वीडियो बीएफ भेजें

छवि स्रोत,छोटे-छोटे बच्चों के सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो hard: वीडियो बीएफ भेजें, लंड के उभार को सहलाने से लंड बिल्कुल किसी कड़क लोहे की रॉड की तरह तन चुका था, जो कि सादे फॉर्मल पैन्ट पर से पकड़ने और सहलाने में काफी आसान था.

सेक्सी वीडियो चूत फाड़ दी

कुछ सोचने के बाद वो राजी हो गई और अंकल के घर चीनी मांगने के बहाने गई. ट्रिपल एक्स सेक्सी बीपी पिक्चरउसके अंडकोष किसी सांड की तरह लटक रहे थे और लिंग, कोई हलचल मचाने को फनफना रहा था.

दोपहर को खाने के समय लड़कियां आपस में बातें करने लगीं जो जरूरत से ज़्यादा अश्लील हुआ करती थीं. नंगी बफ सेक्सीमेरी और नेहा की दोस्ती स्कूल के समय से है, वो और मैं हमेशा से एक दूसरे के राजदार रही हैं, पर हमने कभी एक दूसरे के साथ मजे लेने का नहीं सोचा था.

फिर भी मैं ज्योति के सामने नहीं जा रहा था।फिर रात का खाना खाया और मैं छत पर चला गया.वीडियो बीएफ भेजें: अब आनन्द ने लंड उसकी चूत के छेद पर रखा और प्रेस करने से उसके लंड की सिर्फ टोपी ही चली गई.

लंड चूत की फांकों में जैसे ही सैट हुआ तो मेरे पति ने एक हल्का सा धक्का मार दिया.इससे भाभी की ‘आआ … अह्ह्ह … उऊऊ … अह्ह्ह्ह …’ की कराहों के साथ साथ अब जोरों से ‘फाट् ट् … फाट् ट …’ की आवाजें भी निकलना शुरू हो गईं.

इंडियन सेक्सी जंगल वाली - वीडियो बीएफ भेजें

इसके बाद उन्होंने दीदी को पैसे दिए और कहा- अब तू जा और अलगे हफ्ते दुबई से कुछ लोग आएंगे, हम तुझे फोन कर देंगे तो तू से फिर आ जाना.मैं तो सोच रहा था कि वो अब अपनी पैंटी भी निकाल फैंकेगी … मगर तभी वो मेरी तरफ घूर घूर कर ऐसे देखने‌ लगी जैसे कि मुझे कच्चा ही खा जाएगी.

’ये कहते हुए उन्होंने अपने मज़बूत किसानी हाथों से मेरी गांड को मसल दिया. वीडियो बीएफ भेजें फिर थोड़ी देर के बाद घंटी बजी, मैसेज आया- सुन मैं क्या बोलती हूँ … आया आ जाएगी तो बेबी को संभाल लेगी.

जिस वजह से मैं अपनी नवविवाहिता पत्नी को अपने घर छोड़ कर उस शहर में चला गया.

वीडियो बीएफ भेजें?

मैंने उसे बताया कि मैंने पूरे दो साल बाद इतने अच्छे से पानी निकला है. उस रात खाने के बाद सब लोग अगले दिन की उत्तरायण की तैयारी में लग गए. मेरे घर में जब कोई नहीं रहता था, तो मैं अपने ब्वॉयफ्रेंड के साथ होटल में जाकर चुदवा पाती थी.

मैं उनके दोनों निप्पलों को बारी बारी से अपने मुँह में गपागप चूसे जा रहा था. मैंने कहा- बच्चा रुक गया तो?वो बोली- नहीं रुकेगा … मैं गोली ले लूंगी. सलोनी- उफ्फ … आह्ह!सिसकारियों की गूंज ट्रेन के शोर में दब सी गई पर मैं सुन सकता था.

तभी एकता ने बोला- यार बड़ी मुश्किल से आठ दस दिन के लिए इसे उन दोनों ने छोड़ा है … वो भी ट्रेनिंग के वास्ते गई हैं तब लाने दिया है. जैसे ही पूरा डिल्डो मेरी चूत में तो अन्दर जाता था तो उसका जिस्म मेरे जिस्म से लगता था. रजनी आगे बढ़कर राहुल की बाइक पर बैठ गयी तो मैं भी अमित की बाइक पर बैठ गयी और हम सब चल दिए.

