हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,इंग्लिश बीएफ नंगी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ देवर भाभी सेक्स: हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो, तरुण शायना भाभी से प्यार तो करता था, पर वो कहते हैं न कि लंड एक चूत को अगर रोज रोज ले तो उसका जी भर जाता है.

बीएफ वीडियो हिंदी बीएफ

मेरी मम्मी कहने लगीं- बहन जी, ये क्या कर रही हो … लड़का पास में सो रहा है. सेक्सी ब्लू फिल्म सेक्सी पिक्चरमैं पागल होने लगी और उसको उकसाने लगी- हरामी कुत्ते … मेरा पालतू कुत्ता बन जा … उफ्फ भीम … फाड़ दे मेरी फुद्दी.

सुबह बारह बजे मेरी आंख खुली तो भाभी जा चुकी थीं और मनीष जाने के लिए तैयार हो रहा था. घोड़ा और औरत की बीएफ सेक्सीवैसे इन लम्हों का तुम पर क्या असर पड़ रहा है?”यह अहसास ही काफी है कि मेरा नंगा जिस्म किसी की नजर में है.

उसने आंखें बन्द की हुई थीं और अपना मुँह एक तरफ करके लम्बी व गहरी गहरी सांसें ले रही थी.हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो: भाई कभी घर में एक मिनट के लिए भी नहीं आता है, तो अभी घर में मैं और मम्मी ही रहते हैं.

उसने अशोक के लंड का केक ख़त्म भी नहीं किया था कि विक्रम ने अपना लंड उसके मुँह में ठूंस दिया.मैं- चाची अब मैं झड़ने वाला हूँ … जल्दी बोलो, क्या करूँ?चाची- मेरी गांड के अन्दर ही रस झाड़ना.

देसी लड़की का चुदाई वीडियो - हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो

मेरी फिलहाल उत्तेजना शांत हो गई थी, पर ये माइक के लिंग से निकलता चिकनाई वाला पानी था.फिर थोड़ी देर बाद उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगाया और एक जोरदार से धक्के से अपना पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया.

उसके लंड के धक्के से मेरी चूत में पानी आने लगा और मैं चुदासी आवाज निकालते हुए चुदाई का मजा लेने लगी. हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो उस दिन उसने साड़ी पहनी थी, तो करवट लेते ही उसका पल्लू साइड में हो गया और उसके रसीले चुचे मेरे सामने आ गए.

दूसरी तरफ मयूरी भाभी इतनी खूबसूरत थीं कि बस यूं लग रहा था कि उनको पूरा दिन चूसता चाटता रहूँ.

हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो?

तबीयत कैसी है अब तुम्हारी?” सुलेखा भाभी ने मुझे घूरकर देखते हुए कहा. एक बार हम ऐसे ही बात कर रहे थे और जैसे ही मैंने उसकी दीदी का जिक्र किया, वो कहने लगी कि आप दीदी के बारे में बात न किया करें. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:अपने चोदू को माँ का पति बनवाया-4.

इस प्रक्रिया से मेरी योनि चिकनी हो गयी और योनि के किनारे भी धीरे धीरे फैलते चले गए. दीमा संग हम दोनों लड़के अब अपने लंड नताशा की फैलती जा रही गांड में गपागप अन्दर घुसेड़ते जा रहे थे और सिसकारी भरती गोरी पूरे जोशो-खरोश के साथ डबल एनल के मजे ले रही थी. मैंने अपनी गति थोड़ी धीरे की, पर शायद अब मैं आने वाला था और इसलिए मुझसे कंट्रोल नहीं हो पा रहा था.

फिर मैंने अपने दोस्त को फ़ोन किया तो वो बोला- मुझे आने में एक घंटा लग जायेगा. जब तक देखने को न मिल जाये, खत्म कैसे हो सकती है।”मैं उसकी मंशा समझ रहा था, वह मेरी मंशा समझ रही थी. मेरे हाथ उसके लंड पर टच होने लगे और उसका सोया हुआ लंड मेरी उंगलियों में मुझे फील हो रहा था.

माइक ने अब अपना लिंग एक हाथ से पकड़ा और मेरी योनि की दरार में सुपाड़े को थोड़ा रगड़ा. श्श्शशश … आह्ह …” की एक‌ मीठी सीत्कार सी भरते हुए सुलेखा भाभी ने जोरों से मेरे सिर को अपनी चुत पर दबा लिया और मेरे नथुनों में उनकी चुत की वो मादक सी महक समाती चली गयी.

फिर मैंने लंड का सुपारा अन्दर करना चाहा, पर मैं कसी हुई चुत के कारण नाकाम हो रहा था.

