vijay बीएफ

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी फिल्म भेजिए

तस्वीर का शीर्षक ,

ఇంగ్లీష్ సెక్స్ ప్లీజ్: vijay बीएफ, फिर रोहण और मैं फ्रेश हुए और इस तरह हमने दुबई में पूरे 10 दिन तक चुदाई की थी और फिर हम भारत वापिस आ गए।अगले दिन मैं आफिस गयी और सब लोग मुझे ही देख रहे थे क्योंकि मेरी मांग में सिंदूर था। सब मेरे बारे में ही बात कर रहे थे.

क्सक्सक्स सेक्स विडीओ

मन कर रहा था कि अभी बहू के लबों को चूम लूं मैं… लेकिन मैंने सब्र किया… मन में मैंने सोचा कि अभी कुछ देर मैं इन लबों को चूम लेने की लालसा को मन ले लिए तड़पता रहूँगा, इस तड़प में मुझे और ज्यादा आनन्द मिलेगा. ಇಂಡಿಯನ್ ಸೆಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋवो मान गई, मैं तुरंत उसकी चुचियों के ऊपर बैठ गया और अपना लंड उसके मुँह डाल कर उसके मुँह को चोदने लगा.

मैंने रुबीना को वो सेक्सी ड्रेस पहनने को कहा, पहले तो रुबीना थोड़ी झिझकी मगर मुझे अरविंद समझ कर हां कह दी. एक्स एक्स एक्स एचडी कॉमइस फंसी सी स्थिति में लंड इतना अच्छा तो नहीं आ रहा था लेकिन एक चालू गाड़ी में अपनी सगी बहन को चोदने का मजा ही कुछ और था.

उसके पैर मोड़े और अपने लंड को उसकी बुर पर रख कर थोड़ा सा अन्दर किया ही था कि वो मना करने लगी.vijay बीएफ: फिर घर पर इस तरह से डरी डरी और चुपचाप क्यों रहती हो?दो मिनट नीचे देखने के बाद उसने कहा- नवीन मैं भी खुल कर रहना चाहती हूँ, पर मम्मी के नियम और सोसाइटी में लोगों की सोच की वजह से मुझे दब कर रहना पड़ता है.

वो बोलने लगी- आप बहुत गंदे हो, आप मेरे साथ ये सब क्यों कर रहे हो? मैं आपको क्या समझती थी और आप क्या निकले.उसके कदम और तेज़ हो गए, लेकिन उस्मान एकदम से भाग कर उसके सामने आ गया.

ब्लू सेक्सी वाला - vijay बीएफ

माया ने बधाई लेने के लिए सुमित की तरफ हाथ बढ़ाया ही था कि सुमित बोला- माया डार्लिंग, मुझे तेरी पेंटी चाहिए.आपको मेरी आपबीती इंडियन इन्सेस्ट स्टोरी कैसी लगी, ये बताना मत भूलना.

मैं रुका तो वो मेरे पास आई और बोली- मुझे कॉलेज साथ ले चलो, मौसम भी ख़राब है और बस का पता नहीं कब तक आएगी. vijay बीएफ मैंने लंड पूरा बाहर निकाला तो चुत में से ढेर सारा पानी भी बाहर आ गया.

तत्काल मैंने बहुत ही इज़्ज़त और प्यार से प्रिया की रति-तेज़ से धधकती योनि पर अपना दायाँ हाथ रख दिया; उसकी योनि तो पहले से ही कामऱज़ से सराबोर थी और अभी भी ऱज़स्राव चालू था.

vijay बीएफ?

जब मेरे ताऊजी के लड़के की शादी होने वाली थी, तब हमारा पूरा परिवार उसकी शादी के लिए उसके शहर में गए थे. लेकिन लड़के ने कहा है कि प्रिया को बेसिक कम्प्यूटर कोर्स और अगर हो सके तो C++ का डिप्लोमा जरूर करवा दें. तो मैंने सोचा कि ऐसा कुछ कर देते हैं कि साला परमानेंट चुप करके बैठ जाएगा.

जब मैं कुछ नहीं बोला तो वो मेरे बेडरूम में आई और मेरे हाथ में लंड को देखकर. मेरा लंड अब पिस्टन की तरह उसकी चूत के अन्दर-बाहर हो रहा था और हाथ उसके पूरे जिस्म को मसल रहे थे. आप बोलिये? मैं बुरा नहीं मानूँगी, लेकिन जो भी बोलना है जल्दी बोलिए.

