल को मेरे ऊपर डालने लगा.

मेरे जीवन का सबसे पहला सेक्स का किस्सा, जो बेहद सुखद था, वो आप सबको सुनाने जा रहा हूँ.

मैंने उसे उठाया और हाथ में लिया तो उस पर चिपचिपा पानी सा लगा हुआ था. फिर मैंने उसके एक बूब को मुँह में लेकर चूसने लगा तो सुहानी मेरे सर को कसके अपने मम्मों पर दबाने लगी. क्योंकि जीजा जी तो काम से बाहर रहते थे और वो हफ्ते में सिर्फ एक बार ही संडे को घर आते थे और दीदी की चुदाई करते थे.

मेरे घर वालों को मैं जानता हूं, वो शादी के लिए नहीं मानेंगे … और तो और पापा को पता लगा, तो उनका गुस्सा ऐसा है कि वो मुझे घर से भी निकाल देंगे. रेशमा- वहां क्या कर रहा है पाटिल, देख तेरी इस रांड कुतिया की गांड तेरे लौड़े का इंतजार कर रही है. आज मुझे चाय फिर वसुंधरा भाभी ने ही दी … वो भी दिलफरेब मुस्कुराहट के साथ.

थोड़ी देर बाद राजीव को किसी का कॉल आ गया तो वो बिना मुझसे मिले चला गया.

नगमा बानो ने फ़ज़लू को एक लड़की की तस्वीर दिखाते हुए कहा- इससे मिलोगे … पहली बार की माल है. चाची ने कहा- तुम तो जवान हो, दिखने में भी अच्छे हो, फिर तुम अब तक वर्जिन कैसे हो?मैंने कहा- कभी आप जैसी खूबसूरत कोई मिली ही नहीं.

टाटा का बीएफ मैंने उससे कहा- ठीक है अन्दर मत लो … मुझे अपनी चूचियाँ पिलाओ और मेरे लंड को हाथ से हिला दो. वो- कौन सी?मैं- जो तुमने अंकित को भेजी थीं?वो- क्या भैया … आपने वो सब देख तो ली हैं.

टाटा का बीएफ मैं बोला- नगमा, तेरी जवानी पर हिना जैसी कई कलियां कुर्बान कर दूँगा मैं … जान आज मना मत करना … तूने मर्द पैदा किया है, अब तेरी चूत से निकले हुए मर्द की मर्दानगी देख बस. मैंने अपने लंड का सुपारा भाभी की चूत के छेद पर रखा और एक जोरदार झटका लगा दिया.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे किसी ने मुझे नींबू की तरह निचोड़ दिया हो, शरीर में जैसे जान ही न हो!कुछ देर ऐसे ही पड़े रहने बाद मैंने भी उठकर अपने कपड़े पहने और ऑन्टी अपने घर चली गयी।प्रिय पाठको, आपको इस हॉट MILF आंटी सेक्स कहानी को पढ़ कर कितना आनन्द मिला? मुझे कमेंट्स में बताएं.

ब्लू सेक्सी हिंदी वीडियो फिल्म

अब मैं पिंकू की चिकनी टांगों और उसके पेट पर हाथ घुमाने लगा, मुझे बहुत मजा आने लगा. फिज़िकल बॉडी लव स्टोरी में पढ़ें कि तन के सुख की खोज में एक युवा लड़की ने कई दोस्त बनाये, उनके साथ सेक्स किया. डॉक्टर ने बोला है कि एक डेढ़ साल तक इलाज कराना पड़ेगा, उसके बाद मैं ठीक हो जाऊंगा.

मैं जब भी उनकी ब्रा या पैंटी छत पर पड़ी पाता तो उनकी ब्रा या पैंटी से अपने लंड को लपेट कर मुठ मार लेता था और लंड की गर्मी को शांत कर लेता था. उसके मुंह को मैंने उसी की टीशर्ट से बंद कर दिया ताकि घर से बाहर किसी को सुनाई ना दे।अब मैंने बेफिक्र होकर जोर जोर से धक्के मारने शुरू कर दिया. मेरे घर में मुझे पिटवाने का बंदोबस्त भी कर दिया … और तो और, मेरे और साहिल में बनती भी नहीं है.

वंदना ने कहा- जब भैया बात करेंगे तो मुझसे तो कैसे देखा जाएगा … पता नहीं क्या होगा.

