बीएफ वीडियो एचडी पोर्न

छवि स्रोत,कविता जोशी की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी विश्वास: बीएफ वीडियो एचडी पोर्न, और हम क्या करें कोमल?”राहुल और अंश अब जब तुम लोग बाद में देखोगे तो इससे अच्छा है कि अभी कुछ नजारा देख लो.

गांव की लड़कियों की सेक्सी दिखाएं

मैंने उसकी चूत में से अपना लंड निकाल कर एक झटके में ही उसकी चौड़ी गांड में पेल दिया. डॉग सेक्सी फिल्मेंवो बोली- कह तो तू सच ही रही है मगर आज रात को तुम भी मुझे कम्पनी देना.

मैंने उनसे उनका एड्रेस लिया और शनिवार शाम को 8 बजे उनके बताए हुए एड्रेस पर पहुँच गया. सेक्सी हिंदी में देनाकरीब दस मिनट बाद हम होश में आये, अब मैंने मौसी की साड़ी उतार कर अपने वाले बिस्तर पर फेंक दी और अपनी लोअर और बनियान भी उतार दी.

उस रात तो मैं सो गया, फिर अगले दिन कविता का कॉल आया, उसने कहा- जीतू तुम अपनी गर्लफ्रैंड को छोड़ दो और मुझ से फ्रेंडशिप कर लो! मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं, और हमेशा करती रहूंगी!फिर उसने कहा- अगर तुमने सपना (मेरी गर्लफ्रैंड का नाम) से बात करना बंद नहीं किया तो मैं तुम्हारी मम्मी से बोल दूँगी.बीएफ वीडियो एचडी पोर्न: मैं भी उनको किस करने लगा और वापस उनके हाथ पकड़ कर उनको बिस्तर पर लेटा दिया.

मेट्रो स्टेशन रेवेल्यूशन स्क्वायर से हम पैदल जमा भीड़ को निहारते हुए क्रेमल की ओर चल दिए.नीना ने हम दोनों को घंटे भर आराम करने के लिए शोरगुल न करने और शांति के साथ होम वर्क करते रहने को कहा.

xx हिंदी सेक्सी - बीएफ वीडियो एचडी पोर्न

मगर तुम चिंता ना करो… जाओ जाकर फ्रेश हो जाओ और ठीक से कपड़े डाल लो, कहीं कोई आ गया तो ग़ज़ब हो जाएगा.बातों ही बातों में उसने कहा- मैं भी आपके घर के थोड़ी दूर में रहता हूं.

मैं उनके इस रूप से एकदम से सहम गया और मैं बहुत डर गया था, मैंने हाथ जोड़ कर सॉरी बोला और तुरंत वहां से भाग गया. बीएफ वीडियो एचडी पोर्न ” चेतना के दिमाग में नशा इस तरह हावी हुआ था कि उसने राखी को छोड़ा और बेड से उठी।चेतना बेड से उठकर राजू के सामने गयी, वह फिर राजू के आगे घुटनों के बल बैठ गयी। राजू का बड़ा लंड उसके चेहरे के आगे झूल रहा था। उसकी आँखें बड़ी हो गयी थी और वह बिना पलक झपके उसके लंड को देख रही थी।अब देखती ही रहोगी या बेचारे का मक्खन भी खाओगी? बेचारे को और भी बहुत काम होंगे.

’ जैसी कराह मुझे और करने को उकसा रही थी कि मम्मों को चूसो और काट लो.

बीएफ वीडियो एचडी पोर्न?

वे इस तरह की बातें करते हुए रोने लगीं और मेरे करीब होकर मेरे कंधे पर सर रख कर सुबकने लगीं. फिर मैंने राजधानी एक्सप्रेस की रफ़्तार से जो धक्के ठोके तो रानी की सिसकारियाँ बंध गई. थोड़ी देर तक उसके लिप्स को चूसा, फिर उसके चूचों को दबाया, उसने अपनी कमीज को ऊपर किया और उसके दोनों चूचों को आज़ाद कर दिया.

जैसे ही उस गाड़ी की शीशे उतरे, मैंने अंदर नजर घुमा कर देखा कि उसमें करीब चालीस की एक खूबसूरत सी आंटी बैठी हैं. मेरे कुछ चाहने वाले बोलते हैं कि मैं एक बहुत ही सेक्सी और क्यूट सा माशूक लौंडा हूँ. मुझे उसकी बाँहों में अच्छा लग रहा था क्योंकि उसके जिस्म से मर्दानी जर्दे वाली खुशबू आ रही थी और मैं उसके गले पर हल्की हल्की किस कर रहा था जिसका उसे अनुभव नहीं था.

कुछ देर बाद मैंने उसके लंड को मुँह में ले लिया और मस्त होकर चूसने लगी. धीरे से मैंने अपना लंड उसकी मुलायम गांड से छुलाया, वो पहले से तैयार खड़ी थी. थोड़ी देर बाद उन्होंने उठकर अपने सारे कपड़े निकाल दिए मैंने उनके लंड को फिर से मुंह में ले लिया उसको खूब चूसा, चूमा.

