हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी सील तोड़ने वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

भाटी की सेक्सी: हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी, आंटी बोलीं- अशफाक़ साढ़े नौ बजे तक कॉलेज चला जाता है, तुम दस बजे दे देना.

पंजाबी देसी बीएफ सेक्सी

कभी उसके स्तन पर साबुन लगा कर दूध मसलता और दबाता, तो कभी उसकी चूत के ऊपर साबुन लगाता और अन्दर तक उंगली डाल कर चुत को मसलता. सेक्सी बीएफ चाहिए सेक्समैडम बहुत खुश हुईं और बोलीं- हां तुम्हारा गुलनिहाल कहना मुझे बड़ा अच्छा लगा और सुनो अब से तुम मुझे सिर्फ गुल ही कहा करो यार … निहाल जी लगा देने से मैं खुद को तुमसे बहुत बड़ी महसूस करने लगती हूँ.

मैं और दीदी नॉर्मल बातें कर रहे थे … लेकिन विक्की की नजर मेरी दीदी की खुली चूचियों पर ही टिकी थी. सेक्स वीडियो बीएफ बिहारअगर आप लोगों के प्यार भरे कमेन्ट मिले, तो मैं आप लोगों को अपनी अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि मैंने कैसे शीना भाभी की उसके घर पर चूत चुदाई की.

वो डायरेक्टर के पास गई और उससे जबरन हाथ मिलाती हुई अपना परिचय देने लगी.हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी: उसने बताया कि हरियाणा में ये आम बात है, हर गांव में ऐसा ही होता है.

फिर कामवाली बाई ने अनन्या को उठाया और मुझे चित लिटा कर मेरे खड़े लंड पर बैठा दिया.चूंकि वो मेरे लिए एक अपरिचित था, तो पहले मैंने उसकी तरफ सवालिया निगाहों से देखा.

सेक्सी बीएफ मूवी दिखाएं - हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी

दीदी भी मस्ती से मम्मे दबवा रही थीं, वो बोलीं- हां, तेरे जीजा जी के हाथों का कमाल है.रोहन- बिल्कुल … तू मेरी रंडी है साली रखैल … जया कुतिया … मादरचोद … अह्ह ह्ह्ह्ह … चुस लंड भैन की लौड़ी.

’कामवाली बाई ने हमारे सामने ही अपना ब्लाउज खोल दिया और बच्चा चुप हो गया क्योंकि ये वही चीज थी, जिसके कारण मैं भी चुप हुआ था. हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी मैं अनजान बनी कोई प्रतिक्रिया नहीं देती, सिर्फ उसकी तरफ देख कर नजर हटा लेती.

रितिका- पागल हो गए हो क्या … ये कैसे बोल रहे हो!मैं कहा- हां रितिका, मैं तेरी जवानी देख कर पागल ही हो गया हूँ.

हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी?

मैंने विक्की पर ध्यान दिया, तो वो मेरी दीदी को हवस भरी नजरों से देख रहा था. उसकी दोनों टांगों को चौड़ा करके मैंने उसकी चूत को अपने हाथ से फैलाया. कुछ देर बाद मैडम ने आंखें खोलीं और मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोलीं- अब हटो … मुझे सुसु जाना है.

मुझे सेक्स करने का बहुत मन करता है लेकिन मेरे पति मेरे साथ सेक्स तो करते हैं लेकिन मुझे पूरी तरह से मजा नहीं दे पाते है. जैसे ही मैंने लौड़े को पकड़ा पेशाब करने के लिए तो निशा लौड़े के सामने बैठ गयी. आपको मेरी ये चुदाई गर्ल सेक्स स्टोरी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें.

और उसका फिगर तो मानो कोई बेली डांसर हो!वो हमेशा जीन्स पहन कर आती थी जिससे उसका पिछवाड़ा साफ साफ दिखता था. मैंने कहा- क्यों न हम दोनों कुछ दिन तक चैट करें … फिर मिलना मिलाना देखेंगे. चौड़ी, मांसल जांघें, हर झटके के साथ गांड में चर्बी की एक लहर दौड़ रही थी.