उस वक्त मैं कहीं व्यस्त था इसलिए मैंने उस फोन कॉल पर ध्यान नहीं दिया. मैं उनको हाथ में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूमने लगा और दाँत लगाने लगा और वो ज़ोर ज़ोर से ‘आहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… उऊँ आहह उईए …’ की आवाजें निकालने लगी और उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी पेंटी में डाल दिया, मेरे स्पर्श से उनकी आवाजें और बढ़ गयी और कहने लगी- दूर कर दो इसको मेरे बदन से!मैंने एक ही पल में भाभी की पेंटी को उतार फेंका और नीचे आकर उनकी चूत को देखा.

मेरे दोस्त बोला- यार, इस कार में पक्का किसी लौंडिया की मस्त ठुकाई चल रही है.

मैंने दोनों हाथों से जैसे ही उनका लंड छुआ और पकड़ा, तो एकदम से लगा, जैसे उसमें आग लगी हो.

प्रिय अन्तर्वासना पाठकोफरवरी 2019 प्रकाशित हिंदी सेक्स स्टोरीज में से पाठकों की पसंद की पांच बेस्ट सेक्स कहानियाँ आपके समक्ष प्रस्तुत हैं…पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …पूरी कहानी यहाँ पढ़ कर मजा लीजिये …. तो वो बोली कि जब मैं खुद तुम पे फिदा हो गयी तो और बेचारियों की तो क्या हालत कर रखी होगी. इससे चाची गनगना उठीं- जल्दी घुसाओ न … कितना तड़पा रहा है … चोद न जल्दी.

मेरे दोनों हाथ उसकी चुचियों को मसल रहे थे और मैं उसकी चूत चाटने का आनन्द ले रहा था. फिर मैंने उसे बेड पर इस पोजीशन में लिटाया कि उसका सिर मेरी तरफ और पैर दूसरी तरफ थे. मैं तो समझ ही गयी थी कि सुखबीर अब मुझे अपनी वासना की जाल में फांसने की चाल चल रहा था.

मैं उस दुकानदार के पास गया और उससे पूछा कि कोई जुगाड़ हो सकता है क्या?वह बोला- साहब, अकेले सफर कर रहे है क्या?मैंने हां में जवाब दिया.

अचानक सर मेरी तरफ लपके तो मेरे मुँह से घबराहट में निकल ही गया- पिंकी … प्लीज़!पिंकी ने मेरी तरफ घूर कर घृणा से देखा और फिर अपना चेहरा दीवार की तरफ कर लिया. वो मुझसे करीब से मिलीं, थोड़ी बातों के बाद हम सब शादी में जाने के लिए रेडी हो गए और शादी में चले गए. इसके बाद दो ड्राइवर मुझे चोदने के लिए मेरे साथ एक अलग कमरे में आ गए.

वो बोली- बहुत गन्दे आदमी हो … पता नहीं मेमसाब ने क्या देखा और घर ले आयीं. अब मैं फिर से सीधी ही लेट गई और गाड़ी आगे बढ़ी तो देखा कि मम्मी की गाड़ी कॉर्नर में एक पेड़ के नीचे खड़ी थी. कुछ देर किस करने के बाद उसने मेरी टी-शर्ट के ऊपर से ही मेरे बूब्स को दबाना शुरू कर दिया लेकिन अबकी बार मैंने उसे नहीं रोका क्योंकि मुझे भी मज़ा आने लगा था.

ये सुनकर अनवर ने अपना लंड हाथ से पकड़ कर मेरी चूत के छेद में रख दिया और फंसा के बोला कि अब तू ठीक से संभल जा, मैं तेरे अन्दर डालने वाला हूं.

मगर अभी मेरे अंदर इतनी हिम्मत नहीं आई थी कि मैं सरिता पर हावी हो जाऊं और उसको जबरदस्ती पकड़ कर चोद दूं। मुझे अभी थोड़ी और हिम्मत की ज़रूरत थी. मैंने नेहा से पूछा- फिर बोल … क्या करना है?नेहा कामुक मुस्कान के साथ बोली- हम दोनों की चुत को ठंडा करना है, बस तुम साथ दो.

वीडियो बीएफ भेजें सच बताओ, तुम्हें मजा आया या नहीं?वो बोली- आपने सब देखा तो क्यों पूछ रहे हो. वो कहने लगी- आह मजा आ गया … फाड़ दो मेरी चूत को … और जोर से चोदो … आहा आह …पूजा कामुक आवाजें निकालने लगी.

वीडियो बीएफ भेजें करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद भाबी जी का और मेरा पानी साथ में ही निकल गया. चाची बड़बड़ाती हुई बोले जा रही- राजा, वाह क्या मस्त बूब्स चूसते हो तुम! मज़ा आ गया; आज तक मेरे पति ने भी मेरे बूब्स को ऐसे नहीं चूसे.

