बीएफ इंग्लिश में दिखाओ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ बुर चोदने वाला

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स बीएफ वीडियो प्ले: बीएफ इंग्लिश में दिखाओ, मुझे बताने के लिए मुझे ईमेल करें।[emailprotected]अगली कहानी में मैंने रिया की कैसे गाण्ड मारी.

बीएफ कैटरीना

वो मुझसे सेक्स का पूरा मजा लेती थीं।क़रीब 2 सालों से उनको खुश कर रहा हूँ दोस्तो. गांव की लड़की बीएफफिर आधा लंड मुँह में लेकर अन्दर बाहर करने लगी।‘रीता लगता है जीजा जी से बहुत सीखा है?’‘अरे एक दिन मैंने जीजा जी-जीजी को चुदाई करते देख लिया और जीजा जी को पता लग गया.

उसने ऐसे ही साक्षी को करीब 10 मिनट तक धकापेल चोदा।इस एक राउंड में साक्षी झड़ गई थी। उसकी चूत से सफ़ेद पानी निकलने लगा था. बीएफ सेक्सी कॉलेज वालीऐसा क्या कर दिया उन दोनों ने कि तेरी आँखों में आँसू आ गए।कोमल- अब क्या बताऊँ तुझे.

तो मैं समझ गया कि इसका काम होने वाला है।अब मैंने अपने झटकों की रफ़्तार बढ़ा दी और वो ‘सीईईई ईईईई.बीएफ इंग्लिश में दिखाओ: लेकिन मैं उसकी गाण्ड देखने में इतना खो गया था कि फोटो खींचते वक़्त कैमरे का बहुत ज़ोर की आवाज आई.

वरना मैं तुम जैसी खूबसूरत लड़की से शादी करके अपने आपको ख़ुशनसीब समझता।मैंने उठकर उसे गले से लगा लिया और धीरे-धीरे बाँहों में समेट लिया।कमैंने कहा- आई लव यू जान.या फिर छूट गई है? बहुत दिनों से तुम्हें छत या बाल्कनी में मंडराते हुए देखा नहीं है.

बीएफ हिंदी मूवी चुदाई - बीएफ इंग्लिश में दिखाओ

तो नेहा भाभी थीं।मैंने आदर से कहा- आइए भाभी जी।तो बोली- यार तुम भी ना मेरी ही उम्र के आस-पास के तो हो.क्यूँकि आज पहली बार सोनाली की चूत मुझे असम्भव सी लग रही थी। पर मैंने हिम्मत ना हारते हुए उसको बोला- मैं तुम्हारे साथ हूँ सोनाली। जब और जो सहायता चाहिए हो.

जब तू यह किताब पढ़ती है तो तुझे मन नहीं करता कि कोई तेरे साथ कुछ करे और तेरी चूत को चोद-चोद कर शांत करे. बीएफ इंग्लिश में दिखाओ जो गर्लफ्रेंड बना पाऊँ।मैं सोच रहा था कि आज बहुत अच्छा मौका है भाभी को पटाने का.

सन्नी की बात सुनकर अर्जुन ने लौड़ा चूत से निकाल दिया और बिजली की तेज़ी से एनी के पैर सीधे किए.

बीएफ इंग्लिश में दिखाओ?

एक लम्बा समूच किया और केक काटने लगे।ऐसा लग रहा था जैसे हमें सारे जहाँ की खुशियाँ मिल गई हों।मैं बहुत खुश था… ऐसा जन्मदिन सबके नसीब में थोड़े ही होता है और न ही हर किसी को ऐसा हम-सफ़र मिलता है।मेरी तो नजर आज उसकी खूबसूरती से हट ही नहीं रही थी।हमने केक के एक टुकड़े को अपने होंठों में दोनों तरफ से लिया और खाने लगे. सोनिका ने ढेर सारा योनिरस मेरे लंड पर छोड़ दिया और निढाल हो गई।मैंने भी जबरदस्त दस-पंद्रह झटके लगाए और अपना लावा उसकी चूत में छोड़ दिया और हम एक-दूसरे में समा गए। उसकी योनि मेरे लौड़े का संकुचन कर रही थी. देख मैंने पैंट से तुम्हारे लंड को निकाल लिया है और अपने होंठों में लेने लगी हूँ।मैं- हाँ जानेमन.

और लण्ड बाहर निकाल कर थोड़ा आगे-पीछे करने लगा।फिर पूरा बाहर निकाल कर थोड़ा पानी प्रियंका की पीठ पर उसकी गोल-मटोल गाण्ड के पास भी डाल दिया।मैं अभी भी प्रियंका की चूत में उंगली पेल रहा था. ओओ…!!!’बगल वाले लड़के अब अपनी चूमा चाटी छोड़ कर हमारी लण्ड चुसाई देख रहे थे।उस हॉल में हम इस तरह थे कि उन दोनों लड़को को छोड़ कर बाकी सब मेरे पीठ पीछे थे – मैं सिर्फ उनकी आवाज़ें सुन सकता था। सिसकारियों और आहों के बीच वो कुछ बात भी करते थे, दबी आवाज़ में एक आधा वाक्य भी बोलते थे ‘बस करो. तो अनामिका तैयार होकर कहीं जाने की तैयारी कर रही थी।सुरभि ने पूछा- कहाँ जा रही हो अनामिका?अनामिका- जी मैम.

उसका नमकीन प्रीकम बूंद बूंद करके बाहर आ रहा था जिसे मैं बार बार जीभ से चाट रहा था।वो चर्म पर पहुंचने वाला था और उसने फिर से सिर को लोड़े में घुसाया और दो झटकों में उसके वीर्य की गर्म गर्म पिचकारी मेरे गले में लगने लगी जिसे मैं प्यार से पी गया और उसका लौड़ा चाट चाट कर साफ किया।वो उठा. तो बुआ और भी मेरे नज़दीक आ गईं। मेरा लण्ड उनकी मोटी गाण्ड के बीच में उनके कपड़ों के ऊपर से फंसता चला गया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !अब मैं भी नहीं हिला. फिर तभी मैंने देखा कि वो अपनी सीट पर उठ कर बैठ गई और अपनी चूचियाँ मेरी तरफ तानती हुई बोली- लो.