मैं चित लेट गया और खड़े लंड पर अपनी चुत फंसा कर भाभी घुड़सवारी करने लगीं. वो भी लंड गटकने के लिए काफी उतावली हो रही थी, वो बोली- राज यार … अब देर ना कर और अपना लन्ड मेरी चूत में फ़टाफ़ट से घुसा दे। मुझे चोद डाल!मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा.

हालांकि इन 6 महीनों में शरद एक सप्ताह की छुट्टी डाल कर मुझसे मिलने दो बार आए थे और दोनों बार हमने पूरे सप्ताह का भरपूर आनन्द उठाया.

इसके बाद दीदी ने भी आशीष का लौड़ा चूस कर उससे अपनी चूत और गांड की नथ उतरवाई.

वो सबको नजरअंदाज करते हुए सबसे पीछे वाली सीट पर आकर बैठ गया जो पूरी खाली थी. यह बोलकर मैं बाथरूम में चला गया और पूरे कपड़े खोल कर शॉवर के नीचे खड़ा हो गया. मैंने देखा कि मॉम की आंखें बंद हो गई हैं और मध्यम सुर में सिसकारी ले रही थी.

मेरी पिछली कहानी थी:जूनियर ने चूत की गुरुदक्षिणा दीमैं आपके सामने आज एक सेक्स कहानी लेकर हाजिर हूँ. मैंने उनकी ब्रा का एक कप हटाया और उनके एक निप्पल को अपने होंठों में भर कर चूसने लगा. इस तरह से मुझे कुछ थकावट सी होने लगी थी तो मैंने उसको फिर से बिस्तर पर लिटा दिया और दोनों पैरों को फैला कर हवा में उठा कर चुत चोदने लगा.

मैंने शब्बो को बिस्तर पर लिटा दिया और टाँगों के बीच अपना मुँह ले जाकर अपने होंठ उसकी चूत के होंठों से सटा दिये और अपनी जीभ उसकी चूत के अन्दर चलाकर उसका रस गटकने लगा.

कुछ देर बाद मैडम ने आंखें खोलीं और मेरे सर पर हाथ फेरते हुए बोलीं- अब हटो … मुझे सुसु जाना है. मैं उसके मम्मों को धीरे धीरे सहलाते हुए उसकी गर्दन के पीछे … और बालों के नीचे चूमने लगा. मैं चीख भी नहीं पा रही थी क्योंकि नवीन के होंठों का ढक्कन मेरे होंठों को बंद किये हुए था.

अक्सर आपने देखा होगा कि किसी इंसान से सामने बैठकर आप पूरी ज़िंदगी भर बात कर लेंगे, पर वही इंसान अगर आपसे कहीं बहुत दूर बैठा हो और आप दोनों के बीच संपर्क का माध्यम केवल टेलीफोन हो, तो एक समय के बाद बातें भी खत्म सी होने लगती हैं. उसने मुझे थका सा देखा तो वो बोला- क्या हुआ बे … कोई बात हो गई है क्या?मैंने आंख मारी और अरुणिमा को खींच कर अपनी गोद में बिठा लिया. वो चुदाई के खेल की पुरानी खिलाड़ी थी और अपनी कला दिखाते हुए लंड को मस्ती में चूस रही थी.

उन्होंने किस तरह से मेरी गांड फाड़ी, इसका खुलासा मैं गांडू लड़का इस गे सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

कुछ देर बाद जब मौसी से रहा नहीं गया तो उन्होंने कहा- जल्दी से अन्दर बाहर कर दे … कोई आ जाएगा, तो मजा किरकिरा हो जाएगा. दोस्तो, आप मेल करके मुझे जरूर बताएं कि जबरदस्त चुदाई की कहानी कैसी लगी.

हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी तभी अचानक से बूंदा-बांदी शुरू हो गयी और देखते ही देखते बारिश तेज़ हो गयी और हम दोनों भीगने लगे. मुझे इस हरकत की प्रतिक्रिया यह मिली कि उसका हाथ मेरी साड़ी और पेटीकोट के ऊपर से दोनों जांघों के बीच गरमायी और भभकती योनि पर आ गया.

हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी बीच में मुझसे रहा न गया तो मैंने एक बार बाथरूम में जाकर लंड भी हिला कर शांत कर लिया था. 10 मिनट बाद मॉम झड़ गई और मैं चूत से निकला सारा रस गटक गया, मैंने एक भी बूंद बर्बाद नहीं होने दी.

तभी उसने अपनी जीभ से मेरी चूत की दरार को चाटा … आह मेरी सिसकारी निकल गई- आह नरेंद्र … उई मां … क्या कर रहे हो … आह मर गई मैं!मैं जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी.

लीमा के बारे में

मैंने फिर से करीब जाकर देखा तो आंटी मेरा नाम लेकर अपनी चुत में उंगली कर रही थीं. जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया. मैं उन्हें किस कर रहा था और बूब्स को दबा रहा था ताकि मेरा ध्यान किस और बूब्स में ही रहे और मैं जल्दी स्खलित न हो जाऊं.

मुझे ऐसा लगा शायद उसने मूत के साथ अपनी चूत का भी पानी छोड़ दिया होगा तभी वह निढाल पड़ी थी. आंटी ने मुझे बताया कि जब तुम मुझे बाथरूम में देख रहे थे तो वो मुझे पता चल गया था. मैंने हाथ हटाना चाहा … पर उन्होंने दूसरे हाथ से मेरे हाथ को पकड़ लिया और हटाने नहीं दिया.

इतने में सुशी जी अपनी चुत को टाइट करने लगी थीं तो मैं समझ गया कि इनका तो काम तमाम होने वाला है.

मैडम ने हंस कर कहा- मुझे क्या दिक्कत होगी, तुम मुझसे बेहिचक पूछ सकते हो. मैंने फिर टुनयाया- हां फिर भाभी …भाभी ने सामने रखा हुआ मेरा पैग उठाया और एक सांस में हलक के नीचे उतार कर बोलीं- मैं अब पूरा किस्सा बता रही हूँ … अंश अब तुम सिर्फ सुनो. कैसी बातें करते हो चचा?”कितने सालों से तुम्हारे बड़े होने का इन्तजार कर रहा हूँ.

मुझको शर्म आने लगी क्योंकि मैं पहले कभी किसी के सामने ऐसे नंगा नहीं हुआ था. जेठ जी ने मुझे बताया कि उनकी पत्नी मायके गई हुई है इसलिए वो अपने लंड को हिलाकर शांत करते हैं. मैंने एक जोरदार झटका मारा जिससे मेरा 7 इंच का लौड़ा मॉम की चूत में पूरा समा गया.

हॉट लेडी सेक्स कहानी मेरे साथ जिम में आने वाली एक गर्म भाभी की चूत चुदाई की है. वो हमेशा की तरह आज भी पेटीकोट को अपने चूचों के ऊपर बांधकर लोशन लगा रही थीं.

मोटी चाची ने खुद मुझे जाल में फंसाया और अपनी चूत चुदाई करवा के बच्चा पैदा किया. मैं भी इस सब का पूरा आनन्द लेते हुए उसके सोये लंड को सहला कर उसे फिर से जगाने की कोशिश में थी. जब वो करीब आई, तब मैंने एक पैर से उसकी साड़ी को थोड़ा ऊपर करके अपना दूसरा पैर अन्दर कर दिया और उसके नंगे पैरों को सहलाने लगा.

फिर अचानक से उन्होंने ज़ोर से अपना सिर मेरे कंधे पर रखते हुए और अपने मम्मे मेरी पीठ पर गड़ा दिए.