फिर नाइट में जब मैं उठा तो देखा कि भाभी का गाउन घुटनों तक हो गया था और ऊपर से उनके थोड़े थोड़े चूचे दिख रहे थे.

आदिवासी सेक्सी बीएफ एचडी

तभी वो बोली- पता है मुझे … मैंने ही पापा को बोला था तुम्हें मेरे साथ भेजने के लिए!मैं तो जवाब सुनकर हैरान रह गया. वह मुझे उठा कर जाने लगी तो मैंने वंदना का हाथ पकड़ लिया और किस करने लगा. मैं भी नेहा की तरफ देखकर हंस दिया मगर दोबारा से उसके होंठों चूमने की बजाए इस बार मैंने उसकी एक चूची को दबोच लिया.

बहुत ही अजीब सी खुशबू थी उनके लंड की, अजीब सी गंध मार रहा था … पर मुझे कुछ होश तो था नहीं, जो मैं कुछ कहती. वो बोली- अगर तेरी जगह कोई और होता … तो क्या होता?मैं चुप रहा तो वो फिर बोली- बता ना क्या होता?मैं बोला- कोई और होता, तो वो आपकी इज्जत लूट लेता. नीचे की तरफ उनकी गाड़ी खड़ी हुई तो ड्राइवर बोला कि मालिक आपका बंगला आ गया.

लंड को और अन्दर न घुसेड़ कर इस बार मेरे पति अपना लंड बाहर निकालने लगे.

मैं लंड को नुपूर की चुत पर रगड़ने लगा और धीरे धीरे से सुपारा उसकी चुत के अन्दर डालने लगा. मैंने सोचा कि कुछ पैसे आदि की बात से परेशान हैं तो मैंने कहा- भाभी सब ठीक हो जाएगा. तो वंदना बोली- अब यहीं खड़े-खड़े सुहागरात मनाओगे क्या?? बेड पर भी चलोगे या नहीं?मैंने उसे गोद में उठा कर बेड पर लेटाया और जो अपने साथ बाजार से गोल्ड रिंग लेकर आया था, वह उसको दी.

अब ये सरकारी होने की वजह से इन पर कोई ध्यान नहीं देता है, इसलिए जैसे का तैसा पड़ा हुआ है. बहुत दिन से मेरी चूत प्यासी थी। उन्हें देखते ही मेरा मन कर रहा था कि खा जाऊं उनके लंड को।थोड़ी देर बाद वे मेरे पास आए और मेरे कपड़े उतारने लगे. मैडम काफ़ी सुंदर हैं … एकदम गोरी चिट्टी … मानो दूध से नहा कर निकली हो.

कुछ ही देर में हम दोनों सेक्स की 69 की पोजीशन मैं होकर एक दूसरे को चाट रहे थे. मैंने लंड हिलाते हुए कहा- अरे मेरी जान, डरती क्यों हो … जरा अपनी टांगें फैलाओ … मैं तेरी चूत को चिकन बना दूंगा.

क्योंकि मेरे पति का हथियार बहुत छोटा था, सिर्फ तीन इंच का और बहुत ही पतला था. मैंने पेंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसा कर चड्डी को नीचे खींच दिया. शाम को हम मुंबई घूमने गए, पब में भी गए, मुंबई की नाईट लाइफ के बारे में काफी सुना था, आज देख भी लिया.

मैं यही सोच रहा था कि ऐसी सेक्सी लड़की को भला कोई कैसे छोड़ सकता है, और सच बताऊं तो मीना को देखकर कोई यह भी बता नहीं सकता था कि वह एक माँ भी है और उसकी एक पांच साल की बेटी भी है.

मैंने जब से अपनी जवानी में कदम रखा है तब से ही मैं उनका दीवाना हूँ. मेरी नज़रें बार-बार उन दोनों की तरफ जा रही थीं क्योंकि कब से वो देखे ही जा रहे थे।अभी कुछ ही देर हुई होगी कि राहुल और अमित हमारी तरफ आए और पूछने लगे कि उन्हें भी हम लोगों के साथ खेलने को मिल सकता है क्या?मैं कुछ बोलती उससे पहले रजनी ने बोल दिया- हां क्यों नहीं. ऐसा कहते हुए एक हाथ से मेरा सर पकड़ कर जैसे ही दबाया, मेरे मुँह में उनका लंड आ गया.

