देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी

छवि स्रोत,बीएफ लंगा

तस्वीर का शीर्षक ,

हॉस्टल सेक्स: देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी, वह अपना व्यवसाय बेचकर यहां से बहुत दूर, जहां उनको कोई नहीं जानता हो, वहां खेती की ज़मीन खरीद लेंगे.

बीएफ हिंदी सेक्सी पिक्चर बीएफ

उनका लंड जब गांड में घुसा, तब पता लगा कि कितना मोटा मजबूत हथियार है. हिंदी लड़की सेक्सी बीएफअब वो सब लोग आज मेरी गांड का भुर्ता बना रहे थे और मुझे ये बता रहे थे कि मेरे पति ने ऐसा नहीं किया तो वो बेवकूफ है.

[emailprotected]सेक्स फंतासी स्टोरी का अगला भाग:सेक्स की नगरी की रसीली चुदाई की कहानी- 2. बीएफ पिक्चर बीएफ चोदा चोदीइतने में दरवाजा नॉक हुआ, ज्योति उठी और नॉर्मल होकर दरवाजा खोलने चली गई.

उसने अपनी दोनों टांगों को पूरी तरह से सिकोड़ लिया और मेरे लंड का सारा रस अपनी चुत में खींच लिया.देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी: फिर जब मैंने उसकी चूत देखी तो मैं देखता ही रह गया क्योंकि उसकी गुलाबी चूत एकदम मासूम और अनछुई थी.

रेणु मेरे दोस्त की सैटिंग थी तो मेरे घर आ गई और वो दोनों मेरे घर में दूसरे कमरे में जाकर बातचीत करने लगे.अब उन्हें कुछ भी काम होता तो वो मुझे बोल देते और मैं उनका वो काम कर देता.

यह बीएफ वीडियो - देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपना एक हाथ उनकी जांघ पर रख दिया और सहलाने लगा.वो बोली- जरूर … अब तो गोरखपुर तक सेवा करनी ही पड़ेगी।मैं बोला- सेवा बाद में करती रहना … लेकिन अभी तो कुछ करो … मेरा तो पैन्ट फाड़ कर बाहर आने की कोशिश कर रहा है.

पर वैसे उसके पापा हर महीने एक अच्छा ख़ासा अमाउंट उन दोनों के अकाउंट में ट्रांस्फर करते हैं क्योंकि वो एक काफ़ी बड़े बिजनेसमैन हैं. देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी मैं अपने मुँह में सोनाली की एक चूची लेकर चूस रहा था और दूसरी चूची को हाथ से मसल रहा था, दूसरे हाथ को सोनाली की कमर में डालकर उसे सहारा दे रहा था.

मैंने कहा- क्या मतलब?मौसी- अभी तुम अपने उसमें झटके मार रहे हो … और मुझे देख रहे हो.

देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी?

जैसे ही मैं उसकी पैंट उतारने लगा, उसने दोनों हाथ अपने मुँह पर रख लिए और शर्म से मुँह छुपा लिया. कुछ ही मिनट में मैं उसकी चैन को छू सकता था, तभी एक ब्रेक का झटका आया और मेरा हाथ उसके लंड से स्पर्श हुआ. लंड चूत में अन्दर बाहर होते हुए देखकर वो ज्यादा ही मदहोश होने लगी थी.

उसकी हाइट 5 फीट 4 इंच है और उसका फिगर साइज़ 32-28-34 का है जो काफ़ी अच्छा साइज़ है. चूत के होंठ उत्तेजना की वजह से फूले हुए थे और उनमें से कामरस बह रहा था।चूत के अगल बगल में हल्की हल्की झांटें आ रही थी जो उसकी सुंदरता पर चार चांद लगा रही थी. रात को मैंने उसको चूत में उंगली करते हुए देखा तो मेरा लंड भी खड़ा हो गया और मैंने दीदी को नंगी कर लिया.

