बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल

छवि स्रोत,करीना कपूरxnxx

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी शोट सेक्सी मराठी: बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल, अभी आधा लंड ही गया था कि भाभी की चीख निकल गई और बाहर निकालने को कहने लगीं.

अक्षरा वाला

फिर कुछ देर बाद मेरी भी तबियत ठीक हो गई और मैं भी अपने ऑफिस जाने लगा. सक्सी स्टॉकमेरी चूत गीली होने लगी थी और राज का लंड भी गीला होकर मेरी चूत के अन्दर फिसलने का तैयार था.

इधर मालिक ने अपना लिंग को एक दूसरे तौलिए से पौंछा और तकिया लगाकर नंगे ही बेड पर लेट गए।मैडम वापस आई और वापस आकर उन्होंने एक लॉन्ग टीशर्ट पहन ली, जिसका अंतिम छोर उनके नितंबों की गोलाई पर टिका था, टीशर्ट पहन कर वो मालिक के बगल में लेट गई. ब्लू सेक्स ब्लू पिक्चरतब मैंने कहा- बेबी, इससे इससे ज्यादा मज़ा तब आएगा जब मैं तुमको चोदूंगा.

भाभी खुद कमरे में आ गईं और बोलीं- मुझे लगा था, जब तुमको चाय देने आई थी.बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल: मेरी पिछली कहानी थीजवान लड़की की बुर की चुदाई स्टोरी‎जिसे अन्तर्वासना के पाठकों ने पसंद किया था.

मेरी वाइफ तो बहुत बार झड़ चुकी थी पर वो दोनों तो रुक ही नहीं रहे थे.इस बार उसने ‘आह…’ के साथ आँखें खोल दीं, मैंने तुरंत हाथ और पैर हटा दिए.

बिना कपड़ों की फोटो - बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल

जो मुझेदलाल और रंडीसमझते हैं, उनसे तो कुछ भी कहना आसमान पर थूकने के बराबर है.मेरे इतना कहते ही भाईजान ने स्पीड तेज़ की तो मुझे असली चुदाई का मज़ा मिलने लगा.

फिर अपना हाथ मेरे नंगी जांघों से चलाते हुए मेरी पैंटी की इलास्टिक खींचकर अन्दर घुसा दिया. बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल वो मेरी चूत को देखने के बाद मेरी चूत को सूंघ रहा था और बोल रहा था- आह.

जब मैं ड्यूटी पर होता तो देर रात तक उससेफोन पर सेक्सी चैटकरता था और बहुत ज्यादा बात भी करता था.

बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल?

खाना खा कर समय देखा रात के नौ बज चुके थे और हम रास्ते में पूरी तरह भीग चुके थे. रीना- यार, रणविजय की बात अलग थी। यह सब हमने सम्मिलित रूप से किया था और इसमें हम सब भागीदार थे लेकिन श्लोक मेरा भाई है मुझे ऐसी बातें करना अच्छा नहीं लगता।मुझसे नाराज होकर तथा डांट कर रीना सो गई. चूत में लोढ़े(मूसल) से मोटे लण्ड का एहसास होते ही सुकन्या रानी चिहुंक सी गयी और चीख पड़ी- आउच ह्ह्हम्म्म …और मेरा मोटा पिस्टन उसकी नाज़ुक सी टाइट चूत को फाड़ने लगा, फच फच फच बस यही सुर लगने लगे.

तभी भाभी हंसने लगीं तो भैया बोले- अभी हंस रही हो … फिर रोना मत!भैया उठे और शीशी में से कुछ लिक्विड शायद तेल निकाल कर अपने लंड और भाभी की चूत पर लगाने लगे। अब भैया ने फिर से लंड को चूत पर सैट किया और भाभी के होंठों को अपने होंठों से कैद करके एक जोर का धक्का लगाया. मेरे लगातार उनको चूमने और बूब्स को दबाने और चूसने से भाभी एकदम गर्म हो गई थीं. उसके दोनों हाथ मेरे हाथों में और मेरे दोनों पैर उसके दोनों पैरों को खोल के ऊपर सहलाते हुए और धीरे धीरे मैं उसकी चूत में अपना लंड डाल रहा था.

