घर की बीएफ

छवि स्रोत,इंडियन देहाती सेक्सी बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

மம்மி சன் செக்ஸ் வீடியோ: घर की बीएफ, फिर मैंने उनको नीचे पटक लिया और उनकी टांगों को उठा कर उनकी चूत में मुंह देकर चाटने लगा.

भाभी की चुदाई बीएफ सेक्स

दीदी ने मुझे इशारे से रोका, लेकिन मैं दूसरे हाथ से दीदी की जांघ को सहलाते हुए उनकी पनीली चुत को छूने लगा. हिंदी में बीएफ चाहिए हिंदी मेंबारात आई, जयमाल हुई, डिनर हुआ और भांवरों के समय में अभी टाइम है, इसलिये मैं एक घंटा आराम कर लूँ, कहकर ललिता अपने कमरे में आ गई.

रास्ता अभी लम्बा था, सो मैं कंडक्टर के साथ इधर उधर की बातें करने लगा. बीएफ हिंदी एक्स एक्स वीडियोमैंने उसकी ब्रा और पैंटी को उतार दिया और हम दोनों पूरे नंगे हो गये.

मैं भी अपनी गांड को उठवा उठवा कर उसके लंड से अपनी चूत को पिलवा रही थी.घर की बीएफ: मेरी उमर 42 साल है और मेरा फिगर 40-26-36 का है। मैं कानपुर की रहने वाली हूँ.

फिर मकान मालिक करिश्मा को बोला- अगर तुमको कभी कोई मदद चाहिए होगी, तो गौरव को बता देना.मैंने उसे प्यार से समझाया और धीरे-धीरे उसको किस करते हुए उसके मम्मों को दबाते हुए उसे चुप कराया.

बीएफ देसी पंजाबी - घर की बीएफ

उसके होंठ एकदम लाल हो गए थे और आंखें वासना में मदहोशी के आलम में डूबी हुई साफ़ दिख रही थी.तब जाकर उसने मुझे धक्का देकर छुड़ा लिया।बाद में अपने होंठ दिखाया जहाँ से थोड़ा कट गया था और खून निकल रहा था।इसके बाद दोबारा से मैंने उसे किस किया तो मैं अंदर से बहुत गर्म हो गया.

मेरी शर्ट के बटन खोल कर उसने मेरे कंधों से शर्ट को उतारते हुए मुझे ऊपर से नंगा कर दिया. घर की बीएफ आप भी ध्यान रखें कि 15 दिनों तक इस घर में ऐसा कोई काम नहीं होगा अब.

तो दोस्तो, मेरी जान के होंठ इतने सुर्ख़ और नर्म हैं कि एक बार छू लूं तो हटाने का मन नहीं करता है। स्तनों की बात तो क्या करूँ आपसे … उसके स्तनों की गर्मी ऐसी है कि उसको गले लगाते ही सीना गर्म होने लग जाता है.

घर की बीएफ?

एक बार तो मेरी भी जान निकल गयी क्योंकि बाकी लोगों के उठने का डर था. दीदी कमर उठा कर उछलने की कोशिश कर रही थीं और अपने मुँह से मादक आवाजें निकाल रही थीं. दूसरी ओर उसके हाथ का मेरी चूत को सहलाना आग में घी का काम कर रहा था.

मैं समझ गया था कि ये ज़रूर कोई बात थी, मगर क्या बात थी, ये मुझे नहीं पता था. इतना सब होने के बाद अब वह ये भी नहीं कह सकती है कि तुम लोग हरामी हो गये हो क्योंकि मम्मी खुद ही पापा के लंड से चुदते हुए रंगे हाथ पकड़ी जा चुकी है. मेरी चूचियों को दबाते हुए बोला- जानेमन … तुझे चोदने में गजब का मजा आ गया.

मगर तभी अंतर्मन से आवाज आई कि वो मेरे पापा हैं, उनको परेशान नहीं करना चाहिए. मैं चाहती थी कि मौसी बस किसी तरह मेरे फोन में चलती लेस्बियन पॉर्न क्लिप देख लें. अगली रात दीदी मेरी गोद में बैठी मेरे खड़े होते लंड को महसूस करने लगी थीं.