मैंने पूछा, तो बोली कि जब मैंने तुम्हारा निक्कर उतारा था, तो देखा कि उसमें सिगरेट है.

इतना रस कहां छुपा रखती है अपनी चूत के अन्दर? मुझे तेरी चूत देखकर लग रहा है कि अब तक तू ठीक तरीके से चुदी ही नहीं. मैंने उसे अपनी बांहों में लिया तो वो एकदम से सिमट कर मेरी बांहों में समा गई. उसे अपने सामने मेज़ पर बैठा लिया और गाउन के ऊपर से उसकी जांघें सहलाने लगा.

दोस्तो, मैं पीहू …एक बार फिर से आप सभी के सामने अपना एक और सच्चा सेक्स अनुभव लेकर आया हूँ. मैंने उन्हें लिख कर संदेश दिया कि मैं खाना कर आऊँगी, तब तक वो भी थोड़ा सुस्ता लें. वहां मुनीर पहले से ही घुटनों के बल खड़ी होकर माइक का लिंग चूस रही थी.

कुछ देर ऐसे ही रहा, फिर वो मेरे कंधे पर चूमने लगा, कंधे से चूमता हुआ वो गले पर आ पहुंचा.

इसलिए मेरा इशारा समझते हुए उसने अब खुद ही धीरे से अपनी जांघों को थोड़ा सा खोल दिया. मैंने दूसरे हाथ से उन पर पीछे लेटने के लिए दबाव बनाया तो उन्होंने कहा- रूको!मैंने उनकी तरफ प्रश्नवाचक नज़रों से देखा तो वो बोली- यहाँ नहीं, बेड रूम में चलते हैं. मैंने उसकी साड़ी खींच कर उतार दी, पेटीकोट ऊपर खिसका कर उसकी गाण्ड में एक उंगली डाल दी तो वो चिंहुक गयी.

मैं एक जगह कुर्सी पर बैठा हुआ, घर में चल रही तैयारियों को बड़े गौर से देख रहा था. मैंने अपनी चूत में जीजू का लंड सटकते हुए फ़ोन उठा कर कहा- हां दीदी क्या कह रही हो … अच्छा आधे घंटे में आओगी … ठीक है … हां जीजू आ गए हैं. कम्मो ने पूरे मजे ले ले कर गोलगप्पे खाए; उसका मुंह पूरा खुलता और गोलगप्पा गप्प से खा जाती इधर मेरे मन में ये ख़याल आता की काश मेरा वाला गोलगप्पा भी ये मुंह में ले लेती, चूस डालती, चाट देती अच्छे से.

मेरी चूत और गांड दोनों जगह ऐसी आग लगी, ऐसा कुछ हुआ कि बता नहीं सकती.

इतने में सतीश मेरी गांड में तेज तेज से धक्का मारने लगा और बोला- वन्द्या, तू बहुत बड़ी माल है. मैंने कम्मो का हाथ पकड़ कर अपनी ओर खींचा तो उसने इन्कार में सिर हिलाया फिर मैंने जोर से खींचा तो वो मुझसे आ लगी और मैंने उसे फिर से चूम लिया.

हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो फिर खुद पर काबू करके उसने खुद को अलग किया- यह मौका सही नहीं है मैडम. स्टेशन पर गाड़ी आने से आधे घंटे पहले ही हम लोग पहुंच चुके थे, मतलब हम लोग वक्त से पहले ही आ चुके थे.

हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो ऐसे ही थोड़ी देर चूत में लंड लेकर उछलने के बाद वो झड़ गयी … मैं भी उसकी चूत में ही झड़ गया। हम दोनों की सिसकारियों से पूरा कमरा गूंज उठा।कुछ देर के बाद वो उठकर चली गयी बाथरूम की ओर … और मैं सुशीला की ओर चला गया. मुनीर ने सिसकारते हुए पूरे जोश से माइक का लिंग अपनी ओर खींचा और मुठी में भर कर उसके सुपाड़े को जीभ से चाटने लगी.

तभी वो मुझसे बोली- तुमको भी मेरे साथ वैसा ही करना पड़ेगा, जैसे तुमने अपनी दीदी के साथ किया था.