पहले कभी लड़की नहीं देखी क्या?कटाक्ष में मैंने भी कहा- देखी तो बहुत हैं लेकिन इस हालत में और तुम जैसी माल वाली कभी नहीं देखी. ब्रायन मेरे मम्मों को चूस लो, निकाल दो मेरा जूस, मेरा दूध!”ला साली भोसड़ी की रांड, ला तेरी बेटी को चोदूँ, साली कुतिया यह देख तेरी मासूम बेटी कैसे मेरा लंड चूस रही है. बहूरानी की ब्रा के हुक को मैंने ऐसे ही थोड़ा सा दबा दिया तो मेरी मंशा जान कर बहूरानी का जिस्म सिहर उठा.

तुमने ये सब इतना गंदा कहाँ से सीखा?वो- मैंने एक गंदी फिल्म देखी थी. फिर उन्होंने मुझे खाना खाने के लिए बोला तो मैंने कहा कि मैं खाकर आया हूँ.

मम्मी फूफा जी के निक्कर के ऊपर से उनका लंड हिलाते हुए बोलीं- लगता है ननदोई जी ज्यादा ही प्यासे हो.

सैम- ठीक है, तुम्हें अब यही उतने दिन रहना है जितने दिन पापा यहाँ रुकेंगे बस.

अब हम दोनों यानी मैं और सानिया एक ही चादर ओढ़े हुए बैठे थे और मेरे फ़ोन से गाने सुन रहे थे एक एक इयर प्लग लगा के… तो मैंने हिम्मत करके अपनी थोड़ी सी कोहनी सानिया के बदन से सटका दी।फिर ट्रेन के हिचकोले के साथ मैंने कोहनी उसके बूब्ज़ से टकरा दी और उसकी तरफ देखा. ‘मैं तो प्रिया से प्यार करता हूँ… चाहे मुझे हक़ नहीं है ऐसा करने का, लेकिन करता हूँ. किसी से कोई मतलब नहीं कि कहीं कोई देख लेगा तो क्या कहेगा और भी बहुत कुछ.

माया ने बधाई लेने के लिए सुमित की तरफ हाथ बढ़ाया ही था कि सुमित बोला- माया डार्लिंग, मुझे तेरी पेंटी चाहिए. महिला बहुत ही सुंदर थी, गोरी 5 फीट 6 इंच की हाइट, भरे हुए चूचे, पतली कमर, आह, मैं तो उसके हुस्न में खो सा गया. वो मेरे नीचे थी और मैं उसके ऊपर, मेरे सीने में ममता की तनी हुई चूचियों के दबे होने का कोमल सा एहसास हो रहा था और वो मेरी आँखों में देख रही थी और मैं उसकी आँखों में देख रहा था.

मेरे रोंगटे खड़े हो गए। मैंने अपना मुँह तकिया में दबा लिया और चादर को कस कर पकड़ लिया।उसने और ज़ोर लगाया.

मैं उसकी चूची को चूसते चूसते नीचे सरका और उसका पेट नाभि चाटते हुए उसकी पेंटी पर आ गया. भैया जैसे ही पूजा के ऊपर चढ़े, उसने अपने नागिन जैसे हाथों से भैया की पीठ को जकड़ कर अपनी बाँहों में भर लिया. मैंने मोना को पलटने को कहा, वो पलट गई, जिससे उसकी गांड मेरे सामने आ गई थी.

भाभी को मेरी चुदाई से मजा आता था, उन पर मेरे लंड की चुदाई का नशा छा गया था, वो हर वक्त मुझसे चुदाई का मौक़ा ढूँढती रहती थी और साथ ही उनके गर्भधारण की इच्छा पूरी होने की संभावना से अब वो काफी खुश रहने लगी थी. पर काजल के मुँह से कांपती हुई आवाज़ निकली, जो डर और चुदाई की उत्तेजना से मिली जुली थी. इधर मोहन लाल ने मयूरी के होंठों के रस का स्वाद लेते हुए पहले तो उसका दुपट्टा निकाल फेंका.

अब तो भाभी मस्ती से काँपने सी लगीं और सिसकारिया भरने लगीं- आह… छोड़ दो मुझे… मत करो… आह… प्लीज़… रुक जाओ… म्म्म्म… आह…जब तक पूरी बर्फ नहीं पिघल गई तब तक मैं यह करता रहा.