सड़क पर आस-पास कोई होटल भी नहीं था इस वजह से मनोज ने उन्हें सलाह दी कि गाड़ी को कहीं सुनसान जगह पर लेजा कर आराम से लगा देंगे. जब पहली बार दोस्त के घर में मैंने उसकी अम्मी को देखा तो मेरी आंखें खुली की खुली रह गईं.

आपके घर में सरसों का तेल है क्या?आंटी- हाँ है, पर क्यों?जैसे आंटी जान गयी थी कि उनको पता है कि मैं उनकी मालिश करने वाला हूं.

राजेश की बातों से मेरी बेचैनी बढ़ी ही जा रही थी।वो बोले- मैं तो अक्सर चाट चाट कर ही नीरा को स्खलित कर देता हूँ.

उसके आने के बाद मैं सोचने लगा कि अभी इसका भोसड़ पति भी आएगा कि आप किसी दूरी बर्थ पर सैट हो जाओ. इतनी तैयारी देख कर शायद उसे भी महसूस हुआ कि ऊपर सुहागरात की तैयारी हो रही है. मगर इस बार उसका पानी नहीं निकला था … इसलिए वो मेरे झड़े हुए लंड पर बदस्तूर उछल रही थी.

एक दिन मैं अपनी छत पर गया तो मैंने देखा कि वो लड़की पहले से छत पर ही थी. उसके लंड से मेरी चूत की खुशबू भी आ रही थी जो मेरे अंदर और ज्यादा उत्तेजना भर रही थी. इस तरह मौसा मेरी चूत को पेलने लगे और मैं मैडम की चूत को जीभ से चोदने लगी.

लेकिन इसमें मुझे क्या फायदा होगा? ये तो मेरी डयूटी नहीं है।उसने कहा- हाँ वो तो है … लेकिन तुम मेरे लिए इतना नहीं करोगे? चलो मैं तुम्हारे लिए अच्छा फीडबैक दूंगी.

मैं- क्या बात है जीजा जी?जीजा जी- मेरी कमी की वजह से मेरी और तुम्हारी दीदी सेक्स लाइफ अच्छी नहीं चल रही है. वो बोला- क्या हुआ?मैं बोली- तुम अपनी आंखें बंद करो, मुझे शर्म आ रही है. लेकिन तभी डैड की आवाज़ आई- मंजू!मंजू – ओह्ह … साहब को भी क्या चुल्ल हुई … अभी क्या टाइम है बुलाने का!मुझे हंसी आ गयी.

मुझे नहीं पता था कि मेरे जैसी सेक्सी लड़की की चुदाई की तैयारी कर रहा है मेरा ट्रेनर. मुझे डर लग रहा था कि अगर ये जाग गयी तो सारा काम खराब हो जायेगा और हो सकता था कि वो मेरे पिताजी को भी मेरी हरकत के बारे में बता दे. मैंने कहा- जी मैम, मैंने आपकी फ़िल्म में सिर्फ आपके जिस्म को देखा, बेड सीन देखे, आपकी जवानी को अपने बिस्तर में देखा। और तो और … सीन के वक़्त आपकी वो आवाजें … ऐसा लग रहा था कि आप मेरे साथ सेक्स कर रही हैं।वो मुस्कुरायी, उसने कहा- अच्छा सच में?मैंने कहा- हाँ.

कुछ मिनटों तक ऐसे ही करते करते लंड वापस अपने विकराल रूप में आ गया और इस बार भाभी बिना वक़्त गंवाए लंड को चूसने लगी.

सुमित ने 10 मिनट तक मेरी चूत का भेदन करके उसके कौमार्य को भंग कर दिया था. धीरे धीरे कुछ ही दिनों में मैंने काम चलाऊ कम्प्यूटर चलाना सीख लिया.

घर की बीएफ जब मैंने आंखें खोलीं तो पाया कि पीछे एक 50-55 साल का बुड्ढा खड़ा हुआ अपने लंड को निकाल कर हिला रहा था. कहाँ तो मैं गर्लफ्रेंड की चुदाई के ख़्वाब देख रहा था!मैंने गर्लफ्रेंड के मुंह को अपने हाथ से ढक दिया ताकि उसके चूं-चा बाहर न निकले और सारा खेल बिगड़ न जाये.

