हीनदी बीएफ बडीओ

छवि स्रोत,கல்லூரிசெக்ஸ்

तस्वीर का शीर्षक ,

इंडियन गर्ल्स नंबर: हीनदी बीएफ बडीओ, अब मैं धीमी आवाज़ में बोली- मैं सहेली की मम्मी को देखने अस्पताल में आई हूँ.

हिंदी सेक्सी एचडी हिंदी

तो बॉबी भैया मुझे खुद आगरा वाले मकान पर निमंत्रण देने के लिए आये थे. सेक्सी वीडियो पिक्चर एचडी मेंतब मैंने काकी को देखा वो मुझे घूर कर देख रही थीं, उन्होंने कहा- तू बहुत बड़ा हो गया.

सब फ्रेश होने के बाद नाश्ता करते वक़्त सागर ने मीना को बोला- दीदी, रात को नींद आई ना ठीक से?मीना शर्मा कर नीचे देखने लगी. जूते ऑनलाइन कीमतफिर मैंने एक तौलिया लाकर पूरा साफ किया और धो कर दूसरी पैंटी और लोअर पहन लिया.

ओय… क्या कर रहा है… छोड़ मुझे…मुझसे अब रहा नहीं गया और मैंने अपने होंठ धीरे से ममता जी के होंठों पर रख दिए। मैंने सीधा ही उनके होंठों को चूमा नहीं बल्कि धीरे धीरे बहुत ही हल्के से अपने होंठों को ममता जी के होंठों पर रगड़ने लगा जिससे उनके होंठ थरथराने लगे- म्म्म.हीनदी बीएफ बडीओ: मैंने अंदर चड्डी नहीं पहनी थी तो पैंट उतार कर मेरी चूत यानी भाई अपनी बहन की चूत में अपनी जीभ लगा कर चूसने लगा.

उसमें केवल एक गले पर बंधी पट्टी खोलोगे वो नीचे तक बिना कपड़ों के हो जाएगी.उसके साथ जो भी मसला रहा हो लेकिन अभी उसके लिपटने पर मेरा शैतान खड़ा होने लगा.

फुल हद सेक्सी हिंदी - हीनदी बीएफ बडीओ

मैंने कहा- मेरा वीर्य तुम्हारे अंदर है, तुम प्रग्नेंट हो सकती हो!तो वो डर गयी, फिर मैंने समझाया कि मैं तुम्हें कॉन्ट्रासेप्टिव पिल ला दूंगा और नेक्स्ट टाइम से कंडोम यूज़ करेंगे।फिर वो मुझसे कुछ देर तक लिपटी रही और मौक़ा मिलते ही बुर की चुदाई का वादा कर के चली गयी.मैं सारा दिन सोचती रही कि इस वर्षा का अकड़ घमंड उतार कर ही दम लूँगी.

मैं बोली- मजदूरों को चाय देने कौन जाता है?वो मुँह बना कर बोली- मजदूर खुद ही होटल से मंगवा कर पी लेते हैं. हीनदी बीएफ बडीओ वो भी मुझे देख क़र मुँह घुमा लेती और दूसरे लड़कों के संग बात करती और सबके साथ घूमती.

सलमा मदहोशी में कराह रही थी और कमर को हवा में लहराते हुए शिशिर से चुदवा रही थी.

हीनदी बीएफ बडीओ?

तभी मैंने दीदी के हाथ छोड़ दिए और दीदी की पीठ पर अपने हाथ रख के दीदी को नीचे दबा लिया ताकि वो उठ ना सके और साथ ही अपने जिस्म को थोड़ा हवा में भी उठा लिया ताकि स्पीड तेज कर सकूँ. वो बोली- असली का तो यही देखा है, विअसे पोर्न फिल्मों में तो खूब देखे है, तेरा भी विअसा ही है. अंकित के झुकने से उसके लंड के ऊपर का हिस्सा माया की चूत के दाने को रगड़ने लगा.

घर पर सब बहन के लिए रिश्ता तलाशने में लगे थे परंतु उसका रिश्ता कहीं से भी नहीं हो पा रहा था और वो बहुत परेशान थे. मैंने भाभी को जल्द से चोदना बेहतर समझा और भाभी को नंगी करके उनकी टांगें फैला दीं. मेघा के ऊपर जाते ही संजय बोला- ये शाल क्यों ओढ़ा है?लो उतार देती हूँ.

उस समय मैं चाहती थी कि बस ऐसे ही मेरी चुदाई होती रहे और मैं झड़ती रहूँ!पर हर चीज़ जो शुरू होती है, उसे खत्म भी होना होता है, सिल्ली भी अपने चरम पर पहुँच गया, उसने मेरे स्तनों को कस के भींच लिया और लम्बे-2 झटके देते हुए झड़ गया।सिल्ली और मैं काफी देर तक वहीं बैठे रहे. मीना- नहीं भैया मैंने बहुत इन्जॉय किया, भैया एक बात पूछू आपसे, अगर आप बुरा ना माने तो?सागर- अरे डरो नहीं, खुल के कुछ भी पूछो. इस बार उसकी चूत के होंठ स्वतः ही खुल गये और मैंने उसकी भगनासा को जीभ से हौले से छुआ.