मुझे चुसाने और मेरी गांड मारने का उसका सपना उसे टूटता हुआ महसूस हुआ. अगर आप सब मेरी इस कहानी को पसंद करेंगे तो उस सील टूटने की कहानी भी आप सभी लिए लिखूँगी.

उस वीडियो को देख कर तो मेरा भी बहुत दिमाग खराब हो गया, क्योंकि आग तो मेरी चुत में भी लगी हुई थी. अभी आँख लगी ही थी कि तभी एक सुंदर सी और बहुत ही खूबसूरत लड़की मेरे पास आई और उसने मेरी नींद खराब कर दी. दोनों हाथों से उसके निप्पलों को मसल मसल कर उसकी चुचियों को दबा रहा था.

बीएफ सेक्स वीडियो शॉर्ट

शाम को सुनीता फिर से आई और मुझे देखते हुए दीदी को बोली कि मेरे वो आज भी नहीं आएंगे, घर में सब्जी ही नहीं है.

मेरे होंठ उसकी ब्रा की हुक पे आ के रुके, मैंने फिर उसे सीधा किया और उसके होंठों को चूमने लगा. तेरी गांड इतनी गरम है कि कोई लंड इस गांड के अन्दर 5 मिनट से ज्यादा नहीं टिक सकता. फिर मैंने तुम्हारे मम्मों की घुंडियों को दोनों उंगलियों से दबाते हुए तुम्हारी सलवार के ऊपर से ही तुम्हारी चुत की पखुड़ियों पर उंगली फिराना शुरू किया.

पुनीत ने अंग्रेजी में उन दोनों को कुछ बोला, उसका मतलब शायद यही था कि मैं पागल हो रही हूं. जो मेरे बारे में नहीं जानते हैं, उनके लिए बता दूँ कि मेरी फिगर बहुत अच्छी है. हाथी की सेक्सी फोटोदादाजी ने अपने अंगूठे और उंगली से सोनल की चूत की पंखुड़ियां खोलीं, तो सोनल की चूत का दाना उनके सामने आ गया.

उसके बाद हमारे बीच चुम्बन का सिलसिला आम हो गया था। जब भी हम फ्री होते, हमें एकांत मिलता हमारे होंठ आपस में जुड़ जाते।कहानी का अगला भाग:मेरी रानी की कहानी-2. मैं अपनी प्यारी भाभियों, आंटियों और मेरी सहेलियों की चूत चूस चाट कर उन सभी का भी स्वागत करती हूँ। वो भी तैयार हो जायें अपनी चूत में डिल्डो या उंगली डालने के लिए.

शाबाश … मेरी पिंकी … आजा … एक बार छू कर तो देख … तुझे भी मज़ा आएगा … आजा, मेरे पास बैठ जा!” सर सिसकारी सी लेकर सोफे पर बैठ गये और उसका हाथ पकड़ कर अपने तने हुए लंड की तरफ खींचने लगे. मैं अजय, आपका दोस्त, आज आप सबके साथ अपनी एक सच्ची कहानी शेयर करना चाहता हूँ. मगर फिर भी वो ऐसे ही जोरों से अपनी चुत को मेरे लंड पर घिसते हुए धक्के लगाती रहीं जिससे कुछ ही देर बाद अचानक से‌ उनके‌ हाथ मेरे कंधों पर कस गए और उनकी सिसकारियां मदमस्त कराहों में बदल गईं.

मैं दूध लाने जा रहा था, तो भाभी जी ने बोला- आशिक, कहाँ जा रहे हो?तो मैं बोला- भाभी जी दूध लाने!भाभी जी बोलीं- क्या करोगे, मैं चाय बना रही हूँ. भाभी थोड़ी देर बाद कामुक सिसकारियां भरने लगीं ‘सस्स्स्स … अहह हह … अम्म!’मैं डर गया और मैंने हाथ खींच लिया. दोपहर उसने फिर फ़ोन किया और फिर से उसने इधर की बातों के साथ मेरे बारे में पूछताछ शुरू कर दी.

मैं तो बड़ा ही कमीना था, दीपक से पहले मैं दोनों को चोदना चाहता था तो मैं उन मां बेटी से बोला- रिपोर्ट तो कल आएगी, चलो शहर घूमते हैं.

मैंने धीरे से रूम को अन्दर से लॉक किया और बिना किसी आहट के पीछे जाकर रूपा को अपनी बांहों में भर लिया. जी … अच्छा लग रहा है!” मैंने जवाब दिया और फिर से उनके मेरे होंठों पर लंड रखते ही मैंने अपने मुँह को खोल लिया.

