बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो

छवि स्रोत,औरतों की नंगी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स ओपन वीडियो: बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो, रेणु, शेखर की पत्नी एक बहुत ही ख़ूबसूरत और गदराए हुए जिस्म की मालकिन है। आज भी मौहल्ले के मर्द उसे देख कर आहें भरते हैं और शायद अपने नवाब को अपने हाथों में लेकर उसके ख्यालों में अपना काम-रस निकालते होंगे.

बीएफ चुदाई करते हुए दिखाइए

आँटी बोली- राज, चुदाई का मजा तभी आता है जब लण्ड औरत की पसन्द का हो. बीएफ बंगाली बीएफ बीएफशादी के कुछ सालों बाद ही उन्होंने मुझमें रुचि लेना बन्द कर दिया था। अब जब तक बेटे मेरे साथ थे तो घर में मन लगा रहता था लेकिन अब ये अकेलापन मेरे बस के बाहर था। मेरी चुदाई की तमन्ना भी बरकारार थी.

उन्होंने अपने एक हाथ को पीछे लाते हुए मेरे लंड को पकड़ रखा था और उसको ही सहलाये जा रही थी. बीएफ वीडियो में दर्दपढ़ने पर पता लगा कि इस साइट पर लाइव क्स क्स क्स सेक्स चैट सेशन होते हैं.

बातों बातों में लिली ने बताया कि लगभग 10 साल पहले पापा इस दुनिया से चले गए और वह अकेली सन्तान है, तो मम्मी उसके साथ ही रहती है.बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो: वो समझ गया और बोला- अच्छा मेरी रानी को ग्लिसरीन चाहिए ताकि वो किसी का भी लंड आराम से ले सके.

तेल अच्छे से लगने के बाद मैंने अदिति के बूब्स की मालिश करना शुरू कर दी.उनको दर्द होने लगा, दर्द को कम करने के लिए मैं उनके मम्मों को दबाने लगा.

सेक्स वाली बीएफ सेक्सी - बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो

मैं- अच्छा यामिना, तुम्हारी लड़की का नाम क्या है?यामिना- फ़लक!मैं- क्या वह तुम जैसी है या …यामिना- मुझ से भी ऊपर है.सुधीर- तो आज से मुझे भी अपना दोस्त समझें, सीरयिसनेस से जंगल में जिंदगी कटती ही नहीं है.

मैंने भी अब बिना कुछ सोचे समझे उसके नाज़ुक होंठों के रस पीना शुरू कर दिया. बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो अब मैं अपने हॉल की खिड़की से श्वेता को देख लेता था और उससे कभी कभी बात भी हो जाती थी.

हम कहीं न कहीं किसी भी हालत में इन 4 सालों में हर एक दिन मिलते और अपनी कामवासना को शांत कर लेते थे.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो?

चूत और गांड की चुदाई कहानी का अगला भाग:गांड मराने का शौक क्या क्या न कराए- 2. मोहल्ले और रिश्तेदारों को मिला कर तकरीबन सत्तर मेहमान एकत्र हो गए थे. मैं उसकी बात को नजर अंदाज करते हुए तेजी से उसकी चूत चोदे जा रहा था.

मोना भाभी को इस सबसे काफी अच्छा लग रहा था; वो आंखें बंद किए मादक आवाजें भरते हुए मजा ले रही थीं. जब जब मेरे मन में सेक्स जागता तो मैं उसी दिन सेक्स कहानी को आगे लिखने लगता था. मेरी बीवी की भोसड़ी और गांडआज मैं उसी कहानी के आगे की घटना की बताने जा रहा हूं.

निर्मला जी ने ऊपर सर करके मेरी तरफ देखा और हम एक दूसरे की आंखों में कुछ सेकंड तक चुपचाप देखते रहे. अनीता ने उसे प्यार से समझाया कि जब वो दोनों इतना प्यार करते हैं तो और कोई क्यों?इस पर प्रकाश बोला कि विजय और उसकी बीवी इसके लिए इच्छुक हैं। अब आगे से एक बार विजय यहाँ आएगा, एक बार मैं उसके घर जाऊंगा।वो बोला- अगर तुमको कोई दिक्कत न हो तो मैं विजय से बात करूं?अनीता ने कहा- अभी नहीं, मैं सोचकर बताऊंगी इस बारे में।फिर ये सब बातें होने के बाद दोनों सो गये. मैं एक कसरती बदन, लेकिन सामान्य शक्ल सूरत का नवयुवक, भोगू के नाम से जाना जाता हूँ.