घर की बीएफ उस नंगी किताब के कवर पर ही एक नंगी फोटो छपी थी और अंदर भी काफी नंगी फोटो थी. उसकी टाइट लैगिंग में उसकी चूत की शेप को देख कर मुझसे मुठ मारे बिना नहीं रहा जाता था.

मैं तुम्हारे घरवालों को इस बारे में कुछ नहीं कहूंगा लेकिन जो बात है मुझे सच बता दो.

सेक्स story

जिया की ओर देख कर मैंने कहा- मेम आपकी परमिशन हो तो मैं भी?वो बोली- अब तुम्हें मेरी परमिशन लेने की जरूरत नहीं है. इसलिए उसको इस तरह फंसाना था कि मेरा मकसद भी पूरा हो जाये और उसकी चूत भी मिल जाये और वो मेरे बारे में मेरे बाप को कुछ शिकायत भी न लगा सके. मैंने अपनी जीभ को उनकी चुत पर रख दिया और मैं उनकी गुलाबी चूत को चाटने लगा था.

प्रिया ने पूछा- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- क्या?प्रिया ने कहा- ये गलत है. मैं समझ रहा था कि ये मजाक कर रही है … अपने पति का लंड खा चुकी है, तो इसे लंड से क्या दिक्कत होगी. फिर वर्मा ने आगे से मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया.

फिर मैंने उसकी स्कर्ट में हाथ डाल दिया और पैंटी को एक तरफ करके उसकी चूत में उंगली करने लगा.

कहां मैं जिया मेम को दूर से ही देख कर मुठ मार लिया करता था और उनको सिर्फ ख्यालों में ही सोच सकता था. वो जैसे ही घूमी, उसका पीछे की तरफ से फिगर देख कर और उंगली करते हुए देख मुझसे रहा नहीं गया. ब्रदर सिस्टर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सेक्सी ममेरी बहन की चुदाई की.

उनकी गांड से गू बाहर निकलने के लिए जैसे ही गांड खुली … मैंने अपना पूरा लंड उनकी गांड में घुसा दिया. मैंने उनको बोल दिया कि भाई जैसा कोई मिलेगा तो कर लूंगी।वो बोली- अब मां को बताने के लिए हम दोनों को कुछ ऐसा करना चाहिए कि मां को हम दोनों पर खुद ही शक होना शुरू हो जाये. लंड खड़ा होने के बाद मैंने एक बार फिर से उसकी गांड चोदी और फिर हम सो गये.

मैं बोला- मां मेरी शादी के लिए भी बोल रही थी लेकिन मैंने मना कर दिया कि पहले पूजा की कर दो. हमारे इस रूम में पूरा अंधेरा था, पर बाथरूम की लाइट जली हुई थी और दरवाज़ा भी हल्का सा खुला हुआ था.

वो कुर्सी पर बैठ कर हम दोनों को चूमा-चाटी करते हुए आराम से देख रहे थे. विक्रांत जोर जोर से मेरे बूब्स को दबाने लगा और मैं सिसकारियां लेने लगी- आह्ह … विक्रांत कोई आ जायेगा. एक आदमी आगे जाकर उसके सामने घुटनों के बल बैठ गया और उसके पेट और कमर को चूमने लगा.

किराये के कमरे में रहते हुए मैंने मकान मालिक की दो बेटियों के साथ जवानी का मजा लिया और उनकी चाची यानि मेरी भाभी की चूत चोद कर उसे औलाद का सुख दिया.

मैंने आंटी से कहा- लगता खुशियां बांटने के लिए हमारे साथ आपकी फ्रेंड भी शामिल हो गई हैं. करवाचौथ से लगभग तीन दिन पहले शुक्रवार को जब मैं शाम को घर आ रहा था, तो आंटी घर के गेट पर ही मिल गईं. मेरे ज्यादा पूछने पर भाभी ने अपनी ड्रिंक खत्म करते हुए बस इतना ही कहा कि आप चलो तो.