वो मेरे पास आई और मेरे गले में हाथ डाल कर बोली- अब उठाओ मुझे गोदी में. मैंने हामी भर दी और दीदी को अपने साथ बाजार ले जाकर उनको खूब घुमाया और खरीदारी करवाई. हालांकि मैंने उससे यह भी कहा कि कोई बात नहीं, जो हुआ सो हुआ … अब सुधर जा.

आशीष भी मुझे रास्ते में मिल गया और हम ऑटो में साथ बैठ कर कॉलेज आये. मैंने उनकी चूत चाटना चाहा पर उन्होंने ऐसा करने से मना कर दिया, बोली- मुझे यह अच्छा नहीं लगता.

जैसे ही मैंने भाभी के मम्मों पर हाथ रख कर एक दूध दबाया, तो उनके मुँह से आह की आवाज निकल गई. मेरी बहन भी चुदवा कर निढाल हो गयी थी, उसके चेहरे पर पूर्ण संतुष्टि झलक रही थी. मुझे किस करते करते ही वो मेरे ऊपर चढ़ गया और उसने मेरी चुत में अपना लंड रगड़ना चालू कर दिया.

सेक्सी फिल्म दिखाइए वीडियो सेक्सी

अभी मेरा सिर्फ ऊपर का हिस्सा ही अन्दर गया था कि उसकी आवाज और आंसू दोनों निकल पड़े- आआह … संदीप … फक मी … आआह!मैंने चुदाई के साथ साथ उसके मम्मों को मसलना चालू कर दिया ताकि उसे थोड़ा आराम मिले.

उस रात हमने डेढ़ बजे तक चैट की और उससे एक किस लेने का वादा करके एक सप्ताह बाद साथ जाने का प्लान बना लिया. तब मैंने जन्नत के द्वार को खोल कर देखा तो अन्दर गुलाबी तितलियां छुपी बैठी थीं. निकाल … बहुत दर्द हो रहा है।मैंने उसकी चूचियों को पकड़ लिया और चोदने लगा.

इतने में मेरी पत्नी का फोन आया कि मैं रूपा भाभी के साथ उनके मायके जा रही हूँ. जेठ जी ने बातों बातों में मुझे बताया कि वो मुझे कई दिनों से चोदना चाहते थे. बिहारी सेक्सी सेक्सी बीएफवो जल्दी से मेरे ऊपर आ गए और उन्होंने सीधे मेरे होंठों पर होंठ रख दिए.

हम दोनों ही जहां जगह मिल रही थी, उस स्थान को अपने थूक से गीला करने लगे. शादी के लिए मुझे एक छोटे से गांव में जाना था, जहां आने-जाने का कोई खास साधन भी नहीं था.

अगले दिन जब मैं सुबह उठा तो मेरी छोटी बहन मेरे कमरे में ही खड़ी थी. मैं भी उन्हें उतना ही मानती थी और उन्हें हमेशा अपने काम से प्रभावित करने की कोशिश करती थी. इस समय मेरे लौड़े के झटकों से उसकी बड़ी बड़ी चूचियां जोर जोर से हिलने लगी थीं.

मेरी पत्नी, रूपा भाभी के साथ क्यों गई थी, इस बात को जब निशा ने मुझे बताया … तो मैं हैरान हो गया था. चुत के लिसलिसे पानी से लंड चुत में सटासट चलने लगा और कुछ दसेक मिनट बाद मैं भी उसकी चुत में झड़ गया. उसकी पैंटी मेरे सामने थी तो मैंने इलास्टिक में उंगलियां फंसाईं और नीचे खींच कर पैरों से निकाल कर अरुणिमा को थमा दी.

मैं शुरू से ही लड़कियों के साथ खेला और पढ़ता रहता था, तो मेरा स्वभाव लड़कियों जैसा हो गया था.