तभी लिफ्ट का दरवाज़ा वापस से खुल गया और मैंने देखा कि एक मस्त सी लेडी भी लिफ्ट में आ गयी. उसने उस रात का कर्ज चुका दिया था लेकिन उसकी चूत का अब मैं कर्जदार हो गया था.

तभी अमित की आवाज उसने डॉक्टर से पूछा- मधु कहां है?डॉक्टर ने बोला- वो अन्दर नर्स के साथ है.

वो जोर से चिल्लाने ही वाली थी कि तभी मैंने उसका मुँह दबा लिया और रुक गया.

मनीष ने नेहा को उठाया और बिस्तर पर पटक कर एक ही झटके में आधा लंड उसकी रस बहाती चुत में पेल दिया. अचानक से उसने मेरे टीशर्ट को पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींचा और मेरी आंखों में देखकर बोली- प्लीज किस मी … विकी. अब मैं इस किस्से को यहीं विराम देता हूँ और आप सभी से विदा लेता हूँ.

पापा मम्मी की बात सुनकर मैं डर गया कि अब मुझे अलग कमरे में सोना पड़ेगा और मॉम डैड सेक्स देखने को नहीं मिलेगा. वो जोर जोर से कामुक सिसकारियां लेती हुई कह रही थीं- आह प्लीज डाल दो ना अब … क्यों सता रहा है. रियल कज़िन सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि एक कमरे में दो फुफेरे भाइयों ने अपनी तीन मौसेरी और सगी बहनों के साथ मिल कर सेक्स का धमाल किया.

मैं उसकी भरी गोरी गोरी जांघों को सहला सहलाकर दवा लगाने लगा। अब उसको मेरे हाथों की मालिश अच्छी लगने लगी थी.

वे उम्र में प्रभात से भी छोटे थे, यही कोई बीस इक्कीस साल के रहे होंगे. मेरी गांड में अभी भी हल्का दर्द हो रहा था लेकिन अंकल की चुदाई से मज़ा बहुत आया था।फिर मैं रोज मर्रा के काम लग गयी और शाम कब हो गयी पता नहीं चला. फिर शनिवार के दिन उसने मुझे फ़ोन किया और मेरे साथ बैठ कर पीने की इच्छा जताई.

कुछ देर बाद सीधे सीधे मैंने दीदी के मुँह में लंड दे दिया और वो मेरे लंड की गोटियों को सहलाते हुए लंड चूसने लगीं. मैंने कुछ नहीं कहा, तो दीदी ने मेरे पास आकर मेरे मुँह से आती सिगरेट की गंध को सूंघा और बोलीं- सिगरेट पी है तूने?मैं सिगरेट पीता था, ये बात दीदी को मालूम थी लेकिन उन्होंने कभी कहा नहीं था. मैंने भी झट से उसकी पैंट की जिप खोल कर उसके लंड को आजाद करते हुए अपनी मुट्ठी में दबा लिया.

मैं- बस थोड़ा और … अभी गांड न सिकोड़ना … थोड़ी देर ढीली रखें कॉपरेट करें … हल्की हल्की जल रही होगी.

मानो मेरा लण्ड लॉलीपॉप हो।फिर मेरा एक हाथ रेनू की छोटी सी कोमल चूत के ऊपर गया. जब मैं दरवाजा बंद कर रहा था … तब मेरी नजर सामने वाले घर में चली गयी.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो कुछ देर आना-कानी करने के बाद उसने अपनी चैट खोली और मेरे सामने चैट करना शुरू कर दी. मेरे स्तनों को चूसे जाने से मेरे अन्दर काफी तेज उत्तेजना दौड़ने लगी थी.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो मैं- संगीता जी आप क्या काम करती हैं?संगीता- बस यही पूछना था, मैंने तो सोचा कि पता नहीं तुम क्या जानना चाहते हो. मैंने अनुरोध के स्वर में कहा- यामिना, आंखे खोलकर करो न!यामिना ने अपनी आंखें खोली और मेरी तरफ देख कर बोली- साहब, आप तो असली मर्द हो.