बिहारी सेक्सी 2020

वो मुझे बेड के किनारे पर बिठा कर मेरे लंड को हिलाने लगीं और उसका टोपा खोलकर चूसने लगीं जिससे मेरा मस्ती के कारण बुरा हाल हो गया. यह सुनते ही जीजू ने मुझे पटक कर सीधा किया और मैंने टांगें उठा उनके हब्शी लौड़े का स्वागत किया. इस सबके कारण मैं पहले ही गर्म हो चुकी हूं, मुझसे रहा नहीं जा रहा!मैंने कहा- नीरू थोड़ा सब्र करो, मैं तुम दोनों की चुदाई करूंगा … लेकिन पहले सविता को तो गर्म कर लो, इसका पहली बार है ना!यह सुनते ही नीरू ने सविता के कपड़े उतारने शुरू कर दिए.

श्यामा ने मुझसे कहा कि वो आज जगेश (उस ऑफिसर का नाम) को अपने घर पे ले जा रही है, अगर तुमको भी साथ चलना हो तो चलो. फोन कट करके उसी मोबाइल से जल्दी से दो-तीन फोटो क्लिक की, वह भी मेरी चूत में उंगली डाले हुए … मैं तो पागल हो रही थी. मैं- बेटी हम एक बार डॉक्टर को देखने के बाद सारा शहर घूमेंगे।मानसी- अच्छा चाचाजी … आप शहर घुमायेंगे।कहकर खुशी से उछल पड़ी.

मैं दबे पैर छत की ओर चल पड़ा और फ़िर मैंने आराम से पहुंच कर उनके रूम का डोर खटखटाया.

इधर का माहौल कुछ ऐसा था कि केवल एक साल में ही में लंड, चूत, चोदना, हाथ से हिलाना … इस सबके बारे में काफी कुछ सीख गया. नाजुक लड़की तड़फड़ा कर रह गई और उसकी आँखें बाहर को उबल आईं, उसके मुंह से मेरे लंड की बगल से उसकी लार बह चली और वो मुश्किल से इस आक्रमण को संभाल सकी. माइक सामान्य मर्दों के मुकाबले ज्यादा लंबा और चौड़ा दिख रहा था, पर मैं पूरे विश्वास के साथ फिलहाल नहीं कह सकती थी.

मैंने हाथ से ही पकड़ कर लिंग का सुपाड़ा अपनी योनि के छेद पे लगा दिया. वे दोनों नीग्रो भी नीचे उतरे और सब लोगों के साथ अंकित भी नीचे उतर आया. उसी वक्त मैंने उनका एक दूध इतनी जोर से भींचा कि उनकी आह निकल गई और जैसे ही उनका मुँह खुला, मैंने लंड उनके मुँह में पेल दिया.

अब सुलेखा भाभी के कोमल हाथों का स्पर्श पाते ही वो और भी जोरों से तमतमा कर फुंफकारने सा लगा जिससे सुलेखा भाभी की आंखें अब ऐसे चमक उठीं, जैसे की उन्हें कोई खजाना मिल गया हो. फिर उस आदमी ने अपनी दो उंगली चूत में कर दीं और अन्दर बाहर करने लगा.

उस रात के बाद सुबह उन्होंने मेरा शुक्रिया किया और मुझसे इस बात को गुप्त रखने का वादा लिया. साड़ी पहन कर जब वो चलती थी, तो पीछे से उनकी एकदम गोल गांड देखकर मेरा लंड मुझे बदतमीज बना देता था. वो जानबूझ कर इस कदर झुक रही थी कि उसके गोल गोल उरोज कभी उनके कंधों को तो कभी उनकी बांहों को छू जाते और मेरे दोस्त भी कम हरामी न थे, कोई भाभी की पायल की तारीफ़ करता तो कोई भाभी की बालियों की, कोई साड़ी की तारीफ कर रहा था, पर असल में अन्दर ही अन्दर मेरी हसीन और कामकु बीवी को नंगी कर उसके छुपे हुए हुस्न का अन्दाज लगा रहे थे.

आप तो आज पूरी रात के लिए बुक हो, इसलिए अभी थोड़ा 15-20 मिनट का टाइम है.

फिर उन्होंने खुद ही रिया भाभी को कहा- रंडी साली … लगता है आज मेरी गांड फट ही जाएगी, इस चूतिये का लंड मेरे पति से कहीं ज्यादा मोटा है. उसने इतनी देर तक मेरा बहुत ख्याल रखा, पर अंत में उसने पीड़ा की हद पार कर दी. दमदार लंड का मालिक अपने सामने नंगी पड़ी मस्त लड़की को देखकर भी संयम रख ले तो उसमें कोई बात है.

अगर आप बुलाएंगे, तो मेरे फ़र्ज़ है ना कि मैं उसी समय हाज़िर हो जाऊं क्योंकि आप भी तो मेरा ऑफिस के काम में ख्याल रखेंगे. उसने पूछा- गर्लफ़्रेंड बना कर उसका क्या करोगे?मैंने कहा- कुछ तो करूँगा.