अगले ही पल वो ऊपर सिर्फ ब्रा में रह गई थी, लेकिन अभी भी वो देसी इंडियन लड़की थी तो थोड़ा थोड़ा शर्मा रही थी. और अगर बाहर के लोगों को पता चल गई तो हमारी क्या हालत हो सकती है यह तुम्हें कुछ पता भी है या नहीं?अनामिका- उसकी टेंशन मत लो डार्लिंग, वह इंसान कोई और नहीं… उसे तुम भी अच्छी तरह से जानते हो, वह मेरी छोटी बहन है सोनल.

(आगे मैं एरिक द्वारा बोले गए डाइलोग हिंदी में ही लिख रहा हूँ!)तो क्या हुआ, आपके दोस्त को तो बहुत अच्छी रूसी आती है.

चिंता मत करो, मर्द और घोड़े अपनी खुराक जानते हैं!” मैंने हँसते हुए जवाब दिया.

जब मैं झड़ रहा था तब दी ने अपने दोनों हथेलियों को मेरे लंड के सामने लगा दिया और मेरे स्पर्म को अपने दोनों हाथों में ले कर बड़ी प्यार से उसे चूम लिया. पूजा भी कामवासना से आपे से बाहर हो गई और मेरे लंड को लुंगी के ऊपर से ही पकड़कर दबाने लगी. वैसे मेरी तरफ से हां बोल दी है अगर लड़का और लड़की दोनों एक दूसरे को पसंद कर लेते हैं तो.

वो तो एकदम बेड से उछल पड़ी- अहाआहह… आअहहाहह… आहहाह… कम ऑन बेबी… अन्दर तक चाटो और जोर से चाटो हां ऐसे ही आह… आह…वो मेरे मुँह को अपनी बुर पे दबाने लगी. नाभि से ढाई-तीन इंच नीचे से क्रीम रंग की पिंडलियों तक लम्बी एक कैपरी, नाज़ुक साफ़-सुथरी दायीं टांग के ऊपर बायीं टांग, दोनों पैरों के नाख़ून थोड़े बड़े पर अच्छे से तराश कर उन पर लाल रंग की नेलपॉलिश लगी हुई. राम सुख मुझे एक कमरे में ले गया और बोला- यार उसको तो तूने खुश कर दिया, अब मैं क्या करूँ?मैंने कहा- क्या यार तू भी मारेगा? ले मार ले!मैं पैन्ट उतारने लगा, अंडरवियर नीचे किया और बोला- तू तो पुराना यार है बोल?उसने भी अपने कपड़े उतारे और बोला- देखो… दादा कह रहे थे नखरा नहीं, मेरे से भी नखरा नहीं.

मैं कुछ नहीं बोला तो वो एक पेटीकोट देते हुए बोली- इसी से पौंछ लो… या ये भी मुझसे ही करवाओगे?मैं बोला- आप ही पौंछ दो न!तब मैं बिछावन से नीचे उतरा और मेरी पैंट नीचे सरका दी और भाभी मुझे मजाक में ताने मारते हुए पौंछने लगी.

वह बोला- मैं शादीशुदा हूँ और मेरे पास चोदने के लिये बीवी है लेकिन आज ही सुबह उसे बेटा हुआ है इसलिये पिछले 3 महीनों से उसे चोदा नहीं है… और इसीलिये मैं अस्पताल आया हूँ… तेरी बात सुनकर ये मादरचोद लंड खड़ा होकर झटके मार रहा था और कोई दूसरा इंतज़ाम भी नहीं था इसलिये मुझे तेरे पास आना ही पड़ा. जब घर पर कोई नहीं होता तो मैं उसके साथ चिपक कर बैठता, उसको टच करता. जैसे ही मैं चाय ली, मैंने देखा नगमा इशारे से मुझे बाथरूम की तरफ बुला रही थी.

अगर आपका अच्छा रेस्पॉन्स मिला तो आंटी जी के साथ हुए अपने उन पलों को भी शेयर करूँगा जो बहुत ही गरम और कामुक हैं. मेरे दिमाग में खुशबू के लिए अभी तक कुछ गलत सोच नहीं था लेकिन अब उसके बारे में सोचकर मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था. फिर दूसरे दिन मैंने कालेज जाने के लिए बैग उठाया और देखा कि सामने वाले भैया जा चुके है और सविता भाबी घर पर अकेली हैं.

अब उसने मेरे हाथों की उंगलियों में अपनी उंगली फंसा लीं और बिना हाथ लगाए लंड को अपनी चूत में घुसाने लगी.

अब मैं एक जिंदा रोबोट बन चुकी थी और उसका लंड मुँह मिनट डाल कर चूसने लगी. आह… उन प्रेम रस में डूबे, कांपते होंठों की लज्जत तो किसी फ़रिश्ते का ईमान भी खराब कर दे.