उसके बाद मैंने देर न करते हुए सीधा उसके होंठों पर होंठ रख दिए औऱ उसके होंठ चूसने लगा. तभी वो बोलीं- मैंने सोचा, आपको शायद मालिश में दिक्कत हो रही होगी इसलिए निकाल दी.

vijay बीएफ चिंटू और परीक्षित तो उनका वीर्य निकलते ही रानी के साथ लिपट कर सो रहे थे, रवि भी फर्श पर बेसुध होकर सो रहा था तो मैं भी रवि के सा फर्श पर हो सो गई।[emailprotected]. फिर जब सुबह हुई तो पता चला कि पापा और मम्मी को गुरुजी के यहाँ जाना था.

vijay बीएफ कुछ अच्छे कुछ बुरे, जो भी हो अच्छा लगा इसलिए अपनी आगे की कहानी आप सभी के साथ शेयर कर रहा हूँ. तभी मैंने दीदी के सर को अपने हाथों से पकड़ा और अपने लंड की तरफ बढ़ा दिया, दीदी ने अपने फेस को दूसरी तरफ मोड़ दिया, मैंने फिर से दीदी के सर को पकड़ा और फेस को लंड की तरफ टर्न कर दिया.

उसे थोड़ा दर्द हुआ, मैंने नीचे से ज़ोर का धक्का दिया तो मेरा मोटा लंड स्वाति की चूत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया.

ब्लू फिल्म सेक्सी बढ़िया-बढ़िया

शाकिर- भाई साहब, आपने मेरी गांड में एकदम से पेल दिया था, उस वक्त मुझे लगा था कि मेरी गांड फट गई. उसकी पाव की तरह फूली चुत के चिकने होंठ किशमिश की तरह रसीले लग रहे थे. सुबह छह बजे हमें निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन (दिल्ली में कई रेलवे स्टेशनों में से एक) पहुंच जाना था.

चाची को देख कर मेरा लंड खड़ा होने लगा लेकिन मैंने खुद पर सयंम कर लिया और पानी पीने लगा. चूंकि पति से कुछ होता जाता नहीं था, इसलिए मेरी निगाह वरुण पर ही टिकी थीं. करीब 5 मिनट का लम्बा स्मूच करने के बाद मैंने उसकी सलवार खोल दी और चुत में उंगली करने लगा.

मैं उनकी चूत को सहलाने लगा और थोड़ी देर में ही वो ऐंठ सी गईं और झड़ गईं.

पूरा दिन यूं ही निकल गया और शाम के 7 बजे और हम सब ने लुकाछिपी खेलना शुरू कर दिया. नवम्बर का महीना था, शाम को हल्की हल्की सर्दी होना शुरू हो गयी थी तो सानिया ने अपनी एक गर्म चादर निकाल कर ओढ़ ली, कम्बल तो मेरे पास भी था फिर भी मैंने जान बूझ कर नहीं निकाला क्योंकि कम्बल वाली ठण्ड नहीं थी. मैं भी थोड़ा डर सा गया, फिर मैंने कहा- नहीं हम पहले बिस्तर पे चलकर एक दूसरे को गरम करते हैं, हो सकता है तुम्हारी गांड में सूखा हुआ फेवीकोल पिघल जाए.

मैं पुणे में रहता हूँ और अभी सेकेंड ईयर में हूँ, उसी के साथ मसाज पार्लर में भी जॉब किया था, ताकि पढ़ाई के लिए थोड़े पैसे मिल जाएं. उसे भी बहुत मजा आ रहा था, लेकिन टयूशन का टाइम होने की वजह से मैंने अपनी कामवासना को दबा कर उसको अपने से दूर किया. अधिकतर मेहमान तो विदा हो चुके थे लेकिन अभी भी घर मेहमानों से भरा हुआ था.

फ़ोन सेक्स करते हुए मैं उससे बोलता था कि अपनी चूत में उंगली डाल कर अन्दर बाहर करे, जैसे उस दिन मैंने की थी. मैं- सर मेरी चूत आपकी है, आप कभी भी चोद दीजिए, पर ये ऑफ़िस है कोई आ गया तो बहुत बेइज्जती होगी.

तो मैंने सोचा कि छोड़ न यार! माँ चुदाने दे साली को!तीन दिन बाद मेरे दोस्त का फ़ोन आया और बोला- खेत में आ जा, आज रंडी बुला रखी है!मैं वहां गया तो देख कर दंग रह गया, देखा तो वो प्रियंका थी, वही औरत जो मुझे खेत में मिली थी. ”हम बातें कर ही रहे थे कि तभी हीरो झड़ गया और उसका वीर्य हिरोईन ने अपने मुँह में भर लिया. उन्होंने सीधे बढ़ते बढ़ते अपनी गांड को मेरी तरफ किया और इससे मेरा लंड खड़ा हो गया.