वो बोला- क्या बेगम को अपनी छोटी सी चुत के लिए ये लम्बा और मोटा लौड़ा वाकयी माफिक लगा है?मैं एकदम से चौंकी और हंसते हुए कहने लगी- अब प्लीज़ मुझे सताओ मत. अबकी बार लंड को पूरा दबाते हुए मेरी चूत में धीरे धीरे सरकाने की कोशिश की.

मेरी मामी इतनी कामुक दिखती हैं कि मैं रोज रात को मामी कीचूत और गांड की कल्पनाकरके मुठ मारा करता था. मेरी नजर भी शीशे के माध्यम से उसकी नजरों से मिल गईं और मैं घबराकर वहां से अपने घर आ गया. फिर मैं ताई की पैंटी को मुंह पर लगा कर मुठ मारने लगा और जोर जोर से आवाजें करने लगा.

ওঠো ওঠো ওঠো সোনা স্কুলে যেতে হবে

तो रह रह कर माँ की चूत के होंठ हिल रहे थे और गाढ़ा वीर्य बाहर आ रहा था जिसने नीचे बिछी क्रीम कलर की चादर को भिगो दिया था।फिर मैं बिस्तर से उठ गया.

मैंने कहा- क्या खाली करने की कह रही हो आप?वो हंस दीं और गांड मटका कर चली गईं. मैंने उसका हाथ थाम कर उसको अपनी ओर खींच लिया और उसको गले से लगा लिया. इसके साथ ही दीदी की साड़ी और पेटीकोट दोनों एक साथ जमीन पर गिर गए। अब दीदी ब्लाउज और पैंटी में मेरे सामने थी.

जल्दी ही मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और मेरा 7 इंची लौड़ा भाभी की चूत को फाड़ते हुए उसके पेट तक टकराने लगा. निगार आंटी ने मुझे उन दोनों के जाने के समय की फोटो और ट्रेन वगैरह की जाकारी दे दी. बीएफ हिंदी भाभीबुआ ने हंस कर मुझसे कहा- हितेश ऐसे मुझे क्या देख रहे हो?मैंने कुछ नहीं बोला और अपनी निगाहें उनके तने हुए मम्मों पर से हटा कर नीचे कर लीं.

मुझे लड़कों के साथ सेक्स करके बदनाम नहीं होना है और बिना सेक्स के जिंदगी में कोई मज़ा नहीं है. करवाचौथ से लगभग तीन दिन पहले शुक्रवार को जब मैं शाम को घर आ रहा था, तो आंटी घर के गेट पर ही मिल गईं.

उसके बाद उसने मां को घोड़ी बनाया और उसकी गांड में अपना लंड दे दिया. मनोहर अपने हाथों में भर कर मेरे बड़े बड़े चूचे दबा रहा था और बीच बीच में मेरे चूतड़ों पर थप्पड़ मार रहा था. मुझे माँ का हाथ हिलता हुआ दिखाई दिया और फिर रघु के हाथ भी। शायद माँ उसके कच्छे में हाथ डाल कर उसके लण्ड को खड़ा कर रही थी.

मगर चूंकि मैं एक औरत हूं और मेरी वजह से तुम्हें जमीन पर सोना पड़े, ये मुझे अच्छा नहीं लगता. बार बार मन में उनके लंड का नजारा आ रहा था और सोच रहा था कि मैंने पापा का लंड भी देख लिया फिर भी उन्होंने कुछ नहीं कहा. इसमें मैंने प्रिया की चुदाई करके उसकी तड़प मिटा दी थी और प्रीति की दो लंड से चुदाई करवा कर उसको भी सबक सिखा दिया था.

मगर मैंने अपने कपड़े उतारना शुरू कर दिये ये सोच कर कि जल्दी से नहा कर बाहर चली जाऊंगी.

मैंने कहा- ये आप से किसने कहा?वो बोलीं- तुम्हारे मामा ने हम दोनों को बताया कि मेरा भांजा मेरे सामने मामी को अपनी गर्लफ्रेंड कहता है … और वो कहते हैं कि तू जाने और तेरी मामी. टीचर के साथ सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी ट्यूशन वाली टीचर दीदी की चुदाई उनके घर में की.