बीएफ वीडियो एचडी पोर्न मैंने हाथ से लंड को छिपाया और दीदी से कहा- दीदी, मैं कल कुछ क्लाइंट्स की कॉल पर दिल्ली जा रहा हूँ मतलब संडे को मुझे दिल्ली पहुँचना है, तो मैं कल यहाँ (अहमदाबाद) से जाऊँगा, तब जाके संडे सुबह तक पहुँच सकूँगा. फिर कुछ देर में सारा काम निबटा कर चाची भी आकर मेरे बाजू में लेट कर सो गईं.

बीएफ वीडियो एचडी पोर्न दोस्तो, मैं पहली बार कोई कहानी लिख रहा हूँ अगर कोई गलती हो जाए तो माफ कर देना. क्या तुम एक काम कर सकते हो?मैंने पूछा- क्या?क्या तुम मुझे रोज चोद सकते हो?”मैं समझ गया कि ये साली बहुत बड़ी वालीचुदक्कड़ चालू मालहै.

फिर अनुज बोला- यार ये तो साली चूत नहीं दे रही और मेरा लन्ड खड़ा हो रहा है.

कार्टून सेक्सी वीडियो कॉम

भैया बोले- अभी चलो, कल मुझे आउट ऑफ स्टेशन जाना है, अभी चलो… जल्दी चलो. उससे सहा नहीं जा रहा था और वो बस यही बोले जा रही थी कि प्लीज़ भैया अब देर मत करो, मेरी प्यास जल्दी से शांत कर दो. अब हम दोनों लगभग हर रोज़ ही शाम को मिलते और ऐसे ही चूमा चाटी करके चले जाते.

यह सब सुरेंद्र जीजा देख रहे थे और फिर सुरेंद्र जीजा बोले- अंकल, मुझे भी ड्रिंक करना है। मैं आपकी दारू पी सकता हूं क्या?अंकल बोले- हां बिल्कुल सुरेंद्र, तुम ले लो, सामने रखी है!सुरेंद्र जीजा गए और उन्होंने पूरा ग्लास दारू का भरा और पीने लगे. मैं धीरे धीरे घुटनों के बल खिसकता हुआ उसके ठीक सर के ऊपर तक पहुँच गया. मैंने अपने लन्ड को बहू की चूत में पड़ा रहने दिया और पूजा को किस करने लगा.

कसम से मैं उनकी फूली हुई चूत और तने हुए मम्मों पर तो एकदम से पागल ही हो गया.

मैंने कहा- कहां?दोस्तो, औरत के मुँह से अंग विशेष के शब्द सुनने का मजा ही कुछ और होता है. हर लड़के का 5-6 लड़कियों और हर लड़की का 5-6 लड़कों से चक्कर होता है. मैंने उसकी चूची मसलते हुए कहा- किसको क्या दोगी कुछ नाम भी तो लो जानेमन.

इस 69 की पोज़िशन में भाबी ने मेरा लंड चूस चूस कर मेरा लंड लाल कर दिया. सच पूछो तो मैं भी कोई मौका छोड़ना नहीं चाहता था, जब मैं उसकी बॉडी के किसी पार्ट को छू सकूं, झगड़ते समय भी मैंने कई बार उसकी पीठ पर, उसकी जांघ, उसके बड़े बड़े चुचों पर और थोड़ा बहुत उसकी गांड के हिस्से को अपने हाथों से सहलाया. भाभी नहाने चली गईं, मैं बाहर हॉल में बैठ कर टीवी पर कुछ देख रहा था.

इसके बाद उसने मुझसे कहा- मजा आ रहा है?मैंने कहा- हां राजा, चोदते रहो बहुत मजा आ रहा है. मैंने उसे फिर तैयार होने को बोला और वो मस्ती में एकदम से मुझे लिपट गई.

पापा को भी एक चूत की ज़रूरत थी क्योंकि उनकी पत्नी (मेरी माँ) भी संसार छोड़ कर जा चुकी थीं. कैसे मैंने अपनी बहन को चोदा, उसको अपनी रानी बनाया ये जानने के लिए मेरी सेक्स स्टोरी का अगला भाग ज़रूर पढ़ें. रात को दस बजे बिंदु माँ मेरे कमरे मे आकर बोलीं- अपने कपड़े उतारो और चूसो मेरी चूत को.

दोस्तो, मैं संचित ठाकुर तलवाड़ा, होशियारपुर पंजाब से… कैसे हो आप सभी?आपके लिए एक नई सेक्स कहानी लेकर आया हूँ। आपने मेरी पिछली चुदाई कहानियों को पढ़ा और बहुत सराहा, ढेर सारे मेल मुझे किये, तारीफ़ की मेरी कहानियों की… इसके लिए धन्यवाद।ज़्यादा इंतज़ार करवाना और पकाना मुझे खुद को ही पसंद नहीं तो चलिए चलते है मेरी नयी आपबीती की तरफ.