उसी समय नियाज मेरे पास आया और पूछने लगा- अंसार, आंटी कहां हैं?मैं कुछ नहीं बोला. मेरे हाथ उसके जिस्म को सहलाने लगे थे, उसकी कमर, गर्दन, मुलायम स्तनों पर घूमते जा रहे थे. ये सुनकर दिनकर घबरा गया और बोला कि मुझे लगा कि ये अब 19 की हो गई है.

इतना सुनते ही मैंने उन्हें कमरे में लाकर बिस्तर पर बिठाया और उनके मुँह में लौड़ा दे दिया. उसने नीचे से पैंटी नहीं पहनी थी और जिसके कारण उसकी चूत साफ दिख रही थी.

करीब एक या दो मिनट इस तरह चुदने के बाद जमीला ने मुझे भी खींचा और खुद भी सर उठाकर किस करने लगी.

उफ्फ … ऐसा लगा जैसे सच में चूची के बीच में लंड डाल कर धक्के लगा रहा हूं सच में मुठ मारने में बड़ा मजा आया.

भाभी ने पेटीकोट को पकड़ा हुआ था, तो सलवार पकड़ने के लिए उन्होंने कोई हुज्जत ही नहीं की. वाह क्या चूचियां थी सरिता की … एकदम गोलमटोल और कड़क होती जा रही थीं. मेरी चुत में चुनचुनी होने लगी थी और लगने लगा था कि किसी भी तरह मेरी चुत में एक लंड घुस जाए और मुझे ताबड़तोड़ चोद कर मेरी चुत को फाड़ दे.

दिनकर भी पूरा गर्म था और उसे भी कुछ दिन से कोई चुत चोदने को नहीं मिली थी. इतने में वो घुटनों पर बैठ कर मेरे लंड को चूसने लगीं और मैं भी लंड चुसवाने के मज़े लेने लगा. जिया दीदी- अब कोई लड़की पटा ले, कब तक अपने हाथों से काम चलाते रहोगे.

अभी मेरे लंड का टोपा ही अन्दर गया होगा कि मैं उसके चेहरे पर दर्द को देख कर कुछ रुकने लगा था.

मैंने झट से अपनी टांगों से उनकी गांड को दोनों तरफ से पकड़ लिया और कहने लगी- प्लीज़ अपना लंड धीरे से निकालना, एकदम से मत निकालना. ऐसा पहली बार हुआ था पर मुझे अलग ही संतुष्टि मिली और कब नींद आयी पता भी नहीं चला।सुबह मौसी मां जब स्कूल जाने के लिए मुझे झुक कर जगा रही थी तो मैंने जसे ही आंख खोली तो नाइटी में से झांकती उनकी चूचियों की दरार नजर आयी. इस समय उसकी स्थिति कुछ ऐसी थी कि उसकी एक टांग मेरी टांगों पर थी और एक टांग नीचे थी.

दोस्तो, मैंने आपको गांड मराने वाले दो लौंडों और उनकी गांड मारने वाले कारखाने के मालिक विशाल की गे सेक्स कहानीचिकने पहाड़ी लड़कों की गांड मारीबतायी थी. अपने तने हुए लंड का सुपारा उसकी चूत के मुँह पर रख कर एक ही जोरदार प्रहार देकर पूरा लंड चूत की गहराई में डाल दिया. मैंने मालिश करते हुए उन्हें कहा- भाभी, आपका ब्लाउज तेल से खराब न हो जाए.

काफ़ी बातें होने के बाद मैंने उसे बता दिया कि मैं उसे पसंद करता हूँ.

उसने अपनी गांड उठा कर लंड अन्दर पेलने का इशारा किया तो मैंने एक ही झटके में ही पूरा लंड अन्दर घुसा दिया. हम दोनों बिना कपड़ों के एक दूसरे के ऊपर हावी होने की कोशिश कर रहे थे.

देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी मैंने कहा- क्या मतलब?मौसी- अभी तुम अपने उसमें झटके मार रहे हो … और मुझे देख रहे हो. उनकी इस बात से मैं नाराज होकर जाने लगा तो भाभी ने बोला- रुको, मुझे देख कर आने दो.

देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी [emailprotected]सेक्सी गर्ल्स की चुदाई कहानी का अगला भाग:जिस्म की भूख- 4. दीदी- तो क्या पढ़ रहा था अभी तक?मैं- इकोनॉमिक्स की किताब पढ़ रहा था.