फिर वो बोली- राज, आज मुझे होश में ना आने दो।उसने मेरी टी-शर्ट उतार दी और मेरे शरीर में हाथ फेरने लगी।अब तक मुझे भी उसका ऐसा करना अच्छा लगने लगा था। जवान लड़की अपनी चूत देने के लिए तैयार बैठी हो तो किसे बुरा लगेगा. हम दोनों एक दूसरे के सामने नंगे खड़े थे और मेरा लौड़ा टनटना कर उछाल मार रहा था.

डॉक्टर ने साड़ी उठाकर ऊपर कर दी और बोले- पैंटी उतारनी पड़ेगी।मैं कुछ बोल पाती … उससे पहले उन्होंने मेरी पैन्टी उतार दी. इस छुअन का मेरे मन पर जो असर हुआ था, वो असर मुझे मेरी चढ़ती जवानी तक ले गया. जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया.

जल्दी ही उसकी चूत ने नमकीन पानी छोड़ दिया, तो मैंने पानी को चाट लिया और चुत को साफ़ कर दिया. उनके मुँह से इतना सुन कर मैंने घर पर फ़ोन करके बोल दिया कि आज रात मैं अपने दोस्त के यहां रुक रहा हूँ. मैंने रघु से पूछा कि तो तुम उसकी लाइफ में दूसरे आदमी हो!तब रघु बोला- ये तेरी दूर की बहन बहुत बड़ी वाली है.

हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी मेरे लंड का साइज 6 इंच है और मेरी सेक्स क्षमता 30 मिनट से भी ज्यादा है. मेरे पापा के एक दोस्त राजेश हैं जो पापा के साथ ही कंपनी में काम करते हैं.

सेक्स एचडी

मैंने उसकी चूत में झटके मारने शुरू कर दिए और धीरे-धीरे झटकों की स्पीड बढ़ाने लगा. ’कामवाली बाई मेरे खड़े शेर को अपनी गुफा में लेने के लिए पूरी तरह तैयार थी. उसने मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया और थोड़ी देर में ही पानी निकाल दिया.

कभी कभी वीडियो कॉल कर लेते और इसी तरह धीरे धीरे हम एक दूसरे की जीवन का हिस्सा बन चुके थे. मैंने कहा- आप एक बार इसे आजमा कर देखो … सारा गम गलत न हो जाए तो कहना. sexual बीएफगोपनीयता के कारण मैं उसका असली नाम नहीं बता रहा हूँ, यहां हम उसे संजना कह लेते हैं.

सभी लड़कों को भी अपनी मां बहुत पसंद होती है, उनका भी मन होता होगा … लेकिन हमारी किस्मत अच्छी थी जो हमें सही मौका मिल गया.

वो चीखने को हुई तभी सुमन ने अपनी चुत से अपनी बहन का मुँह बंद कर दिया. उन्होंने मुझे पीछे को घुमाया और घोड़ी बनाकर मुझे करीबन 15 मिनट और चोदा.

इतना कहकर सलमा बेड पर लेट गई, उसने अपनी टांगें घुटनों से मोड़कर फैला दीं जिससे काले घुंघराले जंगल के बीच उसकी बुर के गुलाबी होंठ चमकने लगे. घर आते ही मैंने बीवी से कहा- ये तुम्हारा सारा सामान है … मेरा मार्केट में कुछ काम रह गया है, मैं अभी निपटा कर आता हूँ. अगर तुम इस राज़ को राज़ ही रखना चाहते हो, तो मैं जैसा कहूं … वैसा करना पड़ेगा.

ये कहते हुए सरोज ने मेरे लौड़े को पकड़ लिया और जोर जोर से हिलाने लगी.

इस बात से वो एकदम से खुश हो गया और मेरी तरफ देख कर गहरी सांस लेने लगा. वो शादीशुदा है मगर उसकी पत्नी उसके साथ गांव में नहीं रहती है, वो शहर में रहती है. मैंने न चाहते हुए भी अरविन्द जी को अपने आपको सौंप दिया था क्योंकि वो मुझे बहुत अच्छे इंसान लगे थे.