हालांकि इससे हमारी आग बहुत बढ़ जाती थी लेकिन इससे अधिक और कुछ हो भी नहीं सकता था. अब जिस घटना का मैं वर्णन करने जा रहा हूँ वो मेरे नीचे काम करने वाले एक जूनियर अफसर की पत्नी को चोदने की है. अब मैं चाची की चुत की चुदाई करता हुआ उनकी चुचियों के साथ खेल रहा था.

मैंने सेक्टरी को उठाया तो देखा उसकी चूत बहुत छोटी सी थी, और उसकी चूत से हल्का सा खून भी निकल रहा था. अब मैंने चैन की सांस ली कि चलो अब एक दो दिन के बाद काम चालू हो जाएगा और पैसे की कमी में थोड़ी तो राहत तो मिलेगी, पर मेरे अंदाजा गलत निकला.

भाभी घबराते हुए बोलीं- पानी गरम करने वाला गैस गीजर नीचे गिर गया और मैं घबरा गई. कमरे में नाइट बल्ब जल रहा था, मैंने देखा कि उसके मम्मे ऊपर नीचे हो रहे हैं. अब विवेक ने उसका एक पैर भी नीचे कर दिया और दोनों टांगें पूरी तरह फैला दीं.

बिहारी सेक्सी बिहार का

उसने एक डीवीडी प्लेयर लगा रखा था और उस पर कोई ब्लू फिल्म लगी हुई थी, मगर टीवी और डीवीडी ऑफ थे.

आज वो मेरी मजबूरी में इस कसाई के हाथ लग गए हैं और बिना हलाल हुए नहीं छूटेंगे. हेलो दोस्तो, मैं प्रेम गुरु एक बार फिर से अपनी कहानी का दूसरा हिस्सा लेकर हाजिर हूँ।मेरी पहली कहानीमाँ की गांड का दीवाना-1अगर आप लोगों ने नहीं पढ़ी है तो ज़रूर पढ़ें मैं उसका लिंक भी दे रहा हूँ. वो काफी अन्दर तक मेरे लंड को लेने की कोशिश कर रही थी, पर ले नहीं पा रही थी.

मैं 8-9 इंच में लंड को ऐसे घोट जाता हूँ, जैसे वहाँ कुछ हो ही ना, पर ये 7 इंच का लंड नहीं जा रहा था जबकि मैं पूरी कोशिश कर रहा था. इसके बाद वो मेरे अंग अंग को चूसने लगा, मुझे बहुत गुदगुदी हो रही थी, मगर मैं हिल भी नहीं पा रही थी. मराठी सेक्सी कामसूत्रमैं उनकी जीभ को चूसने लगा, काफ़ी देर हम फ्रेंच किस करते रहे और उसी वक़्त मैंने भाभी को और भाभी ने मुझको नंगा कर दिया.

मैंने जैसे ही चूचे के निप्पल पर जीभ घुमाई, दीदी का निप्पल कठोर हो गया. मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और उसकी चूचियां देख कर मैं हेरान रह गया कि मेरे लड़के को इतनी मस्त लड़की मिली फिर भी चूतिया साला लोंडेबाज़ है.

मैंने एक बार रजाई में से अपना मुँह निकाल कर उसे देखने की कोशिश की, कमरे में बिल्कुल घुप अन्धेरा था इसलिये साफ तो दिखाई नहीं दे रहा था मगर उसका साया नजरा आ रहा था, जो ठण्ड कारण दोहरी हो रही थी। मैं सोचने लगा कि क्यों ना मैं इसे अपनी ही रजाई ओढ़ा दूँ मगर मुझे डर भी था कि कहीं यह मुझे ही गलत ना समझ ले. अब तक मेरी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि ड्राईवर से मन भर गया तो मैंने एक और नए लंड की तलाश की जो मुझे मेरे कॉलेज में मिला. क्योंकि वो पापा की सेक्रेटरी थी, इसलिए वो बहुत समय उनके साथ ही रहती थी.

मैंने कहा- क्यों न कहूँ तुम्हारे कुंवारे होने का सबूत कहां है? अगर तुमने उससे चुदवाया है तो मुझे बताना ही पड़ेगा क्योंकि कल को किसी को पता चला और सब जानेंगे कि मैंने सब कुछ जानते हुए भी नहीं बताया तो मैं तो यूं ही फंस जाऊंगा ना!वो बोली- पर जीजू मैंने कुछ नहीं किया है. मैंने भाभी की चूत पर लंड के सुपारे को रगड़ रहा था… लेकिन मैं जानबूझ कर उनकी चुत में लंड डालना नहीं चाहता था. हाँ, वेरा-माइना, वेरा-माइना, वेरा-माइना, वेरा-माइना, वेरा-माइना…” आर्थर दुगने जोश के साथ सफ़ेद परी को अपनी कलाइयों पर उछालता हुआ अपने लंड पर पटकने लगा.

दीदी लंड चाटने से मना कर रही थी, पर मेरे कहने पर उसने लंड मुँह में ले लिया और उसे चूसने लगी.