स्कूल की छुट्टी हुई और मैं घर गया तो अपनी मोबाइल की तलाश करने लगा तो माँ ने पूछा- क्या कर रहे हो?तो मैं बोला- अपना मोबाइल ढूँढ रहा हूँ…तो उन्होंने बोला- वो मेरे रूम में है, ले लो!तो मैंने मां के कमरे में जाकर मोबाइल लिया और सोचा कि वीडियो डिलीट कर दूँ लेकिन मोबाइल में वीडियो तो थी ही नहीं.

मैं भी उनको देख ही रहा था और मन ही मन उनके साथ सेक्स के ख्यालों में डूबा हुआ था. फिर एक दिन मैंने अपना वादा पूरा करते हुए उनको घुमाने, मूवी दिखाने और डिनर कराने ले गया, जब उनके पति बाहर गए हुए थे. मुझे उसकी ये अदा बहुत भा गई और मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपने लोवर के ऊपर से ही रख दिया.

क्या मिल कर खुश नहीं हो?मैं- नहीं ऐसी बात नहीं है, मैं तो ऐसे ही रहती हूँ और मेरे पास कोई इतनी अच्छी ड्रेस भी नहीं थी, तो सोचा कि यही पहन लूँ. बॉस ने उसको बोला- किसी को पता नहीं चलना चाहिए और दुबारा ऐसा मत करना.

लेकिन मैंने अपनी आवाज़ बंद रखी। उसने अपना लौड़ा धीरे से बाहर किया और फिर अन्दर पुश किया।अब वो मस्ती में अन्दर बाहर करने लगा, उसकी साँसें तेज हो गई थीं. तो बहुत आपको पका दिया मैंने, वैसे मेरा नाम शुभम है और मेरी उम्र 21 साल है. चूंकि हमने कभी एक दूसरे को देखा नहीं था तो मैंने उनको फ़ोन पर बताया कि मैं स्टेशन के बाहर गाड़ी पार्किंग मैं उनका इन्तजार करूंगा.

लड़कियों को चोदने वाला सेक्सी वीडियो

लड़कों ने इस बार हद कर दी थी, और किड ने तो अब नाता की गर्दन पकड़ कर उसके मुंह में लंड को गर्दन तक धकेलना शुरू कर दिया था.

मैं आप सबको अपनी चुदाई की सच्ची देसी कहानी बताने जा रही हूँ कि कैसे मैं अपने चाचा से चुदी. तभी मैं तुरंत अपने मुँह को माँ की चूत के पास ले गया और चूत को चूसने लगा. भाभी ने बोला- आह… क्या कर रहे हो जान… आराम से करो ना… मैं कहीं भाग थोड़े रही हूँ.

मैंने कहा- तुम ब्रेसिअर नहीं पहनती?उसने कहा- नहीं…कल से पहननी पड़ेगी!” मैंने कहा. जब भी वो आ जाती थी तो उनके लिए प्यार से कुछ कुछ लाता रहता था, कभी हॉट-डॉग तो कभी चाऊमीन. देसी सेक्सी वीडियो भोजपुरीसर कैसे लगे मेरी बेटी के मम्मे? मेरी मासूम बेटी को आज सब लोग जमकर चोदो.

जैसे ही हम बेडरूम में पहुँचे, उन्होंने मेरा लंड छोड़ कर मुझे बेड पर पटक दिया और मुझे किस करने लगीं. आज तक तुमने कितनी बड़ी साइज़ का लंड देखा है?”उसने शर्माते हुए कहा- तीन इंच का.

मैं चुप हो कर लेट गया, पर मेरा लंड शांत होने का नाम ही नहीं ले रहा था, एकदम टाइट था. फिर बगल में लेट गया और कान में फुसफुसाया- दोस्त ज्यादा लगी तो नहीं? मजा आया?मैंने कहा- बहुत मजा आया. तभी भाभी के पापा बोले- यार, बहुत गजब माल हो तुम आरती, जब तुम्हारे घर अपनी बेटी का रिश्ता लेकर गया था, तभी तुम पसंद आ रही थी और सोच लिया था कि अगर बेटी की शादी हो गई तो एक बार तुम्हें चोदूंगा जरूर!और मुंह को लंड से चोदने लगे और बोले- आरती, शर्ट उतारो, तुम्हारे बूब्स चूसने हैं.