चूत के दाने पर मेरी जीभ लगते ही बहूरानी के मुंह से एक आनन्ददायक सिसकारी निकल गयी और वो बर्थ पर अधलेटी सी हो गयी और अपनी पीठ पीछे टिका ली, फिर उसने अपनी टाँगें मेरी गर्दन में लिपटा कर मेरा मुंह अपनी चूत पर दबा दिया और मेरे बाल सहलाने लगी. शादी के बाद भी ब्वॉयफ्रेंड है क्या?वो बोली- नहीं, ऐसी कोई बात नहीं है.

पहले तो पुलकित मंजरी की पीठ पर हाथ फेरता हुआ इधर उधर की बातें करता रहा, फिर उसने मंजरी का दुपट्टा उतार दिया.

तो मैंने उसकी चूचियों को कस कर दोनों हाथों से पकड़ा और एक ही झटके में जड़ तक लंड उतार दिया.

चूँकि अम्मी किचन से ठीक बाहर बने डाइनिंग रूम में डाइनिंग टेबल पर बैठी थीं तो हमने कुछ और करना उचित नहीं समझा और मैं मुस्कुरा कर बाहर आ गया. भाभी ने मेरा पैन्ट खोला फिर मेरे अंडरवियर को निकाल कर मेरे लंड को आज़ाद किया और लॉलीपॉप की तरह चूसना चालू कर दिया. माया के 36C के भारी भारी मम्मे अंकित के हर धक्के से ताल से ताल मिला रहे थे.

यह मेरी पहली रियल सेक्स स्टोरी है, मुझ से कोई गलती हुई हो तो मुझे माफ़ कर देना. वो भी गांड पीछे कर के मुझको और जोश दिलाते हुए रेखा से बोली- देख साली. बेचारी को दो दिन से वायग्रा का ओवरडोज दिया था, खून का प्रेशर चूत पर ही दबाव कर रह था.

खुशबू ने जल्दी से कपड़े पहने और जाने लगी, तो मैंने जाने नहीं दिया और पैन्ट के ऊपर से ही अपना लंड उसकी चूत पे दबाने लगा.

पति ने चोदना छोड़ दिया तो अपनी वासना की पूर्ति के लिए और धन अर्जन के लिए मैंने अपने तन का सौदा करने का फैसला किया. मुंबई में रहता हूँ और मैं अपने दोस्तो में, अपने एरिया में सबको अच्छा लगता हूँ. अनामिका मस्ती में पागल हो गई और अपनी चुत में लंड डालने की माँग करने लगी।रमन ने मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ा और अपनी पत्नी की चुत पर दबा दिया। तभी रमन ने मेरे लंड पर अपने हाथों से कंडोम लगा कर अनामिका की चुत पर दबा दिया.

हो सकता है कुछ भाभी प्रेमी देवर इन सब से अलग कुछ और इच्छाएं अपनी भाभी से पूरी करवाना चाहते होंगे, वे सब मुझे लिखें जो इच्छाएं यहाँ लिखने से रह गई हैं. अब तो हम दोनों 69 की पोज़िशन में हो गए थे और मस्ती भरा ओरल सेक्स कर रहे थे. फिर मैंने उसको अपनी बांहों में उठा कर बेड पे लिटा दिया और उसके दोनों हाथों को पकड़ कर उसके होंठों पर किस करने लग गया.

मुझसे उसकी चुत को देख कर रहा नहीं गया, मैंने उसकी टांगें फैलाईं और अपनी जीभ से उसकी चुत को चाटने लगा.

जब वो स्खलित हुई तो उसने पुलकित का लंड अपना मुँह से निकाल दिया और उसकी जांघ पर बहुत ज़ोर से काट लिया. मैंने पूनम को देखा तो पूनम का भीगा हुआ बदन मुझे मदहोश कर रहा था क्योंकि भीगने से उसकी साड़ी उसके बदन से ऐसे चिपक गई थी, जैसे लड़का लड़की सेक्स के टाइम चिपके हुए होते हैं.

हीनदी बीएफ बडीओ मतलब एक तिरछी बड़ी पट्टी सी थी, जो केवल चुचियों और उसी तरह पीठ को बंद करती थी. मैंने ब्रा के ऊपर से ही मम्मों को किस किया और हाथ नीचे करके चूत पे उंगली लगाना शुरू किया… तो देखा चूत गीली हो चुकी थी.

हीनदी बीएफ बडीओ उसने अपनी ऑडी A8 स्टार्ट की और एयरपोर्ट की तरफ ड्राइव करना शुरू किया. वो दोनों हाथों से बस का ऊपर वाला डंडा पकड़ कर खड़ी हो गईं और उनका लड़का हमारे बीच में आ गया.