उन्होंने अपना हाथ मेरा लंड पकड़ने के लिए नीचे सरकाया तो मैंने उनका हाथ पकड़ लिया और उनके सिर के पास दोनों हाथ अपने हाथों से जकड़ लिए. मॉम ने भी एकदम से पैरों को हवा में ही मोड़ लिया, जिससे मॉम की चुत एकदम बाहर निकल आई.

उन्होंने मेरा एक हाथ अपने लंड को स्पर्श करवाया, उनकालंड काफी मोटा और लंबा था. कामिनी फ्रूट्स उठा कर ले गई और उसकी गोद में बैठ कर अंगूर खाने लगी और विवेक को खिलाने लगी. भाभी के मुँह से सेक्स की बात सुनते ही मेरा लंड तन कर खड़ा हो गया और मेरा मन सेक्स करने को उत्तेजित हो गया.

मैंने पूछा- ताई जी कहां हैं?वह बोली- वो कहीं गई हुई हैं, शाम को 5:00 बजे से पहले नहीं आने वाली हैं. अगले दिन मैं पहुंचा तो देखा तो सोनल आ चुकी थी, दोनों बहनों ने साड़ी पहन रखी थी जिसमें वे सेक्सी लग रही थी. दीदी ने कहा- मुझे मालूम है तू मुझे चोदना चाहता है और मैंने बहुत बार तुझे मेरी तस्वीरों को हाथ में लेकर मुठ मारते देखा है.

बीएफ वीडियो एचडी पोर्न मैं वापस उनके ऊपर आया और किस करते हुए भाभी को सब जगह किस करते हुए उनकी चुत को फिर से गीला किया. लेकिन मेरा अभी बाकी था, वो इसी अवस्था में मेरे शरीर पर निढाल पड़ी रही करीब दस मिनट तक; मेरा लिंग अभी भी उसकी चूत में ही था।सामान्य होने के बाद मैं बोला- अभी मेरे नहीं हुआ है.

सेक्सी भारतीय व्हिडिओ

अभी बताओ क्या करना है?कुसुम बोली- तुमने ऐसे एक दिन के लिए इसको बुक किया है, यह तुम्हें वो सब सर्विस देगी. मैं- भाभी क्या हुआ?भाभी- तुम्हें कोई बीमारी नहीं, स्वस्थ हो; अब ये तुम्हारी शु शु नहीं है, इसको लण्ड कहते हैं. वह अपनी गोरी, मोटी और चिकनी टांगों को फैला कर मेरी और मुंह कर के मेरी गोद में, मेरे लंड को अपनी चूत में लेकर बैठ गई.

मैं उसके मम्मों को चूस रही थी और बीच बीच में काट लेने पे उसकी ‘आअह्ह्ह. यह कोई कहानी नहीं लिख रही हूं यह वो सच्चाई है जो मैंने जी है; बस इसमें मैं अपना नाम बदल रही हूं. वीडियो सेक्सी डाउनलोडिंग एचडीमेरी जीभ उसके दाने से ले के उसके गांड के छेद तक लगातार घूम रही थी और वो मचल रही थी.

अब वो उछल उछल कर मेरे मुँह में लंड डालने लगे, मेरा मुँह छिल रहा था, पर मैं कुछ कर भी तो नहीं सकती थी.

मैंने बहुत ही संभाल उनके लंड पर जमी वो पानी की बूँद को जीभ की नोक से चाट लिया. फिर मैं बाइक लेके उनके पास गया और मैंने पूछा कि क्या मैं आपकी कोई हेल्प कर सकता हूँ.

वहीं मेरे ऑफिस में एक लड़की भी थी! चंचल, बड़ी बड़ी आंखें, हमेशा फुर्तीली और तेज! अपना काम बखूबी करती और फिर किसी की एक ना सुनती!उसके साथ मेरा काफी अच्छा दोस्ताना हो गया! हम दोनों मन लगा कर अच्छा काम करते और फिर कभी कुछ बातें कर लेते!ऐसे ही कुछ दिन बीते, फिर महीने बीत गए. फिर एक दिन भाभी का कॉल आया कि उनके बाथरूम में गरम पानी नहीं आ रहा है, मेरे पति भी नहीं हैं. मैं- सोनिया ये सब कब से चल रहा है?सोनिया- भैया एक साल से!मैं- और जो ये आज कर रही थी, ये सब कितनी बार किया है?सोनिया- भैया 3 बार…मैं- कहां पर?सोनिया- यहीं पर.

उसने मेरा मुँह अपनी चुत से हटा कर अपनी चुत को मेरे लंड के ऊपर रख दिया.

मैंने भैया को जगाया तो भैया बोले कि तू हमारे वाले रूम में ही सो जा. अब मैं धीरे धीरे अपने होंठों को उसके होंठों के पास ले गया और उसे किस कर दिया. लेकिन अगले ही पल मैं खुश हो गया था कि आंटी ने मुस्करा कर मेरी और देखा था.