कुछ देर बाद मैंने उसको घोड़ी बना दिया और पीछे से अपना लंड उसकी गांड में डाल दिया.

फोटो के साथ वीडियो सेक्सी

पर उसने कहा है कि तुम्हारी बात मैं ठुकराऊंगा नहीं, समय आने पर देखेंगे. जब मैं अपना सामान वहाँ से उठाने लगा तो चाचा चाची ने मना कर दिया और कहा कि कोई जरूरत नहीं है तुम हमारे साथ ही रहो. दो चूतड़ों के बीच पावरोटी की तरह फूली हुई चुत और बीच में गुलाबी रंग की दरार देखकर तो मेरे मुँह में पानी ही आ गया.

शुरू में वो अपनी गांड के छेद को डिल्डो पर टच करके वापस ऊपर आ रही थी. ”मामी मेरे सिर को अपने दोनों हाथों से अपनी चूत पर दबाने लगीं और जल्दी ही झड़ गईं. स्नेहा- दीदू आपको पता है, ये जब भी पीहू को दूध पिलाती थीं तो मेरा भी मन करता था कि एक बार चाची मुझे भी अपना दूध पिला दें, पर शायद चाची मेरी नजरों को पहचानती थीं.

आठ बजे तक भाभी मुझे नाश्ता करा देती हैं और मैं 9 बजे काम पर चला जाता हूँ.

परंतु मैं नहीं रुका और लगातार जोर-जोर से भाभी की चुत में लंड को पेलते जा रहा था. उसने मुझे अपनी बांहों में कस कर ऐसे जकड़ लिया, जैसे वह मुझे अपने अन्दर समेट लेना चाहती हो. दो घंटे से बातें करते-करते शेख़र और धारा एक दूसरे से काफ़ी हद तक खुल चुके थे.

बुआ को ये अनुभव शायद पहली बार हो रहा था और मैं भी पीछे रहने के किसी मूड में नहीं था. कुल मिलाकर सबकुछ ठीक ही था।बस रात को फ़्लैट पर अकेले-अकेले दीवारों से बातें करना और अपनी रेणु को याद करके अपनी काम वासना को शांत करना शेखर का काम अब यही हो गया था. गगन फोन में देखता हुआ आशा से बोला- साली कुतिया, ये तो अच्छी बात है.

”उनके बराबर से निकलते हुए मेरे बोले हुए शब्दों ने उनका ध्यान मेरी तरफ आकर्षित किया. मैंने अनुरोध के स्वर में कहा- यामिना, आंखे खोलकर करो न!यामिना ने अपनी आंखें खोली और मेरी तरफ देख कर बोली- साहब, आप तो असली मर्द हो.

बिग बूब्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड अपने स्तन बड़े करना चाहती थी. वो बोली- नींद नहीं आ रही क्या?मैंने कहा- नहीं, मुझे अपने रूम में सोने की आदत है तो यहां पर थोड़ा असहज महसूस कर रहा हूं. सुबह जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा पापा का लंड मम्मी की चूत में सो रहा था.

फिर मैं थोड़ा रुक कर उसकी चूचियां दबाने लगा और उससे पूछा कि क्या अब तुम्हारी चुत की आग ठंडी हुई.

मैंने नीचे से जोर लगाकर एक तगड़ा झटका मार दिया और लगभग पूरा लंड अन्दर तक पेल दिया. मैंने कुछ नहीं कहा, तो दीदी ने मेरे पास आकर मेरे मुँह से आती सिगरेट की गंध को सूंघा और बोलीं- सिगरेट पी है तूने?मैं सिगरेट पीता था, ये बात दीदी को मालूम थी लेकिन उन्होंने कभी कहा नहीं था. मैं कुछ आवाज़ कर पाती तब तक एक ने मेरे मुंह में अपना पूरा लंड दे दिया.

एक शॉवर लिया … फिर बदन पौंछते हुए नंगी ही बेडरूम में आ गई और अपनी चुचियां मसलने लगी. कभी कान पर, तो कभी गाल पर, तो कभी गर्दन पर … बस जोर जोर से चूमने लगा था.