उसकी गद्देदार हिलती गांड को देखकर मेरा जोश और भी ज्यादा बढ़ता जा रहा था. मन तो किया कि अभी पकड़ कर चोद दूँ उसको, मगर डर था कि कहीं कोई देख ना ले. वह सब बताने लगी कि मैं अपने बॉयफ्रेंड से फोन सेक्स कर रही थी इसीलिये नंगी थी.

गुड़िया मेरी क्लासमेट थी, पर हमने कभी बात नहीं की थी और ना ही मैंने कभी उसकी तरफ ध्यान दिया था. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कि नेहा की मुनिया अपने आप ही मेरे लंड को अब अन्दर खींच रही हो. मुझे देखकर हेमा शरमाने की बजाए मुस्कुराने लगी और जब मैंने उससे सोहन के बारे में पूछा तो कहने लगी- उसे छोड़ो यार … और मेरे पास आओ, मुझे चोदो.

वीडियो बीएफ भेजें उसके चूसने के अंदाज से साफ पता चल रहा था कि वो पहले भी इसका स्वाद ले चुकी है. मैं वंदना के ऊपर से हटा और उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रख कर चुत पर अपने लंड को रगड़ने लगा.

बीएफ फिल्म खुलेआम

मकान मालिक, मकान मालकिन और उनकी भतीजी नेहा 9 बजे तक अपने बेडरूम में जाके सो जाते. यार क्या बच्चों की सी बात करती है? पहली बार में थोड़ी स्वेलिंग हो गई. मेरे शहर में मुझे बहुत मौके आए परंतु शहर में ज्यादा पहचान के वजह से और पत्नी के अलावा दूसरी लड़की या औरत की तरफ ध्यान देने का साहस नहीं हुआ और अपने शहर में मैं दूसरी का मजा ले नहीं सका.

वह दिखने में अच्छी है, गर्दाया हुआ जिस्म है, या यूं कहें कि किसी का भी लंड खड़ा कर सकती है. ऐसे में प्रशांत ने बाइक को आगे गेट पर ही छोड़ दी और अपने फ्लैट में आने के बाद वाशरूम की राह पकड़ी. एक्सएक्स देसी सेक्सी वीडियोवो भी मुझे करीब देख कर चौंक सा गया, पर उसकी आंखों में ख़ुशी झलक रही थी.

मामा अब बहुत ज़्यादा तड़पने लगे थे और उनका लंड हर 2-3 सेकेंड में झटके से ऊपर की ओर उठ जाता था, जो कि गम्भीर चुदाई को तरस रहा था.

मुझे ऐसा लगा कि एक किसी पतली सी गली में मेरे लंड फंस गया हो और उस गली में आग लग गयी हो. मुझे लगता जैसे मेरी चोरी पकड़ी गयी हो और मैं अपनी नजरें घुमा लेता था।ऐसे ही देखते देखते न जाने कब पूरी रात निकल गई पता ही नहीं चला.

फिर उसने कहा- मैंने एक कहानी पढ़ी थी, उसमें एक आदमी अपनी बीवी को दूसरे मर्द से चुदवाता है. मैंने पीछे से सोनू के चूतड़ों में अपना लंड लगाया और उसको बांहों में ले लिया. भले ही उनका राज खुलने के बाद हफ्ते-दस दिन तक यह बात मुझे नागवार गुजरी हो, मगर बाद में सचमुच एहसास हुआ कि उसके खुलेपन के चलते ही मेरी जिंदगी रंगीन बन सकी.

मैंने उसकी लेगिंग को उतारने के लिए कहा क्योंकि वहां पूरे कपड़े उतारना संभव नहीं था.

उसके कुछ लड़कों के साथ की चुदाई के वीडियो पूरे कॉलेज में वायरल हो गए थे. प्रिया की चुत भी उसकी बहन नेहा के जैसी ही लग रही थी बिल्कुल‌ छोटी सी और काफी फूली हुई. नेहा अब भी अपना सिर मेरे पैरों की तरफ ही करके लेटी हुई थी, उसकी जांघें खुली हुई थीं, इसलिए उसकी फुली हुई चुत ने अब फिर से मेरा ध्यान अपनी तरफ खींच लिया.