सेक्सी का वीडियो देखने वालामैंने अपनी स्पीड डबल कर दी- ले साली… आज से तू मेरी रंडी है ले रांड…वो कहने लगी- आह… चोदो हां ऐसे ही चोद दे… साले… हां ऐसे हीईई… आह… मम्माआ… आह…आह…फिर मैं उसे शीशे के सामने कुतिया बना कर चोदने लगा. वो बोली- जीजू आधे घंटे से तो आपका लंड मेरी चुत के अन्दर है और आप बोल रहे हो कि बड़ी जल्दी खत्म हो गई.

डबल सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो

मेरी किस्मत भी क्या है, जिसके लिए यह सब किया, वो ही मुझे आज चोद रहा है. वो बस मादक सिसकारियां ले रही थी, जो मुझे और ज़्यादा उत्तेजित कर रही थीं. फिर एकदम से ढीली हो गई और उसने पलंग का चादर अपनी मुठ्ठी में भींच लिया.

मैंने जीभ से बार ज़ोर ज़ोर से स्वर्ण रस के छेद पर प्रहार किये तो रानी दसियों बार झड़ी. बहनचोद निप्पल अकड़े हुए थे मानों कह रहे हों कि आओ मसल मसल के, कुचल कुचल के हमारी अकड़न दूर कर दो. आआ स्सस्सस्स उम्म… अब तुम भी नंगे हो जाओ… और अन्दर तक चूसो इसे आआह…”उसने चुत चाटना शुरू कर दी.

मैंने भाबी को लेटाकर उनके दोनों पैर अपने कंधों पर रखे, इससे भाबी की चुत पूरी तरह से खुल गई थी. अब हम रोज सेक्स करते समय किसी और को फील करते थे, इसका मज़ा ही अलग आ रहा था और मेरी ये सब सच में करने की लालसा बढ़ती जा रही थी, मंजू का भी हाल कुछ ऐसा ही था, बस वो इस बात से डर रही थी कि कहीं कोई बदनाम न कर दे!उसका डर जायज भी था. मुझे देखते ही नीना ने डॉक्टर साहब से बड़ी गर्मजोशी के साथ मेरा परिचय कराया। डॉ.

कुछ देर चुदाई का मजा लिया और हम दोनों ने खुद को साफ करके कपड़े पहन कर कमरे से निकल आए. इस वक्त मुझे मालूम था कि मेरा पल्लू सरका हुआ था और मेरे मम्मे, निप्पल ऊपर से ही एकदम साफ दिख रहे थे.

मैंने फिर पूछा- चुदाई में भी मज़ा आया या नहीं?उसने इतराते और शरमाते हुए कहा- ऊं हूँ… क्या पूछे जाते हो… मुझे शर्म लगती है.

मैंने कहा- मामी जी, ये सिर्फ़ आपको देख कर कुछ ज्यादा ही मचल रहा है, अब इसको अपने मुख में लो और इसे शांत कर दो!पूजा मामी ने मेरे लंड को अपने मुख में लिया और चूसने लगी. सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो नंगी फिल्मभाभी बड़े प्यार से मेरे बालों पर हाथ चलाते हुए अपना दूध मुझे चुसाने लगी थीं. सेक्सी ब्लू फिल्म भारतवो बोली- होगा… जरूर होगा, चल जल्दी कर भोसड़ी के… तू है ही इस लायक साले जल्दी आ. मैंने बाथरूम में साक्षी की ब्रा और पेंटी देखी, जो थोड़ी सी गीली थी.

मैंने एक बार रजाई में से अपना मुँह निकाल कर उसे देखने की कोशिश की, कमरे में बिल्कुल घुप अन्धेरा था इसलिये साफ तो दिखाई नहीं दे रहा था मगर उसका साया नजरा आ रहा था, जो ठण्ड कारण दोहरी हो रही थी। मैं सोचने लगा कि क्यों ना मैं इसे अपनी ही रजाई ओढ़ा दूँ मगर मुझे डर भी था कि कहीं यह मुझे ही गलत ना समझ ले.

उसके साथ मैं थोड़ी देर यूं ही इधर उधर की बातें करने के बाद अपनी सहेली के साथ ऑफिस चली जाती थी. फिर मैंने अपने लंड की स्पीड बढ़ा दी और आंटी के मुंह से ‘अ आ आ आ अ आयउ आ उ ईई आ आ…’ जैसी आवाज का आना तेज हो गया. और फिर मैंने पूनम की चूत में प्लास्टिक का लण्ड डाला तो पूनम और तेज आहहहह उम्म्ह… अहह… हय… याह… करने लगी और बोली- दीदी, आज तो बहुत मजा आ रहा है… इतना मजा तो मेरे पति नहीं दे पाये मुझे कभी यार! तुमने तो मेरी चुदाई की इच्छायें पूरी कर दी!और वो अपने चूतड़ उठा उठा कर अपनी चूत मेरे मुँह में पेलने लगी.