फिर एक धक्का ज़ोर का लगा दिया।अब आधे से ज़्यादा अन्दर चला गया था, वो इस बार दर्द से बिलबिला उठी. इसीलिए कोई दिक्कत नहीं हुई और वो ऊपर से मुझे ठोकने लगा।मैं उसके लंड को हाथ से पकड़े हुए पूरा मजा ले रहा था.

नशे में न जाने ये मैंने क्या कर दिया।मैं डरते-डरते उनके केबिन में गया.

अर्जुन ने ‘फक’ से लौड़ा बाहर निकाल लिया, एनी का योनि रस उस पर लगा हुआ था.

थोड़ी देर लण्ड चुसवाने के बाद अर्जुन ने कोमल को नीचे लेटा दिया और उसके पैरों के बीच आकर बैठ गया।कोमल- आराम से डालना तुम्हारा लौड़ा बहुत बड़ा है. तो मैंने प्रीत का सर दोनों हाथों से पकड़ा और जोर-जोर से प्रीत के मुँह को चोदने लगा।करीबन 30 से 40 धक्के मारने पर सारा माल प्रीत के मुँह में डाल दिया।अब हम दोनों साथ में नहाए और फिर प्रीत ने अपने कपड़े पहने और मुझे खाना दिया। इसके बाद जैसे ही उसने दरवाजा खोला. मैंने कहा- तुम्हारे चूचे भी तो बड़े-बड़े हैं।हम दोनों को एक-दूसरे के सामान दबाने में बहुत मजा आ रहा था। मैंने उसकी ब्रा को ऊपर करके उसके मम्मों को बाहर निकाल लिया।वाह.

तो ऐसा करते हैं सीधे शाम का सीन ही आपको बता देती हूँ।आप तो बस जल्दी से मुझे अपनी प्यारी-प्यारी ईमेल लिखो और मुझे बताओ कि आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है।कहानी जारी है।[emailprotected]. मस्त मादक गंध के साथ बहुत पानी छोड़ रही थी।माँ अब मादक सीत्कार निकाल रही थीं ‘म्मम्म. मैंने वहाँ खड़े होकर ताज़ी हवा ली और फिर फ्रेश होने चला गया।जब मैं फ्रेश होकर नाश्ते के लिए नीचे आया.

उन्होंने एक झलक मुझे ऊपर से नीचे घूर के देखा और मेरी भरे हुए स्तनों को दोनों हाथों से दबाते हुए मेरे ऊपर झुक कर मुझे फिर से चूमने और चूसने लगे।अब मैं भी खुल चुकी थी और गर्म होने लगी थी.

मैं पोस्ट ग्रेजुएट हूँ।हम लोग मुंबई में वाशी में रहते हैं, मेरे पति मर्चेंट नेवी में हैं, उनके अलावा घर में मेरे सास-ससुर और मेरा 2 साल का बेटा है।ऊपर वाले की दया से पैसों की कोई कमी नहीं है, वाशी में हमारा आलीशान 3-बेडरूम फ्लैट है।बस जीवन में एक ही कमी है कि मेरे पति 6-7 महीनों बाद घर आते हैं. मैं गांव की तरफ जा रहा था तो देखा एक जवान लड़का पास की झाड़ियों में पेशाब कर रहा था. मुझे डर लगता है।मैंने अपने निक्कर में लौड़ा निकाल कर उसके हाथों में थमा दिया और कहा- ये लो.

कुछ सेकेंड बाद मैंने देखा उसका बल्ज(जिप का उभार) धीरे धीरे बढ़ रहा है. फिर उसे धीरे से नीचे उतार दिया। अंकल का सात इंच का लण्ड बाहर आ गया. यह शो ख़त्म ही होने वाला है।थोड़ी देर बाद जब मुझे यकीन हो गया कि मम्मी को कुछ नहीं पता चला.

तब तक आपके लिए चाय लाती हूँ।मैं उसके बेडरूम में चला गया और कंप्यूटर के पुर्जे बदलने लगा।वो चाय लेकर आई और मेरे सामने आकर बैठ गई और मुझसे बातें करने लगी.

यहाँ भी तूने एक आइटम फंसा ही ली।तो दोस्तो, कुछ इस तरह थी मेरी विराट खोली और मेरी विजयी पारी।आपको मेरी स्टोरी कैसी लगी. इसलिए मैं अब ज्यादा घर में नहीं रहता और एग्जाम हो जाने के बाद मैं हॉस्टल चला जाऊँगा और फिर कभी वापस घर नहीं आऊँगा.

बीएफ इंग्लिश में दिखाओ उन्हें घर की औरतों का बहुत मॉडर्न होकर रहना अच्छा नहीं लगता था।बीएससी करने के नाते मेरा मॉडर्न लड़कियों और लड़कों से काफ़ी मिलना-जुलना था. तो इस बार भी हमारा प्लान शनिवार के दिन का ही बना क्योंकि हम दोनों जॉब करते हैं और छुट्टी बिल्कुल भी नहीं करना चाहते थे।अब हम दोनों घर से मथुरा जाने के लिए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिए निकल गए थे और वहाँ पहुँच कर कर्नाटक एक्सप्रेस ट्रेन की दो जर्नल टिकट लेकर ट्रेन की तरफ चल दिए।ट्रेन स्टेशन पर जाने के लिए तैयार खड़ी थी।हम दोनों जैसे ही ट्रेन के पास तक पहुँचे.