हिंदी एचडी सेक्सी हिंदी एचडीदूसरे ने कहा- हां रे … इसको तो अपने को पूरा नशा करके स्टॅमिना बढ़ा कर ही चोदना होगा … साली को बहुत बड़ा वाला लंड लगेगा. खैर नीना ने अपनी हमराज सहेली मनीषा से इसका प्राथमिक इलाज पूछा, तो मनीषा ने हंसते हुए चुटकी ली- भाई साहब तो हैं नहीं … किसके साथ टांका भिड़ गया मेरी मैडम का? ऊपर से बेरहम ने इतनी तगड़ी धुनाई कर दी.

शहर की बीएफ

वो मुझसे बोला- साली कुतिया कहां से आई है तू … तेरी तो बहुत मस्त गांड है. लेकिन मेरी बात तुमसे हुई और मेरे जेहन में एक बात आयी कि अगर दोस्ती करनी है, तो बस तुमसे ही. फिर कुछ देर के बाद उन्होंने अपना काम खत्म करके मुझे दही लाकर दिया और उसी समय उनका नर्म हाथ मेरे हाथ से टकरा गया जिसकी वजह से मैं मचल गया और मैं उनकी तरफ मुस्कुराता हुआ अपने घर आ गया.

मैंने उससे मिलने की बात की, तो वो कहने लगी कि जब कभी भैया घर पर नहीं होंगे, तो देखते हैं. मीनाक्षी इस पर चुपचाप मेरे पास बैठ गई और कहने लगी- हां भाई आपकी बात बिल्कुल सही है … हमारी सैटिंग हो गई है और मैं उससे प्यार करती हूँ. शादी के इस अवसर पर जब भी हमें मौका मिला, हम भाई बहन ने सेक्स किया और मैंने हर बार उसकी गांड मारी.

ऐसा कहते हुए मैंने जोर से पुनीत का लंड पकड़ कर अपने मुँह में भर लिया और जोर जोर से चूसने लगी. जब वह मेरे होंठों को चूसने लगा तो मन कर रहा था कि बस यहीं चुदवा लूं अपनी निगोड़ी चूत को।इसके बाद अगले भाग में बताऊंगी कि कैसे मैंने राहुल से अपनी चूत का उद्घाटन करवाया। आप सभी लोग अपने विचार मुझे यहाँ बताएं।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:देवर जी को ही पतिदेव मान लिया-2. तभी उन्होंने कहा कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?उनकी एकदम से इस तरह की बात करने लग जाने से मैं चौंक गया कि मैम ये क्या कह रही हैं.

थोड़ी देर में दोनों ने कपड़े पहने और मामा मुझे पैदल ही अपने नानाजी के पास ये कहते हुए छोड़ आये कि मैं मोटरसाइकिल पर पीछे बैठकर कुछ समान पकड़कर गांव से खेत पर लाया था, इसलिए सामान छोड़ने रवि मामा के खेत तक गया था. लिहाजा नीना ने खुद ही अपनी पैंटी नीचे सरका दी और शुरू हो गई खास चुदाई की अनोखी सेरेमनी.

मैं कभी कभी अपनी गांड उठा उतार कर अपने देवर का लंड पूरा अपनी चूत में ले रही थी.

नीचे गाड़ी लगी थी, राज अंकल आए और बोले- चलो सोनू, वापस घर चलते हैं. इंग्लिश सेक्सी वीडियो इंग्लिश फिल्म‘वाह चिकनी जांघें, भरपूर चूतड़, बिना बालों की चूत और भरी भरी चुचियां. ब्लू सेक्सी हिंदी में चुदाई वालीमैंने अपने लंड का सारा पानी उसकी प्यारी सी चुत में छोड़ दिया और उसके ऊपर ही सो गया. मैं अब खड़ा हो गया था और झटके से एक बार में ही उसे गोद में उठा लिया.

मेरा दोस्त मेरी बहन को नहीं जानता था, वो उसकी चुदाई के मज़े ले रहा था.

मैं सीट पकड़े खड़ी थी तभी वहीं टॉवल जगत अंकल ने उनको दे दी, मेरी स्कर्ट नीचे हो गई थी तो टॉवल की ओट बना कर उन अंकल ने अपनी तरफ टॉवल करके अपना जिप खोल कर लंड को बाहर निकाल लिया. प्रमिला के लिए गांड चाटना शायद पहली बार था, तो वो थोड़ा संकोच कर रही थी. मैंने पूछा- भाभी मैं समझ नहीं पाया कि मजबूत हो जाएंगे से क्या मतलब हुआ है?भाभी ने मुझे सब बताते हुए कहा- मेरे पति मुझे खुश नहीं कर सकते और मेरी भूख नहीं मिटा सकते.

