सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ

छवि स्रोत,इंडियन मां बेटे बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ भेजने वाला: सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ, कहानी का पहला भाग :मुझे किस किस ने चोदा-1मेरी सेक्स स्टोरी हिंदी के पिछले भागमुझे किस किस ने चोदा-4में अब तक आपने पढ़ा किउसी समय भाभी के पापा बोले- समधी साहब, आप दोनों के बीच में हम लोगों की भी कोई जगह है कि हम लोगों को भूल गए?पापा बोले- आप नहीं होते तो मैं आरती को कैसे मिलता.

हिंदी बीएफ करवा चौथ की

यह मेरी इस साईट की पहली सेक्स स्टोरी है अगर कोई गलती हो जाए तो माफ़ी चाहता हूं. जानवर आदमी के बीएफफिर घर पर इस तरह से डरी डरी और चुपचाप क्यों रहती हो?दो मिनट नीचे देखने के बाद उसने कहा- नवीन मैं भी खुल कर रहना चाहती हूँ, पर मम्मी के नियम और सोसाइटी में लोगों की सोच की वजह से मुझे दब कर रहना पड़ता है.

मोना- मैं मेरे पति को धोखा नहीं दे सकती और तुम्हारे बिना रहा भी नहीं जाता. ब्लू पिक्चर बीएफ फोटोमेरी सिसकारियां, आहें, चीखें रुकने का नाम नहीं ले रही थी और वो दोनों रुकने का नाम नहीं ले रहे थे!अधिक आनन्द की वजह से अब मेरी आँखें बंद होने लगी.

मेरी आँखें बंद हो गईं और मैं भी मजे के साथ गांड चटवाने में बिजी हो गई.सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ: उनकी चूचियों व पेट पर से चुमते हुए मैं धीरे धीरे उनकी‌ चुत की तरफ ‌बढ़ रहा था जिससे ममता जी न.

ये ड्रेस पहन का जाने का मेरा मन नहीं है लेकिन मन में आया कि मेकअप का सामान उपयोग कर लेती हूँ और एक बार इसको पहन कर देख भी लूँ कि कैसी है.इतनी देर में केबिन का गेट खुला और एक ऑफ़िस का लड़का विनय ने अन्दर देखा.

सेक्सी बीएफ दिखा देना - सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ

दोनों कैमरामैन मम्मी की उस नीग्रो के साथ चुदाई की ब्लू फिल्म बनाते रहे.मैं समझ गया कि इसके मन में चोर है और मेरे मन का चोर तो उसे देखते ही जाग गया था.

और फिर से अपना लंड निकाल कर एक बार में ही उसकी बुर में पूरा अन्दर पेल दिया. सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ उसके होंठों को चूसते हुए मैंने अपने हाथ उसके शरीर पर फिराना शुरू किया.

अब भाभी ने धीरे धीरे अपने लरजते होंठों से लंड को छुआ और गप से मुँह में लंड ले गईं.

सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ?

मैंने उसे पलटा दिया और उसकी थकी हुई गांड में एक ही बार में पूरा 8 इंच घुसा कर बाहर किया. वैसे मैंने ब्लू फिल्म में नंगी चूचियों को न जाने कितनी बार देखा है, पर पहली बार रीयल में देखे तो मेरा लंड अकड़ गया. मैं- आंटी तुम दोनों की चुदाई के बारे में सोच सोच कर गर्म हो रही होंगी, इसलिए उनका मुँह भी गर्म हो गया.

फिर उसने कुछ कहा तो मुझे कुछ समझ नहीं आया, मैंने उसे कहा- क्या?और उसने कहा- आपको नहीं!अरे माफ़ करना दोस्तो, मैंने उसका तो नाम ही नहीं बताया, उसका नाम उसने पूनम बताया था मुझे बाद में!उसकी उम्र भी मेरे जितनी ही थी, 19 साल और वो पुणे अपने भाई से मिलने जा रही थी. कुछ ही पलों बाद भाभी की चूत ने रस छोड़ दिया था जिस वजह से रूम में ‘फ़च्छ फ़च्छ. तो मुझे अपनी ओर देखते पाया। वो थोड़ी सी मुस्कराई और शर्म से आँखें झुका लीं।प्यासी जवानी की इस अदा ने मानो मुझ पर बिजली गिरा दी। मैंने उसे सीधा लिटा और गालों को चूमने लगा। मधु मुझे दूर करते हुए बोली- अब बस भी करो राज।मैं बोला- जान तुमसे अलग होने का दिल ही नहीं कर रहा।मधु ने मुझे अपनी बांहों ले लिया और बोली- मन तो मेरा भी नहीं कर रहा। लेकिन नीचे माँ जी इन्तजार कर रही होंगी। अब मुझे छोड़ो.