बीएफ इंग्लिश में दिखाओ पर उसने मुझे बताया कि ज्यादातर लोगों का लण्ड मेरे लण्ड से छोटा होता है और मेरा लण्ड किसी भी चुदक्कड़ औरत को भी ठंडा कर सकता है. क्योंकि रात को तो मेरे पास भी टाइम नहीं होता और वो भी अपने घर वालों के साथ ही सोती है.

जब वो कुछ समय के बाद वापस आई तो मैं उसको देखता ही रह गया। उसने एक बहुत प्यारी सी नाइटी पहनी हुई थी जिसमें कि जूही का 32-28-30 का फिगर साफ़-साफ़ समझ में आ रहा था.

बीएफ सेक्स वीडियो दिखाइए

फिर मैं भी वहाँ से आ गया और रवि को तलाशने लगा।अब विदाई की तैयारी हो रही थी और आधे बाराती जा भी चुके थे।विदाई के बाद मैं और रवि भी वापस जाने के लिए गाड़ी में बैठे, गाड़ी स्टार्ट की और आकाश की गाड़ी के पीछे पीछे हम घर की तरफ चल पड़े…ना मैं कुछ बोल रहा था और ना ही रवि. तो मुझे एकदम से झटका लगा। मेरे बैग में मैडम के घर की किताब मिली। मैं उसे भूल ही गया था. तेज म्यूज़िक चल रहा था और लाइट्स भी बहुत ज़्यादा थी। बहुत सारे लड़के और लड़कियाँ वहाँ मौजूद थे.

उसने देर ना करते हुए मेरी चूत पर अपना लंड रखा और एक ही झटके में पूरा 7 इंच का मुस्टंडा लंड मेरी चूत में पेल दिया।जैसे ही लंड मेरी चूत में गया. स्वेटर से बाहर आने को बेताब थे।मैंने तुरंत उन्हें बाहर से ही अपनी सीट नंबर बताई. ।मैं वहीं रुक गया ताकि उसका दर्द कुछ कम हो ज़ाए, मेरा लण्ड आधा अन्दर आधा बाहर था।कुछ देर बाद उसको दर्द कम हुआ तो मैंने अचानक एक ज़ोरदार धक्का मार कर पूरा लण्ड उसकी गाण्ड में डाल दिया।अब वो फिर दोबारा चिल्लाई- बस करो.

तो उसके छोटे तंग हो चुके सूट के दबाव से उसके निप्पल ऊपर से बाहर महसूस होने लगे थे। जब मैंने उसके निप्पलों को देखा.

उन्होंने मुझे फिर से पकड़ लिया और बिस्तर पर खींचने लगे।अब मैं विनती करने लगी- बहुत देर हो जाएगी सो मुझे छोड़ दें. आँखों के सामने अंकल के बेडरूम में लगी तस्वीरें घूम रही थीं, मेरे जिस्म के अन्दर लावा उबलने लगा. आकाश को 2 बजे तक तैयार करके घोड़ी पर बिठा दिया गया।मैं जैसे ही बाहर आया, मेरी आँखें फटी की फटी रह गईं.

लेकिन तभी मैंने सोचा कि पहले ही अपनी मलाई टेस्ट करा चुका हूँ तो अब फरहान की मलाई मुँह में लेने से क्या फ़र्क़ पड़ता है और अगले ही लम्हें हम दोनों ही के लण्ड ने एक-दूसरे के मुँह में पानी छोड़ दिया।डिसचार्ज होने के बाद हम दोनों उठे और किसिंग करने लगे. कुछ मर्दों की बॉडी बहुत सॉलिड होती है जिससे देखकर लड़कियां अपना सब कुछ उन्हें सोंप देती हैं. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !कोई 5 मिनट में मुझे लगा कि मेरा पानी भी निकलने वाला है.

और खूब चोद-चोद कर खुश रखना। अभी के लिए मैं बिना तुम्हारा लण्ड लिए चली जाती हूँ. ‘क्यों ‘वो’ बहुत परेशान कर रहा है क्या?’ ममता एक नॉटी सी मुस्कराहट के साथ बोली।मैं- हाँ.

हम दोनों ने भरपूर सेक्स किया।दोस्तो, आपको मेरी कहानी कैसी लगी प्लीज जरूर बताइएगा। ये मेरी सच्ची कहानी है. मैं 5’8” का हूँ, मेरे लंड का साइज़ 7″ के करीब है और मोटाई 2″ है। मैं अभी आजकल एक जॉब कर रहा हूँ।मैं आज आप लोगों को अपनी पहली स्टोरी सुनाता हूँ. मेघा ने चिहुंक कर अपना हाथ हटा लिया।मेरा लण्ड पूरी तरह खड़ा हो चुका था.

फिर उन्होंने पढ़ कर सिग्नेचर भी कर दिए। उसके बाद मॉम ने भी सिग्नेचर कर दिए। काजल वहीं बैठी हुई थी.

अब मेरे जिस्म पर ब्लाउज और पेटीकोट थे।भाई धीरे-धीरे मेरे ब्लाउज के हुक खोलने लगे. लेकिन यह कहानी मेरी नहीं है, यह कहानी है मेरे ही जैसे एक समलैंगिक लड़के प्रिंस की. अर्जुन- अब यहाँ सब के सामने दिखाऊँ या अकेले में देखना पसन्द करोगी मेरी जान?टोनी- अरे यार ऐसे माहौल को गर्म ना करो.

बस उसकी आँखों से आँसू आने लगे और दोनों तरफ़ से उसको झटके लगने शुरू हो गए।लगभग 15 मिनट तक कोमल की जबरदस्त ठुकाई होती रही. तो आशीष बहुत जल्दी तैयार हो जाता है।तो सौम्या आशीष के पास बैठकर उसका लंड सहलाने लगी।इधर दोषी मेरे कपड़े उतार रहा था, सौम्या फटी आँखों से दुष्यंत के गधा ब्रांड लंड को देख रही थी।यह साली चुदेगी.