अब मैं कल ही आ पाऊंगा, तुम अपनी चाची का ख्याल रखना और आज अपनी चाची के पास ही सो जाना. ”ये कहते हुए उन दोनों ने भी अपने लंड बाहर निकाल लिए और मुझे लंड दिखाते हुए आगे खेलने लगे. दिन में एरिक चाहे तो शहर में घूमे, या कोई कोर्स ज्वाइन कर ले, उसकी मर्जी, और शाम को हम लड़की को अपने यहाँ इनवाइट कर सकते हैं, किसी रेस्त्रां, या कहीं और…” आर्थर ने आराम से उत्तर दिया.

हॉट रोमांटिक वीडियो सेक्सी

भाभी का चेहरा खुशी से भरा हुआ था… उनकी नजरें पूरी तृप्त हुई दिख रही थीं. मुझे नींद लग ही गई थी कि तभी मुझे ऐसा महसूस हुआ कि मेरा लंड कोई सहला रहा है. मैंने देखा कि भाभी नजर नीचे करके मेरे लंड महाराज को फूलता हुआ देख रही थीं और मेरी नजर भाभी की चुत पर और चुचियों पर टिकी हुई थी.

उनको इस तरह से अपनी ओर देखते हुए मैंने खुश होकर कहा- भाईजान, आप मुझे आज इस तरह से क्यों देख रहे हैं?कुछ नहीं जूही आज तुम बहुत अच्छी लग रही हो.

मैं समझ गया कि मेरा ही कोई दोस्त लड़की बन के मज़े ले रहा है, क्योंकि ऐसा मज़ाक कुछ दिन पहले मेरे एक बचपन के दोस्त ने किया था; उसने करीब 15 दिन तक मेरे मज़े लिए थे।तो अबकी बार मैंने सोचा था कि मज़े देने नहीं बल्कि लेने हैं।कई दिन चैटिंग करते करते हम धीरे धीरे डबल मीनिंग बातों और नॉन वेज जोक्स पर आ गये। मैंने भी उससे दोबारा पहचान नहीं पूछी.

चुदाई होने के बाद भाबी ने मुझे बहुत प्यार किया और इस तरह भाबी के साथ मैंने 2 दिन तक खूब चुदाई का मजा लिया. आज दिखा दे मुझे लव करके…ओ बेबी बांहों में भर के…जो भी सोचा सपनों में,आज दिखा दे मुझे सब करके…तू इश्क है मेरा तू इश्क मेरा…तू ही मेरी रातों का नशा…वो मेरे सामने देख कर मुस्कुरा रही थीं. सेक्सी वीडियो डाउनलोड चलने वालाइसके बाद मुझे पता ही नहीं चला कि कब उन्होंने मेरी शर्ट के सारे बटनों को खोल दिया.

कामिनी बोली- अरे यार विवेक, क्या कर रहे हो?वो बोला- तुमको तो मालूम है. पहले मैंने उसमें एक उंगली घुसाई तो उंगली ही बड़ी मुश्किल से अन्दर गई. कई बार दोनों को डिनर पर आमंत्रित भी किया ताकि बातचीत इनफॉर्मल हो जाए.

कम से कम आधा घंटा यह सब करने के बाद बिना कुछ कहे उसने अपना लंड मेरी चुत में घुसा दिया. अब मैं अपने भाई के सोने का वेट कर रहा था कि कब वो सोए और मैं कुछ कर सकूँ.

कामिनी विवेक के लंड पर उछलते हुए बोली- नहीं आना चाहिए क्या जी?तभी उसका ध्यान मेरी तरफ गया और बोली- तुमको बहुत मजा आता है साले चुदाई देखने में… चल सर नीचे कर के मुर्गा बन जा.

चाची ने कहा- जा पहले तेल की शीशी उठा ला!मैं झट से तेल लेकर आया तो बोलीं- अब जल्दी अपने लंड को बाहर निकाल. फिर मैंने उससे बोला कि मुझे बहुत डर लग रहा है, तुम आज मेरे कमरे में ही सो जाओ. मैंने जब जॉब शुरू की तो मेरी टीम में मेरे साथ एक भाभी थी जिसका नाम महक (बदला हुआ नाम) था.

सेक्सी वीडियो औरत का सेक्सी जब मुझे यह सब पता लगा तो मैंने बिंदु से कहा, तो वो मुझ पर ही नाराज़ हो गई और बोली- जब बच्चे के पास लंड है, तो वो खड़ा भी होगा और जब खड़ा होगा तो चूत ही माँगेगा ना. अलका रानी भी उठ गयी और मेरे लंड को बड़े प्यार से चाट के साफ करने लगी.

मेरा एक भाई आशीष यानि बिंदु माँ का लड़का हॉस्टल में रह कर पढ़ाई करता है. हाथ पैरों के नाखूनों में भी मैरून नेल पोलिश और मैरून ही लिपस्टिक भी. फिर एक दिन उस से फेसबुक पे बात हुई तो वो बोल रही थी- अगर मुझे रात में आपकी याद आये तो मैं क्या करुँगी?मैंने उसको अपना मोबाइल नंबर भेज दिया और कहा- अगर रात में मेरी याद आये तो मुझे कॉल कर लेना!इतना बोल कर मैं सो गया.