रजत अपनी माँ से बिना पूछे ही उसकी भीगी चूचियों की मसलने लगा जो साबुन से भीगी हुई थी और इसी कारण वहां बहुत ज्यादा फिसलन भी थी. चाची- मजा आ रहा है न गांड मारने में?मैं- सच में चाची आपकी गांड आपकी चूत से ज्यादा मजा देती है. इस तरह से मम्मी ने ही खुद से बोला कि सोनू अभी बहुत छोटी है, बस थोड़ी लंबी हो गई ही.

अंग्रेजी सेक्सी डॉक्टर

मेरा चूत छूने का मन तो था, लेकिन ये सोच कर रह गया कि कहीं बाजी हाथ से न निकल जाए.

वह तुरंत बेड पर आ कर लेट गई और मुझको अपने ऊपर खींच कर बोली- राजा जी, पहले मेरी चूत के अंदर डालो, नीरू की चुदाई हम बाद में करेंगे. मैंने नशीली आंखों से उनको देखा और उनसे चिपकते हुए कहा- बहुत नॉटी हो आप …!मैं जीजू से चिपकी तो जीजू ने भी मेरा हाथ पकड़ लिया. ये सब लोग नीचे के कमरों में ही सोते थे और मेरे अकेले का कमरा ऊपर के चार कमरों में से एक था.

बस अगले दस मिनट में मैं भी मज़े से सिप करते हुए उन तीनों के साथ वोडका पी रहा था. मैं दर्द के मारे उससे लिपट गई, क्योंकि पीछे से सतीश मेरी गांड में अन्दर लंड पूरा घुसा के धक्के मारने लगा था. सेक्सी ऑंटी सेक्सीआ जाने दो … मैं नहीं डरता उनसे …” मैंने सुलेखा भाभी की नशीली आंखों में देखकर उनके मुलायम गाल को चूमते हुए कहा.

मैंने रीना से पूछा- तूने बताया नहीं कि बिना देखे कोई कैसे कि सेक्स कर सकता है. मैडम के स्तन चूसते चूसते ही मैंने उनकी लटकती ब्रा को उनके जिस्म से अलग कर दी.

कहानी का पहला भाग:विशाल लंड से चुदाई का नया अनुभव-2अब तक आपने पढ़ा था कि मुनीर ने मेरी योनि को गर्म करना शुरू कर दिया था. सतीश बोला- तू मौसी के यहां कितने दिन रुकेगी?मैं बोली- अभी आज से ज्यादा से ज्यादा 10-12 दिन और रूकूंगी. हम दोनों मदहोश होकर सेक्स कर रहे थे और गर्मी के कारण हम दोनों के शरीर से पसीना निकल रहा था.

मानसी अपनी माँ के सामने ही मेरे ऊपर चढ़ गयी और मेरे खड़े लंड को अपने चूत में घुसाने लगी. यही कुछ 25-30 धक्कों के साथ ही मेरा रस निकल गया और मैंने उसकी बुर में रस डाल दिया और उसके ऊपर लेट गया. हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूस रहे थे, काट रहे थे, जीभ से जीभ लड़ा रहे थे.

मज़ा आ रहा है कि नहीं?तब पूजा ने अपना चेहरा मेरी और घुमा कर बोली- साले मादरचोद, पहले तो मेरी गांड फाड़ दी अपना लंड घुसा कर और अब पूछ रहा है कि कैसा लग रहा है? साले, चल जल्दी जल्दी से मेरी गांड में अपना लंड से जोर जोर के धक्के लगा और मेरी गांड को भी मेरी चूत जैसी फाड़ दे.

फिर जब मुझसे कंट्रोल नहीं हुआ तो मैंने रेखा के कुर्ते के ऊपर से ही उसके चूचों को भी दबाना शुरू कर दिया।अब वह धीरे-धीरे कामुक सिसकारियाँ भरने लगी. मैंने कहा- तुम क्या पागल हो?उसने कहा- हां तुम्हारे लिए … तुम्हारी ख़ुशी के लिए.

उसने अपने मोबाइल में फोटो भी दिखाई थी इसकी एक दो! उसने बताया था कि वो मौसी की बेटी सोनू को कर रहा था, तभी पड़ोस के कोई चाचा आ गए थे और लालजी का काम पूरा नहीं हुआ, लालजी भी इस वन्द्या की अधूरी चुदाई कर चुका है, तब से वह भी इसे करने के फिराक में है. प्रिया ने कराहते हुए एक बार फिर से मुझे अब रोकने की कोशिश की, मगर मैं अब रूका नहीं और अपनी पूरी तेजी और ताकत से लंड से धक्के लगाता रहा. उसका लिंग अभी उत्तेजित भी नहीं था, पर उसकी मोटाई और लम्बाई देख कर मैं तो डर गई.