” उसने साफ साफ मना कर दिया।झूठ मत बोलो!” मैं जरा ग़ुस्से में ही बोली।सच मेमसाब, उतना ही था हमार पास!” वह फिर से बोला।देखो जी, तनिक थोड़ा होगा ही…” मैं उसकी ही भाषा में बोली।मेमसाब, झूठ ना बोलूं… थोड़ा है पर…” वह डरते हुए बोला।पर वर कुछ नहीं, थोड़ा है ना… थोड़ा तुम पियो थोड़ा मुझे पिलाओ, जाओ जल्दी लेकर आओ. मेरे शरीर का ऊपरी हिस्सा उसी की तरह आवरणरहित था। मैंने हम दोनों के दूध की तुलना की. वहां सब लेडीज एक ही बड़े रूम में रहती हैं इसलिए मुझे साथ में नहीं ले जा सकती थीं.

मैं अपने हाथों से उसकी पीठ पर हाथ फेरने लगा, कितना सुखद अनुभव हो रहा था! ऐसा लग रहा था कि ऐसा सुख हमेशा मिलता रहे. मैं ये सोच ही रहा था कि उसने फ़ोन नंबर लिया या नहीं कि तभी मेरे व्हाट्सएप पर मैसेज आया.

वो मेरे लंड के आगे वाले हिस्से पर अपनी जीभ बहुत मस्त तरीके से घुमा रही थीं.

साथ ही एक हाथ से उसका एक वक्ष पकड़ कर उसे दबाते हुए चुचुक को मुंह में रख कर चुभलाने लगा।भक.

मैं कुछ नहीं समझा… तो उन्होंने नीचे बैठकर मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया और बोलीं- मेरे मुँह थोड़ा मूत दो ना… मेरी हिचकी बंद हो जाएगी. किस करते वक्त मेरा लंड पेन्ट के अन्दर ही अपनी अंगड़ाईयां ले रहा था और अब तो काबू से बाहर हो रहा था. मुझे अपने द्वारा लगे जा रहे धक्कों से ज्यादा आर्थर द्वारा उसकी गांड में मारे जा रहे धक्कों का अनुभव हो रहा था, मुझे उसके नताशा की गांड में मारे जा रहे धक्के चूत में स्थित अपने लंड पर भी महसूस हो रहे थे.

उस समय मैं टुटू को नहीं जानता था, वो भी मेरे को बस नाम से ही जानती थी. मैं एक बार को तो डर गया कि क्या हुआ साला किसी गलत जगह तो लंड नहीं घुसेड़ दिया. इसलिए बेहतर रहेगा कि यदि आपने कहीं इस वीडियो की कॉपी रखी हो तो उसे भी डिलीट कर दो.

वो मुझे देख कर कमेंट करने लगा- अगर तुम्हारी जैसी मेरी गर्लफ्रेंड हो होती नेहा.

ये सब ध्यान में रख कर हम दोनों ने ऐसे ही थोड़ा मज़ा किया और किस करते रहे. उसकी चुत में लंड जाते ही मैं समझ गया कि यहचुदक्कड़ लड़कीहै, पहले भी चुद चुकी है. मैं अब प्रेग्नेंट नहीं हो सकती, तेरा चाचा रोज अपना रस मेरी चुत में डालता है, फिर भी बच्चा नहीं हो पा रहा है.

सुकन्या- देखो, मैंने ज्यादा ट्राई तो नहीं किया है लेकिन वीडियो देखती हूँ तो उसमें डॉगी स्टाइल पसंद है. उसकी गर्मी पाकर साथ में मैं भी झड़ने वाला था, तो मैंने अपना लंड बाहर निकाला और झड़ गया. उन दोनों के हाथ मेरे सीने पर थे और ऊपर एक दूसरे के बूब्स दबाना और किस करे जा रही थीं.

ये सब यूं हुआ कि एक दिन अचानक से मेरे नानाजी की तबीयत बिगड़ जाने की वजह से अम्मी को मेरे नाना के घर जाना पड़ा.

मैंने उससे अकेले मिलना ही बेहतर समझा, लिहाजा मैंने मंजू को रूम में ही रहने को बोला और राज से मिलने चला गया. भाभी ने गुस्सा होते हुए कहा- ये तुमने क्या आम आम लगा रखा है, अभी तक तो मैंने उसको खाया भी नहीं है.

बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल और फिर वे दोनों लवर आपस में लिपट गये और एक दूसरे के बदन को सहलाने लगे. फिर फूफा जी ने मेरी टाँगें ऊपर उठाते हुए अपने तना हुआ लंड मेरी चूत के मुँह पर रखा और एक ही झटके में आधा लंड मेरे अंदर घुसेड़ दिया.

बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल तभी रंजीत ने अपनी पेंट और अंडरवियर खोल कर अपना लंड मेरी वाइफ के सामने हिलाने लगा. वो मुझे बोल रहा था- मैं तुमको बहुत अच्छे से चोदूँगा और तुमको मुझसे चुदवाने में बहुत मजा आएगा.