कभी महेश अपनी जीभ मेरे मुँह में देता, जिसे मैं चूसती, तो कभी मेरी जीभ को वो चूसता और साथ ही साथ उसके हाथ मेरी पीठ पे घूम रहे थे.

गांव गांव का सेक्सी वीडियो

मेरी आँखों से निकली हुई आंसू की धारा मेरे गाल से बहती हुई गले तक आ रही थी. कितने सालों बाद वो मुठ मार रहा था; बाप बनने के बाद तो जैसे वो भूल ही गया था कि वो भी एक मर्द है।7-8 मिनट में ही उसके लन्ड ने माल उगल दिया।ठंडा होने पर उसने फ़ोन उठाया तो उषा के कई मैसेज आये हुए थे- मिस्टर किधर… कहाँ चले गए… शैगिंग?हम्म्म्म… तुमने मजबूर कर दिया था. मैंने पेंटी को साइड में सरका कर उसकी नंगी चूत पर उंगली फिराई तो वो शर्मा गई और जोर से सिसकारी भरी उसने!अब बारी थी उसकी पेंटी को उसकी जांघों से जुदा करने की… मैंने पेंटी को उतार कर उसको पूरी नंगी क़र दिया और मैं उसकी नंगी चूत को अपने हाथ से सहलाने लगा, उसकी भगनासा पर मैंने उंगली से दबाया तो वो कांप उठी, उसके मुख से सीय… सीय हह निकलने लगी.

मम्मी?”बोलो?”यह सब क्या है? आप कैसे जानती हो अंकल को?”तुम्हारी कॉलेज की हर छिनाल हरकत से मैं वाकिफ़ हूँ बेटा. पैसों की मुझे जरूरत थी ही, तो मैंने ले लिए और रूचि मुझे घर छोड़ने के लिए आने लगी तो मैंने कहा- आप आराम कीजिए, मैं ऑटो लेकर चला जाऊँगा. उसने वो मुझे देते हुए कहा- तुम ड्रेस बदल लो, इसमें तुम्हें परेशानी होती है.

अंजलि दीदी ने मेरे लंड को मुख से निकाला और बोली- चल भाई, अब दे ड़े अपनी दीदी को असली चुदाई के स्वर्ग का आनन्द!मैं उठा अपने पूरे कपडे उतारे, इतनी देर में दीदी ने अपने सारे कपडे उतार दिए थे, दीदी ने बिस्तर पर लेट कर अपनी दोनों टाँगें खोली और चूत का फाटक मेरे सामने खोल के रख दिया.

शीतल उन्हें ध्यान से देखने लगी, उसकी नज़रों से लग रहा था कि वो बहुत प्यासी है. अन्तर्वासना पर ये मेरी दूसरी हिंदी सेक्सी स्टोरी है और पूरी तरह काल्पनिक है. वो कुछ नहीं बोली, तो मैंने उसके बालों को पीछे कर के उसकी गर्दन पे किस कर दिया.

उसके चूतड़ों पर अपने थप्पड़ बजाते बजाते जैसे ही एड्रिआना झड़ी, उसने अपनी चुत को सिकोड़ लिया और इसी के साथ मैं भी अपना कण्ट्रोल खो बैठा और मेरे मुँह से किसी सांड की तरह हुंकार निकली और मेरा वीर्य मैंने उसके नितम्बों पर छोड़ दिया. मैंने भी जाकर उसकी गोद में जाँघों पर बैठ कर रवि के लंड को अपनी चुत में ले लिया. लिप किस करते करते मेरे हाथ उसके बूब्स पर चलने लगे तो वो बोली- मेरी शर्ट ख़राब हो जायेगी, मैं वापस कैसे जाऊँगी.

मामी ने मेरे लंड खुद ही अपने हाथ से पकड़ा और चूत के छेद पर लगा कर धक्का लगाने को बोलीं. मेरा भाई बहुत स्मार्ट है, उसे मॉडल बनने की बड़ी तमन्ना है, वो बहुत स्टाइलिश भी है.

(मुठ मारने के कारण मेरा लंड टेढ़ा हो गया है)मैंने भी कहा- होने दो भाभी. तभी गीतांजलि बोल पड़ी- मुझे यहाँ किस लिये बुलाया है?तो सिमरन बोली- रुक जा, पहले इनको फ्री कर दूँ, उसके बाद तुझसे बात करुँगी ओ. मैं किस करने लगा और मुझे लगा कि भाभी मुझसे ज्यादा किस करने का मजा ले रही थीं.

कुछ ही देर में मुझे काफी नशा हो गया था और निहारिका को भी नशा चढ़ गया था.

मैं भी डर गया पर उनकी ननद को देख मेरा लंड खड़ा हो गया और खड़ा लंड पैन्ट के ऊपर साफ़ दिख रहा था. अब मैं ये सोच रही थी कि 4 बजे क्या होगा? फिर मैं दरवाजा बंद करके अन्दर आ गई और सारे काम छोड़ कर उस पैक को खोलने लगी और जब मैंने पैक खोल कर देखा तो मेरी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा क्योंकि ड्रेस बहुत अच्छी थी. मैं समझ गया कि पिंकी को जवानी के इस खेल में मजा आ रहा था और वो इस खेल को समझ रही थी.