जब मैं कमरे में पहुंचा तो भाभी सारे कपड़े उतार कर कम्बल में पूरी नंगी बैठी थी.

मैडम बीएफ

उसने मुझसे पूछा- तुम मेरे बारे में क्या क्या जानते हो?मैंने कहा- कुछ ख़ास नहीं … बस तुम्हारा नाम मालूम है कि तुम टीना हो. आप बताओ जीजा जी … मैं कैसी लग रही हूँ?अब मैंने उसके पूरे शरीर को देखा और कहा- तुम परी जैसी दिख रही हो. मुझे अब दीदी की चूत में उंगलियों से चोदने में ज्यादा ही जोश चढ़ रहा था.

घर में मैं कभी भी मौका पाते ही दीदी के मम्मे दबा देता हूँ और कभी भी गांड पर हाथ भी घुमा देता हूँ. अब अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि रानी और बबीता भाभी को एक साथ चोदने में क्या हुआ और आगे भैया के आ जाने के बाद मैंने बबीता भाभी और रानी को कैसे चोदा. शब्बो- हमने इतना कर दिया कि तुम्हारी बात करा दी … अब चोदना चुदाना तुम दोनों तय कर लो … समझे!उसका इतना बोलना था कि कुच्ची ने फोन ले लिया और उन दोनों की अपनी बातचीत शुरू हो गई.

फिर मैंने बोला- मैं बिना सुने ऐसा कुछ नहीं कर सकता, तुम पहले बताओ कि मुझे क्या क्या करना होगा.

मेरे रसीले होंठों को चूसते चूसते मेरे प्यारे पति पीछे से पेटीकोट उठाकर मेरे मोटे गोरे चूतड़ों पर हाथ फेरने लगे और आगे हाथ लाकर मेरी चुत सहलाने लगे. अंधेरे में उसने सीधे मुझसे पूछा कि मेरा पीछा क्यों कर रहे हो?मैंने इधर उधर देख कर उससे कहा- मैं आपको पसंद करता हूँ. जब मैंने अपनी अम्मी की चुत पर अपनी जीभ को रखा, तो अम्मी अपना शरीर टाइट करके सिहर उठीं- आइ … इस्स … आ आह …मैं अपनी जीभ से अम्मी की चुत के लाल वाले हिस्से को सहला रहा था.

कुछ पल बाद मैंने उसे थोड़ा अलग किया और उसका चेहरे को ऊपर करके उसे किस करने लगा. निशा को देख कर मेरा लंड और भी टाइट हो गया, पर अभी तो हाथ तो छोड़ो, आंखों से भी नहीं चोद सकता था क्योंकि सब थे. तब भाभी ने धीरे धीरे करके लंड अन्दर डाल दिया और मेरे सीने पर हाथ रख कर अपनी कमर हिला हिला कर लंड को चूत में रगड़ने लगीं.

शुरू में तो कुछ खट्टा सा लगा मगर उसकी चुत की मादक महक मेरे तन बदन में आग लगाने लगी थी तो बेहद मज़ा आ रहा था. इतना कहकर गगन ने सुम्मी के मुँह पर थूक दिया और उसने नीचे से अपनी मां की चुत पर अपनी हथेली को जोर से बजा दिया.

उसने हम सबको बिना कपड़ों के देखा तो बोला- तुम सब यहां क्या कर रहे हो?एक ने कहा- कल रात को जब भाभी को छोड़ने आए तो भाभी बोली थीं कि रात में इनको डर लगता है, इसलिए रूक गए थे. उसका लंड तो एक मिनट में ही छोटा हो गया था क्योंकि उसका पानी निकल गया था. यहां प्राची की आंखों से आंसू निकल रहे थे … और वहां मेरा वीर्य गले से होता हुआ उसके पेट में जा रहा था.

कम से कम आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने दीदी की चुत में ही लंड का पानी छोड़ दिया.