मेरे दोनों हाथों ने प्रिया की पीठ को कस के जकड़ा हुआ था और प्रिया के सुपुष्ट उरोज़ मेरी छाती में धंसे हुए थे और मैं प्रिया के मुंह पर, आँखों पर, माथे पर, गालों पर, होंठों पर प्यार की मोहरें लगाता ही जा रहा था और प्रतिक्रिया स्वरूप प्रिया के मुंह से कभी आहें कराहें और कभी लम्बी लम्बी सीत्कारें निकल रही थी. शालिनी ने अपनी टाँगें से अकीरा की गांड पर पकड़ बना ली, उसकी चूत का पानी रिस रिस कर चादर पर टपकने लगा. मेरे बैग में पानी की बोतल थी, मैंने सीमा को कहा- बैग में से पानी की बोतल निकाल कर इसे धो ले!लेकिन उसने बोतल निकाल कर तौलिया गीला करके उससे मेरा लंड पौंछ कर ही मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

तो मम्मी ने कहा- बेटा, हम औरतें, अगर वहाँ चोर आयेंगे तो क्या कर लेंगी? कोई तो पुरुष होना जरूरी है. दीदी के हाथ में एक चमड़े का हंटर था, जिसे दीदी उन तीनों की नंगी पीठ पर बरसाते हुए कह रही थीं- रांड की औलाद कुत्तों, तुम्हारी यही जगह है अपनी मालकिन के जूतों में.

अंजू- हाँ दीदी, हो सकता पहली बार देखा हो इसलिए… वैसे यहाँ के लड़के बहुत ख़राब हैं.

तभी अमित मेरे होंठों को अपने होंठों से चबाने लगा और कसके दबाए हुआ था तो उसका लंड मेरे पेट पर बढ़ता हुआ लग रहा था.

उसका तना हुआ लंड मुझे अपनी गांड के छेद में गड़ता सा महसूस हो रहा था. वे सिगरेट पी रही थीं, ऐसा लगता था वो दो पैग लगा कर फूफा जी से चुदवाने ही आई थीं. अब क्या पड़ोसी से उधार लेकर आऊं?वो हंसती हुई अपनी गांड आगे पीछे करके चुदवाने लगी.

मैं बिना कुछ बोले बैठ गई, पता नहीं मुझे क्या हो गया था कि मैं कुछ कह नहीं पा रही थी, उसके ऐसा करने से कहीं खो सी गई थी. रात के 11:30 बजे पर मैं मूतने के लिए बाहर आया तो उसके घर की लाईट जल रही थी. तभी उसने बोला- यार चीकू मेरे से शादी करेगा?मैं एकदम से चौंक गया और मुझे ऐसा लगा जैसे बिना माँगे सब कुछ मिल गया हो.

मेरी कामुकता बढ़ता देख, उसने भी मुँह में ही मेरा सारा माल ले लिया और लंड रस पी गई.

बुआ तलाकशुदा है और शहर में एक छोटा सा प्ले वे स्कूल चलाती हैं जिसे उनका गुजारा हो जाता है. मैं यह देख के परेशान हो गई कि आखिरकार अवी क्या देखना चाहता है, जो उसने मुझे ये ड्रेस दी है. जैसे ही पापा का लंड मेरी गांड के छेद में टच हुआ, मैं एक्साइटेड हो गई, पापा मुझसे पूरा पीछे से लिपट गये, बहुत सारा थूक मेरी गांड में लगा दिया.

इससे पहले वो माया को छू पाता, उसे दूर से पार्किंग की तरफ आते हुए एमडी दिख गए. पर कमल को क्या पता कि इस उसकी प्यारी रानी सरिता कितनी बार लंड ले चुकी है. मेरा भी गरमागरम लावा उनकी चूत में फूट पड़ा ‘आह… जान… आइ एम कमिंग… आह…’मैं भाभी के ऊपर ही गिर पड़ा और कुछ मिनट तक हम दोनों बेजान लाशों की तरह पड़े रहे.

) मैं आपनी अपनी सारी बात बताती हूँ और आप इत्ती बड़ी बात छुपा गयी?”चलो सॉरी, अपनी बात मैं रात में बिस्तर पर बताऊँगी.

मैंने जरा भी देर न करते हुए तौलिए को उस मखमली बदन से दूर किया और अब मेरे सामने पूरी तरह से नंगी चाची थीं. रात को मैं अपने कमरे में था, मुझे बाथरूम जाने की जरूरत लगी, मैं नीचे जाने लगा.

सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ मैंने बाहर निकल कर देखा रोज की तरह मोना केपरी और शार्ट टी-शर्ट में योग करती थी. आप तो अब भी मेरे से बड़े माशूक हो, तो अब क्या हुआ अब भी लौंडे हाथ में लंड लिए आपके पीछे दौड़ते हैं और आप भी लोगों को खुश करते ही हो.

सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ उसने रूम में आकर पानी की बॉटल रखी और जाने लगी कि तभी उसकी नज़र मेरे पे पड़ी. तो बॉस ने पूछा- क्या हुआ नेहा? तुमको अच्छा नहीं लग रहा है?मैं- सर अपको एक बात बतानी है.

लगभग 15 मिनट तक चूमने के बाद मैंने अपनी जीभ भाभी के मुँह में डाल दी और उनकी जीभ चूसने लगा.

बीएफ सेक्सी फिल्म हिंदी

तो चाची ने मुझे तेल दे दिया और मैं सर पर तेल लगाता हुआ डांस करने लगा. वे मेरी चुचियों को अपने दोनों हाथों से मसलने लगे, मसल मसल कर उन्होंने मेरी चूचियों को पहले तो नर्म कर दिया, फिर वासना से उत्तेजित होकर मेरी चूचियाँ और मेरे निप्पल सख्त हो गए. और आज साक्षात् वही मयूरी उसके सामने नंगी खड़ी होकर उसको रिझा रही थी.

गान्ड का वादा किसी और दिन हो गया लेकिन मैंने दीदी की चूत को जबरदस्त तरीके से चोदा, दीदी की चूत 6 महीने में उसके पति ने इतनी नहीं फाड़ी होगी जितनी मैंने एक दिन में फाड़ दी. फिर उसी वक्त मैंने मोना को कॉल किया और उसको बोला- मैं 30 मिनट में आ रहा हूँ. तभी मैंने उसकी चूत के फाँकों को अलग किया और अपनी एक उंगली को उसकी चूत में घुसा दिया.

फिर दीदी मुझे किस करने लगी लेकिन मैंने आज तक ये सब कुछ नहीं किया था इसलिए मैं थोड़ा हिचक रहा था.

मैं अन्तर्वासना का पक्का पाठक हूँ तो इसलिए में भली भांति जानता था कि एक बार झड़ने के बाद स्टेमिना बढ़ जाती है. ”ठीक है रवि ले जाओ इसे, तुम कल्याणी का अच्छे से टेस्ट लेना तब तक मैं रेस्ट ले लेती हूँ. दीदी को भी और मुझे भी दोनों को पता था कि हम क्या कर रहे हैं और क्यों कर रहे हैं.

तभी ममता ने अपने होंठों को मेरे होंठों से अलग करते हुए कहा- लंड अन्दर नहीं डालना है. वो दिखने में बहुत सुन्दर थी और दो बच्चों की माँ थी, फिर भी अपने आपको बड़ा मेन्टेन करके रखा हुआ था. कॉलेज में सब टीचर और स्टूडेंट्स उसके बारे में जानते हैं कि वो कितनी सरलता से जिस लड़की को चाहे पटा लेता है.

उसके बाद हम रोज फोन पर बातें करते थे, रोज हम फ़ोन पर ही सेक्स चैट किया करते थे. तो मैं क्या करूँ?वो- दीदी मुझे आपको नंगी देखना है प्लीज़ एक बार।मैंने सोचा शायद इस लौंडे को मुझ पर प्यार आ गया है। मेरी भी जवानी मुझे कुछ हरामीपन करने को खींचने लगी।मैं- ओके, ठीक है।मैंने झट से अपने कपड़े उतार दिए.

थोड़ी देर बाद स्वाति और मैं दूसरे रूम में चली गईं और हम दोनों बातें करने लगीं. मैंने देखा कि ये क्या हुआ? मैंने उसका मुँह खोल दिया उसका मुँह फटा पड़ा था मैंने उसकी सांसें चैक की, धीमी चल रही थीं. मैं- मेनका आह… मेरा लंड आह या आह आह फॅट रा है आह… कुछ करो वरना मैं मर जाऊँगा… आह आ…मेनका- ऐसे ही थोड़ी मरने दूँगी मैं अपने राजा को… अभी तो इसे एक ज़रूरी काम करना है.

मेरे पास मेरे फोन में छाया का फोन नम्बर नहीं था तो मैंने पूछा- कौन?त़ो आवाज आई- मैं हूँ छाया.