[emailprotected]पोर्न चूत की चुदाई कहानी का अगला भाग:मनचली गर्म लड़की की सेक्सी चुदाई यात्रा- 4. फिर जैसे ही मैं पेशाब करके उठी और बाहर निकल कर आ ही रही थी कि मेरा पैर फिसल गया और मैं जोर से चिल्ला पड़ी. ’सुहानी का ईमेल पढ़ कर मैंने उसको रिप्लाई दिया- मैं आशा करता हूँ कि मैं तुम्हारे भरोसे पर पूरा उतरूं, जो भी तुम्हारी इच्छा है … वो मैं पूरी करूं.

मैंने उसकी प्लाजो के ऊपर से ही जांघों के जोड़ पर हाथ डाल दिया और उसकी चूत सहलाने लगा. शायद उन्होंने अन्दर ब्रा नहीं पहनी थी जिस कारण उनके निप्पल कड़े होकर अलग ही दिख रहे थे. मेरा बहुत सारा वीर्य निकला तो कंडोम ए आगे से उसका बड़ा सा गुब्बारा फूल गया.

शुरू में तो मैं ये सब बस उसे छेड़ने के कर रही थी पर धीरे धीरे मुझे इस सब में मजा आने लगा था. मैंने अदिति से दो तीन बार पूछा भी- क्या बात है अदिति, तुम बहुत उदास रहती हो? तुम्हारी तबियत तो ठीक है ना?वो बोली- मैं ठीक हूँ … मुझे क्या हुआ है.

इस बात को यहीं खत्म कर हम दोनों अपनी चुम्मा चाटी और चुदाई में लग गए. मैंने उससे खाना खाने को कहा, तो बोली- नहीं यार … अब मुझसे कुछ नहीं खाया जाएगा. मगर अन्दर से चूत पानी छोड़ चुकी थी तो अन्दर जाने के बाद लंड ने चूत में अपनी जगह बना ली.

चाची ने कुछ भी नहीं कहा और वो घुटनों के बल बैठकर मेरा लंड अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं.

मैं गर्म था इसलिए जोर-जोर से मुठ मारने लगा और कुछ देर बाद झड़ गया।पहले मेरे मन में पिंकू के लिए गंदे विचार नहीं थे लेकिन मैंने जब से पिंकू को बिना कपड़ों में देखा तभी से वह मेरे दिमाग में घूमने लगी. हम दिन भर सेक्स वीडियो देखते रहे और मेरा लंड चाची की चूत में पड़ा रहा. मैं- बेबी, दर्द हो रहा है?सोनी लगभग डांटती हुई बोली- नहीं, तुम्हें जो करना है, जल्दी करो.

मेरा लंड लगातार उसकी गांड में टच कर रहा था और अंकिता को देखकर ऐसा लग रहा था कि जैसे उससे कोई फर्क ही नहीं पड़ा था. मैंने उससे पूछा- तुम अपने पति के साथ क्यों नहीं रहती हो?उसने बताया- यार मेरा पति लंदन में है.

मैंने कमरे में घुसते ही उसने मेरे पीछे से दरवाजा बंद कर दिया, वो सिर्फ तौलिए में था, नंगा, मादक और उत्तेजित!मेरे आने भर के ख्याल से उसका खड़ा था!उसने घुसते ही मुझे अपनी बांहों में लिया और बिना कोई वक्त खराब किए मुझे चूमने लगा, मेरे कपड़े उतार फेंके, और मुझे नंगी कर मेरी गीली चूत में उंगली करने लगा।वो खुश था कि मेरी चूत उसके लिए गीली है. करिश्मा ने मुझे गुड मॉर्निंग विश करते हुए किस किया और पूछा- नींद कैसी आई?मैंने जवाब दिया कि ऐसा लगा कि मैं जन्नत में हूँ और एक हूर मेरे साथ है. इस समय रास्ता पूरा सुनसान हो गया था, तो मैंने अपने पैंट की चैन खोल कर अपना लंड उसके हाथों में दे दिया.

हिंदी स्कूल गर्ल बीएफ

मैं उसके मम्मों को दुबारा अपने हाथों में दबोच कर उन्हें दबाना तो क्या ही कहूं, बस उन्हें आटा समझ कर मसलने और गूँथने लगा था.