क्योंकि डाई से कपड़े खराब होने का डर था, इसलिए मैं भी सिर्फ अपने बॉक्सर में बाथरूम में आ गया. ललिता के चूतड़ों पर हाथ फेरा तो छोटे छोटे चूतड़ों पर हाथ फेरना मेरे लिए नया अनुभव था क्योंकि मैं अभी तक कांता आंटी के मोटे मोटे चूतड़ ही दबाया करता था. वहां पर एक दूसरी वाली जगह खाली थी तो मैं कुछ देर के लिए लेट गयी और मुझे नींद आ गयी.

मैंने बमुश्किल एक मिनट से भी कम समय में मामी को और खुद को नंगा कर लिया. मैं- ओह … याद आया … आप हैं … आपको कैसे भूल सकता हूँ जान … बोलो क्या काम है?आंटी कामुक आवाज में बोलीं- अधूरा काम पूरा नहीं करोगे?मैंने बोला- हां जरूर करूंगा. थोड़ी देर बाद मैंने अचानक से उसको बिना बताए फिर से एक और धक्का दे दिया.

घर की बीएफ कोई फोन में लगा हुआ था तो कोई खाने पीने में और बातें करने में मशगूल था. चूंकि हम लोग बुनी हुई चारपाई पर लेटे हुए थे इसलिए चारपाई में बीच में गड्ढा सा बन गया था, इस कारण मामा का लण्ड ठीक से चूत पर सेट नहीं हो रहा था, मामा ने मुझे जमीन पर खींच लिया और चटाई पर लिटा दिया.

टीवी देखो

रेखा का पेटीकोट, ब्लाऊज और अपनी पैन्ट, शर्ट उतार कर हम बेड पर आ गये. अपनी चूत को उसके मुंह पर फेंकते हुए उसके मुंह को चूत में पूरा घुसाने की कोशिश करने लगी. फिर भाभी बोलीं- चलो हो गया ना अब!मैंने उनकी गांड दबाते हुए कहा- अभी कहां मेरी जान… अभी तो शुरू हुआ है.

फिर मैं अपने लंड को बाहर निकालने लगा … लेकिन मंजू ने लंड के सुपारे को मुँह में ही रखा और मेरे लंड को निचोड़ने लगी. अब रोशन लाल ने उससे पूछा- पहले चुदी है या नहीं?अलीज़ा मुस्कुरा कर बोली- जब मैं ट्रेनिंग में गई थी, तो वहां जो ट्रेनिंग ऑफिसर था … वो सारी लड़कियों को चोदता था. पाकिस्तान के बीएफ वीडियोइस पर अम्मी कोई भी प्रतिक्रिया नहीं देती थी क्योंकि उन्हें सिर्फ जनाजे के लिए जल्दी पहुंचना था.

उधर हरि मेरे मम्मों से खेल रहा था और विशाल ने मेरे मुँह में अपना लंड दे दिया था.

हमारी पहली चुदाई काफी देर तक चली जिसमें मैं अमन के लंड पर दो बार झड़ गयी. मैंने धीरे से उसकी चूत की पंखुड़ियों को खोल कर देखा और फिर फैला दिया.

आंटी बोलीं- मोंटू इस बार तुम दिल्ली कितने दिन रुकोगे?मैंने कहा- बस आंटी एक दो दिन और हूँ. कभी कभी हम किसी सुनसान जगह पर गाड़ी में ही चुदाई का खेल खेलने लगते हैं. रेखा की चूचियों से खेलते हुए मैंने उससे घोड़ी बनने को कहा तो पलटकर घोड़ी बन गई, रेखा के पीछे आकर उसके चूतड़ों को फैलाकर मैंने अपना लण्ड उसकी चूत में पेल दिया और आगे की ओर झुककर उसकी चूचियां दबोच लीं.

मैं उन्हें अपनी गोद में उठा कर कमरे में ले आया और उनकी सजी हुई सेज पर उन्हें गिरा दिया.