तभी मेरे जीजा ने पेंट की ज़िप खोली और अपना 9 इंच का लौड़ा बाहर निकाला.

सेक्सी पिक्चर ची गाणी

मैं सोचने लगा कि जब मुँह में इतना मज़ा आ रहा है तो चूत में लंड को कितना मज़ा आएगा. उसका पिता देर से आएगा, यह जान कर खाना खाने के बाद पद्मिनी सभी बातों को भूलकर सोने चली गयी. मैंने उनकी आँखें अपने हाथों से बंद कर दीं क्योंकि अब मेरे लिए ही आँखें खोले रखना मुमकिन नहीं था.

मैं उन्हें यूँ दबाने लगी थी जैसे कोई स्पंजी बॉल दबा रही होऊं और साथ ही उसकी घुंडियों को भी ऐसे चूसने लगी जैसे बच्चा दूध पीता है।साथ ही बीच-बीच में दांतों से भी कुतर रही थी हल्के-हल्के, कि उसे तकलीफ न हो. वो बोली- बैठो राज! कल तुमने हिमानी को बहुत अच्छी ट्यूशन दी, वह तुम्हारी बहुत तारीफ़ कर रही थी. मेरी कामुक कहानी के पहले भागसाठा पे पाठा मेरे चाचा ससुर-1में आपने पढ़ा कि शादी से पहले मैंने सेक्स नहीं किया था लेकिन दिल मचलता बहुत था चूत चुदाई के लिये… शादी के बाद मेरे सारे अरमाँ पूरे होने लगे, मेरी खूब चुदाई हुई.

जब पूरा लंड अन्दर जा चुका, तब वो आराम से मुझ पर लेट गया और साँस लेने लगा.

वह भी समझ चुका था कि उसे निदा के साथ गुज़रे पलों के बारे में सब पता था, हालाँकि खुद नितिन को यह नहीं पता था कि मैं अन्तर्वासना पे कहानी ही लिख रखी थी। उसे लगा था कि मैंने उसे सेक्स चैट के दौरान बताया होगा।फिर उसने जो मलाई रखी थी वह रज़िया को दे दी और रज़िया ने ही न सिर्फ अपने पूरे जिस्म पर वो मलाई मली और हम दोनों के जिस्मों पर भी उसी ने मल दी. जब उसको दर्द होना कम हुआ, तो मैंने एक और झटका मारा और मेरा लंड उसकी चूत में आधा चला गया. दो घंटे बाद उठ कर मैंने उनसे कहा- अब से अब घर में या तो पूरी नंगी रहोगी या सिर्फ पेंटी में रहोगी और जब बाहर जाओगी तो बिना पेंटी के ही जाओगी.

उनकी चुत चिपक सी गई थी क्योंकि उन्होंने पिछले 5 साल से लंड नहीं लिया था. मुझे लगा एक्सट्रा सर्विस का बोल रही है तो शायद ज्यादा देर तक मसाज करने का बोल रही है. अलका ने एक छोटा सा पजामा, जो उसके घुटनों के तीन या चार इंच नीचे तक था, पहना हुआ था.

जब उसको दर्द होना कम हुआ, तो मैंने एक और झटका मारा और मेरा लंड उसकी चूत में आधा चला गया. फिर मैंने जैली लेकर उसकी गांड में लगाई और इसके एक दो पल बाद मैंने उसकी गांड में अपनी एक उंगली थोड़ी सी अन्दर डाली.

मैंने अपने सारे कपड़े उतारे और पूरी नंगी होकर फूफा जी के बिस्तर में उनके साथ जाकर लेट गयी. तो उसने मुझे बताया कि वह ग्रेजुयेशन कर रही है और साथ ही सिविल सर्विसेज़ की तैयारी भी कर रही है. वो लंड मुँह में लेने से मना कर रही थी, लेकिन मैंने उसे किसी तरह से मनाया तो वो मान गई और मेरा लंड चूसने लगी.

नताशा ने उसके नजदीक पहुँचते ही अपने हाथों से उसकी चैन खोल दी और अपना हाथ अन्दर घुसेड़ कर उसका लंड तलाश लिया.

उन्होंने मुझे अपना मोबाइल नंबर देकर कहा- अगर ग्वालियर में कभी फ्री हो तो याद जरूर करना!और चली गईं. !तब उस आदमी ने अपनी पकड़ को थोड़ा ढीली कर दी और आराम आराम से मॉम के चुचों को मसलने लगा. इन सब बातों से मुझे चुदास सी भड़कने लगी थी और अब मैं हमेशा यही सोचता था कि बुआ को कब प्रपोज करूँ.