सेक्सी रोमांस बीएफजहां पर हम दोनों ने अच्छी तरह से पेस्ट वगैरह किया और चुपचाप नहा कर वापस आ गए. काफी देर बाद करीब 9 बजे रात को मेरी आंख खुली, तो देखा कि आशीष भी सोया था.

चेन्नई मटका ओपन

दोस्तो, उस रात को मैं सो नहीं सका था और मेरे दिमाग में अशी और गमन ही आने लगे थे. परंतु मैं सेक्स का पूरा आनन्द लेना चाह रही थी इसलिए मैं अमित कुछ कह नहीं पा रही थी. आपको मेरी चीटिंग गर्लफ्रेंड सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं.

निशा ने तुरन्त ही अपने हाथों को मेरे सर पर जोर से दबा दिया जैसे कि वह अपनी चूत में मुझे ही घुसा लेना चाहती हो. लंड झड़ जाने के बाद भी वो मेरे लंड को नहीं छोड़ रही थी‘अब मुझे जाना होगा. तो दोस्तो, आपको मेरी यह सच्ची सेक्सी ऑफिस गर्ल की हॉट चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं.

जब मेरी आंटी से बात होने लगी तो मैं और आंटी धीरे धीरे कुछ ओपन होने लगे. रघु ड्रिंक बना ही रहा था कि तभी श्रेया नशे की हालत में बिल्कुल नंगी ही बाहर आ गई और मेरे बगल में सोफे पर बैठ गई. मुझे ऐसा लगने लगा कि कहीं इस बार भी लंड का लावा उसके मुँह में ही न निकल जाए.

लंड ने ऑटोमैटिक अपना रास्ता ढूंढ लिया और फिसलता हुआ अर्शिया की चुत में घुस गया. ट्रेन में मेरा आरक्षण नहीं था और इस ट्रेन में एक ही डिब्बा रिजर्वेशन वाला था.

उसने पल की भी देर न की और लपक कर मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया.

तभी बुआ ने एकदम से मेरा हाथ झटका, उसी वजह से मेरा हाथ बुआ के ब्लाउज के अन्दर घुस गया. मारवाड़ी ओपन बीएफवो हमेशा सलवार कमीज पहनती थी इसलिए कभी उसका साइज पता नहीं चल सका था. बीएफ वीडियो दिखाइसी पानी से हुई चिकनाहट की वजह से मैंने अपना लंड उसकी चुत में एक ही धक्के में अन्दर जड़ तक पेल दिया. थोड़ी सी चुम्मा चाटी करने के बाद मैं पारले जी बिस्कुट लेकर अपने घर वापस आ गया.

तो मैंने आगे लिखा- इतनी मस्त वाइफ को कोई कैसे अकेला छोड़कर जा सकता है.

होंठ चूसते हुए उसकी चुत पर पहला धक्का लगाया, तो लंड छिटक कर ऊपर आ गया. मैंने पूछा- मैडम, क्या आप नहीं जानती हैं कि मैं भी यहीं हूं … फिर भी आप ऐसा कर रही हैं. मैंने पहले बुआ के मुँह पर लगाना शुरू किया था, तभी बुआ एकदम से चौंक गईं.

मगर शीना भाभी पांच मिनट के बाद ही अकड़ने लगी और अपनी चूत से कसकर मेरे लंड को दबाने लगी. इस बात पर उन्होंने शर्माने वाली स्माइल पास करते हुए थैंक्स बोल दिया. मैं फिर से वाशरूम में जाकर मुठ मार कर वापस आया और उसकी तरफ मुँह करके लेट गया.

इंडियन हीरोइन सेक्स फोटो

अब मैं अपना पूरा लंड बाहर निकलता और पूरा फच करके अन्दर बच्चेदानी तक डाल देता. मैं शरद को चूमते हुए बोली- अरे बाबा, बस बस … आप मेरी फिक्र मत करो, मैं सब मैनेज कर लूंगी. उसने कहा कि वो जानती है कि शबाना का बेटा भी आपका है, अगर आप इजाजत दें तो मैं उसे गोद ले लेती हूँ ताकि दोनों में भाई का रिश्ता बन जाये.