मैं सीधा कमरे में से वो किताब लेकर आया और चाची को नासमझे अंदाज़ में बोल दिया कि ऐसा क्या कर रहे हैं, इन्होंने कपड़े क्यों नहीं पहने, छी: ये कितने गंदे लोग हैं, इन्हें शर्म नहीं आती क्या? ये क्या गन्दा काम कर रहे हैं?पर उसी समय मेरी पैंट में तम्बू बन गया था. दोस्तो, मुझे इस वक्त भी अपनी बीवी के वो सीन याद आ गए हैं और मेरा लंड खड़ा हो गया है.

सोनी बहुत ज़्यादा उसूलों वाली लड़की जिसके बारे कभी गलत सोचा भी नहीं जा सकता था. मेरा पति तो ओरल सेक्स जैसा कुछ भी नहीं करता है, बस चढ़ता है और पानी गिरा कर उतर जाता है. फिर एक लम्बी सी सांस लेते हुए वो जल्दी से मुझे अपने से दूर धकेलते हुए बिस्तर से उठने का प्रयास करने लगी.

इसी सेक्सी

मैंने किचन में ही वर्षा की सब्जी में एक कैप्सूल कूट कर पावडर करके मिला दिया, फिर थोड़ा सोच कर एक और कैप्सूल और कूट कर मिला दिया.

तीनों बहनों की शादी में मैं बहुत छोटा था इस कारण मुझे सब कुछ याद नहीं है, लेकिन बॉबी भैया की शादी का मुझे बहुत अच्छी तरह ध्यान है. वो भी अपनी गांड को ऊपर उठा उठा कर मेरा पूरा साथ दे रही थी और पूरा कमरा ‘आअह ओह्ह उह्ह्ह…’ की मादक आवाजों से गूंज रहा था. होली का दिन था, होली पे भाभी के कज़िन्स के कुछ दोस्त भी आए थे, सो मैं भी वहां होली खेलने चला गया था.

मैंने पूरा पानी साफ करके उन्हें गोद में उठाकर बेड पर लेटा दिया और खुद फ्रिज से कुछ बर्फ के टुकड़े ले आया. अपनी चूत की खुजली को मिटाने का भी यह एक सही तरीका है, इसमें ना बाहर की बदनामी का डर, ना कुछ. मैसेंजर डाउनलोड करना हैबाद में दीदी के हुई बातचीत में अंजलि ने बताया कि वो पड़ोस के शहर में एक प्राइवेट स्कूल में इंग्लिश टीचर है और वहां टू रूम फ्लैट में अकेली रहती है.

फिर वो उठी और उसने बच्चे को लिटा कर साड़ी पेटीकोट को भी निकाल दिया और पूरी नंगी हो गई. बाद में दीदी के हुई बातचीत में अंजलि ने बताया कि वो पड़ोस के शहर में एक प्राइवेट स्कूल में इंग्लिश टीचर है और वहां टू रूम फ्लैट में अकेली रहती है.

और अब मैं भी झड़ने ही वाला था तो वो बोली- मुझे मुंह में पानी लेना पसंद नहीं है. उसने मुझे बैठने के लिए बोला और बोली- मैं अभी अपने कपड़े बदल कर आती हूँ. तीन चार मिनट तक लौड़ा चूसने के बाद उसने मॉम को खड़ा किया और मॉम का लहँगा आगे से उठा कर मॉम की पैंटी पूरी निकाल दी और अपनी पैन्ट की जेब में रख ली.

यह सुनते ही मैंने शार्ट्स नीचे की ओर किया, मेरा लंड बिल्कुल स्ट्रेट खड़ा देख कर वो हंसने लगी, वो बोली- लंड तो तेरा बहुत बड़ा है. उसके बाद मैं वापस आकर बिस्तर पर सो गई।अब तो करीब करीब हर रोज़ रात को मेरा भाई मेरी चूत मारता है और दिन में मौका मिलता है तो कभी अब्बू से तो कभी फरीद से चुदवा लेती हूं।मेरी चूत को तीन तीन लंड नसीब हो रहे हैं. मैं- देखा तुम्हारे दोस्त ने मिनी को कि नहीं?अमित- हां देखा है, और दीवाना हो गया है और मुझसे कल से यही कह रहा है कि यार कुछ भी करके मेरी मिनी से सैटिंग करवा दो, उसके लिए मैं कुछ भी कर सकता हूँ.

रोज तो ये मिलेगी नहीं, इसकी चुदाई देख कर ही अपने को ठंडा करना पड़ेगा। ताकि यह देख कर हम लोगों की रातें कट जाएं.