किचन में नाश्ते की अच्छी सुगंध आ रही थी, जैसे कि अभी अभी नाश्ता बना हो. एक दिन मैंने उससे पूछा- आजकल रात को पापा तुमको नहीं चोदते?उसने कहा- क्या बताऊं नेहा.

उसने जाते ही मुझे दबोच लिया और अपने होंठ मेरे गुलाबी होठों पर गड़ा दिए. पर फिर बाद में उसके पति की नौकरी कहीं दूर शहर में हो गई तो हम मिल नहीं पाए और इसी तरह मुझे फिर सेक्स के लिए मौका नहीं मिला. मुझे नहीं पता कि तबस्सुम ने उससे क्या कहा, मगर उसका उत्तर था- हां हां बिल्कुल जितना हो सकेगा, पक्का करूँगा.

बीपी सेक्सी कॉमेडी

लेकिन अगले दिन दोनों की पन्द्रह दिन की जबलपुर की ट्रेनिंग का लेटर आ गया था तो उन्हें जाना था.

जैसे ही मैंने ज्योति की चूत के दाने पर अपनी जीभ लगाई, तो ज्योति ऐसे उछली, जैसे उसे 1000 वाट का करंट लगा हो. मुझे उसका लंड अंडरवियर में से दिख गया वो काफी मोटा और बड़ा लग रहा था. उसने मुझे नीचे लेटा दिया और ख़ुद मेरे ऊपर 69 की तरह आ गयी, जिसके कारण उसकी चूत जो कि बिना बाल की थी, ठीक मेरे मुँह के पास थी.

फिर कुछ ही सालों बाद उनका तबादला कानपुर हो गया, इस तरह वो और हम दूर हो गए. चूंकि बिंदु अभी गरम नहीं हुई थी इसलिए उसकी चुत भी गीली नहीं थी, इसलिए लंड को चुत में जाने के लिए काफ़ी कोशिश करनी पड़ रही थी. नई डिजाइन की पायलमेरे फ्रेंड ने एक बात और बोली कि भाभी जो मेरा फ्रेंड है वो सरदार है.

मुझे दर्द होने लगा, मैं बोली- रुको, बाहर निकालो!उसने मेरी एक न सुनी और एक झटका और दिया, पूरा लण्ड चुत फाड़ता हुआ अंदर चला गया. आज मैं जो आज आपको कहानी सुनाने वाला हूँ वो मेरी एकदम सच्ची घटना है मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं ये भी कभी कर सकता हूँ.

उसे इस झटके से करने के कारण मज़ा आ गया, उसकी हल्की सी आह भी निकल गई. रंजू मूड में आ गयी- है क्या तुम्हारे पास?रंजू ने पूछा।हाँ, भांग तो हमेशा ही मेरे पास रहती है. तो कभी दूसरा मसलता तो पहला चूसता और मॉम आँखें मूंदें चूची चुसाई का मज़ा ले रही थीं.

जब मैं उनके रूम में वापस आया तो भाभी मुझसे चिपक गईं और ज़ोर से अपनी बांहों में मुझे भर लिया. मगर कुछ भी करने से पहले उसकी हम लोगों को ब्लैकमेल करने की हिम्मत को पूरी तरह से दबा देना है. मुझे शुरु से ही आंटी और भाभियों को चोदना पसंद है, आज मैं आप को अपनी गर्लफ्रेंड की मां की चुदाई के बारे में बताऊंगा.

वो मेरे लंड की इतनी आदी हो गई कि अपनी दीदी से मिलने के बहाने मेरे घर पर आ जाती और हम फिर जम कर चुदाई का गेम खेलते.

मैंने नीचे फर्श पर बैठ कर रेखा रंडी के पैरों के गुलाबी तलवों पर जीभ फिरानी शुरू कर दी. फिर बापू ने पद्मिनी का हाथ उठाया और नल से फव्वारा जैसा पानी बनाते हुए उसे नहलाने लगा और अपने शरीर में भी पानी डालने लगा.

मैंने पूछा- उसने आपको क्या बताया था?अशोक- मुझे तो उसने बताया था कि तुम उसकी कज़िन हो मगर इस मामले के लिए बहुत जिद्दी हो. थोड़ी देर बाद मैंने सोचा कि क्यों ना क्लास में चलकर थोड़ा मैथ पढ़ लूँ. काजल को पहली चुदाई के कारण चलने में प्रॉब्लम हो रही थी, तो माधुरी ने हँसते हुए ताली बजाई.