तो भाभी हँसते हुए बोलीं- कहाँ जा रहे हो देवर जी?मैं- भाभी अभी आता हूँ हग कर. मेरे बदन में करंट दौड़ गया।उन्होंने मेरा पजामा एक ही बार में अंडरवियर के साथ नीचे कर दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर हिलाते हुए बोलीं- तेरा लंड तो कितना बड़ा है. आखिरकार मैंने नींद के सामने घुटने टेक दिए और मैं छत पर सोने चला गया.

इंडियन बीएफ हिंदी फिल्म

तो कभी उसकी जीभ को अपने जीभ से चाटने लगा।मैंने काजल से कहा- प्लीज़ मेरे मुँह के अन्दर अपना रस डाल.

मैं धीरे-धीरे चुदाई करने लगा। अब उसे मज़ा आने लगा और वह मेरे होंठों को ज़ोर-ज़ोर से चूमने-चूसने लगी।वो चूत चुदाते हुए बोली- कमल, तेरा लण्ड मेरी चूत में एकदम फिट हो गया है. तो मैं अन्दर दौड़ते हुए गया और माँ से जल्दी से पानी माँगने लगा।वो मुझे डांटने लगीं।मैंने देखा कि सपना भैया बिस्तर में बैठे हैं और अपना पसीना पौंछ रहे हैं। मैंने पानी पिया और वापस बाहर आ गया।तब मुझे कुछ मालूम नहीं था।लेकिन एक दिन सपन भैया रात को 8. लेकिन आयशा बोली- मुझको खुद प्रियंका ने बताया है।मैं थोड़ा लज्जित सा महसूस करने लगा.

इसलिए मुझे तुम पर बिल्कुल गुस्सा नहीं है।रवि की ये बातें सुनकर मेरी आंखों से आंसू गिरने लगे थे. जिसमें वो सलवार सूट में होती थी और उसकी फिगर का अंदाज़ करना मुश्किल था।खैर. काजल के बीएफ वीडियो सेक्सीऔर कुछ लड़कियाँ भी थीं। उसमें से मैंने कई को चोदा था पर जबसे उस ऑटो वाली लड़की को देखा.

लेकिन उसकी बहन थी नहीं इसलिए मेरे घर मेरी छोटी बहन से मिलने चली आई।उस वक्त मेरी बहन बाथरूम में कपड़े बदल रही थी. और अपनी बड़ी-बड़ी आंखों से उन्हें निहारने लगीं।तभी अम्मी मेरे सामने मुँह करके आ गईं.

क्योंकि आपको तो पता ही है कि क्या होने वाला है।पिछली बार मेरी चुदाई और झांटों की शेविंग का अनुभव कैसा लगा. मुझे अच्छा लगेगा।वो मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपने बेडरूम में ले गईं।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !वहाँ मैंने एक ही झटके में श्रेया की नाईटी उतार दी. कि वो तो पूरी गीली है।मैंने उसकी चूत में अपनी जीभ डाल दी।वो ‘आआ आआआ आआह्ह्ह.

यदि मैंने अभी उससे सेक्स किया तो कुछ होगा तो नहीं?मैं उसको देखती रह गई कि इसको क्या हो गया।खैर. कोमल को कॉल करके कल के लिया बता देना और अभी मुझे एक काम और निपटाना है. इतने मस्त चूचे हैं कि किसी की भी पैन्ट फाड़ सकते हैं।मैं एक बार फिर आप लोगों के सामने आई हूँ एक नई कहानी लेकर.

जो गरम पावरोटी की तरह जल कर लाल हो गई थीं।मैंने उनका रस पीने के लिए अपनी जीभ को उनकी चूत में डाला.

मुझे लगा कि मैं ऐसे ही झड़ जाऊँगा।फिर वो उठ कर मेरे लण्ड पर कन्डोम पहनाने लगी और उसके बाद वो नीचे लेट गई।अब वो शुद्ध रंडी की भाषा में बोली- आ जा मेरे राजा. जिससे मुझे कोई तकलीफ न हो।मैं उसके साइड में बैठकर उसकी चूत में उंगली कर रहा था। मैं कभी अपनी उंगलियाँ उसकी चूत से बाहर निकाल लेता.

’ मैडम ने अपनी चूत पसार दी।मैं लण्ड को पकड़ कर मैडम की चूत पर रगड़ने लगा। थोड़ी देर रगड़ने के बाद मैंने लण्ड को चूत पर रख कर एक धक्का मारा. यह देखकर भैया का लंड जैक की तरह ऊपर उठता हुआ पूरा तन गया और अंडरवियर का तंबू सीधा नुकीला होकर मेरी तरफ इशारा करने लगा. और कुछ ही दिनों में वो आने वाले थे।एक दिन सुबह ट्रेन से वो आ गए पर उनके साथ एक लड़की भी थी। जो मेरी दादी के रिश्ते में होती थी।जब मैंने पढ़ने जाते हुए उसे देखा.

तो मुझे बहुत गुदगुदी का एहसास हुआ और मेरी उत्तेजना और भी बढ़ती गई। मैंने अपनी दूसरी उंगली भी चूत में डाल ली और अपनी चूत में फिंगरिंग करने लगी।मुझे बहुत मज़ा आ रहा था. तो मैंने उससे मुँह में ले लिया और चूसने लगी।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !कुछ देर चूसने के बाद उसने मुझे बिस्तर पर चित्त लिटा दिया और वो मेरे ऊपर आ गया, उसने अपना लंड मेरी चूत पर लगा दिया और उसे वहाँ रगड़ने लगा।मैंने कहा- मत सताओ. वो मैं तुम्हें कल बताऊँगी।अवि- मैं किसी की नहीं बताऊंगा। वैसे टाइम क्या हुआ मैडम।मैडम- शाम के 6 बजे होंगे।अच्छा तो मित्रो, मिलते हैं अगले भाग में.