मैंने धीरे धीरे करके आधा लंड आंटी की चूत में डाल दिया और धीरे धीरे झटके लगाने लगा. तो मैं हमेशा की तरह ब्लू फिल्म की सीडी लगा कर हाथ से अपना लंड हिला रहा था. आज तुम अपने छोटे छेद को इतना कष्ट दिए जा रही हो!” बीच में मैंने पूछा.

हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो वो भी इतनी बड़ी गांड … वो भी अपनी मस्त चाची की गांड … तुम जल्दी करो चाची पेट के बल लेट जाओ, मेरा लंड फट रहा है. मैंने हाथों से उसके दोनों चुचे पकड़ लिए तो कविता घबरा कर खड़ी हो गई और बोली- पागल हो क्या … खुद पिला कर दिखाओ.

सेक्सी बॉलीवुड सेक्सी वीडियो

मैं समझ रहा था कि उसको चुदने की जल्दी मची है, लेकिन वो भी पूरा मजा लेने के मूड में थी. मैं उसे देख ही रहा था, तभी दीदी बोलीं- क्या देख रहे हो … जाओ इसे लेकर!दीदी मुझसे बातें करने लगी थीं, पर मुझे अभी भी कुछ शर्म आ रही थी. वो मुझसे बात करने लगी और मैं उसकी बड़ी बहन के चक्कर में उससे बात करने लगा.

अब उन दोनों ने मुझे कहा, तो मैं सिर्फ़ एक नाइटी डाल कर सोती थी, जिसके अन्दर ना ब्रा और ना ही कोई पेंटी होती थी. मैं- अपनी बेटी की चुदाई तो तू आँखें फाड़ के देख रही थी … पराये मर्द का लंड अपनी बेटी की चूत में देखकर तुझे मजा आ रहा था या नहीं? और अपनी बारी आई तो सती सावित्री बनने लगी. ब्लू सेक्सी फिल्म हिंदी में दिखाएंसाली की चूत एकदम गीली हो जाने के कारण लंड ने एकदम से अटैक कर दिया था.

मैंने भी अब सोचा कि शायद वो मेरा वहम था, इसलिए कुछ देर बाहर की बातें सुनने के बाद मैं वापस अपने बिस्तर पर आकर लेट गया.

विक्रम- साली कुतिया… नाटक करती है? इतने साल से पापा से चुद रही है और मेरा लंड लेने में नाटक कर रही है?और उसने अपने लंड का एक और जोरदार झटका माँ की चूत में दिया. रेवती ने भी मेरा हाथ पर अपनी मजबूती बनाकर मेरे और अपने रिश्ते को स्वीकृति प्रदान की.

वो जॉब छोड़ने के लिए बोलने लगी तो मैंने उसे बोला- जॉब मत छोड़ो जब तक दूसरी नहीं मिलती. जिस औरत ने भी मेरे लंड का स्वाद चखा था, उसने मुझे एक एक्स्ट्रा चुत जरूर दिलाई है क्योंकि मेरे लंड का लम्बा और मोटा होना ही उनकी चुत की खुजली को पूरी तरह से मिटाने में सक्षम होता था. मैं कुछ देर रुका रहा और उसकी चीखों को अनसुना करके अपने लंड पर चूत की गर्मी का मजा लेता रहा.

फिर यूं ही थोड़ी देर चूसते चूसते रुका और मुझसे बोला- क्या मैं आपकी ब्रा खोल दूँ?मैंने हां में बस अपना सर हिलाया, तो उसने मेरी ब्रा खोल दी और वहीं नीचे फेंक दी.

चूसने क्या लगा सच कहूं तो ऐसे काटने लगा जैसे कोई भूखा शेर अपने शिकार पर टूट पड़ता है. मुझे तो बस यही था कि जिससे मेरी शादी हो वो इतना तगड़ा हो, जो मेरी फुद्दी की आग को रोज़ रात को ठंडी कर सके. उस काम के सिवा?तो मैंने कहा- अगर उतना मन कर रहा है तो एक आईडिया बता सकता हूँ.

पीरियड में कपड़ा कैसे लगाते हैं वीडियोजब वो झड़ने को हुई तो उसने अपने आप ही मेरे सर को बालों से पकड़ लिया और लिप टू लिप किस करने लगी. मैं दोनों हाथों से चाची की दोनों चुची मसलते हुए उनकी नाभि में जीभ को ठेलने लगा.