थोड़ी देर देखने के बाद वो मुस्कुराई और मुझसे बाथरूम में जाने को बोल कर वो चली गयी. दोनों हाथ उसके चेहरे पर रख कर, अपना चेहरा पास लाकर उसके होंठों से होंठों का चुम्बन करने लगा. जैसे ही मैंने स्पीड बढ़ाई वह आह… आह… आई… जोर से… किल मी…फ़क मी… आई… हाय… हाय… करने लगी और कुछ देर बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया.

बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल कश्मीर मैंने देखा भी नहीं था और नूरी खाला का साथ मुझे अच्छा लगा था. और तो और खुद भी जब दिल करता है लड़की लेकर आते हैं चोदने के लिए। साली हमारी मम्मी भी लंड की प्यासी है साली और ऊपर से पापा भी अलग अलग चुत के दीवाने।इतना सुनते ही मैंने शिवानी की स्कर्ट और टॉप उतर दी और खुद पूरा नंगा हो गया।शिवानी- भैया, मैंने बहुत सी ब्लू फिल्म देखी हैं, उसमें लंड को चूसते हैं मैं भी आपका चूसूंगी.

2021 की नंगी सेक्सी

आप इसके बालों को क्यों नहीं काटती हो?दीदी बोली- कभी कभी काट लेती हूं लेकिन बहुत दिनों से नहीं काटे हैं. नूरी खाला बहुत खुश हुई और मुझे गले लगा कर प्यार किया और बोली- बेटा, कभी कुछ भी चाहिए हो तो बेझिझक मांग लेना. जो भी उसके मन में आ रहा था, वो सब मनोहर बोलते हुए मेरी चूत को ताकत के साथ चोदने लगा.

स्कर्ट्स भी ऐसी ली थी, जो बहुत छोटी थी और चुत आराम से दिखाई जा सके. उसको बिंदु ने सिखा दिया था कि चुत को जितनी देर तक चाटा जा सके, उतना चाटा करो. लड़की नहाने का वीडियोनमस्कार दोस्तो, मैं अमित, आपने मेरी कहानीगर्लफ्रेंड की मर्द का लंड देखने की इच्छापढ़ी और उस पर आपके मेल मिले.

जब वो जा रही थीं तो तेरा सारा ध्यान उनकी ऊपर नीचे होती हुई गांड पर था.

कभी कभी भाभी जब मुझे चाय का कप देती थीं, तो वो मेरा हाथ छुआ करती थीं. नीलू बोली- सिर्फ मम्मे ही नहीं, पूरे शरीर पर लगाने से निखार आ जाता है.

अब ऐसा हमेशा होने लगा, जब भी हम मिलते तो किस करते, ऐसे ही किस करते समय मैंने मेरा हाथ उसके सीने पे रखा और दबा दिया. यह बात अभी हाल ही की है, उस दिन रविवार था, थोड़ी शाम हो रही थी, रुक रुक कर हल्की बूंदाबांदी भी हो रही थी. जो चाहे जिसकी चुत में चाहे जो करे, कोई किसी को कुछ नहीं बोल रहा था.

उसने यह भी कहा था कि उसको जरा प्यार से हैंडल करना, वो अभी तक किसी से चुदवाना तो दूर, किसी ने उसे टच भी नहीं किया.

जब मैंने पेशाब करना बंद कर दिया तो साली खड़ी हो गयी और मुझे बैठने को बोली. मुझे यह देख कर तसल्ली हुई कि अशोक का लंबा और मोटा लेने से तो इसका बेहतर है. उधर सामने सुरेंद्र जीजा भी अब अपनी पैंट को नीचे उतारने लगे और अपना शर्ट भी खोल दिया, वह बनियान नहीं पहने थे पैंट और अंडरवियर एक साथ उतार कर अपना लन्ड हाथों से रगड़ने लगे.

ಶಿಕ್ಷ ವಿಡಿಯೋपर वो बोला- गांड मरवाने में थोड़ा सा दर्द होता है और बाद में मजा आता है. मैं दस्तक से उठ गया था, तभी भाभी जी ने अन्दर आ कर हम दोनों को नंगी हालत में देख लिया था.

इंडियन सेक्सी भाभी की वीडियो

रास्ते में उन्होंने उस दिन अंकल के मदद के लिए धन्यवाद दिया और वे उस चांटे के लिए सॉरी बोलीं. उसने कहा- मेरा हो गया, तुम्हारा कब होगा?मैंने कहा- चुत में डालूँ तो जल्दी से हो जाएगा. और बाद में मैंने उसकी फ्रेंड रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट कर ली तो वो मुझे रोज खूब मेसेज करता था और मैं भी उससे कभी कभी बातें कर लेती थी.