उन्होंने फिर अपना ब्लाउज भी उतार दिया और अगली हरकत में पेटीकोट भी निकाल दिया. ताकि जब हम तीनों छुट्टियां बिताने जाएं तब मैं उन दोनों के साथ पूरे उत्साह और उमंग से अपनी चुदाई करवा सकूं।मानव ने भी मेरी बात मान ली।शायद उसे भी मेरे नीरव के प्रति भावनात्मक जुड़ाव का अनुमान लग गया था।आगामी दो दिन मेरे बहुत बेचैनी से गुजरे।मैंने बाजार जा कर आवश्यक खरीदारी कर ली. मैंने उसे बेड पर पटक दिया और जल्दी से उसकी चूत मुँह में ली और जीभ मारने लगा.

बीएफ वीडियो हिंदी सेक्सी बीएफ वीडियोप्रिंसीपल सर का डर क्यों था ये आपको इस सेक्स कहानी में आगे पता चल जाएगा. बहुत मजा आ रहा था दोस्तो, जितना मजा चूत मारने में आता है उसके सामने मुठ मारने का मजा तो कुछ भी नहीं है.

सेक्सी वीडियो क्लिप

शाहिद ने अपना लंड हाथ में ले लिया और मेरी ओर हिलाते हुए चूसने का इशारा करने लगा. उस रात मुझे खुशी के मारे नींद नहीं आयी और मैं अपनी उस सपनों की रानी से मिलने की योजना बनाने लगा. मां ने पूरा लंड अंदर ले लिया था जैसे कोई कुतिया किसी कुत्ते के लंड को खींच लेती है.

उसका नाम मोनिका (घर का नाम चिंकी) था, वो बहुत ही खूबसूरत थी … और काफी मीठा बोलने वाली भाभी थी. फिर मैं धीरे से अपने कपड़े समेट कर अपने रूम में आ गया और फिर नंगा ही लेट गया. सीमा की इसी बात ने जता दिया कि वो भी अपनी चूत में मेरा लंड लेना चाहती है.

वैसे तो मैं अभी तक 10 महिलाओं को अपनी सेवा दे चुका हूं, मगर ये कुछ खास ही चुदाई हुई थी, जो मैं कभी नहीं भूल सकता. करीब दो मिनट उसकी चूत और चूसने के बाद मैंने उसको फिर से किस किया और लंड हिला कर उसकी आंखों में देखा. मैंने कहा- ठीक है, आप साड़ी पहन लो, तब तक मैं डॉक्टर को लेकर आता हूं.

रोशन लाल ने हम्म की आवाज निकाली और अलीज़ा से फिर से लंड खड़ा करने को कहा. मैंने हिम्मत करके कहा- तो फिर आप पेटीकोट भी उतार दो, नहीं तो तेल लगने से खराब हो जायेगा.

क्या बताऊं दोस्तों पीछे से भाभी की चुदाई करने में मुझे इतना ज्यादा मजा आ रहा था कि लिख ही नहीं सकता.

उनके मम्मे दबा कर उनसे जल्द ही आकर दोस्त की सास की चूत चुदाई करने का वादा किया और वापस आ गया. सेक्सी एक्स वीडियो बीएफभोपाल में आने और जाने के चार दिन तो खपेंगे ही और फिर उसके बाद तीन दिन का दूसरा बहाना कर देंगे. xxx.iii सेक्सी वीडियो बीएफमैंने तुरंत अपना पैंट उतारकर टांग दिया और अंडरवियर के अन्दर उनकी पैंटी पहन ली. मैं अपने रूम में मंजू का वेट करने लगा और जैसे ही वो सफाई के लिए रूम में आई, तो मैंने उसे पकड़ लिया और उससे लिपट गया.

मैंने उससे कहा- यार तू रेडी तो हो जा … मैं तेरे पास इलाहबाद आ जाऊंगा.

अमिता गेट पर खड़ी हो गई और उनकी बड़ी बहन मेरे बगल में आकर बैठ कर मुझसे बोली- सच में आप अमिता से बहुत प्यार करते हैं. उन्होंने मुझसे कहा- पायल, मेरा एक छोटा सा काम कर देगी क्या?मैंने कहा- हां मौसी ज़रूर … आप बताओ क्या करना है?मौसी ने मुझसे कहा- मेरी शेव कर दे. कभी पूरे टोपे पर जीभ फिराने लगी तो कभी पूरे लंड को मुंह में ले जाती.