अपनी‌ शर्ट और ब्रा को उतारने के बाद प्रिया फिर से मुझ पर टूट पड़ी थी और अपनी चूचियों के तीखे चोंच को मेरे सीने में चुभोते हुए मेरे होंठों को जोरों से चूमने चाटने लगी. कुछ देर तो रुको, इतना तो मैं कभी पूरे सेक्स के बाद नहीं झड़ी, जितना तुमने बिना हाथ लगाये झाड़ दिया. मैंने कहा- भाभी थकान हो जाती है, प्राइवेट नौकरी पैसे तो देती है, लेकिन तेल निकाल लेती है और उस कारण थकान को मिटाने के लिए रोज 2 पैग लगाकर खाना खा कर सो जाता हूँ.

मुसलमान के बीएफ सेक्सी

उसके बालों में हाथ फेरते हुए मैंने पूछा- क्या मुझे अब और आगे जाने की परमिशन है?उसने मेरी छाती पर प्यार से मुक्का मारते हुए कहा- अब इस सवाल का क्या मतलब है? मजाक करना ही था तो अन्दर घुसेड़ कर पूछते कि आगे बढ़ने की इजाजत है. कुछ दिन बाद भाभी वापस आईं और उसी दिन उनसे फोन पर बात हुई तो मैंने उनसे किस माँगा. वो अपने लंड से मेरे मुँह में धक्के पर धक्के मारे जा रहा था और साथ ही मेरे मम्मों को बड़ी बेदर्दी से मसले जा रहा था.

तुम बेफिक्र चोदो … जब मेरी चूत में तेरे लंड की रगड़ पड़ेगी, तो इसकी गर्मी कम हो जाएगी.

धीरे-धीरे मैंने भाभी को बेड पर लेटा लिया और फिर उसकी साड़ी को खोलना शुरू कर दिया.

हुक के खुलते ही घाघरा उसके पैरों से होता हुआ नीचे फर्श पर गिर गया और कमरे में जैसे कि उजाला बढ़ सा गया. मेरे पति, जिनका नाम प्रवीण है, मुझे नई नई पोजिशनों में काफी देर तक चोदते हैं, जो मुझे बहुत पसंद है. सेक्सी वीडियो बताओ ओपनमैंने उसकी टांगों को फैलाकर उसकी चूत को पैंटी के ऊपर से ही रगड़ दिया.

मैं उसके रस भरे मम्मों को मसलता और ऊपर से उसके जिस्म का मजा लेने लगा था. मैंने कहा- पर मिलेंगे कहाँ?वह बोले- मेरे फार्महाउस में चलोगी मेरे साथ?मैंने कहा- सोच कर बताऊंगी. मगर मुझे नींद नहीं आ रही थी तो मैंने डरते डरते भाभी के ऊपर अपना एक हाथ रख दिया.

अब वो अपनी चुत मेरे मुँह पर ऐसे मारने लगी, जैसे वो मेरे मुँह को चोद रही हो. मैं बिस्तर पर लेटी थी और उसने एक बार मुठ मार कर सारा माल बिस्तर पर गिरा दिया.

घर में अन्दर पहुंचते ही हम दोनों ने एक दूसरे को गले से लगाया और कुछ देर चिपके रहे.

मैंने तुरंत उसका यूजर नाम पढ़ लिया और आंटी को थैंक्यू बोल कर सिलिंडर लेकर घर आ गया. मैंने थोड़ा बनते हुए उसे कुछ देर और गिड़गिड़ाने दिया और फिर माफ कर दिया. थोड़ी देर बाद उसने कहा- क्या आप यह बॉटल बाथरूम में जाकर खाली कर देंगे.

बंदर की सेक्सी पिक्चर मैंने इस बीच उसका गाउन उतारा और उसकी गदराई हुई जवानी को देख देख कर मस्त होने लगा. जैसे जैसे अंकल उंगली मेरी चूत में रगड़कर अन्दर बाहर कर रहे थे, मैं उतनी ही जोर-जोर से हांफने लगी थीं … वो भी तेजी से … मेरे ना चाहने पर भी मेरे मुँह से ‘उंह उंह आह वोहह …’ की आवाज निकलने लगीं.