अब रीना दीदी के मुख से अथाह आनन्द में कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. फिर एक दिन शाम के समय मैं हॉस्टल गया तो देखा कि मेस का रसोईया नईम सर के रूम के सामने हंगामा कर रहा था. एक दिन की बात है, मैं ऑफिस के लिए अपने फ्लैट के हॉल में तैयार हो रहा था तो मुझे कुछ आवाज़ आने लगी.

2023 के सेक्सी वीडियो

जब मुझे लगने लगा कि उसके लंड में तनाव आ रहा है तो मैंने उसके लोअर में हाथ डाला और लंड को पकड़ लिया.

भाभी की मादक आवाजें आने लगीं- आह यश … मेरी जान आज तुमने ये क्या कर दिया … मुझे अभी तक सूरज ने भी ऐसा प्यार नहीं किया है. फिर जैसे मुझे कुछ पता ही नहीं, ऐसा दिखावा करते हुए मैं प्राची को आवाज लगाते उसके बेडरूम में घुस गया. देसी चुत Xxx स्टोरी में पढ़ें कि कैसे जवान साली की चुदाई के बाद मैंने उसकी मम्मी यानि मेरी सास की छोटी बहन की चूत भी मार दी.

मेरे चूमते ही शायरा ने अब एक बार तो मेरी तरफ देखा, फिर वो वापस दीवार की तरफ देखने लगी. और प्यार से मुझे चूमने लगी।मैंने कहा- मैं जब तक तुम्हारे पास हूँ तुम्हें जी भर के प्यार करूँगा।अब तो वो हर दूसरे तीसरे दिन मुझसे चुदवाती और यह सिलसिला लगभग दो साल तक चला. इंडियन सेक्सी बीएफ सुहागरातमैंने अलमारी से कोल्ड क्रीम की शीशी निकाली और अपने लण्ड पर क्रीम चुपड़कर पायल की टांगों के बीच आ गया.

चाचा मुझे बहुत प्यार करते थे, कहने लगे- कोई बात नहीं, जब दीवान आ जायेगा तब देखेंगे, तब तक यह हमारे साथ ही सो जाएगा. मैं- मुझे बिजली से बहुत डर लग रहा हैनिखिल- मैं हूँ न यहां … आप डरो नहीं.

लेकिन जब चुदाई का नशा चढ़ता है, तो चुत चोदने में बहुत ही मज़ा आता है. पूरे 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लगभग मेरे हाथ की कलाई जैसा मोटा लंड था. मेरा मन बस ये ही सोचता रहता था कि किसी तरह एक बार चाची की गांड दबाने या उस पर लौड़ा रखकर भिड़ाने का मौका मिल जाता, तो मैं अपनी किस्मत को जीवन भर सराहता.

इसलिए उनकी मनोदशा को भांपते हुए मैंने उन्हें गोद में खींच कर बताया कि ये दोनों मुझसे चुदाई करा चुकी हैं. पिछली सेक्स कहानी में मैं 24 साल का था व मेरा दोस्त प्रभात बीस-इक्कीस का था. सारी चॉकलेट मेरी चूत में ही रह गई थी और उन्होंने वो खुद चाट के खा ली और मेरे पैर फैला दिए.

अब उससे रहा नहीं जा रहा था, वो अब जल्दी से मेरा लंड अपनी चूत में घुसाने के लिए बोलने लगी.

Xxx बस सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक दिन मुझे सूझा कि मैं लोकल बस में सफर करके अपने जिस्म से मर्दों को ललचाऊँगी. फिर मैंने उसे शाम को फ़ोन किया कि गाड़ी को ठीक होने में चार दिन लगेंगे.

मामी- आह टपका दे अपना बीज आह … मैं आज इस चुदाई को यादगार बनाना चाहती हूँ. मैं भी बार बार उनके मुँह में लंड देकर उत्तेजित हुआ बैठा था … तो मैंने जरा भी रहम ना करते हुए पूनम बुआ की ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी. शायद उसकी चूत से खून निकल आया था … जिस वजह से मुझे कुछ गीला गीला सा लगा.