मैंने उनके दोनों हाथों को कस के पकड़ लिया और लिप किस करते हुए लंड उनकी चूत में उतारने लगा. हमारा घर दो मंजिल था जिसमें मॉम-डैड नीचे की मंजिल में रहते हैं … और मैं ऊपर रहता हूं. वीरू के हाथ की पांचों उंगलियां अब शब्बो की गोरी गांड पर साफ़ दिखाई देने लगीं।मार मारकर शब्बो की गांड को वीरू ने लाल करना चालू कर दिया.

तो भाभी ने बोला- तब तो अच्छा है, तुम फ्रेश होकर मेरे घर आ जाना, हम दोनों घूमने चलेंगे. एक हाथ से वीरू शब्बो की चूचियां पीट रहा था तो दूसरे हाथ से उसकी फुद्दी का दाना रगड़ रगड़ कर उसे और लाल लिए जा रहा था।लौड़े का हर वार इतना फुर्तीला था कि उसके लौड़े का सुपारा शब्बो की बच्चेदानी को ‘हाय-हेल्लो’ करके बाहर आ रहा था.

दोस्तो, मैं केतन पटेल, अन्तर्वासना पर अपनी पहली सेक्स कहानी लिख रहा हूँ … प्लीज मेरी Xxx आंटी सेक्स कहानी पर अपने विचार देकर मुझे प्रोत्साहित करें. आपको मेरी टीचर की सेक्सी चुदाई कहानी कैसी लगी, ये आप मुझे मेल से बता सकते हैं. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में कस लिया और मेरे गाल पर अपने दांतों के निशान देने लगीं.

सेक्सी वीडियो बीएफ हिंदी गाना

मैंने अपनी जीभ से और उंगलियों से उसकी चूत का तीन बार पानी निकाल दिया था.

फिर उसके बाद फूफा जी ने पीछे से मेरे फ्रॉक के हुक को खोल दिया जिससे मेरा गला हल्का फ्री हो गया. मैंने चुटकी ली- हां इन्हें बता देना भाभी जी कि अच्छे से उठाना किसे कहते हैं. मैं आपको बता दूँ कि मेरे घर में हम 4 लोगों की फैमिली है, जिसमें मैं सबसे बड़ा हूँ.

उसने मेरा सर पीछे से पकड़ा और अपने होंठ मेरे होंठों से सटा दिए और मेरे होंठों को चूस कर अपनी मुँह में भर लिए. मैंने मेम से कहा- मजा आ रहा है?वो हंस कर मुझसे चूमती हुई बोलीं- हां बहुत … पहले तो तुमने मुझे मार ही दिया था. सेक्सी देहाती बीएफ फिल्ममौसी की नंगी जांघें और गांड कि कम्पन और उनके स्तनों की थिरकन मेरे मन में दौड़ रहे थे.

चूंकि मैं ऐसा अक्सर करता रहता हूँ तो मेरे घर वालों को इस बात से कोई दिक्कत नहीं थी. मैं डांस करते हुए उसे किस करने की कोशिश करने लगा तो वो आंख दबा कर बोली- क्या बात है … लेने की बहुत जल्दी है.

हसित रीना के दोनों पैरों के बीच में आ गया और रीना ने हसित के लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत में सटा दिया. फिर एक दिन अचानक सीमा मेरे घर पर अपना सारा सामान लेकर आ पड़ी।पहले तो मुझे कुछ समझ नहीं आया. ऐसे ही होते होते मेरी स्पीड अपने आप बढ़ने लगी और चुदाई अब जोरों से चलने लगी.

इसलिए मेरा निवेदन है कि आप, अपने जैसे व्यक्ति को मेरे पति के लिए खोजें. मैं उसे रोकने के लिए उसके बाल पकड़ लिए और उसका सर अपनी चुत से हटाने की चेष्टा करने लगी. वो बोली- साले तुझे सिर्फ मजा लेना ही आता है या देना भी आता है?मैंने कहा- वो तो तू खुद बताएगी कि तुझे मजा आया है कि नहीं.

मैंने दीदी को मोबाइल के बारे में बता दिया, तो वो मेरी तरफ देखने लगी.