उसने कहा कि वो भी पीटर का सेक्स स्लेव है और पीटर के कहने पर मुझे दो दिन लगातार चोदने आया है।और उसने कहा कि पीटर की इच्छा थी कि मैं हमारी फोटो खींच उसे भेजूं, इसीलिए बिना इजाजत फोटो लेने के लिए वो शर्मिंदा है।उसने कहा कि पीटर चाहता है कि तुम्हें सिर्फ सेक्स डॉल से ज्यादा ना समझा जाए. गुलाबी होंठ, गोरा रंग मेरी भरी गोरी जांघें और मेरी उभरी हुई गांड है, जो अन्दर से बहुत ही नर्म और मुलायम है. एक बार हम दिसंबर में छत पर बैठ कर धूप सेंक रहे थे तो हमारी गली में ही एक लड़की थी.

इस बात पर मैंने कहा- बस इतनी सी बात, बोलो कब डालना है?गीता मुस्कुराती हुई बोली- जब तुम्हारा मूड करे. देर से नींद खुलने की वजह से वो लेट हो गया और जल्दी से कपड़े पहन कर अपने घर चला गया. बीएफ फिल्में देहातीमेरी बहन पिंकू की नींद लग चुकी थी इसलिए मैंने हिम्मत करके एक हाथ उसकी कमर से ले जाकर पेट पर रख दिया।धीरे-धीरे मैंने उसकी फ्रॉक ऊपर कर दी.

फिर उसने अपनी शर्ट के ऊपर के 2 बटन खोल लिए और अपना अगला पैग पीने लगी. कुछ देर के बाद सर मेरे पेटीकोट पर हाथ फेरने लगे, तो मैंने सर के गाल पर किस करते हुए धीरे से उनके कान में कहा कि सर अभी और ज्यादा ना करें, घर जाने में देर हो जाएगी.

फिर मंयक ने अपनी अल्मारी को खोला और एक लिफाफा निकालकर मुझे देते हुए बोला- ये मेरी तरफ से तुम्हारे लिए. मुझे काफ़ी दर्द हुआ पर मैंने कंट्रोल किया और अपनी आंखें बंद कर लीं. जैसे ही मुझको लगा कि इसका दर्द कुछ कम हो गया है, तो मैंने दूसरा धक्का जोर से लगा कर पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया.

मुझसे अब रहा नहीं जाता!पापा ने भी बिना देर किए अपना मोटा लंड रूचिका आंटी की चूत पर लगा दिया और एक जोरदार झटके से पूरा का पूरा लंड अन्दर पेल दिया. फिर मैं रेखा की चूत को अपनी जीभ से कुरेदने लगा और रेखा हफ्ज़ा की चूत को. मैंने उसके स्तन मसलते हुए कहा- नीता तुम जब भी मेरा मूड बनाओगी तब!नीता बोली- मतलब!मैंने कहा- मतलब मेरे इस शैतान को अभी जगाओगी, तो अभी खेल शुरू कर देते हैं.

मैंने उन दोनों से कहा- तुम दोनों बैठो, मैं थोड़ी देर टैरेस पर जाकर आता हूं, ठंडी हवा चल रही होगी.

मैंने कहा- तुझे आज पूरी रात हम दोनों चोदते रहेंगे, साली आज तुझे जरा सा भी आराम नहीं करने देंगे. जिन दीदी की शादी होने वाली थीं, वो अपने रूम में अपने होने वाले दूल्हे से प्यार मुहब्बत की बातें कर रही थीं.

पर फिर सोचा ‘नहीं, क्या पता ये कैसे होंगे … या उन्हें कोई बीमारी न हो, या उसे ब्लैक मेल करना चालू कर दिया तो फिर क्या होगा. वो एकदम से चौंक गया और बोला- क्या! ऐसा कैसे हो सकता है, मैंने तो उन पिक्स पर सेक्यूरिटी लगाई हुई है. यह सेक्स कहानी मेरी शादी से कुछ साल पहले की उस समय की है जब मैं एक अमीर घर की बिगड़ैल और अय्याश लड़की थी, जिसे ना अपनी परवाह थी और ना अपने मां बाप की.