मैंने सोचा कि पहले कपड़े बदल लेती हूँ बाद में अवी से मोबाइल के बारे में पूछ लूँगी. कुछ देर बाद मैं उठा और अपना लंड माँ के मुँह के सामने कर दिया तो मेरी माँ ने बिना कोई देर किए मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. मैं यश को खाना दे दूँगी। फिर मैं खाना खाकर बेडरूम में सोने के लिए आ गई। परन्तु चूत में तो खुजली हो रही थी तो नींद कैसे आती। मैं बेड पर लेट कर यश का इन्तजार करने लगी। लगभग 11.

अभी भाभी कुछ सम्भलतीं कि मैंने सीधे एक बार में पूरा लंड घुसेड़ दिया. कुछ पल बाद मयूरी दरवाजे को ठीक से अन्दर से बंद करने के बाद वापिस मोहन लाल के पास आई, उसने दुपट्टे का एक भाग अपने सर पर रखा और उसके पैर छूती हुई बोली.

मैंने उसे पूरी बात बता दी कि बॉस से आज्ञा लेकर ही सब प्लान किया है. मैंने उन्हें किस करना भी स्टार्ट किया और साथ में मम्मों को भी दबाने लगा, जिससे उनकी आवाज़ में काफी कमी आ गई. थोड़ी देर में मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया परन्तु इस बार मेरा लंड अधिक बड़ा लग रहा था.

बीएफ बीएफ चाहिए

फिर भी उसने 2-3 इंच लंड अपने मुँह में भर लिया था और पूरा उसे चूस रही थी मानो जैसे कोई अमृत से भरा गन्ना हो.

चाचा मेरी चिकनी फूली हुई चूत को देख कर कुत्ते की तरह चाटने लगे और मैं जोर जोर से सिसकारियाँ लेने लगी. उन्होंने मुझे हटाया और अपनी टाँगें फैला कर किसी भूखी कुतिया की तरह मुझे देखने लगीं. मुझसे रहा नहीं गया और मैं संजय की तरफ घूम गई और संजय के होंठों को जोर जोर से चूसने लगी.

मैंने जब वो देखी तो मेरे होश उड़ गए और शॉक के मारे मेरी आंखें बड़ी हो गईं. इसके बाद उन तीनों ने दीदी की बुर को चूम कर और जूते चाट कर थैंक्यू कहा और फिर दीदी अपने कपड़े पहनने लगीं. बीएफ एचडी वीडियो फुल एचडी वीडियोउनकी उम्र 32 साल है लेकिन वो देखने में किसी जवान लड़की से कम नहीं लगती हैं.

मैं उसे पकड़ कर चुम्बन कर रहा थातो मेरा हाथ उसकी चुची पर गया तो मेरी गांड फटने लगी वो बड़ी बड़ी चुची कविता की नहीं थी, वो रीना के चूचे थे. हर धक्के पे मोना के चेहरे पर प्यास और बढ़ रही थी और थोड़ी सन्तुष्टि का भाव भी दिख रहा था.

शहजाद- हल्लो नसीम!मैं धीमी और कांपती आवाज में बोली- हां शहजाद कहिए?शहजाद- क्या हुआ संजय खाना खाने के लिए नीचे उतरा या नहीं?मैंने सुकून की सांस ली कि शहजाद को कुछ पता नहीं चला था. मैंने घर के नीचे गाड़ी खड़ी करके निर्मला जी को घर की चाभी दी और फ्लैट नंबर बता दिया, क्योंकि वो पहली बार घर आई थीं. वो किसी पोर्न एक्ट्रेस की तरह से अपनी देसी चूत पर हाथ फेरते हुए गालियां देने लगीं- देख क्या रहा है.

उसने धीरे से गोलू की मुर्झायी हुई भिन्डी को अपनी आंख बंद करके चूसा. आखिरकार मैंने अलमारी से संजय का फेवरेट ब्लैक ड्रेस निकाल कर पहन लिया. मैं- मामी कैसी लगी मेरी चुदाई?मामी- मैं तो धन्य हो गई तुम्हारे लंड से… पहली बार इतना बड़ा लंड लिया है, मजा आ गया.

मेरे द्वारा बलपूर्वक किये गए इस दुःसाहंस से सनी लियोन भी बुर देने से इन्कार कर दे, वो तो ठहरी गंवई सुकुमारी भौजी.

मैंने उसकी नाक खींचते हुए कहा- हां बाबा दूंगी बताओ तो?अवी- मुझे दो चीज चाहिए बस. उस कहानी के बाद मुझे बहुत ही अच्छा रेस्पॉन्स मिला काफ़ी सारे मेल भी आए.