मैं थोड़ा हिचका लेकिन फिर मैं उससे खुलने लगा और मैंने उसको बताया कि मैं कितने दिनों से बिना मुठ मारे ही तड़प रहा था. मेरा लंड भी प्यार मिलते ही अपना आकार बदलने लगा और देखते ही देखते वो निर्मला जी की चूत हासिल करने के लिए तैयार हो गया. मैं आपसे यही कहूंगा कि आपके समय के हिसाब से आप किसी और से इंजेक्शन लगवा लें.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो श्वेता चाय देने आई तो उसने मुझसे ज्यादा कुछ बात नहीं की … बस हाय बोला और कुछ नहीं. तुम प्लीज मेरे दोनों निप्पल चूस कर दूध पी लो … मुझे बहुत दर्द हो रहा है और मैं अपने हाथों से दूध दबा दबा कर थक गयी हूँ.

खुली सेक्सी खुली सेक्स

तो मैं भी जल्दी से उठकर खिड़की के पास चला गया और एसी को तेज करने‌ के बहाने वहीं खड़े खड़े ही अपने लंड को सहलाने लगा. तुझमें किसी सेक्सी औरत को पटाने की हिम्मत तो है नहीं इसलिए मेरे जैसी सेक्सी औरत की गांड तेरे लिए बहुत ही बढिया ऑप्शन है. मैं कुछ सोचता, उससे पहले ही बुआ ने एक जोर की चीख के साथ अपने पैरों में मेरे सिर को जकड़ लिया और उनकी चुत से कामरस बहने लगा.

रात को जब दोनों अपने कमरे में जाते तो उसकी सारी मस्ती और चिढ़ाने का बदला उसे मसल कर लिया करता था. कुछ ही देर में नगर के और लोग भी आ गए और गगन अजय के झड़ जाने के बाद उन्होंने जया की चुत गांड पर कब्जा जमा लिया. सबसे मोटे लंड वाली बीएफकल क्या है कि बच्चे पढ़ने चले जाएंगे और यहां हम दोनों ठीक से बात करेंगे.

मैं अपने फ्लैट के हॉल में बैठकर कुछ खा रहा था और अपने फोन में मैसेज चैक कर रहा था.

मैं उसके होंठों को चूस भी रहा था और उसके टॉप के ऊपर से ही उसके बोबों को दबाने में भी लगा था. Xxx भाभी चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरा दिल अपनी पड़ोसन भाभी पर आया.

दस बारह धक्के मारने के बाद मेरा फव्वारा भी दिव्या के अंदर ही छूट गया।एक बार फिर ‘उफ्फ़ … मौसा जी!’ बोल कर दिव्या ने नीचे खींच कर मुझे अपने से चिपका लिया. मेरे लौड़े ने कुछ देर बाद अपनी रफ़्तार शताब्दी एक्सप्रेस के जैसी बढ़ा दी और झटकों के साथ वीर्य की धार छोड़ दी. चिराग- सब अपने अपने रूम में फ्रेश होकर आधे घंटे में यहीं हॉल में डिनर के लिए मिलते हैं.

मैंने मन में सोचा कि साली भैन की लौड़ी तेरी चुत सिर्फ लंड के इंतजार में तड़फती है.

अब आगे पड़ोसन की चुदाई कहानी:मनीषा भाभी- अरे तुम दोनों अभी से चालू हो गए. फिर शीतल उसे समझाने लगी- कोई बात नहीं … सब ठीक हो जाएग, सब भूल जाओ. उनकी बलखाती कमर और चूतड़ों में पैदा होती थिरकन, युवाओं और भूतपूर्व युवाओं को भी गजब का आकर्षित करने सक्षम थी.

इंग्लिश सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदीब्लाउज में फंसे उसके चूचे और नीचे से केवल उसकी गोरी जांघों पर चूत पर ढकी पैंटी … ओह्हो … मैंने सीधा नीचे बैठकर उसकी चूत को ही चूम लिया. हॉट भाबी सेक्स स्टोरी के अगले भाग में मैं आगे लिखूंगा कि भाभी मेरे लंड से कैसे चुदीं.