पर उसने मुझसे प्रॉमिस करवा लिया कि ये बात उसके और मेरे अलावा किसी को पता नहीं चलेगी. मेरे बूब्स बड़े बड़े हो गए थे।मेरे चूतड़ भी उभर आये थे, मेरा कद भी 5′ 4″ का हो गया था।मुझमें लण्ड पकड़ने की तमन्ना भी जोर पकड़ने लगी थी। लड़के मुझे अच्छे लगने लगे थे.

मैंने अब उनको बहुत तेज से चोदना चालू कर दिया और 10-15 झटकों के बाद ही मेरा माल उनकी चूत में छूटने लगा. कुछ देर बाद भाभी को राहत मिलनी शुरू हो गई और उन्होंने लंड का मजा लेना शुरू कर दिया. उन्होंने अपनी गांड को हिला कर लंड को चूत में दबाया और चुत रगड़ने लगीं.

शराब पीते पीते मैंने सत्या से कहा- यार, तू बहुत खुशक़िस्मत है कि तुझे शिल्पा जैसी बहुत ही खूबसूरत गर्लफ्रेंड मिली. शुरू में हसित धीरे धीरे धक्के मार रहा था, तो रीना बोली- जल्दी कीजिये न प्लीज!हसित ने रीना को किस किया और जोर जोर से धक्के मारने शुरू कर दिए. भाभी बहुत ही ज्यादा गर्म हो रही थीं और बहुत जोर जोर से आवाज निकाल रही थीं- आंह जान … मजा आ रहा है … कितना मस्त चूस रहे हो.

देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी मैं दीदी को बांहों में उठाकर बेड पर लेकर गया और मैंने उसे बेड पर लिटाया. मैं समझ नहीं पा रही थी कि यह विलियम के फॉरप्ले का कमाल है या किसी नए मर्द का और वह भी एक गोरे मर्द का साथ होने का अहसास होने की वजह से यह सब हुआ.

बीएफ फिल्म दिखाव बीएफ

मैंने उसको पीछे से पकड़ लिया और उसके बड़े बड़े चुचों को हाथों में भरकर मसलने लगा. बाद में उसने मेरे लंड को आगे पीछे करके अच्छी तरह से धोकर साफ कर दिया. हाई हैलो के बाद सत्या, शिल्पा को लेकर घूमने निकल गया लेकिन मेरे मन में सिर्फ़ शिल्पा को चोदने के ख्याल आ रहे थे.

मैंने रस पौंछने के लिए उठना चाहा तो पति ने मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया. उसने अपनी दोनों जांघों को मेरे सिर पर दबा दिया, इससे मेरा सिर उसकी चूत पर दब गया. अंग्रेजी ओपन बीएफजब खेलते खेलते तृप्त हो गए, तो एक ने मेरी टांगों के बीच जगह बना ली.

आंटी बोलीं- तुमको मुझमें क्या ख़ास लगता है?मैंने कहा- आप बहुत हॉट और सेक्सी लगती हैं.

वेदिका- तुझे तो मैं छोड़ूँगी नहीं, चल अन्दर!मैं उनके साथ उनके घर में आ गया. पहले तो वो कुछ नखरे करने लगी, फिर धीरे धीरे वो खुद ही मेरे लंड को चूसने लगी.

बारिश में भीगे हुए दोनों के ठंडे बदन, बांहों में आते ही गर्माने लगे थे. हमारी चुदाई यूं ही चलने लगी और कुछ दिनों के बाद भाभी पेट से हो गईं. मैंने धीरे से उसकी गर्दन पर किस किया, जिससे उसके मुँह से एक बड़ी आह निकल गई.

फिर मेरे लंड का फूला हुआ सुपारा उसने अपने मुँह में ले ही लिया और लंड चूसने लगी.

कुछ देर बाद हसित उठा और उसने कंडोम उठा लिया तो रीना ने कंडोम उसके हाथ से छीन लिया. तब मैं बोला- आप मुझे अपना बॉयफ्रेंड बना लो, हम हमेशा अच्छे दोस्त बनकर रहेंगे. हम दोनों एक दूसरे के शरीर को चिपकाए हुए अपने जिस्मों को आपस में रगड़ रहे थे.