उसका फिगर 32-24-34 का है, रंग सांवला है और वो दिखने में बहुत ही खूबसूरत है. मैं धीरे से उसकी चूत के पास आ गया और उसकी चूत पर जीभ फेरी, तो वो पागल सी हो गई और कामुक सिसकारियां लेने लगी. परंतु उसकी आंखों से बहते आंसू लेकर जब मैंने उससे पूछा- अभी भी दर्द हो रहा है?उसने कहा- दर्द से ज्यादा मुझे इस चुदाई का अफसोस है, इसीलिए मैं रो रही हूँ.

टाटा का बीएफ रेस्टोरेंट के नीचे बहुत सारे रेडीमेड कपड़ों का दुकान थी और ऊपर रेस्टोरेंट था. मैं तो सोचने लगा कि मुझसे कितनी बड़ी गलती हो रही थी कि मैं इसे आने से मना कर रहा था.

बीएफ चोदने वाला बीएफ चोदने वाला बीएफ

मैंने ये जाहिर करते हुए उसको अपना मोबाइल दे दिया कि मुझे ज़्यादा जानकारी नहीं है, कैसे भेजते हैं, तुम भेज दो. मैंने उससे थोड़ी दूर अपनी बाईक रोक दी और नीचे उतर कर रुमाल से अपना गीला मुँह पौंछ लिया. मैंने वही सब सोच कर अपने आपको इस बात के लिए पूरी तरह से रेडी किया कि मैं आज किसी भी हाल में अपने तीनों छेदों को अच्छे से ठुकवा कर ही रहूंगी.

सलवार खुली तो मैंने अपना हाथ उसकी सलवार के अन्दर डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा. उन आंटी ने मेरा लंड कैसे लिया अपनी चूत में!दोस्तो, यह मेरे जीवन की सत्य कहानी है।यह हॉट MILF आंटी सेक्स कहानी उन दिनों की बात है जब आज से 18-19 साल पहले छोटे कस्बों और गांवों में मोबाइल फोन नहीं होते थे. सेक्सी बीएफ चुदाई सेक्सी वीडियोमिला क्या, हम कभी मिले ही नहीं … पर उसने बिना मिले ही मेरी चूत का भोसड़ा बना दिया।आप भी सोच रहे होंगे कि कैसे?मेरा यह आशिक एक गुप्त नौकरी में था, एक साउथ अफ्रीकन गोरा, उसका नाम पीटर था, इस कारण से वो मुझे कभी मिलने नहीं आया.

मैंने अपनी आंख हल्के से खोली तो देखा कि वो एक हाथ से मेरा लंड मसल रही है.

ठण्ड और मेरे बनाई दवाई का कमाल मेरा लंड अभी एक और औरत को शांत कर सकता था. जितना ज्ञान उसने पिछले कई दिनों में इंटरनेट की कहानियों से लिया था, उसे पूरा आज़माना चाहती थी.

आज मैं कितनी उत्तेजित हो चुकी थी और उनको भी उस दाग से पूरा 100 टका पता चल गया हो कि मैं बहुत ज्यादा चुदासी हो चुकी हूं; मेरे अन्दर बहुत ज्यादा खुजली हो रही है. सबके सोने के बाद नंगे घर में घूमते, फिर कहीं भी लग जाते और खूब सेक्स करते. मुझे इस बात का थोड़ा सा भी गम हो रहा था कि अब से पहले मैंने इनसे फायदा क्यों नहीं लिया.

मैं मन ही मन बहुत खुश हो रहा था कि जिनसे मैं सेक्स की बातें किया करता था, आज मुझे उनके साथ ही रहने का मौका मिल रहा है.

चूंकि जीजाजी अनाथ थे, इसलिए उनके मौत के बाद आपा मेरे साथ रहने लगी थी. हम दोनों ने इसी तरह से किस की और एक दूसरे की जीभ को चूसते हुए स्मूच किया. बहन लेट गई और मैं अपना लंड वंदना के मुँह में डालकर अन्दर बाहर करने लगा.

इंडियन बीएफ सेक्सी फिल्म वीडियोशालिनी- आंह साले जीजू चोद ले मेरी चूत को … आंह नई चूत दी है मैंने आपको … पूरे मजे कर लो … आज से ये चूत आपकी ही है, मार मादरचोद इसे फाड़ दे इस चूत को, जैसे दीदी की चुदाई करते हो, वैसे ही मार. उधर किरण फिर से दारू का गिलास पकड़ कर रेशमा की गांड और चूत की बिगड़ती हुई हालत देखकर मजे से अपनी भोसड़ी रगड़ रही थी.