घोड़ा वाली घोड़ा वाली सेक्सी

फिर मैंने उसे थोड़ा रुकने को बोला और जैसे ही सारा काम खत्म हुआ मैं उसे लेकर उस वर्कर के घर गया जहां से उसे वो किट दिलायी। इतनी देर में हमारे बीच काफी बातें हो चुकी थीं. गगन हंसने लगा और बोला- चाचा, आपका नसीब तो गधे के लंड से बंधा लगता है. ” उसने कहा।ये तो स्पष्ट जवाब नहीं दिया तुमने, मुझे कैसे पता लगेगा कि तुम मेरी गांड के बारे में क्या फंतासी रखते हो? तुम बस बचने के लिए ऐसा कह रहे हो।” मैंने उससे फिर पूछा।अमन ने कुछ देर तक सोचा और तब तक वो मेरे हाथ से लंड की मुट्ठ मरवाने का मजा लेता रहा।मैं तुम्हारी गांड की पूजी करूंगा.

इसी दौरान अनु दीदी अपने मुँह पर लटकती रंजू के चुचियों को दांतों से काट रही थीं. ऊपर चैट पढ़ने पर पता लगा कि वो उस बंदे के साथ कई बार चुदाई करवा चुकी हैं. लगभग 2 मिनट बाद जब मैं वापस आई तो मैंने देखा अंकल बिस्तर पर लेटे हुए थे.

कल रात से जब से तूने मेरी चूत को चाटा, तब से मन कर रहा था कि मैं अपनी चूत हमेशा तेरे मुँह पर रखी रहूँ. अपना लैप्टॉप खोल कर शेखर ने अग़ल-बग़ल से छुप-छुपा कर फिर से वही साइट खोल ली और चैट रूम में ऑनलाइन हो गया. मैंने उनके गले से हाथ नीचे करके उनके एक बड़े चूचे को जोर से दबा दिया.

काफी देर की धुआंधार चुदाई के बाद पापा बोले- बेटी मेरा माल निकलने वाला है. और इसी तेजी के साथ उसने अपना गर्म गर्म वीर्य मेरी गांड में छोड़ दिया.

घर आने के बाद मैं फिर दो घंटे के लिए खेलने चला जाता हूँ और लौटने के बाद एक बार फिर से नंगा होकर नहाता हूँ.

अब हमें जिंदा रहने के लिए अपने अन्दर की गर्मी को एक-दूसरे के सहारे से सम्भालना पड़ेगा. मां की बीएफ सेक्सीफिर हमने अपने अपने हाथों पर लाल रंग के रूमाल बांध लिए, जो हमने आते टाइम मार्केट से खरीदे थे. बीएफ सेक्स वीडियो डाउनलोडमैं बोला- साली रंडी … जब तक तू मेरे लंड को मुँह में नहीं लेती, तब तक तुझे नहीं चोदूंगा. मैंने गालों पर गुलाल लगाने के बाद भाभी के पीछे से उनको कसके पकड़ लिया.

मैंने बड़े प्यार से हाथ मिलाया और उसकी आंखों में झांकते हुए मुस्कराहट बिखेर दी.

मैं आपको अपने बेटे निखिल के साथ अनायास होने वाली सेक्स कहानी में आपका स्वागत करती हूँ. तो भाभी हौले हौले से कराह रही थीं- आंहा … आह … हाआ जरा धीरे मसलो न कबसे तेरा इंतजार कर रही थी … आह … शुभ पी लो मेरे दूध चूस लो!मैंने कहा- भाभी आपने इशारा तो दिया होता … अब तक तो न जाने कितनी बार चुदाई कर चुका होता. उनकी शादी को चार साल हो गए थे कोई बच्चा भी नहीं हुआ था, दूसरे मर्द से चुदने की एक वजह ये भी हो सकती थी.

ममता जी‌ को भी अब मजा आ रहा था इसलिए उनके मुँह से फिर से तेज सिसकारियां निकलना शुरू हो गईं. मैंने दीदी को अपने सामने इस अवस्था में पहली बार देखा था, तो उनकी चूचियों को देखकर मैं पागल होने लगा. इसलिए मैं जानबूझ कर जोर से हंसने लगा और उससे पूछने लगा- ये क्या कर रही थी तुम?थोड़ी देर तक तो वो कुछ भी नहीं बोली लेकिन थोड़ी ही देर में नीचे देखते हुए शर्मा कर मुस्कुराने लगी.