बीएफ इंग्लिश में दिखाओ तो उसने बताया कि उसका एक बॉयफ्रेंड है और वो हर हफ्ते उसके साथ ही सेक्स करता है।तो मुझे थोड़ा आनन्द आया और मेरे लंड में तनाव भी आया।मैंने उससे झूठ ही कहा- यार मेरी न तो कोई गर्ल फ्रेंड है. पूछो क्या पूछना है?फिर मैंने कहा- जब अभी हम आपके घर के सामने बात कर रहे थे.

बीएफ हिंदी में बीपी

सारी तैयारी के साथ आज हम एक आइसक्रीम पार्लर में गए। वहाँ पर मैंने उसे प्रपोज किया. वैसे तो उसे भी अभी शादी की कोई ज्यादा जल्दी नहीं है… लेकिन जवानी और उम्र की माँग है सेक्स की…अभी तक हम दोनों ने सेक्स नहीं किया है, आपस में भी नहीं और किसी अन्य साथी से भी नहीं यानि हम दोनों अभी तक कुंवारे है. अपने पति के मुँह पर थूक रही हूँ और मार भी रही हूँ।लेकिन आख़िर मैंने अपने मन में आते ख़यालों को बाहर निकाला.

और साथ में ही मेरे से व्हाट्सप्प में भी लगी थी।सुरभि सोच में पड़ी थी कि आखिर ये किसके साथ चैट में लगी हुई है. अम्मी भी अपनी गाण्ड घुमा-घुमा कर आनन्द लेने लगीं।कमरबंद खींचते ही अम्मी की सलवार उनके शरीर से खिसक कर सरसराती हुई नीचे फ़र्श पर आ गिरी। अम्मी की सफ़ेद दूधिया माँसल टांगें नंगी हो चुकी थीं।‘शहनाज़. बीएफ तमिल बीएफऔर मुझे अब कली से फूल बना दिया है।मैंने फिर उसे किस करके उसके चूचों को चूसा और उससे प्रॉमिस किया.

मेरे जीवन में भी बहुत से मौके आए और बहुत से मौकों में चौके भी मारे।उनमें से ही एक कहानी आज मैं यहाँ पेश कर रहा हूँ.

शायद 34 साइज़ के थे और उस मदमस्त हसीना का ज़ीरो फिगर था।मैं अपने आपको संभालता हुआ उसका हाथ पकड़ कर उसे अपने तरफ खींच लिया और उसकी कमर में हाथ डाल कर उसकी ओर नशीले अंदाज में देखा. रात के टाइम में ब्रा नहीं पहनती हूँ।मोनू मेरी 36 इंच की चूचियों को हैरानी से देखने लगा, वो मेरा गोरा शरीर देख कर बोला- दीदी आपका बदन तो बहुत सुन्दर है।मेरी चूचियों की तरफ इशारा करके बोला- आपकी ये तो बहुत बड़ी-बड़ी हैं।मैंने कहा- छू कर देख.

आज तो तुम दोनों मेरी जान लेकर ही रहोगे।अर्जुन ने कोमल की बाँहें पकड़ लीं और उसको सन्नी के लौड़े पर ऊपर-नीचे करने लग गया। उधर नीचे से सन्नी ने भी ‘दे. मेरे जीवन में बहुत से चुदाई के मौके आए और उन मौकों में मैंने चौके-छक्के भी मारे।उनमें से ही एक कहानी आज मैं यहाँ पेश कर रहा हूँ. जहाँ पर सबको डांस की प्रैक्टिस करनी थी। मैंने वहाँ पर अपना पूरा सेटअप कर लिया था। जब भी किसी की कोई क्लास फ्री होती.

वो दर्द के मारे रो रही थी।उसकी सील टूट गई थी और खून भी निकल रहा था।थोड़ी देर बाद मैंने धक्के मारने शुरू कर दिए। वो अब थोड़ा बेहतर महसूस कर रही थी और थोड़ी देर बाद वो साथ देने लगी। हल्के-हल्के धक्कों की तीव्रता बढ़ रही थी।वो अब पूरी तरह से मेरा साथ दे रही थी।कुछ देर बाद हमने पोजीशन बदल दी.

वो मेरे निप्पलों को ऐसे चूस रहा था कि उसकी जीभ भी मुझे धारदार लगने लगी।वो दोनों हाथों से पूरा ज़ोर लगा कर मेरे मम्मों को मसल रहा था। मैंने अपने पति की इच्छा पर अपने मम्मों के एक साइड पर एक छोटा सा टैटू बनवाया था. तो वो मेरे इंतज़ार में पहले से ही मौजूद थी।मुझे देख कर मेरी प्यारी भाभी मुस्कुरा दी और ऊपर आने का इशारा भी दिया।मैं थोड़ी देर बाद उसके घर चला गया।उसने बिल्कुल झीनी नाईटी पहनी हुई थी और अन्दर ब्रा भी नहीं थी. बताओ मुझे हम पहले भी कहीं मिले हैं क्या?अर्जुन- हाँ मिले हैं कहाँ मिले हैं ये सबके सामने बताऊँ या अकेले में?अर्जुन के तेवर देख कर सन्नी को लगा कि जरुरू दाल में कुछ काला है। उसने बिहारी को वहाँ से भेज दिया और उसको लेकर दूसरे कमरे में चला गया।अन्दर जाते ही अर्जुन ने बिस्तर की हालत देखी.