दो दिन पहले उसका फोन आया कि वो वापिस आ गई है और मुझे मेरी माँगी चुत को ले कर आएगी. भाभी ने मुझे कहा- राज! जब भी मेरी कमर में दर्द होगा तो मैं तुम्हें बुलाऊंगी और तुम आ जाना. अब मैं पूजा के पूरे नंगे बदन को देखने लगा, मेरी बहू बहुत खूबसूरत है, गोरी है, चिकना बदन है, उसकी चूचियां सामान्य आकार की शायद 32 इंच की होंगी, सांची के स्तूप की भान्ति या ताजमहल के गुम्बद की तरह से तनी खड़ी थी.

भाभी की मादक कराहें निकलने लगीं- आहा ह्ह्ह्ह आह्ह ह्ह्ह ऊह्ह्ह ह्ह… ये बहुत बड़ा है. मैंने तभी लाल जी को आवाज दी कि लालजी अन्दर आना, मेरे को थोड़ी तेरी हेल्प चाहिए. बस यूं समझ लीजिए कि उसका फिगर 28-28-30 का था, जो नॉर्मल ही होता है.

इसके बाद से तो शबनम भाभी के लिए मेरे मन में एक अलग ही फीलिंग जागने लगी. मैंने देखा कि रिंकू भाभी के पति का फोन है, उन्होंने बोला कि मैं भाभी को बता दूँ कि वो आज रात घर नहीं आ रहे है.

यह फ़ोरप्ले बहुत जरूरी होता है, जिसे हो सके तो ज्यादा से ज्यादा एन्जॉय करना चाहिए.

वो मुझे बोल रहा था- तुम्हारे साथ एन्जॉय करने में अलग मजा है!और वो बोल रहा था- तुम मेरे एक फ्रेंड से भी चुदवाओगी. श्रीदेवी का सेक्सतो उन्होंने कहा- अच्छा जी, मेरी तारीफ कर रहे हो या फ्लर्ट!मैंने कहा- अपनी बदकिस्मती बता रहा हूँ जी. बबीता का नंगा फोटोहम रोज नई नई पोजीशन में सेक्स करने लगे, उसके हथियार ने मुझे जन्नत की सैर करा दी. मर गयी … बचा लो आज तो!” बहूरानी तड़प कर बोली और मुझे परे धकेलने लगी.

तब तक मेरा किराये का कमरा है कृष्ण नगर में वहीं दो घंटे थोड़ा रूकेंगे, नश्ता करेंगे फिर चल के तुमको बढ़िया ड्रेस दिलवाऊंगा।मैं बोली- ठीक है!काफी हाउस से जीजा ने नाश्ता पैक कराया और कोल्डड्रिंक लिए और चल दिए, रूम पहुंच गए.

थोड़ी देर बाद भाभी भी पैसे देकर अपने बच्चे को लेकर अपनी स्कूटी पर बैठ गईं. भाभी- तो मेरे लिए भी एक सेक्स टॉय (डिल्डो) मंगवा दोगे?उन्होंने ये बहुत ही धीमी आवाज में मुझे बोला, जैसे उन्हें डर लग रहा था कि कोई उनकी आवाज सुन न ले. मैं बहू के नग्न शरीर से नीचे उतरा और उसकी बगल में लेट कर बातें करने लगा.

उसने मेरी तरफ देख कर आँख बंद कर लीं और मुस्कुराते हुए अपना पैर मेरे पैर से सहलाने लगी. अब मैं बोला- जान क्या मुँह में ही निकलवा लोगी?तो काजल ने तुरंत मुँह से लंड निकाल दिया और बोली- राहुल, ये मेरा पहला सेक्स है. ये सब इतने कामुक ढंग से हो रहा था कि मेरे लंड की तो समझो वाट लग गई थी.

सेक्सी वीडियो प्लीज सेक्सी

तो मैं खाला को गले लगा कर बोला- खाला, मुझसे एक बार चुदने के बाद मुझसे चुदे बिना रह नहीं पाओगी. यार… साला ये भोसड़ी का तो अपनी एकलौती बेटी के साथ खूब मज़ा करता होगा. मेरा फ्रेंड ये सब देख रहा था तो वो बोला- भाभी, आपको पहले लंड देखना है तो बताओ.

उससे बोलना कि नंगी होकर अच्छी तरह से डांस करे, उसकी भी फिल्म बननी चाहिए.