हिंदी बीएफ फुल सेक्सी हिंदी बीएफ

सामने से उसकी मौसी की आवाज आई- हैलो कौन?मैंने अपना नाम गलत बताया और कहा कि मैं राज. मैं- बेबी, दर्द हो रहा है?सोनी लगभग डांटती हुई बोली- नहीं, तुम्हें जो करना है, जल्दी करो. अब मैं भी उसी स्टोरी की तरह अपने भाई का टेस्ट लेने की कोशिश करने लगी और उस स्टोरी में बताई गई बातों को फॉलो करने लगी.

जैसा कि मैंने बताया कि वह बूढ़े अंकल उस दुकान में किताबें वगैरह बेचा करते थे. पापा मम्मी और इन्द्रेश अंकल, रूचिका आंटी मेरे कमरे से लगे हुए एक बड़े से हॉल में टीवी देख रहे थे और गप्पें मार रहे थे. इस रंडी को दो लंड से एक साथ चुदना था न … अब से ये दो लंड एक साथ ही लेगी.

अब आगे Xxx फर्स्ट ऐनल सेक्स कहानी:तीसरे दिन भी मैं देर तक सोता रहा. थक हार कर मैं भी चुप हो गया और हम दोनों अपने अपने कपड़े पहन कर वहां से निकल गए. मैंने बूब्स चूसते हुए एक हाथ से उनकी चूत को भी सहलाना शुरू कर दिया था.

एक दो बार कोशिश करने पर जब सोनी ने अपना हाथ हटाने नहीं दिया तो मैं फिर से उसके ऊपर आ गया और उसे चूमने लगा. हम दोनों जल्दी से उठे, फिर थोड़ा ड्रामा करते हुए मैंने कहा- ठीक है आप जीत गईं.

मैंने ये सब सेक्स कहानी से और बीएफ देख कर ही सीखा है, वैसे ये मेरा पहला मौक़ा है.

मैं समझ गया कि सोनी का दर्द गायब हो गया है और अब सोनी क्या चाहती है. इंडियन सेक्सी बीएफ साड़ी वालीमेरे घर पर काम करने लगेगी तो साथ ही इसके जिस्म को निहारने का मौका भी मिलने लगेगा. एक्स एक्स एक्स सेक्सी बीएफ ब्लू पिक्चरउससे रहा नहीं गया तो उसने अपने एक हाथ से नाईटी के ऊपर से ही अपनी चूत को रगड़ना शुरू कर दिया. सुरेश ने उसकी बात को आगे कहना शुरू किया- रंडी कहीं की, आज तू चुपचाप हम तीनों से चुदवाएगी.

नीता मेरी तरफ देखकर बोली- हर्षद, तुम बार बार मुझे ऐसे क्यों देख रहे हो?मैंने कहा- तुम आगे से पूरी तरह से भीग गयी हो नीता.

वो तीनों भी अच्छे से मेरी नजर को समझ चुके थे कि मैं क्या सोच रही हूं. कोई पन्द्रह मिनट की धकापेल चुदाई के बाद मैं उन्हीं की चूत में झड़ गया. पिंकू अपनी दो उंगली लगातार की चूत में अंदर बाहर कर रही थी।उसके मुंह से फक-मी फक-मी की आवाजें निकलने लगी.

बहुत सोचने के बाद मैंने खुद अपनी मां के साथ चिपक कर उनको जिस्मानी गर्मी देने का सोचा. किरण की चौड़ी गांड के छेद पर मैंने अपने लंड का सुपारा रखते हुए धीरे से दबा दिया. फिर किस करते करते फोटो खींचने की आवाज आई।उसने मेरे हाथ बांध दिए, मुझे अपनी गोद में बिठा लिया और मेरी चूचियां दबाने लगा.