उसके बाद फिर कुछ समय बीत जाने के बाद मैंने उसकी ब्रा और पैंटी को फिर से छुपा दिया. चोदते चोदते मैंने आंटी से फिर से बोला- आंटी बताओ न? आप मेरा साथ दोगी पीयूष की पत्नी को चूत चोदने में?आंटी ने हां कर दिया. साधना खाना खाते खाते सिसकारने लगी और उसने खाना छोड़कर थाली एक तरफ रख दी.

सेक्सी पिक्चर कर्नाटक

पिताजी ने मेरे गणित के शिक्षक से मिलने का मन बनाया ताकि वो कोई उचित निर्णय ले सकें. इस तरह से हम तीनों अन्तर्वासना की सेक्स कहानियों के नियमित पाठक हो गये. मैं अपने हाथों से उसकी दोनों चूचियाँ दबाने लगा और उसके कन्धों पर चूमने लगा।मिनी अपनी गांड से पीछे धक्के देकर मुझे शुरू होने का इशारा करने लगी।कुछ पल इसी तरह लेटे-लेटे धीरे-धीरे धक्के देने के बाद मैं सीधा हुआ और अपने हाथों को उसके कन्धों से पीठ और पसलियों पर फिराते हुए उसकी कमर तक लाया.

इसी तरह कुछ देर तक करते रहने के बाद अब उसने कमान और मोर्चा संभाला और मेरी फ्रेंची को नीचे सरकाते हुए उतार दिया.

उसने आगे से मेरी टांग उठाई और मेरी चूत में लंड देकर मुझे बांहों में पकड़ लिया.

अब वो भी हरकत में आ गयी और उसने मेरी स्वेटर को उतारा और शर्ट के बटन खोलने शुरू कर दिये. तभी लवली भी हम दोनों के पास आ गयी और आकर पापा की गोद में आकर बैठ गयी. हिंदी गाना पर बीएफमैं उनकी मदद के लिए थोड़ा ऊंचा हो गया जिससे दीदी ने लोवर और मेरी चड्डी को नीचे कर दिया.

आप सभी का धन्यवाद जो आपने मेरी पिछली अन्तर्वासना स्टोरी को इतना अधिक सराहा और मुझे मेल किए. अपने होंठों से मौसा के होंठों की चुसाई और अपनी जीभ से उनकी जीभ की चुसाई मैंने पूरी की. लंड खड़ा होने के बाद मैंने एक बार फिर से उसकी गांड चोदी और फिर हम सो गये.

प्रिया ने जिस तरह से मेरा लंड पकड़ा था … उससे थोड़ी ही देर में मेरी उत्तेजना जाग गयी थी. मेरे लंड और उसकी चूत का मिलन वाला भाग हम दोनों को ही दिख रहा था जिसको देखकर दोनों ही और ज्यादा कामुक हो रहे थे.

एक दिन रात के वक़्त 9 बजे के करीब मैं अपने घर के बाहर घूम रहा था, तब गली में कोई नहीं था.

मैं वहां से जाने लगी, तभी शिबु ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और गले में किस करने लगा. उसका लिंग मुझे मेरी गुदा के नीचे जांघों की घाटी में रगड़ता हुआ लगने लगा. मैंने- वो क्यों चढ़ते हैं मामी?मामी तेज हंसते हुए कहने लगीं- तुझे नहीं मालूम कि तेरा मामा मेरे ऊपर क्यों चढ़ता है?मैंने उन्हें उकसाया- नहीं मामी मुझे नहीं मालूम … आप बताओ न … मामा आपके ऊपर क्यों चढ़ते हैं और कैसे चढ़ते हैं?मामी बोलीं- चल पहले खाना खा लेते हैं … मुझे बहुत भूख लग रही है.

फिल्म ब्लू बीएफ वो बेतहाशा मेरे होंठों को चूसने में लगी थी।मैंने उसकी पैंटी उतारकर उसकी दोनों टाँगें फैला दीं. जब फंक्शन में मैंने आपको देखा था, तो आप मुझे भरोसेमंद और अच्छे लगे थे.