बीएफ सेक्सी साडीआखिर में उन्हें खुश रखना भी तो मेरी जिम्मेदारी ही है।सरिता- हाँ तुम सही कह रहे हो. तो बातें फिर शुरू हो गईं।वो मेरे साथ सेक्स करने के लिए मरी जा रही थी।फिर जब मैं छुट्टियों में अपने घर नांदेड गया.

సెక్స్ వీడియో హిందీ వీడియో

इससे पहले मैंने उसके दोनों हाथों को फ़ैला कर अपने हाथों से दबा दिए और अपने पैरों से उसके दोनों पैरों को भी जकड़ लिया। वो चिल्लाये नहीं. मैंने फटाक से अपने दोनों कपड़े उतार दिए और उसके पीछे चला गया।मुझे देख कर वो बोली- अरे वाह. तो बहन दोस्त का लंड मुँह में लेकर चूसने लगती थी और फिर कुछ देर बाद दोस्त का लंड चूत में और भाई का लंड मुँह में लेकर चूसती थी।वो लड़की बिल्कुल मेरी तरह ही मस्त थी.

बोली- अभी नहीं।अब हम तीनों ने खाना खाया और अब मैंने कहा- नेहा भाभी एक कॉफ़ी मिलेगी क्या?तो बोली- क्यों नहीं।नेहा बोली- पर एक शर्त पर. तभी तो मजे देगा।नीलम मेरा लण्ड देख कर मुस्कुरा दी और मेरे लण्ड को अपने हाथ से दबाते हुए उस पर एक ज़ोरदार चुम्बन कर दिया, फिर उसको अपने मुँह में लेकर चूसने लगी।कुछ ही पलों में वो पूरा ज़ोर लगा कर लण्ड को अन्दर तक ले जाती। मुझको बहुत ही मज़ा आ रहा था क्योंकि यह मेरा फर्स्ट टाइम था।मेरे मुँह से भी आवाज़ निकलनी शुरू हो गई- आआ. तो उसने आँखें बंद करके मुझे मेरे पिछवाड़े से जकड़ लिया।अब मेरी स्पीड अपने आप बढ़ती जा रही थी।थोड़ी देर बाद जब मेरा निकलने वाला था.

’फिर मैंने उससे पूछा- किस समय मिलना उचित होगा?अभी भी मेरा घर लगभग दस किलोमीटर दूर था और हम लोग शहर के बाहरी सड़क पर ही थे।उसने कहा- जब भी आने का दिल करे तब आना. ’ की तेज़ आवाज़ के साथ ‘सूसू’ करने लगी। मुझे पीछे मुँह कर अन्दर आते देखा. वो दोनों बस में मेरी सीट के बगल वाली सीट पर पहुंचे और अपना बैग रख कर लड़की बैठ गई।वो सज्जन नीचे उतर कर मेरे पास आए और थैंक्स कहने लगे। वो कुछ और बात करना चाहते थे.

थोड़ी देर बाद मैं भी झड़ने वाला था, मैंने कहा- मेरा कामरस पीना चाहोगी या अन्दर लेना चाहोगी?तो उन्होंने बोला- मेरे राजा तेरा कामरस मैंने टेस्ट तो किया है. वो गीली हो चुकी थी। मैंने उसे और गरम किया फिर उसकी चूत के छेद में उंगली डाल कर अन्दर-बाहर करने लगा। इससे वो बहुत गरम हो गई और मुझसे चिपक गई। मैंने उसके होंठों को चूमा।उसने फिल्म ख़त्म होने बाद मेरा नंबर माँगा और हम घर आ गए।अगले दिन मैं ऑफिस जाने के लिए तैयार हो रहा था.

जिससे मेरे लंड में तनाव आने लगा।फिर मैंने भाभी के मुँह से अपना लंड निकाला और मैं भाभी को चूमना शुरू कर दिया। भाभी की नई-नई शादी होने के कारण उनकी चूत ढंग से खुली नहीं थी। आखिर उनकी उम्र ही क्या थी.

मैं कोई रंडी थोड़ी हूँ।तो बोला- ठीक है।उसने मुझे अपना बैग से एक चॉकलेट निकाल कर दी. बीएफ मूवी पिक्चर सेक्सीपर मैंने दो गोली पीस कर उसके दूध में मिला दीं, थोड़ी देर में वो सो गई, मैंने एक पिन चुभा कर देखा. एचडी बीएफ सनी लियोन काअबकी बार मेरा पूरा लण्ड उसकी चूत में जड़ तक समा गया।उसकी एक जोरदार चीख निकली- उई माँ. फिर तो हम दोनों रोज़ बात करते थे। क़रीब एक हफ़्ते के बाद उसने पूछा- एयरपोर्ट पर अन्दर क्या देख रहे थे?तो मैंने भी जवाब दिया- वो हैं ही इतने सुन्दर.

बड़ा वाला जो 6 साल का था वो अपनी बुआ के पास रहता था।अब लगभग पूरे दिन बात होती थी.

’ की सिसकारियां निकलने लगीं।मैंने बड़े प्यार से लौड़े को उसकी चूत में अन्दर-बाहर करने लगा।थोड़ी देर बाद उसे भी चुदाई का मजा आने लगा. जिसके कारण दीदी डर गई और उसने तुरंत अपना हाथ निकाल लिया।फिर थोड़ी देर मैं वैसे ही सोया रहा और वो उठ कर फ्रेश होने चली गई।थोड़ी देर बाद वो मुझे जगाने आई. तो कभी मैं उसके मम्मों के ऊपर से ही अपने जीभ को लगा कर उसके निप्पल को चूसने की कोशिश करने लगा.