सभी लोग अपने अपने काम में व्यस्त रहते हैं, तो किसी से भी ज़्यादा मिलना-जुलना नहीं हो पाता है.

मेरा लण्ड आंटी की चूत से सटा हुआ था जिसे आंटी अपनी चूत में लेने के लिए बावली हो रही थीं.

मगर शीना भाभी पांच मिनट के बाद ही अकड़ने लगी और अपनी चूत से कसकर मेरे लंड को दबाने लगी. सफर में उस मस्त माल का साथ था तो पता ही नहीं चला कि कब हम दोनों ग्वालियर पहुंच गए. बीएफ वीडियो फुल हिंदी मेंअन्दर आकर मैंने कुंडी लगा ली और सीधे ही रानी के बेडरूम में पहुंच गया.

फिर मैं अपने कमरे में आकर सो गया और दस बजे रंगोली ने मुझे उठाया- भाई उठ … लेट हो गया. अब मैंने लंड निकाल लिया और सरोज को लंड चूसने को बोला, वो भी लंड को लॉलीपॉप समझकर चूसने लगी. मैं 6 फीट लंबा हूँ और रेगुलर जिम जाने की वजह से दिखने में भी अच्छा हूँ और मेरा लंड भी सामान्य से थोड़ा अधिक मोटा है जो लड़कियों की चुत में खलबली मचा कर ही बाहर निकलता है.

वो धीरे धीरे गांड चलाने लगी तो मैंने भी अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और अन्दर-बाहर करने लगा. मेरी टीचर ने उससे पूछा- बेटा, आप मानसी के साथ मिल कर बना लोगे?उसने हां में जवाब दे दिया.

लेकिन एक बात मुझे साफ़ लगी कि इतने समय तक अपनी गर्लफ्रेंड से दूर रहने के कारण उसके ब्वॉयफ्रेंड ने भी कोई और लड़की ढूँढ ली होगी जो उसको जवानी के सुख भी दे रही होगी.

अलीज़ा की मादक सिसकारियां जैसे जैसे बढ़ रही थीं, मेरे लंड की स्पीड भी उतनी ही बढ़ रही थी. कुछ देर बाद मैंने कहा- डार्लिंग, अब कुतिया बन जाओ, पीछे से हमला करूंगा. इससे अब किसी को कोई शक भी नहीं होने वाला था कि मैं आंटी के घर क्यों जाता हूँ.

12 साल की लड़की के बीएफ पहले अपनी गांड फिर से तेल में एकदम गीली कर ले और अपनी गांड के छेद पर लंड सैट करके एक साथ झटके से लंड पर कूद जाना. विक्की ने मुझे देखा तो तुरन्त उठकर मुझे गले से लगा लिया और मेरी नाइटी निकाल दी.

काफी देर तक चोदने बाद सक्सेना का लंड झड़ने पर आ गया और उसने मेरी चूत में ही अपना पानी छोड़ दिया. हम दोनों चुदाई में इतने बेखबर हो गए थे कि ये ध्यान ही दिया कि हम दरवाजा बंद करना भूल गए थे और हमें पता नहीं चला कि कब सुमन की बड़ी बहन रूम में आ गई. जैसा कि आपको पता है कि मुझे पहले से ही भरी गांड और बूब्स वाली औरतें काफ़ी पसंद हैं.

राजस्थान सेक्सी पिक्चर वीडियो

जब मैंने उनको देखा, तो पूछा- अंकल क्या चाहिए?वो बोले- कुछ नहीं बस तुम्हें देखा तो आ गया. आज भी हर रात उस मोटे लंबे और काले से लंड को याद करता हूं, जिसका स्वाद और रस मेरी जुबान को हमेशा हमेशा याद रहे. मैं कामवासना से भर उठी थी- आह जान अब चोद दो अपनी जया रंडी को … आह बना लो अपनी रखैल.