जिस लड़के की शादी थी, वो माणिक का दोस्त था तो वे शादी में से देर में ही आने वाले थे, यह बात मंजरी जानती थी. मैंने जैसे ही उनकी पेन्टी पर अपना मुँह लगाया, वो सिहर उठीं, उनके मुँह से ‘अह्हा…’ की आवाज निकली. उसने वर्षा के छोटे से चुचे पूरे मुँह में ले लिए और इतना चूसा कि चुचे सूज कर लाल टमाटर हो गए.

क्योंकि उनके घर में सब जॉब करते हैं और ताई भी एक एनजीओ चलाती हैं इसलिए मैंने कहा- ओके भाभी मैं कल भी आ जाऊंगा.

हाँ तो मुद्दे पे आते हैं, मैं गांव आया हुआ था, गांव के लोग अपने कामों में व्यस्त थे और मैं अन्तर्वासना डॉट काम की लेखिकासीमा सिंहकी चूत पर अपना लंड हिला रहा था. मेरी चाची का नाम सीमा है और उनकी उम्र 22 साल है क्योंकि मेरे चाचा की शादी जल्दी कम उम्र में ही हो गई थी.

फिर हम दोनों वहां खूब खेले और फिर हम शाम को बाहर से डिनर कर के होटल रूम में आ गए. समधी जी अपने दोनों हाठों से मेरी दोनों चूचियां तेजी से दबाने लगे।‌‌मैं बोलने लगी- आआह… धीरे दबाओ ना…वो बोले- बड़ी मुश्किल से तुम आज ही तो मेरे हाथ लगी हो, आज तो मैं तुम्हें नहीं छोडूंगा. कभी कभी वो मुझे किस भी कर रहे थे और हमारी चुदाई की कामुक आवाजें कमरे में गूंज रही थी.

मोहन लाल की पत्नी के पिता यानि के मोहन लाल के ससुर भी उसको उतना ही प्यार करते थे, जितना वो उसको करता था. जब घर के अन्दर पंहुचा तो पता चला कि बुआ की जिठानी की बहन की लड़की है वो भी शादी में आई है. उन्होंने मुझे बहुत परेशान कर दिया तो मैंने उनकी शिकायत रीना से की तो रीना ने उन्हें डांट दिया.

vijay बीएफ अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर आपका स्वागत है!धन्यवादरवीराज मुंबई[emailprotected]. मुझे गुस्सा ज्यादा आ गया और मैंने बोल दिया कि मैं इससे प्यार करता हूँ और वो मेरी गर्लफ्रेंड है.

देवर भाभी की सेक्सी मूवी फिल्म

रियल सेक्स स्टोरी जारी है, कहानी पर अपने विचार दे सकते हैं।मेरा ईमेल है-[emailprotected]. मैंने गुस्से में कहा- पूजा, जल्दी अपना चैलेंज पूरा करो वरना नहीं पढ़ाऊंगा. मैंने अब ताकत भरे करीब पचास झटके मारे, रोशनी की साँसें तेज होने लगी और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

वो बोली- क्यों दीदी? आपने झगड़ा कर दिया? वो कितना अच्छा और काम का लड़का था. मेरा लंड एकदम से टाइट हो गया और निक्कर से बाहर आने को कोशिश करने लगा, मैं अपने हाथों से उसे दबाने लगा. सनी लियोन की xxxफिर अचानक वो एक बार मेरे होंठ के पास आई और मेरे होंठों पर किस करके उसने सीधे मेरे लंड को पकड़ कर सुपारा अपने मुँह में भर लिया.

उस दिन के बाद भी हम रोज xxx फिल्में देखने लगे और रोज चुदाई करने लगे.

क्योंकि उस वक्त मेरी एक गर्लफ्रेंड थी और मैं उसी के साथ काफी व्यस्त रहता था. वो मेरे कान के पास आकर मेरे कान में हवा फूँकने लगीं, मुझे गुदगुदी होने लगी थी.

उसने अंदाजा लगाया कि इस आदमी की उम्र 48 साल है और 7-8 साल पहले इसकी पत्नी गुजर चुकी है, इसका मतलब इसको बहुत सालों से चूत नहीं मिली है. मुझे यकीन है कि प्रीति भी अपनी गांड पर मेरे कड़क लंड का दबाव महसूस कर रही होगी. भला बताओ पार्टी क्या एन्जॉय करेंगे?मैं- ऐसा नहीं है तुम भी सुंदर हो.