सेक्सी viod

मैं उनसे बातें करता जा रहा था, देखा ही नहीं कि मैंने पैंट के नीचे कुछ नहीं पहना था. मैंने उसकी ब्रा खोल दी और उसके मम्मों को पीना और काटना शुरू कर दिया. सुबह 3-4 बजे सोने की वजह से शेखर की आँखें चाहकर भी नहीं खुल पा रही थीं लेकिन रघु के बार-बार दरवाज़ा खटखटाने से उसे बेमन से बिस्तर से उठना पड़ा.

अब मैंने उसे वो हार पहनाया- ये तुम्हारी मुंह दिखायी!ज़ारा- आप ही पहना दीजिये!और उसे लिटाकर किस करने लगा जब ज़ारा साथ देने लगी.

मोना भाभी गर्म होने लगी थीं और अब उनके मुँह से मादक सिस्कारियां निकल रही थीं- अअह … उहह!भाभी ने जो पेटीकोट पहना था, वो उन्होंने अपने मम्मों के ऊपर चढ़ा कर पहना हुआ था.

पूनम बुआ बहुत उत्तेजना में थीं इसलिए उन्होंने एक बार भी नहीं सोचा और झट से डॉगी बन गईं. वो बोला- एक ट्रिप और करनी है जान, जल्दी से ले लें?चुदासी तो अनीता भी हो रही थी मगर वो बोली- फंस गए तो?रमण वहीं कुर्सी पर नंगा होकर बैठ गया।अनीता ने भी सारे कपड़े उतारे और रमण के लंड पर बैठ कर उछल उछल कर चुदाई का मजा लिया।आज जितनी बेशर्म होकर वो चुद रही थी वो उसने कभी नहीं सोचा था कि वो कभी ऐसा भी करेगी. भावनगर बीएफचूत और गांड की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं गांडू हूँ पर मौक़ा मिले तो चूत भी मार लेता हूँ.

चूचों के नीचे उनकी पतली कमर और उसके नीचे गोल गोल मांसल चूतड़ों के साथ उनकी 34-30-36 की काया ने कमरे में वासना के उफनते दरिया को और अधिक आंदोलित कर दिया था. फिर मैं थोड़ी इठलाते हुए बोली- अब आप इतनी मिन्नत कर रहे हो … तो मैं मना कैसे कर सकती हूँ. मैंने लिली को थोड़ा धक्का देकर बेड पर लिटा दिया और उसकी जांघों को खोल दिया.

अब संगीता ने वापस बगल की दराज से सिगरेट की डिब्बी और लाइटर निकाल कर टेबल पर रख दी. शबाना भाभी की उम्र केवल 26 साल ही थी, मैं तो उनका पहले ही दिन से दीवाना हो गया था और सोच लिया था कि मौका मिला, तो इनको चोदूंगा जरूर.

चाची बोली- यो त थकता ही ना है!मैं बोला- इसके सामने इतनी खूबसूरत चुत है तो ये क्यों थकेगा!फिर चाची ने कमरे में चलने का इशारा किया, तो हम दोनों बेड पर आ गए.

मेरी इस बात को सुनकर जो लड़के ट्रेनी अब तक चुप थे, वो बाहर आ गए और मेरा सपोर्ट करने लगे. मैंने बिना देर किए उसकी साड़ी ब्लाउज और पेटीकोट को उतार कर अलग कर दिया. पहले तो वो आराम से मेरे बूब्स दबा रहा था मगर थोड़ी देर बाद वो मेरे बूब्स को जोर जोर से दबाने लगा जिससे मुझे तकलीफ होने लगी तो मैंने उससे धीरे धीरे करने को कहा.

बीएफ वीडियो हिंदी में भोजपुरी वहां कुछ लड़के उसकी चूचियां और चूत में उंगली करके उसको गर्म कर देते हैं फिर बाहर ले जाकर चोद देते हैं. मैं यही बात प्राची को बताने के लिए उसके घर गया, तो घर का दरवाजा खुला ही था.