ये बोल कर मैं धमकाते हुए गुर्राया- बाप के मरते ही किससे चुद रही साली रांड बोल?वो डर गईं और बोलने लगीं- माफ़ कर दे. तभी तो लौड़े आयेंगे तेरे पास! फिर किसी को अपना बना लेना!मैं नहीं नहीं कहती रही, मौसी बोली- जैसे मैं कहती हूँ, वैसा कर… फिर देख!और जबरन मुझे वे कपड़े पहनाने लगी.

अमित- ठीक है करवा दूंगा पर कैसे? तुम ही बताओ, तुम उसके करीब रहती हो. वो अब बोले जा रही थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… प्लीज़ मुझे छोड़ दो… तुम जो कहोगे वो करूँगी… लेकिन अभी रुक जाओ… प्लीज़… आह… मम्मी मर गई… संजू प्लीज़… आह…लेकिन मैं नहीं माना और अपनी जीभ भाभी की चूत के दाने पर रगड़ता ही रहा. इसलिए वह जब भी विकास से मिलने आती थी तो अपने साथ किसी न किसी फ्रेंड को साथ लाती थी, जिस पर पूजा के घर वाले भरोसा करते हों.

उस दिन मैं तुरंत अविनाश के साथ बाइक से एक पार्क में गई और वहां झाड़ियों की आड़ में उसके लंड को निकाल कर चूसने लगी. मैं कार में पैरों वाली जगह दुबक कर बैठ गई, मुझे भी डर बहुत लग रहा था. राहुल अपनी मर्जी कर रहा था, उसने अपनी भाभी के होंठों को चूस चूस कर उनको सुजा दिया.

हीनदी बीएफ बडीओ मुझे बहुत दर्द हुआ, लेकिन मेरे लिप पर वो इतना ज़ोर से लिप किस कर रहा था कि मैं चिल्ला ना सकी. मैं मना नहीं कर पायी और अगले दिन उनको अपने फ्लैट पर पार्टी के लिये आने को बोल दिया।अगले दिन बॉस ने मुझसे पार्टी में क्या ले लिया ये अगली हॉट कहानी में बताऊंगी।पहले आप बताएं कि आपको मेरी हॉट चुत की दूसरी चुदाई में मजा आया या नहीं![emailprotected].

नंगी सेक्सी पिक्चर भेजिए

कुछ देर बाद मेरी चूत ने लंड से दोस्ती कर ली और चुदाई का मजा आने लगा. तभी चाचा ने बोला- यार बृजेश, तू आ जा और आरती की चूत में डाल दे लंड… मैं तो झड़ गया, यह बहुत प्यासी है, अभी इसका पानी नहीं निकला!तब जो अंकल मेरे मुंह में लंड डाले थे, वह आ गए और मेरी टांग ऊपर कर के मेरी चूत में लंड फंसा कर जोर से धक्का दिया. मैंने जल्दी से दीदी के सर को पकड़ा और दीदी के लिप्स को किस करने लगा, दीदी के साफ़्ट लिप्स मेरे लिप्स में क़ैद हो गये और मैं बड़े प्यार से उनके लिप्स का रस पीने लगा, दीदी पूरी तरह नंगी थी और मेरे नंगे बदन पर लेटी हुई थी, दीदी के बड़े बूब्स मेरी छाती से दबे हुए थे, मेरे दोनों हाथ दीदी की नंगी पीठ को सहला रहे थे।जबकि दीदी के दोनों हाथ मेरे सर पर बड़े प्यार से घूम रहे थे.

मेरी जवानी की चुदाई की इस पोर्न कहानी के लिए आपके मस्त कमेंट्स का मुझे इन्तजार रहेगा. आअहह…बस 5 मिनट और चूसने के बाद उसका पानी निकल गया और मेरे चेहरे पर उसके चूत रस की मलाई फ़ैल गई. सेक्सी पिक्चर राजस्थानी मेंअब आगे:मैं नीचे फर्श पर ही बैठ गया और मैंने बहूरानी के दोनों पैर उठा कर अपने कन्धों पर रख लिये और उसकी कमर में दोनों हाथ डाल कर उसे अपनी ओर खींच लिया जिससे उसकी चूत मेरे मुंह के ठीक सामने आ गयी… बिल्कुल करीब; उसकी एकदम सफाचट चिकनी क्लीन शेव्ड चूत मेरे सामने थी.

तभी भाई एकदम से हल्का सा हिला तो मैं वहीं हाथ रोक कर दम साधे लेटी रही.

एक दिन जब मैं अपने घर पहुंचा तो मेरी मॉम का फोन आया उन्होंने मुझे बताया कि तुझे तेरे मामा के यहां जाना है, उन के यहाँ पर कोई काम है. उसने कंडोम हटा कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और मैंने भी दो-चार धक्कों में ही सारा अमृत उसके मुँह में छोड़ दिया.

मीना सागर की ओर देखने लगी, सागर का 8 इंच का लंड तना हुआ था और सलामी दे रहा था. उधर मेघा ने संजय को पार्क में बुलाया और उससे मिलने गई उसने टाइट टॉप और स्कर्ट पहना था. मगर तभी भीड़ भी वापस बस में चढ़ने लगी, तो आंटी अपने आपको संभाल नहीं पाईं और मेरी तरफ गिरने लगीं.