सीसीटीवी लग जाने के दो साल के बाद ढेर सारी बैकअप की सीडी इकट्ठा हो गई थीं. तो क्या मैं आज की रात आपके साथ बेड पे सो सकता हूँ?”मामी चूची उठाते हुए बोलीं- ओके. चाची कान में लीड लगा कर अपनी चुत में उंगली करके अपनी कामवासना शांत कर रही थीं.

मैंने काफी जगह अपने रेज़्यूमे दिए थे, जिस वजह से मुझे कुछ दिन बाद एक मधुरा नाम की लड़की ने फोन किया. पर अब भी कविता का हाथ मेरे लंड पर था और वो मुझे लगातार चूमे जा रही थी. वो बुरी तरह से तड़पने लगी और मुझे पीछे धकलने लगी और उसने मेरे होंठ भी काट लिए, पर ना ही मैंने उसके होंठ चूसना छोड़ा और ना ही अपनी पकड़ ढीली की, क्योंकि मुझे पता था कि अभी सिर्फ सुपारा ही अन्दर गया है.

सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ शावर चालू करके जैसे ही माया के बदन पे ठंडा पानी पड़ने लगा, उसे अच्छा लगने लगा. फिर अचानक ही उन्होंने मुझसे सवाल किया- तुम्हें कैसी लड़की पसंद है?मैं भाभी की बात को सुन कर चौंक गया.

एनिमल बीएफ

फिर माया आंटी ने सबके लिए खाना परोसा और बोलीं- चलो खाना ख़ा लो!आंटी- क्या कल्याणी. दस मिनट उसकी छूट रगड़ने के बाद मैं उसके टॉप में हाथ डाल कर उसकी मक्खन जैसी नर्म चुचियों को दबाने लगा. वो भी मेरे साथ साथ झड़ने लगीं और झड़ते हुए चाची की किलकारियां निकल रही थी जैसे पोर्न हीरोइनें करती है.

वो भी अन्दर मेरे लंड पर पर जीभ नचा रही थी और फिर 5-10 झटकों में मैंने सारा का सारा माल उसके मुँह में निकाल दिया. बातों बातों में एक दिन भाभी ने बताया कि उनकी शादी को दो साल हो गए हैं. बीएफ फिल्म भेज दीजिएमैं उसे ही देख रही थी, वो एक गाउन लाई थी, जिसमें उसके कंधे खुले थे.

मैंने पेंटी को पहना तो अच्छा लगा तो मैंने सोचा कि अन्दर यही पहने रहूंगी और ऊपर जो अमित पहली बार में दी थी, वो पहन लूँगी.

मैं उनके घर गया, भाभी को हैलो किया, ताई को नमस्ते और जा कर बैठ गया, मैं उनसे बात करने लगा. मैंने भी देर न करते हुए लंड से एक करारा शॉट लगा दिया; लंड फचाक से बहूरानी की चूत में जड़ तक समा गया.

अब तो आप मुझे जल्दी से चोद डालो पापा!”अभी तो तू कह रही थी कि चुपचाप पड़े रहना है… अब क्या हुआ?”पापा, मेरी चूत में बहुत तेज खुजली मच रही है… ये आपके लंड से ही मिट सकती है… फक मी हार्ड पापा डार्लिंग!” बहूरानी अधीरता से अपनी चूत ऊपर उचकाते हुए बोली. मैंने अपना लंड चाची के मुँह में दे दिया और अपना सारा रस अपनी चाची के मुँह में निकाल दिया. मैं हर दोपहर को ऊपर मानवी भाभी के पास जाने के नए नए बहाने ढूँढता रहता.

हमारी बातें सुनकर जोया ने कहा- क्या इतनी जल्दी भी कोई चोदने के लिए तैयार हो सकता है?इस पर मोना ने कहा- क्यों नहीं, अभी साहिल ही तुम्हें चोदेगा.

तो दीदी ने मुझे खींचा और रंडी के जैसे बोलीं- ओए… पहले मेरी इस चूत की आग को ठंडा कर. अब मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया तो मैंने बोला कि मैं तुम्हें घोड़ी बनाकर चूत मारूँगा, तुम घोड़ी बन जाओ. सर्दियों के दिन थे तो इसलिए अधेरा था और मैं नीचे से ऊपर वाले चौबारे में फूफा जी के पास चला गया.

राजस्थानी बीएफ डाउनलोडममता बोली- आग मुझे नहीं बल्कि आपके वहां पर लगी है, तब मैं क्यों आपको बिना पूछे बोलती कि मैंने क्या सोचा. चाह कर भी उन गुंडों जैसे आदमियों को देख कुछ भी कर पाने की हिम्मत अपने में नहीं जुटा पा रहा था.