आंटी सेक्सी बीएफ वीडियो

दो तीन महीना देख ले अगर नहीं जमी, तो दूसरी रख लेना!सुबह का नाश्ता करके मैंने मां से कहा- ठीक है, उनको बोल दो, मुझसे ऑफिस में आकर मिले और पैसों की बात आप मत करना, वो मुझ पर छोड़ देना. मुझे तो अपने आप पर गर्व हो रहा था कि मैं इतनी तेजी से उछल कूद भी कर सकती हूं. रीना भले ही झड़ रही थी, पर मैं उसकी चिंता किए बिना पूरी ताकत से चोदता रहा.

अगले कुछ ही पलों में उसने मेरा लोवर और निक्कर एक साथ निकाल दिया और मेरा लंड हाथ में लेकर उसे सहलाने लगी.

तुमने पिछली बार की थी, तो मैंने सोचा कि इस बार भी करोगे, तो कोई मायने वगैरह नहीं रखती … हां एक दोस्त के तौर पर मायने रखती है, बस ज्यादा कुछ नहीं.

मित्रो, मैं मोनीष एक बार फिर से आप सभी का अपनी Xxx चुदाई की कहानी में स्वागत करता हूँ. अब तक मैंने पॉर्न वीडियो में ही लंड देखा था और आज असलियत का लंड देख कर मुझसे रहा नहीं जा रहा था. बीएफ पिक्चर दिखा देपरंतु उसकी आंखों से बहते आंसू लेकर जब मैंने उससे पूछा- अभी भी दर्द हो रहा है?उसने कहा- दर्द से ज्यादा मुझे इस चुदाई का अफसोस है, इसीलिए मैं रो रही हूँ.

फिर उसने अगले ही पल कह दिया- अविनाश प्लीज़ यारर … क्यों तरसा रहे हो. दोनों मम्मों को इसी तरह से सहलाते और चूसते ही वह गर्मा गई और सिसकारियां भरने लगी. अब मैं उन्हें गोद में उठा कर बेडरूम में ले गया और एक बार फिर से उनके ऊपर चढ़ कर उन्हें किस करने लगा.

जब मैंने अपनी बहन की गांड में से लंड निकाला तो उसकी गांड से गू मेरे लंड में लग गया था. तब तक अमित और राकेश मेरे आजू-बाजू आकर अपना लौड़ा मेरे हाथ में पकड़ा चुके थे.

उसने मुझे बताया तो डर मुझे भी लगा लेकिन मैं उसके सामने खुद को कमजोर नहीं बताना चाहती थी और पता भी था कि पहली बार में ये सब हो सकता है.

रेखा के साथ अपनी कहानी आपको सुनाने जा रहा हूं।मेरी मुलाकात सेक्सी डॉक्टर रेखा से तब हुई थी जब मैं अपने बेटे के इलाज के लिए उनके पास गया था।उनके पति भी एक डॉक्टर हैं और पुणे के एक बड़े हॉस्पिटल के डीन हैं।उनके पति हॉस्पिटल में ही रहते थे। रेखा के पास वो हफ्ते में एक दिन आते थे और वापस चले जाते थे।डॉ. किरण भी अपनी कमर ऊपर नीचे करते हुए मेरे लौड़े पर कूदने लगी, सुपारा भी पूरे अन्दर तक घुसकर उसकी बच्चेदानी की चुम्मी ले रहा था. तभी अचानक से लाइट चली गयी और ब्लू फिल्म की सीडी प्लेयर के अंदर ही रह गयी।उसी वक़्त अचानक से ऑन्टी के पति का कॉल आ गया.

हिजरा का सेक्सी वीडियो बीएफ बाद में उसके रूम के पास आकर मैंने उससे कहा- मुझे बाथरूम जाना है, बहुत तेज़ लगी है. मैंने अपना हाथ आगे किया, उसने भी हाथ मिला कर कहा- अगर तुमने मेरे घर को छोड़ दिया, तब तुम जैसे कहोगे, मैं वैसा करूंगी.

लगभग रात के 9:30 बज गए होंगे तब तक रोहित का मुझे फोन आया और वो कहने लगा कि उसके किसी अंकल की डेथ हो चुकी है और वह अचानक से उसके मम्मी और पापा को लेकर वहां जा रहा है. दोस्तो, उसकी उम्र से बिल्कुल नहीं लग रहा था कि वो एक बयालीस साल की औरत है. मैंने देखा कि उसका लंड खड़ा हो गया था और तौलिया के अन्दर लंड ने तम्बू बना दिया था.