संध्या चाची 37 साल की एक भरे पूरे 36-28-38 के फिगर वाली कामुक औरत हैं. संध्या चाची 37 साल की एक भरे पूरे 36-28-38 के फिगर वाली कामुक औरत हैं. किसी की गांड में अपना लंड अन्दर बाहर आते जाते देखना बहुत ही मजे का काम है.

हिंदी सेक्सी लड़कियां वीडियो

जब मैं किसी और मेरे साथ होऊं और उस समय तुम मेरे सामने नंगे आए … तो नहीं चलेगा. मुझे पता तो चल रहा था लेकिन जब तक मैंने सर को जाकर पानी गिलास थमाया तब तक मेरा टॉवल सर के सामने खुल कर नीचे गिर गया. लेखक की पिछली कहानी:सहेली के बॉयफ्रेंड से चुत चुदाईदोस्तो, मेरा नाम नगीना तिवारी है और मैं उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की रहने वाली हूं।मेरा रंग सांवला है। मेरी उम्र 35 की है और मेरी चूचियां 38-ई की है.

पल्लवी और तन्वी डिनर टेबल पर लगा रही थीं, जिसमें स्नेहा और ज्योति ने मदद की. मैंने अलवीना को भी एक दोस्त की तरह माना और उसकी हर काम में उसकी बहुत मदद की.

होंठों को चूसने में मैं भी मैम का साथ देने लगा तो मैम ने अपनी जांघ पर रखा हुआ मेरा हाथ अपनी स्कर्ट के अन्दर खिसकाकर अपनी बुर पर रख दिया.

मन में एक ही इच्छा होती थी कि रमिला चाची की गांड में लंड घुसाकर जिंदगी भर पड़ा रहूँ. चाची मुस्कुरा दीं और अगला कौर मेरे मुँह में देते हुए मुझे प्यार से देखने लगीं. मैंने उसको कहा- अपनी बहन को रंडी कहना मादरचोद, मैं यहाँ बस मज़े लेने आई हूँ!तभी उसके बराबर वाला बोला- सॉरी, ये तो चुतिया है.

मैंने भी कोई जबरदस्ती नहीं की और उससे लिपटकर कभी उसकी पीठ सहला देता तो कभी चुम्बन कर देता लेकिन मेरा लण्ड तो उसकी बुर में जाने के लिए तैयार हो रहा था. कहते है न कि आज तुमने जो भी अनुभव हुआ हो, उसकी शुरुआत कभी न कभी जरूर हुई होगी. ‘आह और जोर से चूस भैनचोद … आह … आह्ह अन्दर तक मुँह लगा लवड़े … मैं मर गई रे … हरामी … फिर से ये कैसी आग लगा दी है तूने … आह … ठीक से लगातार चुसाई कर कमीने … मैं फिर से आने वाली हूँ मुँह गड़ा दे कुत्ते.

गजब की तेजी से उछलने में दीदी की चुचियां उनके चेहरे तक मार कर रही थीं.

बीएफ सेक्सी हिंदी देहाती वीडियो: छाया- तो भाभी जी यानि अपनी मम्मी से काम चला लो न! तुम्हें तो इतनी अच्छी और परमानेंट जुगाड़ दे दी हैं … जो सदियों से लंड की प्यासी है. बारिश तेज़ थी, इस कारण से हम भीग गए थे और बाइक भी धीरे चल पा रही थी.

हमारी दोस्ती के बाद पहली चुदाई कैसे हुई?दोस्तो, मैं राहुल कुरुक्षेत्र हरियाणा से हूँ. सुबह जब मेरी नींद खुली तो मैंने देखा पापा का लंड मम्मी की चूत में सो रहा था. बाहर आकर अशोक बोला- रूपा, अभी मेरा तुमको छोड़ने का दिल नहीं कर रहा है.

इसके बाद बिजनेस की मीटिंग शुरू हो गई और मीटिंग में डील को लेकर बातें हो रही थीं.

श्वेता- अकेले हो तो खाने का क्या करोगे?मैं बोला- मैं बना लेता हूँ, खाना बनाना आता है मुझे. भाभी चुदास भरे स्वर में बोलीं- अब चूसते ही रहोगे क्या … आगे का काम भी जल्दी से करो ना … रहा नहीं जाता. इतनी देर में भाभी की हवस जवाव दे गई और उन्होंने मुझे बेड पर चलने को कहा.