लेकिन पिंकी तो सिर्फ मेरे बैंगन की दीवानी हो रही थी, पर उस वक्त उसने ओके कर दिया.

इस पर मोना ने कहा- मुझे क्या एतराज हो सकता है, क्या तुम मेरे पति हो जो मुझे सौतन वाली फीलिंग आएगी. बीस मिनट तक कमरे के कुछ चक्कर लगाने के बाद दीदी उतर गईं और उन तीनों को रिहा किया. गाड़ी जब पुणे से बाहर निकली तो ठंडी तेज होने लगी और सपना का सिर मेरे कंधों पर आ गया.

గుజరాతీ సెక్స్ వీడియోफिर मैंने तौलिया को थोड़ा और ऊपर सरकाया और जैसे ही वहां पर हाथ रखा चाची ने आँख बंद कर लीं और मुझसे बोलीं कि तुम मालिश बहुत अच्छी तरह करते हो. मैंने दीदी के एक हाथ को लंड से उठा दिया और अपनी बॉल्स पर रख दिया और दीदी को थोड़ा और लंड लेने का इशारा किया.

सेक्सी पिक्चर चोदा चोदी फिल्म

मैंने भी अब धीरे धीरे कंधों को दबाना शुरू कर दिया और फिर बांहों की भी मालिश करना शुरू कर दी. फिर मैंने अपने लंड थूक लगाया और बहुत सारा थूक उसकी गांड में भी थूका, जिससे लंड जाने में दिक्कत कम से कम हो. वैसे मुझे लंड लेने की आदत हो गई है तो अब दर्द सहने की आदत भी हो गई है.

गांड मारते मारते लंड को चूत में घुसेड़ देना और फिर गांड में घुसा देना. मैं चुप थी और उनके दोस्तों के नाम थे, लड़की का नाम स्वाति और लड़कों में एक का अरुण और दूसरे का शैलेष था. उसको सम्हलने का मौका नहीं देते हुए मैंने उसकी दोनों चुचियों को पकड़ कर, जोर से खींचकर एक और शाट दे मारा.

मेरी बीवी की चुदाई कहानी के पिछले भागयोगा से योनि तक-1में आपने पढ़ा कि कैसे योगा टीचर ने मेरी सेक्सी बीवी को चोदा और मैं देखता रहा. तो भाभी फिर आज क्या करें?”भाभी ने कहा- दवाई लेकर सेंटर पार्क में चलते हैं. उसने मुस्कुरा कर कहा- पहन कर नहीं दिखाओगी?मैं बाथरूम में गई और फ्रेश हो गई और मैंने वो ड्रेस पहन ली.

फिर भाभी ने कहा- बहुत अच्छा लग रहा है, थोड़ी सी विक्स मेरी पीठ पर भी लगा दो. मैं जैसे ही हटी उससे तो कुछ नहीं हुआ, क्योंकि अब तक अमित का हाथ पीठ पर था.

भैया ने उसकी गुलाबी चूत को देखा वो अभी पूरी तरफ से खिलती या कहो कि खुलती जा रही थी.

माधुरी के पास साधारण सा फोन था तो मंजरी उस फोन से पुलकित को मिस काल करके उससे खूब बातें करती थी. सेक्सी वीडियो देसी लड़कियों कीमैं- क्या बोलती हो दीदी? इसको चूसना है या फिर मैं जाऊँ यहाँ से?दीदी ने एक बार मुझे देखा और फिर एक हाथ से मेरे लंड को पकड़ लिया और फिर मेरी तरफ देखने लगी. भाई बहन की सेक्सी वीडियो देसीमैं भी उन्हें किस करने लगा और एक हाथ से उनकी चुची को नाईटी के ऊपर से दबाने लगा. लेकिन कुछ धक्कों में ही मेरी बीवी नताशा का दम घुटने लगा और किड को अनमना होकर अपना लंड बाहर निकालना पड़ा.

संजय- कहिये ना भाभीजी आपको कैसी लगी?मैंने शर्माते हुए कहा- बहुत अच्छी.

मुझे यकीन है कि प्रीति भी अपनी गांड पर मेरे कड़क लंड का दबाव महसूस कर रही होगी. उनका चलने का, कपड़े पहनने का, रहने का स्टाईल मुझे बहुत अच्छा लगता था. ” कहते हुए वो उठने का प्रयास कर रही थी और मैं उसे जकड़ कर जबरदस्ती बिठा रहा था.