सेक्सी वीडियो 2021 का सेक्सी वीडियो

दोस्तो, मेरा नाम आकाश है, मेरी उम्र अभी बाईस साल है, मैं छत्तीसगढ़ के रायपुर जिले का रहने वाला हूँ. मेरी पिछली सेक्स स्टोरीमेरी मॉम है या रांड-2को पढ़ने के लिए धन्यवाद. ये सुनकर मैं दंग रह गया और मैंने उसे ये कहकर टाल दिया कि वो देख रही थी मैं तो नहीं देखता.

मैं कई लड़कियों को लंड का चस्का लगवा कर इस रास्ते पर लाई हूँ, यह तो साली विधवा है, जिसे लंड की सख्त ज़रूरत है. वो अलमारी से एक जोड़ी सैंडल लेकर आया जो बहुत ऊंची हील वाले थे और नीचे उनका डायामीटर एक इंच का ही था.

मगर अबकी बार आंटी होंठों पर किस करने लगीं और मेरा मुँह को दबाकर मेरी जीभ को चूसने लगी, जिससे मुझे भी मस्ती आने लगी.

भाभी- रिक्की, अपने कपड़े उतारो!मैंने फुर्ती से पैन्ट और अंडरवियर उतार दी, मेरा लण्ड फनफनाता हुआ सलामी देने लगा. कुछ देर बाद चाची के जाते ही मैं अपने कमरे में आया और देखा कि भाबी मैक्सी पहने मेरे कमरे में बैठी हुई हैं. कभी एक मेरी चुत में अपना लंड डालता था और दूसरा उसको धक्का मार कर अपना लंड डाल देता था.

आज कोई ख़ास बात है क्या?”पता नहीं पर घर पर तू जितनी अच्छी लगती थी, आज उससे ज़्यादा अच्छी लग रही है. यदि कोई महिला किसी अनजान व्यक्ति से खुद को चुदवाना चाहती भी होगी, तब भी वो पहले इस बात की जांच पड़ताल करेगी कि क्या वाकयी इस कम्पनी के जिगोलो ऐसे होते हैं, जो उसकी गोपनीयता को बनाए रखेंगे. पूनम और मैं हम लोग आपस में सब कुछ शेयर करने लगी थी यहाँ तक कि प्राईवेट बातें भी!एक दिन पूनम मेरे घर आई तो मैं अपने कमरे में टी वी देख रही थी, दोपहर का समय था, मेरा बेटा, बेटी स्कूल गये थे और कोई घर पर था नहीं… मैं मर्डर मूवी देख रही थी.

मैं जैसे ही उठा, देखा कि आंटी मेरे लंड को मुँह में लेकर चूस रही हैं.

बीएफ वीडियो एचडी पोर्न: भाभी का जिस्म गोरा और चिकना था इसके बाद उनकी ब्रा और पेंटी भी निकाल दी. मैंने उनसे उनका एड्रेस लिया और शनिवार शाम को 8 बजे उनके बताए हुए एड्रेस पर पहुँच गया.

एकदम हंसमुख थी वो… और एकदम देसी इंडियन ब्यूटी… मैं वहां रोज क्लास के बाद जाता था. उनकी सांसों की गर्मी और मेरे सांसों की गर्मी टकरा रही थी और उनका लन्ड मेरी चूत में पैंटी के ऊपर से ही चुभ रहा था. फिर लगभग 20 मिनट की चुदाई के बाद आंटी 2 बार झड़ चुकी थी और मैं पहली बार झड़ने वाला था तो मैं बोला- आंटी, मैं होने वाला हूँ, कहाँ निकालूँ?तो आंटी बोली- मेरे मुँह में डाल दो!मैंने अपना पूरा माल आंटी के मुँह में डाल दिया और आंटी बड़े प्यार से सारा माल पी गई.

जो मुझे फील हुईं, लेकिन उस वक़्त मज़ा इतना ज़्यादा था कि मुझे ये सब अच्छा लगा.

उसी शाम को मेरे पति ने बताया कि उनको एक सप्ताह के लिए हांगकांग जाना है. ऊपर से पानी में तैर कर ऊपर उठती हुई उसकी स्कर्ट, और गीले होने के कारण कपड़ों से झांकती हुई ब्रा, और उस पर तीखी तनी हुई निप्पल!सच बताऊँ दोस्तो, उस दिन पहली बार हुआ जब मैं खड़े खड़े ही झड़ गया, शायद अधिक उत्तेजना के कारण पर पानी के अन्दर होने क कारण इज्ज़त बच गयी. जैसा कि मैंने बताया कि मैं जब भी अपने सहेली के रूम पर जाती थी तो उसका मकान मालिक मुझसे खूब बातें करता था.