एक्स एक्स एक्स गुजराती मूवी

मुझे आशंका थी कि ब्लू फ़िल्म देख कर यह लड़कियां जरूर आज रात में मुझे नहीं छोड़ेंगी. तुम्हारे चाचा ने आज तक मुझे संतुष्ट नहीं किया, वो तो ढंग से चुदाई कर भी नहीं पाते और बहुत जल्दी थक जाते हैं. लेकिन उनकी सास बोलीं- क्या कर रही है तू? रवि अभी अभी तो आया है और तू सामान लेकर जा रही है.

बहूरानी की बात को अनसुना करके और अपने मन में बहू के चुम्बन की इच्छा को दबा कर मैंने उसकी कमर में हाथ डाल के उसे अपने अंक में समेट लिया, पहले तो मैंने बहू को अपनी छाती से चिपटा लिया… अजीब सी शान्ति मिली मुझे बहू को अपने गले से लगा कर…फिर मैंने बहू के वक्ष पर अपना चेहरा टिका दिया और मेरी नाक उसके मम्मों की गहरी घाटी में धंस सी गई. व्हात्सप्प पर चाचा अब मेरी फिगर की भी तारीफ करने लगे थे, वो मुझे बोलते थे कि तुम्हारी चाची भी अपने आपको बहुत मेन्टेन रखती है लेकिन तुम्हारी बात कुछ और है. मैं दूसरी मंजिल पर कविता के कमरे के बाहर सो रहा था और लुकाछिपी के बारे में सोचते सोचते मैं कभी कविता की चुची व होंठ तो कभी रीना के चुचे के बारे में सोच रहा था.

”ट्राय करोगी क्या?”ट्राय कर सकती हूँ, पर अच्छा ना लगे तो कंटिन्यू नहीं करूँगी. कुछ देर में मैंने अपनी पोजीशन बदली और फिर उसकी चूत में एक उंगली हल्के हल्के अंदर बाहर करते हुए चूत की सकिंग करने लगा. किसी शानदार पोर्न एक्ट्रेस की तरह मेरी पत्नी अपनी जीभ द्वारा ओमार के ढीले हुए लंड को खड़ा करने का प्रयत्न करने में लग गई, जबकि पीछे से जमैका का लंड लोहालाट हुआ मेरी पत्नी की गांड के चीथड़े उड़ाने में लगा हुआ था.

फिर से मैंने अब अपने आपको अच्छे से ठीक किया और लिपस्टिक लगाई, ड्रेस से मैचिंग की और मैं बाहर आंगन में आ गई. तो मैं क्या करूँ?वो- दीदी मुझे आपको नंगी देखना है प्लीज़ एक बार।मैंने सोचा शायद इस लौंडे को मुझ पर प्यार आ गया है। मेरी भी जवानी मुझे कुछ हरामीपन करने को खींचने लगी।मैं- ओके, ठीक है।मैंने झट से अपने कपड़े उतार दिए.

बस…करीब 5 मिनट तक मेरा ऐसा करने से वो बुरी तरह चिल्लाते हुए मेरे मुँह में ही झड़ गईं.

उस सेक्स कहानी में मैंने आपको बताया था कि कैसे मुझे मोना नाम की एक लड़की ट्रेन में मिली और कैसे हम दोनों ने ट्रेन में ही सेक्स किया. हिंदी पिक्चर बीएफ सेक्सी पिक्चरमैंने जब उसे देखा तो वो मुस्करा कर शरमाने लगी और बोली- सीधे रहिए ना. इस वाली बीएफपहले तो मैंने उन्हें सिर्फ इंटरनेट पर वीडियो कॉलिंग करते समय देखा था, पर अब सामने देख कर काफी खुशी हुई थी. मैं सुबह उठी तो मैंने फिर वही देखा रोहण ने मेरे बूब्स को मुख में ले रखा था और एक हाथ से दबा रखा था.

मैंने पूछा- झांटें किधर गईं?तो बोलीं- मुझे चूत साफ़ रखना ही पसंद है.

अब मेरा दीदी के बिना जीना मुश्किल हो चुका था, मैं हर वक़्त उन्हीं के बारे में सोचता रहता. मेरी आवाज सुनते ही उन्होंने मेरी तरफ देखा और हंस दीं, पर मेरा गुस्सा अभी वैसा ही था. तब वो और भी भावुक हो उठी।मैंने उन्हें सम्हाला और शांत किया।उस दिन के बाद तनु के लौट कर आते तक, हर दूसरे तीसरे दिन मैं और आंटी हमबिस्तर होते रहे, और छोटी को साथ रख कर उसे इलाज का असर हो ऐसी बातें समझाते रहे.