मैं जाकर उसके रूम में बैठ गईअमित थोड़ी देर बाद तौलिया बांधे हुए आया तो मैं खड़ी हो गई तो उसने ऐसे ही मुझे गले से लगा लिया और कहा- काफी अच्छी दिख रही हो. तो वो मुझे बहुत अच्छी लगती थीं, पर उनको मैंने कभी गलत नजरिए से नहीं देखा था. पर अगले दिन अभी मेरा मस्त मलंग लंड देसी बालाओं की और चुदाई करना चाहता, लेकिन बुआ से पकड़े जाने का डर हमेशा लगा रहता था.

सेक्सी नंगी चुदाई कहानी

सुबह खाना खाकर घर से निकल जाता हूं और देर रात को थक हार के घर वापस आता हूं. कुछ देर तक वो देखती रही फिर पलट कर जाने को हुई तो मैंने लपक कर उसको पकड़ लिया और उसे खींच कर बेड पर बैठा लिया. वो हम लड़कियाँ असानी से समझ जाती हैं।”चल अब तो सुना?”नहीं दीदी, अब तुम एक्सपर्ट हो गयी हो तो अब रात में घूंस देना पड़ेगा!”अब रात में क्या घूंस चाहिए?”सोचो दीदी सोचो…”चलो मैंने हार मानी!”दीदी जिस तरह जीजा ने तुम्हें चोदा, ठीक उसी तरह तुम आज रात मेरी ठुकायी करोगी.

अब तो मैंने पक्का सोच लिया था कि आज इस सीमा की अनचुदी बुर को चोद कर ही छोडूंगा।उस दिन वो बहुत ही सुन्दर नीले रंग का सलवार सूट पहन कर आयी थी, मैंने सोच लिया था आज तो ये पूरा सूट उतार के सीमा को नंगी ही कर दूंगा।हम लोग एक दूसरे को देख रहे थे, मैंने उसे प्यार से अपने गले लगा लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर चुम्बन करने लगा.

अगले दिन प्रोपोज़ डे था तो मैं रोज लेकर भी गया और आज वो रास्ते में भी नहीं मिली.

एक हाथ से अपना लंड पकड़ कर उसकी चूत के बीच में चूत के दाने पर रगड़ने लगा. मैं भी उसके गले लग गई क्योंकि मैं जान गई थी कि इस तरह मुझे देख के कंट्रोल करना आसान नहीं है. ब्लू सेक्समैं उठी और कपड़े पहन लिए, मुझे ये मालिश काफी अच्छी लगी तो मैंने कहा- जब फिर मालिश के लिए आना होगा, तो एसएमएस कर देना.

आखिर बीवी को चोदे हुए महीने भर से ऊपर हो चुका था; मैंने यूं ही अपनी चड्डी में हाथ घुसा के लंड को सहलाना शुरू किया. दीदी- तुमने लंड चूसने को बोला वो मैं कर रही हूँ, तुम प्लीज मुझे टच मत करो. फिर उसने मोना की चूत के दाने पर किस किया, जिससे मोना एकदम से चिहुंक उठी और सिसकारियां लेने लगी.

मेरा एक दोस्त है सन्नी… उसने मुझे अपनी रियल सेक्स स्टोरी बताई और अन्तर्वासना पर भेजेने को कहा. मैं सीधा उसके घर गया जाते ही उसे दीवार के सहारे लगा कर उसपर टूट पड़ा.

मैंने जरा भी देर न करते हुए तौलिए को उस मखमली बदन से दूर किया और अब मेरे सामने पूरी तरह से नंगी चाची थीं.

मैं खुद गांव का देसी छोकरा हूँ, मेरी उम्र 20 साल है, कद लंबा है, गोरा रंग है, हष्ट-पुष्ट गठीला शरीर, मोटा और सुडौल आथ इंच का लम्बा लंड. तभी मैंने उसकी चूत के फाँकों को अलग किया और अपनी एक उंगली को उसकी चूत में घुसा दिया. उसकी चूत बेहद कसी हुई थी, इस वजह से भाभी के मुँह से अब भी बार-बार ‘आआइ इईऊ ईइइ उऊ.