अब लगातार नागिन की तरह मेरी योनि में लहरा रही उसकी जीभ से मैं बेकाबू हो चुकी थी और अपने आपको सिसकारियाँ भरने से भी नहीं रोक पा रही थी,आह … सररर … आआआह …”पगली … सर की हालत भी तेरी ही तरह हो चुकी है … कुछ मत बोल अब … अब तो मुझे घुसाने दे जल्दी से!” बोल कर वह खड़ा हो गया. फिर उसने मेरे होंठों पर किस करते हुए एक ज़ोरदार धक्का लगाया जिससे उसका आधा लंड मेरी चूत में समा गया जिसके कारण मुझे बहुत दर्द हुआ और उम्म्ह… अहह… हय… याह… मैं दर्द के मारे छटपटाने लगी. बात उस समय की है जब मैंने एक सोशल साइट पर कॉल ब्वॉय की आई-डी बनाई थी.

बीएफ हिंदी 2022

अब अरुणा के मुँह में कोई शब्द नहीं था क्योंकि उसकी आंखें तो अंकल के लंड पे टिक गई थीं. आपको याद करके मैं रोज़ मुठ मारता था, पर कभी भी झड़ने में वो मज़ा नहीं आया, जो आज आया है. ”जान निकाल दी आपने तो मेरी … मेरी सील तोड़ राजा … आज पहली बार ऐसा लगा कि चुदाई हुई है मेरी … अब आपका जब जी करे, मुझे चोदने आ जाना.

फट से उसकी पैंट को नीचे किया और देखा कि उसकी चूत पर छोटे-छोटे बाल थे. उसकी नई-नई चूचियों को भींचते हुए उसकी चूत में लंड डालने का चस्का मुझे ऐसा लग चुका था कि मैं जल्दी ही अपने चरम पर पहुंच जाता था.

मैंने कहा- मतलब?तो वो बोली- मेमसाब ने बोला था कि मेरे आने तक साब की अच्छी से सेवा करना … उन्हें मेरी कमी नहीं महसूस होनी चाहिये.

मेरी सहेली मुझसे बड़ी चुदैल है, वो अपने बॉयफ्रेंड्स से चुदवाने के लिए होटल तक में चली जाती थी. या फिर पता नहीं कब मेरा मूड बन जाए और मैं अपने पति के सामने अपना छेद खोल कर औंधी हो जाऊं. ” वाली बात आ गयी … ओह … तो ये दवाई तैयार कर रही थी वो मेरे लिये … ये बात मेरे दिमाग में आते ही मैं उत्तेजना से भर गया और मेरी हथेली ने उसकी कमसिन चूत को पूरी तरह से अपनी मुट्ठी में भरकर जोर से मसल दिया.

मेरे पापा आप जैसे नहीं हैं, उन्होंने कभी मुझसे ठीक से प्यार नहीं किया, इसलिए शायद मैं आप जैसे लोगों से अपनी कमी पूरी करना चाहता हूँ. कुछ देर के बाद मामी को उसने नीचे लेटा दिया और वह मामी के ऊपर चढ़ गया. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा प्रणाम! मैं इस साइट का नियमित पाठक हूँ.

फिर मैंने उसकी गुदा पे जीभ फिराई, तो वो पागल हो गयी और गुदा चाटने के कारण वो मस्ती से गांड ऊपर नीचे करने लगी.

वीडियो बीएफ भेजें: पुष्कर मेले में घूम कर हम अजमेर के फेमस होटल से खाना पैक करवा कर अपने फ्लैट पर आ गए. क्योंकि चुदाई की मस्ती के चलते ये होश ही था कि लंड का रस और चूत की मलाई किधर टपक रही थी.

मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि सुलेखा भाभी इतनी जल्दी कैसे गर्म हो गयी थीं. सरिता खुद मुझे एअरपोर्ट लेने आई थी, लाल ड्रेस ऊपर दुपट्टा डाले, वो गजब की माल लग रही थी. मेरी पिछली कहानीकरवा चौथ की रात मनाई सुहागरातके लिए मुझे आप सभी ने इतना प्यार दिया कि मैं एक ओर कहानी लिखने को विवश कर दिया.

कुछ दिन बाद फिर से हम दोनों की नाईट ड्यूटी एक साथ लगी थी। हमने फोन पर बात की और एक साथ ही पहुँचे.

वैसे भी आजाद ख्यालों की चुदक्कड़ लैंड लेडी नीना के लिए यह घटना वरदान साबित होगी, यह बात उसे अच्छी तरह पता थी. चलो‌ मेरे लिए ये तो अच्छा ही हो गया‌ था‌ कि नेहा और प्रिया को भी सुलेखा भाभी के बारे में मालूम हो‌ गया‌ था. उनकी इस चुदाई की इच्छा भरी कामुक मस्ती के जवाब में मैं भी अपना करतब दिखाने को व्याकुल था.