ससुर और बहु की चुदाई सेक्सी

मयूरी- बात तो एकदम पते की है माँ… क्या सोच है आपकी…और दोनों नंगी माँ-बेटी जोर से खिलखिला कर हंसने लगी. उसको इतना अच्छा लगा कि उसने अपने नाखून मेरी पीठ पर चुभा दिये और चूत की चटनी का प्रोग्राम चल पड़ा. मेरे इसी विश्वास की वजह से ही मैंने अब आनन्द लेना शुरू कर दिया और उसका साथ भी खुल कर देना शुरू कर दिया.

तुझे क्या चाहिए, बता दे?मैं बोली- मम्मी आप ले लो, मैं पहले थोड़ा आराम करना चाहती हूं. गाड़ी में शायद जल्दी में या जानबूझ कर वो स्कर्ट के नीचे चड्डी डालना भूल गई. नीचे मेरे लंड और उनकी चूत के बीच केवल मेरे पेंट और उनके जांघों से ऊपर उठे हुए साड़ी पेटीकोट का फासला था.

मुफ्त में मिली है आज तुमको मेरी गांड, इसमें अपना लंड पेल पेल कर तुम भी मज़े लो और मुझे मज़े दो. अशोक द्वारा घर के सभी लोगों के आपसी चुदाई के रिश्तों का पर्दाफाश करने के बाद सब सदमे में थे. मैंने कुछ देर में ही उसकी पैंटी को भी उतार दिया और उसकी नंगी बुर पर किस करने लगा.

तभी मेरी जीभ को हिमांशु ने छोड़ दिया और मेरी गर्दन पकड़ कर वो एकटक मेरी आंखों में आंखें डाल कर देखने लगा. ’ निकल गई। मेरा आधा लण्ड शगुन की चूत में समा चुका था। तो मुझे साफ पता लग गया कि मेरी बहन पहले भी अपनी चूत चुदवा चुकी है.

उन्होंने मुझे अपने आप गले लगा लिया और बोले- तुम मेरी नातिन जैसी हो, मेरी नातिन भी तुमसे बड़ी है, तुमको कोई दिक्कत नहीं होगी! मेरे ऊपर भरोसा करो, बस 10-15 मिनट के अन्दर तुम्हें वही पहुंचा दूंगा.

मुनीर की टांगें तारा के मुँह की तरफ थीं और चेहरा उसकी योनि की तरफ था. भाई बहन बीएफवो मेरी चूत को चाट रहे थे और मेरी चूत के दाने को मसल रहे थे जिससे मैं और भी चुदासी हुई जा रही थी. छूट सेक्सअब आगे:डिम्पल भाभी बोली- यह गलत है…लेकिन मैंने भाभी की बात नहीं सुनी और दोबारा अपने लब उनके लबों से चिपका दिए. करोड़ों का तो मेरा घर है और जमीन कार सब अलग सब दे दूंगा और तुझे फुल आजादी.

अब भाभी पूरी नंगी मेरे सामने थीं, क्योंकि उन्होंने पेंटी भी नहीं पहनी थी.

उनका लंड मेरे मुँह की तरफ था और सर मेरी चूत को पागलों की तरह चाट रहे थे. मैं अपने घर बाथरूम में अक्सर अपनी नंगी जवानी देख, अपने स्तनों को दबाती सहलाती रोंएदार चूत के गुलाबी होंठों को छेड़ लेती. नीरू ने सविता को बेड पर पीठ के बल लेटा दिया और मुझसे बोली- जीजू, मैं इसके बूब्स मुंह में लेकर चूसती हूं और आप इसकी चूत को चाटना शुरू करो!मैंने ठीक वैसा ही किया, मैं उसकी टांगों के बीच में जाकर उसकी टांगों को चौड़ा करके फैलाया, जैसे ही मैंने टांगों को चौड़ा किया, सविता की चूत खुल गई.

अब तक आपने पढ़ा कि कार में मुझे उन तीनों अंकल ने लंड से चोदा तो था, पर अधूरा चोद कर छोड़ दिया था. मुनीर तो पागलों की तरह तारा के बालों को जोर से पकड़ सिसकारी भरी आवाजें निकालने लगी और थोड़ी देर में माइक को बुलाने लगी. मैंने उसे और उकसाते हुए कहा- तुमको भी अच्छा लग रहा था, तुम्हारी उत्तेजना देख कर वे लोग भी उत्तेजित हो रहे थे.