चूत और लंड वीडियो मैं जल्दी से उसके ऊपर चढ़ गया ओर अपना एक हाथ उसके मम्मों पर रख कर दूसरा हाथ उसकी चुत पर फेरने लगा. मैंने बिना कोई देर किए एक बूब को हाथ में पकड़ा और प्यार से दबा दिया, दीदी ने मेरा हाथ अपने बूब्स से हटा दिया तो मैंने दीदी से अपना हाथ छुड़ाया और अपने हाथ से दीदी के हाथ को पकड़ा कर साइड किया.

फिर मैंने सोचा कि अपने को क्या है… अपने को तो चोदने को चुत मिल रही है, और वो भी पहली बार लंड को मौका मिल रहा था तो आँखें मूंद कर खेल खेलता गया. कभी क्लास की लड़कियों का सोच कर कभी क्लास की टीचर्स का सोच कर लंड हिलाता रहता था, पर कभी सेक्स करने का या किसी को सेक्स के लिए पटाने की हिम्मत नहीं हो सकी. इस रंडी की बेटी की भी अभी ही शूटिंग कर लेते हैं?” स्टीव ने मेरे हाथ को चूमते हुए कहा.

हिंदी सेक्सी पिक्चर अच्छी

उसने मना कर दिया और बोली कि मैं जिसके साथ शादी करूँगी, उसी के साथ सब कुछ करूँगी. शाम को दीदी के फ्लैट में जा कर मैंने उनको चुपके से आईपिल की गोली दे दी. आप सब ने मेरी कहानीहसीन गुनाह की लज़्ज़तपढ़ी और सराही इस के लिए मैं शुक्रगुज़ार हूँ.

हम देवर भाभी ने कुछ देर आराम किया और फिर मैंने उन्हें ज़ोर से पलट दिया. उसके बाद कमल लंड को उसी जगह पर अन्दर बाहर करके मेरी चूत में जगह बनाने लगा.

सोनी घबरा गई और उसने मुझे पीछे से आवाज़ भी दी, पर मैं नहीं रुका और फुल स्पीड से जाने लगा कि तभी रास्ते में एक कुत्ता आ गया और उसे बचाने के चक्कर में मैं बाइक लेकर जोरदार तरीके से फिसल गया.

उन दोनों में से एक तो रीना की छोटी बहन कविता थी और एक उसकी मामी की लड़की जिसका नाम रेनू था. और यही सोच कर अब मेरी चूत भी मजा लेने को बेताब थी, तो मैंने उसको वादा कर दिया. यह कहानी है जब मेरी बुआ मधु हमारे घर राखी का त्यौहार मनाने दो दिन के लिए रहने के लिए आयी थी.

”ट्राय करोगी क्या?”ट्राय कर सकती हूँ, पर अच्छा ना लगे तो कंटिन्यू नहीं करूँगी. मैं बता नहीं सकता कि मुझे कैसा लग रहा था, मैं मानो सपना देख रहा था. यहां मैं बताना चाहता हूं कि मुझे मेरी बीवी के बारे में पता पहले चला था कि उसका जो ये साथी है, वह उससे काफी खुल चुकी है.

वो भी अब इसे उत्तेजित होने लगी और कहने लगी- अच्छा लग रहा है और मस्ती करो न मेरे राजा.

vijay बीएफ: पहले पहल काफी समय ऐसे ही निकल गया और हम कहीं और किराये के घर में रहने आ गए. यह छिनाल मेरी माँ है कि कलयुग की माँ साली मेरी ब्लू फिल्म बनवा रही है.

”अच्छा तुम अपनी चुन्नी, सलवार, कमीज़, ब्रा, पेंटी सभी कुछ उतार कर चेयर पर रख दो और गोलू तुम्हारी साइज़ की नाप लेके बताएगा कि तुम कितना सच बोल रही हो. मैंने एक और धक्का मारा, अब मेरा पूरा लंड आंटी की चूत में जड़ तक चला गया. मैंने भी तो पूरा मजा लिया था और सच बताऊं उस दिन जो हुआ, उसको मैं भूल नहीं पाई थी.

दोस्तो, गैर मर्द से मेरी चालू बीवी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल कीजिएगा.

मैंने कहा कि दीदी ऐसा क्यों?तो वो बोलीं- अब तुम मेरे पास नहीं लेटना. मैंने किसी तरह अपने जज्बात पर काबू पाते हुए भैया को वादा किया- आप चिंता न करें मैं भाभी को सब कुछ दिखा दूँगा. जब वो अन्दर आई तो मैं उसे देखता ही रह गया, ये बात उसने भी नोटिस कर ली थी.