सेक्सी झवाझवी बीएफइसी छीनाझपटी में सरिता पीछे हट कर सरक गयी तो वो बेड पर गिर पड़ी और मैं उसके ऊपर. उसने मेरी टांगों को खोला और मेरी टांगों के बीच में मेरी चिकनी चूत पर अपना मुँह लगा दिया.

मां बेटे की बीएफ सेक्सी हिंदी

मैंने बहुत से सेक्स वीडियो देखे हैं, मैं आपको बड़े प्यार से चोदूंगा. सोहल ने उसकी आंखों में देखते हुए एक स्पेशल क्रीम उठाई और हनी की गांड के छेद में अपनी एक उंगली से लगाने लगा. मेरे मोटे लंड को चाची अपने दांत दबा कर अन्दर लेती जा रही थीं और कराह भी रही थीं- आह … धीरे धीरे अन्दर पेल साले … तेरा हथियार बहुत मोटा है.

शिल्पा एकदम से बोली- सॉरी क्यों बोल रहे हो?फिर हम दोनों सेकंड फ्लोर के रूम के दरवाजे पर आ गए थे. मैंने तय किया कि कुछ दिन रुक कर कोई अच्छा सा मौक़ा देख कर उन्हें लैटर दे दूंगा. मैं अपनी बहनों को बताना चाहती हूँ कि मुँह में लंड लेने का भी एक अलग ही मज़ा है.

इसी छीनाझपटी में सरिता पीछे हट कर सरक गयी तो वो बेड पर गिर पड़ी और मैं उसके ऊपर. रघु बोला- सही बोल रहा है, आम तौर पर तो इतने लोगों के साथ चुदने के बाद किसी भी औरत की गांड फट जाएगी, पर मानना पड़ेगा भाभी को. कहीं मां ने देख तो नहीं लिया?सोचकर मैंने किसी तरह से जवाब दिया- हां, रात में देर तक पढ़ाई कर रहा था और लेट सोया था.

अब चाची भाभी मज़ा लेने लगीं और मस्त आवाज़ निकलने लगीं- अअअह आह … गौरव मज़ा आ रहा है. वो मेरी अच्छी दोस्त भी थी लेकिन मैं उससे प्यार करता हूँ … ये कभी कहने की हिम्मत नहीं हुई.

जिया दीदी मेरे सामने नग्न अवस्था में चित लेटी हुई थीं, उनकी चुत लपलप कर रही थी जिसको देखकर लंड टावर की तरह खड़ा था और एकदम टाइट हो चुका था.

मैं अभी मीनाक्षी की चूचियों को घूर ही रहा था कि उसने मुझे टोक दिया- क्या देख रहे हो नवीन?मैं झेम्प गया और हम दोनों बातें करने लगे. गुजरात का बीएफआप इसे कैसे सहन कर लेती हो?मैंने फिर से अपनी साली को समझाने की कोशिश की कि मर्द के लंड से लड़की को केवल एक बार दर्द होता है. बीएफ में क्या होता हैसोहल ने हनी की टांगें उठा कर अपने लंड को हनी की गांड पर सैट किया और लंड के सुपारे को गांड पर रगड़ने लगा जिससे हनी मस्ती के मारे मचलने. मेरे प्यारे पति का तगड़ा लंड मेरी बच्चेदानी से जब पहली बार टकराया तो उसी वक्त मेरी नाजुक चुत ने पानी बहा दिया था.

मैंने कहा- भाभी क्या करूं, मन तो बहुत करता है, पर जब भी जाने की सोचता, तो कोई न कोई काम आ जाता था.

उसके हटते ही एक ने मुझे टेबल से नीचे उतारा और खुद एक कुर्सी पर बैठ गया. इसी बीच उन्होंने एक दो बार मेरे बूब्स पर भी नज़र मार ली क्योंकि बिना ब्रा के निप्पल भी टी-शर्ट के ऊपर से अपना आकार बना चुके थे. मैं अपने दोनों हाथों से सोनाली की दोनों चूचियां मसलने लगा था और उसके कड़क हुए निपल्स को उंगलियों से रगड़ने लगा.