पूजा भी सुबह उठते ही जब तुम्हारे कमरे में आई और कुछ देर तक न निकली तो मैंने आवाज़ दी.

मैंने कहा कि वो मेरी चिंता है, तुम बस आज मेरे लंड की सवारी करने के लिए तैयार रहना. उनसे बातचीत के दौरान मैं उनके मुक्त व्यवहार का फायदा उठाते हुए उनके मम्मों पर अपनी नजर गड़ाकर बैठा रहता हूँ. सेकस करनामुझे कुछ नहीं पता था इसलिए मैंने पहली बार में ही 3 उंगलियां एक साथ डाल दी.

अब हम सब लोग भयानक जोश में थे, एक दूसरे को गालियाँ दे रहे थे जिसे सुनकर हम सबका जोश और बढ़ता जा रहा था. तब मैं मन ही मन सोचने लगा कि अब साली की गांड फटेगी और मैंने उसकी गांड और अपने लंड पर थूक लगाया, लंड उसकी गांड पर सेट किया, धक्का मारने से पहले मैंने एक हाथ से लंड और दूसरे हाथ से उसके मुंह को दबाया और एक कस कर धक्का मारा, मेरा पूरा लंड अंदर चला गया और वो पूरा जोर जोर से तड़प तड़प कर रोने लगी. चन्द्रमुखी: जब अपनी बीवी बहुत प्यारी लगती है, उसकी डाँट झगड़ा भी शहद से लिपटा प्रतीत होता है.

मैंने उन्हें खाना दिया और एक कमरे में लिटा दिया।आधी रात को मेरे कमरे के दरवाजे पे दस्तक हुई, मैंने उठ कर देखा तो दरवाजे पर जमाई जी थे। मेरे पति नींद में थे, मैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोला- मुझे पानी चाहिये. अलका चिहुंक उठी… मेरी गर्दन छोड़ के मुंह अलग किया और ज़ोर से सीत्कार भरी.

मेरी चुदाई की कहानी पर आपके मेल का स्वागत है… बस आपसे निवेदन है कि ऐसा लिखना जिसको पढ़ने में अच्छा लगे.

वैसे मुझे गुदगुदी बहुत लगती है लेकिन मुझे उसके हाथ का एहसास अच्छा लग रहा था मुझे ऐसा लग रहा था कि प्रिया भी मेरी बॉडी का एक हिस्सा है. भाबी ने मुस्कुरा कर मेरा हाथ पकड़ा और अपनी तरफ खींचते हुए कहा- बंदी हाजिर है… ले लीजिए. शादी वाले दिन भैया अच्छे से तैयार हुए, बहुत सारे मेहमान आये हुये थे, पूरा घर मेहमानों से भरा हुआ था।फार्म हाउस में शादी हुई, वहां मैंने एक लड़की को चोदा, लेकिन कैसे चोदा, वो कहानी मैं बाद में लिखूँगा।रात को शादी हुई, सुबह भाभी दुल्हन बनकर घर आ गयी, रात भर जागने के कारण भैया भाभी दिन में आराम करते रहे, सोते रहे.

करीना कैफ की सेक्सी वीडियो दस मिनट लंड चुसाने के बाद मैंने उसको बेड पर लिटा दिया और उसकी टाँगें खोल कर उसकी चुत को फैला दिया. मगर वो सिर्फ तीन महीने ही ससुराल में रही और वापस घर आकर बैठ गयी क्योंकि उसकी चूत की खुजली कभी शांत नहीं होती थी और वहां सुसराल में वो अपने देवर से चुदने लगी थी.

और जब जगी भी तो दिमाग पर एक अजीब सी बोझिलता तारी रही।जो रात गुजरा था, वह जागते में देखा गया सपने जैसा था. जिससे मैं एकदम पागल हो गया और उसके बालों को पकड़ कर अपने लंड को उसके मुँह के अन्दर पेलने लगा. तो क्यों न हम लोग भी मस्ती करें, टेंशन लेकर क्या फायदा! सब लोग मिलकर मम्मी को नंगी कर के खूब मज़े लेंगे और फिर भैया इसकी कोख में अपना बच्चा भी टिकायेंगे!इतना कहकर शीतल सुनील की गोदी में में जाकर बैठ गयी! उसने भी झपट लिया उसे और शीतल की जाँघें सहलाने लगा.