वो मेरी पीठ को धीरे धीरे दबाने लगा और एक हाथ से वो मेरी गांड सहलाने लगा. मैंने सोचा कि शायद आप व्यस्त हैं तो मैंने दीदी से पूछा था कि क्या भाई कुछ ज्यादा ही बिजी हैं, जो हमारी तरफ नहीं देख रहे हैं.

अर्शिया जब भी छुट्टियों में मेरे घर आती है, तो हम सब लोग काफी मस्ती करते हैं.

निशा ने अपने दोनों हाथों को मेरी पीठ पर जोर से कस लिया था मानो वह अब जल्दी से जल्दी अपनी चूत में लौड़ा घुसवाना चाहती हो. जेबा की एक टांग अपने एक हाथ में उठा ली और एक बेहतरीन माल को जलवे से चोदना जारी रखा. और आंटी की लचकती कमर और भरी हुई थिरकती गांड को देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो सकता था.

मैं वही तुम्हारी चिकनी चुत के मस्त मजे लूंगा जान!मैं- अच्छा अच्छा तुरंत दिमाग लगा लिए मेरे राजा डॉक्टर साहब. लंड का टोपा उसके मुँह में ठीक से एडजस्ट नहीं हो पा रहा था लेकिन फिर भी वो मुँह में खींच खींच कर लंड चूस रही थी. मुझे हर रात उनकी बांहों में सोने की आदत थी और उनके न होने से बहुत ज्यादा अकेलापन महसूस होता था, खास कर रात को.

उसके बाद वह कोचिंग लेने दिल्ली चली गयी और उसके जाने के बाद मैं भी एक बार उससे मिलने दिल्ली चला गया.

हिंदी देसी बीएफ वीडियो एचडी: मैं अमित से कहने लगी- अमित प्लीज अब मुझे मत तड़पाओ … तुम पहले मेरी चूत में लगी हुई आग को बुझा दो. शरद अब भी कहीं दिखाई नहीं दे रहा था, पर कमरे में बड़े बड़े तीन बैग रखे थे.

किचन टॉप पर रखे घी के डिब्बे में से घी निकालकर मैंने अपने लण्ड पर मला और घोड़ी की चूत में पेल दिया. पर अरविन्द जी के समक्ष अपने को मासूम साबित करने की कोशिश में मैंने अपने नंगे जिस्म को ढक कर लज्जा का प्रदर्शन किया था. बस तू गोगी पुत्तर को जल्दी सुला दिया कर … आह … आह … ले!ये कहते हुए सोढ़ी ने अपना सारा माल रोशन की गांड में निकाल दिया और उसी वक़्त रोशन ने भी अपनी चूत से ढेर सारा पानी सोढ़ी के लंड पर उड़ेल दिया.

भाभी के घर में आते ही मैंने सामान का बैग उनके सामने रखा और उनसे कहा- भाभी क्या इस समय अमित घर में आ सकता है?उन्होंने कहा- तुम उसकी चिंता मत करो.

मेरा मन तो कर रहा था कि अभी लपक कर बहन चोद दूँ … पर मैं ये पहली चुदाई स्पेशल बनाना चाहता था. अब मैं करूं तो क्या करूँ?तभी मैंने मौके का फायदा उठाते हुए एक पॉइंट छोड़ दिया और कह दिया- तुम यह मौका उसको दो जिसके पास इसकी ताकत हो!उसने कहा- मैं समझी नहीं?तो मैंने कहा- हर एक नई शादीशुदा औरत की ख्वाहिश होती है कि उसका पति बिस्तर पर अच्छा संघर्ष करे और पत्नी को चरमसुख प्रदान करे! लेकिन तुम्हारे साथ ऐसा नहीं हो रहा है. दोस्त ने लंड अन्दर जड़ तक पेलते हुए कहा- साली भाभी, तेरा पति बाहर तेरी चुदाई पर पहरा दे रहा है.