भाभी मेरे पास आकर कहने लगीं- सॉरी मुझे उस दिन तुम पर गुस्सा नहीं करना था. सभी दोस्तों को रौनक का नमस्कार! यारो, मैं अन्तर्वासना की कहानियां कई सालों से हमेशा पढ़ता आया हूँ. उधर सुरेश अंकल, वह मेरी चूत के दीवाने थे, वो उधर मेरी चूत पर पूरा लंड डाले.

ब्लू सेक्सी सुपरहिट

चाटो मेरी चूत को बहुत गर्म है आज ठंडी कर दो, तुम लोग बहुत अच्छे से चूत को चाटते हो. उसने अपनी एक महिला कर्मचारी को फोन किया और कहा कि तुमने कल मैडम को देखा था कि नहीं. मैंने यश को ठीक से लिटाया और सो गई। परन्तु उनका रोज का वही काम था और वो बात भी ज्यादा नहीं करते थे।”ओह्ह.

तो क्या मैं आज की रात आपके साथ बेड पे सो सकता हूँ?”मामी चूची उठाते हुए बोलीं- ओके.

मैं तो हैरान रह गया कि मैंने मेरी पहली चुदाई सील पैक चूत के साथ की थी.

खुल के बोल, तुझे मुझमें सबसे ज्यादा क्या पसंद है, मैं बुरा नहीं मानूंगी. आज, सच में नहीं देखना चाहोगी?” मैं अब चाहता था कि वो ब्लू फिल्म देखे. बीएफ डब्लू डब्लू बीएफइसी बीच उसे पता भी नहीं लगा कि कब मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया और उसे भी अब मजा आने लगा.

गेट खोलने से पहले मैंने उसे कस कर पकड़ा और लम्बी वाली लिपकिस की और ऊपर से ही उसकी चूत को रगड़ डाला. मैं बॉस के केबिन में गांड मरवा रही हूँ, ये ऑफ़िस में किसी को नहीं पता था. मैं एक गुलाब लेकर कॉलेज के लिए निकल रहा था कि रास्ते में वो मिल गई.

वो समझ गई कि मैं उसकी गाण्ड मारने वाला हूँ।बोली- राज आज पीछे नहीं डालना प्लीज. पर जैसे ही दूसरा सोफा उठाने के लिए झुकीं तब उन्होंने पल्लू कमर पर बाँध लिया था, वह खुल गया.

उनके ऐसे देखने से मेरा लिंग आकार लेने लगा और तौलिया आगे से उठ गया, मुझे शरम आई तो मैंने कहा- आंटी वो मेरे पैर में चोट है तो मैं बाथरूम में कपड़े नहीं उतार पाता.

मैंने उसको बेड पे लेटा दिया, तो वो फटाक से बैठी होकर बोलीं- जान, हम शुरू करें उससे पहले एक गेम खेलते हैं. बहू रानी आगे बोली- यह आपकी चहेती हो गई है, बिगड़ गई है, पूरी की पूरी ढीठ हो गई है, हद कर दी इसने तो बेशर्मी की!तो फिर आ जा मेरी रानी… कुछ नया करते हैं अब इसके साथ!” मैंने कहा- बोलो बहूरानी… क्या ख्याल है?अब और क्या नया होना बाकी रह गया पापा जी… सब कुछ हर तरीके से तो कर चुके आप मेरे साथ. तीन दिन का राशन घर में ही था इसलिए हमने तीन दिन तक कपड़े ही नहीं पहने और घर के अन्दर चुदाई का खेल चलता रहा.

बीएफ लड़की के बीएफ उस हल्की रोशनी में वो बहुत ही हसीन लग रही थी और कुछ पैग का सुरूर भी था. फिर मेरा हाथ धीरे धीरे और ऊपर उनकी टाँगों के बीच स्पर्श करने लगा और चाची मदहोश होने लगीं और मेरा हाथ ज़ोर ज़ोर से दबाने लगीं.

बोलीं- ऐसा मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरे साथ इतना अच्छा सेक्स होगा. भाभी के पैर दरवाजे की तरफ थे इसलिए मुझे तो देख नहीं सकी, पर उनकी मस्त मखमली चूत और गांड का छेद साफ दिख रहा था. खैर मैंने भी ज्यादा नाटक करना ठीक नहीं समझा और मैं उनका साथ देने लगा.