चोदा चोदी बिहारी सेक्सी

”भाईजान अभी तो आपने माल झाड़ा है, अब इतनी जल्दी यह तैयार कैसे होगा?”पगली झड़ने के बाद जो तुमने दुबारा लंड चाटा है ना, उससे यह रेडी हो गया है. एक काम कर गाड़ी निकाल, घर जाकर दो घंटे एक एक टेबलेट लेकर सोएंगे तो सब नार्मल हो जाएगा. कुछ देर बाद उस डॉक्टर ने कोई चीज़ डाल कर उसकी चुत को चौड़ा कर दिया, फिर उसमें इस तरह से झाँकने लगा बिल्कुल करीब आकर जैसे लगे कि वो ना सिर्फ मुँह मार रहा है बल्कि उसमें घुसने की भी चाह रखता है.

मैं उसकी चूत में उंगली कर करके चूत के दाने को जीभ से चाटता रहा और करीब दस मिनट बाद उसका बदन एकदम अकड़ने लगा. फिर उन्होंने अपनी जीन्स उतारी, उन दोनों ने अपनी अपनी ब्रा के रंग की पैंटी भी पहनी हुई थी.

मैं बोली- मेरे यहां से एक ब्रा और पेंटी तुम ही ले गए थे क्या?वह बोला- हाँ, मैं रोज आपकी ब्रा देखता हूं और आपकी पैंटी में अपना वीर्य छोड़ता हूं.

मैंने अपने डर को कम करते हुए उनकी आँखों में देखा- देखो भाभी ये एप मैंने नहीं डाली पर ये एप तो बहुत अच्छा है और आपको इसकी कहानियां पढ़ लेनी चाहिए. थोड़ी देर बाद उनको मजा आने लगा और वो चूतड़ों को उठा कर गांड चुदवाने लगीं. जिससे एक बार मेरे मन में थोड़ी सी शर्म भी आ जाती थी, पर अच्छा भी लगता था.

दस मिनट तक ऐसे किस करने और उसके बूब्स दबाने के बाद मैंने मेरा हाथ उसके पैंटी के अंदर डाल दिया और आगे पीछे करने लगा जिससे वो और गर्म हो चुकी थी. अभी एक महीने की ट्रेनिंग पर बंगलुरू गया है, वापस आयेगा तो शायद नोएडा ही रहना पड़ेगा।”और मान लीजिये कोई मेडिकल इमर्जेंसी हो जाये तब?”पड़ोसी ही काम आयेंगे, थोड़े बहुत काम या वक्त जरूरत के लिये पड़ोसियों से बना के रखनी पड़ती है और उनकी उम्मीद भी बनी रहती है।”उम्मीद. मैं उसको हाथ लगा कर पकड़ने लगी, मगर मेरे हाथ लगाते ही उसमें बिजली का करंट दौड़ने लगा और उसका लंड एकदम से खड़ा होने कर झटके मारने लगा.

थोड़ी देर में वो झटके देने लगी और आआअ ह्ह्ह्हम्म अअह आअह की आवाज़ के साथ वो छुट गयी.

बीएफ पिक्चर सेक्सी फुल: अचानक उसे याद आया कि उसे मेरा पानी देखना था, तो उसने मुझे अपने ऊपर से उतरने के लिए कहा. वो भी अपनी चुत पर मेरी जुबान अहसास पाते ही मादक सिसकारियां लेने लगीं.

मैं पूरी तरह से आश्वस्त होने के बाद चाची जी के करीब आ गया और उनके चूचे ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा। चाची का कोई नहीं हुआ तो मेरी हिम्मत बढ़ी. यह फ़ोरप्ले बहुत जरूरी होता है, जिसे हो सके तो ज्यादा से ज्यादा एन्जॉय करना चाहिए. मैं अपने प्यार की नर्म-स्वादिष्ट जीभ को चूसने लगा और उसने अपने बाएँ हाथ को मेरी शॉर्ट्स के अन्दर डाल दिया, हाथों द्वारा टटोल कर अपना सगा लंड ढूँढा और अपने नर्म हाथ से उसको सहलाने लगी.

दुबारा बापू ने फिर वही किया और इस बार जैसे ही उसका लंड पद्मिनी की चूत के छेद में घुसने को था, पद्मिनी ने फिर एक चीख़ देते हुए गांड को ऊपर उठा लिया और लंड फिर निकल गया.

हम दोनों ने अपने अपने पार्ट्स को साफ करने की बात का खूब प्लान बनाया, फिर उस दिन का इंतज़ार करने लगे. मगर डॉक्टर को चैकअप करने के लिए अभी कुछ दिन तो निकालो वरना उसे भी क्या पता लगेगा कि तुम्हें बच्चा होने वाला है. इस तरह से 10-15 मिनट के बाद जब उसका वीर्य लंड से निकलने वाला था, तो लंड और ज्यादा अकड़ गया.