रिया चक्रवर्ती की बीएफ

मैंने उन्हें गाल पर काट लिया और कहा- अब तुम्हें रोज मेरे लंड से चुदना पड़ेगा. अर्णव ने आगे बढ़ कर मोहिनी को अपनी बांहों में भर लिया और उसके होंठ चूसने लगा. कुछ देर बाद मैंने उसे अपने लंड पर बैठा लिया और वो मेरे लंड के ऊपर नीचे होती हुई चुदने लगी.

मैं अपने घुटनों के बल आ गया और आधा लंड बाहर निकालकर जोर जोर से धक्के मारने लगा. अब मैं पिंकू की चिकनी टांगों और उसके पेट पर हाथ घुमाने लगा, मुझे बहुत मजा आने लगा.

मैंने सोचा कि इतनी जल्दी मेरा कैसे निकल गया लेकिन मैं इतना ज्यादा उत्तेजित था और लच्छो की कसी हुई चूत के कारण ऐसा हुआ था.

अब आगे न्यूड पोर्न गर्ल चुदाई कहानी:रात के 11 बजे उसने मुझे कॉल किया, उस समय बिजली नहीं होने और गर्मी ज्यादा होने की वजह से मैं छत पर पूरी तरह से नग्न अवस्था में टहल कर बस लेटी ही थी. वो अपने मां बाप का एकलौता लड़का था और उसने अपनी बॉडी भी बहुत अच्छी बना रखी थी. जैसे ही मेरा हाथ उसने अपनी चूचियों पर रखा, उसकी आंखें, जो आधी खुली थीं, वो आनन्द के सागर में डूब कर पूरी बंद हो गईं.

फिर उसने मेरा पैंट खींच कर उतारा और चड्डी पर ही मेरा लंड मसलने लगी. मैंने धीरे धीरे लंड चूसने की रफ्तार बढ़ा दी और उसकी उत्तेजना बढ़ती चली गयी. मैं करिश्मा को श्वेता के घर छोड़ कर अपने फ्रेंड के पास चला गया और रात को वहीं रुका.

वो बोली- हां यही सही रहेगा!इस पर हम दोनों ने वहां ऑनलाइन देख कर एक अच्छा सा होटल बुक किया और होटल पहुंच गए.

टाटा का बीएफ: पॉल मेरा लौड़ा चूस ही रहा था कि तभी रीना ने फिर से कमरे में एंट्री ली और अपने साथ लायी हुई एक छोटी सी थैली बिस्तर पर ख़ाली कर दी. वो मेरे नानाजी के बिजनेस पार्टनर थे, उनका नाम नट्टू पटेल था।वे हमें देख के मुस्कुराये और बोले- हरी, तुम तो बड़े हो गये।उन्होंने मुझे उठा कर बहुत चूमा और बोले- मेरे बच्चे, मैं तुम्हारे लिए खिलौने और चोकलेट्स लाया हूं.

आधी नींद में मुझे लगा कि रागिनी ही मुझे उठा रही है, इसलिए मैंने रजनी को अपने ऊपर खींच लिया और बड़े प्यार से चूमते हुए कहा- रागी थोड़ा और सोने दो ना, प्लीज!रजनी इस स्थिति में एकदम बौखला गई थी. आज पहली बार अपने जीवन में मेरे हाथ में और सात इंच लम्बा और तीन इंच मोटा लौड़ा था. रीना की दोनों टांगें अपने कंधे पर रखते हुए मैंने रीना को पॉल के ऊपर लिटाया और बिस्तर पर चढ़ गया.

पाटिल जी का लौड़ा किरण की गांड में घुसा हुआ था और रेशमा ने झट से किरण की फटी हुई भोसड़ी मुँह में लेकर चूसना चालू कर दिया.

अब तक मां की चूत ने पानी नहीं छोड़ा था और वो ‘आह हहह ओह हहह फक मी फक मी …’ करके अपने बेटे का लंबा लंड अपनी चूत में ले रही थी. मैं शर्ट उतारते ही शैली के ऊपर टूट पड़ा और शैली के होंठों को अपने होंठों के बीच दबा कर उसे बेतहाशा चूमने लगा. वो बोला- आज तुम मेरी गांड का मजा लेना चाहोगे?मैंने कहा- अबे, पहले लंड चूस कर मजा दे, बाद में देखूँगा.