हिना फिल्म सेक्सी

उन्होंने मेरे से बात करनी चालू की कि जय कैसा चल रहा है … और इधर उधर की बातें करने लगीं. मेरे ऊपर लेट कर पूजा थोड़ी देर और मेरे लंड और मेरे अंडों के साथ खेलती रही और फिर मुझसे बोली- राजा, अब तुम मेरी चूत को और मैं तुम्हारे लंड को अच्छी तरह से देख लूँगी और उसका स्वाद भी ले लूँगी. मुझे श्यामा ने बताया कि अब हर शुक्रवार को ऐसे ही कार्यक्रम चलेगा और रविवार का तो तुमको पता ही है.

फिर धीरे धीरे मैंने उसका कुर्ता उठाकर अपना हाथ उसके पेट पर रख दिया, जिस पर उसने धीरे से कहा कि क्या कर रहे हो?मैंने कहा- हाथ में ठण्ड लग रही है.

मगर जैसे ही मेरी उंगलियों ने उनकी गीली चुत को छुआ, सुलेखा भाभी ने अपने दांतों को मेरे होंठों में गड़ा दिया, जिससे मुझे दर्द तो हुआ था, लेकिन मैंने अपने हाथ को वहां से हटाया नहीं बल्कि वहीं पर रखे रहा.

माइक पूरी नियंत्रण के साथ हांफते हुए तेज़ी से धक्के मार मार के लिंग अन्दर बाहर कर रहा था. वो पहले तो कुछ देर शायद कुछ समझ नहीं पाया कि उसके साथ क्या हो रहा है. हिंदी सेक्सी मूवी बीएफ फिल्मरंग उसका गोरा था गाय के दूध की तरह और बदन का साइज 30-28-32 लगभग।उसने बताया कि वो हमारे ही गाँव की है, हमारी बिरादरी से अलग दूसरी बिरादरी की है तो मैं उसे नहीं पहचानता था.

मैंने फिर समझाया कि इसने मूता नहीं है, ये उसका वीर्य है, जिससे बच्चे पैदा होते हैं. मैं पूजा की बातों पर ना ध्यान देते हुए उसकी गांड में अपना लंड पेलता रहा. वो झट से गाड़ी को स्टार्ट करते हुए मुझे अन्दर आने का इशारा करने लगी.

उन्होंने कहा- तुम हमेशा ज्यादा उम्र की औरतों को ही क्यों ताड़ते रहते हो?तो मैंने कहा- अपनी अपनी सोच या पसन्द होती है. मेरी योनि में फिर से नमी आनी शुरू हो गयी, उसके लिंग की चमड़ी के रगड़ से मेरी योनि की दीवारों पर अब गुदगुदी सी होने लगी.

रेखा भाभी की चुत की महक भी बिल्कुल ऐसी ही थी और हो भी क्यों ना … दोनों सगी बहनें ही तो हैं और दोनों ही एक एक बच्चे की मां भी हैं.

फिर मैंने उनकी पेंटी को धीरे धीरे नीचे सरका दिया और भाभी की मखमली गांड पर हाथ रख कर हल्का हल्का दबाना चालू कर दिया. हाथ लगाया तो देखा मेरी योनि गीली थी और 2-4 बूंदों ने मेरी पैंटी गीली कर दी थी. इसके बाद बाहर आकर मैंने कपड़े पहने, चाय पी और जाने को निकला ही था कि वो मुझसे पीछे से आकर चिपट गईं और रोने लगीं.

सेक्सी बीएफ बिहार की बियर अपना काम कर रही थी और मैं उसको मस्त होकर काफी देर तक चोदता रहा. उफफ्फ … ले चूस … महेश्श्श … चूस … चूस ले … चूस लेऐऐ … आज इनकी सारी दवाई …” सुलेखा भाभी ने एक बार फिर से अब एक कामुक सिसकारी भरते हुए कहा और जोरों से मेरे सिर को अपनी चूचियों पर दबाने‌ लगीं.

साला लगता तो है कि मुझे चोदने के चक्कर में है लेकिन उसने कभी मुझसे कहा नहीं है. आठ बजे रात को मैं अच्छे से सज कर पर्फ्यूम लगा कर अपने साथ कंडोम लेकर उसके घर चला गया. मैंने यही किया और मॉम से बोल दिया कि मॉम सच में मुझे खुजली हो रही थी, घर पर कोई नहीं था तो पैन्ट खोल कर खुजा रहा था.