सेक्सी ब्लू बीएफ हिंदी

दस मिनट लंड चूसने के बाद पदमा बेड पर लेट गई और उसने अपनी चिकनी टांगों को फैला दिया. इसी तरह दिन बीतते गए और एक महीने में तो संजय हमारी फैमिली में काफी एडजस्ट हो गया. हम दोनों का घर ज्यादा दूर नहीं था। उसने मुझसे कहा- अगर तुमको कोई प्रॉब्लम नहीं हो.

मैंने तुरंत अपने होंठों पर जीभ फिराते हुए कहा- क्या रसीले लब है तुम्हारे… मज़ा आ गया रस पान करके. पर मेरा उनके प्रति कभी कोई गलत सोच नहीं थी क्योंकि मैं तो अपनी गर्लफ्रेंड के साथ मस्त रहता था.

पर तुम कब निकल रही हो?उसने कहा- सुबह चार बजे की गाड़ी से निकलूंगी तो नासिक दस बजे तक पहुंच जाऊँगी.

दोस्तो, मेरा नाम प्रवीण है। आज मैं अपनी एक सच्ची सेक्स कहानी बताने जा रहा हूँ. मैं- बोलो दीदी, क्या बोलती हो, मेरा लंड भी अपने नर्म और पिंक लिप्स में ले के चूसोगी या मैं ये वीडियो करण को दे दूं?दीदी- सन्नी, मैं तेरी बहन जैसी हूँ; तू मेरे साथ ऐसी हरकत करना चाहता है?मैंने सोचा कि अब इसको क्या बताऊँ कि मैं तो अपनी बहन को भी चोदना चाहता हूँ- दीदी फालतू की बात मत कर बोलो, यस और नो?वो चुप रही कुछ देर!मैं- दीदी जल्दी बोलो, वर्ना मैं चलता हूँ, कॉलेज और सबको ये वीडियो दिखाता हूँ. ये सोच कर मैंने अवी से कहा- देखो आस पास कोई बाहर तो नहीं और अपनी कार का दरवाजा खोल दो, जहाँ मुझे बैठना हो और ये लो ताला और मेरे निकलने पर बंद कर देना.

नतीज़न! घर में हल्की-फ़ुल्की बहस बाज़ी और छिट-पुट नाराज़गी के दौर शुरू हो गए थे. इस तरह से सोनी भी पहली बार किसी लड़के के साथ इतना घूमने फिरने लगी थी. मैंने सोचा कि वो अब चुदवाने के लिए तैयार तो हो ही गई है लेकिन मैं अभी उसके साथ थोड़ा और मस्ती करना चाहता था.

थोड़ी देर बाद भाभी बाथरूम से निकलीं, मेरी नज़र बाथरूम की तरफ चली गई तो देखा कि भाभी ने तौलिया को सर पर बालों में लपेटा हुआ था और नीचे पेटीकोट को चुचियों तक चढ़ा रखा था, जिससे उनकी पीठ खुली हुई थी और टाँगें घुटनों तक दिख रही थीं.

सेक्सी मराठी बीएफ व्हिडिओ: मैंने अंजू से कहा- अंजू, तुम तो कह रही थीं कि लड़के कमेंट करते हैं? जिस किसी ने भी मुझे देखा. फिर रोहण ने धक्के मारना शुरू कर दिया और फिर हमारी चुदाई की आवाज पूरे रूम में गूँज रही थी.

दोस्तो, आप लोग मेरे लिए दुआ करो कि मेरी प्यारी भाभी मुझसे दूर ना जाए. फिर एक दिन सोच ही लिया, जो भी होगा देखा जाएगा, अब तो ममता से बात करके ही रहूँगा. कुछ देर तक वो देखती रही फिर पलट कर जाने को हुई तो मैंने लपक कर उसको पकड़ लिया और उसे खींच कर बेड पर बैठा लिया.

मैंने सोचा कि छोड़ो… चूत तो मिल रही है! मैंने उसे कहा- ठीक है, कोई बात नहीं!फिर मैंने उसकी ब्रा हटा दी और उसके आम चूसने, काटने लग गया.

तभी बहूरानी ने खुद को काबू किया और हाँफती हुई सी मुझसे दूर खड़ी हो गई; उसकी आँखों में सम्भोग की चाहत गुलाबी रंगत लिए तैर रही थी. अब मैंने निर्मला की चूत में अपनी पूरी उंगली घुसेड़ दी तो आनन्द वश उनके मुख से आह निकली और उनका मुख जैसे ही पूरा खुला. मैंने मानवी भाभी के मुँह पर एक चपत लगाई और उसके मुँह में अपना औज़ार जबरदस्ती डाल दिया.