रोशन लाल- मैंने सुना है कि तू कांस्टेबल से ऊपर की पोस्टिंग चाहती है. चार-पांच मिनट के बाद मनोहर ने मुझे कुतिया बनने को कहा और पीछे से मेरी चूत में लंड पेलने लगा. मगर मेरा लंड तो एकदम चुस्त और दुरुस्त था और मेरी मां की चूत की प्यास को बहुत अच्छे से बुझाने के काबिल भी था.

कामुक गोष्टी

लेकिन तू मेरा कहना माने तो!अलीज़ा बोली- क्या काम!मैं बोली- मुकेश जी को जानती है … जो डीएसपी हैं. अब प्रिया इतनी गर्म हो चुकी थी कि मेरा लौड़ा उसकी चूत बजाने को तैयार था. मैं भाभी के मम्मों को चूसते हुए उनके गोरे पेट पर आ गया और उनकी नाभि पर जीभ फिराने लगा.

वहां पर जो लेडीज थी, उसको बोला कि इसका एक थर्ड क्लास की रंडी जैसा मेकअप कर दो. थोड़ी देर भाभी की चूचियां पीने के बाद उनको किस करने के बाद मेरे लंड में फिर से जान आने लगी थी.

रोहित अपने रूम में चला गया।फिर मेरे और मेरे हस्बैंड के बीच हमारे इस किस्से को लेकर बहुत सारी बातें हुईं.

अगर सिग्नल क्लियर हो तो पहले मैं निकलूंगा और उसके बाद मेरे जाने के दो मिनट बाद तुम बाहर आना. उसके मुंह से सिसकारियां अब बहुत तेज हो गयी थी- आआह्ह … ऊहह … आईई … याह्ह … उम्म … आह … आह्हआ … आआआ आह्ह … करके वो अपनी चूत को चुसवाते हुए मदहोश हो गयी. उसके बाद वो उठा और अपने सो चुके लंड को उसने फ्रेंची में ठूंसा और पैंट पहन कर निकल गया.

एक दिन मैं इमरान के घर गया और हम दोनों अभी क्रिकेट खेलने की तैयारी ही कर रहे थे कि उसको किसी का फ़ोन आ गया. अब वो ये भी जान चुकी है हम दोनों उनको चुदते हुए देख कर बेशर्म हो चुके हैं. अब आगे:ये भांपते ही कि बंदी चुदने के मूड में है, मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी.

फिर उनको सीधा करके उनकी बुर की झांटें अपने जिलैट के रेजर से साफ़ कीं और उनकी चूत पर साबुन लगा कर अंदर उंगली डाल डाल कर उनकी चूत को खूब साफ किया.

घर की बीएफ: अगली सुबह फिर दोपहर तक डॉक्टर ने हम लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी और मैं सहेली को उसके घर ले गयी. अंजना- डियर एक बार तुमने कहा था कि तुमको लंड और गांड के छेद को चूसना पसंद है.

सेक्सी नंगी गर्ल की स्टोरी में आपको मजा आ रहा है ना?[emailprotected][emailprotected]सेक्सी नंगी गर्ल की स्टोरी का अगला भाग:देवर से लिया चुदाई का असली मजा- 4. एक दिवस मेरे पिताजी नगर से घर आये हुए थे और उन्हें हमारे महाविद्यालय के अंग्रेजी के अध्यापक मिले और पिताजी से मेरी प्रशंसा करते हुए मुझे गणित पर और अधिक परिश्रम करने का सुझाव दिया. पारुल तो बेहोश होने वाली थी मगर साधना और मैंने समझदारी से काम लिया.

उनका भरा हुआ फिगर, कातिलाना अंदाज, सेक्सी स्माइल, मॉडर्न स्टाइलिश और उनके चेहरे के एक्सप्रेशन को देखकर कोई भी घायल हो जाए … या यूं कहूँ कि नायरा दीदी दिखने में एकदम तमन्ना भाटिया जैसी सुंदर और नमकीन हैं.

आपको अच्छी लगी तो कहिये ‘यह है असली चुदाई’ मुझे मेल करके जरूर बताएं. मगर मैंने उनको कहा कि आज वो मुझे उनको प्यार करने से नहीं रोक पायेंगी. मेरा बाप इतने अच्छे माल को छोड़ कर मेरी रंडी बीवी के चक्कर में पड़ गया था.