रोहण ने फिर से मौसी को झुका कर मौसी की चुत में अपना लंड पेल दिया और चोदा चोदी फिर से शुरू हो गई.

कहा और जितने पैसे मैंने फीस के रूप में जमा किये थे, उसके आधे पैसे मुझे वापस कर दिये, बाकी आधे पैसे की रसीद बना कर मुझे दे दी और उसने अपना कार्ड देकर शाम को मुझे उसके घर मिलने को कहा कि आपको मेरे घर एडमीशन फॉर्म फिल अप करने आना पड़ेगा, तभी आप क्लास जॉइन कर पाओगे अदरवाइज नहीं! ओ. अनुष्का बोली- देख कर क्या करेगा?मैंने कहा- मेरा बहुत मन करता है तुम्हें नंगा देखने को. अब एड्रिआना घबरा गई लेकिन मैंने उसे दिलासा दी और उसे समझाया कि वो यही बोले कि कल रात को पार्किंग में वो गिर गई थी और उसके पैर में मोच आ गई थी और मैंने उसके पैर की मालिश की और बाम लगाई और वो दवा की वजह से यहीं सो गई.

नया गांव की सेक्सीइधर मैंने दीदी की चूत में जीच से चाटा और उधर अंजलि दीदी ने मेरा आधा लंड अपने मुख में भर लिया. वो मेरे पास आई और अपना हाथ आगे बढ़ाया- हाय आई ऍम एड्रिआना एंड आई ऍम हेयर फॉर बिज़नेस कांफ्रेंस एंड व्हाट अबाउट यू?यहाँ मैं वार्तालाप को हिंदी में आपकी सुविधा के लिए बता देता हूँ.

पिक्चर दिखाइए सेक्सी पिक्चर

अब मेरी मम्मी मेरे ससुर से बोली- अब मेरी चूत को चोद कर इसका मजा लो!ससुर जी ने लंड ऊपर चढ़ कर उनके लंड को अपनी चूत पे सेट किया और ऊपर नीचे करके चूत की दरार में लंड रगड़ने लगे।ससुर जी बोले- आआह निर्मला, कितनी गर्म चूत है तेरी!और यह कह कर ससुर जी ने अपने चूतड़ों का झटका गला कर मेरी मम्मी की चुत में पूरा लंड घुसा दिया. सर- वो कुछ नहीं कहेगा और वहाँ तुम कुछ मना मत करना, बस मैं सब बता दूंगा वो कर देगी. उसने मयूरी की ब्लैक कलर की पैंटी को उसकी चूत के ऊपर से हटाया और देखा कि मयूरी की चूत बहुत गीली हो चुकी थी.

मैंने मस्ती मस्ती में भाभी से बोला- भाभी आप हमेशा नेट वाली पेंटी ही पहनती हो क्या?उन्होंने बोला- जी नहीं, आज आपकी पसंद से पहली बार पहनूंगी. मेरी शानदार वेश्या पत्नी ने किड के लंड को चूसना छोड़े बिना ओमार के लंड को अपने बाएँ हाथ में पकड़ कर सहलाना शुरू कर दिया. तो रवि ने कहा- अच्छा तो विवेक के साथ ग़लत नहीं है?मैंने कहा- मैं और विवेक एक दूसरे से प्यार करते हैं.

मोहन लाल ने दोनों को चूसते हुए देखकर उनके सर पे हाथ रखते हुए कहा- सदा खुश रहो मेरे बच्चों. मैं इस वक़्त को ख़ुशी से जी रहा था और चाहता था कि ये लड़की मेरी हो जाए, पर कहाँ वो इक्कीस बरस की और कहाँ मैं इकत्तीस बरस का. उसके बाद मैं उसकी बाँहों में ही लेटा रहा उस रात मैंने उसकी 4 बार चूत की चुदाई की और मैं सुबह घर वापस आ गया.

अलार्म बजते ही मेरी आँखें खुल गईं क्योंकि दिमाग में एक बात जो परेशान किए जा रही थी. ”सविता- हैलो मैं अच्छी हूँ और तुम?मेघा- मैं भी, घर पर ही हो क्या?सविता- हाँ क्यों क्या हुआ?मेघा- यार मैं और मेरा फ्रेंड यहाँ पार्क में थे, थोड़ा अजीब सा लग रहा है तो सोचा तेरे यहां आ जाऊं.

काजल फिर से चीख पड़ी, पर उसको इस बार दर्द से ज्यादा सुख का अनुभव हो रहा था.