आप अगर मेरी बहन होती तो मैं ऐसी शर्त कभी ना लगाता।पुनीत- अच्छा अच्छा. उसके बाद उसने मेरी बुर में 3 उंगलियां डालकर मुझे चोदा।लगभग 20 मिनट बाद मैंने बहुत सा पानी छोड़ा और उसे सारा पीने को कहा और वो सब पी भी गई।फिर अगले दो महीने क्या-क्या हुआ उसके लिए मेरी अगली कहानी का इंतज़ार कीज़िए।प्लीज़ मुझे अपने मेल से कमेंट भेजिए और मेरे साथ लेसबो के लिए मैं सभी लड़कियों औरतों और चाचियों को आमंत्रित करती हूँ. सब पूरा करते हुए अपना हर फर्ज निभाते हैं और सबसे बड़ी टेंशन गर्लफ्रेंड.

red एक्सएक्सएक्स

इसलिए चुप था।कोमल- तेरे जैसे मुझे देख कर ऐसे ही सपनों की दुनिया में खो जाते हैं मगर ये कोमल ऐसे ही किसी के हाथ नहीं आती. क्योंकि उनका लण्ड बहुत मोटा था और राजू के लण्ड से भी बड़ा था।मेरी अभी कुल 2 बार ही चुदाई हुई थी, मेरी चूत पूरी टाइट थी और मेरी चूत में से खून निकलने लगा, मुझे बहुत दर्द हो रहा था।मैं बोली- राकेश जी निकाल लीजिए इसे. तो मैं भी कभी उन्हें छूने से मना नहीं करता और इस तरह हम दोनों काफ़ी खुल गए थे।एक दिन.

तो शाज़िया मुझे अपनी तरफ खींचते हुए कह रही थी- बस अब सहन नहीं हो रहा है.

जब मैं यूआईडी (आधार कार्ड) में काम करता था। मेरी उम्र उस समय 20 वर्ष थी। तो मैं एक गाँव में काम करने गया। वहाँ हम स्कूल में बैठ कर काम करते थे। हम 2 दोस्त थे.

चल जिस दिन मन हुआ तो तुझे भी एक मौका दूंगी।इतने में प्रीत आई और बोली- किस मौके की बात हो रही है।पहले तो मैं प्रीत को ही देखता रह गया प्रीत ने लाल रंग की नाईट ड्रेस पहनी हुई थी. तो मैं नेट चालू करके सेक्सी साइट्स भी देखती थी और अक्सर मेरी पैन्टी गीली हो जाती थी।मेरी एक सहेली है कोमल. बाप बेटी का बीएफ फिल्मक्योंकि मैं ऐसे ड्रेस में अपने घर में अपने पापा के सामने भी चली जाती थी मगर अंकल की निगाहें मेरे जिस्म से हटने का नाम ही नहीं ले रही थीं।मेरी निगाह अंकल के पाजामे पर पड़ी। उनका लंड खड़ा होने लगा था.

वो कहानी के रूप में पेश कर रहा हूँ।उस दिन थ्री-सम के बाद प्रियंका अपने कमरे में चली गई. और मैं अन्तर्वासना की समलैंगिक कहानियों को बहुत रुचि लेकर पढ़ता हूँ। ये कहानियाँ मुझे पूर्ण आनन्द देती हैं. मैं उसके पास गया और पूछा- कहाँ जा रही हो?तो उसने बताया- नानी के यहाँ जा रही हूँ.

दोनों एक दूसरे से सटे हुए बैठे थे और पिछले वाले का एक हाथ अगले वाले की जांघ पर रखा हुआ था. तब शहर के एक कॉलेज में बीए द्वित्तीय वर्ष में पढ़ाई कर रहा था। मेरा गाँव शहर से महज 10 किलोमीटर की दूरी पर है। इसलिए मैं पढ़ने के लिए बस से जाता-आता था।एक दिन मैं कॉलेज के दोस्तों के साथ मूवी देखने लिए गया था.

आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं अपनी आपबीती आपके साथ शेयर करना चाहूँगा.

कहते हुए उसने केक उठाया और हमारे लंडों पर लगा दिया और हमारे शरीर पर लगा दिया।इसी तरह हम सभी ने मिल कर सिमरन के शरीर पर भी केक लगा दिया। हम केक खा भी रहे थे और खेल भी रहे थे। हम सभी के शरीरों पर केक लग चुका था।मैंने गीत से कहा- बहन की लौड़ी साली. मैं भी अभी आती हूँ।तभी सामने वाले टॉयलेट का दरवाजा खुलने और लगने की आवाज आई।अब हमने जल्दी से अपने-अपने कपड़े पहने और बाहर निकल आए। हमारी चुदाई अधूरी रह गई…यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मनप्रीत सीट पर जाकर बैठ चुकी थी और मैं गेट के पास चला गया था और मनप्रीत की माँ ने आते ही पूछा- तू और अरुण दोनों ही यहाँ नहीं थे. इस बात का मुझे बिल्कुल अंदाज़ा नहीं था कि भाभी की चूत इतनी टाइट होगी। मुझे भाभी ने बताया- मेरा पति नपुंसक है.

सेक्सी वीडियो बीएफ सेक्सी वीडियो सेक्सी मेरे चाहने वाले चूत चोदू चुदक्कड़ दोस्तों को मेरा प्यार!आप लोगों ने मेरी कहानी ‘चूत के दम पर नौकरी’ को बहुत सराहा और खूब सारी फोटो भेजीं. तो मैं बुआ से चिपक गया।बुआ ने मेरी तरफ पीठ की हुई थी। में उसी तरफ अपना मुँह करके लेट गया।मेरा लण्ड उनके चूतड़ों से बिल्कुल चिपका हुआ था। मुझको थोड़ा सा अजीब सा लगा.