तभी सरिता ने आवाज दी- हर्षद ये क्या है?सरिता तकिया बाजू में रखकर मेरी ब्रीफ हाथ में लटकाकर मुझे दिखा रही थी. अन्दर वाले एक हिस्से में सारे लोग रहते हैं, बाहर वाले में मैं अकेला रहता हूँ. भैया की साली, जिसका नाम पारुल था, वो भी उसी स्कूल में मुझसे एक क्लास आगे थी.

हिंदी में बीएफ हिंदी में हिंदी में बीएफ

जिस रूम में हम दोनों थे, उसमें परिवार के दो तीन लोग और भी सो रहे थे, जिसके कारण लाइट बंद थी. उनका दर्द अब खत्म हो गया था और वो अपने चूतड़ों को हिला हिला कर साथ देने लगीं. आनन्द के जाते ही ज्योति सीधा बाहर आई और दरवाजा लॉक करके खिड़की से आनन्द को जाते हुए देखने लगी.

वे देख कर बोले- वाह, क्या बॉडी बनाई है, पहले तो दुबले पतले थे, उम्र से आधे लगते हो.

वो नींद में थी और मुझे दीदी को ऐसे नींद में खुली चूत के साथ देखकर बहुत उत्तेजना हो रही थी.

अन्दर बस एक हल्की सी लाइट जली हुई थी जिससे ये पता लग रहा था कि रूम में डेकोरेशन की हुई है. शाम को जब वो स्कूल से घर आईं तब उन्होंने मुझे कॉल किया और कहा- केतन रात का खाना खाने के लिए मेरे घर पर आ जाओ, वैसे भी अकेले अकेले तुम बोर हो रहे होगे. सेक्स बीएफ भाई बहनभाभी ने सोनम को बताया कि लाइट में कुछ प्रॉब्लम थी, ये वही ठीक करने आया था.

एक बार उन्होंने मुझसे पूछा कि आपको कैसी लड़की पसन्द है?मैंने फटाक से जवाब दिया- आपके जैसी. दीदी ने वापस मेरे होंठों में होंठ लगा दिए और हम दोनों फिर से किस करने लगे. अन्तर्वासना पर मेरी पिछली कहानी थी:नयी नवेली पड़ोसन भाभी को चोदने की लालसाएक दिन मैं घर पर बैठ हुआ था तो दरवाजे पर आवाज आई कि घर के बाहर कोई आया हुआ है.

सर का पूरा का पूरा लंड खाकर हज़ीरा खुशी से चिल्लाने लगी- आह मेरे मजनूं, बहुत मजा आ रहा है … आह और जोर से धक्का मारिए. तो उसने कहा- मेरे को किसी लड़के को कहने में शर्म आती है कि मेरा बॉयफ्रेंड बन जाओ.

वो मेरा लंड पकड़ कर सहलाने लगीं और मेरा अंडरवियर निकाल कर फेंक दिया.

मैं झोपड़ी के पास पहुंचा और झोपड़ी का दरवाज़ा खोला तो देखा एक कोने में दो लालटेन जल रही थीं. लेकिन भाभी मान गई, उन्होंने मुझसे पूछा कि मुझे किस टाइप की लड़की पसंद है. उन्होंने मुझसे हंसकर कहा- बड़ी चालू चीज है तू … चल अब जल्दी से रेडी होकर आ जा, मैं भी तैयार हो रही हूं.

जिओटीवी के बीएफ मैं बोली- लगता है आपके भाई को मेरी चूत की याद नहीं आती अब! जब भी फ़ोन करती हूं बिजी ही रहता है. भाभी- तो गांव जा रहे हो?मैं- नहीं भाभी, पहले सोचा था कि गांव जाऊंगा और दोस्तों के साथ नया साल मनाऊंगा.

फिर मैंने दीदी की बैक में मोनू के काटने के निशान को देखा, जो हल्का सा लाल सा दिख रहा था. हमारी चुदाई यूं ही चलने लगी और कुछ दिनों के बाद भाभी पेट से हो गईं. मुझे शर्म आई तो मैं उठकर वाशरूम में चला गया और पैंट उतार कर उधर ही टांग दी.