शावर को चला कर अच्छी तरह से उसकी चूत को धोया फिर उसको साफ़ करके मैंने वहीं पर फिर उसकी चुत में अपना लंड डाला. सेक्सी सेक्सी सेक्सी हिंदी में सेक्सीचचा जान ने मेरी चुत से अपनी नजर ऊपर उठाई तो मैंने फोन की स्क्रीन उनकी तरफ घुमाई उन्होंने इशारे से मुझे फोन उठाने को कहा. akila nude pundaikul மலை பாம்புअगर कुछ हो गया तो?मैंने तभी से उसे एक गर्भ निरोधक टेबलेट ला कर दी, उसने तुरंत वो गोली पानी से खा ली और अब हम दोनों के मन से गर्भ का भी समाप्त हो गया. मैंने फोन काट दिया और कॉलरजिस्टर में से उसका नम्बर डिलीट करके चार्जिंग में लगा दिया.

मैंने केवल दूसरा ड्रेस सलवार सूट का ही पहना, वैसे मैं कभी नहीं निकली थी लेकिन भैया की वजह से निकल रही थी.

कहती- बोलो क्या कहना है?मैंने मन ही मन सोचा कि प्रपोज करना तो अब टाइम वेस्ट करना है, अगर मैं जबरदस्ती करूँ तो ही ठीक रहेगा क्योंकि ना तो ये शोर मचा सकती है और ना ही किसी को बता सकती है. तो दोस्तो कैसी लगी कहानी, लंड खड़े हुए या नहीं? लड़के और अंकल सब सोच रहे होने कि इस साली बिलकीस की चूत हमें भी चोदने को मिल जाये!और लड़कियां, भाभियाँ आंटियाँ सोच रही होंगी कि बिलकीस की किस्मत कितनी अच्छी है, काश हमें भी ऐसे ही दिन रात लंड मिलते रहें!अपनी राय अवश्य बताएं।[emailprotected]. वह मुस्कुराया और बोला- मैं ड्राइवर से कह दूंगा, कक्का आप आराम से निपट लियो, भैया बहुत सुन्दर हैं.

इसी तरह दूसरे दिन शनिवार था और आज ही दिव्या को घर भी जाना था, तो वो हम कॉलेज गए, इसके बाद वो घर चली गई. फिर अगली बार डॉगी स्टाइल में चोदा और उनको मेरे ऊपर बैठा कर काफी लम्बे समय तक चुदाई का आनन्द लिया. मैंने पिंकी को कहा- तुम जल्दी से कोई बड़े गला वाली टॉप और स्कर्ट पहन लो.

कॅटरिना कैफ की सेक्सी व्हिडीओ

यह कह कर दूसरे झटके में पूरा लंड भाभी की चूत में डाल दिया और धीरे-धीरे धक्के मारने लगा. ऐसी बातें मैंने अमित से की मतलब मैं अपने मन से अमित के सामने और उसे अपने सामने नंगा बिना कपड़ों के देखने का तरीका बता दिया था. लेकिन मैंने उसे कस कर पकड़ लिया था अन्यथा वो मुझ से छूट जाती और वो मुझसे कभी नहीं चुदती.

एक तो मैंने उसे बहुत दिनों बाद में देखा था और अब तो वो पूरी कयामत लग रही थी.

उसने पुलकित की ओर देखा- तुमने तो मुझे मार ही दिया था, मुझे नहीं पता था कि सेक्स करने में इतना मज़ा आता है, मेरे तो सारा बदन झनझना उठा है.

मैंने चूत को ज़ोर से रगड़ना शुरू कर दिया, वो सेक्सी आवाजें निकालने लगी. अच्छे नहीं है क्या? पहन के देख लो, अभी मैं यही हूँ अगर ना अच्छे हों, तो वापस करके दूसरे ले लाऊंगा. गली दिसावर सट्टा की खबरपहले पिंकी की कुँवारी गांड मारूँगा, तो तुमको भी ट्रेनिंग मिल जायेगी.

मैं हर महीने के आखिरी 7 दिन जयपुर अपनी एक फ्रेंड के घर आकर रुकती हूँ. कैसी लगी मेरी रियल चुदाई की स्टोरी, मुझे मेल करके अपने विचार जरूर बताना. भाभी ने यह सुन कर मेरी तरफ देखा और कहा- कोई बात नहीं, अगर आप माँ का प्यार नहीं दे पाई तो मैं दूँगी.

पहले तो मैं डर गया, पर ये क्या… वो तो खुद मेरे हाथ को अपनी चुत तक ले गईं. फिर मैंने पिंकी को कहा कि मैंने उस लड़की को चोदा है, तो वो हैरान रह गई.

मगर कुछ महीनों में सब कुछ बदल गया जिसका नतीजा मुझे आज ही पता चला है कि मैं फिर से प्रेग्नेंट हूँ.

मैंने उसका लंड पकड़ कर ऊपर नीचे करना चालू किया।इधर सिराज मुझे बेतहाशा रौंद रहा था. मैंने उसे चुप करवाया और पूछा- बात क्या है?तो उसने बताया कि उसका एक ब्वॉयफ्रेंड था, वो एक दिन उसे घुमाने के बहाने पार्क में लेकर गया और गलत काम करने के लिए बोला, तो मैं वहां से वापस आ गई. मैं उसे अभी मना ही रहा था कि इतने में उसके घर वाले जाग गए और आवाज सी आई तो वो घर दौड़ गई, पर खुशी इस बात की थी कि शुरूआत तो हुई.