सेक्सी भाभी की चुदाई देहाती

क्या फायदा अब!” उसने कह कर सूनी सूनी आँखों से मुझे देखा और सिर झुका कर खड़ी रही. मैं- मुझे भी उनका स्वाद चखा यार!दीपक- जरूर … कल इसका पेट साफ करेंगे तो वहीं उनसे मिल लेना. उम्मीद करता हूँ कि लंडों को चूतों और चूतों को लंडों की गर्माहट मिल रही होगी.

मैं मौसी को लगातार किस किए जा रहा था और उनकी चूचियों को सहला रहा था. मेरा भी अब मन कर रहा है, किसी और से चुदवाने का … लेकिन मुझे डर है कि कहीं किसी ने मुझे पहचान लिया तो क्या होगा?रीना बोली- इसकी टेंशन ना ले तू … तुझे कोई भी नहीं पहचानेगा.

मेरी तो समझो लॉटरी लग गई।फिर उसने पूरा का पूरा लण्ड मुँह में ले लिया और मैं सिर्फ मादक आवाजें निकाले जा रहा था। वो आइसकैन्डी की तरह लौड़ा चूसने लगी। साथ-साथ अपने हाथ से मेरे अन्डकोषों के साथ भी खेल रही थी।मैंने कहा- आह्ह … रुक जा … अब मेरा निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?उसने कहा- निकल जाने दे … कोई बात नहीं.

तुझे भी मज़ा आएगा, एक बार करवा कर देख!” माँ ने कामुक आवाज़ में मुझसे कहा. जब तक मन्नू मेरी ज़िंदगी में रहा, मैंने दूसरे लड़के पर नज़र तक नहीं रखी थी. तारा ने अपनी कमर उठा दी और मुनीर ने तकिया उसके कूल्हों के नीचे रख दिया.

वो मेरे लंड को सहलाने लगी और फिर अपने मुँह भर लिया और मजे से चूसने लगी. लेकिन मानना पड़ेगा कि वह बहुत गर्म थी साली। गांड में दो दो लंड पूरा पूरा घुस गए लेकिन एक बार भी बेहोश नहीं हुई. अब रात हुई और मैंने मीतू दी को मैसेज किया- शर्त तो मैं जीत गया बताओ कब आऊं मुम्मे दबाने?मीतू- दम है साले तो अभी आ जा.

” प्रिया ने अब शरारत से मेरी तरफ देखते हुए कहा, जिससे मुझे भी हंसी आ गयी और मैं नेहा की तरफ देखने लगा.

हिंदी वीडियो बीएफ वीडियो: फिर उसने मेरे लंड पे कॅडबरी लगाई … और थोड़ी गांड पे भी लगाई और जोर जोर चूसने लगी. अपनी शर्मदार बीवी को इस तरह दूसरे मर्द का लंड चूसते देख मेरी उत्तजेना चरम शिखर पर पहुंच गई और मेरा वीर्य स्खलन हो गया.

रेखा भाभी की चुत की महक भी बिल्कुल ऐसी ही थी और हो भी क्यों ना … दोनों सगी बहनें ही तो हैं और दोनों ही एक एक बच्चे की मां भी हैं. इतने मैं मम्मी बोलीं- नहीं बेटा, हम मजबूर थे … तेरे पापा अब कुछ कर नहीं पाते और इनके पति नहीं हैं, इसलिये हम …ये कह कर वो चुप हो गईं. जब वो थोड़ी नार्मल हुई तो मैंने उससे कहा- सब यहीं करना है या बिस्तर पर चलें?वो मुस्कराई और बोली- अब क्या करना है … मेरा तो हो गया.

वो फिर बोली- अच्छा दिखा दो ना?मैंने कहा- पहले तू!उसने कहा- ठीक है कब?मैंने कहा- कल जब घर पर कोई नहीं होगा.

कुछ पल इसी तरह से सेक्स का मजा लेने के बाद मैंने चुदाई की शुरुआत की तो पहले किरण जी अपनी चूत चुदाई के लिए कहा. अब तक की इस मस्ती भरी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा था कि मैंने सुलेखा भाभी के गालों को‌ चूमते हुए उन्हें अपनी बांहों में कस लिया था … जिससे उनके गाल तो क्या अब तो पूरा का पूरा चेहरा ही शर्म से सिन्दूरी सा हो गया. लेकिन अगली बार मैं तुम्हारे लंड को खूब चूसूंगी और तुम्हारे लंड का पानी भी पियूंगी, समझे मेरे राजा?अब पूजा मेरी बगल में अपनी पीठ के बल चित्त लेट गयी और अपने पैरों को फैलाकर अपने हाथों से पकड़ कर बोली- अब आओ ना, क्यों देर लगा रहे हो? अभी तो बहुत चुदास चढ़ी थी.