मैं और भाभी एक-दूसरे को देख कर हँसने लगे।अब मैं रोज मेरी माँ और भाभी को पेलता हूँ और कभी-कभी हगने जाने पर गाँव की बुरें भी चोद लेता हूँ।तो मित्रो, कैसी लगी मेरी काल्पनिक कहानी. मैंने और ज़ोर लगाया तो आधा लण्ड उसकी चूत में घुस गया था।वो एकदम ज़ोर से चीखी- बाहर निकालो. और दिन भर भाभी को चोदने के बारे में सोचता रहा। घर आते वक़्त मैंने भाभी के नाम की तीन-चार बार मुठ भी मारी। मैंने कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया था.

ब्लू फिल्म दिखाएं वीडियो में सेक्सी

पर किसी का ख्याल रखना बड़ी बात है कि उसे दु:ख ना हो।मैं- मुझे माफ कर दीजिए भाभी!मैं उनसे सिर्फ इतना ही बोल पाया।कीर्ति- कोई बात नहीं और ना ही इस बात को किसी से कहूँगी. तो मैंने भाभी को बताया- मेरी एक गर्लफ्रेंड भी है।भाभी ने मुझे च्यूंटी भरते हुए कहा- तुम तो बड़े छुपे रुस्तम निकले।वो उसके साथ बात करने की जिद करने लगीं. जिसमें से पायल का पेट भी दिखाई दे रहा था। उसके बाल खुले हुए थे और गाउन बदन से ऐसे चिपका हुआ था.

’ भरा करता था। उसके हिप्स काफ़ी उठे हुए थे और उसके टाइट सूट के ऊपर से दिल करता था कि बस एक बार हाथ फेर दूँ. पर मुझे नहीं दिखा।दोपहर में मैं मैडम के घर गया, आज भी मैडम ने नाइटी पहनी थी।फिर हमारी बातें शुरू हुईं।मैडम- कुछ पियोगे।अवि- हाँ.

’और मैं धक्के पे धक्के दिए जा रहा था।कुछ ही देर में मैंने उसका घोड़ी बनने को बोला और वो तुरंत रेडी हो गई।क्या मस्त मोटी गाण्ड थी उसकी.

घर के सभी लोग शादी में जा चुके थे और उन्हें अगले दिन वापस आना था। घर पर केवल हम दोनों ही थे. वो भी मेरा पानी पूरा पी गई और मेरे लण्ड को चाट-चाट कर साफ़ कर दिया।अब मेरा लण्ड को उसने मुँह से बाहर निकाल दिया और मैं चुसा सा लेट गया। कुछ देर बाद मैंने उसकी चूची चूसी. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं उठा और किसी तरह उसकी एक टांग अपने एक हाथ से उठाकर और दूसरे हाथ से उसकी गाण्ड के पीछे ले जाकर उसकी चूत में अपना लण्ड धकेलने लगा.

तो मैंने धीरे-धीरे अपना पूरा लण्ड उसकी चूत में डाल दिया।अब वो भी मजे लेकर चुदवा रही थी। हम दोनों ने बहुत लम्बी चुदाई की और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया।उस रात हमने 2 बार चुदाई की. जहाँ रीमा ने कहा- अच्छा तुमको लड़की कैसे हॉट लगती है?मैंने कहा- ये बात मैं तुम्हें कैसे बताऊँ?उसने कहा- भाई शर्माओ मत. पर वो भी आकर जल्दी चले गए और नेहा को छोड़ गए।मम्मी के रिश्तेदारों में बस नेहा ही रह गई थी.

मैं भी उसका पूरा साथ दे रहा था।फिर उसने अपनी पैंट को घुटनों तक नीचे सरका दिया और फ्रेंची को जांघों पर ले आया जिससे उसके मोटे मोटे आंड आजाद हो गए.

बीएफ इंग्लिश में दिखाओ: अर्जुन बड़ी बेदर्दी से एनी को चोद रहा था। एक तो उसकी कमर हवा में थी. या फिर चूत मरवानी पड़ेगी।वो लौड़ा चूसने लगी।एक मिनट से पहले ही उसने मुँह हटा लिया। मैंने उसे लिटा कर ताक़त से उसके मुँह में लण्ड डाल दिया और अन्दर तक ठूंस दिया। उसने मुझे हटाया और आराम से चूसने लगी।मुझे बहुत ही मजा आ रहा था।बस 3-4 मिनट के बाद मैंने उसके मुँह में ही सारा रस छोड़ दिया। उसने सारा नीचे थूक दिया और बोली- ये क्या किया.

आप अपनी राय देना न भूलें!जल्दी ही तीसरे भाग के साथ आपके बीच लौटूंगा. उसके बाद मैं थोड़ा और सरका।अब मैं उसके इतना करीब आ गया था कि हम दोनों की जांघें आपस में टकरा रही थीं। उसने कुछ नहीं बोला. ठंड की वजह से कांपते गुलाबी होंठों से पानी की बूंदें टपकती हुई उसकी ठोडी से होती हुई गले तक जा रही थीं.

फिर रविवार को मैं 10:45 बजे सुबह मैम के घर गया। मैम रसोई में कुछ काम रही थीं। मैम के घर कुछ और स्टुडेन्ट्स आई हुई थी.

पर 5 मिनट चूसने के बाद ही उसकी गाजर मोटी हो गई थी।उसने मुझे खूब चूमा और साथ ही मेरी चूत में उंगली भी की।अब वो मेरी चूत को चूसने लगा और कहा- कहाँ है साला तेरा दाना. क्योंकि उस दिन मेरा मन थोड़ा उदास सा था।मैं कैंडल जला कर बाहर आ गया और अपनी कार में बैठ कर सिगरेट पीने लगा।तभी मेरी नज़र मेरी कार के बगल में खड़ी एक मर्सडीज कार पर पड़ी। मेरे होश मानो उड़ से गए. तो उसने कहा- मेरे क्लास मेट गन्दी-गन्दी मूवीज देखती हैं और मालूम उनके साथ उनके बॉयफ्रेंड क्या करते हैं?‘क्या करते हैं?’उसने मुझे सारी बातें बताईं.