बीएफ सेक्सी 2021 की

वो मेरे लंड को सहलाती रही और मैं उसकी चूचियों को दबाने लगा, उसकी चूचियों को जोर जोर से भींचने लगा. मुझे अब पता चला कि वो काफ़ी अच्छी हैं और किसी नए बंदे के साथ फ्रेंक होने में थोड़ा टाइम लगाती हैं. तो उसने क्या किया?मेरी कहानी के पहले, दूसरे भागोंपरिवार में बेनाम से मधुर रिश्तेमामा भानजी भाई बहन चुदाई स्टोरीमें आपने मेरे द्वारा अपने परिवार में रिश्तों में किये सेक्स कारनामों के बारे में पढ़ा.

वहां उसके ससुर का बिजनेस था और शादी के बाद उसके पति की सरकारी नौकरी भी वहीं पर लग गई थी. बताओ क्या बात करनी है?भाभी शरारती मुस्कान के साथ बोलीं- यार, तुम जिस एटीट्यूड में बात कर रहे हो … वैसे हो नहीं.

मेरी कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करूं और किस तरह से अपने लंड को बैठा लूं.

[emailprotected]लेखिका की पिछली कहानी:मोहल्ले की जवानी को धर्मशाला में चोदा. मैंने पैंटी को हटाया तो क्या मस्त चूत थी … एकदम गोरी और गुलाबी चूत देख कर मेरे लंड को मजा आ गया. छोटे आदमी का लंड बड़ा हो सकता है और बड़े आदमी का लंड छोटा।तब तक थापा ने कहा- मेम, आप झांटें सब साफ़ करवाएंगी या कोई डिजाइन बनवाएंगी?मैंने कहा- यार फिलहाल तुम सब साफ़ कर दो। डिजाइन बाद में बनवाऊंगी।उसने मशीन से मेरी झांटें एकदम साफ़ कर दी और क्रीम वगैरह लगा चूत एकदम चिकनी कर दी।मैं उसका लंड मुंह में लिए हुए चूसती रही। मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था.

भाभी- मैं तो आज से तुम्हारी हूँ ही!मैंने हंस कर भाभी को अपनी बांहों में भर कर चूम लिया. मैं भी और जोश में आ गया और उसकी दोनों चूचियां जोर जोर से चूसने लगा. मैंने धीरे से चुटकी काटी और उनके गालों पर धीरे धीरे हाथ फिराने लगा.

जिया दीदी एकदम गोरी-चिट्टी मस्त माल जैसी लड़की हैं तो उनका चेहरा हल्का सा लाल होने लगा था.

देहाती बीएफ सेक्सी देहाती सेक्सी: कहानी के चौथे भागसेक्सी बीवी को दोस्त का लंड दिलायामें आपने पढ़ा कि शीना अपने पति और उनके दोस्त राजीव से एकसाथ चुद चुकी थी. अभी भी मेरे अन्दर नियाज और उसके अम्मी के बारे में सोच सोच कर अजीब सा महसूस हो रहा था.

वो भाभी किसी से पार्क में बात नहीं करती थीं और अकेली ही आती जाती थीं. मैंने पीछे से जाकर उसकी लोवर नीचे खींच दी और सीधे उसकी चूत को चूसने लगा. उनकी नाइटी घुटनों से थोड़ा ऊपर थी, उनकी जांघों का कुछ हिस्सा दिख रहा था पर भरी भरी जांघें गजब ढा रही थी.

मैंने मौसी से कहा- आप इस ब्रा में बहुत सेक्सी लग रही हो, लेकिन यह पैंटी इस ब्रा के साथ सैट नहीं हो रही है.

उनको इस हालत नंगी नहाते देखकर मेरा लंड बिल्कुल 90 डिग्री पर खड़ा हो गया. मैंने भी पूछा- आपके घर में कौन कौन रहता है?भाभी ने बताया- मैं यहां अकेली रहती हूं. इस बार मैंने उसकी चूची को जोर से मसल दिया जिससे जमीला की हल्की सी चीख भी निकल गई.