ऑस्ट्रेलिया की सेक्सी मूवी उसने हाथ के इशारे से ना बोला, बल्कि मेरा लंड उसके गले तक जाने लगा था. उसकी पैंटी मेरे थूक और उसके कामरस से गीली हो चली थी तो मैंने उसकी पेंटी को उतार दिया.

[emailprotected]सेक्स कहानी का अगला भाग :सेक्स कहानी प्यार में दगाबाजी की-2. तब तक मेरा लंड टाइट हो चुका था और ऊपर से उनकी गांड के छेद में अड़ गया था. इसी खींचा तानी में हम दोनों एक साथ चरमोत्कर्ष पर पहुंच गये और मैं उनके चुचों को मसलते हुए और पीठ पर चूमते हुए अनामिका की पीठ पर सुस्त होकर लेट गया।फिर मैं साइड में लुढ़क गया और रमन जो अपना अनामिका से अपना लंड चुसवा रहा था, वो झट से आया और अनामिका की चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगा.

नेपाली सेक्सी देना

मैंने उस को पैरों से चाटना शुरू किया, उस की टांगों को, जांघों को चाटता हुआ मैं उस की पेंटी तक पहुँच गया. बस अगले कुछ मिनट में मैंने उसको सीधा किया और उसकी चूत खोल कर अपना लंड लगा दिया. वहां पर मैंने जहाँ भी देखा, वहां पर सभी जगह हर कोई लड़का अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूम रहा था.

मुझे बड़ा शॉक लगा कि शादीशुदा की गर्लफ्रेंड और वो भी उसके घर के अन्दर!उसके बाद वो जुगाड़ शाम को चली गई. मैं इस वक़्त को ख़ुशी से जी रहा था और चाहता था कि ये लड़की मेरी हो जाए, पर कहाँ वो इक्कीस बरस की और कहाँ मैं इकत्तीस बरस का.

वो थोड़ी डर गई थी, पर मैं उसको समझा दिया कि पहली बार में ऐसे ही होता है.

इसके बाद हम रियल सेक्स का प्लान करने लगे और दूसरी नाइट में हम दोनों ने फिर से कॉल करके सेक्स शुरू किया, बहुत मजा आ रहा था. मैंने हाँ में अपना सर हिलाया तो भाभी ने कहा- वीशु तूने मुझे आज असली औरत अब बनाया है. ऐसी बातें मैंने अमित से की मतलब मैं अपने मन से अमित के सामने और उसे अपने सामने नंगा बिना कपड़ों के देखने का तरीका बता दिया था.

एक पीस माला को बहुत पसंद आया, लेकिन वह शॉपिंग करने के मूड में नहीं थी. हम दोनों इतने मदहोश हो चुके थे कि रिश्ते नाते शर्म हया सब कुछ भूल कर उस पल का आनन्द ले रहे थे. तभी ना जाने मुझमें कहाँ से हिम्मत आ गई और मैंने सीधे मंजू को पकड़ कर किस किया और उसकी गांड में उंगली डाल दी.

पायल भाभी बुरी तरह से काँप रही थीं और खुद को मुझसे छुड़ाने की कोशिश कर रही थीं, पर वो इतना थक चुकी थी कि बस चिल्लाने और रोने के अलावा कुछ नहीं कर पा रही थीं.

हीनदी बीएफ बडीओ: उसकी मम्मी ने मेरी मम्मी से बात की और मुझसे कहा कि रॉकी बेटा तन्नू भी तेरे साथ पढ़ना चाहती है. मैंने आकाश से पूछा कि ऐसे ही चलूँ या घर जाकर कपड़े चेंज कर के आऊं?उस टाइम मैंने जीन्स टी-शर्ट पहनी हुई थी, तो आकाश ने कहा- तुम्हारी मर्ज़ी है, चेंज करना चाहो तो कर लो.

मेरा तो उनको वहीं चोदने का दिल कर रहा था, पर मैंने खुद पर कंट्रोल किया क्योंकि सम्भव ही नहीं था. भाभी- सनी तुम्हारा लंड बहुत ही लंबा और मोटा है, तुम्हारी पत्नी तुम से बहुत ही खुश रहेगी. चाची अपने हाथों से मेरा लंड सहला रही थीं, जिस वजह से वो जल्दी ही अपनी औकात पर आ गया.

पहले वहाँ पर दूसरी लड़की थी पर अब मुझे नई लड़की से मिलना था, उसका नाम सोनी था.

मगर गांड के दूसरे छल्ले ने जैसे ही मेरा सुपारा निगला, उसने आराम की साँस ली. उम्मीद करूँगा कि ये दास्तान आपको मेरे इन हसीन पलों का एहसास कराएगी और आप उत्तेजित हो जाओगो. मैंने हंसते हुए जवाब दिया- हा हा हा… अच्छा इतना प्यार तो कभी मुझे नहीं किया है और उसके लिए इतना बेचैन हो.